बीएफ सेक्सी साडी

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म हिंदी में हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

चोरी की चोदा वीडियो: बीएफ सेक्सी साडी, फिर मैंने स्कर्ट रूपी घूंघट को उठाया और अपनीं बहन की प्यारी सी गांड देख कर मुझे मजा आ गया.

जानवर की सेक्सी फिल्म

दीदी ने गुस्से से मेरी तरफ देखा और कहा- पहले ये बता कि ये वीडियो तुम्हारे पास कहां से आया?मैंने हिचहिचाते हुए कहा- लैपटॉप में से. का सेक्सी फिल्ममैं मामी की चुत की फांकों में लंड का सुपारा फंसा कर चुत में लंड अन्दर घुसेड़ने लगा.

’कह कर मुझसे कहा- ठीक है ले जाओ … और सुनो कल शाम को तुम्हें मुझे जिम पर पिक करने आना है. ग्राम प्रहरी का नया समाचारखाने के दौरान चिन्ना कनखियों से करोना के सौंदर्य को ही निहार रहा था। करोना भी मन ही मन अपने हुस्न पर गुमान कर रही थी।खाना खाने के बाद अचानक चिन्ना बस के नीचे चला गया और अटेंडेंट को भी नीचे बुला लिया.

उन दोनों ने मेरी मां की गांड और चूत में एक साथ लंड देकर मेरी मां को चुदाई का अलग ही मजा दिया.बीएफ सेक्सी साडी: मैं उसके होंठों को चूस रहा था और उसकी चूत में नीचे से लंड को भी सरका रहा था.

मेरा मुँह बंद होने के वजह से मैंने पूछा भी नहीं कि वीर्य अन्दर निकालूं या बाहर.आखिर में तो उसने यहां तक कह दिया कि अगर मैं और वो भाई बहन नहीं होते तो वो भी मुझे कभी ना नहीं करती.

क्या चांद निकल गया है - बीएफ सेक्सी साडी

कल्पना ने देखा कि मेरे कंडोम से बहुत सारा वीर्य बह कर वहीं बेड पर गिर रहा है.मैंने फिर लंड सेट किया और हल्का धक्का दिया इस बार भी लंड फिसल गया क्योंकि अभी तक वह चुदी नहीं थी.

रचना भाभी ने कहा- मेरे भी पसंदीदा हैं, पहले मैं भी दही भल्ले ही खाऊंगी. बीएफ सेक्सी साडी मेरे मुँह से गांड शब्द सुनते ही वो बोली- भैया लंड को गांड में भी पेला जाता है क्या?तब मैंने बताया कि उसे गांड पेलना नहीं … गांड मारना कहते हैं.

उसकी चूत का रस निकल कर मेरे मुंह में जाने लगा और उसकी जांघों से बहने लगा.

बीएफ सेक्सी साडी?

सीमा मेरे सिर को अपनी चूत के अन्दर दबाने लगी और मैं अपनी जीभ को उसकी चूत की गहराई तक लेकर जाने लगा. मैंने फ्रिज से बोतल निकाली और उनसे पूछा- ये क्या है सर?नवीन जी बोले- यह व्हिस्की है … मैं डिनर से पहले इसे पीता हूँ. मैं मामा के गांव लगभग 4 साल बाद गया था। इसलिए लगभग कोई मुझे पहचान नहीं पा रहे थे। मैं पहले से कहीं ज्यादा हैंडसम और स्मार्ट हो चुका था.

सेजल ने अपने कोमल हाथों से बलविंदर साहब के लंड को ऊपर नीचे करना चालू किया बलविंदर साहब ने अपनी आंखें बंद कर ली. दीदी भी उस दिन बाहर गई थीं, इसलिए मैं कमरे उस वीडियो को देखकर अपने लंड को लोवर के ऊपर से सहला रहा था. चूत को देख कर मैंने अंदाजा लगा लिया था कि अभी तक इसने लंड नहीं लिया है किसी का.

ब्रा अब भी उसके शरीर पर थी, मगर उससे अब मुझे कोई दिक्कत नहीं हो रही थी. मैंने उसकी चूत की फांकों को फैलाकर उसकी चूत में अपनी जीभ डाल दी और उसकी चूत चूसने लगा. शायद वह मासूम कोमल से लड़की चिन्ना के विशाल लण्ड की जोरदार ठुकाई सहन नहीं कर पाई थी।अटेंडेंट ने उसे गोद में उठा कर एक कार में बिठा दिया।उसके बाद चिन्ना कल की तरह बाथरूम में आया और लाईट जला ली.

मैं यही सोच कर परेशान रहने लगा था कि यहां तो कुछ देखने का चान्स ही नहीं मिल रहा है. उसके बाद उसने मेरे लंड को भी मुंह में ले लिया और मेरे लंड पर लगा सारा माल साफ कर दिया.

उस डिब्बे में रात में जलने वाली नीली लाइटें शायद खराब थीं … इसलिए घुप्प अंधेरा हो गया था.

यह कहानी दो बहनों में सेछोटी वाली बहन की चुदाईकी है जिसमें मैंने उसे उसी के रूम में जाकर चोदा।जिस मकान में मैं किराए पर रहता था, वो तीन मंजिला मकान था.

सोनाली की चूत से निकलने वाला पानी मेरी जांघों पर भी लगने लगा था जिसके कारण पच-पच की आवाज हो रही थी. हमें ऐसी ही काम वाली चाहिए थी जो कि पूरे दिन घर पर रहे … क्योंकि मेरी मां अब काफी वृद्ध हो चुकी हैं और उनसे काम नहीं होता है. तुम कितने सीधे हो और कैसे उन्होंने तुम्हें मेरे पास भेजा, वो सब मुझे मालूम है.

धीरे धीरे उसके होंठों को चूसने का मजा लेते हुए मैं फिर से उसके चूचों को दबाने लगा. एक चिकना लड़का मेरा क्लास में आता था तो मैंने सोचा कि इस चिकने की गांड से काम चलाया जाए. अब बारी पवन की थी … मैंने उसे रात में सोने के लिए अपने घर बुलाया क्योंकि मेरे घरवाले बाहर किसी की शादी में गए थे और दोपहर से पहले आने वाले नहीं थे.

धीरे-धीरे मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई।अब मेरा लंड उसकी चूत में तेजी से अंदर बाहर हो रहा था.

जिंदगी में यह सुनहरी मौका एक ही बार आता है।चिन्ना अब अपनी पर आ चुका था. मैंने फिर से पहल की और उसकी उंगलियों की तारीफ करते हुए कहा- आप बड़ी खूबसूरत हो. पहले मैं आपको अपने बारे में बता देता हूँ, फिर विस्तार से सारी कहानी बताऊंगा.

सुबह के 7 बजे तक करीब 5 बार करोना को अलग अलग मुद्राओं में कभी चूत कभी उसकी कुंवारी गांड को चोद- चोद कर सुबह तक पूरी ट्रेंड रंडी बना दिया. ऐसे मोड़ पर ना तो मैं उसके साथ जबरदस्ती कर सकता था और न ही पीछे हट सकता था. मैंने बॉक्सर से बाहर निकाल कर अपने लण्ड का सुपारा आंटी की चूत पर रख दिया और हल्के हल्के से रगड़ने लगा.

उसकी बात सुन कर मीनू ने वहां रुकने के लिए कहा।पहले तो मैंने मना किया, फिर उसकी जिद के आगे मुझे झुकना पड़ा और हम वहीं रुकने के लिए तैयार हो गए।जब मैंने उस लेडी से किसी होटल के बारे में पूछा तो उसने कहा- यहाँ कोई होटल नहीं है, आप को किसी के घर पर रुकना पड़ेगा.

और फिर मैंने उनको पलट दिया और उनकी जांघों पर किस करने लगा, चाटने लगा. तो मैंने आकांक्षा से बातें करना शुरू कर दीं और उसका ध्यान बंटते ही मैंने अचानक से एक तेज झटका दे मारा.

बीएफ सेक्सी साडी मैंने सिम्मी के होंठों को जोर जोर से चूसना शुरू किया, साथ ही उनके स्तन जोर से दबा रहा था।मैंने गौर किया कि सिम्मी ने इस समय ब्रा नहीं पहनी थी. तभी मेरे बेटे ने बहू को बैड पर लिटा दिया और मेरी बहू की जांघें जो दूध जैसे सफ़ेद थी, उन्हें सहलाते हुए चाटने लगा.

बीएफ सेक्सी साडी उसे अब चिन्ना द्वारा चूत से लण्ड हटाना एक पल के लिए भी बर्दाश्त नहीं हो रहा था. कोमल भी मेरी तरफ देख कर रंडी के जैसे मुस्कुराने लगी।मैंने वो प्लास्टिक जो नीचे बिछाई थी, उसको हटा दिया और उसकी बुर को बराबर साफ कर दिया।कोमल बोली- चाचू जान बहुत मजा आया।मैंने कहा- अब ऐसा मजा तुझे मैं रोज चोद कर दूँगा।मैं थोड़ी देर मैं फिर से अपने दोस्त की बेटी की चूत चुदाई के लिए तैयार हो गया.

डबल रोटी की तरह फूली हुई गुलाबी रंग की चूत के चिथड़े उड़ने का समय करीब आ गया था.

इंग्लिश सेक्सी नेपाली सेक्सी

जीभ की चोंच बनाकर मम्मी की चूत के अन्दर डाला तो मम्मी ने मेरा लण्ड अपनी मुठ्ठी में दबोच लिया और फुर्ती से मेरा लोअर नीचे खिसका दिया. उसके बाद एक दिन जब तू बाहर गया हुआ था तो मैं तेरे रूम में साफ-सफाई कर रही थी और मुझे कुछ अश्लील किताबें मिलीं. अपने लंड को उसकी चूत पर टिकाकर एक ही बार में पूरा लंड उसकी चूत की गहराइयों में उतार दिया.

नीलम मेरी पीठ सहला रही थी, नीलम ने पहले मेरी टी शर्ट उतारी और फिर लोअर उतार दिया. और क्यूंकि मैं भी थकी हुई थी लम्बे सफ़र के बाद तो रूम में जाकर कपड़े बदल कर शॉर्ट्स और टॉप पहना और बेड पर सो गयी. गोरा बदन … उस पर काले रंग की ब्रा और पेंटी! मानो जैसे चांद पर कोई दाग सा लगा था.

हम दोनों बाथरूम से कमरे में वापस आ गए और बेड पर जाने के बाद उसने पूछा- तुम चॉकलेट या आईसक्रीम लाए हो क्या?मैंने ना में सर हिलाया, तो कल्पना बोली- कोई बात नहीं … रूम सर्विस वाले को बोल दो, वो ला देगा.

वो नकली लंड देखकर और रानी की ये सारी बातें सुन के मुझे यकीन हो गया मेरी बहू बहुत बड़ी चुदक्कड़ है. और फिर जब हम जागे तो जागने के बाद हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे. वो देखने में बहुत खूबसूरत तो नहीं पर उसके अंदर एक अलग ही अपील है। उसका फिगर 35-32-40 का है। उसके शरीर में उसकी गांड सबसे अलग ही दिखती है और जब वो चलती है तो गांड ऐसे मटकती है जैसे समुद्र में लहरें उठ रही हों।वो हमेशा वेस्टर्न ड्रेसेस में ही आफिस आती थी.

उसने पूछा- क्या हुआ?मैंने कहा- मैं अभी घर पर हूँ। मैं भाभी के घर आता हूँ, वहीं आके बात करूंगा।तो उसने बोला- ठीक है, आ जाओ. मैंने भी सीधा उनको अपनी गोद में उठा लिया मेरा लंड धीरे धीरे अपनी पोजीशन में आने लगा और मैं उनको ऐसे ही गोद में उठाए उनके बालों को गर्दन पर से हटाकर किस करता जा रहा था. निशा- मेरे सेक्स स्लेव (गुलाम) बनोगे पूरी लाइफ के लिए?उसने ये कातिलाना मुस्कुराहट के साथ कहा.

इसी बीच मेरे हाथ की उंगलियां उसकी चूत के दाने को रगड़ रही थीं, जिससे वो और भी पागल होती जा रही थी. फिर मैंने उसकी सलवार का नाड़ा थोड़ा सा खोल दिया और हल्की सी सलवार नीचे कर दी.

कुछ ही देर में वो भी मजे लेने लगीं और अपनी गांड उठा उठा कर मेरा साथ देने लगीं. उसने जल्दी से कंडोम को चूत से निकाला और कहा- सही मैं यार … तुम्हारे लंड में बहुत ज्यादा वीर्य है और तुम चुदाई भी अच्छी करते हो. मैं उसकी नाभि को चाटते उसकी चूत तक पहुंचा और पेंटी को भी उतार दिया.

फिर मैंने परेशान होने का बहाना करके चाची को पूरी तरह से अपनी गोद में ही बिठा लिया.

उसके निप्पल बहुत कड़क हो चुके थे और उसकी चूत से लगातार पानी निकल कर उसकी पैंटी को और गीला करता जा रहा था. उनको नहाते हुए देखता था मैंने चाची को कैसे चोदा?दोस्तो, मैं आपका दोस्त राज एक बार फिर से आपके लिए अपनी एक और कहानी लेकर हाजिर हूं. दोस्तो, मैं एक अतरंगी क्सक्सक्स कहानी सुनाने जा रहा हूं, जो मेरे जीवन में दूसरी बार घटी है.

मुझे लगा था कि वो बस यूं ही सोने का ड्रामा करती रहेगी, पर थोड़ी ही देर में उसने मेरी टी-शर्ट को पकड़ लिया, मेरी तरफ मुँह कर लिया और मेरे से चिपक गयी. रानी को मैंने बैड के किनारे खींच लिया और उसकी सलवार उसके पैर से निकाल दी.

सुबह उठकर सारिका बाथरूम गई तो मैंने फूलदान के बीच छिपाकर रखा अपना स्पाई वीडियो कैमरा निकाल लिया जिसमें रात की पूरी पिक्चर रेकॉर्ड हो चुकी थी. उसने अब अपनी टांगें मेरे कन्धों से नीचे मेरी कमर की तरफ जकड़ लीं और मुझे अपनी चूत में और तेजी से लंड डालने को कहने लगी. मैं भी मौके की तलाश में था कि कब इसको गर्म करने का चान्स मिले और इसकी मस्त मस्त चूचियों को मसलने का मौका मिले.

सेक्सी वीडियो देहाती बुर की चुदाई

लेकिन चुदाई की उत्तेजना इतनी ज्यादा थी कि इस दर्द में भी मुझे मजा आ रहा था.

एक बार उसने मेरी आंखों में देखा और फिर मेरी आंखों में देखते हुए ही मेरे तपते हुए लौड़े को पूरा का पूरा अपने मुंह में भर लिया. मेरा नाम पल्लवी है और मैं अन्तर्वासना पर बहुत दिनों से कहानियाँ पढ़ रही हूँ और खुद भी कहानियाँ लिखना चाहती थी. हां अगर तुम्हारी दीदी भी बुर में लंड लेना चाहे तो मैं उसको भी मजा दे सकता हूं.

वो चटखारा लेते हुए बोली- भैया, आपने मुझको ये पहले क्यों नहीं दिया?मैंने बोला- था तो तेरे पास ही … पर हर काम का एक समय होता है. तो मैंने कहा- दीदी मुझे आपका लैपटॉप चाहिए, वो मेरा लैपटॉप दोस्त के पास है … और मुझे लैपटॉप में फिल्म देखनी है. सेक्सी मूवी फुल हद वीडियोचिन्ना अभी भी कुंवारा है और कहते हैं कि उसने अपना पूरा जीवन गरीब लोगों की सेवा के लिए लगा दिया.

जैसे ही अम्मी के ये लफ्ज़ मेरे कानों में पड़े तो मैं वहीं पर रुक गया. उसने भी पहले हाथ से, फिर मुँह में लंड लेकर एक बार फिर से मेरे लंड को खड़ा कर दिया.

नसरीन ने घर पर सुल्ताना को फोन करके बोल दिया कि आज रात मैं अंजलि दीदी के घर रुकूंगी … तुम दोनों अपना ध्यान रखना. धीरे धीरे मैंने माया का पेटीकोट ऊंचा कर दिया और उसकी जांघों को सहलाते हुए उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को मसलने लगा. तभी मोहन ने एक ही झटके में अपना 8 इंच का लंड मेरी चूत में अन्दर डाल दिया.

उम्र में सोनाली मेरे से 2 साल बड़ी थी।फेसबुक पर हम दोनों ने काफी सारी बातें की। कुछ दिनों के बाद हम दोनों एक दूसरे से खुलने लगे।बातों-बातों में पता चला वह मेरे पास के ही शहर में रहती है. जो भी शहरी लड़की इस कहानी को पढ़ रही होगी उसको पता होगा कि मैं क्या कह रहा हूं. मैंने बोला कि मुझे जल्दी है, तुम जल्दी से खाना दे दो, मुझे घर जाना है.

फिर मोहन ने मेरे निप्पल पकड़ कर मुझे अपनी तरफ खींचा और कहा- चल मेरा कुर्ता उतार.

नसरीन अपने भाई के काले नाग की तरह फनफ़नाते हुए लंड को देख कर और गर्म हो गयी. आपका अपना राज शर्मा[emailprotected]इससे आगे की कहानी:पड़ोसन भाभी की गांड में लंड.

थोड़ी देर के ही तूफान में उसने मुझे बांहों में भर लिया और वो झड़ने लगी. बहू की आवाज आयी- बस डैडी जी, 5 मिनट!वैसे ये बात हर मर्द जानता है कि औरतों के 5 मिनट मतलब 30 मिनट होते हैं. मैंने कहा- मामी आपके दूध इतने बड़े कैसे हो गये?वो बोली- मुझे भी नहीं पता.

मैंने लाइट जलायी तो बहू बेड पर नंगी लेटी ऐसी लग रही जैसे कोई जलपरी मेरे बेड पर लेटी है. उसने कहा- प्लीज बोलो?तो मैंने कहा- कल मेरा लहंगा चोली मेरी ब्रा और कच्छी पैक करके अपने लड़के के हाथ भेज देना दोपहर तक … नहीं तो तुझे लेने पुलिस आएगी. तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी सेक्स कहानी? अपने सुझाव और विचार मुझे ज़रूर मेल करें। अगली कहानी में मैं बताऊंगा कि कैसे मैंने एक और वर्जिन लड़की को चोदा।[emailprotected].

बीएफ सेक्सी साडी थोड़ी देर तक नीलम की चूत सहलाने के बाद मैंने नीलम की लाल रंग की सिल्क की सलवार उतार दी और हल्की हल्की गीली हो चुकी पैन्टी को नीचे खिसकाकर उसकी चूत में अपने दायें हाथ का अंगूठा डाल दिया. आह … बला की खूबसूरत सुंदर मेरी बहन नंगी मेरे सामने खड़ी इतरा रही थी.

देसी सेक्सी चुदाई वाली फिल्म

मैंने बहुत अन्तर्वासना पर कहानियाँ पढ़ी है, इस कारण मुझे पता था कि लड़कियाँ पहली बार में नखरे करती हैं और उनको बहुत अजीब लगता है तो मैंने भी ज़बरदस्ती नहीं करने की सोची।पर मैं यह भी जानता था कि अगर मैंने ऐसे में चुदाई शुरू की तो मैं बहुत जल्दी झड़ जाऊँगा क्योंकि मेरा भी पहली बार ही था।मैं- कोई ना, फिर तुम हाथ से ही कर दो. मैंने उन दोनों के इशारेबाजी से खुद को लापरवाह दिखाते हुए कहा कि ऐसे करने से ज्यादा आराम मिलेगा. नेहा के चेहरे के भाव बता रहे थे कि उसने आज तक लंड असल जिंदगी में नहीं देखा है.

मैंने उनके सर को पीछे करके उनके होंठों को चूमा, कानों में गर्म सांसों को छोड़ा, इससे वो चुदवाने के लिए मचल उठीं. आज चुदाई में बहुत मज़ा आ रहा था, मेरे लंड से पानी निकल ही नहीं रहा था. सेक्सी फिल्में देखने वाली सेक्सीइससे पहले कि अम्मी कुछ बोलती मैं उठ कर अम्मी के पीछे गया और उनको बेड पर झुका लिया.

तभी उसका एक हाथ मेरी पैंट के अन्दर चला गया और उसने मेरे लंड को पकड़ कर अन्दर ही मसलना शुरू कर दिया.

अपने लंड को उसकी गांड के छेद पर सैट करके मैंने धक्का दिया, पर लंड फिसल कर ऊपर निकल गया. कुछ देर बाद मैं उनके ऊपर आ गया और मैंने उनकी बॉडी पर किस करना शुरू कर दिया, उन्हें हर जगह चूमने लगा उनके माथे पर, गालों पर, गर्दन पर, कान पर, सीने पर!और फिर मैंने उनकी ब्रा को उतार दिया और अपनी बनियान को भी!फिर मैं उनके बूब्स को किस करने लगा और मैम के बूब्स के निप्पल को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा, काटने लगा, उनको प्यार से और बूब्स दबाता रहा.

पर मैंने उसे छोड़ा नहीं। मैं फिर उसे धीरे धीरे से किस करने लगा।कुछ देर ऐसे पड़े रहने से मैंने उसके होंठों को चूसना छोड़ा तो वह बोली- बहुत दर्द हो रहा है जानू, प्लीज निकाल लो।मैंने उसे कहा- थोड़ी देर की बात है, अब तो पूरा अंदर चला गया है. अगले 2-3 मिनट में मैं झड़ने को हुआ, तो उसने बोला- आह साथ में ही आना … मैं भी बस झड़ने वाली हूँ … तुम मेरे अन्दर ही मेरे साथ झड़ जाओ … मैं तुम्हारा माल अपने अन्दर महसूस करना चाहती हूँ. इसलिए मुझे लगता था कि मामी की चुत में ज्यादा बार लंड नहीं गया होगा और उनकी चूचियां भी ज्यादा नहीं मसली गई होंगी.

आनन्द का उन्माद इतने चरम पर था कि पता ही नहीं चला कि कब मैंने उनका टॉप उतार दिया और सिम्मी की पिंक ब्रा के ऊपर से उनके स्तन दबाने लगा।सिम्मी के स्तन एकदम कड़े हो गए थे, ऐसा महसूस हो रहा था कि स्तन नहीं बल्कि कोई टेनिस की गेंद को दबा रहा हूँ। मैं उसके गले पर किस करते हुए उसके पीछे चला गया और उसकी ब्रा की स्ट्रिप पर किस करने लगा.

वो लंड को जोर जोर से अपनी चूत पर रगड़ते हुए अपने चूचों को भी हाथ से मसल रही थी. अनुभवी चोदू चिन्ना अपने एक एक नए दांव से करोना की जवानी को पस्त कर रहा था क्योंकि अब जवानी के नशे में चूर और चिन्ना की उँगलियों द्वारा की जा रही हरामी हरकतों के वजह से करोना के मुँह से मस्ती भरी सिसकारी फूटने लगी थी. पहले तुम जल्दी से अपने लंड मेरी चूत में पेल दो और इसकी प्यास बुझा दो.

इंग्लिश सेक्सी फोटो वीडियोमुझे देखकर बेटा बोला- अरे पापा, आप कब से इतना लेट उठने लगे?मैंने कहा- बस बेटा, कल रात में नींद नहीं आ रही थी इसीलिए लेट सोया तो लेट उठा. उस दिन के बाद आकांक्षा के पीरियड शुरू हो गए थे, तो 4-5 दिन सूखे ही गुजारना था.

लड़का लड़की चोदा चोदी सेक्सी

मेरे ऐसा करते ही वो उछल गयी और बोली- भैया, ये क्या कर रहे हो, ये भी कोई चूमने की जगह है?तब मैंने कहा- इतनी सुंदर दिख रही है कि मैं अपने आप को रोक ही नहीं पाया. एक बार जब मामी मेरे घर आईं, तो मैंने सोचा ये मामी को चोदने का सुनहरा मौका है. विशु मां के बूब्स पर थूक रहा था जिससे उसका लंड बड़े ही आराम से मां के बूब्स के बीच में से निकल रहा था.

जब मेरा ध्यान इस बात पर गया तो मैंने पाया कि दीदी मेरी ओर झुक गयी थीं. उसके होंठों को छोड़ कर मैंने पूछा- कैसा लगा?वो बोली- आह्ह … इतना मजा कभी नहीं आया भैया. एक दिन मुझे ओर आकांक्षा को सेक्स करना था लेकिन जगह का जुगाड़ नहीं हो पा रहा था क्योंकि स्कूल की छुट्टी थी वहां का चुदाई का कोई चांस नहीं था.

धीरे से मैं अपने एक हाथ को नीचे उसके उरोजों पर ले गया और ब्लाउज के ऊपर से ही उन्हें दबाने लगा. तो मैंने अपनी पहली चुदाई का मज़ा कैसे लिया?दोस्तो, मेरा नाम प्रियल है और मेरी उम्र 19 साल है. कल्पना की गांड पर मेरी जाँघें टकरा कर थप थप की आवाजें निकाल रही थीं.

कुछ देर उसके होंठों को चूसने के बाद मैंने एक बार फिर से उसकी चूत पर लंड को सेट कर दिया. मां अब उह्ह्ह् अह्ह ह्ह्छ उफ्फ की आवाजें निकाल रही थी और विशु मां के दूध चूस रहा था.

फिर उसने कहा- अच्छा ठीक है बाबा … मैं करती हूं। लेकिन पहले तुम अपनी आंखें बंद करो.

इस कहानी की नायिका का नाम मैं नहीं लूँगा, ऐसा उसकी प्राइवेसी बनाए रखने के लिए कर रहा हूँ. सबसे पतला मोबाइल 2021मम्मी- अरे बेटा क्या हुआ? और ये हाथ पर चोट कैसे लगी … ये कौन है?मैं- मम्मी आप घर में चलिए, सब बताता हूँ. वाले कार्टूनमैंने उसे कसके पकड़ा और भरोसा दिलाया कि मैं उसे बहुत प्यार से पेलूंगा. इस साल के वेलेंटाइन-डे की शुरुआत तो साधारण सी ही हुई थी, लेकिन आखिरी दिन मेरे लिए इतना यादगार रहेगा, मुझे पता ही नहीं था.

मैंने कहा- साली, अभी जिसमें तुझे दर्द हो रहा है, थोड़ी देर के बाद तुझे उसमें खुद ही इतना मजा आयेगा कि तू खुद ये करने के लिए बोलेगी.

तो मैं आप अबको बता दूँ कि मैं जितनी भी कहानियां आपके साथ साझा करूंगी, सभी मेरी जिन्दगी में घटी सच्ची सेक्स कहानियां होंगी. उसने भी वैसा ही कहा कि हां भैया आपका भी जब भी मन हो, मेरी बुर पेल लीजियेगा. उससे निकलता मूत ऐसा प्रतीत हो रहा था जैसे कोई छोटा मोटा ट्यूबवैल चल रहा हो.

मैं खड़ा होकर बाथरूम में गया और अपने लंड को पानी से धो कर मैंने खुद को साफ़ किया. मेरी दो बहनें हैं, एक नन्दिनी दीदी, जिसे मैं चोद चुका हूँ, उसकी उम्र 32 साल है. मैंने बालों में जूड़ा बनाया था जिससे पीछे मेरी पीठ बिल्कुल खुली थी.

भाभी देवर की सेक्सी राजस्थानी

फिर भाभी उठी और बोली अपनी सहेली से- तू उसका लंड चाट, मैं इसके मुंह पर बैठकर चूत चटवाती हूं. भाभी बोली- तुम्हें जितना गंदा सेक्स पसंद है, उससे कहीं ज्यादा एक मेरी फ्रेंड है … उसे पसंद है … तो उसे भी बुला लूं?मैंने कहा- ठीक है कोई बात नहीं … उसकी उम्र क्या है?उसने कहा- कोई 48 साल की है. उसकी गर्दन को चूमा, उसकी चूचियों के उठे हुए उभारों को चूमते हुए मैंने नीचे उसकी बेबीडॉल की डोरी को खोल दिया.

अब मैं इसमें क्या करूं … अगर उनको कार्टून भी नंगी लड़कियां लग रही थीं.

अपनी मां नीलम के हैवी ड्यूटी शरीर के मुकाबले हनी बहुत नाजुक थी लेकिन मुझे यह भी मालूम था कि दुबली से दुबली लड़की भी पूरा लण्ड झेल जाती है.

जब वो दोबारा से अजय का लंड चूसने लगी तो मैंने उसे बेड पर लेटने का इशारा किया. कुछ देर ऐसे ही धक्के लगाने से गांड का छेद अब थोड़ा खुल गया था, जबकि दर्द आकांक्षा को अभी भी हो रहा था. जीजा साली की सुहागराततो भाभी बोली- मैं तुम्हें इसी समय बुला लिया करूंगी, जब घर पर कोई नहीं हुआ करेगा.

मेरी चूत के दाने पर अपना हाथ फिराने लगे तो फिर मुझे थोड़ी सी राहत महसूस हुई और मुझे मजा आने लगा. वह बहुत जल्दी में था, उसे भी आज शाम को किसी भाभी से मिलना था जिसके लिए वह कंडोम लेकर आया था।वह मुझे कंडोम का पैकेट देकर बोला- इसे अपने पास रख के रखना. उसने फुसफुसा कर पूछा- पहले कभी किया है?मैंने धीमे से कहा- नहीं किया.

दिन भर की थकावट और दो पेग के नशे का असर यह हुआ कि लेटते ही सारिका सो गई. वैसे गुस्से का तो पता नहीं … मगर तुम्हें उस तरह देखकर उनका लंड जरूर खड़ा हो गया होगा.

क्या तू मेरे को मसाज दे सकती है … इसके लिए मैं तुझे अलग से पैसे दूंगी.

उसके चूचे बहुत बड़े थे और वो इतना मज़ा दे रहे थे कि मुझे पता ही नहीं लगा कि कितनी देर मैं उनको मसलता रहा. मैं नया नया जवान हुआ था लेकिन इतना भी ठरकी नहीं बना था कि अपनी मामी की चूत के बारे में ही सोचने लगूं. सारिका की चूत में लण्ड अन्दर बाहर करते करते मेरी नजर सारिका की गांड के छेद पर पड़ी, गुलाबी रंग की चुन्नटदार गांड देखकर मेरा ईमान डोल गया.

मारवाड़ी सेक्सी वीडियो प्योर मगर आपसे इस उम्र में हो पायेगा?मेरा मन तो किया कि अभी बता दूँ कि मैं क्या कर सकता हूँ. थोड़ी देर में सैम ने केक की क्रीम मेरी चूत पर लगाई और फिर से चुत चाटने लगा.

वह एक बहुत ही सुंदर लड़की है जो नियमित रूप से उसके कॉलेज में होने वाली सौंदर्य प्रतियोगिताओं में भाग ले रही है. नसरीन अपने भाई के काले नाग की तरह फनफ़नाते हुए लंड को देख कर और गर्म हो गयी. कुछ ही देर में तेल गायब हो गया तो मैंने चार बूंद तेल फिर से सारिका की गांड के छेद पर टपकाया और अंगूठे से मसाज करने लगा.

संगीत सेक्सी मूवी

मेरी चूत की अधूरी इच्छा कैसे पूरी हुई?लेखिका की पिछली कहानी:मां को चोदा जंगल मेंमेरा नाम शालिनी है. आखिरकार एक बार फिर से घोड़ी बनी रूबी को चोदते हुए मेरे लंड की बारिश उसकी चूत पर हुई. मैं तो पागल ही हो गया गांड देखकर। हर झटके के साथ गांड में लहरें उठ रहीं थी.

मौका देख कर वो मेरे लंड को पकड़ लेती थी और मैं उसको जमकर चोदने लगा. फिर एक बार मैंने उसके लंड को दबा दिया, तब भी उसने कुछ नहीं कहा, तो मैंने मन बना लिया कि इसको अपने लंड की आग बुझाने का साधन बनाना ही है.

मैंने कहा- आवाज भी नहीं आयी गेट खुलने की?बहू बोली- आप आपने रूम में थे इसीलिए नहीं आयी होगी.

उन्होंने भी मेरा सारा वीर्य मुँह में ले लिया और बाजू में फेंक दिया. उसके बदन को छूकर इरादे तो मेरे भी कुछ बदल से गये थे लेकिन उससे पहले मुझे पूरी बात का पता करना था. मैं पेशाब करके लौट रहा था, तब मॉम के कमरे से आवाज सुनी तो मैं वहाँ गया.

मैंने उसकी पैंटी निकाली और देखा कि क्या मस्त उजला स्वर्ग सा नजारा था. जबकि शाम को मुझे एक लड़के से मिलना था, जिसे मैं एक मेट साईट पर मिली थी. कुछ देर बाद मम्मी भी आ गयी। हमने मिल कर खाना खाया और सब अपने काम में बिजी हो गए।मम्मी का बाहर रहने का प्रोग्राम चलता रहता था और अब हम भाई बहन भी खुल चुके थे.

दोपहर को मैंने मूवी देख कर टाइम पास किया और उसके बाद फिर शाम को मैं घूमने के लिए निकल गया.

बीएफ सेक्सी साडी: बाप रे बाप उसके मुँह से चुत रगड़वाने की बात सुनकर मुझे बहुत अच्छा लगा. लेकिन विशु तो अपने ही मजे में था, उसने अपना पूरा लंड एक बार फिर से बाहर निकाला और एक झटके में फिर से अंदर डाला.

मैं सोच रहा था कि पिछले 4 घंटों में जो कुछ भी हुआ, क्या वो सच है … या कोई सपना. फिर बोला- बेटू … अभी देख कैसा लग रही है तेरी सुसु!तब उसने देखा और खुद छू कर भी देखा तो बोली- हां भैया … अब बड़ा अच्छा लग रहा है. फिर मैंने पान की दुकान से एक सिगरेट का पैकेट लिया और उसके घर आ गया.

वो मेरी दूर की बहन लगती है तो उसका मेरे परिवार में आना जाना रहता था.

हाय दोस्तो, मैं शिवा आज फिर आप लोगों के लिए एक सच्ची कहानी लेकर आया हूँ जिसमें आप लोग पढ़ेंगे कि कैसे मैंने अपनी कजिन दीदी की बेटी की चुदाई की. उसका लंड मेरी गांड में किसी डंडे की तरह मुझे मेरी खुजली को दूर करता सा महसूस होने लगा था. उसने मेरे सारे माल को अपनी चूत में ले लिया और लंड को अंदर ही अपनी चूत में दिये रखा.