ब्लू इंग्लिश बीएफ

छवि स्रोत,चूत सेक्सी लंड

तस्वीर का शीर्षक ,

बस में चुदाई कहानी: ब्लू इंग्लिश बीएफ, दोस्तो, मैं आपको ये बताना चाहूंगा कि इस कहानी की एक एक लाइन सच्ची है.

अनन्य पांडे सेक्सी वीडियो

मैंने उसको बिस्तर पर लेकर 69 की अवस्था में आकर चुत और लंड की चुसाई की. सेक्सी देहाती लड़की के साथमैंने कहा- दरवाजा खुला ही है…माँ रूम में आईं… मेरे रूम में रोमांटिक लाइट ब्लू कलर की लाइट रोशन थी.

जिसे देखकर मिंकी बोली- हाय आपा, इनका लंड तो बहुत बड़ा और मोटा है, ये हमारी छोटी सी चूत में कैसे घुसेगा?मैंने मिंकी को समझाते हुए कहा- चूत का छेद सबका छोटा ही होता है, फिर भी लंड चाहे छोटा हो या बड़ा, सब की चूत में घुस ही जाता है. सेक्सी स्टोरी माँमैंने रफ्तार बढ़ा दी और खुद की चुत को झाड़ते हुए विनय के ऊपर लेट गई.

ट्रेन चल दी, मैं महिला बोगी में थी तो मैं सो गई क्योंकि दर्द भी था और थक काफी गई थी.ब्लू इंग्लिश बीएफ: उसके बाद रुचिका कालेज चली गई और फिर लगभग एक घन्टे बाद मैं पहुँचा तो रुचिका मुझे देखकर मुस्कराई.

तभी अचानक उन्होंने मेरी बोतल में हल्का सा हाथ मारा और कहने लगे- जब मैं पढ़ा रहा होऊं तो कोई बीच में किसी तरह से डिस्टर्बेंस ना करे.मेरा लंड सटीक ललिताने पर लगा था और ललिता की चूत भी रस से रसीली थी, साला लंड एक बार में पूरा अन्दर घुसता चला गया.

नंगी सेक्सी वीडियो चोदा चोदी - ब्लू इंग्लिश बीएफ

मैंने अपनी पेंट के बटन खोले तो उसने शर्म से अपना सर फिर से नीचे कर लिया.हम लोग कार से निकले और कार में रोमांटिक गाना लगा कर मस्ती से कार चलाने लगा.

सो मैंने बेझिझक अपने कपड़े उतारे और उसकी गोद में बैठ कर उसके कपड़े भी उतारने लगी. ब्लू इंग्लिश बीएफ बीस मिनट के बाद बुआ बोलीं- पानी कब गिराएगा?मैं बोला- इतनी स्लो स्लो करवाओगी तो मेरा पानी नहीं गिरेगा.

मैंने उसकी टांगों को फैलाकर चुत के ऊपर जैसे ही हाथ फेरा, वो एकदम से चिहुंक कर बोली- प्लीज़ आह्ह.

ब्लू इंग्लिश बीएफ?

दोनों एक दूसरे की जीभ चूसते तो कभी होंठों के अमृत को चूसने में लग जाते. उम्म्ह… अहह… हय… याह…”वो मुझे किस करते हुए धीरे धीरे अन्दर बाहर कर रहे थे. मैंने थोड़ी सी स्पेशल क्रीम लेकर उसकी गांड के छेद को सहलाते हुए क्रीम मलने लगा.

अब बालू मुझे दिखा, वो अपना लन्ड हाथ में लिये हिला रहा था, बालू बोला- सच बोल रहा है आशीष तू! क्या मस्त माल है ये वन्द्या… तेरा लौड़ा कैसे मस्त चूस रही थी, मैं देख कर ही पागल हो रहा था, पहले थोड़ा बुरा लगा जब तूने इसको पहले चोरी से चोद दिया और फिर जब अभी दोबारा इसकी चूत चाटना शुरू किया. इधर मैं जूही की चूत चाट रहा था, उधर नाज़ मेरा लंड चूस रही थी और मैं नाज की चूत सहला रहा था. उनके अलावा नाड़ा कोई नहीं खोल सकता। वो मेरे मन की बात समझ गई और उसने खुद ही बड़ी आसानी से नाड़ा खोल दिया।हम दोनों अब तक बैठे हुए थे लेकिन अब मैंने उसे लिटा दिया और पजामे को धीरे-धीरे सरकाते हुए उसकी जांघों को चूमने लगा।दोस्तो, जब भी कभी आप किसी लड़की के गुप्तांग को टच करो.

तो दोस्तो, बताइये कि आपको मेरी जवानी की जरूरत की सच्ची सेक्सी कहानी कैसी लगी? आप अपने विचार अपने कमेंट्स के रूप में मेरी मेल आईडी पर दें ताकि मैं अपनी आगे वाली कहानी में सुधार कर सकूँ।मेरी मेल[emailprotected]मेरी फेसबुक[emailprotected]और मेरी हैंगआउट्स:[emailprotected]. फिर वो मेरे सामने धीरे धीरे अपने कपड़े उतारने लगीं, साड़ी तो चाची पहले ई उतार चुकी थी, उफ़… मैं तो मदहोश होता जा रहा था. इधर मैंने भी उसको समझाया कि पहली बार जब चुत की सील खुली थी, तब दर्द हुआ था कि नहीं.

उस दिन भाभी के पापा की तेरहवीं थी, जिस दिन आस पास के गाँव के लोग खाना खाने को आते हैं और घर के लोगों को बहुत काम करना पड़ता है।सबने मिल कर पूरा काम निपटाया और रात हो गयी. आशीष से चुद कर मैं उसके गेस्ट रूम में चली गई, वहाँ पर वो अकेला ही था.

”मेरी चूत चाटने की रफ़्तार बढ़ती जा रही थी, जैसे ही मैंने उसकी क्लिट को मुँह में ले कर खींचता, वो गांड उठा देती और बोलती- प्लीज़ बेबी.

और यह मेरी पहली और बिल्कुल सच्ची कहानी है।अहमदाबाद में मेरा कंप्यूटर को ठीक करने का काम है और मैं कंप्यूटर की सर्विस लोगों के घरों में जाकर भी किया करता हूँ.

उसे चुदाई की जैसे लत है, जब कहो, तब वो चुदने को तैयार रहती है बिल्कुल वैसे ही जैसे रिचा!आपको मेरी सेक्सी हिंदी स्टोरी कैसी लगी प्लीज़ मुझे मेल कीजिएगा. उसके जाने के कुछ देर बाद जब मैं बेड से खड़ी होने लगी, तो मेरी टाँगें कांपने लगीं. मुझे बालू के ऊपर बड़ा गुस्सा आता, जो मेरे हाथ कंधे सब दबाये मेरे मुंह में लंड डाले उल्लू की तरह गधा साला मुंह में मेरे लन्ड डाले पागल है, मुझे दो तीन बार लगा था कि कोई है… परदा हिला था, मोबाइल भी थोड़ा चमका था, मैं बोली भी थी कि लगता है कोई है।पर बालू बेवकूफ ने हर बार मुझे चुप करा दिया कि तुम फालतू में डर रही हो, मूड खराब कर रही हो.

मैंने धीरे से प्रिया को अपने-आप से अलग किया, प्यार से उसके चेहरे पर अपना हाथ फिराया, बाल पीछे किये, आँखें पौंछी और माथे पर एक चुम्बन लिया. मैंने उससे कहा कि तुम बाहर क्यों आ गईं?तो वो बोली- मैं उधर बोर हो रही थी इसलिए बाहर आ गई. वहां पर एक ग्राउंड फ्लोर पर बड़ी सी कैंटीन है… जहां सब लोग खाना खाने आते हैं.

मेरी अन्दर भी पूरी मस्ती छाई हुई थी, तो मैंने सोचा कि इन पलों का कुछ मजा लिया जाए.

इस बीच मेरे दोस्त का फोन आया तो मैंने बहाना बना दिया कि मुझे कुछ काम आ गया है और मैं अपने अंकल के घर जा रहा हूँ. उसने ब्लू कलर की पेंटी पहनी थी और उसकी जांघ बहुत पतली सी ट्यूब लाइट जैसे चमक रही थीं. पहला रस गिरने के ठीक 9 महीने के बाद उनको लड़का भी हुआ, जो निश्चित ही मेरा था.

बुआ ने मुझे अपने मम्मों से लगा दिया और एक निप्पल मेरे मुँह में लग कर बोलीं- मशीन गरम कर. उसकी चूत के ऊपर के और साइड के सारे बाल साफ़ करने से उसकी चिकनी मासूम सी कली अच्छे से नजर आने लगी, पर उसकी चूत का छेद नजर नहीं आ रहा था. वो बस मज़े मज़े में सिसकारियाँ लेती जा रही थी उम्म्ह… अहह… हय… याह…”ऊपर ऊपर से चूसने के बाद मैंने उसकी ब्रा को खोलना चाहा.

जब उसका पूरा लंड मेरी गांड में घुस गया, तब वो एक मिनट के लिए रुक गया.

देखो कैसे गन्दी बात कर रही है!यह कह कर भैया ने भाभी की चूची पर हाथ फेर दिया. अंडरवियर में से मेरा 7 इंच लंबा और 2 इंच मोटा लंड खड़ा उसे सलामी दे रहा था.

ब्लू इंग्लिश बीएफ बाथरूम में जाकर पहले अपनी चूत को अन्दर बाहर से साबुन से अच्छी तरह धो लो. हालांकि मुझे उनकी गांड तो दिख ही गई और मुड़ते हुए मैंने उनकी जंगली बालों वाली अद्भुत चूत भी देख ली.

ब्लू इंग्लिश बीएफ लंड चूत के टकराव से बनने वाला म्यूजिक माहौल को अलग ही नशा दे रहा था. मैं- वाह… उस दिन आपकी मेरे लिए क्या प्लानिंग है?माँ- कल तुम माँ के लिए एक सुंदर सी ब्रा पेंटी और एक नाईट गाउन खरीदोगे और उनको अपने हाथ से लिखी एक चिट्ठी के साथ गिफ्ट करोगे.

अब हम 69 पोजीशन में थे, भाभी चूत से पानी बराबर निकल रहा था, मैं मजे से चूत चाट रहा था और भाभी मेरा लंड चूस रही थी.

मराठी भाभी की सेक्सी फिल्म

वहाँ पे बहुत सारे कैंडिडेट आए हुए थे, जब मेरा नंबर आया तो मैं अंदर जाने के लिए उठा तो उसने ऑल दी बेस्ट कहा, मैंने हँस कर थॅंक्स बोला. मिलोगी नहीं?उसने दो दिन बाद के लिए कहा और बोली- मैं परसों के बाद फ्री रहूंगी, तब मिल लेंगे. रीमा- पागल, खुल कर नहीं बोल सकता था? मैंने बोला था ना मैं खुले विचारों वाली लड़की हूँ.

मैं वीडियो देखकर सन्न रह गया।मैंने वीडियो को फॉरवर्ड करके देखा तो आगे टिंकू प्रियांशु पर चढ़ा हुआ था; उसने प्रियांशु की टांगें अपने हाथों में पकड़ रखी थीं और उसकी गांड में लंड को पेल रहा था।मैंने मन ही मन कहा ‘साला मेरे भाई पर भी हाथ साफ कर गया।’बड़ा ही पहुंचा हुआ गांडू निकला ये तो।लेकिन इसने ये किया कब. मुझे बड़ी लाज आई, मैंने जल्दी से अपने कपड़े पहने और कमरे से बाहर आई।फिर नहाने धोने लगी. केवल 15-20 मिनट की चुदाई में वो फुल चिल्ड एसी में भी पसीने से भीग गई थी.

फिर वो मेरे पास ही आ कर बैठ गई अचानक वो मेरे बहुत नज़दीक आ गई, हमारी कार में बहुत बातें हुई थीं, पर कोई भी सेक्स या ऐसी बात नहीं हुईं, सारी बातें एक दोस्त जैसी ही हुईं.

मैंने भी कपडे पहने और उसे उसके घर के मोड़ तक छोड़ कर आया क्योंकि उससे ठीक से चला नहीं जा रहा था. मेरी साली को भी इस हरकत का मजा आया और उसने उसका सर पकड़ कर अपनी ब्रा पर दबा दिया. मैंने मॉम से बोला- आज एक बार तो चोद लेने दे, मॉम दुबारा नहीं करेंगे.

इसके बाद मैंने उसकी चूत पर लंड रखा और उसको भी लंड पकड़ कर रखने को कहा. उसे ये पता था कि आख़िर पिंजरे का पंछी कहाँ उड़ कर जाएगा, वो बोली- डार्लिंग, तुम्हें मैं दुनिया की असलियत दिखा रही हूँ. मुझे अपने आप पर गुस्सा आ रहा था कि मैंने बेकार में कामिनी पर शक किया.

एक दूसरे के मम्मों को दबाना चूचियों को चूसना, चुत चुसवाना और चूसना आम बात हो चली थी. पहले उस नंगी देसी लड़की ने मेरा लंड चूसा बाद में मैंने उसकी चूत चाटी.

10 या 15 धक्कों में ही अंजलि झड़ गयी, अब अंजलि बोली- अब रहने दो!दोस्तो, मैं बिना झड़े ही रुक गया।अब पारुल कहने लगी- अब तुम गाड़ी ड्राइव करना!मैंने कहा- ठीक है!फिर कहने लगी- अब मेरे लिए भी पैग बनाओ!मैंने दो पेग बनाये और पीने लगे. लौटते समय मैंने कहा कि मैं हवा खाते हुए जाना चाहूँगी, सो मैं भाईसाहब की स्कूटी के पीछे बैठ गई. फिर शाम होते मैंने बहन से पूछा- कैसे लगे वीडियो?वो कुछ डर गई और बोली- कैसे वीडियो.

रीमा- क्या हुआ?मैं- तेरे चुचे तो वैसे ही टाईट है, आसमान को देखते रहते हैं तो तुझे ब्रा पहनने की क्या जरूरत.

तब मीशा ने लंड को पकड़ के अपनी चूत के छेद पे रखा और मुझे ज़ोर लगाने को कहा. अब पारुल और मैं बिस्तर पर आ गए, मैंने अपनी शर्ट और पैंट निकाल दी, बस अपनी फ्रेंची ही पहनी थी, अब मैंने पारुल की शर्ट भी निकाल दी. तो दोस्तो, यह फ्री सेक्स कहानी करीब 6 महीने पहले की है, जब मैं दिल्ली से पुणे आया था.

आज तू अपने बाबूराव की मलाई मुझे नहीं खिलाएगा क्या अपनी बहाना को?मैं बोला- मेरी प्यारी दीदी, मैं तो कल रात से ही आपकी चूत के लिए तरस रहा था. फिर मैं अपनी जीभ उसके कान से गले तक फेर रहा था और हल्के से किस भी कर रहा था.

वो एकदम से कामुक हो गयी, मैंने जूही को इशारा किया कि उसके मुंह में अपनी चूत रख दे. दोस्तो, आप लोग विश्वास नहीं करोगे कि उनका लौड़ा 8 इंच लम्बा और 3 मोटा था. मैंने देखा कि पायल एक दूसरी मूवी को जैसे ही ओपन करती है तो ब्लूफिल्म खुल जाती है.

इंग्लिश सेक्सी पिक्चर लाईव्ह

सुबह आँख खुली तो हम टेबल पर पड़े थे और उनकी चूत से मेरा वीर्य निकल रहा था.

मगर मैं ऐसी ही थी नहीं, मैं किसी मर्द को अपने कोई भी अंग नहीं दिखाती थी, चाहे कुछ भी हो जाए. तुम अपनी चूत को इतना साफ़ करके आना कि आशीष के लंड की जरा सी भी महक ना आए. मुझे चुदाई में बहुत मजा आने लगा था तो मुझे एक दूसरे लड़के ने पटा लिया.

क्यूंकि बाहर सब वेटर लोगों को मालूम था कि अन्दर एक लड़का गया हुआ है. वो अपना मुँह हटाने के लिए सर हिलाए जा रही थी, पर मैं मानने वाला कहां था. सेक्सी बिहारी देसीइधर अब वो लड़का मेरी साली की सलवार का नाड़ा खोल रहा था तो मेरी साली ने विरोध करते हुए उसका हाथ पकड़ लिया, पर अब वो कहां रुकने वाला था.

तब वो बोली- कोई बात नहीं… यह तो तुम पर ही है ना कि क्या करना है, हां मेरे को मेरे पैसे 2 महीने खत्म होने से पहले चाहिए. मम्मे चुसवाने के कारण उसकी चुत ने पानी छोड़ दिया था और उसकी चुत एकदम रस से भीगी हुई थी.

तभी मॉम ने झट से नवीन के चूतड़ पकड़ कर उसको अपनी चुत की तरफ दबाया ओर बोलीं- बाहर नहीं नवीन, चुत में ही गिराओ. फिर एक दिन वो वक्त भी आ ही गया, जब मुझे उस गुप्त कक्ष में जाने के लिए तैयार होने को कहा गया।कहानी जारी रहेगी. सेक्स कैम गर्ल स्वातिफिर स्वाति ने चारों ओर घूम कर मुझे अपनी नंगी जांघों के साथ साथ पेंटी में कैद अपने सेक्सी कूल्हों को भी दिखाया.

फिर मैंने बिना उसकी पेंटी उतारे अपने होंठ उसकी चुत पर रख दिए और चुत को चुम्मा करने लगा. फिर वो अपनी ब्रा का हुक खोलने के लिए अपनी बाजू पीठ पर ले गयी तो उसकी नंगी बगलें देख कर मेरा लंड फट पड़ने को हो गया था. मैंने अपनी बीवी से पूछा- क्या हुआ यार, मज़ा नहीं आ रहा क्या?वो बोली- हां यार, मजा नहीं आ रहा है चुत चुदाई का…मैंने पूछा- क्यों क्या हुआ?मेरी बीवी बोली- मैं नहीं जानती.

सर झड़ जाने के बाद मेरे ऊपर ही ढेर हो गए और मैंने भी उनको अपनी बांहों में समेट लिया.

उसे देखकर में मन ही मन उसके गान्ड फाड़ू लंड और भयंकर चुदाई के सपने देखने लगा, वह लंबा और काला था और जर्दा खा रहा था जिससे मुझे पूरा भरोसा था कि लंड काफ़ी मज़बूत होगा क्योंकि यह मेरा पुराना अनुभव था, लोगों को देखकर ही मैं उनके लंड के साइज़ और चुदाई का अंदाज़ा लगा लेता हूँ. मैंने भाभी को फिर बांहों में भर लिया, वो बोलीं- अभी मन नहीं भरा क्या?मैंने कहा- भाभी, तुम हो ही इतनी मस्त कि मन भर ही नहीं सकता.

जब वो नॉर्मल हुई तो मैंने फिर से धक्का लगाया और पूरा लंड उसकी चुत में घुसा दिया. फिर उसने बोतल के इंजेक्टर को अपनी चूत में घुसेड़ कर अपने दोनों हाथों से दबा- दबा कर गर्म पानी अपनी ओवरी में घुसाना शुरू कर दिया. यदि मैं वहां जाता तो वो मेरे लिए टाइम नहीं निकाल सकती थी क्योंकि ये उसके लिए एक समस्या जैसी था.

उस दिन के बाद जब भी मौका मिलता था, तब हम दोनों सेक्स कर लिया करते थे. ”अगर मेरी प्रियतमा को ये सब छुप छुप कर करना पसंद था तो ठीक है… मैं जो उस को पसंद है वैसे ही करूंगा. पर वो नहीं मान रही थी तो मैंने उससे कहा- ठीक है तो मैं बीच में आ जाता हूँ.

ब्लू इंग्लिश बीएफ मैंने फिर से मम्मों को दबाना शुरू कर दिया और अपने चेहरे को उनके चेहरे के पास ले जाकर उनके होंठों को धीरे से चूम लिया. कुछ ही मिनटों में चाची ने भी वही गरमा-गरम पानी छोड़ दिया जिसे मैंने तौलिये से साफ किया.

सेक्सी सेकस वीडियो

मैं तुम्हें पूरी मालामाल कर दूंगा, अगर तुम मुझसे जब तक चुदवाती रहोगी. वो पट्टी गाँव में रहता है जो कि मेरे शहर से करीब 38 किलोमीटर दूर है। उसके माँ-बाप ने उसे आगे पढ़ने के लिए मेरे पास आज ही भेजा हुआ था।जब मेरा भतीजा कहीं गया हुआ था तो तब वो आदमी हमारे घर आ गया. मैं अपने होंठों को उसके होंठों में भर कर किस करने लगा और एक जोरदार झटका दे मारा, जिससे मेरा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ जड़ तक घुस गया.

उसके मुँह से सीईईईईई की आवाज निकली तो मैंने उन्होंने और भी तेज मसलना शुरू कर दिया. मुझसे रहा न गया और मैंने उसे बेड पे लेटा दिया और उसके ऊपर आ कर उसे पागलों जैसे चूमने लगा. செக்ஸ் சீன்बालू दस मिनट बूब्स चोदने के बाद फिर बोले- अब बता कुतिया… चोदूं तेरी चूत?मैं बोली- नहीं… पर मुझसे अब रहा नहीं जा रहा है!अब वो मेरे मुंह के सामने अपनी टांगें फैला कर बैठ गये और अपना लन्ड पहले मेरे गालों पर रगड़ा, फिर मेरी नाक में डालने लगे, बोले- तुमसे सेक्सी नाक इतनी सुंदर किसी की नहीं है.

ऐसे धीरे धीरे मेरा आना जाना उनके घर में काफी बढ़ गया था हमारे फोन नंबर भी एक्सचेंज हो गए थे.

हालांकि अर्पिता का पहली बार था, तो उसको थोड़ी उबकायी जैसा लगा, पर फिर धीरे धीरे सही हो गया. जब तुम्हारी चुदाई को देखा था तो मन कर रहा था, मैं भी तुमको चोद दूँ.

समझे मेरी जान? विवेक बोला- उसका इंतज़ाम ऐसा कर दिया है, तुम परेशां मत हो!मेरी बीवी बोली- विवेक, डालो न!विवेक और मजा लेने के मूड में था, उसने कामिनी की पेंटी एक झटके में उतार दी और नीचे खिसक गया; उसने अपनी पूरी जीभ मेरी बीवी की चूत में घुसा दी. कभी मैं भाभी के मम्मों को दबाता, कभी भाभी की चूत में उंगली करता, कभी उनकी चूत को चूमता. मोटी-मोटी काली आँखें जिन में प्यार और काम अपनी सम्पूर्णता के साथ झलक रहे थे.

”तुम बिल्कुल मत डरो, तुम्हें बहुत अच्छा लगेगा, बस तुम अपनी टांगें फैलाये रखना, कुछ लगे तो मुझे बेझिझक बता देना, पर टांगें मत हिलाना.

करीब आधे घंटे बाद जब सफाई ख़त्म हुई तो नताशा जाग चुकी थी, मैंने उसे गर्म कॉफ़ी बना कर दी. क्या आपके पति आज आउट ऑफ टाउन जा रहे हैं?माँ- हा वे सात दिनों के लिए बाहर जा रहे हैं. बस कुछ ही पलों में उसका शरीर अकड़ने लगा और एक बार फिर से उसकी चुत ने गर्म पानी की पिचकारी छोड़ दी.

फुल सेक्सी व्हिडिओ इंडियनमेरा लंड पूरा गीला हो गया था और सर्र सर्र अन्दर जा रहा था, मेरी सांसें धौंकनी की तरह चल रही थीं. जब मैंने भाभी का गॉउन उतारा तो देखा कि भाभी ने तो पैंटी ही नहीं पहनी थी.

सेक्सी लंड चूसना

भैया बातें कर ही रहे थे, तभी भाभी उनको किस करके बोलीं- जानू, क्यों न मनन से मदद ली जाए और आप मेरी गांड के मज़े ले सको, जो इतने सालों से न हो पाया. मैं सारा दिन यही सोचता रहता कि उस दिन उससे बात कर ली होती तो अच्छा होता. अब हम दोनों जैसे ही मौका मिलता एक दूसरे से लिपट कर एक दूसरे को चूमने लगते.

अब अर्पिता तो जल बिन मछली की भान्ति तड़प रही थी, उसकी साँसें तेज़ होने लगी और उसके साथ साथ उसके सीने पर तैनात दूध के तो बड़े बड़े गुब्बारे गुब्बारे भी हिल रहे थे. उसने मुझसे पूछा था कि तुम्हारे सारे कपड़े निकालने है या ऐसे ही सोती हो ना मेरी तरह?मैंने नशे में हाँ कह दिया. चाची मेरे लंड को बड़ी लालसा वासना से निहार कर बोलीं- सच में अब तुम बच्चे नहीं रहे… जवान हो गए हो.

अब मैंने उसके होंठों का चुम्बन लिया, उसे होंठों पर जीभ फेरी और उसके एक होंठ को चूसने लगा. अब वह मेरे सामने सिर्फ शर्ट और पैंटी में थी और उसकी नंगी जांघें मुझे पूरी नजर आ रही थी. ऐसा लगा कि जैसे मेरे प्राण निकल गये, पर अंकल नहीं रुके और जोर से एक धक्का मारा अपने लन्ड का… जिससे मैं और जोर से रोने लगी.

ऐसी ही बालों से रहित, रोमविहीन प्रिया की मनमोहक और कोमल योनि भी होगी…” ऐसा सोचते ही मुझ में तीव्र उत्तेज़ना की लहर उठी. आज मैं आपको मेरी देसी चुदाई की कहानी बताने जा रहा हूँ कि कैसे मैंने अपनी पड़ोस वाली आंटी की प्यास बुझाई.

साले ने कोई जवाब ही नहीं दिया… मैंने भी दिल को तसल्ली देते हुए मन ही मन कहा- हाँ नहीं की है लेकिन ना भी तो नहीं की है… उम्मीद अभी बाकी है…यही सोचते हुए मैं वार्ड के बाहर उसका इंतज़ार करने लगा.

कि तभी अचानक बिजली की स्पीड से एकदम मेरी चूत में एक बहुत बड़ा सा सख्त मोटा कुछ बहुत तेजी से पूरे जोर ताकत से एक झटके में मेरी चूत को फाड़ता हुआ अन्दर घुस गया. बच्चे कैसे पैदा किये जाते हैट्रेन चल दी, मैं महिला बोगी में थी तो मैं सो गई क्योंकि दर्द भी था और थक काफी गई थी. सीसीएक्ससीअब मैं अपने एक हाथ से उसकी गांड और दूसरे हाथ से उसके मम्मों को सहला रहा था. उसके मुँह से सीईईईईई की आवाज निकली तो मैंने उन्होंने और भी तेज मसलना शुरू कर दिया.

अगले ही पल मैंने अपनी पैंट को घुटने तक सरका दिया और मैं नंगा हो गया.

अब मैं जोर जोर से सेजल भाभी की चूत चूसने लगा और जीभ को नुकीला करके उनकी चूत की फांकों में घुसाकर मुँह से उनकी चुत चोदने लगा. वे अंकल के दोस्तों से कहने लगीं- आज तो आप लोगों ने इतना ज्यादा चोदा कि मेरी जान ही निकाल दी. मैंने पिंकी के पैरों को पकड़ के फैला दिया, फिर मैंने रुई को थूक से गीला करके उसके मोटे गोल पुट्ठों को ऊपर उठाया और उसकी गांड के छेद में रख कर उंगली से थोड़ा घुसा दिया.

मुझे अब समझ आने लगा था कि नीला ने मुझसे नदी पर चल कर नहाने के लिए क्यों कहा था. पहली बार मैं किसी लड़की को ऐसे असलियत में ऐसे देख रहा था और वो भी इतनी हॉट लड़की को. भाभी के चूतड़ काफी मस्त थे, गोल-गोल और मुलायम थे… एकदम रुई के गद्दे की की तरह थे.

सोनिया की सेक्सी पिक्चर

मां बोलीं- अभी तो स्कूल से आई हूँ… मेरा भी मन है, लेकिन थोड़ा टाइम लगेगा. तो थोड़ा आराम कर लेता हूँ।सास बोली- हाँ बेटा, तुम आराम करो।मधु बोली- चलो. मेरे घर के थोड़ी दूरी पर मेरी एक फ्रेंड रहती थी, जिसका नाम अदिति (बदला हुआ नाम) था.

उस अधिकारी के पूरी तरह से काबू में आ जाने के बाद अब मुझे अपने कैमरों की कोई ज़रूरत तो नहीं थी मगर फिर भी उसके साथ की चुदाई को रिकॉर्ड कर लिया.

उसके सामने कपड़े उतारने की बात सोच कर मैं शर्म से पानी पानी हो रहा था.

मजा ले ले मेरी जान…फिर जोर जोर से भाभी के मम्मों को दबाते हुए उनको चोदने लगा. मैं अकेला ही दिल्ली के तिलकनगर में एक विधवा पंजाबन औरत के मकान में किराये पर रहता हूँ. सपने में पति को शराब पीते देखनाआह चोद और सुन, आज का पूरा दिन और पूरी रात हम दोनों को नंगा ही रहना है.

आपको मेरी रोमांटिक सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है?मुझे सबकी प्रतिक्रिया का बेसब्री से इंतज़ार रहेगा. तुमने पानी में मेरी चूचियों के निप्पलों को चूसा तो दूध का स्वाद कहाँ से आएगा. मैं- क्या बात है… क्या सोच रही हो? तुम्हें क्या हासिल हुआ आज तक? सिर्फ तड़प!वो- आज तक किसी गैर मर्द को इस नजर से देखा भी नहीं है.

फिर मैंने आइसक्रीम ली, उनकी काले रंग की चड्डी के अन्दर फंसी हुई चुत में डाल दी. मैंने उनकी चुत पर लंड रख कर एक झटके में अपना पूरा लंड उनकी चुत में घुसा दिया.

वो मुझे सहारा दे कर गाड़ी से रूम तक ले गया और मेरे बिस्तर पर लिटा कर मुझे चादर उढ़ा दी.

कईयों ने तो अपने कहानी लिखने का भी अनुरोध किया, मैं सबकी कहानी तो नहीं लिख सकता लेकिन एक मेल ने मेरा ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया. वो बहुत गरम आवाज में मोनिंग कर रही थी- ओह ओह… आआअह…मैंने अपनी अंडरवियर निकल दी और उसकी पूरी चुत को अपने मुँह में ले कर पागलों की तरह चूसने लगा. अगर तुम चाहो तो मेरे एक दो दोस्त भी हैं जो तुम्हारी जवानी का मज़ा लूटना चाहते हैं.

क्षक्षक्षक्षक्ष मैंने भाभी के सामने जानबूझ कर लंड चूत शब्द का प्रयोग करते हुए अपने लंड को मसल कर उनके सामने अपनी चुदास बिखेरी थी, ताकि भाभी के मन भी यदि कोई आग है तो वो और भड़क जाए. थोड़ी देर हुई लेकिन अन्दर से कोई जवाब नहीं आया तो मैंने फिर से दरवाजा खटखटाया, तो मेरी साली बोली- कौन? आती हूँ जी…मैंने सोचा- अब ठीक है.

वो साली गांड को क्या हाथ लगाने देगी, तभी तो अपनी सारी इच्छाओं को तुझसे पूरा करता हूँ भैन की लौड़ी छिनाल ले. तभी भाभी हंसते हुए बोल उठीं- अबे चुतियो, गांड मारना इतना आसान नहीं होता. मुझे बहुत तेज दर्द हुआ जैसे कि मेरी गांड फट गई हो… और मैं चीखने लगी।तभी अंकल ने मेरे होठों को अपने होठों से कस लिया और चूसने लगे, बोले- वन्द्या, बस थोड़ा रुक जा!और जोर से मेरी कमर पकड़कर अंकल ने बहुत जोर का धक्का मारा, अपना पूरा लन्ड मेरी चूत में घुसा दिया.

पंजाबी सेक्सी एचडी पंजाबी सेक्सी एचडी

पहला झटका जैसे ही दिया, माँ कराहीं- आह आराम से… बहुत दिनों बाद कोई मोटा लंड अन्दर जा रहा है. इतना लिख कर मैं उसकी तरफ स्क्रीन करके उसे दिखाने की कोशिश करने लगा. मुझे सहन नहीं हो रहा है।लेकिन उसने एक ना सुनी- चाची जी बहुत मज़ा आ रहा है।यह कह कर उसने धक्कों की स्पीड बढ़ा दी।कमरे मैं सिर्फ़ उसकी सिसकारियाँ और मेरी दर्द की आहें.

हम दोनों ने लंड और चुत की चुसाई की और थोड़ा प्यार करने के बाद उसका लंड फिर से तैयार हो गया. कमरे में सिर्फ चूत की फच्च फच्च की और हमारी सेक्सी आवाजें गूंज रही थीं.

अब मैं अपने एक हाथ से उसके एक निप्पल को पकड़ कर खींच रहा था और दूसरे को जोर जोर से चूस रहा था.

मुझे हमेशा से ही भड़कीले रंग वाली पेंटी ज्यादा पसंद है तो मैं तो उसको इस मादक रूप में देखकर अपने आपको नहीं रोक पाया और मेरा हाथ अपने आप ही मेरे खड़े लंड पर चला गया. मैं समझ नहीं पा रहा था कि फोन पर दूसरी तरफ कौन है… लेकिन उनकी बातों से लग रहा था कि दीदी की कोई फीमेल फ्रेंड है. लेकिन आज मेरी छोटी चाची घर में थीं तो मैं खेलने के बहाने से उससे ऊपर वाले कमरे में ले गया, जहां हम सभी लोग सोते थे.

आज वो दिन आ गया है, जब तुम्हारा और मेरा मिलन होगा और आज मैं तुम्हें जमकर अपने आप में समा लूँगी. मुझे सब्र ही नहीं था, मैं जल्दी से उसके पीछे पीछे किचन में गया और उसको पीछे से पकड़ कर अपना लंड उसकी गांड में टच करने लगा. मैंने फिर से एक और झटका मारा और इस बार मेरा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ पूरा अन्दर चला गया.

कुछ मिनट ऐसे ही रहने के बाद मैंने फिर से धक्के लगाने शुरू किए तो धीरे धीरे उसको भी मजा मिला और अब वो भी ‘आआहह उउउहह ऊओ आआईय.

ब्लू इंग्लिश बीएफ: उसके जाने के कुछ देर बाद जब मैं बेड से खड़ी होने लगी, तो मेरी टाँगें कांपने लगीं. खैर रात भर वो लंड से तो कुछ ना कर पाया मगर ना तो उसने मुझे सोने दिया और ना ही खुद सोया.

मैं आज आपको एक कहानी बताने जा रहा हूँ, जिसमें मैंने पूनम भाभी की इच्छा पूरी की. उसका नंगा बदन देख कर मेरा लंड सलामी देने लगा, मैंने उसे मेरे कपड़े उतारें को कहा तो उसने मेरे कपड़े भी उतार दिए. इतना कह कर उसने बिना मेरे उत्तर की प्रतीक्षा किए बिना ही धक्का दे दिया.

एमडी बोले- अच्छा मैं तुम्हारी सेलरी 50000 करता हूँ मगर अब तुम जो काम ऑफिस के बाहर करती हो, वो नहीं करोगी.

मैंने कहा- क्या पंकज तुम्हें खुश नहीं रखता?स्मिता ने बताया- पंकज का नीचे वाली किरायदार रेखा के साथ चक्कर चल रहा है. तभी आधी रात को एक पुलिस वाला आया और बोला- चलो बड़े साहब ने बुलाया है. फिर मैंने भाईसाहब से कहा कि मेरे पतिदेव को बुला लें होली खलेने के लिए, वो कहीं बैठकर नॉवेल पढ़ रहे होगें, उन्हें तो नॉवेल और एक बॉटल पानी दे दो.