सेक्सी मूवी पिक्चर बीएफ

छवि स्रोत,आर्मी एक्स एक्स एक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू सेक्स फिल्म बताइए: सेक्सी मूवी पिक्चर बीएफ, अगर कुछ गलतिय़ां है, तो वो भी बताना ताकि अगली कहानियों में हमें सुधारने का मौका मिले.

चोदा चोदी वीडियो एचडी

उसने मेरे हाथों को रोका, मेरे बाल पकड़ कर मुझे खड़ा कर दिया- पहले तेरी पैन्ट निकालूंगी. मोनालिसा xxxमैंने जैसे ही अपनी उंगली उसकी चुत जरा अन्दर को डाली, वो बोली कि आह.

मैं भी इस बात को जानती थी कि पहली बार में दर्द होता है लेकिन मुझे ये नहीं मालूम था कि दर्द कितना होता है. अन्या ओल्सेनमैंने उससे पूछा- ऐसा क्यों?वो बोली कि मुझे खुद नहीं पता कि कैसे गीली हो गई?मैं समझ गया कि वो एक बार झड़ चुकी थी और उसे खुद नहीं पता था.

आंटी सब चाट कर साफ कर गई और बोली- बाकी का हम घर में करेंगे कल!फिर वहां से स्कूटी लेकर घर के लिए निकल गए.सेक्सी मूवी पिक्चर बीएफ: मैंने कहा- क्यों?बोली- दर्द होगा तो कैसे चुप रहूँगी?मैंने कहा- फिर कैसे होगा?बोली- तुम इस बार मेरी चिंता मत करना, वो तो एक बार दर्द होगा ही.

अन्दर आते ही लालजी बोला- वन्द्या बता क्या हुआ तेरे साथ सच सच बता?मैं बोली कि तुम दोनों बेवकूफों की बेवकूफी के कारण आज मुझे बहुत बहुत मजा आया, आज पहली बार मैंने अपने सारे अरमान जो अन्दर आ रहे थे, वह अरमान पूरे कर लिए.तब हमारे पड़ोस के भैया की नई नई शादी हुई थी और उनकी बीवी यानि मेरी भाभी एक परी की तरह थीं.

सेक्स सेटिंग - सेक्सी मूवी पिक्चर बीएफ

मेरे शरीर से पसीना बह रहा था, तो मम्मी बोलीं इतना पसीना- पसीना क्यों हो रही हो?मैं बोली- लाइट गुल हो गई थी मम्मी, गर्मी लग रही थी.उसकी चूत बिल्कुल आग की भट्टी की तरह जल रही थी और गर्म चूत बिल्कुल गीली हो रही थी.

फिर उसने बस के कंडक्टर से अपना टिकेट चैक कराया तो पता चला वो तो मेरे ही बगल वाली डबल सीटर पर थी. सेक्सी मूवी पिक्चर बीएफ पद्मिनी बोली- आपने जब पेंटी उतारी थी, तो वहां कुछ इतना मोटा नहीं था.

मैं अपने दोस्ती की बहन को सब छेदों का मजा देना चाहता था तो कुछ समय बाद मैंने उसे उल्टा किया और डॉगी स्टाइल में होने को कहा.

सेक्सी मूवी पिक्चर बीएफ?

मैंने ड्राइवर को मना किया परंतु वह नहीं माना तो फिर मेरी बहन प्रीति मेरी टांगों पर बैठ गई. वह ऑटो में मेरी बाजु में बैठी थी और सेक्सी कपड़े पहनी थी, मेरा तो खड़ा हो गया था. दीदी के गर्भाशय से जब भी मेरा लंड टकराता, तो दीदी मुझे कस के अपनी बांहों में जकड़ लेतीं.

सर ने मेरे दोनों हाथ अपनी कांख में दबा लिए, जिससे मैं कुछ कर ना पाऊं. कोमल ने अपने एक हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया और दूसरा हाथ उसका मेरी कमर पर था. मैंने पूछा- क्या हुआ अंकल? आपने काल क्यों किया?तो उन्होंने कहा- विकी मैंने एक्टिवा बुक की है, आज उसकी डिलीवरी मिलने वाली है, और मुझे आने में थोड़ा लेट हो जाता है.

मेरी बहन मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर सहलाती रही, मैं अपनी बहन की चूत में उंगली से सहलाता रहा. और आगे भी वो मेरे साथ या अकेले ही आपके काम आ सकता है, अगर आप चाहेंगी तो।जल्दबाजी नहीं. दोस्तो! मैं जब भी शहर से बाहर टूर पर जाता हूँ तो वहां जाने से पहले चूत का इंतजाम अवश्य करके जाता हूँ ताकि टाइम मौज मस्ती में कट सके.

विकी अब मेरे ऊपर लेट गया और मेरी माल से भरी जुबान मेरे मुँह में डाल दी और मुझे ही मेरा रसपान करवा दिया. जब से उसकी माँ गुज़री है, तब से वो अपने बापू के बहुत ज़्यादा क़रीब हो गयी थी और उस के साथ सोने से और ज़्यादा करीब हो गयी थी.

मामी ने भी मुझे चूमना शुरू कर दिया, हम दोनों ने एक दूसरे को एक लंबा किस किया.

वह मेरे हट्टे कट्टे और भरे बदन के सामने एक छोटी बकरी की तरह लग रही थी.

इस सबसे उन दोनों से ही रहा नहीं जा रहा था तो दोनों ने मुझको बेड पे पटक दिया और मेरे सारे कपड़े निकाल कर मुझे नंगा कर दिया. पर मुझे अपनी गांड में उनके इस हरकत से गुदगुदी बहुत हो रही थी और मैं उछल उछल जा रही थी. बीवी का गोरा बदन, उसके बड़े बड़े मम्मे बनपाव जैसी फूली हुई चुत देखकर मेरा तो लंड सात इंच का रॉड बन गया.

अब हम वहां से गाड़ी स्टार्ट करके सीधा गोवा के एक रिज़ॉर्ट में पहुँच गए. वहाँ में कभी नहीं गया था क्योंकि उस वक़्त तक मेरा कोई भी मारवाड़ी दोस्त नहीं था. बड़ी मुश्किल से मैंने उसको मनाया कि अब बाद में कर लेना, जो करना है.

वल्लिका के पति शालीन एक प्राइवेट फर्म में सेल्स अफसर के पद पर काम करते थे.

फिर मैंने उसकी दोनों टाँगों को अपने कंधों पर लेकर उसे दबा कर चोदता रहा. बहुत आकर्षक कूल्हे व कमर थी उसकी!मैंने लंड के धक्के रोक दिए, अब वह अपनी गांड चला रहा था, चूतड़ उचका रहा था, अब मैं पूरा दम साधे था, जल्दी झड़ना नहीं चाहता था. मैं ये बात समझ रहा था कि मेरे माता पिता जी जाने वाले नहीं हैं, लेकिन ना जाने उनको आज क्या हो गया और वे मान गए.

मैंने कहा- क्या शर्त है?दीदी ने बिना झिझक के बोल दिया- तुमको मुझे चोदना पड़ेगा. कुछ ही देर बाद मुझे भी बहुत मज़ा आने लगा था और मैं भी अपनी गांड साथ में हिलाए जा रही थी. मैं अपने दोस्तों और सेक्सी भाभी और सभी जवान हॉट लड़कियों को धन्यवाद करता हूं कि वो सब मेरी स्टोरी पढ़ कर मेल करते हैं.

ऐसा ही चलता रहा, एक दिन रवि की रात को तबियत खराब हो गई तो भाभी ने तुरंत मुझे फ़ोन लगाया.

बात यूँ शुरू हुई कि इस साल मेरा 12वीं का रिजल्ट आया और उसमें मेरी बैक आई थी, जिसका एग्जाम जामनगर में 17 जुलाई को होना था. वल्लिका भी अपने पड़ोसन सुनाक्षी के कहने पे एक दिन नियोगी बाबा के शिविर में जा पहुँची.

सेक्सी मूवी पिक्चर बीएफ लेकिन मैं उसको चूमते समय भी अपने लंड को उसकी चुत में घुसा रहने देता. जैसे ही उसके बूब्स बाहर आए, मैंने उसे एक हाथ से दबाना शुरू किया, आदतन मुझे बूब्स को जोर से दबाने की आदत है तो उसके एक बूब को जोर से दबाने लगा और दूसरे बूब को मुंह में लेकर चूसने लगा.

सेक्सी मूवी पिक्चर बीएफ बहुत आकर्षक कूल्हे व कमर थी उसकी!मैंने लंड के धक्के रोक दिए, अब वह अपनी गांड चला रहा था, चूतड़ उचका रहा था, अब मैं पूरा दम साधे था, जल्दी झड़ना नहीं चाहता था. वह एडजस्ट करने की वैसी ही कोशिश कर रही थी जैसी कभी पहली बार में राशिद के साथ की थी।करीब तीन या चार मिनट तक हम उसे यूँ रगड़ते रहे और वह असहज और निष्क्रिय रही.

फिर मैंने उनके ब्लाउज के सारे हुक खोले और उन्हें अपने सामने बिठा लिया.

हाथी घोड़ा सेक्सी बीएफ

उनकी चुत की गर्मी महसूस करके और चुत का दबाव देखकर मुझे लगा कि अब चुत बहुत अकड़ रही है. इधर मैं उसकी रूपराशि निहारता हुआ, उससे अपनी आँखे सेंकता हुआ उसे ताकता रहा. मेरा जोश और बढ़ रहा था मैंने मनोहर को अपनी बांहों में कस के पकड़ लिया और बोली- हां मेरे राजा, चलूंगी तेरे साथ, जहां तू बोलेगा, तू मुझे अपनी बीवी आज से अभी से मान लें, तू बहुत हरामी है मादरचोद मनोहर क्या मस्त चोदता है.

कुछ देर चूमाचाटी करने के बाद जब हम दोनों गरमा गए तो मैंने उठ कर उसके सारे कपड़े उतार दिए और अपने भी. दिनेश थोड़ा खिसका तो आकर मुझसे लिपट गया और बोला- तू एकदम गजब माल हो रखी है, बहुत-बहुत किस्मत वाली है तू जो तुझे मेरा मस्त लौड़ा मिलेगा. आज के लिए इतना ही … आगे की कहानी फिर कभी …दोस्तो, चालू लड़की की चुदाई कहानी आपको कैसी लगी, अपने विचार जरूर दें.

वो हमेशा बोलती थी कि दो रात जब वो अपने मौसी के बेटे यानि भाई के साथ होटल में रुकी थी तब दोनों के बीच कुछ नहीं हुआ.

बापू उस वक़्त जब वो पेंट से अपना लंड निकाल रहा था, तब ऊपर पद्मिनी को चूमते और चाटते जा रहा था. एक पल में ही उसने अपनी चूत फैला दी और मेरी तरफ देखा तो मैं नीचे आ गया और उसकी चुत चाटने लगा. यह बात मैंने अपनी बुआ के लड़के को बताई कि मैं मम्मी से फ़ोन पर बात की थी तो वो बोलीं कि वो और बुआ दोनों लोग कल सुबह तक ही आ पाएंगी.

इतनी देर में विक्रम भी बाथरूम से आ गया और मयूरी की मस्त चूचियों से खेलने लगा. मुझे कुछ होश नहीं रहा, तभी मनोहर पूरी ताकत से अपना लंड मेरी चूत में घुसा के अन्दर बाहर करने लगा और बोला- वन्द्या, तू आज से मेरी बीवी है और मैं तुझे रोज चोदूंगा ऐसे ही साली मादरचोदी कुतिया वन्द्या, तू बहुत बड़ी रंडी है, तुझे चोद चोद के मैं सब तरह से रंडी बना दूंगा. फिर मुझे याद आया कि उसने अपने कमरे में बहुत से नंगी तस्वीरें रखी हुई हैं.

दीदी ने जल्दी से मेरे लंड को अपने मुँह में भर लिया और लपक के चूसने लगीं. उनकी धमकी से मैं बेहद डर गई और चाचा से बोली- ठीक है चाचा पर सिर्फ दो मिनट के लिए ही.

फिर हम दोनों ने साथ में खाना खाया और फिर इधर-उधर की बातें करने लगी. उस दिन शाम को मैंने उसे काल किया और बहुत सारी बातें की, उसके परिवार के बारे में पूछा तो उसने बताया कि उसकी एक बड़ी बहन है और दो भाई एक छोटा और एक बड़ा।उसके बाद फिर उसने सब मेरे बारे में पूछा, इस तरह हमारी बातें फोन पर भी होने लगी. दीपक को नहीं पता लगा कि दरवाजा खुल गया है मगर पिंकी से देख लिया था.

पता नहीं कितनी देर तक वो मेरे मम्मों को दबाता रहा और उनके निप्पल चूसता रहा.

मैंने पूछा- पैसे?वो बोला- हां…लेकिन पैसों की तो कोई बात ही नहीं हुई थी हमारे बीच में?” मैंने कहा।वो बोला- तो इतनी मेहनत मैंने वैसे ही होती है क्या? आप भी कमाल करती हो।कहकर वो हंसने लगा।मैंने कुछ पल सोचा और पूछा- अच्छा कितने पैसे चाहिएँ तुम्हें…उसने कहा- 5 हज़ार. तभी मनोहर बोला- ओह मेरी रंडी वन्द्या, मेरे लंड का काम तमाम होने वाला है. मैंने तुम्हारा नाम दिया और कहा कि हमारी चुदाई देख लेना और अच्छी लगे तो तुम भी अजय के साथ सेक्स कर लेना.

किस करते करते मैं अपना हाथ उसकी पैन्ट में ले गया और चुत पर रख दिया, उसकी चुत पूरी गीली हो रही थी, मैंने चुत को सहलाना शुरु किया और मेरे लंड का तो हाल ही ऐसा हो रहा था कि अभी पैन्ट को फाड़ देगा और बाहर आ जायेगा. उसकी जांघें और टांगें मांसल लग रही थी, उसकी चूत पर मैंने हाथ फिरा कर देखा तो उसकी चूत भी पावरोटी की तरह से फूली हुई थी.

लाल जी का लंड बहुत बड़ा था जिसे देख कर मैंने उससे पूछा कि तेरा लंड इतना बड़ा कैसे हो गया? क्या कोई दवा लेता है?अब आगे. वह बात यह थी कि स्कूल के किसी किसी एक लड़की ने एक टीचर को पद्मिनी के साथ अकेले देखा था. नयन नक्श तो इतने अच्छे हैं कि देखने वाला उसे देखते ही मुठ मारने पर आमदा हो जाए.

कुत्ते की बीएफ सेक्सी

पूरे दस मिनट तक लंड चूसने के बाद उसने मेरे लंड से माल निकलवा दिया और उसने सारा लंड चाट कर साफ कर दिया.

पीछे शब्बो (शबनम भाभी) खड़ी थीं… मैं उस समय एक अलग ही सुरूर में था. उसके 36 साइज़ के चुचे, 30 की कमर और 34 के पीछे की और निकले हुआ चूतड़ फिगर को काफी सेक्सी लुक देते थे. अब रूबी को कंट्रोल करना मुश्किल हो रहा था, वो बोल रही थी- अब चोद दो मुझे… चोद दो मुझे!मैंने अपना लंड तैयार किया और उसकी चूत पे सहलाने लगा, अपने लंड के टोपा उसकी चूत के फांकों में घुसाने लगा.

दोस्‍तो, मैं आपका राज, मैंने अपनी साली के साथ दोबारा सेक्स किया, साली को दुबारा कैसे चोदा वह किस्‍सा सुनाने आया हूँ। इससे पहली की मेरी कहानीसाली की चुदाई करके सील तोड़ीमें आप पढ़ चुके हैं कि कैसे मैंने अपनी साली की वर्जिन बुर को चोदा था. पूरा लौड़ा घुसाने के बाद जब सोनू ने चोदना शुरू किया तो मैं सातवे आस्मां की मस्ती पर थी, पूरे कमरे में फच फच की आवाज़ हो रही थी और मेरी सिसकारियाँ गूँज रही थी!सोनू- ले साली, और कस के चुद तू आज, आज तेरे इस कामुक बदन की आग बुझा ही दूंगा!मैं- हरामी साले, ये आग सालों की है, इतनी जल्दी नहीं मिटेगी. सेक्स आलिया भट्टउन्होंने भी कुछ दूर चलने के बाद कार को एक जगह साइड में ले ली और मुझे अपनी ओर खींचकर गले से लगा लिया.

मैं समझ गया कि अब यह लड़की गर्म हो चुकी है, फिर मैंने आधे उतरे हुए कुर्ते को उसके जिस्म से अलग किया, फिर उसकी ब्रा उतारी. अब तक इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि मेरी कामवाली पिंकी मेरे भाई के साले दीपक के लंड से चुद चुकी थी और अब मुझे भी दीपक के मोटे लंड से चुदने का मन था तो हम दोनों उससे किस किस तरह चुदा जाए, इसकी प्लानिंग बनाने लगे.

और आंटी मेरा मुंह अपने दोनों हाथों से अपनी चूत के ऊपर दबा रही थी, थोड़ी देर बाद आंटी की चूत से पानी आ गया, पूरा पानी मेरे मुंह पर आ रहा था, जैसे ही पानी निकला आंटी ने मुझे जोर से पकड़ रखा था, मैंने उनका सारा पानी पी लिया. मैं दिल्ली अपनी कोचिंग के लिए आया था, काफी रूम देखे लेकिन कोई पसन्द नहीं आया. ”अगर आप कहें तो मैं हेल्प करूँ?”नहीं रे, मैं ऐसे ही किसी के साथ कुछ नहीं करना चाहती.

थोड़ी देर में सुमेर का पानी निकल गया, वे अलग हुए, देवेश खड़ा हो गया, अपना अंडरवियर उठा कर पहनने लगा पर सुमेर ने रोक दिया- ठहरो!और आगे बढ़ कर उसका लंड पकड़ा और चूसने लगा. अगर पूनम दीदी आ गईं तो क्या होगा?दीपक पिंकी को चोदते हुए बोला- अगर उसने कुछ कहा. मैंने अपना बाहर निकाला हुआ लंड अंदर डाला स्कूटर साइड में लगाई और आंटी को साइड में ले गया और आंटी का हाथ लेगी में डाला और किस करने लगा आंटी को.

इतना कहने के बाद मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी चुत पे अपना लंड सैट करके हल्का सा अन्दर डाला ही था कि वो चिल्लाने लगी और लंड निकलवाने के लिए रोने लगी.

सुमेर उठा तो मुस्करा रहा था, बोला भी- यार, तुमने मजा बांध दिया… रगड़ के फेंक दी, क्या लंड है तुम्हारा! क्या चुदाई क्या झटके… तुममें बहुत दम है।और देवेश का एक जोरदार चुम्बन ले लिया।मैंने मसाज बॉय दिनेश का परिचय तहसील के और सारे अफसरों से करवा दिया, वह उनकी भी मालिश करने लगा, उसे काम मिला उसका परिचय बढ़ा उसके जमीन मकान के बहुत सारे मामले अफसरों से परिचय के कारण बिना दलालों के निपट गए. और हम टहलते टहलते थोड़ा दूर एक सुनसान सी जगह पर आ गए। अब न तो डी जे का शोर हमें तंग कर रहा था और ना पंडाल की रोशनी का कोई डर!मैंने सोनू को जोर से आलिंगन में भर लिया और कई देर तक हम यूं ही खड़े रहे। एक दूसरे को अपनी गर्मी से सुकून देते रहे। हमें न ठंड लग रही थी और न काली रात का डर.

जिससे कि मेरी इच्छा भी पूरी हो जाती है और उनकी भी चुदास मिट जाती है. एक ही धक्के में मेरा लंड पूरा घुस गया चाची की चूत में… और चाची ने एक करारी सी आह भरी और मेरा मूसल पूरा का पूरा निगल लिया. इस कहानी के लिए आप लोगों के बहुत सारे मेल भी मिले, उसके लिए सभी चूत और लंड वालों का धन्यवाद.

एक दिन की बात है, मैं अपनी शॉप पर जा रहा था तो देखा कि सलमा टेम्पू स्टैंड पर खड़ी थी. और मेरे अंदर का भी हैवान और हवस दोनों ही जागकर बाहर आ गये, मुझसे भी अब रहा नहीं गया और मैं भी उन पर टूट पड़ा, उनकी चूचियों को धीरे-धीरे दबाने लगा, उनको भी मजा आ रहा था, वे तो पहले से ही इसकी तलाश में थी. हैलो मैं विकी, तो मैंने जैसे ही उसकी टी-शर्ट के अन्दर हाथ डाला, मैंने एक मखमली स्पर्श का अनुभव किया.

सेक्सी मूवी पिक्चर बीएफ तभी दरवाजा एकदम से खुला और वो बड़े बूब वाली लड़की हमें छेड़ने के अंदाज में अन्दर आ गयी. दोस्तो, लड़की के फिगर का असली परिचय तो चुदाई से थोड़ा वक्त पहले ही दें, तो लौंडिया की चुदाई की कहानी को पढ़ने का मज़ा डबल हो जाता है.

बीएफ वीडियो का वीडियो

लेकिन जाते समय भी वो मुझे शरारत भरी नजरों से देखते हुए मुस्कुरा रही थी. मैंने भाभी की फ्रेंड रिक्वेस्ट सेंड की और भाभी ने दो दिन बाद मेरा अनुरोध स्वीकार कर लिया. अब मैंने भी उसकी कमर पकड़ी और उसके रिदम में रिदम मिला के चोदने लगा.

कुछ देर बाद वो मुझे किसी गेस्ट हाउस में ले आया और बोला- अब मुझे तुम बताओ कि तुम्हें किसभैन के लौड़ेसे बदला लेना है?मैंने अपने पति का नाम और पता बता कर कहा कि इसकी माँ और बहन को इसी से ही चुदवाना है. पद्मिनी ने नज़र तिरछी करके देखा कि उसका बापू उसको दरवाज़े के पास खड़े होकर घूर रहा है. भाभी की फुल चुदाईवो किचन में जाने लगी, उसका किचन अंदर था, मैं उसे देखते देखते उसके पीछे चलता चला गया और उसे देख रहा था.

उसने मुझे अपने से अलग किया, बोली- बैठो यहाँ… मैं तुम्हें एक जवान लड़की की खूबसूरत जिस्म का दीदार कराती हूँ सबसे पहले!हम बेसब्र सोफे पे बैठ गये.

चाचा ने होंठ के बाद सीधे मेरे मम्मों को पकड़ कर तेजी से दबाया और बोले- वन्द्या, ये तो बहुत कड़क हैं, पर क्या गजब के हैं. अभी भी मैं एक हाथ उसके पीठ को ही सहला रहा था और एक हाथ से उसके पेट को भी सहलाने लगा.

जब जीभ उसकी चूत डालता तो वो एकदम से मेरा सिर पकड़ कर अपनी चूत पे दबा देती. अपने होंठों को पद्मिनी ने दांतों में दबाते हुए धीरे से बापू के कानों में झुक कर कहा- अब मैं चलती हूँ… आपको तो मज़ा आ गया ना बापू मेरे?पद्मिनी अपने बापू के दोनों गालों पर ज़ोर से चुम्बन देकर घर से दौड़ते हुए निकल गयी. वो जोर से मेरे बालों की चोटी खींच कर मुझे पीछे से कमर उठा-उठा कर जोर जोर से लंड अपना डालकर चोदने लगा, साथ में गंदी गाली बकने लगा.

थोड़ी देर बाद विक्रम घर आ गया अपनी कोचिंग क्लास कर के … उसने दरवाजे की घंटी बजायी और मयूरी ने शीतल को दरवाजा खोलने को कहा और उसने बताया कि वो अपने कमरे में जा रही है, तो इस वक्त खुल कर अपने बड़े बेटे पर लाइन मार सकती है.

इसके अगले भाग में आप आगे की कहानी मम्मी एवं शिवानी की कोख में अपना बच्चा टिकाना, अंजलि को रंडी बनाना पढ़ेंगे!उस रात जम के चुदाई के बाद हम सब सो गए, मैंने सबको पेला था तो मैं काफी देर तक सोता रहा और करीब ग्यारह बजे सुबह मेरी नींद खुली. चलो कोई बात नहीं, वो मेरे मामा जी ने मार ली है, पर मुझे भी आपकी कुंवारी मिल सकती है. उसने मुझे बताया कि गाँव में उसकी एक गर्लफ्रेंड थी, जिससे वो बहुत प्यार करता था लेकिन वो उसको धोखा दे गई और उससे ब्रेकअप कर हो गया.

लव इंडिया लंदन से लाएंगेअब मुझे रात में नींद नहीं आ रही थी, बार बार यही विचार आ रहे थे कि कल क्या होने वाला है. थोड़ी देर बाद चाय नाश्ता लिये रज़िया भी आ गयी। मैंने हस्बे आदत गहरी निगाहों से उसका अवलोकन किया।चौबीस-पच्चीस से ज्यादा उम्र न रही होगी उसकी.

पंजाब वाली बीएफ

मैंने कहा- जब मैं आऊंगा तो मुझे आप कैसे मिल सकती हैं?अभिलाषा ने बताया कि वह बुकिंग मैनेजर है और होटल के सारे इंतजाम व गेस्ट रिलेशन देखने की जिम्मेदारी मेरी ही है, आप जब आएंगे तो आपको कोई तकलीफ नहीं होगी. दो तीन दिनों में उसने मेरी रितु को हेल्लो बोला और कहा- आप बहुत खूबसूरत हैं. सुरेश जी के सीधे लेटते ही मैं उनके पैरों के पास जाकर बैठ गया और जल्दी से उनकी लुंगी उतार दी.

अब थोड़ा कड़वा तेल ले आओ और बाथरूम में चलो।” आखिरकार वह उठता हुआ बोला।अब यह कड़वा तेल पता नहीं क्या करेगा. वो कहने लगी- मैं लाइट चालू करूँगी, तुम दोनों यह क्या कर रहे हो, मुझे भी देखना है. मैंने उसकी जांघ पर हाथ फेर कर पूछा- रेडी हो?तो उसने सीना तानते हुए कहा- हां.

उसी समय मुझे न जाने कैसा महसूस होने लगा और मैंने भी मनोहर को जोर से पकड़ के अपनी बांहों में पूरी ताकत से चिपका कर कस लिया. बहुत, हम महीने में दो बार तो मिलते थे, उसने मुझे दस बारह बार चोदा हुआ है, लेकिन अब मैं किसी से बात नहीं करूँगी, बस तुम साथ रहना. मैं एकदम से पीछे हट गया तो उन्होंने मेरा सिर पकड़ कर फिर से चूत पर मुँह लगा दिया.

अनीता दीदी अपने घर में अकेली रहती थीं, कभी कभी अपने भाई के घर आ जाया करती थीं. मेरा और मेरे मित्र हम दोनों का ही मन पढ़ाई में बेहद ही कम लगता था, हम लोग वहाँ से मौज मस्ती करते थे, रोजाना शाम को मैंगो शेक पीते थे और लौंडिया ताड़ते थे.

उसके बाद उनके पल्लू को मैंने उनके कन्धों से हटाया और वो एक तरफ गिर गया, साथ ही साड़ी का दूसरा हिस्सा जो पेटीकोट में घुसा हुआ होता है, उसे भी बाहर की तरफ खींच कर निकाल दिया.

अंकल कहने लगे- अरे बेटा, घर में शादी का माहौल है और अभी कुछ भी सामान नहीं आया है. इंडिया की नंगी फोटोदोस्तो, लड़की के फिगर का असली परिचय तो चुदाई से थोड़ा वक्त पहले ही दें, तो लौंडिया की चुदाई की कहानी को पढ़ने का मज़ा डबल हो जाता है. सेक्सी क्योंपद्मिनी- सर की बात सुनकर मैं बहुत शर्मायी और मैं अभी चारों तरफ देख ही रही थी कि मैंने देखा कि दूसरे स्टूडेंट्स हम दोनों की बातें सुन रहे थे. थोड़ी देर रेस्ट करने के बाद हमें उठना पड़ा, क्योंकि अब उस कमरे में उसकी सहेली के चुदने की बारी थी.

मैंने उसके हिप्स को पकड़ा और अपने चेहरे को पैंटी से सटा डाला और उसे चूमने लगा.

मेरी चालू बीवी बोली- अब तो अपनी चुत में इसका लंड ले कर ही रहूंगी मैं!रितु ने भी उसकी प्रैक्टिस के समय पर जॉगिंग पर जाना शुरू कर दिया. अब इन खिलती कलियों और बबुओं के फोन में पोर्न वीडियो होना तो एक साधारण सी बात रह गयी है. मैं बात करते करते उसके लंड के पास अपनी गरम गरम साँस छोड़ रही थी और वो मेरी गांड मसल रहा था.

एक पल के लिए जरा सा ठिठक कर चाची ने अपनी गांड को उठाकर धक्के लगाते हुए मेरे लंड से मुकाबला करना चालू कर दिया. सेल्समैन- सर, मैंने तो कहा ही था 36 आएगी।वरुण- हाँ, तुम सही कह रहे हो। तुम 38 साइज का दे दो!वरुण बड़ी ब्रा पेंटी लेकर ट्राई रूम के दरवाजे पर आया और बोला- माँ, ये बड़े साइज का ट्राई करो!सविता- ये बहुत बड़ा है इससे छोटा चाहिए, तुम सेल्समेन को बोल दो, वो दे देगा!वरुण- माँ, आप अपना साइज़ मुझे मैसेज कर दो, मैं उसी साइज का ले आऊँगा!सविता- मैं खुद ले लूंगी. मगर उसने कहा- एक बार और करवा लो अगर नहीं आया तो मैं बीच में ही छोड़ दूँगा.

बीएफ बीएफ मुसलमानी

फिर मैंने उसकी चूत में 2 उंगली भी डाल दी जिससे उसकी तड़प और बढ़ने लगी और अगले एक मिनट में उसकी चूत का पूरा पानी मेरे मुंह में आ गया।एक बार मेरा भी वीर्य निकल चुका था और उसका भी पानी निकल चुका था, दोनों थोड़ा थक गए थे तो मैंने उसे अपने ऊपर लेटा लिया और प्यार से बांहों में ले लिया। वो मेरे ऊपर ऐसे ही लेटी रही. हमारे होंठ आपस में भिड़ गए, मेरे निचले होंठ को विकी चूस रहा था, परमानंद अवस्था में मेरी आंखें पूरी तरह से बंद थीं, मैंने मेरी जुबान उसके मुँह में घुसा दी. और देखते भी क्यों नहीं, वो लग ही इतनी कालिलाना रही थी कि ना जाने उसने कितनों के लंड खड़े करवा दिए.

अब भाभी की जुबान में मिठास घुल गई थी और उनकी आवाज चुदासी सी हो गई थी.

लेकिन उसके भाई ने उसका एडमिशन गर्ल्स कॉलेज में करवा दिया था, तो मैं वहां जा नहीं सकता था.

फिर मेरे कुछ दोस्तों ने उससे बात की और कुछ क्लास की लड़कियों ने भी तब जाकर उसने मुझसे बात की. वो अपना लंड चुसवाने में इतना मस्त हो गया कि मेरे स्कर्ट को खोलना भी भूल गया. xxx वीडियो प्लेयरमेरे कान में बोला ‘क्या मैं तुम्हें नंगी कर सकता हूँ, सबको जलाना चाहता हूँ कि मेरी गर्लफ्रेंड कितनी हॉट है.

मैंने झट से हां कर दी और इसके बाद हम दोनों यहां वहां की बातें करने लग गए. पर ये भी था कि मैंने जिससे भी सेक्स किया, उससे फुल मस्ती की और हर बार मेरे पार्टनर को भी बहुत मजा आया. इससे मेरी गांड की खुजली और बढ़ जाती, तो मैं उस पेन्सिल को गांड में से निकाल कर चाटता और चूसता.

अभिलाषा ने कहा- हमारे यहां तो यही लड़कियां हैं और यही मसाज करती हैं. हम दोनों बिल्कुल साथ साथ रहने लगी, साथ साथ कैंटीन जाती, खूब बातें करती, खूब मस्ती करती कॉलेज में!मुझे स्विमिंग पूल में नहाना शुरू से ही बहुत अच्छा लगता था। मेरे चाचा के सरकारी बंगले में स्विमिंग पूल बना हुआ है, जिसमें मैं और चाचा अक्सर नहाया करते थे।क्या सोच रहे हो मेरे प्यारे पाठको… हाँ, मैंने और मेरे चाचा साथ साथ स्वीमिंग पूल में स्वीमिंग करते थे और साथ साथ नहाते थे, अठखेलियाँ करते थे.

उतने में राजू का फोन आया, उसने बोला- नीचे आ जाओ, मैं भी आने वाला हूँ.

एक दिन जब मैं मसाज़ करवाने गयी तो जिस लड़की से मैं मसाज़ करवाती थी, वो नहीं आयी थी. कहानी आपको कैसी लगी, ये ज़रूर बताएं ताकि अगला किस्सा आपके लिए और बेहतर तरीके से पेश हो सके. दोनों बस एक दूसरे को वो जिस्मानी सुख देना चाहते थे वो हर औरत मर्द एक-दूसरे को देना चाहता है.

बुलू पिकचर नयन नक्श तो इतने अच्छे हैं कि देखने वाला उसे देखते ही मुठ मारने पर आमदा हो जाए. फिर मैंने एक जोर का धक्का दे कर उन्हें अपने ऊपर से हटाया और उनसे छूट कर भागने की कोशिश की.

मैंने ओके कहा तो उसने मुझसे बोला कि जब तुम ये अन्दर डालो, तो मेरा मुँह बंद कर देना. ये सब अभी कुछ महीने से ऐसा लगने लगा है, जब से कमलेश सर ने सेक्सी कहानियां पढ़ने के लिए वो पुस्तकें और मैगज़ीन मुझे दी हैं. दिनेश बोला- अभी तो इसको देखा भी नहीं कैसी है? कभी ध्यान भी नहीं दिया आपके घर आते थे और चले जाते थे जरा इधर घुमाइये, इसे देखें तो कैसी दिखती है यह छोकरी?चाचा मेरी तरफ आए और बोले- वन्द्या तुम बिल्कुल चिंता नहीं करो, ना इनसे शर्माओ.

विदेशी लड़की बीएफ

चाचा बोले- वन्द्या, इसी आनन्द के बेपनाह मजे के लिए तो लड़की चुदाई करवाती है और मर्द इसी पागलपन के लिए चोदते हैं. कुछ बाइक की वजह से, कुछ मैं अपने आप ही इस तरह से उससे चिपकती थी कि उसे मेरे मम्मों का पूरा पता लगे कि वो कैसे हैं. चलिये मेरा पेटीकोट उतारिये, मेरा मुन्ना आज खुल कर देखेगा अलौकिक सुंदरता … आज यह खुल कर जन्नत की सैर करेगा.

वो तो इतनी अधिक चुदासी थीं कि मेरी उंगलियों को ही चुत के अन्दर घुसाने में लग गईं और अपनी गांड मटकाने लगीं. मगर पता नहीं जब से उसने तुम्हें देखा है, उसका पूरा ही मन बदल गया है.

फिर उसने अपने बापू को निराश न करने के लिए बहुत प्यार से उसके गालों पर फिर गले पर फिर मुँह पर चुम्बन दिए.

ये बात सही है दोस्तो कि मैं जब रूम में होता हूँ, तो डोर कभी लॉक नहीं करता, सिर्फ रात में जब सोने जाता हूँ, तभी दरवाजा बंद करता हूँ. मुझे देख कर वो कहता था कि तुम्हारे आने से रूम में बहुत गर्मी आ जाती है. मुझे लग रहा था कि शायद भाभी मुझे और भी ज्यादा फंसाने के मूड में हैं.

मधु ने दिमाग लगा कर उसके पति से मेरी 2-3 बार बात एक ट्रेक गाइड के रूप में करवा दी थी. उन आंटियों के जाते ही मुझे दरवाजे के पास बुला लिया कि कोई आये तो यहां से पता चल जाएगा. मंजू सिसकारियाँ लेने लगी- ओहह…अब मैंने मंजू को बिस्तर में पेट के बल लेटा दिया और मंजू अब मुझे अपने ऊपर खींचने लगी, जाहिर था कि गैर मर्द से चुदाई की बात सुन कर वो भी ललचाई हुई थी.

फिर उन्होंने मेरे लंड को हाथ से पकड़ लिया और अपनी उंगलियां मेरी गोटियों और गांड के छेद पे फिराने लगीं.

सेक्सी मूवी पिक्चर बीएफ: कुछ पल बाद मैं भी उसका साथ देने लगी और हम दोनों लोग बहुत देर तक एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे. वन्द्या पूरे शहर में सारे मर्द तुझे चोदना चाहेंगे, तू बहुत बड़ी माल है.

आआआ आअहह उई उम्म्म्म…”फिर मैंने धीरे से उनकी चूत की फांकों को खोला और अन्दर से उनका चना सा दाना दिखने लगा, तो मैंने अपनी जीभ से उसे छेड़ दिया. मैंने उसके होंठों की ओर देखा, लाल लिपस्टिक से और सेक्सी दिख रहे थे. अभिलाषा कहने लगी- मैं आपसे वहां से बात नहीं कर सकती थी इसलिए आपके कमरे में आई हूँ और जूली के बारे में ही बात करने आई हूँ.

उसका इतना बोलना था कि मैं परमानन्द को प्राप्त हुई, अपने शिखर पर पहुँच कर मेरा माल गिर गया और ओर्गास्म के साथ ही मैं मछली जैसे छटपटाने लगी.

अब वो कहीं मेरी पत्नी को बता न दें, लेकिन मैं फिर भी गहरी नींद में होने का नाटक करता रहा और वो मुझे दूर खड़े हो कर कुछ देर घूरती रहीं. अब करो।” मैंने समर की जांघ थपथपाते हुए इशारा किया।मैं बाद में करूँगा. मैंने पूछा- वेयर इज़ मिसेस रानी?वो बोली- मेरी आहट सुन जब वो बाहर आई, मैं छिप गयी.