सनी लियोन की सेक्सी फिल्म बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी हिंदी नंगी सीन

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी फिल्म भेजिए था: सनी लियोन की सेक्सी फिल्म बीएफ, मैंने कॉल किया, तो मेरे कुछ बोलने से पहले ही वह बोल उठी- कहां थे अब तक? कितने फोन किए … सुबह कुछ करने नहीं दिया, तो क्या नाराज हो गए?फिर मैंने उसे समझाया कि मैं नाराज नहीं हुआ हूं … मैं तुम्हारा ही वेट कर रहा था और मुझे कब नींद आ गई, पता ही नहीं लगा.

ٹرپل ایکس ویڈیوز

उसने बड़ी तसल्ली से अपने लिए ब्रा पेंटी खरीदी और पैक करवाके मेरे साथ वापस आ गई. पोर्न वीडियो सेक्सी वीडियोदरवाजा खुलते ही 5 मर्द भीतर आए और रमा के साथ अपनी पहचान बताते हुए सोफे पर बैठ बातें करने लगे.

पूरा बिस्तर पानी से गीला हो ही चुका था और अब वीर्य के दाग भी लग गए थे. बीएफ भयंकरआज जो मैं कहानी आप लोगों के सामने पेश कर रहा हूं यह कहानी उसी दौर की है.

एक दिन की बात है, मैं जब उसके घर पर उसे एक्सरसाइज करवाने के लिए गया … तो वो बहुत बिजी लग रही थी.सनी लियोन की सेक्सी फिल्म बीएफ: मै- तुम्हें कैसे पता?राज- मुझे उनकी आवाज़ें आ रही थी … तो मैं समझ गया कि क्या चल रहा था.

अभी उस लड़के ने लंड घुसाया ही था कि मेरी बीवी की जल्दी चोदने की बात सुनकर उसने एक जोर के झटके के साथ लंड अन्दर पेल दिया.मैं बड़े कामुक और लुभावने अंदाज में बोली- प्लीज जानू इतना भी मत तड़पाओ.

बीएफ वीडियो सोंग लिरिक्स हिंदी फिल्म - सनी लियोन की सेक्सी फिल्म बीएफ

मौसी बहुत कमीनी है … वो तेरी बीवी को जिंदगी भर यहीं रखेगी और तू चाहकर भी कुछ नहीं कर पाएगा.उसकी आंखें क्या मस्त झील सी गहरी थीं कि बस एक बार देख लूं, तो घायल ही हो गया.

वो मेरे सामने जब चाय का कप रखने के लिए झुकी तो मैंने आंटी की चूचियों को देख लिया. सनी लियोन की सेक्सी फिल्म बीएफ नर्म हाथ में जाते ही लंड में ऐसी लहर उठी कि एक बार तो लगा कि स्खलन हो ही जायेगा लेकिन किसी तरह खुद को रोका और एकदम से दीदी का हाथ हटा दिया.

वो बोलीं- ये क्या कर रहे हो?मैंने अन्जान बनते हुए कहा कि मैं पानी लेने जा रहा था.

सनी लियोन की सेक्सी फिल्म बीएफ?

मैंने कहा- स्पर्म वो तरल पदार्थ होता है जो पुरुष के गुप्तांग से सेक्स करने के बाद निकलता है. मैं और मेरा बॉयफ्रेंड हम दोनों लोग नंगे थे और वो मुझे अपनी बाँहों में लेकर मेरी चूची को दबा रहा था. इस बार वो मान गई और फिर मैं अपने तरीके से अपनी साड़ी पहन कर घरेलू और संस्कारी महिला की तरह तैयार हो गई.

पहली बार मैंने अपनी गर्म चूत पर किसी मर्द के लंड के स्पर्श को महसूस किया था. मैंने अपनी सेक्स की शुरूआत अपनी स्टेप मॉम की चुदाई आज से दस साल पहले करके की थी. फिर मैं पिंकी के घर गया तो आंटी से पूछा- आंटी खाना कितने बजे बनेगा?आंटी बोली- अपने यहां खाना बना कर मैं तुम्हारे वहां पर खाना बनाने के लिए आ जाऊंगी.

उसके बाद जब मैं कांतिलाल को केक खिलाने गई, तो उसने मुझे मना कर दिया. इधर रमा अचानक से चिल्लाने लगी- आह जानू और जोर और जोर से चोदो मुझे … मैं झड़ रही हूँ … आहहह ओह्ह और तेज और तेज. अब तू मुझे बिना कंडोम के भी चोदेगा तो मैं प्रग्नेंट नहीं हो सकती हूं।ये सुनकर मैं बहुत खुश हो गया।मैंने दीदी को अपनी ओर खींचा और उसे अपनी बांहों में लेकर जल्दी से किस करना शुरू कर दिया.

मैंने कहा- वहां लोग अपनी बीवी के साथ या माशूका के साथ जाते हैं … बहन के साथ नहीं. वो एक हाथ से मेरे एक स्तन को क्रूरता से मसल रहा था, तो दूसरे हाथ से मेरे चूतड़ मसल रहा था.

एक दिन नॉर्मल बात हुई फिर सबकी तरह उसकी भी वही डिमांड कि पिक सेंड कर दो.

उसकी चूत पहले ही पानी से भीगी हुई थी … बिल्कुल नमकीन पानी था जिसको मैं चाट कर मस्त हो रहा था.

उसने भी पूरी जिम्मेदारी के साथ मुझे गहराई तक धक्का मारा, जिसकी मुझे जरूरत थी. अब मैंने उसकी साड़ी का पल्लू हटाया, वैसे ही मुझे उसके उठे हुए गोल, मुलायम और सफेद चुचे दिखने लगे और मेरा दिमाग़ खराब होने लगा. डॉक्टर साहब मैं बहुत दूर से आई हूँ और चार पाँच घंटे बाद नम्बर आया है.

जैसे ही मुझे इस बात का अहसास हुआ कि भाभी की गांड मेरे लंड से सट चुकी है तो मेरा लंड मेरी पैंट में खड़ा होना शुरू हो गया. इस हिंदी सेक्स स्टोरी के पिछले भागखेल वही भूमिका नयी-9में अब तक आपने पढ़ा था कि नए साल का स्वागत करने के बाद हम सभी ने एक ऐसा कार्यक्रम शुरू किया, जिसमें सेक्स से भरी हुई पटकथा का मंचन किया जाना था. उसी वक्त मैंने उससे फिर से चुटकी ली- साइज़ ठीक है न?वो शर्म से लाल हो गई और बोली- मुझे क्या पता कि कितना साइज़ ठीक रहता है.

हम दोनों अब तक पसीने पसीने हो चुके थे और मेरी जांघों में बहुत दर्द होने लगा था.

उनका बदला हुआ रूप देख कर मैं बहुत ही ज्यादा डर गया और वहां से भाग आया. जब मुझे लगा कि मेरा भी वीर्य छूटने वाला था, तब मैंने भाबी से पूछा- भाबी क्या मैं अपना वीर्य चूत के अंदर छोड़ूँ या बाहर निकालूँ?भाबी ने जवाब दिया- यार, अंदर ही छोड़ देना।बस फिर क्या था, मैंने भी भाबी की चुदाई फुल स्पीड से करनी शुरू कर दी और जैसे ही भाबी अकड़ कर आईईई. मैं उसकी बात समझ नहीं पाई, पर काम खत्म होने के बाद समझ आया कि उसके कहने का मतलब था कि बालों की हल्की छंटाई की जाए.

बीच बीच में मैं अपनी उंगली उसकी बुर के अन्दर डाल देता और वो ‘आह आह. मैंने सोचा कि यह मेरी पत्नी के पैर हैं, लेकिन कुछ टाइम बाद मुझे मालूम हुआ मेरा पैर तो मेरी भांजी की टांगों से टकरा रहा था और वो मेरी इस बात का कोई विरोध नहीं कर रही थी. मैंने झट से आंटी को पूरी नंगी कर दिया और उसको मेरे तने हुए लंड पर बैठने के लिए कहा.

इसी कोशिश में नीलू मौसी का पैर फिसल गया क्योंकि अभी मौसी के गीले बदन से पानी टपक रहा था.

इतना कह कर वो नेता भीतर चला गया और इधर रमा ने मुझे पैग भीतर ले जाने को कहा और इशारों इशारों में मुझसे हाथ जोड़ विनती करते हुए सब संभाल लेने को कहा. मैंने उसके निप्पल को अपने उंगली से पकड़ कर कसके खींचा, तो वो कराह उठी.

सनी लियोन की सेक्सी फिल्म बीएफ मेरी योनि से निकलता हुआ पानी कांतिलाल के मुँह से होता हुआ छाती तक आ गया. वो बोली- ये आवाज कैसी आ रही है?भाभी बोली- कुछ नहीं, योगू को शायद मच्छर परेशान कर रहे हैं.

सनी लियोन की सेक्सी फिल्म बीएफ मुझे भी मजबूरी में आंटी से अलग होकर अपने घर वापस जाना पड़ा।उसके बाद हम दोनों को मिलने में एक हफ्ते से भी ज्यादा का समय लग गया. मैंने उनका ध्यान भंग करते हुए कहा- कहां खो गए?वो बोले- हहम्म … कुछ नहीं, चलो उनसे मिल कर परिचय करते हैं.

उसके कहने के अनुसार मैं उसके ऊपर आ गई और लिंग अपनी योनि में प्रवेश करा के अपने चूतड़ आगे पीछे करते हुए धक्के लगाने लगी.

ब्लू पिक्चर भेज दो

फिर कई मिनट तक मेरी चूत को चोदने के बाद उसने मेरी चूत में ही अपना माल छोड़ दिया. मैंने उसकी गांड के छेद पर लंड को रगड़ा और अपने लंड के चिकने सुपारे को उसकी गांड के छेद पर मलने लगा. जब मैं नाश्ता करने के लिए आया तो मुझे महसूस हुआ कि मौसी मुझे चोर नजरों से देख रही थी.

कमलनाथ ने फिर से कविता को लिटा संभोग शुरू कर दिया और थोड़ी ही देर में कविता ने उसे हाथों से पकड़ लिया. वो इसी ग़लती से मेरे गले में वरमाला डालना चाह रही थी, फिर मैंने इशारा किया तो वो शरमा गयी. जब मैं और मेरी पत्नी बातें करते थे, तो वह बार-बार मेरी तरफ देख कर मुस्कुराती रहती थी.

मतलब जिस मर्द के नाम की पर्ची मेरे हाथ में होगी, वो मेरे और उन चारों औरतों में से किसी एक के साथ संभोग करेगा.

एक सप्ताह तक मैं दिल्ली में ही रहा और मैं वहां पर खूब मौज मस्ती की. यह सेक्स कहानी मेरी शादी के एक साल बाद की है, तब मेरी बीवी अपने मायके कुछ महीनों के लिए गई हुई थी क्योंकि वो माँ बनने वाली थी. उसकी टांगें अपने कंधे पर रखीं और फ्रंट फॉर्वर्ड पोज़िशन में लंड को अंतरा की चुत के दरवाजे पर रख दिया.

लेकिन मुझे पॉर्न देखने का बहुत शौक है और मेरी यह आदत अब बढ़ती ही जा रही है. हां मुझे तो इतना तो पता था कि मुट्ठ कैसे मारते हैं लेकिन मैंने सुना था कि मुट्ठ मारने से लंड की नसों पर दुष्प्रभाव पड़ता है इसलिए मैं मुट्ठ मारने की आदत नहीं डालना चाहता था. वो बार-बार मेरी गांड को अपने हाथों के सहारे से अपनी चूत की तरफ धकेल रही थी.

मुझे तो पहले से पता था कि आज की रात क्या होने वाला है, सो मैं बस इन्तजार में थी. शकूर ने कहा- रमेश, अगर तुम्हें कोई दिक्कत न हो तो तुम अरशी को भी साथ में पढ़ा दिया करो.

जब वह सेक्सी मूड में होतीं, तो मुझे इधर-उधर हाथ लगा कर मुझसे छेड़खानी करतीं, मेरी जीएफ के बारे में पूछ कर मुझे चिढ़ाती थीं … जबकि मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं थी. दो मिनट बाद उसने खुद अपनी पैंटी को उतारा और मुझे धक्का देकर बिस्तर पर सीधा लिटा दिया. इस बारे में मैंने भाभी को चोदते हुए एक दिन पूछ लिया था और भाभी ने भी मज़े से बता दिया था कि कैसे वो सहेली के भांजे से चुद गयी थीं.

विशाखा कहने लगी- मैं आपको अपने शादी के टाइम से लाइक कर रही थी, पर बोलने में डर लगता था.

मजा तो मुझे भी बहुत आ रहा था, मगर शायद अंकल को मुझसे ज्यादा मजा आ रहा था. थोड़ी देर बाद वो बोली कि अब मेरा ताश खेलने का मन नहीं कर रहा, कुछ और खेल खेलते हैं. उसके बाद शीमा ने मेरे लंड पर हाथ रख कर कहा- देखूँ ज़रा कितना सिग्नल पकड़ रहा है?वो मेरे लंड को सहलाते हुए धीरे धीरे हिलाने लगी.

इसलिए आप सभी को इस ग्रुप के साथ सेक्स कहानियों का भरपूर मजा मिलने वाला है जिसमें सेक्स के साथ-साथ मस्ती और रोमांस ही नहीं बल्कि रोमांच भी होगा. ये कह कर मैं उसकी गांड के छेद में लंड को रगड़ता रहा और उसे मजा आने लगा.

… बल्कि यूं कहें कि ऐसे कपड़े पहने हुए थे … जिनमें से केवल चूत पूरी तरह से छुप सकती थी और थोड़े बहुत बूब्स … बाकी पूरी तरह खुली किताब थी. जब वो चीखती तो मैं अपने लंड को बाहर निकालता … और फिर कसके झटका मार देता. मैं उनको अपने कंधों के सहारे उठाता हुआ उनके रूम तक लाया और उन्हें बिस्तर पर लेटा दिया.

एक्सएनसीएक्स

उसने साड़ी का पल्लू लपेट कर इस तरह मेरे कंधों पर रखा कि स्तन, पेट और पीठ का भाग ज्यादातर खुला ही रहे.

मैंने बोला- साले राकेश … अगर वो वेटर नहीं आया होता, तो अभी तक तेरी बीवी मेरे नीचे लेट कर चूत चुदवा रही होती. और गुड नाईट कह कर सो गई।थोड़ी देर बाद मुझे भी नींद आ गई और मैं भी भाबी के मखमली जिस्म के बारे में सोचते हुए और उनकी ओर करवट लेकर सो गया।[emailprotected]भाबी की चुदाई की कहानी का अगला भाग:ज़िप में फंसा लंड-2. कमलनाथ भी मुझे नंगा करने में मदद करते हुए मेरी पेटीकोट का नाड़ा खोलते हुए मेरी पैंटी निकालने लगा.

मैं उससे दोस्ती करने के बाद ही इतना बिगड़ गयी थी कि मैं रोज मोबाइल में पोर्न देखने के बाद और अपनी चूत में उंगली करने के बाद ही सोती थी. देख कर सो जाऊंगा।सभी लोग छत पर जाकर सोने लगे। कुछ समय बाद प्रिया छत से नीचे आयी और मेरे बगल में बैठ गयी. अजय देवगन की सेक्सी पिक्चरराज- अच्छा सुनो … अपन लोग कहीं बाहर घूमने चलें … कुछ बियर शियर हो जाएगी.

मैं ध्यान से सुन रहा था, जिसमें सलमा अपनी सहेलियों की कहानी बता रही थी. इसके बाद उसने मेरे वस्त्र को खींचते हुए मेरी टांगों के नीचे से निकाल कर मुझे बिल्कुल नंगा कर दिया.

प्रिय पाठको, आपको मेरी ये चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताइएगा, ताकि आपकी बातों को ध्यान में रखते हुए मैं अपनी अन्य घटनाओं को कहानियों में ढाल कर आपके सामने पेश कर सकूं. वो भी नीचे से गांड उठा कर इस बात का संकेत दे रही थी कि अब उसकी बुर को लंड लेने की सख्त जरूरत है. पर वो मुझे हिलने तक नहीं दे रहा था और बोला- अच्छा माफ कर दो, अब आराम से करूंगा.

मैंने देखा तो अम्मा सोयी हुई तो थीं, लेकिन उन्होंने अपनी साड़ी ऊपर ली हुई थी और उनका हाथ उनकी चुत पर था. फिर उसने दूसरा सवाल पूछा- सर, क्या लंड से हमेशा ही स्पर्म गिरता है?मैंने कहा- नहीं, यह केवल सेक्स के बाद ही गिरता है. उसकी चूत में लंड जाने के बाद ऐसी फीलिंग आ रही थी जैसे कि मैंने किसी 20 या 22 साल की लड़की की चूत में लंड को डाला हुआ है.

मैंने देखा कि उसने अपने गीले कपड़े एक एक करके अपने बदन से अलग करने शुरू कर दिये.

मैंने ट्यूब से मूव निकाली और मौसी की कमर में मालिश करने लगा क्योंकि मौसी की कमर में भी दर्द हो रहा था. हॉट आंटी की काली चूत की कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी बिल्डिंग की लिफ्ट में एक आंटी मुझे मिली.

हम दोनों एक दूसरे में डूब चुके थे कि तभी राकेश की आवाज़ आई- काव्या, ज़रा मेरा तौलिया देना. भाभी ने बल्लू के गले में बांहें डाल दीं और बल्लू के लंड पर उछलना शुरू हो गई. मॉम दर्द से कलपते हुए भी चोदने के लिए कह रही थीं- आह उम्म्ह … अहह … हय … ओह … अई आह … चोद अपनी मॉम को बेटा चोद दे.

भाभी ने मुझे अपनी चूचियों से चिपका लिया और मेरे बालों में हाथ फेरते हुए लंड की ठोकरों का मजा लेने लगीं. फ़िर उसने मेरे हाथ छोड़ दिए और सिर मेरे सिर के पास रख मुझे कंधों से पकड़ लिया. मैंने कहा- संगीता डार्लिंग, इतनी कमाल की चीज सिर्फ मुझे मिलनी चाहिए थी.

सनी लियोन की सेक्सी फिल्म बीएफ इसी तरह हमारी आपस में गुत्थम गुत्थी हो गई … जिससे बहुत बार उसका हाथ मेरे मम्मों को टच कर गया. क्योंकि जिस तरह अन्दर का माहौल अब बन चुका था, किसी को न थकान महसूस हो रही थी, न नींद आ रही थी.

साउथ की नई मूवी

राकेश उठा और उसने काव्या के बालों को पकड़ कर उसको खींचते हुए मेरी गोद में लाकर बैठा दिया. सर ने बहुत बार मुझसे इंग्लिश ट्यूशन चालू करने के लिए कहा था, लेकिन मैं किसी न किसी बहाने टाल देता था. सभी मर्द तैयार हो गए और इसमें हम महिलाएं उनका कोई साथ नहीं देने वाली थीं.

मैंने दीदी की गीली चूत से उंगली निकाली और उसको अपने मुंह में भर लिया. लंड घुसवाते ही वो झटके से हिली, पर अगले ही पल उसे लंड का मज़ा आने लगा. डॉक्टर की सेक्सी वीडियो दिखाएंचूस ले इसको …मेरा लंड खड़ा हुआ था तो मैंने अपने खड़े हुए लंड को दीदी के मुंह में डाल दिया और दीदी के मुंह को चोदने लगा.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:एक्सरसाइज करवाते वक़्त भाभी को चोदा-2.

फिर मैंने डॉली की चूत की तरफ अपना हाथ बढ़ाया और उसकी चूत पर अपना हाथ रख दिया. फिर उन्होंने मेरी दोनों टांगों को उठा कर अपना लिंग मेरी योनि में झटके के साथ अन्दर डाल दिया और धुँआदार चुदाई चालू कर दी.

मैं अपनी ऑफिस वाली सहेली मौलीश्री के साथ रहते रहते कभी कभी भाई से छुपकर घूमने भी चली जाती थी. अबकी बार उसने और शिद्दत से मेरा लंड चूसा और पांच मिनट तक चुसवाने के बाद मेरे लंड का पानी छूट कर उसके मुंह में गिरने लगा. मैंने कभी ऐसा नहीं सोचा था कि मैं सीमा भाबी के साथ कभी इस हालात में भी लेटूँगा। मैं यह नहीं सोच पा रहा था कि अब क्या करूं.

मेरे पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि मेरे एक दूर वाले अंकल की तबीयत खराब है, तो उन्हीं को देखने और उनसे मिलने वे दोनों अस्पताल जा रहे हैं.

मैंने पूछा- कहां पर देखा है?वो बोली- एक बार कॉलेज की बिल्डिंग के पीछे की झाड़ियों में।उसने अपनी बात को जारी रखते हुए कहा- वो मेरी ही क्लास की लड़की थी जो हमारी कॉलेज बस के पैंतालीस की उम्र के ड्राइवर के साथ ये सब कर रही थी. मैंने अपना लोअर उतार कर अपना लण्ड नमिता के मुँह में डालते हुए उसे चूसने को कहा. पर मुझे भाबी की कहानियां पढ़ने में अलग ही मजा आता हैक्योंकि आप सब को तो पता है कि भाबी के साथ रोमांस करने का मजा ही अलग है.

बड़े दूध वाली सेक्सी बीएफहो सकता है कि मेरे कुछ साथियों को मेरी ये बात कुछ फेंकालॉजी लगे, मगर ये सही बात है. ऑफिस में एक लड़की जिसका नाम मौलीश्री है, मेरी सहेली बन गयी और हम दोनों एक दूसरे से घुलमिल गयी.

देशी सैक्स

पांच-सात मिनट तक चाटने के बाद उसको ऐसी गर्म किया कि उसने मेरे मुंह में अपना फेंक दिया. वहां काफी भीड़ थी, देर लगती देख पापा मुझे छोड़कर बैंक चले गए और कह गये कि तुम्हारा काम हो जाये तो मुझे फोन करना. मेरा लंड उसकी बुर पर जाकर टच होने लगा और मैं अरशी के होंठों को चूसने लगा.

बाथरूम में घुसते ही उसने मेरी पैंट की जिप खोली और मेरा लंड को हाथ में पकड़ कर नीचे बैठ गई. मैंने उससे संपर्क करने की बहुत कोशिश की लेकिन फिर कभी उससे न तो मुलाकात हो पाई और न ही बात हो पाई. वो मेरा लंड नहीं सह पा रही थी, इसलिए उसके मुँह से चीखें निकलने लगीं- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मैं मर गई … बहुत मोटा है … मेरी फट जाएगी … बस अब इसे निकाल लो … मुझे नहीं चुदना.

वहां जाते ही हमने धीरे से दरवाजा बंद किया और एक दूसरे को बेतहाशा चूमने लगे. पेशाब करने का बहाना करके मैं उठा ताकि भाभी को मेरा खड़ा हुआ लंड दिख जाये. कविता ने बिना समय बर्बाद किए झट से अपने हाथों को कांतिलाल के सीने पर रखा और घुटनों पर वजन डाल कर अपने मदमस्त चूतड़ों को आगे की तरफ धकेलते हुए लिंग पर अपनी योनि को रगड़ना शुरू कर दिया.

मैंने फोन उठाया तो मेरी स्टूडेंट ने कहा- सर, 2 बजने ही वाले हैं, आप आये नहीं अभी तक?मैंने कहा- बस निकल रहा हूं मैं भी. साराह के मम्मों को चूसते चूसते मैंने अपना एक हाथ उन की पैंटी में घुसा दिया और मैडम की चूत में उंगली करने लगा.

आज उस घटना को इतना वक्त बीत चुका है और वो अभी भी मुझसे अपनी बुर चोदन करवाती है.

उसने कहा- मैं वही चाहती हूं, जो आपने मुझसे कहा था, लेकिन पता नहीं मुझे उस टाइम क्या हो गया था. ब्लू फिल्म एचडी ब्लू फिल्म एचडीउसके बाद मैंने मॉम को अपनी बांहों में जकड़ा और उन्हें लिप किस करने लगा. हिंदी देसी सेक्सी वीडियो मूवीलेकिन अब चूंकि लंड खड़ा होने लगा था, तो मेरी सोच और नज़रिया दोनों बदलने लगे. भाभी की माँ चुद गई … उनके मुँह से दर्द भरी आह निकल गई ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’ भाभी की आंखें फ़ैल गईं और उनकी मुट्ठियों ने बिस्तर की चादर को भींच लिया.

कुछ समय के बाद आदमी खुद को ठगा सा महसूस करता है और वो अपनी खोयी खुशी को बाहर ढूंढता है.

मेरे बोझ की वजह से वो पास के बिस्तर पर दोनों हाथ टिका कर झुक गईं, तो मैंने अपनी जींस निकाल दी. उसके चूचों को अपने हाथों में भर कर उसके निप्पलों को मुंह में ले लिया और चूसने लगा. उसने बोला- कुछ नहीं होगा, बस कोशिश करती रहो, अभी काफी देर तक करना है और अभी तो दो दिन और यहां रहना है.

मैं उनकी तरफ देखकर मुस्कराते हुए बोली- अब कैसे करेंगे आप?वो बोले- अब मैं नहीं, अब तू करेगी. मैं समझ गया कि भाबी का पानी छूट गया था। मैंने उनकी चुदाई थोड़ी और तेज कर दी और तब भाबी ने भी मेरा साथ देना शुरू कर दिया तथा अपने शरीर को मेरे धक्कों के साथ साथ हिलाने लगी। वह जोर जोर से आह्ह. जब मैंने शहद साराह की जांघ पर और चूत के अगल बगल में डाल कर अपनी जीभ घुमाई, तो साराह का पूरा शरीर कंपकंपाने लगा.

सबसे खूबसूरत लड़की की फोटो

मैं बता दूं कि हम यहाँ किसी से दोस्ती करने नहीं बल्कि आप लोगों का मनोरंजन करने के साथ साथ आपके अंदर सेक्स का नया जोश भरने के लिए आये हैं।हम लोग अच्छी तरह जानती हैं कि शादी के बाद व्यक्ति की जिन्दगी में कई तरह के बदलाव आ जाते हैं. मैंने होटल में सेक्स किया अपने बॉयफ्रेंड से ! कैसे? मेरे ऑफिस की सहेली के कई बॉयफ्रेंड्स हैं, वो उनसे खूब चुदवाती है. कई बार मैं इसकी गर्म और देसी बुर चोदन कहानी पढ़ कर लंड को भी हिला लेता हूं.

उसने काले रंग की ट्रान्स्पेरेंट एक मॉडर्न नाइट ड्रेस पहनी हुई थी और उसके अन्दर उसकी सफेद ब्रा बिल्कुल साफ़ साफ़ दिख रही थी.

मैं उसके घर उसकी मम्मी के आने तक के लिए रुका था और उनको देर शाम तक वापस आना था.

वो मेरे हाथ बाजू कंधे को छू लेता, तो मैं ऐसे रिएक्ट करती, जैसे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता।तो बस एक दिन हिम्मत करके उस्मान में बातों बातों में मेरे मम्मों को भी छू लिया। छू क्या लिया … ब्रा दिखाते वक़्त उसने ब्रा मेरे मम्मों पर रखी और पूरी फिटिंग करके दिखाई. उसके लिंग पर नसें एकदम सख्त लग रही थीं और सुपारा आग की तरह गर्म था. नंगी सेक्स वीडियो पिक्चरमेरा एक बेटा होने के बावजूद भी मैंने अपने आपको बहुत संवार कर रखा हुआ है.

मैंने चाची की गांड की चुदाई की सोची, जिससे कि वो चुदवाने को तरसे और गांड में मेरे लौड़े का दर्द झेल लें. मैं पहली बार मम्मी के स्कूल गया था इसीलिए मम्मी ने मुझे सबसे मिलवाया … उस लड़की से भी!वो मुझे देखकर मुस्कुराई, मैंने भी स्माइल दी।वो मेरी मम्मी की सबसे चहेती छात्रा थी और मम्मी को क्लास भी लेनी थी इसलिए मम्मी ने उससे मुझे स्कूल दिखाने को कहा. कविता शरमाती हुई उसके लंड को ऐसे चूसने लगी, जैसे कि वो ये सब जीवन में पहली बार कर रही हो.

मैं आगे पीछे होते हुए अंकल का साथ दे रही थी और मेरे चूचे भी नीचे दबे होने के कारण आगे पीछे हिलते हुए रगड़े जा रहे थे. बिस्तर तैयार हो गया था और कविता और कांतिलाल भी तैयार होकर बिस्तर पर आ गए थे.

आपको हर लड़की के बारे में पता चलेगा कि उसकी चुदाई की शुरूआत कैसे हुई थी और वर्तमान में वह जीवन के किस मोड़ पर है.

फिर एक दिन सर की पत्नी ट्यूशन में आयी थीं, शायद उन्हें सर से कुछ काम था. यहां तक कि मैं तो शोभा की चूचियों को चूसने के बारे में भी सोच रहा था. नमिता की बातें सुनने के दौरान मेरा लण्ड अपना काम जारी रखे था, नमिता की बूर से बहती रसधारा से सराबोर लण्ड मैंने उसकी बूर से निकाला और गांड के छेद पर रख दिया.

गुजरात बीएफ वीडियो मैंने देखा कविता और राजेश्वरी ने मैचिंग की ब्रा पैंटी पहनी थी और वो दोनों तो उसी में ज्यादा आकर्षक और कामुक दिख रही थीं. मेरी सहली मौली मुझे बताती थी कि वो अपने बॉयफ्रेंड से कैसे चुदाई का मजा लेती है तो मुझे भी चुदवाने का मन करता था और मेरी चूत भी गीली हो जाती थी.

लौंडेबाज की कमर बार बार ऊपर नीचे हो रही थी। उसके चूतड़ों से उसकी जांघें टकरा रही थी, बार बार आवाज आ रही थीं ‘पच्च पच्च …’ जो मेरा दिमाग खराब कर रहीं थी. मैंने पेटीकोट पेट तक उठा दिया और उसकी पैंटी के ऊपर से चाची की चूत को चूम लिया. मैंने उसको आंख मारी और कहा- ठीक है, पहले खाना खा लेता हूँ, फिर हम दोनों मस्त वाला गेम खेलते हैं.

बीपी शॉट मराठी

अपनी बुर पर उगंली रखने की मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी, कुछ करने की तो बात ही बहुत दूर की थी. फिर उस दिन के बाद से मैं रोज जल्दी उठ कर टहलने के बहाने से आकर कई बार अपनी बहन को नंगी नहाती हुई देख चुका हूँ. डॉक्टर साहब उठे, अपने कपड़े पहने और बोले- अब तुम परसों आना, मैं शिलाजीत या वियाग्रा खाकर आऊंगा तब तुम्हें जन्नत का मजा दूँगा.

मैंने मैडम के होंठ खूब चूसे, उनकी गर्दन चाटी, उनकी चूचियों के निप्पल्स को खूब खींचा और चूसा … और खूब चूचियां दबाईं. उसका लिंग किसी भी स्त्री को चरम सीमा तक पहुंचाने के लिए बड़ा मजबूत दिख रहा था.

चूंकि ग्रुप में पांच लड़कियां हैं तो इन्हीं पांचों में से हर बार एक नयी लड़की अपनी कहानी आप तक लायेगी.

मगर दीदी ने मुझे हटा दिया और बोली- पहले खाना बना लेते हैं और उसके बाद सेक्स करेंगे. आंटी कोई सामान लेने आतीं, तो वह अपनी चूची मेरी छाती से सटाते हुए निकल रही थीं. मैंने अब उसकी दूसरी गांड के फलक पर फिर एक झापड़ मारा, इससे उसकी दूसरी गांड भी लाल हो गयी.

और फिर उसने यही सवाल मुझसे पूछा तो मैंने कहा कि मैंने भी नहीं किया है. पांच मिनट बाद ही मेरे लंड से चुदते हुए वो सिसकारने लगी- आह्ह विक्की … आई लव यू … जोर से करो … मजा आ रहा है … आह्ह … आह्ह … उफ्फ … आह्ह। जानू चोद दे … आज से मैं तेरी हूं. चाची मुझसे छूटने की कोशिश कर रही थीं, मगर मेरी मजबूत पकड़ की वजह से उनको कोई मौका नहीं मिल पा रहा था.

जैसे जैसे लिंग सामान्य अवस्था में आता गया, वीर्य टिप टिप कर मेरी योनि से टपकने लगा.

सनी लियोन की सेक्सी फिल्म बीएफ: लेकिन मैंने अपनी उंगली नहीं डाली।मैंने उससे कहा- एक बात बताओ कि उस दिन मैं जब स्कूल आया था, तुम्हें कुछ याद है?उस हॉस्टल गर्ल ने कहा- याद नहीं बल्कि मैं सब देख रही थी कि कैसे तुम मेरे चुचे देख रहे थे और मेरी चूतड़ों को देख कर तुम्हारा नाग कैसे उफान मार रहा था. उसने मेरी तरफ देखा और गिलास को मुँह पर लगा कर एक झटके में एक पूरा पी गयी.

मैंने ही उस रात का जिक्र किया, तो वो क्या शरमाई थी … आह … मुझे आज भी याद है. तो मैंने अपनी बीवी की फिगर सुधारने के लिए क्या किया? पढ़ें इस गंदी कहानी में!यह गंदी कहानी पूरी तरह से काल्पनिक है, वास्तविकता से इसका कोई संबंध नहीं है. वो भी एक दोस्त की तरह बड़ी खुल कर सेक्स की बातें करती है, क्योंकि अब मेरे लिए शिफा को वही लेकर आती है.

भाभी पूछ बैठी- आपको अभी से नींद आ रही है क्या?मैंने कह दिया कि नींद तो नहीं आ रही लेकिन जाकर लेट जाऊंगा तो आ जायेगी.

नेता जी ने मेरे हाथ से गिलास लिया और फिर एक हाथ से पकड़ कर मुझे अपनी जांघों पर खींचकर बिठा लिया. पास में ही एक सुन्दर सी भाभी रहती थी जो बहुत ही हॉट लग रही थी देखने में. लेकिन अब मेरे मन में हमेशा दीदी की गांड ही रहती कि क्या मैं कभी दीदी के साथ सेक्स कर पाऊंगा या नहीं.