जंगल वाली बीएफ हिंदी

छवि स्रोत,హిందీ సెక్స్ వీడియో హిందీ సెక్స్

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू दिखाओ ब्लू पिक्चर: जंगल वाली बीएफ हिंदी, मैं बनते हुए- छी… ये तो गन्दी जगह होती है!भाभी- कोई गन्दी नहीं होती! मैंने भी आपका मुँह में लिया न? चलो चूसो… वर्ना डालने नहीं दूँगी!मैं- ठीक है!और मैं भाभी की चूत को चूसने लगा, भाभी मेरे लण्ड को! थोड़ी देर में मेरा लण्ड फिर खड़ा हो गया और मैंने अपना पूरा मुंह चूत में घुसेड़ दिया और उन्होंने अपनी टाँग से मेरा सर दबा दिया.

ब्लू बीपी सेक्सी

कुछ देर बाद जब दोनों नार्मल हुए तो मैंने पूछा- कैसा लग रहा है?तो कहने लगी- बरसों की थकान आज दूर कर दी तुमने… आई लव यू रॉकीउसके चहरे पर सेटिस्फिकेशन दिख रहा था. સેક્સી વિડિયાपर मुझे कहां पता था कि मुझे मेरी ज़िंदगी की भयानक सजा मिलने वाली है.

उसने अगले ही पल मॉम की पैंटी खींच कर निकाल दी और मॉम को उठा कर किचन के काउंटर पे बिठा कर चुचों को दोबारा चूसने लगा. दीदी की चुत चोदाऐसा वो उस वक्त करने का प्रयास करती थी, जब वो उनसे डिक्टेशन ले रही होती थी.

फिर मैंने आंटी को बेड पर लिटा लिया और उनकी पेंटी को उनकी चिकनी जांघों पर से सरका कर उतार दिया.जंगल वाली बीएफ हिंदी: वो मुझसे इस कदर लिपटी थी, जैसे कोई बेल किसी पेड़ से लिपटी हो या फिर कोई बल खाती नागिन किसी चन्दन के पेड़ से लिपटी हो.

मुझे शांत लेटा देख कर वो भी मेरे बाजू में आ कर बैठ गई और मुझे किस करने लगी.उसने मेरे लंड को अपनी गांड को टाईट करके दबोच सा लिया और लंड को एकदम निचोड़ लिया.

सेक्सी वीडियो चूत मारने की - जंगल वाली बीएफ हिंदी

शुरू में नताशा भाबी को लेकर मेरे मन में कोई गलत विचार नहीं थे, पर 2 दिन बाद ऐसा हुआ, जो मैंने सोचा ही नहीं था.उनके माथे से लेकर पैरों तक उनके शरीर के हर एक पार्ट को बड़े रोमाँटिक तरीके से चूमा, भाभी बस कसमसाए जा रही थीं.

मैं सीधा जिम में गया और दरवाज़ा बंद कर दिया और अपनी तैयारी करने लगा. जंगल वाली बीएफ हिंदी भाभी ने दुबारा मुझे खुद से दूर धकेल दिया और कहा- तुम होश में तो हो? यह सब ग़लत है.

राहुल तुम चाहो तो मुझे किस कर सकते हो… बाकी अगले गेम में जो जीतेगा बाक़ी की मस्ती उसके साथ करूँगी.

जंगल वाली बीएफ हिंदी?

ये सब तुझे गर्म करने के लिए करती हूं ताकि तेरा लंड खड़ा हो जाए क्योंकि मुझे तुझे गर्म करने में बहुत मज़ा आता है. चेतना अब उठ कर अपने को साफ़ करने बाथरूम चली गयी और राजू भी अपने धोती कपड़े ठीक ठाक करके नीचे चला गया।जो भी हो… नौकर की लंड चुसाई का शानदार नजारा देखकर हम सब सहेलियों का भांग का नशा डबल हो गया और हम वहीं बेड पर एक दूसरी से चिपक कर सो गई।मेरे प्रिय पाठको, आपको मेरी सेक्स कहानी कैसी लग रही है, मुझे मेल करके बतायें!मेरा मेल आईडी है[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मेरा नौकर राजू और मेरी बहन-4. पर जैसे ही दिमाग में अभी हो सकने वाली चुदाई का ख्याल आया, मेरे अभी न चुदने को इरादे को मैं हारने नहीं दे सकती थी और मैंने उसे धक्का देकर दूर कर दिया.

नीना ने फिर जलवे बिखेरे और बोली- नहीं सर, थोड़ा ब्रेस्ट भी देख लेंगे, तो गिल्टी का शक ख़त्म हो आएगा. फिर मैं चुत चाटने लगा और एक फिंगर भाभी के गांड में डाल के आगे पीछे करने लगा. ”मैं और मकान मालिक उनकी कार में बैठकर डॉक्टर के पास गए और वहां पर मैंने डॉक्टर से कुछ विटामिन्स की गोलियां और कुछ सीरप वगैरह लिखवा लिए क्योंकि मैं ऑफिस जाती हूँ और काम करती हूँ तो थक जाती हूँ.

मॉम ने ब्लैक कलर की जाली दार ब्रा, ब्लैक पेंटी एंड उसके ऊपर सनी लियोनी जैसे पेंटीहोज पहनी हुई थी. मैं दीदी के बड़े-बड़े चूचे दबाने लगा और दीदी कपड़ों के ऊपर से मेरा लंड मसलने लगीं. लंड को अन्दर लिए लिए मैंने उसे अपने ऊपर कर लिया, वह मेरे ऊपर चढ़ कर जोर जोर से लंड को अन्दर बाहर करने लगी.

फिर मैंने अपनी बहन की तरफ देखा तो वो नीचे मुँह करके खड़ी थी और रो रही थी. इसके बाद चंदर बोला- बिन्दु जी, ज़रा टांगें चौड़ी करके मेरा पास आओ ताकि मैं आपकी चुत को अच्छी तरह से देखूं, जिसने एक बहुत ही मादरचोद किस्म के चोदू लंड को निकाला है.

मैंने उसकी पैंटी के चारों तरफ उसकी जाँघों पर बड़ी गरमाई से किस किया.

खैर रात को मैंने पढ़ाई करने के बाद उसके उसके नाम की मुठ मारी और सो गया.

उसका शरीर अब कांपने लगा था मेरे दोनों हाथ उसके उरोज को सहला रहे थे और मेरी जीभ उसके पेट पे फिरे जा रही थी. आपके बहुत मेल मिले, जिसमें मुझसे उस एक्सपीरियेन्स के बारे में पूछा गया. यह सुनते ही वो सुबकियां ले ले कर रोने लगी और वो बार बार सॉरी बोल रही थी.

भाभी नहाने चली गईं, मैं बाहर हॉल में बैठ कर टीवी पर कुछ देख रहा था. एक दिन ऐसे ही मैं आंटी के घर किसी काम से गया और आंटी को आवाज लगाई- कहां हो आंटी?मगर आंटी ने जब कोई जबाब नहीं दिया तो मैं आंटी के कमरे में आ गया. फिर बोली- अच्छा एक कहानी मुझे भी भेज दीजिये… मैं भी तो देखूं थोड़ी थोड़ी नॉन वेज कहानी कैसी होती है… आपकी बातों से एक कौतूहल जग उठा है मन में कि नॉन वेज कहानी क्या और कैसी होती है… मैंने कभी पढ़ी नहीं… न थोड़ी थोड़ी नॉन वेज, न ज़्यादा ज़्यादा नॉन वेज.

वो मेरा मोटा लंड देख कर डर गई और बोलने लगी- इतना मोटा… मैं मर जाऊँगी!मैंने कहा- कुछ नहीं होगा, चिंता मत करो… मैं बड़े आराम से तुमको पेलूंगा.

मैंने मामी को पूछा- आपको सकिंग आती है क्या?उसने कहा- वो क्या होता है?मैंने कहा- मेरे लंड को मुंह में लेकर आगे पीछे करने को सकिंग कहते हैं. चुत ने चिकनाई छोड़ दी थी तो मैंने लंड आगे पीछे करते करते पूरा लंड उसकी चुत में पेल दिया. मेरी चुदाई कहानी के पहले भागमेरे टीचर ने की मेरी पहली चुदाई-1में आपने पढ़ा कि कैसे मेरे टीचर ने मुझे पास करवाने के बदले में मेरी चूत गांड मांग ली और हम दोनों ने कैसे ओरल सेक्स का मजा लिया.

फिर सुबह जब मैंने फेसबुक ओपन की तो उसमें कविता के मैसेज थे, उनको देख कर मैं समझ गया कि वो कॉल कविता ने किया था. जैसे ही मैंने अपना अंडरवियर निकाला और उसने मेरा 8 इंची लौड़ा देखा, उसने भागकर बेड पर छलांग लगा दी. मैंने सोचा कि मूठ मार लूँ जाकर…लेकिन तभी मैंने देखा कि मामी जी की शर्ट तभी हवा से ऊपर उठ गई और उनकी गांड दिखने लगी.

इसके बाद उसने आधा लंड बाहर निकाल कर जोर से झटका मार कर अन्दर कर दिया और अब वो बार बार लंड को अन्दर बाहर करने लगा.

आपस में खुलापन होने के कारण मैं अक्सर उसको अपनी जीएफ के किस्से सुनाता रहता था कि आज मैंने ऐसा किया, आज मैंने कैसे अपनी जीएफ को किस के लिए पटाया. मेरे हाथ उसके चूतड़ों पर चल रहे थे, मैं उन्हें सहला कर मसल कर मजा ले रहा था.

जंगल वाली बीएफ हिंदी काफी देर बातें करने के बाद वे बाहर आई और रश्मि मेरी तरफ देख कर स्माइल देती रही. सुबह लगभग चार बजे वो आशीष से बोलीं- जाओ अपने रूम में और किसी को कुछ भी भनक नहीं लगनी चाहिए कि आज यहाँ पर क्या हुआ है.

जंगल वाली बीएफ हिंदी ओऊ… तुम्हारी जीभ तो जादू कर रही है… उह…” वो मुझे चूत के पास प्यार से सहला रहा था. हां, कुछ में लड़की इंडियन जरूर थी।तभी बालू ने मेरा मोबाइल लिया और टाइप किया गूगल में ‘इंडियन एमएमएस थ्रीसम’और फिर मुझे दिखाने लगे, बोले- ये सब रियल हैं, सच में स्कूल गर्ल, कालेज गर्ल, मैरिड वुमन सब एक साथ दो, तीन, चार, पांच मर्दों से एक साथ चुदाई करवाती हैं।मैं बोली- सच में? यार ये तो गजब है! इंडिया में भी फारेन जैसे होने लगा?बालू बोले- अब सच बोलना, नहीं कसम दे दूंगा.

फिर मैंने डाइवरटर को ओपन किया और भाभी को डाइवरटर पे हाथ रखने को बोला कि आप हाथ लगाना, मैं पानी शुरू करता हूँ.

बीएफ फिल्म बीएफ वीडियो

मैं जल्दी में बाथरूम की तरफ दौड़ा, तभी मुझे एहसास हुआ कि बगल वाले बाथरूम में ममता दीदी हैं. उसके मुँह से हां सुन कर मेरा दिल तो जैसे उछल पड़ा… मेरी खुशी का ठिकाना ही नहीं था. मैं तो जैसे जन्नत में पहुंच गई इतना आनंद कभी मुझे अपनी उंगली से नहीं मिला था.

मैं तुरंत अपने मकान मालिक के पास गया और उनसे मुझे जानकारी मिली कि वो सब छोड़ कर अपने गाँव शिफ्ट हो गए हैं. मुझे आज मजा आ रहा था और मैं भी उसके लंड के साथ अपनी चूत को नचवा रही थी. करीब 20 मिनट तक लंड चूसने के बाद मेरे मुँह में कुछ दर्द सा होने लगा.

मैंने विंडो से बाहर देखा तो पता चला कि हम लोग भावनगर पहुँचने वाले हैं, तो जल्दी से हमने अपने कपड़े ठीक किए और सही से बैठ गए.

मैंने चाची को बताया तो बोली- कर दे अंदर ही… बच्चा ठहर गया तो भी खून तो घर का ही रहेगा!मैं थोड़े झटके मार कर चाची की चूत में झड़ गया. फिर मोबाइल उठा कर मैसेज खोला, चाट कुछ इस प्रकार है :समीर- सो के उठ गए?मैं- हाँ, अभी थोड़ी देर पहले ही उठा. उसने मुझे बोरोप्लस का ट्यूब दिया, जिसे मैंने अपने लंड और उसकी गांड पर अच्छे से लगा दिया.

बस उसके मटकते कूल्हे देख कर ही लड़कों का पप्पू खुशी के आँसू रोने लगता था. कैसे मैंने अपनी बहन को चोदा, उसको अपनी रानी बनाया ये जानने के लिए मेरी सेक्स स्टोरी का अगला भाग ज़रूर पढ़ें. तभी प्रीति ने मेरे चेहरे पर चुम्बनों की बौछार कर दी और मुझसे कसकर लिपट गई.

मैं पढ़ाई के साथ साथ बचपन से ही पहलवानी किया करता था, जिससे मेरा 5 फीट 10 इंच का शरीर काफी सुडौल और आकर्षक बन गया है. किसी तरह से अपनीमदमस्त जवानीको काबू किए, आग बुझाने का रास्ता खोजती रहती हूँ कि कोई आए और मेरी बुर को चाट चाट कर बस निहाल कर दे.

”राज जी… आप तो हज़ारों में एक हैं… भाभीजी बहुत लकी हैं जो उन्हें आप जैसा क़दरदान पति मिला… सबके नसीब ऐसे तो नहीं न होते. जब आपकी शादी होगी तो तुम इसको तुम्हारी बीवी की जो शु शु वाली जगह होगी, जिसे चूत कहते हैं, उसमें डालोगे तो तुम दोनों को मजा आएगा; और इस से बच्चा भी होता है; तुमने किसी औरत की चूत देखी है?मैं- हां देखी है… पर भाभी, वो जगह तो बहुत जरा सी होती है, उसमें ये कैसे जाएगा?मैंने अनजान बनते हुए प्रश्न किया. मैंने आंटी से कहा- मुझे बाथरूम जाना है!वो मुस्करा कर बोलीं- अभी?मैंने कहा- मतलब?वो बोलीं- कुछ नहीं जाओ.

मुझे सोता देख कर जब पापा वापस आए तो उन्होंने पूछा कि क्या हुआ है इसको, जो अभी तक सोई हुई है.

जब भी मौका मिलता, वो पापा को अपने मम्मों की नुमाइश करवाती और अपनी टांगों को पूरी तरह से वैक्स कर भी दिखाती. मैंने उनकी टांगों को उठा कर अपने कंधे पर रखा और अपने लंड को उनकी चुत पर रगड़ कर अन्दर डाल दिया. फिर उसने अपनी दूसरी सहेली के साथ भी चुदाई कराई, वो फिर कभी लिखूंगा.

मेरी इस हरकत से वो अब अपना आपा खो रही थी, अब वो अपनी आँखें बंद करके आहें भरते हुए इसका मजा ले रही थी. हम दोनों लोग एक दूसरे को देख कर मुस्कुराने लगे और केमिस्ट भी हम दोनों लोगों को देख कर मुस्कुरा रहा था.

जब वो बटन खोलने की कोशिश कर रही थी, तो बटन खुलने का नाम ही नहीं ले रहा था. बीच बीच में वो भी मेरी तरह पानी मुंह में भर कर कभी मेरे लंड पर कभी मेरे मुंह पर मार देती!थोड़ी देर चूसने क बाद लंड आपने विकराल रूप में आ गया, मैं नीच उतरा और अर्पिता को गले से लगा लिया, उसे लगा कि इस बार मैं खड़ा खड़ा ही उससे चोदूँगा, पर इस बार मेरा मन कुछ और था, मैंने अर्पिता को पीछे से पकड़ा, उसके मम्मे मसलने लगा, मेरा लंड पानी में उसकी गांड में चुभने लगा. फिर मैं सोचने लगी कि इसने ये वीडियो कब बनाई होगी, मेरे घर तो कोई आया नहीं… और जब में स्कूल जाती हूँ तो मेरा घर लॉक रहता है.

सेक्सी नंगी पिक्चर चुदाई

हमने अपने नंबर एक्सचेंज किए उसने नम्बर देते हुए कहा- मैं फोन करूँगी, तुम मुझे फोन नहीं करना.

मैंने उसको देखा और 2 मिनट में वापिस आ गया उसको देख कर!उसने फ़ोन करके मेरी तारीफ करते हुए कहा- वाह यार, तुम तो मस्त लग रहे थे!मैंने भी उसको थैंक्स बोला. फिर उसने धीरे से ज़िप खोल दी और अपने दोनों हाथ मेरी कमर के साइड में ले जाकर पेंट को पकड़ कर धीरे धीरे नीचे करने लगी. मैंने लंड को चूत में घिसते घिसते उसकी चूत में हल्का से अन्दर किया, मेरा सुपाड़े के बहुत थोड़ा ही हिस्सा अन्दर गया होगा कि सोनी के मुंह से उफ्फ निकला।फिर बोली- सर आपका लंड तो बहुत गर्म है।हाँ… साथ ही तुम्हारी चूत भी काफी गर्म है।” कहते हुए मैंने हल्के से एक और झटका दिया, सुपारा जाकर उसकी चूत में फंस गया.

इस कमरे में एक खास बात ये थी कि बगल के कमरे में हो रही बात अगर दीवार से कान लगा कर सुनी जाए तो सब सुनाई पड़ता है. वो तो तुम मान नहीं रहे थे, इसलिए डॉक्टर को साथ मिला कर एक ड्रामा करना पड़ा था और उसका नतीजा भी निकल आया, मैं फर्स्ट डिवीजन डिस्टिंग्शन से पास हो गई. फुल ब्लू पिक्चरमैंने मौसी से पूछा कि अब आपनी चूत में लंड घुसा दूँ क्या?मौसी बोली- हाँ बेटा… इसी लिए तो इतना सब खेल रचा है… अब डाल ड़े मेरे अंदर अपना लंड और भर दे मेरी चूत अपने संतान देने वाले रस से!मेरा लंड बहुत ज्यादा सख्त और बड़ा हो रहा था, मैं रजाई के अंदर ही नंगी मौसी के बदन पर चढ़ गया और मेरा लंड मौसी की चूत को छूने लगा.

देखते ही देखते हम नंगे हो गये और बिस्तर में एक दूसरे को पागलों की तरह चूमने लगे. भाभी- जाएगा… पूरा जायेगा! तुम मेरी चिंता न करो, बस धीरे धीरे पूरा उतार दो!मैंने एक धक्का दिया और 3 इंच गया.

अपनी व्यस्तता के चलते मुझे पहले मालूम भी नहीं था कि मेरे पड़ोस में कौन रहता है. डांस करते हुए रश्मि ने अपनी ब्रा भी धीरे धीरे थोड़े थोड़े मम्मे दिखाते हुए उतार कर फैंक दी और अपनी दोनों बड़ी बड़ी खड़ी चूचियों को अपने हाथों से हिलाने लगी. उसे देखते ही मैं अपने लंड को छुपाने की कोशिश करने मगर वो साला हाथ से भी निकल निकल जा रहा था.

इधर योंग मेरे होंठ चूस रहा था और बूब्स के रगड़ रगड़ का दबा रहा था।कुछ ही देर में योंग ने सबके सामने मेरी शर्ट खोल दी और मेरी ब्रा भी फाड़ दी और वो मुझे उठा कर बिस्तर पर ले गया. इस कहानी के पिछले भागसरकारी अस्पताल में मिला देसी लंड-1अभी तक आपने पढ़ा कि मैं सरकारी अस्पताल में किसी देसी लंड की तलाश में था, एक लंड मुझे पसंद भी आया था लेकिन उसने मुझे पहले तो दुत्कार दिया था लेकिन फिर वो मेरे पास आया. जैसे मुक्का मारते हैं, वैसे ही समीर मेरे लंड को धीरे धीरे ठोकता रहता था.

मेरे होंठ प्रिया की गर्दन से धीरे धीरे नीचे की ओर सरकने लगे और प्रिया के शरीर में भी शनै: शनै: हलचल तेज़ होने लगी.

अब मैं आंटी के बारे में आपको बता दूँ, उन्होंने काले रंग की साड़ी पहनी हुई थी जो उसके गोरे रंग पर गजब ढा रही थी. कुछ ने तो मुझसे मिलने की इच्छा भी जाहिर की, लेकिन मेरी पहली कहानी की घटना के बाद तो जैसे लाइफ ही बदल गई.

मुझे चुत पर ज्यादा बाल अच्छे नहीं लगते, इसी लिए मैंने सोनिया से कहा कि मुझे कुछ कहना है. उसे मेरी बात समझ में नहीं आई तो बोली- क्यों मैंने क्या किया है?मैंने सीधा ही बोल दिया- मैं उसी की बात कर रहा जो तुम कुछ देर पहले कर रही थीं. कमला ने तो मजे के कारण अपनी आखें ही बंद कर लीं और जोर जोर से आहें भरने लगी.

नताशा के बाथरूम से आने पर हमने उसकी खूब खातिरदारी की और उसे केक संग कॉफ़ी बना कर पिलाई. अब तक नताशा की सुस्ती काफी हद तक दूर हो चुकी थी, और उसने खुद ही उठा कर लिकर का पैग पी डाला. कामिनी बोली- अरे यार विवेक, क्या कर रहे हो?वो बोला- तुमको तो मालूम है.

जंगल वाली बीएफ हिंदी जैसे ही मैंने कपड़े निकाले, उसने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और चूमने लगी. अब तक आपने पढ़ा था कि कुसुम ने मुझे रंडी बनने की ट्रेनिंग देना शुरू कर दी.

बीएफ अंग्रेजी में बीएफ

ये आपके लिए है हमारी तरफ से तुच्छ भेंट, आपके स्वास्थ्य के लिए!” आर्थर ने जवाब दिया. इसी तरह करीबन 15 मिनट तक चले इस चुदाई के मजे को मैं कभी नहीं भूल पाया. अब मेरा भी गुस्सा कुछ कम हो गया था और मेरी फोटोज देख कर मुझे भी अच्छा लगने लगा था.

कुछ देर बाद हम पागल होने लगे और एक दूसरे के होंठों को मुँह में खींच कर चूसने लगे. हैलो फ़्रेंडस, मैं समीर आपको अपनीजिन्दगी की एक सच्ची चुदाईबताने जा रहा हूँ. xxx मराठी comलगभग 15 मिनट तक लिप लॉक के बाद हम थोड़ा शांत हुए। मैंने उसे खुद से अलग किया और मैं मेन गेट को अंदर से बंद कर के आया। वापस आकर मैंने उसे जूस पिलाया जो मैंने अननोन नंबर वाली लड़की के लिए ला कर रखा हुआ था।हम दोनों ने जूस पिया।फिर वो बोली- क्या मैं जाऊं अब?मैंने कहा- मन तो नहीं जाने देने का…वो बोली- क्या मन हैं फिर?मैंने कहा- तुम्हें किस करते रहने का मन कर रहा है.

दूसरे दिन सुबह दस बजे रवि दूसरे खेत में काम पर गया था और मैं आज छिनाल जैसी नई साड़ी और कट ब्लाउज पहन कर मोहन के खेत की ओर निकल पड़ी.

जब कोई हरकत नहीं की चाची जी ने… तब मैं अपने हाथ से उनकी गांड पर सहलाने लगा. वो मस्ता के बार बार राजे राजे राजे पुकारने लगी, बोली- अब कितनी देर और इंतज़ार करवाओगे तुम? नीचे सारा जूस निकल गया… आहहह… उम्म्ह… अहह… हय… याह… राजे राजे राजे… कमीने… हाय हाय हाय… किस ज़ालिम से फंसी मैं… ओ… ओ… ओ… ओ… हो.

पहले तो मुझे बड़ा अजीब सा लगा, एक बार तो मैं छोड़कर खड़ा होने लगा था. अंकल- मुझे आप पर शक तो वहीं चाय वाले के पास हो गया, जब मैंने आपकी गांड देखी थी. उसकी पेंटी निकाल कर भाभी के चुत के पास जाकर चुत पर अपनी जीभ को रख दिया.

पर दूसरे दिन राघव ने मुझे अपने प्यार से समझा ही लिया और बिना मेरी मर्जी सम्भोग करने ना करने का उसने वादा किया.

आप अपनी इस रंडी को रोज क्यों नहीं चोदना चाहते?उन्होंने हंसते हुए कहा- मैं तो रोज चोदू दूँ. देख रहा हूँ कि तुम कितनी जवान हुई हो, आख़िर तुम्हारी जवानी के हिसाब से ही तो मुझे तुम्हारे लिए लड़का ढूँढना है. मुझे लगा कि भाभी शायद गांड मराने की आदत है इसलिए इनको ज्यादा दिक्कत नहीं हुई.

सेक्सी व्हिडिओ सेक्स सेक्सउसके बाद मैंने एक जोर से झटका मारा और पूरा लंड की उसकी चूत में चला गया. लेकिन इतनी तमीज़दार औरत के मुँह से ऐसे शब्द सुन कर आज मैं हैरान था और मुझे डर भी लग रहा था कि पता नहीं भाभी शाम को क्या करने को बोलेंगी.

सेक्सी हिंदी ब्लू सेक्सी

भाभी ने मुझे किस किया और आई लव यू बोल कर कहा- राज आज तुमने मुझे खुश कर दिया. जीजा बोले- आज वन्द्या… तुम बहुत हॉट लग रही हो एक नंबर की, तुम पूरा मन बना कर आज मेरे मकान मालिक से चुदवाने आई हो! क्या मस्त सेक्सी ड्रेस पहना है, मुझे नहीं दोगी क्या?मैं कुछ नहीं बोली. उन्होंने कहा कि वे मुझे भी हमेशा प्यार करते रहेंगे और मेरी दीदी को भी!उन्होंने बताया कि पिछले कुछ दिनों से दीदी के खराब व्यवहार की वजह से वह आहत हैं और अपने ऑफिस में काम करने वाली एक लड़की से उनकी नजदीकियां बढ़ रही थी लेकिन आज मेरा प्यार पाने के बाद वह दीदी की जगह किसी और लड़की को नहीं देंगे और आज मैंने अपने दीदी का घर बचा लिया है.

मुझे जबरदस्ती पूरा नाश्ता खत्म करवा के जूस पिला कर भाभी वापस जाने लगीं; फ़िर जैसे कुछ भूल गई हों, वैसे पलट कर बोलीं- शाम को 5 बजे भूलना मत…!और बस चली गईं. मैंने उससे कहा कि साक्षी मैं तुझसे बहुत प्यार करता हूँ और तुझको ठंड लग रही थी न, इसलिए मैं ये सब कर रहा था ताकि तुझको ठंड ना लगे. जैसे ही हम दूसरे कमरे में पहुँचे तो वहाँ एक और आदमी जो 60 साल के लगभग का होगा, बैठा था.

उसकी मादक और कामुक सिसकारियां लगातार बढ़ती जा रही थीं- आह… आह… ये क्या कर रहे हो… मुझे पागल क्यों कर रहे हो… अब चोद भी दो ना बेबी… प्लीज़… जल्दी से डाल दो. तो पता चला कि उसका कोई ब्वॉयफ्रेंड नहीं है।फिर कुछ और दिन ऐसे ही चलता रहा।पर कहते हैं ना जो लिखा होता है वो होकर रहता है।एक दिन मैं जब सुबह इन्स्टिट्यूट आया तो थोड़ी देर में पता चला कि उस दिन शहर में कोई हड़ताल थी। तो मैंने उससे कह कर सभी स्टूडेंट्स और टीचर्स को मैसेज करवा कर छुट्टी के लिए सूचित करवा दिया. अचानक उनके धक्के से मैं बाहर आ गया और दी ने दरवाजे को अहिस्ता के साथ बंद करते हुए मुझे अपनी ओर खींच लिया.

तभी मकान मालिक बोले- क्यों बे सुरेंद्र, कंट्रोल नहीं होता क्या?सुरेंद्र जीजा बोले- ऐसी आइटम को चुदते देखने में भी मजा है अंकल… मुझे ऐसे ही मजा आ रहा है, आप फुल इन्जवाय करो वन्द्या के साथ! आपको इससे सेक्सी सुंदर और पर्फेक्ट फिगर वाली कोई दूसरी लड़की नहीं मिलेगी, वन्द्या को नंगी देख लेने पर जन्नत का मजा मिल जाता है. मैंने उनसे पूछा- माल कहां गिराना है?उन्होंने कहा कि मेरी गांड की तुम ऊपर से तो मालिश करते ही हो, अब अन्दर भी क्रीम लगा कर मालिश कर दो.

कुछ देर बाद हम पागल होने लगे और एक दूसरे के होंठों को मुँह में खींच कर चूसने लगे.

भाई ने भी फ्री की चूत मिलते देख मंजरी को सब्जबाग दिखाए और एक दिन उसकी चूत की सील उसी के घर में तोड़ दी. ಸೆಕ್ಸ್ ಮರಾಠಿनहीं… बल्कि मैं तो इसे और सुधारना चाहता हूँ!”वो क्यों?”यह तुम्हारा फैसला था, तुम्हारी उसके लिए वेल विशिंग थी… यू लव्ड हिम, इसलिए तुमको सॉरी फील नहीं करना चाहिए। बल्कि तुम्हें इसकी खुशी मनानी चाहिए. बीपी गुजराती वीडियोवो जब भी सामने आ जाती है, तो मन करता है कि इसको पकड़ कर इसकी उछलती और मचलती जवानी को कच्चा ही खा जाऊं. जैसे ही उसने बैठ कर अपनी बांहों को पसीना सुखाने के लिए ऊपर को किया.

सुबह उसने मुझसे कहा- तुम अपना पासपोर्ट बनवा लो, फिर मैं तुम्हारी पूरी हेल्प करूँगा, जिससे तुम इस दलदल से पूरी तरह से निकल जाओगी.

कुछ देर की पीड़ा के बाद भाबी अब मेरे लंड के मज़े ले रही थीं- देव, सच में तुम्हारा लंड बड़ा तगड़ा है. मेरे लंड का तो मानो जैसे बुरा हाल था, कब से साली की चुत देखकर तना हुआ था. लंड अब पूरी तरह से फूल कर तन चुका था और मॉम सप सप करके लंड को चूसे जा रही थीं; नवीन भी ‘आह आह.

मैं अपनी वाइफ को छोड़ कर जब अपनी जॉब वाली जगह पर आया और मैंने गेट खोला तो पाया कि रूम ऑनर के गेट पर ताला लगा हुआ है. अब तक मेरा दर्द भी कुछ कम हो गया था और बिंदु माँ ने मुझे पूरी तरह से छोड़ कर अपने बेटे के हवाले कर दिया था. करीब दो मिनट तक झड़ने के बाद दोनों सुस्त पड़ गए और इसी अवस्था में दोनों स्थिर पड़े रहे.

बीएफ वीडियो चोदा चोदी

दोस्तों ये थी मेरी एक फंतासी जो चलती बस में गांड मरा कर पूरी हो गई थी. वो चिल्लाईं- जो बोला है… वो कर…मैं डर गया और मन मार के वो करने लगा जो उन्होंने बोला, क्योंकि आज उनका दिन था. पहले उसने मना किया कि मैंने सुना है कि गांड में ज्यादा दर्द होता है.

मैं 7 बजे शाम को बस में अपनी बर्थ पर बैठ गया और बस के चलने के समय मेरी सीट पर एक लेडी आकर बैठ गई.

मैंने एक बार रजाई में से अपना मुँह निकाल कर उसे देखने की कोशिश की, कमरे में बिल्कुल घुप अन्धेरा था इसलिये साफ तो दिखाई नहीं दे रहा था मगर उसका साया नजरा आ रहा था, जो ठण्ड कारण दोहरी हो रही थी। मैं सोचने लगा कि क्यों ना मैं इसे अपनी ही रजाई ओढ़ा दूँ मगर मुझे डर भी था कि कहीं यह मुझे ही गलत ना समझ ले.

किसी तरह पूरी तरह ढीला पड़ा आर्थर पलंग पर निढाल होकर लेट गया, और नताशा अपने चेहरे को तौलिये से पोंछती हुई मेरी बगल में सोफा चेयर पर बैठ गई. मैं समझ गया था कि सुमन भाभी के अन्दर जो जंगली बिल्ली थी, आज बाहर ज़रूर आएगी. তামিল সেক্স ভিডিও তামিল সেক্স ভিডিওमैंने फ़ौरन बाहर जाकर मेरे दोस्त को बताया कि माल चुदाई के मतलब का एकदम मस्त है.

बिंदु से अपनी चुदाई और चुत चटवाई का एंगल इस तरह से रखा हुआ था कि की होल से पूरी सीन देखा जा सके. अब मुझे अपने इस दोस्त के कमरे पर रुकने में कोई चिंता या डर नहीं था. रास्ते में हम आर्थर और एरिक को मास्को की मशहूर स्थान दिखाते-बताते जा रहे थे: मायकोवस्की स्क्वायर, गार्डन रिंग, सेंट्रल गाई, फ्लावर बुलेवार्ड, ओल्ड सर्कस, सिनेमा थिएटर फोरम, कल्खोज्नाया, आदि.

कामिनी बोली- हां अब नीचे से ऊपर की तरफ चूस ठीक से…वो जैसे जैसे बोलती जा रही थी, मुझको करना पड़ रहा था. फिर थोड़ी देर बाद मैंने एक जोरदार झटका मारा और मेरा 3 इंच लंड उसकी गांड में घुस गया.

अब चीखने की बारी मेरी थी- आह… आहह… कम ऑन क्या मस्त लंड चूसती हो… और जोर से चूसो मेरी जान… आह… और जोर से चूस मेरी रंडी आह… आह…बस इतना गरम हुआ कि मैं उसके मुँह में ही झड़ गया.

फिर चाची बोलीं- तुम्हारा लंड तो अभी से ही तेरे चाचा के लंड बराबर है. मैंने उससे पूछा- कहां जाना होगा?तब उसने मुझे बताया- पास के ही गाँव की रहने वाली है, वो आज अपनी भाभी के साथ वो पास वाले हॉस्पिटल पर आने वाली है. सुबह जैसे ही उनकी उठने की आवाज आयी, मैं उनके दरवाजे पे जा के खड़ा हो गया.

बड़े बड़े लैंड वाली सेक्सी वीडियो अगले दिन बड़ी सुबह हम सबको कहीं बाहर जाना था, लेकिन साक्षी को फीवर आ गया था इसलिए वो नहीं जा पाई. वो अकेला रहता था लेकिन मुझे कभी ये महसूस नहीं हुआ कि वो ऐसा कुछ करेगा.

ग़ज़ब की सुन्दर लड़की और वो भी अचानक सामने आए, वो भी नंगी, तो बंदा कितना सहन कर पाएगा?मैं सिग्गी लेने के लिए बाहर निकल गया, सिग्गी पीते वक़्त उनका फोन आया, मैंने नहीं उठाया. दो दिन बाद भाबी का कॉल आया और उन्होंने बताया कि वे मुझे कितना मिस करती हैं. मैंने फिर से उसे थोड़ा गरम किया और फिर उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर सुपाड़ा फिर उसकी चूत पर सैट करके एक जोरदार झटका दे मारा.

लड़कियों के दूध दिखाइए

वो बोलीं- मादरचोद… ये क्या कर रहा तू??मैंने इग्नोर किया और उनके दूसरे चूतड़ पर भी जोर से काटा. मैंने उसे यह भी समझाया है कि तुम्हारे साथ सेक्स कर के उसकी हवस तो शांत हो ही जाएगी और यह बात कभी किसी को बाहर पता नहीं चल पायेगी क्योंकि मैं तुम्हारे साथ इतने समय से सेक्स कर रही हूँ. इस पर आंटी बोली- बस इतनी सी बात? तुम मेरा एक काम करोगे तो तुम्हें इससे भी ज्यादा पैसे मिलेंगे.

मैंने जींस पेंट खोली और भाभी की तरफ फिर से देखा तो मैंने देखा कि मेरा खड़ा लंड देख कर भाभी के चेहरे पर हल्की सी चमक आ गई थी. मुझे देखते ही दोनों अपने अपने कपड़ों की तरफ भागे और जल्दी से कपड़े पहनने लगे.

हम दोनों बहुत गर्म हो गए थे और एक दूसरे को पागलों की तरह चूमने और चाटने लग गए।फिर मैंने उसका लोअर खोल दिया और फिर उसकी पैंटी भी खोल दी और उसने मेरे सारे कपड़े खोल दिये.

मैं तो उन्हें देखता रह गया, क्या लग रही थी यार… एकदम कयामत लग रही थी. फिर वहां काफी रात हो जाने के कारण मैंने होटल ले लिया और मदिरा मेरे बैग में पहले से ही थी, मेरे दिमाग में तरकीब सूझी, मैंने आज मंजू को भी शराब पीने के लिए बोला. वो बोली- कह तो तू सच ही रही है मगर आज रात को तुम भी मुझे कम्पनी देना.

ये कहते हुए उसने मेरे गाल पे आये बालों को पीछे कर दिया, उसकी इस बात पे एकाएक ही मेरी हंसी छूट गई और वो भी हँस दिया. मैं पांच दिन बाद आया हूँ और तुम्हारे साथ टाइम नहीं बिताया इसलिये यहाँ आ गया. जब मैं घर पहुंची तो उसका मैसेज था ‘घर जाते ही बता देना, फ़िक्र नहीं होगी.

वो बोली- ठीक है मुझे मालूम है, मैंने सुना भी है और अन्तर्वासना पर पढ़ा भी है.

जंगल वाली बीएफ हिंदी: जब रात को हम सोने गए तो भाबी ने मुझे बीच में खिसका दिया और खुद साइड में सो गईं. मैं वापस उनके ऊपर आया और किस करते हुए भाभी को सब जगह किस करते हुए उनकी चुत को फिर से गीला किया.

उसी समय वो एक चीख के साथ झड़ गई और जैसे ही मैं खड़ा होकर उसकी चूत में लंड डालने जा रहा था, उसी समय तेज़-तेज़ कोई दरवाज़ा पीटने लगा. फिर मैंने अपना हाथ उसकी पेंटी के अन्दर डाल दिया और चुत पर फेरने लगा. जब पिछली शाम यह चूतड़ फोटो सेशन में सहलाए थे तो यह नहीं मालूम था कि ये इतने नायाब निकलेंगे.

मुझे दोस्ती करना पसंद है किन्तु केवल जिस्मानी तौर पे दोस्ती करना मुझे पसंद नहीं!मुझे मेरे दोस्त को पूरी तरह समझना, उसे सुनना, सारी बातें बिना किसी पर्दे के करना अच्छा लगता है!धन्यवाद![emailprotected].

फिर मैं बाइक लेके उनके पास गया और मैंने पूछा कि क्या मैं आपकी कोई हेल्प कर सकता हूँ. मैंने धीरे धीरे पैंटी को भी उतार दिया और पैंटी के उतरते ही मैंने अपना पूरा मुँह सोनिया की चूत पर रख दिया. ये कहकर मॉम अपने दोनों हाथ से नवीन की गांड पकड़ कर तेज़ तेज़ उसे अपनी तरफ धकेल रही थी- यस फ़ास्ट फ़ास्ट फ़ास्ट.