हिंदी बीएफ फिल्म फिल्म

छवि स्रोत,सुंदर लड़कियों की फोटो दिखाओ

तस्वीर का शीर्षक ,

बस में सेक्सी फिल्म: हिंदी बीएफ फिल्म फिल्म, तो मेरी बहन बोली- मेरे भाई को मेरी याद आती है या नहीं?मैंने कहा- बहना … बहुत याद आती है तेरी … रोज आती है याद!तभी मैंने दीदी को कहा- घर कब आयेंगी आप?तो वो बोली- मैं तो कल दोपहर में ही आने वाली हूं.

देसी व्हाट्सएप ग्रुप

सेक्सी माल की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे जिम में मुझे एक सेक्सी लेडी को ट्रेन करने का मौक़ा मिला. ववव पोर्नसौम्या डार्लिंग ने कुछ सोच कर कहा- अच्छा ठीक है, तुम अपना रस मेरे मम्मों पर गिरा दो … अपनी मलाई से मुझे नहला दो.

ये सुनकर मैं जोश में आ गया और अपने दोनों हाथों की उंगलियों से उसकी चूत की दोनों पंखुड़ियों को दोनों तरफ फैलाने लगा. ओडीशा सेक्सउस दिन उसकी इसी ड्रेस के चक्कर में मेरी एक लड़के से लड़ाई भी हो चुकी थी.

एक ही बेंच पर हाथ में हाथ डालकर बिल्कुल सटकर बैठना … और जब किसी के आने की आवाज सुनाई देती, तो हम दोनों थोड़ा सा अलग हो जाते.हिंदी बीएफ फिल्म फिल्म: यह कहानी मेरे दोस्त सौरभ की है जो उसके और उसकी मौसी की बेटी शिखा के बीच घटी थी.

अब उसके घर पहुंचने पर क्या हुआ … वो सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा.जाते ही उसने मुझे हॉल मैं बैठने को कहा और वो खुद चाय बनाने किचन में चली गयी.

एमपी 3 डाउनलोडर - हिंदी बीएफ फिल्म फिल्म

फिर मोहन ने विशाल के पास जाकर कहा- रवि दूसरी बार गांड मरवाने के लिए राज़ी है.उनकी इस बात पर मैं कुछ बोलता तो पकड़ा जाता, इसलिए मैं चुप ही बना रहा.

यह देवर भाभी की सेक्सी स्टोरी उन दिनों की है जब मुझे बीटेक के लिए दिल्ली के एक आईआईटी कॉलेज में दाखिला मिल गया था. हिंदी बीएफ फिल्म फिल्म मैंने भी अब जोश में आकर आंटी के बाल पकड़ लिए और अपना लंड आंटी को चुसवाने लगा; उनके कोमल मुँह को अपने लंड से चोदने लगा.

टीना को ये नहीं पता था कि मैंने आज उसे चोदने का पूरा इरादा कर रखा था.

हिंदी बीएफ फिल्म फिल्म?

वो सरक कर मुझसे सटकर बैठकर बोली- क्या सच कहते हो हर्षद?मैंने मुस्कुराकर कहा- सच में डाक्टर. मैंने सहलाते सहलाते उसकी पैंटी नीचे कर दी और अपने एक पैर से नीचे खींचकर निकाल दी. होटल रूम सेक्स कहानी में पढ़ें कि बस में एक गोरे अंग्रेज से सेट होकर मैंने उसके साथ उसके होटल में उसका गोरा लम्बा लंड खाने चली गयी.

इस पर मुकेश बोला- तो फिर जीनी तुम मुझसे कहां मिलने आओगी?मैंने कहा- कहीं नहीं. गर्म पानी का शॉवर चालू करके पूरा आधा घंटा मस्त नहाया तो रातभर की थकावट दूर हो गयी थी. Xxx एनल बैक सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने होटल के कमरे में एक भाभी की गांड तेल लगा कर मारी.

कभी मैं उसका ऊपर का होंठ अपने होंठों के बीच में लेकर चूसता, तो कभी नीचे का होंठ चूसने लगता. होम अलोन सेक्स कहानी में पढ़ें कि घर में अकेली रहने के कारण मैं पड़ोस के एक लफंगे की ओर आकर्षित हो गयी. उनकी इस बात पर मैं कुछ बोलता तो पकड़ा जाता, इसलिए मैं चुप ही बना रहा.

अब आगे हॉट न्यूड गर्ल सेक्स स्टोरी:तभी मैंने देखा कि शिल्पा अपने बॉयफ्रेंड से बातें करते हुए कह रही थी कि जानू तुम्हारा लंड लेने का बहुत मन कर रहा है … आह डाल दो अन्दर. उसने अपने लैपटॉप में वही पोर्न फिल्मों से एक फिल्म चलायी, जो 2 घंटे की थी.

उस साली के काले निप्पल वाले चूचे कितना मस्त सॉफ्ट मोटे थे … मजा आ गया.

तब भी मैंने सौम्या से वादा किया कि मैं उससे शादी के बाद भी मिलता रहूंगा और उसकी चुदाई किया करूंगा.

उसने मम्मी की एक चूची मसलते हुए मुंह में भर ली और जोर से दबा दिया, सारा दूध पी गया. मैंने मालिश करना शुरू किया और तेल को हाथ में लेकर उसकी दोनों जांघों पर रगड़ने लगा. उन्होंने 69 में होकर राहुल के मुँह पर अपनी रसभरी चूत रख दी और राहुल के लंड को अपने मुँह में लेकर किसी भूखी कुतिया की तरह लंड चूसने लगीं.

वो बोली- पा तो लिया है और कितना पाना है?मैंने कहा- मैं तुम्हें पूरा पाना चाहता हूँ. खाला ने सीधे कहा- जेबाँ तुम तो काफी सेक्सी हो, स्कूल में लड़के तुम्हारे पीछे लगे रहते होंगे?उसने कहा- अरे खाला क्या आप भी …वो शर्माने लगी. चाची के बारे में जितना राहुल ने मुझे बताया हुआ था, चाची उससे कहीं ज्यादा खूबसूरत थीं.

मेरी चूत चुहक चूहक करने लगी और अंदर से गीली हो गयी।आह … आए … उफ आह …” मेरे अंदर आग सी लग रही थी.

कुछ देर तक लंड चुसवाने के बाद मुझसे रुकना मुश्किल हो गया और मैंने चाची की टांगों को फैला लिया. जिस प्रकार से वो मुझे छेड़ता और किसी को कुछ पता भी नहीं चलता, ये मुझे अन्दर तक खुश कर देता था. जिसको मैंने कभी गलत नज़र से नहीं देखा था, आज वो मुझे काफी सेक्सी ओर कमसीन लग रही थी।उसने अपना सफेद रंग का टॉप निकल दिया।मैं तो देखता ही रह गया उसके बड़े बड़े और गोरे चूचे उसकी ब्रा से बाहर आने को बेताब थे।यह सब मैं बड़े गौर से ये देख रहा था.

मॉम एकदम जोश में थीं, वो बोलीं- कल कर लेना शादी … अभी पहले मेरी चुत की गर्मी शांत कर. मेरा दर्द धीरे धीरे कम होने लगा तो मैंने उसे अपनी टांगों को फैलाकर इशारा दे दिया कि वो उसे छू सकता है. फिल्म शुरू हो गई और उस ब्लू-फिल्म को देखते देखते भाई ने अपने हाथ से चड्डी उतार कर अपना लंड पकड़ लिया.

विलियम मुझे जबरदस्त तरीके से चूमे जा रहा था और मैं भी अब जंगली बिल्ली की तरह उसे इधर-उधर चूम रही थी और काट रही थी.

मैंने भाभी को मार्केट का सामान दिया तो उनकी नज़र मेरे पैंट पर ही टिक गयी क्योंकि मेरा लंड पैंट फाड़कर बाहर आना चाह रहा था और नव्या भाभी की चूत में जाना चाह रहा था. मेरी जीभ उसकी भगनासा से खेल रही थी और शिखा का बदन जोर से कांप रहा था.

हिंदी बीएफ फिल्म फिल्म यह सुनकर मेरी आँखों में चमक आ गई क्योंकि बहुत बड़ी रकम बोली थी उन्होंने! और एडवांस में भी देने के लिए बोल दिया और बाकी काम होने के बाद देंगे।आगे पूछने पर कि ये मुझसे ही क्यों करवाना चाहते हैं तो उन्होंने भी बताया कि वो हमारे खास और पुराना दोस्त है।मैं कुछ देर ऐसे ही उनसे बात करती रही. इसमें हालांकि मुझे भी हल्का हल्का दर्द हो रहा था पर मजा भी आने वाला था।दोनों ही धीरे धीरे उनके लण्ड को चूत के अंदर बाहर कर रहे थे.

हिंदी बीएफ फिल्म फिल्म उसने उस लैटर में लिखा था कि मैं तुम्हें तुम्हारे भाई के साथ जाते हुए देखती हूं और मैं तुम्हें काफी ज्यादा पसंद करती हूं, पर तुमने मुझ पर कभी ध्यान नहीं दिया … इसलिए मैंने आज लैटर तुम्हारे लिए लिखा है. जब मेरा लंड उसकी चूत में अन्दर खिन टकराता तो फच फच की आवाज आती जो मुझे और भी ज्यादा उत्तेजित कर रही थी.

फिर रवि मेरे पास से गुजर रहा था, तो मैंने गिलास हाथ से छोड़ा और उठाने के बहाने अपना सर उसके लंड पर टच कर दिया.

सेक्सी बीएफ खलीफा

उधर से एक कटोरी में सरसों का तेल लिया और उसे थोड़ा भी गर्म कर लिया. हिन्दी चुत चुदाई कहानी में पढ़ें कि लॉकडाउन के दौरान पुलिस से बचता हुआ मैंने एक अनजान घर में घुस गया. प्राची थोड़ी उदास हो गई और ताने मारने लगी कि मिनी भाभी के सामने तुम मुझे कहां पूछने वाले हो.

गर्म पेशाब की धार सरिता सह नहीं सकी तो चिल्ला पड़ी- ऊंई मां ऊं अहाहा हं हं ऊंई!उसकी कामवासना भड़क चुकी थी, उसने आंखें बंद कर लीं. फिर हम दोनों ने चाय पी और विलास ने अपनी बाईक पर मुझे मेरे घर तक छोड़ दिया. मॉम और मैंने अपनी बहन खुशबू को समझाया, वो बोली- पापा को पता चल गया तो क्या होगा?फिर हम सभी ने मिलकर घर छोड़ने का फैसला कर लिया.

मैंने उसकी चूत के मुँह पर लंड को रखा और धक्का लगाया तो लंड फिसल गया.

मैंने देर ना करते हुए भाभी की ड्रेस को जल्दी से उतार दिया और उन्हें सिर्फ ब्रा और पैंटी में ला दिया. उसने पहनने को मेरा एक कुर्ता ले लिया और नीचे एक छोटा सा शॉर्ट्स पहन कर बैठ गयी. मैं- पर ऐसा क्या हुआ जो आपको बच्चा नहीं हुआ?भाभी को शायद इतनी जल्दी मुझसे ऐसे सवाल की उम्मीद नहीं थी.

मैंने एक काले कलर की बेडशीट उस चारपाई में बिछा दी, जो कि रिंकू ही अपने मकान में से लाया था. इतना सुनकर मैंने नीचे देख लिया और धीरे धीरे उनकी बाल भरी छाती चूमती हुई नीचे आती गई. उसी समय मैंने चुपके से सौम्या को एक चिट पर अपनी समस्या को लिख कर दे दिया.

सब कुछ काम खत्म करने के बाद रात को मैं और वह बिस्तर पर लेटे हुए बातें कर रहे थे. लेकिन दीदी की बुर का छेद छोटा और टाइट होने की वजह से चाचा जी का लंड अन्दर नहीं जा रहा था.

और वो एक बार फिर कसमसा उठी।अब मैंने अपना लन्ड उसकी चूत में सेट किया और दबाव बढ़ाया।मेरा लन्ड बिना किसी अवरोध के उसकी चूत में घुस गया. बस वाले लड़के और होटल के स्टाफ ने मिलकर सारे टूरिस्ट का सामान बस से नीचे उतार दिया. अब सौम्या की चिकनी जांघों को पकड़कर मैंने उसकी टांगों को एक विशेष एंगल पर सैट किया और धीरे धीरे उसकी गर्म और गीली चूत में अपना लंड डालना शुरू कर दिया.

मैं गुरुग्राम में जॉब करता हूं, मेरा अच्छा खासा पैकेज है और कंपनी में मुझे हफ्ते में एक या दो दिन ही जाना पड़ता है … बाकी के दिन में खाली रहता हूं.

वह हंसने लगा- जब देखो, तब बताना, पर यह बात मेरी बीवी से मत कहना, कई लोग कह चुके हैं. लड़का रूम खोल कर सामान अंदर रखने के लिए चला गया तो विलियम ने धीरे से मुझसे कहा- रूम का दरवाजा खुला रखना, मैं आ रहा हूं थोड़ी देर में!और मेरी गांड को दबाकर अपने रूम की तरफ चला गया. पर अगर दीदी को पता चला तो?” मैंने मुस्कुरा कर कहा।जेठ जी बोले- तुम क्यों टेंशन लेती हो? क्या मेरा इतना भी हक नहीं है तुम पे?इसके बाद जेठ जी मुझे बाहर घुमाने ले गए और पिक्चर भी दिखायी और फिर होटल में खाना भी खिलाया।फिर शॉपिंग भी कराई.

मुझे एक बात याद आ गई कि ‘पुरुष अक्सर संभोग के दौरान वीर्यपात होने पर अलग हो जाते हैं और स्त्री को लगता है कि वह छली गई है।’मैंने उसकी आंखों में देखने का प्रयास किया पर कुछ जान नहीं पाया. कुछ देर के बाद वो बोली- मेरी जान, बहुत हुई ये चुम्मा चाटी … अब मैं तुम्हारा लंड चूसना चाहती हूँ.

वहां मेरे साथ क्या हुआ?मेरा नाम यश है, मेरी 5 फुट 10 इंच की फिट बॉडी है और एक नामी कंपनी में मेरी जॉब है. मैंने कल रात तुम्हारे भैया से बड़ी मुश्किल में दो बार चुदवाया था कि अब साल भर तक चुत में कुछ नहीं जा सकेगा … और उन्होंने भी मेरे अन्दर अपना रस टपकाते हुए कहा था कि भगवान ने चाहा तो इस बार तुम्हारी कोख जरूर भर जाएगी. मैंने इस बार बिना किसी हिचक के उसका लंड चूसा और उसने मेरी चुत चूस कर मुझे गर्म कर दिया.

बीएफ सेक्सी वीडियो देहाती हिंदी में

भाबी जी ने मेरा लंड चूसना जारी रखा था और मैंने उनकी चूत में उंगली करना शुरू कर दिया था.

ससुराल में आते ही मेरे पति ने मुझसे पूछा- तुम मुझे कुछ सरप्राइज देने वाली थी … क्या है बताओ?मैं बोली- मैं प्रेग्नेंट हूँ. मुझे हैरानी इसलिए हुई कि जिधर से मैं खा रहा था, वहीं से वो भी जीभ से कुल्फी चूस रही थी. भावेश के पापा काफी हट्टे-कट्टे थे और अपनी धुन में ज्यादा ही रहते थे.

वो कहने लगी- आह आह मिंटू दुखता है यार … काटो नहीं प्लीज़!मैं एक हाथ से उसकी चूत को सहलाने लगा और दूसरे हाथ से उसके दूसरे मम्मे का हलुआ बनाने लगा. मैं भी तुरंत अपने घर आ गया और मुठ मार कर भाभी के बारे में सोच रहा था. ब्लू पिक्चर वीडियो ब्लू पिक्चर वीडियोमैंने अपना सारा वीर्य उसकी चूत में ही डाल दिया और हांफते हुए उसके ऊपर लेट गया.

तो मैं बोली- आप यहाँ रख दो।मैं बर्तन धोने लगी तो वो भी साथ में लग गए. मामी के घर का मामला नजदीकी था तो बाद में भी मैंने भाभी को बहुत बार चोदा है.

चाची बोलीं- यहां नहीं, मेरे रूम में मालिश का तेल रखा है, वहीं आ जा. कुछ पल उसने मुझे थोड़ा आराम करने का अवसर दिया … फिर उसने वापस अपना लंड मेरी चुत के और अन्दर धकेल दिया. फ़िर मैंने मुस्कुराते उनसे कहा- इस पानी से कुछ नहीं होने वाला भाभी … मुझे तो आपका रस पीना है.

फिर मैंने अपने लंड को तेल से नहला कर उसकी गांड में लंड का टोपा रगड़ना शुरू कर दिया. मैं बोली- क्या दिलाएगा, दिखा न?वो बोला- चुप रस साली रंडी, आवाज मत कर. मेरा बचपन तो गांव में गुजरा था पर पढ़ाई के लिए मुझे मन मार कर शहर में पापा के दोस्त के जाना पड़ा.

उसने मुझे ये भी बताया कि मुझे इशारा देने के लिए ही उसने नहाने का बोला था वरना सार्वजनिक बाथरूम में नहाना उसे पसन्द नहीं.

’मैंने भी महसूस किया कि चाची की चुत काफ़ी कसी हुई लग रही थी इसलिए मैंने लंड बाहर निकाला और पहले से वहीं रखा तेल उठा कर अपने लंड पर लगा लिया. मैंने अपने लौड़े पर थोड़ा सा थूक लगाया और थोड़ा सा थूक अपनी साली की बुर में लगा दिया.

मैंने हल्की सी स्माइल दी तो वो भी अपने दुपट्टे को होंठों में दबा कर हंस दी. मुझे लग रहा था कि वो जल्दी से मुझे बेड पर लेटा दे और अपना काम चालू कर दे. मेरे इस हमले से वो सिहर सी गयी, पर उसने वैसे ही लेटे रहना सही समझा.

उसका मुंह बंद था फिर भी घुघु घुघु घुघु की आवाज आ रही थी।रोमिल ने लंड को बाहर किया और जोर का धक्का लगाया लंड अंदर चला गया. दोस्तो, मैंने आज तक शराब को हाथ तक नहीं लगाया था पर जीजा जी की जिद के कारण मुझे पीना पड़ा. अब वो जोर जोर से मेरे लंड को पकड़ कर चूस भी रही थी और आगे पीछे भी कर रही थी.

हिंदी बीएफ फिल्म फिल्म यह घटना मई 2018 की है, जब मैं मेरी मौसी की बेटी से मिलने उसके घर के पास के शहर गया हुआ था. फिर मैंने उसे कहा- अब तुम नीचे बैठ जाओ और मेरा लौड़ा चूसना चालू करो!तो वह कहने लगी- नहीं नहीं, मैं यह सब नहीं करूंगी.

सनी लियोन की बीएफ बीएफ बीएफ

अनीता- क्यों रह गए न हैरान?दोस्तो, मुझे समझते देर नहीं लगी अनीता और कोई नहीं, माया दीदी ही हैं. उसने मुझे बताया कि जब मेट्रो में भीड़ में मेरे पास खड़ी थी, तब वो मेरी सांसों को महसूस कर रही थी. मैंने उससे कहा कि कल सुबह दस बजे तैयार रहना … और याद रहे घर में कोई नहीं होना चाहिए.

थोड़ी देर बाद मैं थोड़ा नीचे सरक कर उसके पेट और नाभि पर आ गया और नाभि को लगातार अपने होंठों से चूमने लगा था. एक जवान कच्चे जिस्म की गर्माहट पाकर मेरे कालू उस्ताद फिर से जगने लगे. पुलिस वाले का सेक्सभाभी मेरा हाथ पकड़ कर बोली- अरे सॉरी यार … मैंने गुस्से में चांटा मार दिया.

मैं जितने ज़ोर से उन्हें दबा कर चोद रहा था, आंटी भी नीचे से उतने जोश के साथ मुझे पकड़ कर चुदवा रही थीं.

मैंने उसे हटाने की कोशिश की पर वो मुझे किस किये जा रही थी।वो बोल रही थी- मौसा, मैं तुम्हारे लिए कब से तड़प रही हूँ. सरिता भी ये सब चाहती थी लेकिन ना ना करके मेरे लंड को गर्म कर रही थी.

इस तरह से सिर्फ सौम्या ही अन्दर आयी और आते ही हम दोनों ने प्यार का खेल खेलना शुरू कर दिया. सौम्या की चूत ने मेरे लंड को पूरी तरह से जकड़ लिया जिससे उसको और मुझे बड़ा मज़ा आने लगा. कुछ पल बाद मौसी ने मुझसे कहा- अरुण, मेरे पीछे तेरा कुछ टच हो रहा है.

इतना बड़ा लंड देखकर वो डर गयी मगर समझ तो गयी ही थी कि आज पक्का चुदेगी.

मैंने कहा- और क्या रेखा?तो रेखा बोली- और जब से तुम्हारा वो पहली बार देखा था, तब से मैं बहुत बेचैन हूँ हर्षद. मगर मैं भी अब कहां मानने वाला था … यदि मैं एक बार लंड निकाल लेता तो सोनिया कभी चुत नहीं देती. जब मैंने ये रबड़ी उसकी चूत में भरी, तो रबड़ी का स्वाद नमकीन सा हो गया था.

टाइगर सेक्सअपनी कल्पना में जाकर मैं अपनी टाइम मशीन में डेट की कोडिंग करने लगा. मैं आशा करता हूं कि आपको मेरी ये सेक्सी हॉट बेब की सेक्स कहानी आप सभी को पसंद आएगी.

सपना भाभी का बीएफ

सुबह होने पर धीरू ने मुझे उठाया और अपने ऊपर चढ़ा दिया, धीरे से अपना कड़क लौड़ा मेरी गांड में दबाया और घुसा दिया. उसने मुझे बोला- बेबी धीरे धीरे डालना।मैंने उसकी दोनों टाँगों को खोलकर धीरे-धीरे लंड डालना शुरू किया आधा लंड डालकर मैंने झटके मारने शुरू किए।उसकी चूत गीली होने के कारण आधा लंड अंदर चला गया. जब रीटा नहा कर आ गई, तब तक मुझे अन्दर से उत्तेजना होने लगी, जिसके चलते मेरे मन में हो चुका था कि कुछ हो ना हो, चुम्बन तो जरूर लेकर देखना चाहिए, फिर जो भी होगा देखा जाएगा.

वो मेरे मुँह का स्पर्श अपनी चुत पर पार एकदम से सिहर गई और ‘ऊंह ऊंह मत करो …’ कहते हुए मुझे हटाने की कोशिश करने लगी. मम्मी और पिताजी को बोलकर मैं क्लीनिक जाने को अपनी बाईक पर निकल पड़ा. जबकि मैं तो ये सोच रहा था कि कहीं मौक़ा मिला, तो मुझे भी चाची कि जवानी पर हाथ फेरने का मौका मिल जाएगा.

मैंने निशा को कॉल किया और उससे पूछा- कहां हो?वो बोली- हम सब तो पूजा के लिए पास वाले मंदिर गए हैं, घर पर पापा और शिल्पा हैं. मैंने होटल के कमरे में लगी हुई घड़ी की तरफ देखा तो सुबह के 4:30 बज रहे थे. यह कहते हुए उसने अपनी गांड से मेरे लंड पर जोरदार धक्का देकर मुझे दूर कर दिया.

फिर उसने अपना लंड बाहर निकाला धीरे-धीरे करके मेरी चूत में डालने लगा. मैंने उससे कहा- तुमको तो बहुत दर्द हो रहा होगा, पर तुमने बताया क्यों नहीं?वो बोली- कुछ नहीं.

इस सेक्सी नंगी लड़की की चुदाई कहानी पर कृपया अपनी प्रतिक्रिया मुझे कमेंट्स करके बतायें, गन्दे कमेंट्स नहीं करें।और परीक्षित को थैंक्यू जिन्होंने समय निकालकर मेरी स्टोरी लिखने में हेल्प की।.

हम दोनों सरकारी नौकरी की परीक्षाओं में साथ में फॉर्म भरते थे तो हमारे परीक्षा सेंटर भी साथ ही आते थे. इंग्लिश चुड़ैमुझे पता था कि इसकी सांस अटक जाएगी और चुदने से मना कर देगी इसलिए मैं लंड को निक्कर में ही छोड़कर उसे गर्म करने में लग गया, उसकी चूत चाटने में लगा रहा. केला सेक्सअब जब वो आपने आप को मुझे सौंपने के लिए तैयार थी तो मेरा लंड उसकी चुत में घुसने को बेकरार हो गया था. रवि को लग रहा था कि वह मोनिका ही है, रवि को अभूतपूर्व आनन्द आ रहा था.

उसके बाद उसने लंड के सुपारे पर हल्के से किस किया और लंड को मुँह में ले लिया.

सर का एक हाथ मेरे बूब्स पर कब्ज़ा जमा चुका था और दूसरा हाथ जांघों में घूम रहा था. उस दिन का उसका गले लग कर रोना अक्सर मुझे उस रात में आए सपने में उसके करीब होने का अहसास कराता रहा था. मैंने भाभी की क्लिट को अपने होंठों में दबा कर खींचने लगा और भाभी की आहें जोर से निकलने लगीं.

मैं चला गया और दरवाजे के पास खड़ा होकर भाभी की मदमस्त जवानी को याद करके लंड सहलाने लगा. मैंने उनसे पूछा- क्या हुआ मैडम आज फ़ोन कैसे मिला दिया?वो कहने लगीं- क्या यार मैडम मैडम लगा रखा है. उसने झट से मुझे खड़ा किया और मेरे वीर्य से भरे हुए मुंह और होंठों को अपने होंठों में ले लिया.

रायपुर के बीएफ

उन्होंने कहा- मैंने अपने पति से अलग होने के बाद आज तक किसी के साथ कुछ नहीं किया है. मेरा दिमाग पहले ही खराब था क्योंकि चाची खड़े लंड को धोखा देकर चाचा से चुदने चली गई थीं. बस फिर क्या था मैं झट से अपनी सीट से उठ कर उसकी सीट पर, उसके साथ एकदम चिपक कर बैठ गया.

कभी कभी उसका भी ध्यान मेरे फूले लंड पर जाता था मगर साली इग्नोर कर देती थी.

उसके बाद वह मुझे उठाकर वॉशरूम ले गया, जहां उसने वाशरूम में भी एक बार और मेरी जोरदार जोरदार चुदाई की.

दीदी की चूत से सारा रस चाट लेने के बाद भी मैं दीदी की चूत को चूसता रहा था. चाची ने मेरी पीठ पर हाथ से सहलाते हुए कहा- बता न?अब मैंने हिम्मत करके बोल ही दिया- नहीं चाची, रूबी आप जितना मज़ा नहीं देती है. चोदाचोदी व्हिडिओ चोदाचोदी व्हिडिओमैं भी उसके हाथों के स्पर्श को महसूस करने लगा और अंधेरा होने के बहाने से उसका हाथ पकड़ लिया.

टीना शहर से थी तो उसने पॉर्न फ़िल्में देख रखी थीं मगर वो अब तक चुदी नहीं थी. ‘उफ्फ आह्ह बेबी … मसला डालो मेरे मम्मों को … आह मैं वासना में जल रही हूँ. आगे क्या हुआ?दोस्तो, यह कहानी मेरे साथ हुई सच्ची घटनाओं पर आधारित है। कहानी थोड़ी लंबी है क्योंकि यह कहानी मेरी कॉलेज लाइफ के 3 साल के अनुभवों की है।फर्स्ट टाइम लव स्टोरी को मनोरंजक बनाए रखने के लिए कल्पनाओं का इस्तेमाल भी किया गया है।चलिए शुरू करते हैं.

मैं खड़ा हो गया तो मेरी समझ में आया कि मैं नंगा ही था और मेरा लंड डंडे की तरह तना हुआ था. नीचे से हम दोनों आगे पीछे हो रहे थे और ऐसी आग लग रही थी कि बस कपड़े खुद ही अलग हो जाएं.

मैंने अपने बर्थडे का निमन्त्रण टीना को दिया और मजाक में उससे गिफ्ट लाने को भी बोला.

वो मेरी तरफ गुस्से से देखने लगी और कहने लगी- तुझे हंसी सूझ रही है, इधर मेरी हालत खराब हुई जा रही है. मेरे अन्दर अभी भी जोश था और मैं भाभी के एक दूध में मुँह लगाए उसे चुसक रहा था. इस बार रिया को थोड़ा दर्द का अहसास हुआ और वो ज़ोर से चिल्ला पड़ी- आईईई … आआउ … ईस्स मार दिया … हरामज़ादे … धीरे से नहीं कर सकता क्या … आह मम्मी मेरी फट गई.

कैटरीना कैफ न्यूड वो बोली- क्यों?मैंने कहा- तुम पर मेरा लंड नहीं सम्भला तो ये तो और भी दर्द देगा. पर लोगों के लिए दुर्भाग्य की बात ये थी कि वो बहुत कम घर से बाहर निकलती थी और वो लगभग अपने सारे बाहर के काम मुझसे ही करवाती थी.

विलियम शताब्दी ट्रेन की भांति मेरे ऊपर सवारी कर रहा था और मैं भी ट्रेन की पटरी की भांति ट्रेन को अपने ऊपर बैलेंस बनाकर रखे हुए थी. उस दिन के बाद से भाभी ने मुझे ही अपना पति मान लिया था और वो तोज ही भैया के जाते ही मुझसे चुदने लगी थीं. मैं जैसे ही नहा कर बाथरूम से बाहर निकलने लगा तो बस तौलिया ही पहने था.

बीएफ फिल्म सॉन्ग

उसने मुझे अपनी तरफ मोड़ कर मेरे होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और मुझे चूमने लगी. सरिता के मुँह से सीत्कारने की कामुक आवाजें तेज स्वर में निकलने लगी थीं, वो लंड अन्दर तक घुस जाने के कारण एकदम से सिहर उठी थी और उसकी गांड ने हिलना बंद कर दिया था. बस मैंने देर ना करते हुए अपने लंड का सुपारा उसकी गुलाबी चुत के सामने रख दिया.

अभी भी हमारे नीचे कपड़ों की दीवार थी, लेकिन उसे मेरे लंड का अहसास हो गया था. किस करते हुए ही मैंने एक और धक्का दे मारा जिससे मेरा पूरा लंड उसकी गांड में घुस गया.

तुम रात को घर आ जाना और हम दोनों ऊपर की मंजिल पर बने कमरे में मिल लेंगे.

उसने मुझे अपनी तरफ मोड़ कर मेरे होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और मुझे चूमने लगी. सुबह नाना पूछने लगे- बेटी, तुम रात को कोई सपना देख रही थीं क्या, जो इतना तेज चिल्लाई थीं. इन भावों के साथ उनको चुदते हुए देखकर मैं धीरे धीरे स्खलन की ओर बढ़ रहा था.

वो मेरे हर धक्के में साथ जरूर दे रही थीं पर उनका चेहरा बता रहा था कि अब वो थक चुकी हैं. मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया और उससे पूछा- पहले चुदी नहीं है क्या?उसने कहा- एक बार किया था, वो मेरा भाई था. मैं कटोरी में पानी तो लाया, पर उसमें भी बचा हुआ थोड़ा सा पावडर छिड़क लाया.

लेकिन चाची अब मुझसे बात नहीं कर रही थीं और मैं भी उनसे नज़रें नहीं मिला पा रहा था.

हिंदी बीएफ फिल्म फिल्म: फिर से उसकी गांड को दोनों तरफ तानकर मैंने सुपारे का टोपा छेद पर रखकर जोर का धक्का मारा तो मुश्किल से सुपारा ही अन्दर जा पाया. यूं ही अपनी मॉम के होंठों को चूसते चूसते मैं उनके मम्मों के निप्पलों को अपने जीभ से चाटने लगा.

सौम्या झड़ गई थी लेकिन उसे आज उत्तेजित होने के लिए ज्यादा समय नहीं लगा. शाम को जब भाई आया तो मैंने उससे कहा- मेरे बदन में दर्द है, तुम थोड़ी मालिश कर दो. इधर मैं लगातार धक्के देकर सरिता की चूत में पूरा लंड बाहर अन्दर कर रहा था.

मेरा लंड पैंट के अन्दर इतना टाईट हो गया था कि उसमें बहुत तेज दर्द होने लगा था.

घर से कुछ दूर निकलने के बाद मैंने देखा कि लू की वजह से दूर दूर तक कोई भी व्यक्ति नहीं दिख रहा है. मैंने तुरंत अपनी जान को कॉल किया और उसे बताया कि तैयार रहना … आज तेरी सुहागरात है. वो हाथ से लंड पकड़ कर अन्दर डालने लगी तो मैं उसकी ओर देख कर मुस्कुरा दिया.