बिहार की सेक्सी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,चौहान की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीपी ओपन नंगी: बिहार की सेक्सी बीएफ वीडियो, तभी वो झड़ गई और उसका पानी उसकी जांघों से होता हुआ फर्श पर गिरने लगा।मगर मैंने उसे अभी छोड़ा नहीं था क्योंकि मुझे अभी उसकी गांड मारनी थी।मैंने उसे गोद में उठा लिया और बिस्तर में ले जा कर पेट के बल लेटा दिया और झट से तेल की बोतल ले आया और उसके गांड के छेद में तेल लगा दिया।वो समझ गई थी कि मैं क्या करने वाला हूँ.

अरे भाभी सेक्सी वीडियो

तभी विवेक पीछे से बोला- बंध्या तू बिल्कुल चिंता नहीं कर हम तुझे फुल सेटिस्फाइड करेंगे और इतना मजा देंगे कि वो मजा तुझे कभी नहीं आया होगा। अभी हम दोनों एक साथ लन्ड डालेंगे. अंग्रेजी फिल्म ब्लू सेक्सीइस वक्त मेरा ध्यान भाभी की चुदाई से ज्यादा उनके मुँह से निकलने वाली चीखों पर था.

गाली गलौज कर लेना लंड चूत की बातें कर लेना, अब हमारे लिए बहुत बड़ी बात ना रही. सेक्सी खाली सेक्सी वीडियोपरमीत के मुँह में जितना समा सका, उसने मुँह में रखा और बाकी का रस उसके चेहरे और शरीर पर बिखर गया.

माँ मेरी चूचियों को सहला रही थीं और शान मेरी नंगी माँ की गांड पर चमाट देते हुए मुझे धकापेल चोदने में लगा था.बिहार की सेक्सी बीएफ वीडियो: क्योंकि उसने रिकॉर्डिंग बटन ऑन कर दिया था।अब आपको तो पता ही है आगे क्या होना था, मुझे थप्पड़ पड़े … पर घर की बात घर में दबा दी इज्ज़त के खातिर।मेरा फोन हमेशा के लिए बंद करवा दिया इसलिए काफी दिन तक किसी से कोई रिश्ता नहीं रहा। विकी और शरद भी अब सिर्फ दिखाई देते हैं, घर के पड़ोस में है इसलिए; पर बात नहीं होती.

मैं जब बाथरूम से नहा कर नंगी ही बाहर निकली तो विनय की पीठ मेरी तरफ थी और बॉस मुझे देख कर अपना लंड सहला रहे थे.इससे पहले कि मैं कुछ कहता बुआ ने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी चूचियों पर रखवा दिया.

सेक्सी माधर्चोद - बिहार की सेक्सी बीएफ वीडियो

मगर उसने मेरे हाथों को पकड़ लिया और मेरी कुंवारी चूत के दर्शन करने के बाद अपनी शर्ट और बनियान को एक साथ उतार दिया और मेरी सलवार के ऊपर फेंक दिया.मैंने तुरंत राज को फोन करके पूछा- राज, तू कहाँ है?राज बोला- वसूली में 2 घंटे तक लग जाएंगे.

सोनिया- ओह्ह्ह रोहन जानू … कम ऑन … कम ऑन … मुझे तो सफ़ेद गाढ़ी क्रीम चाहिए … कम ऑन कम ऑन … आह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह. बिहार की सेक्सी बीएफ वीडियो अगर आपको सिर्फ सेक्स ही पढ़ना है तो ये मेरी यौन जीवनी आपके लिए नहीं है.

तुम्हें इससे वह मजा आएगा कि तुम ज़िंदगी भर इसे अपनी चूत में लेने के लिए मिन्नतें करती रहोगी.

बिहार की सेक्सी बीएफ वीडियो?

मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ उम्म्ह… अहह… हय… याह… क्योंकि मैं काफी दिन बाद चुद रही थी. इन दिनों मेरा कॉलेज जाना नया नया शुरू हुआ था और सभी की तरह मेरे भी अरमान थे कि कोई लड़की को पटा कर मज़े करूंगा. एक बार में लंड अन्दर तक घुस जाने से मेरी चीख निकल गयी उम्म्ह… अहह… हय… याह… और मेरे आंसू भी निकल आए.

बाकी तो वो मुझे होटल और पार्क में लेजाकर चोदते थे मगर सप्ताह में एक या दो बार वो मुझे वहां रूम में ले जा कर चोदते थे. फिर भैया ने मेरे और दीदी के मुँह के सामने लंड रख दिया, जिसे हम दोनों ने बहुत प्यार से चाटकर साफ कर दिया. उसने कहा- हां अब बताओ जान कि आपने मुझे क्यों याद किया था?मैंने मयूर को सब कुछ बताया कि मैं तुमसे शादी करना चाहती हूं और हम दोनों अपने होने वाले बच्चे के बारे में प्रतीक को बता देते हैं.

ये सब बस आज के लिये है, इसके बाद ये सब नहीं होगा।इतने में दरवाजे में आवाज हुई और मैं एकदम से डर गई. आह … मेरी जान … मजा आ रहा है … तुम्हारा लंड तो मेरी चूत की बैंड बजा रहा है … इस्स … मेरी चूत में कुछ कुछ हो रहा है … ऊई मां … तुम्हारा लंड तो मेरे पेट घुस रहा है … अब दोनों निप्पल एक साथ चूसो … आह … मेरी जान आग लगा दी है. मैं- मैं जब आज डॉक्टर के पास अपने दोनों के टेस्ट रिपोर्ट लेने गई थी, तो उसने कहा था कि तुम्हारे शुक्राणु कम हैं.

वैसे तो मैं हमेशा से ही गांड मरवाना चाहती थी, पर कभी मौका नहीं मिला था. वर्ना तुम्हारी चूत को प्यासी ही रहना पड़ जायेगा आज रात!मैं बोली- अच्छा ठीक है मेरे सरताज, क्या शर्त है, बताओ भी अब?मनोज ने कहा- मुझे श्वेता की चुदाई करनी है.

कुछ देर के बाद जब वो बाथरूम के पास से गुजर रही थी तो उसको एक कराहने की आवाज़ आयी.

मेरा ब्लाउज खुलते ही ब्रा में कसी हुई मेरी चूचियां उसकी आंखों के सामने उछलने लगी थीं.

लेकिन अमन ने मेरी जांघों को पकड़कर अलग अलग कर दिया जिससे मेरी बुर उसके सामने नुमाया हो गयी. उम्म्ह… अहह… हय… याह… इतना मजा … स्स्स … मेरी तो सिसकारियां निकलने लगीं. मैंने यशिमा से कहा- मैं अब आने वाला हूँ … रस कहां निकालूं?यशिमा बोली- आज तो अन्दर ही डाल दो … बहुत साल हो गए लंड की गर्मी लिए … अन्दर ही निकालो जान …बस कुछ मिनट में ही मैं उसकी चुत में झड़ गया.

”आ मेघा … मुझे भी एन्जॉय करो पूरा! क्या रसीली चूत है!”अअअअ सश्हस …”सर ने पूरा लंड अंदर डाल दिया और उनकी बॉल्स एकदम चूत से चिपक गई. क्योंकि मैं उससे बहुत ज्यादा प्यार करने लगी थी तो मैं बहुत रोई थी उसके गले लगकर!लेकिन वो चला गया. तभी विक्की बोला- रुको यार … मैं कार में सामान भूल गया हूं … लेकर आता हूं.

दीदी की भी आह निकल गई और वो बोलीं- आह आज पहली बार किसी लम्बे लंड ने ठोकर मारी है … मजा आ गया.

रात को भी कितनी ही बार ऐसा हुआ कि अचानक राहुल की आँख खुली तो उसने नायरा को अपना लंड चूसते हुए पाया और इस समय वो इतने मूड में होती है कि राहुल का पानी निकाल ही देती है. मेरी चूत से काफी पानी निकल चुका था और मैं अब झड़ने के करीब पहुंच चुकी थी क्योंकि उसके लंड के धक्के चूत की गहराई तक जाकर मुझे चूत में मजा दे रहे थे. उस दिन बहुत रात हो गयी थी, तो मैंने अपने घर कॉल करके बता दिया कि मैं अपनी सहेली के घर रुकी हूँ.

तभी शान ने मुझे खींचा और मेरे सर को अपने हाथ से दबाते हुए मुझे घुटने पर बैठने को मजबूर कर दिया. मैं उनकी गर्म सांसों और जीभ की नरमी से बहुत ज्यादा पागल सा हो गया था. भाभी जी ने ओके कह दिया और कहा कि चलिए कुछ और फोटो निकाल लीजिएगा, फिर सारी एक साथ भेज देना.

फिर अमन बोला- यार एक काम कर … वीडियो फिर से लगा दे … जैसे वो लोग करते जाएंगे, वैसे ही हम भी करेंगे.

मैंने भी उसकी बात को सपोर्ट करते हुए अपनी बीवी से कहा- हां, सही तो कह रहे हैं ये, यहां पर भी क्या शर्म! बार-बार ऐसे मौके कब मिलते हैं और ऐसे खुले दिल के लोग भी नहीं मिलते हैं. उनके लंड को चूस चूस कर मैंने एकदम से लाल कर दिया और आखिरकार पापा का लंड टाइट हो गया.

बिहार की सेक्सी बीएफ वीडियो ”गौरी प्लीज मान जाओ ना?” मैंने किसी बच्चे की तरह गौरी से मनुहार की तो उसकी हंसी निकल गई।पता है मेरे से तो ठीक से चला भी नहीं जा रहा. तो अमन बोला- यार बताओ अब क्या करें?क्योंकि मेरी बुर में आग लगी थी तो मैंने अमन को कहा- कोई होटल ले लो.

बिहार की सेक्सी बीएफ वीडियो हम तीनों भीग रहे थे, देख रहे थे मेरी माँ का नंगा जिस्म बारिश में भीग रहा था।मी मम्मी बोली- आ जाओ उपिन्दर, अब रहा नहीं जा रहा। मैं आज तक बरसात में लण्ड नहीं लिया। आओ मेरा भोग लगाओ. एक बोला- सही है … इस डिब्बे में गिनती के लोग ही हैं और इस केबिन में हम तीनों ही हैं.

वो कुछ कहने से पहले ही मैंने उससे कहा- यार माँ अभी अभी अपनी सहेली के घर गई हैं.

देसी कहानी सेक्सी

हमने कुछ देर रेस्ट किया और फिर से यशिमा का हाथ मेरे लंड से खेलने लगा. मैंने तेज तेज 8-10 झटके और मारने के बाद लंड को उनकी चुत से निकाला और उनके मुँह में दे दिया. प्रीति इतनी नासमझ तो नहीं थी … प्रीति को समझ आ गया था कि उषा दीदी को संजय ने चोद दिया है.

मैंने अपनी गांड पर उनका मोटा लंड महसूस किया तो मेरी चूत तक उसकी गर्मी पहुंचने लगी. अब चाची लगातार कहने लगी थीं- प्लीज दीपू … यार अब सहा नहीं जाता … डाल दो अपना … मैं तुम्हारे मोटे और लम्बे लंड से चुद कर आनन्द लेना चाहती हूँ. महिलाओं को नया लंड का स्वाद मिल जाता है, तो मुझे कुछ पैसे मिल जाते हैं.

”उसके बाद …अंशु ने उपिन्दर का लौड़ा पकड़ा और बोली- मालिनी और कामिनी देखो, मेरे प्रेमी का लण्ड कैसे मचल रहा है। इसके भोग के लिए नई दुल्हन को तैयार करो.

तभी 5 मिनट में मेरा लंड अपने आप उसकी चूत से बाहर आ गया, जो कि वीर्य ओर उसके पानी से लथपथ हो चुका था. उसी पल मामी ने अपने हाथों से मेरे लंड को पकड़ कर धीरे से जड़ से टोपे तक फिरा दिया। अब मैंने उनकी कलाई छोड़ कर उनकी गांड को पकड़ लिया और दो उंगली उनकी पैंटी के भीतर डाल दी। वो कुछ क्षण रुकी और फिर से मेरे पूरे लंड को झटके देने लगी और मैं भी कमर हिला हिला कर उनकी चूत पर रगड़ मारने लगा।अब मामी की पैंटी भी गीली होनी शुरू हो गयी. मेरे तने हुए लंड को कुछ पल तक देखने के बाद उसने अपने मेडिकल बॉक्स से रूई और दवाई निकाली.

करीब पिछले 20 मिनट से जेठजी मुझे अलग अलग आसनों में चोद रहे थे और आगे पता नहीं कितनी देर तक और चोदेंगे. ”निकालो बाहर इसे … और चले जाओ अपनी उसी चिकनी के पास!”हाय … मेरी रानी … तेरे को छोड़ के अब किधर जायेंगा? तेरे को प्रोमिज देता अपुन तेरे को रानी बनाके रखेगा. लेकिन भाभी के घर में उसे चोदूं कैसे, ऐसा ना हो कि कहीं भाभी से बात बिगड़ जाए और भाभी की चूत भी ना मिले.

निधि- आहह … आहह … उम्म्ह … तुम्हारा लन्ड बहुत बड़ा है बहुत दर्द हो रहा है ह्म्म्म्म … आआह्ह ह्!ह्हमैं- थोड़ा धीरे आवाज़ करो … नित्या जाग जाएगी।निधि- क्या करूँ यार … आवाज़ अपने आप निकल रही है।मैं उसके बूब्स दबाते हुए- रुक जाऊं?निधि- नहीं, करते रहे. मुझे मालूम था कि चाची जी शाम को फिर से खाना बनाने के लिए आने वाली थीं.

उसको भी लंड फिर से लेने का मन कर रहा था लेकिन मेरे मन में उसकी गांड घूम रही थी. फिर मैं शादी वाली जगह प्रतीक के साथ आ गई और उससे मिलने के बाद मैं बाजू के कमरे में पंडितजी के बुलावे का इंतज़ार करने लगी. मुझे सीमा की चुत का पानी थोड़ा अजीब सा लगा, पर मैंने पूरा पानी पी लिया.

मैंने कहा- क्या काम करना है?वो बोला- मैं रात को तेरे साथ चिपक कर सोऊंगा और तू किसी को कुछ नहीं बतायेगा.

अंत में रस स्खलित होते ही एक गजब का अहसास हुआ और हम दोनों निढाल होकर एक दूसरे से लिपट कर ठंडे हो गए. मैंने भाभी की तरफ देखा- उन्हें क्या चाहिए?तो भाभी कहने लगीं- जो मर्द ही औरत को दे सकता है. मेरी सेक्स कहानी के पहले भागक्रोस ड्रेसर से रंडी बनने का सफर-1में आपने पढ़ा कि मेरा महँगा मोबाइल खो जाने के कारण मुझे गैर मर्दों से सेक्स के लिए हाँ करनी पड़ी.

अमित पूजा को चुदते हुए देख उत्तेजित हो रहा था और पूजा अपने पति के सामने किसी पराये मर्द से चुदते हुए शर्म भी महसूस कर रही थी. वो ‘आह … उह … ओह … आह …’ करके आवाज निकालती रहीं और मैं भी ‘आह … आह …’ करके उनको पेलता रहा.

अभी मैं सोच ही रहा था कि सायरा ने मुझे झकझोरा और फ्रेश होने के लिये बोली. उन्होंने कहा- नहीं नहीं कर लेना … मैंने कब मना किया है … तुम्हारी जिंदगी है, जो चाहे करो. जब साक्षी ने मनोज को देखा तो उसका चेहरा शर्म से लाल हो गया और अपनी साड़ी के पल्लू से अपने स्तनों को ढक लिया.

पटेल की सेक्सी वीडियो

पर सबने कहा कि ठीक है … तुम भले ही गेम में साथ मत दो, लेकिन साथ में रुक तो सकती हो.

उसने भाभी की साड़ी के पल्लू को अलग कर दिया और भाभी का ब्लाउज दिखने लगा. मैंने उसकी चुत को चाट कर साफ़ कर दिया और इसके बाद भी चुत को चूसता रहा, जिससे चुत फिर से गर्म हो गई. मैंने शालिनी भाभी की कमर के नीचे से तकिया को निकाला और उनको अपनी बांहों में लेकर ताबड़तोड़ चुदाई करने में लग गया.

फिर मैंने खड़े होकर उसकी चूत में लन्ड पेल दिया और लगा धक्के मारने! नीरू के चुचे हवा में झूलने लगे. सुनीता का गेहुआं रंग था, पर उसके नैन नक्श इतने तीखे थे … जैसे कोई खजुराहो की कामुक देवी हो. गुजराती लड़कियों की सेक्सी फिल्ममैंने उसको हर तरह से यकीन दिलाने की कोशिश की लेकिन उसने मेरी बात का यकीन नहीं किया.

इसलिए तुम किसी गलतफहमी में ना रहना … और तुम मुझे आप आप कहना बंद करो. साथ ही साथ मैंने भी उसके धक्कों की स्पीड में अपने धक्कों के स्पीड को मिला दिया और उसकी गांड को ज़ोर से पकड़ कर मसल दिया- आआअहह बबलीई … आआह जान.

मैंने परमीत को एक बार फिर पीछे हटने को कहा, लेकिन परमीत पर बीयर का नशा हावी हो चुका था और सरदारनी का अपने चैलेंज से पीछे हट जाना असंभव था. जब उसका पूरा लंड मेरे मुँह में था, उस समय वो भी मेरे बालों को पकड़ कर मेरे मुँह में लंड पेले जा रहा था. जॉली ने रिया की जुबान से अपने लंड को हटाया और रिया के होंठों पर लिपस्टिक की तरह फेरने लगा.

जेठजी ने इस बार पहले मुझे स्लैब की ओर घुमाया, फिर स्लैब की तरफ ही झुका दिया. ये सब आज अचानक हुआ, वर्ना आज तक नंगी नहाना तो दूर शायद एक दूसरे को ऐसे देखा भी नहीं था. मम्मी- तुम कहां हो?मैं- अभी कॉलेज से निकली हूँ … राहुल के घर जा रही हूँ.

”वाह जी एक तो मुहासे ठीक करने की दवा दी और फिर हमें ही दोष दे रही हो?”और क्या?”गौरी प्लीज … पास आओ ना इतनी दूर क्यों बैठी हो?” मैंने मस्का लगाने की कोशिश की तो गौरी बोलो- आज पढ़ाना नहीं है क्या?अरे पढ़ाई लिखाई तो चलती रहेगी … थोड़ी देर बात करते हैं फिर पढ़ाई भी कर लेना.

उस वक्त शिखा मामी से मिल कर मुझे इस बात का इशारा मिल गया था कि यदि वो मुझसे चुदने के लिए राजी थीं. जब मैंने उसको ये बात बताई तो उसके चेहरे पर एक अजीब सी मुस्कान फैल गई.

मैंने कहा- आपको क्या चाहिए?वो- तू क्या दे सकता है?मैं- वो तो इस बात पर निर्भर करता है कि आप क्या ले सकती हो. मैंने अपनी गांड पर उनका मोटा लंड महसूस किया तो मेरी चूत तक उसकी गर्मी पहुंचने लगी. काफी देर तक वो भाभी के चूचों को दबाता रहा और फिर उसने चूचों को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

साथ ही जो लोग एकदम फ्रेश होते हैं, उन लोगों को हम दोनों मिलकर काम भी सिखाते हैं. विनय मेरी स्कर्ट को ऊपर उठा कर मेरे जांघों को सहला रहा था और फिर झुक कर मेरी जांघों को चाट रहा था. वो बोला- तो फिर ठीक है बंध्या, तुम तो जानती हो कि 24 तारीख को शादी है और आज 18 हो गई है.

बिहार की सेक्सी बीएफ वीडियो कहानी के पिछले भागमौसी ने अपनी भानजी की चुदाई करायी-1में आपने पढ़ा कि अमृता मेरे साथ मूवी देखने सिनेमा हॉल में गई थी जहां मैंने उसकी चूची दबाई. आज तेरे इस बदन को चाट चाट के चुदाई करूँगा। आज तेरी पहली चुदाई है मेरी रानी … इसको तू हमेशा याद रखेगी कि कोई अंकल मिले थे जिसने तेरी बुर की सील तोड़ी थी।”दर्द भी होगा न?”हां होगा तो … मगर बस एक बार! उसके बाद तो तू जिंदगी के मजे लेने लगेगी.

ब्यूटीफुल सेक्सी वीडियोस

खुश करने के लिए किसी लंबे मोटे लंड की ज़रूरत नहीं होती है …सामान्य 6 इंच का लंड भी खुशी दे सकता है. मैंने उसकी शीट पर भी आंसर लिख दिये ताकि उसके अच्छे मार्क्स आ जायें. मैंने ही उसको संभाला और इस दौरान हमारी नजरें मिलीं और हम दोनों वहीं पर स्मूच करने लगे.

इसलिए मैंने उस होनहार मर्द को चुना था ताकि वो मेरी चूत को जमकर बजा सके. मैं अपने इन दूर के मामा के घर पहली बार चार साल पहले गया था, जब बड़े मामा की शादी थी. बढ़िया वाली सेक्सीदोनों के लंड पर वीर्य की मलाई लगी हुई थी, जिसे मैं जीभ से चाट रही थी.

मैं- तुम जैसी खूबसूरत लड़की को छोड़ कर वो चूतिया दूसरी के साथ ऐसा कैसे कर सकता था.

अब मैं कभी उसकी जीभ चूसता, कभी उसकी आंखों में देखता, कभी उसकी चूची को दबा देता. इसलिए बेहतर यही होगा कि तू उससे शादी का विचार अपने दिमाग से निकाल दे.

ये सेक्स कहानी मेरी पिछली गाँव की भाभी की कहानी के बाद की है, तो आप सभी अपने लंड को हाथ में ले लें और सभी भाभियां लड़कियां आंटियां अपनी चूत में उंगली डाल कर इस गाँव की भाभी कहानी का आनन्द लें. इस बात को भाभी भी समझ गई थीं और उन्हें शायद यह डर सताने लगा था कि कहीं मैं उसे छोड़ न दूं. फिर मैं लेटे लेटे अपने पैर के अंगूठे से उसकी गांड के छेद को छेड़ने लगा.

मैं नीता का एक बूब दबा और चूस रहा था तो प्रिन्स दूसरा बूब मस्ती के साथ दबा दबा के चूस रहा था.

?सीमा- अभी तक मैं वो … क्या हूँ?मैंने आंख दबा कर कहा- सीलपैक!सीमा- हां. वहां पर भी उन दोनों ने मेरे कपड़े उतारे थे लेकिन अपना लंड मेरी चूत में नहीं दे पाये थे. धीरे-धीरे अब गोवा के खुले माहौल की गर्मी हम चारों पर हावी होने लगी थी.

भाई बहन चोदा चोदी सेक्सी वीडियोअंकित अभी 18 साल का ही था लेकिन खेल-कूद की वजह से उसका शरीर काफी विकसित हो गया था. दस पीस का इसलिए कि नए नए चोदू थे, भोसड़ी का कंडोम किस तरह लगता है, ये जानते ही न था.

ब्लू सेक्सी चुदाई वाली वीडियो

नमस्कार मित्रो, मेरा नाम भरत है। मैंने अन्तर्वासना पर लगभग हर एक कहानी पढ़ी है।अन्तर्वासना पर मैं पहली बार कुछ लिख कर भेज रहा हूँ जिसमें मुझे आप सबकी मदद की आवश्यकता है।वैसे तो मैं अच्छे खासे शरीर का मालिक हूँ, मेरे लन्ड का साइज 7 इंच है मोटा और मस्त। मेरी सेक्स लाइफ बहुत अच्छी चल रही है. आज रात का खाना मैं उनके साथ ही खाऊंगी … प्लीज!मेरे काफी मनाने के बाद माँ मान गईं. डॉक्टर ने मेरी पैंट की चेन खोल कर मेरे सोये हुए लंड को बाहर निकाल लिया.

इस वक्त हम दोनों में कोई बात नहीं हो रही थी, बस वासना का समन्दर अपनी हिलोरें ले रहा था. पर पीछे से नज़र रखे मेरे देवर ने हमारी बात सुन ली। उसने घर में बता दिया और सुना भी दिया जो हमने बात की. आज भी हम मिलते हैं तो उसके बोबों को मसलने में अत्यंत ही आनन्द आता है.

मैंने सोचा ट्रेन में टीसी से कन्फ़र्म करवा लूँगा, लेकिन ऊपर वाले को कुछ और ही मंजूर था. मैंने वो चॉकलेट यशिमा को मुँह दिखाई में दे दी और उसका घूंघट ऊपर किया. बीच बीच में मैं उसको कमर से खींच कर अपने लंड का दबाव उसकी चुत पर भी डाल रहा था.

अब मेरी माँ मेरी राजदार हो गई थीं और इसके बाद से चुदाई का खेल मैं अपनी माँ के साथ ही किसी न किसी लंड के साथ खेलने लगी थी. इसी बीच मेरा वह दोस्त और मेरी पत्नी हम दोनों आलिंगनरत जोड़े के पास आए और मेरी बीवी ने मेरी अंडरवियर और उसके पति ने अपनी पत्नी की अंडरवियर पूरी तरह निकाल कर अलग कर दी.

” ज्योति ने कराहते हुए कहा क्योंकि महेश के मोटे मूसल ने ज्योति की चूत को बुरी तरह से फैला कर चौड़ा कर दिया था.

मन कर रहा था कि इसको भी पूरी आजादी दे दूं लेकिन भारतीय होने के नाते थोड़ा लिहाज करना भी जरूरी था. सेक्सी वीडियो सपोर्टवो बोली- मादरचोद … साले लंड डालने के लिए छेद मिल गया, ये तेरे लिए बहुत बड़ी बात है. सेक्सी चुदाई चित्रतभी यशिमा बोली- क्या हुआ जनाब … कहां खो गए हैलो … आप भी नहा लो, फिर खाना खाते हैं. वहां से मैं उसकी पैंटी के पास आ पहुंचा और दांत से पेंटी को खींचते हुए उसके शरीर से अलग कर दिया.

फिर हम वापस जाने लगे तो सूरज अंकल ने मेरी गांड पर थपकी लगाई और आंख मार दी.

इस पोज़ की अच्छी बात ये थी कि इसमें लंड चूत के दाने को रगड़कर अन्दर बाहर हो रहा था, जिससे और भी मज़ा आ रहा था. कुछ देर बाद चुत को चूसने लगा, जिस कारण परी मैम एक बार फिर झड़ऩे लगीं. मैंने ध्यान से देखा कि उनमें से एक लड़की तो मेरे पड़ोस की ही थी, उसका नाम अलका था.

बस अजमेर बस स्टैंड से निकली, तो मैं अपने बैग को अपने हाथों में लेकर सोने का नाटक करने लगा. पिंकी बोली- अच्छा सीमा, चल एक काम कर … तू राजीव को जरा इधर भेज दे, तू बाहर घूम आ. मैंने ये सब दिमाग से निकाल कर ‘मुख्य’ काम पर ध्यान केन्द्रित किया। शायद यही इधर उधर की बातें जो दिमाग में आ रही थी, ये भी मुझे झड़ने से रोक पा रही थी.

सेक्सी पूरा फुल वीडियो

मजा इतना अधिक आने लगा कि अन्तर्वासना की एक से बढ़कर एक कहानियों ने मेरी अपनी अंतर्वासना में आग लगा दी और उस दिन से आज तक मैं इस साइट की दीवानी हूं. मैंने फिर से उसकी गांड में थूक लगाया और एक जोरदार झटका दे मारा, जिससे आधा लौड़ा उसके गांड में उतर गया. ड्रिंक की एक चुस्की लेने के बाद वन्दना ने अपनी ड्रिंक मुझे पकड़ाई और अपनी टीशर्ट उतार दी.

मैं उन्हें माँ के बेडरूम में ले गया और वहां उनको चेंज करने के लिए कहा.

मैं वॉयलेट की चूचियों को ज़ोर ज़ोर से दबा रहा था और उसके मम्मों को बारी बारी से पागलों की तरह चूस रहा था.

जब पहली बार चाची ने मेरे लंड की टोपी अपने मुँह में ली, उस टाइम तो मैं समझो स्वर्ग में पहुंच गया था. मैंने कहा- अगर भाभी को कुछ दिक्कत नहीं, तो आपको क्यों दिक्कत हो रही है?वो कुछ नहीं बोलीं. गांव की देसी छोरी की सेक्सी वीडियोवो बोली- ठीक है, मैं साबुन लगा देती हूँ, पर मुझे नहीं भिगोना! और पहले लाईट बंद करो.

उसको गुदगुदी हो रही थीवो बोली- दीदी इनको रुकवा दो, बड़ी गुदगुदी हो रही है. दीपा को मालूम था कि क्या कुछ नहीं कहेंगे, बस अभी थोड़ी देर में ही सब कुछ कहेंगे और करेंगे. अब मैं ये सोच रही थी कि बाहर कैसे जाऊं क्योंकि जेठजी अभी हॉल में ही होंगे और अगर मुझे बाथरूम या अपने बेडरूम में जाना है, तो हॉल से होकर ही जाना पड़ेगा.

”शुड आई वेट नेकेड फ़ॉर माय मास्टर?” (क्या मुझे तुम्हारे इन्तजार में नंगी रहना चाहिए)नो नो, मैं जल्द ही आने की कोशिश करूंगा. चाची को एक पल के लिए बुरा लगा, मगर उन्हें अगले ही पल अच्छा लगने लगा.

मैं भी उसके चूचे देखने के लिए एक्साइटेड हो रहा था लेकिन उसके लिए मुझे उसको पहले गर्म करना था.

” नीलम ने अपने ससुर को जवाब देते हुए कहा।बेटी जब तुम्हें मेरा छूना अच्छा लगता है, मेरे क़रीब आने को दिल करता है तो फिर तुम्हें किस चीज़ की चिंता है. बेड पर मेरा और मेरे हस्बैंड का किसी दूसरे मर्द का नाम सुनते ही गर्म हो जाना उनका मुझे खूब चोदना और मेरा उनसे खूब चुदना।अब मैं और मेरे हस्बैंड सच में किसी को ढूंढने लगे जिस पर हम भरोसा कर सकें और जो हमारी जरूरत को पूरा कर सके. फिर बातें करते करते साकेत भैया ने अपना हाथ दीदी की स्कर्ट के अन्दर दोनों पैरों के बीच घुसा दिया और अपना हाथ हिलाने लगे.

लेडीस सेक्सी बीपी उसने परमीत की ब्रा को ऊपर सरका कर पहाड़ियों को आजाद कर दिया था और बीच-बीच में उसकी घुंडियों को भी ऐंठ रहा था, जिससे परमीत की गुलाबी घुंडियां लाल हो गई थीं. मेरे मन में तरह तरह के ख्याल आ रहे थे, लेकिन आखिरकार 12:30 बजे मेरे फोन की घंटी बजी.

भाभी को उस लड़के की बातें बहुत पसंद थीं जो भाभी के दिल को छू जाती थीं. बॉस- नेहा रानी, मूत पियेगी?मैंने मुस्कुरा कर बॉस की तरफ देखा और अपना मुँह खोल कर किसी रंडी की तरह मूत निकलने का इन्तजार करने लगी. मैं रुआंसा हो गया, तो भाभी बोलीं- अरे पहली बार के लिए ये बहुत सही प्रयास है … पहली बार तो मेरे पति मेरे दूध पीते पीते ही खलास हो गए थे.

जापानी नंगी सेक्सी वीडियो

ऐसा परमीत ने सिर्फ नशे की हालत की वजह से कर लिया और शर्त की वजह से अंधेपन में ऐसा किया, लेकिन अब परमीत शर्त जीत चुकी थी और नशे में खुद को भूल चुकी थी. और उनका लन्ड मेरी चूत पर रगड़ मार रहा था।आआआ … ईईईई … आआआ … हहह … नि…का…ल…आ. उनके साथ मेरे अच्छे संबंध हैं और हम हर तरह की बातें शेयर कर लिया करते हैं.

उसने कहा कि उसने संदीप से भी बात की थी, पर संदीप ने मना कर दिया था. ” कहकर गौरी रसोई में चली गई।मैं बोझिल कदमों से बाथरूम में चला आया। नहाते समय मैं मधुर के बारे में ही सोच रहा था। कुछ ना कुछ खुराफात तो मधुर के दिमाग में जरूर चल रही है। उस दिन गौरी के घर वालों ने उसके साथ हुए दुष्कर्म के बारे में तो जरूर बताया ही होगा.

दीदी लंड देख कर बोली- क्या कर रहे हो साकेत … ये सब ठीक नहीं है? प्लीज़ तौलिया लपेट लीजिए ना?साकेत भैया- अरे प्रिया अभी तो शुरू हुआ है.

वो जैसे जैसे अंकित के लिंग को उसके हाथों के बीच रगड़ता हुआ देख रही थी, उसको लग रहा था जैसे उसकी खुद की टांगों के बीच एक हलचल सी मच रही हो. अब वो रोज रात को मेरे बोबे दबाता और अपना लंड मेरी गांड पर घिसता था. हम दोनों दोस्त तो थे, मगर सिर्फ़ दोस्त थे, एक दूसरे के बारे में कुछ ऐसा वैसा नहीं सोचते थे.

मैं उठा और उसको सोफे पर पटक कर उसकी चिकनी चूत पर लंड को रगड़ने लगा. तेजी से अपनी जीभ को मेरी चूत में मेरे पति ने अंदर बाहर करना शुरू कर दिया. शान्ति भाभी के मुँह से इतना सुनते ही दूसरी भाभी शर्मा कर बोली- मुझसे न हो पाएगा.

भैया ने धीरे से भाबी के पेटीकोट को उठाया और पेंटी को नीचे करके उनकी बिना झांटों वाली चिकनी बुर को सहलाने लगे.

बिहार की सेक्सी बीएफ वीडियो: वो लड़की जब भी भाभी के घर आती थी, तो मैं उसे देखते ही उससे बात करने लगता था. फिर राहुल ने अपने लंड का सुपारा हिलाया और रीमा की चुत में डाल दिया.

जब ऑफिस से काम करने के बाद शाम को हम घर जाते हैं, तो साथ ही निकलते हैं. उसी वक्त पता नहीं मोना को क्या हुआ, वह झट से खड़ी होकर मेरे पास आकर मेरे गले से लग गई. मैं पाठकों से निवेदन करना चाहूंगा कि कहानी को पढ़ने के उपरान्त आप कहानी के बारे में प्रतिक्रिया अवश्य दें जिससे हमारी गलतियों का पता भी हमें साथ-साथ लगता रहे.

कोमल की चूत सांवली रंगत लिए हुए थी, क्लीन शेव की हुई चूत आज के फिक्स प्रोग्राम की कहानी बयान कर रही थी.

उसने मेरी तरफ देखा और सवालिया अंदाज में हाथ के इशारे से पूछा कि कौन सा खेल. जब तुम्हारा पति ही तुमसे बेवफ़ाई कर रहा है तो फिर तुम क्यों घुट घुट कर जी रही हो?” महेश ने नीलम को समझाते हुए कहा।पिता जी शायद आप सच कह रहे हैं, मगर मेरा मन आपके साथ सम्बन्ध बनाने को पाप मानता है. कुछ ही देर में मेरी चूत से पानी निकलने लगा था … जिससे अन्दर चिकनाहट बढ़ गई थी.