बीएफ सेक्सी पिक्चर का वीडियो

छवि स्रोत,मोटे लंड से चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो बोलने वाला: बीएफ सेक्सी पिक्चर का वीडियो, उसके बाद मैंने एक जोरदार धक्का मारा तो मेरा लंड उसकी चुत में पूरा घुस गया.

एक्स एक्स फुल वीडियो

आंटी बोली कि आज तक उन्होंने ऐसी मजेदार चुदाई नहीं की थी, मजा आ गया. देवर भाभी के नंगे फोटोदीपिका की चड्डी के ऊपर से ही मैं उसकी बुर को ज़ोर ज़ोर से मसलने लगा.

उधर मीनू भाभी को भी पता था कि हम दोनों का चक्कर चल रहा है और हम दोनों चुदाई भी करते हैं. एक्स एक्स एक्स सनी लियोन सेक्समैं आज जो कहानी आप लोगों को बताने जा रहा हूँ, वो मेरे पहले प्यार की है.

उतना ही होना चाहिए उससे ज़्यादा हुआ तो साला बूढ़ा ठरकी सुमन की चुत फाड़ के रख देगा और मैं लंड हाथ में लिए हिलाता रह जाऊंगा.बीएफ सेक्सी पिक्चर का वीडियो: साली तुझे मैं खूब चोदूँगा नीता, अब तो तुझे अपने घर ले जा कर चोदूँगा.

क्योंकि लण्ड बिल्कुल नया नवेला था, उसका इससे पहले कोई उपयोग हुआ ही नहीं था.मोना- अच्छा ये बता मेरे जाने के बाद तुमने कुछ किया था क्या?नीतू- नहीं तो दीदी व्व.

सेक्सी ब्लू फिल्म दिखा दो - बीएफ सेक्सी पिक्चर का वीडियो

अगर कोई देखेगा तो वो तुम्हें वहीं तुम्हारे ही टेबल पे लिटाकर सॉलिड चोदेगा.और अचानक एक सैलाब उसकी चूत से उमड़ा, जैसे कोई गर्म पानी का फव्वारा चालू हो गया.

रसोई में साफ़ सफाई का काम समाप्त करके मैंने अलमारी खोल कर उसमें से रोजाना पहनने वाले सादे कपड़े निकाल कर अलमारी के नीचे वाले हिस्से में रख लिए और बाकी के सभी ऊपर के हिस्से में रख दिए. बीएफ सेक्सी पिक्चर का वीडियो अब आगे:मेरा चोदू देवर मुझसे कहने लगा- भाभी, तुमने भैया से भले ही बहुत बार चुदवाया है लेकिन तुम्हारी चुत मेरे लंड के लिए किसी कुंवारी चुत से कम नहीं थी.

अचानक वो कड़क होती सी कांपने लगी और झटके से उसका रज मेरे मुंह में छूट गया, कसैला नारियल के पानी जैसा उसका स्वाद मुझे अजीब सा लगा पर वासना के नशे में वो मेरे लिए सोम रस ही तो था.

बीएफ सेक्सी पिक्चर का वीडियो?

उनकी चुत से बहती वीर्य की धारा और गांड देख कर मेरा मन उनकी गांड मारने को हुआ. हम जिस फ्लोर में काम करते थे, उसमें बहुत सी लड़कियां थीं, लेकिन सब दूसरी टीमों में थीं. मेरी हिंदी पोर्न स्टोरी अच्छी लगी या नहीं, मुझे अपने विचार मेल से भेजें और अगर आप मेरी कहानी पर अपने कमेंट्स लिखना चाहते हैं तो पुरानी अन्तर्वासना साईट पर आ कर आप कमेंट्स दे सकते हैं.

रूपा के सीने का पसीना चाट कर पप्पू बोला- उम्म्ह… अहह… हय… याह… तेरी माँ की चूत चोदूँ, साली रंडी, क्या टाइट चूत है तेरी. ” रिया ने जवाब दिया।तुरंत वो लड़की बोली- ओ माय गॉड! मैडम, यकीन रखे, आप यहाँ बेहद मजे करेंगी। एशियन लड़कियों की यहाँ खासा डिमांड होता है. ये लंबी चीज है अगर तू पूरा मुँह में लेकर चूसेगी तो शायद इसका नाम बता पाएगी, नहीं तो हार जाओगी.

मडगांव कदंबा स्टॉप से मैंने रात 8 बजे की बस पकड़ी जो 2 बाय 1 स्लीपर थी. मैंने अनुराधा की बात मानना ठीक समझा, मैं बोला- ठीक है… क्या चाहती है तू मुझसे?वो कुछ नहीं बोली… वो बाथटब की रिम पर बैठ गई और सिर्फ़ नजरें नीचे झुकाकर अपनी झांटों की ओर इशारा किया. हैलो मेरे लौड़ो… फिर हाज़िर हूँ आपकी चुदक्कड़ कुतिया अंजलि अरोड़ा, जिसका बदन मस्त जवानी से आज भी भरपूर है.

मैं एक हाथ से रागिनी बुर में उंगली पेल रहा था और एक हाथ से रागिनी की घुंडियां मसकते हुए लंड चुसवा रहा था. जब वह मुझे बिल्कुल फिट आये तब मैंने एक नाइटी को रात के लिए पहने रखा और बाकी सभी कपड़ों को अलमारी में रख दिए तथा बिस्तर पर सोने के लिए लेट गयी.

अब आगे:जैसे ही हम बार की तरफ से निकले मैंने रिया को रोका और बार पे जाकर एक के पीछे एक करके टकीला के तीन शॉट पी गयी और वापस आकर रिया के साथ हो ली.

जिस सोफे पर हम बैठे थे, उसके आगे एक बड़ी सी टेबल रखी थी, जब वो आगे किताब की तरफ़ झुकती तो मैं उसकी टी-शर्ट के अन्दर देखता.

ट्रेन रात 11 बजे की थी और मैं ठीक 10:30 के लगभग प्लॅटफॉर्म पर पहुँच गई थी. मैंने हॉल में और फिर दूसरे बेडरूम में जा कर देखा तो वो वहाँ सो रही थी. डर भी लग रहा था उनकी बातों से कि कहीं वो मुझे फंसा ना दे, मैं तो बर्बाद हो जाऊंगा.

सेक्स के दौरान मैं उससे अपने बूब्स को खूब मसलवाती और खूब चुसवाती और 2-2 घंटे तेल मलवाती थी. फिर मैंने मॉम को लिटाकर उनकी दोनों टाँगों को फैलाते हुए उनकी जाँघों को अपनी कमर की तरफ़ किया और दोनों टाँगों को अपने कंधे पर रख कर अपना लंड उनकी चुत के पास ले गया. यही सोच के मैंने एक हल्के नारंगी रंग की पैंटी उठा कर अपने लंड पर लपेट ली और ये सोचते हुए कि मेरा लंड अदिति बहूरानी की चूत में ही आ जा रहा है मैं जल्दी जल्दी मुठ मारने लगा और दूसरी सफ़ेद रंग की पैंटी को उठा के उसे सूंघते हुए जल्दी जल्दी मुठ मारते हुए झड़ने का प्रयास करने लगा.

मैं कपड़े पहन कर कमरे से बाहर निकली तो देखा की तरुण झोंपड़ी के बगल में बने तबेले में बंधी गाय का दूध निकाल रहा था.

वो भी उत्तेजना में मेरा लंड चूसने लगी और थोड़ी देर बाद में भी झड़ने लगा. मैंने कहा- जरूर, उस बहनचोद चूत को तो फाड़ेंगे ही और उसकी तो आज गांड भी फटेगी. कुछ देर और मुझे ऐसे ही चोदने के बाद रोस्टन ने कहा कि वो भी पानी छोड़ने वाला है, यह सुन कर चिंटू और परीक्षित ने भी उनके लंड को बाहर निकाल लिया.

आशीष ने मेरी गांड को सहलाने लगे, मेरे को थोड़ा पीछे खींचा और मेरी बुर पे अपनी जीभ रगड़ने लगे. कहते हैं कि विदेश में भी उनके गारमेंट्स एक्सपोर्ट होते थे, जिससे उनकी अच्छी इन्कम हो रही थी. ये भी कोई नाम हुआ रानी?”मेरा नाम शीला है, मैं वसंत कॉलोनी में रहती हूँ.

फिर नदीम ने बड़ा हिला देने वाला झटका मारा और गांड पर धकाधक झापड़ मारते हुए मेरी गांड मारने लगा.

वो हरामी लड़के सिर्फ़ उसे गर्म करना जानते थे, पर पप्पू अंकल को लड़की को गर्म करना और फिर उसे चोदना बराबर मालूम था. पप्पू का लंड मस्ती से मसलते हुए नीता बोली- अंकल, आपने इतनी औरतों को चोदा है तो आप जानते ही हैं कि हर जवान लड़की को अपना जिस्म मसलवाने का दिल करता है, सब चाहती हैं कि कोई उनकी जवानी की प्रशंसा करते हुए उसके साथ कोई मर्द खेले.

बीएफ सेक्सी पिक्चर का वीडियो इस झटके से चाची का मुँह खुल गया और आँखें बड़ी करके उन्होंने मेरी तरफ देखा. मामा जी का लंड मेरे नाख़ून से मेरी कलाई तक लम्बा था और मोटाई इतनी थी कि मेरी एक हाथ की मुट्ठी में नहीं आ पा रहा था.

बीएफ सेक्सी पिक्चर का वीडियो उधर कुछ देर तक शोभा की चुत और वरुण के लंड को देख कर सविता भाभी भी गरम हो गई थीं. वो टीना और फ्लॉरा बहुत मजाक उड़ाती हैं न मेरा, अब उनसे आगे निकल जाऊंगी मैं.

आशीष को भी मेरी स्थिति का आभास हो चला था, वो मेरे पास आ गए फिर और पास इतने पास के मुझे उनके जिस्म के वही गंध महसूस होने लगी, मेरी आँखें बंद होने लगी कि तभी उनके गर्म होंठों का अहसास हुआ, मेरे हाथ उनकी नग्न पीठ पे चले गए और हम दोनों एक दूसरे के होंठों का रस पीने लगे.

सेक्सी बीएफ खून खराबा

मेरी खुद की बेटी के साथ सेक्स?फिर उसका सेक्सी बदन का ध्यान आया तो लंड खड़ा होने लगा. यश ने एक ही जोर के धक्के में अपना पूरा लंड मेरी बेचारी सी बुर में घुसा दिया. मैंने समझ लिया कि अब ये तो ठीक से गरम हो चुकी है और अपने लंड पर थूक लगाकर उसकी चूत पर टेक दिया.

मैं कुछ पल निढाल पड़ा रहा… फिर मैंने उसके मम्मों को दबा-दबा कर चूसा तो मेरा लंड फिर से एक बार खड़ा हो गया. दोस्तों टी-शर्ट पहने होने के कारण उसके दोनों चूचे खूब उछल रहे थे और लोअर में होने के कारण उसकी टांगें और पीछे चूतड़ों के उभार हिलते थिरकते हुए साफ़ नज़र आ रहे थे. मैं थोड़ी देर बाद उनके घर गया और डोर बेल बजाई तो आंटी ने दरवाजा खोला.

अब दस मिनट हो चुके थे और मैंने उसको सीधा करके उसकी चूत में अपना लौड़ा डाल कर उसकी गुलाबी चूत में लंड पेलने लगा.

मैं जिससे लिपटी थी वो पीछे मुड़ा और उसने मुझे वहीं बेड पे पटक दिया और तुरंत ही उसने अपना लंड मेरी चुत में घुसाना चालू किया। दो धक्कों मे ही उसका लंड मेरी चुत की गहराइयों में उतर गया और फिर शुरू हुए भयानक धक्के।उसके धक्के इतने तूफानी थे कि मैं चाह कर भी उसको रोक नहीं पा रही थी. हम दोनों के बैठने के तुरंत बाद ही मैंने मौसी से पूछ लिया- मौसी बताओ ना?मौसी ये सुन कर मुस्कुरा दीं और बोलीं- हाँ बाबा बताती हूँ. दोस्तो, श्वेता मेरी दीवानी हो चुकी थी और वो उसकी पहली चुदाई यादगार बन गई.

मेरी उमर सिर्फ़ 24 साल की है मैं अपने ससुराल में रहती हूँ, मेरी शादी राहुल मेहरा के साथ 2-2-2008 में हुई. जब बगल वाले कमरे में वो सो रही हो जिसे आप पहले कई बार चोद चुके हों तो खड़े लंड को ज्ञान की बातों से नहीं बहलाया जा सकता, उसे तो सिर्फ चूत ही चाहिये… एक बिल चाहिये घुसने के लिए. फ्लॉरा ने नीले रंग की नाईटी पहनी हुई थी, जिसमें वो बहुत सेक्सी लग रही थी.

मैंने उन लोगों की बात मान ली और मेरा कॉलबॉय बनने का सफ़र शुरू हो गया. फिर ट्रेन में बिठाकर मैं घर आया और उसका बॉक्स खोला तो उसके अन्दर एक चिट्टी भी थी और उसमें लिखा था- शायद राहुल अपने अंकल का बिजनेस संभाल लेगा इसलिए अब मैं कभी यहाँ वापिस नहीं आऊंगी… पर तुम हमेशा मेरे दिल में रहोगे और ये गिफ्ट हमेशा अपने पास रखना.

ऐसे लगभग हम रोज मिलने लगे, जिसमें मैं उसकी चुदाई भरपूर नहीं कर पा रहा था. हालांकि मुझे बहुत मज़ा भी आ रहा था और देखते ही देखते मैं आंटी के मुँह में ही झड़ गया. मेरा भी काम होने वाला था, मैंने पूछा- माल अन्दर निकालूँ या बाहर?तो वो बोली- अन्दर ही डाल दो.

मैं बता दूं कि मेरे कोई मामा नहीं हैं, बस एक मौसी हैं और उनके दो लड़की और एक लड़का है.

मैं लेटकर चाची के सोने का इंतजार करने लगा और कल रात की चुदाई को याद करके लंड को सहलाने लगा. तूने अभी देखा ना कैसे वो मज़े से तुम्हारे लंड को चूस रही थी!संजय- अरे अभी कहाँ. उस चुदाई की कीमत में तेरी माँ मुझे उसके मायके का मुँह बोला भाई बना कर घर में लाई, तुझे चुदवाने के लिए.

अंकल देखो मैंने आपको बताया कि वो लोग क्या बोल कर छेड़ते हैं, रही बात कहाँ टच करते हैं… वो तो मैं उनको करने नहीं देती. शर्म से मेरी आँखें बंद थी… पर जिस्म गर्म था, चाह दिल में थी कि आशीष मेरी प्यासी बुर में लंड डाल दें!पर मैं कह नहीं पाई.

फिर मूवी शुरू हो गई वो तीनों भी आराम से कंफर्टबली बैठ कर मूवी देखने लगीं और मैं भी. उसने आँखें खोलीं और मेरे जिस्म पे नजर डाल कर सीधा लंड को देखने लगी. पापा- अच्छा है ना, हम दोनों के अलावा कोई है भी नहीं… तो कपड़े किस लिए पहनने हैं.

दिल्ली बीएफ बीएफ

फिर मुझसे रहा नहीं गया, तब मैंने उसकी लाल धारीदार पेंटी को उतार दिया.

वो गांड उछाल-उछाल कर मेरे लंड पर कूद रही थी और मेरा लंड अन्दर-बाहर हो रहा था. फिर क्या था, उसके दोनों हाथों ने शर्ट के ऊपर से ही मेरे मम्मे पकड़ लिए और मुझे अपनी ओर खींच लिया. जैसे ही मैं उनके लंड को चूत में डालने की बात बोली, उन्होंने तुरन्त ही उनके लंड पर कोंडोम पहना और चिंटू को मेरी चूत चोदने के लिये बोलने लगे.

पप्पू ने गुजराती भाभी रूपा की चिकनी चूत चाट कर बाहर से पूरी गीली कर दी थी. रामू ने कहा कि जाकर हाँ कह दो, कल कब उनके यहाँ चलना है?मैंने कहा कि मैं उनसे पूछ कर तुम्हें बता दूँगा. लड़की का नंगाजब मेरी नज़र मामा जी के चेहरे पर पड़ी तो मामा जी आँख बंद कर के सिसकारियाँ ले रहे थे, मामा जी बोले- रिशू रफ़्तार बढ़ाओ.

दोस्तो मुझको मजा आ रहा था क्योंकि खरबूजा चाकू पर गिरे या चाकू खरबूजे पर. लीजिये मैं आप सब को अपना परिचय दे कर आपकी नाराज़गी को दूर कर देती हूँ.

विकी मेरे मुँह में डाल कर चुसवा रहा था, राजू ने अपना लण्ड मेरी गाण्ड से निकाल लिया और खुद सीधा लेट गया, मुझे कहा कि ऊपर से आ कर गाण्ड में डाल लो!मैंने उसका लंड पूरा अंदर ले लिया. मौसी बोलीं- ठीक है, मैं तुम्हें जवान बनाऊंगी मगर मैं जो बोलूँगी, वो तुम्हें करना पड़ेगा. आज मैं आपके लिए एक असलियत पे आधारित कहानी लेकर आया हूँ, उम्मीद करता हूँ कि आप लोगों को ये कहानी पसंद आएगी.

नीता की नाभि चूस कर पप्पू अब उसकी जाँघें सहलाते हुए धीरे धीरे नीचे होने लगा. फिर मेरा हाथ रुक गया और मेरी नज़रें बार-बार उसके मम्मों पर जा रही थीं. मैं भाभी के दोनों संतरों को बड़ी मस्ती से चूस रहा था, भाभी के मुँह से ‘स् स.

उसके बाद वो अपने काम पे चला गया और अब मोना और नीतू घर में अकेली थी.

उसने फोन की लाइट ओन करके देखा और बोली- उई माँ, इतना बड़ा और मोटा?मैंने उससे पूछा- तुम्हारे बॉयफ्रेंड का कैसा है?उसने बताया- आपकी उंगली जैसा. मैं कभी जीभ को बुर के छेद में डालता और कभी गांड के छेद को चाटता जा रहा था.

सबने एक दूसरे को चूमना और सहलाना शुरु किया और बारी बारी से सब की चूत और लंड साफ़ किये और फिर सभी उठ खड़े हुए और फिर सब लोग तैयार होकर नाश्ता करने चले गए।दोस्तो, सखियो, भाभी और आंटियो, आपको मेरी परिवार में चुदाई की ये लम्बी कहानी कैसी लग रही है, आप अपने विचार मुझे मेल कीजिए और इंस्टाग्राम पर भी मेरे से जुड़ें![emailprotected]Instagram/ass_sin_cest. और फिर शुरू हुआ गर्दन से लेकर चुत का मसाज। हमारा सर टेबल से लटक गया था. मैंने अपने दोनों हाथों से रूबी के मम्मे पकड़े और धीरे धीरे लंड को अंदर बाहर करने लगा.

पप्पू अब नीता का मुँह चोदते हुए चूत में उंगली करने लगा जिससे नीता और तड़पने लगी. एकदम छोटे से कपड़ों में आते हुए देख कर शोभा चौंक गई और पूछने लगी- भाभी इतने कम कपड़ों में?सविता भाभी- हाँ, अमन कहता है कि कसरत के समय कम से कम कपड़े ही पहनने चाहिएँ. मेरी चूत एकदम गुलाबी हो गई थी।अमित को मैंने बोला- अब क्यों तरसा रहा है? डाल दे मेरी चूत में अपना लंड!उसने अपना लंड मेरी चूत पर रखा और एक जोरदार झटका मारा कि पूरा लंड मेरी चूत के अन्दर घुस गया। फिर उसने मुझे काफी देर तक चोदा.

बीएफ सेक्सी पिक्चर का वीडियो वो मदमस्त आवाज में बोली- कहीं पहले जैसी न हो जाए, मुझे डर लग रहा है. मैं- अच्छा लग रहा है ना मेरा लंड? अगर हाँ तो अपनी एक उंगली तेरी चुत में डाल.

भोजपुरी का सेक्सी वीडियो बीएफ

अब मैंने उसे बेड पर चित लिटाया और उसकी दोनों टांगें खोल कर अपना लंड अपने हाथ में पकड़ कर उसकी चुत के मुँह पर टिका दिया. ये भी हमारा ही दोस्त है, आ जा कोई बात नहीं, हमने इसे सब बता दिया है, अब हम चारों एक साथ मजा करेंगे. दोस्तो, आपने मेरी भाई बहन की चुदाई की कहानी में अब तक पढ़ा कि मैं अपनी चचेरी बहन अनुराधा को चोदना चाहता था और उसको पटाने में लगा था.

जब तेरे से फर्स्ट टाइम सेक्स किया था तब मुझे सिर्फ तेरी चुत ही चाहिए थी, लेकिन जब तेरे बारे में तेरी फ्रेंड से पता लगा कि तूने ये सब फर्स्ट टाइम मेरे साथ किया है और हमेशा मेरे साथ ही करना चाहती है… तो मैं भी बदल गया. मैं उसके पीछे ऐसे खड़ा था कि मेरा लंड उसकी उभरी हुई गांड की दरार के बीच में घुसा हुआ था. ब्लू फिल्म नंगी सेक्सगोद में बैठने से सबके लंड हमारी गांड पे चुभ रहे थे और ये चुभन मुझे और रिया को गीली कर रही थी.

नीता- सुबह तुम क्या कर रहे थे मेरे साथ?मैं- सुबह क्या कर रहा था… मतलब?नीता- तुम को भी मालूम है कि क्या कर रहे थे.

अभी शोभा अपनी चूचियों को मसलते हुए चुत में उंगली कर ही रही थी कि उसी वक्त बाहर सविता भाभी का आना हो गया. हाथ फेरते फेरते मेरे हाथ उस के पेट पर घूमने लगे, संगीता को अब और मजा आने लगा था और अब मुझे भी कुछ कुछ होने लगा था और ना जाने कब कब में मेरे हाथ संगीता के कूल्हों को सहलाने लगे, पता ही नहीं चला.

लंड को अच्छे से चूसते हुए वो बोली- हाँ अंकल, मैंने आपको उकसाने के लिए झूठ बोला था. नमस्कार दोस्तो चाची के संग मेरी हिंदी में देसी सेक्स स्टोरी की पिछली कड़ी में आपने पढ़ा था कि कैसे मैं अपनी सोती हुई चाची के साथ वासना का खेल खेल रहा था. दीदी ने चिहुँक कर मेरा हाथ झटक दिया और पूछा- आखिर तू क्या चाहता है?अब मैंने खुल कर कह दिया- मुझे आपको चोदना है.

उसकी मखमली चूत देखकर मैं पागल सा हो गया, क्या मस्त चूत थी गुलाबी रंग की.

तीन दिनों तक मैं अपने सात माह के पुत्र को आँचल में छुपाये आंधी, तूफान और बरसात का सामना करते हुए उस पहाड़ी जंगल में भूखी प्यासी भटकती रही. सुबह मेरी आदत है कि मैं देर तक सोता हूँ इसलिए कोई उठाने भी नहीं आता है. दीपिका की टी-शर्ट में गले के पास तीन बटन थे, उसने अपने तीनों बटन खोल दिए, फिर वो बोली- तुम मेरे दोस्त हो राजीव, अगर तुम ये चाहते हो तो मैं मना नहीं कर सकती.

यू पोर्न वीडियोअंदर जाते ही उसने प्यार से हमारे हाथों में एक उम्दा ड्रिंक थमाई और कहा- मैडम, आप दोनों अब मसाज करवा लें. सुमन- रात को अकेली कहाँ से आती और कॉल के लिए मोबाइल भी होना चाहिए ना.

बीएफ सेक्सी भोजपुरी भाषा में

कुछ देर के लिए मैं इन्हीं विचारों से जूझ रही तभी मेरे मस्तिष्क में एक मुहावरा स्मरण हुआ कि ‘झाड़ी में बैठे दो पक्षियों से बेहतर तो हाथ में पकड़ा हुआ एक पक्षी ही होता है. मैंने भी उसकी दोनों टांगों को चौड़ा करके कंधे पर रखा और अपना लंड उसकी चूत में लगा कर ज़ोर का धक्का दे दिया. प्रिया- मैंने क्या देखा?मैं- झूठ मत बोलो मैंने आपको देखा था उस छेद से आप मुझे देख रही थींप्रिया आंटी ने मुस्कुरा कर कहा- ओके नहीं बताऊंगी.

मैंने उसे छोड़ा तो वो मेरी तरफ देखने लगी- भाई… मैं हमेशा तुम्हारी रंडी बनी रहूँगी, बस मुझे चूसते रहना. वो भागते हुए कमरे में आई, मुझे नहीं पता था कि इसे मेरे बारे में पता चल गया है कि अन्दर मैं हूँ. मैंने जैसे ही चुत में जीभ डाली वह मादक सिसकारियां लेने लगी और पागल सी हो गई.

अब उसकी चुत में मुझे कोई इंट्रेस्ट नहीं रहा था इसलिए मैंने उसका बनाया हुआ खाना खाया और उसे वापस भेजा. एक दूसरी की हालत देख दोनों मुस्कुराईं और एक बार फिर चूम लिया एक दूसरी को. लेकिन कभी कभी सोचता हूँ कि कोई लड़की भाभी या चाची ही मिल जाये जिसका मैं और जो मेरा पूरा फायदा उठा सके।दोस्तो, मेरी क्लासमेट की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे अपने प्यार भरे मेल कीजिये.

पिछले भाग में आपने पढ़ा कि टीना ने अपनी पहली चुदाई की कहानी में बताया कि उसकी चुत की सील उसके पापा के दोस्त ने कैसे तोड़ी थी. कुछ दिनों में मेरी छुट्टियां भी ख़त्म हो गईं, मैं वापिस कॉलेज आ गया.

जैसे ही मैं तीसरी बार झड़ी, उसके एक मिनट बाद ही वो भी झड़ने के करीब पहुंच गए और उन दोनों ने भी उनका माल सिंडी के मुँह में ही गिराया.

वो मैं आपको अपनी अगली सेक्स स्टोरी में बताऊंगा कि कैसे मुझे मेरी चाची ने चाची और भाभी का पसंदीदा कॉलबॉय बना दिया. नया भोजपुरी सेक्सी वीडियोउधर गोपाल और मोना को आप शायद भूल गए तो चलो हम लोग आज उनके घर भी झाँक आते हैं. चुदाई के तरीकेरूपा को चूमने के बाद पप्पू उनके बीच में बैठ गया और माँ बेटी के मम्मों से खेलते हुए बोला- रूपा अब तुझे और नीता को तो चोद डाला, पर तेरी वो दूसरे बेटी और मेरी नीता जान की जुड़वाँ बहन को कब और कैसे चोदूँगा?रूपा के कुछ जवाब देने के पहले नीता ने पप्पू का लंड पकड़ते हुए कहा- पप्पू अंकल, श्वेता को घर आने में अभी 2 महीने हैं, तब तक हम कोई प्लान सोच लेंगे. फिर एक दिन वो नहीं आये, फिर दूसरे दिन भी नहीं आये तो मैं ऑफिस से हाफ डे लेकर उनके घर गई.

कभी कभी मैं उसके मम्मे को जीभ से गोल गोल घुमा कर चाटता, कभी निप्पल मुँह में भर के चूसता.

तो मैंने कहा- मॉम जब मैंने आपको देख ही लिया तो अब किस बात की शर्म है?ये सुन कर वो चुप हो गईं. अब वो दिन आया जब भैया की नाइट ड्यूटी थी, तो पायल ने मुझे रात को फोन किया और आने को कहा. क्या तुम्हें मन नहीं करता?मैंने ये पूछा ही था कि वो मेरे करीब आकर मुझसे लिपट गई और मेरे होंठों को चूमने लगी.

अब तक की इस फ्री सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि जॉन ने फ्लॉरा को बातों में बहका कर उसकी चुत में अपना मूसल लंड पेल कर उसकी चुत की सील तोड़ दी थी. उसने मेरे ऊपर लेटे लेटे हस्बैंड को बताया कि वह सोने लगी है और मेरी छाती पर लेट सी गई. जब सुमन से बर्दाश्त नहीं हुआ तो उसने दूसरा दांव खेला, जो गुलशन जी के लिए भी फायदेमंद साबित हुआ.

हिंदी फिल्म एक्स एक्स एक्स बीएफ

वरुण को पिछले एक हफ्ते से सविता भाभी की चुत चुदाई का मौका नहीं मिल सका था तो उसका लंड एकदम से बेकरार था. ये तकरीबन एक साल पहले की बात है… मुझे किसी अनजान नम्बर से फोन काल आई. उधर कुछ देर तक शोभा की चुत और वरुण के लंड को देख कर सविता भाभी भी गरम हो गई थीं.

मैं उनके गाउन के ऊपर से ही अपनी एक हाथ से उनकी चूचियों को दबा रहा था और दूसरी से आंटी की चूत को सहला रहा था.

कॉम की सचित्र कॉमिक्स में इतने जीवंत दृश्यों के माध्यम से दिखाया गया है कि आप बेहद गरम हो जाएंगे.

अरे आप पूरी कहानी मुझसे मेरी सेक्सी आवाज में सुनिए ना…अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिए सबसे अच्छाब्राउज़र क्रोम Chrome है. साली और थोड़ी मेरी गांड चाट कर जीभ से चोद… उसके बाद तेरी चूत फड़ दूँगा मैं, चल और चाट मेरी गांड मेरी रूपा रानी. हिंदी ब्लू फिल्म दिखामैंने उसकी ओर देखा तो वो जिस तरह बैठी थी, उससे उसकी पैंटी पर निशान सा बन गया था.

मैंने सोचा कि दरवाज़ा खुला था शायद कोई बिल्ली आ गई होगी इसलिए मैं नंगी ही उठ कर हाल में आई तो देखा कि ये तो दो टांगों वाली बिल्ली यानि की सैफिना थी जो बेडरूम के दरवाज़े के थोड़ा साइड में ही अपनी सलवार खोल कर अपने दाने को मसल रही थी. मैंने बाथरूम से संगीता के सूट चूड़ीदार पजामी पेंटी ब्रा उठाई और वॉशिंग मशीन में सूखने को रख दिए. एक अजीब मस्ती के आलम में मैं जोरदार झटके लगाए जा रहा था, धक्के पे धक्का लगता जा रहा था.

अनुराधा- उम्म्म आहह… नहीं…लेडीज फर्स्ट… नहीं पता क्या?इतना कह कर ही उसने फिर मेरे लंड को मुँह में ले लिया और दो बार चूस के ही निकाल लिया. यही हाल उसके मुंह के आसपास के एरिया का था जहाँ मेरी चूत से निकला हुआ पानी बह कर बिस्तर की चादर चादर तक पहुँच गया था.

उसने डोर को जाम बताकर जोर से बन्द करने की कोशिश की और मेरे मम्मों पर आज बहुत जोर से कोहनी मारी, जिससे मेरी तो जान ही निकल गई और मैं जोर से चिल्ला दी.

खाना खा कर मैं खेतों की रखवाली करती रही और तरुण ट्रेक्टर से हवेली में बंधा समान के साथ कुछ और सामान भी ले आया. खड़ा ही नहीं हो रहा था, ऐसा लग रहा था कि पहली बार चूत देख कर डर गया था. जब मूवी में श्रद्धा और आदित्य का बेड सीन आया तब उसने मेरी आँखें बंद कर दीं और बड़े प्यार से मेरी तरफ देखने लगी.

सेक्सी पोर्न हिंदी यहाँ तो मेरे कुछ फ्रेंड बने हैं और मैं उन्हें यहाँ बुलाना चाहती हूँ. अब क्या बताऊं दोस्तों… उसके हाथ लगते ही मेरी सारी बॉडी में करंट आ गया और मेरा लंड राकेट की तरह सीधा खड़ा हो गया.

पार्क बगल में ही थी थोड़ी दूर पर…मैं कपड़े पहनने लगी तो सब लड़कों ने मना कर दिया बोला- रहने दे, आज रात तू कपड़े नहीं पहनेगी, नंगी ही चल पार्क!मैं बोली- कपड़े तो उठा लेने दो!इतने में एक लड़के ने मेरे कपड़े उठा लिये. मामा जी का लंड मेरे नाख़ून से मेरी कलाई तक लम्बा था और मोटाई इतनी थी कि मेरी एक हाथ की मुट्ठी में नहीं आ पा रहा था. फिर मेरे मन में उसकी चूत को चाटने का ख्याल आया, मेरे लंड को मुँह में लेकर वह मुझे सिक्स नाइन करने के लिए उकसाने लगी.

ब्रेजर्स बीएफ

उसने मेरा कच्छा निकाल दिया और मेरे लंड को सहलाने दबाने लगी; बोली- यार, तुम्हारा बहुत मस्त लंड है. उनके सहलाने से मेरे जिस्म में तनाव सा आ गया, पहले मर्द का स्पर्श; आशीष की हरकतें थोड़ी वाइल्ड हो गई, उन्होंने मेरे को अपने पास कर लिया, दूसरे हाथ से मेरी बाँहों को सहलाने लगे. मैं- फ़िर कहाँ जाएंगे?पिंकी- किसी पार्क में ले जाकर उसे गरम करो और रात को ठोक देना.

फिर कुछ देर देखने के बाद वो अपने रूम में चला गया और ये सारी बात मुझे ही मेरी फेक ईमेल आईडी पर बता दीं. घर वाले दूर के रिश्ते में मामा की शादी में गए हुए थे, मेरा जाना जरूरी नहीं था.

उसके गले को चाटते हुए ही मैं उसकी चूचियाँ दबा रहा था और वो तेज़ तेज़ सांसें ले रही थी.

अब मैं पूरी तरह से नंगी हो चुकी थी; मैंने सोचा कि जब मैं पूरी नंगी हो ही चुकी हूँ तो क्यों ना मामा जी की सू सू निकलते देख लूँ; मैं मामा जी को बोली- आप एक बार खड़े हो सकते हैं?मामा जी खड़े हो गये, मैं बोली- मुझे आपकी सू सू भी पीनी है. जय के लंड ने मेरी चुत को इतना ज्यादा चौड़ा कर दिया था कि मुझे पता ही नहीं चला कि कब उनका लंड मेरी चुत में घुसा और कब बाहर निकल गया. मैं बोला- कैसे दूँ?मामी ने थोड़ा सा दरवाज़ा खोला बाथरूम का और तौलिया ले कर दरवाज़ा बंद कर लिया और नहाने लगीं.

मैं और भाभी पास में ही खड़े थे तो मेरा शरीर उनके बदन को टच कर रहा था. संजय- अरे यार, ये उसका बाप साला हरामी ऐसे कैसे उसको अकेला छोड़ कर जा सकता है?टीना- अरे अब अर्जेंट काम होगा तभी तो अंकल गए होंगे ना. रसोई की सफाई के बाद तरुण खेतों में काम करने चला गया और मैं कमरे एवं बरामदे की सफाई कर के फिर से बेटे के पास लेट गयी और सोचने लगी कि ‘क्या मेरा यहाँ रुकने का निर्णय ठीक था?’तब मेरे मस्तिष्क ने कहा कि एक माँ को अपने बेटे के लिए जो करना चाहिए था, मैंने वही किया है.

यह सुन कर विनय थोड़ा उदास सा हुआ कि रीना आज रात उसके पास नहीं सोएगी, पर वो उन दोनों की रिलेशनशिप को समझता था.

बीएफ सेक्सी पिक्चर का वीडियो: और क्या मैं अपने ही भाई के साथ ये सब करूं?मॉंटी- सुमन भी तो दीदी हैं उसको आप करने को बोल सकती हो तो खुद क्यों नहीं?टीना- अब तुम्हें कैसे समझाऊं वो बस नाम की दीदी है. मैंने की-होल से झाँका तो देखा कि कामिनी का एक हाथ उसके चूचों पर था और दूसरा उसकी पेंटी के अन्दर था.

चाची ने खाना बनाया और मेरी बहनें और चाची का बड़ा लड़का जो कि 4 साल का था खाना खाकर सब स्कूल चले गए. अब उसने मेरे मम्मों को पकड़ लिया और मेरी चुत पर धीरे धीरे लंड को पेलने लगा. दोस्तो मैं आपको आज मेरी लाइफ की एक ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिसने मेरी ज़िंदगी को बिल्कुल बदल कर रख दिया.

तो उसमें से एक लेडी ने पूछा- कहाँ जा रहे हो?मैंने कहा- कुछ खाने को लाने.

सविता भाभी की इस आवाज को सुनकर शोभा एकदम से पूछने लगी- क्या हुआ भाभी आप ठीक तो हैं?जिस पर अमन और सविता भाभी दोनों ही एकदम से सम्भल गए. फ्लॉरा बहुत रोई थी और कुछ दिन उदास भी रही, उसके बाद उसने कॉलेज के एक लड़के से दोस्ती की और धीरे-धीरे वो दोनों घुल मिल गए. मैं उसके पास चला गया, उसे बेड से उठाया और कसके पकड़ कर उसे किस करने लगा.