बीएफ बीएफ पिक्चर हिंदी में

छवि स्रोत,दुल्हन फोटो स्टाइल 2020

तस्वीर का शीर्षक ,

விள்ளகே கேர்ள் செஸ்: बीएफ बीएफ पिक्चर हिंदी में, मेरी चीख़ निकल गयी!पर उस कमरे से आवाज़ बाहर नहीं जा सकती थी इसलिए कोई फायदा नहीं था.

मराठी सेक्स क्सक्सक्स

उनका बदला हुआ मूड देख कर मैंने बाथरूम में हुए किस के लिए जब भाभी माफी मांगनी चाही. देसी सेक्सी दिखाएंमेघा साइड डोर की तरफ से वीडियो फ्रेम में दाखिल हुई और वेबकैम की ओर चलकर आई.

बस उनका मेरे सर को अपनी चुत पर दबाना हुआ और एक भूखे कुत्ते की तरह सलोनी भाभी की गोरी चिट्टी गुलाबी चुत पर लपक पड़ा. चुदाई सेक्सी वीडियो दिखाइएवो भी साला कुत्ता मादरचोद मेरे मुँह को अपने लंड से चोदने का मजा ले रहा था.

भाभी धीरे धीरे नीचे बैठ रही थी कि मैंने अचानक ऊपर की तरफ एक ज़ोर का झटका मार दिया जिससे लण्ड तेजी से भाभी की चूत में अंदर तक जा लगा और भाभी धप से मेरी जांघों पर गिर पड़ी और चीखी- हाय … कितनी बेदर्दी से शॉट मारते हो? इतना लंबा और मोटा लौड़ा है तुम्हारा, बच्चेदानी तक ठोक लगती है.बीएफ बीएफ पिक्चर हिंदी में: चाचा जी बोले- देखो बेटा, मैं मानता हूँ कि तुम्हारी और मेरी उम्र में बहुत फर्क है, फिर भी मैं तुमसे गुजारिश करूंगा कि अगर मैं सेक्स के दौरान गाली गलौच करूं … तो तुम बुरा नहीं मानना.

थोड़ी देर में गीतिका फिर से चरमसीमा पर पहुंच गई और उसने अपने पांव सीधे कर दिए।गीतिका कहने लगी- ओ माय गॉड, इतनी देर में मैं तो चार बार झड़ चुकी हूँ, राज, तुमने तो आज मेरी चूत का भुड़ता ही बना देना है.मेरी बालकॉनी के सामने पूरा खुला दृश्य होने के कारण पूरी प्राइवेसी भी थी.

दूध वाली भाभी की चुदाई - बीएफ बीएफ पिक्चर हिंदी में

दो मिनट बाद कविता भाभी चाय बनाकर लाईं … और उन्होंने मेरे हाथों में एक कप थमा दिया.कुछ मस्त चूत वाली पाठिकाओं ने भी मुझे जो प्यार दिया, उसके लिए मेरे सात इंच लंबे और 2 इंच मोटे लंड का उनकी मचलती चूतों को रगड़ भरा प्यार.

अब आगे की इंडियन फैमिली सेक्स स्टोरी:अर्चना के सुर्ख लाल होंठों से मैं भी जाम पीने लगा और उसके दोनों कसे हुए मम्मों को निहारने लगा. बीएफ बीएफ पिक्चर हिंदी में रात को जब मेरी नींद खुली तो मैंने पाया कि दीदी की गांड मेरी ओर ही थी.

एक दिन मेरी फ्रेंड मुझसे बोलने लगी कि अभिषेक ने एक जगह शाम में इंग्लिश की कोचिंग ज्वाइन की है, क्यों ना हम लोग भी उसी कोचिंग को ज्वाइन कर लें.

बीएफ बीएफ पिक्चर हिंदी में?

मेरी ज़िन्दगी पर, मेरे तन पर दिवेश का पूरा अधिकार है … पर मन पर सिर्फ तुम्हारा हक़ है रमित. मुझसे चलते नहीं बन रहा था, तो मैंने अनु के साथ जाने से मना कर दिया और मैं होटल में ही रुक गयी. आप जिस पर हाथ रख दोगे, उसे दुकान के पिछले हिस्से में ले जाकर चोद लेना.

उनके बड़े- बड़े गोरे- गोरे चूतड़ों को अपने हाथों से जोर जोर से दबाने लगा. वो अपने हाथों से मेरे चूतड़ों को मसलने लगा और कपड़ों के उपर से ही अपने लंड को मेरी फुद्दी से रगड़ने लगा. ”अब?”तुम अभी तो घर जाओ और … हाँ … वो बाइक सिखाने वाला काम आज नहीं हो पायेगा।”ओह …” सानिया ने बुझे मन से कहा।अरे मेरी जान, तुम उदास मत होओ 2-3 दिन बाद दशहरा वाले दिन छुट्टी है.

उस दिन मटन के साथ दारू का मजा लेते समय मुझे भाभी की चूचियाँ ही गर्म करती रहीं. अब तक मैंने गोद में बैठी नेहा के दोनों मम्मों पर दोनों हाथों से दबाते हुए उन्हें सहलाना शुरू कर दिया था. तभी बड़ी चाची मुझसे बोलीं- उस कैफे में रोज जाते हो … या आज मुझे देखने ही आए थे?उनकी बात सुनकर मैं तो सकपका गया और बिना कुछ जवाब दिए कमरे से बाहर चला आया.

मैंने ओके कहा और भाभी ने अपनी ब्रा मुँह में डाल कर मुझे इशारा कर दिया कि चोद दो. शायरा तो मुझसे अब नज़र ही नहीं मिला रही थी मगर मैं अब थोड़े मज़ाक के मूड में आ गया था.

लगभग 3-4 मिनट की किस के बाद मैंने उनका शर्ट ऊपर करना चाहा, तो वो मुझे रोकने लगीं.

” रानी ने धीमे धीमे तड़पते तड़पते, तड़पाते तड़पाते चूत में लंड को लीलना शुरू किया.

उसकी बहू की मां विमला ने टिफिन निकाल कर अपने दामाद को उठाया और खुश होकर उसे खिलाने लगी. मेरा वजन अठावन किलोग्राम है, रंग गोरा, शरीर पर बाल नहीं हैं और स्लिम हूँ. वो बोले- वो उस्तरा होता है, रिस्की रहेगा … तुम मेरा रॉकेट कट कर दोगी.

मैंने गीतिका की पैंटी में दोनों तरफ अपनी उंगलियां डाली तो गीतिका ने अपने चूतड़ ऊपर उठा लिए और मैंने उसके चूतड़ों और टांगों में से उसकी पैंटी को निकालकर पलंग के एक साइड में फेंक दिया. मैंने कहा- मादरचोदो क्या चाहते हो?तो वे बोले- हम चाहते हैं कि तुम हमसे लंड की भीख मांगो. वह सहज ही तैयार हो गई और हम दोनों मेरी कार में बैठकर गुरु शिखर की तरफ चल दिए.

तो सुबह मैंने देख लिया वरना पता ही नहीं लगता कि क्या बैंड बजा था रात को मेरी गांड का.

मैंने दोनों हाथों से कस के बैंच को पकड़ा हुआ था और उसके हर एक धक्के का जवाब अपनी गांड हिला हिला कर दे रही थी. मैं इतनी सुंदर, सेक्सी और हॉट दिखती हूँ कि आस पड़ोस के सारे मर्द (जवान और बूढ़े) मुझे चोदने के लिए बेकरार हैं. लेकिन मैं उसके हाथ नहीं आई और जल्दी से बाथरूम में घुस कर आधा दरवाजा बंद करके उसको चिढ़ाने लगी.

सौरभ- तुम नाराज नहीं हो?मैं- यदि तुम मेरा साथ दोगे तो मैं नाराज नहीं हूँगी. राहुल हम दोनों को गालियां दे रहा था- आह छिनालों कुतिया की बच्चियों आह चूस्सओ आह तुम्हारी यही औकात है साली रंडियां. वो रुक रुक के धक्के मारने लगा और अपनी हर एक पिचकारी को मेरे अंदर तक भेजने की कोशिश करने लगा.

तो उन्होंने मुझसे पूछा- भाभीजान, आप मुझसे कहां पर मिलोगी?मैंने उनसे कहा- हम सिर्फ होटल में मिल सकते हैं.

वह सभी के बीच में बैठी बैठी अपनी जांघों को भींचती रही और उसकी चूत पानी छोड़ती रही. थोड़ासा लौड़ा अंदर लेती फिर थम जाती और उसी स्थान पर आने नितम्ब गोल गोल घुमाती.

बीएफ बीएफ पिक्चर हिंदी में उसका लण्ड लगभग 4 इंच का थोड़ी मोटी भिंडी जैसा था जिसका आगे का टोपा लण्ड से थोड़ा मोटा था. उसके बाद क्या हुआ?अंतर्वासना इंडियन हॉट गर्ल सेक्स स्टोरी के सभी पाठकों को प्यार भरा नमस्कार.

बीएफ बीएफ पिक्चर हिंदी में आज रात तक वैभव और उसका परिवार उस होटल (दूसरा होटल, जहाँ उन्हें ठहराया जा रहा था) में आ जायेंगे. चीटिंग वाइफ इंडियन स्टोरी में पढ़ें कि जब मैं अपने पति से चुद कर बोर हो गयी तो मैंने अन्तर्वासना पर अपने लिए एक नए लंड की खोज की.

कुकोल्ड स्टोरी इन हिंदी में पढ़ें कि कैसे मेरी योजना के मुताबिक़ मेरा अफ्रीकी यार मेरी चूत चुदाई के लिए मेरे घर आने वाला था.

सेक्सी फिल्म दिखाएं चलने वाली

मैंने भाभी को नीचे खड़ा किया और अपने दोनों कपड़े उतार कर बिल्कुल नंगा हो गया. इस पर उन्होंने अपने दोनों हाथों से अपना मुँह छुपा लिया और बोलीं- तुम बहुत हॉट हो यार. शायरा की आंखें, जो प्यार की गर्मी से जल रही थीं, उसे अपने होंठों से ठंडा करने के लिए मैं अब उसकी आंखों पर किस करने लगा.

मैं बोला- भाभी आपकी अनुमति हो, तो आगे की कार्यवाही शुरू की जाए!वो हंसते हुए बोलीं- जी जहांपनाह … दासी आपके खड़े लंड की सेवा में अपनी खुली चूत लेकर हाजिर है. मैंने जैसे तैसे करके उनके पेटीकोट को खोल दिया और उनकी चूत में उंगली डाल दी. पर इस बीच कविता ने अपनी हाथों की रफ़्तार उस वक्त तक एक पल के लिए कम नहीं की, जब तक मैं शांत नहीं पड़ गयी.

अगर मैं अपना लौड़ा उस वक्त गीत की गांड से न निकालता तो मेरा लंड भी वहीं उसकी गांड में खाली हो जाना था.

मैं समझ गयी कि अब दोनों को ठंडक मिल गयी होगी, इसी वजह से दोनों शांत हो गईं. हैलो साथियो, आप पढ़ रहे थे कि वैभव ने मुझे 6 जवान कालगर्ल्स के पास छोड़ दिया था और मैंने अनीता और भावना को अपने लंड के लिए चुन लिया था. काफ़ी देर चूसने के बाद कविता ने मुझे चित लिटा दिया और मेरी मोटी-मोटी रानों को फैला दिया.

एक बार, दो बार और जब‌ मैं लगातार उसके हाथ को ही चूमता रहा तो शायद मेरे प्यार की तपिश से उसका हाथ भी जल उठा. इंडियन हनीमून सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपने चोदू यार के साथ मसूरी में हनीमून मना रही थी. ज़ारा- सजा तो आपको मिलेगी! और भयंकर मिलेगी! आपको भी तो एहसास हो कि दर्द क्या होता है?यह कहकर मेरे कमरे से धड़धड़ाती हुयी निकली.

वो मेरी तरफ निवेदन भरी नजरों से देखने लगा और बोला- अगर आपने उसे आज खुश नहीं किया, तो मुझे आज ही सुसाइड करना पड़ेगा. मैंने अपने लौड़े को और तेज़ तेज़ अंदर बाहर करना शुरू कर दिया। अब वो बेहाल हो गई और लेट गई.

मैंने उसे टोका तो बोली- थोड़ी देर ऐसे ही लेटे रहो न रमित … अच्छा लग रहा है. मैडम मीठी आह निकलते हुए बोलीं- आज तक मेरे पति ने भी मेरी चूत को नहीं चाटी थी. मुझे पता नहीं क्यों, ऐसा लगा कि सुरभि हमारे बारे में अब जान चुकी है और वो अनजान बने रहने का नाटक कर रही है.

उसके बाद रात को मेरे बेडरूम में सब एक साथ नीचे फर्श पर ही बिस्तर लगा कर सोये.

अंकल फिर अपने लंड को मेरी चूत में घिसने लगे और एक झटके में लंड चूत में डाल दिया. मैंने अपने पैरों को हल्के से ऊपर उठा रखा था और उन्होंने अपना लंड मेरी चूत में डाल रखा था।उनके हर धक्के के साथ मेरे पैरों में पड़ी पाजेब बज रही थी।वे मेरे बूब्स, मेरे पेट, मेरी नाभि पर अपने दोनों हाथ फिरा रहे थे। बीच-बीच में वो अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाल लेते थे और मेरे जिस्म को चाटने लगते थे. ये कह कर कविता ने मुझे धकेलते हुए बिस्तर पर लिटा दिया और फिर से मेरी जांघें फ़ैला कर मेरी योनि चूमने लगी.

मेरी तो आवाज ही नहीं निकल रही थी।वो बहुत ही धीरे धीरे अंदर बाहर कर रहे थे ताकि मुझे तकलीफ न हो। वो समझ चुके थे कि मेरी गांड ज्यादा नहीं चुदी थी और उनका मोटा लंबा लंड मेरे लिए बहुत बड़ा था।बहुत देर तक उन्होंने छेद को ढीला किया. मेरे सीने पर सर रख कर मेरे कान में फुसफुसाई- बहुत मस्त चुदाई करते हो आप.

गीत ने मुंह खोल कर मेरे लौड़े को अपने मुंह में ले लिया और जीभ से मेरे लंड को चूसने लगी. फिर जैसे ही मैंने अपनी आंखें खोलीं, छोटी चाची मेरे होंठों पर किस कर रही थीं. फिर जीजू ने मुझे उठाया और फ्रेंच किस करने लगे।वे मेरी जीभ को चूस रहे थे और जीभ से जीभ लड़ा रहे थे.

छोटी बहन बड़ा भाई सेक्सी वीडियो

शायरा को तो स्कूटी चलानी आती नहीं थी, इसलिए सबसे पहले मैंने स्कूटी से शायरा को उसके बैंक छोड़ा, फिर स्कूटी को लेकर अपने कॉलेज आ गया.

मैंने सौरभ से पूछा- कभी देखी है?सौरभ- क्या?मैंने कहा- नीचे वाली, जिस पर रात को तू हाथ फिरा रहा था. मैंने बड़े प्यार से भाभी के चूतड़ों के बीच के किशमिशी छेद पर होंठ लगा दिए. लेकिन आपको अगर किसी बात की जरूरत हो, तो घंटी बजा देना, मैं आ जाऊंगी.

भाभी एकदम घबरा गई और बोली- देखो रानी, यह गलत काम मत कर लेना, यह घर की इज्जत का सवाल है, किसी ऐरे गैरे से अपनी चूत मत मरवा लेना, मैं कुछ इंतजाम करती हूँ. वो- ये लड़कियां भी ना!मैं- वैसे कौन थीं ये?वो- मेरे साथ बैंक में ही काम‌ करती हैं, उनकी ये ग़लतफहमी दूर करनी होगी. इंग्लिश बफ सेक्सीहमने 5 बार चुदाई की और सुबह भाभी के चेहरे पर संतुष्टि के भाव देखकर मेरा मन बहुत खुश हो गया.

रोहिणी से बात करने के उपरान्त पन्द्रह बीस मिनट बाद गार्ड का फोन आया. इस गर्म सेक्स कहानी के दूसरे भागदो लड़कियों के साथ ओरल सेक्स कियामें आपने पढ़ा था कि कैसे संजय और मैंने गीत और नेहा की चूत को चूस चूस कर उनको पागल कर दिया और वो दोनों बुरी तरह से झड़ गयीं.

उसने कुछ देर बाद अपना हाथ मेरे टॉप के अंदर से डाल कर मेरी एक चूची को धीरे से पकड़ लिया. आप मेल हैं या फीमेल … जब से आपको सेक्स की समझ आनी शुरू हो जाती है, तभी से अक्सर अकेले में आपका हाथ आपके लिंग या योनि में चला जाता है. अब बेवजह तो मैं शायरा से मिल‌ नहीं सकता था, इसलिए मुझे इस कोरियर के जरिये उससे मिलने का बहुत ही सही बहाना लग रहा था.

अपने दूसरे हाथ से उसकी चुत में ऊपरी भाग में उंगली डाल कर ऊपर से नीचे घुमाने लगा. उसके बाद अभिषेक मेरी फ्रेंड के सामने ही मेरे पास आकर बोला- क्या बात है आजकल बहुत सज-संवर कर आती हो, कोई मिल गया है क्या!मैंने हंस कर बोला- नहीं यार … मैं तो पहले से ही स्मार्ट हूँ. इस पोज में वो पूरी रंडी लग रही थी और जोर जोर से अपनी चूत में लंड को ले रही थी.

तो मैंने भी अपने हाथ पीछे ले जाकर अपने चूतड़ों को फैला दिया और अपनी गांड का छेद धीरू अंकल के सामने नुमाया कर दिया.

आखिर ये उम्र होती ही ऐसी है, जब हमें कोई अच्छा लगता है, इसी उम्र में दिल दिमाग पर हावी हो जाता है और प्यार हो जाता है. फिर दो-तीन घंटे के बाद जब सारा स्टाफ बिजी हो गया तो मैंने उसको एक तरफ बुलाया और पूछा- नाराज हो क्या? लंच क्यों नहीं किया आज मेरे साथ?वो बोली- मुझे तुमसे बात ही नहीं करनी.

”दादी की कमर पकड़कर मैंने दबाव डाला तो मेरे लण्ड का सुपारा दादी की चूत के अन्दर हो गया. अब हमारी रोज़ बात होने लगी और हमने एक दूसरे से वादा किया कि किसी को एक दूसरे के बारे में नहीं बताएंगे. मगर अब जैसे जैसे मैं ऊपर की ओर बढ़ रहा था, वैसे वैसे उसके पैर भी एक दूसरे से अलग होने लगे.

आपको सेक्सी भाभी की ये कहानी पसंद आ रही हो तो मुझे अपने विचार और राय जरूर बतायें. मैंने गीतिका से पूछा- गीतिका, सच सच बताना अभी तक एक रात में कितनी बार चुदी हो?गीतिका कहने लगी- राज, मैं सच बता रही हूँ, मेरे हस्बैंड ने कभी भी एक बार से ज्यादा नहीं किया और जब भी वह चुदाई करते थे तो एक दो मिनट से ज्यादा टाइम नहीं लगाते थे और झड़ जाते थे, यह तो पहली बार ही मैं देख रही हूँ कि कोई आदमी इस तरह से भी चोद सकता है, सच में मेरे लिए यह बहुत ही मजेदार एक्सपीरियंस है. करीब आधे घंटे बाद उन्होंने करवट ली और सीधे अपना पैर मेरे लंड पर रख दिया.

बीएफ बीएफ पिक्चर हिंदी में हम सबने विजय को विदा किया।यह थी मेरी और विजय के मिलन की दास्तां!यही कहानी लड़की की आवाज में सुन कर मजा लीजिये. मैंने सौरभ से कहा- ठीक है, तुम्हें अच्छा लगता है तो मैं मम्मी को कुछ नहीं कहती.

सेक्सी पिक्चर देखने वाला सेक्स

मैंने पूछा कि क्या बात है?उसने बताया कि दो दिनों से उसका भाई भी हॉस्पिटल में एडमिट है क्योंकि उसका रोड एक्सीडेंट हो गया है. ये चूमाचाटी का खेल शुरू हो जाने के बाद से मैंने शायरा से बात की नहीं की थी. भाभी बोली- राज, एक बार मुझे नीचे गिरा कर रगड़ कर चोद दो ताकि कुछ चैन पड़े, बाकी काम फिर रस लेकर सारी रात करते रहेंगे.

उन्होंने दादी से बात की और कहा कि अब हमें रानी की शादी कर देनी चाहिए. मैं अभी तुम्हारे बैंक खाते में पैसे डलवा देता हूँ।”थैंक यू माय लव। बाय।” कहते हुए मधुर ने फोन काट दिया।सारे मूड की भेन चुद गई।दीदी क्या बोल लहे थे? सब ठीक है ना?” सानिया ने पूछा. हिंदी वाली ब्लू फिल्मख़ास तौर से महिलाओं की बता करूं तो उनकी ब्रा और पैंटी साफ़ दिखने लगती हैं.

उस पर ये मखमली बाल और लंड को तो पूछो मत … मैं तो जन्नत में चली गयी हूँ यार.

मैंने अपने पैरों को हल्के से ऊपर उठा रखा था और उन्होंने अपना लंड मेरी चूत में डाल रखा था।उनके हर धक्के के साथ मेरे पैरों में पड़ी पाजेब बज रही थी।वे मेरे बूब्स, मेरे पेट, मेरी नाभि पर अपने दोनों हाथ फिरा रहे थे। बीच-बीच में वो अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाल लेते थे और मेरे जिस्म को चाटने लगते थे. उन्होंने दादी से बात की और कहा कि अब हमें रानी की शादी कर देनी चाहिए.

नेहा और गीत के ऐसे पानी छोड़ने से नेहा की चूत और संजय के टट्टे तक भीग गये और इन दोनों की चूतों के गर्म पानी की गर्माहट महसूस करते ही संजय के टट्टे भी जवाब दे गये और वो बोला- आह्हह … साली. मामी खुश हो कर बोलीं- सच में राहुल तू हर महीने आएगा ना!मैं- हां मेरी कप्पो रानी मैं आपको सूखी नहीं रहने दूंगा. [emailprotected]ठरकी डॉक्टर की कहानी का अगला भाग:मेरी कुंवारी बुर की सील डाक्टर ने तोड़ी- 2.

दोस्तो, नमस्कार मैं मधु(शहद) एक बार फिर अपनी आत्मकथा में आप लोगों का तहेदिल से स्वागत करती हूं और बहुत शुक्रिया अदा करती हूँ.

उधर उसकी जीभ लंड पर चल रही थी और इधर मेरी उसके दोनों छेदों पर घूमने लगी. मैडम के साथ बिताए गए सेक्सी पल को वासना के मोतियों में पिरो कर आपके सामने लिखने की कोशिश कर रहा हूँ. वो अपनी चूत मेरे लौड़े पर रखने ही लगी थी कि मैंने कहा- मेरी टांगों की तरफ मुंह करके अपने चूतड़ मेरे लौड़े पर रख कर बैठ.

সানি লিওন সেক্স মুভিउसने मुझे खाने के‌ लिए बोल‌ तो‌ दिया था … मगर शायद अब वो भी सोच रही होगी कि मुझसे खाने के लिए बोलकर ही गलती कर दी. फिर मैंने उससे कहा- तू ऐसा कर … अपने बेड पर जा, मैं अपने बेड पर जाकर सो जाता हूँ.

चुदाई सेक्सी भेजिए

अन्नू एकदम से बोल पड़ी- नहीं, नहीं। एक ही तो पर्मानेन्ट लंड है, वो भी किसी और को दे दें? फिर किसी और को पकड़ना पड़ेगा, न जाने दूसरा लंड कैसा निकलेगा?एकता बोली- यार, मैं अभी देने के लिए नहीं बोल रही हूं. टांगों को घुटनों तक मोड़ कर मैंने लण्ड के सुपारे को चूत के छेद पर फिर लगाया और लण्ड अंदर घुसेड़ दिया. नंगी आंटी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे भाभी की मम्मी ने मुझे अपनी सेक्स कहानी सुनाने के बाद मेरा लंड पकड़ लिया.

इतने में ही गुड़िया आंटी आईं, जो कि मेरे बगल वाली बिल्डिंग में रहती हैं. उस वक्त रश्मि ने एक टांग को पलंग पर रखा हुआ था और बुर की फांकों के बीच उंगली चला रही थी. वो- वो तो तुम वैसे भी नहीं छोड़ने वाले, मेरे मना करने पर भी खाने आ ही जाओगे.

मेरे जाते ही उन्होंने मुझसे बोला- सर, आप 5 मिनट देरी से आए हो!मैं चुप रहा क्योंकि मैं कुछ भी बोलने की हालत में नहीं था. भाभी- उन्हह … मार ही डालोगे क्या संजय … मैं कांप रही हूँ … मुझे ऐसा लग रहा है … जैसे ये सब आज मैं पहली बार कर रही हूँ … लव यू संजय … आह खा जाओ मुझे आज. गीत मेरी बात सुन कर बोली- अरे मुझे नहीं चाहिए दो दो, अब थोड़ी देर पहले कौन सा एक लिया था, नेहा को चाहिएं दो दो, इसे ही दे दो। मेरा तो अंग अंग फट गया है.

बड़ी चाची एकदम से निढाल पड़ गईं और तभी चुत चाटे जाने से छोटी चाची की चुत से भी पानी निकल गया. जोर से चोद मुझे!मैं वैसे ही करीब दस मिनट तक मामी की मदमस्त कसी हुई गांड को चोदता रहा.

मैं- आपके पति आपको संतुष्ट नहीं कर पाते हैं, तब भी आप मुझसे मिलना नहीं चाह रही हैं.

रोहिणी स्टूल खींच कर मेरे सिराहने आकर बोली- अभी दस बजे मैं घर चली जाऊंगी … शाम को फिर से आऊंगी. एक्स एक्स एक्स न्यू सेक्सफिर 15 मिनट बाद मेरा निकलने वाला था, तो मैंने लंड को बाहर निकाल कर हाथ से अपना वीर्य नीचे फर्श पर गिरा दिया. इंडियन किन्नर सेक्स वीडियोमैं नीचे उसके लौड़े पर बैठती चली गई और उसका पूरा लौड़ा मेरी चूत में जड़ तक उतर गया. मुझे नहीं कहेगा रानी? मेरे नाम में क्या कांटे लगे हैं?यार अजीब लौंडिया है यह.

अब आप करते हैं तो ठीक है, नहीं तो …मैंने उसकी बात समझते हुए अपना फैसला सुना दिया.

फिर भी उसके सुपारे को मैंने चूस कर गीला किया और ढेर सारी लार और थूक उस पर लगा दी. ये कहकर मैंने अपने धक्कों की स्पीड को बढ़ा दिया और उसे ताबड़तोड़ चोदने लगा. रमेश- अपनी ब्रा और पैंटी रहने देना यहीं पर।रेहाना- मतलब?रमेश- मुझे चुदाई के बाद तुम जैसी रंडियों की ब्रा और पेंटी कलेक्ट करने की आदत है.

उसके घुटने और पीछे का भाग इतना सेक्सी था कि मेरा दिल कर रहा था कि अपना लंड इसी में घुसेड़ दूँ. फिर जब मैंने अपने मोबाइल देखा तो उस पर बूढ़े की भी बहुत सारी मिस्ड काल आई हुई थी और मैसेज भी आए हुए थे. फिर क्या था … थॉमस मुझे उठा कर बेड पर ले गया और मुझे बेड पर लेटा कर मेरे ऊपर चढ़ गया और मुझे किस करने लगा.

अच्छी वाली सेक्सी पिक्चर दिखाओ

खैर … स्कूटी में ज्यादा दिक्कत नहीं थी, बस स्पार्क प्लग में ही कुछ दिक्कत थी. आठ दस झटकों में बाद रानी इतना थक गयी कि उससे धक्का मारने के लिए गांड भी उठायी नहीं जा रही थी. रिया ने एग्रीमेंट पेपर पढ़ा जिसमें बहुत सारी गंदी गंदी शर्तें भी लिखी हुई थी.

लास्ट वाली तो इतनी जबरदस्त थी कि ममता जी के पीरियड भी समय से पहले‌ ही आ गए थे.

विनोद मुझसे कहने लगा कि तेरा और उसका (जिया) का कोई चक्कर तो नहीं है?मैंने बोला- नहीं यार, हम दोनों सिर्फ़ क्लोज़ फ्रेंड हैं.

मैंने उसके सीने से अपनी नजरें हटाईं और उसके हाथ की मजबूती को महसूस करता हुआ अन्दर आ गया. शुरू शुरू तो मेरा ध्यान उनकी तरफ नहीं गया, लेकिन एक दिन मैंने उन्हें शॉर्ट्स और स्पोर्ट्स ब्रा में देख लिया. हिंदी में चूतफिर हम घर आ गयी और मैंने घर आकर ब्रा पहनी।मैं और मम्मी अगले दिन हॉस्पिटल गयी, डाक्टर से मिले.

आखिर ये उम्र होती ही ऐसी है, जब हमें कोई अच्छा लगता है, इसी उम्र में दिल दिमाग पर हावी हो जाता है और प्यार हो जाता है. इधर मैंने भी रश्मि के इशारे को समझकर अपने कपड़े एक-एक करके उतार दिए. उसी के चलते मैं आज आप लोगों के सामने अंतर्वासना पर अपनी पहली चीटिंग वाइफ इंडियन स्टोरी लिख रही हूं।इस कहानी को सुनकर मजा लें.

उसने वैसे ही मेरी गांड में लंड डाले मुझे अपनी गोद में उठा लिया और बाथरूम में ले गया. जब वो उठी और कपड़े बदलने लगी तो मुझे उसकी पैंटी की एक झलक मिल गयी थी.

उसे इन सब चीज़ों के बारे में कुछ भी पता नहीं। कसम से!रमेश मन ही मन सोचता है ‘रन्डी तुझे झूठी कसम खाने की कोई जरूरत नहीं, मैं तुम दोनों सहेलियों के रन्डीपन को जान गया हूँ।’तभी रेहाना बोली- अंकल मुझे माफ़ कीजिये.

इसके बाद सूरज धीरे धीरे मेरी छाती पर आ गया और मेरे बूब्स यानि मम्मों को हल्के हल्के से कपड़ों के ऊपर से ही भींचने लगा. मैंने एक पल मम्मों को निहारा फिर मुझसे रहा नहीं गया और मैं भाभी की एक चूची को अपने मुँह में भरकर चूसने लगा. अपने दोनों हाथों से उसकी चूचियों को जोर जोर से मसलते हुए मैंने चुदाई शुरू कर दी.

एक्स एक्स एक्स हिंदी राजस्थानी मगर उस समय‌ तो मैं बस शायरा की उस नन्ही सी परी को देखने के लिए मरा जा रहा था. मैं भी फुल स्पीड से चोदने लगा।उसने मुझे बताया कि वो इससे पहले कंपाउंडर औरडॉक्टर का लंडले चुकी है और उसका पति भी उसे खूब चोदता है।लेकिन 1 महीने से आज उसे लंड मिला है वो बहुत खुश थी।अब मैं बिस्तर पर लेट गया और लन्ड पर उसको बैठने को कहा.

नर्स के जाने के 10 मिनट बाद ही मैंने उस लड़के को अपने रूम में बुला लिया. मैंने उसकी जंघा को सहलाया, उसकी पीठ सहलाई … और उसके कंधे पर चुंबन अंकित कर दिया. मैंने कमल को इशारा किया तो उसने एक बार उसके मुँह से साड़ी निकाल कर उसका मुँह खोल दिया.

वीडियो सेक्सी वीडियो चलाएं

इन आंटियों को भी सेल पर्सन को अपनी ढलती जवानी लुटाने की तलब रहती थी और हम इसी का फायदा उठाते थे. भाभी मेरी तरफ झुक गई और मैंने थोड़ा टेढ़ा होकर उनका एक मम्मा मुंह में भर लिया और दूसरे को हाथ से मसलने लगा. अपने दूसरे हाथ से उसकी चुत में ऊपरी भाग में उंगली डाल कर ऊपर से नीचे घुमाने लगा.

शायरा की भीगी हुई पैंटी देखकर उसकी चुत की महक लेने के लिए अपने आप ही मेरा सिर उसकी जांघों के बीच झुक गया. गीत बोली- 1 ब्वॉय, 2 गर्ल चलेगा क्या?मैंने कहा- क्यों नहीं, जरूर चलेगा.

इतने में ही मैंने फटाक से अपना मोबाइल निकाला और उसकी ब्रा में एक फोटो ले ली.

भाईजान ने भी मेरी पैंटी में हाथ डाल लिया और मेरी चूत को सहलाने लगे. निशु का शरीर एकदम चिकना था और उसकी स्किन बहुत ही मुलायम मालूम पड़ रही थी. रॉबर्ट से चुदाई करवा कर मुझे अच्छा नहीं लगा था, पर थॉमस के मोटे लंड से चुदने में मुझे बहुत मजा आया था.

उसने अपनी दोनों आंटियों को चोदने के बाद मुझे कई मेल किए, जिसके बाद मैंने वहां जाने का फैसला किया. एक स्थान पर होने से तो दर्द नहीं होता … मगर जैसे ही योनि में लिंग का रगड़ शुरू होती है, तो दर्द का आभास होने लगता है. फिर कुतिया की तरह चलकर इधर आ।रिया कुतिया की तरह चलकर रमेश के पास आ गयी.

उसके लंड को मैं अपने होंठों पर लिपस्टिक जैसे रगड़ती हुई उसके एक आड़ू को पूरा का पूरा मुँह में भरके चूसने लगी.

बीएफ बीएफ पिक्चर हिंदी में: वो फिर बोली- राज जी, कामवाली बाई से बोलकर मकान साफ करवा दें तो अच्छा होगा, क्योंकि मैं चाहती हूँ कल सांय तक शिफ्ट कर लें. बीवी पूछ बैठी- क्या कर रहे हो?मैंने झूठ बोल दिया कि तेरी चूत की याद आ रही थी तो वही सोच-सोच कर मेरा लंड फड़फड़ा रहा था.

मेरे हाथ में मेरा लंड था जो पूरा तना हुआ था और मैं जांघों तक नंगा था. तभी मेरे मन में एक शरारत सूझी और मैं भाई को ललचाने के लिए नंगी ही बाहर निकल गयी. बूढ़ा अपने पैर उठा उठा कर मेरी फुद्दी को चोदने लगा मगर फिर भी उसका लंड वहाँ तक नहीं पहुँच रहा था जहाँ तक वो पहुँचाना चाहता था.

इस समय मेरे मुँह से वैसी ही आवाजें आ रही थीं, जैसी एक कुत्ता के मुँह से कोई तरल खाते या चाटते टाइम स्लक स्लक की आवाज़ आती है.

मैंने पूछ लिया- बाहर कौन जा रहा है?अब्बू ने कहा- तुम्हारे दोनों चाचा काम के सिलसिले में चार दिन के लिए बंगलोर जा रहे हैं. कुछ देर बाद हम दोनों अलग हुए और एक बार फिर से थोड़ा सा नहा कर घर के लिए निकल गए. अब्बू अम्मी के चले जाने के बाद जायदाद को लेकर परिवार वालों के साथ हमारा बहुत विवाद हुआ.