एचडी बीएफ एक्स एक्स वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी भेजो ना वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू वीडियो फिल्म सेक्सी: एचडी बीएफ एक्स एक्स वीडियो, सुभाष बोला- वो यहां नहीं है, चल अब निकल यहां से … मेरे घर पार्टी चल रही है.

पिज़्ज़ा बनाना सिखाइए

ऐसा माल ज़िन्दगी में पहली बार देखा था वो भी कोई ख़ास मशहूर हस्ती।मैंने पीछे से जाकर उसे पकड़ लिया, ब्रा के ऊपर से उसके बूब्स दबाने लगा. सेक्सी दे वीडियो मेंमैं बोला- मगर मैंने अभी तक अपने लंड से तुम्हारी चूत को छुआ तक नहीं है.

मौसी की चूत की फांकों का उभार मुझे मेरी उंगलियों पर महसूस हो रहा था. ब्लू पिक्चर सेक्सी अंग्रेजन कीदीदी ने मेरे अंडरवियर को उतार दिया और मेरा मोटा लंड बाहर निकल कर झूलते हुए दीदी के सामने फनफनाने लगा.

अगर वो स्टूडेंट न रहा होता तो मुझे इतनी गर्म और सेक्सी चूत चोदने के लिए शायद नहीं मिल पाती.एचडी बीएफ एक्स एक्स वीडियो: जब मौसा के होंठ मेरे कड़े निप्पलों पर लगे तो मैंने उनके मुंह को अपनी चूचियों पर दबा लिया और उनको लेकर लेट गयी.

मैं भाभी को चूमते चूसते उनकी चूत पर आ गया और जोर-जोर से चूत चूसने लगा.एक बार तो मेरी भी जान निकल गयी क्योंकि बाकी लोगों के उठने का डर था.

यूपी में होली कब है - एचडी बीएफ एक्स एक्स वीडियो

अब सलोनी मेरे सीने पर अपना सिर रख कर चुपचाप पड़ी लम्बी सांसें भरती रही.कुछ देर चूत चूसने के बाद मैंने अपना अंडरवियर निकाला और उठ कर सीधा दोस्त की माँ के हाथ में लंड दे दिया.

मेरे लिये अब ये एक चेलेंज बन गया था क्योंकि मैंने आंटी को गर्म करने की ठान ली थी. एचडी बीएफ एक्स एक्स वीडियो धीरे धीरे उसकी स्पीड बढ़ गयी और वो अब पूरी रफ्तार में मेरी चूत को चोदने लगा.

मैं जब तक कुछ समझती, मीतेश ने मेरी चूत पर अपना लण्ड रखकर ठोकर मारी.

एचडी बीएफ एक्स एक्स वीडियो?

उसने नीले रंग की साड़ी पहनी थी और ये नाभि से नीचे बंधी थी जिससे वो और भी ज्यादा कामुक लग रही थी. ये सब राज ही रहेगा और किसी के साथ करूंगी, तो रिस्क हमेशा बना रहेगा. मैंने- फिर तेरा मियां, तुझसे खुश नहीं है क्या? तू है तो सुन्दर सेक्सी भी है, मेहनत नहीं करता क्या तेरे साथ?वो हंस कर बोली- क्यों नहीं करता अभी कल रात ही तो …फिर शर्मा कर बोलते बोलते वो रुक गयी.

तभी जीजा जी भी अपने शर्ट पैंट उतार कर स्विमिंग पूल में आ गए और वे दीदी के पास आकर उन्हें किस करने लगे. उन्होंने बताया कि अरे कुछ नहीं, आज मेरी तबीयत ठीक नहीं थी, इसलिए जल्दी चली आई. जिस तरह से पति के होते हुए भी फिलहाल मैं तुम्हें संभाल रहा हूं वैसे ही शादी के बाद कोई दूसरी औरत फिर मुझे भी ऐसे ही संभाल रही होती.

मगर फिर बाद में पूरी कहानी पढ़ी तो पता लगा कि लोग बहन को भी चोद देते हैं. पहले तो मैं एकदम से डर गया और वहां से आगे जाने की सोचने लगा, पर तभी उन्होंने फिर से आवाज़ दी कि सुनाई नहीं देता रूबी … मुझे देर हो रही है … जल्दी कर दे. मैंने कहा- ये आप से किसने कहा?वो बोलीं- तुम्हारे मामा ने हम दोनों को बताया कि मेरा भांजा मेरे सामने मामी को अपनी गर्लफ्रेंड कहता है … और वो कहते हैं कि तू जाने और तेरी मामी.

रेखा की चूचियों से खेलते हुए मैंने उससे घोड़ी बनने को कहा तो पलटकर घोड़ी बन गई, रेखा के पीछे आकर उसके चूतड़ों को फैलाकर मैंने अपना लण्ड उसकी चूत में पेल दिया और आगे की ओर झुककर उसकी चूचियां दबोच लीं. ये सुनकर मैं बहुत डर गई- क्या मतलब है तुम्हारा?मैंने अपने शिबु की तरफ देखा.

अमिता अन्दर थी और मुझे शुरू से ही इसका अंदेशा था, पर मैं हालात के आगे मजबूर हो गया था.

मुझे अपनी बहन को चोदते समय अभी ऐसा लग रहा था कि मैं तमन्ना भाटिया को चोद रहा हूं … क्योंकि दीदी उसी की तरह खूबसूरत और हॉट हैं.

मैं फिर से दो मिनट के लिये रुक गया और उसकी चूत से अपना लंड बाहर निकाल कर उसको मैंने घोड़ी बनने के लिए कहा. जब सीनियर्स लोग दारू पीकर इंजॉय करना चाहते थे तो उनके साथ ही मजे लेते थे. मैंने कहा- ठीक है, आप साड़ी पहन लो, तब तक मैं डॉक्टर को लेकर आता हूं.

दीदी ने मेरे अंडरवियर को उतार दिया और मेरा मोटा लंड बाहर निकल कर झूलते हुए दीदी के सामने फनफनाने लगा. भाभी ने कहा- तो जाओ मेरे लिए चॉकलेट वाली लेकर आओ … मैं टेबल पर तुम्हारा इंतज़ार करूंगी. ताई के चूचे ज्यादा कसाव में तो नहीं थे लेकिन ब्रा में बहुत सेक्सी लग रहे थे.

मैं बोला- मां मेरी शादी के लिए भी बोल रही थी लेकिन मैंने मना कर दिया कि पहले पूजा की कर दो.

कुछ देर बाद मैंने ऊपर से हट कर बगल में खुद को किया और मामी के मुँह के पास लंड कर दिया. या मुझे अपने पास बुला लेती हैं।ठीक है, मैं अपने कमरे में जा रहा हूं। जब रिंग करूँ तो आ जाना।”किसलिये?”आपका नाम लेकर मुठ मारने … जो रस निकलेगा उसको आपको पिलाना है।”कहकर वो चला गया।मैं अपने कमरे में लेटी रही. आंटी की तड़प देख कर मैंने जीभ निकाल ली और उसकी टांगों को चौड़ी कर लिया.

मुझे आप लोगों की राय की जरूरत पड़ेगी क्योंकि आने वाली कहानी में मैं बताऊंगा कि उसके बाद मैंने उन दोनों मां-बेटी की देसीचुत कैसे कैसे बजाई।[emailprotected]पर!. मुझे उस पर बहुत दया आयी कि कैसे मैंने अपनी ही मां को बरहमी से चोद कर अपनी हवस शांत कर ली. इसी उधेड़बुन में पता ही नहीं चला कि कब हम लोग अंदर प्रविष्ट कर गए और कब मेरे आगे एक गिलास जल का रखा गया.

इस अहसास का मजा लेते हुए मुझे मुश्किल से एक मिनट भी नहीं हुआ था कि मुझे आभास हुआ कि माँ अब मेरे ऊपर ही लेट जाने की कोशिश करने लगी है.

जब 18 साल की उम्र में पहली बार मैंने मुठ मारी तो मॉम की पैंटी को सूंघ कर ही मारी थी. ये देख कर कोमल दीदी ने मोनिका और राधिका से कहा- वाह क्या बात है … पढ़ने के टाइम पर भी लंड हिला रही हो.

एचडी बीएफ एक्स एक्स वीडियो मैं चुत चाटते हुए बुआ की चुत के कड़क हो चुके भगनासे को भी चाट रहा था और उससे छेड़छाड़ कर रहा था. हम एक दूसरे के हाथ में हाथ थाम कर बैठे बैठे कुछ बातों के बाद मैंने उसके माथे किस से शुरूआत की … फिर होंठों पर उसे चूमा.

एचडी बीएफ एक्स एक्स वीडियो मुझे अमिता एक पल के लिए दिखी, मेरी चालू बीवी बिस्तर पर नंगी दोनों टांगें फैला कर पड़ी थी. मगर पिता की मृत्यु के चलते उसकी अनुकम्पा नियुक्ति का प्रार्थनापत्र स्वीकार हो गया और उसे भी एक कांस्टेबल की पोस्ट मिल गई.

आंटी- बस अगले महीने सोच रहीं हूँ मगर मैं इस बीमार शरीर के साथ नहीं जाना चाहती। थोड़ा घुटनों के पास दबा दे बेटा.

चेन्नई सेक्सी फिल्म

मेरी मां की तबियत ज्यादा ठीक नहीं रहती है इसलिए घर का काम हम दोनों बहनें ही करती हैं. करीब 20 मिनट तक अपनी गर्लफ्रेंड को चोदते रहने के बाद मैंने धक्के और तेज कर दिए. मेरी ये बात दीदी के दिल को छू गई और उसी पल दीदी मेरे होंठों को चूमने लगीं.

मगर अब फिर से झड़ने के कगार पर पहुंच गयी थी क्योंकि शाहिद बहुत तेज धक्के लगा रहा था. चिठ्ठी निकाल कर देखा कि चिठ्ठी के लास्ट पेज पर ‘आई लव यू टू’ लिख कर ललिता ने दिल बना दिया था. आराम से नहीं डाल सकता था? आह्ह … मर गयी … ऊईई … आह्ह … निकाल ले एक बार बाहर। मुझे मार डालेगा क्या? इतना बड़ा लंड कोई एक बार में डालता है क्या? कुत्ते!मुझ पर हवस का जानवर सवार हो गया था.

हम दो बहनें हैं लेकिन बड़ी वाली ने घर से भाग कर विजातीय विवाह कर लिया.

अब मुझे उसकी शर्ट का बटन खोलना था ताकि मैं उसके दूधों को हाथ में ले सकूं. मैं ये सुनकर एकदम से चौंक गया कि दीदी मेरे साथ सेक्स करने के लिए तैयार है. मेरी हिंदी चुदाई कहानी मेरे और मेरे दोस्त की मॉम के बीच बने सेक्स संबंध की है कि कैसे मैंने अपने दोस्त की माँ को चोदा.

एक हाथ से उसकी चूची दबाता रहा और दूसरे हाथ से उसका टॉवेल ऊपर करके उसकी गांड सहलाता रहा. मैं अपनी साड़ी ठीक करते हुए आ रही थी तो मैंने देखा कि अमन अपनी पैंट के ऊपर से अपने लंड को सहला रहा था. अभी तक इसको तुमने ऐसे अनछुई क्यों रखा हुआ है, इसके अंदर किसी का लंड डलवाने में इतनी देर क्यों की हुई है तुमने?मैं बोली- ये चूत केवल आपकी अमानत है.

राज, हरि, विशाल ये तीनों दोस्त मेरी जवानी देख कर एकदम से हॉट हो गए. मैं बस इस फिराक में था कि कब मुझे उनसे मिलने का मौका मिले और आंटी की चूत चुदाई का मजा ले सकूं.

धक्के दे देकर मैंने पूरा लंड अंदर घुसा दिया और पूरा लंड उनकी बड़ी सी गांड में चला गया।उसके बाद मैं लंड को गांड में चला कर गांड चुदाई करने लगा. उसने बताया कि वो पुणे में जॉब करता है और हैदराबाद में किसी की शादी में जा रहा है. लेकिन मैंने जब एक झटके में लंड चुत के अन्दर घुसाया, तो मामी समझ गई कि मैं मामा नहीं हूँ.

फिर आहिस्ता अहिस्ता से उसकी साड़ी को उसकी टांगों पर ऊपर की ओर खींच कर सरकाना शुरू कर दिया.

पीयूष के पिताजी ने मुझे दो लाख रूपए का चैक दिया और उनके घर का काम करने के लिए आगे की बातचीत होने लगी. पीछे से डोरी होने के कारण उसकी गांड पूरी की पूरी यूं ही नंगी दिख रही थी. वो दोनों बेतहाशा मेरे जिस्म को चूमने और चाटने लगे जैसे दो कुत्तों के सामने एक ही हड्डी डाल दी गयी हो और वो दोनों आपस में झपटमारी कर रहे हों.

मौसी की चूत चुदाई शुरू हुईमां और नानी के जाते ही मौसी ने दरवाजे को अंदर से बंद कर लिया. उसका लौड़ा सख्त हो गया और उसने मेरी चूत में लंड ठूंस कर मुझे चोदना शुरू कर दिया.

मैंने कुछ खाने का आर्डर कर दिया … और बातों के साथ किस का मजा लेने लगे. मगर इस बार उसका पानी नहीं निकला था … इसलिए वो मेरे झड़े हुए लंड पर बदस्तूर उछल रही थी. उनकी गांड से गू बाहर निकलने के लिए जैसे ही गांड खुली … मैंने अपना पूरा लंड उनकी गांड में घुसा दिया.

ಕನ್ನಡ ಚೆಕ್ಸ್ ಕನ್ನಡ ಚೆಕ್ಸ್

मैंने वो कैमरे मौसा के घर में मौसा के लड़के के रूम में, मेरे मां-बाप के रूम में भी लगवाये.

मैं अपनी साड़ी ठीक करते हुए आ रही थी तो मैंने देखा कि अमन अपनी पैंट के ऊपर से अपने लंड को सहला रहा था. हम दोनों बगल बगल में बैठे हुए नाश्ता कर रहे थे, तभी मैंने दीदी से मस्ती की. उसमें मैं आपको बताऊँगी कि उन सबने मेरी चुदाई कैसे की, किन-किन पोजीशन में सब ने मुझे चोदा।आशा करती हूँ कि आप सबको मेरी रंडी बनने की कहानी पसंद आ रही होगी।आपको रंडी आंटी की कहानी कैसी लग रही है, आप मेल करके जरूर बताएँ।मेरी ईमेल आईडी है-[emailprotected]रंडी आंटी स्टोरी का अगला भाग:दुनिया ने रंडी बना दिया- 6.

आंटी ने भी मेरा लंड अभी ही देखा था तो आंटी के मुँह में भी पानी आ गया. कई बार मैंने ट्राई कर लिया तो वो हंसते हुए पूछने लगी- पहले नहीं किया है क्या तूने?मैंने कहा- नहीं ताई, मैंने इससे पहले कभी नहीं किया है. सेक्सी फोटो माधुरी दीक्षितमुंह में लंड देकर उसने मां के बालों को पकड़ा और अपनी गांड चलाते हुए मेरी मां के मुंह को चोदने लगा.

मैं जल्दी जल्दी लंड के धक्के देते हुए अंदर घुसाने की कोशिश करने लगा मगर मेरा लंड अंदर घुस ही नहीं रहा था. मैंने उस लड़के के लंड को फिर से अपने मुंह में भर लिया और चूस चूस कर उसके लंड को फिर से खड़ा करने की कोशिश करने लगी.

जब मैं वापस आने लगा, तो उन्होंने मुझे चूम लिया और बोलीं- सच में तुमने मुझे सम्भाल लिया … और मेरी तड़प भी शांत कर दी. उसके बाद मैंने अपने धक्कों की रफ़्तार और बढ़ा दी जिससे उसको और ज्यादा मज़ा आने लग गया. [emailprotected]फैमिली सेक्स स्टोरी का अगला भाग:विधवा ताई ने मेरी वासना जगायी-2.

वैसे तो मेरा मुँह पूरा बंद हो गया था … लेकिन फिलहाल ये स्थिति मोहित अंकल के लंड से काफी ठीक थी. कोमल की मां अंदर बैठी हुई हीटर के सामने गर्मी ले रही थी क्योंकि वो सर्दियों के दिन थे. तो मैं मेरी बीवी के मायके में चुदाई करके आ जाता था और इस तरह मेरी सासू मां की प्यास भी बुझ रही थी.

उसने इस बात का फायदा उठाते हुए कहा- देखो मैडम, मैं तो बाहर चला जाऊंगा मगर इसका (लंड का) क्या करूं? ये तो अब शांत होने वाला नहीं है.

वो पूरे जोश में लगी थी, लंड चुसाई में वो पूरा लंड अन्दर निगल रही थी. मैंने उसकी गांड को पकड़ लिया और तेजी से उसकी चूत में लंड की पिलाई करने लगा.

उसके बाद मैं अपनी सास को उनके घर छोड़ने गया तो उन्होंने मुझे गर्म कर दिया और …दोस्तो, मैं आशीष अपनी आपबीती को आगे बढ़ा रहा हूं. मौसी की पैंटी को मैंने खींचने की कोशिश की लेकिन उनकी भारी गांड के नीचे दबी हुई थी. ’मैंने आंटी के सीने पर अपने होंठों को सीने रखकर किस करना शुरू कर दिया.

उसकी आंखें खुली की खुली रह गयी थी क्योंकि वो और बड़ा होकर बाहर आना चाह रहा था।मैंने उसका ध्यान न हटाकर दूसरा सवाल पूछा- आज तक आपने कितने मर्दों को नंगा देखा है?वो चुप रही और अपनी पीठ मेरी तरफ कर दी. तभी बाहर किसी की आवाज आई।मोसी बोली- देखना ज़रा कि कौन है।मैं बाहर आ गया और देखा कि जहां पर गाय भैंस बंधे रहते हैं. मैंने कहा- अच्छा … आप क्या करती हैं?वो बोलीं- मेरा खुद का बिज़नेस है … मैं वो करती हूँ.

एचडी बीएफ एक्स एक्स वीडियो दूसरों की कहानी पढ़ पढ़ कर बहुत मूठ मारी है। मैं भी सोच रहा था बहुत टाइम से कि अपनी भी चूत चुदाई की कहानी सब तक पहुँचाऊं।वैसे मेरा नाम शुभ है और मैं बरेली का रहने वाला हूं. मैंने कईयों को चोदा था लेकिन इस भाभी के साथ जो मजा आ रहा था वो किसी और के साथ अब तक नहीं आया था.

इंग्लिश सेक्सी वीडियो क्लिप

अपने चूतड़ चलाकर लण्ड को अपनी चूत में सेट करके बड़ी ही मादक आवाज में रेखा बोली- तुम अब तक कहाँ थे, विजय? मेरी शादी को 20 साल हो गये हैं लेकिन ऐसा लग रहा है, जैसे पहली बार चुद रही हूँ. अब तुम्हारी बहन ही तुमको चोदना सिखाएगी।इसके बाद दीदी ने मेरे सारे कपड़े निकाल कर मुझे नंगा कर दिया. फिर भाभी ने मेरा अंडरवियर खींच दिया और मेरा लंड उसके मुंह पर जाकर लगा.

उसके ब्रा के हुक अपने दांतों से खोलकर मैंने उसके बूब्स आज़ाद कर दिए।फिर मैं उसके बूब्स को चूसने लगा और एक हाथ से उसके दूसरे बूब्स को रगड़ कर लाल कर दिए। फिर मैं उसके पेट पर चूमने लगा और उसकी नाभि को अपने जीभ से चोदने लगा।अब वो भी जोश में चिल्ला रही थी और बिन पानी मछली की तरह तड़प रही थी।फिर मैंने उसकी पैंटी निकाल कर फेंक दी. चूंकि दारू का नशा था और उस नशे में आदमी ज्यादा भावुक और रोमांटिक हो जाता है. जनकपुर नेपालमैं बोला- पापा स्मैल आ रही है। कम से कम बगल के बाल तो साफ़ कर लो?पापा बोले- ओके ट्रिमर दे लाकर।मैंने उनको ट्रिमर दे दिया.

अपनी मां की चूत को चाट चाट कर साफ कर दे बेटा… इसके खारे पानी को पी जा बेटा … आहह पी जा मेरी चूत के पानी मेरे बच्चे … आह्ह खा जा मेरी चूत को… आह्ह चूस इसे.

अमन का लंड मेरी चूत पर बार बार टच होने लगा जिससे मैं और ज्यादा गर्म होने लगी. मैं कई बार नोटिस किया करती थी कि मेरे मौहल्ले के लड़के और मर्द मेरी ओर हवस भरी निगाहों से देखा करते थे.

उसकी चूत की पप्पी लेकर मुझसे बोला- अंजलि रांड, तू मेरे लंड पर बैठ जा. उसकी चुस्त वर्दी की वजह से उसके मम्मे एकदम उभर रहे थे और गांड एकदम टाईट थी. कुछ देर चूचियों को पीने के बाद मैं उनकी जांघों के पास घुटनों पर बैठ गया.

घर के हालात कुछ ठीक नहीं है। बंजर जमीं पर बापू खेती करते हैं। तीन बहनें हैं और एक भाई।आगे बताते हुए वो बोली- ये सोच कर यहां आई थी कि कुछ तो बन ही जाऊंगी.

मुझे नीचे दी गई ईमेल पर मैसेज करें अथवा कमेंट बॉक्स में अपने कमेंट छोड़ें. फिर थोड़ी देर तक ऐसे ही बैठे बैठे आंटी के रूम की तरफ देखता रहा, मगर आंटी नहीं आईं. जैसे जैसे माँ हिल रही थी रघु की आहें मुझे सुनाई देने लगी। मेरा सर अब चकराने लगा था.

कंदोरा की डिजाइनजब मेरी ओर से कोई विरोध नहीं हुआ तो उसने मेरी चूचियों को अपने हाथों में कस कर जकड़ लिया. धीरे धीरे से मैं उस लड़के के लंड को अपने हाथ से हल्का हल्का दबा कर सहलाने लगी.

स्कूल के बच्चे की सेक्सी

मैं मुस्कुराते हुए चिल्लाने लगी- अंह उन्ह … आह … हहहह हह … चोदो मुझे … और जोर से चोद दो … आह बना दो आज मुझे रंडी … मेरी चूत और गांड दोनों फाड़ दो … आआहह ऊऊऊहह …मैं जोर जोर से चिल्लाकर सैंडविच चुदाई के मजे ले रही थी. तो मैंने क्या किया?हमारे बगल वाला घर शुक्ला जी का था, शुक्ला जी एक बैंक में मैनेजर थे और आजकल पश्चिमी उत्तरप्रदेश के किसी शहर में पोस्टेड थे व महीने में एक दो बार ही घर आ पाते थे. मैं उठ कर अंदर गयी और अपने बैग से सिगरेट की डिब्बी और लाइटर लेकर आ गयी.

मैक्सी जब ऊपर उठती, तो कुछ इस तरह से हो जातीं कि मुझे आंटी का सिर्फ पेट ही दिख पाता था. तभी कुछ आवाज आई, मैंने पीछे मुड़कर देखा, तो भाभी अन्दर आकर मेरे रूम का दरवाजा अन्दर से बंद कर रही थीं. मुझे आप लोगों की राय की जरूरत पड़ेगी क्योंकि आने वाली कहानी में मैं बताऊंगा कि उसके बाद मैंने उन दोनों मां-बेटी की देसीचुत कैसे कैसे बजाई।[emailprotected]पर!.

अब आगे की हिन्दी रियल सेक्स स्टोरी:हमें चुदाई और बातें करते हुए 2 घंटे से ज्यादा हो गए थे. मगर आज भी उसको याद करता हूं तो मन एकदम से जैसे ताजगी से भर जाता है. जब मैं पेशाब करने टॉयलेट में गया तो मैंने अपने लंड की स्किन को खोल कर देखा तो वो आज पहले से ज्यादा खुल रही थी.

शादी के 3 साल हो चुके हैं लेकिन अभी तक कोई नयी चूत नसीब नहीं हुई है. 10 मिनट में ही मेरी चूत को उनके लंड ने अपने धक्कों की ताकत से झड़ने पर मजबूर कर दिया.

मौसा जी बोले- आह साली रंडी … चुदवा ले अपनी चुत … चुदवा ले साली कुतिया.

मैं बोला- नहीं, तेरे अंदर बहुत आग है न … आज मैं तेरी इस आग को शांत करने के बाद ही छोड़ूंगा तुझे. कामसूत्र सेक्स फिल्मफिर खड़े खड़े मैंने उन्हें घुमाया और पीछे से ही उनकी गांड में लंड डालने लगा. सेक्सी गाने वाली पिक्चरजब भी उससे मिलता हूं तो मन करता है कि उसके स्तनों को दबाता ही रहूं. पहले तो मुझे गुस्सा आया लेकिन फिर मैंने खुद को समझाया कि आंटी के भाई कहने से मुझे क्या फर्क है.

थोड़ी देर बाद एक और निपट गया और चौथे ने मेरी बीवी की चूत में अपने लंड को ठेल दिया.

मैं चाहती थी कि मौसी बस किसी तरह मेरे फोन में चलती लेस्बियन पॉर्न क्लिप देख लें. जीजा जी उच्च धनी परिवार से हैं और मेरी बहन की खूबसूरती ही उनको रिझा गई थी. इधर प्रिया ने अपने हाथों से मेरी शर्ट फाड़ कर उतार दी और नीचे बैठ गई.

मेरा ध्यान मेरी चूत से हट गया और मैं चूचियां पिलाने के आनंद में खो गयी. मैं तो बस बैठने के लिए बैठा हुआ था और इंतजार कर रहा था कि कब मुझे कुछ करने का मौका मिले. अब हालत ये थी कि भाभी जहां जहां जातीं, मैं वहां वहां चला जाता और पीछे से भाभी की हिलती हुई गांड देखकर ड्रिंक का मजा लेने लगता था.

सेक्सी वीडियो सेक्स ब्लू

और मैं ये स्टोरी आपको बताने पर मजबूर हूँ क्योंकि वो रातें मैं नहीं भूल सकता. फिर मैंने एक हाथ से बुआ के बाल पकड़ कर करीब दस मिनट तक उनकी गांड मारी. एक टैक्सी आई हुई थी, वे दोनों उसमें बैठ गए और मैंने उन्हें जाते हुए देखा.

उसके मम्मों की नाली में मैंने अपनी जीभ डाल दी और नाली से उसके सीने को चाटता हुआ अपने होंठ सीधे उसके मुँह से लगा दिए.

पापा बोले- कोई बात नहीं, अगर तुम्हारा देखने का मन किया करे तो तुम भी देख लिया करो.

मैंने पूछा- काम हो गया क्या?वो मुस्कराकर बोली- हां, कुछ कुछ बन रहा है. मुझे तकलीफ में देख कर अमन थोड़ी देर वैसे ही मेरे ऊपर पड़ा रहा और मुझे किस करने लगा. राजस्थानी रिंगटोनकुछ मिनट की भरपूर चुदाई के बाद मैंने अपना लावा छोड़ दिया और उसके ऊपर ही निढाल हो गया।सुबह के 4:30 बज चुके थे.

अगर आप वो सब भी पढ़ना चाहते हैं, तो ये बस में चुदाई स्टोरी कैसी लगी, मेरी ईमेल पर जरूर बताइएगा. अब मैंने उनके ऊपर चढ़ कर लंड सैट किया, तो वो बोलीं- हितेश तुम्हारा लंड बड़ा है … धीरे से करना … कहीं तुम आज मेरी चुत न फाड़ दो. भाभी अपनी चूत को उठा-उठा कर लंड लेने का प्रयास करने लगीं और बोलने लगीं- आह साले, जल्दी से चोद दे मुझे.

फिर मैं चाची को देखने के लिये बाहर गया, तो वो किचन में कुछ काम कर रही थीं. मगर जो एक बार गांड चुद गई तो फिर आकाश सर का रास्ता आसान हो जाने वाला था.

फिर हम 69 की पोजीशन में आ गये और मैंने दीदी की चूत पर मुंह लगा दिया और उसकी चूत को चाटने लगा.

वो बोली- अच्छा जी!मैंने कहा- बस एक बार मिल जाओ, चोद चोद कर भोसड़ा न बना दूं तो नाम बदल देना. मैं सोच में पड़ गया कि इतनी रात में उन्होंने मुझे क्यों बुलाया है?मैंने उनके रूम के पास जाकर नॉक किया. अंकिता बोली- वर्मा अंकल तो ऐसा नहीं किये थे? ऐसा मजा तो ये अंकल ही दे रहे हैं … आह्हह। बहुत अच्छा लग रहा है … मां.

लेटेस्ट सोफा मेरे झड़ने के बाद हरि ने मुझे एक पैग पिलाया, जिससे मुझे राहत मिल गई. इस पर पिंकी हंसने लगी और अपने हाथ से मेरे उभरे हुए लंड को सहलाने लगी.

फिर जब मैं ये बता रहा था कि मैम ने मुझे सेक्सी का खिताब दिया तो उसने मुझे पूछा- मैं सेक्सी हूँ?मैंने जानबूझकर मुँह बनाते हुए कहा- देखना पड़ेगा. रोहित के कंधों को मैंने कस कर पकड़ लिया और मेरी चूत में झटके लगने लगे. आप लोग तो जानते ही हो कि वहां के स्टाफ का नेचर होता है सबकी तारीफ करने का.

अरबी सेक्सी फिल्म

उसके बाद मैं उसके साथ उसके स्टॉप पर उतरा और …नमस्कार दोस्तो, आज मैं आपके सामने अपनी सच्ची घटना जिसमें मैंने ‘एक सेक्सी भाभी को चोदा’ लेकर आया हूं। कहानी बताने से पहले एक बार मेरे बारे में जान लें. जब सीनियर्स लोग दारू पीकर इंजॉय करना चाहते थे तो उनके साथ ही मजे लेते थे. मैंने कहा- मगर तुमको मेरे बारे में किसने बताया?शायना बोली- मेरी एक सहेली ने ये सलाह दी थी कि अगर मैं किसी शादीशुदा उम्रदराज मर्द को पटा लूं तो किसी को मालूम भी नहीं चलेगा और चुदाई का मज़ा भी मिलता रहेगा.

कपड़े वाशिंग मशीन में डाल कर हम दोनों कक्ष में आकर ऐसे ही जांघिया पहने हुए लेट गये. ताकत मिलेगी।मैं समझ गई कि कि वो इस पेय में ताकत वाली दवा मिलाकर लाया है। मैं उसे पीने लगी। उसका टेस्ट मुझे थोड़ा कड़वा लगा। खैर, मैं पूरी बोतल गटक गई।आगे मेरे साथ क्या होता है, सात लोग मेरी चुदाई कैसे करते हैं.

मैंने गहरी सांस ली और कहा- यदि आपको कोई दिक्कत न हो तो हम दोनों एक ही रूम में सो जाते हैं.

मैंने हैरानी से उसकी तरफ देखा और अपना डर खत्म करके चुपचाप खाना खाने लगा. मैं उसका लंड लेने के लिए तैयार नहीं था और वो मेरी देसी गांड लेने पर उतारू था. गचागच दीदी की चूत चुदाई हो रही थी और दोनों को ही पूरा मजा मिल रहा था.

मगर फिर भी उन सबकी सुंदरता मेकअप से उत्पन्न थी लेकिन पारुल और साधना के शरीर की सुंदरता गजब की थी. वैसे भी गुड़िया बुआ एक बहुत ही सेक्सी महिला थीं, जिसे देखते ही अच्छे अच्छों के लंड खड़े हो जाते होंगे. इस इंडियन आंटी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने दोस्त की मम्मी की चुदाई की.

एक दिन की बात है कि मेरा परिवार हैदराबाद घूमने का प्लान बना रहा था.

एचडी बीएफ एक्स एक्स वीडियो: मैंने भगवान को बहुत बहुत शुक्रिया कहा कि मेरे सफर को इतना हसीन बनाया. मैंने इससे पहले अपनी जो सेक्स कहानीसीनियर लड़की की सहेली की चुदाईलिखी थी, आज उसी से आगे की घटना को लेकर मैं आपके सामने हाज़िर हूँ.

चूंकि मैं उसकी जवानी की आग को अपने लंड से चोद कर शांत कर ही रहा था तो उसने भी मेरी बात को अच्छे से निभाना जारी रखा. ये देख कर मुझे पक्का हो गया कि आंटी मेरा ही सोच कर ताका-झांकी कर रही हैं. मैंने कहा- बताइये मामी, आप क्या खायेंगी?वो बोली- घर से खाकर आई हूं.

मम्मी उस वक्त अपनी चूत और चूचियों को कपड़े से ढकने का असफल प्रयास कर रही थी.

साढ़े पांच में कमरे का दरवाजा खुला और सुभाष के दोनों दोस्त बाहर निकले और सुभाष मुझे देख कर दोबारा दरवाजा बंद करने लगा. उसके पति को शायद ज्यादा समय नहीं मिलता था उसकी चूत को चोदने के लिए, इसी वजह से वो इतनी जल्दी अपनी चूत मुझसे चुदवाने के लिए तैयार हो गयी थी. उसकी आवाजें निकल रही थी- आहहहह चोदो … और तेज!अब न वो झड़ रही थी न मैं …कुछ देर बाद बाद मुझे उसकी चूत ज्यादा गीली सी लगी.