बीएफ दे बीएफ वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,गांव की सेक्सी जबरदस्त

तस्वीर का शीर्षक ,

फिल्म देहाती सेक्सी: बीएफ दे बीएफ वीडियो बीएफ, सीधे आज की बीबी चुदाई कहानी पर आता हूं। यह बात आज से 2 साल पहले की है.

सेक्स वीडियो पिक्चर सेक्सी ब्लू पिक्चर

मैंने करीब जाकर उससे पूछा- क्या हुआ मैम?आप तो जानते है कि मैं होटेलियर हूँ. सेक्सी एक्स व्हिडीओ एचडीअगर मजा नहीं आया हो तो फिर जरूर दें क्योंकि उसी से कहानी बेहतर होगी.

फिर मैंने आगे बढ़ते हुए उसकी मैक्सी को उसके घुटनों पर से ऊपर सरकाना शुरू किया और उसकी चूत तक लाकर छोड़ दिया. सेक्सी चुदाई वीडियो सेक्सी हिंदीमैंने फिर से अपना एक हाथ भाभी की चुत पर रख दिया और उसको सहलाने लगा.

मैं देखने में इतना स्मार्ट नहीं हूं लेकिन इतना जरूर कह सकता हूं कि सेक्स में किसी भी लड़की, भाभी या औरत को पागल कर सकता हूं.बीएफ दे बीएफ वीडियो बीएफ: दोस्तो, जैसे मैंने कहा था किरदार आते रहेंगे और उनका इंट्रोडक्शन देती रहूंगी.

संगीता- मैं रवि को फोन करके पूछती हूँ कि वो कितनी देर में आ रहा है.वो बेड पर पेट के बल लेट गयीं और मैं उनकी कमर और पीठ पर हल्के हाथ से मसाज देने लगा.

सेक्सी खुल्लम-खुल्ला चोदा चोदी वीडियो - बीएफ दे बीएफ वीडियो बीएफ

वो चुदाई भी वैसे ही करते हैं जैसे पोर्न फिल्म में सेक्स दिखाया जाता है.सच बताऊं, तो मुझे उसके होंठों का स्पर्श महसूस करने से मजा आने लगा था.

वो भी बेड पर आ कूदा और हम दोनों ने एक दूसरे की बांहों में लिपट कर एक दूसरे को चूमना शुरू कर दिया. बीएफ दे बीएफ वीडियो बीएफ देसी सेक्स फॅमिली स्टोरी में पढ़ें कि एक रात अपनी बेवा आपा से मेरे नाजायज ताल्लुकात हो गये.

तो अब जब कभी कभी मैं दिल्ली जाता हूं, तो भाभी से मुलाक़ात होती है और सारी यादें ताज़ा हो जाती हैं.

बीएफ दे बीएफ वीडियो बीएफ?

बातों में ही पता चला कि पिछले एक साल से भाभी की चूत की खुजली नहीं मिटी है. उसके मुँह से लगातार कामुक सिसकारियां निकल रही थीं- इस्स राहुल, आह ऐसे ही करते रहो, आह रुको मत और जोर जोर से करो … आहहहह उफ़ आउच अम्मह करते रहो ऐसे ही … मुझे बहुत मजा आ रहा है. हमारे हाफ इयरली के एग्जाम खत्म होने तक मैंने उसकी समस्या अपने दोस्तों के साथ मिलकर खत्म करवा दी.

मैंने देखा कि मां के हाथ उसके लंड पर लगते ही उसका लौड़ा और ज्यादा टाइट हो गया. थोड़े आगे जाते ही उसने मुझे कमर से पकड़ लिया और मुझे कल के लिए सॉरी बोली. कुछ ही मिनटों बाद मुझे लंड चूसना बहुत अच्छा लगने लगा तो मैं किसी बेशर्म रंडी की तरह उनके मुंह की ओर देख देख कर लंड चूसने चाटने लगी.

मेरे पतिदेव ने अब अपना एक हाथ मेरी कच्छी के अन्दर डालकर मेरी गांड को सहलाना शुरू कर दिया. वो बाथरूम से जब बाहर आई, तो उसके सेक्सी शरीर देख कर मेरी वासना जाग गई और मैं उसे चोदने के लिए मचल उठा. मैं- ठीक है भाभी, पर ये तो बताओ आपको मेरे लंड पर जन्नत की सैर करके कैसा लगा?रुक्मणी- बहुत मजा आया कुणाल.

फिर मैंने उसको सीधा लिटाया और उसकी टांगों को अपने कंधों पर रखकर उसे चोदना शुरू किया. रुक्मणी- कुणाल, मैं इसे हाथ में पकड़कर चूम लूं?मैं- भाभी, आपकी अमानत है.

फिर क्या था, मैंने अपने दोनों हाथों से उसके पैरों को पकड़ कर उसकी चूत अपने मुँह पर खींच ली.

आखिर में इसी डॉगी स्टाइल में दिव्या की गांड पर चांटा मारते हुए मैं उसकी पसीने से भीगी कमर को पकड़कर पिस्टन की तरह उसकी चुत चोदने लगा.

हम दोनों की सांसें तेजी से चलने लगी थीं और किस करते-करते दोनों हाँफने लगे थे. मेरा रूम से स्टेशन 3 किमी पर था, मैं वेट कर रहा था और स्टेशन पर आंखें सेंक रहा था. वो अपने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़ कर मेरे होंठों को चूस रही थी.

कभी मेरे मम्में मसल देते कभी कभी मेरी जांघ सहलाते हुए मेरी साड़ी के ऊपर से ही मेरी चूत मसल कर देते. इस बार वो मेरे लंड को झेल गई और मैंने ताबड़तोड़ झटके देना शुरू कर दिए. बहरहाल जैसे तैसे मिन्नतें करके मैंने नमन को मना लिया को वो शादी के दिन कुछ ही घंटों के लिए जैसे भी हो आ जाये और चाहे तो वरमाला के बाद वापिस चला जाये.

उफ्फ भगवान … दीदी की चूत का आकार साफ साफ दिख रहा था और उनकी चुत गीली भी दिख रही थी.

क्योंकि इस बार उसका जिस्म बिना कपड़ों के मेरे जिस्म से स्पर्श कर रहा था और उसका सांप जैसा लंड मेरी गांड की दरार में मानो अपनी बिल ढूंढ रहा था. फिर हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसते हुए चुदाई का मजा लेने लगे. मगर मेरे पति ज्यादा नशे में होने के कारण ज्यादा देर तक नहीं टिक सके और उनका माल मेरे मुँह में ही निकल गया.

अम्मी ने अब कासिब से कहा- साले मादरचोद … पहले मेरा बेटा बना, फिर शौहर बना और अब साले मेरी सौतन बनी बेटी को चोद कर मेरा जमाई भी बन गया. सांप को जब बाहर निकालोगे तभी तो वह अपना रास्ता खोजेगा?सिग्नल साफ था. मैं बोला- चाची … चिंता न करो, यहां भी वैसा ही मजा दूंगा आपको जैसा रात को चूत में दिया था.

मैं- बुआ क्या आपकी कोई सेक्स फैंटेसी है?बुआ- हां, मैं हमेशा से ही खुले आसमान के नीचे चुदना चाहती हूं.

उसका पेटीकोट सरसराता हुआ जमीन पर गिर गया और वो मेरे सामने एक आधे खुले ब्लाउज और पैंटी में थी. तभी उसने मेरा मुँह पकड़ कर अपना लंड मेरे गले तक उतार दिया और मेरा मुँह चोदने लगा.

बीएफ दे बीएफ वीडियो बीएफ चेहरे पर गहरा मेकअप और होंठों पर गाढ़ी लाल लिपस्टिक। मेरी चूचियों का कसाव और उठाव मेरी फिगर में कहर बनकर उभर रहा था. मैं- तो उनको कैसे पता चला कि वो होटल में है?भाभी- देवर के एक दोस्त ने सोनिया को अपने यार के साथ होटल में जाते हुए देख लिया था.

बीएफ दे बीएफ वीडियो बीएफ मैंने फिर से उसे चूमना शुरू किया और कुछ ही देर में फोरप्ले करके ओल्गा को पूरा गर्म कर दिया था. तो उस साए ने उसके मम्मों को मसलना शुरू कर दिया और एक दूध के निप्पल को मुँह में लेकर चूसने लगा.

फिलहाल तो ये मेरी मेहमान है, दूसरा उसके घर वालों को पता है कि वो कहां है.

एक्स एक्स वीडियो देहाती बीएफ

मेरी नज़र मेरी तीसरी मामी पर पड़ी। उनका नाम सीमा था।सीमा मामी 32 साल की हैं। उनके दो बच्चे हैं। वो एकदम मस्त माल है. अब मैं स्मायरा आंटी के चूचों को जोर जोर से दबा रहा था और वो सिसकार रही थी. मैंने उसको एक साइड लिटा कर उसके होंठों को अपने होंठों से लॉक कर लिया और उसकी चूत पर उंगलियों से सहलाने लगा.

उसके बाद भी नाटक कर रहा है!कालू- अगर आप कहो तो मेरे पास एक तरीका है, शायद काम बन जाए. जब उन्होंने मेरे काम के बारे में पूछा तो वो निराश हो गये और उन्होंने मुझे अकेले में बुलाकर कहा कि आयशा को भूल जाओ तो ही अच्छा है. आप पहले निवाला अपने मुँह में डालो, फिर अपने मुँह से मेरे मुँह में डालो.

उस दिन भी बड़ी भाभी ने गहरे लाल रंग का ब्लाउज पहना था, जो आगे से बांधा जाता है.

ये काम मैंने पहले कभी नहीं किया था, पर उसकी ख़ुशी के लिए मुझे करना पड़ा. उसने पूछा- फिर उसके साथ रिलेशनशिप का क्या हुआ?वैसे दोस्तो, मैं रिलेशनशिप में कभी नहीं रहा. इस तरह से उस रात मौसी की चूत मारकर मैंने इतना मजा लिया कि मैं मौसी का दीवाना हो गया.

तो सबने मना किया क्योंकि उसकी कुछ बातें पता चलीं, जैसे कि वो चालू लड़की है. इस तरह से मेरी मां की करतूतें मुझे काफी समय पहले से ही पता लगनी शुरू हो गयी थीं. म … मैंने ऐसा कुछ नहीं किया!रवि- अरे डरो मत … मैं किसी को नहीं बताऊंगा, बस जैसे चल रहा है, चलने दो.

कहानी के पिछले भागवो मुझे देखकर मुस्कुराती थीमें मैंने आपको बताया था कि कैसे रेखा आंटी ने मुझे पटाया और मैंने छत पर उनको पकड़ लिया. दोनों अपने अपने पैर पानी में डुबोकर एक दूसरे के हाथ में हाथ थामे काफी देर तक बैठे रहे.

मैं आगे बढ़ गया और लौटकर आकर बाइक रोकी, तो भाभी झट से अपनी गांड उचकाते हुए बाइक पर बैठ गईं. सुमन- अगर ऐसी बात है तो सिर्फ़ आपके लिए मैं तैयार हूँ … मगर आप कान खोलकर सुन लें, ये सिर्फ़ एक बार होगा … उसके बाद नहीं. झुककर उसने मेरी चूत पकड़ ली और तेजी से मेरे मुंह में लंड पेलता हुआ मेरे मुंह को चोदने लगा.

कालू की बात सुनकर मुखिया गुस्से में आ गया और ज़ोर से झल्ला कर बोला- अरे कुत्ते, ऐसी कौन सी बात है, जो तू मुझे नहीं बता सकता.

ये दोनों बातें कर ही रहे थे, तभी मीता पीछे के दरवाजे से चुपके से अन्दर आ गई … क्योंकि सुरेश ने उसको बता दिया था कि वो दरवाजा खुला रखेगा. दो चार धक्कों के बाद मैंने फिर से एक तेज झटका दिया और मौसी की चूत में मेरा लंड पूरा का पूरा उतर गया. सोचा कि फिर से बोतल वाली मस्ती करते हैं।राजेश ने शरारती अंदाज़ में बोला- लगता है लौंडे की गांड की अच्छी तरह से सर्विसिंग करनी पड़ेगी.

अब जब वो ऐसे सुनसान माहौल में मेरे सामने नंगी थी तो मैं जोर जोर से उनकी चूचियों को भींचने लगा. वो जब मेरी चूत के दाने को दांतों से हल्के-हल्के काटते तो मैं लन्ड अंदर लेने को तड़प उठती.

यह सुनकर मैं बहुत खुश हुआ और उसकी टांगों को अलग करके उसके बीच आ गया. मैंने फोटो के साथ ही पूछा- इससे भी छोटा है क्या?भाबी ने मैसेज तो देख लिया लेकिन कुछ रिप्लाई नहीं किया. भाभी न्यूली मैरिड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरे चचेरे भाई की शादी हुई तो भाभी मुझे बहुत अच्छी लगी.

बढ़िया वाला बीएफ

मैंने कहा- मगर मैं कैसे कर सकता हूं? इस तरह से?वो बोली- आप प्लीज बातों में वक्त मत गंवाइये, मुझे बहुत दर्द हो रहा है, ये वक्त इस तरह की बातें सोचने का नहीं है.

कुछ देर के बाद उसकी गांड ने लंड को एडजस्ट कर लिया और मेरा पूरा लंड आराम से उसकी गांड में समा गया. उसके होंठ सूख रहे थे, मन कर रहा था बस किसी का लंड मुँह में लेकर चूसे. लड़कों में आदिल, सोमेश, अनिल, राजीव और जॉन थे।ये सारे के सारे भी डॉक्टरी पेशे से थे.

मुखिया- मुझे ही फंसा तू हरामी, उस दो कौड़ी के आदमी के लिए मैं अब रंडी की दलाली भी करूं!कालू- मालिक आप अच्छी तरह जानते हो … वो दो कौड़ी का आदमी आपके लिए सोने के अंडे देने वाली मुर्गी से काम नहीं है. जल्दी जल्दी काम ख़त्म करने के बाद मौसी ने कहा कि ठण्ड ज्यादा है, अब जल्दी से बिस्तर पर चलते हैं. नंगे ओपन सेक्सीमैंने मन ही मन सोचा- भाभी भी ड्रामा करने में एक्सपर्ट है, कितनी सीधी बनकर बात कर रही है.

उसके घर जाकर मैंने मसाज करके उसकी सेक्सी पत्नी रीमा मैडम को गर्म किया और उसकी चूत में उंगली करके उसको चुदाई के लिए उकसा दिया. मुझे चाची के साथ चलते हुए बड़ा फख्र होता था कि मेरी चाची इतनी सेक्सी है.

दूसरी तरफ अब्बू ने अस्मा की गांड में अपना लंड डाल दिया और अस्मा भी दर्द से चिल्लाने लगी. अगर मैं अब और उसके मुंह में लंड को रखता तो मेरा काम वहीं पर खल्लास हो जाना था. वो बोली- लाओ, इसमें कौन सी बड़ी बात है, तेरे भाईजान तो बहुत चुसवाते हैं.

धीरज हंसने लगा और अपना लंड मेरी गांड में अन्दर बाहर करते हुए गपा गप मेरी गांड चुदाई करने लगा. मैं हूं न तेरे लिए!ये बोलकर भाभी ने सोनिया का हाथ पकड़ा और अपनी चूत पर रखवा दिया. मई का महीना आ गया था और 12 तारीख को वो मुझे वहां से अपने साथ ले गये.

कितनी तकलीफ़ दी उसको, ये जुर्म है … तुम्हें पता भी है?रवि- बस बस डॉक्टर साहब, मुझे मत सिख़ाओ … मुझसे कुछ छिपा नहीं है.

मैंने कैंची उठाई और नीचे की सिलाई के पास से कट लगाया और उसकी जांघ से चूत के ऊपर तक जींस को चीर दिया. उसका पेटीकोट सरसराता हुआ जमीन पर गिर गया और वो मेरे सामने एक आधे खुले ब्लाउज और पैंटी में थी.

उसके हाथ मेरे बनियान पर थे लेकिन उसका ध्यान मेरे लंड पर था इसलिए वो बनियान को ऊपर खींचने की बजाय अपनी चूत को मेरे लंड के करीब ला रही थी. अवनी चादर के अंदर थी। वो अन्दर से ही लौड़े के साथ खेलने लगी। टोपे को पप्पी देने लगी. भाभी पहले भैया के साथ बैठी थीं, फिर भैया ने भाभी को मेरे बाजू वाली सीट पर बैठने के लिए भेज दिया.

हम दोनों एक दूसरे से पेड़ और लता की तरह चिपक कर चुम्मा चाटी करने लगे. भाभी बोली- मैंने तो बताया था, अब मैं जाकर तो नहीं कह सकती कि मेरी ननद को चोदो! देख, तीन दिन बाद तेरे भैया ऑफिस के किसी स्टाफ के बेटे की शादी में जाने वाले हैं. मैंने फिर से उनकी चूत को होंठ लगाकर चूमा और एक बार फिर से उनकी चूचियों को दबाता हुआ ऊपर की ओर चला गया.

बीएफ दे बीएफ वीडियो बीएफ उनकी सिसकारियां धीरे धीरे बढ़ रही थीं। पैंटी के ऊपर से ही उनकी चूत को किस करने के बाद अब मैंने उनकी दूसरी टांग को नीचे रखा और पहली टांग को मेरे कंधे पर रख लिया। अब मैं उनकी की दूसरी टांग को किस करने लगा। अब तक उनकी पैंटी चूत के रस से पूरी भीग चुकी थी।अब मुझसे रुका नहीं जा रहा था और मैं पैंटी को उतारने लगा. मैं रात में मीनाक्षी से भले बात करता हूं, पर दिल दिमाग पर आप ही छाई रहती हैं.

ગામડાના સેક્સ વીડિયો

कमर भी मस्त 30 इंच की थी और गांड तो ऐसे बाहर निकली हुई थी, जैसे किसी ने बरसों तक बस इसकी गांड ही मारी हो. फोन रखते हुए दीदी ने उससे कहा कि मैं तुम्हारा नंबर लेकर तुमसे बाद में बात करूंगी. इतना कहकर उसने मेरा लन्ड अपने हाथ में भर लिया और उसके ऊपर दूसरे हाथ से सहलाने लगा.

मैं कभी उसकी गांड तक हाथ ले आता था तो कभी उसकी चूचियों को साइड से टच करते हुए मसाज कर रहा था. आपको इधर बता दूं कि ये गांव की लड़की थी, तो इसका शरीर मेहनत करके एकदम कसा हुआ था. सेक्सी पिक्चर दिखातीमैं- पर मैंने तो तेरी चुत का स्वाद अभी लिया ही नहीं!दिव्या बोली- ओफो … मरवाएगा क्या? ले जल्दी से चुत भी चाट ले.

रूचि- आउच राहुल, प्लीज धीरे धीरे करो ना, बहुत दर्द हो रहा हैं उसमें.

भाभी पहले दुबली पतली कमसिन सी लड़की थीं, पर भाभी अब हरा भरा माल लग रही थीं. फिर मैंने उसकी दोनों चूचियों को जोर जोर से भींचना और दबाना शुरू कर दिया.

शादी में मैं किस किस के सवालों का जवाब देती फिरुंगी कि मैं अकेली क्यों आई. इस वक्त मेरे होंठ उसके होंठों पर थे और मेरे हाथ उसको मम्मों को मसल रहे थे. मेरा एक हाथ उसकी बुर को सहलाने में लगा हुआ था, जिससे वो फिर से गर्म होने लगी.

मैंने सुशी के कोमल कोमल हाथ अपने लंड पर क्या रखे, लंड झटके मारने लगा.

फिर उसने मेरे फनफना रहे लंड को मुंह में भर लिया और जोर जोर से चूसने लगी. मैंने उसे ज्ञान देना बंद किया और उसके दूध पकड़ कर चुत चुदाई की स्पीड एकदम से दुरंतो मेल के जैसे बढ़ा दी. फ्रेंड्स, मेरी चुदाई की कहानी सुनकर सच्ची सच्ची बताना कि आपका लंड खड़ा हुआ या नहीं … और मेरी प्यारी प्यारी पाठिकाओं की चुत में आग लगी कि नहीं … ये सब आप मेरी इस सेक्स कहानी पर अपने मेल लिख कर जरूर बताएं.

फुल नई सेक्सी वीडियोये बोल कर अम्मी ने कासिब को कहा- साले मादरचोद … अब जल्दी से अपनी बहन को चोद कर मादरचोद के साथ साथ बहनचोद भी बन जा. इंडियन देसी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मामी की चुदाई करके नयी चूत की तलाश में था.

हिंदी आवाज में बीएफ दिखाइए

उस दिन मैं दिन में दीदी को पीछे से देख रहा था, तो उनके शर्ट में पीछे से ब्रा भी झलक रही थी. फिर हमारी मुलाक़ात जर्मनी में कैसे हुई और कैसे मैंने उसकी गर्म प्यासी फुद्दी और गांड की ठुकाई की. बस … अब देर मत करो मामू।मैंने उसकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रखा और एक जोरदार झटका मारा.

फिर मैंने धीरे से उसके पेट पर से हाथ उठाया और उसकी छाती पर रख दिया. मुझे उनका इंटेशन समझ नहीं आ रहा था कि आखिर वो मुझसे क्या चाहती हैं. सुरेश बाथरूम से बाहर आया और सुमन को जगाकर कहा कि मैं तो रात देर से आया था, इसलिए मेरी आंख जल्दी नहीं खुली, मगर तुम क्यों ऐसे घोड़े बेच कर सो रही हो?इस बात पर सुमन ने बहाना बना दिया कि अकेले उसको भी रात को देर से नींद आई थी.

उनकी चूत में उंगली देकर मैं अंदर बाहर करने लगा और मामी दर्द भरी सिसकारियां लेने लगी. वो बोली- लाओ, इसमें कौन सी बड़ी बात है, तेरे भाईजान तो बहुत चुसवाते हैं. उसने कहा- ठीक है, कल मैं दूसरे गांव अपनी बहन के घर जा रही हूं, तुम भी साथ में चलना.

वैसे भी वो चाहकर भी बाहर नहीं निकाल सकती थी, तो उसे रस का स्वाद थोड़ा अजीब लगा, मगर पी गई. मेरी चूत पर हाथ फेरते हुए वो बोला- रानो, तुम्हारी गुलरिया तो बिल्कुल कोरी है.

सुरेश- ये क्या है सुमन! घर का सब सामान कहां गया?सुमन- वो सब बाद में, पहले ये बताओ इतनी देर से क्यों आए? कब से आपका यहां बैठकर इन्तजार कर रही हूँ.

आप इसे एक बार देख लो, फिर दवा दे देना … और साथ में आप उपाय बताने वाले थे … वो भी बता देना. बिहार का सेक्सी बिहारीमैंने उन्हें दीवार के सहारे टिकाया और फिर से अपना लंड उनके कूल्हों के बीच में डाल दिया. हिंदी टॉकिंग सेक्सी वीडियोउधर मेरा दोस्त अभि छत से दबे पांव नीचे आया और खिड़की से अन्दर झांकने लगा. जैसे ही मेरा हाथ भाभी की जांघों के बीच में ऊपर तक गया तो भाभी की चूत से हाथ टकरा गया.

मुझे यूं घूर कर उन्हें देखता हुआ पाकर भाभी ने मेरे पास आकर चुटकी बजायी और पूछा- क्या हुआ देवर जी, किस सोच में डूबे हो?मैं- कुछ नहीं भाभी, बस ऐसे ही.

वो भी चुत चुसवाते हुए गर्म सिसकारियां लेने लगीं- आह जान मजा आ गया तुमने तो आज मेरी दिली तमन्ना पूरी कर दी. मेरे उल्टे कामों में वो बहुत साथ देता है, लेकिन कल किसी बात पर वो नाराज़ हो गया. फिर एक एक करके उसके सारे कपड़े निकाल दिए और नीचे बैठ कर लंड को मुँह में भर कर चूसना शुरू कर दिया.

हरी- साले हरामी मुखिया के गुलाम, जो तू बोल रहा है ऐसा हो सकता है क्या!कालू- तू जानता है. दूसरे आदमी ने एलिसा आंटी के पैर खोले और उनकी चूत पर अपने लंड को रख एक जोरदार शॉट दे मारा. मैं चाह रहा था कि जब तक अशोक आए, तब तक उसे चुदाई के लिए गर्म कर दूँ.

देहाती न्यू बीएफ

जबसे हम गांव से शहर आए थे, तब से मैंने गौर किया था कि मेरी अम्मी काफी बदल गयी थीं. कहानी को आगे बढ़ाने से पहले मैं आपको अपने बारे में कुछ और जानकारी दे देता हूं. मैं उसके होंठों को चूसे जा रहा था और चूचियों को बेदर्दी से मसल रहा था.

शादी से एक दिन पहले ही मैंने अपनी योनि को सजा संवार लिया था, इसके केश रिमूव करके इसे एकदम चिकनी चमेली बना दिया था.

मैं बार बार उनके बूब्स देख रहा था और उन्होंने भी ये बात नोटिस कर ली थी, पर अनदेखा कर दिया था.

मैंने भाभी के व्हाट्सएप पर हाई का मैसेज किया, तो उनका जवाब नहीं आया. उसको कामवासना के अनंत सुख का स्वाद चखा दूं जिससे वह अपरिचित सी लग रही थी. सेक्सी औरतों की चुदाई दिखाओमैंने उसकी चूत में सुपारा थोड़ा और धकेला तो वो फिर से सिसकारी और बोली- अब डाल दो मेरी चूत में … यह बहुत दिन से चुदासी है … आप दोनों की चुदाई देख देखकर मैं थक चुकी हूं.

मैं सब देख कर दंग हुआ जा रहा था कि मेरी अम्मी के इतने प्यारे दूध हैं. कुछ देर बाद एक नए नम्बर से मेरे मोबाइल पर घंटी बजी, तो मैंने काट कर दुबारा मिलाया. ये शायद अशोक की दी हुई गोली का ही असर था कि हम दोनों इतने राउंड के बाद भी नीला को इतना चोद पाए और ठोक पाए.

करीब 40 मिनट बाद जब एक्ट्रेस की थोड़ी सी चुदाई वीडियो, जो मेरे साथ मैंने बनाई थी, उसे देखी … तब मैं झड़ने की कगार पर आ गया. दोस्तो, मैं आपका किशोर मेरी और नीला भाभी की सेक्स कहानी का अगला पार्ट लेकर फिर हाजिर हूँ.

उसको देखकर मन करने लगा कि उसके पास जाऊं और उसके कोमल बदन से अपने बदन को रगड़ कर सुख की गंगा में गोते लगाऊं.

दोस्तो, अब अंधे को क्या चाहिए? दो आँखें! मेरी मनोकामना पूरी होते देख मेरा दिल बल्लियों उछलने लगा. मेरी गांड परपरा रही थी तो उन्होंने मेरी गांड में घी लगा कर काफी देर तक सहलाई. 30 मिनट तक लगातार हमारी हसीन चुदाई जारी रही लेकिन दोनों में से कोई पीछे नहीं हट रहा था.

एक सेक्सी भेजो नीचे मेरी सहेली बड़ी शिद्दत से मेरे दाने को चूस चूस कर अपने होंठों से बाहर की ओर खींच रही थी. मेरी गांड का छेद राजेश के लंड से चुदकर पहले राउंड में ही ढीला हो गया था.

वो जिस तरह से मेरे आस पास इस तरह के कपड़ों में अपने अंग दिखा रही थीं, तो मेरी खोपड़ी ने काम करना बंद कर दिया था, मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था. वो अंदर चली गई और फिर मैंने अपने लंड को टिश्यू पेपर से साफ कर लिया और बेड पर आकर लेट गया. अचानक उनकी नजर मेरी नजर से टकरा गई। वो समझ गई कि मैं उनके स्तनों को ही घूर रहा था.

हप्सी का बीएफ

धीरज के मुँह से गर्म आवाजें निकलने लगीं- आह … आह … बड़ी मस्त मालिश करती हो आंटी. उनको देख कर मुखिया भड़क गया- तुम दोनों यहां क्या कर रहे हो? काम कौन तुम्हारा बाप करेगा वहां?बिरजू- मालिक अब कितना सहेंगे हम … आप कर्जे के नाम पर काम करवाए जा रहे हो. ये सुनते ही मैं धकापेल उसे चोदने लगा और लगभग बीस शॉट मारने के बाद मैं उसकी बुर में ही झड़ गया और उसके ऊपर ही गिर गया.

मुझे बस अपनी गर्लफ्रेंड और कुछ अन्य लड़कियों के साथ सेक्स करने मिल जाता था, तो क्या रिलेशनशिप की ज़रूरत थी. उसने बताया कि कैसे रमेश बाबू और उसका दोस्त और उसका बेटा उसे नियमित रूप से चोदते हैं.

सुशी की दोनों टांगें मेरे कंधों से हट कर हवा में फैली हुई थीं और मैं ताबड़तोड़ धक्के देते हुए उसकी कमसिन बुर को चुदी हुई चुत में बदलने में लगा हुआ था.

उस दिन पहली बार मैं किसी को चोद रहा था और मेरे आनंद का कोई छोर नहीं था. जब दीदी मुझे सुबह जगाने और कपड़े लेने आईं, तो उन्होंने देखा कि सब कपड़े सूख गए हैं … पर ब्रा गीली है. तू अपनी पत्नी दांव पर लगा दे, जीत गया, तो कर्जा चुका देना और यदि हार गया तो तेरी पत्नी कुछ समय के लिए ही तो हमारे साथ रहेगी.

मैंने जैसे ही उसकी चुत पर अपनी जीभ को रखा और उसकी क्लिट को कुरेदा, तो वो एकदम से चिहुंक उठी. भाभी भी अब आखें बंद करके ऐसे बैठी थीं, जैसे खुद को कुछ समझा रही हों. मेरे दूध पहले से ही बड़े थे लेकिन शादी के बाद अब मेरे बूब्स का साइज 34, कमर 32 और गांड भी 34 की हो गयी है। मेरी चूचियां ठोस, गोल और नुकीली हैं जिन्हें देख कर किसी भी लड़के का उन्हें भींचने और चूसने को मन मचल जाए।मैं आज आपको जो अपनी थ्रीसम सेक्स की कहानी बताने जा रही हूँ.

भाभी सेक्सी अंदाज में बोलीं- हम्म … कुछ भी का मतलब!मैंने अपना एक हाथ भाभी की गर्दन पर रख दिया और उन्हें अपनी ओर खींच कर उनके गुलाबी होंठों को चूमने लगा.

बीएफ दे बीएफ वीडियो बीएफ: थोड़ी ही देर में हम दोनों सहेलियां एक दूसरे से लिपट कर नंगी ही सो गईं. लंड अन्दर घुसा तो अम्मी को चैन मिल गया मगर धीरज की दर्द से आह निकल गई.

मेरे कमरे की खिड़की बरामदे में खुलती थी, जिससे पूरा बरामदा साफ़ दिखता था. उसको चूत फटने की खबर न लगे इसलिए मैं उसके होंठों को फिर से चूसने लगा और उसके बदन को सहलाने लगा. अम्मी की बिल्कुल चिकनी चूत देख कर अब्बू बुरी तरह से बौखला गए और अपना अंडरवियर उतार कर अम्मी का पेटीकोट का नाड़ा खोल कर खींचते हुए उतार दिया.

अब मैंने अपनी उंगली को धीरे-धीरे उसकी चूत में अंदर बाहर करना शुरू कर दिया और साथ ही उसकी दोनों चूचियों को बारी बारी से दबाने लगा.

तभी विक्रम ने मुझे बुलाया और कहा- चल लोंग ड्राइव पर चलते हैं।मैंने ओके कहा।फिर हम वहाँ से निकल गये। विक्रम ने अपनी मर्सडीज़ एसयूवी निकाली. मगर फिर भी रसीली चूतों का मैं बहुत बड़ा भोगी हूं और मुझे ऐसी चूतें बहुत पसंद हैं. माल गिराने के बाद अब धीरे धीरे मेरा लन्ड ढीला होने लगा। अब मैं निढाल होकर थोड़ी देर तक मामी जी के ऊपर ही पड़ा रहा। उनकी चूत मेरे लन्ड के रस से पूरी भर चुकी थी।थोड़ी देर बाद फिर से मेरा लन्ड सीमा मामी की चूत में जाने के लिए बेकरार होने लगा। अब मैंने फिर से उनकी चूत पर निशाना साधा लेकिन वो मना करने लगी और कहने लगी कि अब बहुत देर हो गयी है.