सेक्सी पिक्चर वीडियो एचडी बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ सुपरहिट

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीएफ एचडी साउथ: सेक्सी पिक्चर वीडियो एचडी बीएफ, मैंने नीचे बैठ कर उसके लंड को चूसने के लिए मुंह खोला तो उसके लंड अजीब सी गंध आ रही थी.

बीएफ ब्लू देहाती

फोन उठाने पर उसने पूछा कि अगर आप घर पर ही हो तो आ जाओ, साथ में बैठ कर चाय पीते हैं. एक्स एक्स एक्स बीएफ इंग्लिश वालीबंध्या तेरे बदन की खुशबू, तेरी चूत और गांड का रस कितना मस्त है, तेरे यह मस्त दूध बहुत कड़क हैं.

कोमल ने तो झट से बात मान ली और कहा कि पैसों का खेल तो जुआरी करते हैं, हमें तो मस्ती करनी है, इसलिए शर्त ही लगाकर खेलते हैं. बीएफ पिक्चर लगाओवो बोली- अरे राजा … धीरे चोदो यशिमा की चुत अभी नाजुक है, इसे तेरे लौड़े की आदत नहीं है, पहले इसे जगह बना लेने दे.

उसने तो पीले रंग का टॉप लिया, वो चाह तो रही थी थोड़ा लम्बा मतलब पूरे पेट को ढकने वाला … पर शबनम जिससे उसकी ज्यादा ही पटती थी, ने उसे छोटा ही टॉप दिलवाया.सेक्सी पिक्चर वीडियो एचडी बीएफ: उसे घर छोड़ने से पहले एक मेडिकल शॉप पर लेकर गया और एक पेन किलर दे दिया ताकि उसका दर्द थोड़ा कम हो जाए.

मैंने उसकी चुत को चाट कर साफ़ कर दिया और इसके बाद भी चुत को चूसता रहा, जिससे चुत फिर से गर्म हो गई.ज्योति ने बड़े प्यार से महेश के लंड और बॉल्स को चाट चाट कर साफ किया.

बीएफ पिक्चर फुल एचडी वीडियो बीएफ - सेक्सी पिक्चर वीडियो एचडी बीएफ

मैं समझ गया कि ये पीती तो है, पर आज घर जाने की वजह से मना कर रही थी.उसे इतना मजा आ रहा था कि उसकी चूत से पानी बहना शुरू हो गया था मगर वह सिर्फ अपने पिता को दिखाने के लिए मना कर रही थी जबकि उसको अपने पिता के लंड को हाथ में लेने के बाद मजा आ रहा था.

ऐसे बोलते हुए उसने मेरी गर्दन को पकड़ कर पूरी ताकत लगा कर जड़ तक अपना लंड मेरी चूत में उतार दिया. सेक्सी पिक्चर वीडियो एचडी बीएफ आधे घंटे की चुदाई में वो दो बार झड़ी और फिर उसके बाद मैं भी झड़ गया.

शायद अब दीदी को भी मज़ा आने लगा था, वो भी आंखें बंद करके मजा लेने लगी थी.

सेक्सी पिक्चर वीडियो एचडी बीएफ?

मैंने भी कहा- ऐसी क्या खास बात है मुझमें?सिद्धू ने कहा- तू चीज़ बड़ी है मस्त मस्त!और हम दोनों हंसने लगे. उसने अब गुलाबी रंग टाइट निक्कर और सन्तरी रंग की स्पोर्ट्स ब्रा पहनी हुई थी और वोडका की चुस्की ले रही थी. इस बच्चे की चाहत के चलते हम दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार भी करने लगे थे.

हमने कई मस्त मस्त लड़कियों को चोदा है पर आज तक कोई भी लड़की दस मिनट से ज्यादा नहीं टिक सकी. इसलिए मैंने फिर उसे मैसेज नहीं किया और अपनी किताबें लेकर पढ़ने बैठ गया. बाद में हमने फैसला किया कि हम दोनों शादी कर लेंगे, लेकिन पहले प्रतीक को सब कुछ बता देते हैं.

मैंने एक उंगली से चूत के दाने को हल्का सा छेड़ा और उसी उंगली को अंगूठे की सहायता से दाने को पकड़ लिया. उनके बारे में नहीं लिख सकती क्योंकि वो बहुत ही शॉर्ट में मजबूरी में हुआ सब, दिल से नहीं था मजबूरी में हुआ।आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी ईमेल करके बताना। शुक्रिया![emailprotected]. ”उसे कैसे पता कि तुम्हें कोई कमजोरी है?”वो उन्होंने मेरा खून ओल पेशाब टेस्ट करवाया था.

मगर उस बेवकूफ औरत को यह पता नहीं था कि ऐसे उत्तेजना भरे माहौल में तो मर्द खुद ही नंगा होने के लिए बेचैन हो उठता है. मेरी मां ने साफ मना कर दिया कि उस घर में मेरी शादी नहीं हो सकती है.

सोफा थोड़ा साइड में था। इसीलिए महेश को वहां पर बैठने में कोई झिझक नहीं हुई.

मगर अपनी किस्मत और व्यवहार के कारण कुछ लड़कियों के साथ सेक्स करने में कामयाब हो चुका था.

‘आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… चोद दो मुझे प्लीज़ … मुझे चोदो और मत तड़पाओ. पर जल्दी ही पीछे की ओर झुक कर खड़े होने की वजह से पीठ में अकड़न सी महसूस होने लगी. मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं। बहुत ही रोचक कहानियां यहाँ पढ़ने को मिलती हैं.

हालाँकि पार्टी में अपनी वाली को चिपटा लेना या खुलेआम किस लेना इनके लिए आम बात है. दोस्तो, आपने मेरी दो कहानियाँमेरी बीवी की उलटन पलटनदिल मिले और गांड चूत सब चुदीपढ़ी. मेरी चीख बाहर निकलने से पहले वो मुझे चूमने लगीं और हर जगह मुझे काटने लगीं.

अन्तर्वासना पर मैंने काफी सारी कहानियां पढ़ी हैं, तो मैंने सोचा कि क्यों ना मैं भी अपनी ज़िन्दगी के एक बेहतरीन लम्हे को सेक्स कहानी के जरिए आप तक पहुंचाऊं.

सभी नाचने में लगे थे, तभी कुछ लोगों ने ज्यादा खुश होते हुए शोर करना शुरू कर दिया और कुछ लोग फार्म हाउस के एक रूम की तरफ लपके. वो भी पीछे से आ गए और मेरी बहन की चुत में दूसरा लंड डालने की कोशिश करने लगे. अब दोनों की चुदास भड़क चुकी थी जो बिना मस्त चुदाई के शांत नहीं होनी थी.

अब तो मैं कभी-कभी उसे आंख भी मार देता था, तो वह मुस्कुरा कर जवाब देती थी. और आज जब छाया ने किंग के बारे में बताया तो मन मचल गया।मुझे माफ़ कर दे बेटा … मैं तुझे बताती भी तो क्या बताती! इस छाया ने ही मुझे पहले भी फँसाया था तेरे दोनों चाचा के साथ और आज मेरे अपने सगे बेटे के साथ क्या करवा दिया।मुझे छाया पर बहुत गुस्सा आ रहा था. मेरी पत्नी मेरे दोस्त का तना हुआ लंड अपने हाथ में लेकर उसकी बीवी को दिखाने लगी.

महेश ने लंड के सुपारे को ज्योति की चूत के कटाव पर थोड़ी देर रखा और फिर धीरे से उसकी चूत में दाखिल कर दिया.

ये देख संदीप वहां से उठ कर बाथरूम की तरफ भागा और मुझे भी लगा कि मुझे भी बाथरूम से हल्का होकर आना चाहिए. फिर वो थरथराते हुए रुक गई, मानो किसी गाड़ी का इंजन सरकता हुआ ठहर गया हो.

सेक्सी पिक्चर वीडियो एचडी बीएफ आशीष ने कहा- लेकिन तुम्हारे पिता तो मुंबई में काम करते हैं और तुम्हारा भाई भी घर पर नहीं रहता है. उसने पांच-सात मिनट तक मेरी गांड की चुदाई अपने 6 इंच के लौड़े से की.

सेक्सी पिक्चर वीडियो एचडी बीएफ फिर वो बोला कि मैं तुझे जैसा करने कहूंगा अगर तू वैसा ही करेगा तो मैं तुझसे कभी पैसे नहीं मांगूंगा. मैं अभी लंड पेलने की कोशिश ही कर रहा था कि तभी लंड अपना रास्ता ढूँढते हुए गुफा के अन्दर चला गया.

मैं बोली- जीजा, अगर आपने अपना वादा पूरा करते हुए मेरी शादी आशीष के साथ करवा दी तो जो आप कहोगे मैं वो सारी उम्र करने के लिए तैयार हूं.

सेक्सी वीडियो बीएफ डॉक्टर

तभी यशिमा बोली- क्या हुआ जनाब … कहां खो गए हैलो … आप भी नहा लो, फिर खाना खाते हैं. मैं बोली- क्या बात है, मैं तुम्हारे लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हूं. पर मामी ऐसे देर रात घर आना, नशे में आपको अनसेफ (असुरक्षित) नहीं लगता?”मामी कुछ देर तक सोचा, फिर वे बोलीं- मेरी कहां सुनती है बेटा, तुम्हीं उससे बात करना … हो सकता है, वो तुम्हारी सुन ले.

हमम्म्म … उफ्फ़ … करते हुए उसने अपनी चुत में ही लंड को फंसाए हुए ही अपनी रफ्तार को एकदम से धीमे कर दी. उसके बाद पापा ने मेरी चूत को अपने हाथ से टटोला और उसको अपने हाथ से सहलाने लगे. वो झट से राजी हो गया … क्योंकि जब वो अजमेर आता है, तो मैं भी उसे किसी लौंडिया को चोदने के लिए उसको अपना रूम दे देता हूं.

इस कहानी की शुरूआत मेरे स्कूल की जिंदगी से उस वक्त हुई थी, जब मैं उन्नीस साल का था और 12वीं क्लास में था.

मैंने भी ये सोच कर गोली खा ली कि किसी तरह तो इस चिंता से छुटकारा मिले. आधा लंड पेल कर मैं थोड़ी देर रुका रहा, वो दर्द से कराहते हुए चुप हो गया था. मेरी अभी भी आह्ह्ह् निकल जा रही थी मगर दर्द कम था।उनकी पकड़ भी कम हो चुकी थी और कमर की रफ़्तार तेज़!मुझे भी अब सुखद अहसास हो रहा था, मेरी आहें अब तेज़ हो रही थी.

ये एक 8 सीट वाली कार थी, जिसमें पीछे 4 लोगों के बैठने के लिए सीट होती है. मैं तो सुन ही चुका था कि भाभी बाथरूम में हैं, मुझे लगा एक मौका उपलब्ध है, क्यों ना बात को आगे बढ़ाया जाए. अमित- मैं कुछ करूँ अगर तुम बुरा न मानो तो?मैं स्खलन के अंतिम पड़ाव पर था तो न बोलने का सवाल ही नहीं था.

जैसा मैंने अभी तक सीखा था, उस हिसाब से दूध दबाना बेहद मस्ती देने वाला होता है. उसने इस बार गांड के छेद पर थूक टपकाया, जो कि लंड के लिए एक चिकनाई का काम कर गया.

ऐसा एक भी दिन नहीं जाता, जब वो मेरे मादक मम्मों को मसलता चूसता ना हो. ’मैं लगातार उनकी गर्दन के पास, उनके कानों की लौ को चाटे जा रहा था और हाथ से उनके चूचों को, कभी निप्पल को रगड़े जा रहा था. मेरी पत्नी का ऊपर वाला हिस्सा तो जैसे नग्न ही होने वाला था क्योंकि उसके चूचे भी इतने भारी थे कि गीली ब्रा तो उनको किसी हाल में संभाल नहीं पा रही थी.

मैंने भी उनका सर अपने दूध में दबा लिया। उनके दूध दबाने से काफी दर्द हो रहा था मगर आज मैं सभी दर्द को सहन कर लेना चाहती थीं।उन्होंने मेरे दोनों हाथ को ऊपर किये और मेरी बगलों को जीभ से चाटने लगे। मुझे काफी गुदगुदी हो रही थी और मैं मचलने लगी।उसके बाद उन्होंने मेरे चूचों पर हमला सा कर दिया और निप्पल के बगल में दांतों से काटने लगे और दूसरे को काफी जोर से मसलने लगे.

मेरी छोटी बुआ बड़ी वाली से कह रही थी- अगर मीना हमारे पप्पू को पटा ले तो मैं भी अपने भतीजे से अपनी चूत की चुदाई करवा लूं. पर मनोज ने अपना हाथ उसके टॉप के अंदर कर दिया और अब वो उसके निप्पल तक पहुँच गया था. और फिर अपनी स्कर्ट उतारी और चड्डी भी; आगे को झुक कर एक टेबल का सहारा लिया और अपनी फुद्दी उस लंड से लगाई.

वो उठ कर दरवाजा बंद करके वापस आ रहा था तो मुझे उसका खड़ा हुआ लंड दिखाई दे रहा था. भाभी ने राहुल को गले से लगा लिया और दोनों ही एक दूसरे के होंठों को जोर से चूसने लगे.

उनके चुचे इतने मस्त और सेक्सी थे कि उनकी मस्ती को शब्दों में बयान नहीं कर सकता. ऐसे ही करते-करते मेरे चाचा के लड़के यानि कि मेरे भाई को मेरे बारे में पता लग गया कि मैं किरायेदार लड़के को पसंद करती हूँ और उससे रात भर बातें करती रहती हूं. मुझे ऐसा करते हुए 20 मिनट ही हुई थे कि घर का दरवाजा बजा, पर मुझे सुनाई नहीं दिया.

बीएफ सेक्सी भाभी की चुदाई हिंदी में

इस समय दीदी व्हाईट रंग की पैंटी पहने हुए थी … लेकिन मुझे पैंटी के अन्दर की चीजें देखने की बेताबी हो रही थी … क्योंकि ऊपर से तो मैंने दीदी की गांड और चूचियों को कई बार देखा था.

विजय को यह भी बता दिया कि आपके गांव से मेरे घर के बगल में ही बारात आने वाली है. अब तू भी रात को घर खाना खा कर ही आने वाली है, तो मैंने सोचा मैं भी अपने सहेलियों के साथ बाहर खाने का प्लान बना लेती हूँ. मैंने जबरदस्ती उसे अपने से दूर किया और बोली- ये क्या बतमीजी है? आप होश में तो हैं?फिर वो बोला- नहीं … तुम्हें देखकर मदहोश हो गया था।मैं बोली- आप पागल तो नहीं हो गए हो?तो वो बोला- हाँ, मैं तुम्हें देखकर पागल हो गया हूं मधु!मैं एकदम से चौंक गयी कि ये मेरा नाम कैसे जानता है।फिर मैं बोली- आप मेरा नाम कैसे जानते हो?तब वो बोला- मुझे तो यह भी पता है कि तुम्हारे बी.

मैं कुछ मिनट लगातार मेम की चूत चाटी, तो मेम की चूत ने जूस छोड़ दिया. ” ज्योति की साँसें अपने पिता के लंड को देखते ही ज़ोर से चलने लगी और उसने अपनी नज़रों को वहां से हटाये बिना कहा।तुम कुछ मत करो, मगर एक बार इसे अपने हाथों में तो लेकर देखो. नई बीएफ सेक्सी वीडियोकुछ देर मेरी पुसी को सक करने के बाद वे मेरी चूचियों पर आ गए और उन्हें खूब मसल डाला।मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया था, वह बहुत बुरी तरह से गीली हो गई थी.

फिर आखिरकार वो घड़ी भी आ ही गई जब हम दोनों की बीवियों की अदला-बदली होकर हमें एक दूसरे की बीवी के बदन को छेड़ने और प्यार करने का मौका मिला. वैसे तो लंड को चूत में लेने में मुझे कोई परेशानी नहीं थी लेकिन यहां पर बात पति के लंड को चकमा देने की थी.

अगर वो किसी जानने वाले के साथ अपनी प्यास बुझा लेती है तो इसमें क्या गलत है. कुछ देर तक मैंने उसके ऊपर लेट कर उसकी चूत चुदाई की और फिर उसको झुका कर पीछे से उसकी चूत में लंड को पेलने लगा. मैंने कहा- ठीक है, तो फिर मैं भी वादा करती हूं कि जैसा तुम कहोगे मैं वैसा ही करूंगी.

अब आज की कहानी की बात करते हैं जो मर्दों के लौड़े की प्यासी एक सेक्सी भाभी की गर्म चूत की स्टोरी है. मुझे इस बात की खुशी भी होती है कि आप मेरे लेखों को पढ़कर अपनी प्रतिक्रियाएं मुझ तक पहुंचाते हैं. मैंने जैसे ही अपनी एक उंगली को उसकी बुर में डाला, तो उसकी तो जैसे चीख निकल गई.

फिर धीरे-धीरे वह भाभी से अलग हुआ तो राहुल का वीर्य भाभी की चूत से निकलकर उनकी जांघों पर बह निकला.

घूमने जाने से पहले मेरे मन में कुछ शरारत सूझी और मैंने दुकान से जाकर एक डेयरी मिल्क की बड़ी वाली चॉकलेट ले ली. फिर वन्दना ने मेरा वी शेप का अंडरवियर उतार कर मेरा लन्ड अपने पेग में डुबो दिया.

मेरा लंड वो लम्बी रेस का घोड़ा है, ये एक बार चूत या गांड में शुरू हो जाता है, तो रुकने का नाम ही नहीं लेता है. वो बिना देर किए पुनः रोहित के लंड पर चढ़ गई और आगे पीछे करके उसे चोदने लगी. खाना गर्म करने के बाद मैंने फिर से रसोई से झांक कर देखा, पर अभी भी जेठजी नहीं दिखे.

वो एकदम से हुए हमले से दर्द के मारे चिल्लाने लगीं, तो उनके ससुर ने अपना लंड उनके खुले हुए मुँह में डाल दिया. वो तेजी के साथ भाभी की चूत में जीभ चलाता ही रहा और भाभी की चूत से पानी निकलने लगा. मैं उसकी आवाज पहचान गई और बोली- मैं बस पढ़ रही थी … अब बस शॉपिंग करने मार्किट जा रही हूँ.

सेक्सी पिक्चर वीडियो एचडी बीएफ बाथरूम से बाहर निकल कर वापस जाते वक़्त वो रुकी और उसने कहा कि आप टीसी से बोलकर कोई सीट ले लो. रिया ने उसे 2-4 बार चूस कर बाहर निकाला और उससे फिर एक बार बड़ी हवस भरी नजरों से देखा.

मधु शर्मा के बीएफ सेक्सी वीडियो

इसलिए क्योंकि मेरी पिछली कहानीपति के दोस्त ने मातृत्व का सुख दियाको आप सबने बहुत ही प्रेम दिया. मैं रात को देर तक रुक कर अपना कार्य पूरा करता ताकि दिन में उसको समय दे सकूँ. उसने उस दिन वही ब्रा पहनी हुई थी जिसमें मैंने अपने लंड का माल निकाला था.

वहां की एक खास बात है कि जो थोड़ा बहुत संकोच किसी में कहीं छिपा रहता है तो वो भी वहां जाकर छू-मंतर हो जाता है. अभी तक की मेरी इस चुदाई की कहानी के पहले भागदो प्यासे मर्दों ने चूत गांड चोद दी-1में आपने जाना था कि बॉस मुझे सुबह से से चोदने लगे थे. के बीएफ एचडीमनु और मैं ये दिखाना चाह रहे थे कि हम उधर नहीं देख रहे हैं, पर हमारी नजर थी कि वहां से हट ही नहीं रही थी.

उसको भारी दर्द हुआ, वो दर्द के मारे कहने लगा- आह मर गया … मुझे नहीं मरवानी … लंड निकालो … आह जल्दी निकालो.

मगर फिर उन्होंने बताया कि किस तरह मेरे जीजा ने मेरे सारे कारनामे उन सेठों के सामने बता दिये थे. साथ साथ गालियां भी बके जा रही थी चुदास के नशे में चूर होकर- राजे माँ के लौड़े … कमीने भोसड़ी के अब चोद दे न राजा …कभी मेरा हाथ उठाकर अपने चूचे पर रखती- देख राजा कितना सख्त हो रहे हैं ये दोनों दुश्मन … क्या सोच रहा है कर इनका काम तमाम … साले तेरी माँ की चूत … देख बहनचोद तेरी चूत में कितना रस आ रहा है … देख राजे अब और तंग न कर … देख न तेरा लण्ड भी खड़ा है … बस अब घुसा दे यार!कहानी जारी रहेगी.

उसके बाद से भी जब भी उसका पति टूर पर जाता है या मेरी बीवी कभी मायके या कहीं और जाती है, तो हम दोनों अपना मिलन कर ही लेते हैं. ठीक है आंटी, लेकिन क्या मैं तब तक नहा लूं? मुझे लग रहा है इसकी मुझे बहुत जरूरत है. दीपा ने पूरे मन से मनोज का लंड चूसना शुरू किया और वो मनोज को जल्दी ही इस स्थिति में ले आई कि मनोज चीखने लगा- मेरा निकलने वाला है.

तब वो मुझे गेट से अपने रूम में खींचते हुए शायद ये बोलेंगी कि रात में जब सब सो जाएंगे, तो तुम हॉल में आ जाना.

केवल इस ख्याल ने कि अंकित उसकी टांगों के बीच में है, उसको वो चरमसुख दे दिया जो बहुत मेहनत के बाद भी मुश्किल से ही मिलता है. मैं उन्हें ताकता ही रह गया, क्योंकि वो इतनी ज्यादा हॉट लग रही थीं कि मस्त माल की सही परिभाषा दिख रही थीं. फिर उन्होंने कहा- ऐसे क्या देख रहा है, कॉलेज में कोई लड़की नहीं देखी क्या, जो इतने गौर से देख रहा है?मैंने भी बात में बात मिलाते हुए कह दिया- चाची लड़कियां तो बहुत सारी देखी हैं, पर आप जैसे हसीन नहीं देखी.

बीएफ एचडी बिहार केचाची भी थोड़ी सी साइड में होकर अपने चूचों को जोर जोर से रगड़ने लगी थीं. मैंने उसके होंठों को छूकर अपनी उंगलियां एक तरफ से दूसरी तरफ तक और फिर वापस उसी तरफ से आते उंगलियों को घुमाते हुए उसके होंठों को सहलाया.

बीएफ बता दो

इस पर कोमल ने कहा- अभी तो तुम केवल परमीत को ही लंड चुसाओ … ऐसे भी तुम्हारा लंड भी उसी के लिए अकड़ रहा है. थोड़ी देर ऐसे ही चोदने के बाद हम तीनों अपने बेड पर आ गए और मैं नीचे लेट गया. मुझसे हर समय तुम्हारे बारे में ही पूछते रहते हैं … और एक तुम हो कि उनके बारे में बिल्कुल भी नहीं सोचती हो.

उस समय तो मैंने उसका लंड पहली बार ही देखा था लेकिन आज तो मैं ये कह सकती हूँ कि मैंने इससे भी बड़े लंड लिए हैं. लेकिन मुझे उसकी चूत से चॉकलेट मिक्स चूतरस का इतना मस्त स्वाद आ रहा था कि मैं सब भूल ही गया था. पांच मिनट ये सब करने के बाद अचानक उसने अपने हाथों से मेरे बालों को पकड़ लिया.

तभी भाभी जी ने पीछे से आवाज दी और मुझसे पूछने लगी कि मैं किस रास्त से ऑफिस जाऊंगा तो मैंने उनको अपना रास्ता बता दिया. एक दो बात करने के बाद मेम ने उनसे पूछा- आप कब तक आने वाले हो?पति ने बोला- मुझे 2 दिन और लग जाएंगे. वो मुझे इतना अधिक उत्तेजित कर देता था कि मैं बिना अपनी चूत में उंगली किए सो नहीं पाती थी.

मुझे चूमते हुए उसने मेरा हाथ उठा कर अपने नर्म बोबों पर रख दिया और मेरे निचले होंठ को काट लिया. कुछ पल में ही मैं सामान्य होने लगी, पर ख्यालातों का जाल दिमाग में उलझा रहा.

घोर आश्चर्य … कि नीता ने अपने हिप्स उठा दिए और प्रिन्स को अपनी पैंटी उतारने में हेल्प कर दी.

पिंक रंग की ड्रेस पर मेंहदी का रंग उसकी खूबसूरती को अलग ही चमका रहा था. वीडियो वाला बीएफभाभी ने अपनी टांगें खोलीं और आंखों से ही अपनी चूत में लंड डालने का इशारा कर दिया. इंग्लिश बीएफ मद्रासीअबकी बार उसकी गांड के छेद में सुपारा एक इंच तक घुस गया लेकिन वो उछल पड़ी. तभी कोमल कह उठी- मैंने कहा था ना संजय … इस दवाई में बहुत दम है, देख लो हमेशा तुम्हारा पंद्रह बीस मिनट मों निकल जाता है और आज दवाई के असर से तुम्हारा लंड पैंतीस मिनट साथ दे गया.

मगर उनके सामने अब एक और समस्या थी कि दोनों के सामने ही गैर मर्द थे, वो भी अर्धनग्न अवस्था में, थोड़ी शर्म आनी तो जाहिर सी प्रतिक्रिया थी.

मैंने मेम को देखा और कहा- मेम, क्या मैं आज रात फिर से आपकी चूत को चोद सकता हूँ. परी मैम का साईज 36-30-38 का था … जो मुझे बाद में खुद उन्होंने ही बताया था. सभी नाचने में लगे थे, तभी कुछ लोगों ने ज्यादा खुश होते हुए शोर करना शुरू कर दिया और कुछ लोग फार्म हाउस के एक रूम की तरफ लपके.

उन्होंने लंड सहलाते हुए कहा- हां ये तो है … अब मैं इसे कहीं नहीं जाने दूंगी, अब तो जब भी टाइम लगेगा, मैं हर रोज चुदूँगी इससे. उसके बाद मैंने एक सुबह 4 बजे के करीब फोन किया तो उसने मेरा फोन उठा लिया. मैंने सोचा कि शायद इससे बात बनने वाली है तो मैं उसके पास जाकर बैठ गया.

बीएफ अंग्रेजी व्हिडिओ

फिर तेरे पैदा होने तक यह सिलसिला रोज़ का हो गया। अब मुझे भी अच्छा लगने लगा था। फिर तू पैदा हो गया और तेरे दादा जी के खत्म होने से सब अलग अलग रहने लगे। मैं भी सब कुछ भूल कर सिर्फ तुझमें खो गयी।कभी साल दो साल में तेरे चाचा आते हैं और अगर तू नहीं होता या कोई नहीं होता तो कभी कर लेती थी. अब डॉक्टर ने कुछ सोचा और बोली कि हम तीनों ही साथ मिल कर पीयेंगे और खायेंगे. ये बोल कर मैं कपड़ों के ऊपर से ही उनकी गांड में धक्के मारने लगा और झुक कर उनके चुचे भी दबाने लगा.

मैं अन्तर्वासना की सेक्स स्टोरी काफी लम्बे समय से पढ़ रहा हूं लेकिन पहली बार लिखने का प्रयास भी किया है जो मेरे ही जीवन की आपबीती है.

वो बोली- बहुत हरामी लौड़ा है तुम्हारा, मेरे मुंह में ही निकलने दो इसके माल को.

मैं तड़पते हुए इतनी गर्म हो गई कि मेरे हाथ बेड की चादर को कचोटने लगे. पर अब वो मूसल सा लंड उसके हाथ में था और उसने उसका सुपारा चाटना शुरू किया. हिंदी फिल्म बीएफ वीडियो मेंमैं बॉस के कान में धीरे से बोली- आज तो आपका विनय मेरी गांड मारकर ही मानेगा.

कहानी का पिछला भाग:टीचर से चुदाई की तमन्ना-1सुबह मैं जागी तो मुझे याद आया कि मेरा फोन स्विच ऑफ है, मैंने अपना फ़ोन ऑन किया. पूजा के बाल खींचते हुए मैं उसकी गांड पर थप्पड़ मारते हुए मैं उसे चोद रहा था मानो घोड़ी की लगाम पकड़ उसे डंडी से मारते हुए दौड़ने को कहा जा रहा हो और घोड़ी हिनहिनाते हुए दौड़ रही हो. लेकिन जो था, यही था और बहुत चाहते हुए भी वो खुद की कोई मदद नहीं कर सकती थी.

एक दो बार दीदी ने इसी तरह उनका विरोध किया, उसके बाद दीदी ने उनका विरोध करना बंद कर दिया. फिर उसने अपने कपड़े निकाल दिये और अपने लंड को मेरी चूत पर रगड़ने लगा.

यहाँ पर ज्यादातर पुरुष जो उसके संपर्क में आते थे, उससे उम्र में काफी छोटे थे.

ऐसा कहते हुए जीजा ने जोर मेरी टांगें ऊपर करके मेरी गांड को ऊपर कर दिया और मेरी चूत को नीचे से चाटने लगे. अन्तर्वासना के सभी पाठकों, खासकर हॉट भाभी की चूत को मेरा प्यार और लंडवत प्रणाम. मेरा ऐसा करना, उसके लिए टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ, जब उसने पूरी तरह अपना कंट्रोल खो दिया और मेरी उंगलियों को अपने मुँह के अन्दर भर लिया.

मां बेटी का सेक्सी बीएफ माही की दोस्त कौन थी और उसके साथ में मैंने क्या कुछ किया, वो सब मैं आपको अपनी आने वाली कहानियों में बताऊंगा. ”हाँ वो कहती तो जलूल हैं पल क्या यह सब संभव हो पायेगा?”गौरी तुम अगर चाहो तो यह सब हो सकता है?”तैसे?”देखो तुम्हारे यहाँ रहने से ना तो मधुर को कोई ऐतराज़ नहीं है और ना ही मुझे। तुम तो जानती हो ट्रेनिंग के बाद मेरा ट्रान्सफर दूसरी जगह होने वाला है। हम तीनो ही यहाँ से किसी दूसरी जगह चले जायेंगे वहाँ हमें ज्यादा जानने वाले लोग नहीं होंगे और फिर आराम से सारी जिन्दगी हंसते खेलते हुए बिता देंगे.

जब मुझे लगा कि अब चाची मेरा लंड लेने के लिए तैयार हैं, तब मैंने अपने लंड का सुपारा उनकी गांड पर रखा और धीरे धीरे अन्दर धकेलने लगा. मैं- तो फिर किस क्या होता है?उसने धक्का देकर मुझे सोफे पर गिरा दिया और मेरे ऊपर आ गई. पाठकों से मेरा अनुरोध है कि अपना कीमती वक्त देकर मुझे मैसेज करें और इस कहानी के बारे में अपना फीडबैक दें ताकि मैं आगे आने वाले समय में आप लोगों के लिए ऐसी ही कामुक स्टोरी लिख सकूं.

रवीना बीएफ

कुछ ही देर बाद पूजा बिस्तर पर ही गिर पड़ी, उससे झटके और मज़ा दोनों एक साथ बरदाश्त नहीं हुआ!उसके गिरते ही मैं उसके ऊपर ही लेट कर उसे चोदने लगा. सर से चुदने के बाद एक अरसा हो गया था, मेरी चूत को लंड नसीब नहीं हुआ था. हालांकि मुझे इस वक्त बहुत डर लग रहा, फिर भी मैं साहस करता हुआ आगे बढ़ गया.

मेरे हाथ ऊपर करने पर मेरे सीने से लगी ब्रा भी गिर गयी और मैं पूरी तरह नंगी हो गयी. मेरे शौहर पहले से ही कम बात करते थे, अब तो उन्होंने मुझे हाथ लगाना भी बंद कर दिया था.

तभी मेरे ‘खजाने’ से उनके ‘खजाने’ पे एक और टक्कर हुई’ फिर वही … दोनों ने झटका खाया।मामी अचम्भे से मुझे देखने लगी.

फिर अमन बोला- यार एक काम कर … वीडियो फिर से लगा दे … जैसे वो लोग करते जाएंगे, वैसे ही हम भी करेंगे. वो दोनों टांगें फैला कर बैठ गये और मैंने बारी बारी से उनके लंड को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. शुरुवात होंठ से होंठ मिले, फिर उसने मोबाइल निकालकर मेरे साथ फोटो लिए,मैंने कहा- सिद्धू, ये फोटो किस लिए?सिद्धू ने कहा- तुम जब ससुराल चली जाओगी तो ये फोटो देखकर मैं तुम्हें याद करूंगा।फिर हम एक पेड़ के पीछे गए और चुम्मा चाटी शुरू कर दी, वो मेरे होटों को चूमते हुये बुर्के के ऊपर से मेरी गांड दबाने लगा.

मैंने अमन से पूछा- हम जा कहाँ रहे हैं?तो उसने बताया- हम मेरठ जा रहे हैं. इस कहानी के कई भाग होंगे जो आपकी मेल से मिलने वाले प्रोत्साहन से मैं और भी रसीले अन्दाज में पेश करने की कोशिश करूंगी. मेरी जीभ उसकी चूत में जाने लगी तो उसके मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं.

आशीष ने बताया कि जिस त्रिपाठी परिवार में शिल्पा दीदी बहू बनकर जा रही थी उनका आशीष के घर में भी निमंत्रण और आना जाना था.

सेक्सी पिक्चर वीडियो एचडी बीएफ: फिर मैं ऊपर होकर उनकी चूचियों को सहलाने लगा और उनकी चूचियों को चूसने लगा … निप्पलों को बारी बारी से चाटने लगा. हिसाब करने के बाद सीनियर लीडर ने कहा कि हमारे पास कुछ पैसे बचे हैं, इनका हम जैसे चाहे उपयोग कर सकते हैं.

कॉलेज में वो साला मुझे बहुत लाइन मारता था, लेकिन मैं उस पर कभी ध्यान नहीं देती थी. यहां मेरा एक सोच है कि जो भी लड़की सुंदर होती है, वो ज़्यादातर पढ़ाई में कमजोर होती है … ये अधिकतर की बात है, अपवाद सभी जगह होते हैं. तभी मैंने देखा कि विनय ने भी अपना लंड बाहर निकाल लिया था और वो लंड हिला रहा था.

तभी मैंने गौर किया कि साकेत भैया का लंड इतना मोटा था कि पूरी तरह से दीदी की मुट्ठी में नहीं आ रहा था.

मैं बैग से तेल की बोतल निकाल कर उनके पास गया और उनकी मसाज शुरू कर दी. मैं उनको ऐसे देखते हुए देख कर उसी समय उनका नाम ले कर जोर जोर से मुट्ठी मारने लगा. वैसे तो लंड को चूत में लेने में मुझे कोई परेशानी नहीं थी लेकिन यहां पर बात पति के लंड को चकमा देने की थी.