जींस पेंट वाली सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,पंजाबी देसी भाभी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी छोटी बच्ची: जींस पेंट वाली सेक्सी बीएफ, सोनू ने धीरे-धीरे अपने होंठों को लंड के ऊपर रखा और उसके ऊपर होंठ रगड़ने लगी.

दर्द वाला सेक्स

मैंने हैल्लो किया और पूछा- कौन?वहाँ से आवाज़ आई- सोचो कौन!मैंने कहा- मुझे नहीं पता आप कौन हैं. चुदाई की वीडियो बीएफमैंने उनको सीधा किया और मैं बेड के नीचे खड़ा हो गया और भाभी को घसीटकर बेड के किनारे पर ले आया.

मुझे जब उन दोनों के अफेयर की बात पता लगी तो मुझे बहुत बड़ा सदमा लगा. जंगली आदिवासी बीएफउसने आगे बताया कि उसकी शादी 19 साल में ही हो गयी थी और एक साल के बाद पहली लड़की हुई, फिर डेढ़ साल के बाद दूसरी लड़की हुई.

फिर उन्होंने मुझे चूत चाटने को कहा, लेकिन मैंने मना कर दिया और कम्बल के अन्दर घुस के उनको किस करने लगा और मम्मों को मसलने लगा.जींस पेंट वाली सेक्सी बीएफ: उसने बोला- प्लीज बता दो!मैं चुप रही तो उसने आगे कहा- मैं सागर से पॉलिटेक्निक कर रहा हूं.

मेरी चुत के अन्दर उसकी जीभ की अन्दर बाहर होने की स्पीड अचानक बढ़ने लगी और मैं तेज धार से झड़ने लगी.उसने मेरी लुंगी को ऊपर किया और अपने लिंग को मेरे नितम्बों पर रगड़ने लगा.

बीएफ देखना चाहते हैं वीडियो में - जींस पेंट वाली सेक्सी बीएफ

मैं भी गांड उछाल कर उसका साथ देने लगी, उसे कसके पकड़ लिया, उसकी पीठ और उसके कूल्हों पे अपने नाख़ून से खरोंचती हुई चुदती रही.मैंने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए और उसके सामने बिल्कुल नंगा हो गया.

शादी से पहले मैंने किसी लड़के से रिश्ते नहीं बनाये क्योंकि मैं अपनी जवानी बस अपने पति को देना चाहती थी, पर मेरी किस्मत खराब निकली. जींस पेंट वाली सेक्सी बीएफ मैं अपने उसी साइट पर फिर से व्यस्त हो गयी और फिर इसी बीच मेरी गुजरात की सहेली, जिसका वर्णन मैंने अपनी पिछली कहानी में किया था, उससे दोबारा बात शुरू हो गयी.

फिर तुंरत ही अपने चूतड़ों और घुटनों को ऊपर नीचे करके लंड को अपनी चूत पर टक्कर दिलवाने लगी.

जींस पेंट वाली सेक्सी बीएफ?

उसने कहा- अब बताओ कैसे लगते हैं तुम्हें?मैंने कहा- ये तो कमाल के हैं … क्या मैं इनको छूकर देख सकता हूं?वह बोली- यह भी कोई पूछने की बात है. वह मुझे देखकर थोड़ी सी मुस्कुराई फिर उसने मेरे लिंग को अपने मुँह में ले लिया और मुझे मुख मैथुन का सुख देने लगी. सोनल मेरे सीने पर बैठ गई, वह भी अपना चेहरा मेरे पैरों की तरफ करके … यह 69 की पोजीशन थी, जो कि मुझे सोनल ने ही बाद में बताया था.

भाभी हंसने लगी, कहने लगी- अभी तो वह बिल्कुल छोटी लड़की है, तुम्हारा इतना बड़ा लंड कैसे लेगी?मैंने कहा- वह पूरी जवान हो चुकी है, उसके मम्मे बड़े-बड़े हैं और कई बार मैंने उसकी स्कर्ट में से उसके पट भी देखे हैं, अपने आप ले लेगी. इंदु भी मुझसे लिपट गयी जैसे किसी भूखे को रोटी मिल जाती हो।मैंने अंदर के रूम की भी कुंडी बंद की और उनके बेड पर चला गया, बोला- इंदु जी, आपके लिए ये गिफ्ट!उस गिफ्ट में एक बहुत सुन्दर साड़ी, एक पतली सी डोरी वाली सेक्सि पैंटी औए पार्दर्सि नाईटी थी. मैंने जोर से गर्म गर्म सांसें उसके बूब्स पर मारीं, इससे हवस बढ़ती है और यही हुआ.

ये सुनकर उनके मुँह से बेसाख्ता निकल पड़ा- ओह्ह माय गॉड … ये तो चुत का भुर्ता बना देगा?’उनके चेहरे पर थोड़ी परेशानी सी दिखी, तो मैंने कहा- क्या हुआ, ये तो अपनी जगह खुद बना लेता है और मज़ा भी बहुत देता है … और फिर इतना बड़ा साइज़ कहां किसी के नसीब में होता है. करीब दस मिनट की चुदाई के बाद मेरा फिर से छूट गया और भाभी भी तब तक झड़ चुकी थी. फिर धीरे-धीरे मेरे सिर को पकड़ कर अपनी जांघों के बीच ऐसे खींचा कि मेरे होंठ उनकी बुर से जा लगे.

2 मिनट बाद तो मैंने खुद ही गांड को हिलाकर एडजस्ट करते हुए उसके लंड को पूरा अंदर ले लिया. वो पल भुलाये नहीं भूलते!मेरी यह कहानी और रितिका का अपनी छुट्टी बिताने का मस्ती भरा अंदाज कैसे लगा, मुझे जरूर बताएं.

क्या ग़जब की चूत थी … ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने पाँव रोटी में चाकू से दो इंच का चीरा लगा रखा था.

थोड़ी देर बाद रूपा आई और टेबल पर पड़ी प्लेट को उठा कर किचन में ले गयी.

जब शाम होने वाली थी और मुझे भी वापस घर आना था, तो मैंने उसे घर के लिए बस में बैठाया और खुद भी घर के लिए निकल गया. नहाने के बाद कॉल की, तो पता चला कि घर में कुछ जरूरी काम आ गया था, जिसके कारण मुझे तुरन्त घर वापसी जाना था. शुरूआत में तो सब ठीक था, पर पता नहीं वो मेरी ओर और मैं उसकी और धीरे धीरे आकर्षित होने लगा.

तब जाकर मामा की चुदाई से मेरी जान छूटी।पर तब तक तो मेरी बुर का भोसड़ा बन चुका था।तो दोस्तो, यह थी सुहानी की कहानी। आपको मेरी लिखी कहानियां कैसी लगती हैं, अपने इस बुर के रसिया दोस्त को जरूर बताएं। आप मुझे जीमेल और फेसबुक पर इसी आईडी पर जवाब दे सकते हैं। आपके जवाब और अमूल्य सुझाव के इंतजार में आपका अपना राज शर्मा।[emailprotected]. मैंने उससे पूछा- ये मैक्सी किसकी है, जो तुमने पहनी हुई है?वो बोली- मेरी भाबी की है. उसने कहा- मैं अभी चेंज करके आती हूँ।जब वह चेंज करके आई तो उसने हल्के पिंक कलर की नाइटी पहन रखी थी जिसमें से उसके अंडरगार्मेंट्स साफ-साफ दिखाई दे रहे थे.

यहां तेरे और मेरे बीच में जो भी होगा वो न तो कभी किसी को बताएगी न मैं.

यह कहकर मैंने भी फटाफट अपने कपड़े उतारे और नंगा होकर उसकी टांगों के बीच में आ गया और अपने खड़े लंड को उसकी चूत से रगड़ने लगा. पीछे से उसके बालों को मैंने इस कदर खींच रखा था, जैसे घोड़े की लगाम पकड़ी हुई हो. मगर मैंने आरती से साफ़ साफ़ कहा हुआ था कि बस वही लंड मेरी चूत में जाएगा जो तुम्हें मेरे सामने चोदेगा.

उसके हाँ करते ही मैं और मेरा दोस्त आर्यन दोनों ही जाने के लिए तैयार होने लगे. उसकी आंखें मस्ती में बंद होती जा रही थीं, इसका गवाह था, बेड के दूसरी तरफ लगा ड्रेसिंग टेबल का शीशा. मामा जी ने मुझे बताया कि हमारे बगल में एक परिवार रहता था, अब वह जालंधर चले गए हैं, उनकी बेटी की शादी है.

… सॉरी नीतू, गलती से वहां पर चला गया, तुम उठ जाओ अब, आज का कोर्स पूरा हो गया.

वो मजे से अपनी गांड उठा कर मुझसे अपनी गरम चूत चुसवा रही थी और उधर मेरे लंड को अपने गले तक लेकर कुल्फी जैसा निचोड़ रही थी. फिर जीजू ने मेरी टांगें मजबूती से फैलाकर थामी और दीदी ने मुझे कन्धों से दबा लिया.

जींस पेंट वाली सेक्सी बीएफ भाभी ने मेरे हाथ पर पूरे जोर से नाखून चुभा दिए, साथ ही कुछ ही देर में भाभी ने भी पानी छोड़ दिया. मैं- ये बता मजा आया कि नहीं?वो- मजा तो बहुत आया, पर अब जलन हो रही है, शायद मेरी चूत छिल गयी है.

जींस पेंट वाली सेक्सी बीएफ वो भी अपनी गांड उठा कर मेरा लंड एक बार में ही पूरा अन्दर लेने के लिए मचल रही थी. ज्यादा ज़िद करने पर मामाजी और नानाजी से बोल देने की धमकी देते हुए उन्होंने बात को टाल दिया.

बुड्डे रमेश से रूपा के भरे हुए बदन को ठीक से संतुष्ट करना नहीं हो पाया, तो रूपा ने अपने आस पड़ोस के मजदूरों के साथ संबंध बना लिए थे.

नंगी वाली पिक्चर

काफी देर ये गहन चुम्बन लेने के उपरान्त मैडम ने जीभ बाहर निकाल ली और फुसफुसाकर बोलीं- राजे तेरी मर्दानगी बहुत ज़ोर मार रही है … जवानी का भरपूर जोश है ना … देखूं तेरे लंड कैसा है. उषा ने जान-बूझकर अपने पैर हवा में उठा लिये थे जिससे लंड अंडरवियर सहित सीधे चूत के ऊपर जाकर लग जाये और उसकी चूत की तपिश को महसूस कर सके. नीतू, किस के बहुत प्रकार है और मुझे सब ट्राय कर के देखने है, यह काम एक दिन में खत्म नहीं होने वाला.

फिर उसने मुझसे कहा कि आज उनके पति नहीं हैं और उनके पास भी 2000 के खुले नहीं हैं. तुमको पूरा डालना पसन्द है और बाबू मैं भी आपको पूरी तरह महसूस करना चाहती हूँ. उसके लंड में अभी वह पहले जैसा तनाव नहीं था जबकि विनय जीजू का लंड अपने पूरे उफान पर था.

फिर विजय बोला- उनके पास जाकर चुदने की क्या पड़ी थी तेरे को … मैं जब से तेरे को चोदना चाहता था और इधर ये बात भी सोच कि घर की बात घर में रहेगी, मैं तुझे हर वक़्त चोद सकता हूँ.

मैं धीरे धीरे समझने लगी थी कि उसके मन में क्या है और इसलिए अब चाहती थी कि किसी तरह प्रीति के साथ इसके संबंध अच्छे हो जाएं. इसी बात का फ़ायदा उठा कर उसने मीना के मन में जगह बनाने की कोशिश शुरू कर दी. अंकित तो घर में था नहीं और भाभी शायद सोच रही थी मैं अब वापस चला जाऊंगा.

मैंने उसके सिर पर हाथ फिराया और कहा- हो गया है, अब सारी उम्र तुम्हें इस काम में केवल मजा ही मजा आएगा. मसाज एक तरह से बोला जाए, तो सेक्स से पहले मसाज फोरप्ले का काम करता है. मैंने तो कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि अनुष्का वर्मा की चूत को देख पाऊंगा.

मैंने सोनू की टांगें पूरी चौड़ी कर दी और पहले सोनू की चूत में अपने बीच वाली बड़ी उंगली डाली. आपा भी दर्द के मारे चिल्लाने लगी … जो इर्द गिर्द गूँज उठी थी- आहहह आय मर गई … उउउइइ ओहह … बहुत दर्द हो रहा है … प्लीज इसे बाहर निकाल लो … मुझे नहीं चुदवाना तुमसे … तुम बहुत जालिम हो … यह क्या लोहे की गर्म रॉड घुसा डाली है तुमने मुझमें … निकालो इसे … नो प्लीज बहुत दर्द हो रहा है … मैं दर्द से मर जाऊंगी प्लीज निकालो इसे!सारा आपा की आँखों से आंसू की धारा बह निकली.

मेरे दोस्त का नाम राकेश था, जिस लड़की को मैंने चुना, उसका नाम फूलमती था. ऐसा करने से उसकी चूत बाहर को आ गई तो मैंने भी वक्त बर्बाद न करते हुए लंड को चूत पर घुमाना चालू कर दिया. अब मुझसे रहा नहीं गया मैंने अपने दोनों हाथों से आशीष का लौड़ा पकड़ लिया और ऊपर नीचे करने लगी.

उसने बोला- बंध्या, तेरी गांड तो आइटम बम है … क्या गजब की गांड है … तेरे कूल्हे मस्त हैं.

बना दूं?” सर ने इस बार एक-एक शब्द को जैसे चबा कर कहा।जी …”मुझे उनको तलाशी देने में कोई दिक्कत नहीं थी. अब मुझे लग रहा था कि इसको तो लंड मिल जाएंगे, लेकिन सालों ने मेरी गांड मार दी या मेरे साथ गलत किया तो मेरा क्या होगा. कुछ देर बैठने के बाद हम दोनों अपने घर पे आने लगे, तो उसने धीरे से मेरे हाथ में एक कागज की एक चिट्ठी पकड़ा दी.

मैंने उसे अन्दर करने के बाद सभी खिड़की दरवाजे बंद किए और पर्दे लगा लिए. कुछ ही देर में सारा ने मेरा लंड अपनी चूत में डाल लिया और हम लिप किस करते हुए चुदाई करने लगे.

गांड के चक्कर में मेरी झुमरी तलैया, मेरी मुन्नी, मेरी भोसड़ी प्यासी ही रह जाती है। मादर चोद भड़वे … पहले इस सुलगती भट्टी में अपना लौड़ा डाल कर इसे शांत कर दे फिर चाहे गांड मार या गांड चाट। चल पहले मैं मूत कर आती हूँ. दस मिनट की मम्मों और होंठों की चुसाई के बाद उन्होंने मुझे बेड पर धक्का दे दिया. उसने दोनों टांगें मेरी अपने कंधे में रखी और अपना मुँह मेरी चुत में फंसा कर इतना जोर से चाटने लगा, जैसे खा ही जाएगा.

पंजाबी लड़कियों की ब्लू फिल्म

वो मुझे लगातार प्रेरित कर रहा था, साथ ही मेरे चूतड़ों को चूम और सहला भी रहा था.

फिर एक ही झटके में भैया ने भाभी की चड्डी निकाल फेंकी और भाभी की चुत पर भी रंग मल दिया. मैंने धीरे-धीरे भाभी के मुंह की तरफ गांड को धकेलते हुए उसके मुंह की चुदाई करनी शुरू कर दी. मैं सोचने लगा कि क्या यह वही लेडी है जो मुझे वहां बाहर पसीने से भीगी हुई मिली थी.

और अगर तुम्हारी सैलरी बढ़ती भी है, तो बस 10% बढ़ेगी क्योंकि यह कंपनी का रूल है. खैर … उसकी बड़ी गांड देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया और उसके अड्वेंचर में मेरा वेंचर तन कर उसको चोदने के लिए मचलने लगा. एचडी बीएफ सेक्सी चोदा चोदीइसके अलावा वह खेतों में मेहनत करते तो इनके जिस्म और कपड़ों से मस्त महक आने लगती थी.

मैं- मैडम यहां ऑफिस से घर जाने के बाद पार्ट टाइम काम करने की हिम्मत बिल्कुल भी नहीं हो पाएगी. मैंने फिर से पहले एक, फिर दो उंगलियाँ उनकी चूत में घुसा दीं और उन्हें अंदर बाहर करने लगा.

जब इतना शानदार डिश सामने हो, तो भला वह सूखी रोटी क्यों खाए? यानि डीसेंट लंड के साथ वह डॉगी पोज आजमाने की मन ही मन तैयारी कर ली. मैं- क्या हुआ लंड नहीं देखा है क्या पहले कभी?वो- देखा तो है पर आपका लंड कुछ जाना पहचाना सा लग रहा है. मुझे उसके लिंग से मर्दानगी की महक आ रही थी, जो मुझे और अधिक कामुक कर रहा था.

मैंने उसकी चूत पर होंठ रख दिये तो मेरे लंड ने एक जोर का झटका दे दिया. उसने चूचे मेरे होंठों से लगाते हुए कहा- बताओ मेरी जान, क्या नया करने का प्लान है?मैंने उससे कहा- अबकी बार हम लोग अजनबियों से चुदाई करने का प्लान बनाते हैं. रात तो वो फिर मेरे कमरे में आया और मुझे उसने बॉलीवुड की लगभग सभी हिरोईनों ही नंगी पिक्चर्स दिखाई.

मैंने सोचा कि शादी की पहली रात के कारण उत्तेजना में यह सब इतनी जल्दी हो गया होगा.

फिर मैंने उसे बताया कि मैंने ये नाटक क्यों किया क्यों तुम्हारे भाई के डर से मैं हर कदम सोच समझ कर उठाना चाहता था. मैं धीरे धीरे समझने लगी थी कि उसके मन में क्या है और इसलिए अब चाहती थी कि किसी तरह प्रीति के साथ इसके संबंध अच्छे हो जाएं.

वो समझ गई कि मेरा काम तमाम होने वाला है, उसने कहा- पानी मेरे अन्दर ही निकालना. आशीष, मैं अभी पांच महीने से अन्तर्वासना की सेक्स स्टोरी सहित अन्य सेक्स की कहानियों की कम से कम बीस किताबें पढ़ चुकी हूं और ब्लू फिल्म की सीडी डीवीडी में सौ से ज्यादा फिल्म देख चुकी हूं. वह कहने लगी- ठीक है, मुझे आपका स्वभाव बड़ा पसंद आया और मैं भी यही चाहती थी कि कोई ऐसा लड़का यहां आए जो थोड़ी बहुत मेरी भी हेल्प कर दे.

मैंने लंड को मम्मों में फंसा दिया, भाभी ने भी मेरे लंड को अपने मम्मों में दबा लिया और लंड बाहर न निकल सके, ऐसा कर लिया. सुदीप ने मेरी टी-शर्ट मेरी चुचियों तक ऊपर करके मेरे मम्मों को अपने मुँह में ले लिया. तभी अचानक आहना का बच्चा रोने लगा, तो आहना ने कहा- लगता है, उसे भूख लग आयी.

जींस पेंट वाली सेक्सी बीएफ तो मैंने भी हिम्मत जुटाकर बोल दिया- वह कैसे?यार मेरे मंझले भैया की शादी होने वाली है, जिसमें मैं छुट्टी लेकर घर जाने वाला हूं. एक दो बार मेरा हाथ मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड के चूतड़ों पर भी टच हो गया.

एक्स सेक्सी फिल्में

हरक लाल की बीवी सूरती की बहन का बेटा यानि सूरती का भांजा चिन्टू अकसर गाजीपुरा में अपनी मौसी के घर आता-जाता रहता था. इस बात पर मैंने सोनम को गले से लगा लिया और उसे अपने दिल की बात बता दी. फिर आरज़ू ने अपना कुर्ता उतारा और अब वो सिर्फ एक सफेद कलर की पारदर्शी बनियान में थी और फिर कुछ देर बाद वो भी नीचे उतर गयी.

और जैसे ही वो धक्के लगाना शुरू करता तो पहले से ज्यादा मज़ा आने लगता था. यह कह कर चिन्टू मीना के और पास आ गया और मीना का हाथ पकड़ कर बोला- मौसी, अब तू चिंता ना कर, अब मैं तेरी मदद करता हूँ, सब-कुछ ठीक हो जायेगा. देसी सेक्सी वीडियो गांव वालीमैं बोली- आह बेटा वेरी गुड … आअहह चोद दे … मैं बहुत खुशनसीब हूं कि तेरे जैसा बेटा मुझे मिला.

बाद में मैंने भाभी की टांगें अपने कंधों पे रख लीं और लम्बे लम्बे शॉट मार कर भाभी को चोदने लगा.

मेरा बंगलोर के लिए दिल्ली से रिज़र्वेशन था, तो पापा मुझे दिल्ली स्टेशन तक छोड़ कर ट्रेन में बैठा कर वापस घर आ चले गए थे. मैंने कुछ ज्यादा सोचने से खुद को रोका और अन्य दिनों की भांति ही उससे अगले दिन मिली, बातें की और दूध लेकर चली आयी.

मैंने इससे पहले अपनी पहली चुदाई की कहानीसहेली के बॉयफ्रेंड ने की मेरी पहली चुदाईलिखी थी, जिसका लिंक मैं इस कहानी के साथ दे रही हूँ. मैंने फिर से उन्हें रोका तो उन्होंने मेरा हाथ पकड़ा और मेरा हाथ अपने बम्बू की तरह तन चुके लंड के उभार पर रख दिया. इस बार चूत की मलाई की चिकनाई की वजह से लंड आसानी से चुत में समाता चला गया.

हम दोनों अब हाथों में हाथ रखे पार्क में घूम रहे थे और प्यारी बातें कर रहे थे.

अमीषी ने पत्थर देखा तो वे नीचे भाग गई, मैं भी डरा कि अब बुला के लाएगी किसी को. उसने फिर मुझसे कहा- आप लगता है नई आयी हो यहां?मैंने कहा- हां अभी कुछ ही दिन हुए यहां आए. मैंने अपने पैरों से उनके दोनों पैर फैलाए और अपने लंड को उनकी चुत के आस पास जमा कर रगड़ने लगा.

बीएफ देखने वालामैंने उसकी चूची मसलते हुए कहा- अगली बार तुम्हारी यह ख्वाइश भी पूरी हो जाएगी मेरी जान. चूत से पेशाब की धार बंद होते ही लंड को हाथ से हिलाकर खड़ा कर दिया और चूत की सीध में टिका कर गप्प से लंड को अंदर ले गई मामी.

एक्स एक्स एक्स पंजाब

फोन काटने के बाद मीरा मैडम बोलीं- ऋषभ, मैं जिससे अभी बात कर रही थी, उनका नाम सिमरन मैडम है, वह यहां पर आ रही हैं. तभी मेरी नजर दरवाजे पे पड़ी, तो देखा वहां उसकी छोटी बहन खड़ी थी और हमें ही देख रही थी. माशाल्लाह क्या बताऊं … ये एकदम अलग ही फीलिंग थी, आप भी जरूर ट्राय कीजियेगा.

जब वो दोनों नंगे हो गये तो आरती ने मुझसे कहा- देख पुन्नी, इस कमरे में सभी के सभी नंगे होकर ही रहेंगे. मैंने अन्तर्वासना की लगभग सारी कहानियाँ पढ़ी हैं।चलिए मैं अब आपको अपने जीवन में घटी एक कहानी बताता हूं जो मुझे हमेशा याद रहेगी।मेरी एक गर्लफ्रेंड थी जिसका नाम था सुचेता; वो मेरे घर से कुछ दूरी पर रहती थी। दोस्तो, वो इतनी सुंदर थी कि क्या बताऊँ … उसको देख के अच्छे अच्छे का लंड खड़ा हो जाये. उन्होंने बड़ी अच्छी स्माइल दी और कहने लगी- ठीक है, आज का खाना मैं ही आपके लिए भिजवा देती हूँ, कल से आप अपना कोई इंतजाम कर लेना.

तभी उसने मुझे आवाज दी और पूछा कि क्या आप यहीं रहती हैं?मैंने उत्तर दिया- हां सामने वाली इमारत के तीसरे माले में रहती हूं. ये बात उस वक़्त की है, जब वो कॉलेज के दिनों में मेरे पास नजदीक आई थी. मैंने भी देर ना करते हुए जैसे ही चाची को चोदना चाहा, उतने में ही चाचा के उठने की आवाज़ आ गयी.

उसके बाद अनन्त ने दीदी के हाथों को अपने हाथों से हटा दिया और एक तरफ आकर दीदी के मुंह में अपने लंड को पेल दिया. हेमा भाभी ने मस्त सोनू की चूत कैसे दिलवाई यह मैं अगली कहानी में लिखूंगा.

कभी वो मेरे नीचे तो कभी मैं उसके नीचे, पूरी रात चोदाई का यह खेल चलता रहा।घोष बाबू- ओ प्रधान जी, कहाँ खो गए सर? रात की बात खत्म हो गई.

मैंने उसे चादर दे दी थी, मगर 5 मिनट बाद वो वापस बोली कि मुझे बहुत सर्दी लग रही है, प्लीज मुझे तेरी चादर में आने दे. ब्लू नंगी फिल्म दिखाएंक्या शरीर था … बहुत चिकने हाथ, चिकनी साड़ी में उनका हर अंग बहुत कोमल, चिकने फर्श की तरह कड़क माल के जैसी गर्म भाभी. मेरे बीएफयह देखकर मेरे पति ने मुझे अपनी तरफ खींच लिया और अपने साथ बेड पर लेटा लिया. दोनों की ही 26 साइज़ एकदम पतली बलखाती कमर और 32 इंच की तोप सी उठी हुई मस्त गांड के पहाड़ थे.

मार पिटाई की बात सुनकर भी रिया डरी नहीं … वे सब जानवरों की तरह उसपे टूट पड़े.

मैंने अपनी बाइक उसकी बगल में रोकी और उससे कहा- मैडम, क्या मैं आपकी हेल्प कर सकता हूँ? आज ऑटो वालों की हड़ताल है. मेरी सहेली सोनम मेरी मम्मी से बोली- चाची बंध्या यहीं रहेगी मेरे साथ. मैंने उसकी सलवार उतारी, तो देखा उसने पिंक कलर की पैंटी पहनी हुई थी.

भाभी के मुंह की चुसाई से मैं जल्दी ही झड़ जाता अगर लंड को बाहर नहीं निकालता. अब वो नीचे से पूरी नंगी थी, उसकी चूत पर छोटे-छोटे बाल थे और उसे देखकर तो जैसे मेरे बदन मे बिजली सी मचल गयी थी. मैंने उसे इससे ज्यादा कुछ नहीं कहा क्योंकि कहीं ना कहीं मैं भी नीरजा को चोदना चाहता था.

चुदाई हिंदी में

मैंने उसके आंसू पौंछे, उसे प्यार किया, उसके कंधों पर हाथ रख कर कहा- मेरी जान, मैं तुम्हें छोड़ कर कहीं नहीं जा रहा. अपना वही उदास सा चेहरा लेकर रोज ऑफिस में जाता, वहां पर काम करता, फिर घर आ जाता. अब वो रुक गया और जब वो मेरे सामने खड़ा हुआ तो उसका लिंग किसी मोटे डंडे की तरह तना हुआ था.

मैं उनके पीछे जाकर खड़ा हो गया और उनकी कमर में हाथ डालकर खड़ा हो गया.

दो मिनट बाद जब उसका दर्द खत्म हो गया, तो उसने मुझे उसके ऊपर लेटा कर दबोच लिया.

मैं भाभी की चूत को धीरे-धीरे सहलाने लगा, उन्होंने मुझे खींच लिया और मेरे मुंह को अपनी चूचियों में दबाने लगी. उनके आने के बाद फिर रात में दो बार उनके साथ और एक बार हम तीनों ने साथ में सेक्स किया. देहाती लड़की की बीएफ वीडियोजैसे ही वो मेरे लंड को काटती, मैं उसकी यौनमणि को दांतों में पकड़ लेता और होंठों से काटता.

मैं- कौन सी फोटो दी है मैंने?तो उसने सुबह वाली फोटो मेरे को भेजी। मैं देख कर शरमा भी गयी और गुस्सा भी आया कि वो मेरे ही घर में था और मुझे पता भी नहीं चला. वो पल भुलाये नहीं भूलते!मेरी यह कहानी और रितिका का अपनी छुट्टी बिताने का मस्ती भरा अंदाज कैसे लगा, मुझे जरूर बताएं. मेरी उंगली उसकी गांड के छेद तक पहुंच जाती थी मगर वह अपनी गांड को भींच लेती थी और मैं फिर से उसकी गांड को ऊपर से ही सहलाने लगता था.

इसी स्थिति में वो धीरे धीरे नीचे हो रही थीं, उनका बांया हाथ मेरे लिंग पर आ गया और दूसरा हाथ मेरी टांगों के बीच से निकलकर मेरे अखरोटों से खेलने लगा था. वहां भी सब सिर्फ सेक्स के लिए बात करते हैं, लेकिन तुमने मुझे अच्छे से बात की, मेरा ध्यान रखा.

बीच में सुनसान रास्ते में पहुंचते ही मैंने जेब से सिगरेट निकाल कर जला ली.

अब आगे:नींद सपना को भी नहीं आ रही थी; थोड़ी देर बाद उसने मेरी तरफ करवट ली और बोली- लगता है आपको नींद नहीं आ रही है … तभी तो मोबाइल में लगे पड़े है कितनी देर से!यार, तुम जैसी हसीन खूबसूरत लड़की अगर बराबर में लेटी हो तो जल्दी नींद कैसे आएगी?” मैंने मजाक करते हुए कहा।तो क्या चाहते हैं आप?”कुछ नहीं … बस मुझे तो लिपट के सोने की आदत है. मैं बात समझ नहीं पा रही थी कि आखिर क्यों वो मुझे ऐसे देखता था और न ही मेरी हिम्मत होती थी कि उससे कोई सवाल पूछूं. गुलाबो ने बिलबिला कर मेरे होंठ छोड़ दिए और मेरी तरफ सवालिया निगाहों से देखा.

बीपी बंगाली सेक्सी हमारे लिपलॉक को उसने कब स्मूच में बदल दिया था, मुझे मालूम ही नहीं हुआ. मेरा कॉलेज का दोस्त भी वापस आने वाला था और आर्यन भी जल्दी ही वापस आने वाला था.

मुझे देखते ही दोनों ठिठके, अगले ही पल जीजू मुस्कराते हुए बोले- आओ रचना, बैठो!मैं उनके साथ बैठ गई. औऱ उसके बाद तुम्हारी चूत में अपना लंड डालकर तुम्हें जमकर चोदना चाहता हूं. ये बात मामी ने मामा को बताई- तुम्हारा भांजा, तुम्हारी भानेज बहू की कमर का दर्द ठीक कर देता है और तुम उसके साथ ही रहते हो, फिर भी तुम्हें नहीं आता.

बीपी सेक्सी वीडियो ओपन

उसने कहा -शिट…उसके बिना बाजू वाले ब्लाऊज़ में उसके बूब्स मेरे सामने ही थे. मैडम ने पूछा कि क्या हुआ?मैंने उंगली से खून निकाल कर उसे दिखाया, तो मैडम खून देख कर बोली- देखा कितना मोटा लंबा है, मेरी चुत से भी खून निकाल दिया. उसके बाद अनुष्का ने मेरे कच्छे को भी उतार दिया और मुझे नीचे से पूरा नंगा कर दिया.

करीब एक किलोमीटर अन्दर चलने के बाद बहुत सी झाड़ियां सी आईं, वहां उन्होंने गाड़ी रोक ली. वहां भी मैंने दांतों से काटा तो वह कराहने लगी- आअह्ह उई ऊह्ह्ह मह्ह मर गयी … मार डाला … अअअ प्लीज प्यार से करो … काटो मत … दर्द होता है!और उसकी कराहट से मेरे जोश और बढ़ जाता.

उन्होंने बताया कि वह बहुत बिज़ी रहते हैं और चाहते हैं कि यहां पर किसी प्रकार की डिस्टरबेंस न हो.

कमरे में पहुंचने के बाद आराम करते हुए मैंने बेड पे उसके पास बैठ गया और उससे बातें करना शुरू कर दिया. सांवला रंग, काली आंखें, लंबी गर्दन, तने हुए स्तन, पतली कमर, बाहर निकले हुए नितम्ब. मैं उनको जब भी देखता वो स्माइल कर देती और कभी-कभी पानी का गिलास या चाय का कप लेते टाइम मैं उनको छू भी लेता था। उस सेक्सी भाभी को छूते ही मेरी पूरी बॉडी में करंट सा दौड़ जाता था।एक दिन ऐसे ही मैं पढ़ाने के लिए गया और वहाँ जा कर डोर बेल बजाई तो काफी देर तक किसी ने दरवाजा नहीं खोला.

मैं- हां, ठीक है मम्मी जी …अब कल्पना ने मुझे बताया कि जब मम्मी जी ने आपको वीडियो कॉल किया था, तब मैं भी थी उनके साथ, मम्मी जी ने ही फ्रंट कैमरे पर अपनी उंगली रख दी थी ताकि आप हमें ना देख पाओ. वो जब रसोई में काम कर रही थी, तो मैं बार बार रसोई में जा कर उसके चुचे और गांड मसल रहा था. कुछ देर बाद मैंने भी एक हाथ से उसके कूल्हों को अन्दर की तरफ खींचना शुरू कर दिया.

हमारे बीच सब बातें हुईं कि स्कूल कब जाती हो, कब आती हो, कॉल मैं पहले ना करूँ, वो करेगी, छत पर ज्यादा ना जाओ, वो कहेगी, तब आऊं … वो भी उसके स्कूल से आने के बाद आऊं.

जींस पेंट वाली सेक्सी बीएफ: मैंने सोनू को बेड पर नीचे टांगे लटका कर बैठने को कहा और अपना खड़ा लंड उसको पकड़ाया. मैंने गिलास उठाया और होंठों से लगा कर उनकी चुचियों को निहारते हुए शराब की चुस्की लेने लगा.

मैं बोला- कल के लिए सॉरी पायल, लेकिन तुम्हें देख कर कोई भी ऐसा ही करेगा. तब दीदी ने आकर मुझे कन्धे से दबाकर जकड़ लिया और जीजू को इशारा किया, इधर अजय ने मेरी टांगों को दोनों ओर फैला कर थाम लिया, अब मैं आंखें भींचकर दर्द झेलने को तैयार थी। जीजू ने लन्ड को चूत पर टिकाया और जोरदार धक्का लगाया. उसकी व्हाइट शर्ट में से उसके चूचे शर्ट के बटन तोड़ने को उतावले रहते थे.

कुछ देर बाद मैं उसके ऊपर से लुढ़क कर साइड पे बेड पे सीधा गिर गया और मेरा लंड भी बाहर आ गया.

मैंने चाय बनायी और मैडम को दी, साथ में खाने को भी बिस्कुट दिए और टैबलेट दी. लंड को मुंह में देने के बाद अब बात उसके काबू से बाहर हो गई और उसने मेरे मुंह में अपने लंड को अंदर-बाहर करना शुरू कर दिया. मेरी दीदी विनय के चूतड़ों को पकड़ कर उसके लंड को अपने मुंह की तरफ धकेल रही थी.