सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाइए

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ वीडियो चाहिए हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

ஆன்ட்டி ஆபாச வீடியோ: सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाइए, मैं बाहर आया, तो आज भी पूजा बाहर खड़ी थी; वो मुझे अजीब सी नजरों से देखने लगी.

चूत मारने वाली सेक्सी बीएफ

मैंने उसकी चुत के रस से सनी उंगली को अपने मुँह में डाला और उसकी कोरी चुत का स्वाद लिया. एक्स एक्स एक्स साड़ी वाली बीएफवो मुझसे नाराज हो गया कि बिना बताए दोनों साथ में कैसे घूम रहे हो वगैरह वगैरह.

आप जानते होंगे कि सर्दी में या तो प्यास लगती नहीं और लगती है तो फिर प्यास कितनी जोर से लगती है. नंगी बीएफ चुदाई कीमैंने एक दोस्त की रेस्टोरेंट में शाम को एक पार्टी रखी और उसके दोस्तों को भी बुलाया.

ऐसा मैंने पॉर्न वीडियोज में देखा था तो आज सोचा कि लंड मुँह में लेकर देखता हूँ.सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाइए: दो तीन मिनट तक मैं रुका और फिर उसकी चूत में लंड को चलाना शुरू किया.

मुझे साइज का तो उतना पता नहीं था इसलिए मैं बता नहीं पाऊंगा कि उस समय उनका साइज कितना था लेकिन उनके चूचे पूरे हाथ में भर जाते थे।बात तब की है जब मैं 12वीं के एग्जाम देने वाला था.माधवी भाभी बोलीं- ये आप क्या बोल रहे हैं?मैंने बोला- शॉर्ट में कहूं तो बिन फेरे हम तेरे … हम आपके दोस्त बनना चाहते हैं.

बीएफ सेक्सी पिक्चर चोदने वाली - सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाइए

सरिता ने कुछ नहीं कहा, तो सोनू ने अपना लंड सरिता की गांड में पेल दिया.मेरी बीवी ने मेरे सामने उसी समय राज से खुल कर फोन पर हर तरह की बात की और राज ने भी मेरी बीवी के साथ फोन सेक्स किया.

मेरा लंड जब भी गांड के अन्दर जाता था, तो मुझे लगता था कि लंड को किसी ने दोनों हाथों से मुट्ठी में जोर से पकड़ लिया हो. सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाइए मेरे छोटे मामा मीनू से 15 साल बड़े हैं।मेरी मामी उस वक्त अपने मायके में गयी हुई थी.

मैं हल्के से मुस्कुरा दिया और मायरा के चेहरे पर गिर रही उसके ज़ुल्फों को अपनी उंगली से हटा कर उसके सुंदर से चेहरे को देखने लगा.

सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाइए?

पीयूष बोला- मेरा क्या है?वो बोली- मुझे नहीं बताना कि आप कितने बेशर्म हो. अमित ने पहले ही एयर कंडीशनर चालू कर दिया था … जिससे कमरे में काफी ठंडक आ गई थी. उसने मुझसे कहा- तेरी चुचियों को देखकर लगता है कि तेरा यार हर रोज़ इनको चूसता होगा.

मैं ठंड में थोड़ा कांप रहा था और मेरे पास पहनने के लिए कुछ था ही नहीं. अब कमल ने अगले दिन सुबह लकी को फोन करके इन्वाईट किया तो लकी ने बहुत संजीदगी से मना कर दिया कि यार थक जाता हूँ पीकर, कल को कोई बात हो गयी तो सारा नाराज़ हो जायेगी. सब बात होने के बाद रिट्ज अंत में मेरे गले लग कर मुझे धन्यवाद बोली और फिर वो मेरे साथ घर आ गयी.

इस तरह का साथ देने वाली लड़की मिल जाये तो चुदाई में हर तरह का मजा मिल जाता है. आगे बढ़ने से पहले मैं आप सभी से एक बात बोलना चाहूँगी कि अन्तर्वासना में हरेक सेक्स कहानी वास्तव में हुई घटना पर ही आधारित होती है. आज कमल ने लकी को उकसाया था कि भाई तू ही डांस कर मैं तो बस मटकता रहूँगा.

अगले ही पल कुसुम के पहाड़ जैसे चूचे उसके बेटे रोहन के हाथों द्वारा मसले जा रहे थे. देखते ही देखते मैंने उसकी जीन्स खोल कर उतार दी।फिर मैं धीरे धीरे किस करते हुए नीचे बढ़ने लगा उसकी चूत से बड़ी ही मादक गंध आ रही थी।उसकी गीली पैंटी के ऊपर से ही मैंने किस किया उसकी चूत पर और फिर पैंटी भी उतार दी।उसकी चिकनी चूत को देख कर मैं तो पागल हो गया.

फिर मुझे किस करने लगीं और बोलीं- सच में यार मज़ा आ गया फुद्दी चुसवाने में.

कुछ मिनट तक वो मेरी चूत में उंगली करता रहा और फिर बोला- चल अब लेट जा.

लंड देख कर बहन भाई से बोली- भाई, आपका इतना बड़ा लंड मेरे मुँह में नहीं आएगा. वो मेरी गांड पर हाथ फिराते हुए मेरे लंड को पूरे जोश में चूस रही थी. निशा भाभी- नहीं रहने दो यार … बस अब मेरी फुद्दी चोद दो … चुदाई करो, कब से तड़पा रहे हो.

मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से चोदने लगा अब वो भी साथ देकर आहह आहह चोदो मुझे … ले लो मेरी … आहह आहह चोदो … चोदो मुझे … आहह करके लंड लेने लगी थी. तो उसने अपनी भोंसड़ी मेरे मुंह पर रख दी।मैंने पहले उसकी चूत की दरार को चूमा और फिर अपनी जीभ की नोक से उसकी चूत की दरार के अंदर डाल कर फेरा. ये सब होते हुए काफी देर ही गयी, तो मैंने जोया की गांड पकड़ कर उठाया और लंड पर बिठा लिया.

कुछ देर तक अपनी चूत चुसाने के बाद मैं उठ गई और उसको चूमते हुए उसके कपड़े उतारने लगी.

भाभी आकर मेरे जांघों के ऊपर बैठ गईं और उन्होंने हाथ में थोड़ा सा शैंपू लिया. मैंने उसको ये खिड़की वाला तरीका बताया और बोली- तुम मेरा नंबर ले लो, जब आ जाना … तो मुझे फ़ोन कर देना. कुछ ही समय में मैं उसके घर आ पहुंचा और हम दोनों पहली बार रूबरू हुए थे.

उसने कहा- तुमको जल्दी क्या है … डर रहे हो क्या? आराम से बात करते हैं ना. हम लोग नए साल की मस्ती में कुछ दूर तक घूमेंगे और थोड़ी देर में वापस आ जाएंगे. अब कमल ने अगले दिन सुबह लकी को फोन करके इन्वाईट किया तो लकी ने बहुत संजीदगी से मना कर दिया कि यार थक जाता हूँ पीकर, कल को कोई बात हो गयी तो सारा नाराज़ हो जायेगी.

भाई का लंड चुत में घुसा तो बहन की चीख निकल गई- आह मर गई भैया … आह प्लीज छोड़ दो … मैं मर गई मम्मी रे … हाय मेरी चुत फाड़ दी … मेरी चुत फट गई.

एक दिन नवाब ने मुझसे मेरे घर का पता मांगा, लेकिन मैंने मना कर दिया और उसे पता नहीं दिया. फिर एक दिन उसने मुझसे ऐसी बात कही कि मैं अब उसकी बहन को उससे पटवाने में पूरी जान लगाने लगा.

सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाइए इस पर शेखर चौंक गया और उसने मुझसे इस बारे में पूछा, तो मैंने ही उसे हमारे बारे में सब कुछ बता दिया और तुम्हारा लैटर भी उसे दिखा दिया. फिर एक दिन ऐसा हुआ कि मेरे एक पक्के दोस्त मनीष ने मुझे अपने घर से एक ब्रा लाकर दी थी.

सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाइए सारे साथी मजा लेने लगे और उसी दिन से सबके सामने ये बात साफ़ हो गई थी कि जोया मेरा माल है. आंटी को लिटाकर मैंने उनके चूतड़ों के नीचे तकिया लगाया और चूत में लन्ड रगड़ने लगा.

वो मुझे मुझ पर गुस्सा करते हुए बोली- भैया, आप ये क्या रोज रोज चाची की ब्रा लेकर बाथरूम जाते हो, आपको कुछ अक्ल नहीं है क्या? चार दिन पहले ही चाची ने मुझसे पूछा था कि पूजा क्या तुम मेरी ब्रा को लेती हो.

बेटे के जन्मदिन की शायरी

अपने करीब पाकर उन्होंने अपने पालतू कुत्ते का मुँह अपनी भट्टी जैसी जलती गर्म चूत में घुसेड़ दिया. वो बोली- ब्रा को खोल दे। फिर आराम से मालिश कर देना।मैंने दीदी की ब्रा के हुक को खोल दिया. मेरी पिछली कहानी थी:आंटी की गांड चाटी और चुदाई कीआज मैं फिर से एक नई और बेहतरीन सच्ची सेक्स कहानी लेकर आया हूं.

कुछ ही देर में मेरी आंखें मुंद गईं और मेरी आंखों में मेरी बहन की नग्न जवानी घूमने लगी. भाभी भी मेरे अंडरवियर में फूले हुए लौड़े को बड़ी ललचाई नजरों से देख रही थीं. फिर भाभी ने मुझसे पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने ना में सिर हिलाया.

शीना बैंगलोर में आइआइटी की पढ़ाई कर रही है और पीयूष भी बैंगलोर में ही रह कर किसी बड़ी कंपनी में बिजनेस की इंटर्नशिप कर रहा है.

उन्होंने मेरे बालों को कसके पकड़ कर खींचा और वो मेरी गांड में ही झड़ गए. उसकी शादी भी हो चुकी थी और उसके अलावा भी उसने की लड़कियों की चुदाई की थी. मेरे लंड की तेज गति से सुरीली को इतना दर्द होने लगा कि वो लंड से उठ गई और साइड में अपनी चूत पकड़ कर लेट गयी.

कुछ देर बाद बस के झटके के कारण उसकी नींद में खलल हुई और वो सीधी होकर बैठ गई. हालांकि उसकी इस मामूली सी तड़फ से ऐसा साफ़ दिख रहा था कि वो पहले भी मिथुन से चुद चुकी है. थोड़ी देर में मेरी बीवी वापस आ गयी और रानी की सास ने उससे कहा कि इसको स्टडी रूम में ले जाओ.

शेखर ने अब कुसुम को पूरी नंगी कर दिया और उसकी नंगी कोमल चूचियों को छूने मात्र से शेखर का लंड फिर से तन गया. आरिफा तो कुछ नहीं दिखाती थी लेकिन जाकिरा मुझे सेक्सी इशारे किया करती थी.

जब हम दोनों गर्म हो गए, तब फिर सीधे होकर मैंने अपना लंड उसकी चूत में पेल दिया. थप थप की आवाज के साथ चुदाई चल रही थी।बस के धक्के के साथ हम लोगों का भी धक्का चल रहा था।वह अपनी मस्ती में आ गई थी और बोली- चोद साले मुझे चोद! इतना कि आज मैं तेरी गुलाम बन जाऊं।फिर मेरा भी जोश बढ़ा और बहुत तेज से चुदाई करने लगा।मैं भूल गया था कि मैं बस में हूं और कोई हमारी आवाज सुन सकता है. एक बार रॉय ने मेरी चुत का रस चाटा था और एक बार जॉन के मुँह में चुत का रस निकला था.

जीजू ने मुझे उठाया और मेरे होंठों पर अपने होंठ रख कर मुझे लिपकिस करने लगे.

पीयूष ने अपनी बहन को अपनी गोद में उठा लिया और उसे बाथरूम में लेकर आ गया. वह दर्द में चिल्लाने वाली थी पर उसके होंठ पर मेरे होंठों ने पकड़ बना रखी थी, जिस वजह से उसकी आवाज़ को निकलने से रोक दिया गया. मेरा लंड एक औसत भारतीय की तरह साढ़े पांच इंच का है, जो किसी भी चूत और गांड को खुश करने के लिए काफी है.

मीनू नींद में थी और मामा का हाथ उसकी चूची पर चल रहा था।उधर मामा का दूसरा हाथ उनके पजामे में तेजी से उनके लंड पर चल रहा था. ऐसे ही बात करते करते मैं वहीं सीट पर बैठ गया और उनसे बातें करने लगा.

तो सोते हुए हम दोनों एक दूसरे से चिपके हुए थे।आयशा ऐसे सोने में असहज महसूस कर रही थी तो उसने अपना मुंह दूसरी तरफ घुमा लिया. लंड ने एक फुंफकार मारी, तो मैं उनके लंड के सुपारे को अपनी जीभ से चाटने लगी. मैंने उसी तरह उसे बिठाए हुए उसके एक मम्मे को मुँह में डाला और दूसरे मम्मे को अपने हाथ से दबाने लगा.

हिंदी सेक्सी कच्ची

शेखर ने बोला कि हम दोनों को जो भी करना है, हम कर सकते हैं, बस ये सब इस दुनिया से छुपाकर ही करना है.

मैंने फिर से अपने दोनों हाथों से स्तन को चारों तरफ से घेर लिया और ज़ोर से भींचते हुए ऊपर की ओर उभार दिया. ये सुन कर मुझे समझ नहीं आ रहा था कि अब मैं कहूँ मुझे कुछ नहीं सूझा तो बस मैं रोने लगा. फिर लंड की चमड़ी को नीचे किया और जीजू के लंड के गुलाबी टोपे को बाहर निकाल लिया.

अचानक ही मेरा ध्यान इस बात पर चला गया कि कहीं मामी मुझमें अपनी सेक्स इच्छाओं को पूरी करने का साधन तो नहीं ढूंढ रही?इसीलिए तो मामी मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछ रही थी. अचानक से दरवाज़ा खुलने की आवाज़ आयी और एक पल में मम्मी उस कमरे में घुस आईं. घड़ी खोल के बीएफपर मैं हर किसी को नहीं दिखा सकती।अब आगे देसी सुहागरात Xxx कहानी:मैंने खुश होकर उसके क्लीवेज को ही चूम लिया और उसके ब्लाउज़ के हुक खोलने लगा।उसने बिल्कुल भी मना नहीं किया.

मैंने ऐसा इसलिए किया ताकि उसे लगे कि मैं अन्दर हूँ और गलती से मेरा लंड दिख रहा है. इसके बाद मैं जाने लगा तो उसने कहा- अपना खाना तुम खुद बनाते हो?मैंने कहा- हां जी खाना मैं ही बनाता हूं.

वो मेरी तरफ देखने लगी तो मैंने उसके होंठों से होंठ लगा दिए और उसे भी उसकी चुत का स्वाद चटा दिया. जब वह थोड़ी सामान्य हो गयी, तो मैंने ड्रेसिंग से क्रीम निकाली और खूब अच्छी तरीके से उसकी चूत में लगा दी. मैंने एक बार फिर से जेठजी के सर को अपने हाथों से जोर से अपनी चूत के ऊपर दबाया और कमर को धनुष सा अकड़ा कर जोर जोर से झटके मारने लगी.

मैंने लंड चूसना छोड़कर उनकी आंखों में देखा, तो जेठजी ने मुझे उठाया और पलंग पर लिटा दिया. कार्तिक ने ये देख कर धीरे से मेरे कान में कहा- डरो मत, शांत हो जाओ … मैं भी आपसे प्यार करता हूं. कई बार तो आकाश को मैंने अपने घर के पास टहलते हुए भी देखा था।मैं समझ चुकी थी कि वो मुझे पसंद करता है इसलिए वो मुझे देखता रहता है।वो मुझे कुछ बोलता नहीं था या कुछ इशारा भी नहीं करता था।धीरे धीरे मेरा आकर्षण उसके लिए बढ़ने लगा.

इससे उस लड़के मेरे सिर के पीछे से हाथ निकाल कर रख लिया और एकदम मेरे से लग कर बैठ गया.

वो बोली- फोन काटा क्यों था?मैंने कहा- मुझे लगा कि तुम अभी रास्ते में न हो. थोड़ी देर जेठजी के सीने से एक प्रेमिका की तरह चिपकी हुई मैंने अपना चेहरा ऊपर किया और जेठजी को वासना भरी अधखुली निगाहों से देखा और अपने सुर्ख थरथराते हुए होंठों को हल्का सा ऐसे खोल दिया … मानो मैं अपने जेठ को चुम्बन करने का खुला निमंत्रण दे रही हूँ.

मामी ने अपना ब्लाउज और ब्रा जल्दी से खोल दिया और चूचे आजाद कर दिये. एक दिन मुझे सुनील का मेल आया और उसने किसी प्रशंसक की तरह मुझे बताया कि आपकी कहानियां मुझे बहुत पसंद हैं. उस वक़्त हम भूल गए थे कि हमारे साथ में मोनू भी साथ सो रहा है, पर वो गहरी नींद में था और खर्राटे ले रहा था.

एक बार फिर से मैंने लंड पर बहुत सारा साबुन मला और उसे पूरा चिकना कर दिया. आधे घंटे तक मेरी फुद्दी पेलने के बाद उसने मुझे घोड़ी बना कर मेरी गांड भी बजाई और बहुत देर बाद उसने अपना वीर्य छोड़ा. पहला साल गुजरने के बाद जब मेरी सहेलियों ने देखा कि मेरा कोई भी दोस्त नहीं बन रहा है, तो उन्हीं लोगों ने ही मेरी किसी से दोस्ती करवाने की मदद की और उन्होंने ही एक लड़के से मेरी दोस्ती करवा दी.

सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाइए मैंने सीधे ही उसकी चूत पर अपना मुँह रख दिया और धीरे धीरे उसकी चुत चाटने लगा. अभी भी मेरे लंड के अन्दर जैसे दुख रहा था … मुझे ऐसा लग रहा था कि लंड के ऊपर की चमड़ी जल रही थी.

श्रुति सेक्सी बीपी

एक दिन मुझे रिया के रूम में सोना पड़ा क्योंकि उस दिन घर में अतिथि आए हुए थे. सुहैला मेरे मोटे और बड़े लंड को देख काफ़ी खुश हुयी और बोली- तुम्हारा तो बहुत बड़ा है. फिर उसने कहा- उन्ह … चूत भी कभी फेवरेट होती है क्या?मैंने कहा- औरों की तो नहीं मालूम … मगर मेरी तो होती है.

उस रात मैंने 5 बार यास्मीन की फ्री चुदाई का मजा लिया और उधर ही सो गया. और पता ही ना लगा कब उनकी साड़ी उनके बदन से पेटिकोट के साथ मेरे कमरे के फर्श पर थी।मेरे होंठों को चूसने और कपड़ों के ऊपर से मसलने का असर उन पर दिखने लगा था।बारिश के शोर में हरषु की मादक आवाजें आग में घी का काम कर रही थी।मैं एक अलग ही दुनिया में खोने लगा. भोजपुरी बिहार का बीएफसारा ने कमल को कसकर चूमते हुए कहा- देखा कमल … तीसरी के आते ही तुम्हारी चुदाई कितनी लाजवाब हो गयी.

मैंने भाभी के हिलते हुए मम्मों को एक बार तब देख लिया था, जब वो अपनी बाल्कनी में बाल सुखा रही थीं और उस दौरान उनकी चूचियां काफी मस्ती से हिचकोले ले रही थीं.

थोड़ी देर में रानी ने दरवाजा खोला और वो मुझे इस समय आया देखकर जरा आश्चर्य में पड़ गयी. वो अपनी मोटी उंगलियों और हब्शी लंड, दोनों से जेठजी मेरी चूत को चोद रहे थे.

ये वही पल था, जिसमें कुसुम अन्दर आकर अपने बेटे के बारे में सोच कर अपनीचुत में उंगलीकर रही थी. मैंने कहा- पूजा, तूने पंकज को मना कर दिया था मगर मैं तो तेरा भाई हूँ. अब कुछ देर के बाद मेरे लिंग महाराज का गर्म लावा भी बाहर आने को बेकरार था.

मेरी वाइफ बोली- सच बताऊं … आप किसी को बोलोगे तो नहीं … माधवी भाभी बोल रही थीं कि अब उससे नहीं रहा जाता.

मैं अब खुल कर बोला- जब जीजाजी आएंगे, तब तक तो मैं आपकी चूत का भोसड़ा बना दूंगा. अब रोहन अपनी मॉम को जबरदस्त तरीके से चोदने में लगा था और कुसुम आंखें बंद करके बस अपने बेटे के लंड की चुदाई से मिल रहे मजे में खोई हुई थी. उसी समय ये सब कुसुम ने सुन लिया था क्योंकि वो रोहन के झड़ने के कुछ पल पहले ही यहां पर उसे तौलिया देने आई थी.

नंगी बीएफ फुल एचडी मेंमैं भी अपने स्तनों को अपने दोनों हाथों से कस कर दबाते हुए जोर जोर से झटके लेने लगी. वो घबरा कर बोली- न बाबा … तुम्हारा लंड बहुत मोटा और लंबा भी है मेरी गांड फट जाएगी.

राजस्थान पाली सेक्सी

मैंने फिर से लंड को उनकी चुत में लगाया और उनसे कहा- इसे थोड़ा थूक लगा दो, तभी लंड अन्दर जाएगा. तभी मेरे दिमाग में एक खुरापाती आईडिया आया और मैं लंड को पकड़ कर चिल्लाने लगा. मैंने उससे कुछ सवाल किए- आपको अनीषा मैडम के यहां क्यों जाना है?वो बोला- मुझे कुछ काम है.

इसको लेकर मैंने कई ऑनलाइन वाइफ स्वैपिंग क्लब में अपनी प्रोफाइल डाली हुई है. मेरा भी मन करता है कि मैं भी अपनी दोस्तों की तरह लंड चूसूं और अपनी पुस्सी में किसी का लंड लूं. फिर उतरते हुए ही उसने मुझे फ़ोन पर मैसेज किया कि आप टॉयलेट के पास मिलिए, मुझे आपसे अकेले में काम है.

उस दिन मेरी सुनील और सुरीली से बात हुई, तो उन्होंने बताया कि उन लोगों ने उसी रात को फिर से चुदाई की थी. हॉट गर्ल Xxx कहानी मेरे घर के पास की एक लड़की की कुंवारी बुर चुदाई की है. सुबह करीब पांच बजे वो मेरे घर से चला गया और मैं उसे विदा करके फिर से सो गई.

सुबह 7 बजे मैं और मंजू बाथरूम से फ्रेश होकर निकले और सोफा पर बैठ गए. मैंने उसको टाइट वाला हग किया और उसके मुँह को अपने मुँह से पूरी तरह दबा लिया.

आज की सेक्स स्टोरी मुझे एक पाठिका से प्राप्त हुई है, वो अपनी गाँव सेक्स कहानी मेरे माध्यम से अन्तर्वासना पर प्रकाशित करवाना चाहती है.

फिर मैं भी अन्दर आ गया और पीछे के दरवाजे से बाहर निकल कर बाहर से ताला लगा दिया और वापस पीछे के रास्ते से अन्दर आ गया. एक्स एक्स एक्स बीएफ लड़कीफिर मैंने तेल से उसकी गांड को ढीला किया अपनी दो उंगलियों से गांड को ढीला रहना सिखाया. राजस्थानी हॉट बीएफमामी ने मेरे लंड को हाथ में पकड़ा और अपनी चूत के द्वार पर लगा लिया. मैंने बहुत आराम से उनको चोदना चालू किया और काफी देर तक उनको चोदता रहा.

वे अपने दोनों हाथों से मेरी कमर को पकड़कर धक्का लगा रहे थे, मुझे पीछे अपनी तरफ खींच रहे थे.

मैंने आने के लिए टाइम पूछा, तो वो बोलीं- आप दोपहर को कभी भी आ सकते हैं. सारा खुद तो मजे लेना चाहती थी लेकिन कमल के लिए वो चाहती थी कि कमल सिर्फ मुंगेरी लाल के सपने देखता रहे, उसे मिले कुछ नहीं. मैं उनको ही देखता ही रह गया … क्या गजब की माल दिख रही थीं वो … ऐसा लग रहा था कि आंटी अभी नहा कर आई थीं.

फिर मेरी साड़ी ब्लाउज की तरफ देख कर वो मुझे ऊपर से नीचे तक बड़ी गौर से देखने लगी. मुझे बार बार ऐसा लगता है कि वो मेरे साथ आकर सोया है, मुझे सहला रहा है. वो भी जैसे इसके लिए पूरी तरह से तैयार थी। उसकी आँखें बंद थीं और वो मेरे सिर के बालों को सहलाने लगी.

भारतीय+सेक्सी

वो मेरी गोद से हट कर नीचे बैठ कर मेरे लंड को चूस कर खड़ा करने लगीं और लंड खड़ा होते ही आंटी मुस्कुरा दीं. फिर रोज़ तुम मेरे घर आते हो, मेरे जाने के बाद मेरी मम्मी के क्या क्या करते हो, मुझे सब समझ आता है. उसकी कामुक आवाजें आ रही थीं- आह चोद दे अपनी बहन की गांड आह फाड़ दे गांड … मजा आ रहा है.

उसने कहा- इसी लिए तो रूम का मेन स्विच बंद किया था ताकि तुम्हें यहां बुला सकें.

तब भी उसने कोई भी ऐसा काम करने का नहीं सोचा, जिससे उसकी बहन उसके नीचे आ जाए.

मैं यूं ही अपने भाई से बोलने लगी- अरे ये गेम कहां से लिया … मुझे भी चाहिए. ऑटो आगे बढ़ी, तो मैंने हल्का सा पीछे मुड़ कर देखा … तो वो मुझे बुला रहा था. एक ही बीएफमैं रोज़ रात को अश्लील पिक्चर और अन्तर्वासना पर कहानी पढ़ कर अपनी चूत में उंगली करके अपने आपको दिलासा दे रही थी.

मैंने लूडो का खेल खेलना इसलिए भी शुरू किया था ताकि उसके मम्मी पापा को ऐसा न लगे कि मैं उनकी बेटी को फ्लर्ट कर रहा हूँ. आज एकता भी कुछ अलग सा व्यवहार कर रही थी, पता नहीं क्यों आज उसके हाव-भाव ठीक नहीं लग रहे थे. वो भी मेरी दीदी की ही तरह छोटी हाइट वाली थी और उसका वजन भी ज्यादा नहीं था.

वो अपनी टांगें खोलकर मेरे मुंह की ओर चूत को धकेलने लगी और अपनी चूचियों को सहलाने लगी. मैं उसका सिर पकड़कर अपने मम्मों पर दबा रही थी और मस्त होकर उससे अपने दोनों चूचे चुसवा रही थी.

मैंने उससे पूछा कि बताओ अब मैं क्या करूं?वो- दीदी देखिए आप एक बार सबके लिए मान जाइए और फिर एक बार सेक्स करने के बाद उनका मोबाइल ले कर फ़ोटो डिलीट कर दीजिएगा.

मैंने एक दोस्त की रेस्टोरेंट में शाम को एक पार्टी रखी और उसके दोस्तों को भी बुलाया. इस बार मेरा निकलने को तैयार नहीं था … बल्कि मेरे पैरों में दर्द होने लगा था. अब मेरा भी होने वाला था तो मैंने उसके मुँह से अंडरवियर निकाला और किस करके उससे पूछा- बेबी, मैं आने वाला हूँ … बताओ कहां निकालूं?वो बोली- मेरा भी होने वाला है राज … तुम अपना वीर्य मेरी चूत में ही निकाल दो.

बीएफ एक्स एक्स एक्स एचडी बीएफ असल में सारा ने उससे ऐसा करने को कहा था क्योंकि कमल के मुख से पिछली रात ये निकला था कि जब लकी की बीवी आएगी तो वो चारों मस्ती करेंगे. उसके कपड़ों के ऊपर से ही उसके भरे हुए मम्मे अपनी मादकता बिखेरने लगे थे.

अब भाभी भी फुल एन्जॉय कर रही थीं और मेरा पूरा साथ दे रही थीं- आह आह उह आह राजा … अह उम्म अह चोदो मुझे … और ज़ोर से … आह औरज़ोर से चोदो मेरी जानआह आह. आकृति आंटी बोलीं- ठीक है, लेकिन कहीं सही जगह उसको ले जाना … कोई दिक्कत न हो. वैसे मैं अपनी कॉलोनी में सबसे शरीफ बंदा हूँ और सब जानते हैं कि मैं अपने काम से काम रखने वाला आदमी हूँ, बस सेक्स के मामले में बहुत ही गंदापन करने और गालियां बकने में बहुत आगे हूँ.

2021 की न्यू सेक्सी मूवी

अब मीनू मामा के नीचे दोनों पैर खोलकर लेटी थी और मामा अपनी पूरी ताक़त से उसकी चूत पर अपने लण्ड का प्रहार कर रहे थे, चूत भी लण्ड को झट से अंदर कर लेती थी।मामा जी के हर धक्के के साथ मीनू के चेहरे पर दर्द और आनंद के मिले जुले भाव आ रहे थे।कुछ देर तक इसी तरह चोदने के बाद अब मामा ने चुदाई रोक दी. जब मुझे सुकून मिला, तब मेरी नजर मेरी मॉम पर पड़ी जो बिल्कुल नंगी मेरे सामने खड़ी थीं. मेरा शौहर सुबह 8 बजे फैक्ट्री निकल जाता था और सीधे रात में वापस आता था.

तो मामी जी ने कहा- चुप कर तू … मैं सब जानती हूं, तूने जानबूझकर ऐसा किया था।मैं- नहीं मामी जी, वो गलती से हो गया था। प्लीज आप मामाजी को मत बताना।मामी जी- तू चिंता मत कर। मैं किसी को नहीं बताऊंगी। लेकिन अपने आप पर काबू रख। ऐसी हरकतें करना तुझे शोभा नहीं देता. बहुत से मर्दों ने मेरे ऊपर ट्राय किया, लेकिन मैंने किसी को घास नहीं डाली.

मैंने उनकी पैंटी के अन्दर हाथ डाला और चुत सहलाने लगा; साथ ही भाभी के मम्मों को भी चूसने लगा.

वो चुम्मा लेकर बोली- तुम्हें लगता है कि ये बात मैं घर वालों से कहूँगी?मैंने बोला- नहीं. कमल सारा के मम्में दबा रहा था और लकी ने अपनी जीभ सारा की चिकनी चूत में घुसा दी थी. 9 जनवरी की रात जो ससुर और बहू की चुदाई हुई वो मैं कभी नहीं भूल पाती हूं.

मैं साड़ी भी नाभि के नीचे बांधती हूँ, जिससे मेरी नाभि और पूरा पेट एकदम साफ दिखता है. उसके बाद मैं आगे की कहानियों में अपनी और चुदाई की कहानियों से आप लोगों को अवगत करवाती रहूंगी. एक दो पल बाद शीना के जिस्म में हरकत होने लगी और अब धीरे धीरे उसकी चीखें मादक सिसकारियों में बदल गईं.

इस दौरान जेठजी मेरे बाएं लाल हुए पीड़ा दायक स्तन को अपने सख्त कठोर हाथों से मसल भी रहे थे.

सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाइए: मगर इस सहानुभूति के साथ ही मेरे मन में एक और भावना भी साथ साथ पनप रही थी. मैंने फिर से अपना हाथ पेट पर रखा और इस बार कोमल ने जैसे ही मेरे हाथ को अपने पेट पर से हटाना चाहा, तो अपने दूसरे हाथ से मैंने उसका हाथ थाम लिया.

एकदम सफेद झक गोरा मुखड़ा, भरे भरे गाल, पतली सी कमर और उस पर गजब ढहाते उसके बाहर निकलने को आतुर मांसल बोबे. अमित ने तुरंत ही दरवाजा बंद कर दिया और मुझे ऊपर बने एक कमरे में ले गया. इसी बीच मैंने एक बार अपने पापा का मोबाइल इस्तेमाल करता था क्योंकि मेरे पास उस वक्त मोबाइल नहीं था.

उसके बाद उसने बोला- मुझे कुछ सामान्य वाक्य बताओ जो आमतौर पर अंग्रेजी में बोलचाल के समय इस्तेमाल किये जाते हैं.

इतना सब कुछ होने के बाद भी सुरेश ने मेरी तड़पती हुई प्यासी चुत में अब तक अपना लंड नहीं डाला था. फ्रेंड्स मैं आपको अपने पापा के दोस्त के साथ मेरी सेक्सी नंगी चुदाई को अगली बार विस्तार से लिखूंगी. वो चुम्मा लेकर बोली- तुम्हें लगता है कि ये बात मैं घर वालों से कहूँगी?मैंने बोला- नहीं.