इंग्लिश सेक्सी बीएफ पिक्चर वीडियो

छवि स्रोत,बच्चों के पेट में मरोड़

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी गेम सेक्सी गेम: इंग्लिश सेक्सी बीएफ पिक्चर वीडियो, बॉस मुझे बहुत वासना भारी निगाह से देख रहे थे और मैं सर झुका के खड़ी थी.

सफेद बिल्ली का घर में आना

मेरी उम्र अभी 24 साल की है, मैं सूरत की रहने वाली हूँ, मेरा फिगर साइज 34-30-36 है. सेक्सी इंग्लिश फिल्मेंइस दौरान मैं चूत का दाना सहलाती रही थी जिस वजह से मैं 3 बार झड़ चुकी थी.

जहां नितम्बों की गोलाई ख़त्म होती है, वहाँ जहां गुदा और योनि के बीच की जगह पर वसुन्धरा की पेंटी में वसुन्धरा की चुनरी का सितारा अटका हुआ था. अंग्रेजी सेक्सी फिल्म अंग्रेजीजब तक मैं विरोध कर पाती, मेरी पैंटी मेरी कमर से निकल कर उनके हाथ में थी.

नम्रता ने अपनी बात खत्म की, तो मैं नम्रता से बोला- यार तुमने जो कहानी सुनाई है, उसको सुनते हुए मैं अपने लंड को भींच रहा था, मेरा रस निकलने वाला है, पीने का इरादा है क्या?पर यह क्या, तभी घंटी बज गयी और हम दोनों को वापिस अपने अपने क्लास में जाना पड़ा.इंग्लिश सेक्सी बीएफ पिक्चर वीडियो: राजेश मेरी चूतड़ों को दबाते गए और फिर फैला कर अपनी जीभ मेरी गांड में चलाते हुए चूत तक ले गए.

फिर कुछ देर बाद भैया ने उनको हाथ पकड़ कर उठाया, तो मैं समझ गया कि भाभी की चूत कुछ ज्यादा ही चुद गई थी, जिससे भाभी चल नहीं पा रही थीं.जब भी मैं किसी अच्छे दिखने वाले लड़के की तरफ देखता था तो मेरा ध्यान सबसे पहले उसकी पैंट की ओर चला जाता था.

राजस्थान सेक्सी वीडियोस - इंग्लिश सेक्सी बीएफ पिक्चर वीडियो

उसके शरीर पर चढ़ने से उसके शरीर से जो गर्मी निकलती थी, उसमें काफी आनन्द आ रहा था.उतने में उसने बोला- आपकी गर्लफ्रेंड बहुत लकी होगी, जिसे आप जैसा ब्वॉयफ्रेंड मिला है.

एक लंबा बैंगन मैंने छुपा कर रखा था, उसे भी अपनी फुद्दी में लेकर बहुत चुदाई करी. इंग्लिश सेक्सी बीएफ पिक्चर वीडियो 5 मिनट में ही वो चुदाई के लिए तैयार हो गई। तो फिर मैं उसके ऊपर चढ़ गया और उसकी चूत पर निशाना लगाते हुए उसका मुख अपने हाथों से बन्द किया.

मैंने उसकी चूचियों को कस कर भींचते उसकी चूत में दनादन धक्के लगाने शुरू कर दिये.

इंग्लिश सेक्सी बीएफ पिक्चर वीडियो?

उसके होंठों, गालों, आंखों और माथे पर चूम कर उसकी वक्षरेखा के बीच में चूम लिया. हम दोनों लोग पड़ोसी हैं लेकिन हम दोनों के बीच में एक परिवार की तरह प्यार है. फिर मैं दिलिया की चूचियाँ दबाने लगा और सारा की चूत में उंगली करने लगा.

फिर अचानक से उसने अपने दोनों पैर कुतिया की कमर पर लगा कर उसकी बुर को चोदना शुरू कर दिया. मैं उनके लण्ड को पूरी तन्मयता के साथ चाटने चूसने लगी, अंकल जी चुपचाप बुत बने खड़े रहे. वह शायद पहले से जानती थी कि मैं अगर उसके साथ बिस्तर पर हूँ तो जरूर कुछ न कुछ करूंगा ही इसलिए उसने अपने एक हाथ को आगे ले जाकर अपनी चूचियों को हाथ के नीचे छिपा लिया.

मैं बोला- जिस तरह अपने पति को गांव से शहर ले आई, उसी तरह यहां आ जा. मैंने कहा- वैसे मैं यहां बोर तो नहीं हुआ, पर मैं यहां किसी को जानता नहीं हूँ, तो ज्यादा व्यस्त रहने लायक भी कुछ नहीं है. फिर मैंने अपने हाथ से उनका लंड पकड़ा और अपनी चूत पर लगाया और उसको अंदर लेने की कोशिश करने लगी.

लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी क्योंकि मेरे लंड के बर्दाश्त करने की सीमा खत्म हो चुकी थी। दो-चार बार उसने लंड पर अपने होंठों को फेरा ही होगा कि लंड के अन्दर भरा हुआ वो ज्वालामुखी फटकर शुभ्रा के मुंह के अन्दर गिरने लगा. अचानक मेरे दिमाग में आया कि क्यों न अहमदाबाद जाने का प्लान किया जाए.

ऊऊऊऊं … मम्मय्मम … की आवाजें निकाल रही थी।दस-बारह जोरदार चपत लगाने के बाद मैंने लिफ्ट चालू कर दी और उसे लिफ्ट की दीवार में चिपका कर उसकी पीठ पर किस करने लगा.

मैंने फिर भी लंड को बाहर नहीं निकाला और एक आखिरी धक्का मारा तो पूरा का पूरा लंड साना की चूत में घुस गया.

मैंने कहा- क्यों उस बेचारी को परेशान करती हो? आ जाओ इधर!इधर हमारे लौड़े भी दूसरे राउंड के लिए तैयार हो रहे थे. जैसे ही मेरे मुँह से एक तेज़ आह निकली, संजना ने वैसे ही मेरा पूरा लंड अपने मुँह में घुसा लिया. नीता और पिंकी दोनों साथ में आ गईं और नितिन से अपने मन की बात बोल दी.

तीन या चार दिन के बाद रंजना ने मुझे एक लेटर दिया जिसमें लिखा था कि मैं उसको अरहर के खेत में जाकर मिलूं. बस आज कैसे भी करके उसको चोदना था … क्योंकि कल वो वापस जाने वाली थी. हम तीनों लटक कर एक दूर से उलटे घूम कर चूत में पेंच की तरह लण्ड को कस और ढीला कर रहे थे.

जबकि मैं टैक्सी के पैसे चुकाकर इधर-उधर देखते हुए रात के अंधेरे में खाली रोड पर टहलने लगा, जैसा कि मेरे उसके बीच में तय हुआ था.

फिर रमेश को देख रिया बोली- ये देखो डैड, तुमको ये देखकर अच्छा लगेगा।रमेश- क्या?रिया ने अपनी चूत फैला कर दिखा दी. भैया मुझसे हमेशा अकेले में बात करते थे और जब उनकी पत्नी मेरे साथ होती थी तो वो बहुत कम मुझसे बात करते थे. फिर भाभी ने मुझे धक्का दिया और बोलीं- छोड़ो मुझे कोई आ जाएगा, तुम्हारे भैया आ जाएंगे.

अगर चूत से बच्चियां निकालतीं तो शायद चूत का चौबारा हो जाता लेकिन ऑपरेशन के कारण चूत की कसावट ज्यों की त्यों सलामत रही. मैं सोच रहा था कि कब तुम्हारे इन प्यासे होंठों को मैं अपना पानी पिलाऊँगा. दवाई की ठंडक अन्दर गई … तो मैंने देखा कि भैया ने वही ट्यूब अपने लौड़े पर भी लगा ली है.

मैं मैच खेल कर सीधा चौराहे पर निकल गया … और ये तौलिया लेकर क्यों खड़ी हो?साली- वो आप हाथ मुँह नहीं पौंछेगे क्या?मैं- हां तो यहां रख दो और जाओ.

उन्होंने मेरे चूतड़ों को अपने हाथों से पकड़ कर अपनी तरफ खींचा और मुझे घोड़ी की पोजीशन में ले आये. अभी भी उनका एक हाथ मेरी चूत पर था और रह रह कर फांकों के बीच उंगली चला रहे थे.

इंग्लिश सेक्सी बीएफ पिक्चर वीडियो मैंने दिन में अपने बॉयफ्रेंड को कॉल करके बता दिया कि मैं अभी घर पर अकेली हूँ. फिर अगले दिन फिर से सुबह के ग्यारह बजे हम लोग प्रशिक्षण केंद्र में मिले.

इंग्लिश सेक्सी बीएफ पिक्चर वीडियो अब हम दोनों बारी-बारी से ऐसे ही एक दूसरे के अंगों के साथ खेलने लगे. उसने दूसरी तरफ मुँह कर लिया और कहने लगी कि मम्मी को आने में तो अभी काफी टाइम लगेगा.

आप लोगों के मेरी चाची के मेरी ये मदहोश कर देने वाली चुदाई की कहानी पढ़कर कैसा लगा मुझे इसके बारे में अपने विचार जरूर बतायें.

सेक्सी चित्र के साथ

मेरे बदन पर सिर्फ जांघों पर काले रंग की नेट वाली स्किन थी और हील्स थीं. उसके बाद वो भी गर्म हो गया और मुझे लिटा कर मेरी कमर के नीचे तकिया लगा दिया. नम्रता के कहने पर मैंने अपनी कोहनी और घुटने को पलंग पर टिकाया और घोड़े जैसी पोजिशन पर आ गया.

वहां आवश्यक फोर्मलिटीस के बाद मैंने ज्वाइन कर लिया और मेरी नौकरी शुरू हो गयी. मैं पसर कर लेट गया और नम्रता अपनी चूत में भरा हुआ माल लेकर मेरे मुँह पर आ गयी. बस फिर क्या था, धक्के लगने शुरू हो गए, मैं थक जाता, तो नम्रता ऊपर आ जाती.

आआईई ईई … अमित …” करके भाभी ने मुझे झटके से अपने से अलग किया और खड़ी हो गईं.

रितेश ने मीरा को छोड़ते हुए उसे बिस्तर पर लिटा दिया और अपनी टी-शर्ट व लुंगी को निकाल कर पूरा नंगा हो गया. कॉल लैटर मिलने के बाद मुझे अगले दिन प्रशिक्षण के लिए प्रशिक्षण केंद्र जाना था. उसने मेरी भाव-भंगिमा समझते हुए कहा- मेरी रानी … चल अब जल्दी से इसे चूस कर और बड़ा कर दे … मैं तुम्हें चोद कर खुश करना चाहता हूँ … और तेरी ख़ुशी तुझे इसी लंड से मिलेगी.

उसने इशारे से पूछा- कहाँ?तो मैं जवाब देने के बजाय उसके घर पहुंच गया. नम्रता ने गांड को अच्छे से चाटने लगी और अपने थूक से मेरी गांड को अच्छे से गीला करने के बाद एक बार फिर वो कुप्पी अन्दर डालने लगी. वो बोली- क्यों बे, तुझे मजा नहीं आया मेरी चूत चोदकर?मैंने कहा- अगर जीजू को पता लग गया तो?वो बोली- तेरे जीजू को कोई पता लगने देगा तब ना, वो तो हॉल में खर्रांटे ले रहे होंगे.

होटल के रूम में पहुँच कर मैं अंकल जी से लिपट गयी और उन्हें चूमने लगी. डॉक्टर ने कहा- मैं शाम को आ जाऊंगी, फिर सब कर के दिखाना, तब तक आराम करो.

पर जब खेल खेल में मैं उससे हार जाती या वो मुझसे हार जाता तो हम दोनों धींगा मुश्ती करने लगते थे. चांदनी भाभी- अरे विपुल कैसे हो … कब आए?मैं- मैं ठीक हूँ … मैं आज ही आया. मैंने झट से अपना हथियार निशाने पे लगाया और धीरे से एक झटका लगा दिया.

फिर हमने इमरजेंसी लाइट के लिए भी जुगाड़ किया लेकिन वो बैटरी वाली लाइट भी ज्यादा देर नहीं चली.

मैं भी आहें भरने लगी- आह्ह आह आह्ह थॉमस … बेबी फ़क मी … आह आह उफ़ उफ़ …थॉमस मेरे चूचों को चूमे जा रहा था और अपने मजबूत हाथों से मेरे मम्मों को मसल भी रहा था. लेकिन अब मैं क्या करूँ? कैसे शांत करूं इसको?जीजा ने मेरी बात का कोई जवाब न दिया. उस स्टोर रूम में सिर्फ अम्मी एवं अन्य घर के सदस्य को छोड़कर कोई नहीं जाता है.

सुबह 8 बजे मेरी आँख खुली तो मैं बिल्कुल नंगा अपने बेड पर पड़ा था और दीपिका अपने बेडरूम में जा चुकी थी. मेरी जान ये करतूत नहीं, हमारे तुम्हारे प्रथम मिलन की निशानियां हैं, यह लुंगी तो मैं सुखाकर जिंदगी भर संभाल कर रखूंगा.

अनिल भैया अब बिना हिले ऐसे ही बिना मेरे शरीर पर कोई वजन डाले, अपना पूरा नौ इंच का लंड मेरी गांड में फंसाये हुए थे. फिर पापा ने मम्मी की टांगों के बीच में उंगली डाल दी और आगे पीछे करने लगे. दीपाली- तो सिर्फ देखेगा कि कुछ करेगा भी?मैं- मैंने तेरी नाईटी ऊपर कर ली है.

दिल की रानी सेक्सी वीडियो

उधर एक दिन मेरी बात मानसी से हुई जिसकी आईडी हमेशा मानसी (25) के नाम से होती थी.

साथ साथ लौड़े को पुचकारती भी जाती थी- हाय मेरे सण्ड मुसण्ड … कितना सख्त है तू … अब लूट अपनी मालकिन की चुसाई का मज़ा. सूसू से फ़्री होकर गुड्डी रानी ने दुबारा से कहा- मुझे तो बड़ी भूख लगी है कुछ मंगाएं खाने को?बेबी रानी ने भी कहा- हाँ हाँ … मेरे पेट में भी चूहे दौड़ रहे हैं. आशा करती हूँ कि आपको मेरी यह नई कहानी भी उतनी ही पसंद आयेगी और आप इसका पूरा मजा लेंगे.

घर पहुंचकर मम्मी ने दो कप चाय बनाई और मुझे अपने कमरे में बुलाया और बैठा कर बोली- देखो बेटी, आज मैं जो बता रही हूं ध्यान से सुनना. मेरे लंड से टपकती आखिरी धार को साफ़ कर लेने के बाद वो मेरे मुँह के पास आए और मुझे चूमकर मेरे ही रस का स्वाद चखा दिया. सेक्स अंग्रेजी सेक्स अंग्रेजी सेक्सये देख कर नम्रता बड़ी खुश हुई और फिर उसके बाद कुप्पी को गोल-गोल घुमाते हुए उसने कुप्पी के लम्बे भाग को पूरा अन्दर पेल दिया.

हम दोनों लोग पड़ोसी हैं लेकिन हम दोनों के बीच में एक परिवार की तरह प्यार है. वो ज़ोर ज़ोर से बड़बड़ा रही थी- ‘आहह उह ऊहह उम्म्ह… अहह… हय… याह… चाटो आअहाहह … मज़ा आ रहा है.

” उसने झुंझलाते हुए से कहा।ओह … सॉरी जान … अगर तुम पेट के बल होकर लेट जाओ तो बड़ी आसानी होगी. मंत्र-मुग्ध होकर नम्रता उठी और गोल-गोल होकर नाचने लगी, उसकी पायल की झनकार मेरे कानों में रस घोल रही थी. खाने के बाद मैं तो अपना मोबाइल लेकर बैठ गया और वो अकेले खाना खाने बैठ गई.

तभी शीना भी संजना का साथ देने के लिए मेरा लंड अपने मुँह में लेने के लिए आगे आ गई. लंड जब चूत में उतर जाता तो चाची इधर उधर हिलते डुलते हुए लंड का पूरा मजा चूत में फील कर रही थी. सुमीना बोल रही थी- बस आआह आआअ आह आअह हहह उम्म मम्मह अआआ आअ आउउ उउउ पापा खा जाओ … पी जाओ मेरी चूत को … बहुत तड़पती है ये!और नीचे से अपने नंगे चूतड़ उचका उचका कर अपनी चूत को अपने पापा के मुँह पर रगड़ रही थी.

घोष के साथ तो मेरी जिन्दगी बर्बाद ही हो जाती।कुछ देर बाद मैंने उसे फिर से अपने ऊपर आने को कहा.

”ओह … और आपका खाना कौन बनाएगा?” मैंने पूछाकोई पक्का नहीं बेटा, होटल में खा लूंगा या फिर कभी कभी खुद भी बना लूंगा; थोड़ा बहुत आता है मुझे!” अंकल जी ने कहा. डॉक्टर- क्या सेक्स करने के बाद तुम बैठकर पढ़ती हो, तो क्या तुम्हारा ध्यान भटकता है? दोबारा सेक्स की तरफ जाता है?मैं- जी डॉक्टर, मैं सेक्स करने के बाद तो खूब दिल लगा कर पढ़ती हूँ और मेरा ध्यान इधर उधर नहीं भटकता है.

पैर अंकल के पैरों पर रखे और मेरी उंगलियां उनके सीने के बालों में घुमाते हुए उनसे पूछा. सुमन जोर से चिल्लाई- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मम्मीईई ईईईई नहीईई ईई! नहीं … मत करो … मर जाऊंगी. उसने भी अपनी चूत को मेरे लंड के साथ कदम से से कदम मिलाकर उठाना गिराना शुरू कर दिया.

लंड बड़ी तेज़ी से उसका पूरा मुंह पार करता हुआ धड़ाम से उसके गले से जाकर टकराया. थॉमस ने मेरा पूरा मुँह अपने पानी से भर दिया था … और मैं बिना किसी शर्म के थॉमस का सारा पानी रोहन की नजरों के सामने पी गयी. नीतू … देखो कैसे अच्छे से पकड़ा है तुम्हारी फुद्दी ने मेरे लंड को, आहहहह … बहुत टाइट है तुम्हारी चुत.

इंग्लिश सेक्सी बीएफ पिक्चर वीडियो अगर तुमको मेरी बात मंजूर है तो रुकना … नहीं तो कपड़े पहन के चली जाना, मैं बुरा नहीं मानूँगा. फिर सोने से पहले मैंने उसके होंठों को चूमा और उसके पेट को हाथ से कसकर पकड़कर सो गया.

भारतीय सेक्सी पिक्चर बीपी

तभी मेरे भाई के खांसने की आवाज हुई और मैं तपाक से उठ कर अपने बॉक्स पर पहुंच गया. वो आई-पिल दिखाते हुए बोली- तुम बस जो चाहते हो, खुल के करो मेरे साथ, अब मैं सिर्फ तुम्हारी हूँ। तुम मेरे लिए पति से भी बढ़ कर हो।अपनी बड़ी बहन को ऐसा बोलते देख मैं उत्तेजित हो गया। मैंने उसे अपनी तरफ खींचा और उसके होंठों पर होंठ रख दिए. वो- क्या हुआ जानू … प्लीज़ समझा करो! अभी तो बस मैंने तुम्हें पास से देखने के लिए बुलाया था.

फिर वो समय आ ही गया और मैं और नम्रता एक-दूसरे का हाथ पकड़े बैठे हुए थे. भाभी नीचे से अपनी गांड को हिचकोले ले ले कर मुझसे चुदवा रही थीं और मैं जोर जोर से उनकी गर्म चूत को चोद रहा था. डब्ल्यू सेक्सी व्हिडिओमैं डर रहा था कि कहीं ये मामी को मनीषा और मेरी चुदाई के बारे में बता न दे.

करीब रात 11:30 बजे उसका फोन आया और उसने कहा- तुम जल्दी आ जाओ, सब सो रहे हैं.

जब नींद खुली तो मेरे शरीर ने कहा कि बेटा चुदाई बहुत हो गई … चल कुछ खा पी भी ले. एक बार हमने फाइव सम भी किया था, वो ग्रुप सेक्स कहानी मैं आप लोगों को अगली बार की कहानी में बताऊंगा.

थोड़ी देर में मीना अपनी पिछवाड़ा ऊपर की तरफ उछालने लगी और एक ज़ोरदार प्यार की जंग उस कमरे में छिड़ गयी. जब भी मौका मिलता था, मैं उसकी साड़ी उठा कर उसकी पैन्टी नीचे कर देता था और नीचे बैठ कर कभी चूत चूमता, तो कभी उंगली से चूत के दाने को मसल देता था, तो कभी मेरे लंड से चूत के ऊपर रगड़ता था या तो मेरी जानू की कोरी चूत के अन्दर लंड डाल देता था. मैं- तुम्हें पोर्न में सबसे अच्छा क्या लगता है?दीपाली- जो चुत चाटते हैं ना, वह बहुत पसंद है मुझे.

रमेश- क्या चाहिए कुत्ती खुलकर बोल? रमेश उसके बाल खींचते हुए बोला।रिया- लण्ड … आपका लण्ड मुझे मेरी गांड में चाहिए डैडी। मुझे अपने लंड का ईनाम दे दो डैडी।रमेश- भीख मांग लण्ड के लिए।रिया- प्लीज डैडी, मैं आपके लंड की भीख मांग रही हूं.

आज पहली बार मैं अपनी माँ को नंगी देख रहा था मगर मुझे कुछ समझ नहीं थी. अंकल की उंगली से मेरी चुत की खुजली कुछ कम होने लगी तो मेरी कमर अपने आप हिलने लगी. हीना जितने लंड को अपने मुँह में गले तक ले सकी, वो उतने से ही अपने काम में तल्लीनता से लग गई.

बाप बेटी सेक्स स्टोरीऐसे ही कुछ दिन बीत गए और मैंने उसको प्रेम-पत्र देने का विचार बना लिया. अंकल से चुदते वक्त पेट से रहने का ख्याल मेरे दिमाग में नहीं आया, पर दो तीन दिन बाद उसका डर मुझे सताने लगा था.

कॉलेज की सेक्सी कॉलेज की

उसके बाद तो मैंने अपने पति के अलावा किसी मर्द की तरफ आंख उठा कर भी नहीं देखा. उसकी आवाज़ काफी ऊंचे स्वर में निकल रही थी, लेकिन आस पास किसी के होने का कोई डर नहीं था. उसने मुझे कॉल करके बताया कि उसने डॉटेड वाले कंडोम का पैकेट खरीद लिया है.

”फिर उपिंदर फ़ोटो लेने लगा।और अंशु ने मुझे मंगल सूत्र पहनाया- मेरी जान ये तुझे 24 घण्टे पहन के रखना है, घर में भी बाहर भी!जी पतिदेव!”फिर मेरे दोनों पतियों ने मेरे होंठों को चूमा।उसके बाद…आ जा मालिनी, अब तुझे बेटी की शादी की बधाई देते हैं. उनकी चूत बार बार मेरे लंड पर कस जाती थी, जैसे चूत लंड को निचोड़ रही हो. तीन बार झड़ के और कुछ सुस्ता के भूख भी लग आयी थी तो फटाफट से मैंने दूध का गिलास खाली कर दिया.

बेशक दोनों लाल हो गयी थीं … दुःख भी रही थीं … पर जो सुख मिला था, वो बहुत बड़ी बात थी. वह बोली- मैंने आपके लिए बादाम का दूध बनाया था, मैं तो भूल गई थी! एक बार छोड़ो!वह उठ कर नंगी किचन में गई और एक बड़ा गिलास बादाम का दूध लाकर मुझे दिया. मैं चुपके से जाकर उनकी लुंगी में घुस गई और उनकी चड्डी नीचे खींच ली.

और उसके बादमैं उठा और पूरी ताकत से अपने लंड को पकड़ कर उसकी चूत में डालने लगा. नीतू अब पेट के बल लेट जाओ, कल तुम्हारी पीठ की चुम्मी लेना ही भूल गया.

लेकिन उसकी आंखें सब बयान कर रही थीं।मैंने गाड़ी साइड में रोकी, उसे अपनी तरफ खींच कर गले से लगा लिया। वो मेरे से कस कर चिपक गयी। आँखें बंद कर ली हमने।कुछ समय बाद वो सामान्य हुई, मैं उससे अलग हुआ।मुझे पास में एक कैमिस्ट शॉप दिखी.

एक क्षण … मात्र एक पल और … और सब स्वाहा!फिर न तो राजवीर बचता, न वसुन्धरा बचती और न ही बचती कोई सामाजिक वर्ज़ना. नया गांव की सेक्सी वीडियोउससे ठीक से उठा नहीं जा रहा था तो मैंने उसकी मदद की और उसे बाथरूम तक ले गया. जापानी सेक्सी वीडियो पिक्चर”क्यों अंकल?”आखिरी चैप्टर शुरू करना है ना!”मैं नीचे खिसकी और पैर नीचे छोड़ दिए, अब मैं सिर से कमर तक बेड पर लेटी थी और पैर घुटनों से फोल्ड करके जमीन पर रखे हुए थे. चार बजने में आधे घंटे का ही समय रह गया था और मैं अभी तक किसी संतोषजनक निर्णय को लेने में सफल नहीं हो पायी थी.

मुझे अंदेशा हो रहा था कि वसुन्धरा जरूर कुछ नाक़ाबिले-यक़ीन कहने वाली थी.

हैलो फ्रेंड्स, कैसे हो? आप सबको मनु वैभव के खड़े लंड का नमस्कार! लड़कियों और भाभियों एवं चाचियों की बुर में गुदगुदी मचाने को एक बार फिर से मैं तैयार हूँ. अनिता को दर्द हुआ और मुझे धकेलने लगी लेकिन मेरी पकड़ मजबूत होने के कारण वह कुछ नहीं कर सकी. मैं इतना कुछ बोले उसके लंड को पकड़ कर देखने लगी, फिर घुटने पर बैठ कर मैं लंड सहलाने लगी.

फिलहाल वो बस मजे ले रही थी … ना उसके मुँह से कुछ आवाज निकल रही थी … और ना ही वह कुछ कह रही थी. दोस्तों मैं तो रोज रात को उसके चूतड़ों को याद करके मुठ मार कर सोता था. मैंने अपने सैयां के लॉलीपॉप से लंड को गप अपने मुँह में भर लिया और गले तक घुसेड़ कर लंड चूसने लगी.

हिंदी सेक्सी पिक्चर लड़की की

इधर मेरा बायां हाथ ब्लाऊज़ के ऊपर से ही वसुन्धरा की पीठ पर ऊपर से नीचे गर्दिश कर रहा था. फिर मेरे दिमाग ने सोचा कि ससुरजी भी हो सकते हैं क्योंकि सासु माँ को गुजरे हुए भी कई साल हो गये. तभी शुभ्रा ने मेरे हाथ में जोर से चुटकी काट ली जिससे मेरा हाथ स्वत: ही उसके मुंह से हट गया। जैसे ही मैं उसके चुटकी काटने से बिलबिलाया और मेरा शरीर ढीला पड़ा तो शुभ्रा ने मुझे पीछे धकेल दिया। मैं लगभग गिरते पड़ते जमीन की तरफ लुढ़क गया।वो तो अच्छा रहा कि मैंने अन्तिम समय पर अपने आपको संभाल लिया नहीं तो पास पड़ी टेबल से मेरा सर लड़ जाता.

जब मैं अपनी 20-25 पिचकारी शीना की चुत में खाली कर चुका, तो शीना को देख कर उससे इशारों में ही पूछने लगा कि उसने ऐसा क्यों किया.

मैं हंस कर बोली- क्या मैं पहले सुन्दर नहीं थी?वंश बोला- वो बात नहीं है मम्मी.

वैसे तो मैं समझ गया था लेकिन मैंने अनजान बनते हुए भाभी से पूछा- भाभी, मैं कैसे रोक सकता हूँ?भाभी- राज, मैं इनकी माँ हूँ. फिर नाईटी को ऊपर कर कर मेरी जांघों को चूमने लगे और नाईटी के अन्दर हाथ डालकर मेरी बुर में उंगली डाल कर साथ ही दूसरी उंगली से मेरी गांड कुरेदने में लग गए. लड़की से बात करने के नंबरतब मुझे कहीं थोड़ी थकान महसूस हुई तो मैंने थोड़ा विश्राम लेने की और अनिता को थोड़ा और गर्म करने की सोची.

मेरी नज़र का अनुसरण करते-करते वसुन्धरा ने भी मेरे सूटकेस को देखा और मेरा मंतव्य समझ गयी. साली जी का चुदने से प्रथम स्खलन हो रहा था और उनके मुख से अस्पष्ट सी आवाजें आने लगीं थीं. उसने मेरी तरफ सवालिया नजरों से देखा तो मैंने कहा- अर्चना जी आप खाना खा लीजिए … मैं ऑफिस में बैठा हूं.

”क्यों?”वो बोली उसे यह सब बिल्कुल अच्छा नहीं लगता?”नखरे करती होगी साली!”आज पहली बार नताशा के मुंह से मैंने गाली सुनी थी।जबरदस्ती ठोक देते साली को?”अरे नहीं … मेरा मानना है प्रेम संबंधों में कभी इतना रयूड (कठोर-अभद्र) नहीं होना चाहिए. उसने उसको मुंह में लेकर एक बार जोर से चूसा और अपनी आंखें बंद कर लीं.

मैंने अपने दोनों हाथों से उसके चूतड़ों को पकड़ा और जोर जोर से उन्हें आगे पीछे करके अपने लंड पर मारने लगा.

वो वन पीस सिल्की नाइटी पहन कर आई थी, जो सामने से खुली रहती है और एक तरह से सुविधाजनक ही रहती है. मेरी चूत को सहलाने के बाद वो मेरी कुर्ती के ऊपर से मेरी चूची को दबाने लगा. ”यह सब करते हुए करीब दस मिनट हो गया था और मेरी भी सांस फूलने लगी थी.

करीना कपूर की फैमिली मेरे मुंह से अनायास ही निकल पड़ा- आह्ह … चाची … आप तो कमाल हो!चाची ने अपनी नजर उठाई और मेरी तरफ आंख मारकर फिर से मेरे लंड को लोअर के ऊपर से ही चाटने लगी. उनकी उखड़ती सांसें और उनकी चूत के मेरे लंड पर गहरे हो रहे धक्के इस बात का सुबूत थे कि वो भी स्खलन के करीब पहुंच चुकी है.

उधर संजना भी अब तक संभल चुकी थी और उसने मेरे पीछे आकर मुझे पकड़ लिया. मेरी चूची और गांड का आकार भी बहुत अच्छा है, जिससे मैं और भी ज्यादा सेक्सी और कामुक लगती हूँ. मेरी उंगलियों पर उसकी चिपचिपी लार लग गई थी जिसे मैंने मुंह में लेकर चाट लिया.

तुम्हारी लड़की का सेक्सी वीडियो

हीना को अब जो आनन्द मिल रहा था, उसका बखान उसके अलावा और किसी के वश में नहीं हो सकता था. उसके बॉयफ्रेंड के साथ उसका ब्रेकअप। हवा के झोंके से उसके बाल उसके चेहरे पर आ रहे थे।मैंने बालों को उसके चेहरे के ऊपर से हटाया और उससे पूछा- क्या हुआ?वो मेरी तरफ देख के मुस्कुरायी और बोली- कुछ भी तो नहीं. बताओ मैं क्या करूं? इसीलिए मैं इस दुविधा में हूं और तुम्हारी मदद चाहता हूं.

उस दिन मैं उसकी गांड भी मारना चाहता था मगर शिखा इसके लिए तैयार नहीं थी. मैंने उसको देखते ही कहा- बड़ी खुश लग रही हो?नम्रता- हां है ही खुशी वाली बात.

वो बोले- अरे पगली, रो क्यूं रही हो? अगर ट्रान्सफर करवाना है तो पजामी तो तुमको मेरे सामने ढीली करनी ही होगी.

भाभी एकदम से कामुक सिस्कारियां लेने लगीं और ‘आह्ह्ह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… अह्ह …’ करते हुए उस आदमी का सर अपनी चूत पे दबाने लगीं. वो- क्या हुआ जानू … प्लीज़ समझा करो! अभी तो बस मैंने तुम्हें पास से देखने के लिए बुलाया था. उसकी चूत में जबरदस्त चिकनाई आ गई थी जिस वजह से मेरा लंड सटासट अन्दर बाहर होकर उसकी बच्चेदानी तक जाकर उसको चुदाई का मजा दे रहा था.

इस पोज़ में लेटकर लंड सीधा कंचन की चुत में डाल दिया। और चाची जो कंचन के पैरों की तरफ टांगें फैला कर बैठी हुई थी, उनकी चुत चाटने लगा. जीजा ने मेरी चूत पर लंड रगड़ा तो मैं कह उठी- आह्ह, आशीष तुम्हारा लंड कितना गर्म है. मैं उसको फिर तेज तेज चोदने लगा और कमरे में हम दोनों की सिसकारियां गूंजने लगीं.

बस तुम तैयार रहना उसके स्वागत के लिए!थोड़ी असमंजस में रकुल- ओके जान। बस थोड़ा डर है कि कहीं कुछ गलत न हो जाये.

इंग्लिश सेक्सी बीएफ पिक्चर वीडियो: और तुम सिर्फ होटल में बैठी थीं … कुछ और तो नहीं करने गई थी ना!मीता- नहीं, मैं उससे सिर्फ बात करने गई थी … थैंक्स. मैं कभी-कभी रात को भी भैया के घर जाती हूँ घूमने के लिए, तो उनकी पत्नी मुझे खाना खिलाये बगैर मुझे घर से आने नहीं देती है.

मेरी चूची पर अपना माल छोड़ने के बाद वो मेरी चूत को चाटने लगे और मैं उनके माल को साफ़ करने लगी. मेरी चूत पानी पानी हो रही थी, डर भी लग रहा था कि कहीं कोई और इस गेरेज में ना आ जाए और हमे देख ना ले. मेरी रोमांटिक कहानी के दूसरे भाग में अब तक आपने पढ़ा कि मैंने अपने प्यार का इजहार अदिति से कर दिया था, जिसको उसने बड़े ही प्यार से स्वीकार कर लिया था.

फिर नम्रता ने मुझे कमर से जकड़ लिया और मेरे निप्पलों को बारी-बारी से चूसने लगी.

बस एक बार फिर जीभ ने जल्दबाजी कर दी और बिना इजाजत लिए उस छेद के अन्दर प्रवेश कर गया और अपना काम करना शुरू कर दिया. इसके बाद जब भी मौका मिलता पिंकी और नीता दोनों एक साथ चुद लिया करती थीं. आह्ह्हह माँआआआ आआ … अर्जुन उफ्फ … जोर से चोदो मेरे राजा … फाड़ दो मेरी चूत को … आह्ह्हह उम्म्म आह्ह्ह!” मेरी ऐसी आवाजों से कमरा भर गया.