12 साल की लड़कियों की बीएफ

छवि स्रोत,मराठी फिल्म बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सपना चौधरी ब्लू फिल्म: 12 साल की लड़कियों की बीएफ, मेरी चूत से इतना पानी निकल रहा था और हालत ऐसी हो गई थी कि पैंटी सामने से पूरी तरह से गीली हो गई और मेरी जांघों से पानी बहता हुआ नीचे फर्श पर जाने लगा.

बीएफ सेक्स बिहार

आलिम साहब- देखो नगमा जान, समझने की कोशिश करो, मैं तुमको इधर हमेशा के लिए नहीं रख सकता. सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर ब्लू पिक्चरतभी वो चीखी, मगर मैंने एकदम से उसके होंठ अपने होंठों में लेकर उसे चीखने नहीं दिया.

मैंने जोर से उसका सर नीचे तकिया पर पटका क्योंकि उसकी चीख से कोई और आ सकता था. बीएफ कार्टूनों कीअचानक मेरे पेट से गुड़गुड़ गुड़गुड़ आवाज आने लगी और पींपूं करके धीरे से मेरी पाद निकल गई.

उसकी सांसें किसी धौंकनी की तरह तेज तेज चल रही थीं और दिल जोर जोर से धड़कने लगा था.12 साल की लड़कियों की बीएफ: मैंने मॉम को अपनी बांहों में भर रखा था और मैं उनके होंठों को चूस रहा था.

मैं- लेकिन आपा, मेरी सहेली ने ऐसा क्यों कहा कि मैं फट जाऊंगी?आपा- अरे पगली, उसका यह मतलब नहीं था.कुछ ही देर में मैंने उसकी चूत और गांड के छेद को साफ़ कर दिया व उसने मेरे लंड को.

सेक्सी वीडियो बीएफ फिल्म फुल एचडी - 12 साल की लड़कियों की बीएफ

मैंने उसके स्तनों को कई बार छुआ था लेकिन आज मैं उन्हें लगातार टच कर रहा था और अब ये मेरे लिए असहनीय हो गया था.मैंने कहा- अच्छा वो सब देख कर क्या लगता है?वो मेरी तरफ देख कर हंसने लगी.

मैं उसका पेट, उसकी नाभि को चूमने लगा और मेरा हाथ उसकी चूत की गहराई को नापने लगा. 12 साल की लड़कियों की बीएफ मैं अपनी पढ़ाई के चलते शहर में रहने लगा था और वो गांव में ही रह रही थी.

ऐसे ही लगभग 2 महीने बीत गए लेकिन अभी तक ऐसा कुछ भी नहीं हुआ जिससे मैं उससे कुछ कह पाता.

12 साल की लड़कियों की बीएफ?

आपको मेरी ये वर्जिन ऐस फक़ स्टोरी कैसी लगी, प्लीज आप मुझे कमेंट करके जरूर बताएं. फिर सविता ने इसके लिए क्या क्या किया?क्या सविता इस काम में सफल हो पाई?शादी के बारे में आयुष का मन कैसे बदलेगी सविता? यह जानने के लिए सविता भाभी एपिसोड 35 का वीडियो देखें।. मैंने अपनी स्पीड और चाची ने अपनी बढ़ा दी और थप थप थप की आवाज़ तेज हो गई.

मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि जिसके लिए मैंने सब कुछ किया, वो आज मेरी बांहों में समाई हुई है. मैंने और नीना ने तापोश और सोनी के हाथ पांव पलंग के चारों कोनों में बांध दिए. यह बोलकर अब्दुल ने मेरी चूत में अपना लंड पेल दिया और घपाघप धक्के मारने लगा.

वो अपने हाथ मेरे सर पर, कंधों पर, पीठ पर घुमा रही थी और मैं साक्षी के दोनों चूचों को जोर जोर से होंठों में लेकर दबा दबा कर पी रहा था. फिर उसने एक हाथ से मेरा मुँह पकड़ा और मुझे जोरदार किस करता हुआ मेरी चूत में धक्के देने लगा. उसके बाद मैं मॉम को बेड के किनारे पर लिटा दिया और खुद नीचे खड़े होकर उनकी गांड की खूब चुदाई की.

इसके आगे की सेक्स कहानी जानने के लिए मुझसे जुड़े रहें और आपको ये हॉट बेब देसी कहानी कैसी लगी, इसके बारे में[emailprotected]पर मेल करके जरूर बताएं. करीब 5 मिनट चूत चुसवाने के बाद वो बोली- मेरे पति ने इससे अच्छी तरह से चूत और गांड नहीं चाटी है, जिस तरह से तुमने चाटी है.

फिर मैंने उसको अपना व्हाट्सैप नंबर दिया और हम व्हाट्सैप पर बात करने लगे.

मुझे लंड छूने का अनुभव नहीं था फिर भी ऐसे माहौल में लंड पकड़ने पर मुझे कोई परेशानी नहीं हुई.

माधुरी अपनी ही धुन में बताती जा रही थी- फिर मैं उठ कर बाथरूम में आ जाती हूँ और उंगली से अपने आपको शांत कर लेती हूँ. तब भी मैं भाभी की मादक जवानी को याद करके और उनके बारे में सोच कर हर रात मुठ मारता था. मैं छुप छुप कर उसको ही देख रहा था और वो भी कभी कभी लेडीज कस्टमर्स बात करते करते कांच से मुझे देख रही थी.

भाभी से मेरी दोस्ती कैसे हुई? वो कैसे चुदी?दोस्तो, मैं एक 21 साल का लड़का हूँ. मम्मी हंस कर बोलीं- क्या हुआ? कोई बुरा सपना देख रहा था क्या?मैंने बोला- नहीं. मॉम का मुँह चूसने चाटने के बाद मैं अपने सारे कपड़े उतार कर पूरा नंगा हो गया.

मैं उनकी चूचियों को याद करके ब्रा नाक से लगा कर ऐसा महसूस करता रहा, जैसे मैं मामी की चूचियों में अपना मुँह घुसाए हुए हूँ.

उसकी स्पीड किसी एक्सप्रेस ट्रेन की तरह मेरी बुर पर चल रही थी, जिससे पूरी कमरे में मेरी सिसकारियों और पच पच की आवाज गूंजने लगी थी. मैं लंड को आधे से अधिक बाहर निकालता और फ़िर झटके से पूरा अन्दर डाल देता. मेरा लंड भी कड़क होकर कोमल की सलवार के ऊपर से उसकी चूत के ऊपर ठोकर मार रहा था.

मैंने कोमल के हाथों को अपनी टाई से बांध दिए और अपना मोटा लंड कोमल की चूत से टच कराने लगा. मैं उसको अपनी तरफ खींचते हुए उसकी चूत चाटने लगा।वो भी मदहोश होके बोलने लगी- उम्म आह म्म्ह … हां और तेज चाटो आर्यन … और तेज … कब से भरी पड़ी थी टंकी … आज खाली कर दो इसे!मैं भी तेजी से उसकी चूत चाटने लगा और अपनी जीभ उसकी चूत के अंदर डाल कर उसके चूत के दाने के साथ खेलने लगा. मेरा Xxx बॉयफ्रेंड अब सीधा मेरी चूत के पास आया और मेरी पैंट व पैंटी एक साथ उतार कर साइड में रख दिए.

मैं उसे डांटते हुए बोला- ये रोज क्यों करती रहती हो?वह भी बिना डरे बोली- आप भी तो करते हो.

मैंने कॉटन की पतले कपड़े की शर्ट पहनी हुई थी और अन्दर बनियान भी नहीं पहनी थी, जिस कारण मुझे उसके हाथों का गर्म स्पर्श एकदम से ऐसे अनुभव हुआ, जैसे उसने मेरे नंगे बदन को स्पर्श किया हो. जब मैं किशोरवय था, तभी से सेक्स कहानियां पढ़ रहा हूं और मैंने काफ़ी लड़कियों व औरतों के साथ ऑनलाइन सेक्स चैट भी की है.

12 साल की लड़कियों की बीएफ फिर निखिल अपने कपड़े उतारने लगा, धीरे धीरे सरे कपड़े उतार दिए।अब निखिल मेरे सामने नंगा खड़ा था. सोते हुए में मेरी मॉम बहुत ही सेक्सी लग रही थीं और उनके ब्लाउज में से मुझे उनके आधे से ज्यादा बूब्स नंगे दिख रहे थे.

12 साल की लड़कियों की बीएफ चाची मुँह में वीर्य लेकर गटगट करके पी गईं और लंड को चाट चाट कर साफ़ कर दिया. मैंने जोर से उसका सर नीचे तकिया पर पटका क्योंकि उसकी चीख से कोई और आ सकता था.

’इस दरमियान मैंने भी अपनी पैंट उतार दी और उसकी चूत पर हल्की हल्की चुम्मी करने लगा.

एचडी मूवी सेक्सी वीडियो

आंटी रोज आकर देखती थी कि यह सफेद सफेद क्या हुआ है कपड़ों में!उन्हें क्या मालूम कि मैं मुठ मारा करता था और उनके कपड़ों में अपना सारा माल छोड़ देता था।रोज रात को मैं सोते हुए उन्हें बस चोदने का सपना देखता रहता था. तभी मेरा बदन झटके खाने लगा और जलालुद्दीन भी मुझे भद्दी भद्दी गालियां देते हुए अचानक झटके खाने लगे. शेखर को निकले पंद्रह मिनट हो गए तो ड्राइवर मेरे पास आकर बोला- मैडम, आपके चिल्लाने की आवाजें दूर दूर तक आ रही थीं.

पहले तो वह मुझे हटाने की कोशिश कर रही थी लेकिन अब शायद उसे भी मज़ा आने लगा था. मैं उसके कड़े स्तनों को कैद में लिए हुई उसकी सूती ब्रा को महसूस कर सकता था. अब बस मैं इस इंतजार में था कि बस पापा जल्दी से जाएं और मैं मां चोदने का अपना सपना पूरा करूं.

वो मुझसे बहुत प्यार करती थी और बिलकुल अम्मी की तरह मेरा ख्याल रखती थी.

बहुत आनाकानी करने के बाद उसने लंड चूसना शुरू किया।चूसते चूसते वापस उसकी चूत में खुजली होने लगी और वो अपनी चूत को सहलाने लगी।क्या हुआ? मन नहीं भरा क्या?” मैंने पूछा. जांघों पर हाथ फेरते फेरते शेखर का हाथ मेरी चूत तक आ गया और वो सलवार के ऊपर से ही मेरी चूत सहलाने लगा. दोस्तो और मेरी सहेलियो, ये बात उन दिनों की है, जब सभी जगह लॉकडाउन लगा हुआ था.

वो खुद को रोकने के लिए कुछ कर भी नहीं पा रही थी क्योंकि मेरी सेक्सी सिस्टर की चूत से पानी गिरने वाला था. और दूसरी तरफ माधुरी ने भी न जाने कितनी दफा मेरे मुँह में अपनी जुबान डाल कर मुझसे चटवाई, ये उसे भी याद नहीं था. उसके छोटे छोटे सेब के आकार के चूचे बिल्कुल कड़क थे, लगता था जैसे कभी किसी ने दबाए ना हों.

उसका पेट बहुत ज्यादा तेजी से ऊपर नीचे हो रहा था और मुझे उसकी हंसी सुनाई दे रही थी. वो किसी मछली बिन पानी जैसी मचल रही थी, मेरी गांड पे हाथ रख कर सहला रही थी।मैं अपने लंड को उसकी चिकनी चूत में आता जाता देख कर और उत्तेजित हो गया और अब मैं और ज़ोर लगाने लगा.

मैंने चाय की ट्रे कमरे के बाहर ही रखी और सोचा कि‌ लाओ कपड़े डालकर मशीन चला‌ देता हूं‌ … और फिर आराम से बैठकर मैं और आंटी चाय पियेंगे. इशारा पाते ही मैंने उन्हें अपनी गोद में उठाया और उन्हें ऊपर ले गया. उसका सीधा हाथ मेरे पेट से धीरे-धीरे ऊपर मेरी छाती की तरफ सरक रहा था.

पानी की कुछ बूंदें नीचे गिर रही थीं जिस वजह से उसका ब्लाउज भीग गया था.

मेरे अंदर हवस उठने लगी तो मैंने भी अपनी सलवार खोल दी और शेखर ने अपना हाथ अंदर डाल दिया. मैं अपने एक हाथ से उनके मम्मों को दबा रहा था और दूसरे हाथ से उनकी चूत में उंगली करने लगा था. मुझे ऐसा लग रहा था जैसे उसके पति ने कभी उसकी गांड नहीं चाटी थी और वो कमी आज मैं पूरी कर रहा था.

वो एकदम से हैरान हो गई पर उसे मजा आ रहा था इसलिए उसने कुछ नहीं कहा. मैं बहुत बार उन सुंदर महिलाओं के बूब्स भी देख लेता था, जब वो नीचे खड़ी होती थीं और मैं कुछ ऊंचाई पर खड़े होकर उनके घर में काम कर रहा होता था.

कभी मैं ऊपर की तरफ़ रगड़े मारता, कभी हल्के जोर से लंड का टोपा उसकी चूत में घुसाने की कोशिश करता. हम दोनों को इस चुदाई का अवसर कैसे मिला? हमने क्या क्या किया? सब पढ़ें इस कहानी में!नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम जय कुमार है और मैं राजस्थान में रहता हूं. चाची बेड पर घुटनों के बल बैठी हुई थीं मैं बेड पर ही खड़ा हो गया और लंड को चाची के मुँह में डालकर ज़ोर ज़ोर से धक्के लगा कर लंड को गले तक डालने लगा.

సెక్స్ తెలుగు వీడియో

जलालुद्दीन बोले- मेरा पानी निकलने वाला है जान, चूत में लोगी या मुंह में?मैंने कहा- अभी तो मुंह में ही लेना चाहती हूँ.

दोस्तो, मैं अपने खुद के तजुर्बे से बोलता हूँ कि जब भी रात को आप मुठ मारकर या चुदाई करके सोते हो, तो बड़ी चैन की गहरी नींद आती है. मेरे दोनों गोरे गोरे दूध टमाटर की तरह लाल हो गए और मुझे अब चूचों में जलन महसूस होने लगी. मम्मी मेरी पैंट में हाथ डालकर लंड को सहलाने लगीं और मैं उनके बूब्स को चूसने लगा.

कुछ देर तक ड्राइवर से चुदने के बाद मेरे बदन में गर्मी आने लगी थी और मैंने सिसकारियां भरनी शुरू कर दिया था. मुझे नहीं पता था कि तुम इतना अच्छे से मेरी चूत की आग को शांत कर सकोगे. गांव की लड़की की बीएफ पिक्चरमैं उनके आगे बैठ गई तो उन्होंने अपना लण्ड मेरे मुंह में घुसाया और मेरा मुंह चोदने लगे.

चूत झड़ने के बाद मैंने भाभी की चूत चटाई का अपना काम जारी रखा और भाभी की फुद्दी से निकले रस को अच्छे से चाटना शुरू कर दिया. अब छोटू का शरीर अकड़ने लगा और मैं समझ गई कि उसका पानी निकलने वाला है.

’‘साली जब उंगली डालती है, तब दर्द नहीं होता नहीं होता है?’‘आपका लंड बहुत मोटा है ना. मैं- सोनी तुम इंजीनियरिंग कॉलेज में थे न? याद आया कि हम दोनों हॉस्टल में एक ही कमरे में रहते थे. 5 इंच का लन्ड देख के भाभी शर्मा गई और अंदर आकर ध्यान से देखने लगी।पर मैं शर्म के मारे वहाँ से हट गया।मैं नहाने चला गया.

मैंने पीठ के बल लेटकर कमर के नीचे तकिया लगाया, अपने पाँव छाती के तरफ कर लिए. मेरे लगातार लगते झटकों पर वो बस कराह रही थी ‘आह … आह … आह …’कुछ पल बाद उसका शरीर अकड़ने लगा, उसने मुझे अपने ऊपर दबा लिया. मैंने कोमल चड्डी की इलास्टिक को अपने दांतों से पकड़कर नीचे खींचना शुरू कर दी.

शेखर को निकले पंद्रह मिनट हो गए तो ड्राइवर मेरे पास आकर बोला- मैडम, आपके चिल्लाने की आवाजें दूर दूर तक आ रही थीं.

सुबह की हैलो हाय के बाद आंटी बोलीं कि मुझे बाजार से कुछ सामान लेना था, इसलिए पूछ रही थी. माधुरी कुर्सी से उठ कर काउंटर पर आक़र खड़ी हो गयी और थोड़ा आगे की तरफ झुक कर खड़ी होक़र मेरी तरफ देखने लगी.

हम लोग सेक्स में तरह तरह का प्रयोग करते थे, रोल प्ले करते थे, सेक्स वीडियो देखते थे. जैसे ही दरवाजा खुला, मेरी टांगों के बीच में मेरी घंटी बजना शुरू हो गई. मैंने उसे अपने लंड पर लगा कर मामी की चूत में एक झटके में लंड पेल दिया.

ये सुनते ही चाची मस्त होकर बोलीं- हां निकाल अपने लंड को मुझे खुद चूसना है. मेरी पिछली कहानीखूबसूरत लड़की पर जवानी चढ़ीमें आपने जाना कि बचपन से ही मुझे चुदास का जिन्न लग गया था और जलालुद्दीन ने कड़ी मेहनत करके उस जिन्न को मार गिराया था. चुदाई के बाद हम दोनों अलग हो गए और एक दूसरे की ‌तरफ देख कर मुस्कराने लगे.

12 साल की लड़कियों की बीएफ कुछ देर बाद मैं सर को झटका और उधर से सीधा रेलवे स्टेशन की तरफ बढ़ गया. उनके शरीर पर सिर्फ़ एक पैंटी बची हुई थी और आंटी चुदाई के तैयार थी, बहुत ही ज़्यादा कामुक नज़र आ रही थीं.

एचडी में सेक्सी फिल्में

मैंने उसके स्कर्ट को ऊपर करते हुए उसके पैर को चूमना शुरू किया और धीरे धीरे ऊपर बढ़ने लगा. मेरी लड़का लड़की सेक्सी कहानी पर आप अपने विचार मेल और कमेंट के जरिए जरूर भेजें. शायद वो मेरी भावनाओं को समझ रही थी और उसका भी कुछ कुछ मन हो रहा था.

उस दौरान जाने अंजाने में मैंने पड़ोस में रह रही भाभी के साथ अपनी फंतासी पूरी किस तरह से की थी, यह उसकी सेक्स कहानी है. शेखर को निकले पंद्रह मिनट हो गए तो ड्राइवर मेरे पास आकर बोला- मैडम, आपके चिल्लाने की आवाजें दूर दूर तक आ रही थीं. बीएफ और सेक्सी वीडियोमैंने अपनी बीवी को ऐसे देखा जैसे वो चंदा का कोई राज उजागर करने वाली हो.

उसके निप्पल चूसते चूसते मैं उसके पेट पर हाथ फेरते हुए उसको हर जगह किस करने लगा.

मैं जैसे ही दरवाजा खोल कर निकलने लगा कि अन्दर आने वाली एक लड़की से टकरा गया. मैं जिस सोसाइटी में रहती थी, वहां होली खेलने से एक रात पहले रीति रिवाज से होली दहन होता है.

मैं भी बस झड़ने वाला था तो बिना रूके धक्के पे धक्का मारते जा रहा था. मतलब कुछ लड़कियों को अगर समय पर चोदा ना जाये तो उनको दौरे पड़ने लगते हैं. लेकिन इस चक्कर में जलालुद्दीन साहब का लण्ड मेरे मुंह से बाहर आ गया था.

अब वो पूरी तरह से नंगी हो चुकी थी और उनके शरीर का हर एक अंग साफ साफ़ नज़र आ रहा था।न्यूड आंटी की झांटों के बाल भी साफ़ साफ़ नज़र आ रहे थे।उन्होंने ट्रिम कर रखा था और उनके चूतड़ों का रंग गुलाबी था.

इस वक्त उसने एक मैक्सी पहन ली थी जिसमें उसके बदन का एक एक कटाव साफ़ साफ़ नुमाया हो रहा था. ऐसे ही एक दिन मैं मायके में थी, तब अकेली बाजार से कुछ सामान लाने गई थी. लेकिन इसके लिए लड़की को एक महीने के लिए इधर ही एक कमरे में रहना होगा.

भोजपुरी में वीडियो बीएफमैं हंस पड़ी- बहुत चालाक निकले आप तो!फिर मैंने पूछा- क्या सच में मुझे आपका बच्चा भी पैदा करना होगा या चुदाई के समय आप बस यूँ ही कह रहे थे. मैं भी उसकी गांड पर हल्के हल्के से थप्पड़ मार रहा था जिससे उसकी चूत और भी टाइट हो रही थी.

ముస్లిం సెక్స్ వీడియోస్

पता नहीं क्या हुआ … मैंने उनके होंठों को अपने मुँह में भर लिया और देर तक स्मूच करता रहा. सोनी- रवि तुम्हारे चूचे और गांड के पास के बाल भी बढ़ गए है, नाक में जाते हैं. कुछ ही धक्कों में ही मैं ज़ोरदार तरीक़े से चाची के मुँह में ही झड़ गया.

बहन की जोर चीख निकली पड़ी और मैंने उसए होंठ दबा कर लंड चूत में पेल दिया. मैंने कुछ कहा भी नहीं, मगर उन्होंने मेरा लंड मुँह में लेकर चूसना चालू कर दिया. गले में पहनने वाला हार और मंगलसूत्र मुझे सुहागन होने का अहसास दिलाने लगे.

हालांकि उसमें अभी दरवाजा नहीं लगा है, तब भी हम दोनों मियां बीवी काम चला लेते हैं. उसकी गांड को चोदने का सपना जो मैंने देखा था, उसे आज पूरा करने का मौका था. उस दिन कुछ नहीं हुआ लेकिन उसका चुम्बन मुझे बार बार कहीं और ले जा रहा था.

अपने मन की कर ही ली तूने!मैंने हंस कर कहा- अबे यार मजा आ रहा है, तो थैंक्स बोल न. एकदम से किसी का स्पर्श अपने बदन पर महसूस किया, तो मुझे बहुत बेचैनी होने लगी.

कुछ मिनट चूत को उंगली से चोदने के बाद मैं फिर से कोमल के दोनों चूचों पर आ गया.

मुझे चोद दो, मुझे अपनी रखैल तो बना लो और अपने होंठों से मेरी चूची को पी जाओ. पिक्चर बीएफ बीएफ बीएफउन्होंने मुझे आगे बताया कि तुम्हारी सुहागरात मनाने की इच्छा सुनकर मैं बहुत खुश हूँ और तुम्हारे लिए सुहागरात की सुहागी स्पेशल ऑडर पर तुम्हारे नाप की बनवाई है और ये तुम्हारी पसंद की ही है. सेक्सी बीएफ हिंदी फिल्म वीडियोमैंने प्यारी सी स्माइल देते हुए माधुरी के हाथ से आपने चार्जर लिया और ऑफिस आ गया. अब उसने खुद ही मेरा लंड पकड़ लिया और उसे लोवर के ऊपर से ही हिलाने लगी.

उसने साड़ी पहनी हुई थी और सामने आंचल में से थोड़ी सी उसके दूध की लाइन झलक रही थी.

इस बीच जलालुद्दीन आलिम हर थोड़ी देर में मेरे कमरे में आते रहे और कभी मेरी नब्ज देखते रहे तो कभी मेरी आँखें देखते रहे. मैं बहुत परेशान था और सोच रहा था कि साला ऐसी भी क्या जल्दी थी कि मैंने उसे बिना पटाए बिना कुछ सोचे ऐसा बोल दिया. मैं तो चादर में लिपटा हुआ था लेकिन शबाना को जन्मजात नंगी देखकर वह सब कुछ समझ गई- ये क्या किया तुमने?शबाना को कोई जवाब नहीं सूझ रहा था इसलिए चुपचाप मुँह लटकाकर बैठ गई.

उसने ऐसा कहा, तो मैं समझ गया कि लौंडिया की चूत अब लंड लंड करने लगी है. मैंने चेहरा उठाकर आईने में देखा तो मानो जन्नत की हूर धरती पर उतर आई थी. कुछ मिनट के बाद वो अन्दर आकर बोली- अब कोई दिक्कत नहीं है, तुम आराम से बाहर जा सकते हो.

देसी मारवाड़ी सेक्सी मूवी

मुझे उसकी दोनों गोरी गोरी जांघें साफ-साफ दिखाई देने लगीं तो मैं एकदम से उत्तेजित हो गया. मतलब दो चुत दो गांड एक साथ थी मेरे पास!मैंने कभी सोचा ही नहीं था कि दो लड़कियों को एक साथ चोदूंगा. वो बोली- मैं तुम्हें कब से ढूंढ रही थी, कहां थे? मुझे तो तुम्हारा नाम भी नहीं पता.

इसके बाद उन्होंने आवाज नहीं निकाली और मैं चूत में उंगली डाल कर अन्दर बाहर करता रहा.

तब मैंने देखा कि चूत में से पानी निकलने लगा तो मैंने चूत चाटना शुरू कर दिया.

अब जैसे ही मैंने उसकी चड्डी के ऊपर से किस किया तो कोमल की कामुक आह निकल गई. दोस्तो, ऐसा लग रहा था कि मैं किसी जन्नत की हूर को अपनी गोद में लिए बैठा हूँ. बीएफ मूवी देहातीदेसी आंटी की चुदाई का मजा मुझे दिया मेरे भाई की सास ने! मैं उनके साथ स्लीपर बस में था.

मैकेनिक ने अपने धक्के तेज किये और जोरदार ताकत के साथ मेरी गांड में अपने गर्म गर्म वीर्य की पिचकारी छोड़ दी. इधर शबाना मेरे लंड को कपड़े से साफ कर रही थी और लंड में चावल के बराबर के छेद को समझने की कोशिश कर रही थी. कुछ देर में मेरा दर्द कम हो गया तो जीजू ने एक बार फिर जोरदार धक्का मारा और अपना सारा लंड मेरी चूत में उतार दिया.

फ्रेंड्स, मैं निहारिका एक बार फिर से आपसे मुखातिब हूँ और अपने मौसेरे भैया से अपनी सीलपैक बुर की चुदाई की कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ. मैं पूरा का पूरा चाची के ऊपर लद सा गया और रगड़ मारते हुए जल्दी जल्दी चोदने लगा.

जब मैं उसे उठा कर चोद रहा था तब उसका पानी निकल गया और कुछ ही पल बाद मैंने भी अपना माल उसके अन्दर छोड़ दिया.

तेरी चूत में अपने वीर्य का तालाब बना दूंगा रंडी मादरचोद!अचानक मेरा दर्द भी गायब हो गया, मेरे शरीर में एक बार फिर तरंगें उठने लगीं और मैंने जलालुद्दीन को अपनी बाहों में जकड़ लिया. अब चाची फिर से प्रेगनेंट हैं और इस बाद वो मेरे बच्चे को जन्म देंगी. शाम को जब मैं पहुंची, तब समीर ने हिना के घर में मेरा अच्छे से स्वागत किया.

हिंदी बीएफ सेक्स एक्स एक्स उधर मैंने उसके होंठों पर किस किया और उससे कहा- तुझे सेक्स करना था तो इतने नखरे क्यों कर रही थी. सेक्सी सिस्टर की सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक बार मैंने गलती से अपनी छोटी बहन को नहाती हुई नंगी देख लिया.

लम्बी चुदाई के बाद मेरे लंड का माल कंडोम में निकल गया और शालू के ऊपर ही लेट गया. ये सुनकर मोहित ने कहा- कैसा मज़ा?तो मैंने कहा- मेरी जान सबसे ज्यादा मज़ा तो तुझे ही आने वाला है. मुझे कुछ गन्दा सा लग रहा था फिर भी वासना में मैं शेखर के लंड को चूसने लगी.

हॉलीवुड सेक्सी व्हिडिओ

तब उन्होंने मुझे बताया कि वो और हारून दोनों साथ ही रहते हैं और उन्हें एक ऐसी हीबीवी की जरूरतथी, जो उन्हें हर रोज खुश कर सके. उन्होंने मुझे देखते ही खुश होते हुए कहा- मैंने ही तुम्हें यहां बुलाया है. अर्चना अभी भी रोए जा रही थी वह मुझसे मिन्नते कर रही थी- लंड बाहर निकालो, मुझे बहुत दर्द हो रहा है.

वर्जिन गर्लफ्रेंड लव स्टोरी में पढ़ें कि मेरी प्रेम कहानी एक प्यारी सी लड़की के साथ चल रही थी. हम दोनों ने साथ बैठकर कॉफी पी और उसी बीच मैंने होटल में ऑर्डर किया हुआ खाना भेजने का फोन कर दिया.

नीना और मैंने रवि के कमरे में सेक्सी ब्रा पैंटी और राजकुमारी वाला गाउन पहना, मेकअप किया.

बस और फिर दोनों शांत हो गए, आपा की टांगें बिस्तर पर गिर गईं और जीजू निढाल होकर आपा के ऊपर ही गिर गए. मगर क्या वो अपनी सेक्स की आग बुझाने के लिए ऐसा करती है या पैसों के लिए ऐसा करती है. फिर मैंने बाजू की दीवार में लगे आईने में साक्षी और अपने नंगे बदन को एक-दूसरे से लगा हुआ देखा, तो मुझे सेक्स का नशा चढ़ने लगा.

वो जैसे ही मेरे सोफे के नीचे जमे कचरे को निकालने के लिए झुकीं तो कसम से ऐसा लगा जैसे मैं आम के पेड़ पर बैठा हूँ और ताज़े रसीले आम मेरे सामने लटक रहे हैं. पर जब नाड़ा नहीं खुला तो कुछ तक यूं ही सलवार के ऊपर से भाभी की फुद्दी के मजे लिए और उठ कर सलवार के ऊपर से ही उनकी फुद्दी को किस भी किया. हम सब एक दूसरे के साथ मिल कर एक साथ खूब अच्छी तरह से खुशी खुशी रहते हैं.

मैं उनकी बात से हल्का सा खुश हो गया था कि मम्मी पूरा प्यार करने वाली बात से नाराज नहीं हुई थीं.

12 साल की लड़कियों की बीएफ: उसका हाथ एक बार फिर मैंने अपने लंड पर रख दिया और उससे कहा- इसे हिलाओ, मैं तुझे चोदना सिखाता हूं. मेरी दीदी की ननद शालू (बदला हुआ नाम) भी रांची में ही पढ़ती थी पर उससे मेरी बहुत कम बातचीत होती थी.

एकदम से किसी का स्पर्श अपने बदन पर महसूस किया, तो मुझे बहुत बेचैनी होने लगी. वो इतनी हॉट लग रही थी कि मेरे लंड महाराज अपनी औकात से बाहर होने लगे थे. वो मेरे करीब आकर बैठ गया और बिना कुछ बोले मेरे कंधे पर हाथ रख कर मुझे पकड़ा और मेरे माथे पर किस कर दिया.

कॉलेज गर्ल बट्ट सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी क्लास की एक लड़की के चूतड़ मुझे पसंद आ गये.

बाद में सहयोगी बैंक स्टाफ ने न सिर्फ कमरा खोज कर मुझे दिलाया बल्कि जरूरत का सारा सामान भी खरीदने में मदद की और मुझे सैट कराने में मेरी बहुत हेल्प की. मैं कोमल के हाथों को खोलकर उसके ऊपर लेट गया, जिससे मेरी छाती के बाल कोमल पीठ से रगड़ कर मस्ती करने लगे थे और मेरा लंड कोमल की गांड के दरवाजे पर दस्तक दे रहा था. उसने कहा- तुमने बताया नहीं, आज मैं कैसी लग रही हूँ?मैंने कहा- तुम तो हमेशा से सुन्दर लगती हो.