बीएफ वीडियो साउथ इंडियन

छवि स्रोत,जापानी+सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बस के अंदर सेक्सी फिल्म: बीएफ वीडियो साउथ इंडियन, फिर चाची ने मुझसे कहा- मेरे राजा आ अब अपनी रंडी को चोद दे, कहीं सुबह की तरह रुकावट ना आ जाए.

जापानी सेक्सी चोदा चोदी

शाम को पापा ने मुझे कहा कि तेरी भाभी को उनके किसी रिश्तेदार के यहां जाना है … तो गाड़ी में ले जा और वापस भी ले आना. सेक्सी ब्लू वीडियो न्यू‘हाँ जीजा जी, आप वो मम्मी के अगले प्रोग्राम का कुछ बता रहे थे, वो फिर से यहाँ आएंगी?’‘नहीं रानी, वो जालंधर जाएगी.

अंकल अपनी जीभ से मेरे दांतों की पकड़ को खोलने की कोशिश कर रहे थे, मैंने भी उन्हें खोल कर उनकी जीभ को रास्ता दिया. सेक्सी शरीरमगर क्या आपने सोचा कि यदि कोई आपकी पसंदीदा हिरोइऩ किसी दिन आपके सामने ऐसे लिबास में आ जाए, जिसमें से उसका मलाई बदन करीब से निहारा जा सके तो आप पर क्या गुजरेगी.

उस टाइम पर दोस्तो … उसने ऐसे सिसकारी भरी कि क्या बताऊं और मेरे बांहों में एकदम सिमट सी गयी.बीएफ वीडियो साउथ इंडियन: हम दोनों चूमा चाटी में लगे रहे और अपनी उत्तेजना को चुदाई की हद तक ले आए.

पर उनके प्यार को मुझे सलाम करना पड़ा कि फिर भी उन्होंने रज़िया भाभी की माँ बनने की ख्वाहिश का सम्मान किया.रूम में चैक इन करते हुए ही वो मुझसे चिपक गईं और मुझे पागलों की तरह चूमने लगीं.

सुहागरात सेक्सी वीडियो डाउनलोड - बीएफ वीडियो साउथ इंडियन

वो हंसने लगा और बोला- नहीं भाई, अब तो मेरी बीवी दूसरी बार पेट से है.मैं भी ओकेज़नली पी लेता था इसलिए नवीन के कहने पर मैं भी उनके साथ शामिल हो गया.

स्स्स् … आह्ह् … स्स्स … और वह अपनी गांड उठाकर मेरे मुंह में लंड को धकेलने लगा था. बीएफ वीडियो साउथ इंडियन हम दोनों एक दूसरे के साथ सेक्स करने के लिए चुदासे हो उठे थे, पर हमें सेक्स करने के लिए मौका नहीं मिल रहा था.

उसने अपनी सास से उस दूसरे फ्लैट को साफ करने का बहाना किया और घर से निकल गई.

बीएफ वीडियो साउथ इंडियन?

मामी बोली- थोड़ा साफ-साफ बताने का कष्ट करेंगे?सवाल से पीछा छुड़ाने की मंशा से उन्होंने तपाक से जवाब दिया- उसकी चूत पर मेरा लंड था! उसकी चूत की गर्मी की वजह से मेरा लंड खड़ा भी हो गया था. वह जब घर में होता था तो उल्टा होकर अपना लिंग गद्दे के साथ घिसाने लगता था और मैथुन करता था. कुछ देर बाद उनको अच्छा लगने लगा और दोनों ने लिप किसिंग करके मेरे लंड की क्रीम को बड़े मज़े से चाटना शुरू कर दिया था.

मैंने धीरे से साक्षी की टांगें चौड़ी कीं और अपना फनफनाता लंड उसकी चूत में ठेल दिया. तो रास्ते में इमरान मिल गया, इमरान ने मुझसे पूछा तुमने श्रीनगर और कल रात ऐसा क्या किया कि झंडे गड़ गए?मैंने पूरा हाल तफ़्सीर से बता दिया. मैंने उसके दोनों हाथ पकड़ लिए, जिससे वो ऊपर खिसक न सके और दूसरा जबरदस्त धक्का देकर पूरा लंड चूत में उतार दिया.

जब भी वह मुझसे मिलती थी मेरे साथ को पाकर मुझमें पूरी तरह खो जाती थी. लण्ड अभी भी चूत में था और मैं साफ महसूस कर रहा था कि चूत खुल रही है और बंद हो रही है. इससे पहले मैंने किसी मर्द को इस तरह अकेले में बिना कपड़ों के नहीं देखा था.

उसकी चूत में अपना माल गिरा कर मुझे जो सुकून मिला, वो मैं बयान नहीं कर सकता. दो मिनट बाद वो अकड़ उठीं और बोलीं- आअहह … मैं छूटने वाली हूँ, प्लीज़ रुकना मत… और तेज चोदो मुझे.

मैंने मोनिका की जांघें पकड़ी हुई थीं, उसने उठ कर दर्द के मारे मुझको किस किया और मेरे लिप्स खा गई.

मामा बोले कि इतने साल में कभी बिजी नहीं हुआ और दो दिन में इतना बिजी हो गया?मामा का ये कहने का मतलब इसलिए भी था कि छोटे से बड़े साथ में हुए थे.

मैंने पूछा कि जो आज समझाया था वो समझ आ गया था?तो उसने बतय- पूरा नहीं आया!और स्माइली भेज दी शर्माने वाली. मैंने उससे कहा- अगर मैं प्रीति को आपके लिए खोल दूँ तो?उसने झट से उत्तर दिया- यदि ऐसा हुआ तो मैं आपका हमेशा आभारी रहूंगा, मुझे केवल संभोग नहीं … बल्कि उससे भी बढ़कर चाहिए. मामी जी और मैं वासना के सागर में इस कदर डूबे हुए थे कि हम को अंदाज़ा तक भी नहीं था कि शावर का पानी बंद हो गया था.

मेरी नाइटी मेरी बहुत छोटी थी, केवल मेरे चूतड़ों तक ही आ रही थी और पारदर्शी थी, इस वजह से मेरे अधिकांश भाग के साथ सधे हुए पैंटी ब्रा ही दिख रहे थे. मैंने उनसे कहा- कल मुझे यूनिवर्सिटी जाना होगा, यदि आपको ऐतराज़ न हो तो मैं आज से ही आ जाता हूँ. काफी लोग कहते हैं कि इतना बड़ा अन्दर गया, तो मैं आप को बता दूँ कि 8 इंच से ज्यादा बड़ा लंड चुत के अन्दर इंफेक्शन भी कर सकता है, जिनका ऐसा लंड है, उन्हें ये अच्छी तरह पता है.

जिसकी वजह से मन में काम भावना तीव्र उठती और मेरे पास हसमैथुन के सिवाय कोई विकल्प नहीं होता.

उसके होंठों के पास ले गया और बहुत ही धीरे से अपने होंठों को उसके होंठों से लगा दिया. फिर भी मैं भाभी की दोनों चुचियों को मुट्ठी में भर में उन्हें किस करने लगा. नवीन ने मुझे चादर ओढ़ने के लिए कहा तो मैंने उसकी गर्म चादर ओढ़ ली मगर मुंडी मैंने बाहर ही रखी.

वे मुझसे जिस तरह से वाट्सएप पर बातें करने लगी थीं, उससे मुझे उनकी तरफ से एक मूक आमंत्रण सा महसूस होने लगा था. पायल बोली- जीजू, मैं आपकी इज्जत करती हूँ और आपको पसंद भी, इसीलिए मैं कुछ नहीं बोली, लेकिन ये नहीं चलेगा, मैं सिर्फ आपके लिए हूँ. कुछ पल बाद वो फिर से एक सिगरेट सुलगा कर मुझसे अपना लंड चूसने के लिए बोलने लगे.

मेरी योनि से पहले ही पानी रिस रहा था और सुखबीर के थूक से मिलकर योनि और भी चिपचिपी और लार युक्त हो गयी थी.

पर तू किसी को बोलना मत … सर के ऊपर बात आ जाएगी नहीं तो!”अच्छा!” पिंकी खुश होकर बोली- ये तो अच्छी बात है … कोई बात नहीं … मैं तेरा इंतजार कर लेती हूँ यहीं … तेरे साथ ही चलूंगी!”मैं उसको भेजने के लिए बहाना सोच ही रही थी कि सर एक बार फिर बाहर आ गये. मैंने सोनू के मुंह को अपने हाथ से जोर से दबा कर, एक झटके में सोनू की नई और कुंवारी चूत में अपना 8 इंच का लौड़ा ठोक दिया.

बीएफ वीडियो साउथ इंडियन तो मेरे भाइयो, भाभियो यह थी मेरी भाभी की फस्ट नाइट … बोले तो सुहागरात थी. वह बोली- तो फिर थोड़ी देर और रुक जाओ ना, मैं आइसक्रीम भी बनाकर ले आई हूँ। थोड़ी सी खाकर चले जाना.

बीएफ वीडियो साउथ इंडियन मुझे चलने में थोड़ी दिक्कत थी, तो वो मुझे हमारी बिल्डिंग के कंपाउंड तक छोड़ने आया. आआ आआआह हहह हहह … सच में इससे ज़्यादा नशा चढ़ाने वाला कोई भी और द्रव हो ही नहीं सकता.

अब मैंने लय बनाकर अपने लंड को उनकी बुर के अंदर बाहर करते हुए उन्हें चोदने लगा.

सेक्सी बीएफ चुदाई करते हुए

मेरी इस सेक्स कहानी के दूसरे भाग में आप लोगों ने पढ़ा था कि मैंने कैसे अपने सगे बेटे को पटाया, उसके साथ शिमला गई और अय्याशी की. उसने मना कर दिया और बोली- नहीं मैं खाना बना रही हूँ … खाना खा कर जाना. उन्होने मेरी पैंट के ऊपर से मेरे लंड को पकड़ कर दबाया, उसे लोहे की तरह सख़्त देख हँसने लगी.

अब से पहले मैंने कभी गौर ही न किया था। तभी जीजा जी ने दीदी के सब कपड़े अलग कर दिये. तेरा लौड़ा भी तगड़ा, तेरी बॉडी भी तगड़ी … अब मुझे भी तो नंगी कर … क्या किसी पंडित से मुहूर्त निकलवा के मेरे कपड़े उतारेगा मूरख चंद?मैंने हड़बड़ाते हुए बड़ी मुश्किल से बाली रानी की नाईटी को उतारा. अभी वह अपनी नाइटी को हटाने नहीं दे रही थी इसलिए मैं उसको कपड़ों में ही नाइटी के ऊपर से ही चूमने लगा.

धनुषाकार पोज़ बनाकर उसके लंड को मेरी गांड में अच्छी तरह अंदर-बाहर होने का रास्ता मिल गया.

वो अपनी कमर भी हिला रही थी, साथ ही अपने बच्चे को दूध भी पिला रही थी. अंधेरे की वजह से मैं कुछ देख नहीं पा रही थी। बहुत कोशिश के बाद चाचा मेरी सलवार के नाड़े को खोलने में कामयाब हुए। वे मेरी सलवार को नीचे खींचने लगे पर मुझे लाज लग रही थी इसलिए मैंने अपनी टांगों को जोर से भींच लिया. तभी बातों बातों में पता चला कि वो भी एक कंपनी में जॉब करता है, किराए के रूम में अकेला ही रहता है और अपने लिए एक रूम पार्टनर ढूंढ रहा है.

जब मेरी आहें निकलने लगी तो प्रेम और आदिल ने एक साथ मेरे मुंह में लंड डाल दिए. मैंने अपने लंड को और ज्यादा तेज गति के साथ सीमा की चूत के अंदर और बाहर करना शुरू कर दिया. उम्म्ह… अहह… हय… याह… लौड़ा बेकाबू होकर और भी ज़ोर से कूद फांद करने लगा.

मैंने कंडोम पहन के उसे अपना लंड पकड़ाया और उसने सीधा चूत के अंदर ले लिया और एक मिनट बाद ही बोलने लगी जोर जोर से चोदने को. वैसे तो मुझे अब्बू और भाई जान के आठ इंच के लंड लेने की आदत थी पर पता नहीं आज इस 6 इंच के लंड का मज़ा अलग आ रहा था.

मेरा बंगलोर के लिए दिल्ली से रिज़र्वेशन था, तो पापा मुझे दिल्ली स्टेशन तक छोड़ कर ट्रेन में बैठा कर वापस घर आ चले गए थे. उसने एक बार मुझे देखा और वो हंसने लगी और बोली- ऐसे घूर के क्या देख रहे हो?मैंने कुछ नहीं कहा, बस एक आंख मार दी. तब उसने मेरे होंठों को चूमा और बुर पर हाथ रख कर बोला- कुछ हो रहा है यहाँ पर?मैंने कहा- हाँ!तो उसने मेरी चड्डी के अंदर हाथ डालकर कहा- यह तो पूरी गीली हो चुकी है और रो रही है अपने यार को मिलने के लिए.

वो एक दम से मुझे धक्का देने लगी लेकिन मैंने उसे पकड़ रखा तो वह हिल नहीं पाई और चिल्ल्लाई- ओ … ओ … माँ … मर गयी।वह रोने लगी। आंसूं आने लगे उसकी आंखों में.

जब सलोनी से बर्दाश्त नहीं हुआ तो उसने मुझसे गुहार लगानी शुरू कर दी. उसके चेहरे के भाव में सुकून था … साथ ही ना रुकने के लिए निवेदन भी था. भाभी- अच्छा प्रणय, तुमने अभी तक कोई जीएफ पटाई या नहीं?मैं- हां भाभी पटाई है न.

तभी बाली रानी ने कामुक अदाएं दिखाते हुए कभी बाज़ू ऊपर उठा कर, तो कभी साइड में फैला कर घूम घूम के मुझे अपना बदन अच्छे से दिखाना शुरू कर दिया. कुछ देर बाद जब विजय शांत हुआ, तो माला ने विजय को लंड से पकड़ कर बेडरूम में बेड के ऊपर धक्का दे दिया और माला उसके ऊपर आ गई.

उसने पूछा- क्या बात है आज इतनी प्यार भरी नज़रों से क्यों देख रहे हो?मैंने जवाब दिया- आज तुम बहुत खूबसूरत लग रही हो. मैं जैसे ही नीचे जांघों के पास पहुंचा, मामी जी ने दीवार के सहारे खड़े खड़े ही अपने पैर खोल दिए. चाची बोलीं- साले … ऐसे देखना पसंद है क्या?मैं शरमाते हुए बोला- हां.

चोदने वाला बीएफ पिक्चर

तो मैंने मन में ठान लिया कि आज तो पलंग तोड़ परफॉरमेंस दूंगा और इसकी चूत फाड़ दूंगा.

उसके मुंह में जब मेरा लंड जा रहा था तो मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था. गुलाबो को भी एक्साइटमेंट होने लगा, गुलाबो भी मेरे सामने ढीली पड़ने लगी, मैं उसे हग करके गुलाबो की गांड को सहलाने लगा. तो खाना खाते खाते तन्वी ने मेरे से कहा- यार, वो लड़का देख कितना क्यूट है, कब से तुझे देखे जा रहा है।मैंने ध्यान नहीं दिया था पर उसके कहने पे ध्यान से देखा तो सच में लड़का बहुत स्वीट और हैंडसम था। करीब 5-10 सेकंड तक हम दोनों एक दूसरे को लगातार देखती रही.

क्या पता, उसे कैसे पता चल गया कि मैं झड़ने वाली हूँ? पर उसने अपनी उंगलियां मेरी शरीर से दूर कर दी थीं. फिर उसने मुझसे कहा कि आज उनके पति नहीं हैं और उनके पास भी 2000 के खुले नहीं हैं. हिंदी सेक्सी चुड़ै पिक्चरतभी भाभी चुटकी बजाती हुई बोली- क्या बात है, ऐसे क्या देख रहे हो?मैंने कहा- नहीं … कुछ तो नहीं, बस ऐसे ही।बस ऐसे ही?” मधु भाभी ने कहा।मुझे लगा कि कहीं भाभी नाराज़ हो जाये, मैंने तुंरत बोल दिया- भाभी आप बहुत खूबसूरत हो। आपके लिप्स कमाल के हैं.

तो आप वो छोटा लड़का और मैं तो मैं हूँ ही।मैंने ये कभी ट्राई नहीं किया था इसलिए मुझे भी रोमांच आ गया और हाँ बोल कर रोल प्ले शुरु कर दिया।वो उसी पोज में चुदवाते हुए बोली- हाँ बाबू, मुझे जोर से चोदो ना।मैं बोला- हाँ भाभी, चोद रहा हूँ!और सन्जू को चोदने लगा. बचपन से ही कुछ लोग हमें अच्छे लगते हैं और धीरे धीरे उन्हें देखने और छूने की इच्छाएं उम्र के साथ बढ़ती जाती हैं.

उसने वो सब पहने तो इसी सबके लिए थे क्योंकि हम दोनों पहले से ही यही सब सोच कर सेक्स करने आए थे. इस तरह से सब कुछ नॉर्मल चल रहा था, तभी बारात दरवाजे पर आई और द्वारचार शुरू हुआ. उसके बाद मैं कमोड पर बैठकर दैनिक क्रियाओं से फारिग हो रहा था कि इतने में ही दोनों सहेलियों ने रूम पर कब्जा कर लिया.

बीच में उसने अपने परिवार की प्रोब्लम्स भी बताई जिससे मुझे उससे हमदर्दी भी होने लगी. फिर भी मैं भाभी की दोनों चुचियों को मुट्ठी में भर में उन्हें किस करने लगा. अब मैंने दबाव बनाते हुए अपने लंड को उसकी चूत में और अन्दर डाल दिया.

जब बाहर आकर देखा और बातें सुनी तो पता लगा कि दीदी अपने बोयफ़्रेंड से बात कर रही है और अपने बॉयफ्रेंड को बता रही है कि पापा एक सप्ताह के लिए बाहर गए हैं.

वो मेरी चुचियां चूस रहा था, मैं उसका लौड़ा सहला रही थी, तब मैंने उसे बताया कि मेरी बहन कल आएगी. सुधा ने आगे की कहानी बताते हुए जारी रखी- ममता, हम लोगों का प्लान ‘ए’ तो कामयाब रहा.

मेरे पापा मुंबई में काम करने चले जाते हैं, तो मम्मी के साथ ही रहती हूं. तब मैंने उससे पूछा- क्या दिक्कत है?उसने कहा- वो मुझको छोड़ता ही नहीं है, तुमको टाइम कैसे दूँ. उसने कहा -शिट…उसके बिना बाजू वाले ब्लाऊज़ में उसके बूब्स मेरे सामने ही थे.

झगड़ा जब बहुत ज्यादा बढ़ गया तो मैंने गुस्से में आकर चाबी को राजन की तरफ फेंक दिया. मेरा खड़ा हुआ लंड उसकी चूत की चुदाई कर रहा था और हम दोनों ही मजे ले रहे थे. जीजू मेरी हालत को भांप कर अपने लन्ड को मेरी चूत में घुसाने का प्रयत्न करने लगे.

बीएफ वीडियो साउथ इंडियन लिहाजा वह अपने पुराने पोज में आ गई और साथ ही प्रशांत ने पीछे से चूत में समूचा लंड उतार दिया. इससे पहले कि मैं कुछ भी बोल पाती, उसने मुझसे पूछा- क्या ढूँढ रही हो?मैंने कहा- कुछ भी नहीं.

बीएफ वीडियो सेक्सी

कुछ दिन पहले हमारे शहर में सीएनजी वालों ने रेट की माँगों को लेकर हड़ताल कर दी थी. उपिंदर मेरी बहन की चुचियां चूसने लगा, उसकी जांघों को दबाने लगा, चूत को सहलाने लगा. मेरी पिछली कहानीदोस्त ने अपनी बीवी को चुदवायामें आपने पढ़ा कि कैसे मेरे मित्र अजय ने मुझसे इच्छा जाहिर की थी वो अपनी बीवी को मुझसे चुदते हुए देखना चाहता है.

सर ने अपने होंठों पर जीभ फिराई और पिंकी की ओर देख कर धीरे से बोले- इसको तो भेज दिया होता. इतनी मस्त और रसीली चूत तेरी मेरी बिटिया की … क्या कहूँ! कोई भी ऐसी चूत के लिए तरस जाये. जापानी सेक्सी वीडियो खुलाफिर मैंने देखा रिस्ट्रिक्टेड एरिया सामने ही था, उसने मुझे बोला कि यहां जाना मना है.

अब मैंने पीछे से अपना लंड उसकी चूत में पेल दिया और ताबड़तोड़ चुदाई करने लगा.

मैंने एक जांघ पर अपनी बेटी को बिठाया औऱ दूसरी जांघ पर उसे बैठा लिया. उसने जगह न देख कर मुझसे कहा कि मैं दरवाजे से सिर से कमर तक बाहर रखूं और मेरे चूतड़ योनि का हिस्सा स्नानागार में उसे मेरी योनि के पास तक झुकने की जगह मिल सके.

मुस्कुराते हुए बड़े प्यार से बोली- क्या दीदी, शक करने चल दी अपने पति पर? मैं तो उनको प्यार से खाना खिला रही थी. ये पर्ची मुझे उसी भाभी के लड़के ने लाकर दी थी, जोकि काफी छोटा था, पर साला बहुत तेज था. और यह कहकर मैंने फिर से आँख मार दी।भाभी- अच्छा जी! बड़ी मस्ती आ रही है आज?यह कहकर भाभी अपने चूचे ऊपर करती हुई मुस्कराते हुए किचन में चली गई।मैं पीछे से रूपा भाभी के मटकते हुए चूतड़ देख रहा था.

थोड़ी देर बाद उसने करवट ली और अपना पैर हटा दिया, लेकिन अब हाथ मेरे ऊपर रख दिया.

मैं उसके पास चिपक के बैठ गया और समझाने लगा और उसको जगह जगह टच करने लगा जैसे कि नार्मल हो जाता है. … मेरी गांड में … अह्ह्ह फाड़ डालो … ऊऊहह … आआहह … अन्दर … और अन्दर आज्ज्जाआ … आअहह … मेरी गांड. मैंने मीना से अजय के बारे में पूछा, तो पता चला वो किसी काम से बाहर गया है … और 2-3 घंटे में आने वाला है.

देसी भाभी के सेक्सी पिक्चरमेरे शरीर और स्वभाव में इस बदलाव को देख कर मेरे माँ और पापा थोड़ी चिन्ता करने लगे थे मेरी. पर हर बार मैंने ध्यान दिया कि सुखबीर मेरी ओर बड़ी आशा से देखता, जो मुझे बैचैन कर देता.

जबरदस्ती बीएफ सेक्सी

उसने बाद में बताया कि उसका पति चुदाई में इतना लंबा नहीं टिक पाता है उसे कभी बीवी के झड़ने की परवाह नहीं रहती. तो फिर हमने अपना किस तोड़ा और मैं उनको अपनी गोद में उठा कर बेडरूम में ले गया. मैं खुद में मस्त रहती और वे दोनों मेरे सामने भी सब बातें करते रहते। पर जल्दी ही दोनों के चक्कर के बारे में सबको मालूम हो गया।दीदी और विनय भैया घबराने लगे.

अब मुझे समझ में आने लगा कि हितेश मुझसे दूर क्यों भागता है, उसने क्यों कभी मुझसे बात करने की कोशिश नहीं की. उसकी गांड मुझे अच्छे से दिख रही थी और मैंने उसकेचूतड़ को थोड़ा उठाया तो उसकी चूत खुल कर सामने आ गई. सोचा कि कोई जॉब लग जाए, उसके बाद कोई रूम किराए पर लेकर वहां रहूँगा, तब तक बुआ के घर ही रहने का सोचा था.

एहसास तो उनको भी मेरी इस हरकत का हो गया था, पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं थी, तो मैंने भी मौके का फायदा उठाकर अपना एक हाथ उनके उभरे वक्ष पर रख दिया. फिर उसने मुझे नहाने को कहा और कहा कि वो 15 मिनट में मेरे फ्लैट में आ रही है. वो बोली- आज तक कुछ किया भी है?मैं शर्मा गया और कुछ न बोला, तो वो बोली- दिन में घर पर आ कर मिलना, जब तेरी बुआ और भाई ना हो.

लेकिन जब मैंने उन्हें किचन में से वापस आते हुए देखा, तो मैं एकदम से चौंक गया. उनसे जब भी मिलता बस मन में एक ही कामना होती कि काश भाभी को चूम लूं बांहों में भर लूं और ले चलूं कहीं इस दुनिया से दूर, जहां मैं और भाभी हों और उनके हुस्न का भोग करूं।वो कहते हैं न कि भगवान के घर देर है अंधेर नहीं.

चिन्टू हालांकि उसके भाई हरक लाल की बीवी का भांजा था, फिर भी ननकू सोचता था कि यह जवान लड़का उसके भाई के घर में इतना ज्यादा क्यों आता है.

दोस्तो, मैं सुहानी चौधरी आप सभी का एक बार फिर से स्वागत करती हूँ अपनी अगली कहानी में।सबसे पहले तो मैं आप सभी को दिल से धन्यवाद कहना चाहती हूँ कि आपने मेरी मेरी पिछली कहानीमेरी मासूमियत का अंत और जवानी का शुरुआतको पसंद किया. इंडियन सेक्सी बाप विडिओमैं तुम्हारी ऐश कर दूँगा यहाँ”पर … आज का पेपर सर?” मैंने कसमसाते हुए कहा।ओह्हो … मैं कह तो रहा हूँ … तुम्हें चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं अब. बेटे की चुदाई वीडियो सेक्सीकुछ मिनट बाद मैं भाभी को बाथरूम ले जाकर सफाई करने लगा और शॉवर चालू कर कर उनकी चिकनी चुत चाटने लगा. आपके मेल लगातार मिल रहे हैं, गुजारिश है कि ये सिलसिला चालू रहना चाहिए.

शावर से गिरता पानी मामी जी के स्तनों से होता हुआ चूतड़ों तक ओर फिर नीचे चुदाई के साथ लंड से होता हुआ गांड के अन्दर बाहर निकल रहा था, जिससे पच पच पच की आवाजें बाथरूम में गूंज रही थीं.

मेरा लंड देख कर चाची ने भी अपनी नाइटी उतार फेंकी और मेरा लंड चूसने लगीं. उसने कहा- करीम अब मैं तुम्हारी हूँ … तुम जैसे चाहो, उस तरह मेरी चुदाई कर सकते हो … मैं तुम्हें मना नहीं करूँगी. उसकी चूत में घुसी हुई मूली बिल्कुल ऐसी लग रही थी जैसे मेरी बीवी की चूत न होकर सफेद रंग का लंड लगा है.

मैंने चैन खोल कर उसका हाथ अपनी चड्डी में डाल कर लंड उसके हाथ में दे दिया. ऐसे ही मामी की मालिश भी होने लगी और मैं उनकी चूत में लंड पेल कर उनके दूध के ऊपर हाथ लगाता हुआ उनको चोदने लगा. मुझे तो खुद को भी अपने स्तनों को हाथ लगाने में शर्म आती थी और इधर मेरा स्तन आराम से अंकल के हाथ में आ गया था.

वीडियो बीएफ पिक्चर

जब मैं उसे पटा रहा था, तो साथ के साथ हमारे बाजू में अमीषी (बदला हुआ नाम) एक मकान छोड़ कर रहती थी, जिस पर भी मैं ट्राई मार रहा था. वो समझ गए और मुझे बेड के किनारे पे लेकर मेरी टांगों को और खोलकर जोरदार धक्के लगाने लगे।मैं आज दुनिया के सबसे हसीन मज़े को महसूस कर रही थी और अपने प्यारे पापा से चुद रही थी।लगभग 20 मिनट तक मेरी लगातार चुदाई करने के बाद पापा मेरी चुत में ही झड़ गए और बेड पर लेटकर मुझे अपने ऊपर लिटा लिया और मेरी पीठ और चूतड़ों को सहलाने लगे. मैं और इंदु बेड पर आराम करने लगे। इंदु मेरे आंड को सहला रही थी और मैं भी इंदु के चूचों को हल्का हल्का सहला रहा था.

और इसी के साथ मेरे लंड के ऊपर अपना एक हाथ रख दिया, जो कि एकदम तना हुआ था.

झगड़ा जब बहुत ज्यादा बढ़ गया तो मैंने गुस्से में आकर चाबी को राजन की तरफ फेंक दिया.

मैडम जी, आप बहुत बहुत सुन्दर हैं … वो फोटो वाली हीरोइन आपके सामने क्या है … कुछ भी नहीं. लंड को सहलाते हुए ही मैंने अपना एक कदम आगे बढ़ाया और मैं उनके जिस्म के बिल्कुल करीब आ गया. इंडियन लड़कियां सेक्सीलेकिन उसकी बेटी जवान थी तो उसकी चिंता भी थी इसलिए वह मीना की इस हरकत को पी गया.

इत्र की ठंडक और लंड की गर्माहट का ऐसा अनोखा मिलन मेरे लिए नया अनुभव था. वह जब सब बता रही थी, तो आपको क्या बताऊं … मेरी चूत का क्या बुरा हाल हो गया था. अब तू ही बता ममता कि कमोड भी भला क्या चुदाई की जगह होती है?ममता बोली- हाउ स्वीट! मामा जी तो बहुत ही रसीले हैं.

मैंने पूछा- चड्डी में अंदर तुमने कुछ पहना हुआ है क्या?वह बोली- मेरे पीरियड्स चल रहे हैं. उसी कामवाली की तीसरी लड़की की मैंने चुदाई की, उसका नाम था सरिता … वो 5वीं के बाद स्कूल गयी ही नहीं, दिन भर माँ के साथ या गली में बच्चों के साथ घूमती रहती थी.

उनको ऑफिस में सब लोग मैनेजर सर कहते हैं, क्योंकि वो ऑफिस के सारे लेन देन का काम भी करते हैं.

उसने क्लिट तो रगड़ रगड़ कर लाल कर दिया और चूत की आग को जितना भी भड़का सकता था भड़का दी. बहरहाल बहुत ही नजाकत और अदा के साथ प्रशांत के सीने से अपनी चूचियां रगड़ते हुए नीना जब चूत को लंड के टोपे पर रखी तो प्रशांत ने भी अपने दोनों हाथों को नीना के चूतड़ों पर टिका दिया. अगले दिन मैं दूध लेने गयी तो सुखबीर के चेहरे पर ताजगी सी दिख रही थी और अन्य दिनों के बराबर उसका व्यवहार बदला बदला दिख रहा था.

म्यूजिक वाला सेक्सी मेर पूछने पर उसने मुझे बताया कि उसने मेरे साथ बस एक ही बार सेक्स किया है … नहीं तो साला बस किस ही करके रह जाता है. मेरे मम्मों को पकड़ते ही आशीष ने बोला- बंध्या, पहले से तुम्हारे दूध बहुत बड़े हो गए हैं … इन पांच-छह महीनों में किसी से दबवाई हो क्या?मैं बोली- नहीं आशीष, मैंने किसी को हाथ नहीं लगाने दिया, तुम पहले हो जो उस दिन किए थे, फिर तुम्हारी याद जब आती थी, तो सच सच कहूं अपने हाथों से खुद ही दबा लेती थी.

मैंने फिर से मैडम को चूमना शुरू कर दिया और उसके रसीले होंठ को काट लिया. उनके मुँह से चादर निकाल कर बड़े प्यार से उनके होंठों को किस कर रहा था. सलोनी ने कहा- मेरे पास कोई नहीं आता था, मेरा भी दिल करता था कि कोई मुझे प्यार करे, मेरे साथ की सब लड़कियों के बॉयफ्रेंड थे.

बीएफ प्राइस 2020

हम आपस में बात नहीं कर रहे थे लेकिन बात तो बस हमारे हाथों से और क्रियाओं से हो रही थी. उनकी चूची पर मेरे हाथ को ऐसा लग रहा था कि मैं रूई का गोला दबा रहा हूँ. (पहले ही काफी गीली हो चुकी है)तभी मेरे ध्यान में आया कि अभी से मेरी योनि कितना पानी छोड़ चुकी है.

मैडम ने फोन का स्पीकर ऑन कर दिया था, जिससे मुझे दूसरी तरफ से आती हुई आवाज साफ़ सुनाई दे रही थी. मैंने पूछा- फिर क्या?तब उसने बताया कि वो मुझे कुतिया की तरह पेशाब करते हुए देखना चाहता है और फिर उसे सूंघना चाहता है.

मेरी तो खुद की आंखों पर यकीन ही नहीं हुआ, जो कुछ मैंने देखा उस वीडियो में … खुद को भरोसा दिलाने के लिए मैंने एक एक करके सब वीडियो देखे.

मैं आशीष से बोली- आशीष मैं अब सिर्फ तुम्हारी हूं … तुम मुझे जो भी कहोगे मैं करूंगी … आई लव यू. कुछ देर यूँ ही झटके खाने के बाद उसका लिंग अपने आप ही मेरे होंठों से बाहर निकल आया. मैं मीना के चुप पड़े होने का कारण उसकी शर्मिंदगी मान रहा था, किंतु वो तो हैंगओवर से परेशान थी.

मैं यही सब सोच ही रही थी कि इतने मम्मी जी फिर से आ गईं और मेरे पास बैठ कर मेरा सर सहलाते हुए बोलीं- देख बेटा, अब तो तुझे समझ में आ गया ना कि मैं तुझे अपनी लाइफ अपने हिसाब से जीने को क्यों बोल रही हूँ. वो मुझसे उम्र में दो साल बड़ी थी और उसका एक बच्चा भी था जिसे वो अपनी माँ के पास छोड़ के आयी थी. मैं उसके पास पहुंचा और हम दोनों एक दूसरे के सामने बैठ गए और बातें करने लगे.

पहले मैंने सोचा कि उसे भी सलाह दे दूँ कि किसी दूसरे मर्द से ये सुख प्राप्त करने का प्रयास कर ले.

बीएफ वीडियो साउथ इंडियन: मुझे लगा शायद आज इतना ही, पर जैसे ही मैं उठी, उसने मुझे फिर से अपनी ओर खींच लिया और मुझे चूमना शुरू किया. तुम दोनों आज रात बाहर खाना खाओ, रात घर जाते वक्त फिर चाबी लेकर जाना.

हमने एक दूसरे के फ़ोन नंबर ले लिए थे और जरूरत के अनुसार बातें भी होती थी. मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि मैंने थोड़ी देर पहले ही इस विशाल लंड को अपनी चुत में लील लिया था. और मैंने झटके से भाभी की ब्रा को खींच दिया जिससे वो फटकर मेरे हाथ में आ गयी। उनके क्या मखमली बोबे थे.

उन्होंने अपने दोनों हाथ मेरी गर्दन पर लपेट लिए और ज़ोर-ज़ोर से अपनी चूत को मेरी जांघों के ऊपर मारने लगी.

तब भी मुझे काफी आशा थी कि एक न एक दिन भाभी मेरे लंड को पक्का मौका देगी. मैंने जीजा जी को लाइट बंद करने को कहा तो उन्होंने ज़ीरो वॉट का बल्ब जला दिया और बाकी की सब लाइटों को बंद कर दिया. मेरी चुत पर बाल थे, उन्हें हल्का सा खींचा और मेरी टांगें अपने कंधों पे लेकर योनि को जीभ से एक बार चाट लिया.