देहाती नेपाली बीएफ

छवि स्रोत,सुहागरात बीएफ एचडी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स करने के स्टेप: देहाती नेपाली बीएफ, मनु के हाथ अपने ही उरोज को मसलने लगे और मैं खुद में सिमट कर गोलाकार हो जाने का प्रयास करने लगी.

बीएफ बीपी सेक्सी चुदाई

तब भी उनके मक्खन शरीर पर हाथ फेरने का सुख तो पक्के में मिलने वाला था. सेक्सी बीएफ वीडियो हीरोइनउसने मना किया और कहा- कभी और गांड मार लेना … अभी नहीं … अभी तो मुझे अपनी चूत में लंड का मजा लेकर अपनी पूरी संतुष्टि करवानी है.

दीदी ने मुझे सफेद रंग का एक नाइट गाउन दिया, जो जालीदार और बहुत ही ओपन पैटर्न का था. बीएफ हीरोइन के बीएफबस बीच में एक कॉन्डम वाली मजबूरी आ जाती है वरना मुझे बिना कॉन्डम के ही सेक्स में असली मजा मिलता है.

वो दीदी के ऊपर ही ढेर हो गए और दीदी ने उनको अपनी बांहों में सुला लिया और अपनी टांगें अंकल की पीठ से कस ली थीं.देहाती नेपाली बीएफ: अभी उनका बच्चा बाहर कहीं खेल रहा था और भैया काम की वजह से बाहर कहीं गए हुए थे.

इस हिन्दी सेक्स स्टोरी को आगे बढ़ाने से पहले में आपको अपने बारे में कुछ बताना चाहता हूं.मैं तो तैयार ही थी और वासना के वश में होकर खुद को उसे सौम्प दिया।मुझे लिटाते ही वो मेरे ऊपर आ गया और मेरे होंठों पर होंठ लगा दिए और चुसने लगा मैं भी साथ देने लगी वो मेरे चूचियों को भी दबाने लगा.

हरियाणा के बीएफ हिंदी में - देहाती नेपाली बीएफ

मैं बोला- नींद आ रही है क्या?वो बोली- नहीं, बच्चे के कपड़े प्रेस करने हैं.चाची को भी शक नहीं हो सकता था क्योंकि घर में कोई मर्द तो रहता ही नहीं था.

इस सेक्स कहानी को शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे में कुछ बताना चाहूंगा. देहाती नेपाली बीएफ इसके बाद हम दोनों साले जीजा रसोई में गए और खाना बनाना शुरू कर दिया.

एक दिन अपनी तन्हाई को अपने साथ बैठाकर मैं उसे अपनी गुज़री जिन्दगी की एल्बम पलटकर दिखा रहा था.

देहाती नेपाली बीएफ?

वो बोली- मगर नानू … आपके सामने … कैसे उतारूं!मैंने कहा- इसमें शरमाने की क्या बात है, मैं तुम्हारा नाना हूं. हमने हां में सर हिला दिया, दीदी के जाने के बाद मनु ने दरवाजा बंद किया और हम फिर से परमीत के बिस्तर पर आकर बैठ गए. फिर मैंने अगला धक्का लगाया उसकी चूत में और उसने मेरा पूरा लण्ड अपने अंदर समा लिया.

और मुंह में लिये मम्मे को मैं कभी उसकी निप्पल को काटता तो कभी प्यार से चूसता. अब मैंने जीजू के अंडरवियर में हाथ डाल कर उनके लंड को हाथ में भर लिया. तभी मालकिन ने लेटे हुए ही अपनी गर्दन पीछे करके देखा और मेरा लंड देख कर वह एकदम सीधी होकर लेटी और उठ कर बैठ गई.

मेरे बहुत ज़ोर देने पर भी जब वो नहीं मानी, तो मैंने सोचा जाने दो … आज पहली बार ही तो है … दूसरी बार कैसे भी करके चाची की गांड भी मार लूँगा. ममता की चिकनी चूत देख कर उसने ममता से पूछा- तुम तो तैयारी कर के आई थीं?इस पर ममता लंड अपने मुख से निकाल कर बोली- मैं वेक्सिंग हर हफ्ते करती हूँ … आज दोपहर को तुम्हारे फोन आने के बाद की थी, तभी चूत भी चिकनी कर ली. वो सामने चेयर पर बैठने लगी तो राजन ने कहा कि यहीं आ जाओ और बेड पर सरक कर जगह बना दी.

मैं एक हाथ से उसकी चूचियों को सहला रहा था, तो वो अपने एक हाथ से मेरे छाती पर उगे घने बालों से खेल रही थी. काफ़ी देर तक मैंने उसका लंड चूसा और फिर मैं उसके ऊपर आकर लेट गयी और उसके लंड को अपनी फुदी पर सैट करने लगी.

मुझे पता चला लड़का अच्छे खानदान का है, पढ़ाई में भी अच्छा। बस एक-तरफ़ा प्रेम में असफल हो गया तो निराशावादी हो चला है.

आयशा- सच में भी होता है डियर, वैसे तुझे भरोसा नहीं तो मैं मिलवा दूंगी, तू खुद पूछ लेना.

कुछ देर के बाद वो खुद ही अपनी गांड को हिलाते हुए अपनी चूत को चुदवाने लगी. हमने समय का पता ही नहीं चला।जल्दी से मैंने कपड़े पहने और आते समय मैंने मैम और नाज़िमा को किस किया. अब मेरा लंड स्वीटी आंटी के चुत में अंडरवियर के ऊपर से ही सट रहा था.

पानी का तापमान ऐसा बनाया कि जब उसकी चूत पर गिराऊं तो उसको कुछ राहत मिले. मैं मनीषा एक बार आपके सामने फिर हाजिर हूं अपनी एक नई कहानी लेकर!मैं अब तक अपनी अपने तीन-चार कहानियां लिख चुकी हूं जब मैं कहानियां लिखती हूं तो मुझे बहुत सारी ईमेल आते हैं कुछ अच्छे भी होते हैं और कुछ बहुत बुरे मैं सारे अच्छे ईमेल के जरूर जवाब देती हूं. मैं जैसे ही फिर से भाभी की चूत को सहलाने लगा, तो स्नेहा भाभी की चुदासी सिसकारियां और तेजी से निकलने लगी ‘आआहह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… अब मत सताओ.

एक दिन भगवान ने मेरी तड़पती हुई चूत की पुकार सुन ली और मुझे मौका मिल ही गया.

मैंने कहा- अच्छा आप मेरे लिए क्या कर सकते हो?उसने कहा- कुछ भी!मैंने कहा- ठीक है, मेरी 3000 रूपये की हेल्प करोगे?उसने कहा- ठीक है, बताइए कैसे भेजने हैं. कुछ पल यूं ही चोदने के बाद संदीप मुझ पर से हट गया और उसने मुझे घोड़ी बनने को कहा. अंकल पास में रखे एक डिब्बे को लेकर आए और दीदी की कमर के पास रख कर बैठ गए.

जब फ़ोटो खींच कर मैं फ्री हुआ तो चारों लड़कियाँ भी कपड़े बदल कर अपने अपने घर चली गयी. मेरे अंदर जाते ही प्रीति ने दरवाजा बंद कर दिया और मैं प्रीति को अपने बांहों में भर लिया, उसके होंटों पे अपने होंट रख दिये. कुछ देर बाद मैंने उसको ऊपर आने को कहा तो उसने कहा- नहीं!फिर मैं उसके पैर उठाकर दबादब उसकी चूत चोदने लगा.

अभी मेरे लण्ड में बहुत जान है, अभी जीवन में न जाने कितनी रेखा, मनीषा और हनी मिलेंगी.

मेरा बड़ा साला मेरी वाईफ से तीन साल बड़ा है … परंतु मुझसे उम्र में लगभग पांच साल छोटा है. मैं सोच रहा था कि जब वो खुद ही मेरे साथ सेक्स करने के लिए मरी जा रही है तो मेरे बाप का क्या जाता है.

देहाती नेपाली बीएफ मैंने भाभी के होंठों को कभी काट लेता, तो कभी जोर जोर से चूसने लगता. नंगी सायरा ने अपने कपड़े मेरे बेड पर देखे तो वो ठिठक गयी और मुझे देखने लगी।उसके मन के संशय को मिटाने के लिये मैं बोला- मैं ही लाया हूं।हल्की सी मुस्कुराहट के साथ उसने बेड पर ही पड़े मेरे तौलिये को लिया और अपने जिस्म को अच्छे से पौंछने लगी.

देहाती नेपाली बीएफ जैसे ही उसने मेरे मुंह से ये बात सुनी उसने मेरे चूचों को पकड़ लिया. मैं बोला- अभी की कोई पिक हो तो भेजो!वो बोली- नहीं नहीं … ये सब नहीं!मैंने थोड़ा रिक्वेस्ट की वो मान गई.

इस बार फिर मुझे बेतहाशा दर्द हो रहा था। मैं बस यही सोच रही थी कि जल्द से जल्द इसका पानी निकल जाए और यह मुझे छोड़ दे मगर उस कमीने का पावर इतना ज्यादा था कि इतनी जल्दी उसका पानी नहीं निकल रहा था.

एक्स एक्स एक्स मारवाड़ी बीपी

एक हाथ से उसने मेरे एक मम्मे को पकड़ा और उसके निप्पल को मसलते हुए अपने मुँह में ले लिया. मैंने मजाक करते हुए कहा- क्यों तुम्हारे भाई ने तुमको अच्छे से नहीं चोदा?आलिया- शटअप … वैसे तो तुम चारों जेन्टलमैन लगते हो … लेकिन रात को एकदम हरामजादे बन जाते हो. शैली मेरा लण्ड मुठ्ठी में पकड़कर आगे पीछे करने लगी तो लण्ड और टनटनाने लगा.

दरअसल समंदर के पानी में से निकलते हुए उसकी सेक्सी मस्क्यूलर बॉडी, स्पीडो को सरकाते हुए दिखने वाले उसके आंधे नंगे चूतड़ और आगे की ओर उसके लंड का उभार देखने के लिए ही मैं वो गाना बार-बार देखा करता था. वो वैसे भी देखने में भी किसी हूर से कम नहीं थी, वो नाचती भी मस्त है. फिर अचानक से दीदी ने उनका हाथ वहां से वापस खींचा और वो बोली- श्वेता अब चलो.

लंड के सुपारे की मोटाई से मेरी कोमल गांड का फूल चिर सा गया और मैं चीख पड़ी.

उसकी इस हरकत से मैं और भी उत्तेजित हो गयी, मेरी चूत में सनसनाहट सी होने लगी. अब तक मैं भी अब पूरी मस्ती में आ गयी थी और संजय के सिर को टांगों के बीच दबाने लगी।संजय ने मुंह हटा लिया तो मैं उसकी तरफ देखने लगी. आलिया- आहहह याह ओह उम्मह आहहह ओह …नताशा- आहहह ओह गॉड याहह ओह अविनाश यू आर सो हार्ड … फक मी …चित्रा- आहहह ओह या याह उम्मह यस आकाश याह आह या आहहह.

वे उधर अपने दोस्त के बेटे की शादी में जा रहे हैं … और कुछ बिजनेस की मीटिंग भी हैं … इसलिए हम मुंबई ही रहेंगे … मॉम-डेड के आने के बाद देखते हैं. जल्दी ही मेरी समझ में आ गया कि मैं एक स्पैशल पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी देख रहा था जिसमें गुज़री 20 जनवरी के दिन वसुंधरा ने मुझे … मुझे बोले तो, राजवीर को आइंदा के लिए अपने इस डगशई वाले कॉटेज के तमाम मालिकाना इख़्तियार अता कर दिये थे. निधि फिर बोली- अरे दिल से बुलाओ न मेरे को मेरी जान … सामने न आ जाऊं तब कहना.

मगर दोस्तो, मेरा डर सच साबित हुआ और कुछ ही देर बाद उसका लंड फिर से खड़ा हो गया।इस बार मैंने बोला- मैं चूस कर आपका पानी निकाल देती हूं. उधर संदीप ने पेंटी को किनारे करके जैसे ही चूत पर अपनी जीभ फिराई, मैं एकदम से सिहर और तड़प उठी.

फिर कहानी के नायिका की सहेली की बारी आई और मैंने उसकी जगह खुद को फिट कर लिया. अभी जैसे ही आफिस पहुंचा तो पता चला कि सब सर लोग रायपुर मीटिंग में गए हैं. घंटे भर पार्क में बैठ कर बातें करने के बाद हम अपने अपने रास्ते हो लिये.

आलिया- तुम पागल हो गए हो क्या!मैं- नहीं, मुझे तुम बहुत पसंद हो, मैं तुम्हें अपनी गलफ्रेंड बनाना चाहता हूँ.

फिर मैंने एक शॉट में मेरा पूरा लंड अंदर डाला और अंदर बाहर करने लगा. वो बोली- क्यों कोई और भी है क्या लाइन में?मैं बोला- नहीं है लाइन में कोई … घर पर अकेला हूँ. जीजा जी- साले साहब अपनी बहन को चोदने में मजा आ रहा है न?मैं- बहुत ज्यादा … और आपको?जीजा जी- हां बड़ी मक्खन माल है आलिया.

फिर उसने अपने मुंह को खोल लिया और बड़े ही प्यार से मेरे लंड पर अपने होंठों को रखते हुए मेरे लंड के सुपाड़े को मुंह में अंदर ले लिया. दीदी की चूत पर घने बालों से मुझे कोई आश्चर्य नहीं हुआ, क्योंकि परमीत ने पहले ही बता रखा था कि हम सरदारियां शरीर के किसी भी हिस्से के बाल साफ नहीं करतीं.

मैंने जैसे ही अपनी कार स्टेशन के गेट पर लगाई, तो देखा कि वो दोनों मेरा ही इंतजार कर रहे थे. जोर जबरदस्ती करके थैली खुलवाई तो वोडका की बोतल निकली- अच्छा तो बच्चे फिर शुरू कर दी तूने समझेगा नहीं कभी. मुझे देखते ही उन्होंने मुझे साड़ी पहना दी और मुझे बिस्तर पर घूंघट निकाल कर दुल्हन के जैसे बैठा दिया.

ब्लू पिक्चर भेजो हिंदी में

तभी वो बोली- देवर जी, कहां खो गए?मैंने अपने आपको सम्भालते हुए कहा- कुछ नहीं भाभी … बस लाइफ़ में पहली बार इतने पास से आपकी ख़ूबसूरती देखी है.

मैं बोला- आज मैं आपका अकेला यात्री हूँ … तो पायलट को इतनी शर्म क्यों … चलो दोनों बिना कपड़ों के जन्नत चलते हैं. नमस्कार दोस्तो, मैं पिछले दस साल से अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ. और आलिया फिर से जोरों से चिल्लाने लगी- आहहह राज, स्टॉप इट … आह यू हर्ट मी … राज स्टॉप इट … प्लीज बाहर निकालो … मुझे दर्द हो रहा है.

वो हांफते हुए बोले- कोई बात नहीं जान, मैंने दरवाजे को अंदर से लॉक किया हुआ है. थोड़ी देर ऐसे ही रुका रहा कुछ देर के बाद प्रीति की गांड हिलाने लगी और हल्के हल्के झटके मारने लगी. बड़े बड़े लैंड वाली सेक्सी बीएफइस बीच कुछ पल ही व्यर्थ हुए … लेकिन उन कुछ पलों का इंतजार मुझे युगों का इंतजार करना प्रतीत हुआ.

मैं आलिया के मम्मों पर एक हाथ रखकर उसके दोंनो पैर ऊंचे करके चोद रहा था. मीना के एग्जाम खत्म होने के बाद एक दिन मनोज ने मीना को फ्लाइट में बैठा दिया और उसे रिसीव करने के लिए मैं एयरपोर्ट पहुंच गया.

वो ना-नुकुर और हल्का विरोध करती रही … लेकिन उससे बहला फुसला कर मैं उसका जम्पर और ब्रा उतारने में कामयाब हो गया. मैंने कहा- उससे तो मैं प्यार करती हूं लेकिन जीजा के साथ जब चित्रकूट गई थी तो उस रात वहां पर लॉज के मैनेजर से भी चुदवा ली थी मैंने. चाची की फिगर 34-28-36 है और वो दिखने में भी काफी सेक्सी हैं … उनका रंग हल्का सा सांवला है.

इसके बाद मुझे अपने पूरे गहने पहनने को दिए और पहनने में सहायता भी की. कुछ ही पलों में वो झड़ने वाला है, यह जानकर मैं भी उसे और अधिक सहयोग करने लगी. मैं- कैसी हो?उसका जबाव अगले दिन आया- मेरा फ़ोन मुझ पर कम … औरों के हाथों में ज्यादा रहता है, तो कोई कॉल या मैसेज नहीं करना.

अब मैं मुड़कर उनसे चिपक गया और माफी मांगने लगा- मामी मैं बहक गया था … मुझसे गलती से हो गई थी.

मुझे उसके घर पर ऐसा काम करते हुए बहुत आनन्द आ रहा था, क्योंकि अपनेपन का आनन्द अलग ही होता है. पन्ने पलटते पलटते दिमाग के कैमरे द्वारा ली गई एक ब्लैक एंड व्हाइट फोटो एक बार फिर से मानसपटल पर रंगीन घटना में तबदील हो गयी.

जीजा साली चुदाई कहानी का पहला भाग:छोटी बहन को अपने पति से चुदवा दिया-1मेरी छोटी के बहन के बड़े बड़े दूधों को दबा कर मैंने उसको इतना गर्म कर दिया था कि उसकी चूत में उठी वासना गर्मी उसके चेहरे और उसके शब्दों के जरिये बाहर आने लगी. मैंने दीदी की जीभ अपने मुँह में खींच लिया और उसे काट लिया … क्योंकि मेरा शरीर कामरस त्याग रहा था और अमृत मंथन का अजीब सुख अपनी मंजिल पा रहा था. ज़ेबा के लगातार विरोध करने और ये कहने कि ‘भाई प्लीज़ … ऐसा नहीं करो.

मैं- ले लंड ले मेरी रानी … आज तेरी चुत का भर्ता नहीं, चबूतरा बनेगा आज तेरी चुत फटेगी … ले भैनचोद. मैंने सर की गांड पे और अपने लण्ड पे क्रीम लगा ली और मैं धीरे धीरे सर की गांड में लंड डालने लगा. मगर मैंने उसको कहा- एक दो बार ही दर्द होगा; उसके बाद तुम्हें आराम मिलना शुरू हो जायेगा.

देहाती नेपाली बीएफ दोस्तो, मैं आप सबके सामने अपनी पिछली कहानीकमसिन कुंवारी चूत को उसके घर में चोदा-1का अगला भाग लेकर हाजिर हूं. वो दीदी की चुत में तेल लगाने लगे, तो दीदी ने भी अपने हाथों में तेल ले कर उनके लंड में तेल लगा दिया.

बीपी सेक्सी कहानी

हम दोनों अपनी बहन को बेरहमी से चोदने में लगे थे और वो दोनों जोर से चिल्लाते हुए गांड मारने के लिए मना कर रही थीं. थोड़ी थोड़ी करते हुए उसने मुझे लगभग आधी बोतल विहस्की पिला दी और बाकी की विहस्की खुद पी गया।इतनी विहस्की मेरे लिए बहुत ही ज्यादा थी, मैं अपने आप को अब एक भी सम्हाल नहीं पा रही थी।मगर उसने मुझे अपने से चिपकाए रखा और मुझे अपने ऊपर लेटा के रखा. घर में अकेले रहने की बात सुनकर मैं अन्दर से बहुत खुश था, क्योंकि पहली बार मुझे बेहतरीन मौका मिलने वाला था.

क्या आप मुझसे मिलना चाहेंगे?”मुंबई में हूँ से क्या मतलब?” आप तो शायद मुंबई में ही रहती थी. भाभी- अच्छा … वो क्या नजरिया था?मैं- छोड़ो … मुझे ये दर्शन की बातें नहीं करनी. बीएफ सेक्स हिंदी में दिखाएंस्वीटी आंटी को मैंने चित लिटा दिया और उनकी चुत पर अपना लंड रख कर रगड़ने लगा.

कुछ दिन बाद परीक्षा नज़दीक होने के कारण मेरे पिताजी ने हमारी घर की टीवी केबल निकलवा दी … तो मैं दुखी हो गया.

प्रकाश की बीवी ममता बहुत हंसमुख और जिंदादिल और उम्र में प्रकाश से चार पांच साल छोटी थी. वो मुझे गुस्से से देखने लगी और बोली- आपको मुँह चोदने की तमीज़ नहीं है क्या? आपने तो मुझे मार ही डाला था.

बीच बीच में जेठजी मेरे दोनों चूतड़ों को कस कर दबा देते, तो मैं भी उनके चूतड़ों को अपनी पूरी ताकत से दबा देती. जब फ़ोटो खींच कर मैं फ्री हुआ तो चारों लड़कियाँ भी कपड़े बदल कर अपने अपने घर चली गयी. संगीता के कबूतर आजाद हो चुके थे, मैंने संगीता की चूचियां चूसते चूसते उसकी स्कर्ट और पैन्टी उतार दी.

ई … !! राज … !! ”वसुंधरा सिसियाते हुए उत्तेजना वश रह-रह कर मेरे सर पर चुम्बन पर चुम्बन लिए जा रही थी.

उसने मेरे लहंगे के अंदर ही मेरे चूतड़ों को पकड़ कर अपनी जीभ को मेरी चूत में घुसा दिया. मगर वहां पर गंदगी बहुत रहती थी … तो मैं उस गांव में ही कमरा ढूढ़ने लगा. मैंने अपनी इस पोस्ट में एफबी पर उसकी तरह कोई बंदिश नहीं लगा रखी थी.

हिंदी में बीएफ मूवी बीएफरात को जब भी मेरे पति विक्रम चोदते मुझे लगता वो लड़का मुझे भोग रहा है. इस दौरान जेठजी के हाथ और मेरे हाथ एक दूसरे के पिछवाड़े का मुआयना करने में बिजी थे.

সানি লিওন ব্লু ফিল্ম ভিডিও

मैंने शादी 21 साल की उम्र में कर ली और मेरा एक बेटा 12 साल का बेटा भी है. मेरी बहन ने मेरे लंड को धीरे से पकड़ लिया, लेकिन लंड की लंबाई और मोटाई को महसूस कर, बदहवास हो गयी. एक दिन अपनी तन्हाई को अपने साथ बैठाकर मैं उसे अपनी गुज़री जिन्दगी की एल्बम पलटकर दिखा रहा था.

उन आंटी ने मुझे कहा- तुझे विभा खोज रही है।मैंने पूछा- क्या बात है?वो बोली- तेरे लिए नया जुगाड़ लगाया है।मैं भी खुश हो गया. मैं आहहह उहहहह करती रही और संदीप का लंड समझ कर उसे चूत में पूरा समा लेने को तड़प उठी. मैंने मैम से पूछा तो मैम ने मेरा परिचय उनसे कराया- ये नाज़िमा बेगम हैं.

आपको मेरी सेक्स कहानी अच्छी लगी या नहीं? ईमेल करके अपने विचार जरूर बताना. कभी मैं उसकी गर्दन में चूमता तो कभी कान की लौ को!अहह ईशश श श श आह्हः संदीप उफ्फ्फ मत तड़पाओ! आप क्यों देर करते हो!” जैसे शब्द मेरी सेक्स की प्यास को बढ़ा रहे थे. मैं- हैलो … तुम्हारा नाम क्या है?वो बोला- आप जो बोलो, वही मेरा नाम है.

मैं- आज का क्या प्लान है?दीदी- कल रात तुम दोनों ने मजा किया था, आज हम दोनों मजा लेंगी. उसने तुरंत उठ कर अन्दर से गेट लॉक कर दिया और दरवाजे पर ही लंड बाहर निकाल कर मुझे दिखाने लगा.

सेवक राम बहुत मतलबी टाइप का आदमी है इसलिये मुहल्ले में किसी से भी उसका अच्छा सम्बंध नहीं है.

उसके बाद ससुर के लंड ने बहू की चूत के अन्दर अपना जलवा दिखाना शुरू किया। थप थप की आवाज और सायरा के उम्म्ह… अहह… हय… याह… की आवाज से कमरा गूंजने लगा।थोड़ा सा खुलापन हम दोनों के बीच हो चुका था।कुछ देर बाद मैंने सायरा को गोद में लेकर धक्का लगाने लगा, मैं धीरे-धीरे मजे का डोज बढ़ाने लगा।पापा … बहुत मजा आ रहा है. इंग्लिश फिल्म बीएफ वीडियो मेंदोस्तो, कॉलेज गर्ल की सेक्सी स्टोरी का तीसरा भाग लेकर मैं मुस्कान फिर से आप लोगों के सामने हाज़िर हूँ। यह स्टोरी मेरी एक सहेली सुरेखा और उसकी सहेली यास्मीन की काल गर्ल बनने की है. 2021 का बीएफ नयाअब आगे:गीत ने कहा- तू तो ऐसे कह रही है, जैसे कि मेरी चूत में इतना बड़ा एक फुट का डिल्डो चला ही जाएगा. कहानी को शुरू करने से पहले मैं आप लोगों को अपने बारे में बताना चाहता हूं.

तब मैंने उनकी पैंटी निकाली और उसे चाट लिया और चाची की चूत का पानी पूरा साफ कर दिया.

थोड़ी देर आईने में ऐसे ही देख कर मैं अपने मम्मे दबा कर मज़े ले रही थी. दीदी मुस्कुराईं और थोड़ा डांटते, थोड़ा समझाते हुए कहने लगीं- किसी भी चीज की अति अच्छी नहीं होती … यहां तेरे मेरे अलावा और कोई नहीं, तो फिर शर्माना कैसा?मैंने दीदी की बातों का जवाब तो नहीं दिया, पर अब मैं वहीं कपड़े बदलने को राजी हो गई. ज़ेबा रोनी सी सूरत बनाते हुए बोली- भाई … प्लीज़ आप आज कुछ मत कीजिएगा.

मम्मी बोलीं- हां यार मन तो मेरा भी है … पर किससे चुदवा लिया जाए?आंटी ने मम्मी की नाइटी में हाथ डाल दिया और उनकी चुचियों को मसलने लगीं. संगीता का टॉवल चार तह करके तकिये पर बिछाया और तकिया संगीता की गांड़ के नीचे रख दिया. साथ ही मां को बेड की चादर पर लगा हुआ मेरी चूत का रस और साथ ही विवेक और अभय सेठ के लंड का रस लगा हुआ मिल गया.

इंडियन sax

आपने मेरी वो फोटो हटा देने को क्यों कहा था?वो हंसने लगीं और कहने लगीं- वो …बस इतना कह कर वो चुप हो गईं. मेरे दुकान पर एक लड़की आई और उसने मुझसे पूछा- आपके पास काम मिलेगा क्या?तो मैंने उससे पूछा- आपने कहीं काम किया है पहले?वो बोली- हां किया है लेकिन वहां का माहौल कुछ ठीक नहीं है इसलिए उस काम को मैं छोड़ना चाहती हूं. इसी बीच मेरे पति ने हाथ से अब तक अपना माल निकाल दिया था और वो वहीं सोफे पर ही लेट गये थे.

मेरी पिछली कहानी थीमॉडलिंग की लालच में मेरी बहन चुद गईमुझे मेरे किसी दोस्त ने ई-मेल से एक कहानी भेजी है.

मैंने कहा- कुत्ता और कुतिया वाली पोज कैसी रहेगी?इतना सुनते ही वो झट से कुतिया वाली पोज में आ गयी.

तब मैंने उनकी पैंटी निकाली और उसे चाट लिया और चाची की चूत का पानी पूरा साफ कर दिया. मैंने उसे अपनी गोद में उठा लिया और बेडरूम में लाकर बेड पर लिटा दिया. सेक्सी वीडियो बीएफ बलात्कारआपने अब तक की मेरी इस सेक्स कहानी में पढ़ा था कि साकेत भैया मेरी दीदी का पहला बुर चोदन करने की पूरी तैयारी कर चुके थे.

शर्मा अंकल- अरे बेटा, इतनी जल्दी घर आ गए? आज क्लास नहीं हुई क्या?मैं- क्लास तो हुई थी अंकल. मुझे जरा भी अंदाजा नहीं था कि वो मेरा इस कदर फायदा उठाएगा। मैं पूरी तरह टूट चुकी थी।बहनचोद …” चैट्स पढ़ कर विशाल गुस्से में चिल्लाया. मगर अभी मेरे दिमाग में एक ही भूत सवार था कि मैं किसी तरह उसको इतनी गर्म कर दूं कि वो अपनी चूत को चुदवाने के लिए तड़प उठे.

उनके अनुभव … और किसी गैर के पहले स्पर्श ने मुझमें सिहरन पैदा कर दी थी. उनकी बातों के जवाब में मेरा चेहरा भाव शून्य था, एक हिसाब से ये मेरी मौन स्वीकृति ही थी.

उसके साथ सेक्स करने के लिए मेरे मन में पहले दिन से ही ख्याल आने लगे थे.

ममता ने सर उठाया और अपने जलते होंठ राजन के होंठों पर टिका दिये और पागलों की तरह उसे चूमने लगी. मैं मन ही मन खुश हो रहा था कि मैं अपनी कोशिश में कामयाब हो रहा हूं. वो दोनों आगे और पीछे से मेरी जांघों और मेरी गांड में फंसी हुई पैंटी को देख कर लार टपकाने लगे.

हिंदी बीएफ वीडियो इंग्लिश जब मैं अपने फोन से सेल्फी लेता था, उस दौरान आलिया मेरे बहुत नजदीक आ जाती थी. उसने अपनी जीन्स की चेन के नीचे वाले हिस्से को खींचते हुए लौड़े को एडजस्ट सा किया और कुर्सी पीछे करके टेबल की दूसरी तरफ आने लगा.

मेरे दोनों हाथ घूम कर वसुंधरा के दोनों कूल्हों पर जमे थे और अपनी उँगलियों और हथेलियों के नीचे मैं स्पष्टतः वसुंधरा की पैंटी का इलास्टिक महसूस कर रहा था. मैं चाहता था कि जल्दी से मेरी कोई गर्लफ्रेंड बन जाये और मुझे गर्लफ्रेंड की पहली चुदाई का आनंद मिले. उसकी खुशी के लिए और अपने मन की इच्छा पूरी करने के लिए उसका सारा पानी पी गई.

हिंदी वीडियो ब्लू पिक्चर

मुझे उसके दांतों से काटने से बहुत जलन हो रही थी … लेकिन मजा भी आ रहा था. आज हमारा इस तरह से मिलने का पहला अवसर था … लेकिन हम दोनों अच्छे से जानते थे कि आज हमारे प्यार की मंजिल को पाना है. अचानक से दीदी का ये कहना कि उनको नींद आ रही है, मैं समझ गया कि अंकल ने दीदी को पानी में कुछ ऐसा पिलाया है, जिससे चुदाई करने में मजा आ सकता होगा.

अगले दो दिनों तक मैं खूब मस्त रही, उसे इग्नोर करती रही। इस बीच उसने कई बार मुझसे बात करना चाही लेकिन मैं जान बूझकर मौका नहीं दे रही थी।शादी का दिन आ गया। दुल्हन भी सजी, मैं भी सज गयी। मैंने एक मॉडर्न लहंगा पहना था. एक साथ घूमना, एक साथ खाना, अपनी जिंदगी के हर सुख दुख में एक दूसरे का साथ देना हमारी आदत में था.

कुछ देर बाद मम्मी मुझे जगाने आईं- अर्णव उठो … खाना खा लो, बहुत समय हो गया है.

मैंने पूछा- क्यों, सुहागरात नहीं मनाई क्या?तो वो बोली- उनका ठीक से खड़ा नहीं होता तो बड़ी मुश्किल से अंदर जाता है. मेरे धक्के लगाने से पिंकी भी अब अब जोर से कराहें लेने लगी, उसकी चूत भी कामरस से भरी थी और उसने‌ भी मेरा पूरा साथ देना‌ शुरु कर दिया।उसकी कराहें भी अब आनन्द भरी सिसकारियों में बदल गयी और वो भी मेरे साथ साथ अब नीचे से जल्दी अपने‌ कूल्हों को‌‌ उचकाने लगी जिससे मेरा जोश अब और भी बढ़ गया।मेरे धक्के धीरे-धीरे बढ़ते गए और हम दोनों के बदन गर्म होने लगे. मैं उस होटल के कमरे में गोरे विदेशी के लिए दुल्हन की तैयार होकर बैठी हुई थी.

उसी दिन जब हम दोनों अपने घर आए, तो मैं दीदी से ये पूछ लिया- वो लड़का आपसे क्या मांग रहा था?दीदी- कौन लड़का और कब?मैं- वही, जिससे कॉलेज से आते समय झगड़ा हुआ था. इस बार मैंने सांस को छोड़ दिया था, चूत को भी सामान्य रहने दिया और पैरों को भी थोड़ा खोल लिया था. मैंने यंत्रचालित तरीके से हाथ बढ़ा कर कागज़ ले लिए और गर्म कॉफ़ी के सिप लेते हुए उन का अवलोकन करने लगा.

उसने तुरंत उठ कर अन्दर से गेट लॉक कर दिया और दरवाजे पर ही लंड बाहर निकाल कर मुझे दिखाने लगा.

देहाती नेपाली बीएफ: वह ब्रा पेंटी में मुझे देखते ही मुझसे चिपक गया और मेरे होंठों को चूसने लगा. उसकी एक मीठी सी चीख निकल गई- उई माँ मर गई … लंड है या खीरा? उम्म्ह… अहह… हय… याह…मैंने ताबड़तोड़ चुदाई करना शुरू कर दी.

परमीत के मुँह से एक सिसकारी फूट पड़ी और उसने अपने होंठों को दांतों में दबा लिया. मैंने भाभी की चूत पर थूक लगाया और फिर से चूत में अपना लंड रखकर धक्का दे दिया. हम दोनों नंगे ही उठे और एक दूसरे से चिपके हुए ही बाथरूम में घुस गए.

मेरी छवि दबंग और मददगार व्यक्ति की है और सेवक राम एक बार मेरी मदद से एक बड़ी समस्या से बच चुका है.

आंटी ने साइड के अलमारी से कंडोम का पैकेट दिया और कहा- लो, जितने कंडोम चाहिए ले लो. अंकल ने बोला- कोई बात नहीं … चलो तुम्हें अन्दर कमरे में सुला देते हैं. दीदी ने सिगरेट का कश खींचते हुए अपने मुँह का स्वाद ठीक किया और दारू का मजा लेने लगीं.