बीएफ फोटो भेजो

छवि स्रोत,ब्लू फिल्म सेक्सी चुदाई सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

पोर्न एक्सएक्सएक्स: बीएफ फोटो भेजो, मैं नंदा के कमरे में जाकर नित्य की तरह कपड़े उतार कर एयर कंडीशनर चालू करके लेट गया.

सेक्स करने वाला सेक्सी वीडियो

तो अब शेखर ने धारा को वैसे ही झुके रहने दिया और नीचे से अपनी कमर उठाते हुए अपने लंड को और अंदर ठूँसने लगा. लड़कियों लड़कियों की सेक्सी वीडियोमेरी चीख भी उतनी ही जोर से निकली और मैंने उससे ये नहीं करने के लिए कहा, पर वो कहां मानने वाला था.

साबिरा मेरे नीचे पड़ी पड़ी अपनी सांसें काबू में कर रही थी और मैं आंख बंद करके इस चुदाई का आखिरी मजा लेते हुए उसके बदन को चूम रहा था. सेक्सी ॲटम दाखवाखाना बनाने के बाद जब मैं रसोई से बाहर निकली, ससुर जी सोफे पर बैठे हुए लुंगी के ऊपर से ही अपना लंड सहला रहे थे.

पहले तो लड़का आकर मेरा खाना दे जाता था मगर अब सुनीता खुद ही खाना देने मेरे कमरे में आने लगी थी.बीएफ फोटो भेजो: मेरे गले में अपनी बांहों का हार डालते हुए उसने मेरी आंखों में देखा और अगले ही पल उसके होंठ मेरे होंठों पर आपके मुझे चूमने लगे.

मां ने पूछा- कहां थे, इतना वक्त कहां लगा दिया?जवाब देते हुए मैंने कहा- कुछ नहीं मां, भीड़ बहुत ज्यादा थी, इसलिए टाइम लग गया.फिर धीरे धीरे वो भी मुझे किस करने लगीं और दस मिनट तक हम एक दूसरे के होंठों को चूसते रहे.

पूरी नंगी पिक्चर सेक्सी - बीएफ फोटो भेजो

वो कुछ नहीं बोलीं, तो मैंने उनके मुँह में लौड़ा घुसा दिया और झटके लगाने लगा.उसको देख कर ऐसे लग रहा था, जैसे अभी अभी इस औरत पर दस लोग एक चढ़ चुके हैं.

बाहर आकर मैंने अंजान बनते हुए अपना तौलिया एकदम से खोला और खड़ा लंड चाची को दिखाते हुए फिर से पहन लिया. बीएफ फोटो भेजो मैं उस पर चिल्लाने लगी- साले, फ्री का माल समझ रखा है क्या … निकालो बाहर ओह्ह मम्मी मर गयी निकाल कमीने … मेरी गांड फट गई.

इधर मैंने जानबूझ कर साबिरा को अपनी बांहों में भर लिया और उसके भरे बदन पर हाथ घुमाने लगा.

बीएफ फोटो भेजो?

इस ट्रेन Xxx कहानी की शुरुआत हुई जयपुर से!वैसे तो मैं पटियाला रहता हूं पर जगह और नाम बदल दिए हैं मैंने क्योंकि पहचान हमेशा गुप्त ही रहनी चाहिए. ऐसे ही दस मिनट तक आसिफ मेरी गांड मारता रहा और मेरा लौड़ा भी अन्दर ही अन्दर फड़कता रहा. मैंने भी अपनी गांड थोड़ी ऊपर उठाते हुए उसको कच्छा नीचे करने में मदद कर दी.

फिर उन्होंने कुछ ही पलों में मेरे सारे कपड़े खोल दिए और मुझे बेड पर लेटाकर मेरे पैर के तल्ले, अंगूठे, टखने, पिंडली और जांघ को चूमते हुए उन पर जीभ फेरने लगे. होटल में आकर मैंने उसके कमरे का दरवाजा खटखटाया तो अजय ने दरवाजा खोला और सीधा मुझे अन्दर खींच लिया. उस किताब में तो काले नीग्रोज के बड़े बड़े लंड गांड में घुसे हुए दिख रहे थे.

मेरा नाम निखिल है और मैं कॉलेज से स्नातक यानि ग्रेजुएशन कर रहा हूँ. मैं उदास होकर वहां से आ गया और सोचने लगा कि ये ही तो एक तरीका था भाभी को चोदने का, ये मौका भी गया. मैंने उन्हें घोड़ी बनाया और गांड में तेल लगाकर धीरे धीरे मालिश करने लगा.

हमारी छुट्टी हुई तो मैंने रूम से बाहर निकल कर उससे उसके घर का पता पूछा. हिन्दी सेक्स कहानी साईट अन्तर्वासना पर आप सभी पाठकों का मैं राज शर्मा दोनों हाथ जोड़कर नमस्कार करता हूं.

बहन- तो तूने ये बात मुझे क्यों नहीं बताई?मैं- बस ऐसे हीबहन- तो इसी लिए आजकल तू अपना बहुत ज्यादा हिला रहा है न!मैं- हां.

उसकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मैंने धीरे से हाथ नीचे किया और पैंटी में डालने लगा.

मैंने उससे कहा- क्या आगे मजा नहीं है?वो बोली- मजा तो आगे ही आता है मगर बच्चा पैदा होने का खतरा कौन मोल ले. भाई ने मेरी साड़ी पेटीकोट उठाकर मेरी चड्डी नीचे की और अपना लंड पीछे से मेरी चूत में पेल दिया. मेरी आग शांत हो गई और मैं अपनी अंडरवियर बाथरूम में रख कर वापिस बेड पर आ गया.

हमें कार यहीं कहीं पार्क करनी होगी और मैं तुम्हें अपनी बाइक से तुम्हारे घर ड्रॉप कर देता हूँ. लंड में थोड़ी खुजलाहट हो रही थी तो वहीं खड़े खड़े लोवर के अन्दर हाथ डाल कर लंड खुजलाने लगा. अंकल मुझे किस करके चले गए और मैंने अगले लंड के बारे सोचना शुरू कर दिया.

मैंने सुमैत्री की बात को नजरअंदाज किया और उसकी कमर से कसके पकड़ कर जोर का झटका दे मारा.

दोस्तो, मुझे लगता है कि यदि मोहन बाबू मुझे नहीं चोदते तो जीवन के एक सुख से मैं अनजान ही रहती. चूत जैसे जैसे गीली हो जाती है, वैसे वैसे सुपारे को सही से वो पकड़ नहीं मिल पाती, जिससे चुदाई का मज़ा मिलता है. उसने किस करते हुए ही अपना लंड निकाला और मेरी चूत में पूरा घुसा दिया.

अब धारा ने एक आख़िरी हमला किया, उसने शेखर के लंड के नीचे लटक रहे सामान्य से बड़ी गोटियों पे हंटर की नोक को भिड़ा दिया और दोनों गोटियों के चारों ओर गोल-गोल हरकत करने लगी. धारा को शायद शेखर की इस हालत पे तरस आ गया … उसने एक बार उसकी आँखों में देखा और फिर धीरे-धीरे अपना सर नीचे झुकाती चली गयी. मैंने उसे धक्का देकर पीछे कर दिया और चिल्लाने लगी- ये क्या कर रहे हो?वो मेरे पास आया और बड़ी मासूमियत से बोला- दीदी, मुझे पता है आप कल रात जग रही थीं.

कुछ मिनट तक अन्दर बाहर करवाने के बाद वो थक गई और बोली- बस अब तुम दोनों खेलो.

गीता ने मुझे अपनी बांहों में कस लिया तो मैं उसके होंठों को लगातार चूमने लगा. मैंने आज पहली बार किसी मर्द का लंड चूसा है कितना जानदार और शानदार लंड है तुम्हारा.

बीएफ फोटो भेजो फिर उसने मेरे बाजू में लेट कर मुझे एक लंबा किस किया और हम दोनों एक दूसरे को पकड़ कर लेट गए और एक दूसरे को सहलाते रहे. मैं उससे बोला- मुझे सब पता है, बस मैं जानने की कोशिश कर रहा था कि तुम्हें भी इन सब के बारे में पता है या नहीं, लेकिन लगता है तुम तो इस खेल को खिलाड़ी हो गई हो.

बीएफ फोटो भेजो हालांकि उसी वक्त मुझे लगा था कि मैम मेरे सामने इतना खुल कर अपनी बात कह रही हैं, तो मेरे लिए ये एक मौका हो सकता है. जिससे वह चिल्लाई और बोली- आह मादरचोद … क्या मेरी चूत को आज ही फाड़ेगा? मेरे को क्या रंडी समझ रखा है? प्यार से कर … मैं कहीं भागी थोड़ी जा रही हूं।मैंने उनको सॉरी बोला और अपने लन्ड को उनकी चूत में चलाने लगा.

मेरी बहन मेरे पास आई और मेरा लंड पकड़ कर बोली- क्या बोल रहा था, अब बता?मैंने कहा- अब क्या गांड बताऊं … मेरे लंड माल मैं मॉम की गांड में झाड़ चुका हूँ.

ब्लू पिक्चर हिंदी देहाती

मैं बोला- ये क्या कर रही हो?तो लुच्ची बोली- रात को तुमने सोनी के साथ खेला था ना … वो ही खेल खेलना है. नई सेक्स कहानी के साथ उपस्थिति होकर बताऊंगा कि कैसे सोनम भाभी की चूत के रनवे पर लंड एयरलाइन्स का प्लेन लैंड हुआ. वो आदमी मेरे पीछे से आ गया और मेरे मम्मों को पकड़ कर मसलने लगा और मेरी गर्दन को भी चूमने लगा.

हालांकि मेरा मन था कि मैं लड़कियों के जैसे कह दूँ कि मुझे पूजा करना नहीं है. फिर मुझे भी हंसी आ गयी कि फातिमा के प्यार में तो सच में मेरी गांड फट गयी. मुझे आया जानकर कमरे के अन्दर एकदम से हड़बड़ी मच गई और सुची ने जल्दी से अपनी सलवार पहन ली.

मैं चाहता था कि मॉम खुद ही मुझसे चुदवाने को बोलें इसलिए मैं प्लान करने लगा.

वो बोली कि बहुत टेस्टी रहता है और लन्ड रस पीने के फायदे भी बहुत रहते हैं। कितने दिनों से मैं यह रस बेकार ही जाने दे रही थी. दोस्तो, मैं उम्मीद करती हूं कि मेरी सहेली नैना की फुल सेक्स विद फादर इन लॉ कहानी आपको पसंद आई होगी. मैंने उसे बिस्तर पर पटका और उसकी टांगें खोल कर उसकी सफाचट चूत चाटने लगा.

वो सारा रस पी गयी और मेरे लंड को चाट चाट कर मेरी बहन ने साफ़ कर दिया. उधर गीता हमें देखकर नीचे उतरकर बोली- नीता, क्या तुम अकेली ही रस पियोगी? मुझे भी तो इस अमृत का थोड़ा स्वाद ले लेने दो. पहली बार कहानी लिख रहा हूं, अगर कुछ गलत लिख गया हो, तो माफ कर देना.

वो उठी और मेरा लंड मुँह में लेकर ऐसे चाटने लगी जैसे कोई आइसक्रीम चाट रही हो. अब बड़ी बहन ने अपनी छोटी बहन को बेड पर लिटाया और खुद घोड़ी बनकर अपना मुँह छोटी बहन की चूत पर रख दिया.

बॉस मेघना की नाभि के पास पहुंच कर उसकी गहरी नाभि में अपनी जीभ डालकर चाटने लगा. कैम सेक्स का मजा मुझे दिया हैदराबाद की लड़की ने कैम पर चूत में उंगली करके पानी निकाल कर! एक लड़की ने मुझे धोखा दिया तो मुझे देल्ही सेक्स चैट साईट का सहारा मिला।दोस्तो, मेरा नाम संदीप है और मैं आपको अपना हालिया कामुक कैम सेक्स अनुभव बताने जा रहा हूं।एक दिन मैं स्वाति नाम की लड़की से ऑनलाइन चैट कर रहा था. पूनम को जैसे ही मेरा लंड चरम पर आता सा लगा, उसने तुरंत झुक कर लंड को मुँह में ले लिया और लंड से निकली एक एक बूँद को गटक लिया.

लेकिन इस दौरान सुमैत्री यह भूल गई थी कि वो मेरे सामने सिर्फ़ ब्रा और पेटीकोट में है.

मैं उदास होकर वहां से आ गया और सोचने लगा कि ये ही तो एक तरीका था भाभी को चोदने का, ये मौका भी गया. तुम्हारी बहन को पता चल गया तो वो क्या सोचेगी?उसने कहा- उसे मालूम कैसे पड़ेगा. नीचे उसने टाइट पजामी पहनी हुई थी, जिसमें उसकी पैंटी साफ दिख रही थी.

मैंने हालचाल पूछे और पूछा- डैड क्या कर रहे हैं?मॉम बोलीं- डैड सो गए हैं. मैं ऑफिस से कुछ जल्दी निकल गया और मैंने एक दारू की बोतल और कुछ बियर खरीद लीं.

मेरी दाढ़ी भर के नहीं आती इसलिए क्लीन शेव करके बिल्कुल चिकना रहता हूँ. इसके बाद शादी हुई और मामा के बेटे की शादी में हम दोनों ने खूब मस्ती की. वो मेरे लंड को बाहर निकालते हुए बोली- देखूं तो कितना बड़ा कीड़ा घुसा बैठा है निक्कर के अंदर?जैसे ही निकला … मेरा लंड भाभी के मुंह से आह निकल गई, बोली- इतना बड़ा और मोटा सांप पाल के रखे हो?मैं मुस्कुरा दिया, मैंने कहा- आपके लिए ही ये आज खड़ा हुआ है।भाभी उसे पागलों की तरह मसलने लगी जोर जोर से!कुछ देर में ही मेरे लंड को भाभी ने अपने मुंह में ठूंस लिया और चूसने लगी.

ब्लू पिक्चर हिंदी में सेक्सी वीडियो

लगातार 20 मिनट तक ताबड़तोड़ चोद कर उसके झड़ने की बेला आई तो उसने मुझे अपनी भुजाओं में एक बहुत मजबूती से जकड़ लिया और अपनी चूत की धारा से मेरे लंड को भिगोती हुई निहाल हो गयी.

मैं किसी भी तरह की जल्दी में नहीं था और उसे पूरा मजा देना चाहता था. कभी उसे दांतों से दबा लेती तो कभी उसके छेद में जीभ को नुकीला करके मनीष को तड़पा रही थी. उसकी शादी के बाद से ही हम दोनों में खूब जमती थी क्योंकि आपको तो पता ही है कि सलहज और जीजा में कुछ ना कुछ तो चलता ही रहता है.

घर से पापा का फोन आया कि मौसी की लड़की की शादी है, तो तुम दोनों घर आ जाओ. मैंने कहा- हां आयशा … वैसे तुम्हारे शौहर का क्या नाम है?वो बोली- अभी उस बकचोद का नाम मत लो. देसी सेक्सी वीडियो मुसलमानकुछ देर बाद जब सब लोग चले गए, तब संजीव भैया मेरे लिए केक, चॉकलेट्स, नाश्ते के लिए भी बहुत कुछ लेकर आ गए.

मैं चौंका- क्या कह रही है साली … तूनेअब्बू के दोस्तों के लंडभी ले लिए?वो हंस कर बोली- तू क्या समझता है. सुनसान जगह और सेक्सी भाभी मेरे पहलू में लेटी थीं, ऊपर से उनके उरोज मुझे कामुक कर रहे थे.

उसके 36 इंच के भरे हुए मम्मे, बलखाती कमर 30 इंच की और 38 इंच के दो मस्त गदराये चूतड़ों के बीच में भरी हुई गोल छेद वाली मखमली गांड. हम दोनों की कमर के ऊपर का हिस्सा बेड पर और कमर के नीचे का हिस्सा हवा में और पैर जमीन पर ही थे. कहानी के पिछले भागदोस्त की बहन ने मेरा लंड चूसामें आपने पढ़ा कि मैं अपने दोस्त की शादीशुदा बहन के घर में उसके साथ सेक्स का मजा ले रहा था.

मनीष बोलने लगा- जीजी चूत में पानी निकालने में अलग ही मजा आता है … प्लीज आप टेबलेट खा लेना. मैं जानता था कि उसे काफी तकलीफ होगी इसलिए मैंने उसे पूरी तरह से जकड़ लिया था ताकि वो हिल ना सके. उसके बदन में उमड़ रही तरंगें और मुँह से निकलती सिसकारियां सुनकर साफ़ पता चल रहा था कि साबिरा कैसे अपने भाई की जीभ से मिलने वाले मजे से गर्मा रही है.

छत का फर्श बारिश के पानी से गीला हो गया था तो मैंने अपनी लुंगी घुटनों तक लेकर कमर पर बांध कर ऊंची कर ली और मैं छत पर टहलने लगा.

मैंने उससे कहा- कल तुम घर से स्कूल के लिए निकलना और स्कूल के पहले वाले चौक पर आ जाना. मैं मॉम के पीछे घुटनों के बल बैठ गया, मॉम की गांड को दोनों हाथों से खींच कर फैलाया और उनके बड़ी सी गांड के छेद को अपनी जीभ से चाटने लगा.

दोस्तो, मेरा नाम प्रशांत शुक्ला है और मैं बिहार के दरभंगा जिले के एक छोटे से गांव का निवासी हूं. जल्द ही मैंने उसे नंगी कर दिया और उसकी चूत को देखा जो कि सामने से फैली हुई थी और उसका छेद खुला हुआ सामने ही दिख रहा था. मैंने लंड को चूत में रखकर जोर से धक्का लगाया और फिर से अन्दर बाहर करने लगा.

उसने उस रात मेरे साथ बातें करते करते हुए ही मेरे दरवाजे पर नॉक किया. उसकी गोरे गोरे चूतड़ उसके चलने से मटक रहे थे और गांड के बीच की दरार कयामत ढा रही थी. अब मैंने आंटी के पैरों को मोड़कर चोदना शुरू कर दिया, इससे आंटी दर्द से ‘आहहह उईई …’ करके चिल्लाने लगीं.

बीएफ फोटो भेजो मैंने उसके दोनों पैरों को फैला कर नीचे रखे हुए तकिया को अच्छे से सैट किया और अपने लंड को उसकी बुर पर रगड़ने लगा. मॉम की आह की आवाज निकली और मैं तेजी से सटासट सटासट लंड अन्दर बाहर करने लगा.

क्सक्सक्स वीडियो माँ

कुछ देर बाद चूतड़ों पर चटाक की आवाज से चपत मारते हुए मैं अञ्जलि को अपने ऊपर लेकर लेट गया. मैंने भी लौड़े को सुपारे तक बाहर निकाला और ऐसे ही अपनी कमर ऊपर नीचे करके लंड के सुपारे को अन्दर रगड़ने लगा. मेरा पूरा लौड़ा गांड में लिए हुई वो वैसे ही बिस्तर पर कुछ देर लेटी रही.

मेरा कद 6 फुट और 2 इंच है और जिम जाने से शरीर एकदम कसरती बना हुआ है. आपने मेरी पिछली सेक्स कहानीऑनलाइन मिली भाभी की चूत और गांड चुदाईको पढ़कर काफी पसंद किया था और मुझे भारी संख्या में ईमेल मिले थे. नैनीताल की सेक्सी वीडियोमैं उस रूम में गया और देखा तो एक 30 साल के आसपास एक महिला पेट के बल लेटी हुई थी और उनने अपने ऊपर कंबल डाल रखा था.

भाभी भी काफी मजाकिया थी, उन्हें मैं रोजाना बाजार से लाकर कुछ न कुछ खाने की चीज देता रहता था.

मैं पहले से ही बाथरूम में अपनी नंगी जवानी को देख कर मदमस्त हो रही थी और अब एक साथ दो लड़कों की इन हरकतों से मैं और भी गर्म होने लगी थी. निधि उसको प्यार से सहलाने लगी।मैंने धीरे से मेरे शॉर्ट को नीचे कर दिया तथा मेरा लंबा मोटा लन्ड उनके हाथ में दे दिया.

हमारी छुट्टी हुई तो मैंने रूम से बाहर निकल कर उससे उसके घर का पता पूछा. तुरंत हमने अपना नंबर एक्सचेंज कर लिया और हम दोनों के बीच बातचीत का दौर शुरू हो गया. मैंने उसे अपनी दोनों बांहों भर लिया और उसे बेतहाशा गर्दन पर चूमने लगा.

उन्होंने मुझे गले लगा कर धन्यवाद किया, कहा- ऐसी चुदाई मेरी आज तक किसी ने नहीं करी.

बस इतनी सी थी मेरी कहानी!मैं आज भी उस दिन को याद करता हूँ तो लंड उफान पर आ जाता है।ट्रेन Xxx कहानी पर अपने सुझाव जरूर दें. मॉम एकदम से बोलीं- अरे 4 दिन क्यों?मगर तब तक डैड ने हां कर दी- हां चार दिन से कम में मसूरी का क्या मजा आएगा. मैं और रेशमा यूं ही हांफते हुए न जाने कब सो गए, कुछ पता ही नहीं चला.

बुर की चुदाई सेक्सी हिंदीमौसी ने अपने कपड़े उतार दिए और मेरा लंड चूसने लगीं, साथ ही मॉम की चूत में उंगली करने लगीं. वो मुझसे अलग हुआ तो मैंने एक और ब्रेड उठाकर उस पर अपने मुँह में भरा वीर्य उगल दिया और जीभ से ही ब्रेड पर फैला कर ब्रेड खा ली.

ब्लू पिक्चर आजा

मैंने उसके बगल में ही लेटे लेटे फिर से उसके होंठों को चूमना शुरू कर दिया और अपने एक हाथ से उसके सलवार के नाड़े को खोल दिया. अब मैंने अपनी गति बढ़ा दी, तो लंड और चूत गीली होने के कारण पचा पच फच फचाक फच पचाक की कामुक आवाजें निकलने लगी थीं. उनकी चुदाई से पूरा कमरा चुदाई की फचाफच वाली आवाज से कमरा गूँज गया था.

रेशमा- आहहह अम्मीई ईईई जानन्न उफ्फ धीरे करो मालिक्क फाड़ दी मेरी चूत. अपनी पीठ पर अञ्जलि के नाखूनों की पकड़ से पता चल रहा था कि अञ्जलि को कितना मजा आ रहा है. वो ‘आहह आहह और चोद साले फाड़ दो आ आहह आहह फक मी राज आआ हहह …’ करके चिल्ला रही थी और मैं अपनी पूरी रफ्तार से चोदने में लगा हुआ था.

मैंने उसको बताया- अब ये पुराना हो गया है और अभी आपको नया सिस्टम ले लेना चाहिए. वो वासना में पूरी तरह से मदहोश हो गयी थी और उसके मुँह से गर्म सिसकारियां निकलने लगी थीं. वो बोली- प्रोटेक्शन?मेरे पास कंडोम हमेशा होते थे, मैंने कहा- हां है.

धीरे धीरे उनके काले लौड़े पर रेशमा की चूत के पानी की सफ़ेद परत चढ़ने लगी थी. और मैं उसको गर्म करने की कोशिश कर रहा था, मेरा हाथ उसकी चूत के ऊपर तक पहुंच चुका था.

अब पढ़ाई के बाद पिता जी ने मेरी शादी एक सभ्य घर में एक लड़के से करा दी, जिसका बाकी का परिवार जिसमें उसके माता, पिता गांव में रहते थे.

अञ्जलि ने भी अपनी स्पीड बढ़ाते हुए थप थप थप की आवाज करती हुई लंड सवारी शुरू की. देसी सेक्सी देसी देसीलेकिन अब वो लगातार देखने लगी मेरी तरफ!तो मैंने इशारे में पूछा कि कोई दिक्कत हो रही है क्या?वह बोली- नहीं, बस यों ही सोच रही हूं कि आपसे दोस्ती कर सकती हूं. भोजपुरी सेक्सी फोटो ओपनवो बोलने लगीं- एक रात में मैं आई थी, लेकिन ललिता पहले से अन्दर चुदवा रही थी, तो मैं चुपचाप चली गई थी. एक दिन लुच्ची हमारे घर आई और बोली- आज मैं अपने घर जा रही हूं चलो थोड़ा खेल लेते हैं.

मैं घर आया और आते ही जैसे भाभी को देखा, तो भाभी साड़ी बांध कर मस्त लग रही थीं.

दोस्तो, मैं अक्सर अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़ती रहती हूँ, आज मैं अपनी आपबीती पोर्न अंकल सेक्स कहानी लिखना चाहती हूँ. धारा की नज़रों से वो दृश्य बच नहीं सका और उसने शेखर की ओर अपनी हवस भारी आँखों से देख कर मुस्कुराते हुए अपने होंठों पर अपनी जीभ फिरायी … मानो वो उस बूँद को अपनी जीभ से चाट कर खा जाना चाहती हो. आप प्लीज़ मुझे अपना नंबर दे दो, जिससे कोई बात होगी, तो आप मुझे बता देना या मैं आपसे पूछ लूंगी.

क्या बताऊं दोस्तो … कमाल का माल लग रही थी वो!उसके आम जैसे चूचों पर छोटे छोटे निप्पल ऐसे लग रहे थे जैसे आइसक्रीम के ऊपर दो चैरी रख दी गई हों. ललिता भाभी बोलने लगीं- राज गांड तो तूने फाड़ दी, अब तू मुझे जमकर चोद … मुझे बहुत मजा आ रहा है. मुझे पता था कि जिंदगी को बंद कमरों में जीने वाली रेशमा के लिए मेरा ये तोहफा जरूर पसंद आएगा.

एक्सएक्सएक्स हद वीडियो

मैं- ओह सॉरी!कोमल- वैसे तुम मेरी बेटी को घूर क्यों रहे थे?मैं- इतनी सुंदर जिसकी बेटी हो, उसको तो सभी घूरेंगे ही. मैं अब छत की साईड की छोटी सी दीवार पर अपनी दोनों कलाईयों के सहारे झुक कर बाहर का नजारा देखने लगा था. उसके चेहरे से हल्के दर्द का पता चल रहा था, मैंने फिर आधा लंड बाहर निकाला और फिर तेजी से अन्दर पेल दिया.

अब मैं उसे चोदने लगा और मेरे धक्कों के कारण उसकी बड़ी सी गांड मस्त लहरा रही थी.

बेगम ने मुझे आसिफ का कमरे के दरवाजे पर ला कर कहा- जाओ फातिमा … अन्दर तुम्हारे एक रात के शौहर इंतज़ार कर रहे हैं.

मैंने कहा- तो क्या अब मुझे लंड हिला कर ही काम चलाना पड़ेगा?वो हंस कर बोली- मेरे राजा, दरवाजा तो खोलो. जैसे तैसे सुबह से दोपहर हुई और मैं अपने लेक्चर के टाइम से 10-15 मिनट पहले ही क्लास में पहुंच गया. सेक्सी सेक्सी เนื้อเพลง वीडियो २०१७जैसे जैसे मूवी में चुदाई के सीन आ रहे थे, मैं भी मॉम को चोद रहा था.

यह मेरा पहली बार था तो उनकी चूत से भीनी भीनी खुशबू मुझे मदांध कर रही थी. फिर मैं खाना खा कर लेट गया और उस भाभी के बारे सोचते सोचते लंड हिलाते हिलाते सो गया. मैंने अपनी जगह बदली और पीछे से भाभी की बड़ी बहन की चूत पर लंड रख दिया.

आंटी अपने भूरे बाल और पूरी पसीने में भीगी इतनी प्यारी लग रही थीं कि मुझसे रहा नहीं गया. एक ही झटके में पूरा लंड अपने गले तक ले गयी और जोर जोर से चूसने लगी.

सर मेरी तरफ देखते हुए बोले- हां, हम लोग कब से तुम्हारा इंतजार कर रहे हैं.

ट्रेन अपनी रफ्तार में थी और मैं अपनी अब हाथ उसके गले से कमीज में डालकर उसके निप्पल को मसलने लगा. उसने अपने लंड के सुपारे से मेरे होंठों को धीरे से खोला और अपना लंड धीरे धीरे मेरे मुँह में घुसाना शुरू कर दिया. कहानी के पिछले भागमुखमैथुन में आनन्द की पराकाष्ठामें आपने पढ़ा किअब आगे हॉट गर्ल ऐस फक कहानी:खैर … शेखर इसी उधेरबुन में धारा के अगले कदम का इंतज़ार कर रहा था लेकिन धारा अब भी वैसे ही अपनी चूत और गांड की झलक शेखर को दिखती हुई आगे की तरफ़ मुँह करके उसके लंड पे अपने मुँह का लार गिरा रही थी.

गाय वाला सेक्सी उसके बाद मैंने तीन बार चुदाई की और उसे नंगी ही अपनी बांहों में लेकर सो गया. अब चूत का मुँह खोलने के लिए मैंने अपनी बहन की गांड के नीचे एक तकिया लगाया और चूत को एक बार चाटा.

उसने अपनी टांगें खोल कर उसने मेरे लिए अपनी जांघों के बीच में जगह बना दी और मेरा लौड़ा अपनी फुद्दी पर लगा लिया. अचानक मेरे फोन पर मेरी ऑफिस की एक साथ काम करने वाली महिला सुमैत्री का कॉल आया- अरुण तुम कहां हो?मैंने उत्तर दिया- मैं टोंक रोड पर हूँ और घर जा रहा हूँ. ट्रेन यात्रा की थकान और दो बार Xxx गांड फ़क से बेजान हुए हमारे बदन ऐसे ही एक दूसरे से चिपक कर बेदम हो गए थे.

सेक्स वीडियो टीचर के साथ

मेरी लॉ ब्रांच की स्टूडेंट और अभी अगले महीने इसका 12 वीं का एग्जाम है. उसने बड़ी मस्ती से मेरा लंड चूसा और मेरे वीर्य को अपने मुँह में लेने लगी. मैंने कहा- भाभी, कोई आएगा तो नहीं?भाभी बोली- दरवाजा बंद है ऊपर आने का, कोई नहीं आयेगा.

पर उस ख़ामोशी को तोड़ना भी जरूरी था क्यूंकि अब बात सिर्फ पैसों की नहीं थी बल्कि विश्वास की थी, जो रेशमा ने मुझ पर दिखाया था. मॉम बोलीं- सब कुछ मैं ही सोचूं क्या, तू सिर्फ लंड हिलाएगा?मैं- अगर इसको बिल्कुल फौलादी बनाना है मॉम, तो मेरे पास रास्ता है.

उसके बाद से अब लच्छो रोज रात में मेरे साथ ही सोने लगी और अब वो मेरे साथ पूरी तरह से खुल चुकी थी.

ताकि जब तुम ना हो तो मैं उसको चूस के उसका रस पी सकूं!मैंने प्रिया को बोला कि वह खुद ही नए बॉयफ्रेंड बना ले ताकि उनका लन्ड चूस सके. हम दोनों भाई बहन एक ही कमरे में सोया करते थे क्योंकि मैं बहुत डरपोक था तो मैं अपने कमरे में ना सो कर अपनी बहन के कमरे में सोता था. जैसे ही घुसा, उसकी आंखों से आंखें टकरा गईं और मैं भी उससे टकराता टकराता रह गया.

भाभी से मेरी अभी ज्यादा बात तो नहीं बनी है, पर वो मुझसे काफी अच्छे से बात कर रही थीं. मैंने अपने लंड पर थूक लगाया और एक ही झटके में पूरा का पूरा लौड़ा अन्दर डाल दिया. मैं आंटी की गांड में हाथ फेरने लगा और आंटी को घोड़ी बना कर गांड में थूक लगाने लगा.

मेरे पति का तो इतना काला लंड है कि चूसने की बात दूर … चूमने को भी दिल नहीं करता.

बीएफ फोटो भेजो: उस दौरान भाभी काफी बार हमारे घर आती थीं और जब दिन में घर का काम चलता था, तो सारा दिन हमारे घर पर ही रहती थीं. मेरे नाना और नानी की तबियत खराब रहने की वजह से मौसी नानी के साथ ही रहती हैं.

एक बार मैं उनसे प्रग्नेंट भी हो गई थी, तब ससुर जी ने मुझे टेबलेट लाकर दी, जिससे सब ठीक हो गया. झड़ने के बाद मैं पेन और कॉपी लेकर आयी और लिस्ट बनाने लगी कि किससे किससे चुदना है. देविका मदहोश होकर अपने हाथों से मेरा सर सहला रही थी और नीचे से अपनी गांड ऊपर नीचे करने लगी.

हम दोनों चुदाई में एक दूसरे में इस तरह से खोये थे कि एसी में भी पसीने पसीने हो गए थे.

पहले उन्होंने मेरे लंड की टोपी की खाल को चाट कर पीछे किया, फिर गुलाबी सुपारे को जोर जोर से चाटने लगीं. वो ‘आहहह आहहह …’ करके अपनी गांड आगे पीछे करके मेरा पूरा साथ दे रही थीं. शायद इससे ज्यादा उसको अपनी चूत में आसानी से लंड लेने का तरीका समझ आ रहा था.