हिंदी सेक्सी चोदने वाली बीएफ

छवि स्रोत,बहुत सारे सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

गोल्ड सेक्स: हिंदी सेक्सी चोदने वाली बीएफ, इस पर विक्रम बोला- यार, भाभी जैसी हूर से तो भूख कभी शांत हो ही नहीं सकती … लेकिन हां एक वर्ष की प्यास जरूर बुझ गई.

सलमान खान की सेक्सी सेक्सी वीडियो

मैंने रात की 9 की बस में स्लीपर की पीछे तरफ की एक पूरी सीट बुक कर ली. फुल सेक्सी रोमांस वीडियोहॉट आंटी बस सेक्स स्टोरी में मैंने अपनी मकान मालकिन आंटी की चूत मारी चलती बस में! आंटी को जयपुर जाना था, मैं उनके साथ गया था डीलक्स बस में!नमस्कार दोस्तो, मैं पड़ोसन चुदाई कहानी में आपके लिए मजा लेकर आया हूं.

सफर में मेरी चुदाई की कहानी का मजा लेंलेखक की पिछली कहानी:छोटे भाई की बीवी के साथ सुहागरात-1अन्तर्वासना के सभी दोस्तों को मेरा हैलो. काले मोटे लंड का सेक्सी वीडियोमैंने धीरे से उसकी पैंटी को किनारे किया और उसकी मस्त साफ़ फुद्दी देखकर तो मैं जैसे आंखों से ही बुर का रस पीने लगा.

महंत को रीना ने दबोच लिया था और वो उसे अपने हुस्न का जलवा दिखा रही थी.हिंदी सेक्सी चोदने वाली बीएफ: मेरे कपड़े उतारते ही विपिन ने मुझे अपने नीचे लिटा दिया और मेरे पूरे जिस्म को ऊपर से नीचे जाते हुए चूमने लगा.

उसकी गर्म चूत का पेशाब पीकर मैं तो खुद को रोक ही नहीं पाया क्योंकि इससे मुझे बहुत ज्यादा उत्तेजना हुई.जिसने टाईट चुत की चुदाई की है, वो ही जान सकता है कि ऐसी चुदाई का मजा क्या होता है.

सेक्सी वीडियो सारी वीडियो - हिंदी सेक्सी चोदने वाली बीएफ

मैंने स्कूटर पीछे से उठा कर, उनकी स्कूटी निकालने का रास्ता बना दिया.मैं- अरे मेरी जान चुचे चूसना और उनका दूध पीना मेरी कमज़ोरी है, लेकिन उनसे दूध पीकर मैं पूरी रात चोद सकता हूँ.

मैंने सोनल से उसके फ्रेण्ड्स के बारे में पूछना शुरू किया तो बताने लगी. हिंदी सेक्सी चोदने वाली बीएफ पर मुझे जब भी समय मिलता, मैं वंदना से बातें करता उसे हंसाता और उसका मन बहलाने लगता.

फिर रूबी मुझसे कहने लगी- क्या करें … यह प्यार व्यार मुझे तो समझ में ही नहीं आता.

हिंदी सेक्सी चोदने वाली बीएफ?

उसके रसीले होंठों पर मम्मों के ऊपर, कंधों पर मैंने उसको चूम चूम कर खुद को जिस्म की मदिरा के नशे से चूर कर लिया था. मैं लोवर उतार कर बोला- ठीक है चाची, अब आप कहती हैं, तो क्रीम लगा ही दो. मुझे आज आपकी सहनशीलता और बात करने का तरीका बहुत अच्छा लगा, इसलिए आई हूँ, सही बात तो यह है कि मैं पहले ही दिन से आपसे बहुत इम्प्रेस हूँ.

जैसा कि मैंने आपको बताया था कि मैं क्रॉसड्रेसर हूं, तो मैंने मनोज से पहले ही बोल दिया था कि मेरे लिए गर्ल की ड्रेस का इंतजाम करके रखना. रूबी- हां तेरी कसम, नहीं बताऊंगी … चल अब बता क्या बात है?मैं- वो रानी है ना … वो मुझे बहुत ज्यादा पसंद है. मैंने कुसुम ताई से कहा- अब वो समय आ गया जब मैं तुम्हें चोद कर पूरा ठंडा कर दूंगा.

फिर सोचती थी कि जब उसने गर्लफ्रेंड बनने को बोला है तो गर्लफ्रेंड की चुदाई की तरह ही होगी मेरी चुदाई भी. उसके बाद उसने मेरी गांड में उंगली दे दी और खड़े खड़े ही मेरी गांड में उंगली करने लगा. शायरा अब भी वहीं थी मगर वो शायद अपनी चूत पर हाथ घुमाने के सिवा कुछ नहीं कर पा रही थी.

मैं आंटी के निप्पल चूसते हुए उनके चूतड़ों की दरार में उंगली डालने लगा. मैंने कहा- तो फिर ये पर्दा किसलिये?मेरे टोकने पर उसने अपनी मैक्सी उतार दी.

मैंने अनन्या को बोला हुआ था कि डिनर तुम यहीं करोगी, इसलिए वो ऑफिस का काम खत्म करने के बाद हमारे यहां चली आई.

मैं भाभी पुसी चाटने में लगा रहा और थोड़ी ही देर में भाभी ‘ऊंह अक्की ऊम्म्म … मर गई … आंह …’ बोलती हुई मेरे मुँह पर झड़ गईं.

ज़ारा- मुझे बहुत डर लगता है जुदाई का सोचकर!इसलिये जीना चाहती हूं आपके साथ एक-एक पल को!मैं- और मैं तुम्हें इसलिये दूर रखने की कोशिश करता हूं ताकि तुम्हारी आने वाली जिंदगी में तुम्हें कोई तकलीफ ना हो. बस में शायद बहुत कम लोग ही बचे थे और पीछे तरफ किसी का ध्यान नहीं था. उसका शौहर शाईस्ता हमारी चुदाई को देखते हुए सामने बैठ कर अपने लंड को हिला रहा था.

वो बहुत मुश्किल से अपनी टाइट जींस के बटन खोल पाई और वहीं मेरी तरफ पीठ करके मूतने बैठ गई. मेरा लंड ठीक उसकी चूत के मुंह पर लगा था और वो उसको अंदर लेने के लिए चूत का दबाव उस पर डालने लगी. 5 या इंच के लगभग है।मेरे लंड का सुपारा काफी मोटा है जिसको शुरू में अंदर चूत या गांड में घुसाने में बहुत परेशानी होती है लेकिन बाद में बहुत मजा आता है.

हुआ यूं कि हमारी बैंक की ट्रेनिंग एक साथ आ गई थी और हम पहली बार ट्रेनिंग सेंटर पर मिले थे.

मैंने सामने प्रियंका की चूत देखी, तो मैं उसकी चुत को अपनी दो उंगलियों से चोदने लगा. मैं उसकी चूचियों को पी रहा था और जब उसकी तरफ नजर उठाकर देखता तो वो मेरी ही आंखों में देख रही होती थी. अच्छा तुमने अपने पति के बाद किसी और से भी चुत की सेवा करवाई है?अनन्या- नहीं भाभी, मैं करवाना तो चाहती थी … मगर कोई ऐसा नहीं मिला, जो मेरा साथ पूरी तरह से दे.

भाभी के मुंह से मेरे हर धक्के पर मादक सिसकारी निकल रही थी- आईई … आह्ह … ओह्ह … हम्म … आह्ह … हाह्ह … ओह्ह।जब चोट थोड़ी तेज लगती तो भाभी की हल्की चीख निकल जाती थी. अब मैंने उसकी कमर को पकड़ कर थाम लिया और एक झटके के साथ आंटी की चीख निकल गयी. मैं एक साथ अपनी दो दो उंगलियां उनकी चूत में डाल कर चुत को जीभ से चाट रहा था.

फिर मैंने भी उनके होंठ पर काट लिया जिससे उनकी भी हल्की सी चीख निकल गयी।अब उन्होंने मेरी साड़ी पीछे से उठानी शुरू कर दी और अब वो पैंटी के ऊपर से मेरी गांड सहला रहे थे.

ऑफिस लेडी सेक्स कहानी में मैंने बताया है कि मैं बदली पर कम्पनी के बैंगलोर ऑफिस में गया तो वहां कई लड़कियां थी. उसके हाथ को मैंने नीचे अपने हाथ से पकड़ कर अपने लंड पर रखवा दिया तो उसने पहली बार में ही मेरे बॉक्सर के ऊपर से मेरे लंड को पकड़ लिया और उसको दबा दबाकर सहलाने लगी.

हिंदी सेक्सी चोदने वाली बीएफ उसके माँसल नितंबों के बीच से लिंग अंदर-बाहर जाना मुझे रोमांचित कर रहा था। जिन नितंबों की कल्पना में मैंने कितनी बार वीर्य बहाया था, आज उन दोनों माँसल नितंबों के ऊपर मेरा अधिकार था. कुछ देर बाद वो पलटी, तो मैंने भी जानबूझकर अपना एक हाथ उसके मम्मों के ऊपर रख दिया और हल्का सा हिला कर हटा दिया.

हिंदी सेक्सी चोदने वाली बीएफ फिर दरवाजा खुला और मैंने हल्की सी आंख खोलकर सामने देखा तो कलावती मेरे कच्छे के तंबू की तरफ देख रही थी. रास्ते में भाभी की दर्द भरी चीखों से बुरा भी लग रहा था और भाभी की साड़ी ऊपर हो जाने की वजह से उनकी नंगी चिकनी जांघ देख कर अच्छा भी लग रहा था.

संजू विक्रम को देख कर बोली- अब तो मन भर गया न … तब से बच्चे की तरह जिद किए जा रहा था.

मारवाड़ी बिश्नोई सेक्सी वीडियो

कुछ तो मैं थोड़ी देर पहले नंगी भाभी देखकर आया था और लंड पहले से ही तना हुआ था. आह्ह … चोद दूंगा तुझे … फाड़ दूंगा ये छेद।इसी तरह 15 मिनट तक चोदने के बाद भाभी झड़ गयी. मैं उनके लौड़े को मुँह में लेकर चूसती थी, उसको अपनी छाती पर लेकर दबाती थी, रगड़ती थी.

भाभी गर्म हो चुकी थी और अपनी टांगों को बार बार खोलकर जीभ को जैसे और अंदर तक घुसवाने की कोशिश कर रही थी. धीरे धीरे करते करते उसका जोश बढ़ने लगा और वो मेरे होंठों को काटने लगा. आशा है आपको ये प्रस्तुति पसंद आएगी।सभी पाठकों से अनुरोध है कि अपने विचार और कहानी की कमियां जरूर बताएं ताकि आगे की कहानियों में सुधार किया जा सके.

उस रात मैं बस यही सोच-सोच कर परेशान हो गया था कि मैं संभोग के लिए कितना नीचे गिर गया था.

मैंने पूछा- आप आज वॉक नहीं कर रही हैं!वो बोलीं- आज कोई साथ में नहीं है, तो बस मन नहीं हुआ और बैठ गई. क्या मदमस्त कर देने वाला दृश्य था वो!मैं उसकी गांड की खुशबू सूंघने लगा. आपको मेरी भाभी सेक्स पोर्न कहानी का प्रस्तुतिकरण कैसा लगा, कृपया मेरे ईमेल पर जरूर बताएं.

मैं गुलजान को किस करने लगा और अपने हाथ से उसकी मोटी मोटी चुचियां दबाने लगा. मैं- ठीक है, आप यामिना को देकर गेस्ट हाउस के रूम नंबर 1 में भेज दें. बड़े संतरे के साइज की चूचियां मसलते हुए मैं उसकी बुर में जीभ चलाता रहा.

मेरे लंड का सुपारा उनकी चूत में घुस गया और उनको दर्द होना शुरू हो गया था क्योंकि भाभी की चुदाई बंद हो गई थी. शायद वो भी मुझे प्यार करने लगी थी, लेकिन ये सारे रास्ते ख़त्म भी तो उसने ही किए थे.

थोड़ी देर बाद वो मस्त हो गई और बोली- मेरे घोड़े, अब जोर से मार मेरी चूत … आह … साले और जोर से पेल भोसड़ी के आहह … आह … चोद और जोर से फुद्दी चुदाई कर!वो कराहती जा रही थी और लंड लेती रही थी. थोड़ी देर बाद मैंने उनकी आंखों में झांका तो अंकल का ब्लडप्रेशर हाई हो गया था, लंड वापस खड़ा होने की गुंजाइश नहीं दिख रही थी. सिस्टर सेक्स्क्स स्टोरी में पढ़ें कि कमसिन जवान लड़की में मन में सेक्स को लाकर क्या क्या विचार उभरते हैं.

उसके रसीले होंठों पर मम्मों के ऊपर, कंधों पर मैंने उसको चूम चूम कर खुद को जिस्म की मदिरा के नशे से चूर कर लिया था.

मैं- आई लव यू कुसुम … मैं तुम्हें उसी दिन से चोदना चाहता था … चुदाई के सपने देख रहा था. भाभी को भी चुदने में मज़ा आने लगा और वो गांड उछाल उछाल कर मुझसे चुदने लगीं. ये कहकर मैंने जैसे ही दो धक्के मारे तो मेरे लंड से वीर्य का शॉट निकला और मैंने उसकी चूत को अपने माल से भर दिया.

थोड़ी देर बाद भाभी ने उठकर अपने कपड़े उठाए और पहन कर मुझसे बोलीं- मैं अपने रूम में जा रही हूँ. ये चुदासी पड़ोसन भाभी चुदाई स्टोरी कैसी लगी मुझे इसके बारे में मेल जरूर करें.

साथ में कोई जानने वाला हो तो उसका सहारा हो जाता है लेकिन मैं तो बिल्कुल अकेली थी. शर्ट को फाड़कर बाहर झांकते 34 साइज के चूचे, गदरायी कमर और बाहर निकली हुई लण्ड खड़ा कर देने वाली 36 साइज की गाँड. मैं बोला- अब ज्यादा बनो मत, मैं जानता हूं कि तुम मेरे अंडरवियर में मेरे हथियार को देखती रहती हो.

जो लड़की का सेक्सी वीडियो

फिर मैं बोला- भाभी इसको हाथ से हिलाती रहोगी या होंठों का प्यार भी दोगी?वो समझ गयी और मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी.

कहते हुए मैंने थोड़ा उदास सा मुंह कर लिया और वो बोली- बुरा मान गया क्या?मैं बोला- नहीं, मगर दोनों ही खुश होकर करें तभी तो मजा है ना?वो बोली- ठीक है, वैसे तुम अच्छे लड़के हो. बारिश थोड़ी कम हो गयी थी तो मैंने बाईक चालू कर दी और नीता पीछे मुझसे सटकर बैठ गयी. बेडरूम में मेरे पलंग के पास मेज़ पर रखे कंडोम के पैकेट को देख कर बोलीं- अच्छा, ये सब भी होता है यहां!‘निर्मला जी, प्रोटेक्शन तो ज़रूरी है ही.

उसने थोड़ा ग़ुस्से में मुझसे कहा- ले चलेंगे या नहीं? हां या ना में ही जवाब दीजिए. मेरे जैसे चुदक्कड़ आदमी के लिए ऐसी चूत का मिलना बहुत किस्मत की बात थी. सेक्सी विडियो xxxxxकुछ ही देर बाद हम कुछ इस तरह एडजस्ट हो गए थे कि उसका सिर मेरी गोदी में आ गया था.

फिर मेरी नजरें भाभी की ब्लाउज में बंद मस्त नर्म नर्म चूचियों पर टिक गईं. सामान्य भाव से मामी मुझसे मम्मी पापा और भाई बहनों का हाल चाल समाचार पूछती रहीं.

समीना को वीर्य पीना पसंद नहीं था … उसने कभी लौड़ा ही नहीं चूसा था तो वीर्य पीने का सवाल ही नहीं था. दोस्तो, सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको पीहू की चुदाई की कहानी लिखूँगा व आपको ये भी बताऊंगा कि दोस्त की गर्लफ्रेंड भी मेरे लंड से चुदने को कैसे मचली. अब लंड और चूत एक दूसरे को चोदने लगे।वो सिसकारने लगी- राज चोदो … आह्ह … और चोदो … मेरी चूत में लंड का पूरा मजा दे दो.

तुम्हें तो मालूम ही है कि भैया महीने में 10-15 दिन बाहर ही रहते हैं. थोड़ी देर बाद भाभी ने उठकर अपने कपड़े उठाए और पहन कर मुझसे बोलीं- मैं अपने रूम में जा रही हूँ. जब मैं पार्क से बाहर आया, तो मैंने देखा कि वो अपनी सहेली की मदद से स्कूटर हटाने में लगी हुई थीं.

मैं बाजार से हर एक वो चीज़ ले गया जो आज की चुदाई में रंग डालने के लिए जरूरी थी.

फिर मैंने उसको उल्टा लेटा दिया और उसके पीछे से उसको चाटने लगा उसकी पीठ पर उसे किस करने लगा. वैसे मैंने तुम्हारी और चाची की चुदाई देखी है यार, क्या मस्त झटके लगाते हो तुम! और क्या मस्त स्टैमिना है तुम्हारा, मैंने तो तुम्हारी पूरी चुदाई देखी थी.

फोन सेक्स ही कर लिया करो कभी? तुम्हारी चूत चाटने और तुम्हें चोदने का बहुत मन करता है. मेरी तो वैसे ही सूजी हुई है, दीपक आपकी खुजली एक बार में पूरी तरह से गायब कर देंगे. मैंने थोड़ा सा आँटी के घुटनों को मोड़ा तो चूत का बीच का हिस्सा दिखाई देने लगा.

जैसे ही वो नंगा हुआ तो मैंने देखा कि उसका लंड मेरे पहले पति से बहुत मोटा और लंबा था. मैंने उसे थोड़ी सी जगह दी, तो वो मेरे लंड को आगे पीछे करते हुए लंड की मुठ मारने लगी. मैंने फटाफट भाग कर दरवाज़ा खोला, तो परीक्षित की वाइफ निर्मला जी खड़ी थीं.

हिंदी सेक्सी चोदने वाली बीएफ सोनू सच ही कहती थी … इतने मोटे लंड से तुम पूरे दिन लगे रहोगे तो बेचारी की क्यों नहीं सूजेगी!मैं- हम्म चाची जी, मैंने आप दोनों की सारी बात सुन ली थी और ये भी सुना था कि आपकी चुत की खुजली कुछ मांग रही है?चाची- मैं तो कल ही समझ गई थी जब तुम मेरे मम्मों को ताड़ रहे थे और फिर ऊपर टॉयलेट में जो तुमने मेरे पैंटी के साथ किया है वो भी मैं देख चुकी हूँ. मेरी गर्दन और पीठ के हिस्से पर मैंने गुच्ची का इत्र लगाया हुआ था जो मुझे महका रहा था.

गंदी सेक्सी चुदाई

जब मुझे लगा मेरे लंड से माल निकलने वाला है तो मैं तुरंत बाथरूम में जाकर मुठ मार कर ठंडा हो गया. मेरे मुंह से जोर की आवाज निकली- आह्ह …फिर वो एकदम से स्पीड पकड़़ कर मेरी गांड को चोदने लगा. स्नेहा सुबह उठ के सीधा बाथरूम चली गई और नित्य कर्म से फ्री होकर, एक छोटा सा टॉवल लपेट कर बाहर आई.

तब मैं बिस्तर पर लेट गया और उन्हें ऊपर बैठकर अपनी चूत में मेरा लंड घुसाने को कहा. उसके हर धक्के के साथ पट्ट पट्ट की आवाज आती थी और लंड चूत के अन्दर पेलते हुए आगे पीछे हिल रहा था. सेक्सी वीडियो 14 साल की लड़की के साथजो जो मेरे साथ हुआ है, वही आपको लिख कर बता रहा हूँ।भाभी तो चाची से भी मस्त शरीर वाली है.

डॉक्टर बोला- अरे तुम टेंशन मत लो … तुम्हारी बीवी तो मेरी बीवी जैसी ही है.

मैं भी उसे अच्छी लगती थी तो वह जानबूझकर बाइक पर ये हरकतें करता था ताकि मेरे बदन का स्पर्श उसको मिल सके. ये देख कर उन्होंने हल्का सा दबाव दे दिया तो उनका लंड थोड़ा और आगे घुस गया.

मैं उसकी चूत पर होंठ रखने ही वाला था कि उसने मेरे सिर को पकड़ कर मुझे ऐसा करने से रोक दिया. फिर मैंने उनकी चूत के अन्दर अपनी जीभ चलानी शुरू कर दी जिससे उनके मुँह से आह आह जैसी मादक आवाज़ें आने लगीं. कुछ ही पल में मेरे गोरे गालों में जलन होने लगी।मैं समझ गई थी कि ये मुझे बहुत बेदर्दी से चोदने वाले हैं।वो इतने जोश में थे कि उनके अंदर दया नजर ही नहीं आ रही थी।मेरे होंठों को चूमते हुए उन्होंने मेरी नाइटी की डोरी खींच दी.

मुझे ऐसे देखकर उनके तो जैसे होश ही उड़ गए!वो बहुत देर तक मुझे ऐसे निहारते रहे.

अपने दोनों हाथ रेशमा की नर्म पीठ पर घुमाते हुए मैंने उसे कस कर अपने गले से लगा कर रखा. हमारे होंठ आपस में लड़ने लगे जैसे एक दूसरे के होंठों का सारा रस आज की रात ही पी जाना चाहते हों।चुम्बन के बाद मैंने उसकी कमर पर हाथ रखते हुए उसकी गांड को अपने लौड़े पर टिकाते हुए उसे घुमा दिया और उसकी गर्दन पर चुम्बनों की बरसात करने लगा. मैं हंसने लगा- कोई बात नहीं!शेखर- वह तुम्हारा अहसान कैसे उतारे? तुम्हें दिलवाएं प्रेमा की?मैं- अरे नहीं शेखर जी, उससे बढ़िया तो भूरा ही है.

एचडी वॉलपेपर सेक्सीअंत में वह अपनी वासना के आगे झुक गई और उसने मुझे अपने घर बुला ही लिया. जब आराम हो गया तो वो बोला कि दीदी कैसा लगा मेरा लौड़ा?मैंने कहा- अच्छा है, पर इतना आराम से क्यों कर रहे हो, थोड़ा तो जंगलीपना दिखाओ न … मेरा पहली बार नहीं है, तो डरो मत, थोड़ा तेज तेज करो.

नै सेक्सी फिल्म

फिर राज ने पीछे से मेरी साड़ी उठा दी और अपना लन्ड निकाल कर मेरी गांड में सटा दिया. सच में दोस्तो, ये नौकरानी बड़ी सेक्सी होती हैं और इनके फिगर के तो कहने ही क्या?हम दोनों पूरे के पूरे नंगे हो चुके थे. वहां चाचा चाची ही ऐसे लोग थे, जिनके साथ मुझे थोड़ा सहज महसूस होता था.

भाभी मुझे सॉरी बोलने लगीं- आज प्लान किया था … लेकिन कुछ नहीं हो पाएगा. मैंने उससे मिलने के लिए चेन्नई से बैंगलोर जाने के लिए बस की टिकट करवाई और मैं पूनामल्ली नाम की जगह पर बस का इंतजार करने लगा. मेरी उनसे कैसे जान पहचान हुई और मैंने उन्हें कैसे चोदा … वो सब मसाला आपको आज इस सेक्स कहानी में पढ़ने मिलेगा.

इस बात पर वो थोड़ा गुस्सा हो गयी और बोली- मैं आपको ऐसी वैसी लगती हूं क्या जो पहली बार में ही आपके साथ ये सब कर लूंगी?मैं बोला- अरे नहीं मैडम, मैं तो बस एक बात कह रहा था. फिर मेरे मकान मालिक ने घर खाली करवा लिया और हम दूसरी जगह रहने चले गए. मैं बोली- आगे भी मुझे ही बताना पड़ेगा या तुम भी कुछ करोगे?विपिन मुस्कुराया और बोला- नहीं दीदी अब मैं अपने आप कर लूंगा.

मेरी कहानी पढ़ने से पहले भाभियां अपनी चूत में उंगली डाल लें और भाई लोग अपना लन्ड पकड़कर बैठ जायें. मैं बोला- लौड़े को चूस कर गीला कर दे एक बार।वो उठ कर बैठ गयी और मेरे लंड को चूसने लगी.

आप सबको बता दूं कि उस टाइम मैंने लोवर के नीचे फ्रेंची पहनी हुई थी, जिसमें से तना हुआ लंड अच्छे से दिख जाता है.

आपको मेरी ये हिंदी सेक्स सेक्स Xxx कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करना न भूलें. सेक्सी ब्लू फिल्में चुदाई वालीदूसरी बात ये भी थी कि अगर मैं उस वक्त वो नौकरी छोड़ देती तो पता नहीं फिर इतनी बड़ी कंपनी में मुझे नौकरी मिलती भी या नहीं।बहुत सोचने के बाद मेरे मन में विचार आया कि मैंने तो वैसे भी शादी नहीं करनी है, अगर मैं उसकी बात मान लूं तो मेरा पैसा भी बचेगा और मैं घर पर ज्यादा से ज्यादा पैसे भेज सकूंगी. तेरी बहन सेक्सी वीडियोराजेश अंकल मेरे पापा के दोस्तों में से एक थे और बड़े रंगीन मिजाज़ के थे. कशिश- रुखसार भाभी तो अपनी चूत में उंगली कर रही हैं … आज भैया नहीं है ना!रूचिका आंटी- अरे उसे ऐसा करने की क्या ज़रूरत है.

मैंने भी अपना लंड उसकी चुत से खींच कर उसकी मखमली गांड में डाल दिया.

सुरेश ने उसे धीरे से गाली दी- बहन की लौड़ी … मस्त हो रही है भैंस की तरह।फिर तो वो जैसे जानवर बन गया. वो भी मेरा साथ देने लगी और उसने अपने होंठ खोल दिये जिससे मेरी जीभ उसके मुंह के अंदर जा घुसी. अपना लण्ड मैंने मामी की चूत के मुखद्वार पर रखा तो मामी करवट बदलकर सीधी हो गईं और बेसुध हालत में पीठ के बल लेट गईं.

करीब 4 बजे नींद में किसी औरत की कराहने और रोने जैसी आवाज मेरे कानों में पड़ी. साथ में एक छोटी ब्रा भी थी, वो भी उसने मेरी चूचियों के ऊपर पहना दी, जिससे मेरे मम्मे ऊपर उठ गए और दोनों मम्मे एकदम पास आ गए. आपको मेरी ये थ्रीसम चुदाई की कहानी कैसी लगी, जरूर बताएं … कुछ सुधारना हो … या तारीफें या शिकायतों के लिए आप मुझे निम्न जगह पर संपर्क कर सकते हैं.

इंडियन मूवी सेक्सी फिल्म

मेरे चुंगल से छूटने के लिए उसकी फड़फड़ाहट देख कर मैंने उसके दर्द की ज्यादा चिंता किए बिना आखिरी वार करते हुए पूरा लौड़ा रेशमा की तंग चूत की फांकों में पेल दिया. खुशी चूत रगड़ने में इतनी मदहोश हो गई थी कि वो आह आह करती हुई मचलने लगी. वो मुझे हल्का सा सहारा देते हुए गाड़ी तक ले आया और अपने दोस्त को धन्यवाद देने चला गया.

इतने में ही ट्रेन की सीटी ने मेरी नींद तोड़ी और मैंने खुद को वहीं स्टेशन पर भूरा के साथ खड़ा पाया.

उसके दोस्त ने थोड़ी सी जगह बिल्कुल साफ की हुई थी और वह थोड़ी सूखी घास पर एक दरी डाल रखी थी.

हुआ यूं कि हमारी बैंक की ट्रेनिंग एक साथ आ गई थी और हम पहली बार ट्रेनिंग सेंटर पर मिले थे. मनीष अपनी साली के गले लगे लगे बोला- अब घर भी चलना है … या यहीं से मिल कर वापस जाने का इरादा है. 5 साल की छोटी बच्ची का सेक्सी वीडियोअब उसका एक हाथ बीच बीच में मेरी पैंटी पर भी जा रहा था जो मेरी चूत को छूकर और सहलाकर फिर से मेरे बूब्स पर आ जाता था.

तब मैंने अपना पैंट खोल कर उसे नीचे करके उसके हाथ में अपना लंड दे दिया. मैंने देखा, तो खुशी ने अपनी ब्रा पैंटी निकाल कर बेड पर ही रख दिए थे और वो एक पारदर्शी गाउन पहन कर खड़ी थी. फिर मैंने उनकी चूत के अन्दर अपनी जीभ चलानी शुरू कर दी जिससे उनके मुँह से आह आह जैसी मादक आवाज़ें आने लगीं.

कुछ देर की चूमा-चाटी के बाद वो नीचे लेट गयी- जान मेरे पेट पर आओ!मैं- क्या करना है?ज़ारा- मेरी चूचियों के बीच में लंड डालो!मैंने उसके क्लीवेज में लंड रखा तो उसने अपनी चूचियां पर दबा लीं. थोड़ी ही देर में भाभी अचानक से अकड़ने लगीं और एक ‘आह …’ के साथ झड़ गईं.

अन्तर्वासना के माध्यम से मिली भाभी की चुदाई करने मैं उसके घर पहुंचा.

पहले दिन मैंने उससे ऑफिस के बारे में पूछताछ की और हर रोज किसी न किसी बहाने से उसके रूप का रसपान करने के लिए दो तीन बार अपने केबिन में बुला लेता था. वो बोली- नहीं, ऐसी कोई बात नहीं है, मैंने कभी तुम्हारे बारे में ऐसे सोचा नहीं. मैंने आँटी के कान में फुसफुसाकर कहा- आँटी आगे से भी उठा दूँ?आँटी ने आँखें बंद किये हुए कहा- हूम्म!मुझे लगा लाइन क्लियर है.

सेक्सी बीपी इंडियन एचडी मैं- चिंता ना करो भाभी … वैसे मैं प्रोफेशनल हूँ इस वक्त लॉकडाउन की वजह से इधर फंसा हूँ. उसकी चुत एकदम पनियाई हुई थी तो मेरा लंड एक ही झटके में पूरा अन्दर घुस गया.

इस वजह से उस हुस्न की मल्लिका के चुचे बार बार मेरी पीठ से टकरा रहे थे. अब लंड और चूत एक दूसरे को चोदने लगे।वो सिसकारने लगी- राज चोदो … आह्ह … और चोदो … मेरी चूत में लंड का पूरा मजा दे दो. उस समय वो जो नाइटी पहने थीं, उससे उनकी ब्रा की स्ट्रिप मुझे महसूस हो रही थी.

सेक्सी फिल्म बड़े लंड

खैर … अगली बार जब मैं समीना को डॉगी स्टाइल में चोद रहा था … तो समीना ने मुझसे पूछा- क्या तुम मेरी गांड मारना पसंद करोगे?मैंने अचानक से ये सुना तो रुक गया और मैंने उसकी चूत में धक्का देना बंद कर दिया. वो मेरे सर पर हाथ रख कर मुझे दबाते हुए मना कर रही थीं- आह मत करो … गुदगुदी होती है. अब वो खुद ही मेरे होंठों को काट रही थी और मेरी पीठ पर नाखून गड़ा रही थी.

तभी उसने मेरे लिंग का अपने मुँह में और दबाव बढ़ा दिया, वो सच में सारा वीर्य निचोड़ लेना चाहती थी. पर मैंने उस दिन तुम्हारी मदमस्त कर देने वाली चुदाई देख कर इतना जरूर सोच लिया था कि अब मुझे भी तुमसे जरूर अपनी चूत की प्यास बुझवानी है।भाभी कहने लगी- प्लीज दीपू, मेरा इतना काम कर दो.

कहानी के पिछले भागसहकर्मी दोस्त लड़की का नंगा बदनमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरे सामने अंकिता सिर्फ एक पैंटी पहनी हुई लेटी थी.

जब उसको दर्द से राहत मिली और लंड उसकी बुर में सैट हो गया तो वो ख़ुद ही नीचे से अपने चूतड़ उठा उठा कर मुझे आमंत्रण देने लगी. निर्मला जी भी खड़ी हुईं और पहले किचन, फिर स्टोर रूम और अंत में बेडरूम का मुयाअना किया. चूंकि उस समय मुझे कोई नॉलेज नहीं थी कि वो किस लॉलीपॉप के बारे में बात कर रहे हैं.

मैंने अपने जीभ की स्पीड और बढ़ा दी और भाभी ने दोनों हाथों से मेरे सिर को जोर से अपनी चूत पर रगड़ने लगी और पानी निकालने लगी. वो ‘आह आहह …’ करके अपनी कमर चलाने लगी और मैं तेजी से लंड अन्दर बाहर अन्दर बाहर करके चोदने लगा. थोड़ी देर में अनामिका मेरे कान में बोली- जीजू, आप अपना लंड प्रियंका की गांड में डालो न.

चारों उंगलियों को उसने मेरी गीली चूत के पानी से भिगो दिया और दुबारा से मेरी पैंटी में से हाथ निकालकर चारों उंगलियां अपने मुंह में लेकर मेरी चूत के पानी को चाट लिया.

हिंदी सेक्सी चोदने वाली बीएफ: पता नहीं आपका ये कर्ज कभी चुका भी पाऊँगी या नहीं!”कोई कर्ज नहीं है. रेशमा का जिस्म भी वैसा ही गोरा था, चूचियों के ऊपर लगे दो किशमिश के जैसे गुलाबी चूचुक मेरे हाथ की उंगलियों से मसले जा रहे थे.

और अब मैंने सोचा कि मुझे भी अपनी कहानी सब लोगों को बतानी चाहिए।यह कहानी डॉटर फादर सेक्स की है. उसने अपनी टांगें हवा में उठा दी थीं और वो खुल कर चुदाई का मजा ले रही थी. मेरी निगाहें मंडप पर थीं और मेरा ध्यान अपने बगल में खड़ी ब्यूटी पर था।ब्यूटी मुझसे इस कदर चिपक कर खड़ी थी कि उसकी गर्म गर्म साँसें मुझे अपने कंधे पर महसूस हो रही थी।मैंने हिम्मत करके अपनी कोहनी से उसके चूचों को हल्का हल्का दबाना शुरू कर दिया.

उनका किस्सा सुनने में आता है कि उन्होंने एक आदिवासी युवक को ऐसा प्रशिक्षण दिया कि वह आईएएस में सिलेक्ट हो गया.

सुरेश ने उसे धीरे से गाली दी- बहन की लौड़ी … मस्त हो रही है भैंस की तरह।फिर तो वो जैसे जानवर बन गया. फिर मम्मी की दोनों टांगों को चौड़ा करके उनकी चूत पर अपना हाथ रख दिया. हम दोनों घर आकर मस्ती करने लगे और उसे एक बार पूरी मस्ती से चोद कर मैं अपने घर निकल गया.