बीएफ पिक्चर मूवीस

छवि स्रोत,भंवरी वाली सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

বিএফ ব্লু সেক্স: बीएफ पिक्चर मूवीस, ”चौधरी साहब याद है एक बार आप कह रहे थे कि मैं कुछ हट के करना चाहता हूँ.

बीएफ फिल्म चाहिए ब्लू

भाभी ने हंस कर कहा- रात को छत पर आना, वहीं बताऊंगी कि कमरा खाली है या नहीं. बीएफ सेक्सी 2017जयपुर से आने के दूसरे दिन रात 8 बजे मैं अपनी छत पर टहल रहा था कि मुझे उनकी खिड़की में कुछ हलचल दिखी.

वो एक संदेश भी छोड़ गए थे, जिसमें लिखा था कि मैं बच्चे को ले जा रहा हूँ. शेर वाली बीएफऐसा लग रहा था जैसे वह मेरी द्विअर्थी बात के असली अर्थ को समझ गयी हो.

कभी कभी फ़ोन सेक्स भी कर लेते थे, वीडियो कॉल में एक दूसरे के गुप्तांगों को देखते दिखाते रहते थे.बीएफ पिक्चर मूवीस: अब मैंने अपनी जींस निकाली और उसमें मेरा 6 इंच का छोटा शैतान … मेरी अंडरवियर को फाड़ कर बाहर आना चाहता था.

साला इतना शैतान है कि किसी भी लड़की या भाभी की चूत या गांड में घुस जाए, तो उनको पूरा ठंडा करके ही बाहर निकलता है.उन्होंने अपने बेटे को दादाजी के पास सुला दिया था।मैंने जाते ही कमरे का दरवाजा बंद किया और चाची को अपनी बाँहों में लेकर खा जाने वाले तरीके से चाची को चूमने चाटने लगा।चाची बोली- मेरी जान, पूरी रात पड़ी है.

बिहारी औरत की सेक्सी बीएफ - बीएफ पिक्चर मूवीस

चाची मोहिनी से बोल रही थीं- क्या हुआ भाभी इतनी देर क्यों लगाई दरवाजा खोलने में … और ये घर में अजीब से महक कैसी आ रही है.उनके जाने के बाद वो ही महिला अपनी पुलिस की वर्दी में वहां आई और उसी रोब से मुझे पर चिल्लाई.

मुझे लगता है कि आज मेरे मम्मों की जो साइज़ है, वो उसके दबाने से ही हो गई है. बीएफ पिक्चर मूवीस चाची- हां रे जीशान … बहुत मस्त दिख रही है … ठंडी हवा भी लग रही है … मेरे बेटू को सब पता है.

अनिल तौलिया लपेटे खड़ा था, तौलिये में से उसका तना हथियार दिख रहा था।मैंने कहा- तू भी यार … कर ले।वह बोले- मैं रगड़ दूंगा तो छिल जाएगी।मैं बोला- करके देख!मामा जी ने उसका तौलिया निकाल दिया और कहा- अनिल बातें देता रहेगा या कुछ करेगा भी?उसका खड़ा लंड उत्तेजना से ऊपर नीचे हो रहा था.

बीएफ पिक्चर मूवीस?

अनीता अपने सिर को बेड में इधर उधर पटकते हुए दर्द को कम करने की कोशिश करने लगी. उसने आगे की तरफ झुक कर मुझे किस की और गांड हिला कर चार उंगलियां अपनी चुत में लेने लगी. दूसरा पैग खत्म होते ही वन्दना का फ़ोन आया और उसने मुझे रूम में बुला लिया.

दीपा ने भी झक मार के कह दिया कि चलो उस समय की उस समय देखी जायेगी, फिलहाल तो मनोज उसकी चुदाई करे जम के. पांच मिनट के किस के बाद जब हम दोनों अलग हुए, तो आंटी बोली- कल के जैसे फिर कोई आ गया तो क्या होगा?मैंने कहा- आंटी जी आज कोई नहीं आएगा. उसने धीरज के लंड को मुँह में ले लिया और चाट चाट कर उसे साफ़ कर दिया.

मैंने कहा- तुम बस एक बार मुंह खोल लो और बाकी का काम मैं खुद कर लूंगा. उसकी 36 इंच की तनी हुई चूचियां और 38 इंच की गांड इतनी मस्त है कि क्या बताऊं. मेरी पिछली कहानीपापा के दोस्त ने मुझे नंगी देखा और …प्रकाशित होने के बाद काफी मेल आये मुझे.

उसके फोन रखने के बाद मैंने उसके लंड के बारे में सोच कर अपनी चूत को खूब रगड़ा. जैसे ही मैंने गेट खोला, तुरंत पीछे से आवाज आई- अरे विनय तुम कब आये?विनय और मैं पीछे मुड़े.

मुझे भी एक मस्त लंड मिल गया है, जिससे मैं अपनी चूत को चुदवा कर अपनी चूत की खुजली को शांत रख पाती हूँ.

मैंने भाभी से बोला- भाभी क्या हुआ है … आप रो क्यों रही हो? मैं आपसे दिल से प्यार करता हूँ, ये आपको मालूम भी है, पर आज आप मुझसे ये इस तरह क्यों जानना चाह रही हो?उन्होंने बोला- मैं तुम्हारे भाई और उनके घर वालों से बहुत परेशान हो गई हूं … या तो तुम इन सबको समझा दो … या मैं सुसाइड कर लेती हूँ.

मैंने उसके कपड़े उठा लिये और बोला- मैं नहीं दूंगा तेरे कपड़़े।वो बोली- मैं तेरे साथ कुछ नहीं करने वाली और तू भी कुछ नहीं करेगा क्योंकि तूने कसम दी है मुझे. वो कहने लगी- अरविंद अब और मत तड़पाओ … अब जल्दी डाल दो अपना लंड मेरी चूत में. थोड़ी देर भाभी को चोदने बाद मैंने भाभी की चूत में लंड डाल दिया और चुत चोदने लगा.

मैं मम्मों का दीवाना था, कभी परवीन आंटी के, कभी चाची के, कभी हिना आंटी के मम्मों को मसल रहा था. कुछ ही धक्कों के बाद शबनम का पानी निकलने वाला था- ओह हां!जोर से कराहते हुए शबनम ने अपने कूल्हों को आगे की तरफ धकेला और अंकित के कूल्हों को पकड़ कर वहीं का वहीं रोक दिया. मैंने सोचा कि मुझे इसका इलाज करना तो पड़ेगा, पर मैं मुठ नहीं मारूंगा.

पूजा मेरे लंड को अपने मुँह में भर कर मेरे पेशाब को गटगट पीने लगी और जब मेरा पेशाब निकालना बंद हो गया तो मेरे लंड को मुँह से निकाल कर जीभ से अपने होंठों को साफ करते हुए बोली- मज़ा आ गया.

मुझे आशा है कि आज मेरी बीवी के साथ मेरी इस सुहागमिलन की घड़ी में आपको मजा आ रहा होगा. मैं- मेरे पैरों को देखते हुए क्या सोचने लगे थे?विनय- वो वो कुछ नहीं … आजकल तुम्हारे बिना बॉस भी बहुत परेशान रहते हैं. ” वह थोड़ी देर बाद खोये-खोये स्वर में बोली।हालत थोड़ी सही हुई तो उठ कर वहां मौजूद पानी और चादर से हम दोनों ने खुद को साफ किया और फिर वापस लेट गये।वह मेरे ऊपर लद कर मेरी आंखों में झांकने लगी।मैंने तय कर लिया है।” वह मेरे होंठों को चूमती हुई बोली।क्या?”यह वाली नौकरी मिल भी गयी तो छोड़ दूंगी और घर पर यही बताऊंगी कि नहीं मिल सकी। तुम तब तक यहीं कोई नौकरी ढूंढ कर ऑफर करो मुझे.

यह कहानी मेरी पहली कहानी ‘चंडीगढ़ में देसी फुद्दी’ से काफी पहले की है. उसने मेरा लंड अपने हाथों में लिया, मेरी आंखों में देखा और बैठते हुए अपने मुँह में ले लिया. अब मैंने वहां से जॉब छोड़ दी थी और मैंने अपना वो नंबर बंद कर दिया था क्योंकि बहुत हो गया था और अब मैं भाभी से छुटकारा पाना चाहता था.

इस सबके बीच में मैंने शीना के निप्पल जो हमारी ठुकाई देखने से खड़े हो गए थे, उनको भाँप लिया था और मैं बस उन्हीं की तरफ देखे जा रहा था.

मैंने जल्दी से अपनी एक उंगली बुर में घुसेड़ कर चलायी, पर आग बढ़ती गयी. पर धीरे धीरे मैं इसी समलैंगिक जीवन में रमता चला गया। अब तो यह मुझे इतना अच्छा लगता है कि मन में ख्याल आता है काश मेरी शादी किसी ऐसी लड़की से हो जिसके पास एक बड़ा और कलेजा हलक तक ला देने वाला लन्ड हो। वैसे यह मेरी जीवन की सबसे बड़ी ख्वाहिश है कि मैं कभी अपने जीवन में किसी लण्डधारी लड़की से मिल सकूँ.

बीएफ पिक्चर मूवीस बहुत देर तक उसके होंठों को चूसने के बाद मेरा दिल भी कर रहा था कि मैं उसके लण्ड पर हाथ रख दूँ. दो मिनट की चुम्मा चाटी के बाद वो बोलीं- तूने समझने में इतना टाइम लगा दिया, मैं तो कब से तुझमें समाना चाहती थी.

बीएफ पिक्चर मूवीस अगर इतनी ही चुदास जग रही है तो कुछ देर के बाद तेरा भाई आने वाला है उससे ही चुदवा लेना. अन्दर से तुम दोनों की आवाजें सुनी, तो यहीं रुक गई और फिर जा ही नहीं पाई.

उसने अपने दोनों हाथों से मेरे लंड को लोवर के ऊपर से ही पकड़ा हुआ था.

बीपी सेक्सी एक्स एक्स

दादाजी बोले- तू मोबाईल कहाँ रखेगी … तेरे घर वाले पूछेंगे कि किसने दिलाया, तो क्या बोलेगी. मैं अपने कमरे का दरवाजा खोलने ही वाली थी कि मुझे एक जोर का धक्का महसूस हुआ. वो अपने लंड को मेरे मुँह के करीब लाया और बोला- मेरी कुतिया … ले इसे चूस.

अनिल से मामाजी ने कहा- जल्दी औंधा हो जा, नखरे नहीं।मामा जी के कहने से अनिल औंधा लेट गया. मेरी चूचियों को दबाने और चूसने के बाद उन्होंने मेरी पैंटी को निकाल दिया. सही मैं तुम्हारी इतनी सुंदर चूत से निकलते पेशाब की धार देख कर आज मैं धन्य हो गया.

मैं चाहत खन्ना, हाईट 5’7″, गोरा रंग, बड़ी बड़ी आंखें, फिगर 34-24-34 का और जैसा कि आप महसूस कर सकते हैं, बहुत ही विकसित मम्मे हैं मेरे.

इस पर उसने पूछा- आप ड्रिंक करते हैं या नहीं?मैं बोला- हां मैं करता तो हूँ, लेकिन भाभीजी बुरा ना मान जाएं. फिर मैं उसकी चूत को खोल कर उसकी चूत के दाने को अपनी उंगलियों से छेड़ने लगा. अब तो 20 एकड़ के बगीचे और फार्म हाउस में हम दोनों के अलावा कोई और नहीं था.

मैंने उसकी इस बात को सुनकर चोली की टूटी पड़ी डोरियों को खींच कर अलग किया और उसका लहंगा भी उतार डाला. मुझे सोने के थोड़े देर बाद महसूस होने लगा कि वो मेरे मम्मों को दबा रहा था. मैं इस बात को जानता था कि पट्ठी मेरा लंड देख रही है, मगर मैं भी ध्यान नहीं देता … क्योंकि मैं जानता था कि ये ज्यादा से ज्यादा दो चार दिन में मेरे नीचे सोएगी ही.

बेटी की गुलाबी चूत अब बिल्कुल नंगी होकर उसके पिता के सामने आ चुकी थी जिसे देख कर महेश अपने होंठों पर जीभ को फिराने लगा।पिता ने अपने हाथ से अपनी बेटी की चूत को सहलाया और उसके चूतडों से पकड़ कर सीधा अपने होंठों पर रख दिया। वह अपनी बेटी की चूत को अपने होंठों से चूमते हुए अपनी जीभ निकाल कर चाटने लगा। ज्योति का उत्तेजना के मारे बुरा हाल हो चुका था. मुझे भयंकर पीड़ा हो रही थी, ऐसा लग रहा था कि किसी ने गर्म सरिया मेरी चूत में घोम्प दिया हो.

मैंने उसे बताया कि मैं वही लड़का हूँ, जिसके लिए आपकी शादी की बात हुई थी. दोस्तो, वन्दना की एक खासियत है कि वो किसी भी तरह के सेक्स को न नहीं करती. वो मेरे सामने बेमन से चुदने का नाटक भर किया करती थी लेकिन उसको गैर मर्द से चूत चुदाई में बहुत मजा आता था.

मौसी पूरे मजे में बोलीं- आज तक तुम्हारे मौसा जी ने ऐसा कभी नहीं किया, वो तो बस मेरी चूत में लंड डालकर 2-3 मिनट में अपना पानी निकाल कर लेट जाते हैं और मैं बस तड़फती रह जाती हूँ.

मैंने उसकी कमीज की बटनें खोल दीं, फिर उसके दोनों मम्मों को पीछे से रगड़ना शुरू कर दिया. एक दिन जब मैं बॉस के केबिन में गयी, तब मैंने साड़ी की सेफ्टी पिन नहीं लगाई थी. मुझे बहुत मजा आ रहा था पीछे से चाचा का लंड अपनी चूत में अंदर लेने में.

अब मैंने उसकी चूत के अंदर अपनी एक उंगली को डाल दिया तो उसकी वजह से उसको हल्का सा दर्द हुआ और मैं पांच मिनट तक अपनी एक ही उंगली को डालता रहा. फिल्म शुरू हो गई थी, लेकिन चित्रा और पब्लिक होने से मैं आलिया के साथ कुछ भी नहीं कर पा रहा था.

जब वो आंटी सफाई करने आती थी, तो बस मन करता था कि इसको यहीं पर पटक कर चोद दूं. जिन बच्चों को मैं पढ़ाती थी, उनमें से कुछ बच्चे बहुत ही धनी परिवारों के थे. अगली 2-3 रात भी मौसम की वजह से हमें रवि को साथ लेकर सोना पड़ा।चौथी रात मेरी हालत बहुत खराब थी, मैं बिना सेक्स की रह नहीं पा रहा था। रवि की परवाह न करते हुए मैंने अंधेरे में अपनी पत्नी को अपनी तरफ खींचकर उसकी तरफ करवट लेकर उसे किस करना शुरू किया.

कुंवारी चूत चुदाई

तब उन्होंने मुझसे कहा- ठीक है, कल मैं तेरे लिए मोबाइल और न्यू सिम कार्ड ले आऊँगा, पर आज तुझे मेरा एक काम करना पड़ेगा.

उसने चूस चूस कर भाई के लंड को पूरा खड़ा कर दिया और फिर खुद ही भाई के लंड पर बैठ कर चुदने लगी. जैसे ही उसकी ओढ़नी सरकी, मैं प्रीति की आधी नंगी चूची को देख कर मस्त होने लगा. तो मेरे नये दोस्तो, मैं आपकी जानकारी के लिए बता देती हूं कि मेरा नाम कनिका है और शादी से पहले ही मैं गलत संगत में पड़ गई थी.

अगर आप किसी की गांड मारने वाले हैं, तो पहले औरत को खुश कीजिएगा, फिर ही उसकी गांड मारना. विनय- नेहा ये क्या कर रही हो?अचानक से विनय की आवाज सुनकर मैं पूरी तरह से चौंक उठी और पीछे को मुड़कर मैंने विनय को देखा. मेवाती बीएफ फुल एचडीउसके पैर मेरे कंधे पर होने के कारण वो ज्यादा हिल भी नहीं पा रही थी, बस अपने दोनों हाथों से बाथरूम की फर्श रगड़ने में लगी थी.

मैंने लंड लगाया, तो दूसरे झटके में ही मेरा पूरा लंड एना की चूत के अन्दर तक चला गया. संजना कहने लगी- जानू, आज तुमको मुझे बस ख्वाबों में ही नहीं चोदना है.

” नीलम ने अपने ससुर की पूरी बात सुनकर शर्म से अपनी नज़रें नीचे करते हुए कहा।वेरी गुड बेटी, ऐसे ही तुम्हें अपने ऊपर पूरा आत्मविश्वास रखना होगा. खड़े खड़े चोदने में तो वो सपोर्ट करेगी नहीं, तो मैंने सोचा और उसे वहीं फर्श पर लिटा दिया. दीदी को मजा आने लगा और वो पैर पसार कर चूत उठा कर मुझसे चटवाने का मजा लेने लगीं.

मेरे मुँह में उसका लौड़ा ढंग से नहीं आ रहा था, पर फिर भी वो जोर लगा रहा था. अंदर पहुंचा और अंदर जाने के बाद उसने मुझे डिस्पोजेबल पेंटी देते हुए अपने कपड़े उतारने के लिए कह दिया. गांव के सारे लोग तुझे रंडी समझते हैं और सोचते हैं कि तू धंधा करती है.

फिर भाभी वापस मेरी गोद में आकर अपनी गांड घिसते हुए बिना हाथ लगाए पैंटी सरकाने लगीं और ऐसा करते करते उन्होंने पूरा ढक्कन उतार दिया.

फिर वो घूमकर दुबारा मेरे पीछे आ गया और ताकत के साथ मेरी कमर पकड़ ली और अपना लन्ड मेरी गीली गांड के गोल छल्ले पर टिका दिया। ऐसे ही कुछ देर मेरे पीठ को चूमते हुए उसने एक जोरदार धक्का दिया। मेरी तो जान निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ मैं आगे की तरफ भागा. मैंने उनकी आँखों में देखते हुए आठ दस बार लंड के सुपारे को चूत की फांकों में ऊपर से नीचे तक फेरा.

तेरी चाची को रोज़ लंड मिलता है, फिर भी तेरा लेती हैं … और जलन भी दिखाने लगती है. फिर मैंने उसके ब्लाउज के बटन खोना शुरू किया और ब्लाउज को उतार दिया. कम्मो लेट गयी तो मैंने दो तकिये उसकी कमर के नीचे लगा दिए जिससे उसकी चूत अच्छे से उठ गयी.

दो मिनट तक उसने मेरे चूचों को खूब दबाया और फिर मेरे चूचों को मुंह में लेकर पीने लगा. आपके मेल हम दोनों माँ बेटे बहुत मजे से पढ़ते हैं और सिर्फ आपके लिए ही हम दोनों अपनी चुदाई की घटना को साझा करते हैं. कई बार ऐसा हुआ कि मेरा लंड फिसल कर उसकी चूत से बाहर निकल गया लेकिन उसने जल्दी ही मेरे लंड की लेंग्थ के हिसाब से अपनी कमर उठाना और गिराना सीख लिया और फिर एक बार भी लंड को बाहर नहीं निकलने दिया.

बीएफ पिक्चर मूवीस उफ … क्या कसरती बदन था उसका … चौड़ा भरा हुआ सीना … उसपे छोटे छोटे निप्पल्स, मजबूत बाहें। लगता है रोज जिम जाता होगा, पेट पर भी कोई चरबी नहीं, मजबूत जांघें … एकदम पहलवानों की तरह बदन था उसका।मैंने भी अपनी टीशर्ट उतार दी, नितिन की आँखें जैसे उसके सर से बाहर निकलने वाली थी. पर जब एक बार घुस गया तो गांड सिकोड़ने ढीली करने का कोई मतलब नहीं रह गया.

गर्ल्स ब्लू फिल्म

मैं इतना अधिक उत्तेजित हो चुका था कि बस 3-4 मिनट में ही मैं झड़ गया. मैंने आलिया को घुमाकर उसकी ब्रा निकाल दी … जिससे उसके कातिलाना चूचे आजाद हो गए. उसके बाद से मेरा काम भी सही चलने लगा और साथ के साथ घर का खाना भी मिलने लगा.

सोनिया- बेशक हो … तुम्हें औरतों के बारे में इतनी बेसिक चीज़ों का भी नहीं पता. आज पता नहीं मेरे लंड को क्या हुआ था … अभी पिछले आधे घंटे से तो लंड एकदम से खड़ा था और अभी दस मिनट में ही उसके पेट पर लंड ने उलटी करते हुए सारा माल निकाल दिया. सेक्सी बीएफ चैनलमैंने कारण पूछा, तो दीदी ने कहा- तेरे लंड में जान है और दूसरी बात मैं तुझसे एकदम से खुली हुई हूँ.

आह क्या मस्त फिगर था उनका … पहली बार में लंड ने हिचकोले लेने शुरू कर दिए थे और पहला मौका मिलते ही मैंने उनके घर के बाथरूम में ही जाकर भाबी की मदमस्त देह को याद करके मुठ मार ली.

उसने लंड के सुपारे पर थूक लगाया और मेरी चूत की फांकों में सुपारा घिसने लगा. वो मेरे दायें पैर के अंगूठे को मुँह में ले कर ऐसे चूस रही थी, जैसे मैंने ब्लू फिल्मों में ही देखा था … उसके होंठों में चरम आनन्द था.

मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागभाभी की सहेली ने चुदाई के लिए ब्लैकमेल किया-1में आपने पढ़ा कि एक दिन मैं भाभी की गांड मार रहा था तो उनकी सहेली आ गयी, उसने हमारी चुदाई देख ली और विडियो भी बना ली. बीवी जब चुद रही हो और ओह … आहह … कर रही हो तो जोश और तेज हो जाता है. आंटी की चीख इतनी तेज थी कि क्या बोलूँ … यूं समझो कि कोई औरत बच्चे को जन्म देने के वक़्त चीखती है … वैसी चीख निकली थी.

और तुम्हें बस मेरी चूत की पड़ी है? तो मेरी गांड और मेरे बोबे और मेरे मुंह का ख्याल कौन रखेगा?वो आगे बोली- मेरे जिस्म में पूरी तरह से तुम्हारे लिए आग लगी हुई है.

जीजू मुझे ज़ोर ज़ोर से चोदने लगे और जैसे ही उनका रस छूटने वाला था, उन्होंने लंड निकाल कर मेरे मुँह में दे दिया. उसी पल सोना की तेज चीख निकली और वो कहने लगी- उई … माँ मर गई … मेरी फट गई … आह … इसे बाहर निकाल लो …मैंने उसकी एक ना सुनी और उसे प्यार से किस करता रहा. मैंने दीदी को चूमते हुए कहा- अगर आप जन्नत के उस पार जाना चाहती हो, तो आज हम ब्लाइंड सेक्स करेंगे.

हिंदी भाषा में नंगी बीएफदूसरे वाले ने अपना स्खलन होने का कहा, तो मम्मी ने उसके लंड का पूरा माल अपनी चुत में नहीं जाने दिया. उसने मुझसे सीधे साफ़ साफ़ शब्दों में पूछा- तो आकाश … तुम तैयार हो अपनी बहन को चुदवाने के लिए?मुझे बहुत गुस्सा आया, लेकिन मैंने हां में सर हिला दिया.

हरियाणा की चुदाई वीडियो

” महेश ने अपनी बहू को रास्ता दिखाया।पिता जी, मगर यहाँ पर तो समीर के सिवा कोई और है ही नहीं!” नीलम ने सोचते हुए कहा।बेटी तुम बुहत पगली हो? मैं तुम्हारे पिता समान हूँ, मगर मैं तुम्हारा साथ दे सकता हूं. वो लड़का एक हाथ से मॉम के मम्मों को मसलने लगा और दूसरे हाथ से उनकी चूत को मसलने लगा. रोहन- इतनी कम उम्र में … मैं यह नहीं मान सकता कि बैंगलोर जैसे शहर के लोग भी कभी-कभी ग्रामीणों की तरह व्यवहार कर सकते हैं.

फिर वह मखमली कमर उसके नीचे दो मजबूत और तराशी हुई जाँघें … जिनके बीच में एक जैसी चूत और पीछे से मटकती हुई गोल मटोल गांड हो. आजकल की व्यस्त जीवनशैली में मानसिक तनाव के चलते इस तरह की सेक्स समस्याओं से महिलाएं और पुरूष दोनों ही ग्रसित हो रहे हैं. कभी कभी फ़ोन सेक्स भी कर लेते थे, वीडियो कॉल में एक दूसरे के गुप्तांगों को देखते दिखाते रहते थे.

ऐप इंस्टाल कैसे करेंहाय दोस्तो, मेरा नाम गायत्री है और मैं बाड़मेर, राजस्थान से हूँ. चूंकि मैं किसी की नौकरी नहीं लगवा सकती थी, इसलिए मैंने सभी से यही कह दिया कि हां मैंने अपनी चूत के बलबूते पर नौकरी पाई है. उसको जी भरकर देखने के बाद उसने उसको धीरे से चूमा और फिर लंड के अगले हिस्से को अपनी जबान निकल कर चाट लिया.

वह मेरे स्तन देखने में इतना व्यस्त था कि मेरे नीचे उसका ध्यान ही नहीं गया।अब मैं सीट पर बैठ गयी और मेरी जीन्स पूरी उतार कर आगे की सीट पर डाल दी. मेरे लंड की ख़ासियत ये है कि वो आगे से थोड़ा पतला, बीच में मोटा और आख़िर में थोड़ा कम मोटा है.

मैं झड़ गई थी, लेकिन चुदने का एक ऐसा भूत सवार था कि मैं फिर से तैयार हो गई.

” नीलम ने मन ही मन में मुस्कराते हुए अपने ससुर से कहा।अब नीलम को यह जानकर खुशी होने लगी थी कि उसका ससुर उसकी चूत का दीवाना बनता जा रहा है. बीएफ सेक्सी सेक्स हिंदी मेंअन्तर्वासना के सभी पाठकों को विशू तिवारी का प्यार भरा नमस्कारमेरी पहली सच्ची कहानीमिस्त्री की लाजवाब स्त्रीमें आपने पढ़ा मैंने कैसे मिस्त्री की सेक्सी और सुंदर औरत को पटा कर उसकी चूत की चुदाई की. व्हिडिओ बीएफ इंग्लिशअगले दिन मनोज के ऑफिस जाने के बाद दीपा ने सोचा कि चलो पार्लर हो आती हूँ. मैंने अपने दोस्तों को बाय बोला और पार्किंग से अपनी गाड़ी लेने चला गया.

वो इतनी वासना और प्यार से देख रही थी, मानो उसकी आंखें बोल रही थीं कि बस करते रहो … रुको मत.

उसने अपनी बाँहें उसके चारों ओर लपेट लीं और अपने सारे शरीर को उसकी ओर धकेलते हुए गले लगा लिया. हिना- ये लंड हम तीन बहनों का सहारा हो गया और तू हमारा सहारा हो गया है. जब तक मैं कुछ समझ पाता, उसने एक हाथ से मेरी बेल्ट खोल दी और पेंट से लंड बाहर निकाल कर लंड हाथ से हिलाने लगी.

वो बोली- मुझे उसका लंड दिलवाओ … वरना मैं मायके चली जाऊंगी और असलियत सबको बता कर तलाक ले लूंगी. ये देख कर मैं अपने दोनों हाथ उसकी पीठ पे चलाने लगा और मेरे हाथ रेंगते हुए उसके लोवर के ऊपर से उसकी गांड पर चलने लगे. शेफाली मुझे बोलती थी- जब तक तू अपनी दीदी को बॉस से नहीं चुदवा देता, प्रमोशन की बात तो तू भूल ही जा.

हिंदी में चूत की चुदाई

क्योंकि परवीन आंटी और चाची को दो बार हो गया था लेकिन हिना आंटी का सिर्फ एक बार हुआ था. मैंने फिर से चुत पर लंड लगाकर उसके दोनों हाथ पीछे ले लिए, जिससे उसका मुँह फर्श पर रख गया और उसके चूचे फर्श पर रगड़ खाने लगे. मुझे लगा था कि शायद तू मुझसे बदला लेने के लिए अपने दोस्तों को सब कुछ बता रहा है.

वो बोली- ये क्या किया?मैंने कहा- कुछ मत बोलो … बस देखती जाओ!इतना कह कर मैंने उसी खून से उनकी माँग भर दी.

अगले दिन कालेज में मैंने सपना को ये बात बताई।उसने कहा- अरे ये तो अच्छा है.

निशा जो अब तक आत्मग्लानि से भरी थी, खुश होकर बोली- सच में … मेरे कितने अच्छे अच्छे पति हैं. मैंने उनसे पूछा, तो उन्होंने बताया कि पैसों के इंतजाम लिए कहीं गए हुए हैं, शाम तक आ जाएंगे. बीएफ सेक्सी फिल्म सुहागरातउसने अपनी छातियां मेरे कोमल छाती से रगड़ दीं और मेरी छाती को चूमने लगी.

अग्रवाल सर ने हनी सिंह के गाने लगा दिए और दीदी से बोले- नाचो मेरी जान. पांच, छह झटकों के बाद उसे भी आनंद आने लगा और बोलने लगी- चोदो … और चोदो।कुछ मिनटों बाद वह कुतिया बन गयी और मैं पीछे से उसकी चूत मारता गया. फिर अचानक से शीना ने अपने हाथ जोड़कर हम दोनों से माफी मांगी और वहां से बीना कुछ बोले चली गई.

कुछ दिनों के बाद पापा का भी स्वर्गवास हो गया, तो भैया ने मुझे अपने पास ही रहने के लिए पटना बुला लिया. वो भी हर जगह जहां भी उसे मौका मिलता, अपनी चूत चटवाने को तैयार रहती.

मैं तब उठ कर अपना लंड अपने हाथ से तान कर पेशाब करने की तैयारी करने लगा.

अंकित ने अपने जीभ की नोक से उसके निप्पल को जोर जोर से चाटा तो उसे लगा जैसे उसकी चूत के अंदर तूफान आ गया हो. आह … मैं उनका लौड़ा अपनी गांड में महसूस कर रहा था और मजा ले रहा था. मेरी नज़रों का जवाब देते हुए संजना मुस्कुराई और बोली- जान डरने की कोई जरूरत नहीं है.

एक्स एक्स एक्स एक्स बीएफ ब्लू पिक्चर मैंने अपना लंड पूजा की तरफ कर दिया तो उसने भी देर न करके मेरे लन्ड को पकड़ लिया और आगे पीछे करने लगी. मैंने अपनी एक दो सहेलियों से नौकरी के बारे में बात की, तो उन्होंने कहा- मिल तो जाएगी, मगर जिसके यहां पर नौकरी करनी होगी, वहां उसके कई उल्टे सीधे कामों में उसका साथ देना पड़ेगा.

कुछ सोच कर मैंने डिल्डो पर थोड़ा सा तेल भी लगा लिया ताकि अगर मैं इसे अपनी चूत में घुसाऊँगी तो कम तकलीफ के साथ घुस जाए. उन्होंने मेरा लंड ज़ोर से अपने हाथों में पकड़ कर अपनी चूत की तरफ मोड़ लिया. मैं अपना लंड चाची की चुत के अंदर बाहर करने लगा, वो सिसकारी की आवाज उम्म्ह… अहह… हय… याह… करने लगी.

தமிழ் காலேஜ் செக்ஸ்படம்

मैं अभी उसके लंड को जज्ब ही कर पाई थी कि उसने ताबड़तोड़ धक्के मारते हुए मुझे चोदना शुरू कर दिया. उस दिन मैंने स्मृति को अलग अलग आसन में चोद कर चुदाई का पूरा मजा दिया. मान लो शादी के लिए तुमको लड़का अपनी पसंद का मिलता है और किसी तरह कम कोई पैसा या कोई चीज़ भी नहीं मांगता, तब भी तुमको शादी के बाद कई तरह की ज़रूरतें होंगी, जिसके लिए तुमको पैसा चाहिए होगा.

मुझे समझ आ गया कि आंटी चुदने को राजी है, बस मुझे ही हिम्मत करना बाकी था. मैंने उसकी कमर को अपने हाथों से जकड़ लिया और अपने पैरों से उसके पैरों को बांध सा लिया.

मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से बंद कर रखा था तो उसकी आवाज़ तो बाहर नहीं आई, पर उसकी आंखों ने पूरा हाल बयान कर दिया.

आंटी को नंगी देख कर मैं खुद पर नियंत्रण नहीं कर सका और वहीं छत पर ही मुठ मार कर शांत हो गया. जैसे ही उसकी ओढ़नी सरकी, मैं प्रीति की आधी नंगी चूची को देख कर मस्त होने लगा. आलिया की चुत में लंड घुसते ही, वो जोर से चिल्ला उठी- ओह माँ … मर गई … निकाल, निकाल इसे …आलिया की चीख सुनकर मैंने लंड बाहर निकाल लिया.

इस बात पर भाभी हंसती हुई बोली- एक ही शर्त पर माफ़ी मिलेगी, जब आप वापस से हम दोनों को पहले जैसा ट्रीट करोगे. ”मैं सोचने लगा कि अब तक अन्तर्वासना पर ऐसी कहानियों में पढ़ते आया हूं या ब्लू फिल्मों में मैंने देखा है एक साथ दो लोगों को चोदते हुए! यह मेरे साथ भी सकता है?मुझे तो आश्चर्य हुआ तो मैंने कहा- चलो आज इंजॉय करके ही देखता हूं. जिस दिन मोहन भैया को मेरी चूत चोदने के लिए मिलती है, तो वो बहुत खुश हो जाते हैं.

मुझे अब भी यक़ीन नहीं हो रहा है कि मैंने वाक़यी में तुम्हें ये मैसेज भेजा था.

बीएफ पिक्चर मूवीस: मैंने कहा- प्लीज छोड़ो मुझे … ये क्या कर रहे हो?वो बोला- तुम्हें प्यार कर रहा हूँ. भाबी के हाथ भी मेरी कमर पर चलने लगे और उन्होंने अपना चेहरा मेरे सीने पर टिका दिया.

फिर भाभी बड़ी अदा से उठीं और मुझे जीभ देखते हुए मेरे लंड का रस मुझे दिखाने लगीं. आख़िर में मैंने उसे अपने ऊपर बैठाया और नीचे से अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया. मैंने उसके लंड को हाथ में पकड़ा और फिर उसको मुंह में लेते हुए चूसने लगी.

वह फिर चिल्लाने लगा- आ…आ… ब…स! लग रही लग रही है, तेरा बहुत मोटा है।मैंने कहा- यार, बार बार गलत समय गांड टाइट करेगा तो लगेगी ही! मेरी तो बड़ी बेरहमी से मारी, अब बहाने बाजी कर रहे है?मामा जी मुस्कराए- यह बदमाशी करता है.

हम दोनों की जीभ आपस में खेल रही थी जिससे हमारा थूक एक दूसरे के मुंह में जा रहा था. भाभी जी की चूत इस वक्त मेरे पूरे लंड को अपनी बुर में लिए मुझे चूम रही थीं. लेकिन वो तड़प उठी थी और अपनी बगलों में घुसे मेरे मुँह को हटाना चाह रही थी- ‘आअहह … ऊहह जानू प्लीज़ नीचे कुछ करो ना जान … ऊऊँहह देखो न … मुझे कुछ कुछ हो रहा है … आऐईयईईई … उउउफ़फ्फ़ … चोद दो न मुझे.