हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी वीडियो

छवि स्रोत,सेक्स बीपी एचडी हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

भाभी की जवानी: हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी वीडियो, उन्होंने तेरी मां की पोर्न वीडियो भी बना ली जिसमें वो मस्ती में अपनी चूत चुदवाती हुई दिख रही थी.

क्सक्सक्स पॉर्न कॉम

निशा भाभी- वो कैसे हो सकता है? मैं साइड वाली सीट से हैंडल और रेस को कैसे कंट्रोल करूंगी?मैं- नहीं आप समझी नहीं, पहले मैं ड्राइविंग सीट पर बैठूंगा और आप मेरी गोद में बैठ जाना. जबरदस्त एक्स एक्स एक्स वीडियोलेकिन दिखावे के लिए मैं तुरंत उठी और बोली- आप ये क्या कर रहे हैं … आपका दिमाग़ खराब है क्या!मैं अभी कुछ और बोलती, तब तक उन्होंने मुझे कसके पकड़ लिया और बेड पर चित लिटा दिया.

मेरा लंड उसकी चुत में दो इंच ही घुसा था कि वो ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ चिल्लाने लगी. सेक्सी वाला ब्लू फिल्मइसलिए उन्होंने मेरी नंगी मॉम को गोद में उठा लिया और दिनेश अंकल के पास ले आए.

पर राजीव उससे बोलने लगा- प्लीज़ यीशा, इतना कुछ हो गया है तो थोड़ा और हो जाने दो.हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी वीडियो: मुझे उम्मीद नहीं थी कि मौसी अपनी चूचियां ऐसे मेरे सामने नंगी दिखा देगी.

अब तो मेरी दीदी की गांड भी उठ कर मेरे लंड से लड़ने की कोशिश कर रही थी.इसी के चलते मैंने थोड़ा जोश में आकर उनके मांसल स्तन को कुछ ज्यादा ही दबा दिया जिसके कारण शायद वो जाग गई.

ब्लू कहानी - हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी वीडियो

मुझे उसकी चिल्लपौं से कोई डर ही नहीं था क्योंकि मेरा ये कमरा सबसे अलग था और इस कमरे में होने वाली आवाजें बाहर नहीं जा सकती थीं.पिछले भागमेरी पड़ोसन मस्त चोदने लायक मालमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं भाभी को अपनी गोद में बिठा कर उन्हें कार चलाना सिखा रहा था.

मेरा लंड उस दिन फटने को हो गया और मेरा मन करने लगा जैसे कि अभी दीदी की पैंटी को उसकी चूत से हटा दूं और अपना लंड उस पर फिराऊं और उसमें घुसा दूं. हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी वीडियो मेरे मन में अचानक से पता नहीं क्या आया कि मैं बाइक को लिंक रोड पर ले गया.

मैंने उनकी गांड पर अपना लंड लगाया और हल्का सा धक्का देकर अपना सुपारा अन्दर घुसा दिया.

हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी वीडियो?

उस समय मैं पढ़ता था मेरे पिता सरकारी नौकरी में थे और मेरी मां एक निजी स्कूल में टीचर थी. बीच बीच में वो मेरी तरफ भी देख लेती थी तो मैं चादर को नीचे कर देता था. इसमें मामी सागर से ज़्यादा उत्तेजना से उसका साथ दे रही थी।उसने उनके रस भरे दोनों जोबन को खूब चूसा.

कुछ देर भाभी के आमों से खेलने के बाद मैं थोड़ा नीचे को हो गया और अब मैं उनकी नाभि को चूमने लगा था. मेरे बगल में शनाज़ और शनाज़ की बगल में अम्मी ने जोहरा आपा को बैठने को कहा तो उन्होंने कहा कि उन्हें भूख नहीं है. उस वक्त मैं यही सोच रहा था कि सच में आंटी हॉट माल हैं, इनको पकड़ कर अभी चोद चोद कर ऐसी हालत कर दूं कि वो दो दिन तक चल ही ना पाएं.

अंकल- रूम में चलें?मॉम- सोफे पर तुम्हें कोई प्राब्लम है क्या?अंकल- नहीं … आओ मेरी जांघ पर बैठो. उस वक्त मुझे एक गीत के बोल याद आए- आज मैं ऊपर … आसमान नीचे, आज मैं आगे … ज़माना है पीछे. नीचे बैठते ही उन्होंने मेरे मुंह को पकड़ा और खुलवाकर अपना लंड उसमें दे दिया.

ध्यान से देखने पर पता लगा कि उनके बदन भी बारिश में पूरे भीग गये थे. कुछ दिन उधर रुक कर मैंने अपनी बहन की चुत को भोसड़े में तब्दील कर दिया था.

मेरी इस हॉट फॅमिली सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैंने दो बुआ की चुदाई कैसे की.

इसके अलावा वे मुझे सजा देने के बहाने पूरी तरह नंगा कर दिया करते थे और मेरे लंड, कूल्हे और नंगे शरीर को सहलाया करते थे; लेकिन बहुत प्यार से! मैं कुछ भी विरोध करने की स्थिति में नहीं था.

आप क्यों टेंशन लेती हो … जाओ आप … मम्मी भी मेले से कभी भी आ सकती है. मैंने सॉन्ग चलने दिए और उसने मेरे से रिमोट लेकर थोड़ी सी वॉल्यूम बढ़ा दी. मेरे ननदोई सोये हुए थे। मैं उनके लन्ड को सहलाने लगी। मैं उनको किस करने लगी, उनके होंठों को चूसने लगी और वो मेरा साथ देने लगे, कहने लगे- भाभी, जब से मैंने आपको देखा है तब से आप मुझे अच्छी लगती हो.

मेरा भाभी के साथ मजाक होता था रहता था इसलिए मुझे पता चल रहा था कि भाभी खुश नहीं है आजकल!कई बार मैं भाभी को कह भी देता था कि अपनी बहन के साथ मेरी सेंटिग करवा दो. तो चलिए आते हैं सीधा मेरी कहानी ‘ट्रक ड्राईवर की बीवी की चुदाई’ पर. दोस्तो, कहते हैं ना कि हमेशा एक जैसे दो लोग आपस में मिल जाते हैं या फिर दो अलग लोग मिलकर कुछ ही समय में एक दूसरे जैसे हो जाते हैं.

कहानी में कुछ कमी लगी हो तो वो भी बताना ताकि निकट भविष्य में मैं अधिक बेहतर कहानी लिख पाऊं.

एक बार में सत्यम के लंड से हम दोनों चुदे और दूसरे राउंड में ममता और सुमेधा चुदीं. मैं भी तुरंत टॉयलेट की तरफ चला गया, पर मेरे बहुत खोजने पर भी उन दोनों में से कोई भी किसी भी टॉयलेट में नहीं दिखा. मैं उनकी बात सुनकर समझ गया कि मां को अपनी चुत चुदाई की बात मालूम है, मगर वो कुछ कहती नहीं थीं.

नीचे बैठते ही उन्होंने मेरे मुंह को पकड़ा और खुलवाकर अपना लंड उसमें दे दिया. सेक्सी फ्रेंड की चुदाई कहानी में पढ़ें कि लॉकडाउन में मुझे मेरे पापा के दोस्त के यहां पर रहना पड़ा. मैंने अपनी गर्लफ्रेंड की चूत को बहुत बार चाटा था लेकिन मामी की चूत का स्वाद कुछ निराला ही था.

मैं सोफे पर सोई अपनी बीवी की चूत में उंगली कर रहा था कि तभी वो जाग गयी.

उन्होंने मुझे देख कर स्माइल पास की, तो मैं समझ गयी कि अभी अंकल भी मुझे चोदेंगे. दोस्तो, आप लोग को तो पता ही है पेपर डांस में कितना चिपकना पड़ता है.

हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी वीडियो मैं समझ गया था कि अगर मैं थोड़ी सी हिम्मत करूं तो भाभी की चुत चोदने मिल जाएगी. मेरा एक हाथ लंड पर था इसलिए मन में सेक्स के अलावा कुछ ख्याल नहीं आ रहे थे.

हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी वीडियो क्या मस्त माल लग रही थी वो … जब उसने गेट खोला तो वो उस समय शॉर्ट्स और टीशर्ट में थी. मेरी बहन आइला की उम्र 20 साल है और वह देखने में एकदम हुस्न की परी लगती है.

मैंने धीरे से मामी के कान में कहा- मामी, अब मेरी बारी है।वो मेरी बात को समझ गयी और झट से नीचे की ओर आकर मुझे नीचे लिटा लिया.

वीडियो की सेक्सी एचडी

कुछ बूंदें भाभी के मुँह में गईं, कुछ उनके चेहरे पर गिरीं और कुछ उनके मम्मों पर आ गिरीं. मैंने उसको पूछा कि उसके पति कहां पर हैं तो उसने जवाब दिया कि वे ड्राइवर हैं. कुछ देर के बाद मैंने ध्यान दिया कि वो दोनों बातें करते हुए बाहर निकल रहे थे.

मेरे पिता एक पेशेवर जिगोलो के जैसे मौसी की योनि को चूस रहे थे और मौसी अपने वक्षस्थल को मसल रही थीं. मुझे आपकी राय का इंतजार है ताकि मैं आप लोगों के लिए और भी बेहतर कहानियां पेश कर सकूं. खुशबू हल्के स्वर में कहे जा रही थी- आह विक्की … तेरी नजरों ने मेरी चूचियों को क्या ताड़ा, साले चुत में आग लग गई.

अभी मेरे कॉलेज को शुरू होने में एक महीना बाकी था, लेकिन मैंने पापा को बोला कि वहां अगर जल्दी जाऊंगा, तो उधर के माहौल में जल्दी घुल-मिल जाऊंगा.

फिर एक चुची को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरी वाली को जोर जोर से दबाने लगा. इससे पहले आपने मेरी वो कहानी पढ़ी थी, जिसमें मैंने अपने बड़े पापा यानि ताऊजी की बेटी को चोदा था. मैंने बिना टाइम वेस्ट किए भाभी को पीछे से उठा कर अपनी गोद में उठा लिया और उन्हें ऊपर कर दिया.

उसने मेरे बालों में हाथ डाल लिये और मैंने उसकी चूत चाटनी शुरू कर दी. फिर मैंने चाची को कुतिया बना कर एकदम से उसकी चूत में लंड को पेल दिया. चूत में लंड जाते ही भाभी बोली- धीरे से करो, मैं कहीं भागी नहीं जा रही हूँ.

मैंने आंटी को पलटने के लिए कहा और उसकी गांड के छेद पर लंड को सेट कर दिया. मैंने अपने सारे जिस्म का बोझ अपने दोनों हाथों पर डाला और फिर से अपना लंड थोड़ा सा बाहर निकाल कर जोर जोर से धक्के मारने लगा.

उसने आगे पूछा- क्यों?साथ ही उसने एक गुस्से वाली स्माइली भी भेज दी थी. दीदी उनके सामने पूरी की पूरी नंगी लेटी हुई थी और उनके लंड को अपने हाथ में पकड़ कर जोर से सहलाते हुए मजा ले रही थी. अब तू ही बता क्या करूँ?एकदम अचानक से आकांक्षा मेरे नज़दीक आयी और अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए.

और जब वह फिर से गर्म हुई तो मेरे ऊपर आकर बैठ गई, लंड को चुत पे सेट किया और खुद ही धक्के लगाने लगी.

मगर तू चिंता न कर, मैं तुझे एक गर्भ निरोधक गोली लाकर दे दूंगा ताकि तो पेट से न हो जाये. उसकी बुर की गर्मी से मेरा लण्ड भी पिघल गया और ढेर सारा वीर्य उसकी बुर में ही छोड़ दिया. जैसे ही उसने मुझे देखा, तो मुझे देख कर जैसे उसके मुँह से राल ही टपक गयी.

मैं- क्यों … अगर मुँह में नहीं लेना है तो बाल साफ करवाने का क्या फायदा?निशा भाभी- तुम मेरी फुद्दी चूसोगे?मैं- हां तभी तो बोला कि चुत साफ़ करके रखा … सारे बाल साफ़ करके चुत चिकनी कर लेना. तभी छोटी बुआ बोली कि मयूर तूने अपने नीचे के बाल क्यों नहीं रखे हुए हैं?मैं बोला- वो बुआ इसमे नहाते टाइम साबुन रह जाए, तो दाद हो जाती है.

भाभी धीरे धीरे शांत होने लगीं, तो मैंने लंड को चुत में आगे पीछे करना शुरू कर दिया. लेकिन मुझे तो चूत हर हाल में चाहिए थी तो मुझे सास की दोपहर वाली हरकत याद आ गई तो सोचा कि क्यों ना सास पे एक बार आजमाया जाये।यह सोच कर कुछ देर बाद मैं दुबारा दूसरे कमरे में गया. अभी तक मेरी कोई भी संतान नहीं थी क्योंकि शादी के बाद से ही हम दोनों की कभी भी बनी ही नहीं, इसलिए मुझे अपने पति के साथ साथ ज्यादा सेक्स करने को मिला ही नहीं.

हिंदी खतरनाक सेक्सी वीडियो

मेरा नाम संजय है, उम्र 24 साल, मैं जिला होशियारपुर पंजाब का रहने वाला हूं.

मेरा लंड पहले से खड़ा था क्योंकि वो मुझे काफी देर पहले से छेड़ रही थी. उसका एक हाथ मेरे सिर पर था जिससे वो मेरे बालों को सहला रही थी और एक हाथ मेरे लंड पर था जिसको वो बार लंड के टोपे से लेकर लंड की जड़ तक फिरा रही थी।जैसे जैसे मेरी जीभ उसकी चूची के निप्पल के चारों ओर घूमती तो उसकी चुदास और ज्यादा बढ़ जाती थी. उनका यह रूप देख कर मेरी आंखें फटी की फटी रह गईं और मैं चाबी के छेद से देखने लगा.

उसकी सिसकारियां तेज़ हो गई।अब मैंने उसकी चूचियों पर लंड फिराना शुरु कर दिया. श्रुति से मैंने पूछा कि उसको कैसे पटाया जाये, तो उसने मुझे कुछ बातें बताईं. সেক্স ভিডিওमैं अपने रूम में चली गयी और सामान आदि बिना खोले, कुछ देर के लिए सो गयी.

वो आज भी मुझे बहुत मिस करती है और मुझे मिलने को बुलाती है।मुझे समझ नहीं आता कि मुझे उससे मिलने जाना चाहिए या नहीं कृपया अपनी राय दें।और आप लोगों को मेरी पहले सेक्स की कहानी कैसी लगी मेल करके जरूर बताएं. इस बात को अम्मी भी समझती थी पर उसके कम आने से अम्मी प्यासी रहने लगी थी.

यह मेरी कहानी नहीं है मेरे साथ जो हुआ है मैं वही आपको बताना चाहता हूं. जैसा उत्साह आप सभी को भी अपने किसी दोस्त की शादी होने पर हुआ होगा वैसा ही मुझे भी था. उन्होंने बोला- तुमने होमवर्क क्यों नहीं किया, तुम तो पढ़ने में अच्छे हो.

मैंने मामी के होंठों का रस पीना जारी रखा और वो भी मेरा साथ देती रही. इसके बाद सर ने मुझे अपना मोबाइल नंबर दिया और जिधर उनका घर था उस इलाके का पता देते हुए कहा कि मेरे घर के पास आकर मुझे कॉल कर लेना, मैं तुम्हें अपने घर का रास्ता बता दूँगा. मैं भी तुरंत टॉयलेट की तरफ चला गया, पर मेरे बहुत खोजने पर भी उन दोनों में से कोई भी किसी भी टॉयलेट में नहीं दिखा.

फिर वो सहलाते हुए बोली- जिन्दगी में पहली बार मुझे सेक्स में ऐसी संतुष्टि मिली है।मैंने पूछा- मौसी तुम कब झड़ीं?वो बोली- जब तू मेरे होंठों को चूसते हुए मेरी चूत को तेजी से चोदने में लगा हुआ था.

मैंने उसके चेहरे को अपने हाथों से उठा कर अपने मुँह के सामने किया और उसके नर्म होंठों पर अपने लाल होंठों को रख दिए. मुझे बेहद वासना चढ़ने लगी थी तो मैंने उसकी ड्रेस को ऊपर उठाते हुए निकालने की कोशिश की.

मुझे देख कर नंगी पड़ी माधवी भाभी ने एक कामुक अंगड़ाई ली और मुझे गले लगा कर किस किया. फिर अचानक से उसने मुझसे खुद ही पानी माँग लिया तो मैंने उसे पानी की बोतल दे दी और वो पूरी बोतल का पानी पी गयी, जो काफी ठंडा था. फिर मैंने उसे अपने ऊपर से उतारा और उसकी चूत में उंगली डाली … ताकि मैं अपना लंड उसमें घुसाने के लिए जगह बना लूं.

मैं उसके घर में उसके कामों में मदद करने लगा, जिससे मैं उससे काफी घुलमिल गया. शादी की सभी रस्में ठीक प्रकार से संपन्न हो गयीं और अब चारू अपने ससुराल आ गई।सब कुछ ठीक था।हमारा संदीप और चारू के घर हर रविवार को आना जाना होता रहता था. तो चलिए दोस्तो, अब कहानी पर वापस आते हैं।मैं अपने रूम में था। मेरे रूम में टीवी भी था और हम दोस्तों ने वाइ-फाई लगवा रखा था। मैं टीवी पर पोर्न वीडियो देख रहा था और मुठ मार रहा था।वीडियो में एक लड़की थी और एक लड़का था। वो लड़का नंगा होकर सोफे पर बैठा था और रोमांटिक मूवी देख रहा था.

हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी वीडियो अब हम ऊपर से बिल्कुल नंगे एक दूसरे से लिपटे एक दूसरे के होंठों का रस पान कर रहे थे. ये कामुक कहानी कॉलेज के दिनों की है, तब मेरी नई नई गर्लफ्रेंड बनी थी.

एक्स एक्स एक्स वाला सेक्सी

ऐसे ही मैं उनके दोनों तरफ के कानों को और जोर से चाटने लगा और गर्दन पर किस करने लगा. कुछ दिन उधर रुक कर मैंने अपनी बहन की चुत को भोसड़े में तब्दील कर दिया था. मेरा लंड उसकी चुत में दो इंच ही घुसा था कि वो ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ चिल्लाने लगी.

उसके निप्पलों को देखकर लग रहा था कि अगर इनको कस कर दबा दो तो दूध निकल आयेगा. घर आकर मैंने उसके नाम की मुठ मारी, तब जाकर कहीं लंड को संतुष्टि मिली. बीपी सेक्सी पिक्चर्सअब पहले मैंने सुमन भाभी की चुत में लंड पेला और शोभा भाभी की चूचियों को मसलता रहा.

खुशबू नहाकर बाथरूम से निकली, तो उसे देखकर मेरा लंड और कड़क हो गया … क्योंकि उसने ऊपर से टॉप पहन रखा था, पर अन्दर ब्रा नहीं पहनी थी.

मैं आपको अपनी कॉलेज की दोस्त नीता और उसके चाचा की बेटी शिल्पी, जिसको मैं दीदी कहता था, की चुदाई की कहानी बता रहा था।मैंने अपनी गर्लफ्रेंड सिस्टर सेक्स कहानी के पिछले भागअपनी हॉट दोस्त को लंड चुसवायामें आपको बताया था कि मैं शहर में रहकर पढ़ाई कर रहा था और मेरे फाइनल एग्जाम के बाद लॉकडाउन हो गया. दो-तीन मिनट में ही चूत से कामरस बहने लगा।मैंने उसको अपना लंड पकड़ाया और चूसने को बोला.

हालांकि अम्मी प्यासी रह गई थीं … लेकिन तब वो आज कोई रिस्क नहीं लेना चाहती थीं. 4-6 रूपये में उपलब्ध इस पत्रिका में पूरे पेज 5-7 नंगी तस्वीरें होती थी जिन्हें ‘पिन-अप’ कहते थे. मैं प्रिया भाभी को आई लव यू बोलना चाह रहा था … लेकिन मेरी गांड में उतना दम नहीं था.

उसके बाद वो मेरी चूत में अपना पूरा लंड डाल कर मेरी चूत को चोदने लगे.

मैं तो सोचकर ही पागल हुआ जा रहा था कि आज रात को मामी की चूचियों और चूत के खूब दर्शन करूंगा. मेरे शौहर ने पूछा- ये किस प्रकार की तलाशी है?उसने मुझे छोडा़ और घूम कर मेरे शौहर को थप्पड़ और मरा और कहा- बहनचोद मुझे सिखायेगा. मैं पहली बार किसी लड़की की चूत में अपने लन्ड डालने जा रहा था तो मैंने सोचा आराम से करें, कहीं भागी थोड़ी जा रही है.

ब्लू पिक्चर ब्लू ब्लू ब्लूदोस्तो, मेरी बुआओं की चूत चुदाई की फैमिली सेक्स स्टोरी कैसी लगी … प्लीज़ कमेंट्स करना न भूलें. मैंने धीरे से कहा- मैंने कुछ नहीं बताया।फिर बाद में मैं और पूर्वी माँ पापा के कमरे में गये। पापा के चेहरे पर डर साफ़ दिखाई दे रहा था साथ ही मैं ये सोच रहा था कि आखिर माँ ने बुलाया क्यों।हम लोग सभी एक पलंग पर बैठ गए.

ब्लू फिल्म सेक्सी में चुदाई

थोड़ी देर बाद वो मेरी नजरों का पीछा करते हुए अपने जिस्म को देखने लगीं और वो मुस्कुराते हुए अपना पल्लू ठीक करने लगीं. काजल के मां पिता सभी बड़े ही सीधे और अच्छे लोग हैं, पर ये साली न जाने कैसे ऐसी निकल गई है. अब मेरा लौड़ा सटासट उसकी चूत को खोल बंद करता हुआ उसे चोदे जा रहा था.

उसके बाद मैंने उसको घोड़ी बना दिया और थोड़ा सा तेल अपने लंड पर लगाया. तब तक अनामिका सत्यम के सामने आ गई और उससे फिर से अपनी चूत चटवाने लगी. उसकी चूचियां एकदम मस्त उछल उछल कर उसकी उंगलियों की संगत कर रही थीं.

अबकी बार मैंने कॉन्डम नहीं लगाया और उसको मेरे लंड पर बैठने के लिए कहा. प्रिया- आंह सर दर्द हो रहा है … आपका बहुत मोटा है … प्लीज़ आराम से कीजिये प्लीज … उईई. तब मैंने कुछ सोच कर सेवादार से कहा- हाँ अगर ऊपर वाले की कृपा हुई तो आज भी मेरी आपा को बरकत मिलेगी.

मैंने उसकी गन्दी कच्छी उसके मुँह में ठूंस दी … इसकी आवाज एकदम से घुट गई. अम्मी ने दूध में नींद की गोली डाली और अपने गिलास बिस्तर के पास रख लिया.

दो-तीन दिन बाद अर्चना का एक मैसेज आया- हेलो क्या हाल है?मैंने उसका रिप्लाई देते हुए कहा- मैं ठीक हूं, आप बताओ कैसे हो?तो उसने मेरे को बोला- आप जैसा छोड़ गए हो, वैसी ही हूं.

मैंने एक दूध को मुँह में भरा और बहुत ही जोर से निप्पल खींचते हुए चूसा. सेक्स वीडियो तीनमैं जानता था कि उसको दर्द हो रहा होगा लेकिन अभी तो दर्द सहना ही था. पंजाब की चुदाईउसने लंड चूसने से एक बार भी मना नहीं किया, लौड़े की चमड़ी को पीछे करके सुपारा बाहर निकला और एक बार जीभ फेर कर लंड का स्वाद लिया और अगले ही पल लंड मुँह में लेकर मजे से चूसने लगी. कोई 15 मिनट तक लगातार चुत चोदने पर उसका पानी निकलने लगा और वह मुझको अपने ऊपर एकदम से दबाने लगी.

अभी मैं यही सब सोच रहा था कि मां ने बुलाया और कहा- बड़े पापा और बड़ी मां बाहर गांव गए हैं.

तभी अचानक से मेरे कानों में आवाज आयी- देखते ही रहोगे या बैठने को भी बोलोगे. मैं- ठीक है तब सुषमा मादरचोद … अब तू देख … कैसे तुझे रंडियों के जैसे चोदता हूँ. करीब 10 मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों साथ में झड़ गए और थक कर लेट गए.

उससे मैं बोलने लगा- आज तो तुझको अपने भाईजान का कटा हुआ लौड़ा अपनी इस कटी हुई चुत में लेना ही होगा. मैं अभी ये सब सोच ही रहा था कि पीछे से किसी ने मेरे कंधे पर हाथ रखा. उधर उसने आराम से मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया था और चूसने लगी थी.

12 वर्ष सेक्सी वीडियो

कोई दो मिनट के बाद हम लोग अलग हुए और वो दरवाजा बंद करके मेरे लिए पानी लेने चली गयी. आज उसने एक अलग जोश में मुझे आफिस में चोदा जिससे मेरी हालत खराब हो गई. मैंने उनसे कहा- मां तुम ये दूध पी लो, इससे आपकी सारी थकान दूर हो जाएगी.

पर मैं हटा नहीं … मैं थोड़ी देर रूका और फिर से भाभी की गांड में धक्के देना शुरू कर दिया.

जैसे ही मैंने लंड चुत के अन्दर डालने की कोशिश की, तो उसने कहा- बहुत दर्द हो रहा है.

उसकी सिसकारियां तेज़ हो गई।अब मैंने उसकी चूचियों पर लंड फिराना शुरु कर दिया. भाभी कहने लगीं कि मैंने नेट पर बहुत खोजबीन की, मगर मुझे किसी पर भरोसा नहीं हुआ. बाप बेटी का चुदाई वीडियोतभी भाबी के सामने ही मम्मी ने मुझे बुलाया और कहा कि रात को भाभी के घर पर सोने चले जाना, वो अकेली हैं घर पर.

फिर उनकी दोनों टांगों को उठा कर उनके सिर के पास दोनों हाथों से अपने कस के पकड़ लिया और मामी से गांड के छेद पर अपना लन्ड सेट करने को बोला।मामी ने थोड़ा सा थूक लिया अपने मुँह से और सागर के लन्ड पे मल दिया. थोड़ी देर बाद वो मेरी नजरों का पीछा करते हुए अपने जिस्म को देखने लगीं और वो मुस्कुराते हुए अपना पल्लू ठीक करने लगीं. मैंने देखा वो आदमी अपने ऊपर वाली बर्थ से दीदी की मिड्ल बर्थ में दीदी से कुछ बोल रहा था.

मैंने झुंझला कर अपनी बहन की चुत कि फांकों में लंड का सुपारा फंसाया. वैसे तो मैं अन्तर्वासना का पुराना पाठक हूँ, पर पिछली सेक्स कहानीपड़ोसन भाभी ने बनाया प्लेब्वॉयकी अच्छी सफलता और आपके प्यार ने मुझे अगली सेक्स कहानी बहुत ही जल्दी लिखने के लिए प्रेरित किया है.

एक बार चुत ने मेरे लंड का स्वाद चख लिया था, तो ये तो जाहिर था कि वो बार बार मेरे लंड की सवारी करेगी.

इस पर सब मान गए और हम तीनों निकल पड़े, पर काजल घर में कुछ लेने वापस अन्दर गई और बैग में अपने कपड़े लेकर आ गई. निशा भाभी ने एक नॉटी स्माइल के साथ कहा- हां … और उठ भी नहीं रहा था. आखिर उन्होंने भी तो रात भर चुदाई की है।माँ तैयार होकर दोपहर का खाना बना रही थी, मैं वैसे ही नंगा कमरे से बाहर आया, पूर्वी सो रही थी।मैं रसोई में चला गया, माँ मुझे नंगा और मेरा खड़ा लण्ड देख चौंक गयी और बोली- बेटा पूर्वी घर में है, वो देख लेगी।मैंने कहा- वो सो रही है.

फर्स्ट टाइम इंडियन सेक्स गुलाबी रंग की पैंटी में दीदी की गोरी जांघें और गुलाबी ब्रा में दीदी के गोरे गोरे बूब्स को देखकर मैं तो पागल सा हो रहा था. मेरी मां मुझे कसरत करते हुए देख कर बड़ा खुश होती थीं और वो मुझे ज्यादा से ज्यादा खिलाने पिलाने की कोशिश करती रहती थीं.

अब उस आदमी का सीना दीदी के मम्मों को दबाने की पोजीशन में हो गया था. बहुत ही मजे से मेरे लंड को चूत में लेते हुए चुदाई का आनंद ले रही थी. अब उसके मुंह से मजे की सिसकारियां निकल रही थीं- आह्ह … उफ्फ … अम्म … आह्ह … और करो … आह्ह … और जोर से … चोदते रहो.

फुल सेक्सी सुहागरात वाली

तो मेरे को कुछ समझ नहीं लग रहा था कि यह है कौन?मैंने उनसे फिर पूछा कि मैंने किस को अपना नंबर दिया? मैंने तो किसी को अपना नंबर नहीं दिया. फ़िर मैंने माही की गांड भी मारी,गांड मारने की कहानीमैं अगली बार लिखूँगा. ये पहले से ज़्यादा तेज़ थी और साथ ही मैडम की बातों से लग रहा, जैसे उन्हें बहुत ज़्यादा दर्द हो रहा हो.

बोलो क्या तुम मेरे साथ चलोगी?अवनीत मेरे साथ मेरे घर चलने को एकदम तैयार हो गयी. मैंने भी उनकी टांगों को अपने शोल्डर पर रख कर बुर में लंड का सुपारा सैट किया और एक जोर से धक्का दे मारा.

मेरी मौसी बोलीं- दीदी अगर मैं प्रेगनेंट हो गई, तो क्या होगा?तभी मेरे पिता जी ने कहा- तू भी मेरी आधी घरवाली है … पर आज से तू पूरी है.

फिर मेरा सारा सामान एक कमरे में पहुंचा कर बोली- ये तुम्हारा रूम है. पर बदले में तुम्हें मुझे भी चोदना पड़ेगा।मैंने उनसे कहा- ठीक है, मुझे आपकी शर्त मंजूर है।और मैं अपने घर चला आया।दोस्तो, आपको मेरे दोस्त और मेरी गर्लफ्रेंड की मम्मी की चुदाई की कहानी कैसी लगी? बताना मत भूलियेगा. मैं- तो क्या हुआ, तू मेरे लिए इतना नहीं कर सकती … मैं तुझे खूब प्यार करूंगा.

मुझे विचार आया कि रजाई को पूरी तरह ढ़क दूं तो आवाज कम हो जाएगी।उठकर मैंने सावधानी से उनकी रजाई पकड़ी और खींचकर मुंह तक ओढ़ाने लगा. एक मिनट बाद उसने मुझे सीधा करके चित लेटाया और मेरी एक टांग अपने कंधे पर रख ली. मगर वो ज्यादा देर तक लड़की के द्वारा हो रही लंड चुसाई के सामने टिक नहीं पाया और उसने उस लड़की के सिर को अपने लंड पर दबा दिया.

शादी के बाद रोहित और अवनीत हनीमून पर चले गये और लौटने के बाद जब मैं उससे मिला तो उससेहनीमून की चुदाई की कहानीपूरे विस्तार से सुनी.

हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी वीडियो: भाभी उसकी चूचियों को पीती रही और मैं भाभी की चूत में उंगली दिये हुए लेटा रहा. मैंने आगे बताया- मैंने एक लड़के को अपना पति मान लिया है और उसके साथ मैं अपना पूरा पत्नी धर्म निभाती हूँ.

फिर जैसे ही भाभी वापस जाने के लिए मुड़ती थीं, मैं अपनी निगाहें भाभी के मटकते चूतड़ों पर गड़ा देता था. ये सेक्स कहानी मेरी पहली देसी कहानी है और मेरे साथ रियल में हुई एक सच्ची घटना है. दिल्ली की भाभी की हरियाणवी चुदाई कीक्सक्सक्स स्टोरीआपको कैसे लगी कमेंट्स करके बताइएगा जरूर और आप मुझे मेरी मेल आईडी पर मेल कर भी बता सकते हैं.

रमेश ने बाबा से पानी मांगा और कहा कि हमारी गाड़ी खराब हो गयी है, मैं गाड़ी में पानी डालने जा रहा हूं.

शकील का चेहरा चमकने लगा और उसने अम्मी से कहा- तो अच्छी बात है … नेकी और पूछ पूछ. चल अभी तो फिलहाल की गर्मी शांत कर ले।और फिर माँ ने तेल मौसी के शरीर पर गिराया और दोनों अपना सुडौल शरीर एक दूसरे पर रगड़ने लगी और 69 अवस्था में आकर एक दूसरी की फुद्दी को शांत करने लगी. मतलब उस शै का नाम प्रिया था और यह पता चलते ही मैं खुश हो गया कि चलो ज्यादा नहीं सही … नाम तो पता चल गया.