लड़की का सेक्सी वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,नवरत्न कूपन रिजल्ट

तस्वीर का शीर्षक ,

इंडियन ब्लू मूवी: लड़की का सेक्सी वीडियो बीएफ, मैंने अपने हाथों को अपने सिर के नीचे से हटाया और उनके हाथों को स्तनों से दूर धकेलने की कोशिश करने लगी.

हिंदी सेक्सी video

लेकिन जब मैं सुबह जब उठा तो मैंने देखा कि मैं पैन्ट पहने हुए था और सब कुछ साफ था. स्ट्रिपचैटवैसे मैं उस हसीन बला के बारे में बताऊं, उसका नाम फ़लक था और वो 32 साल की एक हुस्न की परी थी.

करण भी वही बैठा हुआ था।तभी मम्मी लिविंग रूम में आई और हम दोनों की तरफ देखा। हम दोनों मम्मी को घूर कर देख रहे थे।मम्मी ने हम दोनों की ओर देखा और कहा- तुम दोनों क्या देख रहे हो?मैंने अपने बड़े भाई की ओर देखा और कहा- मम्मी, क्या आपको पिछली रात पसंद आई थी?मम्मी थोड़ा हैरान दिख रही थी और उन्हें पता नहीं था कि क्या कहना है. ज से लड़कों के नाम 2021सारा के पहले शौहर इमरान की बहन दिलिया को देख मेरा मन अब फिर बेईमान हो गया था.

तभी मैंने पूछा- शुभी बोर हो रही हो क्या?उसने कहा- जीजू आप तो लगे हुए थे.लड़की का सेक्सी वीडियो बीएफ: मैंने अपना लंड पूजा गांड में ही डालना अच्छा समझा और अपना खड़ा लंड पूजा की गांड में घुसेड़ दिया.

अब यह मेरे लिए आसान हो गया था कि मैं उसको गांड चुदाई का चस्का भी लगा दूं.कल्पना की बुर के आसपास हल्का हल्का खून लगा था, जो उनकी ही बुर से निकला था.

सेक्सी हिंदी पिक्चर फिल्म वीडियो में - लड़की का सेक्सी वीडियो बीएफ

उन्होंने सारा माल मेरे मुँह में ही डाल दिया और मैं भी मजे से पी गया.वो नीचे से हाथ ले जाकर अपने हाथ से मेरे लण्ड को सहलाने लगी तो मैं भी एक हाथ से उसकी चूची को मसलने लगा.

रानी ने लौड़े को एक थपकी लगायी और हँसते हुए बोली- ये लो … ये मछँदर तो फिर से तैयार हो गया राजे … माँ के लौड़े तेरा लंड बड़ा मादरचोद है … अभी अभी चूत की खबर लेकर आया है और अभी फिर खड़ा हो गया … चिंता न करिये लंड महाराज जी … अपने अपनी माशूका चूत को बहुत आनंद दिया इसलिए चूत की मालकिन आपको एक ऐसा इनाम देगी कि आप भी याद रखेंगे … बोलो लंड देव की जय …. लड़की का सेक्सी वीडियो बीएफ मैं उसके हर प्रोजेक्ट को सबसे पहले करके दे देता, ये देख कर उसको अच्छा लगता.

पापा ने मेरे चूचों को अपने दोनों हाथों पकड़ लिया और नीचे से मेरी चूत में धक्के देना चालू रखा.

लड़की का सेक्सी वीडियो बीएफ?

जब मैंने अपनी सहेली पिंकी से बात की तो पता चला कि उसका पेपर भी अच्छा नहीं हुआ. सरिता- अंकल और कुछ भी कर सकते हैं क्या?मैं- अरे अभी तो बहुत कुछ है करने को … अभी तो मुझे बहुत सारे खेल आते हैं. लंड तो खड़ा हो गया और वो भी अकेले में, फिर हाथ कैसे न जाता उसके पास.

मैं बोला- इसकी क्या जरूरत थी?वो बोली- पी लो, आज बहुत मेहनत करनी है तुमको. वैसे तो मेरा उनके घर पर अक्सर आना-जाना लगा ही रहता था लेकिन मेरी ज्यादा बातें रवि के साथ ही होती थीं. तीन डिशेस थीं, जिसमें वेफर, काजू, चिकन लॉलीपॉप थे और एक आइस बकेट थी.

रवि भी मेरी बात से सहमत हो गया और उसने सुषी को मेरे साथ मेरे घर पर भेजने का फैसला कर लिया. दोस्तो, आप सभी को मेरा हृदय से आभार है कि आप लोगों ने एक बार फिर से मेरे द्वारा लिखी गयी कहानीलंड के मजे के लिये बस का सफरको बहुत पसंद किया. इससे पहले कि लंड को कुछ सूझता, तब तक पिंकी भाभी ने लंड को अपने हाथ से पकड़ा और उसे चूसना शुरू कर दिया.

इससे भाभी तड़प उठी और कहने लगी- आपका लंड बहुत मोटा है … यह मेरे अन्दर नहीं जा सकता. मैं अंकल की कहानी बहुत चाव से सुन रहा था और अब मेरा लंड पूरी तरह सख्त हो चुका था.

”मैं लेटे लेटे ही शर्ट उतारने लगी, शर्ट उतारने के लिए हाथ ऊपर करते ही मेरे स्तन ऊपर तन गए, तब अंकल ने लपक कर उनको अपने हाथों में पकड़ लिया.

सर बोले- हां पर क्या करूँ?मम्मी हाथ से उनको छूते हुए बोलीं- अभी तो आप जवान हैं.

गेट खोल कर वो वापिस मुड़ गई और बोली- कोई आ रहा है शायद!ऐसा बोल कर उसने गेट बंद कर दिया. जैसे मौसी कब नहाने जाती हैं, कब बाथरूम जाती हैं और कब कपड़े चेंज करने जाती हैं. अब उसकी फुद्दी मेरे लन के ऊपर आ गई थी और उसके मम्में मेरे मुंह के सामने.

तभी भाभी ने अपने बिस्तर पर ही मुझे बैठने को बोला- आप कुछ देर यहीं रुक जाओ, इनका दर्द रूक जाए तभी जाना. शैली ने बड़े प्यार से लंड को केक में घुसाया और फिर- मम्मी, जन्मदिन का केक खाओ. फिर धीरे से अपने मुँह को उसके बूब्स पर रखकर चूसने लगा और उसकी निप्पल को दांतों से काट देता था.

मैं- ये तो इंग्लिश में हुआ, हिंदी में भी कुछ कहते ही होंगे या कुछ तो नाम होगा.

वो अन्दर से एकदम गोरी-चिट्टी थीं और उनका बदन दूधिया रंग के बल्ब की रोशनी में चमचमा रहा था. मैंने भी डर का बहाना बनाते हुए आव देखना ना ताव … आंटी के कंधों को पीछे से पकड़ने के बहाने सामने की ओर ज़ोर से अपने आपको धकेला कि उनका मुँह अब सीधे मेरे लंड पर चला गया. हर बार चूतड़ उठा कर विपिन जी के लंड को गप्प से निगल जा रही थी उनकी चूत.

अब मीना की कामेच्छा शांत हो गयी थी और नशे में ये सब होने के कारण वो नंगी ही बिस्तर में सो गई. जागृति मेम ने मुझे आकांक्षा के बारे में कुछ बातें बताईं और उससे दूर रहने का सलाह दी. आप उधर कुर्सी पर बैठ जाएँ और मैं लहंगा आप के पैरों में रख देता हूँ.

मेरे हाथ आगे की तरफ उनके लंड पर जाकर टिक गये और वहाँ से हटने का नाम ही नहीं ले रहे थे.

कुछ ही पल बाद जब मुझे लगा कि अब चूत ज्यादा गीली हो गई है तो मैंने दो उंगलियां उसकी चूत में डाल दीं. रूपा बोली- भैया ये जो लड़का टीवी में कर रहा है, क्या आपने कभी किया है?मैं जानबूझ अंजान बनते हुए बोला- क्या?वो टीवी की तरफ उंगली करके बोली- वो.

लड़की का सेक्सी वीडियो बीएफ वह एकदम से मेरे बालों को पकड़ कर मेरे सिर को अपनी चूत पर दबाने लगी. लंड निकलते ही उसकी चूत से खून के साथ उसका और मेरा माल बाहर निकलने लगा.

लड़की का सेक्सी वीडियो बीएफ पूरे पांच फिट पांच इंच की मेरी हाइट, मेरी 34-26-34 के फिगर से भरी हुई साइज, लंबी नाक, गुलाबी होंठ. दोनों के जिस्मों के नाभि के नीचे के भाग इक-दूसरे से ऐसे सटे हुए थे कि लोहे के दो टुकड़े वैल्ड हो गए हों.

उसकी टाइट सी चूत को अपनी आंखों से निहारने की ख्वाहिश मेरे दिल में ही रह गयी.

हिंदी वीडियो सेक्स चुदाई

मैं घर के काम ऐसे करती हूँ कि मेरे पति अपना लंड मेरे चुत में डालकर मेरी चुत आसानी से चोद सकें. करीब 10 मिनट के बाद उसने मुझे नीचे उतारा और फिर से पलंग में फेंक दिया और मुझे पेट के बल लिटा दिया. वो एक बार आयी भी थी, पर उसकी फैमिली साथ थी, तो हमें मिलने का मौका ही नहीं मिल सकता था.

अब सीन ये हो गया था कि मेरी सहेली जब भी अपने ब्वॉयफ्रेंड से चुदवाने के लिए होटल में जाती थी, तो मैं अपनी सहेली के भाई से चुदवा लेती थी. मैंने सोच रखा था कि जैसे ही मम्मा कुछ विरोध करेंगी, मैं तुरन्त सोने की एक्टिंग करने लग जाऊंगा. मैंने अपनी दो उंगलियों से उसकी चूत के आसपास की भूरी फांकों को हटाया और देखा तो उसकी चूत का छेद, जिसमें मुझको अपना लंड डालना था, वो वैसा ही था, जैसे छेदों में अब तक मेरा लंड जा चुका था.

फिर ताई ने अपने पेटीकोट से अपनी चूत को साफ किया औऱ ताऊ के लंड को साफ कर दिया.

फिर क्या था … आरती मुझे अपने पापा से मिलवाने के लिए ले गई और उनसे सब कुछ बताया कि यह यहाँ पर जॉब के लिए आई है. पहले ही झटके में मैं बहुत जोर से चिल्लाई उम्म्ह… अहह… हय… याह… और लगा कि मर जाऊंगी, मैं इतना दर्द हुआ कि बेहोश होने की हालत में हो गई. पूरे 20 मिनट अंकल की गांड चोदने के बाद मैं झड़ गया और मैंने अंकल की गांड में ही सारा वीर्य छोड़ दिया.

अमर ने पिंकी को चूमते हुए पूछा- पिंकी तुम पैंटी नहीं पहनती हो क्या?पिंकी ने कहा- जीजू, मुझे पता था कि हम दोनों को आज मौका मिलेगा … इसलिए आज मैंने पैंटी पहनी ही नहीं. यही सब बोलते हुए कल्पना भाभी एक बार और झड़ गईं … और उनकी चूत भी धड़कने लगी. मेरी सहेली ने बताया था कि नीग्रो लोगों के लंड बहुत बड़े होते हैं … और वह काफी लंबे समय तक चुदाई कर सकते हैं.

फिर मैंने वापस अपने रूम पर आकर छोटू उठाया और उससे कहा- भाई उठ जा और कुछ पढ़ ले. उस रात मैं उसे चोद नहीं पाया और मैंने अपने लंड को हिला कर झाड़ लिया और मैं अपना लोअर पहन कर करवट बदलकर सो गया।सुबह जब मैं जागा तब तक वो जाग चुकी थी, पर मैं उससे आँखें नहीं मिला पा रहा था, लेकिन वो पहले की तरह ही व्यवहार कर रही थी जैसे पहली रात को कुछ हुआ ही नहीं। फिर मैं फ्रेश होकर नाश्ते के लिए तैयार हो गया.

अगले दिन मैं सुबह ही नहा लिया और अपने लन पर से सारे बालों को अच्छे से साफ़ कर लिया. रात को तय प्लानिंग के साथ भाभी जी मेरे पास आ गईं, वे अपने साथ बियर की दो बोतल भी लाई थीं. अब वो मेरा पूरा साथ दे रही थीं और ‘आह … आह आह … उई … उन्ह मम्मी …’ की आवाजें निकाल रही थीं.

हां, मगर 5-6 दिन में मुझे वापिस दे देना क्योंकि मैंने भाई की अलमारी से चुराई हैं.

करीब 2 घंटे बाद जब निखिल घर आया तो घर में अपनी मौसी को देख कर उसने पूछा- क्या बात है मौसी क्या आप आज फैक्ट्री नहीं गयी हैं?मीरा ने निखिल को बताया कि नहीं मेरी तबीयत ठीक नहीं थी. मैंने अपना लंड उसकी चूत के मुहाने पर रखा और उसके दाने पर अपना लंड रगड़ने लगा. मैंने भी उसको लगे हाथों बोल दिया कि अब मुझे कुछ महीने बाद चूत का काफी इन्तजार करना पड़ेगा.

तो उसने मुझसे कहा- मैं तुमको तुम तुम करके बोल रही हूँ और तुम मुझे आप मत बोलो. ऐसे में जब नीचे जोर से पटेल मेरी चुत चाटना शुरू रखा, तो मेरी चुत में कुछ हरकत सी होने लगी और अब मेरे बदन में आज पहली बार एक नई फीलिंग आई.

”नीतू … तुम्हारे जैसी सुंदर लड़की इस अवस्था में हो, तो ऋषिमुनि भी सब्र खो दें. और मैं इधर सन्जू को किस करते जा रहा था।एकाएक मैंने सन्जू को नाईटी उतारने को कह कर उसकी नाईटी ऊपर से उतार दी, अब सन्जू की चूची पूरी तरह से नंगी थी और काफी आकर्षक लग रही थी, पूरी गोरी गोरी और टाईट, उसके निप्पल पूरे टाईट हो गये था।रोहित उसे कुछ देर निहारता रहा फिर उसकी एक चूची को अपने मुंह में डाल लिया. ऊपर से हाथों से कस्सी चलाने के कारण हाथ की पकड़ भी लंड का दम घोंट रही थी.

ऑनलाइन फराक

वसुन्धरा ने तत्काल अपना हाथ मेरे लिंग पर से परे झटकने की कोशिश तो की लेकिन वसुन्धरा के हाथ के ऊपर तो मेरे बायें हाथ की मज़बूत पकड़ अभी भी बनी हुई थी.

मैंने पति का लंड चूसकर एकदम गीला कर दिया ताकि मेरे पति का लंड मेरी चुत में आसानी से घुस जाए. उसके बाद मैंने खुद को और कल्पना ने अपने आपको अच्छे से साफ किया और हम दोनों कपड़े पहन कर तैयार हो गए. धीरे धीरे मैंने उसको गले लगाए लगाए उसे गले पर अपनी गर्म सांसों को छोड़ना शुरू कर दिया.

मैंने दूसरे ही दिन मेरी फ्रेंड को कॉन्फ्रेंस में लेकर पापा से बात भी करा दी कि मैं उसके घर पर ही हूँ. फिर जवानी निकल गई हो और बच्चों की शादी हो गई हो तो उस उम्र में तो सेक्स की बात सोचना ही एक बड़ी बात हुआ करती थी. हिदी सेकसी विडीयोउसका नाम पिंकी है, वो देखने में इतनी सुंदर और सेक्सी है कि कोई भी उसे एक बार देख ले तो मुठ मारे बिना नहीं रह सकता.

थोड़ा इंतज़ार करने के बाद मैंने अपना हाथ सीधा उसके मम्मों पर रख दिया और दबाने लगा. उसे दर्द होने लगा तो वो बोली- कैसी दवा लगाई है कुछ असर ही नहीं हुआ है.

उन्होंने मेरी नाक को बंद कर दिया था, तो उनका वीर्य सीधा मेरे पेट में चला गया. ”अंकल जी ने मेरी बात अनसुनी करके अपना मुंह मेरी खुली चूत में घुसा दिया और मेरे दोनों बूब्स कसकर पकड़ लिए और चूत की गहराई में चाटने लगे. शर्मा सर ने मुझे बियर का कैन दिया उसे मैंने बड़े बियर गिलास मैं खाली किया और फिर तीनों ने चियर्स किया.

वो ‘ह्हाआ ह्ह्ह ऊओह्ह ह्ह आअह ह्ह्ह्ह …’ की मादक आवाजें निकाली जा रही थी. दूध लेने जाने पर कभी कभी ऐसा होता था कि हम दोनों एक साथ वापस आते थे. हमारे बीच में सामन्यत: उसके और उसके हस्बैंड के बीच की बातें, उसके बच्चे के बारे में होती थीं.

वो तो जैसे मेरा ही इंतज़ार कर रहे थे; मेरे भीतर घुसते ही उन्होंने गेट बंद कर दिया और मेरी साइकिल अन्दर रख दी.

फिर अंकल ने कहा- बेटा आप क्या करते हो?मैंने कहा- अंकल, मैं अभी सरकारी जॉब के लिए तैयारी कर रहा हूँ. थकान की वजह से अब मेरे मन में ख्याल आने लगा कि या तो अब वो झड़ जाए या मैं झड़ जाऊं.

मैं छत पर पहुंच कर देखने लगी तो हैरान रह गयी कि वह छत पर भी नहीं था. तू मेरी बात लिख ले, तेरे से ज्यादा गंडमरी लंड लेने वाली गांड चुदवाने वाली दूसरी कोई नहीं होगी. प्लीज़ कोऑपरेट मी। (प्रिय मैंतुम्हारी चुदाई करना चाहता हूँ, कृपया मेरा साथ दो)।इस पर रीनल ने जवाब दिया- डार्लिंग, वी ऑलरेडी क्रॉस्ड आवर लिमिट (प्रिय हम पहले ही हमारी सीमा पर कर चुके हैं) अब इससे ज्यादा मैं साथ नहीं दे पाऊंगी।विक्रम-प्लीज रीनल, मैं इतना करके अधूरा नहीं रह सकता.

फिर मौसी ने अपने शरीर पर पानी डाला और खड़ी हो गईं और मैं भी चौकन्ना हो गया. जब घर में कोई नहीं है तो जोक सुनाने के लिए बुलाती है क्या?मेरा मुँह खुला का खुला रहा गया. वो चुदाई करते करते पीछे से उनकी छातियां मसल रहे थे और ताई इन सब का मजा ले रही थीं.

लड़की का सेक्सी वीडियो बीएफ मैंने अपने लंड को धीरे धीरे से दिलिया की चूत से बाहर करने की कोशिश चालू कर दी और वो भी ‘अह अह्ह येस्स अह्ह्ह येस और आह्ह अह्ह …’ करने लगी. वैसे हमारे बीच बातें तो होती थीं … लेकिन मैंने कभी उससे कभी सेक्सी बातें नहीं की थीं.

सेक्सी फिल्म आजा वीडियो

मगर भाभी के जिस्म और चेहरे पर शिकन नाम की कोई रेखा मुझे कहीं पर भी दिखाई नहीं दे रही थी. मायरा चाय ले आई तो मैंने चाय पी और कहा- वाह बहना क्या अच्छी चाय बनाई है, मजा आ गया. उसकी चुत के छोटे-छोटे होंठों को मैं अपने होंठों में लेकर खींचने लगा.

वो जोर से चिल्लाने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ पर घर में कोई था नहीं, तो मैंने उसका मुँह बंद किया और दूसरे जोरदार झटके के साथ पूरा लंड चूत में उतार दिया. आह क्या बताऊं यार … इतने मुलायम स्पर्श था कि दूध लगते ही मुझे एक मस्त मजा जैसा लगा. तमिळ सेक्स तमिळ सेक्सकुछ देर पहले तो वह इतनी गर्म हो गई थी और फिर अचानक से उसको क्या हो गया.

नम्रता ने मुझे चिकोटी काटी थी, मेरे इस तरह सकपका कर देखने से वो बोली- जनाब कहां खो गए थे आप?मैं- सच कहूँ तो आपकी चूत चुदाई की याद में खो गया था.

ये कह कर उसने कदम आगे बढ़ाया तो वो लड़खड़ा गई और उसके मुँह से निकला- आउच …मैं- क्या हुआ?रिया- मुझे कमर में दर्द हो रहा है … आउच … कमर की नस चढ़ गई शायद … मुझे बहुत दर्द हो रहा है. मौसी की हाइट 5 फुट 5 इंच है, गदराया बदन है, न ज्यादा मोटी हैं, न पतली हैं.

वह लंड मुख से निकाल कर बोली- जब मुँह में इतनी मुश्किल से जा रहा है तो चूत में कैसे जाएगा?गुलाबो को काफी डर लग रहा था क्योंकि मेरा लंड काफी लम्बा और मोटा है. भाभी की देसी चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं फ़ौज से छुट्टी पर आया तो साथ वाले घर की भाभी पर मेरे नजर पड़ी. मगर मैं हैरान था कि यह साली लंड को चूत में डलवाने से मना क्यों कर रही है.

अब आगे चीटिंग वाइफ Xxx कहानी:बाहर वाशरूम में आकर सनी और रोज़ी ने अपना चेहरा ठीक किया और फुकेट की नाइट लाइफ की मस्ती के लिए निकल गए।घूमघाम कर दोनों देर रात तक वापिस आए.

उसको चूतरस बोलते हैं, आज तुम्हें पहला मजा आया है, इसलिए तुम्हें मुबारक. उस समय अगर मैंने उसके होंठों को अपने होंठों की कैद में ना किया होता तो उसके चिल्लाने की आवाज कमरे से बाहर तक चली जाती. उत्तेजना वश वसुन्धरा की दोनों टांगें हवा में लहरा उठी थी और ऐसा प्रतीत होता था कि जैसे वसुन्धरा अपनी योनि के रास्ते मेरे लिंग को नहीं अपितु मुझे अपने अंदर समा लेना चाहती हो.

हिंदी विलेज सेक्सी वीडियोवो भी मस्ती से मेरे कम को अपने जिस्म पर महसूस करने लगी अपनी मम्मों पर वीर्य को फैला कर मलने लगी. कुछ देर बाद उसने खुद ही अपनी ब्रा खोल दी और मेरी भी शर्ट और पैन्ट खोल दी.

हिंदी इंग्लिश सेक्सी ब्लू फिल्म

मैंने जब से तुझे देखा, तब से सोचा कि किसी दिन फंसेगी, तो तेरी सारी चुल्ल मिटा दूंगा. शीतल भाभी ने मुझसे पूछा कि तुमने मुझसे तो मेरे बारे में सब पूछ लिया, पर अपने बारे में कुछ नहीं बताया. वे अचकचा गए- नहीं नहीं …पर मैंने उनके अंडरवियर में हाथ डाल ही दिया और लंड को बाहर निकाल लिया.

मुझे थोड़ी हैरानी हुई कि ‘जिस मीना के जिस्म का भोग मैं आसानी से कर लूंगा’ की उम्मीद कर रहा था वो इतना आसान भी नहीं था. उसे दर्द होने लगा तो वो बोली- कैसी दवा लगाई है कुछ असर ही नहीं हुआ है. जितना जोर मुझसे लग सकता था मैं उसकी चूत में लंड को धकाने के लिए लगा रहा था.

आज जो मैंने उसके साथ किया है उसको याद करके वह भी बार-बार मुझसे बात करने की कोशिश करेगी. नाईटी ट्रांसपेरेंट थी और उसमें से मेरी ब्रा-पैंटी सब कुछ साफ दिख रहा था. कमेंट और मेल में अपने विचार बताएं, अच्छा रिस्पॉन्स आने पर मैं आपको अपनी जिंदगी में आई और लड़कियों की कहानियां भी बताऊंगा.

पहले तो मुझे काफी संकोच हुआ, डर भी लगा कि पता नहीं उन्हें सही में काम है या मुझे डांटने के लिए बुला रही हैं. मैंने भी अपना हाथ थोड़ा और टेबल के बाहर किया और आंखें बंद करके लेटा रहा.

मैंने उसकी टांगों के बीच में आकर अपने लंड को चूत की फांकों में ऊपर से नीचे तक फेरा, तो वो गनगना उठी और जल्दी लंड लेने को उतावली सी होने लगी.

उसमें चुम्मा चाटी और सेक्स के सीन आने की वजह से हम दोनों गर्म हो गए. हिंदी सेक्स वीडियो नईमैंने मेरी बहन को कभी गंदी नज़र से नहीं देखा था पर एक बार मेरी बहन बाज़ार जाने के लिए कपड़े बदल रही थी. सन्यासी मूवीप्लीज़ मुझे मां बना दो!अमर ने पिंकी का मुँह अपनी तरफ उठाया और उसके आंसू पौंछते हुए पिंकी को मां बनाने का वायदा कर दिया. मेरी मम्मी ने मेरी परेशानी देखकर पूछा कि हर्षद मैं तुम्हें दो तीन से देख रही हूँ, तुम कुछ परेशान से दिख रहे हो.

वो भी एक कदम आगे निकली, बोली तो ठीक है, मैं तुम्हारी चड्डी पहन लेती हूं, अगली मुलाकात में मैं तुम्हें लौटा दूंगी.

”और तुझे चूत चटवाने में कैसा लगा था?”यार डॉली, वो तो क्या मस्त फीलिंग थी, लगता था मैं बिना चुदे ही झड़ जाऊँगी, इतना मज़ा आ रहा था जब वो जीभ से मेरा मोती चाट रहे थे. मन कर रहा था कि बस पूजा आ जाये और उसकी चूत, गांड, मुंह सब के अंदर अपने प्यासे लंड को डालकर अपना पानी उसकी चूत के सूखे खेत में डाल दूँ. लाइट और टीवी भी उसने खुद बंद किया और ऐसा करते ही मेरे अंदर वासना का भूत सवार हो गया.

ये सोचते ही मैं एकदम गर्मा जाता था और अपनी मम्मा को याद करके मुठ मार लेता था. मैं कुछ समझ नहीं पा रहा था कि क्या करूँ, कहाँ से शुरू करूँ?निशा बोली- अब उल्लू की तरह आँखें फाड़ कर देखते रहोगे या मेरे पास भी आओगे?मैंने पूछा- निशा ये रूप कौन सा है. मैं पायजामे के ऊपर से ही भाभी की चूत को धीरे धीरे सहलाने लगा और चूत के दाने को धीरे धीरे मसलने लगा.

हिंदी में ब्लू सेक्सी दिखाइए

चाची फिर से बोलीं- सर के नहीं, नीचे जो जंगल उगा रखा है … उसकी बात कर रही हूँ. अच्छा तो ये तुम्हारी और डीओ की मिली-जुली खुशबू है, बहुत ही मादक है ”अंकल ने मेरी दोनों कांखों पर किस किया और दोनों जगह पर जीभ भी घुमाई. जैसे ही डोरियां खुलीं, ब्लाउज नीचे गिर गया! उसने ब्रा नहीं पहन रखी थी और उसके गोरे-गोरे, सुडौल, बड़े-बड़े मम्मे मेरे सामने थे.

मैं- तुमको प्यार करके ही बड़ा हो गया है ये!प्रिया- भैया और कस कसके कीजिए ना … आज एकदम गहरी कर दीजिए.

मुझे अपने आप से ऐसा लगने लगा था कि मुझे आशीष अपने बांहों में लेकर मेरे जिस्म से चिपका रहे और वैसे ही मेरे होंठों को चूमता रहे.

पानी निकलने के बाद भी वो बस चुत चाट रहा था तो मैं कुछ ही देर में फिर से गर्म हो चुकी थी. एक दिन मैं ऐसे ही स्पा सेंटर पर अकेला था, तो मुझे एक कस्टमर की कॉल आयी और मसाज के लिए घर आने का आर्डर दिया गया. హిందీ మే సెక్సీ పిక్చర్मैंने उनसे कहा- चाची, मैं अब झड़ने वाला हूँ … बताओ अपना वीर्य कहाँ पर निकालूं?उन्होंने झट से कहा- बेटा, मैं तुम्हारा वीर्य एक बार चखना चाहती हूँ.

मैंने उसकी सलवार थोड़ी नीचे कर दी और ऊपर मुँह लगाकर उसके होंठों को चूसने लगा. मैं बोला- क्या रे … झड़ गया क्या?तो संजना बोली- नहीं झड़ा तो नहीं है।रोहित कुछ नहीं बोला और उसने सन्जू के लाल लाल होंठों पर अपना होंठ सटाना चाहे तो सन्जू ने मना कर दिया और कहा- ये सिर्फ मेरे पति के लिए हैं।कहानी जारी रहेगी. क्या तुम अपने दोस्त से मेरी बात करवा सकते हो?उसके मुंह से यह बात सुनकर मैं तो सन्न रह गया.

इसके बाद आशीष बोला- अब बंध्या सीधी लेट जा, मुझे तेरी चुत की चुदाई करनी है … जो मुझे खुद से भी ज्यादा प्यारी लगती है. मेरी मामी यानि धीरज की माँ कह रही थी- इन बातों का आप जानें … मुझे तो आप अपने लंड से खुश करो.

वह मुझे पन्नीलाल चौक ले गया, वहां पर उसने एक स्टोर से 12 सौ रुपए की व्हाइट कलर की बहुत अच्छी सी लॉन्ग फ्रॉक दिलवाई, मैं बहुत खुश हो गई मुझे आज तक किसी ने इतना महंगा ड्रेस नहीं खरीद कर दिया था.

मैं नवाज भाई को यह बता नहीं पाया कि उनसे गांड मराए दो महीने हुए हैं, उन्होंने मेरी कसके रगड़ दी थी. सोनल मेरी ओर देखकर हल्की सी मुस्करा दी और मेरी गोद से उतर कर अपनी जगह बैठ गई. उन तीनों के मुंह से कामुक आवाजें निकलने लगी थी और मेरी चूत से कामरस निकलना शुरू हो गया था.

तालिबान सेक्स उसने मेरी चूत को एक कपड़े से साफ़ किया और उसके बाद वो अपना लंड मेरी चूत में डाल कर मुझे चोदने लगा. आपकी याद ताजा करने के लिए बता देता हूँ कि मेरी पहली गरम सेक्स कहानीसौतेली मां की चुदाई की लालसाआप सभी ने पढ़ी और सभी को बहुत पसंद आयी.

फिर जवानी निकल गई हो और बच्चों की शादी हो गई हो तो उस उम्र में तो सेक्स की बात सोचना ही एक बड़ी बात हुआ करती थी. मैंने सोनू की चूत में अपना सुपारा अंदर किया, सोनू पीछे मुड़कर मेरी तरफ देखने लगी. हुआ कुछ ऐसा कि एक दिन हम दोनों भाई बहन पढ़ाई करने के बाद खाना खाकर अपने अपने बेड पर सोने चले गए.

बीएफ खूबसूरत

मेम ने मुझे कंडोम पकड़ाते हुए जल्दी से चुदाई करने को बोला और अपना पजामा खोल दिया. मैं दरवाजे की आड़ में बैठता था जिससे उन दोनों को मस्ती करने में आसानी होने लगी थी. मेरी पिछली सेक्स कहानीपहला प्यार और पहला सेक्सको लेकर आप सभी के मेल व सुझाव मुझे मिले.

अंकल थोड़ा टेंशन में आकर बोले- नीतू, कल जो कुछ हमने किया यह तुमने किसी को बताया तो नहीं ना?मैं शर्माते हुए बोली- मैं कैसे बता सकती हूं? ये भी क्या बताने वाली बात है?आज का अभ्यास करने से पहले हम कल के अभ्यास का रिवीजन कर लेते हैं. तब तक डायरेक्टर बोला- बस … अब अगली बार ये सब देखूँगा, अभी टाइम नहीं है.

पेट व जांघों पर हाथ फेरा औऱ उसकी चूत के दाने को कुरेद कुरेद कर चाटा.

सी … आह … ह … ह … ह!”अब तक तो मेरी उंगली ने वापसी का सफर शुरू कर दिया था. मुझसे उनका टॉर्चर सहन नहीं हो रहा था, मैं उनसे कसमसाते हुए बोली- बस अंकल, रुको अब. वह मुझसे बुरी तरह से नाराज हो गई थी। अब मुझे रीनल से सच्चा प्यार होने लगा था। लेकिन उसने कभी मेरी एक बात नहीं मानी.

आप अपने सुझाव व जवाब मुझे मेल या फेसबुक पर इसी आईडी पर दे सकते हैं. मैंने अपनी एक टांग से उसकी नीचे वाली टांग को दबा दिया और दूसरी टांग से उसकी दूसरी टांग को दबा दिया. मैंने कहा- तो आज तुम दोनों का मन अपने भैया का प्यार पाने का है?स्नेहा मुझसे लिपट कर बोली- मैं तो कल ही आपका प्यार पाने कि बेचैन थी मगर आपने लिफ्ट ही नहीं दी.

बीवी ने बगल में रखी वैसलीन की डिब्बी मेरे हाथ में दे दी, जो उसने पहले से ही अपने पास ले रखी थी.

लड़की का सेक्सी वीडियो बीएफ: कुछ देर तक मैं उनकी जांघों को चूमता रहा, जिससे कभी कभी गुदगुदी के कारण कल्पना की हंसी निकल रही थी. मैं रिम्पी के साथ जब भी उसके घर जाती थी, तो वो मेरे सामने बहुत बार आता था.

ऐसे में मैं ज्यादा देर टिक नहीं पाई और मेरा पानी निकल गया, उसको भी वह पूरा चाट गया. मैं कंपनी सेक्रेट्री कोर्स कर रही हूं।इस साइट पर यह मेरी पहली कहानी है. उन्होंने अपना हाथ पिंकी की जाँघ से नहीं हटाया।पिंकी के चेहरे से मुझे साफ लग रहा था कि वो पूरी तरह विचलित हो चुकी है मगर शायद पेपर करने का लालच या फिर उसकी उम्र या फिर दोनों ही कारण थे कि वह चुप बैठी अब भी लिख रही थी.

अपनी छाती से मैं उसके मोटे मोटे मम्मों को रगड़ रहा था और मेरा 8 इंच का भारी भरकम लौड़ा उसकी चिकनी चूत पर टच हो रहा था.

मैंने उसके गाल पे किस किया और फिर उसके चेहरे को पकड़ कर उसके रसीले होंठों को किस करने लगा. एक दिन भाभी प्लाट में भैंस बांधने आईं तो उस दिन उनकी भैंस गर्म हो रही थी. मैं उन लोगों की बातें तो नहीं सुन पाती थी क्योंकि मैं कुछ दूर पर खड़ी रहती थी और वो अपने ब्वॉयफ्रेंड से बात करती रहती थी.