बिहार का बीएफ दिखाओ

छवि स्रोत,सेक्सी बीपी सेक्सी बीपी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

मॉडल लड़की सेक्सी: बिहार का बीएफ दिखाओ, मैं समझ गया था कि अम्मी को अपनी गांड में लंड को लेने की खुजली मची थी.

पशु का बीएफ

’ये सुन कर मुझे और मजा आ रहा था और मैं धकापेल उसकी चूत को चोदने में लगा था. बीएफ की चूत की चुदाईमैंने सास से पूछा- ये कौन है?सास बोली- ये अंतरा है, मंजू की छोटी बहन!मैंने अंतरा से पूछा- तुम कितनी बहनें हो?तो अंतरा बोली- हम तीन बहनें हैं.

इतने में एक और नंबर से मैसेज मिला- हाय भैया, आपका और मम्मी का क्या चल रहा है?मैं घबरा गया. हिंदी में बीएफ सेक्स करते हुएइससे ये बात तो स्पष्ट थी कि पापा ने मम्मी के मुँह में लंड डाला था, शायद माल (वीर्य) भी.

उसने कहा- साले फालतू की बात मत कर … सीधे सीधे हां बोल … वर्ना मैं मम्मी पापा को बोल दूंगी.बिहार का बीएफ दिखाओ: मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मेरी शरीफ से दीखने वाली बहन के अंदर इतनी आग हो सकती है.

मैंने भाभी से एक बार फिर से अपना लंड चुसाया और करीब पांच मिनट बाद मैंने उन्हें कुतिया बनने को कहा.मैं उसको अपनी गोद में उठाकर बाथरूम में ले गया और उसके ब्लड को साफ किया, उसने मेरे लंड में लगे हुए ब्लड को साफ किया.

इंडियन बीएफ चोदी चोदा - बिहार का बीएफ दिखाओ

तब मैंने उससे पूछा- अब कैसा लग रहा है? क्या ज्यादा दर्द हो रहा है?वो अपने चेहरे पर पीड़ा और मुस्कान दोनों के मिश्रित भाव लाती हुई बोली- इतना मोटा लंड चूत में जाएगा तो क्या दर्द नहीं होगा.जब वो अपना लंड पूरी ताकत से चुत की गहराई तक अन्दर डालता, तो मेरे मुँह से आह आह हहह की आवाज निकल ही जाती.

शादी से पहले तो हम, बच्चा न ठहरे, इस सुरक्षा के साथ चुदाई का आनन्द उठाते थे … पर शादी होने के बाद हम दोनों ने कंडोम लगाना बंद कर दिया. बिहार का बीएफ दिखाओ वहां आने से पहले मैंने उन्हें जो सामान लिखवाया था, उसमें कुछ कमी थी, तो मैंने वो जुगाड़ किया और मैट बिछा दिया.

उन्होंने शेविंग क्रीम मेरे लंड और उसके आस पास लगाकर फ़ोम बनाने लगीं.

बिहार का बीएफ दिखाओ?

मैंने अपने होंठों को उसके होंठों पर रख दिया और उसके अधरों का रसपान करने लगा. टीचर- तुम अब काफी स्मार्ट हो गए हो … तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?मैंने उनको बताया- मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. प्रकाश ने अपने दोनों हाथों की उंगलियां मेरे भारी चूतड़ों पर जमाकर गांड को उचकाया तो सट से मेरा पूरा लंड उसकी गांड के अन्दर चला गया.

उधर भी हमारा अपना घर है क्योंकि मेरे पापा की नौकरी के चलते मम्मी पापा भी उधर ही रहते थे. मैंने हाथ के इशारे से उसे हटने के लिए कहा, तो वो मुझे आंखों के इशारे से कुछ देर दर्द सहन करने की कहने लगा. इस कारण पेटीकोट मेरे घुटने के ऊपर ही था और मेरे बाल, जो कि अभी गीले ही थे, उन्हें भी खोल दिया.

पर पता नहीं क्यों मुझे उसकी इस हरकत पर कोई ऐतराज़ नहीं हुआ बल्कि मेरी दोनों चूचियों ने तो उसके हाथों में समर्पण सा कर दिया था. अब मेरे सब्र का बांध टूट गया था तो मैंने उनके एक दूध को जोर से मसल दिया. मैं अपनी बहन की चूत के दोनों होंठों को अपने दांतों से दबा कर पूरा काट भी ले रहा था.

और फिर शुरू हुआ चुदाई का एक राउंड!थोड़ी देर बाद मैंने आपा को कहा- आपा, विशाल ने आपकी गांड भी मारी थी क्या ?तो उन्होंने कहा- मैंने आज उससे सिर्फ चूत चुदाई करवाई थी. जो जितनी देरी से इसका आनन्द लेना शुरू करेगा, वो उतना ही मजा कम ले पाएगा.

मैं बार बार उसकी चुत से मुँह हटा लेता था तो वो कसक उठती थी- मामा, मुँह क्यों हटा लेते हो … लगातार चूसो न!मगर मुझे मालूम था कि ये झड़ जाएगी तो लंड नहीं लेगी और भाग जाएगी.

इस पर अम्मी तुरंत बोलीं- अरे सोने दो न उसे … इसकी नींद पूरी नहीं होती है.

प्रियंका ने मुझे देखा और एकदम से बोली- तो अब एक साथ चुदाई करने का प्लान बना लो. तभी अचानक राज ने मुझे एक खाली क्लास में खींच लिया और वो मेरे होंठों को चूमने लगा. पहले अय्यर धीरे धीरे से गांड मारता रहा, फिर पूरे ज़ोर के साथ पेल पड़ा.

अमित मेरी बहन की बारे में चैट करता और बोलता- साले रंडी के भाई … तेरी बीवी और बहन को किसी दिन एक साथ चोदूंगा. मैंने उसकी गांड भी मारी, उसकी गांड चुदाई की कहानी मैं बाद में बताऊंगा. मैंने वो फूल स्वीकार कर लिया।इस तरह खेल खेलते रहे जब तक हम सब अपने अपने घर नहीं पहुंच गए।उस दिन से मेरी भूमि के साथ दोस्ती बढ़ गयी, रोज धीरे धीरे चैट होने लगी।फिर एक दिन मौका देखकर मैंने उसको प्रोपोज़ किया.

वो भी आंख बंद करके मदहोश सा हो गया और मदभरी सिसकारियां लेने लगा- आहह … ममहह … चूसो और चूसो … हाय्मम!दस मिनट तक मैं लंड चूसता रहा और उसने अपना सारा माल मेरे मुँह में गिरा दिया.

लेकिन जैसे ही उसका ध्यान गया कि उसके बूब्स को मैं देख रहा हूं, उसने तुरंत अपने बूब्स को अपने दोनों हाथों से ढक लिया और उन्हें छुपाने की नाकाम कोशिश करने लगी. शराब पीते हुए मनोज ने बताया कि उसकी होने वाली पत्नी कॉलेज में उसके साथ थी. पर उनका मुझ पर ध्यान ही नहीं गया कि मैं आज तैयार होकर उनका इंतजार कर रही थी.

वो बोली- बात सिर्फ चूत चुदाई की तय हुई है, गांड के 5000 अलग से लगेंगे. मेरी बात सुनकर वो खुश हो गई मगर तब भी वो बोली- लेकिन फूफाजी आपका हथियार बहुत बड़ा है, मेरी फट जाएगी. जब मेरी बीवी खाना बनाने चली गयी तो मैंने साली से कहा- आज तुम्हारी लेने का बड़ा मन कर रहा है.

सेक्सी पंजाबी गर्ल हॉट स्टोरी में पढ़ें कि चंडीगढ़ की जवान लड़की अपने कजिन की शादी में गयी तो वहां पर उसका एक कज़िन उसके पास सो गया। उसके बाद …यह कहानी सुनें.

इस बहन की चूत की भाई से चुदाई पर अपने विचार मुझे[emailprotected]पर बताएं. मेरी अम्मी की जिधर पहले शादी हुई थी, वहां से उनके पहले पति ने शबाना आपा के साथ उन्हें घर से निकाल दिया था क्योंकि मेरी अम्मी कई लोगों के साथ चुद चुकी थीं.

बिहार का बीएफ दिखाओ कुछ देर बाद मुझे लगा कि मैं अब झड़ने वाला हूं, तो मैं भी जोर जोर से सिसकारियां ले रहा था- ओह या … ओह या … नूर ले … लंड का पानी ले ले!बस मैं सिसकारियां लेते लेते उसकी चूत के अन्दर ही झड़ गया. मुझे नशा हो गया था, मैं अपनी बीवी के पास गया और उसकी नंगी पीठ को चूमते चूसते हुए उसकी गर्दन पर आ गया.

बिहार का बीएफ दिखाओ मेरी मौसी अक्सर सोने से पहले अपनी चड्डी ब्रा बाथरूम में टांग देती हैं और मैं उसको अपने कमरे में लाकर रात में मुठ मारता रहता हूँ और मौसी की पैंटी को चूत वाली जगह से चाट भी लेता हूँ. मेरा लंड भी उनके मुँह में था, तो मैं शांत रहा और चुत का हमला झेलता रहा.

अब आगे इंडियन जीजा साली Xxx कहानी:मैंने ज्यादा ताकत लगाते हुए अन्दर की तरफ पेल दिया.

मौसी और भतीजे की बीएफ सेक्सी

फिर मैंने मन ही मन सोचा कि तू क्या मुझे मेरी बहन की चूत चुदाई दिखाएगा. मैंने खिड़की में लगे हुए पर्दे को हल्के से हटा कर अन्दर देखा तो भाबी पेटीकोट में खड़ी थीं और अपने ब्लाउज़ के हुक लगा रही थीं. मैं आपा के चूतड़ों पर थप्पड़ मारता हुआ बोला- मेरी जान, तू तो चालू हो गयी है!मेरे मुंह से अपने लिए ऐसे शब्द सुनकर आपा ने मेरी तरफ हैरानी से देखा और बोली- वाह बेटा, आपा से सीधा जान?और ये कहकर हंसने लगी.

मैं उनसे गले लगे हुए ही साड़ी के ऊपर से ही संगीता मैम की बड़ी गांड दबाने लगा. अब तो अम्मी का बुरा हाल होने लगा था, वो बोलीं- आंह … आज गांड मरवाने का सुबह से मन हो रहा है. सायरा प्यारी, तू मेरी छिनाल रंडी बेटी, आज तेरी बुर को चोद चोद कर सीधे भोसड़ी बना देता हूँ, तेरी ज़िन्दगी की पहली बार की चुदाई करके, तेरी कुंवारी चूत को फाड़ कर इसमें से खून निकाल देता हूं.

वो मेरे लंड को पकड़ती हुई बोली- भाई ये तेरा लंड कैसे इतना बड़ा हो गया है … ये क्या मस्त लौड़ा है.

वो बैठी बैठी मुझसे बातें कर रही थीं … लेकिन उनको देख देखकर मेरी हालत खराब हो रही थी और मेरा लौड़ा पूरी तरह से तनकर सख्त, मजबूत हथियार बन गया था. भाबी मेरे लंड को पूरी मस्ती से चाट रही थीं और मेरे आंड भी चूस कर मजा दे रही थीं. इतना तो भरोसा करूं तुम पर?मुझे कुछ भी नहीं दिख रहा था सिवाय भाभी की योनि मार्ग के.

वाह पूजा छिनाल … मां को पीछे छोड़ना है तुझे!”मैं गप गप उनका लंड चूसने लगी. मैं मन ही मन में सोच रहा था कि अगर उन चारों के लंड मुझे मिल जाएं तो मजा आ जाए. मेरा फिगर अब 36-30-38 का हो गया है, जिसमें मेरे ससुर की काफी मेहनत है.

उसने मेरी पैंटी के ऊपर से ही मेरी चुत पर हाथ रखा और मसलते हुए घुमाने लगा. जिसे देखकर जसवंत से भी रहा ना गया और उसने हाथ पीछे ले जाकर आपा के चूतड़ों पर थप्पड़ मारने शुरू कर दिए और आगे से वह आपा को किस किया जा रहा था.

मैंने कहा- जी आपा … कहिये?तो वो बोली- देखो हम दोनों अभी जवान हैं लेकिन तुमने अपनी जरूरत पूरी करने के लिए गलत रास्ता अपनाया था. मैं भी उसके सर को अपने लंड पर दबाव दे रहा था ताकि वह मेरे लंड को पूरी तरह अपने मुंह में ले ले. मालिक ने मुझे कंपनी के ग्राहकों के साथ व्यापारिक कांट्रॅक्ट के कागज पत्रों के बारे में समझाया.

उस जसवंत ने आपा को अपनी बांहों में भर लिया और किस करना शुरू कर दिया.

करीब पांच मिनट तक मैं बुरचट्टे की तरह उस खट्टे रस का रसपान करता रहा. चूंकि हम लोग पानी के अन्दर जाकर नीचे नीचे तैरते थे और जिधर भी लड़की दिखती थी, उधर ही जाकर मजे लेने लगते थे. जैसे ही वो मेरे पास आई तो मैंने उससे कहा- आपने कल अपना नाम तो बताया ही नहीं था.

वैसे भाभी रात के लिए अभी से आपको गुडलक बोल देता हूँ और आपके कमरे की सजावट भी मुझे ही करवानी है. मैंने हैरानी जताई और पूछा- ऐसा क्यों?भाभी बोलीं कि मेरे पति का लंड है ही नहीं … वो एक लुल्ली है और साला बहुत पतला है.

मैं उनको टीचर टीचर करके बोल रहा था तो उन्होंने मुझे टोक दिया- अब तुम बड़े हो गए हो … मुझे मेरे नाम से बुलाओ. मैं आप लोगों के प्यार का इंतजार करूंगा और बहुत जल्द प्रिया और उसकी बहन की चुदाई की कहानी लेकर आऊंगा. वो भी मेरी चूचियों रगड़ने का मजा लेता रहा और मैं भी अपने दूध रगड़वाती रही.

मद्रास का सेक्सी बीएफ

उसने मुझे एक बात और भी बताई कि मौसी मौसा को अपनी चुदाई में तीसरा पर्सन भी चाहिए.

मैं जैसे जैसे उससे चोदता गया, वैसे वैसे वो सेक्स में खोने लगी और अपनी आवाज़ को तेज़ करती गयी. मैं उसकी चूचियों को कपड़े के ऊपर से दबाने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी. अगले कुछ ही पलों में उसने मुझे भी पूरा नंगा कर दिया और फिर से मुझे चूमने लगा.

मेरी गरम साँसों से आँटी तड़प जा रही थी।फिर मैंने उनकी टांगों और जाँघों को चाटना चूसना शुरू किया. फिर जैसे ही मम्मी पीछे मुड़ीं तो उनका कुर्ता चुचियों के पास गीला सा था, जिसका कारण मुझे पता था. बीएफ सेक्सी फिल्म चूतमैंने पूछा- हथियार मतलब? क्या तुम हथियार रखते हो?अब तक मुझे सेक्स समझ आने लगा था और मेरा मन भी अपने भाई के लंड से चुदवाने का होने लगा था.

ये सुनकर अय्यर को जेठालाल पर गुस्सा आ गया और वह जेठालाल से बोला- तुम्हारा क्या मतलब है कि आजकल हर चीज भूल जाता हूं?जेठालाल बोला- कितनी बार तो मैंने देखा है कि अय्यर तू कुछ भूल गया और बबीता ने ही तुझे याद दिलाया है. कुछ देर बाद मैंने हाथ नीचे करते हुए उसके पेटीकोट के नाड़े को खोल दिया और अपने हाथों और पैरों की मदद से उसको क्षिति की टांगों से अलग कर दिया.

उसके बाद मैं जब भी उससे व्हाट्सैप पर बात करता तो मैं किस की डिमाण्ड कर देता और वो हंस कर जीभ चिढ़ाने वाली इमोजी भेज देती. जैसे ही आपा ने मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत पर लगाया, मैंने जीभ निकाल कर उनकी चूत को चाट लिया. अय्यर मन ही मन मुस्कुरा रहा था कि आज जेठालाल के 12 बजेंगे और बबीता की शामत आएगी.

मैंने उसके गालों पर हाथ फेरा, तो वो मेरे जिस्म से चिपक गई और अपने मम्मों को मेरे सीने से रगड़ने लगी. खालिद ने कहा- भाई इस रंडी को तो देख … मादरचोद लंड ही नहीं छोड़ रहा है. वो अभी फोन देख ही रही थी कि मैं बाहर से अपना हेडफोन लेकर अन्दर आ गया.

फिर कुछ देर बाद मौसी घोड़ी बन गईं और मौसा जी के लंड को मुँह में लेने लगीं.

तीन बार की चुत चुदाई और एक बार की गांड चुदाई में ही उसे मेरा लंड पसंद आ गया था और वो मेरी पर्सनल रंडी बन गई थी. उसने तो कई और फ्रेंड के साथ किटी पार्टी में भी मुझे बुलाया और उसके साथ उसके कई फ्रेंड को भी मैंने अपने लंड का स्वाद चखाया; उन्हें भी खूब चोदा.

झुकी हुयी होने से मेरे बड़े-बड़े गुलाबी चूतड़ों के बीच में से लम्बा मोटा लंड और बड़े-बड़े आंड प्रकाश को दिख रहे थे, जिससे मैं उसे चोदने वाली थी. और अम्मी के झड़ने के बाद वो अपने तरीके से 20-25 झटके मार कर अम्मी के भोसड़े में अपना सारा वीर्य छोड़ देते थे. फिर उसने किसी रिंकी को आवाज देकर बुलाया और चाय पानी देने के लिए बोला.

मैं अपने रूम के बाथरूम में होने की वजह से दरवाजा को बंद करने के बजाए सिर्फ़ भिड़ा कर नहाने लगी. आज की रात बहुत लंबी होने वाली थी ये मैं जानता था, फिर भी मुठ नहीं मारी. तो पंकज ने मुझे इशारा किया और जसवंत भैया से बोला- ठीक है भैया, सलीम 3 महीने में रूपए दे देगा.

बिहार का बीएफ दिखाओ उसने मेरे दोनों मम्मों को खींच खींच कर चूसा और मेरे मम्मों को पूरा लाल कर दिया. जल्द ही मॉम की चुचियां टाईट हो गईं मैंने उनके एक निप्पल को दांतों से काट दिया, तो वे सिसक गईं- उई रे … काट मत साले, लगती है.

जयपुर की बीएफ फिल्म

जब खाना परोसते समय मामी के मम्मे मेरे मुँह से कुछ ही इंच की दूरी पर थे, तब मैंने सोचा खाना गया तेल लेने मैं तो इन्हीं पर टूट पड़ता हूं. तुम दे सकते हो या नहीं, यह बताओ?विशाल ने कुछ सोचते हुए कहा- मैं कल दोपहर तक इंतजाम करता हूं. मैंने नसरीन आपा से पूछा- अब आप बताइए कि मैं क्या करूं? अगर मैंने जसवंत भैया को कल तक रुपए नहीं दिए तो वे वीडियो मम्मी को दिखा देंगे.

यह बहन की गांड की चुदाई कहानी सबसे बड़ी लड़की की है, जिसका नाम गगन है. उस वक्त मुझे महसूस हुआ कि मॉम की साड़ी ऊपर उठ गई थी और ऐसा टेबल पर रखे पंखे की हवा की वजह से हुआ था. हीरोइन की सेक्सी बीएफ हिंदीतब भी मुझे अपने लंड पर भरोसा था कि एक न एक दिन कीर्ति मेरेलंड पर सवारीकर ही लेगी.

मामा के घर में मेरी इस आदत के बारे में सभी को पता था तो मुझे कोई उठाता नहीं था.

नसरीन आपा ने मुझे उठाया और मेरे गले लगकर रोते हुए बोली- अब जो भी हुआ, उसे भूल जाओ. मेरे दिल की धड़कनें बहुत तेज तेज चल रही थीं और दिमाग में एक ही ख्याल चल रहा था कि मैं मेम को अगर एक किस भी कर लूं तो जीवन सफल हो जाए.

करीब 15 मिनट किस करने के बाद मेम ने मुझे बेड में लेटने बोला और नीचे होकर मेरे लंड को तुरंत अपने मुँह में ले लिया. मैंने चीखने के लिए मुँह खोला तो संतोष ने अपना लंड और अन्दर घुसेड़ दिया. एक बार तो मैंने उसका हाथ हटा दिया पर वो दुबारा वहीं अपना हाथ लेकर आ गया और मेरी चूत को सहलाने लगा.

मैंने उससे फिर से अपने ऊपर आने को कहा और अपना लंड उसकी चूत से निकाल कर नीचे लेट गया.

क्रीम के कारण मेरी गांड में चिकनाहट आ गई थी तो मुझे उसकी उंगली से मजा आने लगा. फिर मैंने उस लड़की को पीछे से आवाज लगाई- एक्सक्यूज मी!वो एकदम से रुक गई और बोली- हां जी कहिए!मैंने उसकी हाथ बढ़ा कर कहा- हाय मैं विकास. मैंने अंकित को लंड पर एक लगाने के लिए एक जैल दिया ताकि वो सब्र कर सके और वो तुरन्त ही झड़े नहीं.

लड़कों लड़कों का सेक्सी बीएफमेरी मौसी बेड में नंगी कुतिया बनी हुई थीं और मौसा जी मौसी की गांड मार रहे थे. अब मैंने उससे अपने बारे में बताया और वो मुझसे बात करती हुई वहीं एक आम के पेड़ के पास खड़ी हो गयी.

बीएफ सेक्सी दिखाना बीएफ

उसने मेरा लंड थोड़ा चूसा लेकिन उसको थोड़ा नमकीन लगा तो उसने लंड मुँह से हटा दिया और उठ कर बैठ गयी. अम्मी बोलीं- ठीक है … तुम गालियां दे देकर ही मेरी गांड मार लेना, लेकिन मुझे अम्मी की गाली मत देना. जैसे ही वो थोड़ी शांत हुई, मैंने हल्का सा प्रेशर डाला और लंड आधा अन्दर चला गया.

मैंने उसके लंड पर कंडोम चढ़ाया तो उसने बहुत फुर्ती से मेरी चूत में लंड डालकर चुदाई शुरू कर दी।मेरी चूत सारी रात चुदाई के बाद सुन्न सी हो गयी थी. मैंने अपने लंड को बाहर निकाल कर मैंने उसके मुँह दे दिया और अपना सारा माल झाड़ दिया. मेरी बीवी पूनम ने मुझे फ़ोन किया और कहा- आप यहां चले आइए, हम लोग यहां अकेले हैं.

मैं- जानू, बच्चों का ही ख्याल रखोगी या मेरा भी?बुआ का भी रिप्लाई आ गया- नहीं, तू सो जा … रोज तो अकेला सोता है. मुझे नहाने जाना था तो मैं उधर गया, तब तक वो भी अपनी बाल्टी लेकर आ गई. क्या अप्सरा सी लग रही थी वो … मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था कि राजश्री इतनी सुन्दर है.

नसरीन आपा ने उससे पूछा- क्या रास्ता है?तो जसवंत ने कहा- जैसे आँख के बदले आँख!यह सुनते ही नसरीन आपा ने कहा- मैं समझी नहीं?तो वो बोला- इस चूतिये ने चूत चुदाई के लिए रूपए लिए थे. इस तरह करीबन 20 मिनट हमारी चुदाई का कार्यक्रम चला जिसमें मैंने उसे और उसने मुझे पूरी तरह संतुष्ट किया.

फिर भी आप पूछ रही हैं कि शिवानी को पता है या नहीं!तो उसने कहा- ठीक है, आ जाइए.

नसरीन अभी मेरा लंड अपने हाथ में लेकर सहला रही थी और मुझे किस किये जा रही थी. हिंदी सेक्स बीएफ बीएफ बीएफमैं निचुड़ सी गई थी पर लंड मेरी चूत में रुकने का नाम नहीं ले रहा था. हाथी और हथनी की बीएफअरे … तुमने क्या सोचा था कि लंड केवल मर्द के पास होता है? … हम लोगों के पास भी लंड है … और मैं पूरी तरह से चुदाई कर सकती हूँ. फिर मैंने उसे डॉगी स्टायल में किया और उसकी चुत में अपना लंड एक ही बार में डाल दिया.

तो दोस्तो यही थी मेरी पहली सेक्स कहानी, जिसमें मैंने अपनी पड़ोसन देसी हॉट सेक्सी गर्ल को चोदा था.

दूसरे दिन जब हमने सीमा भाभी को देखा तो मैं कुछ सोचने लगा क्योंकि मैंने लॉकडाउन से पहले घर जाते वक्त भाभी को देखा था, वो अभी भी ठीक वैसी ही दिख रही थीं. गार्गी मुझसे अपनी सारी बातें बता दिया करती थी और मैं भी ऐसा ही करता था. ससुर जी फिर से बोले- अगर दो दिन में पूरा ब्याज नहीं आया, तो समझ जाना कि तुम बेघर हो गए.

और अगर इस चीज़ के पैसे मिल रहे हैं तो मैंने अपनी जवानी किसी को फ्री में क्यों दूँ? मैं तो उसके पैसे लूंगी. उसे लगा मैं उसकी मां को चोद रहा होऊंगा तो वो मां के कमरे के पास आयी. बबीता को पता था कि जेठालाल उसकी इस चुदाई को किसी से नहीं बता सकेगा क्योंकि वो उससे प्यार करता है.

बीएफ हिंदी में गाने

इसके बाद मेरी हॉट बहन बोली- भाई अब से जब भी तेरा मन हो, मुझको चोद देना और भाई से पूरा बहनचोद बन जाना. शायद इतने से ही दीपिका की चुत में आग लगनी शुरू हो गई थी तो अचानक से दीपिका ने मेरा लंड पैंट के ऊपर से ही पकड़ लिया. मैंने अपने हाथों को उसके चूतड़, कमर, पीठ पर मसलना शुरू कर दिया, उसका सिर उठाकर उसके अधरों पर अपने अधरों को रख दिया.

फिर वो भी मुस्कुरा उठे और अम्मी की चूत और गांड सहलाते हुए चुम्बन लेने लगे.

वो मेरी तरफ देख कर मुस्कुराई और एक हाथ मेरी पीठ पर रखते हुए मेरी छाती पर अपने होंठों से चूमने लगी.

मैं मन में ये सोच रहा था कि मैंने देखा आपा ने भी मुझे इशारा करके वही बैठने को कहा जैसे वो चाहती थी कि मैं उनकी चुदाई के वक़्त उनके साथ रहूँ. मैंने सोचा कि चलो अब आगे देखते हैं कि मामी का अगला दांव क्या होता है. बीएफ मस्ती वालावो प्यार से अपनी चूचियों को मेरे सीने से रगड़ती हुई मुझे चुम्मी करती रही और चुदवाती रही.

जब तक मैं कमरे का दरवाजा बंद करके आया, मंजू भाबी ने अपने सारे कपड़े उतार दिए और बिस्तर नीचे जमीन पर लगा रखा था. ‘क्यों बेगम बनोगी न … मेरी जायदाद!’उसने मेरे छाती पर सर रखा और हाथ को पीछे घुमाते हुए लंड पर हाथ फेरते हुए कहा- तुम्हारा ये तैयार हो, तो जरूर. मैं मन ही मन सोच रहा था कि काश मैं भी भाभी के हुस्न का दीदार कर पाता.

ले मेरी रंडी बेटी मेरा लंड अपनी बुर में ले … आज तेरी बुर को फाड़ कर उसमें से खून निकाल दूंगा और तेरी बुर को चुत की जगह सीधे भोसड़ी बना दूंगा. मेरा मन नहीं था मगर मुझे उसका लंड छोड़ना पड़ा!फिर हम दोनों नंगे ही बिस्तर पर लेट गए.

मैंने उसकी कराहों पर ध्यान नहीं दिया और उसकी चुत में शॉट मारने लगा.

धीरे-धीरे मेरी नींद टूटने लगी, इसी बीच प्रिया लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी।मुझे लगा शिवानी है क्योंकि वो भी कभी-कभी ऐसा करती है।मैं भी उसे शिवानी समझकर उसके माथे पर हाथ सहला रहा था।वह भी बड़े प्यार से लंड को चूसे जा रही थी।जब मेरी नींद अच्छे से खुल गयी तो मैंने देखा कि यह तो प्रिया है. मैं- तुम्हारी सुई कोख भरने पर ही क्यों टिक जाती है, कभी जिस्म की जरूरतों को समझा है?इतने में मैंने एक हाथ उसके पटों के बीच फंसा दिया था और उसकी कमर के ऊपर जमा कर उसकी गर्दन को लंबी लम्बी सांसों के साथ महसूस करने लगा था. अब वो लड़का बाकी तीनों की तरफ पीठ करके अपना लंड निकालकर खड़ा हो गया.

बीएफ पिक्चर सेक्सी हॉट ये सुन कर मैं अपना 7 इंच लंबा लंड उसकी चुत पर धीरे-धीरे रगड़ने लगा. मैंने उसका लंड पकड़कर छेद पर रखा और कहा- अब धीरे धीरे डालो!मैं कुंवारी होने का अभिनय कर रही थी.

हिमानी मेरी गर्लफ्रेंड थी, जिसकी नथ मैंने कल ही भैया की शादी में उतारी थी. मैंने नसरीन आपा से पूछा- अब आप बताइए कि मैं क्या करूं? अगर मैंने जसवंत भैया को कल तक रुपए नहीं दिए तो वे वीडियो मम्मी को दिखा देंगे. फिर मैं फरहीन के जिस्म पर चढ़ गया और उसकी चूंचियों को मुँह में लेकर जोर जोर से चूसने काटने लगा.

हिंदी सेक्सी बीएफ इमेज

दोस्तो, आप लोग अपनी अपनी पैंट और पैंटी में हाथ डाल कर तैयार हो जाइए. हालांकि मैं मेरा भाई खेलते समय मेरे दूध दबा देता था मगर आज नींद में ये कैसे हो रहा है. चुदाई के बाद मैं बिस्तर पर निढाल लेट गया और ऋतु मेम मुझे किस करने लगीं.

कुसुम- ओहहह देव, तू तो मेरी जान लेकर रहेगा … आंह आज चोद मुझे … आंह और जोर से चोद … मेरी इस छोटी सी चुत का भोसड़ा बना दे. वो भी अपने पति की फाइल के लिए मजबूर थी इसलिए उसे भी कोई दिक्कत नहीं थी.

सेक्स विद सिस्टर के ख्याल से मैंने अपनी आपा से कहा- हां आपा, अम्मी की चुदाई की वजह से आपकी और मेरी कभी भी शादी नहीं होगी.

भाई बहन का सेक्सी खेल है इस कहानी में! मेरी दीदी चुदाई करवाने को आतुर हो रही थी पर वो बाहर के लड़के से चुदाई नहीं करना चाहती थी. फिर मैंने पूछा- तुम्हारी चूत इतनी चौड़ी किसने की? पापा ने या विशाल ने?इस बार भी मम्मी ने विशाल की ही तारीफ की. प्रियंका, स्वाति और मैंने मिलकर आपस में चुदाई की और अपने लॉकडाउन को सबसे अच्छा बनाया.

उन्होंने दो तीन गानों जिनमें सेगोरी हैं कलाइयां, ला दे मुझे हरी हरी चूड़ियां,छोड़ के आई बाबुल का घरउन पर बहुत ही बढ़िया डांस किया. उधर अमित मेरी बीवी के होंठ चूसने लगा और मेरी बीवी के मम्मों को दबाने लगा. मैंने सोचा कि क्यों न मैं भी अपनी बहन की चूत पर अपना हाथ साफ़ कर लूं.

किस होते ही भाबी भी मूड में आ गई थीं और वो भी मुझसे पूरी तरह से चिपक कर मुझे किस करने लगी थीं.

बिहार का बीएफ दिखाओ: उफ पूजा … जल्दी तुम अपनी मां को पीछे छोड़ दोगी।”काका, मुझे जाने दो न!”हालांकि मुझे मजा आ रहा था पर लाजवश मैं जाने को कह रही थी. मैं- ठीक है आप बता देना, अगर दर्द ज्यादा हुआ तो मैं फिर से रुक जाऊंगा.

शिवानी जाने का नाम ही नहीं ले रहे थी। वैसे भी वह पहले भी आती थी तो 15-20 दिन के बाद ही जाती थी।लेकिन अब उसका एक-एक दिन रुकना मेरे लिए मुश्किल खड़ी कर रहा था क्योंकि उसकी हरकतें बढ़ती जा रही थी. वो इतने बड़े लंड से लड़की की चुदाई कर रहा था और लड़की चिल्ला रही थी. तभी मैंने उनके बड़े बड़े मम्मों को पकड़ लिया और ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा.

मुझे मेरी सहेली के ही घर रुकने को बोला है।अब हमारे पास एक पूरा दिन और एक पूरी रात ओर थी।फिर हमने एक बार ओर सेक्स किया और पूरा दिन आराम करते रहे।शाम को मैं थोड़ी देर बाजार से कुछ खाने का सामान लेने चला गया।बाजार से आने के बाद देखा कि सोनिया लाचा पहने घूम रही थी।क्या गजब की लग रही थी … जी कर रहा था कि अभी पकड़ कर चोद दूँ!लेकिन मैंने थोड़ा इंतज़ार करना ही ठीक समझा.

हम दोनों रूम पर पहुंचने के बाद तुरन्त ही एक दूसरे की आगोश में खो गए और थोड़ी देर की मदहोशी के बाद में हम लोगों ने एक दूसरे के होंठों को किस करना आरम्भ किया. शुरू में जब मैं उससे लंड पीने के लिए कहता तो वो मना कर देती और कहती- आप बहुत गंदे हो … यह भी कोई पीने की चीज़ है. मेरे पति को भी मुझे चोदते समय मुझसे कहते थे- तुम मुझे रोहित बोलो और यह महसूस करो कि तुम्हारी चुत में रोहित का लंड घुसा है.