एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली

छवि स्रोत,पुरानी ब्लू फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ नेकेड पिक्चर: एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली, तो वो बोली- भैया, मुझको शर्म आ रही है।मैंने कहा- शर्म कैसी पागल जब भैया तुझे चोदने के लिए तैयार है और तू भैया से चुदवाने के लिए।उसने शर्म से अपना सर मेरे सीने में छिपा लिया।कहानी जारी रहेगी.

दिल्ली सेक्सी सेक्सी

मैंने उसके हाथ चेहरे से हटा दिए और उसे किस करने लगा और मम्मों को सहलाने लगा. शेयर चैट कॉममैंने कहा- हाँ बेटा, बहुत जोर से वैसे आपकी मम्मी आपके पापा के साथ सोने जा रही है.

नीले रंग के ब्लाउज पर काले रंग की साड़ी में उसका बदन काफी गोरा लग रहा था. सबसे बेहतरीन सेक्सउसने जिस स्पीड में मेरी जीन्स निकाली, मुझे लगा साला सीधा मेरी चूत में अपना लौड़ा ही न डाल दे.

बाबा बोले- तुम्हारा पति भी तो यही चाहता है कि तुम उसकी सन्तान पैदा करो.एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली: मैंने धीरे से उसके सीने पर हाथ रख दिया और उसके रिएक्शन का वेट करने लगा.

राजा- तुम्हारा घर कहां है, मतलब क्या एड्रेस लिखूँ?अनमोल ने बताया और कहा- बुला लो … जिधर से बुला रहे हो, लेकिन भरोसेमंद को ही बुलाना, जो बात न फैलाये.फिर मैं पापा जी से जैसे ही अलग हुई, मेरे बाल मेरे चेहरे पर आ गए थे.

रवीना टंडन सेक्सी फोटो - एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली

इससे पहले मुझे कभी भी भाभी के बारे में उस तरह के ख्याल नहीं आये थे.कुछ देर बाद मैं और तेज हो गया और मैंने उसके अन्दर ही अपना पूरा रस छोड़ दिया.

32-28-34 के फीगर के साथ सबके लंड गीले करवा देती थी।मैं भी बस उसको चोदने के बारे में ही सोचता रहता था. एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली थोड़ी देर बाद पापाजी अपने रूम के बाहर आये और मेरे पास सोफे पर बैठ गए.

कुछ ही पलों में उसने खुद ब खुद अपनी टांगें हवा में उठा दीं और मेरे सर पर अपना हाथ रख कर अपनी चुत पर दबाने लगी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली?

चाची ने भी जल्द ही अपनी टांगें खुद ब खुद फैला दीं और अब उनकी गांड उठने लगी थी. उसकी गोरी गोरी जांघों के बीच में उसकी चूत को छिपाये हुए उसकी पैंटी गजब लग रही थी. बड़ी बोली- क्या करती एक माह से ऊपर हो गया था … कंट्रोल ही नहीं हो रहा था.

इस बीच सुमन से अच्छी बातें हो गयी और अब हमारे बीच कुछ भी शर्म लिहाज वाला भाव नहीं रहा. वो बोली- मेरा प्रयास रहेगा कि आधे घंटे में मैं इसे फिर से चोदने लायक खड़ा कर दूंगी. लौड़े को चूत पर रख कर मैंने जोर से एक धक्का दिया तो फिसल कर आधा लंड भाभी की चूत में उतर गया.

फिर उसके साथ ही उसके पति की 2 बहनों मुस्कान और सुमन की चूत को भी चोदा. इसी तरीके के कार्यक्रम में करीब 5 मिनट बीत गए और माँ अब पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी. वो ज़ोर ज़ोर से चीखने लगी- आंह … यस्स … सो बिग … अहह उह … और तेज करो … मुझे और चोदो … आह ज़ोर ज़ोर से चोदो … मेरी चुत को आज फाड़ दो … मुझे इसी तरह का लंड चाहिए था.

मैंने आगे कहा कि जब से मैंने आपको उसके साथ नग्न अवस्था में देखा, तब से मैं भी आपको चोदना चाहता हूँ. मैंने उसकी सलवार के नाड़े को खोल कर उसकी गांड से उसकी सलवार को नीचे कर दिया.

भाभी ने मेरी गर्लफ्रेंड की फोटो देखी तो उन्होंने मुझे गर्लफ्रेंड की चुदाई के बहाने खुद की चुदाई के लिए उकसाना शुरू कर दिया.

मेरी उम्र 25 साल है और मैं पिछले पांच वर्षों से इस वेबसाइट का नियमित पाठक हूँ.

मैं उसकी गर्दन पकड़ कर लटकी हुई थी और उसने मुझे मेरी दोनों जांघों से पकड़ा हुआ था. मैंने उसको बिस्तर पर चित लिटा दिया और उसकी रसीली चूत पर अपने होंठ धर दिए. नजरों के वार से वो खुद को बचा नहीं पा रही थी और उसका चेहरा लाल होने लगा था.

विस्तार से समझाते हुए नर्स ने बताया कि सैंपल लेने के बाद स्पर्म की क्वालिटी देखेंगे. वो मेरे मम्मों को बारी बारी से चूसने लगा और निप्पलों को भी चूसने लगा. मैंने कहा- कुछ हो गया तो?उसने कहा- मैं दवाई खा लूंगी, पर बिना कंडोम के ही चोदो.

अगर आपको मेरी यहसेक्स की कहानीपसंद आई हो तो मुझे अपनी राय जरूर बतायें.

उसने मेरे लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही चूम लिया और अगले ही पल उस पर एक बाइट दे दी. रानी ने उसको देखा तो वो उससे कहने लगी- अच्छा हुआ ब्रून कि तुम मिल गए. मैंने उससे ये जानने की कोशिश नहीं की कि उसको मेरे बारे में किधर से मालूम हुआ है.

तो उन्होंने बताया कि पीहू के पापा किसी काम से रिश्तेदार के यह गए है कल आएंगे। पीहू गांव में मन्दिर पर दिए जलाने गयी है, कुछ देर बाद आएगी।तब मैंने उनके साथ मिलकर पूरे घर में दीये जलाये।दिए जलाने के बाद उसकी माँ और मैं छत पर खड़े होकर बात कर रहे थे तभी वहाँ पीहू आ गयी।उसने मुझसे कहा- भैया, आप कब आये?मैं तो बस उसे देखता रह गया. इससे पहले मैं उन्हें कुछ कहता, वो मेरे मुँह में अपने लंड से ज़ोर ज़ोर से झटके देने लगे. उसके बाद सभी ने केक काटा, केक भी बहन की चुच्ची पर लगा लगा कर खूब चूसा.

मैं उठ कर पेशाब करने गया और आकर लेट गया … लेकिन बुआ के चूचों के मखमली अहसास से नींद मेरी आंखों से दूर भाग गई थी.

उसने मेरा लंड अपने मुँह में भर लिया था और वो बड़े स्वाद लेकर मेरे लंड को चूसने लगी थी. वैसे तो कोई भी आनेवाला नहीं था लेकिन फिर भी मैंने एहतियातन डाल लिया.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली मैं उसे अपनी गोद में उठा कर बाथरूम में ले गया और उसकी चुत की सफाई की. उसे खाने के दो तरीके हो सकते हैं, चाहे एक बार में पूरा रसगुल्ला चट कर जाओ या काट काट कर टुकड़ों में खाओ.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली मैंने पापाजी का हाथ पकड़ लिया- सच कहूँ पापाजी जी, आपसे तो कोई भी लड़की प्यार करने लगे; और मैंने भी अपनी खुशी से अपने जिस्म को आपको दिया है. मैंने उनकी टीशर्ट उतारी और उनके दोनों बूब्स चूसने लगा और जोर जोर से मसलने लगा.

अरे संभल कर!” अंकल ने कप को अपने हाथों में पकड़ा और टेबल पर रख दिया.

देसी बीएफ पिक्चर ब्लू

धीरे धीरे मेरे कदम आगे बढ़ रहे थे मगर आंखें वहीं उस लड़की पर टिकी थीं. मां बोली- हां … मैं तो जैसे कोई रण्डी हूं? मुझ पर ही सारी चीज ट्राय ही करोगे?सोनू बोला- हां हां … तुम मेरी रण्डी चाची हो. उसके बाद उनका एक बेटा अनुज है और सबसे आखिर में एक और छोटी बेटी सोना है.

कहानियों में हुई घटनाओं को मैंने अपने जीवन की सेक्स क्रियाओं में भी लागू किया है. भैया की शादी के कारण मैं कुछ दिनों से कुछ ज्यादा ही ताई जी के घर आने जाने लगा था. हम एक दूसरे को पागलों की तरह ऐसे चूम रहे थे, जैसे बरसों बाद मिले हों.

उस चुदाई की वीडियो में मुझे लंड चूसने वाला सीन ज्यादा अच्छा लगता है.

इससे मामी एकदम से चिहुंक गईं और आगे की तरफ खिसकते हुए बोलीं- उई … चोदना है तो चूत चोदो … गांड नहीं मिलेगी. मेरे लम्बे और मोटे लंड को देखकर वो धीरे से मेरे कान में बोली- आर्य, ये मेरा पहली बार है. मैंने उन दोनों बहनों की चुदाई कैसे की?हाय मित्रो, मैं जिग्नेश सिंह हूँ.

शालिनी उसकी काफी अच्छी सहेली थी और वे दोनों साथ में वापस जाने वाली थीं. तो आज ही सही … बस आप पेलते रहो!20 मिनट चुदाई के बाद मेरी बीवी का पानी छूट गया और मेरा भी होने वाला था तो मैं बीवी की गांड में ही झड़ गया. पापा मेरी स्कर्ट ऊपर करके कच्छी के ऊपर से ही मेरी चूत सहलाने लग गए.

मैंने उसकी योनि के छिद्र में जीभ अंदर तक घुसा दी और जीभ को उसकी चूत में दबा दिया. ये हाथ रानी ने किसी भी कारण से लगाया हो, मगर उसको पता चल गया था कि ब्रून का लंड मुझसे काफी बड़ा है.

किस तो मिला नहीं लेकिन मामी ने मामा को वो बता दी और मुझे बहुत डांट पड़ी. फिर मैं बाहर गयी और पापा जी को बता दिया कि पति पार्टी में नहीं चलेंगे. उनको देख कर ही मेरा लौड़ा खड़ा हो गया। मैं उनको चोदना चाहता था, पर उस दिन नहीं चोद सका.

मैं उसकी चुत की भगन यानि क्लिट को घिसने लगा, तो उसके बदन में सिहरन सी दौड़ गयी और वो उम्म्ह… अहह… हय… याह… करके आवाज़ देने लगी.

उसने मेरे होंठों से उंगली हटा दी और दोबारा से मेरे सीने पर सिर रख लिया. पहले मेरी जान सोनल ने अपने नाजुक होंठों को मेरे टोपे पर लगाए … आह … मैं तो जैसे जन्नत में पहुंच गया था. अन्दर कमरे में वे दोनों स्वतंत्रता पूर्वक यौन क्रिया का आनंद लेने लगे.

तभी वो बाहर आये और बोले- सॉरी, वो मैं दरवाज़ा बन्द करना भूल गया था।मैन कहा- कोई बात नहीं।फिर हम बैठ के खाना खाने लगे. दर्द से मेरी चीख निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’शुभम ने मेरे मुँह पर हाथ रहा औऱ कहा- मरवाओगी क्या? इतनी जोर से चीख रही हो.

पापा मेरी गांड सहलाते हुए कहने लगे- मेरी रंजू बिटिया की गोरी गोरी जांघें कितनी चिकनी हैं … गोल गोल नुकीले चुचे. फिर मेरा मन लंड चूसने का करने लगा तो मैंने उस मरियल से लंड को मुंह में ले लिया और चूसने लगी. इसलिए जब भी किसी गड्डे में बाइक के आने से झटका लगता तो वो खुद ही एकदम मेरी पीठ से चिपक कर अपनी चूचियों को रगड़वाने का मजा लेने लगी थी.

company बीएफ

कसम से मैं उस समय भूल ही गया था कि सोनल मेरे बड़े पापा की लड़की है और मेरी चचेरी बहन है.

मैंने उनके पैरों के पास जाकर अपनी जीभ को चुत के आस पास फिराना शुरू कर दिया. फिर मैंने एक हाथ थोड़ा सरकाते हुए उसकी चूत की तरफ किया, तो वो इतनी गरम हो चुकी थी मानो उसको बुखार हो. ऐसे ही एक दिन मैं जब वहां पर पहुंचा तो रिसेप्शन पर एक लड़का बैठा हुआ था.

अगर मैं चाहता, तो सीधा लंड डाल कर उसे चोद देता, पर उसमें मुझे मजा आता, उसे नहीं आता. घर आकर मैं फ्रेश हुआ और सोनल से बोला- सबके सोने के बाद ऊपर छत पर आ जाना. गांव छोटे घर का डिजाइन फोटोमेरा लंड उसकी चुत पर ही था और उसमें से ऐसी गर्मी निकल रही थी, जैसे आग लगी हो.

उसके रसीले होंठों पर आई उसकी मुस्कान में, एक बिंदास बाला की चहक थी. अपनी दो उंगलियों के बीच में उसके निप्पलों को दबा दबा कर मैंने लाल कर दिया था.

उससे पहले आप लोगों से निवेदन है कि अपने सुझाव मुझे जरूर मेल करियेगा. पानी पीते पीते मैंने पापाजी जी से कहा- मुझमें कोई कमी है क्या पापाजी?ऐसा क्यों पूछ रही हो बहू? तुम में तो कोई कमी नहीं … सुन्दर हो, पढ़ी लिखी हो!”मैं फिर रोने लगी. मैंने उन्हें चोदना चाहता था लेकिन नहीं चोद पाया तो यह काल्पनिक कहानी मैंने लिखी ताकि मेरी बुआ के प्रति मेरी वासना कुछ तृप्त हो सके.

वो भी मेरे लंड को सहलाते हुए कह रही थी- जान, ये इतना गर्म क्यों हो रहा है?मैंने बोला- यह तुम्हारी भट्टी में ही जाकर ठंडा होगा. उनका मूसल लंड मेरी चुत की दीवार को धकेलते हुए मेरे चुत के अन्दर घुसने लगा. कोई 15 मिनट की घमासान चुदाई के बाद हम दोनों मामी भांजे एक साथ झड़ गए.

थोड़़ी देर में कृति भी मेरे होंठ चूसने लगी तो मैं समझ गया कि लोहा गर्म हो गया है.

फिर उसने पैग तैयार किये और हम दोनों साथ में बैठ कर सिप करते हुए पीने लगे. शौहर की बात सुनकर मैं भी निराश हो गयी कि जब उनको ही हमारी लाइव चुदाई नहीं दिखाई देगी तो फिर क्या फायदा होगा.

राजश्री ने अपने कपड़े ठीक किये और फिर वॉचमैन ने अपनी पैंट को ऊपर कर लिया. फिर एक दिन मैं कृष्णा की चूत चोद रहा था कि मुझे विजय के बाप यानि कि तुम्हारे मौसा ने देख लिया. पापाजी बोले- किस बात पर हुआ झगड़ा बहू?मैं बोली- पापाजी, अभिजीत पीकर आये हैं.

https://thumb-v5.xhcdn.com/a/qXR8jl9iAclXb-_s_SLcvQ/022/477/755/526x298.t.webm. कभी कुल्फी तो कभी टॉफी की तरह स्वाद लेते हुए उस प्यारे लंड का मजा ले रही थी मेरी बीवी. मेरी इस चुदाई की कहानी के पहले भागछोटी और बड़ी की चुदाई का राज-1में अब तक आपने पढ़ा कि ट्रेन में दो गर्म औरतें मिली थीं, जिनको मैंने पूर्व में चोदा था.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली मैं भी अब मोअन कर रही थी और ‘जोर से पापाजी … तेज तेज धक्के मारो पापाजी!’मेरी बातों से और ज्यादा तेज से धक्के लगाने लगे और थोड़ी देर में मेरी चूत ने ढेर सारा पानी निकाल दिया. किसिंग वाला सीन देख कर भाभी बोली- कैसी मूवी लेकर आये हो?रवि बोला- भाभी, ये तो अब आम बात है.

भाभी की चुदाई हिंदी बीएफ सेक्सी

फिर मैंने अपने लंड के टोपे को उसकी चूत के मुंह पर लगा दिया और जोर देने लगा. मैं- वो मेरी मम्मी हैं … तेरी नहीं और जब मां हो ही इतनी हॉट, तो बेटों का तो मन करेगा ही उनको छूने का और चोदने का. अजय अंकल बोले- अगर किसी और औरत से भी मेरे बारे में पूछोगी तो वह भी बता देगी।माँ बोली- कितनों को बर्बाद किया है आपने?उन्होंने बोला- तुम्हें नहीं चोदा था अब तक, और नया कपल जो आया है उनको नहीं चोदा।तो मम्मी ने हंस के उनसे कहा- अरे वे तो नए आए हैं, उनको तो छोड़ दो।अंकल ने कहा- हम किसी को छोड़ने के लिए नहीं करते हैं बल्कि सब पर अपना अधिकार जमाते हैं.

हम दोनों एक दूसरे को ब्वॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड के नजरिये से देखने लगे थे. रानी के साथ शाम को मैं घूमने निकला, तो बियर लेने के लिए मैंने रानी को भेज दिया था. रखैल की चुदाईएक मोटा गर्म लंड मेरी गांड से भिड़ गया। लंड के आकार से ही मैं समझ गई कि ये तो ननदोई जी हैं।ननदोई जी ने मेरे कान के पास अपना मुँह किया और बोले- देखो दुल्हनिया … हम अभी नहीं सोये नहीं थे.

मैंने उसको अच्छी तरह से समझा दिया कि आज की रात का हमें अधिक से अधिक सदुपयोग करना है.

मैंने उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और उसने मेरा साथ देना शुरू कर दिया. जब पापाजी का पानी निकलने को होता तो वो चुदाई रोक देते और फिर से थोड़ी देर में चुदाई शुरू कर देते.

इसके बाद पीहू शरीर अकड़ने लगा और उसकी बुर ने पानी छोड़ दिया।स्खलित होने के बाद पीहू काफी रिलैक्स दिख रही थी।पीहू से मैंने कहा- अब तुम्हारी बारी है. पर उसे बहुत दर्द हो रहा था, वो वापस उठ गयी और बोली- मेरी जान सौरभ … मुझे बहुत दर्द हो रहा है. साराह की चुत की गहराई में मेरा लंड समाया हुआ था और निरंतर ठापों से उसका पूरा बदन हिलने लगा था.

कुछ कहानियां तो लंड को ऐसा कड़क कर देती हैं कि मुठ मारे ही शांति मिलती है.

जब मैंने कहा कि मैं मनोज से रिश्तेदार के बारे में पूछूंगा तो वह घबरा गई. मैं अपने ननिहाल में ही था, घर में कोई नहीं था, मैं और मामी बात कर रहे थे. मां बोली- कैसी लगी मेरी बेटी शालू तुम्हें?टोनी बोला- क्या बकवास है मम्मी!मेरी मां ने कहा- तो क्या तू मेरी बेटी शालू को पूजा करने के लिए अपने साथ लेकर गया है? मैं तो सोच रही थी कि तूने अब तक मेरी बेटी की चूत का भोसड़ा बना दिया होगा.

सेक्स के बारे मेचलते वक़्त उन दोनों की चुचियां और गांड तो ऐसे हिलते थे कि किसी का लंड भी खड़ा हो जाए. वह बोली- यार, तुम्हारा लन्ड तो बड़ा है कि साथ ही तुम जिस तरह से फोरप्ले करते हो, अगर ऐसा सभी करने लग जाए तो क्या कहने!उसने मुझे इतना प्यार किया कि बता नहीं सकता.

हैदराबाद सेक्सी बीएफ

वो सामने खड़े होकर मुझे डिप्स लगाते हुए देखने लगी और गिनती गिनने लगी. इसके बाद मैंने उनकी चूत में अपने मुँह को लगा दिया और मेरा औजार उनके मुँह में चला गया था. वो सिर्फ़ अपने कूल्हे हिला हिला कर मेरे लंड पर किसी मस्त घोड़े की सवारी करते हुए मजा ले रही थी.

मेरी मस्ती देख करभैया का लंडबड़ी स्पीड से मेरी गांड में कत्थक करने लगा. चार दिन मैं अपने पूरे नोट्स कम्पलीट कर लेती, इसलिए मैं नोट्स ढूंढने घर के अन्दर चली गई. मैंने तुरन्त उसका हाथ हटाते हुए कहा- अभी सिर्फ किस … बाकी कुछ नहीं.

जब उसको बाथरूम के अंदर से चिल्लाते हुए सुना तो मेरी गांड फट गयी और मैं भाग कर वापस अपनी छत पर चला गया. तू अपनी चाची की चुदाई कर … अहह … ज़ोर से अहह!माँ अपनी एक हाथ से अपने बूब्स को दबा रही थी और एक हाथ से चूत को मसल रही थी. कभी उसको उंगलियों में भींच रही थी तो कभी उसकी मुट्ठी बना कर दबा देती थी.

बीस मिनट बाद हम दोनों फिर से गरम हो गए थे और अब चुदाई का खेल शुरू हो गया. मैं आपको बता दूं कि मुझे सेक्स करने के लिए 20-22 के लड़के ज्यादा पसंद आते हैं.

उमेश बोला कि अगर आपको कोई दिक्कत ना हो, तो आप मेरे साथ चल सकती हैं … मैं भी बाइक से अकेले ही जाऊंगा.

आहा हा हा … क्या रसीले होंठ थे उसके!कभी मैं उसके मुंह में अपनी जीभ देता तो कभी वो मेरे!20 मिनट के इस लंबे चुम्बन के बाद हम अलग हुए और एक दूसरे की तरफ देखकर बस हंस पड़े।मैंने मौक़े का फायदा उठाया और उसको फिर से ‘आई लव यू’ बोल दिया और उसका जवाब ‘आई लव यू टू’ सुनकर मैं खुशी से झूम उठा और उसके होंठ फिर से चूसने लगा. ब्लू पिक्चर सेक्स ओपन वीडियोजब मेरी गांड में चिकनाहट सही हो गयी तो उन्होंने अपना लंड मेरी गांड में घुसा दिया. सेक्सी वीडियो सील तोड़नामैं भी उसकी उछलती चूचियां देख कर तेजी से लंड को अंदर बाहर कर रहा था. एक बार ऐसे ही मजे ले रहा था और मेरा हाथ उनके मम्मों पर टिका था और अपना काम कर रहा था.

मैंने कहा- कुछ हो गया तो?उसने कहा- मैं दवाई खा लूंगी, पर बिना कंडोम के ही चोदो.

वहां पर स्थानीय कपल से मिलना और अदला-बदली वाले सेक्स का आनंद ले पाना बहुत कठिन था. उसके बाद चाची को वहीं घास के ढेर पर लेटाया और उनके चूचे मैं जोर जोर से चूसने लगा. मैं चुत देखता रहा … अनाड़ी आदमी जो था … क्योंकि ये मेरापहला सेक्स अनुभवथा.

वो चिल्ला चिल्ला कर कराह रही थी- आह आह … मोर एंड मोर … फक मी फ़ास्ट. जब भी चाची एक दो दिन के लिए हमारे पास आती है तो हम लोग जरूर एक दूसरे के साथ वक्त बिताते हैं और चुदाई का मौका मिलता है तो वो भी करते हैं. उसके होंठ खुल गये थे और वो हर धक्के के साथ आह्ह इस्स … करती हुई अपनी चूत को चुदवा रही थी.

बीएफ रेप वीडियो

अबकी बार मैंने एक पल चूत की फांकों को चाटा और उनकी चूत में अपनी एक उंगली घुसा दी. मैंने हिम्मत करके चुत सहलाना चालू रखा, तो धीरे धीरे उसकी चूत गीली होने लगी. मैंने जान के अपनी टांगें थोड़ी फैला दी और टेबल के नीचे घुस के मोबाइल खोजने लगी.

बल्कि पहले तो वही शुरूआत करती थी लेकिन आज वो मेरी ओर देख भी नहीं रही थी.

ये देख उसकी छोटी बहन ने भी अपनी चूत मेरे मुँह पर रख दिया, जिसे मैं चाटने लगा.

मेरी मॉम ने मुझसे इतना खुलापन शायद इसीलिए रखा था ताकि हमारी दौलत का कोई नाजायज फायदा न उठाए और हमे ब्लैकमेल आदि न करे. मगर अब एक बात ध्यान से सुन लो कि जब तक तुम यहां हो, तुम सिर्फ मेरे हो. देवर भाभी की कहानीतभी मैंने महसूस किया कि उनका लन्ड भी तन गया और मेरी जांघों में चुभने लगा।उन्होंने मेरा हाथ छुड़ाया और खड़े हो गए।तभी फिर से बिजली कड़की और मैं उनसे फिर लिपट गयी।उन्होंने मेरा चेहरा पकड़ा और बोला- कोई बात नहीं, डरो मत, मैं हूँ ना!मेरी आँखें बंद थी.

मगर मुझे ये ध्यान नहीं रहा कि मैंने अपने लैपटॉप में अपनी गर्लफ्रेंड की चुदाई की वीडियो भी डाल रखी थी. फिर मैं थोड़ा नीचे होकर उसके पेट पर किस करने लगा और साथ में मम्मों को भी दबाता रहा. उसने कहा- अब बर्दाश्त नहीं होता … जल्दी से डाल दो अपना लंड मेरी चुत के अन्दर.

मैंने उसके होंठों पर हाथ रख लिया और बोला- क्या कर रही हो यार, बच्चे उठ जायेंगे. मैं उसकी जीभ को चूसने लगा।कुछ देर तक उसकी जीभ चूसने के बाद मैंने अपनी जीभ उसके मुंह में डाल दी और वो मेरी जीभ चूसने लगी।करीब दस मिनट तक हम ऐसे ही चुम्माचाटी करते रहे।अब तक पीहू पूरी तरह चुदाई की मस्ती में आ गयी थी.

वो शायद मेरे लंड को देख कर शादी से पहले ही चूत में उंगली भी कर चुकी थी.

वो उठ नहीं पा रही थी, पर फिर भी हिम्मत करके वो नीचे गई … क्योंकि अभी सुबह के 4 बजने वाले थे. हमने जल्दी से खाना खा लिया और भाभी के रूम में मूवी देखने के लिए पहुंच गये. वो बोल रही थीं- आह और तेज चोदो मुझे … और तेज चोद बेटा … पूरा लंड पेल्ल्ल …मॉम लगभग 17-18 मिनट बाद झड़ गईं.

जानवर और लड़की का सेक्सी वो कसमसाने लगी- सर … ये सब … क्या है?मैंने कहा- डरो नहीं, मैं तो तुम्हें कुर्सी का अहसास करवा रहा हूं. कुछ देर रुकने के बाद अब भैया धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर करने लगे थे.

उसके बाद मैं जैसे ही भाभी की चूत की तरफ बढ़ने लगा तो उसने मुझे रोक दिया. यहां पर अगर ये कहूं कि मैं एक नंबर का चूत का आशिक़ हूँ, तो इसमें कोई दो राय नहीं हैं, मैं सच में चूतों का दीवाना हूं. मॉम ने दो बार में ही लंड बाहर निकाल दिया और लंड चुसाई के लिए मना करने लगीं.

देहाती बीएफ बीएफ एचडी

वो बहुत तेज चीखी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ लेकिन घर में किसी के न होने की वजह से उसकी चीख वहीं दब कर रह गयी. फिर उन्होंने हाथ से मेरा लंड पकड़ा और अपनी चुत की फांकों में फंसाते हुए अन्दर ले लिया. चाची मुझे अपने बेटे जैसा ही मानती है और उनके अपने बच्चे की तरह ही मेरा खयाल भी रखती है.

फिर पापाजी बोले- बहू, मेरा बेटा सो गया था क्या? आज उसने तुम्हारी चुदाई नहीं की?मैंने कहा- वो बहुत कम ही चुदाई करते हैं पापाजी. गेट लॉक करते ही उसने मुझे गोद में उठा कर मेरे होंठों को चूमने लगा, मैं भी लगातार उसका पूरा साथ दे रही थी.

तो मैंने कहा- बस कर यार … कोई देख लेगा … अभी के लिए बस इतना काफी है.

मैं उनकी चुदाई के बारे में सोचते हुए जल्दी जल्दी कपड़े पहनने लगा और इत्र आदि लगा कर अच्छे से तैयार हो गया. मैंने अपने होंठों के बीच में दबा कर उसकी चुत के दाने को दबाते हुए चूसा और अपनी जीभ से चुत को अन्दर तक चाटा. लेखक की पिछली कहानी:भांजी को दुल्हन बनाकर चोदामेरी नयी नयी शादी हुई थी.

बस, यही मेरी सेक्स कहानी थी जो मुझे आज भी अमीषा की चुत की याद दिला देती है. फिर भी पूरे मजे के साथ हमने दूसरा राउंड भी पूरा किया।चुदाई के दूसरे राउंड के बाद जब मैंने सुमन की चूत से लण्ड को बाहर निकाला तो देखा कि सुमन की चूत का खूनखराबा होकर बिस्तर पर बह रहा था और चूत पर सूजन भी आ चुकी थी।मैंने उसको सहारा देकर और गोद में उठाकर बाथरूम तक पहुँचाया. पहले तो उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी फिर अचानक अपना हाथ मेरे खड़े लंड पर रख दिया और सहलाने लगी.

फिर क्या था … नशे में तो वो थी ही, धीरे धीरे गरम होने लगी और अपने होंठ मेरी गर्दन पर रगड़ने लगी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चलने वाली: मैं बोली- अब आप यूं ही देखते रहेंगे कि चलेंगे भी?उमेश बोला- वाओ आप कितनी ब्यूटीफुल लग रही हैं. मैंने उसकी टांगों को थाम कर जोर से उसकी चूत में लंड को पेलना चालू रखा.

थोड़ी देर बाद वो मुझसे बड़ी अजीब सी आवाज में बोली- मुझे बड़ी प्यास लगी है. आएशा थोड़ा शरारत भरी मुस्कान से बोली- तो कौन सा ड्रिंक लोगे?मैं उसके मम्मों को देख कर बोला- जो ड्रिंक मुझे चाहिए, वो शायद नहीं मिलेगा. फिर पति ने अपने मोबाइल से मुझे एक वीडियो सेंड की जिसमें वो एक औरत की चुदाई कर रहे थे.

मैंने मॉम की चुत को पैंटी के उपर से खूब सहलाया, फिर जीभ से भी पैंटी के ऊपर आ चुके उनकी चुत के रस को चाटा.

जब उससे रहा न गया तो उसने मेरी शर्ट को खोला और फिर खुद जाकर बेड (जांच कक्ष के स्ट्रेचर) पर लेट गयी. ऊपर से शुभम उन फिल्मों के सेक्स सीन की बड़ी विस्तार से चर्चा करके मेरी आग को और भी ज्यादा भड़का रहा था. मुझे तो पहले से ही चुदाई का चस्का लगा हुआ था इसलिए सबको एक ही नजर से देखा करता था.