बीएफ सेक्सी भोजपुरी में वीडियो

छवि स्रोत,कुरान की सूरते

तस्वीर का शीर्षक ,

राजकुमारी वाला कार्टून: बीएफ सेक्सी भोजपुरी में वीडियो, मैं उसका एक दूध चूसता, तो दूसरा हाथ से मसलता, दूसरा चूसता, तो पहला मसलता.

तभ फुल फॉर्म

5 इंच है।मेरी यह कहानी आज से 4 साल पहले की है जब मैं एक गर्ल्स कॉलेज में नया नया पढ़ाने गया। उस समय मैं 25 साल का था, अब आप सोच ही सकते कि जब एक जवान लड़का गर्ल्स कॉलेज में पढ़ायेगा तो उसकी क्या हालत होती होगी।इस कहानी की नायिका भी मेरे साथ ही उस कॉलेज में पढ़ाती थी। वो भी नयी नयी ही इस कॉलेज में जॉब पर लगी थी. बच्चा कैसे होता हैमैंने जोर लगाया तो भाभी दर्द से चिल्लाने लगीं- आह मादरचोद … बाहर निकाल कमीने भोसड़ी के.

उसी वक़्त उसने मुझे रोक कर मेरी टी-शर्ट खींचकर एक झटके में अलग कर दी और खुद मेरे होंठों छोड़कर मेरे गले पर किस करने लगी. सिस्टर सेक्सी व्हिडिओमैंने बोला- ठीक है, वो सब छोड़ो, अभी तो मुझे आपकी सेवा करने का मन है.

मैं अपना सामान उठा रहा था और तभी उस लड़की ने एक कागज की पर्ची पर अपना नम्बर लिख कर मुझे दे दिया.बीएफ सेक्सी भोजपुरी में वीडियो: इस तरह मेरी सहेली की शादी में मैंने अपनी अन्तर्वासना के वशीभूत होकर कई अलग अलग लंड से अपनी चुत की चुदाई का मजा लिया.

दो मिनट ही हुए थे कि उस लड़की ने बूढ़े के गाल पर जोर से तमाचा मारा और बोली- अब चूसते ही रहोगे या और कुछ भी करोगे?इतना बोल कर लड़की ने बुड्ढे की पैंट की चेन को खोल दिया और उसके लंड को बाहर निकाल लिया.थोड़ी देर बाद उसका दर्द कम होने लगा तो मैं धीरे-धीरे हल्के हल्के झटके लगाने लगा.

fm रेडियो पे चलाए - बीएफ सेक्सी भोजपुरी में वीडियो

थोड़ी देर बाद मैंने अंजलि के मुंह को चूत की तरह चोदा और उसका गला माल से भर दिया।मैंने गोली इस उम्मीद में ली थी कि दोनों बहनों को एक साथ चोद सकूं।मगर यह इच्छा मेरी अधूरी ही रह गयी.अवनीत मेरा लण्ड चूसती जा रही थी और उसके बढ़ते आकार से हैरान होकर बोली- मामू, आपका तो बहुत बड़ा है, रोहित का ऐसा नहीं है, इससे लम्बाई में भी कम है और पतला है.

पांच मिनट चोदने के बाद वह सही हो गई और नीचे से अपनी गांड को उछाल उछाल कर मेरा साथ देने लगी. बीएफ सेक्सी भोजपुरी में वीडियो रिंकी का दाखिला तो हो गया था लेकिन घर वाले रिंकी को अनजान शहर के कॉलेज के हॉस्टल में रखने में परेशान थे.

हॉट भाभी स्टोरी हिन्दी में पढ़ें कि मैंने कार सिखाने के बहाने से भाभी के पास आना शुरू कर दिया.

बीएफ सेक्सी भोजपुरी में वीडियो?

तभी चाची ने मुझे देख लिया लेकिन कुछ बोला नहीं!चाची काम खत्म करके नहाने के लिए चली गयी और जब वो नहाकर आयी तो अलग ही लग रही थी. इस पर उन दोनों ने एक साथ बोला कि इसकी कोई जरूरत नहीं है, हमारी नसबंदी हो चुकी है. फिर क्या हुआ?दोस्तो, मैं आपको अपने जीवन की एक सच्चाई बताना चाहता हूं.

करीब 10 मिनट तक चूचे दबाने के बाद मैंने उनके मुँह में अपना लंड देने का सोचा. मैं भाभी की चूची एक हाथ से दबा रहा था और दूसरी को मुंह में लेकर चूस रहा था. उसकी आह्ह निकली क्योंकि उसकी चूत पहले राउंड की चुदाई से काफी सूज गयी थी.

उसने काले रंग की तंग चोली पहनी हुई थी और लाल रंग की पैंटी पहनी हुई थी. और जब आप आपकी सहेली के साथ बाहर गयी थी तब पापा ने भी पूर्वी की चुदाई की।माँ ने आश्चर्य से कहा- मतलब बेटा, कल रात जब तुम मुझे चोद रहे थे तब तुम्हारे पापा पूर्वी को चोद रहे थे?तभी पूर्वी और पापा भी चौक पड़े कि ये जानकर कि मैंने और माँ ने भी चुदाई की हुई है।अब सबके बीच सबकुछ साफ़ था।काफी देर लण्ड चूसाई के बाद पूर्वी ने कहा- माँ, आप भैया का रस मत पीना. थोड़ी देर बाद मॉम आईं, तो उन्होंने मुझे पीछे होने को कहा और खुद मेरे पैरों के बीच में आकर बैठ गईं.

उसके साथ मैंने और क्या क्या किया वो सब मैं आप लोगों को फिर कभी बताऊंगा. उनकी आवाज में कुछ भारीपन लग रहा था। वो बैकलेस और कट-बाजू के ब्लाउज में चॉकलेटी रंग की साड़ी में चूतड़ फुलाकर खड़ी हुई थी।बालों को उसने अभी भी नहीं संवारा था.

भाभी के बड़े बड़े बूब्स, रंगीन बदन सच में नंगी भाभी बहुत ही मस्त लग रही थीं.

उसी समय जैसे ही मैं पीछे को हटा, तो उन्होंने फिर से मेरे होंठ जकड़ कर होंठ चूसने लगीं और मेरे हाथ अपने मम्मों पर रख दिए.

यहां मैं एक बात बता दूं कि यीशा ने इससे पहले मेरा लंड कभी नहीं चूसा था. अंकल ने अपने लंड को मेरे मुँह में लगा दिया और पहले हाथ से मुठियाने लगे. इससे अच्छा मौका मेरे लिए नहीं हो सकता था तो मैं इतना कहते ही चाची को एक किस करने लग गया.

धीरे धीरे मेरी हिम्मत बढ़ी और मैंने चाची के मम्मों को सहलाना शुरू कर दिया. और मैं जीन्स के ऊपर से ही उसका लंड दबाने और सहलाने लगी।तभी उस कॉलबॉय ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोला- मैडम, आपके साथ मेरी बुकिंग कल रात तक की थी। लेकिन मैंने आपके साथ एक बार अभी अभी बाथरूम में थ्रीसम कर लिया बट अब नहीं ओ के और अगर आपने मेरे साथ और सैक्स करने का का मन है तो आपको और पैसे देने पड़ेंगे. मैंने जल्दी से उसकी पैंटी से अपने लंड को साफ किया और फिर अपने अंडरवियर और शॉर्ट्स को ऊपर करके मैंने अपनी टीशर्ट भी पहन ली.

उसने पूछा- किस बात की माफी?तो मैं बोला- उस दिन जो पार्क में हुआ था, उस बात के लिए!अर्चना बोली- ऐसी छोटी-मोटी चीजें तो दोस्तों के बीच चलती रहती हैं.

उसने मेरे 7 इंच लंबे और 3 इंच मोटे लंड को अपने हाथ में लेकर सहलाना शुरू कर दिया. इस तरह से मॉम पूरी चुदासी हो गयी और बोली- बस … अब चोद दो सर … आह्ह … प्लीज … चोदो।अंकल ने मॉम की चूत पर लंड रखा और एकदम से अंदर धकेल दिया. उसने मुझे अब की बार घोड़ी बना लिया, पीछे से मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया और मेरे बाल पकड़कर मुझे खूब चोदा.

इतनी फ्रेश और छोटी चूत अब तक नहीं मिली थी।जब जब मेरी जीभ अंदर जाती तो मेघा बीच बीच में कांपने लगती. फिर मैंने एक उंगली उसकी चूत में डाल दी और उससे उसको धीरे धीरे अन्दर बाहर करके चोदने लगा. इसके बाद उसने लंड से हाथ हटा लिया और मेरी तरफ सिगरेट की डिब्बी बढ़ा दी- एक जलाओ.

फिर उन्होंने पेटीकोट उठाकर अपने आप को ढका और मुझसे डांटते हुआ पूछा- ये सब क्या है?मैंने कहा- सॉरी माँ, पर मैं अपने आप को रोक नहीं पाया क्योंकि पहले आप एक औरत है फिर मेरी माँ हैं।माँ ने कहा- कुछ भी हो पर एक माँ और बेटे के बीच ऐसा कुछ नहीं होता।फिर मैंने उन्हें समझाया- माँ आप जानवरों को ही देख लीजिए.

मेरी उत्तेजना बहुत तीव्र थी और लंड काफी देर से खड़ा था इसलिए मैं ज्यादा देर अपने वीर्य के वेग को रोक नहीं पाया और फिर उसकी चूत में धक्के लगाते हुए जल्दी ही अंदर झड़ गया।वो भी मेरे पीछे पीछे ही झड़ गई और शांत हो गई।मैं उसके ऊपर ही पड़ा रहा और उसको चूमने लगा. अब तक पिता जी उत्तेजित हो चुके थे और मेरी मौसी और मां भी गरमा गई थीं.

बीएफ सेक्सी भोजपुरी में वीडियो हम दोनों बस इसी तरह की बातें कर रहे थे कि तभी कुछ समय बाद पिताजी भी आ गए. उसने लंड का अहसास पाते ही ज़ोर से एक आह भरी, जिससे मुझे समझ आ गया कि वो झड़ चुकी थी.

बीएफ सेक्सी भोजपुरी में वीडियो अगला धक्का मैंने जोर से लगाया जिससे मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया. हालांकि अलग होकर भी हम दोनों एक दूसरे से आंखों ही आंखों में बात करते रहे.

मैंने भी प्रिन्सिपल के लंड पर हाथ रख दिया और उनकी गोद में लेटी सी हो गई.

गुड्डू कहां की भाषा है

मैंने बिना देर किए उसकी चूत पर अपना जीभ को टिका दिया और चुत चाटने लगा. तभी चाची ने अपने हाथ पीछे ले जाकर ब्रा का हुक खोल दिया और ब्रा को एक तरफ रख दिया. अपनी गांड में लंड लेने का मौका मुझे कैसे मिला? मेरी गांडू कहानी का मजा लें.

दिनभर से तो काम कर रही है, बिल्कुल भी आराम नहीं करती है।थोड़ी देर बाद मैं भी लेट गया. मेरा ऐसा करने से वो ज्यादा गरम हो गयी और लंड चूसना छोड़कर खड़ी हो गयी. संजय अंकल भी लंड ठोकते हुए बोल रहे थे- ले … आह … मेरी रानी ले लंड ले … आह … तुम बहुत मस्त माल हो … आज तुमको चोदने में जितना मज़ा आ रहा है … अब तक मुझे किसी को चोदने में नहीं आया … आंह … ले … रानी … मुझे सपना की मम्मी को भी चोदने में इतना मजा नहीं आया.

मैंने अभी भी चूत को चाटना और चूसना ज़ारी रखा था … क्योंकि मुझे चूत चाटना बहुत पसंद है.

हम दोनों एक दूसरे से मानो चिपक गए थे जाने कब की प्यास बुझाने की कोशिश करने में लगे थे. हम दोनों साथ में लेट गये और मैं उसके मोटे बूब्स पर सिर रख कर लेट गया. मैंने उठाया तो सामने से एक प्यारी सी आवाज में एक लेडी ने हैलो बोला और मैं दो सेकेण्ड के अंदर ही उनकी आवाज पहचान गया.

उसके दोनों बेटे शादी-शुदा थे … उन दोनों की बीवी और उन्हें 3 छोटे बच्चे थे. मुझे मजा आने लगा, तो मैं आँख बंद करके पड़ी रही और चुत चुसाई का मज़ा लेने लगी. मैं रिंकी को जोर जोर से चोदने लगा तो वो चिल्लाने लगी- आह भैया … मार दिया … कितना अन्दर तक लंड पेल रहे हो! बड़ा मजा आ रहा है भाई! आह चोदो और जोर से चोदो.

मैंने पूछा- इससे क्या करूँगा मैं?तो वो बोली- इससे आज अपनी बहन को दुल्हन बना कर चोदोगे।मैंने उसे लन्ड चूसने का इशारा किया तो मेरे दोस्त की बहन मेरा लन्ड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी. मैंने भी बाबा की पीठ को सहलाना शुरू कर दिया और चुदाई में मदहोश हो गयी.

मैंने मॉम के मुँह से अपना चेहरा हटाया ताकि वो अपनी मादक सिसकारियां ले सकें. शकील सुबह ही उठ गया था और वो अम्मी के मम्मों के बीच में दो हजार रुपए का एक गुलाबी नोट फंसा कर कमरे से निकल गया. मम्मी की चूत पर थप्पड़ पड़ने से मम्मी को बहुत अजीब सा मज़ा आया और दर्द भी हुआ.

उसने भी ख़ुशी ख़ुशी मुझे पहले वो हिस्सा दिखाया, जिसमें उसका कॉमन रूम, किचन, बेटे का कमरा, गेस्ट का कमरा, डाइनिंग रूम और एक बड़ी से बालकनी थी.

मैं पहली बार किसी लड़की की चूत में अपने लन्ड डालने जा रहा था तो मैंने सोचा आराम से करें, कहीं भागी थोड़ी जा रही है. तो अब मैंने उनको पटाने की शुरुआत की अपनी चूचियां उनकी पीठ पर रगड़ने लगीं. मैं भाभी के चूतड़ों पर लौड़ा रगड़ते हुए बोला- हां भाभी … सुमन भाभी ने आज मुझे इशारे भी किए थे.

नीचे जाकर मैंने उसकी नाइटी को ऊपर उठाया और उसकी जांघों को चूमने लगा. तो मेरे लंड के सुपारे का अगला भाग उसकी गांड की छेद में चल गया।मैंने ज्योति की कमर को कसकर पकड़ लिया औऱ एक जोर का झटका दिया और आधा लन्ड उसकी गांड की छेद में चल गया।ज्योति की चीख निकल गयी और वो मुझसे बोली- भैया, निकालिये, दर्द हो रहा है.

एक बार अपनी पिचकारी जिसकी चूत में छोड़ी तो उसकी कोख में 100% बच्चा आ जाएगा. फिर भी मैंने लंड पर थोड़ी सी क्रीम लगाई और दोबारा से भाभी की चूत पर लंड सेट कर दिया. मैंने आंटी को पलटने के लिए कहा और उसकी गांड के छेद पर लंड को सेट कर दिया.

सेक्सी वीडियो के गाने

करीब 10 मिनट में उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और वो एकदम से अकड़ गयी थी.

मैंने उसके मुँह से लंड निकालना चाहा, मगर उसने लंड बाहर निकालने ही नहीं दिया. निशा भाभी- तो मुझसे बात करके अच्छा नहीं लगा क्या!मैं- नहीं भाभी, आपसे बात करके तो दिन बन जाता है. मैंने किसी तरह अपने आप पर कंट्रोल किया और देखा कि मेरी मां ने पिता का लिंग अपने मुँह से चूमना और चूसना शुरू कर दिया.

वो हंस रही थी और अपनी उंगलियों से मेरे लंड रस को अपने गालों पर क्रीम के जैसे मल रही थी. 4-6 रूपये में उपलब्ध इस पत्रिका में पूरे पेज 5-7 नंगी तस्वीरें होती थी जिन्हें ‘पिन-अप’ कहते थे. नागराज पिक्चरधीरे धीरे मैं उसके गले पर बेहताशा चूमने लगा और नीचे आते आते मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके चूचों को चूसने लगा.

उसने भी मुझे प्यार से चूमा और अपनी बांहों में भर कर बोली- आई लव यू सो मच जान … तुमने मुझे आज वो सुख दिया है, जो हर एक लड़की अपने पति से चाहती है. मेरा नाम विशाल है, मैं अपनी बीवी यीशा और अपने छह साल के बेटे के साथ दो बेडरूम के फ्लैट में रहता था.

इसलिए पूरी रात मैंने आपको सरप्राइज देने के लिये किया।उसने कहा- मेरी जान को कैसा लगा?मैंने उसके माथे पर किस करते हुए कहा- बहुत अच्छा लगा जान।ज्योति से मैंने कहा- जानेमन, अब उठो और अपनी चूची अपने हाथों से मुझे पिलाओ. तो चाची मना करने लगी लेकिन मैं कहाँ ऐसे मानने वाला था और मैंने चाची को जबरदस्ती एक किस करने की कोशिश की और उन्होंने मुझे पीछे धकेल दिया लेकिन कुछ कहा नहीं!मैं उनके कमरे में लेट गया चुपचाप!थोड़ी देर बाद चाची आयी और कहने लगी- नहीं, ये सब गलत है, हम ये सब नहीं कर सकते. वो कहने लगी कि उसकी चूत में बहुत मजा आ रहा है, उसने और तेजी के साथ चोदने के लिए कहा.

इधर सुधा ने सागर की शॉर्ट्स सरका दिया और उसका खड़ा लन्ड अपने मुंह में गपक लिया और बड़ी उत्तेजना से चूसने लगी. मैंने उसका मुंह दबाया और चोदता रहा।हर झटके पर मेघा की आहें निकलने लगीं जैसे कि वो हिचकी ले रही हो. दोस्तो, हो सकता है कि आपको मेरी इस पहली सेक्स कहानी में सेक्स कम मिले, लेकिन ये मेरी सच्ची कहानी है.

मैं नींद में था तो रोज की आदत की तरह मैंने उसे अपनी पत्नी का हाथ समझ कर पकड़ लिया और साथ ही मेरी आंख खुल गयी। अपने हाथ में मीनाक्षी का हाथ देख मैं तो डर ही गया कि भाभी मुझे गलत समझ कर मेरी मम्मी से मेरी शिकायत करेगी लेकिन वो तो मुझे देख कर मुस्कुरा दी।मेरी पत्नी सुषमा को मायके गए हुए अभी तीन दिन ही हुए थे और चुदाई के बिना मेरा हाल खराब था.

झड़ने के बाद अंकल खड़े हुए, तो मैंने देखा कि उनका लंड मेरे आधे हाथ के बारबार दिख रहा था. फिर वो कुछ देर बाद आए और बोले- ट्रेन एक घंटा लेट हो गई है, पता नहीं सपना ने कैसे देख कर ट्रेन आने की कह दी थी.

सर- बस अब थोड़ा सा और बाहर बचा है … वो भी अन्दर चला जाए, फिर दर्द नहीं होगा. मैं बोला- शांता रानी, तेरी चूत की खुजली तो मिट गयी लेकिन मेरे सांप का मेरी पैंट में दम घुट रहा है. मैंने अपना पूरा लंड चुत में डाल दिया, जो उसकी बच्चेदानी से टकरा गया.

लड़की करीब 20-22 साल की थी। कटीला बदन, बड़ी-बड़ी चूची, लंबे बाल, देखने में एकदम से सेक्सी लग रही थी।Train Me Sex Storyजैसे ही आदमी ने उस लड़की की शर्ट खोली तो शर्ट खोलने के साथ ही उस लड़की के बूब्स दिखायी दिये. और चूंकि मीनाक्षी और उसका पति दोनों कम पढ़े लिखे थे तो वो डॉक्टर के पास भी नहीं गये थे।मेरी पत्नी सुषमा के मायके जाने के पश्चात से हमारी नौकरानी भाभी मीनाक्षी अब मेरे साथ कुछ ज्यादा ही बात करने लगी।मीनाक्षी हर रोज सुबह आठ बजे के करीब घर की सफाई के लिए आती है. लंड अंदर जाते ही भाभी की चीख निकल गई और वह लेट गई जिससे मेरा लंड बाहर निकल गया.

बीएफ सेक्सी भोजपुरी में वीडियो उनकी चूत से बहुत ही मनमोहक खुशबू आ रही थी।धीरे से मैंने मामी की कमर को ऊपर किया और उनकी पैंटी नीचे सरका दी. मेरा लंड उसकी चुत में दो इंच ही घुसा था कि वो ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ चिल्लाने लगी.

कदम को परिभाषित

क्योंकि कोमलप्रीत जी उस लड़के के टच में थी तो उन्होंने उसे वो बात उसे बोल दी. कभी मेरी जीभ को चूस रही थी और कभी मेरे होंठों को चूस रही थी।मैं गर्म होने लगा था. बस तू तैयार रहना।”मैं उनसे अलग हुई और अपने कपड़े ठीक करके बोली- अच्छा.

अपने सगे भाई की ऐसी कामुक हरकत देख कर ज़ोहरा आपा की 24 साल की जवानी दहक उठी. अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और मैं उसके होंठों को चूमते हुए चूसने लगा. पुराना सेक्स फिल्ममेरा एक हाथ भाभी के मम्मों को दबा रहा था और दूसरा हाथ उनके सर के बालों में फिर रहा था.

मैं- अरे अंकल मैंने पी रखी है, कहीं गाड़ी कहीं लड़ गयी तो?अंकल- तुम उसकी चिंता मत करो और अपनी सीट से बाहर निकल कर इस तरफ आ जाओ.

संजय अंकल ने मुझे झटके से अपने ऊपर बैठाया और चुदाई की पोजीशन सैट कर ली. मैं उसके होंठों को चूसे जा रहा था, वो भी बराबर मुझे चूमे जा रही थी.

मुझे ऐसा लगा कि इस समय की उत्तेजना में जैसे मैं अभी ही निकल जाऊंगा. उसने मेरे अंडरवियर को भी मेरी टांगों के अंदर से निकाल दिया और मैं उसके सामने पूरा का पूरा नंगा हो गया था. तो मैंने उसे उठाकर गले लगा लिया।फिर उसने मिठाई निकाली, हम दोनों ने खाई।उसने मुझे एक चांदी का छल्ला पहनाया।मैं बोला- भाभी, ये सब क्या है?वो बोली- राज, आज से मैं तुम्हारी बीवी हूं और मैं तुम्हारे बच्चे की मां बनना चाहती हूं। आज तुम भाभी संग सुहागरात मनाओ.

यह काल्पनिक सेक्स कहानी मेरे दोस्त से मेरी माँ की शादी के बाद सुहागरात की है.

मुझे थोड़ा समय तो लगा लेकिन मैं उसकी पैंटी उतारने में कामयाब हो गया था।दीदी की चूत मेरे सामने थी. वो फिर से मेरी तरफ मुस्कुराते हुए आ गईं और मेरा नाम लेकर मुझसे बात करने लगीं. मैं चारू से बोला- यार चारू … मैं पहले दिन से ही तुम्हारा दीवाना हूं.

नॉन वेज जोक्स इन हिंदी लेटेस्ट 2020मैंने अपने कपड़े पहने और इंस्पेक्टर से पूछा- मेरे बेटे के लिए क्या कहते हो?उसने बोला- अब आप निश्चिंत हो कर जाइए … अब आपके बेटे को कुछ नहीं होगा … लेकिन बस इसी तरह मेरा ख्याल रखती रहिएगा. लेकिन मैंने उनके जिस्म की जरूरत को समझ कर इसे अनदेखा करने में ही भलाई समझी.

सेक्सी फिल्म गाने वाली सेक्सी फिल्म

वो मेरे नजदीक आईं और अनारकली की तरह आदाब करके बोलीं- महाराज की जय हो. मैंने भाभी की चूचियों को पीना शुरू कर दिया तो भाभी ने मुझे धक्का देकर पीछे हटा दिया. अब मैंने जल्दी से उसके टॉप को निकलवा दिया और उसकी ब्रा को भी खोल लिया.

साथ ही में मैंने धक्कों की स्पीड बढ़ा दी और उसकी चूत में ही अपना वीर्य छोड़ दिया।फिर निशा ने मेरे लंड को अच्छे से चाटकर साफ कर दिया। इस बीच वो दो बार झड़ चुकी थी।उस दिन हमने दो बार और अलग अलग पोज़ में चुदाई की, मैंने उसे बगल में लेटाया और हम वहीं पर सो गए. नींद का बहाना बनाकर मैं उनकी तरफ देखती रही।मेरी ननद के होंठों को ननदोई जी चूस रहे थे. संदीप दोनों के झगड़े से परेशान रहने लगा और मैंने उसको दूसरा घर लेने की सलाह दी.

मैं भी शनाज़ समझ कर ज़ोहरा आपा की चूची के निप्पल को अपने मुँह में लेकर आपा की जवान चिकनी नर्म चूची का रस पीने लगा. मुझे बड़ा मजा आ रहा था और मोनिका रजाई में मुँह छिपाकर आआआ… कर रही थी. भैया ने 2-3 मिनट चाबी खोजी और ना मिलने पर बोले कि तेरी भाभी कुछ काम ढंग से नहीं करती है.

जब भी उसको मौका मिलता था तो वो मेरे लंड को पकड़ लेती थी या फिर मेरे होंठों को चूसने लगती थी. इसके बाद सर ने मुझे अपना मोबाइल नंबर दिया और जिधर उनका घर था उस इलाके का पता देते हुए कहा कि मेरे घर के पास आकर मुझे कॉल कर लेना, मैं तुम्हें अपने घर का रास्ता बता दूँगा.

वो अंदर जाकर दरवाजा बंद करने ही वाली थी कि मैं उसके पीछे से घुस गया और अंदर जाते ही उसके मुंह पर हाथ रख कर उसे दीवार से सटा दिया.

मेरा हाथ आगे चूत की ओर बढ़ना चाह रहा था लेकिन उससे पहले ही मौसी ने अपने ब्लाउज के हुक खोलने के लिए कहा. मराठी सेक्सी व्हिडिओमैं समझ गया कि मां की चुत चुदने से उनको हल्कापन महसूस हुआ है, जिस वजह से वो मस्त होकर गहरी नींद का मजा ले सकी थीं. हॉट सेक्स फिल्मनीचे से उसने जालीदार पैंटी पहनी हुई थी जिसके अंदर उसकी क्यूट सी शेप वाली चूत छुपी हुई थी. यह मेरी कहानी नहीं है मेरे साथ जो हुआ है मैं वही आपको बताना चाहता हूं.

मैंने और प्रशान्त ने मम्मी की चूत में एक साथ अपना अपना लंड घुसा दिया और मम्मी जोर जोर से चीखने लगीं- आह मेरी फट गई … जल्दी से बाहर निकालो, मुझे दर्द हो रहा है, दोनों एक साथ नहीं करो.

कुछ दिन ऐसे ही चलता रहा, मैंने उससे बात करने की भी कोशिश की, लेकिन वो मुझे इग्नोर करती रही. आगे से मैं रानी के बूब्स को दबाते हुए उसके होंठों को चूस रहा था और पीछे से पिंकी मेरी गर्दन पर किस कर रही थी. अगली बार जब मोनिका भाभी ने मुझे बुलाया तो मैंने भाभी की गांड चुदाई भी कर डाली.

मैं उसकी चूचियों को सहलाते हुए निप्पलों को मुँह में लेकर चूसने लगा. वो उत्सुकता से मेरा बेल्ट खोलने लगी, जिसके तुरंत बाद ही उसने मेरी जीन्स और अंडरवियर दोनों एक झटके में उतार कर फेंक दी. आपको गर्म कॉलेज गर्ल की चुदाई की मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी में मजा आया होगा.

ब्लू पिक्चर वीडियो में इंग्लिश

उसके बाद मैंने उसकी टांगों को खोला और उसकी पाव रोटी जैसी चूत पर अपने लंड का सुपारा घिसाने लगा. इतना सब होने के बावजूद भी आपा कुछ नहीं बोली तो मैं भी अब जानबूझकर अपने लंड को आपा की गांड में दबाने लगा. मैंने उनको पूछा- आप कौन हो?उन्होंने जवाब दिया कि जिसको आपने अपना नंबर दिया मैं वही हूं.

दूसरी तरफ मेरी मौसी मेरे पिता के लिंग को हाथ में लेकर हस्तमैथुन करने लगीं.

आप सब का यह सेक्सी चाची की चूत कहानी पढ़ने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद.

इत्तेफाकन चाची उन दिनों अकेली थी और …अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार।मैं अनुराग हूं और अपनी सेक्सी चाची की चूत चुदाई की कहानी आपको बताना चाहता हूं. अब मैंने भी भाभी की टांगों को कंधे पर रखकर 5-6 जोरदार धक्के लगाए और भाभी की चूत में ही झड़ गया और भाभी के ऊपर लेट गया।दोस्तो, इससे पहले मैंने अपनी बहन के बारे में कभी ऐसा नहीं सोचा था लेकिन भाभी ने गाली दी जिससे मेरा भी मन बदल गया. फ्री सेक्सी व्हिडिओखाने के बाद हम दोनों फिर से बिस्तर में आ गए और रात भर मैंने भाभी को खूब चोदा.

कभी एक बार फिर मुझे ही आकर खड़ा करना पड़े!!चाची अब हर बार डबल मीनिंग बात कर रही थी. लगभग 10 मिनट तक मैं तड़पता रहा लेकिन फिर मेरा दर्द कम होने लगा क्योंकि गांड अब खुल गयी थी. पूरा लंड पेल कर मैंने मां की चुत की खूब चुदाई की और कल के जैसे अपने लंड से माल चुत में ही निकाल कर सो गया.

थोड़ी देर बाद मैम झड़ गईं और उनकी चुत का पूरा पानी मेरे मुँह में गिर गया. अन्तर्वासना पर मैं रोज कहानियां पढ़ता हूं और मुझे बहुत मजा आता है चुदाई की हॉट स्टोरी पढ़कर।अब मैं आपको अपना वाकया बताता हूं.

मुझसे रुका न जा रहा था और फिर हड़बड़ी में मैंने उसके ब्लाउज को फाड़ दिया.

आपको मेरी यह GF BF Xxx कहानी कैसी लगी मुझे इसके बारे में जरूर बताना. मुझे तो इतना सेक्स चढ़ रहा था कि मैंने उनसे कुछ नहीं कहा, बस चूमने में सर का साथ देने लगा. भाभी ने कहा- मेरा टीवी नहीं चल रहा है तुम ज़रा देखो … इसे ठीक कर दो.

जुदाई फिल्म कुछ देर इसी अवस्था में रहने के बाद मैंने अपना काम शुरू किया और मैं चुत में धीरे धीरे धक्के लगाने लगा. मगर तब भी मुझे आज तक इस घटना को लेकर बार बार याद आता है कि कैसे मेरी बीवी ने अपने जीजा के साथ चुत चुदवा ली थी.

उस मुसीबत से कैसे निजात मिली … वो मैं आपको अपनी अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा. मैं अपने बेटे के भविष्य के लिए एक पुलिस इंस्पेक्टर से चुदवाने के लिए राजी हो गई थी. इससे उनकी मादक सिसकारियां और ज़्यादा हो गईं- आह उओह ऊहम आऊं चीर दो … फाड़ दो … मैं कब से प्यासी हूँ … आज तुम मेरी चूत की प्यास बुझा दो.

सील टूटने वाली सेक्सी

कुछ पल जांघों को चूमने और सहलाने के बाद दीदी के हाथों ने मुझे ऊपर को खींचा तो मैं ऊपर को आ गया और झट से उसकी समीज को उतारते हुए निकाल फेंका. मेरा विवाह हुआ और कुछ दिन बाद ही मेरी बीवी मायके चली गयी परीक्षा देने. अब आगे:नमस्कार दोस्तो मैं फिर से हाजिर हूँ अपनी कहानी को लेकर!तो पीहू को खेत में चोदने के बाद मैं उसे उसके घर छोड़ने गया। वहाँ मैंने पीहू को उसका गिफ्ट नीले रंग की जीन्स और सफेद रंग का टॉप उसे दिया।उसे पीहू लेकर काफी खुश हो गयी.

हम दोनों ने चुदाई की स्पीड बढ़ा दी और फुल स्पीड में ऊपर नीचे होने लगे. भाभी ने मेरे होंठों पर चुम्बन किया और बोलीं- पहले मूड बना लेते हैं.

तब मैंने कुछ सोच कर सेवादार से कहा- हाँ अगर ऊपर वाले की कृपा हुई तो आज भी मेरी आपा को बरकत मिलेगी.

फौजी की बड़ी बेटी पढ़ाई छोड़ चुकी थी और पिंकी की कॉलेज की पढ़ाई पूरी होने वाली थी. प्रियंका भाभी चिल्लाने लगीं- डाल दो ना अन्दर … क्यों तड़पा रहे हो?मैंने अपने लंड को चुत के मुँह पर रखा और धीरे से धक्का दे दिया. मैं उसके पास तक गई और उससे बोली- क्या बोले तुम?उसने कहा- तुमने सुन तो लिया है.

मैंने उसकी गांड ऊपर करके कस कस के 20 मिनट तक धकापेल चुदायी की और इसके बाद सारा माल उसकी चूत में ही निकाल दिया. फिर मैं उसके लंड को चूसने लगी और वो कार को आगे लाकर अपना लंड चुसवाता रहा. उम्मीद करता हूं कि आप लोगों को मेरी यह देसी सेक्स स्टोरी पसंद आयेगी.

उनके बड़े चुचे, चिकनी चुत और बड़ी गांड देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया था.

बीएफ सेक्सी भोजपुरी में वीडियो: मैंने उसे बिना उतारते हुए उसकी चूत पर अपनी जीभ लगा दी जिसके कारण कुसुम काबू में नहीं रही. फिर मैंने अपने दिल को समझाया कि मुर्गी को अंडा देने तक का इंतजार करना ठीक रहेगा.

बीस मिनट की चुत चुदाई के बाद वो फ़िर से झड़ गई … परंतु मैं अब भी नहीं रुका. देर रात को मैंने कुछ आहट सुनी और मन किया कि सुना जाए क्या बातें चल रही हैं. मुझे आपकी राय का इंतजार है ताकि मैं आप लोगों के लिए और भी बेहतर कहानियां पेश कर सकूं.

मैं रसोई से तेल ले आया और मैं मां से कहा- मां, आप अपने कपड़े थोड़े ऊंचे कर लो.

फिर मैंने पापा को बोला- मुझे शाम को मूवी देखने दोस्तों के साथ जाना है, तो मैं जल्दी चला जाऊंगा. उसके बाद उन्होंने एक डिब्बे में से ढोकला निकाला और बोला कि ये भी ले लो … यदि और खाना हो तो. छोड़ दो न अब!”सच में पहली बार कोई मर्द मेरे जिस्म के साथ इस तरह खेल रहा था। मुझे बेइंतहा मजा आ रहा था।कुछ ही देर बाद मेरी बुर ये सब सह नहीं सकी और मैं झड़ गई। मेरी बुर से गर्म गर्म पानी मेरी जांघों की तरफ जाने लगा।उसके बाद मुझे कुछ होश आया और मैं तुरंत जीजा से अलग हो गई- बस जीजा जी इतना काफी है.