बीएफ फिल्म अच्छी वाली

छवि स्रोत,हिंदी पिक्चर सेक्सी मूवी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी डिस्कवरी चैनल: बीएफ फिल्म अच्छी वाली, फिर मैंने अपने लंड को सहलाते सहलाते ही अपने दाएं पैर से उसकी एक जांघ को सहलाना शुरू कर दिया.

सेक्सी बीएफ 1 साल

मैं वीना से बोला- क्या तुम अपनी सलवार को थोड़ा सा नीचे कर सकती हो?वो मेरी तरफ देखने लगी. बीएफ बीएफ फिल्म सेक्सी बीएफवो अपने मुँह से ‘आह आह आह …’ की आवाजें निकाल रही थी, जो मुझे और भी उत्तेजित कर रही थीं.

मैंने अब तक संभोग ना किया हो सही, पर अन्तर्वासना की सेक्स कहानियां पढ़ कर कुछ हद तक अनुभव प्राप्त कर लिया था. 18 साल की लड़की की बीएफ हिंदी मेंफिर मैंने अपना लंड फ़लक की चूत में हल्का सा डाला और बाहर निकाल लिया.

फिर मूवी स्टार्ट हुई तो 5 मिनट बाद ही मैंने उसके कन्धे पर हाथ रख कर उसको प्रपोज किया.बीएफ फिल्म अच्छी वाली: मैंने फिर से लंड पेला और एक तेज झटके में आधा लंड चाची की कसी हुई चुत को फाड़ता हुआ अन्दर घुस गया.

मैंने भी पानी पीकर बोतल साइड में टेबल रख दी और मैं पीठ के बल लेट गया.रात के समय तो हम दोनों पूरे नंगे ही रहते हैं इसलिए कपड़े निकालने का तो कोई सवाल ही नहीं था।उसके बाद … आप समझ गए होंगे।2 दिन बाद एलिस्टेयर को काम से दूर जाना था तो मैंने भी सोचा कि लांस और केविन से मिलकर एलिस्टेयर का भी काम कर लूंगी.

देहाती बीएफ 2021 के - बीएफ फिल्म अच्छी वाली

अपना लंड उसकी गीली चूत में सेट करके मैंने जोर से धक्का लगाया और पूरा लंड एक बार में ही उसकी चूत में समा गया.जब सब काम हो गया, उसके बाद भी हमारे पास चुदायी करने के लिए चार घंटे बच गए थे.

चलो कोई बात नहीं, लाओ आज मैं इसका स्वाद भी ले ही लेती हूं कि कैसा लगता है. बीएफ फिल्म अच्छी वाली मैंने सौम्या डार्लिंग को नसबंदी करवाने से रोकने का सोच लिया था ताकि बाद में सौम्या मेरे बच्चे की मां बन सके.

मैंने पूछा- आपको कुछ हुआ तो नहीं?वो हंस कर बोली- नहीं, कुछ नहीं हुआ.

बीएफ फिल्म अच्छी वाली?

विलास ने नीचे सरककर मेरे पैंट की चैन खोल दी और अंडरपैंट से मेरा लंड बाहर निकाल दिया. फिर मेरे मुरझाये हुए लंड की तरफ देखकर रेखा बोली- हर्षद मुझे तुम्हारे लंड के अमृत का स्वाद लेना है. बहुत दिनों से मेरी गांड प्यासी थी… मुझे कोई ऐसा मर्द मिला ही नहीं कि मेरी गांड की प्यास बुझा सके.

फ्री यंग सेक्स कहानी फर्स्ट एसी ट्रेन में मिली एक जवान लड़की के साथ सेक्स की है. वो खड़ी थी तो मैंने मैक्सी के अन्दर हाथ डालकर ब्रा उठा दी और उसके दोनों मम्मों को धीरे धीरे मसलने लगा. ऐसे ही एक दिन जब मैं उसे पढ़ा रहा था तो वो मेरा हाथ पकड़ कर अपने पेट के पास लगा कर बोली- देखो मैं मोटी हो गयी हूँ.

जब वो अपनी गांड मटका कर चलती थी तो ऐसी लगती थी मानो कोई हंसनी चल रही हो. Xxx इंडियन भाभी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने काल्पनिक टाइम मशीन में भूतकाल में जाकर अपनी मम्मी को उनका देवर बनकर चोद दिया. अब रवि पीछे आया और उसने भी एक ही झटके में पूरा लंड गांड के अन्दर डाल दिया.

सोनाली भी हाथ में दोनों के लिए चाय लेकर आयी और मेरे पास ही बैठ गयी. मैंने सुना और पढ़ा है किवर्जिन लड़की की चूतसे ज्यादा टाईट उसकी गांड होती है, इसलिए अगर मैं तुम्हारी गांड मारूंगा … तो मेरे लंड का धागा जल्दी टूट जाएगा.

जब वो अपनी गांड मटका कर चलती थी तो ऐसी लगती थी मानो कोई हंसनी चल रही हो.

बर्थडे के दो दिन पहले प्राची ने मुझसे कुछ शॉपिंग कराई, जिसमें कुछ सामान उसने नई चूत के लिए खरीदा था.

तुम अपने जीजा जी के जैसे मत बनो, इन्होंने शराब पी पीकर अपना शरीर खराब कर लिया है. ऐसा लग रहा था कि धीरू का लंड मेरी गांड की दीवारों को चौड़ी कर देगा. राहुल बोला- अरे तो अब क्या टेंशन है चाची … मैं आ गया हूँ ना आपकी सारी बोरियत उतारने.

मैंने उनको मैसेज किया तो बोलीं- अरे यार तेरे जीजा जी की कॉल आ गयी थी. उसने मेरी तरफ देखा और बोला- क्या सच में आप मुझे नहीं जानती?मैं शांत रही. मैं सरिता की ये हालत देख नहीं पा रहा था तो मैंने जोर से धक्का देकर आधे से अधिक लंड सरिता की चुत में डाल दिया.

मुझे सच में ऐसा लगने लगा था कि अंकल मेरे पति ही हैं और मैं उनकी सेक्सी हॉट लुगाई हूँ.

आंटी के कुछ मेकअप का सामान मैंने यूज किया और पटाखा बन कर अंकल के सामने आ गई. इससे मुझे बेहद सनसनी होने लगी और ऐसा लगने लगा कि मैं जल्दी से इसका लंड अपनी चुत में ले लूं. मैं सोचने लगी कि ये कब से रखी होंगी और तीन गोलियां कब खा ली गई होंगी.

मैं सोच रहा था कि अभी इसके साथ कुछ नहीं करूंगा क्योंकि आज इसको काफी दर्द हुआ है. पहले तो मेरी बहन अन्दर आकर बैड पर लेट गई और उसके हाथों से अपने स्तन खोलकर कामुकता से दबा रही थी. दीदी को टीवी देखते देखते नींद आ गयी और दीदी वहीं मेरी जांघ पर सर रख कर सो गईं.

मैं कटोरी में पानी तो लाया, पर उसमें भी बचा हुआ थोड़ा सा पावडर छिड़क लाया.

मैंने उसको बताया कि यहां चाय अच्छी मिलती है, अगर घर पर कोई काम ना हो … तो चाय पीते हैं. रात को वो मेरे साथ एक ही कमरे में अलग बिस्तर पर सोती भी थी तो मैं उसे देखता रहता था.

बीएफ फिल्म अच्छी वाली मेरे तेज धक्के में शिल्पा की हालत खराब हो गई थी और साथ में ही मेरा लंड भी उसकी चूत में एकदम जकड़ा हुआ था. मैंने एक बेड वाला फ्लैट ही लिया था तो सोने में तो दिक्कत तो होने ही वाली थी.

बीएफ फिल्म अच्छी वाली मैं खड़ा हो गया और उसे घोड़ी बना दिया, पीछे से उसकी चूत को चाटने लगा. उसने मुझसे कहा- अरे यार … मैं तुम्हें वेब डिजाइनिंग भी सिखा सकती हूँ.

बीच बीच में मैं उसकी मखमली गांड के छेद पर भी जीभ फेर देता था जिससे रिया एकदम से तड़फ उठती थी.

अंग्रेजी सेक्सी फिल्म दिखाइए

वो तेजी से चीखी- आआह मार डाला रे … मम्मी बहुत मोटा है … आह फट गई री मेरी चूत!मैंने झट से उसका मुँह अपने मुँह से दबा दिया जिससे उसकी आवाज किसी को सुनाई न दे जाए. मैंने फिर से भाभी की गांड मारनी शुरू की और इस बार भाभी गांड मराने में पूरा साथ दे रही थीं. चाची ने राहुल से ऐसे इशारा किया मानो वो उससे पूछ रही हों कि मैं कब जाऊंगा.

उसका एक हाथ चूत के ऊपर था, जिससे वो कभी अपनी चूत को सहलाती, तो कभी दाने को रगड़ती. मुझे लंड चुसवाते समय ऐसा लग रहा था कि मैं जन्नत में सैर कर रहा हूँ. समीर ने ये देख कर कमरे का दरवाजा लगा दिया और मेरी तरफ देख कर अपना लंड हिलाने लगा.

तभी सोनाली ने मेरी अंडरपैंट कमर से नीचे खींच दी और अपने पैर से नीचे खींचकर निकाल दी.

अब मैं जानबूझ कर ‘ऊह आह …’ की आवाज़ निकाल रहा था जो मैं उन्हें उत्तेजित करने के लिए कर रहा था. मेरी सौम्या डार्लिंग को थोड़ी देर में इतना मजा आने लगा कि वो बहुत लंबी लंबी सांसें और सिसकारियां भरने लगी. लंच में उसने मुझसे कहा- आप मुझे बहुत अच्छे लगते हैं।ये कहते ही वो मेरे गले लग गई और कब हमारे ओंठ आपस में मिल गये, हमें पता ही न चला.

लेडी डॉक्टर पोर्न स्टोरी के अगले भाग में उसके साथ चुदाई के अगले दौर को लिखूंगा. और आश्चर्य की बात ये थी कि जिसे मैं सालों से इज्जत की नजर से देखता था, उसमें अब मुझे कामदेवी दिखने लगी थी. वो इतनी जोर से मचल रही थी कि उसके हाथ मेरे दोनों हाथों पर ज़ोर डाल रहे थे कि और ज़ोर से करो.

मैं बहुत अच्छे से जानता हूं कि लड़कियों के किस पॉइंट पर किस करने से लड़कियों की चुत गर्म हो जाती है. उसके बाद अब हार्दिक और मैं बारी बारी से शनाया को एक ही बेड पर चोदने लगे हैं.

लेकिन बेटा जब किसी को हमारे बारे में पता चलेगा, तो बहुत बेइज्जती होगी. उसकी चूत कुछ टाइट थी तो आधा लंड तो घुस गया … बाकी के लिए मुझे और जोर लगाना पड़ा. मेरी तो बुरी तरह से फटी पड़ी थी कि कहीं मौसी ये सब मम्मी को ना बता दें.

उसने मेरे लंड पर रबड़ी लगा कर खूब चूसा और उसकी चूत में रबड़ी वाला लंड डाला, तो उसने उसका भी स्वाद अपनी जुबान से चखा.

इतने में मम्मी ने आवाज दी- हर्षद तैयार हो गए क्या? चाय बनायी है मैंने, तेरे पिताजी आते ही होंगे. मैंने उसकी आंखों में देखा, तो उसने स्माइल करते हुए मुझसे पूछा- क्या कर रहे हो?मैंने कहा- बस यही ऑफिस का काम. वो कहने लगीं- लेकिन मैं तेरी मौसी हूँ … मैं तेरे साथ ये सब कैसे कर सकती हूँ.

कहानी के पिछले भागअनजान टूरिस्ट से चुदने होटल में चली गयीमें आपने पढ़ा किअब आगे फुल नाईट सेक्स की कहानी:10 मिनट तक एक दूसरे को प्यार करने के बाद उसका लण्ड दुबारा से पूरे विकराल रूप में आ चुका था. थैंक्यू किस बात का?सरिता पट से बोली- हां, मैं भी तो तुम्हारी भाभी हूँ.

उसी दिन शाम को मेरे दोस्त की ट्रेन थी और मैं ही उसे आंटी के साथ छोड़ने के लिए गया था. मैंने पास्ट वाले अंकित से कहा- मैं उसका देवर हूं और वहां कुछ दिन रहने आया हूं. ‘काहे का मजा … सुहागरात हुई ही नहीं तो क्या बताऊं, पता नहीं यार, कब सुहागरात होगी.

2020 के सेक्सी वीडियो एचडी

पिंकी ने कपड़े पहने और दरवाजा खोला रोमिल चादर ओढ़कर लेटा हुआ था।तभी पिंकी बाथरूम चली गई.

साथियो, मैं अगम एक बार फिर से आपके सामने अपनी प्रेयसी फ़लक के साथ हाजिर हूँ. मैं वासना भरे स्वर में बोला- आह चाची … एक बार अपनी सेवा करने का मौका तो दो, ऐसी खातिरदारी करूंगा कि आप मेरी कायल हो जाओगी. मैंने सोचा कि इसे अपने दोस्त को भेज देता हूँ, पर ये क्या … वो तो गलती से रीता पर चला गया.

मैंने अपने लौड़े पर थोड़ा सा थूक लगाया और थोड़ा सा थूक अपनी साली की बुर में लगा दिया. उसका भीगा चेहरा, उसका वो टी-शर्ट से झांकता बदन, गीले होने की वजह से कड़क हुए उसके निप्पल्स मानो मुझे उसकी ओर और खींचे जा रहे थे. एक्स वीडियो दिखाइए बीएफइतना सुन धीरू बोले- सन्नो मेरे लंड ने तेरे अन्दर की औरत कब की देख ली थी, पर मैं उस बाहर लाना चाहता था कि मजा बराबर से आए.

मैंने अपना लंड और भी ज्यादा दबाना शुरू कर दिया जिससे मेरे लंड का सुपारा उसकी गांड में घुस गया. एक बार की बात है जब मेरी कमर में दर्द हो रहा था तो मेरे जेठ का बड़ा बेटा अंकेश बोला- चाची जी, आपकी मालिश करने की जरूरत है.

भईया बोले- हमारे यहां पहले कुल देवी की देहरी पर धोक लगने के बाद ही साथ सो सकते हैं. फिर मैंने उसकी टी-शर्ट को ऊपर कर दिया और ब्रा में से उसकी चूचियां दबाने लगा।उसके हाथ मेरी गर्दन पर थे और मैंने उसकी ब्रा उतार कर उसकी बाई तरफ वाली वाली चुची को अपने मुंह में भर लिया और उसके निप्पल चूसने लगा और साथ में अपने हाथ से दाईं तरफ वाली चूची को दबाने लगा।उसके मुंह से सिसकारियां निकल रही थी- आह अआह!अभी तक हमें यह सब खड़े होकर कर रहे थे पर तब मैंने उसे बेड पर लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया. इसी बीच मेरा वीर्य गिरने को आ गया और मैंने बिना बताए ही चाची की गांड में सारा का सारा माल गिरा दिया.

तभी मुझे कुछ समझ आया कि भाभी ने मेरे कमरे में चुदाई के समय ही किराने का काम करने के लिए क्यों बोला था और बच्चों को वापस क्यों भेजा था. फिर जब मैंने पम्मी आंटी को बोला- चलो अब सो जाते हैं, सुबह मुझे खेलने जाना है. वहां मैंने देखा कि पिताजी के मुँह से खून निकल रहा था और वो ज़मीन पर गिरे बेहोश पड़े थे.

वह हंसने लगा- जब देखो, तब बताना, पर यह बात मेरी बीवी से मत कहना, कई लोग कह चुके हैं.

चीख सुनकर नाना और नानी जग गए लेकिन उन्होंने सोचा कि रोज की तरह सौम्या भूत बूत के नाम पर डर गई होगी इसीलिए उन्होंने ऊपर से पूछा. मैंने अब तक संभोग ना किया हो सही, पर अन्तर्वासना की सेक्स कहानियां पढ़ कर कुछ हद तक अनुभव प्राप्त कर लिया था.

हॉट सिस Xxx स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपने भाई के साथ ब्लू फिल्म देखते देखते उसके साथ सेक्स का मजा लेने लगी थी. हम दोनों के लिए ही अब ओर ज़्यादा रुक पाना मुश्किल हुआ जा रहा था तो मैंने उठकर सबसे पहले तो अपने लंड को कंडोम पहनाया ताकि आगे चलकर हम दोनों को ही कोई परेशानी ना हो. ऐसे लंड से चुदने का हमेशा से मेरा सपना था मेरी जान … आह चोद दो मुझे … बस अब बर्दाश्त नहीं होता.

सौम्या अन्दर से ही बोली- हां, जैसे ही मेरा पेट दर्द खत्म होगा, मैं आ जाऊंगी. मैंने अपने लंड का टोपा मम्मी की चूत पर टिकाया और एक बार में पूरा पेलने की नीयत से झटका दे मारा. अंकल चुदासे स्वर में बोले- आंह साली … एक दिन में तेरे बूब्स निकल आए?मैंने कहा- हां चुदाई भी तो आपकी थी.

बीएफ फिल्म अच्छी वाली मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?पहले तो वो कुछ नहीं बोली किन्तु मेरे जोर देने पर बोली कि मेरी सलवार का नाड़ा नहीं खुल रहा. उन्होंने मुझसे कहा कि आज वे नहीं आएंगे, उन्हें कंपनी के काम से कहीं बाहर जाना पड़ रहा है.

आदिवासी सेक्सी वीडियो फुल

लेकिन एक बार सोच ले … ऐसा सुनसान गांव और सुनसान जंगली रास्ता जहां पर दूर दूर तक दिन में भी कोई दिखता नहीं तो रात में कहाँ दिखेगा।” इससे पहले की सीमा अपनी बात पूरी करती मैंने उसे मनाने की कोशिश करते हुए कहा।अच्छा ठीक है, कैसे करेंगे? कब करेंगे?” सीमा ने हामी भरते हुए पूछा।मीनल की शादी के बाद रात को सब थक हार कर सो चुके होंगे, हम भी उनके साथ सोने का नाटक करेंगी. मैं अब उसके लंड को किसी कुल्फी की तरह चूस रहा था और वो मस्त आहें भर रहा था. सौम्या को गुदगुदी हो रही थी तो वो हंसती हुई बोली- क्या कर रहे हो अंकित … मुझे गुदगुदी हो रही है.

हमारे बीच जो भी बातें होंगी और हम दोनों का हर रिश्ता सिर्फ हम दोनों तक ही सीमित रहेगा हर्षद. उसने मुझे फिर से पकड़ लिया और मूवी दुबारा से शुरू करके मुझे किस करने लगा. हिंदी बीएफ सेक्सी डाउनलोडिंगअब सौम्या डार्लिंग नहाने गई, तो मैं छत से सौम्या को नहाते हुए देखने लगा.

सरिता बारी बारी से मेरे दोनों निपल्स सहला रही थी, बीच बीच में वो अपनी दोनों उंगलियों में पकड़कर निप्पल को दबा देती तो मेरे पूरे शरीर में बिजली के करंट जैसी लहर उठ जाती थी.

वो मानो बेहोश हो गई थी, उसकी आंखों से आंसू निकल रहे थे और उसका शरीर कांप रहा था. मेरा पूरा रस निकलने के बाद उसने बड़े प्यार से मेरे लंड को अपनी जीभ से चाट चाट कर साफ कर दिया.

फिर 20 मिनट बाद समीर ने अपना सारा पानी मेरी चुत में ही छोड़ दिया और मेरे ऊपर लेट कर लम्बी सांसें लेने लगा. मेरी पिछली सेक्स कहानीजवान सौतेली मां की चुदाई की लालसाआप सभी ने पढ़कर प्रशंसा की, उसके लिए आपको बहुत धन्यवाद. अब आगे हॉट गर्ल फक स्टोरी:कुछ पल बाद मैंने एक कपड़े से उसके पेट को साफ किया और उसको कसके अपनी बांहों में ले लिया.

वो चाची से पूछने लगा- माल चूत में ही छोड़ दूँ क्या?चाची ने हामी भर दी और राहुल ने अपना सारा माल चाची के भोसड़े में छोड़ दिया.

मैंने उससे कहा- क्या मैं तुम्हारी जरूरत पूरी कर सकता हूँ?वो बोली- हां मेरा मन तो है मगर तुमको इधर आना पड़ेगा. भैया को बस मेरी यही बात पसंद थी कि मैं कोई भी काम बड़ों से पूछ कर ही करता हूं. उनके मुँह से लगातार आवाज़ें आ रही थीं- ओह … ओह … आ अ अ अ … इईईई … आह फाड़ दो मेरी चुत को … आंह आज न जाने किनते दोनों बाद मेरी चुत में ठंडक पड़ी है.

बीएफ पिक्चर वीडियो में मूवीयह सुनकर चाची बोलीं- तुझे क्या हो गया?मैं- चाची मैं एक बार आपकी मदमस्त जवानी का मजा लेना चाहता हूँ. मेरी जांघें सरिता की मांसल, गदरायी जांघों से चिपक गयी थीं, साथ में मेरा तना हुआ लंड उसकी चुत और जांघों पर रगड़ रहा था.

मूवी मेकर ऑनलाइन फोटो

मैंने जल्दी ही मौके को संभालने की कोशिश की और बच्चों से बातें करने लगा. मुझे किस करो, मेरे बूब्स मसल दो।अब मेरा भी लंड खड़ा हो गया।हम दोनों ने कम्बल ओढ़ रखा था।वो मुझे चूमे जा रही थी।मैंने भी उसकी चूची मसलनी शुरू कर दी।अब वो मेरे लौड़े को चूसने लगी।मुझे भी मज़ा आ रहा था।मैंने भी उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया और एक अंगुली उसकी गांड में घुसेड़ दी।वो ऊह कर के उछल उठी. मेरा लौड़ा देखकर भाबी जी बोल पड़ीं- आज तो मेरा बुरा हाल होने वाला है.

मैंने बाहर से राहुल को मैसेज करके बता दिया कि अब मैं बाहर आ गया हूँ. उसने झट से मुझे खड़ा किया और मेरे वीर्य से भरे हुए मुंह और होंठों को अपने होंठों में ले लिया. वो पहले तो जरा हिचकिचाई, मगर मेरे जोर देने पर उसने बताया कि वो रात में दारू पीकर आता है और कुछ देर मेरे जिस्म के साथ खेल कर सो जाता है.

अभी मुझे 5 मिनट ही हुए होंगे लंड चूसते हुए कि जय मेरे मुंह में ही झड़ गया. जब उसका दर्द कम हुआ, तो मैं लंड को आगे पीछे करने लगा और अबकी बार काफी देर तक उसकी गांड मारी. स्टेशन पहुंचकर पति ने मुझे जाने को कहा क्योंकि उनकी ट्रेन का टाइम हो रहा था.

उसकी इस तूफानी चुदाई में मैं एक तेज गहरे झटके के साथ उसको अपने मम्मों से चिपका कर उसकी पूरी पीठ पर अपने नाखून गाड़ने लगी थी. चाची के बारे में जितना राहुल ने मुझे बताया हुआ था, चाची उससे कहीं ज्यादा खूबसूरत थीं.

उनकी पतली सी बिल्कुल सफेद दूध से भी साफ कमर पर काले रंग की पैंटी थी.

अम्मी, खाला और जेबाँ एक ही कमरे में उसी बेड पर सोती थीं जिस बेड पर मैंने खाला को चोदा था. बीएफ फिल्म हिंदी दिखाएंमैंने कमरे के अन्दर आते ही गेट लॉक करके टीना को पकड़ा और उसकी चुचियां दबाने लगा. खुली बीएफ फिल्मपर मुझे तो उसके उन अमरूदों से मतलब था जो वो अपने आंचल के पीछे छिपाए रखती थी. फिर उसकी पैंटी फाड़ कर पूरी जीभ चुत में डाल दी और चुत चाटने लगा … चूसने लगा.

यह देवर भाभी की सेक्सी स्टोरी उन दिनों की है जब मुझे बीटेक के लिए दिल्ली के एक आईआईटी कॉलेज में दाखिला मिल गया था.

मैं मस्ती से उसके दोनों मम्मों को बारी बारी से पी रहा था और उसे चूम रहा था. मुझे उनकी आंखों से साफ़ नजर आ रहा था कि वो न जाने कब से इस जूस के लिए तड़प रही थीं. फिर मैंने उससे उसकी गांड चोदने की इच्छा जाहिर की, तो उसने थोड़ा मना किया.

उनकी चुत से इतना अधिक रस टपका था, जैसे चाची ने मेरे मुँह पर मूत दिया हो. मैंने मुस्कुराते हुए शर्म से सर नीचे कर लिया और उसको बैठने को बोला. पहले मैंने एक दो कहानी पढ़ीं, इन्हें पढ़ने के बाद मुझे आनन्द की अनुभूति हुई और मुझे इतना मजा आने लगा कि अब मैं रोज एक न एक सेक्स कहानी जरूर पढ़ता हूं.

डॉग शॉट सेक्स

पूरा चूतरस पीने के बाद चूत के आसपास का भी चूतरस मैंने चाटकर साफ कर दिया. वो मेरा लंड लॉलीपॉप की तरह चूस रही थी; मेरे लंड को पूरा मुँह में लेना चाहती थी पर मेरा आधा ही लंड उसके मुँह में जा पा रहा था. मैंने उसकी भाषा बदली हुई देखी तो कटोरी का सारा तेल निशा की पीठ पर पलट दिया और दोनों हाथों से रगड़ने लगा; बगलों से उसके चुचे भी मसलने लगा.

थोड़ी ही देर में मेरा लंड डंडे जैसे हो गया तो विलास ने बोला- यार, एक बार मैं फिर तेरा मोटा लंड अपनी गांड में लेना चाहता हूँ.

देसी साली Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरी पत्नी के गर्भवती होने पर मेरी साली उसकी देखभाल के लिए आई.

मैंने अपने लंड का दबाव गांड पर बनाए रखा और लंड को धीरे धीरे उनकी गांड में उतारता रहा. फिर मेरे मन में मजाक सूझा तो मैंने कहा- ठीक है क्लास के अलावा मैं आपको श्रेया दीदी कहूंगा. गांव की चोदने वाली बीएफउसके वो मखमली संतरे जैसे चुचे और बालों से घिरी हुई चुत की एक झलक मुझे मिल गयी थी, जो उसने ट्रिम की हुई थी.

हमारे बीच जो भी बातें होंगी और हम दोनों का हर रिश्ता सिर्फ हम दोनों तक ही सीमित रहेगा हर्षद. मैंने झट से अपना हाथ उसके मम्मे से हटा दिया कि कभी कोई उसकी आवाज सुनकर इधर ना आ जाए. मैंने कहा- हां जी, तुम्हारी बहन को खुश करना था तो मेहनत तो करनी ही पड़ेगी न!निशा बोली- चलो अब उठो.

और मुझे नहीं पता था कि इस बार तुम जैसे हसीन गांड मुझे मिल जाएगी इतनी जल्दी ही!उसने झट से मुझे पलट कर मेरी गांड को अपने हाथों से चौड़ी कर दी, मेरी गांड पर जीभ दे दी. मैं थोड़ी देर ऐसे ही मजा लेता रहा, फिर मैंने उसका हाथ मेरे लंड पर रखा तो वो डर गई और उसने अपना हाथ हटा लिया.

मैंने सोचा कि शायद चाची को ऐसे ही सोने की आदत हो, पर उनके हिलने से मैं सहम गया था और मेरा लंड मुरझा गया था.

इसी के साथ मेरा पूरा लौड़ा उसकी गांड के छेद में पूरा का पूरा समा गया और उसके बाद मैंने धक्का मारना शुरू किया. जब वो आई तब मैं सो रहा था।रसोई में बर्तनों की खटपट से मेरी नींद खुली. तो विलियम बोला- फिर तो और भी ज्यादा मजा आएगा तुम्हें इतना दर्द भी नहीं होगा.

जानवर और इंसानों की बीएफ सौम्या डार्लिंग मेरे बच्चे की मां बनना चाहती थी लेकिन उसने अपने बेटे अंकित के जन्म के समय ही नसबंदी करा ली थी इसीलिए वो मेरे बच्चे की मां नहीं बन सकती थी. विशाल ने उसे समझाया कि पहली बार जब कुंवारी गांड का उद्घाटन होता है, थोड़ा खून निकलता है.

क्योंकि मैं अक्सर ऐसे ही मेरी गली की कुतिया को उस वक्त हिलते देखा था, जब कुत्ता बीच में ही संभोग से हटा दिया जाता था. चाची की पेशाब रूकने के बाद मैंने देखा कि चाची की चुत से लंड ने जो उल्टी की थी, वो भी बाहर आ रही थी. उसकी चूमाचाटी मुझे काफी उत्तेजित कर रही थी लेकिन मैंने विरोध का नाटक अभी भी जारी रखा था.

ओन्ली एनिमल सेक्स

मैंने अदिति से पूछा- क्या तुमने कभी किसी के साथ सेक्स किया है?वो कुछ नहीं बोली. उसने दूसरे हाथ से ऊपर से ही मेरा लौड़ा सहलाया और मेरे निप्पल को दबाना शुरू कर दिया. उसकी गांड और गीली चूत मुझे बहुत लुभाती थी और इस तरह से हमारी गर्मी बढ़ती जा रही थी.

दोनों दोस्तों की बातें सुनकर मैंने उन दोनों को बाहर भेजना चाहा मगर वो मानना ही नहीं चाहते थे. वीना को दर्द होने लगा और वो चिल्लाने लगी- उम्म मम्ह आह आह आह साले चाचा आराम से कर … मैं कहीं भागी नहीं जा रही हूँ.

उसकी चूत नंगी हो गई तो मेरे लोहे जैसे लंड का सुपारा सीधा रेखा की चूत पर रगड़ खाने लगा.

इतना कहकर वो मेरे गले लग गई।मैंने भी उसे अपनी बांहों में भर लिया और उसके कान में हल्के से फुसफुसाते हुए कहा– आई लव यू टू. जब शाम को मेरी नींद खुली तो मैंने देखा कि पम्मी आंटी के 3 मिस्ड कॉल आए हुए थे. मेरा घर 3 मंज़िल का है, जिसमें एक मंज़िल पर मेरे मम्मी पापा का कमरा, रसोई और एक गेस्ट रूम था.

फिर पत्नी ने लंड चुत से बाहर निकालने के लिए कहा तो मैंने अपना लंड चुत से बाहर निकाला. मैंने खड़े होकर अपना लंड निकाल कर उसके हाथ में दे दिया और मैं उसकी ब्रा उतारने में लग गया. भाबी- तुम इस समय क्या कर रहे हो?मैंने कहा- हिला रहा हूँ!भाबी- क्या हिला रहे हो?मैंने कहा- आपके काम का खिलौना.

जो भी हो, उसने अगले ही पल में मेरे लंड को मुँह में लेकर अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया था.

बीएफ फिल्म अच्छी वाली: उसने कहा था कि लास्ट एग्जाम के बाद मैं तुम्हें अपने फ्लैट बुलाऊंगी, वहीं पार्टी करेंगे. ये देख कर मैंने उससे पूछा कि क्या मैं जान सकता हूँ कि क्या हुआ?वह कुछ नहीं बोली, तभी बाकी का स्टाफ आने लगा.

उन्होंने मुझे कॉल बैक किया और कहने लगीं- अरे गुस्सा क्यों होते हो?मैंने कहा- गुस्सा ना होऊं … तो क्या करूं?फिर वो कहने लगीं- जो आज हमारे बीच हुआ, उसे हमें एक प्यारी सी नादानी समझ कर भूल जाना चाहिए. मुझे अभी मजा आना शुरू हुआ ही था कि चाचा निढाल हो गए और चाची चाचा को कोसते हुए गाउन पहनने लगीं. दोस्तो यह मेरी और अमित की एक सच्ची सेक्स कहानी थी, आप लोगों कैसी लगी देवर और भाभी की चुदाई, मुझे ईमेल करके जरूर बताएं.

दूसरे दिन जब मैं सामान लेकर उसके घर गया, तो वो हमेशा की तरह घर में अकेली ही थी.

मैं दीदी की चूत में लंड आगे पीछे करता हुआ अपने होंठों से कभी उनके होंठों को चूमता, तो कभी निप्पल पकड़ कर खींच लेता. मैंने कहा- चलो कोई बात नहीं … पहले तुम मुझे समझना चाहती हो तो क्या मुझसे मिलना पसंद करोगी?वो बोली- नहीं पहले हम दोनों सिर्फ फोन पर ही बात करेंगे. जैसा कि आपने पिछली कहानी में पढ़ा था कि नैना और मैं सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे थे.