हिंदी पिक्चर बीएफ हिंदी में

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी बीएफ पिक्चर भेजो

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी एक्स एक्स कॉम: हिंदी पिक्चर बीएफ हिंदी में, करीब 15 मिनट वो बहुत ज्यादा गर्म हो गई और वह चिल्लाने लगी- डालो प्लीज… कुछ डालो मेरी चूत में!मैं और जोर से चाटने लगी और उसने मेरे सर को पकड़ लिया और अपनी चूत में धक्का मारने लगी और बहुत तेजी के साथ वह मेरे मुँह में अपनी चूत को ऊपर नीचे करते हुये झड़ गई और उसकी चूत का सारा पानी मेरे मुँह में चला गया.

कुत्ता और बीएफ

मैंने जूली को अपने ऊपर लिटाये हुए उसके मम्मे चूसने शुरू किये और साथ ही उसके चूतड़ों को सहलाता और भींचता रहा. लेडीस घोड़ा का बीएफनाश्ते के दौरान जैसे ही उसने मौका देखा तो मेरे पास आयी और बोली- तुम लोग कितना हल्ला गुल्ला करते हो… रात भर सोने नहीं दिया तुम दोनों के शोर ने… सारी दुनिया को पता लग गया होगा कि आप किरण को जूसी रानी कहते हैं.

इतनी हसीन गर्म जिस्म वाली कामुक लेडी अगर पास में सोई हो तो नींद कहां से आती है. सेक्सी बीएफ ब्लू फिल्म दिखाइएमेरे अन्दर समा गई, पर मैं पूरी मस्ती में मदहोशी में थी, तो चाचा का लौड़ा चूसने लगी और चाटने लगी.

पर मैंने और तेज़ कर दी, जिसे वो झेल नहीं पायी और मूतते हुए झड़ने लगी.हिंदी पिक्चर बीएफ हिंदी में: और मैं हल्के हल्के से अपनी बुआ की बेटी के स्तनों के साथ खेलने लगा।मैं और वो थोड़ा दूर थे इसलिए थोड़ी परेशानी हो रही थी, मैंने हाथ हटा लिया तो वो तड़प उठी और उठकर बैठ गई क्योंकि कमरे में सब थे इसलिए कुछ बोली नहीं, बस उठकर बाहर चली गई.

थोड़ी देर ऐसे ही करने के बाद वो मेरी बुर पे हाथ ले गया, पर पेटीकोट की वजह से ठीक से नहीं सहला पाया तो उसने मेरे पेटीकोट और ब्लाउज को भी उतार दिया.मैं बोली- तेरे दोस्त का क्या नाम है?उसने बताया- अंकित शुक्ल नाम है.

बीएफ सेक्स मूवी चुदाई वीडियो - हिंदी पिक्चर बीएफ हिंदी में

प्रिय पाठको, मेरी कहानी माँ बेटा सेक्स की है, मेरा नाम प्रभा है, मैं 37 साल की विधवा हूँ.मेरा लंड सील तोड़ता हुआ सीधा अन्दर घुस गया और पम्मी के मुँह से एक हल्की सी चीख निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’अगले 5 मिनट तक मैं और निक्की उसके चुचे चूसते रहे.

फिर भी उसकी कराहें निकल रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो एकदम से अपने हाथों से बिस्तर की चादर को पकड़ कर खुद को ऐसे किए पड़ी थी मानो उसकी चूत में कोई धारदार गर्म चाकू घुसा पड़ा हो. हिंदी पिक्चर बीएफ हिंदी में इतना सुनते ही दिनेश ने मेरे मुँह से अपना लंड बाहर निकाल कर सीधे उठकर मेरे पीछे पीठ की तरफ आके मेरे से लिपट गया और उसने अपना लंड मेरे कूल्हों को फैला कर गांड के छेद पर रख दिया.

उसके साथ करीब 3 महीने तक चला था मेरा!स्मिता- तुम्हारा बेस्ट सेक्स एक्सपीरियंस क्या था आज तक का?वरुण- मेरा बेस्ट सेक्स एक्सपीरियंस मम्मी की सहेली के साथ था.

हिंदी पिक्चर बीएफ हिंदी में?

मम्मी आआह… ऊईईईई… हा हाँ… चाटो… राजा जी चाटो ना!मम्मी चिल्लाती हुई बोली- अब डालो ना!ससुर जी ने मम्मी के ऊपर लेट गए, मम्मी ने ससुर जी के लंड को अपने हाथों से अपनी चूत पर सेट किया, बोली- फाड़ दो राजा जी!दीदी के ससुर जी धक्के मारने लगे, मम्मी की चुचियाँ हिल रही थी, पट पट पट की आवाज आ रही थी, मम्मी आआह आआह कर रही थी, ससुर जी बीच बीच में लंड चूत से निकाल कर चूत के दाने पर रगड़ रहे थे. मैं हैरान हो गई, तो उसने मुझे बताया कि वो अपनी गर्लफ्रेंड को भी चोदता है तो कंडोम लगा कर चोदता है. मैंने एक हाथ में ढेर सारा तेल डालकर उनकी पीठ पर दोनों हाथों से मालिश करना शुरू कर दिया.

जब मैंने उनसे खुद को छुड़ा कर पूछा कि आप ये क्या कर रही हैं?अब भाभी ने मुझे गुस्से में कहा- ओये भोसड़ी के. उसने अपना माल मेरे मुँह में छोड़ दिया और निढाल हो गयी, लेकिन मेरा नहीं हुआ था. शाज़िया ने चाचा को पीछे धकेलने की कोशिश की मगर चाचा नहीं हटे और तब तक उनके लण्ड से निकले माल की एक एक बूंद को शाज़िया पी नहीं गयी।इधर मेरी चूत ने भी पानी की नदी बहा दी।चाचा उसके मुंह से लण्ड निकाल कर वहीं लेट और लण्ड निकलते ही शाज़िया खांसते हुए बाथरूम में भाग गई और अपना मुंह साफ करके वापस आकर चाचा के पास लेट गयी.

फिर मैंने एक दिन मुस्कान से पूछा कि जानू अब एक डेट पर चलें, अब बहुत मन हो रहा है प्यार करने का. वो मैं अगली कहानी में बताऊंगा कि कैसे हम दोनों ने उसकी चुत चोदी।दोस्तो, इस तरह से मैंने अपनी जिन्दगी की पहली चुदाई की।आपको मेरी सेक्स स्टोरी कैसी लगी मुझको अवश्य बताइयेगा।[emailprotected]. मैंने उनके लंबे बालों को अपने हाथ में समेट कर उनकी गर्दन को खींचा और उनके बाल पीछे की तरफ खींचते हुए उनकी गांड की कुटाई शुरू कर दी।उनके गोरे चूतड़ों को लाल करते हुए अनायास ही मेरे मुंह से निकल गया- ले बहन की लोड़ी… बना अपने गांड को गोदाम।लगातार 50 झटके मैंने अपनी बहन की गांड में दिए, उनकी गर्दन को बालों से ऊपर की तरफ खींचने के कारण उनके तीखे तीखे स्तन टेबल और हवा के बीच में झूल रहे थे.

तभी उसने वो पेपर मेरी तरफ़ फेंक दिया तो मैंने भी झट से उसी के अंदाज उस कागज के टुकड़े को अपनी अंडरवियर में डाल के हिलाने लगा और उसी में अपना सारा मुठ निकाल कर रस से गीला करके उसकी और फ़िर से फेंक दिया. भाभी ने मुझे सहयोग दिया और बस इसके बाद हम दोनों में चूमाचाटी होने लगी, लंबी किसबाजी चलने लगी.

उसने ऐसा ही किया, वो मेरे ऊपर बैठी और दोनों पाँव मेरे अगल बगल डाल दिए.

मैं हांफने लगी और अब उखड़े हुए स्वर में बोल रही थी, बिल्कुल अलग टूटी आवाज से- कमलेश सर प्लीज छोड़ दीजिए मुझे.

हमारे यहाँ की रीतियों के अनुसार जब किसी की मृत्यु हो जाती है, तो 12 दिनों तक बेड पर सो नहीं सकते. आज मेरी मुराद पूरी हो गई थी, जो मैंने सोचा था किसी आंटी के साथ सेक्स करने की. मैंने उसे पीछे से पकड़ा और उसकी गर्दन में किस करके उससे बोला- राज के सामने ही बदल लेती, इतनी शर्म क्यों?वो भी मजाक में बोली- जाओ बुला के लाओ, उसके सामने बदल लूंगी!हम दोनों हँसने लगे.

अब मैं उसके बच्चे को क्लास देने उसके घर जाता हूं और मौका मिलते ही उसकी भी क्लास ले लेता हूं. मुझे देख कर वो कहता था कि तुम्हारे आने से रूम में बहुत गर्मी आ जाती है. वहां पर भीड़ भी बहुत थी और जो लड़कियों की लाइन थी, वो हमारे उल्टे हाथ की तरफ थी.

फिर 5-10 मिनट तक लगातार राहुल ने मेरी चूत में झटके दिए और गिनती की 6 पिचकारियां मेरी चूत में छोड़ दीं, जिनका मुझे पूरी तरह से अहसास हो रहा था.

मैंने अपनी शर्ट उतार दी, तो वो मेरे पास आई और कहा- अरे वाह, तुम तो कसरत करते हो. पद्मिनी ने कहा- बापू टीचर के साथ कुछ ख़ास नहीं है… वह मुझको क्लास में बहुत देखता रहता था. वह बोली- उसने अन्दर किया और मुझे जोर का दर्द हुआ, मेरे अन्दर से खून आने लगा और उसने जबरदस्ती तीन चार बार आगे पीछे करके अपना पानी छोड़ दिया था.

मैंने पूछा- उसके बाद कभी किया?उसने बताया- उसके बाद मैंने उसे कभी नहीं करने दिया. मैं जल्दी से सीमा और सुजाता के पीछे पीछे कुछ दूरी रखकर जाने लगा था. उसने भी मेरा लंड पकड़ कर अपनी चुत की फांकों में फंसाया और मैंने उसी वक्त तेज ठोकर दे मारी.

रोहन के स्कूल से आने का टाइम हो चुका था। हम दोनों जल्दी से उठे और एक साथ नहाने के बाद एक-दूसरे को किस किया। मैं अपने कमरे में लौट आया।मेरी सेक्स स्टोरी पर प्लीज़ कमेंट्स मेल से भेजिएगा।नेहा आंटी की चूत चुदाई की कहानी में आगे बहुत कुछ है।[emailprotected].

खाने के बाद मैंने जूली को फिर से अपनी गोद में बिठा लिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा, उसकी चूचियाँ भी दर्द करने लग गई थी. अब वो अपनी चूत में बस की रफ्तार के साथ मेरी भी रफ्तार महसूस कर रही थी और मस्ती से गांड उछाल उछाल कर मेरे साथ दे रही थी.

हिंदी पिक्चर बीएफ हिंदी में सुनीता ने बताया कि वो हमारे शहर के एक बड़े बिज़नसमैन के घर काम करती है, जिनका नाम बृजेन्द्र शुक्ला है. इसके बाद उसने अपने लंड पर थूक लगाया और मेरी चुत की फांकों में लंड का सुपारा रगड़ने लगा.

हिंदी पिक्चर बीएफ हिंदी में कुछ देर लेटे रहने के बाद वह बाथरूम गई और नहा धोकर, अपनी यूनिफार्म पहन कर जाने लगी. शीतल फिर रात का खाना बनाने में जुट गयी, मयूरी अपने कमरे में जाकर कमरे का तापमान चेक करने लगी.

वो एक हाथ से मेरा लौड़ा हिला रही थी और एक हाथ मेरी गोटियों से खेल रही थी.

हिंदी सेक्सी ब्लू देहाती

फिर मैंने उनकी पैंटी निकाली और गांड पर अपना मुंह ले गया… क्या मजा आया मुझे दोस्तो!और आंटी ‘विक्की… आह्ह औऊ अहह ई उऔउ…’ कर रही थी. मेरा भी दिल कर रहा था कि आंटी के ऊपर हाथ फेर लूँ, पर मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी. मैंने पूछा- कहां जाना है?तो उन्होंने बोला- बस मुझे अपनी एक फ्रेंड से कुछ खास काम से मिलने जाना गोवा है.

एक घंटे यूं ही बातें होती रहीं, फिर उसने फोन पर खाने का आर्डर दे दिया और मैं फिर से उसको पकड़ कर बेडरूम में ले गया. हां लेकिन साथ ही ये भी ध्यान रखें कि जोश में कभी होश न खोएँ और जवानी के जोश में कभी कोई ऐसी ग़लती न करें जिसके लिए आपको उम्र भर पछताना पड़े. फिर हम दोनों बाथरूम में गए, एक दूसरे को साफ करके सोनम को एक बार गोदी में उठा कर दीवार के सहारे लगा दिया.

उनका गोरा कसा हुआ बदन देख कर मेरी दबी हुई काम वासना हिलोरें मार रही थी.

प्रभु तो काँप रहा था उत्तेजना में… अब उसने उसके लौड़े को तेज़ी से चाटने शुरू किया. आप भी मेरी सखी के शब्दों में पढ़ें!दोपहर को दो बजे के बाद जब मैं बाथरूम से वापिस आकर ससुर जी के पास गयी, तब उन्होंने मुझे खाने की मेज़ पर लेटने को कहा और बाथरूम में चले गए, वहां से वह एक मग में गर्म पानी तथा शेविंग का सामान लेकर आये. इसी बीच वो मेरे ऊपर आ चुका था और उसने मेरी कमीज़ को भी उठा कर मुझे आधी नंगी कर दिया था.

मेरी चुदाई की कहानी वासना से सराबोर कर देने वाली है, आप अपने मेल मुझे भेज सकते हैं. उसी दिन हमने मिलने का प्लान बनाया!हम दोनों ही एक दूसरे से मिलने के लिए बेताब थे, एक दूसरे से मिलने के लिए तड़प रहे थे. वो दोनों इंग्लिश और हिंदी में अपने अपने पतियों को गालियां भी दे रही थीं कि साले नामर्द पति इतनी खूबसूरत चुत भी नहीं चोद पा रहे है भैन के लौड़े… और ये हरामी इतना बड़ा लंड घर में अपनी गांड में घुसाए बैठा था.

जल्दी-जल्दी कपड़े पहने और फटाफट से माहौल को सामान्य करते हुए अपने अपने बिस्तर पर बैठ गए. परंतु मुझे नींद नहीं आ रही थी और मेरे मन में अपनी बड़ी बहन को चोदने के ख्याल आ रहे थे.

एकदम साफ और गुलाबी फांकें थीं, उसको देखकर मैं सीधा उसकी चुत पर लपक पड़ा और उसकी चूत को चाटने लगा. मैंने कहा- फोन पर ही सुनोगे या मिल कर पूछना चाहोगे?उसने कहा- जैसा आपको अच्छा लगे. वैसलीन, सरसों का तेल, रिफाइन तेल, नारियल तेल पर मेरे खड़े लंड पे धोखा हो गया.

मैंने चैनल बदल दिया तो अनीता दीदी गुस्सा हो गईं और कहने लगीं- तुम अपने लैपटॉप में हीरोइनों की नंगी चुदाई वाली फोटो देखते हो तो कुछ नहीं.

वाह क्या मुलायम और बड़े बड़े चूतड़ थे, जो न जाने कितने दिनों से मुझे दीवाना बना रहे थे. सुबह के करीब 10 बज रहे थे, मम्मी बोली मैं नहाने जा रही हूँ!मैंने कहा- ठीक है, नहा लो!मम्मी करीब एक डेढ़ घंटे तक नहाती थी. मैं भी पहले से बिल्कुल जोश में थी, सो मनोहर से ऐसे लिपट गई, जैसे मेरे जिस्म में और मनोहर के शरीर में कोई अंतर ही न हो.

मैंने फ़िर उसे चूमना शुरू किया और चूमते चूमते मैं उसकी चूत तक पहुँच कर बुर चाटने लगा. फिर उसकी सलवार का नाड़ा पकड़ कर खींच दिया तो उसकी सलवार सर्र से नीचे गिर गयी.

जैसे ही मेरे नंगे पेट पर उसके हाथों का स्पर्श हुआ, तो मैं एकदम सिहर गयी. मैंने उससे पूछा- तुम्हारे बॉयफ्रेंड का लंड कितना बड़ा था?तो उसने बताया- उसका तो साले का बहुत ही पतला और छोटा सा था, आप से तो आधा भी नहीं था. मैंने उसको होंठों पे अपने होंठ रख दिए और खूब मज़े से चूसना शुरू कर दिया.

हिंदी की ब्लू सेक्सी फिल्म

उससे पूछने पर पता चला कि वो बिना बुकिंग के बैठी है और वो अकेली ही थी.

अन्दर आते ही लालजी बोला- वन्द्या बता क्या हुआ तेरे साथ सच सच बता?मैं बोली कि तुम दोनों बेवकूफों की बेवकूफी के कारण आज मुझे बहुत बहुत मजा आया, आज पहली बार मैंने अपने सारे अरमान जो अन्दर आ रहे थे, वह अरमान पूरे कर लिए. तब अनुप्रिया बोली- दीदी, यहाँ से कुछ डालने के लिये ले लें?मैंने कहा- यहाँ क्या मिलेगा यार?बोली- देख लेती हूँ!और वह देखने गई और जाकर खीरा और केला ले आई, बोली- दीदी केले को चूत में डालकर खायेंगी और खीरे से चूत को मजा देंगी. अब मैंने उनकी दोनों टांगों को उठाकर अपने कंधे पर रख लिया और अपना लिंग अन्दर डाल कर जोर जोर से झटके देना शुरू कर दिया.

मैंने मेल बॉक्स खोल कर देखा तो उसमें भाई ने मुझसे पूछा था कि तुम्हारी भाभी तुम्हें अपनी भाभी बनाना चाहती है. दिन भर घर का काम करते करते बिल्कुल शाम तक मुरझाए हुए गुलाब की तरह काम वाली बाई की तरह लग रही थी. सिर्फ बीएफ सेक्सीमैं तुम दोनों को देख इतना गर्म हो चुकी थी कि मेरा खुराफाती दिमाग़ मुझे तुम्हारे पास ले आया.

मेरा लंड एक बार फिर से हिलोरें मारने लगा और मामी ने भी मेरी उत्तेजना को पहचान लिया था. अंकित ने जब सुनीता को देखा तो उसने उसका शुक्रिया अदा किया कि उसने मेरी चूत भी उसे दिलवाई.

और बस उन्होंने मुझे अपनी गोद में उठा लिया, बिस्तर पर ले जाकर पटक दिया. इस बार लंड एक बार में उसकी चूत, जिसे उसका मौसेरा भाई फुद्दी कहता था (ये बात उसी ने मुझे बताई) में चीरता हुआ चला गया. शुक्रवार की रात को उन्होंने मुझे फोन करके अपने बंगले पर बुलाया और मुझसे काफी देर तक बात की.

हर एक नए ट्रेनी की तरह मैं भी यह सोच कर खुश था कि अब तो लाइफ सैट हो गई. काफी देर तक किस करने के बाद मैंने उससे बोला कि क्या आज मैं तुम्हारे साथ सेक्स कर सकता हूँ?तो उसने थोड़ा टाइम लेकर जबाब दिया कि हां कर सकते हो अगर मुझे कोई प्रॉब्लम हुई तो वहीं पर रोकना पड़ेगा. मुझसे भी नहीं रहा जा रहा था, मैंने उसको बिस्तर पर लिटाया और लंड को उसकी चूत पर लगा कर एक जोरदार झटका लगा दिया.

अब वो सामान्य हो गई थीं और खुद भी गांड उठा कर लंड को अन्दर तक लेकर चूत का भोसड़ा बनवाने की कोशिश करतीं.

इसके बाद मैंने अपना लंड आंटी की बुर के मुहाने पे रख दिया और बोला- जानू धीरे धीरे चढूं कि एकदम से पेल दूँ?वो बोलीं- अरे मेरे राजा जैसे चढ़ना है चढ़ जाओ. उनकी तेज आवाज से ऐसा लग रहा था कि पूरे मोहल्ले के लोगों को बुला लेंगी.

अपनी उंगली के इशारे से पद्मिनी ने मुस्कुराते हुए चेहरे पर लाली लिए बापू के लंड की तरफ उंगली दिखाई. थोड़ी देर मैं उसकी गान्ड मारते अपनी दो उंगलियाँ उसकी भभकती चूत में घुसा दी. मैंने उसके बारे में पूछा तो उसने बताया कि वो अहमदाबाद की रहने वाली है.

मैं धीरे से एक आँख खोल कर देख रहा था, वो मेरी तरफ देखते हुए निकल गईं. उनकी चूत का रस लेने के बाद मैं उनके ऊपर आ गया और उन्हें चूमते हुए अपना लिंग उनकी योनि से रगड़ने लगा. क्या नजारा था दोस्तो… क्या बताऊँ! मुझे वो मिल गया था जिसे मैं कितने दिनों से चूसना चाहता था।उसने अंदर सफेद रंग की ब्रा पहन रखी थी, क्या कयामत लग रही थी वो!मैंने उसे थोड़ी देर तक देखा और फिर उसकी ब्रा से बाहर दिख रही चूचियों को चूमना, चाटना शुरू किया.

हिंदी पिक्चर बीएफ हिंदी में नहाते समय रजत विक्रम का लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और तीनों फिर से नहाते-नहाते ही चुदाई करने लगे. अपनी बहूरानी को राजस्थानी बंजारिन के भेष में देखकर उन्हें इसी रूप में चोदने को मन मचलने लगा.

सेक्सी वीडियो बीएफ भेजना

तब अनुप्रिया बोली- दीदी, यहाँ से कुछ डालने के लिये ले लें?मैंने कहा- यहाँ क्या मिलेगा यार?बोली- देख लेती हूँ!और वह देखने गई और जाकर खीरा और केला ले आई, बोली- दीदी केले को चूत में डालकर खायेंगी और खीरे से चूत को मजा देंगी. उनकी बातें सुनकर अपनी मम्मी के बारे में जाना तो मुझे बिल्कुल भी नहीं आश्चर्य हुआ. वैसे तो शारीरिक रूप से बहुत बलवान दिखता है क्योंकि बुआ उसको खूब खिलाती पिलाती रहती हैं.

उसकी हर ख्वाइश और हर सपने में सिर्फ मैं ही रहूंगी, ऐसा सभी कहते हैं. फिर वो मेरे मम्मों को अपने मुँह में लेकर बारी बारी से चूसने लगे तो मैं ‘आहा ऊउंह ऊम्मंह आहाआ ऊउन्न्ह ऊम्म्ह. हिंदी एक्स एक्स एक्स सेक्सी बीएफ वीडियोआँटी मेरे कपड़े उतारने लगी, उन्होंने बड़े प्यार से मुझे नंगा किया और ललचाई नजर से मेरे जिस्म को निहारने लगी.

फिर उनके चूतड़ों के नीचे एक तकिये को रखा तो उनके चूतड़ ऊपर की तरफ उठ गए, जिससे मामी की चूत और गांड साफ दिखाई दे रहे थे.

लेकिन आग तो लग चुकी थी, भले ही वो मना कर रही थी, लेकिन उसकी चुत में भी चुनमुनी तो हो ही रही थी. आप लोग जानते ही हो कि जब बस पहाड़ी रास्ते में चलती है, तो बस हिलती डुलती है.

मुझे अपना टाइम नज़र आने लगा, जब मेरे पति ने मुझे नंगी कर के भेड़ियों के आगे फैंक कर मेरी पिक्चर बना कर सब को दिखा कर मुझे घर से निकलवा दिया. पम्मी की सगाई हो चुकी थी और वो मॉडर्न ख्यालात की थी, पर जरा नैरो माइंड फैमिली से थी. शराब पीते वक्त उनकी हरकतें कुछ नॉटी सी हो रही थीं, मेरे दोस्त की सेक्सी मॉम मुझे एडल्ट जोक सुनाने लगीं और बार बार झुक झुक कर अपने मम्मे दिखाने लगीं.

तब उं दोनों को चाचा बोले- अरे कमीनो, अब देख लिया है तो जाकर दरवाजा तो बंद कर आओ.

मैंने पूछा- क्यों?वो बोले- कल मैं सोनी मोनी को एग्जाम दिलाने राँची ले जा रहा हूँ. इस बीच मैं उसे बहुत किस करता, उसकी चूची को कपड़ों के ऊपर से दबा देता. उनकी धमकी से मैं बेहद डर गई और चाचा से बोली- ठीक है चाचा पर सिर्फ दो मिनट के लिए ही.

बीएफ वीडियो छोटी लड़की कीबातों का दौर शुरू हुआ, फिर भूख लगी सो सबने साथ में बैठकर खाना खाया, फिर सोने की तैयारी होने लगी. सैमी मुझे और चोदना चाहता था, लेकिन मेरी चूत में तो बहुत दर्द हो रहा था.

सेक्स हिंदी बीएफ

मैंने बिना समय गंवाए उसके पैर फैलाते हुए ऊंचे कर दिए ताकि उसे ज्यादा दर्द न हो. वो लपक कर मेरी गोदी में आ गईं, उनकी दोनों टांगें मेरी कमर से लिपटी हुई थीं. इतना कह कर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए और खुद को मनोज के हवाले कर दिया.

हर कोई तुझे चोदने के लिए पागल रहता होगा, वन्द्या भैन की लौड़ी तेरे से मस्त माल, तेरे से बड़ी छिनाल. रूबी बोली- मेरे जैसों को ठरकी बूढ़े ही ज़्यादा मिलते हैं, तुम्हारे जैसे जवान कम ही मिलते हैं. मुझे लगता था कि बहुत ही ज्यादा घमंडी किस्म का लड़का है, इसलिए मैं उससे बिल्कुल बात नहीं करता था और ना ही वह मुझे पसंद था.

वो भी हॉट हो गईं और उन्होंने मुझे बेड पर धक्का देकर गिरा दिया।मैंने उन्हें किस करना शुरू कर दिया। उन्होंने मुझे रोककर बोला- ऐसे क़िस नहीं करते. फिर उन्होंने मुझसे पूछा कि तुमने उसके साथ कुछ किया है?तो मैं अनजान बनने की एक्टिंग करते हुए बोला- क्या मतलब?इस बात पर भाभी ने अपनी जांघ खुजाने का बहाना करते हुए अपनी बेबी डॉल को और ऊपर तक चढ़ा लिया. कोमल अपनी फ्रेंड के पास चली गयी और मैं सिगरेट पीने के लिए थोड़ा बाहर निकल गया.

उन्होंने दुबारा चार्जर के बारे में पूछा, तो मैंने चार्जर लाकर उनके हाथ में थमा दिया और उनका चेहरा देखने लगा. जीजा जी ने पहले तो मना कर दिया, मगर दीदी के बार बार कहने पर उन्होंने कहा कि ठीक है.

तभी अचानक से उसकी नींद खुली और वो मुझे जागता देख कर पूछने लगी- अभी तक क्यों नहीं सोये?मैंने उससे कहा- तुम सो रही थी तो मैं तुम्हें देख रहा था.

और जाते जाते मुझे आँख मारती हुई बोली ‘नाईस कॉक!’वरुण- स्मिता, तुम्हारा बेस्ट सेक्स एक्सपीरियंस क्या था आज तक का?स्मिता- मेरे बॉयफ्रेंड ने पार्टी दी थी. कुत्ते वाले बीएफतीनों जल्दी जल्दी उठे और कपड़े पहन कर मुझसे बोले- चलो वन्द्या फिर मौका मिलते ही तुझे मिलेंगे. दरभंगा सेक्सी बीएफउन्होंने अपने दोनों हाथों से मेरे दोनों मम्मों को पकड़ कर तेजी से दबाना चालू कर दिया. वो भी अब अपने मम्मे मेरी पीठ पर घिस रही थी, अपने हाथों से मेरे लौड़े को सहला रही थी.

जब 2 घंटे बाद मैं उससे मिलने पहुंचा तो देखा कि निक्की अकेली नहीं थी, पम्मी भी उसके साथ थी.

जैसे ही वरुण ने दरवाजा खोला, मैं हैरान रह गयी, रूम फूलों और मोमबत्तियों से सजा हुआ था और बहुत ही अच्छी खुशबू आ रही थी, यह खुशबू मुझे और भी उत्तेजित कर रही थी. फिर मैंने एक बार और उसी समय उसके साथ सेक्स किया और अबकी बार उसने मेरे लन्ड को भी चूसा था. मैंने उन्हें गुड मॉर्निंग बोला और रिपोर्ट उनके हाथ में दे दी- मैडम, प्लीज़ यह रिपोर्ट सर को दे देना.

उसकी बात सुनकर मैं चुप रहा तो वो फिर से बोला- उनको बोल दे, मुझे टाईम लगेगा, वो वहीं पे रूके. इत्तेफाकन उसकी मां का जन्मदिन था तो उसने मुझसे कहा कि आज मेरी मम्मी का जन्मदिन है. अचानक उन्होंने मुझसे पूछा- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?तो मैं चौक गया पर उत्तर दिया- मैं हॉस्टल में पढ़ा था और वहाँ लड़कियां नहीं थीं, इसीलिये कोई बनी नहीं.

sexxxi वीडियो

मेरी टीचर ने मुझे पढ़ाई के बहाने से सेक्स कहानियों की किताब देकर पढ़वाई और फिर मुझे अपनी वासना का खिलौना बनाना चाहा, मेरे मुँह में अपना लन्ड चुसवाया, फिर मैंने खुद गुड्डे गुड़िया की शादी का खेल खेलने के बहाने से अपनी दीदी के बेटे, उसके दोस्त और अपनी मौसी के लड़के से अपनी कामुकता का इलाज करवाने का सोचा, पर मेरे पड़ोस के एक चाचा और उनके दो दोस्तों ने मुझे देख लिया था. उन्होंने फिर मुझे कहा- तुमने मेरा यह सफ़र बहुत ही खुश खुशनसीब बना दिया. फिर उसने बस के कंडक्टर से अपना टिकेट चैक कराया तो पता चला वो तो मेरे ही बगल वाली डबल सीटर पर थी.

मंजू सिसकारियाँ लेने लगी- ओहह…अब मैंने मंजू को बिस्तर में पेट के बल लेटा दिया और मंजू अब मुझे अपने ऊपर खींचने लगी, जाहिर था कि गैर मर्द से चुदाई की बात सुन कर वो भी ललचाई हुई थी.

मुझे सेक्स में गालियां देना और सुनना, नंगेपन की हद तक जाना बेहद पसंद है.

वो मेरी बांहों में वैसी ही लेटी रहीं और हम दोनों वैसे ही नंगे बिस्तर पर लेटे रहे. नंगा गर्म लंड देख कर मैं सोचने लगी कि इतना बड़ा और मोटा … मेरी तो फट जायेगी. सुंदर देसी बीएफफिर उसकी सलवार का नाड़ा पकड़ कर खींच दिया तो उसकी सलवार सर्र से नीचे गिर गयी.

उनके जाते ही मैंने जूही को कॉल किया और कहा- घर के सब लोग बाहर गए हैं. आंटी बोलीं- कोई आ जाएगा?पर मैंने बोला कि आप जल्दी से कुर्ता नीचे करके सोने का नाटक करने लगना और मैं चला जाऊंगा. उसको कुछ नहीं आता था, तो सर ने उसको मेरे साथ रख दिया ताकि मैं उसको कुछ बता सकूं.

वो बोल रही थी कि कब से इसका इंतजार ही तो कर रही थी, तुम कितने अच्छे हो. मेरे 2 बच्चे है, एक बेटा सोनू 19 साल का और बेटी शिवानी उससे छोटी है.

मैंने भाभी को बताया कि अब 20-25 दिन घर में ही हूँ तो भाभी मेरे पास आने का बोला.

मुझे देख कर उसने एक हल्की-सी स्माइल देकर हैलो कहा और अपनी सीट पर अपनी बेटी को चढ़ा कर खुद भी चढ़ गई. कुछ भी नहीं… दोनों को इस वक्त कुछ भी याद नहीं था; दोनों बस एक दूसरे के हो जाना चाहते थे. विक्रम ने अपना लंड मयूरी के मुँह में डालकर उसके मुँह की चुदाई करने लगा.

देहाती चोदने वाली बीएफ उन्होंने मेरे दोनों हाथ पीछे करके पकड़ लिए और ज़ोर ज़ोर से मेरी गांड में लंड के धक्के मारने लगे. वो तो यूं धत्त कह के निकल लीं, जाने से पहले एक बार मुस्कुरा के कातिल निगाहों से मुझपर एक भरपूर वार किया और कूल्हे मटकाते हुए चलीं गयीं और मैं उनके थिरकते नितम्ब ताकता रह गया.

दोपहर की चुदाई को 10 दिन से ज्यादा होने को थे, और दो बार बॉयज होस्टल में लाने के बाद मेरी हिम्मत ओवर कॉन्फिडेंस में बदल गयी. भाभी बोलीं कि आज मुझे मेरी चूत की मस्त चुदाई करवानी है, तो पहले मैं आपके लंड को एक बार मुँह में डाल कर पानी निकाल देती हूँ, फिर दुबारा से आपका लंड मेरी चूत की अच्छे से चुदाई भी करेगा और आप मेरे को अच्छे से गर्म भी करना. मगर मेरे दिल में अभी भी यह ख्याल था कि मैं इसके बाप से चुदी हुई हूँ.

बीएफ हिंदी एचडी व्हिडिओ

वो इसलिए, जो लड़कों और लड़कियों की लाइन थी, दोनों एक ही तरफ मुड़ी हुई थीं. ऐसा ही चलता रहा, एक दिन रवि की रात को तबियत खराब हो गई तो भाभी ने तुरंत मुझे फ़ोन लगाया. 30 बज रहा था इसलिए ज्यादा विस्तार में पूछे बिना हमने कपड़े पहने और अपने अपने बिस्तर पर लेट गए.

मैंने उसे अपने दोनों हाथों से अपनी बांहों में उठा लिया और उसी झाड़ी में ले चला. उसने मुझे बेड पर लिटा दिया, मेरे पैर में दर्द हो रहा था और मोच आ गई थी.

मुझे पता था कि हम दोनों का पहली बार है तो इसलिए मैं उसके मुंह को अपने मुंह में लेकर चूमने लगा और अचानक ऐसे ही उसे चूमते हुए एक जोर का धक्का लगाया, मेरा लन्ड उसकी चूत को चीरता हुआ अंदर चला गया.

एक रात मैं फ्रिज के पास खड़ी होकर अपनी चूत में खीरा अंदर बाहर कर रही थी तो ऊपर से मौसा जी आ गए. तभी उन्होंने अपनी उंगली से मेरी फूली जगह, जिसके अन्दर पुसी या चूत होती है. मैंने उससे पूछा- क्या आपके यहां बॉडी मसाज हो जाता है?उसने कहा- जी हां, हमारे यहां बॉडी मसाज सेक्शन भी है.

तभी अंकल ने एकदम तेज चुदाई शुरू कर दी थी और वे बोले- अब मेरा निकलने वाला है. ये कह कर मनोज रसोई में चला गया और उधर से वो शहद ले कर आ गया, जिसको उसने मेरी चूत के अन्दर बाहर सब तरफ अच्छी तरह से लगा दिया. फिर उसने अपनी मोटी गांड को थोड़ा सा उठाया, मेरा लंड अपनी मुठ्ठी में पकड़कर अपनी चुत पर सैट किया और उस पर बैठ गई.

मयूरी की चूत बड़ी ही टाइट थी और उसका एहसास रजत को भी हो रहा था पर वो इस समय बस चुदाई में लगा रहना चाहता था.

हिंदी पिक्चर बीएफ हिंदी में: मैं भी ये ठीक समझी क्योंकि बुआ और मम्मी तो शाम को आने वाली थीं, तो मैं भी अपने घर में अकेले अकेले बोर हो जाती. मुझे ऐसा करने में बहुत मजा आता था और वो भी मेरी इस बात का बिल्कुल बुरा नहीं मानती थीं.

मगर मैं धक्के पे धक्का दिए जा रहा था और वह ‘ऊह आह ओह्ह फ़क मी कम ऑन फ़क मी माई राजा …’ बोल रही थी. फिर मैंने उससे अपना लंड चुसवाया औऱ उसकी चुत, जिसे वो फुद्दी बोलती थी. आपको मेरी मसाज सेक्स कहानी कैसी लगी उसके लिए आप मुझे मेल करके अपना सुझाव दें.

अनुप्रिया बोली- दीदी, अब मैं आपके यहाँ जल्दी आऊँगी जिससे कि मैं आपके और आपके सभी चाहने वालों से सेक्स कर सकूँ! खासतौर से आपकी बेटी के साथ सेक्स करूँगी।मैंने कहा- मैं अगर फ्री हुई तो हम दोनों यहीं गुवाहाटी में मिलेंगी किसी होटल में!वह बोली- हाँ दीदी, आप मुझे फोन जरूर करना!और हम दोनों रोज बात करने लगी.

हम रात को तो नंगे होकर ही सोते हैं और बिना चुदाई किए तो सोते ही नहीं हैं. तो वो डरते हुए बोलीं- अरे मैं तो मजाक कर रही थी, तेरी शक्ल देखकर ही पता चल गया था कि तूने कभी कुछ नहीं किया होगा और थोड़ा नर्वस भी लग रहा था. कॉलेज में सब लोग हमसे जलने लगे थे, शायद कॉलेज के कुछ लोगों को हमारी दोस्ती नहीं पसंद थी.