बीएफ सेक्सी इंग्लिश वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,तेलगू सेक्स तेलगू सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

अंग्रेजी सेक्सी नंगी: बीएफ सेक्सी इंग्लिश वीडियो बीएफ, जब चूत की चुदाई की भूख भरने लगी तो अब ध्यान गांड की चुदाई पर जाने लगा.

એચડી સેક્સ વીડિયો

उनकी ये बात सुनकर मुझे समझ आया कि ये किस प्रोग्राम की बात कर रहे थे. मोटी आंटी चुदाईप्रिय मित्रो, नमस्कार … मैं राकेश, ये अन्तर्वासना पर मेरी पहली सेक्स कहानी है.

जैसे ही उसने कमीज उतारा, मैं उसकी ब्रा पर टूट पड़ा और उसकी ब्रा के ऊपर से उसके चूचों को दबाते हुए उसके होंठों को काटने लगा. मराठी पोर्न वीडियो… मगर सब झूठ, अगर इतना ही लाइक करते, तो आज तक प्रोपोज क्यों नहीं किया.

जिन लोगों को भी भाई-बहन की चुदाई पसंद है वो अपनी दीदी की चूत का मजा लो.बीएफ सेक्सी इंग्लिश वीडियो बीएफ: अब मुझे मजा आने लगा और वो मेरे दूध को दबाते हुए मुझे जोर से किस करने लगा.

पीछे युवराज ने मेरी साड़ी और पेटीकोट कमर तक ऊपर कर दी थी। अंदर पैंटी नहीं थी तो मेरे नितंब उसके सामने नंगे हो गए थे, नितिन मजे से उन को दबा रहा था, उन गोलाइयों पर किस करते हुए उन्हें दाँतों से काट रहा था।ससऽऽह… धीरे… काटो मत…”सॉरी भाभी… आपकी गां… आप के कूल्हे … हैं ही इतने परफेक्ट … जी कर रहा है कि खा जाऊं … जरा सीधी होना … आपकी चूत देख लूं …”इधर नहीं रे … चल बैडरूम में चलते हैं.मेरे मुंह से हां सुनकर वो हल्के से मुस्कराई और बोली- आइये न, अंदर बैठिए.

सेक्सी मोटी वाली - बीएफ सेक्सी इंग्लिश वीडियो बीएफ

मैं ईश्वर की सौगंध खाकर कहती हूं कि मेरे द्वारा लिखी जा रही आपबीती इस कहानी में एक भी शब्द झूठ नहीं है.हम दोनों सोफे से उतर कर फर्श पर आ गए और बिछड़े प्रेमियों की तरह लिपट कर किस करने लगे.

फिर मैं तैयार होकर बाहर से खाना पैक कराने चला गया क्योंकि हम दोनों ही बहुत थके थे. बीएफ सेक्सी इंग्लिश वीडियो बीएफ मेरे लन्ड में दर्द होने लगा था और ज्यादा जोर लगाने से ऐसा लग रहा था जैसे मेरे लन्ड की पूरी खाल छिल कर अलग हो जाएगी। मैं समझ सकता था कि उसे भी ऐसा ही खिंचाव चूत में लग रहा होगा.

मैंने अन्दर घुसते ही उन्हें कमर के बल से खींच लिया और अपनी गोद में उठा कर उनके होंठों पर अपने होंठों से मधुर प्रहार करना शुरू कर दिया.

बीएफ सेक्सी इंग्लिश वीडियो बीएफ?

वो मेरे चेहरे की तरफ देख रही थी और मैं उसके चेहरे को पढ़ने की कोशिश कर रहा था. मैं जैसे ही वहाँ पहुंचा तो संजना मुझे ऋषि (संजना का बेटा) के साथ दिखाई दी. मैं बोला- हां दर्द तो होगा लेकिन थोड़ा सा … उसके बाद अच्छा लगेगा तुम खुद ही देखना।ऐसा बोलते हुए मैं अपना लंड उसके मुंह के पास ले गया और बोला- अब इसे अपने मुंह में लेकर चूसो.

अपने दोनों हाथों की कुहनियों को घुटनों पर टिका कर अपनी ठुड्डी उस पर सेट कर रखी थी. हालांकि उसके मन में अभी भी कुछ डर बाकी था, लेकिन साथ ही उसे मुझ पर भी पूरा भरोसा था. अब अंकल नीचे लेटे हुए थे और मैं उनके लंड पर बैठा हुआ था, जिससे अंकल का लंड सीधा मेरी गांड में अन्दर तक घुस गया था.

वो इंजिनियर थे और उनको लोग बहुत मानते थे क्योंकि वो अच्छे कंपनी में काम करते थे. पंकज सारिका के होंठों से जुड़ गया और एक हाथ से उसके निप्पल दबाने लगा. मेरे गांव में मुझे बहुत सारे लड़के पसंद करते हैं क्योंकि मेरा फीगर बहुत ही शेप में है.

उसके जाने के बाद मैंने बिस्तर पर बिछी चादर को बदल कर बाल्टी में भिगो दिया ताकि किसी को मेरी चुदाई के बारे में शक न हो. मैंने इस बार लंड बाहर निकाल लिया और हाथ से हिलाते हुए सारा वीर्य उसकी पीठ पे डाल दिया.

मैं भी जानता हूं कि यह मुश्किल है लेकिन मैं भी तुम्हारी चुदाई की सभी बातें किसी को नहीं बताऊंगा।तुम्हारी मम्मी या किसी को भी नहीं … यह सिर्फ हमारे पास राज रहेगा.

अभी भी वो वहीं खड़ी थी, तो मैंने उसे कहा- जा अब कॉलेज नहीं जाना?तब जाकर वो बाथरूम में घुसी.

चूंकि वो लास्ट इयर था तो उस साल में मैं ज्यादा समय मस्ती करने में ही बिता रहा था. घर ढूँढने में मेरे पिताजी के सहकर्मी की बीवी ने हमारी सहायता की और उनके बाजू वाली बिल्डिंग में ही हमें एक घर मिल गया. वो कभी मेरे सामने भी आती, तो घूंघट में होती, जिसके कारण मेरा आकर्षण उसके प्रति बढ़ता जा रहा था.

घर बहुत अच्छा था और मेरे पिताजी काम के सिलसिले में कभी कभार बाहर जाते थे. मन में जैसे टाइम बम्ब की सुई घूम रही थी, किसी से कुछ कह भी नहीं सकता था. और दोस्तो … जो डर था, वही हुआ।पांच मिनट बाद ही एक मोड़ लेने पर पता चला कि उस रास्ते पर पाइपलाइन का काम चल रहा है और वह रास्ता बंद हो गया है।नितिन तो मानो ग़ुस्से से आगबबूला हो गया था- मैंने पहले ही कहा था कि यह गलत रास्ता है, तुम मुझे जबरदस्ती इस रास्ते ले आयी, तुम्हारी वजह से मैं ट्रेन और नौकरी खो बैठा … बहुत हो गया … मुझे वापिस ले चलो … नहीं तो मैं तुम्हारी ऑनलाइन कंप्लेट कर दूंगा.

मेरे यार संतोष ने बताया- आज रात को मैं तुम्हारी चुदाई करने के लिए आऊंगा.

मैंने पहले ब्लू फिल्म्स में देखा था ऐसा होते हुए, तो मुझे पता था कि अब क्या करना है. मैं उसके एक निप्पल को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा, गालों पर भी हाथ फेर कर उसे प्यार करने लगा. जैसे ही सर ने दरवाजा बंद किया, तो मैं रूम में एक पुतले की तरह वहां खड़ी रह गई.

अब सागर कुछ और ना कह पाया और बोला- अब जो करना है मेरा लंड ही करेगा … करने दो इसको. शबनम ने ऊपर बैठ कर ही अपना मुँह नीचे किया और राजीव के होंठों से चिपट गयी. मैं समझ गया था कि मेरीबीवी की गांडदेख कर अनिल को सेक्स चढ़ने लगा है.

वो इतनी ज़ोर से मेरी ठुकाई कर रहा था, जिससे मेरा पेट और टांगें कांप रही थीं.

अगर मुझे पता भी लग गया, मैं कभी भी उससे इस बात का जिक्र नहीं करूँगी. दीदी की चीख निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने शॉट मारने प्रारम्भ कर दिए.

बीएफ सेक्सी इंग्लिश वीडियो बीएफ अब तक मेरा लंड अपना पूरा आकार लेकर अनिता की मखमली गांड को सलामी दे रहा था. इसके तुरंत बाद कंपनी के काम के सिलसिले में कुछ दिनों के लिए दिल्ली चला गया.

बीएफ सेक्सी इंग्लिश वीडियो बीएफ मैंने पूछा- आप डैड को छोड़ क्यों नहीं देतीं?वो बोलीं- तुम्हारे कारण. वह मुझसे जाते हुए बोला- सुबह तैयार रहना अगर आपको एक्टिवा सीखनी हो तो!मैंने कहा- ठीक है, सुबह आ जाना पाँच बजे.

वो मुझसे गले लग़कर बोली- कहां रहती है यार … कभी मिलने तो आ जाया कर … या चाचा ससुर तुझे हमेशा नंगी ही रखते हैं.

देहाती चुदाई जंगल में

नीलम की चूत को उसके ससुर के लंड ने बुरी तरह से फ़ैला रखा था जिस वजह से हर धक्के के साथ उसकी चूत में इतनी ज़ोर की रगड़ हो रही थी कि मज़े के मारे उसके मुंह से सिसकारियां निकल रही थीं।आआह्ह्ह्ह पिता जी, सच में आप बहुत बड़े बदमाश हैं, बहला फुसलाकर आखिर आपने अपनी बहू को चोद ही दिया” महेश के ज़ोरदार धक्कों से चुदते हुए नीलम ने ज़ोर से सिसकारी लेते हुए शिकायत सी करते हुए कहा. तो फिर हर्ष बोला- मैं आपको सुबह सुबह सीखा दूँगा।मैं ‘ठीक है’ कहकर उसके पीछे बैठ गयी और हम बाजार घूमने के लिए निकल गए. मैंने लंड को उसकी चुत की फांकों पर रख दिया और जोर लगा कर लंड अन्दर डालने लगा.

मैं जैसे तैसे बुआ के घर पहुंचा, तो वहां आंधी की वजह से लाइट भी जा चुकी थी. इसलिए आपसे कहना चाहती हूँ कि मेरी कहानियों पर ‘मुझे भी एक मौका दो’ वाले कमेंट्स करने का कोई फायदा नहीं है. पहले अंकल ने मेरे मुँह को धीरे धीरे चोदा … फिर थोड़ी देर में ज़ोर ज़ोर से चोदने लगे.

मैं भी जोश में था तो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ रहा था। मैं पूरी ताकत से लंड को अंदर घुसाने की कोशिश कर रहा था मगर मेरा सुपारा ही घुस पाया था और उससे आगे लंड नहीं घुस पा रहा था.

उसका सात इंच का लंड मेरी चूत पर लग रहा था तो मैं एकदम से उछल जाती थी. जब उसको चूसते हुए बहुत देर हो गई तो मैंने अपना लंड उसके मुंह से निकाला और उसकी चूत के पास ले गया और उसकी चूत को अपने लंड से सहलाने लगा।वो सिसकारते हुए तड़पने लगी. पहले मैंने उसकी गुलाबी चूत के जी भर के दर्शन किए क्यूंकि किसी लड़की की चूत भी आज मैंने पहली बार ही देखी थी.

पंकज सारिका के होंठों से जुड़ गया और एक हाथ से उसके निप्पल दबाने लगा. एक दिन मौका पाकर मैंने उससे कहा- क्या सेक्स करना चाहोगी मेरे साथ?तो उसने जवाब दिया- कैसे और कहां?मैंने कहा- अगर तुम तैयार हो तो स्कूल के बाथरूम में!लेकिन कैसे?”मैंने उससे सारी बात बताई तो वो उसके लिए तैयार हो गई।मैं उसे लड़कों के बाथरूम में ले गया, दरवाजा अंदर से बंद कर लिया. अब मैं तुम्हें मेरे बेटे का मूसल जैसा लंड देकर शुक्रिया अदा कर दूंगी.

मैंने श्वेता से कहा कि वो मेरे नंगे हो चुके लंड को पकड़ कर एक बार सहला दे. अचानक से उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी गोद में रख लिया और बोली- भैया तुम बहुत अच्छे हो.

तभी वो झड़ गई, मैंने उसका सारा पानी चाट लिया और उसकी चूत चाट कर साफ कर दी. फिर उन्होंने मेरी चूत को चाटना शुरू किया। मेरी चूत की फांक को फैला कर उसमें अपनी जीभ चला रहे थे। वो कभी मेरी चूत के छेद में अपनी जीभ डालते और कभी गान्ड के छेद में।उनकी जीभ मुझे चूत में भी पूरा मजा दे रही थी लेकिन जब वो गांड में जीभ डाल रहे थे तो अजीब सा मजा आ रहा था … बहुत मस्त आनंद दे रहे थे वो; इसलिए मैं दस मिनट में ही झड़ गई. फिर जब हम दोनों 12वीं में आए, तो हमारी प्यार भरी लाइफ में सेक्स ने जगह बना ली थी.

वहीं मेरी मुलाक़ात उससे हुई जो मेरे दिल में, मेरे दिमाग में, मेरे नसों में इस तरह समाई कि मैं बस उसका ही होकर रह गया।बात दिसम्बर के सर्दियों की है, जब मैं ऑफिस से निकल कर अपने कैब का इंतज़ार कर रहा था और साथ ही साथ धुएँ को अपना साथी बनाए हुए था.

अब आगे की कहानी …बाम की शीशी देकर वो वापस अपने कमरे में चली गई लेकिन मुझे अभी भी नींद नहीं आ रही थी. मैंने एक बार तो उसकी एक फांक को काट भी लिया था, जिससे वो उछल पड़ी थी. इस पर मुझे जबाब मिला- आपने हमें अपना समझा कब था?मैंने कहा- तुम कहना क्या चाहती हो?तब तक दीदी चाय ले आईं और उन्होंने कहा- लो चाय पियो.

आंटी को मैं उनके बेडरूम की तरफ लेकर गया ताकि वो उनको आराम से बेड पर लिटा कर आराम करने के लिए कह सकूं. मैं भी यही चाहती थी। मैं उसकी इस बात पर शर्मा गयी।हर्ष थोड़ा सा उठा और उसने पजामे के साथ अपना अंडरवियर भी एक साथ उतार दिया उसका लंड मेरे सामने था.

एक दिन मैंने अपने ममेरे भाई को बाथरूम से निकलते हुए देखा तो मेरा ध्यान उसके जिस्म पर गया. कुछ देर के बाद ही मैंने आंटी को पूरी तरह से गर्म कर दिया और उनकी झांटों वाली चूत में उंगली करने लगा. हम दोनों हड़बड़ा गए; मैंने जल्दी से अपने लोअर को ऊपर किया, हर्ष साइड में बैठ गया.

बीपी सेक्सी व्हिडिओ फिल्म

पहले उनको उल्टा लिटा कर सीधे पैर से गर्म तेल लगाना शुरू किया और अपने हाथों से उनकी कमर तक तेल मल दिया.

आह्ह … उम्म … इतना आनंद … हय… क्या माल थी यार ये पवन की बीवी … पवन तो साला खूब मसलता होगा इसे. राहुल को ऐसा लगा कि सारिका ने आज ही अपनी चूत क्रीम लगा कर साफ़ की है. मुझे वो ज्यादा पसंद तो नहीं आई लेकिन सेक्स करने का ऐसा खुमार चढ़ा था कि पसंद-नापसंद के बारे में सोचने के लिए वक्त ही नहीं था.

फिर मैंने कुछ देर बाद कपड़े पहने और बाहर आ गया।दूसरा दोस्त दोस्त, जो कि बहुत ज्यादा उत्तेजित हो रहा था, उसने जल्दी-जल्दी किया और पाँच मिनट में वह बाहर आ गया।तीसरा दोस्त ने बहुत ज्यादा टाइम लगाया. मैंने कई मिनट तक ऐसे ही चाची के गोरे चूचों के बीच में लंड को रगड़ा. ब्लू फिल्म चुदाई दिखाओउसके मूसल लंड को लेते हुए मेरा हाल बेहाल होने लगा लेकिन मजा भी बहुत आ रहा था.

हम दोनों फिर से एक दूसरे से लिपटकर पति पत्नी की तरह प्यार करने लगे. मेरी इस बात पर उसने अन्जान बनते हुए पूछा- मोबाइल में ऐसा क्या देख लेते हो जो संतुष्ट हो जाते हो?अब मैंने भी शर्म छोड़ते हुए अपना मोबाइल फोन निकाला और पॉर्न वीडियो चला कर उसके सामने कर दिया.

सलहज के द्वारा लंड चुसवाने में जो मजा मुझे आया वो मैं शब्दो में नहीं बता सकता. तो सोनम और मैं हंसने लगी।सोनम बोली- अच्छा ठीक है, फटाफट हो जा तैयार, आज तो और भी बहुत सी चीज़ों के तैयार रहना, कुछ न कुछ हरकत तो पक्का करेगा वो!मैं बोली- ठीक है. उसकी भी आंखें बंद हो गईं और वो मुझे अपने अन्दर बहता हुआ महसूस करने लगी.

परवीन आंटी लंड के करीब आ गईं और अन्दर तक लंड लेकर गले के अन्दर लंड को हिलाने लगीं. अब तक मोहिनी चुप थी, मगर जैसे ही उसकी बेटी ने उन्हें गले लगाया, वो फफक कर रो पड़ीं और बोलीं- मेरी बेटी मुझे माफ़ कर दे … मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ. पापा बोले- मजा आ रहा है न बेटी?मैंने कहा- हां पापा, बहुत मजा आ रहा है.

माँ हर्ष को देखकर बोली- बेटा तुम कब आये?हर्ष- बस आंटी जी अभी आया हूँ.

मैंने फिर से उससे पूछा- अब कहां निकालूं?उसने बोला- मैं आपका दही पीना चाहती हूं, प्लीज़ मेरे मुँह में निकाल दो. उसके बाद भी हम प्यार करने का कोई मौका नहीं छोड़ते थे।अफसोस कि अब भैया भाभी नोएडा शिफ्ट हो गये हैं और अब हम देवर भाभी के बीच फोन सेक्स और पुराने लम्हों को याद करने के अलावा कुछ नहीं होता।देवर भाभी की गर्म चुदाई पर आप अपनी प्रतिक्रियाएं नीचे दिए मेल पर दे सकते हैं। आप लोगों के लिए अपनी कहानियों की पोटली में से फिर कुछ लेकर हाजिर होऊंगा.

उसके पापा से मैंने नमस्ते की और पैर छूने के लिए अपने आपको झुकाया ही था, पर उन्होंने मुझसे सीधे हाथ मिलाया और गले लगा लिया. उसी पल मैंने उसको अपनी तरफ दोबारा से खींच लिया और उसको फिर से अपने पास में ही बेड पर बिठा लिया. मैंने उन्हें बता दिया, तो उन्होंने इशारा किया कि माल मेरे मम्मों पर डालो.

” महेश ने अपनी बहू को गर्म होता देखकर कहा।क्या पिता जी?” नीलम ने नशीले अन्दाज़ में कहा।बेटी सिर्फ एक बार मैं तुम्हारी चूत और और उसके रस को अपने लंड पर महसूस करना चाहता हूं. आइसक्रीम को किनारे रखकर मैंने वाइन की बोतल खोली और उपासना के बगल में बैठ के पीने लगा. राहुल फिजियोथेरेपी में एप्रेंटिसशिप डिग्री करके एक नामी अस्पताल में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट के पद पर कार्यरत है.

बीएफ सेक्सी इंग्लिश वीडियो बीएफ मैंने उनके होंठ चूसने शुरू कर दिए और अपना लंड उनकी चुत के ऊपर घिसने लगा. लेकिन मैंने कभी उसको मौका नहीं दिया था कि वो मेरे साथ कुछ आगे बढ़ सके.

ब्लू पिक्चर दिखाएं

फिर दो मिनट के बाद मेरे लंड ने भी अपना लावा आंटी की चूत में निकाल दिया. वो देख कर हंसने लगी और बोली- ये क्या हो रहा है?रजू बोली शर्म से लाल होकर कहने लगी- दीदी, ये राज मान नहीं रहा था. जैसे ही इसकी चूत में मेरा लंड गया तो मैं समझ गया कि ये साली बहुत चुद चुकी है.

फिर स्मायरा ने पूछा कि उस दिन मैं आपसे पूछना ही भूल गयी थी कि हॉस्पिटल में आपके कितने पैसे लगे थे. इतने में ही वो दरवाजे के पास आकर बाहर निकलने को हुईं, तो मैंने उन्हें रोक लिया और बांहों से पकड़ कर उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. सेक्सी ब्लू वीडियो पंजाबीघर के अन्दर जाते ही मैं आंटी के ऊपर टूट पड़ा और वो भी मुझ पर टूट पड़ीं.

फिर मैंने दोबारा से उसको छेड़ने के इरादे से कहा- मुझे पता चल गया था कि आज आपके चेहरे पर ये चमक कैसे आई आप इतनी खुश क्यों लग रही थीं!वो तपाक से बोली- क्या पता लग गया आपको?मेरी साली की कहानी अगले भाग में जारी रहेगी.

उनको देख कर मेरी चूत में गुदगुदी सी हो रही थी और पोर्न वीडियो देखते हुए पूरे बदन में झुरझुरी पैदा होने लगी थी. आंटी ने मेरे लंड के टोपे को अंदर ही अंदर ही अंदर अपने मुंह में खोल लिया और तेजी के साथ लंड के टोपे पर जीभ फिराने लगी.

किसी में उसकी टांगें दिखाई दे रही हैं तो किसी में उसकी चूचियों की दरार दिखाई दे रही है. थोड़ी ही देर में पंकज भी खलास हो गया और इस बीच में राहुल वाशरूम से अपने को फ्रेश करके कपड़े पहन चुका था. वो बोले- हो गया सविता तेरा?मैंने कहा- हां अंकल जी … पर आप चोदते रहो.

भाभी के नंगे जिस्म से लिपटे होने के कारण मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा.

अब हिना आंटी हाथ जोड़कर मुझसे बोलने लगीं- मैंने गलत लड़के से पंगा ले लिया. वो मेरी चूची को मसलने के बाद अपना लंड मेरी चूत में डालने लगे और कुछ देर के बाद वो अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल कर मेरी चूत को चोदने लगे. उसने पता नहीं क्या इशारा किया कि सभी लड़कियां बोलीं ‘ओके गीता … सुबह मिलेंगे.

खून निकलने वाली सेक्सी वीडियोफिर काम में क्या हसरत, मैंने दबे मन से हां कह दी और उन्हें मसाज के लिए एक दरी और लहसुन की पोथी डाल कर गर्म तेल मंगवा लिया. ऋतु ने उठ कर सारी लाइटें बंद कर दीं और सिर्फ एक मंद रोशनी वाली लाइट जला दी.

पोर्न वीडियो ब्लू

अब मुझे हमेशा यही डर लगा रहता था कि अगर जल्दी से शादी ना हुई तो कुछ उल्टा ना हो जाए. आपको मेरी बुआ की देवरानी की चूत चुदाई की कहानी कैसी लगी, कृपया मुझे ईमेल करके जरूर बताएं. मैं उसके चूचों और गांड को नजर बचा कर ताड़ने की कोशिश में लगा रहता था.

उसके बाद मैं उनके पेट से होता हुआ उनकी चुत के पास आ गया और उनके जिस्म को चाटने लगा. आपको पता है … ये सब क्यों करते हैं?चाची- नहीं … क्यों?मैं- औरत ज़्यादा देर तक झड़ती नहीं है. चार या पांच पिचकारियों में मैंने अपने वीर्य की थैली उसकी चूत में खाली कर दी.

मैं बोला- कंडोम लगा कर डालूं … या बिना कंडोम के?वो बोली- बिना कंडोम के ही डाल दो. प्यारे दोस्तो, आप सभी को मेरा नमस्कार! मेरा नाम जसदीप कौर है व उम्र 24 साल है. मैंने उनके होंठ चूसने शुरू कर दिए और अपना लंड उनकी चुत के ऊपर घिसने लगा.

” गौरी की डर के मारे रोने जैसी शक्ल हो गई थी।हा … हा … हा …”गौरी ने आश्चर्य से मेरी ओर देखा।हालांकि आज मौक़ा बहुत अच्छा था मैं उसके और मजे ले सकता था पर मैं उसे और ज्यादा परेशान नहीं करना चाहता था।मैंने उससे कहा अरे नहीं यार … मैं तो मजाक कर रहा था। भला मैं तुम्हारी कोई बात मधुर को कैसे बता सकता हूँ?”आपने तो मेली जान ही निताल दी थी. दरवाजे के बाहर से ही झुकते हुए मैंने उसके अंडरवियर को सूँघने की कोशिश की.

पूरी तरह से शिथिल हो जाने के बाद मैं रीना के ऊपर से उठा और तौलिया से लंड को पौंछा.

मेरे दोस्तो, मैं देवराज! आप सबने मेरी पहली सच्ची कहानीमौसेरी बहन संग मस्ती और चूत चुदाईपढ़ी और सबने इतना पसंद किया. नंगा पिक्चर दिखानाहिना- आह छोड़ दे मुझे … आज मेरी सब हसरतें पूरी हो गईं, अब मुझे छोड़ दे … कोई बचाओ ये मुझे मार ही देगा. क्सक्सक्स सेक्सी फिल्मउस वक़्त घर पर कोई नहीं था और वो दोनों ऐसे ही एक दूसरे से बात करने लगे. मैंने स्मायरा से कहा- मेरा जोधपुर में दो दिन का ही काम है, मैं परसों जयपुर निकलूंगा, मैं परसों कॉल कर लूँगा और आपको लेने आ जाऊंगा.

जैसे ही मेरी जीभ उसकी चूत पर लगी, तो उसके मुँह से ‘इ … स्सस …’ की आवाज निकल गई.

अंधेरे में ज्यादा कुछ दिखाई तो नहीं दे रहा था लेकिन उसके चूचे बहुत मस्त लग रहे थे और बिल्कुल कसे हुए थे. मैंने उसकी चूत से अपना लंड बाहर निकाला और सारा पानी उसकी गांड पर निकाल दिया और बेड पर लेट गया. देखा तो संतोष जी का फ़ोन था।मैंने फ़ोन उठाया, उधर से आवाज आई- कहा है रंडी? सब कुछ तैयार है … आ जा अब.

खुली छत पर गांड की चुदाई की गंदी कहानी पर कमेंट करिये और मैं कोशिश करूंगी कि आपके कमेंट और मैसेज का जवाब दे सकूं. अब रजू ने मीनू की गांड में उंगली करनी शुरू कर दी थी और वो अपने एक हाथ से अपने चूचों को दबा रही थी. मैंने खुद अपनी ब्रा के हुक खोल दिए और कहा अब ढंग से और आराम से मालिश करो.

एक्स एक्स एक्स ऑडियो वीडियो

मैंने एक अख़बार में विज्ञापन दे दिया और इंटरव्यू का टाइम और जगह भी दे दी. लेकिन उस दिन हमने बस सीधा सीधा लंड चूत का मिलन करने वाला सेक्स किया. 5 इंच मोटा लंड हवा में उछलने लगा, ज्योति ने अपने बड़े भाई का लंड अपने हाथ में लेते हुए अपने होंठों से उसके गुलाबी सुपारे को चूम लिया।आह्ह …” ज्योति ने जैसे ही लंड को चूमा समीर के मुंह से सिसकारी निकल गई।ज्योति ने अपनी जीभ से अपने बड़े भाई के लंड को चाटते हुए उसके गुलाबी सुपारे को अपने मुंह में ले लिया.

उधर नीचे मेरा लंड उनकी लाल रंग की पेंटी में छेद करके अन्दर घुसने की नाकामयाब कोशिश कर रहा था.

‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ भाभी के मदहोशी में कराहने की आवाज कमरे में गूंज रही थी.

तब से वो रोज मेरे ऑफिस से छुट्टी वाले समय पर ऑफिस के बाहर आता था और हम दोनों लोग पार्क में जाकर एक दूसरे को किस करते थे. मैं उठ कर बाथरूम तक जाकर चूत को साफ करना चाहती थी लेकिन मुझसे नहीं उठा गया. क्सक्सक्स क्सविडोसमैं भी झड़ने वाला था, तो मैं रीना के होंठ चूसने लगा और तेज गति से झटका मारते हुए उसकी चुत में ही झड़ने लगा.

खैर … भैया भाभी की चुदाई होने लगी और करीब करीब 10-15 मिनट की चुदाई के बाद भाई भाभी की चूत में ही झड़ गए. वे तीनों अपने चूचे मेरे शरीर के ऊपर रगड़ने लगीं … गालों पर, होंठों पर निप्पल फिराने लगीं. मैं भी उसकी पीठ पर पेट के बल लेट गया और मैंने अपने हाथों से उसके नितंबों को सहलाना शुरू कर दिया था.

पूरे जिस्म में गर्मी सी महसूस होने लगी थी, उसके लंड का तनाव पल पल बढ़ता ही जा रहा था।जैसे जैसे लंड का आकार बढ़ता जा रहा था, वैसे वैसे परीशा की जीभ की स्पीड बढ़ती जा रही थी. सूखी गांड की वजह से मैंने बहुत सारा तेल लेकर अपनी अनिता जानू की गांड की दरार में डाल दिया.

ब्रा के ऊपर से ही दूध पर मुँह लगा कर निप्पल को पीने लगा, मम्मों को मसलने लगा.

मैं उठा और उनके पैर छुए और उन्होंने भी मुझे हंस के देखा और कहा- खुश रहो. ” नीलम फिर से गर्म होते हुए अपने चूतड़ों को उछालते हुए बोली।सही कहा बेटी, यही बात तो मैं तुम्हें समझाना चाहता था” महेश ने अपनी बहू की तरफ देखा और उसकी चूत को बड़ी तेज़ी और ताक़त के साथ चोदने लगा। ससुर बहू की चुदाई का खेल अपने चरम पर था. मैं दिखने में अच्छा हूँ और मैंने अपना शरीर भी मैंने फिट करके रखा हुआ है.

ब्लू ओपन सेक्स वीडियो तू भी कुछ सीख अपनी मां से कि कैसे चूत को चुदवाते हुए लंड में जोश भरा जाता है. पूरा बिस्तर पसीने से भीग गया था इसलिए मैंने रोशनदान भी खोल दिये ताकि जल्दी से पसीने की गंध बाहर निकल जाये.

राहुल से शबनम ने हंस कर कहा- जीजू, आज तो मुझे भी फ्रेंच किस दे ही दो. ” महेश ने अपने दोनों हाथों से ज्योति का चेहरा ऊपर करके उसके होंठों की तरफ घूरते हुए कहा।नहीं पिता जी, मैं यह न कर पाऊंगी. मैं आराम से लेटा हुआ था, तभी अचानक वह उठी, अपनी पैन्टी उतारी और ताजा ताजा शेव की हुई चूत मेरे मुंह पर रख दी, उसकी चूत की मादक गंध मुझे मदहोश कर रही थी.

जीजा साली की चुदाई वीडियो

मैं अब झड़ने के कगार पर पहुंच गया और मेरे लंड ने उसकी चूत में वीर्य छोड़ना शुरू कर दिया. मैंने जीभ थोड़ी और अंदर कर दी और उसकी सिसकारियाँ और तेज़ होने लगीं. तो राहुल ने उससे कह दिया कि एक दो दिन बाद जब वह पूल में जाना शुरू करेगा तो वह रजनी को स्वीमिंग सिखा देगा.

मैं उनके ऊपर आ गयी और उनके पूरे शरीर को अच्छे से चूमने के बाद उनके लंड को मुँह में लेकर खूब चूसा. उसने जैसे ही लंड लिया तो वो चिल्ला पड़ी क्योंकि अब वो कई बार झड़ चुकी थी.

शायद थाईलैंड का गो गो बार का सीन था जहाँ लड़कियाँ लगभग नंगी ही डांस कर रहीं थीं.

फिर मैं उठ कर बाहर गया, तो भाभी नीचे से मेरी तरफ शक की निगाहों से देख रही थीं. मैंने उससे कहा- ये सब कैसे हो सकेगा?उसने बोला- आप वो सब मुझ पर छोड़ दो … बस आप शादी से एक दिन पहले आ जाना. दो मिनट बाद वही औरत मेरे कम्पार्टमेंट में आई, तो मानो जैसे मेरी तो निकल पड़ी.

नीलम ज़्यादा सेक्स पसंद नहीं करती थी, मगर समीर तो डेली चुदाई के बिना रह ही नहीं सकता था।आह्ह स्स …” नीलम अपने पति समीर की चुदाई से दूसरी बार झड़ रही थी।नीलम ने समीर से कहा- अब निकालो बहुत हो गया, मुझे दर्द हो रहा है. उसकी मुस्कुराहट अंकित को थोड़ा आराम देती है लेकिन फिर भी बहुत विश्वास के साथ नहीं. इस तरह से मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को अपने दोस्त की गैरमौजूदगी में जमकर चोदा.

अनिल था भी काफी बड़ी उम्र का। 40-45 साल का हट्टा-कट्टा बिजनेस मेन था वो.

बीएफ सेक्सी इंग्लिश वीडियो बीएफ: खूब खाना-पीना होता था और अंताक्षरी वैगरह खेलते रहते थे देर रात तक। वो हमारे साथ में ही सो भी जाती थी. मैंने चुत पर खुशबूदार तेल लगाया और वेस्टर्न ब्रा पेंटी पहनी, जिससे कुछ भी नहीं ढक पा रहा था.

पर तभी मुझे याद आया कि अब मैं भारत में नहीं, बल्कि मेक्सिको में हूँ और इस देश के अपने अलग रीति रिवाज हैं. तभी मीनू बोल पड़ी- तुम लोग सो गये क्या?मैंने एकदम से हाथ रजू के चूचों से बाहर निकाल दिया. अब कुछ भी कहने का कोई फ़ायदा नहीं था क्योंकि उसके लंड के लिए चूत तो मेरी भी तड़प रही थी.

मुझे सांवले या हल्के गहरे रंग की लड़कियां काफी पसंद हैं और अगर वो चश्मा लगाती हो, तो मेरे लिए खुद को संभाल पाना एक बड़ा काम है.

अनीता के चूचे मल्लिका शेरावत के जितने बड़े थे और बिल्कुल वैसे ही उसके सूट से बाहर झांकते रहते थे. चाचा को तो आने में देर थी … ये अभी कौन आ गया है?चाची- कौन है?बाहर से आवाज आने लगी- मैं परवीन और हिना आई हैं. तुम अपने आपके बारे में अगर नहीं सोचोगी तो कौन सोचेगा?उसने मेरा हौसला काफ़ी बढ़ा दिया था, मैंने कहा- बात तो तुम ठीक कर रही हो.