बीएफ सेक्स वीडियो चुदाई हिंदी

छवि स्रोत,ஃபேமிலி செக்ஸ் வீடியோ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वाला एचडी: बीएफ सेक्स वीडियो चुदाई हिंदी, इस बेबी डॉल के अन्दर उजमा ने सिर्फ एक लाल कलर की पैंटी पहनी हुई थी.

दिवाली गाना

अभी भी मैं दीदी को वैसे ही चोदता रहा। बाद में मैं दीदी की गांड में झड़ गया।उस दिन मैंने दीदी को 5 बार चोदा और रात को 3 बार। हम ब्रदर एंड सिस्टर सेक्स में इतना व्यस्त थे कि हमें पता ही नहीं चला कि सरकार ने 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा कर दी है. सेक्स झवाझवीउसे दर्द हुआ … मगर वो नशे में होने के कारण थोड़ी ही चीखी फिर मस्त चुदाई स्टार्ट हो गयी.

फिर मैंने उसके सारे कपड़े निकाल कर अपने बगल में लिटा लिया और धीरे धीरे से उसके चूचों को दबाने लगा. जॅकलीन सेक्ससोना ने अपनी चूत को अपने यार सनी के लंड पर रगड़ते छेद में लिया और उसके पूरे लंड को गड़प करते हुए चुत के अन्दर ले गई.

उसकी टांगों को मैंने फैलाया और पूरी जीभ अंदर तक सास की चूत में दे दी और चूसने लगा.बीएफ सेक्स वीडियो चुदाई हिंदी: मुझे लगा कि राज को सेक्स का ज्यादा नशा हो गया है, इसलिए वो दारू पी रहा है.

कुछ पन्द्रह मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना पूरा वीर्य आंटी की चुत में डाल दिया.और आपको चोदकर किनारे हो जाते हैं।हाँ तो? इससे ज्यादा और क्या चाहिये?” मैंने बनते हुए कहा.

सेक्सी सेक्सी लिरिक्स - बीएफ सेक्स वीडियो चुदाई हिंदी

कोई एक मिनट बाद मैंने लंड चूत से बाहर निकाला, तो अमित ने अपनी मॉम की चूत में लंड पेल दिया और उन्हें चोदने लगा.दो चार बार ऐसा हुआ तो दीदी बोलीं- कैसे बाइक चला रहा है? झटके लग रहे हैं.

अनीता जी ने मेरी बात सुनी और बिना कोई भाव लाए हुए बोलीं- चलिए देखते हैं. बीएफ सेक्स वीडियो चुदाई हिंदी रूम में जाकर मोबाइल चलाते हुए मुझे कब नींद लग गयी मुझे पता नहीं चला.

मेरी बेटी जाह्नवी कॉलेज जाती थी और प्राइवेट ट्यूशन भी दिया करती थी.

बीएफ सेक्स वीडियो चुदाई हिंदी?

स्टोरी के पिछले भागजवान पंजाबन को चोद कर औलाद दी-1में आपने पढ़ा था कि मेरी पड़ोसन की विवाहिता बेटी प्रीति मुझसे चुदने की जिद कर रही थी. तभी लैगी के ऊपर से ही उसने एक उंगली चूत के छेद पर दबाई, तो लैगी में एक छोटा सा छेद हो गया और उसकी उंगली अन्दर चली गई. मुझे नंगी किया और घोड़ी बना कर मेरी चूत और गांड चोदी उसने। उसके बाद मैं वापस आ गयी.

इसके बाद मैंने उनकी ब्रा को भी उतार दिया और मम्मों को धीरे धीरे अपनी जीभ से चाटने लगा. और तुम मेरी चाय क्यों पियोगे, तुमने आज सोना के बूब्स जो मसल मसल कर जो पिये थे. उसने मेरी सलवार का नाड़ा खींच कर खोल दिया और फिर मेरी सलवार को मेरे चूतड़ों से खींचते हुए नीचे करके मेरी टांगों से खींच कर निकाल दिया.

उसकी निगाहों की चाहत को समझ कर मैंने सुपारा हटा कर दोबारा से उसकी चूत पर अपना लंड बैठाया और एक जोरदार धक्का दे दिया, इस बार मेरा लंड उसकी चूत में आधा समा गया. दो मिनट तक मैंने ऐसे ही मदहोशी में जिया मेम की गांड चोदी और फिर मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैं वहीं पर रुक गया. अब आगे की थ्रीसम सेक्स हॉट स्टोरीज:आपको मालूम है कि शुरू में मैं भी सनी से प्यार करती थी, मगर सोना ने सनी से प्रेम कर लिया.

मैंने अब अपने लंड के सुपारे को उसकी गांड की छेद पर लगाया और धीरे धीरे उसकी गांड में घुसाने लगा. उस वक़्त उसने एक महरूम कलर की नाइटी पहनी हुई थी, जिसमें से उसके मम्मों की लकीर साफ दिख रही थी.

मैंने भी कुछ नहीं बोला और उनकी साड़ी एक झटके में खोल दी और भाभी ने भी अपनी गांड को इधर उधर करके साड़ी उतारने में मदद की.

लंड घुसवाते ही नम्रता चिल्लाने लगी- आंह … मेरी फट गई … मुझे दर्द हो रहा है … जल्दी बाहर निकालो.

मेरी उस बेचैनी को मेरी एक रिश्ते में लगने वाली भाभी ने देख लिया और उन्होंने मुझसे पूछा- किसे खोज रहे हो देवर जी … मैं कुछ आपकी कुछ मदद करूं?भाभी मेरे बारे में हर तरह से परिचित थीं. पेटीकोट खुलने के बाद वो अपने आप नीचे गिर गया और मेरी बीवी अब सिर्फ ब्रा पेंटी में खड़ी थी. मैं रोड पर लेटा था, तो भाभी की मोटी गांड उछलते समय मुझे रोड के कंकड़ पत्थर चुभ रहे थे.

मैंने उसको समझाया कि पहली बार में अक्सर खून निकल जाता है।वो बोली- वो तो मुझे भी पता है कि पहली बार में निकल जाता है लेकिन इतना सारा?मैं बोला- हां, किसी को कम ब्लीडिंग होती है और किसी को ज्यादा भी हो जाती है. मैं अपनी मां को पेलने लगा और बोला- मां तुम इतनी बड़ी रंडी हो गई हो मुझे भरोसा ही नहीं हो रहा है. इसकी डिटेल जानने के लिए इस इंडियन चुदाई कहानी का पिछला भागमैं चुद गई अंकल और उनके दोस्तों से- 1जरूर पढ़ें.

नहा कर मैंने अपनी एक नई ब्रा और चड्डी पहनी और अच्छा सा सलवार कमीज पहन लिया.

आंटी के कहने पर मैं प्रिया के घर रुक गया और मैंने अपने घर पर फोन करके बता दिया कि मैं दोस्त के यहां रुक रहा हूं. उसने बोला- वो कैसे?मैंने बोला- इनको मसलने से, चूसने से और गांड मरवाने से सबके दूध बड़े हो जाते हैं. कुछ देर लंड सहलाने के बाद मैंने उसके मुंह में लंड देना चाहा और उसे बैठने को कहा.

उसने दर्द से मेरी पीठ पकड़ ली थी, मगर मैं बिना रुके दे-धनाधन ऐश्वर्या की मस्त चुत पेल रहा था. फिर हम दोनों ने आपस में तय किया और आंटी को किचन में ही उनके ऊपर धावा बोल दिया. मेरी लंबाई 5 फीट 6 इंच है और मेरे लंड की लंबाई 5 इंच और मोटाई 2 इंच है।बात उस समय की है जब मैं फर्स्ट ईयर में पढ़ता था। उस समय मेरे घर में बहुत सारे किराएदार लोग रहते थे। उन किरायेदारों में से एक लड़की का नाम निशा था।निशा 6 महीने से मेरे घर में किराये पर रह रही थी।वो कमरे में अकेली ही रहती थी.

स्टोरी के पिछले भागजवान पंजाबन को चोद कर औलाद दी-1में आपने पढ़ा था कि मेरी पड़ोसन की विवाहिता बेटी प्रीति मुझसे चुदने की जिद कर रही थी.

ये कह कर मैं मम्मी की गांड सहलाने लगा और अपने खड़े लंड को मम्मी की गांड के छेद पर रख दिया. फिर सपने में भी मैं ऑटो वाली घटना देख रहा था तो अचानक ही मेरी आँख खुल गई.

बीएफ सेक्स वीडियो चुदाई हिंदी मगर अब तक मैंने अपनी बहन की चूत नहीं चाटी थी क्योंकि उसके पीरियड चल रहे थे. देसी नंगी भाभी की चूत ने उसके लंड को अपने अंदर लील लिया।रोहित अब मेरी चुदाई कर रहा था। रोहित मेरी चुदाई करते-करते बीच-बीच में मेरे होंठों को भी चूम लेता था।कई धक्के उसने इस पोजिशन में लगाये।तब रोहित रूका और हाँफ रहा था.

बीएफ सेक्स वीडियो चुदाई हिंदी उन्होंने मेरे कपड़े फाड़े और वहीं पटक कर सीन के हिसाब से मेरी इज्जत लूटते रहे, जैसा कि फिल्मों में होता है. रूम में कोई नहीं था, तो मैं बाहर आ गई और बाथरूम का दरवाजा बाहर से बंद कर लिया.

मेरे कॉलेज का टाइम भी हो चुका था, तो मैं बस में चढ़ गई और भीड़ में जगह बनाती हुई बस के बीच में जाकर खड़ी हो गई.

तमन्ना भाटिया सेक्सी पिक्चर

जब उसका लंड पुनः खड़ा हो गया, तो वो मेरे पास आया और बोला- पोज चेंज करें क्या?मैंने पूछा- कैसे?उसने मुझे खड़ा किया और कहा- काउंटर पर झुक जाओ, पीछे से डालूंगा. फिर मैंने दोबारा से कुछ देर उसकी चूचियों को चूसा और उसके बाद उसको पलटा कर दीवार के सहारे लगा दिया. जब असलम ने हमको देखा, उस वक़्त मेरी सलवार निकली हुई थी और शिजू मेरी चूत चाट रहा था.

हम दोनों एक ही कमरे में एक ही बेड पर एक दूसरे की बाँहों में फिर से समा गए. मैं समझ गयी कि अब ससुर का लिंग मेरी चूत की सवारी करने के लिए तैयार है. उन्होंने मेरी टी-शर्ट फटी हुई देखी, तो पूछने लगीं कि ये कैसे फट गयी?तब विशाल भी वहीं था.

मैंने इधर उधर देखा तो पाया कि दीवार छत से नहीं जुड़ी थी और बीच में थोड़ा गैप था.

मैं हॉस्टल के गेट से घुसा और चौकीदार के रजिस्टर में मोहन के नाम से हस्ताक्षर किये और सोनम की बुआ का लड़का बता कर अन्दर आ गया. चूंकि मेरी आंटी ने उन्हें पहले ही बता दिया था कि ये लड़का बहुत मस्त चूत चाटता है और अच्छे से खुश कर देगा. रोहन ने जाकर दरवाज़ा खोला तो लोकेश वापस आ गया था।मैंने जल्दी से अपने कपड़े पहन लिये। लोकेश अंदर आया और उसने सारा सामान टेबल पर रख दिया और सोफ़े पर बैठ गया। उसने रोहन से बैग मंगवाया और उसे सब कुछ तैयार करने को कहा.

मैंने अभी तक भाभी की चूत नहीं देखी थी, बस उंगली और होंठों से ही छू कर देखा था. मैं नीचे से हाथ डाल कर उसकी चूचियों को मसलने लगा जाता और ऊपर से अपनी किताबें रख कर मेरे हाथ को आड़ दे देती थी. जैसे ही अपने होंठ मैंने भाभी की चूत पर लगाए, उन्होंने जोर की सिसकारी भरी.

मैं बोला- इतनी हँसी आ रही है तो साफ ही कर दे ना?वो अपने होंठ से मेरे होंठ की साइड को साफ करने लगी. उनकी अलमारी के सामने जाकर मैंने अपने सारे कपड़े उतारे और अपने आप को देखा.

खुशी खुशी में मैं जोर से चिल्लाया- बस एक बार जिया मेम की चूत मिल जाये यार, मुझे तो इसके अलावा कुछ और चाहिए ही नहीं. फिर दूसरी बार मैंने कल रात को भी आपको याद करके हस्तमैथुन किया था क्योंकि मेरा यह सपना अब पूरा होने जा रहा था. जब राज मेरी चूत के बालों की सफाई का काम पूरा कर चुका, तो उसने मेरे चूत को मेरी हथेली से छुआया और फर्क महसूस करने को कहा.

तभी दादा जी बोले- बोल आशा, कितना दम है मुझे में?दर्द के मारे मेरी जान निकल रही थी.

इस काल्पनिक कहानी के पहले भागहाई प्रोफाइल लेडी की सेक्स कहानी- 1में अब तक आपने पढ़ा था कि ससुर जी अपनी बहू ऐश्वर्या को चोदने की तैयारी कर रहे थे. कहकर वो उंगली को चाटने लगा।नहीं रोहित!” मेरे मुंह से इतना ही निकला।मेरे इस शब्द को सुनकर बोला- क्या भाभी, अभी भी मुझसे शर्मा रही हो। इस समय मैं तुम्हारी मलाई चाट लेता हूं. उसके बाद मैंने चाय तैयार की और हम दोनों बेड पर बैठ कर चाय पीने लगे.

योगेश जी को भी पता चल गया और उन्होंने हंसते हुए मुझे कार के लिए बधाई दी. जैसे ही मैंने उसकी कुर्ती निकाली, तो उसका गदराया हुआ जिस्म मेरी आंखों के सामने था.

मैंने उसकी पीठ को सहलाते हुए अपने लंड पर उसके गरम पानी को महसूस करने लगा. एक हाथ से मैं उसके दूध दबा रहा था और दूसरा हाथ पीछे ले जाकर उसके चूतड़ दबाने लगा. मेरी बेटी जाह्नवी कॉलेज जाती थी और प्राइवेट ट्यूशन भी दिया करती थी.

बिहारिन की सेक्सी

मैंने उनको पहन लिया और मेरे बदन में बहुत ही खुशनुमा अहसास होने लगा.

मैं सब कुछ हैरान सा होकर सुन रहा था मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था कि ये सब मेरी आंखों के सामने हो रहा है. मेरी बेटी रूम में आयी और दरवाजा बंद करके बोली- क्या लेगा?तो वो बोला- तू क्या क्या देगी?मेरी बेटी बोली- पूरे 5000 में नमकीन ठंडा गर्म सब कुछ मिलेगा. उसके सामने मैं बीवी का बहुत ख्याल रखता था, ताकि उसको लगे कि मैं अच्छा और देखभाल करने वाला पति हूँ.

नाजनीन- आंह … आन्न … साब और करो … आह साहब साहब और … मजा आ रहा है … आह. फिर दारू का बचा हुआ स्टॉक खत्म किया और खाना आ गया, तो खाना खा कर हम तीनों सिगरेट पीते हुए बात करने लगे. शिक्षा सेक्सीवो बोले- मैं बाहर जा रहा हूँ और मैं बाहर से कमरे का दरवाजा बंद कर दूंगा.

मन तो कर रहा था कि आकाश और शेखर दोनों का लंड एक एक हाथ में पकड़ लूं लेकिन किसी तरह खुद को रोके रही. अब आगे की फर्स्ट टाइम सेक्स हिंदी स्टोरी:खण्डहर पर पहुँच कर मैं और रूपा उन दोनों लड़कों से मिलीं। एक बार फिर से रूपा ने मेरा परिचय मोहित से करवाया। मोहित ने आज भी अपना चेहरा गमछे से ढक रखा था।उसका शरीर भी काफी मजबूत था और वो मुझसे दोगुने शरीर का लड़का था। कुछ समय तक हम चारों बातें करते रहे.

सिकाई करके उसने मुझे उलटा किया और मेरी जांघें फैला कर मेरी चूत में अपना लंड घुसा दिया. मैंने उससे पूछा कि तुमको ये वीडियो किसने दिया?उसने बोला कि मेरी एक सहेली है शीबा, उसने दिया. अब आगे की सेक्स विद BF स्टोरी प्रिया की जुबानी सुनिये:मैं प्रिया हूं और आगे क्या हुआ वो मैं खुद आपको बताना चाहती हूं.

करीबन 5 मिनट तक मैंने उसके गाल पर चुंबन किए जिससे वह उत्तेजित हो गई. ये बात सुन कर मुझे कुछ शक हुआ क्योंकि मां अपने आप से तो ऐसा नहीं कह सकती थी. वहां वे मुझे नंगी करके कैसे मेरे जिस्म से खेले?कॉलेज की छात्रा सुमीना की चुदाई की गंदी कहानी आपके सामने रख रहा हूँ.

जेठानी जी ने अपने मुँह में भरा ढेर सारा वीर्य (लंड जूस) रवि के मुँह में उगल दिया और रवि से लिप लॉक करने के बाद जीभ की लड़ाई करने लगीं.

10 मिनट तक इसी दर्द से मैं कराहती रही और तब जाकर थोड़ी राहत मिलना शुरू हुई. मैं कुछ बोलती … इससे पहले एक बोली- चुपचाप पड़ी रहो, फिर बात करेंगे।उन्होंने मेरी सलवार का नाड़ा खोला और सलवार और पैन्टी को उतारकर मेरी चूत को सहलाते हुए बोली- फूल गयी है! लगता है जीजाजी ने बहुत अच्छे से तुम्हारी चूत चोदी है।मैं उनकी बात सुनकर खुश हो गयी.

सुभाष ने चादर खींच ली और कहा- और अब!दरबान ने अमिता को ऊपर से नीचे तक देखा और कहा- बहुत पटाखा है साहब. मैंने फिर से पूछा- और दारू?वो हंस कर बोली- नीचे मामू का दारू का गोदाम है … जब अम्मी का मन होता है तो मैं अम्मी के लिए ले आती हूँ. भाभी बोलीं- सब तैयारी कर ली है जान … एकदम सफाचट पिच है … बस लंड की बैटिंग की जरूरत है.

मैं राहुल के मुंह से भी सुनना चाहता था कि वो मेरी बीवी से क्या क्या कहता है और उसकी चूत और चूचियों को कैसे मसलना चाह रहा है. मैंने देर न करते हुए अपने लंड को बाहर निकाला और पीछे से उसकी चूत में लंड को घुसाने की कोशिश करने लगा. बहुत ही मस्त टेस्ट था उसकी चूत के पानी का। वो सिसकारियां लेते हुए मेरे सिर को अपने चूत पर दबा रही थी।कांति- आह्ह … ओह्ह … स्स्सश … सीसी … आह्ह … ऐसे ही … ओह्ह … और चूसो … आह्ह … और जोर से।ऐसे ही सिसकारते हुए वो अचानक ही झड़ गयी.

बीएफ सेक्स वीडियो चुदाई हिंदी अब आप ही बताएं कि कोई शादीशुदा औरत अपने ही भाई के मोटे लम्बे लंड पर सवारी कर रही हो, वो कैसे आंखों से आंखें मिला सकती है!फिलहाल थोड़ी देर बाद मुझे महसूस हुआ कि मेरी मैक्सी में 2 हाथ घुसे हैं … और उन हाथों से मेरी ब्रा के ऊपर से मेरे मम्मों को मसलते हुए आज़ाद कर दिया … और मेरे निप्पल मरोड़े जाने लगे. मेरा लंड उसकी चूत में जितना गया था मैंने उतना ही डाले रखा और मैं वहीं पर रुक गया.

एसएस सेक्सी पिक्चर

’उसके मुँह से इस तरह की भाषा सुनी, तो मैं भी गरमा गया और उसे दबा कर चोदने लगा- ले साली रांड … मादरचोदी … कुतिया … लंडखोर रंडी … ले लंड खा. वहां पर न तो घूमने के लिहाज से कोई अच्छी जगह है और न ही कोई मार्केट या मॉल। जब मैं गांव पहुंचा तो मैंने मां और पापा को भी नहीं बताया था कि मैं आ रहा हूं. मैं सोच रही थी कि मैंने इतने टाइम से कॉलेज में किसी को नहीं चुत दी और आज इस गार्ड से चुदवा रही हूँ.

मैंने अपने हाथ से उसका लंड पकड़ कर अपनी चूत पर लगाया और उसे धक्का मारने को कहा. आधे घंटे तक चोदने के बाद मुझे लगने लगा कि अब मैं किसी भी वक्त झड़ जाऊंगा. जंगल में मंगल एक्स एक्स वीडियोजितेन्द्र- भाभी जान मैंने उन लोगों शराब के नशे में धुत कर दिया है और मैं तुम्हारी जवानी के नशे में मदहोश हूँ.

जब आप पूरी तरह बंधे हों तो उस समय लंड को चूसने का अलग ही मजा होता है.

कमरे में लंड बुर की चुसाई का मंजर चलने लगा था और कामुक आवाजों ने हम दोनों को धरती से दूर कहीं आसमानों में सैर के लिए भेज दिया था. शेखर ने अपना लंड माँ जी के मुंह में दे रखा था जिसे वो खूब मस्ती से चूसे जा रही थी। आकाश माँ जी की चूत को चाट रहा था। दोनों के लन्ड काफी लंबे और मोटे थे।मैं हतप्रभ थी कि अभी 2 दिन पहले तो माँ जी ने उन दोनों को डाँटा था और आज पूरी नंगी होकर मजे ले रही है? फिर मेरा ध्यान मां जी की जिन्दगी पर गया.

मैंने घर आकर नहाया और कुछ देर आराम करके बाहर दोस्तों के पास चला गया. उसने मुझे उसके चूचे देखते हुए देख लिया और वो मन ही मन मुस्करा रही थी. मैंने धीरे से कहा- इनको पता तो नहीं चलेगा?उसने कहा- नहीं रे! मैं ख्याल रखूंगी.

लेकिन लंड ने जल्द ही मेरी मां को मजा देना शुरू कर दिया था और मां भी गांड उठा उठा कर चुत चुदाई का मजा लेने लगी थीं.

आपके लंड को भी उसकी 32 इंच की तनी हुई चूचियों को देख कर मजा आ जाएगा. भाभी बोलीं- राजा देखो तुम्हारी रानी कैसे बह रही है, अब देर मत करो जान जल्दी से अपनी रानी का बाजा बजा दो. मगर इतने में ही मेरे दोनों छेदों, मेरे मुंह और गांड, में उनका वीर्य निकल गया और आगे पीछे से मेरे दोनों छेद वीर्य से भर दिये गये.

कुंवारी लड़कियों के नंबरउसने आगे कहा- अरे तुम तो फालतू में शर्मा रही हो, लाओ मैं खुद ही देख लेता हूं. जब रात भर लाकअप में बीस बाईस पुलिस वाले मनमानी इंडियन चुदाई करेंगे, तो पता चलेगा साली को.

મિયા ખલિફા

उन्होंने नीचे झुक कर मेरे स्तनों पर मुंह रख दिया और मेरी चूचियों के निप्पलों को बच्चे की तरह मुंह में लेकर चूसने लगे. मुझे जब कभी उससे मिलना होता था, तो मैं उसे अपने घर पर बुला लेती थी, लेकिन उसके साथ मुझे सेक्स करने में वो फीलिंग्स नहीं आती थी, जो मुझे सनी के साथ आती थी. आपने मेरी अनतरवासना सेक्स कहानी के पहले भागदो आंटियों को चुदाई और औलाद का सुख दिया-1में अब तक जाना था कि नजमा आंटी मुझसे चुदने के लिए राजी हो गई थीं और मैं उनके घर में आ गया था.

मगर उन्होंने सबके पास से वो रिकॉर्डिंग सुरक्षित कर अपने पास रख ली है. मैंने भी उसको कस कर बांहों में जकड़ लिया और उसकी चूचियां मेरे सीने से सट गयीं. उसकी चूत उसके जालीदार पेंटी के अन्दर से झांक रही थी और मुझे बुला रही थी.

नताशा की आंखें हैरत से फ़ैल गईं, जिसे देख कर मेरे मन में एक गर्व का अनुभव हुआ. मैं बोली- मां जी, आपको उन लड़कों को डांटना चाहिए था और उनको मकान खाली करने के लिए कहना चाहिए था. मैंने उनसे पूछा, तो वो ना में सर हिला कर कहने लगीं- उन्ह … मुझे शर्म आ रही है.

लंड मोटा था तो उसकी कसी हुई चुत में दर्द होने लगा और उसकी तेज आवाज निकल गई. मैं जानती थी कि वो क्यों भेज रही है इसलिए मैंने क्यों में कोई सवाल नहीं किया.

अल्पना एक घंटे बाद अपने घर निकल गई और मैं नहा कर कुछ खा कर फिर से सो गई.

मैं तो आज ही फिर से उसकी चुदाई करने वाला था और रोज ही उसको चोदने वाला था. स्पेशल सेक्ससच में वो ऐसी ही एक कयामत और गदरायी हुई एकदम गोरी अंग्रेजन जैसे हंसिका मोटवानी जैसी माल है. देवर भाभीइसके बाद मेरी मां की चुदाई में क्या क्या हुआ, ये सब मैं आगे लिखूंगा. हम थक गये थे और फिर नंगे ही बेड पर आकर एक दूसरे से लिपटकर सो गए।सुबह अंजलि जल्दी ही उठ गई और मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी.

तुम मेरी बात मान ही नहीं रही हो तो यहां रह कर करना भी क्या है?फिर वो बोली- ओके, अपना ध्यान रखना.

मैं खड़ी हो गई तो उसने मुझे पेटीकोट नीचे सरकाने को कहा, मैं उसके प्रोफेशनलिज्म की पहले ही कायल हो चुकी थी, सो पेटीकोट नीचे सरकाती गई. मेरी रंगीन सोच ये रही है कि कोई बिना जाने … तबियत से चोदे और मजा दे. मैं रो दिया- प्लीज़ अंकल आंटी … अब मुझे छोड़ दीजिए … मुझे जाने दीजिए.

आंटी मेरे सर को अपने मम्मों पर दबाते हुए मुझे अपने निप्पल चुसवा रही थीं. नाज़नीन उठी और उसने अपनी साड़ी ब्लाउज पेटीकोट और ब्रा आदि सब निकाल दिया. जब मैं लौट कर आया तो वो प्याज, मिर्च और टमाटर वग़ैरह काट कर रख चुकी थी.

एचडी चुदाई वीडियो सेक्सी

वो- नाटकीय अंदाज में बोली- जो हुक्म मेरे आका … कनीज आपके हुक्म को अभी फरमा देती है. फिर मैंने आंटी को लिटाया और पैर ऊपर करके कंधों पर रखकर लंड डालकर चोदने लगा. तो बोली- क्या तुमने उनका लंड को चूसा नहीं?मैं बोली- लंड चूसना तो बहुत दूर की बात है, मैंने अभी तक उनका लंड देखा भी नहीं।मेरी सभी सहेलियां चौंकते हुए बोली- क्या बात कर रही हो?फिर सभी मुझसे अपने-अपने सुहागरात की बातें एक बार फिर बताने लगी।जैसे-जैसे वो अपने सेक्स के बारे में बताती जा रही थी, मेरे मन में उदासी की चादर ओढ़े जा रही थी.

लोकेश के साथ एक और लड़का था रोहन। वह लोकेश के साथ ही रहता था और दोनों बहुत अच्छे दोस्त थे.

सनी- मेरी जान सॉरी बोला न … नेक्स्ट टाइम तुम्हारी चाय और तुम्हारे बूब्स दोनों पियूंगा.

कुछ पल तक वो चूत को निहारते रहे और फिर अपना मुंह खोल कर जीभ की नोक बनाई और धीरे से मेरी चूत पर छुआ दी. थोड़ी देर बाद उसने अपने लंड बाहर निकाला, तो लड़की जोर जोर से सांस लेने लगी. करिष्मा सेक्सी फोटोतो स्नेहा बोली- बड़ी भाभी, आप तो बहुत बड़ी चुदक्कड़ हो … आज सुबह किचन में आप इस गांडू का लौड़ा चूस रही थीं … तू ही चुदवा ले ना … मेरी क्यों फड़वा रही है मादरचोद.

जिसकी वजह से मैंने फिर एक गहरी कामुक साँस ली।उसने मेरी ओर देखा, मैंने भी उसे देखा और हम दोनों एक-दूसरे को देख कर मुस्करा दिए। उसने फिर से मुँह मेरी चूत पर लगा दिया और अब जीभ निकालकर चूत के चारों ओर चाटने लगा. मैं उसी तरह से खड़ी रही और थोड़ी देर के बाद मैंने महसूस किया कि प्रकाश मेरे पीछे खड़े होकर मेरी पैंट का बटन खोल रहा था. तभी उसने नीचे ही नीचे मेरी पैंट का हुक खोल लिया और मेरी पैंट को नीचे कर दिया.

मैंने उनको एक लेस्बियन सेक्स की क्लिप दिखा दी थी और अब उनकी चूत में आग लग चुकी थी. सोना ने अपनी चूत को अपने यार सनी के लंड पर रगड़ते छेद में लिया और उसके पूरे लंड को गड़प करते हुए चुत के अन्दर ले गई.

मैंने एक पल के लिए उसकी इस दूधिया झांकी को देखा तो उसने मेरी आंखों पर हाथ रखते हुए कहा- क्या नजर लगाओगे?मैंने आह भरते हुए कहा- सच में अंजलि तुम एक परी हो.

निशा अपनी कमर हिला हिला कर मुझसे चुदवा रही थी।लगभग 20 मिनट तक मैं उसकी चूत में धक्के लगाता रहा. जेठानी जी भी उठीं और समीर के बाल पकड़ कर समीर का फेस दीपक जी के सेमी हार्ड लंड पर झुका दिया. मैंने बची हुई आइसक्रीम भाभी की गांड पर गिरा दी, जो सीधे उनकी गांड की दरार से होते हुए सीधे चूत की फांकों तक चली गई.

लन्ड लम्बा मोटा देखना है लेकिन ये बदनामी मेरी अकेली की नहीं, तुम्हारी भी होगी … और रही बात मेरे पति की, तो तुम पहले बेवकूफ आशिक नहीं हो मेरे … इसके पहले भी किसी ने यही करने की कोशिश की थी. अंकल अपने कपड़े उतार कर टेबल कर आ गए और मेरी जांघों को फैला कर अपना लंड मेरी चूत पर सटा दिया.

उसने कहा कि मेरे बहुत अरमान हैं और शादी के बन्धन में उसे बंधना नहीं है. अब वो लगातार धार चलाने लगा और कहने लगा कि जैसे नल से पानी पीया जाता है वैसे ही पी जा वरना नहीं तो बेड खराब हो जायेगा. मेरा प्लान यह था कि मैं उनके सामने से जाऊंगी और अपनी ब्रा की स्ट्रिप्स उनको दिखाऊंगी.

सेक्सी स्टोरी आंटी

करीब एक महीने बाद वो आगरा आया और हम दोनों उससे मिलने के लिए आगरा निकल पड़े. ऐसे ही हम दोनों एक दूसरे के गुप्तांग मसलते रहे और आनन्द लेते हुए अन्दर हो रही सोना और सनी की चुदाई देखते रहे. मैंने कहा- अच्छा … मतलब मैं ही अपनी बेगम के लिए मोटा लंड सेक्स के लिए तलाश कर लाऊं?उजमा शर्मा गई और बोली- हां मेरे सरताज.

आंटी का छेद गीला था, तो दो ही कोशिशों में लंड चुत के अन्दर घुस गया. वो मेरी मां की दूध सी सफेद चूचियों को देखकर पागलों की झपट पड़ा और उन्हें दबाने और पीने लगा.

अब दीपक जी के मुँह में एक एक करके समीर और रवि अपने अपने लंड घुसाने लगे.

मैंने उसके कान में कहा- क्या राहुल से चुदाई की कल्पना कर रही हो?उसने कुछ जवाब नहीं दिया और फिर से धक्के लगाने लगी. बहाने से अपने लंड को बाहर निकाल कर ऐसे लटका लेते थे जैसे वो खुद ही बाहर निकल आया हो. एक ओर तो मैं उसके बूब्स को दबा रहा था और दूसरी ओर उसका हाथ मेरे लंड को सहला रहा था.

मैंने पहले कभी किसी लड़की या महिला के साथ सेक्स नहीं किया था इसलिए समझ नहीं आ रहा था कि अपने बारे में क्या बताऊं. लता आंटी ने मुझे देख कर मुस्कुराते हुए कहा- आओ हितेश … उस दिन के बाद तू आज मिल रहा है. काल बॉय सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि दुनिया में मर्द भी तवायफ होते हैं.

आपको मैंने पिछली सेक्स कहानी में बताया था कि मैं अपनी दीदी के घर जाती रहती थी.

बीएफ सेक्स वीडियो चुदाई हिंदी: मैं इतना मदहोश हो चुका था कि मैं भूल गया था कि जिस औरत की चुदाई मैं कर रहा हूं वो मेरे बॉस की बीवी भी है. उसी रात अल्पना ने मुझे फोन पर बताया कि सनी से चैट पर बात हुई थी लेकिन उसी समय मुझे कुछ काम आ गया था और मुझे सनी से चैट खत्म करना पड़ी थी.

बस मैंने उसको नीचे पटक दिया और उसके ऊपर आकर उसकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रखा और पूरी ताक़त से शॉट लगाने लगा. उसका लंड चूत की दीवारों को चीरता हुआ मेरी बच्चेदानी तक ठोकर मार रहा था. जब मेरी मां ने उन दोनों से कहा कि मेरी मां को मालूम पड़ेगा कि मैं क्यों सही से नहीं चल पा रही हूँ, तो क्या होगा?वे बोले- तेरी मां इस समय घर पर होगी ही नहीं.

चूंकि रिश्ते में वो मेरे ननदोई लगते हैं, इसलिए उनसे मज़ाक का भी रिश्ता है.

अब मेरी समझ में आया कि अंकल ने पहले तेज़ क्यों चोदा होगा, ताकि मेरी चूत अच्छी तरह से फैल जाए। चूत तो फैल गई थी लेकिन अभी भी उसमे लंड काफी टाइट जा रहा था।उसमें से गंदी गंदी सी आवाज़ आई शुरू हो गई थी- फच्च … पच … पच … फुच्च … करके अजीब सी आवाजें पैदा हो रही थीं. मैंने धीरे धीरे उसके गांड में अपना पूरा लंड डाल दिया और उसकी गांड मारने लगा. उसके कानों में ईयर फोन लगे थे, जिससे उसे कोई बाहरी आहट का अंदाजा नहीं हो रहा था.