बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ भोजपुरी

छवि स्रोत,ब्लू सेक्सी हिंदी फुल एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी दीजिए: बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ भोजपुरी, उसके जाते समय देखा कि उसकी चाल थोड़ी बदल गयी थी, जिसे वो छिपाने की कोशिश कर रही थी.

मर्द मर्द का सेक्सी

फिर मैंने उसे 69 की पोजीशन में किया और हम एक दूसरे के लंड और चूत को चूसने चाटने लगे. police वाली लड़की सेक्सीऔर उधर मेरे पति की तबीयत खराब हो चुकी थी, उनको बुखार और खांसी ने जकड़ लिया था.

मैंने दिव्या को भाई के ऊपर से अपने हाथों का सहारा देकर उठाया और उन दोनों को पीने के लिए पानी दिया. नंगे सेक्सी गेमजब मेरे होंठ एक निप्पल पर होते थे तो हाथ दूसरे पर … दीदी के मुंह से लगातार सिसकी निकले जा रही थी.

अब समस्या यह थी कि नीता को कैसे मनाया जाए? वो ठहरी गाँव की रहने वाली पुरातन पंथी विचारों वाली शुद्ध भारतीय नारी अपने पति के अलावा किसी अन्य पुरुष से सेक्स तो क्या … सेक्सी हँसी मज़ाक के बारे में भी वो कभी सपने में भी नहीं सोच सकती थी.बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ भोजपुरी: फिर उसने मेरे मम्मों के निप्पलों को बारी बारी से मुँह में लेकर चूसने और काटने में लग गई.

मैं बगल में गया तो उसने अपना मुंह आगे करके मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया.प्लीज़ जल्दी करो!ये दारू का नशा था जो पूजा स्खलित होने के लिये लालायित थी.

सेक्सी मूवी 2021 - बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ भोजपुरी

मैं- ये ले जान … अब तू कली से फूल बन गई … ले मेरा लंड ले ले और अपनी खुजली मिटा ले मेरी बुलबुल.अब वो भी गांड मटका मटकाकर चुदवाने लगी।अब मैं बिस्तर पर लेट गया और उसकी गान्ड को पकड़कर लंड पर रख दिया और चोदने लगा.

आपको यह स्टोरी ऑफ़ सेक्स इन फैमिली कैसी लगी?[emailprotected]आगे की कहानी:परिवार में बेनाम से मधुर रिश्ते- 2. बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ भोजपुरी लेकिन मैंने अपने प्यार को उपहार में चूत देना तय कर लिया था इसलिए दर्द सहते हुए मैं उसके लंड पर बैठ गयी.

सुमित- मतलब आज कल और परसों … मतलब सीधे रविवार तक।मै- प्लीज़ बेटा मना मत करना.

बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ भोजपुरी?

मैं- क्या हमारी दोबारा मुलाकात हो पाएगी … मुझे आपसे प्यार हो गया है. मामी बोलीं- बहुत कमीने हो तुम!मैंने कहा- मामी अभी कमीनापन देखा कहां है, अब देखोगी मेरा कमीनापन. मैं अपनी झांटों में से चूत को फैला कर देखने लगी।तब मैंने बाल सफा क्रीम ली और शावर के नीचे आ कर भीगने लगी।मैं अपनी झांटों से खेलने लगी.

मैंने उससे पूछा- तुम ये क्या कर रही थी बाथरूम में?तो वो बोली- कुछ नहीं साहब, मैं तो पिशाब कर रही थी. अब अगली बार इस कॉलेज लवर सेक्स कहानी में मैं आपको अनन्या की चुत चुदाई की कहानी का मजा दूंगी. मकान मालकिन- तुम्हारे जाने के बाद आज एक औरत घर आई थी तुम्हारा ये पर्स देने … वो बता रही थी कि बस में तुम्हें किसी लड़की ने चांटा मारा था.

जब गलती के बिना ही मारते हैं … तो दोस्ती करने को कहूँगा, तो पता नहीं क्या करेंगे?मैंने ये बात इस तरीके से और मायूस होकर कही कि मकान मालकिन के साथ साथ शायरा के चेहरे पर भी मुस्कान आ गयी. फिर रोहित ने पैंटी की इलास्टिक पकड़ी और मेरी पैंटी को भी उतारकर मुझे बिल्कुल नंगी कर दिया और खुद भी नंगा हो गया था।मैं इतनी उत्तेजित हो गयी थी कि मेरी पैंटी चूत वाली जगह से गीली हो गयी थी जिस कारण वहां धब्बे का निशान बन गया था. भाभी को इस रूप में देखते ही मेरी हालत खराब हो गई और मेरा लंड खड़ा हो गया.

आज वो भी बहुत ख़ुश हो रहा था, उसने कहा- जान अब तुम्हारे सपने पूरे होंगे, मैं तुम्हारा ग़ुलाम. रेखा हंस कर बोली- अच्छा जी अब क्या ठीक लगने लगा तुम्हें?मैंने कहा- तुम्हें देख कर बहुत अच्छा लग रहा है.

मीना- अमित मेरी जान … तुम्हारे लन्ड के पानी ने तो चूत शांत कर दी मेरी। बहुत मज़ा आया तुमसे चुदवा कर। मगर अभी भी दर्द हो रहा है और जलन भी।मैं- कोई बात नहीं जान.

उसके बाद मैंने उनके दोनों स्तनों को एक साथ पकड़ा और दोनों निप्पलों को एक साथ चूसने की कोशिश करने लगा.

हम दोनों मर्द जिस वक्त का बहुत बेसब्री से इंतजार कर रहे थे वह यूं अचानक आ जाएगा हमें इसका अंदाजा न था. ज्यादातर कुँवारी नवयौवना लड़की ही ऐसे लड़कों का शिकार होती हैं और लड़कों को भी कच्ची कलियाँ बहुत पसंद आती हैं. कुछ ही देर में रेखा गाऊन पहनकर अपने बाल झटककर सुखाने की कोशिश करते हुए आई.

तभी मुझे कुछ याद आया और मैंने अगले जनरल स्टोर से कुछ चॉकलेट के पैक लिए और अपने रूम पर आ गया. ‌उस लड़की की सुन्दरता का मैं तो कायल था ही, उसके पीछे आते ही मेरी सुबह वाली शंका भी फिर से जाग गयी. और थोड़ी देर में अपने पेन ड्राइव से ऑफिस में जाकर प्रिंट लिया और सबको एक एक टेस्ट पेपर दे दिया।1 घंटे का टेस्ट था.

उसने अमित के बाल पकड़ कर ऊपर अपनी तरफ खींचा और उसे लन्ड डालने के लिए कहने लगी!अमित ने भी देर न करते हुए जोर के एक झटके से ही पूजा की चूत में अपना लन्ड घुसेड़ दिया.

अब वो खड़ी हुई और मुझे सीट पर बिठा कर खुद नीचे बैठ कर मेरा लन्ड पैंट से निकाल कर चूसने लगी क्योंकि मैं और वंदना आज पहली बार सेक्स कर रहे थे तो मैं ज्यादा अभी कुछ करना नहीं चाहता था. होंठ सुर्ख लाल, सुंदर चेहरा, गदराया हुआ जिस्म देख कर बस लार ही टपक पड़े. बेईज्जती होना तय हो गयी थी, इसलिए मुझे अब इससे‌ पीछा छुड़ाना ही सही‌ लग रहा था‌.

अगर कहानी को लेकर आपके मन में कोई जिज्ञासा उठ रही हो या कोई सवाल या शंका हो तो आप खुले दिल से मेरी मेल आईडी पर मुझे मैसेज करें. दोस्तो, हम दोनों का प्रेम विवाह जरूर था, पर समय के चलते हमारा वैवाहिक जीवन निरंतर खराब होता चला गया था. यह सुनते ही वो मेरे एकदम नजदीक आ गई और मेरी आंखों में अपनी वासना भरी आंखों से देख कर बोली- हां तो करिए ना तारीफ.

इस बार मेरे साथ साथ शायरा को भी मज़ा आ‌ रहा था … इसलिए शायरा को मज़ा लेते देख मैंने भी अब शायरा को दनादन पेलना शुरू कर दिया और पीछे से ही शायरा की चूत का बैंड बजाने लगा.

यही मौका था, मैंने दादी से कहा- दादी सच बताना, चुदवाने में औरत को क्या मजा मिलता है?मजे की बात नहीं है, विजय. इन चारों में से पहली तीन की शादी हो चुकी है लेकिन रितिका अभी कुंवारी है.

बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ भोजपुरी भाभी ने मेरे लंड के उभार को देखते हुए कहा- क्या हुआ राहुल … आओ अन्दर, ऐसे क्या देख रहे हो. मैंने उससे लिपटते हुए कहा- तुम अपनी बताओ?उसने कहा- मेरी तो आज लॉटरी लगी है, जो तुम्हारी चूत के आज दर्शन ही नहीं बल्कि आज ही मेरा लंड इसमें अन्दर तक सैर भी करके आ गया है.

बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ भोजपुरी फिर मैंने अपने होंठों को उसकी चूत में लगा दिया और उसका रसपान करने लगा. अभिषेक बोला- ऐसे बिना चिकनाई के गांड मारूंगा, तो तुम्हें बहुत दर्द होगा.

अब मैं आराम से उसकी चूत में उंगली डाल कर अंगूठे से चूत के दाने को मसलने लगा.

घपा घप चुदाई

क्या चूत थी … एकदम साफ … मजा आ गया देखकर।जैसे ही मैं उनकी चूत चाटने के लिए झुका, वो बोली- क्या कर रहे हो मयंक?मैं बोला- क्यों … भैया ने कभी नहीं किया क्या?वो बोली- नहीं!मैंने बोला- आज देख लो भाभी कि इसमें कितना मजा आता है. मैंने उसकी गांड को जोर से मसलते हुए पूछा- कैसा लग रहा है काजल?वो बोली- मजा आ रहा है यार।मैंने कहा- तुम्हारी पैंटी खराब हो जायेगी. उसके बाद दिव्या ने भी मेरी पैंट में हाथ डालकर देखा तो मैंने भी पैंटी नहीं पहनी हुई थी.

मैंने अंजू को पकड़ कर उसकी गांड पे चपत लगाई और बोला- दिखाऊं अपने लौड़े का दम साली? तेरी गांड और चूत दोनों फट जायेंगी … वो भी अभी!तभी अंशिका बोली- हाँ जीजू, फाड़ दो इसकी चूत, ये वैसे भी रोज़ आपको याद कर करके मुठ मारती है. मैं उसे चूमता हुआ बोला- मजा आया पायल?वो मेरे गले से लगे हुए बोली- हां … बहुत अच्छा लगा. उसके साथ रहने से रोहित को खाना नहीं बनाना पड़ता था और भी बहुत से काम नहीं करने पड़ते थे.

लंड चटाई के बाद वह बिस्तर पर निढाल होकर लेट गई और मुझे अपने ऊपर खींचते हुए बोली- आई लव यू नीतीश.

अंत में वो बोली- फूफाजी, आज के आनन्द को मैं जिन्दगी भर नहीं भूलूंगी. ऐसा करने से बिन्नी की पकौड़ा सी चूत मेरे लण्ड के सामने आ गई और मैं बुरी तरह से उसकी चूत की ठुकाई करने लगा. उसने इस बात पर कुछ कहा तो नहीं, मगर मेरे हाथ से वो ब्रा-पैंटी छीन लिए.

सीमा और मीरा दोनों मेरे लण्ड की दीवानी हैं और मौका देखकर मजा लेती रहती हैं. मेरी दीदियों की गांड मेरी गांड से भी बड़ी हैं और उनके मम्मे भी बड़े हैं. बाहर आकर सबने बताया कि आज तो उनकी इज्जत लुटी है, वो तो सब लड़कों को बेहद शरीफ मानती थीं पर आज उनकी शराफत देख ली.

मैं भी अपनी उंगली को तेजी से अंदर बाहर करने लगा।मीना मज़े में अपनी चूची दबा रही थी और उसकी आंखें बंद थीं. कॉलेज आने पर मेरे साथ साथ वो भी वहीं उतर गयी … वो क्या लगभग वो पूरी बस ही‌ वहां खाली हो गयी थी.

वो भी मेरी तरफ ही देख रही थी, इसलिए हमारी नजरें एक बार तो मिलीं मगर अगले ही पल उसने मुँह फेर लिया और दूसरी तरफ देखने लगी. संगीता ने अपने मुँह से मुकेश का लंड निकाल कर एक बार उसकी तरफ देखा और इस बार तो मुकेश का अंडकोष मुँह में भरके चूसने लगी और लंड हाथ में लेकर मुठ मारने लगी. वहीं पर एक पुतले को एक बेहद फैंसी टाईप की ब्रा-पैंटी का सैट पहना कर रखा हुआ था, जो कि बिल्कुल ही पारदर्शी और जालीदार था.

फिर पहले हमने साथ में बैठकर चाय वगैरह पी और बाद में मैं उससे बातें करने लगी.

तो वो बोले- तुमने कुछ सोचा चुदाई के बारे में?उनके मुंह से चुदाई शब्द सुनकर मैंने झटके से उन्हें देखा और मेरी हंसी निकल गयी. चूंकि यह मेरी पहली चुदाई होने वाली थी … इसलिए मैं बहुत जल्दबाजी में था. जाहिर था कि हम दोनों ही एक दूसरे की बीवी को ही निहार रहे थे और फिर जब वह मोनोकिनी(वन पीस बिकिनी जिसमें थोड़ा बदन धक जाता है.

लेकिन हम अभी चलती हुई बस में थे … तो मुझे थोड़ा संभाल कर उन्हें चोदना होगा. कैसे? मैं अपनी चूचियां बड़ी करवाने डॉक्टर के पास गयी तो उसने मेरे जिस्म से खेल कर मेरी वासना जगाई और मेरी बुर खोल दी.

मैं सोफिया के ऊपर चढ़ गया और उसके ऊपर लेटते हुए उसको किस करने लगा और मेरे लन्ड को उसकी चूत पर ठहरा दिया. तभी राहुल ने धीमे से शिल्पा की गांड पर एक चपत लगा दी और अन्दर चलने का इशारा कर दिया. उसने अपनी जीभ को अपने पिता के मुँह में डाल दिया और अपनी जीभ को अपने पिता के होंठों से चुसवाते हुए अपने चूतड़ों को भी उछालने लगी.

बिलु सेकसी

इसलिए उसके पास पैसे तो बहुत थे मगर उसका पति शायरा के पास रहता बहुत ही कम था.

कभी वो मेरी गर्दन पर अपने प्यार की बारिश करता, तो कभी मेरी आंखों को चूम लेता. मैंने सोचा था कि यहां रह कर मैं कई सारे लंडों से चुदाई कराऊँगी।फिर मैं संजय और सास ससुर के साथ शहर आ गई।शहर में किसी से जान पहचान भी नहीं … कोई किसी से बात भी नहीं करता. मेरे आते ही बस आ गयी थी, इसलिए बस में चढ़ने की जल्दी में उसने तो शायद मुझे नहीं देखा मगर मैंने उसे देख लिया था.

इधर मनोज ने अपना सारा माल निकाल कर दीपा चूत भर दी तो उधर सुनील ने अपना सारा माल पेपर टिश्यू पर निकाल दिया. आप अपना फ़्रस्ट्रेशन कम करें और जैसा गंदा सेक्स पसंद हो, उसके साथ मस्ती से करें. सेक्सी नंगी हिंदी ब्लू पिक्चरमैं किस करते-करते अब उनकी चूची को चूसने लगा था और चूत को मसलता जा रहा था.

मगर मैंने उसे कह दिया कि बाद में करेंगे रात को!अब मैं चुदाई वाली कहानी को रोककर कुछ और बातें आपको बताना चाह रही हूं. मेरी बहुत समय पहले की इच्छा पूरी होने जा रही थी, तो मैं किसी भी हाल में इसे मिस नहीं होने देना चाहता था.

मैं- सभी लोग सो रहे हैं भाभी … और कम्पार्टमेंट में हमें कोई नहीं देख सकता. उनकी स्कर्ट उनके घुटने से थोड़ी ऊपर थी, जिससे उनकी मोटी मोटी जांघें साफ़ दिखाई दे रही थीं. मैं फिर से‌ मजाक करने लगा- एक बार ये भी दिखाना तो?मैंने शायरा के हाथ से अब पैंटी लेने की‌ कोशिश करते हुए कहा.

उसकी लम्बाई साढ़े पांच फुट की थी, जो कि उसको काफी सेक्सी बना रही थी. मैं दबे पैर ऊपर की तरफ गया तो पता चला कि आवाज ऊपर गेस्ट रूम से आ रही थी. मेरी एक सहेली रीमा भी थी, वो भी सर को लाइन मारने में कमी नहीं करती थी.

सुगंधा भाभी मुस्कराते हुए बोलीं- ऐसा क्या!मैं- हां भाभी मैं सच कह रहा हूँ.

मैंने भी उसको अनसुना कर दिया और तेज़ी से अपना लन्ड उसकी चूत में पेलने लगा. ये सब होने के बाद भी मैं उनसे कुछ नहीं बोल पाया।हम लोग एक मध्यमवर्गीय परिवार से थे.

अब आगे कॉलेज लवर सेक्स कहानी:इस कहानी को लड़की की मधुर आवाज में सुनकर मजा लें. मेरी बात सुनते ही शायरा ने मेरे पेट में एक मुक्का मार दिया- तुम‌ फिर शुरू हो गए. मेरी जीभ ने भाभी की चुत पर एक पेशेवर चोदू की कला का मुजाहिरा किया था.

मैंने अनामिका के रसीले होंठों को दो बार चूमा और उसके कंधों पर आ गया. न्यासा ने सनी का लंड पकड़ा, तो वो समझ गया और उसने अपना लंड न्यासा के मुँह में डाल दिया. अभी तक मेरी चुत 6 बार से ज्यादा पानी छोड़ चुकी है और तुम दोनों मुझे एक साथ चोदना चाहते हो!राज- चोदना ही नहीं … मेरी जान फुल्ली सैटिस्फाई करना चाहते हैं.

बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ भोजपुरी मगर एक रात करीब ग्यारह-साढ़े ग्यारह बजे होंगे, जब मकान मालकिन ने मुझे जगाकर बताया कि शायरा के पेट में दर्द हो रहा है. ऐसे ही अंशिका बोल रही थी- उई बहन चोद दी आज हमारी … उई उई आह आह सी सी सीससी मर गयी … मरवा दिया … कुतिया … ले जीजू साले … पी … मेरा मूत!कहते हुए उसने मेरे मुंह में अपनी चूत का रस छोड़ दिया और पूरी तरह झड़ गयी थी।अब अंशिका मेरे मुंह से उठ गयी और सपना भी हम सभी एक दूसरे से अलग हुए और साथ ही मैंने अंजू को घोड़ी बनने के लिए कहा.

सेक्सी फोटो दिखा दो

कोई चोरी तो की नहीं है, पर जब उसके पति को ये मालूम होगा कि उस रात कौन था या उसे यह मालूम होगा कि उसके पति के साथ कौन थी तो इससे फर्क तो कुछ भी नहीं पड़ेगा पर जरूरत भी क्या है? और फिर कोई भी किसी के साथ हो, ये तो तय है कि कोई भी अपने पार्टनर के साथ नहीं था. प्रीति की योनि मेरे लिंग के सम्पूर्ण स्पर्श को पाकर व्याकुलता से पगला गयी थी. अगले दो दिन तो वो दोनों नहीं मिले लेकिन तीसरे दिन विवेक ने उनकी चुदाई का वीडियो बना लिया.

मैं भी उसकी चूची के निप्पल को खींच खींच कर चूसते हुए बुदबुदाने लगा- हां मेरी जान … आज मैं इन दोनों आमों का सारा रस पी जाऊंगा … आह बहुत प्यारी है तुम्हारी चूचियां. एक दिन तो तेरी दीदी की चूत चोदते हुए मेरे मुंह से निकल गया था ‘बंध्या मन कर रहा है तेरी चूत को फाड़ दूं. होली के दिन सेक्सीमैं उनके स्तनों को हल्का हल्का दांतों से काटने लगा और उनके मुंह से हल्की सी चीख निकल गयी.

वो- क्या … क्या कहा तुमने?शायरा अब चिल्लाते हुए मुझे मारने को दौड़ी और मैं भागा.

इस वज़ह से रोहित ने मेरी दीदी के यहाँ से कमरा खाली करके दूसरी जगह किराये पर कमरा ले लिया और दोनों भाई बहन साथ में रहने लगे. अपनी एक उंगली पर मैंने लोशन लगाया और थोड़ा उसकी चूत पर लगा दिया और एक उंगली उसकी चूत में डाल दी.

स्कूल की 11वीं कक्षा तक मेरे साथ ऐसी कोई बात नहीं हुई थी, जिससे मुझे ऐसे ख्याल आए. सर मुझे जकड़े हुए सिसियाने लगे- अहह अहह मेरी जानेमन … चूस ले लंड … आह पूरा चूस ले. लंड घुसाइए आप अपने हाथों से जल्दी अब!ओह्ह … मेरे पूरे शरीर ने एक झटका खाया और मैं अपनी रण्डी बीवी की बुर में अपने हाथ से ग़ैर मर्द का लंड पकड़ कर घुसाने के लिए आगे बढ़ा.

उसने उठ कर बाहर का मेन दरवाजा बंद कर दिया और करीब आकर बोली- चल बिस्तर पर चलते हैं.

हम दोनों में अभी तक कोई बात तो नहीं हुई थी … मगर जैसे ही मैंने अब अपना मुँह आगे तरफ बढ़ाया, अगले ही पल शर्म और हया से लजा कर स्वतः ही शायरा की नजरें नीचे झुक गईं. पेड़ की ओट से मुझे उसकी आधी गोरी गांड दिखी जिसे देख कर मेरा लन्ड खड़ा हो गया. मेरी दीदियों की गांड मेरी गांड से भी बड़ी हैं और उनके मम्मे भी बड़े हैं.

इंडियन मद्रासी सेक्सी वीडियोबॉस ने कहा- मुझे 10000 तक तो ऑफिस से ही मिल जाएगा इसलिए इससे अगर कुछ ज्यादा भी हुआ, तो चलेगा … मगर लोकॅलिटी सही होनी चाहिए, जैसी आप लोगों की है. दूसरा कारण है कि जिस भी भाभी के बारे में मैं लिखता हूं तो भाई लोग मेरी ईमेल में मैसेज की भरमार कर देते हैं और भाभी का नम्बर मांगने लगते हैं.

मैक्सी कपड़ा

सुबह 10 बजे की बात है कि मैं अपने भैंसों वाले कमरे की साइड में ही था. सीमा बोली- हाय राम मयंक … निकाल दे ना अपने लंड का रस … मेरी चूत में जल्दी से! सी … उई अह्ह्ह … हां मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा है … मेरी चूत भी पानी छोड़ रही है यार. सीमा और मीरा दोनों मेरे लण्ड की दीवानी हैं और मौका देखकर मजा लेती रहती हैं.

उस घर की परिस्थितियों को देखते हुए मुझे लग रहा था कि लड़की भी ऐसी ही सामान्य ही होगी. सर्वेंट सेक्स कहानी में पढ़ें कि मालिक मालकिन के झगड़े में घरेलू नौकर ने मालकिन से सहानुभूति दिखाई तो मालकिन को थोड़ा सहारा मिला. और वो कपड़े पहन ही रही थी तब मैं उठा, मैंने उससे कहा- जानेमन, तुमने मीठा तो खाया ही नहीं?वो मुस्कुराई और चली गई.

उसकी चुत पर एक भी बाल नहीं था … उसने आज अपनी चुत को मेरे लिए सज़ा रखा था. वो मुझसे बोली- साहब, अगर कभी मैं आपको अकेले में बुलाऊँ तो क्या आप आओगे?तो मैं बोला- जरूर आऊंगा मेरी जान!यह सुन कर उसने मुझे अपनी बांहों में भर लिया. अब शिवानी ने मुझसे कहा- मैंने एक और ऐसी ही नाइटी तुम्हारे लिए रखी है, उसे तुम डाल लो.

मुझे आशा है कि आप सभी को मेरी फ्री हिंदी Xxx कहानी जरूर पंसद आई होगी. बाईक पर पायल मुझसे बिल्कुल चिपक कर बैठी थी, जिससे उसकी चुचियां मुझे महसूस हो रही थीं.

शायरा को मेरे साथ प्यार करके अच्छा लग रहा था … क्योंकि उसे प्यार वाला सेक्स चाहिए था, जिसमें पार्टनर की खुशी का भी ध्यान रखा जाए.

हालाँकि सुनील ने ये बात नहीं कही कि वो और मनोज एक दूसरे के लंड से क्या बदमाशी करते थे. सेक्सी विडियो देखेजैसे ही सुपारा उसकी चूत में घुसा, उसके मुँह से निकला- ऊऊई ईईईई मम्मई ईईईई! अंकल आराम से आआआ आह!मैंने धीरे धीरे पूरा लंड उसकी चूत की गहराई तक उतार दिया।फिर हल्के हल्के धक्के देना शुरू किया. देसी चुदाई सेक्सी व्हिडिओमैं भी पीछे-पीछे गया- यार जरूरी है!ज़ारा- तो जाओ! मैंने कब रोका है?मैं- तुम नाराज हो!ज़ारा- नहीं! किसने कहा?मैं- तुम्हारे चेहरे ने!ज़ारा- मेरा चेहरा तो ये भी कहता होगा कि आप मुझसे एक लम्हा भी दूर ना हों?मैं- जान! जरूरी है!ज़ारा- तो जाओ ना! किसने रोका है?मैं- ज़ारा प्लीज समझो!ज़ारा- मैं तो पहले दिन ही समझ गयी थी! चलो खाना लगाने दो अब!उसने खाना लगाया. ये मुंबई में रहती है और चुदाई में अपनी मां से दो नहीं चार कदम आगे है.

सीमा बोली- अगर सब को ठीक लगे तो क्या लाईट धीमी कर लें?नायरा हंस कर बोली- कर तो ले धीमी … पर राहुल को सताना मत ज्यादा, वर्ना वो आज नहीं छोड़ेगा.

करीब रात के 9 बजे मुझे पायल का फोन आया कि मैं अपनी फ्रेंड के साथ उसके घर के बाहर खड़ी हूँ. अब आगे की कहानी जो घटित हुई!अमित ने मुझे कॉल कर पूछा- राजवीर आप कहाँ हो?मैं- जी देहली में हूँ फिलहाल, जिस काम के लिये आया था, वो हुआ नहीं … कल शाम को बुलाया है तो आज यहीं पर रुकूँगा. मुझे गुदगुदी सी हो रही थी, मेरी चूत फड़क रही थी, मेरी टांगें आपस में सटती चली जा रही थीं.

चुत की मटर का दाना, मतलब जो दाना चूत के ऊपर होता है, उसे ही मटर का दाना कह रही हूँ. मैं बार बार लंड उसकी फुद्दी में डालने की कोशिश करता, लेकिन वो हर बार फिसल कर बाहर आ जाता. हाय मेरे प्यारे साथियो, मैंने मेरे यार के लंड को अपने हाथ में लेकर सहलाया और मुँह में भर के चूसने लगी.

ब्लू फोटो

वो मेरे लगातार चूसे जाने से तेज स्वर में ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ कर रही थी. वे बोले- भाई साहब … मेरा कितना भी बड़ा हो, पर अपना लंड खुद अपनी गांड में तो नहीं डाल सकता न!इस पर हम दोनों हंसने लगे. मैं पहुंचा तो सीमा बेहोश हो चुकी थी और घबराई हुई मीरा पास में बेबस खड़ी थी.

खाने के आधे घंटे बाद अभिषेक मुझे फिर से उसी बारिश में छत पर ले गया और मैंने उसी बारिश में भीग कर अभिषेक का लंड चूस चूस कर खड़ा कर दिया.

सास बोलीं- क्या हुआ … ऐसे क्या देख रहे हैं?मैंने झट से नजरें हटाईं और बोला- क.

आंटी- अरे कोई बात नहीं है … आप लोग घबराइए नहीं, आराम से जाइए और ठीक से दिखला कर आइए. मैंने घर जाकर डीवीआर से पूरी फिल्म की रिकॉर्डिंग निकाल कर सेव करने का मन बना लिया था ताकि मैं अपनी बीवी और उसके यार राहुल को सबक सिखा सकूं. कुत्ता की सेक्सी फिल्म वीडियोबेटी जितना तुम खुल कर गन्दी बातें करोगी तुम्हें चुदवाने में उतना ही मजा आयेगा.

मैंने कहा- क्या मतलब?वो बोली कि इसे किसी मस्त लड़के के लंड से चुदवा दूँ. वो गहरे गले का ब्लाउज पहनती थी जिससे उनके क्लीवेज साफ साफ दिखते थे. इसलिए शायरा ने जो ब्रा पैंटी के सैट निकाल कर रखे हुए थे, उनमें से उसने एक को पसंद कर लिया.

मेरी प्यारी बिना चुदी चूत … सच कहूँ तो तुमने अभी तक असली मज़ा ही नहीं लिया. उधर वो अपने जिस्म की मालिश करते करते एकदम से गर्मा गई और अपनी चूत में बड़ी तेजी से उंगली चलाते हुए अपने एक दूध को हाथ से पकड़ कर मसलने लगी.

वो दोनों 6-6 फीट के मर्द और तेरी गर्म चूत को चोद कर तुझे मस्त कर देंगे.

हल्की चुम्मा चाटी करने के बाद हम दोनों ने साथ में लाया हुआ खाना खाया. मैंने भी अपने सारे कपड़े उतारे, दादी के चूतड़ों के नीचे तकिया रखा और अपने लण्ड पर कोल्ड क्रीम लगाकर दादी की चूत में डाल दिया. अगले दो दिन तो वो दोनों नहीं मिले लेकिन तीसरे दिन विवेक ने उनकी चुदाई का वीडियो बना लिया.

सेक्सी वीडियो शादी के साथ इससे न्यासा की तड़प और बढ़ गई और वो सन्नी का लंड मुँह से निकाल कर मुझे गाली डेट हुए लंड चुत में डालने को कहने लगी- अन्दर डाल दे कमीने … क्यों तड़फा रहा है भोसड़ी के!उसके मुँह से गाली सुनकर भी जब मैं नहीं माना, तो उसने दूसरी तरकीब अख्तियार कर ली. आज दीपा ने अपनी चूत को गुलाबजल से नहलाया था और अपने पूरे शरीर पर गुलाब का स्प्रे किया था.

वो मुझे अपनी गोद में उठा कर बाहर गैलरी में ले आया और मेरी चुत में लंड घुसा कर मुझे चोदते हुए पूरे स्कूल में घुमाने लगा. तभी बीच में ही बैंचों पर बैठी हुई कुछ लड़कियों में से एक ने कहा- ओय … कहां?उसने शायद मुझे आवाज दी थी, मगर एक तो मेरे हाथ में चोट लगी थी और दूसरा मुझे गुस्सा भी आ रहा था. एक के बाद एक सात आठ पिचकारी निकलने के बाद उसका लंड अपनी उत्तेजना को मेरे मुँह में खत्म कर चुका था.

15 साल का सेक्स

दूसरी तरफ आरिषा भाभी को काफ़ी दिनों बाद किसी ने ऐसे छुआ था, तो आरिषा भाभी भी पागल हो रही थीं. बातों में पता चला कि उसका वहां एक बॉयफ्रेंड भी है, मुझे उस वक़्त लगा कि गई भैंस पानी में।पर मैंने सोचा प्रयास करने में क्या हर्ज है मुझे कौन सा प्रेम के पींगें बढ़ानी हैं इसके साथ … बातों बातों में मैंने पूछ लिया- क्या तुम अपने ब्वॉयफरेंड के साथ सब कर चुकी हो?तब वो चुप हो गई. फिर भी उसने छिनाल लुक देते हुए मेरी तरफ़ से नज़रें फेर लीं और अपनी चूत की आग को शांत करने में जुटी रही।पंकज- अह्ह्ह … साली तुम बड़ी मस्त माल हो सुमन … उहह्ह् … आज तुम्हारी चूत इस तरह फाडूंगा कि तुम अपने पति के लंड को हमेशा के लिए भूल जाओगी.

अगर आप मेरी मदद करो तो?मैंने कहा- सटक गयी है क्या बुद्धि तेरी? मेरे पास वो पहले से है. मैंने उत्तेजना में उसको कई चांटे भी लगाए … मगर वो इसके मजे ले रही थी और प्यार से चुदने में मेरा साथ दिए जा रही थी.

मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि भाभी का इतना मस्त माल मेरे सामने खुला पड़ा होगा.

उसके इस तरह से लंड चूसे जाने से मैं भी आश्चर्य में था कि इसने पूरा लंड मुँह के अन्दर कैसे ले लिया. मैंने सामने से देखा, तो मामी की चूत क्या मस्त चूत थी … उस पर छोटे छोटे बाल उगे थे. दोस्तो इस समय मुझे भाभी की चुत में मेरा लंड ऐसा लग रहा था कि जैसे तपती भट्टी में मैंने लंड डाल दिया हो.

मैंने डॉक्टर से मिल कर पापा को एक अच्छे हॉस्पिटल में भर्ती कराया और उधर उनका सही से इलाज होने लगा. इससे आरिषा भाभी और भी पागल हो रही थीं और रामू को बोल रही थीं- आह … खा जाओ इन्हें!रामू ने कुछ देर भाभी के दोनों मम्मों के मस्ती से चूसा और मसला जिससे भाभी मदमस्त हो गईं. मेरी मां और मामा जी ने किसी तरह मुझे उन दोनों लड़कियों को देखने के लिए राजी कर लिया.

मेरे हाथ अब उनकी कमर से ऊपर उनके ब्लाउज से ढके हुए हिस्से को सहला रहे थे.

बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ भोजपुरी: फिर मैं अपने एक हाथ के अंगूठे पर थूक लगा कर उसकी गांड के छेद को सहलाने लगा. वो दोनों अपनी चुदाई में इतने मस्त थे कि उनको कुछ होश नहीं था कि आस-पास कोई आ भी सकता है.

करीब 45 साल की उम्र, 5 फीट 6 इंच का कद, गोरा चिट्टा रंग, 38 इंच की चूचियां और 42 इंच के चूतड़. मुझे भाई का यह सुझाव अच्छा लगा, मैं तुरंत विजय के साथ अपनी कोरोना जांच करवाने पहुंच गई और कोरोना जांच करवाई. मेरे मम्मों का साइज भी अभिषेक ने बढ़ा दिया था क्योंकि अभिषेक को मेरे बूब्स चूसना और मसलना बहुत पसंद हैं.

उसके बाद एक चपरासी उनको बुलाने आया, शायद प्रिंसीपल उनको किसी काम से बुला रहे थे.

इतना बोल कर मैं वहां से निकलकर कुछ दूर जाकर अपने दोस्त का इंतजार करने लगा. मैंने अपनी लैगी को ऊपर किया और जीजा से ने भी जल्दी से अपना लंड अपनी पैंट में डाल लिया. आधी रात को फिर फोन बजा और उसने कहा- मैडम एक लड़का आया है, जो सिर्फ़ एक घंटे तक रहेगा.