देसी बीएफ सेक्सी मूवी

छवि स्रोत,ఆంటీ సెక్స్ ఆంటీ సెక్స్

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी सेक्सी जबरदस्ती: देसी बीएफ सेक्सी मूवी, फिर मैंने उसकी कच्छी थोड़ी सी नीचे सरका दी थी और उसको टेढ़ा लेटा दिया.

बीपी सेक्सी मूवी वीडियो

उसके बाद जब 12 बजे अलार्म बजा तो मैंने झट से उठ कर उसको बंद कर दिया ताकि अलार्म की आवाज से माँ न उठ जाए. ব্লু ফিল্ম দেখিशायद उसको भी उसकी चोदाई करते हुए लड़के का चेहरा देखना बहुत सुखद लग रहा था.

मैं शर्मा गई और कहा- वो कैसी मूवी होती है?उसने कहा- तुमने अभी तक कभी ऐसी मूवी नहीं देखी?मैंने कहा- नहीं!वो बोला- क्या तुम देखना पसंद करोगी?मेरे हां या ना बोलने से पहले ही वो अपना लैपटॉप लेने चला गया. दारू ब्रांडमैंने सारे पर्दे डालकर कमरे में अंधेरा कर लिया और मैं चादर ओढ़ कर सो गया.

ऐसे ही एक दिन ऑफिस टाइम खत्म होने के बाद उसने मुझे पीछे से आकर पकड़ लिया और उसके बाद हमारी चुदाई का खेल शुरू हो गया.देसी बीएफ सेक्सी मूवी: वैसे अभी एक राउंड और हो जाए तुम्हारी अम्मी की बातें करके लंड पूरा टाइट हो गया है.

मेरे बॉस बुर फैला के जीभ से छेद को चाटने लगे, कुछ ही देर में मैं फिर से गर्म हो गई.मैं थोड़ा और मजे लेने के मूड में था, तो अपने लंड को चूत के ऊपर ही रगड़ने लगा.

जापान की सेक्सी पिक्चर दिखाओ - देसी बीएफ सेक्सी मूवी

वो बोली- आते आते शुरू हो गए?मैंने बोला- बहुत तड़फाया है, अब नहीं छोडूंगा.जब ताऊ जी ने अच्छी तरह से बुआ की चूत पर तेल मल दिया तो वो उठ कर खड़े हो गये.

मेरी चूत में भोला का रस तो पहले से ही भरा हुआ था और अब ऊपर से जीजा का रस भी मेरी चूत में जाकर छूट गया. देसी बीएफ सेक्सी मूवी शादी के बाद जब तेरा पति रोज तेरी चुदाई करेगा तो तेरा पेट फूल जायेगा.

कई मिनट तक ऐसे ही किस करने के बाद वह बोली- मयंक, मेरे पति मुझे संतुष्ट नहीं कर पाते.

देसी बीएफ सेक्सी मूवी?

थोड़ी देर में वो तो सामान्य हो गई लेकिन मेरी हालत खराब थी कि पूरा लण्ड अभी बाहर था. अगर उसकी चूत में ज़रा सी भी खुजली होती होगी वो चुदने के लिए तैयार हो जायेगी. उसकी चूचियां बत्तीस इंच के साइज़ की थीं … जो अलका ने मुझे बाद में बताया.

मैं कोई दवाई लेकर चुदाई की बात नहीं कह रहा हूँ, बल्कि ये मेरी कुदरती स्टेमिना है. आप लोग इन सभी कहानियों को पढ़कर वापिस मेल के जरिए जबाव देकर हमें प्रोत्साहित करते हैं. मैंने उससे कहा- मुझे पता है तू मुझसे नाराज है, लेकिन मैं सॉरी बोल रहा हूं.

आपकी प्रतिक्रिया को लेकर मैं बहुत उत्साहित हो जाती हूँ इसलिए जल्दी ही आपके लिए यह कहानी लेकर आई हूँ. उसने मेरी कुर्ती को निकाल दिया और उसके बाद मेरी ब्रा को भी निकाल दिया. उनके मन में ये था कि उन दोनों को सेक्स करते उनकी जवान सेक्सी साली देख रही है.

मुझे अब काफी मजा आ रहा था, मैं भी जोर जोर से सिसकारी ले रही थी- स्स्स्स आअह्ह सिससीईई ईईइ अआ आआ ह्ह्ह!कुछ देर बाद उसने लंड बाहर निकाला और मेरी गांड को चाटने लगा. यह बात मुझे तब पता चली, जब मैं उसका नाड़ा खोल रहा था और वो मेरे हाथ पकड़ रही थी.

मेरी चूत में भोला का रस तो पहले से ही भरा हुआ था और अब ऊपर से जीजा का रस भी मेरी चूत में जाकर छूट गया.

तू जब इतने महान मर्दों के लौड़ों को निचोड़ रही है तो उसकी छोटी सी लुल्ली तेरी गर्म भट्टी के सामने कहां टिक पायेगी.

वो मुझसे मोबाइल लेने के लिए मुझ पर झपटी, उसी खींचातानी में वो मेरे ऊपर गिर गई और मेरे सामने उसका चेहरा आ गया. मोनिका- केवल मजाक … या मस्ती भी?यह बात उसने मेरी आँखों में आंखें डाल कर कुछ झुक कर इस तरह कही कि उसके चुचे भी दर्शन देने को उतारू हो गये. थोड़ी देर आराम करने के बाद वो उठी और मेरे सामने खड़ी होकर सलवार ऊपर करके नाड़ा बांधने लगी.

उम्म्ह… अहह… हय… याह…स्स्स … सर … दर्द हो रहा है!” वह कसमसाते हुए कहने लगी. बस इस तरफ उसकी गर्म चूत ने अपना माल निकाला, तो मेरे लंड ने भी हार मान ली और नम्रता की हथेली पर रस झटके के साथ निकल पड़ा. साथ ही साथ मैं खुद को मर्द इमेजिन करके सरला के मुँह को चूत समझकर जोर जोर से आगे पीछे होने लगी.

ये बात रवींद्र को वनिता पहले ही बता चुकी थी कि उसका पति बाहर जाने वाला है.

दोस्तो, आपकी कोमल फिर से हाज़िर है अपनी इस कहानी के अगले और अंतिम भाग के साथ. उसको इस रूप में देखते ही मेरे अंदर का हवसी शैतान जाग उठा और मैंने उसको खींच कर बिस्तर गिरा लिया. काफी देर बाद जब पूरा लण्ड उसकी चूत में समा गया तो मैं धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा.

कुछ देर में ही उसके लंड ने मेरी गांड में जगह बना ली थी, जिससे मुझे दर्द होना बंद हो गया था. मैं अदिति को सच नहीं बताना चाहता था क्योंकि हो सकता था कि वो फिर मेरे साथ रुकने के लिए मना कर देती इसलिए मैंने उसको पूरा सच नहीं बताया. उसकी मादक सिसकारियों से पता चल रहा था कि अब वो लंड लेने के लिए तैयार है.

आस पास के इलाके में कौन सी लड़की का किसके साथ चक्कर चल रहा है … वगैरह वगैरह.

यूं तो मेरी जिन्दगी में बहुत से ऐसे वाकये हुए हैं जो मैं आप लोगों के साथ साझा करना चाहता हूँ लेकिन शुरूआत सबसे दिलचस्प किस्से के साथ करते हैं. नम्रता- तुमने मुझे बहुत बड़ा सुख दिया है, मुझे जिस सेक्स की चाहत थी, वो तुमने पूरी कर दी.

देसी बीएफ सेक्सी मूवी मैं उसकी नाभि के इर्द गिर्द मेरी जीभ घुमा रहा था और काजल अब आउट ऑफ़ कण्ट्रोल हो रही थी. बात करते करते मैं उसकी गांड में उंगली डालता और निकालकर अपने मुँह में रख लेता.

देसी बीएफ सेक्सी मूवी फिर जीजा ने दीदी के बालों में हाथ फिराना शुरू कर दिया और कुछ ही देर में दीदी को नींद आ गई. ये देख कर मेरे जान में जान आई और मैंने भी कान पकड़कर उसको सॉरी बोला.

मुझे अपनी चूची चुसवाने में बड़ा मजा आ रहा था मैं खुद अपने हाथ से अपना दूध पकड़ कर उसको पिला रही थी.

ब्लू फिल्म सेक्सी गंदी वाली

अपना लोअर और चड्डी दोनों एक साथ नीचे करके अपना लंड सीधे उसके मुँह में डाल कर उसके सर को पीछे से पकड़ के चोदने लगा. फिर दिशा और सोनल ने बारी-बारी से मेरा लंड चूसा और मैं राधिका को घोड़ी बनाकर उसकी गांड मारने लगा. उनके मुँह चीख निकल ही गई, लेकिन भाभी ने तुरंत ही खुद को सम्भाल लिया.

कभी खुद का मन उचाट हो जाता था, कभी परिस्थितियां लिखने नहीं देती थीं. दूसरा हाथ मेरी गर्दन से लिपटा हुआ मेरे मुंह को उसके मुंह से दबाए हुए था. ऐसा चोदू मर्द मुझे मिल गया था जिसकी चुदाई पाकर कोई बांझ भी बच्चा जन दे.

फिर हम सब ने उसको अपने हाथों से नंगा किया और बारी-बारी से उससे अपनी चूत चुदवाई.

मैं मस्ती से बोल रही थी- अरे बहनचोद साले अब चोद तू अपनी बहन को और अपनी बहन की चूत को फाड़ कर उसका भोसड़ा बना दे. मौसी मुझसे बोलीं कि अब और कोई ट्रेन नहीं है तो सामने उस होटल में रुक जाते हैं और कल कुछ कपड़े लेकर चलेंगे. जैसा रानी ने आदेश किया था, वैसे मैंने लंड बाहर निकाला तो, कितना खींचना है उसका अंदाज़ा सही न होने के कारण, वो पूरा का पूरा सड़प्प की आवाज़ से रानी की बुर से बाहर हो गया.

उसकी चूत में मैं उंगली चलाने लगा और एक हाथ ऊपर की तरफ उसके चूचे को भी दबाता रहा. पर कुछ में तो मेरे सुबुद्ध पाठकों के वाक़ई में लाज़बाब सुझाव थे या बहुत ही बुद्धिमत्तापूर्वक आलोचन. कुछ देर तक जब बुआ की तरफ से कोई एक्शन नहीं हुआ, तो मैंने उंगली बुआ की चूत में डाली और अन्दर-बाहर करने लगा.

मेरी पड़ोसन की चुदाई स्टोरी के पहले भागपड़ोसन लड़की के चूतड़ों का दीवाना-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी पड़ोस में रहने वाली जवान कुंवारी लड़की को पटाया और उसकी चुदाई की. मैं तुम्हारे लिए फ्रिज से कोल्ड ड्रिंक लेकर आता हूं तब तक तुम सीडी प्लेयर को ऑन कर दो.

भाभी भी पूरी तरह वासना के इस खेल के आनन्द में डूब गयी और ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… आउच. मैंने लण्ड पर क्रीम लगाई और उसकी चूत के लब खोलकर लण्ड का सुपारा रखकर दबाया तो सुपारा टप्प से आन्दर हो गया. उसके बाद मैं उससे फिर नहीं मिल पाया क्योंकि मैं पढ़ाई के लिए इंदौर आ गया था.

मैं दर्द से चिल्ला पड़ी,उम्म्ह… अहह… हय… याह… तो उसने मेरे मुँह पे हाथ रख दिया और धीरे धीरे चोदने लगा.

उन्होंने मेरे सर को दबाया और फिर आगे बढ़ती गयी मेरे फिर हाथों से होते हुए सीने को सहलाने लगी. उसके बाद मेरे रवि बॉस ने अपने लंड पर भी क्रीम लगाई और क्रीम लगाते हुए उसका लौड़ा पूरा का पूरा तन गया. इस पर उन्होंने मेरा सिर नीचे कर के अपना पूरा का पूरा लंड मेरे मुँह में दे दिया.

फिर धीरे धीरे हमारी बातें शुरू हुई और बात ही बात में पता चला कि उनकी एक लड़की है जो कॉलेज पढ़ती है। उनके पति प्राइवेट जॉब करते हैं, वो खुद एक सरकारी टीचर हैं।धीरे धीरे हमारी बात आगे बढ़ी और घर परिवार की बातें भी होने लगी. उसकी बात पर एक बार तो मेरी बोलती बंद हो गई कि अचानक बर्थडे की बात से एकदम ये लंड पर कैसे उतर आई?मगर मैंने भी हिम्मत करते हुए कह ही दिया- उस दिन जो नजारा दिखाई दे रहा था उसके मजे लूट रहा था.

मैं आंटी के नाम से कई बार बाथरूम में और मेरे रूम में मुठ मारा करता था. इस आसन में दो ही मिनट में मेरी चूत ने अपना रस छोड़ दिया, पर भाई पर उसका कोई असर नहीं हुआ. दीदी ने भी जीजा जी के चूतड़ों को अपने हाथों में भर लिया था और दूसरी तरफ से उन्होंने जीजा के लंड को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

सेक्सी वीडियो चुदाई हिंदी आवाज में

पर आज मेरा लंड गांजे के नशे में तन रहा था और मैं धकापेल लंड पेल रहा था.

पिछले 2 घंटों के करतबों के दौरान उसकी चूचियां बहुत सेंसिटिव हो गयी थीं. कुछ देर बाद नम्रता ने चुप्पी तोड़ते हुए कहा- जानेमन, वास्तव में मैं जो अपनी चूत या अपने जिस्म के लिये चाहती थी, वो आज जाकर पूरी हुई. और हल्की डरी हुई नंगी ही गेट की तरफ चलने लगी … उसकी चाल में लड़खड़ाहट थी.

मैंने मेरे एक दोस्त से बात की, फिर उसके साथ अगले दिन सुबह उसके घर के लिए निकल गया. कई मिनट तक ऐसे ही किस करने के बाद वह बोली- मयंक, मेरे पति मुझे संतुष्ट नहीं कर पाते. सेक्सी चुदाई की कहानियां हिंदी मेंफिर भी बताइये अगर कुछ काम है तो?मैं उठी और बोली- रहने दो, सब ठीक है.

इस आसन में दोनों प्रेमियों के मुंह एक दूसरे के बहुत ही करीब आ जाते हैं, लेकिन होंठ चूसने जितने नहीं. फिर बातों बातों मैं मेरे भाई ने, जो मेरे से छोटा है, मुझसे कहा कि तू अभी तक इस बात को लेकर वर्जिन है कि भाभी से अपनी शुरुआत करेगा.

मैं- दिशा चल उठ, बाथरूम जाना है … तुम मेरे साथ नहाना पंसद करोगी?दिशा- हां जीजू, चलिए. मेरी लाइफ की इस देवर भाभी सेक्स की सत्य घटना को पढ़ने के आपका धन्यवाद. अब बुआ नीचे आ गई थी और ताऊ जी उनकी टांगों को अपने हाथ में पकड़ कर अपने कंधों पर रखवा लिया और लंड को चूत पर सेट करके फिर से अंदर घुसा दिया.

फिर हम दोनों ने लेस्बियन सेक्स के साथ एक दूसरे की सेक्स की चाहतों को शेयर किया तो मालूम हुआ कि वो भी बड़ी चुदक्कड़ थी. मैं भी पूरा सेक्स में डूब चुका था, मैं अपने हाथ उसके पीछे ले गया और उसकी मुलायम नर्म पीठ को कस कर पकड़ लिया और अपने कपड़े भी उतार कर नंगा हो गया. मैं अधिकतर तो सलवार सूट पहनती थी, पर घर में लोवर और टी-शर्ट में होती.

फिर एक दिन पति को काम से बाहर जाना था तो पति ने मुझे फोन किया और बोले- मेरा बैग तैयार रखना, मुझे शाम को चेन्नई जाना है, मुझे कम से कम 15 दिन लग जाएंगे.

अगले दिन अपने नोट्स लेकर कुलजीत के घर गया तो उसने अपने मम्मी पापा से मिलवाया. जब भाई का लंड मेरी चूत की जड़ तक गया, तो मेरे मुँह से एक जोर की आआअह्ह निकल गयी.

मैं बहुत किस्मत वाला हूँ कि मुझे उसके साथ सेक्स करने का मजा मिलता है. हमारी सांसें तेज होने लगीं, किस करते हुए मैं उसकी जांघों को सहलाने लगा. क्योंकि अब उन सांडों को झेल पाने जितना दम मुझमे नहीं बचा था और मेरी चुत भी उनके मोटे लंड लेने से मुझे मना कर रही थी.

उसने अपनी स्कर्ट कमर तक उठा ली और अपनी चूत को मेरे लण्ड से सटा लिया. उसकी चूत ने प्रीकम छोड़ दिया था, जिससे चूत में पानी का रिसाव होने लगा था. मैंने मेरे एक दोस्त से बात की, फिर उसके साथ अगले दिन सुबह उसके घर के लिए निकल गया.

देसी बीएफ सेक्सी मूवी हम दोनों एक अच्छे से होटल में चले गए और उसने उस होटल में एक रूम ले लिया. मुझे भी दारू पीनी पड़ी क्योंकि मैंने उनको कहा था कि वो मेरी बहन के साथ कुछ नहीं करेंगे.

सेक्सी डॉग वाली फिल्म

फिर क्या था मैंने स्वीटी को लिफ्ट दी और उसे जल्दी से न पहुंचाने की जगह बात करने के लिए ज्यादा समय मिल जाए, इसलिए थोड़ा घुमा फिरा के स्वीटी को घर के पास छोड़ दिया. नसीब की बात कहें या मजबूरी कहूँ कि एक बार मुझे एक ही जगह पर दो साल हो गए थे. उनका असली नाम सो अक्षर से ही शुरू होता है जिसे मैंने सो से सोनम बना लिया.

मैंने अपनी जिंदगी में इतना मजा पहले कभी नहीं लिया था जितना तेरी चूत को चोद कर लिया है. चूँकि वो झड़ चुकी थी … इसलिए मेरा हाथ भी उसकी चूत के रस से सन गया था. देसी सेक्सी विडियोंइसके बाद मैंने भाभी को अपने नीचे लिया और उसके एक मम्मे को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा.

फिर उन्होंने मुझसे कहा- कल फिटनेस सेंटर के लिए तुम मुझे मेरे घर से पिक कर लेना.

परंतु मेरा लण्ड अब भी खड़ा हुआ था। मैंने उसे पकड़ कर इशारे में पूछा- कहाँ चल दी?तो उसने बोला- बाहर!मैंने लण्ड की तरफ इशारे करते हुए बोला- फिर इसका क्या होगा?वो बोली- अब नहीं, बहुत देर हो चुकी है. मैंने मैडम के सेक्सी फीगर और गांड के बारे में सोचा तो लंड फटाक से तन गया.

मुझ पर ही भूत सवार था किसी मिल्ट्री-ऑफिसर को दामाद बनाने का और मेरी इस बेकार की जिद ने सब गुड़-गोबर कर दिया. हम दोनों कार से वापस सर्विस सेन्टर गए, वहां जा कर अपना अपना मोबाइल लिया. वो बोल रही थी- आरव प्लीज़ खा जाओ मेरी चुत को … ऊऊहह … जल्लदीईई … डालो अपना लंड.

जिस चूत को मोटे लंड से आधा आधा घंटा रगड़वाने की आदत हो, उस चूत में उंगली क्या काम करती.

जब वह मेरे साथ बाइक पर बैठकर कहीं जातीं, तो उनके चूचों का स्पर्श पाकर लंड कुलांचें भरने लगता था. लेकिन भाभी डर गयी और बोलने लगी- अभी तक मैंने गांड नहीं मरवायी है … प्लीज उधर रहने दो, बहुत दर्द होगा. जीजू का लंड मानसी के चूतड़ों पर रगड़ खा रहा था और वो जीजू को बेतहाशा चूमने में लगी हुई थी.

सेक्सी विडी ओदिशा- आप अब दीदी के साथ चुदाई का दंगल खेलो, हमें थोड़ा आराम करना है. भैया बोले- हां नहीं बताऊंगा, लेकिन तुझे भी, मैं जैसा इस गेम में आगे कहूँगा, वैसा मानना होगा वरना मैं जाकर सबको बता दूंगा.

मारवाड़ी सेक्सी वीडियो नागौर

कुछ ही देर में कूलर के सामने लेटने से मुझे नींद आने लगी और मैं सोने के लिए कहने लगा. काफी देर तक आंटी के बूब्स से मज़े लेने के बाद मुझे अपने लंड पर उसकी चूत से पानी रिसता सा महसूस हुआ. चूँकि वो झड़ चुकी थी … इसलिए मेरा हाथ भी उसकी चूत के रस से सन गया था.

और वो चला गया।विक्रम ने धीरे से मेरा घूंघट हटाया और बोला- क्या गजब माल फंसाया है राकेश ने!मैं हँस दी और उसने मेरे बूब्स दबा लिए और मेरे कपड़े निकलने लगा. कैसे मैंने कैसे अपने लंड से भाबी की प्यास बुझाई, कैसे उनके प्यारे से भोसड़े को जम कर चोदा. दीदी ने अपने फ्रॉक के अंदर हाथ डाला और अंदर ही अंदर पैंटी को उतार कर नीचे बैठ गई.

चाची बस ‘अहह … ओहह … आह्ह्ह …’ करती रहीं और उनकी सांसें तेज़ होने लगीं. मैं आपका दोस्त, राजवीर मिड्ढा फ़िर से आपकी खिदमत में हाज़िर हूँ जिंदगी की भाग-दौड़ में वाक़या एक नया अफसाना लेकर. उसी वक्त भाभी ने दिमाग से काम लिया और अपनी बहन का ध्यान अपनी तरफ बंटाने की कोशिश करने लगी.

इसी तरह इन दोनों ने मुझे काफी देर चोदा और फिर अरविंद और दिनेश मेरी चूत गांड चोदने लगे. आपका देव कुमार[emailprotected]कहानी का अगला भाग:आंटी की प्यासी जवानी मांगे लंड-2.

फिर वो मुझे बांहों में दबा के कहने लगा- आई वोन्ट टू मैरी यू एन्ड आई वोन्ट टू टेक यू माय कंट्री माय लव.

नहाकर अपने साथ लाई हुई टी शर्ट व लोअर पहनकर कमरे में आया तो वो सो चुकी थी. मारवाड़ी सेक्सी वीडियो राजस्थान बाड़मेरमेरा लंड अंदर जा चुका था और हेतल उसको निकालने के लिए छटपटाती हुई मुझे पीछे धकेलने लगी. लड़की के कुत्ताउन्होंने दीदी के चूचों के बीच में ले जाकर अपने लंड को रगड़ना शुरू कर दिया. यदि पति के शक करने से आप स्वयं को बचाना चाहती हैं तो सुहागरात के दिन आप सेक्स क्रिया के दौरान दर्द होने का नाटक भी कर सकती हैं चाहे आपको दर्द कम हो रहा हो या बिल्कुल ही न हो रहा हो.

ऐसा चोदू मर्द मुझे मिल गया था जिसकी चुदाई पाकर कोई बांझ भी बच्चा जन दे.

फिर हम तीनों दोस्तों ने ज्योति आंटी की चूत चुदाई का प्लान बनाना शुरू कर दिया. उसने बोलना शुरू किया- रंडी साली, अभी तक चिल्ला रही हैं जैसे तेरी चूत में पहली बार लोड़ा घुसा हो. फिर पूजा उस लड़की की तरफ देखा, तो वो भी अपना गाल पकड़ कर हां में अपना सर हिलाते हुए बोली कि तू ऐसे ही खड़ी रहेगी या कुछ कपड़े भी पहनेगी?ये बोल कर उसने आंख मार दी.

आशा है कि मेरी पहले वाली सब घटनाओं के वर्णनों की तरह यह भी पढ़ने वालों को पसंद आएगी. मैं वापिस बैड की ओर लौटा और मैंने बेड पर बैठी आँख भर कर वसुन्धरा को देखा. अपनी सारी उत्तेजना को मोनी की चूत में उगलने के बाद मैंने उसे छोड़ दिया और करवट बदलकर अपना मुँह दूसरी तरफ कर लिया।उसके बाद पता नहीं मोनी ने क्या किया और क्या नहीं … मगर शराब के नशे के कारण मुझे कुछ देर बाद ही नींद आ गयी।कहानी अगले भाग में जारी रहेगी.

सेक्सी पिक्चर पिक्चर ब्लू पिक्चर

कुछ ही देर में उसने अपनी गांड को हिलाना शुरू किया और यह इस बात का इशारा था कि अब वह मेरे लंड से चुदाई के लिए तड़प उठी है. धीरे-धीरे मैं शांत हो गया और दो मिनट तक ऐसे ही उसको मेज पर लेटा कर उसके चूचों से चिपका रहा. पांच मिनट तक हम दोनों जीजा-साली ऐेसे ही थक कर एक दूसरे के ऊपर पड़े रहे.

अंकल- बेटा इसमें हम क्या कर सकते हैं?मैं- आप मेरे भरोसे के हो और मेरे दोस्त भी हो.

मैंने धीरे से उसकी चूत पर लंड को लगाया एक झटके से लंड को अंदर घुसा दिया.

आइस का स्पर्श पाते ही उसके चूचक कड़े हो गए थे।वो आहहहह … ऊ … ओह … की हल्की सीत्कार ले रही थी. मुझे लंड चूसना आदि कुछ आता नहीं था इसलिए मैं सही से लंड चूस नहीं पा रही थी. नगीना की सेक्सीमां बोली- तो मैं भी चल पड़ती हूं तुम्हारे साथ, मुझे भी बाजार से सामान लाना है.

अलका- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैं- नहीं … अब तक तो कोई भी नहीं है. उसने फोन उठाया तो पता चला कि गीता मौसी अपनी बहन यानि कि मेरी स्वर्गवासी मां के यहां कुछ दिन रहने के लिए आ रही है. अजय ने सामने से आकर मेरे मुँह में पूरा लौड़ा डाल दिया और लंड को मेरे गले तक ठांस दिया.

पिताजी जिस दफ्तर में नौकरी करते थे उसी विभाग की पूरी कालोनी बसी थी जिसमें फोर्थ क्लास के क्वार्टर में हम सब रहते थे. मगर मैंने जोर लगाते हुए उसकी चूत के ऊपरी फूले हुए भाग को ही धीरे-धीरे सहलाना शुरू कर दिया.

बाप ने अपनी बड़ी बेटी सरिता की चूत में 20-25 बार उंगली से चुदाई की, तो वह एकदम से मस्त होकर बोली- हाय पापा!बाप ने अपने अंगूठे को पक्क से बाहर किया, तो सरिता झुक कर अपनी चूत देख कर बोली- रस निकला पापा?छोटी वाली नीना, जो मेरी सहेली थी, जल्दी से खड़ी हुई और अपनी काली रानों के बीच की अपनी काली चूत पर हाथ रखकर बोली- इसका हो गया पापा, अब मुझको मज़ा दीजिए.

ताऊ जी मेरी बुआ के चूचों को चूसते हुए कमर चला कर उनकी चूत मार रहे थे. तुम अपनी दीदी की चिंता मत करो, बस इन पलों का मजा लो मेरी जान!कहकर जीजा ने मुझे फिर से चूसना शुरू कर दिया. मगर अगले ही पल उसका चेहरा ऐसे उतर गया जैसे बाढ़ आई नदी से पानी उतर जाता है.

ಆಪನ್ ಸೆಕ್ಸ್ वो फिर जानवर की तरह मुझे चोदने के साथ मेरे जिस्म को काटने लगा और मेरी चूचियों को जोर से भींचने और दबाने लगा. मैं नहाने चला गया और वापस आ कर देखा, तो उसने मुझे 20000 दिए और कहा कि पंकज अब आप पलंग पर लेट जाओ.

मैंने उससे फिर से पूछा- मुझे जब तक जवाब नहीं मिलेगा, मैं ऐसे ही तुमको परेशान करता रहूँगा. हेतल ने मानसी को सलाह देते हुए कहा- तू चाहे तो तू भी अपने ऑफिस में चुदवा सकती है. फिर मैंने अपनी पैन्ट खोली और लंड निकाल कर उनके पेट के पास लगा दिया.

तबला सेक्सी

उसकी गोरी और चिकनी टांगें मुझे दिखाई दीं जिन पर पानी की बूंदें बहकर फर्श पर गिरते हुए उसके पैरों के निशान बना रही थी. वसुन्धरा को कुदरत ने या फिर खुद वसुन्धरा ने, दबंग और बद्तमीज़ बना दिया था लेकिन इस में एक लोचा था. हैलो फ्रेंड्स, मेरी पहली कहानीचलती बस में गांड मराई की हसीन रातके लिए आप लोगों के मुझे बहुत सारे ईमेल आए, जिनसे मुझे मालूम हुआ कि मेरी कहानी आप सभी को बहुत अच्छी लगी.

अचानक हुए इस हमले को मैं सह नहीं सकी और जोर जोर से चिल्लाते हुए रोने लगी. तब जाकर वो दोनों खुश हुए और दोबारा से उनके चेहरे पर मुस्कान देखने को मिली.

”मम्मी खड़ी हुईं और एक एक कर के सारे कपड़े उतार दिए, पूरी नंगी लेट गयी।अंशु ने मेरी चुचियाँ दबाई- सोच रही हैं कि जांच होगी। इसे पता नहीं कि अभी मेरा भाई इसके ऊपर चढ़ेगा.

मगर फिर सोचा कि देखूं तो सही ये हरामी आखिर है कौन जिससे सुमिना अपनी चूत चुदवा रही है. मैं उसकी गांड की छेद में उंगली डाल डाल के मज़ा लेने लगा और उसको भी मज़ा देने लगा. मेरे भाई को अभी भी नहीं पता है कि उसका दोस्त उसकीबहन की चूतमार रहा है.

आस पास के इलाके में कौन सी लड़की का किसके साथ चक्कर चल रहा है … वगैरह वगैरह. वो बोल रही थीं- ओह्ह … तुम नहीं जानते … औरत में बहुत गर्मी रहती है … तुम इस बात को तब तक नहीं समझोगे, जब तक मेरे अन्दर नहीं आ जाओगे. वह एक बार तो उछली मगर उसके बाद फिर उसने अपनी चूत को ऊपर से रगड़ना शुरू कर दिया.

दूसरे दिन मेरी दीदी वापस आ गई और दीदी ने मुझे कुछ दिन उन्हीं के साथ वहीं पर रुकने के लिए कह दिया.

देसी बीएफ सेक्सी मूवी: मुझे इतना ज्यादा मजा मिलने लगा कि अभी कुछ समय पहले के जानलेवा दर्द को भूल गई. अतः आप सब से विनती है जिन्हें मेरी लेखन कला पसंद आ रही है और वो मुझसे अपनी कहानी लिखवाना चाहता या चाहती है, वो मुझे मेरे मेल आईडी[emailprotected]पर मेल कर सकते हैं.

ये देखते ही उसने और जोर से धक्के लगा के अपना पूरा दस इंच मेरी कुंवारी चुत में पेल दिया. फिर मैं धीरे से उसके कमरे में आया और एकदम से उसके रूम की लाइट जला दी. यूं समझिये जैसे कि घोंघा … घोंघे का उपरी कवच बहुत सख़्त होता है, अक्सर दूसरे शिकारी जानवर घोंघे का कवच नहीं भेद पाते लेकिन बहुत सख़्त कवच के अंदर घोंघा बहुत ही नाज़ुक, बहुत ही कोमल होता है.

मैंने कहा- क्या कर रही हो?तो वो बचपन की तरह ‘मेरे चाचू कितने प्यारे हैं, कितना अच्छा गाते हैं.

अब आगे:राजेन्द्र अंकल के जाने के बाद मैं भी हॉल में आकर उनके बाजू में बैठ गई. मैंने पजामे में अन्दर से ही अपने लंड को सेट किया और उसका उभार न दिखे इसके लिये मैंने लंड के ऊपर हाथ रख लिया. कुछ देर तो वो दर्द से बिलखती रही मगर फिर उसको भी धीरे-धीरे मजा आने लगा.