देहाती गांव का बीएफ

छवि स्रोत,रंडी भाभी की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

वेस्टइंडीज वीडियो बीएफ: देहाती गांव का बीएफ, चल बन जा कुतिया अभी तुझे पटा कर चोद देता हूँ।पूजा घुटनों पर होकर कमरे में चलने लगी और संजय उसके पीछे-पीछे घुटनों पे चलने लगा। साथ ही वो पूजा की चुत को सूंघने लगा और थोड़ा जीभ से चाट भी लेता।पूजा- उहूँ हू हूँ.

हीरोइन सेक्सी वीडियो हीरोइन

भाभी कुलवंत के रूप के बारे में बताऊँ तो वो एक 25 साल के करीब की हॉट औरत है. सेक्सी पिक्चर वीडियो करने वालीरोहन ने सबके गिलासों को फिर से भर दिया, इस बार एक और गिलास मंजीत का भी था.

ऐश करने आयी हैं तो करती हैं ना! ऐसा मौका फिर कभी खुद चलकर नहीं आएगा! प्लीज! प्लीज! प्लीज!मैंने एक बार थोड़ा सोचा, फिर रिया की तरफ देखा और उसकी चूत दबाते हुए कहा- चल देखते हैं! जो होगा सो होगा!बस इतना बोलते ही रिया ख़ुशी के मरे मेरे गले लग गयी!हम दोनों सिगरेट पीती हुई बाहर आयी. सेक्सी देहाती साड़ी वालाएक कॉमन सीढ़ियों से था और एक प्राइवेट था, जो कि मेरे कमरे से हो कर जाती थीं.

बाल बनाए और टीवी देखने लगे।मैंने उससे ‘आई लव यू’ कहा और उसने भी ‘आई लव यू टू’ कहा। मैंने उसको एक दवाई दी ताकि वो प्रेग्नेंट ना हो और कहा- इसे पानी के साथ पी लो।उसने दवाई खा ली, तभी बेल बजी और मेरी माँ और उसकी माँ डॉक्टर के यहाँ से लौट आई थीं।उसके बाद उसने होमवर्क किया.देहाती गांव का बीएफ: टीना- मैंने सोचा आज तू अपने पापा के साथ कोई गेम खेलेगी, ये सोचकर मैं तेरे घर नहीं आई.

मैं तो अभी सिर्फ़ मज़े लेना चाहता था, मगर तुमने तो चुदाई की बात कर दी.चुत के पानी छोड़ने से अन्दर तक चिकनी हो गई थी, इसलिए लंड आराम से पूरा अन्दर चला गया.

सेक्सी अंग्रेजी बढ़िया - देहाती गांव का बीएफ

साफ पता लग रहा है कि वहाँ सेक्स की ही बातें हो रही हैं और वो बार-बार पैर इधर-उधर कर रही है.संगीता ने अपनी टाँगें चौड़ी कर दीं, अब चन्दन सासू माँ की चूत को अच्छी तरह देख सकता था, उनकी चूत मस्त गुलाबी, बिना बालों की एकदम फूली हुई थी, जिसमें से जमाई के लिए परिचित सी खुशबू आ रही थी.

मोना- नीतू सच में तूने कमाल कर दिया मगर ये कमाल तुझे कल दिखाना होगा. देहाती गांव का बीएफ उसने झट से मेरे लंड को मुँह में लिया, उसको अपने थूक से लबेड़ा और बोली- डालो.

बात करते करते इन्होंने मेरे स्तन दबाने शुरू कर दिए, मुझे मजा आने लगा.

देहाती गांव का बीएफ?

हां अदिति मेरे बारे में अपनी सास से जरूर पूछ लेती हर बार कि पापा जी कैसे हैं. उनके चुच्चे 36 इंच के थे, इस कहानी में मैं भाभी को चंद्रा नाम से कह रहा हूँ. वो कुछ नहीं बोली और मैं उसे गले पर चूमने लगा और उसके मम्मों को दबाने लगा.

गुलशन जी ने बहुत ध्यान लगाया कि लंड से कुछ टच हो रहा है मगर सुमन इतने हल्के तरीके से छू रही थी, जिससे गुलशन जी को समझ नहीं आ रहा था कि सुमन छू रही है या कपड़े की रगड़ से लंड खड़ा हुआ है. मैंने रजनी को पकड़ कर उसके गाल पर एक किस किया और फिर उससे लिपटने लगा. शाम को मेरी मुलाकात राहुल से हुई, 35 वर्षीय राहुल शांत स्वभाव का था, उन दोनों को देखकर ही लगता था दोनों में प्यार बहुत है!ऋतु बहुत खुले विचारों वाली कमसिन महिला है.

मैं धीरे-धीरे ऊपर गया तो मैं हैरान हो गया कि दीदी पड़ोस वाले लड़के सुमित की गोद में बैठी थी. मगर राहुल मुस्करा रहा था तो मैं समझ गया कि ये इनका पहले से ही प्लान था. इस छोटी सी जिंदगी में सब कुछ दिल खोल के किया है मैंने। जब मिनी स्कर्ट पहनती हूँ तो सबकी नज़रें मेरी नंगी जाँघों और नाजुक पैरों पर चिपक जाती हैं.

अब मेरी बातें सरिता से कुछ डबल मीनिंग होनी शुरू हो गई, जैसे कि बात बात में मैंने सरिता की चुचियों को घूरते हुए कहा- आपके तो गाल बड़े मुलायम लगते हैं, काश इनको दबा कर देख पाता!इस पर वह हंसने लगी और बोली- मेरे गाल सबके हाथ में नहीं आते. मैंने भी अपनी शर्ट उतार फेंकी और अपने नंगे सीने से उसके बूब्स दबा कर उसे अपने बाहुपाश में जकड़ लिया और उसका निचला होंठ चूसने लगा.

फिर वो खड़ी हुई और मेरे कपड़े निकलने लगी और मेरे लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही दबाने लगी.

कुछ देर मामा बोले- रुक जाओ!मैं समझ गयी कि मामा जी का रस गिरने वाला है, मामा ने मेरी गांड से लंड निकाल लिया और फिर से घोड़ी बनने को बोले.

सुमन और गुलशन जी बिल की लाइन में लग गए, जब उनका नंबर आया और बैगों से सामान निकाल कर प्राइस कोड मारा गया, तब गुलशन जी तो देखते रह गए। सुमन ने एक से बढ़कर एक ड्रेस ली थीं। फिर ब्रा-पेंटी के सेट्स आए और वो सेक्सी नाइटी. रस के रिसाव से योनि के अंदर स्नेहन हो जाने से मेरा लिंग बहुत तेज़ी से उसके अंदर बाहर जाने लगा और कमरे में फच फच का स्वर गूंजने लगा. तो जान जाने का ख़तरा होता है।मैं भाभी को वैसे ही चूसता रहा। करीबन दस मिनट तक भाभी अपने कंट्रोल में थीं, लेकिन फिर उनकी चुदास का बाँध टूट गया।भाभी- प्रिन्स, अहह.

मुझे पता था कि अदिति घर में अकेली ही होगी क्योंकि मेरे बेटा तो पिछली शाम को ही बंगलौर निकल लिया होगा. ऋतु बोल उठी- उह्ह राज… तुम्हरा लंड तो बहुत बढ़िया है, इसेमेरी चूत में डालोन!और उसे चूसने लगी!उसके मुँह में लेते ही मेरा लंड ऐसे कड़क हो गया जैसे वियाग्रा की 100 एम जी गोली खा ली हो. लेकिन मेरा तौलिया निकल गया तो तेरी जाँघों के टच से मेरा लंड खड़ा हो गया.

उसने फिर से बात शुरु की, वो बोला- हाँ तो कहाँ थे हम?मैंने कहा- रवि की बात बता रहा था मैं!वो बोला- हाँ, अब बता कैसे-कैसे क्या-क्या हुआ तुम्हारे बीच में और कैसे उसने गांड मारी तेरी?मैंन कहानी बताना शुरु किया कि कैसे मैंने रवि को पहली बार देखा और उस पर फिदा हो गया… पहली रात कैसे उसके लंड को चूसा और अगले दिन बारात में लेकर जाते हुए कार में फिर उसके लंड को चूसा.

थोड़ी देर ये सब चलता रहा गुलशन जी बड़े प्यार से उसके सर पर हाथ घुमा रहे थे. बात करते करते उसने मेरा हाथ थाम लिया तो मुझसे रहा नहीं गया और मैंने पलट कर सीधे अपने होंठ उसके होठों पे रख दिए. मैं अपने घर गया तो माँ किचन में थी, मैं बाथरूम में घुस गया और नहा लिया.

मैं भी उसके पीछे पीछे चलने लगा क्योंकि मैं अब उसे छोड़ना नहीं चाहता था. जब दोनों की चुदाई का कोटा पूरा हो गया तो वो सो गए और रात को घर वालों के आने के बाद किसी को शक भी नहीं हुआ क्योंकि सोकर उठने के बाद संजय ने पूजा को सीढ़ियों के कई चक्कर लगवाए ताकि उसकी चाल ठीक रहे. ये नजारा देख कर एक पल के लिए गुलशन जी सब कुछ भूल गए और उनकी अन्तर्वासना जाग गई.

तो बोली- हाँ मैं भी! और करो और जल्दी और आह आअह्हह!फच्च फच्च की आवाज चल रही थी और मैंने एक बड़ी सी गुर्राहट ली और अपना लंड कंडोम से बाहर निकाल सारा माल उसकी गांड पर डालने लगा, उसकी गांड मैंने अपने वीर्य से भर दी.

अब मेरी बारी थी, मैंने उसे ज़मीन से अपनी बाहों में उठाया और बड़े प्यार से बेड पर लेटा दिया, उसे किस करने लगा और बूब्स को मसलने लगा. उसका शरीर काफी भरा हुआ था और उसने हाफ बाजू की शर्ट पहन रखी थी, नीचे खाकी पैंट और पैरों में काले चमड़े के जूते… उसकी जांघें काफी मोटी और मांसल थी… और टांगें फैला कर लगभग पूरी सीट पर उसी का कब्जा बना हुआ था लेकिन फिर भी मैं एडजस्ट होकर उसके साथ बची हुई जगह में बैठ गया.

देहाती गांव का बीएफ टीना ने उसे रंडी बनाने के लिए फास्ट बनाया और सुमन अब आधी रंडी तो बन ही गई थी. उसने मेन गेट पर ताला लगा रखा था तथा दूसरे कमरे, जिसकी एंट्री बाहर से भी थी और अंदर से भी थी, वहां से मुझे आने को कहा.

देहाती गांव का बीएफ मैंने उसे कहा- तुम चिंता मत करो, वो सो गया है, मैंने जो दवाई दी थी उसमें नींद की गोली थी. वो बोलीं- रोहित मुझे तो पता ही नहीं था कि इतना बड़ा और मोटा लंड होगा.

तभी उसने बेड स्विच से लाइट ऑन कर दी, मैंने घबरा कर अपनी आँखें बंद कर की और अपने हाथों से अपने बूब्स को ढक लिया, अपनी दोनों टांगों को एक दूसरे से क्रॉस करवा कर अपनी चूत को भी ढक लिया.

सेक्सी वीडियो खतरनाक सेक्सी

वैसे आपको बता दूँ वो उठी हुई थी और लंड चुसाई भी उसने देखी थी मगर गोपाल जब उठा तो वो भाग कर सोने का नाटक करने लगी. तुमने लगभग 5 मिनट तक ऐसे ही मेरे ऊपर जमकर चुदाई की, फिर तुम रूक गए. वो पूरा दिन अकेली बोर होती रहती है।तो मैंने बोला- हाँ ये तो है, पर मैं क्या कर सकता हूँ?राजेश ने बोला- कुछ नहीं, अगर तुम बुरा नहीं मानो तो तुमसे एक रिक्वेस्ट है।मैंने बोला- हाँ बताओ.

मैं उसके पीछे खड़ा हो गया और उसके काम को देखने के बहाने उसको बार बार टच करने लगा और मौका मिलते ही अपनी नाक उससे टच कर देता और उसके शरीर की मर्दाना खुशबू मुझे मदहोश कर देती. तू कैसे इतने दिन बिना संसर्ग के निकाल लेती है?हेमा- अब भगवान ने जैसा बनाया, वैसी ही हूँ और फिर अपने आप से पूछो, शुरू में कैसे मुझे जानवरों की तरह चोदते थे. अब उन्होंने मुझे नीचे लिटाया और एक एक करके मेरे सारे कपड़े निकाल दिए.

उसने अपने लंड को सैट किया और अपने फेवरिट शॉट मारते हुए एक ही शॉट में मेरी गांड में घुसेड़ डाला.

मामा ने कवर फाड़ कर रबर जैसा कुछ निकाला और उसे अपने लंड पर चढ़ा लिया. चंदन ने एक बार फिर से अपनी जीभ अपनी सास की चूत में डाल दी और उसको चाटने और चूमने लगा. मामा ने अन्दर आने के साथ ही दरवाजा बंद कर दिया और मुझे किस करने लगे.

उसके गोरे गोरे मुलायम पैरों में वो सोने कि पायलें बहुत ही जच रहीं थीं. उसके साथ मैं और जोर जोर से अपनी कमर हिलाने लगी- आअहह आअहह बेटा और जोर से आअहह कम ओन फक मी हार्ड आअहह बेटा और तेज़. यहाँ से download करें!हिन्दुस्तानी लड़कियों से हिन्दी या अन्य स्थानीय भाषाओं में सेक्स चैट करने के लिएदेलही सेक्स चैटपर आयें और मजेदार गर्मागर्म बातों का मजा लें! यहाँ पर आप विडियो सेक्स चैट यानि कैमरे पे भी लड़कियों को अपने इशारे पर नचा सकते हैं.

वीरू- यार सीधे फाइनल टेस्ट? पहले कुछ टेस्ट तो लेकर देख कि ये फाइनल टेस्ट के लिए रेडी भी है या नहीं. जैसे ही मुझे एक भी मेल मिलेगा, मैं अगले दिन की स्टोरी पोस्ट कर दूँगा.

मैं उसे देख के पहले तो धीरे से खिड़की से हट गया पर फिर मेरे मन में ख्याल आया क्यों न इसे लंड देखने दूँ. वो मेरी तरफ देख रही थी, उसके होंठों पे मुस्कान थी और आँखों में एक चमक थी, जो सिर्फ़ प्यार में होने वाले इंसान में ही होती है. प्रोग्राम के मुताबिक वह मुझे अपनी स्कूटी की चाबी दे देगी और मैं उसकी स्कूटी ले कर सोसाईटी से बाहर आ जाऊंगा और उसको बैठा कर खाली प्लॉट्स में ले जाऊंगा.

अब हमारी पोजीशन ये थी कि मैं फर्श पर पीठ के बल लेटा था, मेरे ऊपर सबीना ऐसे बैठी कि उसकी पीठ मेरी टांगों की तरफ थी और वो घुटनों के बल मेरे मुंह पर बैठ थी और हाथों से उसने दीवार पर लगा टॉवल स्टैंड पकड़ा हुआ था.

उसकी तो मानो जान ही निकल गई… वो ज़ोर से चिल्लाई- अह्ह्ह मैं मर गई… अह्ह बहुत दर्द हो रहा है, प्लीज बाहर निकालो. कुछ झटकों के बाद जब भाभी सामान्य हो गईं तो मैंने और जोर से भाभी की चुदाई करने लगा. ‘उसे धोखा नहीं कहते हैं बिटिया, उसे अपने पति की तरफ निष्ठा कहते हैं, तुमको पता है, हम भी कभी पंडित रामफल के साथ सो जाया करते थे.

इन झटकों से मैं बिल्कुल उसकी कमर से चिपक गया और मेरा लंड उसके चूतड़ों में चुभने लग गया था. शायद उसने आज अपनी चूत के बाल साफ़ किये थे… मेरे तो मुंह में पानी आ गया.

चन्द्रा भाभी की कमर 28 इंच की थी और गांड तो पूरी 36 इंच की उठी हुई थी. उसने कहा कि वो एक अमेरिकन दोस्त के साथ है, और हमारे घर से ज्यादा दूर नहीं है, और मेरे यहाँ आ रहा है. सबीना ने कंडोम का पैकेट खोला और कंडोम को मस्ताना के टोपे पर टिका कर मुँह से मस्ताना को कंडोम पहना दिया.

सेक्सी एंड सेक्सी फिल्म

हम पिक्चर हाल से बाहर आये, नज़दीक ही एक रेस्टोरेंट में डिनर किया और 10.

फिर मैंने उसका चेहरा दोनों हाथों से पकड़ कर उसके नाज़ुक होंठों को चूम लिया. ढोल नगाड़े भी बजाओ तब भी नहीं उठेगा। इस पर सुबह पानी डालना पड़ता है, तब जाकर ये उठता है।सुमन- हा हा हा… ऐसी भी क्या नींद है, हा हा हा… दीदी ये तो दुनिया का आठवाँ अजूबा है।टीना- इसको जाने दे. ऋतु गपागप लंड चूस रही थी, मैं समझ गया कि अगर ज्यादा देर इसने चूसा तो मेरा माल झड़ जाएगा जो मैं नहीं चाहता था.

आपने मेरी कामुकता भरी हिन्दी सेक्सी कहानी में पढ़ा कि मैं अपने बेटे के घर में हूँ, मेरी बहु पूरी खुल कर चुद कर अपनी प्यास और मेरी कामुकता का इलाज कर चुकी है. खाना ठंडा हो रहा है।टीना ने फ्लॉरा को संजय के पास बिठाया और सब खाने का मज़ा लेने लगे। वहीं फ्लॉरा बार-बार संजय को देख कर मुस्कुरा देती। ये सब देख कर संजय का लंड तनाव खाने लगा।सब हँसी-मजाक करते हुए खाना खा रहे थे। बीच-बीच में टीना थोड़ी सेक्सी बातें भी कर रही थी. सबसे मोटी औरत की सेक्सी फिल्मएक बार भाभी की चूचियां देख लीं तो मेरे दिमाग में 24 घंटे एक ही ख्याल आने लगा कि कैसे भाभी को पटाऊं और कब उन्हें चोद दूं?खैर फिर रोज सुबह उसी टाइम पर मैं कमरे से बाहर आता और उन्हें देखता रहता.

फिर कुछ पल बाद मैंने सुमन भाभी के होंठ छोड़े और उनके मम्मों को चूसने लगा. उस लड़की ने अपनी चूची को कस कर दबा रखा था और निप्पल में उंगली चलाते हुए मुझसे बोली- चल मेरे दूध को पी!उसकी चूची उसके हाथों में ऐसे लग रही थी मानो खरबूजा उसने पकड़ रखा हो.

लेकिन मेरा मन अभी भी उचटा हुआ था, न जाने कयूं मुझे बस में मिले लड़के की बातें बार-बार कचोट रही थीं. उसने कहा- मज़ा आ गया, बहुत दिनों से प्यासी थी यार!थोड़ी देर बाद वो चली गई, उसके बाद से मिलना तो नहीं हुआ पर व्टसऐप पर बात हो जाती है. मैंने रजनी के चूचों को कस कर दबाया और उसके होठों पर एक मस्त किस किया.

स्कूल से 12 वीं पास करने के बाद मैंने ग्रेजुएशन के लिए कॉलेज में एड्मिशन लिया. वो धीरे से बिस्तर पर बैठ गए और सुमन की टी-शर्ट को पूरा ऊपर कर दिया. आज शाम को जल्दी जाना है एक अर्जेंट काम है, उसके बाद जॉब पे भी जाना है.

चाची की चुत तक का सुहाना सफ़र-1अब तक मेरी इस चाची सेक्स स्टोरी आपने पढ़ा था कि मैं अपने दोस्तों के संग मुठ मारना सीख कर किस तरह जवान हुआ.

इधर मस्त सेक्सी रजनी को अपनी बाँहों में पाकर मेरा काला नाग फन फेलाने लगा. वो मेरी तरफ देख रही थी, उसके होंठों पे मुस्कान थी और आँखों में एक चमक थी, जो सिर्फ़ प्यार में होने वाले इंसान में ही होती है.

मैंने खुश होते हुए कहा- ठीक है…कल दोपहर को मैं तुम्हें ये सब होते हुए दिखा दूंगा. तभी मैंने कहा- आपने ऊपर का नया फ्लोर देखा है जो बन रहा है?उसने जवाब दिया- नहीं देखा! कहाँ पर?मैं बोला- ऊपर बन रहा है. फिर मैं गांड को झटके के साथ ऊपर नीचे करने लगी, मामा भी अपने हाथ का सहारा देने लगे, मैं सर को ऊपर की करके आनन्द लेने लगी, कहीं खो सी गयी, गांड के अंदर हलचल होने के वजह से बीच बीच मेरी चूत से गर्म सू सू निकल जाती थी जो मामा जी जाँघ को गीली कर रही थी.

उसने सरिता के कंधे पकड़े और सरिता ने लंड को मुहं से निकाला तो सरिता बोली- चलिये अब लंड से मेरी बुर को जल्दी से चोदिए क्योंकि मेरी बुर में पता नहीं क्या क्या हो रहा है. पण्डित जी ने आधे घंटे बाद ही दुबारा सम्भोग की इच्छा जाहिर की, जिसे मैंने सहर्ष स्वीकृति दे दी, क्योंकि मुझे भी इच्छा जागृत हो रही थी. अब जन्नत मेरे सामने थी, पर मैं उसका मजा पूरी तरह से नहीं ले सकता था.

देहाती गांव का बीएफ अब अगर तुम भी मुझे दोस्त मानती हो तो अपनी लाइफ के बारे में कुछ बताओ।फ्लॉरा- व्ववो टीना बात दरअसल ऐसी है. मैं उठा और फिर से उसे किस करने लगा और मम्मों और निप्पलों को चूसने लगा.

इंग्लिश सेक्सी वीडियो चोदा

मैं फिर से अपने कैमरा बैग के पास गया और दूसरी बैटरी निकाली और कैमरा में डाल दी. भाभी ने भी पूरा सहयोग किया और मैं उनके सुडौल पर्वतों की खूबसूरती देख कर दंग रह गया. मैंने बाथरूम का दरवाज़ा खोला तो रानी का वो नंगा गोरा बदन… मस्त चूचियां और सफाचट चूत देख ली.

मैंने कहा- हाँ हमें तो माँगना ही पड़ेगा तू तो बिना मांगे ही ले लेता है. नताशा मेरे और स्वान के बीच अपनी दाईं करवट लेट गई और बायाँ पैर थोड़ा सा फैला दिया जिससे कि मुझे उसकी चूत में धक्के लगाने में आसानी हो. काकी का सेक्सी वीडियोलेकिन मुझे भी यही पसंद है कि लड़की चिल्लाये, उसकी चीखें निकल जायें दर्द में भी और मजे में भी!मैंने ऋतु को कमर से कस लिया और उसकी टांगों को अपनी टांगों से लपेट लिया.

कुल मिला कर अप्सरा सा रूप लिए कमनीय काया की वो स्वामिनी किसी कुलीन कुल की विदुषी नारी ही लगती थी.

मोना- अच्छा मैं यहाँ तुम्हारी जान बचाने के चक्कर में लगी हूँ और तुम्हें मजे की पड़ी हुई है?गोपाल- अरे प्लीज़ यार ग़लत मत समझो. गोपाल- अच्छा बोलो क्या चाहिए तुम्हें?मोना- तुम्हें नीतू मिल जाएगी मगर मैं भी किसी और मर्द से चुदवाना चाहती हूँ.

जब तुम पूरे जवान हो जाओगे, तो देखना कितना बड़ा हो जाना है इसने!कुछ देर चूसने के बाद मौसी बोली- चल अब आगे का काम करते हैं. खुद को ठीक ठाक करने के लिए हम वाश-रूम पहुंची ही थी तो देखा कि वही लड़का वहाँ खड़े होकर हमारी तरफ देख रहा था. ‘कैसे कमेंट्स थे?’‘एक ने कहा साले पीछे खड़े होकर बच्ची के मज़े ले रहा था क्या.

वे मुझे बहुत ही वासना भरी नजरों से देख रही थी। मैं उनकी आंखों में देखते देखते उनकी चूत को अपनी जीभ से हल्के हलके से चाट रहा था। जीभ से लिकिंग करते हुए और शहद का स्वाद और उनके चूत के नमकीन पानी के साथ मुझे अच्छा लग रहा था।उनकी चूत पर मैंने और शहद लगाया और अच्छे से चाटना, चूसना चालू किया.

तभी वो बगल में बैठा लड़का फिर फुसफुसाया- देखा लौड़े के, मैं मना कर रहा था. वो आप को रियल सेक्स स्टोरी से पता चल जायेगा और जो भाभी मुझसे चुदती है वही ऐसे बोलती है. चुदाई ख़त्म होते ही वो मेरा गाल चूम के थैंक्यू पापा जी, यू आर सो लविंग” जरूर कहती और कपड़े पहन, सिर पर पल्लू डाल के संस्कारवान बहू की तरह लाज का आवरण ओढ़ बिल्कुल सामान्य बिहेव करने लगती थी जैसे हमारे बीच कुछ ऐसा वैसा हो ही नहीं!मैं चकित रहता था उसके ऐसे व्यवहार से.

सेक्सी मूवी इंडियन चुदाईभयानक दर्द का एहसास होते ही मैं जोर से चिल्ला उठी- मर गई माँ! फाड़ दी मेरी चुत हरामी!मगर पीटर तो मशीन बन चुका था, उसने मेरी कमर पकड़ी और वो फुल स्पीड से मेरी चुत की चुदाई करने लगा. फिर सुमन ने भी आगे कुछ नहीं कहा, बस वैसे ही खड़ी अपने मम्मों को दबवाती रही.

अनन्य पांडे की सेक्सी वीडियो

इसके बाद क्या हुआ?’‘इसके करीब 10 मिनट के बाद तुम्हारा पूरा पानी मेरी गांड में निकल गया. मैंने इसका फायदा उठाते हुए उनका नंबर ले लिया और भाभी से फोन पर बातें स्टार्ट हो गईं. बस एक बार शुरू हुए नहीं कि फिर सब जान-पहचान हो जाएगी और अतुल की टेंशन मत लो, उसको भी साथ ही लेंगे यार.

सदाबहार मुस्कराहट वाली गोरी गुड़िया-1सदाबहार मुस्कराहट वाली गोरी गुड़िया-2अभी तक आपने मेरी हिंदी पोर्न स्टोरी में पढ़ा कि मेरी बीवी एक क्सक्सक्स मूवी में गांड चुदाई के सीन की शूटिंग कर रही है. उसने इशारा किया तो मैंने दूसरे धक्के में पूरा लंड उसकी चुत में पेल दिया और उसे फिर से दर्द होने लगा. वहां पर एक पंजाबी शादी थी और आपको तो पता ही है कि पंजाबी लड़कियों में खूबसूरती तो कूट-कूट कर भरी होती है.

उसने मुझे कहा कि तुम मेरा कमरा किराये पर ले लो और कुछ ऐसा करो जिससे लड़की का उसके बॉय फ्रेंड से पीछा छूटे. जब सभी लोग नंगे हो गये तो वो दोनों भी अपने कपड़े उतार कर खड़े हो गये और घूमते हुए अपने पूरे जिस्म को दिखाने लगे. उसकी चुचियों को देख कर कोई भी उन्हें दबाने से अपने आपको नहीं रोक सकता था.

वो उठी नहीं क्या?नीतू- दीदी के सर में दर्द है, उन्होंने उठाने से मना किया है. मेरे लिए खुद पर काबू करना मुश्किल हो रहा था और मेरा लंड भी धीरे-धीरे कड़क होने लगा था.

जाते जाते टीका ने विभूति के कान में कहा- भैयाजी कभी भाबी जी को भी ज़रूरत पड़े तो बताइयो, फ्री में सेवा देंगे.

मेरी उम्र अभी 19 साल की है, मेरे घर में मेरे मम्मी-पापा और मेरा भाई रहता है. बिहारी सेक्सी वीडियो कुंवारी लड़कीसंजय- हैलो माय स्वीट डार्लिंग, क्या तुम सो रही हो?पूजा- नहीं मामू, मैंने अपना होमवर्क किया है. पंजाबी सेक्सी वीडियो छोटीनीलम उन्हें जल्दी उठाने को कह सकती थी, फिर भी न जाने क्यों वह मुझे ही जगाने को कहती थी. कल गाँव से गोपाल की कोई रिश्तेदार आ रही है अब उसके सामने तो हम कुछ नहीं कर सकते ना.

मेरी इस हरक़त से उसकी बुर से पानी निकलने लगा, जो मेरे हाथ में मुझे महसूस हो रहा था.

उसकी मादक सिसकारियाँ और तेज़ हो रही थीं और वो लगातार बोले जा रही थी- और जोर से. परंतु वीर्य था ही इतना कि उसके दोनों घुटने मोड़े रखने के बाद भी बह कर उसकी गांड को भिगोता हुआ नीचे बेड की चादर पर गिर रहा था. मैंने सोचा अब फाइनल शॉट दुबारा पीछे से करते हुए लगाया जाये, मैंने दुबारा उसको डॉग पोजीशन में लिया और चढ़ गया लंड लेकर उसके ऊपर… मैं उसको फुल स्पीड में चोद रहा था, पूरे कमरे में पच पच की आवाज आ रही थी, उसके और मेरे चिल्लाने की आवाजें आ रही थी, ऐसे लग रहा था कि कमरा नहीं रंडीखाना है.

आज उसने जो मॉर्डन ड्रेस लिए थे, उनमें से एक ब्लैक जींस और उस पर रेड टॉप पहना था, जिसमें उसकी सुंदरता का बखान करना मुश्किल है. आज आप इसके पूरे कस बल निकाल दो, ढीली ढाली कर दो इसे चोद चोद के!’‘तो ये ले फिर!’ मैं बोला और लंड को जरा सा पीछे ले के फिर धकेल दिया उसकी चूत की गहराई में. मैंने भी नीचे से मस्ताना की स्पीड बढ़ा दी तो जमीला बकने लगी- बहनचोद साले, फाड़ दे मेरी इस चूत को! बहुत आग लगी हुई है इसमें आहह… ओह्ह… मादरचोद साले आज 3 तीन दिन से तेरे मस्ताना के लिए तड़प रही हूँ.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी सेक्सी पिक्चर

हालांकि इनका असर स्पष्ट नहीं दिखता, पर लंबी अवधि के बाद आप स्वतः अपनी कमजोरी को जान जाओगे. बरखा- अच्छा मान लेती हूँ, अब ये बताओ इन दोनों की चुदाई करना चाहते हो या नहीं?अतुल- तुम्हें अगर प्राब्लम नहीं. चांदी से चमकते बदन पर पेटीकोट जैसा वस्त्र मुझे काफी अखरने लगा इसलिए तुरंत ही उनके पेटीकोट को भी निकाल दिया.

आआआ स्सस्सस्स!”उसकी स्कर्ट तो थी ही छोटी से तो मनोज मेघा की जांघें चाटने लगा और चूत को मसलने लगा.

अब मैं भाभी की मलाई सी जाँघों को सहलाने लगा और एक हाथ से चूत को छेड़ने लगा.

उसने कहा- ठीक है, मैं इससे ज्यादा लंड अंदर नहीं डाल रहा हूँ, इतने में ही चोद दूंगा!क्योंकि उसको भी डर था कि कहीं दर्द के कारण मैं पूरा लंड बाहर ना निकाल दूँ जो बड़ी मशक्कत के बाद अंदर गया था. उसी दिन शाम को मैं जिम जा रहा था तो वो रास्ते में मिल गई।मैंने कहा- देख, ये पेन किलर की गोलियां हैं. खेसारी और काजल राघवानी का सेक्सी वीडियोफिर मैंने बेबी डॉल भी पहन ली, जिसमें से मेरा पूरा शरीर नंगा दिखाई दे रहा था.

अच्छा तुम्हें मैं फुल आज़ादी देता हूँ, जिसके साथ तुम्हारा मन करे, तुम कभी भी कर सकती हो ओके. चूंकि मैं बेड की साइड में बैठा था, पर जैसे ही पूजा सोई, मैं तुरंत जमीन पर बिस्तर लगा कर लेट गया. इम्तहान के दिनों में जल्दी उठने के लिये हम लोग दूसरे की मदद करते थे.

उसके बाद मैं अंकिता के मम्मों को दबाने लगा और वो भी मादक सिसकारियाँ भरने लगी ‘आह. चाय मैं बाद में पी लूँगा, पहले तुम थोड़ी देर मेरे पैरों की मालिश कर दो.

मैं- देख लो गोल्डन ऑपर्चुनिटी दे रहा हूँ। तुम्हें मेरे जैसा जबरदस्त लड़का ढूँढने से भी नहीं मिलेगा।उसने मेरी बात पर गौर से सोचने के बाद फायनली उसने मेरा एक्सेप्ट किया।निकी- तुम क्या कर सकते हो.

प्राची भाभी के जिस्म से मंहगे परफ्यूम की खुशबू आ रही थी, जो वासना में मिलकर वातावरण को कामुक बना रही थी. अब मैं उनसे एक हसीन गर्ल फ्रेंड के जैसे शरारत भी कर लेता हूँ और चाची भी मुझे अपना ब्वॉयफ्रेंड मान कर मेरे लंड से मजा लेती रहती हैं. चंदन अपनी सास की रसीली जीभ से अपने मुँह को ऐसे चुसवा रहा था, जैसे चन्दन के मुँह में कोई रसीला फल हो.

बेवफा सेक्सी व्हिडिओ अब मैंने सोचा कि मैं पूरे अस्पताल मैं घूमूँगा, कोई तो मिलेगा जिसका मस्त लंड मेरे गले की प्यास बुझाएगा. वो इठला कर बोली- अभी इसमें से दूध कैसे निकलेगा?मैंने कहा- वो तुम मुझ पर छोड़ दो.

अनीता ने तिवारी की तरफ एक सीरियस लुक देते हुए और अपने होंठ गोल करते हुए पूछा- क्या दिक्कत है तिवारी जी?‘दरअसल बात यूं है कि जब विभूति जी रात को हमारे यहाँ ठहरेंगे और आप जब अपनी लेस्बियन फ्रेंड प्रिया के साथ यहा कामुक सुख का आनन्द ले रही होंगी, उस वक़्त हम भी तो अंगूरी के साथ प्यार कर रहे होंगे न? तो फिर भभूतिजी कोई दखल करेंगे तो?’ तिवारी ने अपनी मुश्किल जताई. मैं भी मामा के लंड को मसलने लगी, लंड एकदम लोहे की रॉड जैसा कड़ा हो गया था. सुमन- नहीं दीदी, प्लीज़ आप संजय को कुछ नहीं बताओगी प्लीज़, वरना मैं आपसे कभी भी बात नहीं करूँगी.

मालिश वीडियो सेक्सी

उसने लंड सहलाते हुए मुझे इशारा किया, तो मैं बिकनी उठा कर वॉशरूम में जाने लगी. वो दोनों मेरी तरफ देखने लगे तो मैंने जय से कहा- पहले राहुल को कर लेने दो फिर तुम्हें भी आसानी होगी मेरी गांड में अपना लंड डालने में क्योंकि तुम्हारा लंड राहुल से ज्यादा है साइज में, ये शुरू में आसानी से नहीं जायेगा. तो मैं बोली- प्लीज गांड नहीं!सुरेश बोला- चुप चाप रह, हम जो करते है.

सविता भाभी को प्रेम की याद आते ही वे उस समय की यादों में डूब गईं जब उनका विवाह हो रहा था. एक तो जवान जिस्म ऊपर से दोनों पे ड्रिंक का नशा मुझे बहकने में देर नहीं लगी.

कुछ देर बाद में मुझे क्लाइंट ने होटल का नाम और रूम नंबर मैसेज कर दिया.

वहाँ का हर कमरा सेक्स के लिए परफेक्ट था बस कमी थी तो जवान मर्द की जो मस्त चुदाई कर सके. लड़के वाले ग्वालियर के हैं, अतः यहीं मैरिज हाउस से शादी कर रहे हैं।मैं- क्या उसी लड़के से तय हो गई?भाई साहब- नहीं इतनी देर आजकल कोई कहां रुकता है. उसने मेरे लंड से कोंडोम उतार दिया, तो मैं भी बेड के साथ पीठ टिका कर बैठ गया.

तभी जो मेरे मुँह को चोद रहा था, उसने मेरे मुख में ही अपना वीर्य छोड़ दिया और मुझे एक एक बूंद पीना पड़ा. उसके बाद जब माला नीचे बैठी अपनी योनि को पानी से धो रही थी तब मैंने शावर खोल दिया और माला को खींचते हुए उसके नीचे अपने साथ नहलाने लगा. आज मैं आपको अपनी ज़िन्दगी की एक ऐसी घटना से वाकिफ करवाऊंगी, जिसने मुझे बदल के रख दिया.

जब हल्का होकर आया तो सब लोग अपनी अपनी प्लेट ले चुके थे और जैसा कमीने दोस्तो में होता है, मुझे किसी ने अपनी प्लेट में खाने नहीं दिया.

देहाती गांव का बीएफ: मैंने वीडियो में देखा कि एक कमसिन सी लड़की अपनी चुत में पहले धीरे-धीरे बैंगन डाल रही थी और अचानक से जोर-जोर से बैगन चुत में अन्दर-बाहर करने लगी. दोनों चुपचाप थे मगर ये चुप्पी ज़्यादा देर नहीं रही क्योंकि टीना ने सुमन को जो टिप्स दी थी, उसमें इससे बहुत ज्यदा था.

भाभी इसका मतलब समझ गईं और उन्होंने मेरे मोटे लंड के सुपारे पर अपनी जीभ फेर कर मुझे इशारा कर दिया. ‘पर मेरा अभी नहीं हुआ है चाची, मुझे चोदने दो अभी!’चाची बोली- ठीक है चोदना शुरू कर और पिला दे अपना पानी मेरे चुत को!मैंने चाची की चुत में लंड हिलाना शुरू किया. उस दिन मैंने बहुत ही एन्जॉय किया था; इतना कि मैं यहाँ आपको बता नहीं सकती हूँ.

मैं भी बोली- गिरने दीजिए, मुझे भी देखना है कि लंड से कैसे रस निकलता है.

पण्डित जी ने मुझे कमरे की चाभी सौंप दी, फिर बोले- आप को किसी भी प्रकार की तकलीफ हो तो आप बेझिझक मुझे फ़ोन कर दीजिएगा. ये बात उन दिनों की है, जब मेरी मौसीजी की 25 वीं एनिवरसिरी थी और मुझे घर की डेकोरेशन में मदद के लिए बुलाया था. भाभी की चुद की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने कमरे के नीचे वाले कमरे में रहने वाली बिहारन भाभी को चोदा.