गांव का लड़की का बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी बीएफ ब्लू हिंदी बीएफ ब्लू

तस्वीर का शीर्षक ,

xxn वीडियो: गांव का लड़की का बीएफ, मैं- क्यों ना आज रात हम चारों उन चारों को तड़पाएं, जैसे उस दिन उन्होंने हमें तड़पाया था.

सेक्सी फिल्म बीएफ दिखाएं

वहां मैंने अपने जेब से उसको डेरी मिल्क दी और मैंने उसको उसको प्रपोज कर दिया. नागपुर की सेक्सी बीएफमीना बोली- पक्का है न? भूल मत जाना?कुणाल बोला- ये राठौर का वायदा है, झूठा नहीं होगा.

जवान लड़की की चूत चुदाई से लेकर आंटियां चोदने तक मैंने हर तरह की चूत का स्वाद लिया है. एचडी वीडियो बीएफ दिखाइएऐसे ही लगभग बीस मिनट और चुदाई के बाद पहले रजत ने अपने गाढ़े वीर्य से मेरी चूत को लबालब कर दिया, जो मेरी जंघाओं के मध्य बह गया.

अविनाश- आकाश तुम जीजा-साले इस कार में आ जाओ, हम उस कार में आ जाते हैं.गांव का लड़की का बीएफ: आज मैं अपने कॉलेज के समय की कहानी सुनाता हूँ।पहले अपने बारे में बता देता हूं.

मेरे ऐसा करने से वो थोड़ा डर गई और बोली- क्या कर रहे हो साब जी … अन्दर दीदी नहा रही हैं?मैं बोला- तुम्हारी दीदी नहाने में अभी बहुत टाइम लगाएगी … तब तक हमारा एक राउंड तो लग ही जाएगा.उसके लंड का सुपारा भी तो टेनिस गेंद जैसा कत्थई रंग का और चमड़ी की परत लंड के चारों और सिकुड़ी सी चिपकी थी.

बीएफ सेक्सी पिक्चर नंगी - गांव का लड़की का बीएफ

उसने मुझे उठाया और अपने ऊपर बैठा कर किस करने लगा और मेरे बूब्स दबाने लगा.विशाल के शब्द:दोस्तो, ये थी हम भाई-बहन की चुदाई की शुरूआत की कहानी। इसके बाद भी और बहुत कुछ हुआ.

वो मेरी और नीतू की तरफ देख कर मुस्कुराई और बोली कि वन्दना मेमसाब तो डुक्कू को लेकर डॉक्टर के पास गई हैं. गांव का लड़की का बीएफ मैंने रानी को और ज़ोर से आलिंगन में कसा और एक गुलाटी मार के मैं नीचे हो गया और रानी ऊपर आ गई.

मैंने मैडम की तरफ देखा, तो मैडम ने अपनी बांहें पसार कर अपने आगोश में ले लिया.

गांव का लड़की का बीएफ?

मैंने राहुल को कॉल किया कि मुझे कहीं जाना है … तुम प्लीज़ मुझे ड्राप कर दो. जिसमें मेरी और मेरी गर्ल फ्रेंड की चुदाई की कहानी का मजा भरा पड़ा है. उधर थका पड़ा संजय परमीत की चीख से उठ गया और मुस्कुराते हुए बाथरूम की ओर चला गया, जैसे उसे अपनी सोच पर कामयाबी मिल गई हो.

अब उसने मेरे लंड को शहद में डाला और फिर से मुँह में लेकर चूसने लगी. यानि हम उस एप के जरिये दस फोल्डर बताएंगे और हर फोल्डर में उस पहेली का जवाब होगा. इससे पहले कि वो दुबारा चीखती, मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए थे.

!! लेकिन मैंने तो वो!आलिया- जहां तुमने छुपाए थे, वो हमें क्लू ढूंढते समय मिल गए थे … और अब रात को हम उसका इस्तेमाल करेंगे. कुछ देर में परमीत को गर्म जानकर रजत ने हसन को आंखों ही आंखों में पोजीशन लेने को कहा. उनकी घमासान चुदाई ने मुझे निस्तेज कर दिया और मैं कामरस त्यागने पर विवश हो गई.

मैंने पानी का गिलास रखा और उसने मेरे होंठों पर लगी पानी की बूंदों को अपने होंठों से चूस लिया. वो इस वक्त इतनी गर्म हो गई थी कि उसने अपने नाख़ून मेरे बदन पर गड़ा दिए और एक लंबी आह … के साथ वो झड़ कर मेरी बांहों में सिमट कर रह गयी.

लेखक की पिछली कहानी:मामी को रिटर्न गिफ्ट: रसीली चुदाईप्लीज अंकल अपना वाला दिखाइये न!”क्या दिखाऊं?”वही लुंगी के नीचे वाला केला.

उसने वापस से उठाकर मुझे पकड़ा दी और मेरी योनि को उँगलियों से फैलाकर देखने लगी.

अंकल बोले- मैं यहीं पास में ही रहता हूँ और मेरे घर के सभी लोग अभी बाहर गए हुए हैं, तुम्हें एतराज न हो तो मेरे घर चलो. लेकिन वो नहीं जानती कि मैं अंकलों को पसंद करता हूँ और उनकी गांड मारता हूँ. मैंने कहा- तू कहे तो मैं हाथ से शांत कर दूं तेरे लंड को?वो तो मेरी गांड मारने की फिराक में था लेकिन मैंने साफ मना कर दिया। कुछ देर की बहस के बाद में वो मान गया।फिर मैं उसके पैरों के पास आई। उसका मूसल लन्ड फुंफकार रहा था। मैंने उसे हाथों से पकड़ लिया.

बाद में उसने मुझे प्यार से मारा- तुम बहुत बदमाश हो … बताया क्यों नहीं. उसने मीना को समझाया कि फिलहाल अब एक महीने सारा बिजनेस रवीना को करने दे. नीरज- गेम कौन सा है?चित्रा- दोनों साइड दो टीम होंगी, बीच में रूमाल होगा.

हमारी बातचीत शुरू हुई … तो बस यूं समझो कि प्यार का सिलसिला आगे बढ़ने लगा.

वो जन्नत लग रही थी … बहुत हॉट लग रही थी … मुझे बहुत मस्त लग रहा था. तभी मुस्कान ने सतीश के लौड़े को अपने होंठों में भींच लिया और और उसके झड़ रहे लंड की घूंटें भरने लगी। सतीश का लौड़ा भी मुस्कान के मुंह में अपनी बरसात कर रहा था।जैसे ही सतीश के लौड़े ने अपनी बरसात कम की तो मुस्कान ने उसका लौड़ा अपने मुंह से निकाला और अपने भरे मुंह से सतीश का सारा रस सीमा के मम्मों पर डाल दिया. मैं अभी भी अपना सर उनके सीने में ही छुपा कर खड़ी थी … और जेठजी मेरी पीठ सहला रहे थे.

अपने भी सारे कपड़े उतार कर अपना लंड शाईना की चूत में डालने की तैयारी करने लगा. तभी विक्की ने मुझे बताया कि मास्साब मैडम जी के चूतड़ दबा रहे थे और लेटकर देने को कह रहे थे. पांचवें दिन मैंने बाबू से कही- बाबू ऐसे चुदवाते हुए मेरा मन भर गया है, कुछ नया करो न.

वो थर्राते हुए बोली- आह धीरे से कीजिये ना … लग रहा है जैसे पेशाब निकल जाएगी.

मैंने जिस समय उससे कंडोम लिया, उसी समय मैंने उसका गिलास उठा कर एक ही सांस में पूरा गिलास अपने हलक में उतार लिया. वन्दना मेरे होंठों पर एक हल्की सी किस लेते हुए बोली- आप कब आए?मैंने उसकी गांड दबाते हुए बोला कि बस थोड़ी देर पहले आया था.

गांव का लड़की का बीएफ ब्लोवर के आगे उसके कपड़े सूख गए थे, उसने अपने को सही किया, अपने कागज़ इकट्ठे किये और रवि को उठाया. मैं आफिस से थोड़ा जल्दी चली आती क्योंकि मुझे खाना भी बनाना होता और घर पर पहुंच कर कामों के बीच अपने पति से बातें भी करती.

गांव का लड़की का बीएफ जब मैं जिम से बाहर निकल रहा था तो मैंने देखा कि एक लड़की जिम में आई. यही सब बातें करते करते नींद आ गई।2 दिन बाद क्रिया का मैसेज रात को आया कि मेरी नानी की तबीयत खराब है तो मम्मी पापा के साथ जा रही हैं और मैंने कोचिंग का बहाना बना लिया है.

आंटी ने उत्सुकता से पूछा- अच्छा, कहां गये हुए हैं आपके पेरेंट्स?मैंने कहा- हमारे रिश्तेदार के यहां गये हुए हैं.

बाबाओं का सेक्स वीडियो

वो चीख उठी और फिर शांत होकर मुस्कुराकर बोली- आह … धत्त आप कितने बेदर्दी हैं. मैंने चैन की सांस ली और जल्दी से फ्लैट जाने लगा कि चलो आज मूवी देख लेंगे, संजू खुश जाएगी. थोड़ी देर में उसको भी आराम मिलने लगा और वो भी लंड के मज़ा लेने लगी- आह फक मी मेरी जान … और तेज करो … फाड़ डालो आआह … मज़ा आ रहा है … और तेज.

परमीत की ये अवस्था चीख-चीख कर कह रही थी कि उसकी शर्म का गहना बिखर चुका है और यौवन का अहंकार चकनाचूर हो गया है. मैं इतना स्मार्ट हूँ कि कोई भी लड़की मुझ पर फ़िदा हो जाए और अपनी चूत को चुदवाने पर मजबूर हो जाए. मैं जितना उचक कर लंड अन्दर लेती, वो उतनी ही तेज गति से मेरी चूतड़ों को चौकी पर पटक देता.

जब मैं उनकी कमर में किस कर रहा था, तो वो गर्म हो गईं और मेरे सर को सहलाने लगीं.

मैं बोला- दिन में तो बस स्क्रीन टेस्ट ही लिया है … असली शूटिंग तो रात को होगी. मैंने वसुंधरा के दायें कान की लौ छोड़ी और झट से वसुंधरा के बाएं कपोल को मुंह में लिया और उसे चुमलाने, चूसने लगा. उसने तो मुझे पूरा ही नंगा कर दिया था … जब कि मैंने उसकी ब्रा और पेंटी नहीं उतारी थी.

”सासू जी, आप तो इतनी मस्त हो कि मुझसे रहा ही नहीं जा रहा। चलो बिस्तर पे चलते हैं. मैं उनको पकड़ कर उनके गले में किस करने लगा और उनके गले में किस करते हुए मैंने उनकी साड़ी को निकाल दिया. तब वीडियोगेम देख कर आदी बोला- भैया मैं वीडियोगेम खेल लूं क्या?कुमार- हां हां खेल लो … और ये लो स्नैक्स खाओ.

फिर भी मैंने सोचा कि चलो जब आ ही गया हूं तो थोड़ी बहुत एक्सरसाइज़ कर लूं. उस कंपनी के डाईरेक्टर कुणाल ने उन्हें अगले दिन आकर डॉक्यूमेंटेशन करने को कहा.

उस रात को मैं जब भी याद करता हूँ, तो मेरे रोंगटे खड़े हो जाते हैं और मैं सोचता हूँ कि शायद वो जवानी ही थी, जो मुझसे ऐसा काम करवा गयी. पर आज ममता ने अपने हाथों से उसका निकाल दिया तो वो शांत होकर सो गया. मैंने झट से बेबी रानी को चुचूक से पकड़ के खींचा और चूचों से ही उसको उठाकर उसे लौड़े पर टिका दिया और फिर बड़ी ताक़त से उसके चूचों को नीचे को घसीटा तो धमाक से लण्ड रानी की रस से लबालब भरी हुई बुर में पूरा का पूरा जड़ तक जा घुसा.

वैसे दोस्तो, एक बात का ध्यान रखिएगा कि लेखक भी इंसान ही होता है, उसे हेय दृष्टि से देखकर अच्छे इंसान के दिल को ठेस पहुंचाना अच्छी बात नहीं है.

दीदी ने भी चूत में डिल्डो पूरा उतारके रोक कर रख दिया … ताकि मनु का स्खलन अच्छे से हो सके. मैं बस उनकी चुत तक पहुंचने ही वाला था कि तभी अचानक स्वीटी आंटी उठीं और बोलीं- मुझे एक जरूरी कॉल करना है, मैं अभी आती हूं. करीब पांच मिनट तक मैं उनके बदन को चूमता रहा और मम्मों को सहलाता रहा.

उस वक्त वो वासना की चादर तन पर लपेट लेती है और लंड के प्रहार से अपने अस्तित्व को नष्ट करके नया जीवन पाना चाहती है. उसकी फिगर 34-27-34 की रही होगी, एकदम गोरी लंबे बाल और पिंक होठ और सबसे प्यारी उसकी नीली आंखें।उफ़्फ़ … मार ही डाले किसी को भी!और सरीना 23 साल की … वो भी बेइंतहा खूबसूरत लड़की थी.

तब मैंने उनको बेड पे सर बाहर ककरे लिटा दिया और मैं बेड के साथ खड़ा हो गया और उनके मुंह में मेरा लंड डाल के चाची का मुख चोदन करने लगा. मुझसे स्वीटी आंटी के ये मालदार मम्मे और उठी हुई गांड के पहाड़ बर्दाश्त नहीं हो रहे थे. दीदी ने आलिया से कहा- एक सिगरेट जला दे यार … गांड में लंड लेने से आज बड़ा मजा आ रहा है.

क्सक्सक्स पोर्न

उधर रखी ही डेस्क से पापा ने अपने लिए हाजमे की एक गोली निकाली और वापस हमारे सामने से ही जाते हुए अपनी सीट पर दुबारा बैठ गए.

किस करते समय दीदी ने मेरी टी-शर्ट निकाल दी और मैंने दीदी की शर्ट के बटन खोलकर उसे निकाल दिया. भैया उसके मम्मों से थोड़ा नीचे, अपने दोनों पैर दोनों तरफ करके बैठ गए थे और वे दीदी के मुँह में लंड पेल रहे थे. मैं आपको हैंग आउट पर वीडियो कॉल करती हूँ ताकि आप देख लें कि मैं कौन हूँ.

रवि की हिम्मत बढ़ी, उसने एक हाथ रवीना के पेट पर रख दिया … रवीना की टी शर्ट ऊपर उठी हुई थी … रवि ने हाथ एक ही झटके में अंदर कर दिया और सीधे मम्मे की निप्पल पर टच किया. शायद अब आंटी चुदने के लिए तैयार हो चुकी थी तभी उनकी चूत गीली हो चुकी थी. बाप बेटी का बीएफ फिल्मजब मैं पानी पी कर एक बोतल पानी लेकर वापस आया, तो देखा कि वे दोनों अभी भी किस करने में ही लगी हुई थीं.

मैं- तो बस देखने में मज़ा आता है या करने का भी मन होता है?आदी- हां होता है. अविनाश- चित्रा, आज तुम किसके साथ सोना पंसद करोगी, अपने भाई के साथ या अपने पति के साथ?जीजा जी की बात सुनकर हम चारों मुस्कराने लगे.

मेरी बात पर रोहण ने कहा- ठीक है तुम भी जा सकती हो, मुझे कोई परेशानी नहीं है. नीतू बोली- डार्लिंग थोड़ा सब्र करो … मैं आज सारी रात तुम्हारे साथ ही रहने वाली हूँ. मीना की तो जान ही निकल गयी … वो पागल हो रही थी … उसे चुदाई का ऐसा मजा जिन्दगी में कभी पहलें नहीं मिला था.

मैंने सुहास से कहा- चलो हम फ्रेश हो जाते हैं … आज शाम की हमारी कैलीफोर्निया की फ्लाइट है. मैंने उसे मिशनरी पोज में लिटा दिया और अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया. अचानक ड्राइवर ने ब्रेक मारी तो बस की ब्रेक जैसे ही लगी तो मेरे हाथों की गाड़ी स्टार्ट सी हो गई और सीधे उसके फूले हुए चूतड़ मेरे हाथ में आ गए.

तो प्लान यह बना कि बर्थडे पार्टी के लिए सब मिल कर पैसा इकट्ठा करेंगी, शहर के ही एक होटल में एक रूम बुक करेंगी। पार्टी का टाइम होगा 6 बजे से लेकर 9 बजे तक.

मास्साब के कमर हिलाने से इनके चूतड़ लहरा रहे थे जो बहुत अच्छे लग रहे थे. उसने मुझे बेड पर पटक लिया और पीठ के बल लिटा कर मेरी टांगों को चौड़ी कर लिया.

तभी मेरे फ़ोन में मेरे पति का कॉल आ गया और रिंगटोन की आवाज से उनको भी पता लग गया कि मैं भी अपनी छत पर हूं. मैं आंखें बंद किये हुए उसकी बड़ी बड़ी सांवले रंग की गोल्फ बॉल्स को मस्ती में चूस रहा था. राजन ने एक झटके में ममता को नीचे किया और उसकी चूत पर चढ़ कर चुदाई करने लगा.

उसके बाद अपने सारे कपड़े उतार दिये, सिर्फ अण्डरवियर पहने रहा और कविता को बांहों में समेटकर लेट गया. फिर उसने अपनी चैन खोली और अपना लन्ड बाहर निकाला। कुछ देर वो ऐसे ही अपना लन्ड मेरी गांड पर हिजाब के ऊपर से ही रगड़ता रहा।मुझे अंदाज हो गया कि उसका लन्ड पैंट के बाहर है। अभी 3 घंटे का सफर बाकी था और मुझमें उसके खुले हुए लन्ड की सोच सोच कर उत्तेजना पैदा हो रही थी।मुझे चुदे हुए महीनों हो चुके थे क्योंकि शौहर वापस सऊदी जा चुके थे. दोस्तों इसके बाद मैंने उन्हें फिर से सीधा किया और उनकी टांगें अपने कंधे पर रख कर उन्हें पन्द्रह मिनट और चोदा.

गांव का लड़की का बीएफ रजत ने हसन और परमीत के पैरों के आजू-बाजू अपने पैर डाले और परमीत की चूत की चिकनाई को हाथों से जांचते हुए अपने लंड का सुपारा निशाने पर सैट किया. मैंने उसका लण्ड अंदर लेना शुरू किया।विशाल:दीदी रंडियों की तरह मेरा लौड़ा चूस रही थी। उन्होंने लौड़े को गले तक उतार रखा था। ऐसा लग ही नहीं रहा था कि वो लंड को पहली बार चूस रही है।वो मेरा लंड अपने गले तक उतार रही थी.

सेक्स बफ हिंदी में

मैंने सोनम का एक पैर कंधों पर रखा और उसकी बुर पर मुँह रख कर चूसने लगा. मैं और मेरी सहेली कामुकता वश नंगी होकर लेसबीयन सेक्स करने लगी और फिर एक दूसरी की चूत में उंगली करके दोनों झड़ गयी. मैंने दूसरी सिगरेट पैकेट से निकाल कर सुलगाई और लंबा कश लेकर हसन से कहा- सुनो तुम सिर्फ चड्डी पहन कर नाचो.

सुबह फ्रेश होने और नाश्ता हो जाने के बाद चाची ने मुझसे पूछा- खेत पर मेरे साथ चलोगे, तेरे चाचा भी बाहर गए हुए हैं?मैं भी इसी ताक में था कि मैं कैसे उनके साथ समय बिता सकूं. मिताली भाभी जोर से चिल्ला पड़ीं- आह … थोड़े धीरे … साले मारेगा क्या?मैंने कहा- तुम ही तो बोली थीं कि फाड़ दे ना …मिताली भाभी- आह साले … मैंने इतने जोर से पेलने को थोड़े ही बोला था. हिंदी बीएफ पंजाबी मेंउन लड़कियों में डोली की उम्र 22 साल, पूजा 20 की, सोनिया 19 की शालू 18 की थी.

वो मेरे लंड की तारीफ़ करने लगी और मुझसे इसकी परफोर्मेंस के बारे में पूछने लगी.

हालांकि रवि इसकी भरपाई उसे होटल में खिला कर पूरी कर देता, पर दोनों की पट अच्छी रही थी. ये उस उन्माद की दास्ताँ बयाँ कर रहे थे जो कुछ पलों पहले हम दोनों पर चढ़ा हुआ था.

अभी तक तो बहुत ना नकुर कर रही थी, जैसे कभी लंड को चूमा भी ना हो, पर ये तो लंड चूसने में माहिर निकली. उस समय मैं सेक्स के बारे में तो जानती थी, पर मैं इतनी अधिक सीधी थी कि मुझे डर लगता था कि कहीं चुदाई से मुझे कोई नुकसान ना हो जाए. न राज … ! अब और नहीं … ! मर जाऊंगी … ! सी … ई … ई … ई!! बस … ! मान जाओ … ! आह … !!’कामदेव की लीला अपने शवाब पर थी.

काम के तीव्र आवेश के कारण वसुंधरा के मुंह से निकलने वाली ऊँची-ऊँची काम-कराहों से सारा कमरा गुंजायमान था.

वसुंधरा के मुंह से चीखों … सही सुना आप ने पाठकगण! सिसकियों का नहीं चीखों का बाज़ार गर्म होने लगा. मम्मी न केवल मान गईं … बल्कि उन्होंने खुद भी मिताली भाभी से कहा- मिताली, तूने मेरी बड़ी समस्या हल कर दी है. मैं भी बेसब्री से डिल्डो को मुँह में लेने का प्रयास करने लगी, जबकि डिल्डो के सुपाड़े से ही मेरा मुँह भर जा रहा था.

नेपाली का बीएफवो बहुत जोर से ‘आहह आआह हहहह आहह हहह हम्फ़फ़ … फ़क … बहनचोद … गांड फाड़ दी बहन के लंड ने … आहह माँ मर गयी … बहनचोद बाहर निकाल भोसड़ी के … चीखी. मैंने मुँह नहीं हटाया और उसकी चूत से निकलते नमकीन पानी को मैं चट कर गया.

हॉट आंटी सेक्सी वीडियो

जब हम घर पर पहुंचे, तब मैंने अन्दर आते ही आलिया को अपनी गोद में उठा लिया. उसने हम दोनों की तरफ देखा और बोला- भैया, मैं आप लोगों को ये उपकार जिंदगी भर नहीं भूलूंगा. मनु ने बिस्तर को हाथों में भींच लिया और दांतों से होंठों को काटते हुए सांप की भांति ऐंठने लगी.

मैं अभी भी अपना सर उनके सीने में ही छुपा कर खड़ी थी … और जेठजी मेरी पीठ सहला रहे थे. मैं हंस दी- अरे मेरे राजा कल पूरा मजा नहीं ले पाई थी, आदी आ गया था. चुत के लिए बस एक डोरी उसकी गांड से होते हुए नीचे चुत के ऊपर चली गई थी.

फिर हम दोनों एक दूसरे के साथ बातें करने लगे और कुछ समय में हम दोनों की दोस्ती हो गई. मम्मे चूसते चूसते मेरा लण्ड मूसल की तरह टाइट हो गया तो मैंने सुमन को लिटाकर उसकी टांगें फैला दीं जिससे चूत पूरी तरह से खुल गई. और छाया ने भी गेम रोक दिया था, बस उसके हाथ कीबोर्ड पर थे और आँखें बंद थी.

उनकी आंखों में वासना के लाल डोरे बता रहे थे कि आंटी की चुत लंड लंड कर रही है. जैसे ही मेरा लंड का टोपा उसकी चुत में घुसा, वो रोने और कसमसाने लगी.

मोटर बोट की स्पीड काफी तेज थी और मेरे बाल उड़ कर उसके चेहरे पर लग रहे थे.

कुछ देर बाद नीतू ने मुझे सिगरेट जला कर दी और बोली- जानू मैं आपसे शादी करना चाहती हूं. स्कूल की लड़कियों की बीएफ फिल्मउसने वापस से उठाकर मुझे पकड़ा दी और मेरी योनि को उँगलियों से फैलाकर देखने लगी. ब्लू बीएफ पिक्चर फिल्मआंटी बोली- बस कर, चोद दे अब … उम्म्ह… अहह… हय… याह… बहुत दिनों से लंड नहीं लिया है मैंने. अपनी दीदी के साथ या मेरी बहन के साथ?मैं- शुरुआत तो अपनी दीदी के साथ करूंगा.

उसके बाद जब भी उनको टाइम मिलता है, तो वो मुझे सीधा होटल में बुला लेते हैं और सेक्स का मजा लेते हैं.

जब उसके होंठ मेरे सीने पर चूम रहे थे नीचे मेरे लंड में झटके लग रहे थे. मैं जब कोचिंग के लिए जाता था, तो मैं उन्हें लाइन मारा करता था क्योंकि मेरी इस टाइम कोई भी गर्लफ्रेंड नहीं थी … और मुझे अपनी छुट्टी का पूरा मज़ा भी लेना था. संजू से अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था, वो नीरज के ऊपर चढ़ गई और अपनी चूत को उसके लंड पर सैट करके घप्प से एक ही झटके में लंड लील गई.

मैंने उन्हें लिटाया और उनकी टाईट और दूध से भरी हुई चूचियों को मसलने लगा. अंकल बोले- मैं यहीं पास में ही रहता हूँ और मेरे घर के सभी लोग अभी बाहर गए हुए हैं, तुम्हें एतराज न हो तो मेरे घर चलो. और वो खँडहर जहाँ उसका बाप मुझमें समाया हुआ था और भूरे अपना लिंग मेरे हाथों में पकड़ा कर मेरे स्तनों को मसल रहा था मेरे शरीर पर नाम मात्र के कपड़े थे.

ब्लू सेक्स फिल्म बताइए

आह आह उफ्फ्फ्फ़ ओह्ह सं दी दी दी प प आई लव यू!सिल्क हर शॉट में नीचे से अपने चूतड़ उछाल देती. मीना समझ गयी कि आज तो उसकी चूत फटने वाली है, पर उसे अमेरिका जाने का लालच था, उसे मालूम था कि आज अगर उसने कुणाल के लंड को खुश कर दिया तो लंड अपनी चूत को साथ लेकर ही जाएगा. कुछ ही देर में अन्धेरा हो गया और मैं घर का काम करने के बाद बाहर आंगन में बैठी हुई थी.

इससे पहले वो कुछ बोलते, शीला ने व्हिस्की उनके गिलास में डाली और सोडा उनके हिसाब से दाल कर इसे क्यूब से टॉप उप कर दिया और मुस्कुराते हुए दोनों को गिलास थमा दिए.

मेरी भी हवस बढ़ती जा रही थी तो मैंने जीन्स के ऊपर से उसका लंड पकड़ लिया जो सच में अच्छा खासा बड़ा था.

तो दोस्तो, यह थी मेरी अन्तर्वासना की एकदम सच्ची कहानी। आपको सेक्स एडिक्ट भाभी की स्टोरी कैसी लगी? मुझे ईमेल कर कर जरूर बताएं।[emailprotected]. अब मुझसे भी रहा न गया और मैंने नीचे से दिव्या की जीन्स को निकाल दिया और उसकी चूत में मुंह देकर उसको चूसने लगी. बीएफ सेक्सी फिल्में हिंदी मेंतभी मुस्कान ने सतीश के लौड़े को अपने होंठों में भींच लिया और और उसके झड़ रहे लंड की घूंटें भरने लगी। सतीश का लौड़ा भी मुस्कान के मुंह में अपनी बरसात कर रहा था।जैसे ही सतीश के लौड़े ने अपनी बरसात कम की तो मुस्कान ने उसका लौड़ा अपने मुंह से निकाला और अपने भरे मुंह से सतीश का सारा रस सीमा के मम्मों पर डाल दिया.

काम-उत्तेजना वश वसुंधरा रह-रह कर बिस्तर पर अपना जिस्म तोड़-मरोड़ रही थी और इधर मैं वसुंधरा को अपने आगोश में कस कर समेटे हुए इत्मीनान से वसुंधरा के काम-ज्वाला को भड़कते हुए देख रहा था … देख तो क्या रहा था बल्कि आग में घी ही डाल रहा था. मैंने अपने को कोहनियों के बल टिकाया और धमाधम इतने ज़ोर से पंद्रह बीस धक्के मारे कि पलंग की चूलें हिल गयीं. उसने फिर से पैरों को सिकोड़ने की कोशिश की, तो मैंने उसके पैरों के बीच आकर खुद को फंसा दिया और उसकी चूत पर अपनी जीभ रख दी.

वो बोला- मैं समझा नहीं कि क्या मतलब है तेरा? तेरे पास तेरी है तो, तू उससे मजा ले लिया कर न!शायद वो समझ रहा था कि मैं उसकी वाली की चुदाई के लिए उससे कह रहा हूँ. उधर रखी ही डेस्क से पापा ने अपने लिए हाजमे की एक गोली निकाली और वापस हमारे सामने से ही जाते हुए अपनी सीट पर दुबारा बैठ गए.

मगर बुझे मन से हम सामान पैक कर रहे थे, तभी नीलू का फ़ोन आया मेरे पास.

फिर दीदी लॉलीपॉप की तरह बड़े मजे से लंड चूसने लगीं और मैं दीदी के बालों को पकड़कर धीमे से सीत्कार कर रहा था. मुझे तो अब खुद ही कपड़ों से परेशानी होने लगी थी, सो मैंने कपड़े निकाल कर सोफे पर रख दिए. मैं अभी भी अपना सर उनके सीने में ही छुपा कर खड़ी थी … और जेठजी मेरी पीठ सहला रहे थे.

बिहार वाला बीएफ चाहिए इधर मैंने भी अपने सारे कपड़े खोल दिए थे और मेरा लंड फुंफकार मार रहा था. करीब पांच मिनट ऐसे ही करने के बाद वो अपनी गांड उठाते हुए मेरे मुँह में ही झड़ गईं.

”किसी दिन मेरे और मेरे पति के साथ भी कर!”जी ज़रूर!”ऐसी बातें करते करते प्यार करते करते रात हो गयी।मेरे घर जाने का समय हो गया।रास्ते में मैं सोच रही थी कि सुबह मैं कितनी परेशान थी और अब कितनी खुश हूँ। चूत गांड लंड सबके मज़े लिए।घर अभी दूर था और मुझे ज़ोर से पेशाब आ रहा था। अब मैं चाहे मन से विचार से खुद को औरत समझती हूँ और उस समय टाइट जीन्स टॉप और अंदर ब्रा पैंटी पहनी हुई थी. घर के लोग भी अपने अपने कमरे में जाने लगे।मामाजी मामी को चोदने के लिए कमरे में ले गए. तो इस दौरान क्यों न हम सारी पैकिंग का काम निपटा लें।वो बोली- ठीक है।मैं ज़ायरा के पीछे पीछे उसके बेडरूम में गया जहां मैंने उसके रूम की सभी चीजों को पैक करने में उसकी मदद की।इस दौरान कई बार जब वो झुकी तो मुझे मस्त मोटे मम्मों के और क्लीवेज के दर्शन भी हुये.

सनी लियोन की एक्स एक्स एक्स वीडियो

अब उसकी जीभ को चूसना शुरू किया तो उसके मुंह का पानी मेरे मुंह में आने लगा. वसुंधरा मेरे होंठों की छुवन अपनी पेशानी पर महसूस कर के समूची सिहर उठी. वो कहने लगा- जीतू यार, किसी भी तरह इस लड़की से मेरा पीछा छुड़वा दे.

उसने अपनी आंखें बंद कर रखी थी। मैंने उसके माथे पे किस किया, आंखों पे भी किया. साहब हमेशा कहते रहते थे कि खाली समय में इस कम्प्यूटर पर टपर टपर करो, खराब तो होगा नहीं … हां कुछ सीख ही जाओगी.

मैं उनके पूरे बदन को उनकी मेक्सी के ऊपर से ही किस करता रहा और उन्हें पूरी तरह से गर्म कर दिया था.

मैं सुहास के होंठों को चूसे जा रही थी और वो भी मुझे चूसे जा रहा था. थोड़ी देर बाद उसने मेरी पैंटी भी उतार दी और मेरे जिस्म से खेलने लगा. अंकल मस्ती में बोल रहे थे- आह … आज मेरी गांड का उद्घाटन कर ही दो जानू.

पर साबुन है किधर?”मैंने पूछा- क्या मैं अन्दर आ जाऊं?उसने दरवाजा खोल दिया, तो मैं अन्दर आकर बताने लगा. तो पूरे दिन कोई काम नहीं होता था बस प्लाट पे बैठ रहो और देख भाल करते रहो. लेकिन मैं उसे और तड़पाना चाहता था।Girlfriend Ki Chutमैंने उसकी पैंटी उतारी और सीधा अपनी जीभ उसकी चूत पे लगा दी.

हालांकि इसी बीच 1 बार रात को हम चारों घूम रहे थे तो मैंने नीलू को पकड़कर अकेले में ले गया क्योंकि मुझे नीलू के साथ अकेले घूमना था.

गांव का लड़की का बीएफ: बुर से रस निकले जा रहा था जिसके कारण लण्ड के अंदर बाहर आने जाने से ज़ोर ज़ोर से फिच्च … फिच्च … फिच्च … फिच्च की आवाज़ें कमरे में गूंज उठीं. वो अब बाल खोल के अपने मेरे लंड के तरफ बढ़ी।उसने पहले तो मेरा लोअर उतार दिया उसके बाद मैंने खुद अपनी शर्ट उतार दी थी। उसके बाद वो मुँह से मेरे अंडरवीयर को नीचे करने लगी.

बेख़ुदी के आलम में वसुंधरा धीरे-धीरे नीचे की ओर सरक कर बिस्तर पर बैठने की मुद्रा से अधलेटी मुद्रा में हो गयी थी. उसकी चूत में फंसा डिल्डो बहुत आकर्षक लग रहा था और चूत से रिसता लहू कौमार्य के चीरहरण की गवाही दे रहा था. वो डरते हुए कहने लगी कि यार गांड में कैसे ले पाऊंगी … तुम आगे ही कर लो.

लंच में अभी आधा घंटा बाकी था मैंने बृजेश को बोला- मैं आती हूँ थोड़ी देर में.

एक जोर का धक्का लगाया और उसके मुंह से चीख निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने कहा- क्या हुआ?वो बोली- कुछ नहीं, पूरा घुस गया क्या?मैंने कहा- नहीं, आधा ही गया है. राहुल ने अलग वाली टिकट आदी की दे दी और हम दोनों साथ वाली सीट पर बैठ गए. अभी जेठजी बोल ही रहे थे कि इतने में जोरदार चमक और आवाज के साथ आसमानी बिजली कड़की और मैं भागकर जेठजी से कसकर चिपक गयी.