बीएफ व्हिडीओ एचडी बीएफ

छवि स्रोत,स्लीपर बस की कीमत

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ पिक्चर खुलेआम: बीएफ व्हिडीओ एचडी बीएफ, नामदेव ये देखकर आगे आ गया और उसने अपनी होने वाली बहू चमेली के मुँह में लंड डाल दिया.

सेक्सी वीडियो फिल्म मूवी

में ना तो कहीं शेखर लिखा था और ना ही अभी तक उसने धारा को अपना नाम बताया था. सेक्सी एचडी में फुलमैं बिस्तर पर फड़फड़ाने लगी। जेठ जी मेरी चूत का कोना कोना चाट रहे थे और मम्मों को निचोड़ रहे थे।अहमद मेरी चूत को कभी नहीं चाटता था.

तभी मैंने जल्दी ही दो, फिर तीन उंगलियां चुत के अन्दर डालनी चाहीं, तो वो जा ही नहीं पाईं. फूल और कांटे फुल मूवीफिर लाजवाब अन्दर धंसे पेट से होते हुए मेरा लंड पहाड़ों और घाटियों के बीच जा पहुंचा और सुंदर वादियों में खो जाने के लिए मचल उठा.

हाय … शेखर को ऐसा लगा मानो धारा उसे अपने चूसने की कला का परिचय दे रही हो!शेखर ये सोच कर और भी रोमांचित हो गया कि जब धारा उसकी उंगलियों को इतने प्यार से चूस सकती है तो शायद वो उसके लंड को भी आज चूस कर उसे जन्नत का सुख देगी.बीएफ व्हिडीओ एचडी बीएफ: अब धारा ने अपने दोनों हाथों से शेखर के घुटने को थोड़ा ऊपर से थामा और फिर अपनी नाक से गर्म साँसें छोड़ते हुए उसकी जाँघों को चूमते हुए ऊपर की तरफ़ बढ़ी.

मस्त चुदाई हुई थी यार … वो भाभी अब भी मेरे दिमाग से निकलती ही नहीं है.करीब 20-25 झटकों में भाभी फिर से गर्माने लगीं तो उन्होंने भी मजा लेना शुरू कर दिया.

सेक्स आंटी - बीएफ व्हिडीओ एचडी बीएफ

तेज़ तेज़ करने से स्त्रियों को उतनी ही तेज़ी से चरम सुख मिलता है … और हुआ भी यही.नाम क्या है, क्या करते हो, कहां से हो यही सब नार्मल बातें होने लगीं.

तो पढ़ें सेक्स टॉक कहानी:स्नेहा- दीदू अब आगे किसकी चुदाई देखी है … उसकी बात बताओ?नेहा- मैंने मामा की लड़की ममता की चूत और उसी की भोसड़ी भी देखी है. बीएफ व्हिडीओ एचडी बीएफ रिज़वाना की गांड एकदम गोल और उठी हुई थी तथा दोनों चूतड़ कुछ इस तरह से अलग अलग से थे कि उसकी चुत पीछे से बड़ी आसानी से चोदी जा सकती थी.

रोहित इस बात हंसने लगे और बोले- अरे चाची, इस उम्र में ये इस सबको नहीं करेगी … तो क्या हम आप करेंगे.

बीएफ व्हिडीओ एचडी बीएफ?

मेरा एक हाथ मां के पेट पर था और मेरे झटके अचानक से इतने तेज हो गए कि मेरे मुँह से सिसकारियां और गर्म सांसें मां की पीठ पर लगने लगीं. दोपहर में उसने जो धारा से बात की थी उसके बारे में ललित को कैसे पता?या फिर धारा ने दोपहर की सारी बात ललित से बता दी हो ऐसा भी हो सकता है. अब मैंने भाभी को घोड़ी बनाकर उनकीचुत में पीछे से लौड़ा पेलाऔर चूत चुदाई में जुट गया.

आंटी की इस उम्र में भी उनकीचूत बहुत टाईट थीक्योंकि अंकल का लंड छोटा था और वो आंटी को कभी कभी चोदते थे. वो खुद ही मेरे ऊपर इतना मरती है मुझे उसको फुसलाने की जरूरत ही नहीं है।रेशम बस उसकी बातें मूक बनकर सुनता चला जा रहा था।आपसे निवेदन है कि आप मेरी इस नयी कॉलेज गर्ल की चूत की गर्मी की कहानी पर अपनी प्रतिक्रियाएं भेजते रहें. तो मैंने क्या किया?हैलो मैं सबीना आपको सेक्सी औरत की कहानी के पिछले भागबेटी के बॉयफ्रेंड को अपनी जवानी का जलवा दिखायामें अपनी बेटी के यार के साथ मेला घूम रही थी.

तैयार होकर जब मैंने खुद को आईने में देखा तो आज मैं एकदम करारी माल लग रही थी. घर में सब रहे, तो आपको मुझे मां कहना होगा और मैं आपको नाम से पुकारूंगी. पूरे 30 मिनट बाद निखिल चाचा अपने चरम पर आने लगा था- मेरी जान, मेरा माल निकलने वाला है … कहां निकालूं?मम्मी- मेरे अन्दर ही निकाल दो जान.

तुम बोलो मेरी मां तुमको पसंद है … क्या चोदना चाहोगे क्या उनको?मैंने कुछ सोचा और बोला- हां पर कैसे होगा यह?वो बोला- ये सब तुम मेरे ऊपर छोड़ दो. कुछ पल बाद मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से चुत में अन्दर-बाहर करने लगा.

जब मैंने नीचे से गांड उठा कर धक्का देने की कोशिश की तो वो मना करने लगी.

भाभी ने ही मुझे किस करना चालू कर दिया और बोलीं- मुझे बहुत आग लगी है.

प्रिया जब वो उठाने उठी, तो गगन ने कहा कि तू तो कह रही थी कि तुझे नकली लंड से मुहब्बत नहीं है. हम दोनों रोज सुबह स्कूल में जल्दी जाकर एक दूसरे को चुम्बन करने लगे और हमारी मस्ती शुरू हो गई. एक जगह जाकर लण्ड को कुछ रुकावट महसूस हुई, फ़लक को भी कुछ तकलीफ़ महसूस हुई लेकिन उसी क्षण मैंने एक झटके में लण्ड को पूरा अंदर ठोक दिया.

उसको देख कर साफ़ पता चलता था कि वो बहुत ही आत्मविश्वास से युक्त लड़की थी. मदहोश नेहा मेरे मुंह पर ही बैठ गयी और उसने मेरे मुंह को अपनी दोनों जांघों से दबा लिया और ऊपर नीचे होने लगी. उसने उसे पैसे देने के लिए अपने क्लीवेज से पैसे ऐसे निकाले कि उसकी टॉवेल गिर जाए.

चादर के अंदर जो जवान और वासना के प्यासे शरीर आपस में एक दूसरे के अंदर जाने को उतावले थे.

काफ़ी देर तक धारा बस उसके लंड के ऊपर गर्म साँसें ही छोड़ती रही और बीच-बीच में उसकी जाँघों को चूमती रही।मगर अभी भी उसने ना तो लंड को हाथों से पकड़ा था और ना ही अपने होंठों को लंड पर रखा था. उसने मेरा नाप लेने के लिए मेरे ऊपरी शरीर को छुआ, तो पता नहीं कैसे … मैं उसके छूने भर से गीली हो गयी. कुछ देर बाद लंड महाराज फिर से जागने लगे तो मैंने फिर से अवनि को किस करना शुरू कर दिया.

लेकिन मां बेटे की चुदाई की कहानियों को पढ़ने के बाद मैं मां के साथ सेक्स करने की सोचने लगा और अपनी सौतेली मां को एक मस्त चोदने लायक माल की नजर से देखने लगा. करीब दस मिनट बाद सैम का लंड फिर से खड़ा हो गया और उसने मेरी मां को घोड़ी बना दिया. न्यूड सेक्स पार्टी स्टोरी में पढ़ें कि एक रिसोर्ट में कैसे बहुत सारे कप्ल्ज़ मिलकर चुदाई का मजा लेते हैं.

एक बार स्कूल में 15 दिन की छुट्टियां हुईं और विनीता अपने मायके चली गई तो सितारा और मेरी मौज हो गई.

अलीगढ़ में कोरोना कर्फ्यू के कारण मेरा, भाभी की दुकान पर कोल्ड ड्रिंक पीने आना जाना बढ़ गया था. लेकिन इस बार मेरे लंड ने धोखा दे दिया और मैं उसके मुँह में ही झड़ गया.

बीएफ व्हिडीओ एचडी बीएफ मैं तुरंत मम्मी के पास गई और बोली- शादी तो आज ही है … और मेरा सूट भी नहीं सिल पाया है. लंड के कड़ेपन का अहसास होते ही धारा ने अपनी गांड को पीछे धकेलते हुए एक हाथ से लंड पकड़ कर अपनी गांड की दरार में रगड़ना शुरू कर दिया.

बीएफ व्हिडीओ एचडी बीएफ मैं- मामी, ममता कहीं दिखाई नहीं दे रही है?मामी- वो अभी तक सो रही है. अंदर से भाभी और उनके दोस्त कुणाल की बातों की आवाज आ रही थी।मैंने सोचा शायद नींद नहीं आ रही होगी भाभी को इसलिए इधर आई होंगी.

कुछ दिनों के बाद मेरे हस्बैंड ने मुझसे कहा- मैं मां को साथ ले जाकर अपनी बहन के यहां हो आता हूं.

বেঙ্গলি বৌদি সেক্স ভিডিও

दो मिनट में ही उसने अपनी चूत से पानी छोड़ दिया जो कुछ मेरे मुँह में भी आ गया. मेरा दिल कह रहा था ‘मुझे चोदो’पिछले भागबेटी के बॉयफ्रेंड को अपने जिस्म नुमाया कियामें आपने पढ़ा कि उस दिन मेरी बेटी रुबिका के अब्बू घर पर थे और मेरी बेटियां घर में नहीं थीं. पर मेरे घर वालों की सख्ती के कारण मैं सेक्स का मजा नहीं ले पा रही थी.

उसका पूरा मुँह उस पानी से भीग कर चमक रहा था और ये यही बयां कर रहा था कि आज सोनम बरसों बाद ऐसे खाली हुई है. जब मैंने अपनी जीभ को नुकीली करके भाभी की नाभि में डाली तो भाभी मचल उठीं और हाथ पैर झटक कर छटपटाने लगीं. चल नाराज मत हो, मैं तुझे उसका नाम बता दूंगी, पर तुझे मेरी कसम खानी होगी कि ये बात तू किसी को नहीं बताएगी.

फिर मैंने शीना को खड़ा किया और उसकी दोनों टांगें थोड़ी चौड़ी की और उसकी उसकी चूत को कच्छी के ऊपर से ही चाटने लगा.

फिर मैंने अपना लंड मामी की चूत टिकाया और धीरे धीरे पूरा लंड मामी की चूत में उतार दिया और पूरी दम से चोदने लगा. चिराग- आआआह जान … ऐसा जुल्म मत करो … इस बेचारे पर अंडरवियर के साथ पैंट भी गीली हो जाएगी. मेरा हाथ भी उसके स्तनों पर और दूसरा उसकी टॉप के अन्दर से उसके पीठ पर चलने लगा.

मैं भी उसे जगह जगह पर चूमते हुए ‘राहुल ऐसा कर रहा है … वैसा कर रहा है …’ बोलते हुए उसे चोद रहा था. आप मुझे ईमेल ज़रूर करें ताकि मैं आप सबकी प्रतिक्रिया जान सकूं और सेक्स कहानी की अगली कड़ी और ज्यादा रसीले ढंग से लिख सकूं. लंड चुसाने के साथ में मैं मां को गाली भी दे रहा था- आह चूस रंडी चूस … अपने बेटे का ही लंड चूस … और चूस आज तेरी सारी गर्मी निकालता हूँ … तुझे चोद कर आज मादरचोद बन जाऊंगा मेरी रखैल.

एक दो बार मेरे भाइयों ने दो लड़कों की पिटाई कर दी थी क्योंकि उन्होंने मुझसे दोस्ती करने की कोशिश की थी।इस कारण मैं खुद भी अपने भाइयों से डरती थी।उनका मेरे प्रति इतना सतर्क होना तो सही है. लेकिन कुछ टाइम बाद एक अंकल मकान की तलाश में आए और मेरे पिताजी ने उनको ऊपर का फ्लोर किराए पर दे दिया.

मीरा ने लंड को अपनी चुत में ले लिया और लंड चुत में लेते ही उसने मादक सीत्कार निकाल दी. मैंने अपनी अंडरवियर उतारी और मेरा लिंग फुंफकारते हुए तन कर सावधान वाली मुद्रा में खड़ा हो गया. नेहा- कौन है वो … मुझे भी तो बता ममता?ममता- नहीं यार … मैं तुम्हें उसका नाम नहीं बता सकती.

आज मैं आपको जो सेक्स कहानी सुना रहा हूँ, उसमें मेरे होटल वाले दोस्त के साथ मिलकर मैंने अपनी वाइफ की चूत और गांड चोदी थी.

मैं समझ गया कि भाभी कह रही हैं कि शुरुआत में भैया ने जब भाभी की चुत की सील तोड़ी थी, तब भाभी को बहुत दर्द हुआ था और वो ठीक से चल नहीं पाई थीं. मैं ऋतु के मम्मों को दबा रहा था, वो नीचे से रुचि की चुत में उंगली डाल रही थी और चंचल तो चुद ही रही थी. उसने मुझे लिटाया और फिर मेरे दोनों पैर पकड़ कर मुझे हवा में उल्टा लटका दिया.

होटल में मैंने कैसे उसके साथ मस्ती की और क्या क्या धमाल हुआ!दोस्तो, मैं नगीना तिवारी आपको अपनी चूत की चुदास की कहानी के पिछले भागमेरी चूत की प्यास कौन बुझाएगामें बता रही थी कि कैसे पति से लंड न मिलने पर मैंने अपने घर में समीर नाम का एक नौकर रखा. देसी वाइफ सेक्स कहानी पर अपनी राय जरूर दें।मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]देसी वाइफ सेक्स कहानी का अंतिम भाग:वासना की धारा- 5.

मैं और भाभी अब बहुत खुश हैं और हर रोज़ मुझे मेरी खूबसूरत, सेक्सी भाभी के साथ चुदाई करने का मौक़ा मिल रहा है. कोई साला ये नहीं कहता तेरे बाप की गांड में लंड … या तेरी गांड में लंड. इस काली नेट की साड़ी के साथ मैचिंग का लो कट ब्लाउज बहुत आग लगा देने वाला था.

15 वर्ष सेक्सी वीडियो

भाभी अपना हाथ मेरे सिर पर बालों में फेरती हुई मुझे आना दूध पिला रही थीं.

पर मैं ये नहीं समझ पाया था कि सैम को मेरी मां पसंद आ गयी थी या मेरी मां को सैम पसंद आ गया था. मैंने शहजाद के आने की बात सुनकर घर के बाहर का दरवाजा खुला रखा और जल्दी से नहा कर एक पीले रंग का एकदम पतला सा ब्लाउज बिना ब्रा के पहन लिया. उसके बाहर जाने के बाद मैंने दरवाजे बंद किए और कोमल के होंठ चूसने लगा.

एक बात और कि इससे पहले मैंने कभी सेक्स नहीं किया था, तो मुझको कुछ ख़ास नहीं पता था कि चुदाई में क्या करना होता है. इतने में भाभी के हाथ से नाखून कटनी नीचे गिर गई … और भाभी जैसे ही उसे उठाने को हुईं … तो उनका पल्लू नीचे गिर गया. गर्भधारणा झाली कसे ओळखावेअगर आपको मेरी सेक्स कहानी पसंद आती है, तो मैं दूसरी चुदाई की कहानी बहुत ही जल्दी लिखूंगा.

अब दोस्तो, एक भाई अपनी बहन की चुत की सील कैसे तोड़ता है, वो भी सारे नगरवासियों के सामने … इस रोचक और सेक्स से भरपूर कहानी को मैं अगले भाग में लिखूंगा. ममता- चलें भैया, आप क्या सोचने लगे?अभय- अं … हं … हां … तुम चलो, कार में बैठो.

मैंने धकापेल शुरू कर दी और काफी देर तक भाभी की चुत में लंड अन्दर बाहर करता रहा. वो एक हाथ से वो रीमा की चुचियों का मर्दन करने लगा और दूसरे हाथ से उसकी चुत को सहलाने लगा. उनकी मोटी मोटी गांड को देख ऐसा मन किया कि साली को अभी जाकर नंगी कर दूँ और अपना 7 इंच का लंड उनकी चूत में पेल दूँ.

एक तरफ़ चूत के दाने का मर्दन और दूसरी तरफ़ एक उंगली का चूत के अंदर बाहर होना!धारा अपने आप को रोक नहीं पायी और उसने अपना ढेर सारा कामरस शेखर की हथेलियों पर छोड़ दिया. कुछ देर ऐसे ही बैठे रहने के बाद अम्मा बोलीं- सामने वाली दुकान पर बहुत हंगामा होने की आवाज आ रही है, मैं देख कर आती हूं. स्नेहा- तू ये नहीं बोल सकती … और तू भूल रही है कि हमारा ग्रुप भाई बहनों से कम है क्या.

उसी वक्त चाची ने अपनी दोनों टांगों की कैंची बनाकर मेरी कमर पर लपेट ली और बेहताशा मेरे गालों, होंठों और मेरी आंखों को चूमती रही.

मेरे हाथ उनकी साड़ी खोलते हुए पेटीकोट को खोलने लगे और एक ही झटके में उनका पेटीकोट पैंटी सहित उनके जिस्म से अलग हो चुका था. मैंने अगले ही पल उनकी पैंटी की इलास्टिक में अपनी उंगलियां फंसा दीं और पैंटी को उनकी टांगों से निकाल दिया.

जैसे ही पानी छूटा, उनके हाथों से मेरी पीठ पर और होंठों से मेरे होंठों पर दबाव बढ़ गया. उसने कमरे की सब लाइट बन्द कर दीं और अब उस पूरे कमरे में सिर्फ टीवी की लाइट थी. मैंने झटके देना जारी रखा और 15 मिनट बाद लकी की गांड में ही लंड झाड़ दिया.

अचानक से भाभी मुझसे कस कर लिपट गईं और मुझे चूमते हुए आवाजें देने लगीं. मैं अपना थूक आंटी के मुँह में जाने लगा था और उनका रस मेरा मुँह में. मेरे ऐसा करने से उनके मुँह से सिसकारी निकलने लगी- अह ऊहह रवि … तुम क्या कर रहे हो … प्लीज अब चोदो ना … म्महहा ऊऊफ़्फ़ अब बर्दाश्त नहीं होता.

बीएफ व्हिडीओ एचडी बीएफ तो मैंने उसे पूछा- ऐसा करना तुमने कहाँ से सीखा?वो बोली- आप भी पूरे बुद्धू हो अंकल! आपकी और मम्मी की वीडियो में देखा था. मुझसे प्राची ने कहा कि उसे बहुत ज़ोर की भूख लगी हैं, पेट में और नीचे भीप्राची ने कहा कि एक राऊंड के बाद खाना खाएंगे।मैं अपने दोस्त के रूम पहुंचा, रूम बंद करते ही, प्राची मुझपे झपट पड़ी।किस करते हुए उसने मेरे जींस चड्डी को नीचे कर दिया, बोलने लगी- दो घंटे से रगड़ रहे हो, अब बर्दाश्त नहीं हो रही है।मैंने अपनी जींस को पूरा उतार दिया.

टाइगर श्रॉफ की सेक्सी

हिंदी भाषा में देसी सेक्स कहानी की विश्वप्रसिद्ध साईट अन्तर्वासना पढ़ने वाले सभी पाठकों को मेरा नमस्कार. उन्होंने मेरे मुँह में अपना लंड डाला और मेरे दोनों हाथों को पकड़ कर धक्के लगाने लगे. पूरे 20 मिनट तक वो मेरी मां की चुदाई करता रहा और आखिर में मां की चूत में ही झड़ गया.

अपने ईमेल के द्वारा मुझे संदेश भेज दें अथवा कहानी पर कमेंट्स में भी आप बता सकते हैं. वो एक हाथ से तेल की शीशी से गांड के छेद पर तेल टपकाते हुए अपनी दोनों उंगलियों को गांड के अन्दर बाहर करने लगा. लडकी की फोटोवो अपनी इस ड्रेस में गांड मटकाती हुई किसी अप्सरा से कम नहीं लग रही थी.

कोई दो मिनट बाद मैंने भाभी का मम्मा अपने हाथ से पकड़ा और दबा दबा आकर दूध चूसने लगा.

स्कर्ट उतारते हुए गौतम बोला- दीदी आप इतनी हॉट हो और इतनी छोटे छोटे कपड़े पहनती हो, तो सनी भैया ने आप पर कभी ट्राई नहीं किया!मैं शराफत से बोली- सारे भाई तुम्हारे जैसे ठरकी नहीं होते कि तुम अपनी बहन को ही चोदने में लगे हो. भाई ने मेरी गांड में उंगली घुसाई तो वो एकदम एंड घुस गयी बिना किसी रुकावट के … वो बोला- मेरी बहन ने खूब जोरदार गांड मरवाई है.

मैंने कई बार सोचा कि मैं भी अन्तर्वासना पर अपनी सेक्स कहानी शेयर करूं. उधर लूसी भी एक प्रोफेशनल रंडी की तरह अपनी गांड को गोल गोल चलाते हुए विवेक के लंड को अपनी चूत में ले रही थी. हम जिसके घर आए हैं, वो कौन है? क्या आप कॉलगर्ल हो और अगर हो, तो क्यों? अगर कोई कमी है तो मैं पूरी करूंगा.

फिर तो मेरी कोशिश जारी रहेगी, आगे ऊपर वाले की मर्ज़ी!धारा- वैसे सच कहूँ तो आज दोपहर में आपसे बातें करके मुझे लगा कि आप एक नेक इंसान हैं और औरत की भावनाओं को भी समझते हैं, वर्ना आजकल तो मर्द सीधे वहीं घुसना चाहते हैं, भले ही औरत को पसंद हो या ना हो.

मैं अपनी मां को काफी देर से चोद रहा था और लगातार झटके मारे जा रहा था. भाभी हंसी और मैंने उन्हें पीछे से पकड़ लिया और सीधे चूत में उंगली डालने की सोची. फिर अंजू भाभी ने रूम में खाना लाकर बेटे को दिया और बोलीं- जल्दी से खाना खाकर सो जा!वो मुझसे इशारा करती हुई बोलीं- तुम बाहर जाओ.

एनिमल सेक्स वीडियो जानवरभाभी ने मुझे अपनी चूत सूंघते हुए देखा तो बोलीं- ये क्या कर रहे हो जानू … चाटो न … जल्दी से. उसने मेरा लंड चूत के छेद पर सैट किया, मैंने एक जोरदार झटका दे मारा.

देहाती चाची का सेक्सी

मैंने उससे पूछा- बैग?वो- वो उधर झाड़ियों में ही रख दिया है, वापसी में ले लूंगी. क्या भूल गए आप?मैं- बस शीना, मैं यही चाहता हूं कि अगर तुमने चुदाई का पूरा मजा लेना है तो सब खुल कर करना होगा. मैंने फ़लक के पटों को थोड़ा चौड़ा किया और घुटनों को थोड़ा मोड़कर लण्ड को चूत के छेद और क्लिटोरियस पर ऊपर नीचे रगड़ना शुरू किया.

तब मैंने कहा- तुम तो दवा खा कर आई थी ना?उन्होंने कहा- नहीं यार … महिलाओं के लिए ऐसी कौन सी दवा आती है … मुझे वही नहीं पता. उसके बाद हमारे शारीरिक सम्बन्ध कैसे बन गए?अन्तर्वासना के सभी पाठक और पाठिकाओं को मेरा नमस्कार!मेरा नाम अजय है और मैं जयपुर का रहने वाला हूँ. उसने अब दोनों पैरों से मेरे लंड को जकड़ लिया और पैरों को लंड पर आगे पीछे करने लगी।मैं नेहा को और वो मुझे मस्त करने में व्यस्त थे।नेहा को मैं घोड़ी बना कर ही उसकी चूत में पीछे से पूरी जीभ डाल रहा था और उसकी गाँड को नोंचते हुए उस पर हाथ से जोर जोर की थाप मार रहा था जिसका मज़ा नेहा सिसकारियों में जता रही थी.

अब मैंने राज से कहा- भाई आप मुझे बताओ कि मुझे आगे क्या करना चाहिये? मुझे आप पर विश्वास है. मैंने फिर से मना किया कि प्लीज छोड़ दो अंकल मैं वापस से आपका लंड चूस दूंगा. वो दस मिनट कूदने के बाद झड़ गई और बगल में लेट गई।मैंने उसे डॉगी स्टाइल में होने को कहा.

मैंने पूछा- हम लोगों के पास दो तीन घंटे का समय है ना?मैं अपनी किसी सहेली के यहाँ जा रही हूँ, यह कहकर आई हूँ. इंडियन आंटी हॉट सेक्स कहानी मेरे पड़ोस की दूकान वाली सेक्सी आंटी की है.

अब मेरा भी धीरे धीरे छेद ढीला हो गया तो उसने पूरी जीभ गांड के अन्दर डालना शुरू कर दी.

तो मैंने लंड पेलना रोक दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा, पीठ चूमने लगा. गर्मी के दाने की दवामेरे देवर का दोस्त कहने लगा कि भाभी आप मुझे बहुत पसंद हो, मैं आपकी हर जरूरत का ख्याल रखूंगा. मराठी हॉट सेक्स व्हिडिओवो बोली- ह्म्म्म … आगे सिर्फ़ किस ही होगा क्या?मैंने बोला- ना … अभी तो बहुत कुछ होना बाकी है. मैंने बाथरूम में जाकर देखा तो पता चला कि नल खराब हो गया था इसलिए सारा पानी रात भर में टपक गया.

अब शेखर ने धारा की कमर को थाम लिया और नीचे से अपने लंड को झटके पर झटके देकर उसकी चूत की चुदाई करनी शुरू कर दी.

अब हमारी परीक्षा भी नजदीक आने लगी थीं, तो हम दोनों पढ़ाई में लग गए और अच्छे से परीक्षा दी. तो क्या तुम उसके साथ सेक्स कर चुके हो?गौतम बोला- नहीं दीदी, अभी तो नहीं किया है. पांच मिनट बाद वह झाड़ियों से बाहर निकली, तो वो स्कूल ड्रेस उतार कर एक अलग ड्रेस में थी.

उस वक़्त रिश्ते के हिसाब से मुझे वो सब रोकना था, लेकिन मैंने अपनी बेटी की खुशी के लिए वो सब देख कर भी अपना मुँह फेर लिया. हैलो मेरे पति लोगो, मैं आपकी मुँहबोली बीवी मधु जैसवाल एक बार फिर से अपने बच्चे के बाप की सेक्स कहानी में मजा देने हाजिर हूँ. मैं जाकर के किचन में चला गया तो भाभी थोड़ी सी घबरा गईं और पूछने लगीं- क्या हुआ, क्या चाहिए?मैंने कहा- भाभी मुझे सिगरेट पीने की तलब लगी थी तो इधर आ गया हूँ … उधर अम्मा हैं न!भाभी ओके बोल कर सर झुका कर चाय बनाने लगीं.

सेक्सी वीडियो एक्स एक्स एक्स ब्लू फिल्म

अब तो वो खुद उस लौड़े को अपनी हलक तक ले कर चूस रही थी; उसके बड़े बड़े टट्टे चूस रही थी. मौली के नैन नक्श तो ऐसे थे, मानो रम्भा नाम की अप्सरा इंद्र का दरबार छोड़ कर मेरे बाबूलाल की सेवा के लिए आ गई हो. फिर रीमा ने घड़ी की तरफ देखा तो पाया कि उसको आए एक घंटे से ज्यादा हो गया है.

इस बार मैंने उसे अपने ऊपर बिठा लिया और लंड उसकी चुत में डाल कर उसे ऊपर नीचे होने को कहा.

उसके मुँह से फिर से आह्ह अःह्ह आहह ओहह आःह्हा हम्ममा ममहा की आवाज माहौल को कामुक और उत्तेजित करने लगी.

सनी के ना होने की वजह से मैं जिसको भी बुलाती, वो मेरे घर आ जाता और मुझे खुलकर चोद देता था. इस सेक्स चैट को पढ़ने के बाद मैंने रुबिका का मोबाइल रख दिया और लंड चुसाई की बात सोचते हुए अपने बिस्तर पर लेट गयी. బిఎఫ్ సెక్స్ తెలుగుउन्होंने मुझे जकड़ लिया और कान में धीरे से कहा- मैं जो कर रहा हूँ, वो चुपचाप करवा ले और मज़े ले ले.

वो मेरे थोड़ा पास आयी और बोली- ऐसे क्या देखे जा रहे हो!मैं हड़बड़ा गया और बोला- कुछ नहीं … कुछ नहीं!वो बोली- मैं देख रही हूँ आज तुम मुझे ही अलग तरीके से देखे जा रहे हो!मैं बोला- नहीं, कुछ नहीं. मैं- एक बार ये इसके अन्दर तक की गहराई नाप आया तो जिंदगी भर तुम यही माँगती रहोगी. उन सबको ताड़ता हुआ देखकर मैं मुस्कुराने लगी और फिर उनसे बोली- बस ऐसे ही ताड़ते रहोगे या अंदर भी आओगे?मैंने उन्हें अंदर लेकर बाहर चारों तरफ देखा कि किसी ने हमें देखा तो नहीं.

मौसी- उम्म … फिर?मैं- फिर अपने होंठों को तुम्हारी ब्रा के स्ट्रिप्स पर रख कर वहीं सहलाऊंगा. हुआ यूं … मैं एक दिन सुबह अपने घर के बाहर रास्ते पर मुँह धो रहा था कि कुछ देर में एक लेडी कुछ दूर से एक बच्चे के साथ गुजरी.

यह विचार आते ही शेखर का दूसरा हाथ धीरे से धारा के चेहरे से सरकता हुआ पहले तो उसके कंधे तक आया फिर धीरे-धीरे नीचे की ओर सरकते हुए धारा के उन्नत विशाल उभारों पर आ गया.

हो भी क्यों न … चाहे कितनी भी महिलाओं को चोद लिया हो एक नए जिस्म के लिए लार टपकना तो स्वाभाविक है. मेरा मोटा लंड लहराते देख कर आंटी की आंखें ऐसे चमक उठीं, जैसे किसी बिल्ली को मलाई का कटोरा दिख गया हो. काफी देर तक फरियाल का जिस्म रगड़ने के बाद मैंने उससे कहा- फरियाल, अब मुझे आगे की मसाज करनी है.

जंगल वाली सेक्सी फिर लगा कि अब मैं आ सकता हूँ तो मैंने अधमरी हो चुकी आशारा को उठाकर सामने कुतिया बनाया. फिर पिंकी बाहर चली गई और मैं बाथरूम चला गया।इस तरह मैंने अपने दोस्त की मदद से उसके सामने उसकी बीवी को जमकर चोदा।कैसी लगी आपको यह फ्री सेक्स स्टोरी?[emailprotected].

अब तो वो खुद उस लौड़े को अपनी हलक तक ले कर चूस रही थी; उसके बड़े बड़े टट्टे चूस रही थी. उसने अपने पेट को थोड़ा सा उठा कर चुत में हाथ फिरवाने की इच्छा जाहिर की मगर मैंने उसकी चुत को टच भी नहीं किया. ये देखकर प्रिया की बड़ी बहन रोमा और विजय की माँ सोनाली भी दिनकर और अजय के लंड को पकड़ कर चूसने लगीं.

सेक्सी व्हिडीओ पॉर्न एचडी

मैं थोड़ी देर बाद उनके पास आया तो देखा, वो मुझे नजरअंदाज करके रसोई में काम करती रहीं. भाभी की चूत एकदम साफ, मस्त लाल थी और हल्का कालापन लिए चुत का दाना देख कर मैं हैरान हो गया. मैंने ऐसे ही काफी देर तक उसका लंड चूसा और वो ऐसे ही गालियां देते रहा.

मैंने शाम को ही मां के कमरे की खिड़की से अन्दर देखने की जगह बना ली थी. यह सुनकर मैंने विशाल की तरफ देखा और मुस्कुरा कर बोली- अच्छा तो अब तू मर्द बन कर आया है.

इंटरनेट पर मैंने हिन्दी सेक्स कहानी खोजी तो तभी सेक्स स्टोरी सर्च करते समय मेरी नज़र अन्तर्वासना पर पड़ी जिसमें मैंने आपकी कहानी को पढ़ा.

हॉट फॅमिली सेक्स कहानी में पढ़ें कि मौसाजी के आने बाद भी मौसी ने अपनी जेठानी के साथ मेरी चुदाई का सेटिंग कर दी. मैंने शाम को ही मां के कमरे की खिड़की से अन्दर देखने की जगह बना ली थी. मैं घर पर अकेला बोर हो जाता था … तो मैंने सोचा कि आपसे थोड़ी सी बात करने आ जाऊं.

मुझे मौक़ा कैसे मिला?मैं शुभी अपनी कहानी का अगला भाग लेकर आप सभी के सामने पेश हूँ।यह कहानी सुनें. हालांकि आंटी की चुत पर झांटें थीं, मगर बड़ी जलवेदार और फूली हुई चुत थी. मैंने पानी पिया और दीदी गेट में अन्दर से कुंडी लगा कर अपनी साड़ी उतारने लगीं.

उसने बाहर नजर करके देखा, तो निखिल ने उसके पूरे नंगे बदन को घूर कर देख रहा था.

बीएफ व्हिडीओ एचडी बीएफ: वो बोली कि कल मुझे अपने बॉयफ्रेंड के साथ बाहर जाना था … लेकिन वैक्सिंग न होने की वजह से मैं गई ही नहीं. इस बार मैंने उनके मुँह में अपना मुँह डालते हुए किस करना शुरू कर दिया था.

अब लंड सट्ट सटृ अंदर तक जाने लगा और उसकी बच्चेदानी में टकराने लगा।उसकी चीख निकल पड़ी- आहह हहह आहह ऊईईई ऊईई ईईई!और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया।अब मैंने लंड निकाल लिया और उसके होठों पर फेरने लगा वो लंड को चूसने लगी।फिर मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर झुका दिया और उसकी गान्ड में थूक लगा दिया और लंड को झटके से घुसा दिया. यह कह कर जैसे ही चाची उठी तो वीर्य बाहर आ कर उनके पटों पर फैलते हुए नीचे आने लगा. मैं मानती हूँ कि इस खेल में रोमांच तो है लेकिन कहीं ना कहीं मेरे मन में मजबूरी वाली भावना भी होती है.

इतने में भाभी अपने पल्लू को जैसे ही सम्भालने लगीं, तो उनकी तिरछी नजर मुझ पर पड़ी और वो जल्दी से उठ गईं.

तो वो भी मेरे पास को आ गया और मेरे बालों को छूकर बोला- आपके बाल कितने मस्त हैं. वो बोले- साले हरामी, ये क्या कर रहा है?विवेक बोला- क्या कर रहा हूं, वही कर रहा हूं जो आप करते हो?अनिकेत भैया- मैं क्या करता हूं?विवेक- आप भी तो नानी के साथ करते हैं. मैंने पूछा- कौन?तो बाहर से एक लेडी की आवाज आई- कितनी देर लगेगी?मैंने कहा- आंटी नहा रहा हूँ … तो 15-20 मिनट लगेंगे.