हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ कुत्ते की

तस्वीर का शीर्षक ,

शीला भाभी सेक्सी: हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ, फिर उसने नज़रें नीचे की और फिर बोलने लगा- एक बात और कहूंगा, शायद आपको अच्छी ना लगे … काश कि आप मेरी फूफी ना होतीं.

साउथ इंडियन के बीएफ

ठंड का मौसम कुत्तों के मिलन का होता है, इस वजह से जहां तहां कुत्ते कुतियों के पीछे से चिपके हुए मिलते हैं. सेक्सी एचडी फिल्म बीएफतीन मर्दों को चुम्मियां देने के बाद, उनके सामने सिर्फ ब्रा पैंटी में, शराब के नशे में मैं गर्म हो चुकी थी और बेशर्म भी.

वो लड़का अब पहले से ज्यादा मेरे करीब आने की कोशिश करता था और मुझसे बात करते करते मेरी चूची को तरफ देखता था. अमरपाली दुबे का बीएफ वीडियोदो लंड से मेरी चूत और गांड की चुदाई चल रही थी बाकी दो लंड में से, एक मेरे मुँह में घुसा था और एक मेरे मम्मों के बीच में रगड़ खाए जा रहा था.

” सर ने अपनी मजबूरी जता दी।जी ठीक है …” मैं कहकर बाहर निकली और ऑफिस के सामने पहुँच गयी.हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ: शौहर ने मुझे छोड़ने से पहले मेरे साथ कुछ समय बिताया था, तब जी भर के मुझे मज़ा दिया था.

हम दोनों ने खाना खाया और उसके बाद हम दोनों लोग लेट कर एक दूसरे से बात करने लगे.उनके टांगे फसाने से मैं ज्यादा ऊपर नहीं उठ पा रहा था, मैंने भाभी की टांगों को अपने हाथों में लिया और चूत के ऊपर अच्छी तरह से चढ़कर लंड से ठुकाई करने लगा.

सेक्सी बीएफ डॉक्टर नर्स - हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ

हेमा भाभी ने उस दिन एक घुटनों से थोड़ा नीचे तक का घाघरी टाइप स्कर्ट और स्लीवलेस टॉप पहन रखा था जिसमें वे गज़ब की सेक्सी लग रही थीं.मैं अगले दिन अपनी बीवी को साथ लेकर उस ऑफिस में आ गया और वहां मैं मैनेजर से मिला.

एक दिन वह मुझसे बोला- एक लिप किस कर लूं?मैंने कहा- तुम्हें पूछने की कोई जरूरत नहीं है. हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ तो वाणी बोली- वाह क्या बात है … इस पर इतनी जल्दी इतना प्यार आ रहा है.

मैंने भी पूरे जोर से उन पर चढ़ाई शुरू कर दी और हम दोनों थककर लेटने से पहले एक बार झड़ गये.

हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ?

पर सच तो यह था कि अपना हाल मैं किससे कहूं कि मुझे गैर मर्द की खुशबू लेनी है, मुझे उसका लौड़ा चूसना है. वो प्रमिला से बोली- यार इसकी एक आदत है … ये जहां भी अपना मुँह लगाता है … वहां अपना आठ इंच की बुलेट भी डालता है. पर शुरू के कुछ पल तो ऐसे हिचकी लेने जैसा उठता और फिर लटक जाता और मैं बुरी तरह से गर्म होकर व्याकुल हुए जा रही थी कि कब ये खड़ा होगा और मेरे भीतर आएगा.

फिर उसके बाद मुझे थकान महसूस होने लगी और अचानक से पंकज धक्के भी तेज होकर धीमे होना शुरू हो गए. मंजू ने सब्ज़ी पका दी थी, पर उसके बच्चे के रोने के कारण आटा लेकर वह अपने घर चली गई थी कि रोटी बनाकर ला देगी. साथ ही नामित और निक अपनी चटाई और मसलाई करके मेरी वासना को और बढ़ा रहे थे.

अब करीब रात 10:30 बज रहे थे मैंने वियाग्रा की एक गोली खा लीं और कौशल्या के घर चला गया. दोस्तो, मेरी सेक्स कहानी के इस सोलहवें भाग में देरी के लिए माफी दोस्तो. मैंने सोचा कि यही मौका है आंटी के चूचों तक पहुंचने का, मैंने कहा- ठीक है आंटी, आप ऐसा करना कि आप शाम को दूध लेकर घर पर मत आना.

मैंने फिर से चूची मसली तो शरमाते हुए उन्होंने कहा- तुमने अपनी खाला को बड़ी बेरहमी से जिबह किया, ऐसा भी करता है कोई, देखो मेरी कैसे सूज गयी है. कसम खा कर कहता हूं दोस्तो, उस वक़्त मेरे दिमाग ने काम करना बंद कर दिया था.

उसी के साथ में वाणी ने गीता का मुँह पकड़ा और अपनी चुची उसके मुँह में घुसा कर बोली- साली, इन्हें चूसने के लिये क्या तेरे बाप को बुलाऊं.

फिर एक भूचाल सा आया और मयूर ने एक ही झटके में अपने लंड मेरी फुद्दी में अन्दर तक डाल दिया.

झड़ते हुए उसने गीता को कस कर सीने से चिपका लिया और एक टांग उसके ऊपर रख कर उसे नीचे से भी दबा लिया. रात में फिर मेरे पति का कॉल आया, तब तक मेरी तबियत थोड़ी ठीक हो गई थी. वो मुझसे बोलीं- माया हमारे मंडल की मीटिंग है, मैं 2 बजे से पहले आ जाऊंगी, तुम खाना बना लेना और जिगर का ख्याल रखना.

उस दिन सुजाता की तीन बार चुदाई हो गई और सुजाता रमेश काफ़ी देर तक ऐसे ही नंगे पड़े रहे. हमारे बदन एक दूसरे से ऐसे सटे हुए थे, जैसे दोनों एक दूसरे में समां जाने वाले हों. मेरा पड़ोसी मुझे किस कर रहा था और मेरी चूत को मेरे कपड़े के ऊपर से सहला रहा था.

इसी बीच मैंने अपना हाथ उसकी चूचियों पर रख दिया और धीरे धीरे दबाने लगा.

मेरा लण्ड पूरी तरह से तैयार था सलोनी में समाने के लिए … चूत पूरी तरह से रस में डूबी थी … मेरी उंगलियां उसकी उसकी चूत में लगातार अंदर बाहर हो रही थीं. मिशिका ने उठकर रिशु को अपने ऊपर खींच लिया और उसके होंठों को चूसने लगी. उसने मिशिका की चूत पर लंड को रख दिया और धीरे धीरे ऊपर नीचे रगड़ने लगा.

इधर पीछे पुनीत भी रगड़ के मेरी पीठ पकड़ कर मेरी गांड के अन्दर तेजी से लंड चलाने लगा और तीन चार मिनट बाद ही वो भी छूटने को हो गया. मैं अपना लंड निकालने लगा, तो दीदी ने आपने हाथों से मेरी गांड पकड़ ली और कहा- अन्दर ही डाल दे अपना पानी मेरे छेद में … ओह मजा आ रहा है … प्लीज़ अन्दर ही सिंचाई कर दे. उसे बहुत तेज़ दर्द हुआ तो मैंने उसके क्लिट को धीरे-धीरे दबाना शुरू किया तो उसको थोड़ा आराम मिला.

इस बार वो चिंहुक गईं, पर इस बार उन्होंने मुझे रोका नहीं, उन्होंने दर्द को बर्दाश्त कर लिया.

गीता की चुचियां बहुत मस्त थीं और अब तक के खेल में उसकी निप्पल भी टाइट हो गये थे. फिर मैं उसे बेडरूम में ले गया और उस पर किसी कुत्ते की तरह टूट पड़ा.

हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ मुझे इसका कारण पता नहीं चल पा रहा था। मैंने कई दिन एक मेडीकल स्टोर से दवा भी खाई लेकिन कुछ आराम नहीं मिला। फिर मेरे छोटे भाई ने मुझे न्यूरो सर्जन के पास ले जाने के लिए कहा. उसने मेरी कामोत्तजना इस प्रकार और अधिक बढ़ा दी क्योंकि अब उसका लिंग हर धक्के पर मेरी बच्चेदानी को चूम रही थी.

हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ मैंने सोनू को उसके दोनों चूतड़ों से पकड़ा और चूतड़ों पर दबाव देकर उसकी चूत को लण्ड पर दबा दिया. वो बेडरूम की तरफ चल पड़ी उसकी कॅट्वाक देख कर रवि का लंड और खड़ा हो गया.

जब मैंने कॉलोनी के बाहर जाकर देखा तो वही लड़का बाहर बुलेट बाइक लेकर खड़ा हुआ था.

2021 की बीएफ फिल्म

मैंने उसके माथे पर किस किया और किचन में उसके लिए कुछ बनाने चला गया. उधर रमीज मेरे बालों को पीछे खींच के मेरी गांड में लंड के झटके मार रहा था. आप भले ही मुझे छह महीने बाद मिलो, पर मैं अपने गम भूल के अब खुश रहने की कोशिश करूँगी.

फिर मैंने उसके निप्पल्स को काटना शुरू कर दिया और साथ ही साथ हम एक दूसरे के होंठों को भी बीच-बीच में चूस रहे थे. मेरी गांड की सुराख में धीरे से उंगली डालते ही मुझे बहुत अजीब सा महसूस होने लगा और मैं अपनी कमर उछालने लगी. वो सिर हिलाकर विरोध करती रही, पर उसकी हंसी रुकने का नाम नहीं ले रही थी.

इतने साइज का लंड तो एक औरत की चूत की खुजली मिटा देने के लिए पर्याप्त होता है.

हवा में पूरे फैले हुए पैरों के बीच में मेरा मुँह और मेरी जीभ … उसकी चूत से अविरल बहता काम रस का झरना. उन्हें भी …मैं- पर मम्मी जी, कब तक पराये मर्द के साथ लाइफ जिएंगे, कोई अपना भी तो होना चाहिए ना आगे की लाइफ बिताने के लिए …सासू माँ- देख बेटा, जब तक जवानी है ना … तब तक ही लाइफ को जिया जाता है. मामी ने मुझसे पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड भी है क्या?मैंने मामी को मना कर दिया.

मैंने जैसे ही फोन लिया उधर से आवाज आई कि यह नंबर जो मानिकपुर में तुम्हारे साथ दुकान में आए थे, उनका ले लिया था. जब उसने देखा कि लंड उसकी चूत में घुस चुका है तो वह थोड़ी नॉर्मल होने लगी और बोली- तुमने तो मुझे डरा ही दिया था!इससे पहले वह कुछ कहती या करती मैंने उसकी चूत में धक्के देने शुरू कर दिये और उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. चुदाई की सच्ची कहानियों में गहरी रुचि रखने वाले मेरे प्रिय पाठको, आइए मैं आपको अपनीस्वीट वाइफ नीना की चुदाईकी एक ऐसी घटना बताता हूं जिसके बाद वह मेरी धर्मपत्नी से अधर्मपत्नी बन गई.

उसका उत्तर- अच्छा आवाज़ भी गांड फाड़ होती है क्या?मैं- अब अगर भाभी जवान माल हो तो क्या उसकी आवाज़ गांड फाड़ नहीं हो सकती … भला बताओ?वो- हा हा हा … हां क्यों नहीं हो सकती खैर तुम इस समय क्या कर रहे थे?मैं- सोया था मेरी जान … तूने कॉल करके उठा दिया. मैंने रूम का दरवाजा खुला ही रखा और अपने सारे कपड़े उतार कर अपने जिस्म में तेल लगाने लगी.

सीमा ने देखा कि मुझे सर्दी लग रही है तो उसने अपना शॉल मुझे ओढ़ने के लिए दे दिया. मैंने खुद को अपने रूम में बंद कर लिया और अपनी सलवार को उतार कर पहले थोड़ी देर चूत के दाने को मसला. इसके बाद अजय ने उसी दिन देर शाम को अपने दोस्त को फोन किया और बोला- सुजाता को तुमसे मिलना है, उसे तुमसे अपना राशनकार्ड बनवाना है.

अब भैया की शादी थी, तो हम किराए वाले भी एक फैमिली टाइप ही हो गए थे.

मैं उसे थोड़ा छेड़ने भी लगा, हमारे बीच जैसे एक चुम्बक सी काम करने लगी. लेकिन वो समझ गई कि मैं आने वाला हूँ, तो उसने और मजबूती से लंड को पकड़ लिया. मैंने सोचा बाकी सारी चीजें तो पूछ ली लेकिन पता पूछना तो भूल ही गया.

उनके बड़े बड़े नितंब देखकर मेरा लंड पूरे जोश में आ गया, मन किया कि अभी अपना 7 इंच का लंड बुआ की गांड में डाल दूं. वो भी शायद समझ गया और उसने बिना रुके अपने हाथ को तेज़ी से आगे पीछे कर उंगली योनि में अन्दर बाहर करने लगा.

वो मेरे दोस्त जो आंगन में बैठे हैं, सबको तेरी झाड़ी वाली करतूत बता देंगे … और फिर तुझे दिक्कत हो जाएगी. जब उनके घर पहुँचे, तो मैं बाहर से ही बोला- अच्छा आंटी, अब मैं चलता हूँ. चूचों की त्वचा पर सीधे मेरे हाथ का सपर्श पाकर पहली बार प्रिया उछल सी पड़ी और कराहने लगी.

शायरी बीएफ

मैं खड़ा ज़रीना का चेहरा देखता रहा, दर्द के मारे वो तड़प रही थी, पर संतुष्टि के भाव थे.

घर का दरवाजा खुला ही था, मैंने देखा कौशल्या ने लाल रंग टाइट नाइटी पहनी हुई थी. दोनों को ही एक दूसरे की चाहत बड़े लंबे समय से थी जो अब जाकर पूरी हुई. मेरा लंड पहले ही अकड़ा हुआ था, उसके हाथ लगने से मेरे लंड का रस निकलने वाला ही था.

उसका 36-28-34 का सेक्सी फिगर स्किन फिट सिल्क गाउन में साफ़ दिख रहा था. जब मैं मटक कर चलती हूँ तो लोगों की कामुक निगाहें मेरी गांड पर ही टिकी रह जाती हैं, वे मेरी हिलती गांड को देख कर अपना लंड सहलाने लगते हैं. हिंदी बीएफ 12 सालवो बहुत गुस्से में थी तो मैं बहुत ज्यादा डर गया और डरते-डरते अंदर गया तो उन्होंने दरवाज़े को बंद किया.

फिर उसने पल्लू पूरा नीचे गिरा दिया और बाल आगे कर अपने एक मम्मे को छुपा लिया. कुछ ही पल बाद भाभी अकड़कर झड़ गईं और उनकी चूत का पानी मेरे मुँह में आ गया.

मेरी तड़प को बुझा दो मेरे लाल … तुम जब कहोगे मैं यहाँ तुम्हारे लंड की सेवा करने आ जाऊंगी, कुछ तो रहम करो बेटा, इस ठंड में मैं ठिठुर रही हूँ और तुम गर्म रॉड जैसा लंड लेकर भी सोच रहे हो. मैं अचानक से उठा और देखा तो सोनम भाभी मेरा लंड मुँह में लेकर चूस रही थीं. तभी वह मेरे नीचे मेरी नंगी टांगों से लिपट कर एक उंगली, मेरी चुत की जो रेखा थी, उस पर चलाने लगे और बोले- हां तू मेरी सेक्सी भांजी है.

आप सबको मेरी यह रीयल लाइफ स्टोरी कैसी लग रही है आप मुझे मेल के जरिये जरूर बताना. वो कुछ देर में ही फ़िर से चरम पर पहुंचने वाली थी, लेकिन इस बार उसने चुत टाइट करके ऐसे धक्के मारे कि मैं भी उसके साथ ही पानी छोड़ने पर मज़बूर हो गया. शाम को करीब छह बजे मेरी आँख खुली, मैंने थोड़ा हाँथ-मुँह धोया और बाहर चाय पीने के लिए निकला.

फिर ऊपर करके उठाया तो सबसे पहले उन्होंने कहा- वन्द्या, तेरी तो गांड बहुत जबरदस्त है.

मैं राहुल के सिर को अपनी चूत पर दबाते हुए अपना पानी छोड़ने लगी और अपनी चूत को झटकों के साथ राहुल के मुँह पर रगड़ना शुरू कर दिया।मैंने सिसकारते हुए अपना सारा पानी राहुल के मुंह में छोड़ दिया. कुछ देर उसके होंठों की चुसाई झेलने के बाद जब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने सुषी को वहां से उठा दिया और पलंग पर लेटा दिया.

इधर अब्दुल मेरी चूत में अपने हाथी जैसे लंड से मेरी चूत की बेदम चुदाई कर रहा था. खाना गीता बना गयी थी तो हमने थोड़ा सा खाना खाया, फ़िर वाणी दारू की बोतल निकाल लायी और दो पैग बना कर मेरे सामने बैठ गयी. जोर से चूसो और जोर से।मैं पूरी स्पीड से भाभी के मम्मे को चूसने लगा.

फिर हम दोनों ही झड़ने को आए तो हम लोग संध्या के मुंह पर आकर झड़ने लगे. मैं अपना मुँह ऊपर कर के दोनों हाथ से डॉली का मुँह लंड पर दबाने लगा. वह जोर जोर से आवाजें निकाल रही थी- आह्ह … ऊऊऊ … आआआ … उम्म … ओह्ह … अम्म … मा … उफ्फ … करती हुई वह चुदाई का मजा लेने लगी.

हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ एकदम लोहे की रोड जैसा कड़क डिल्डो मेरी चूत के अंदर वाईब्रेट कर रहा था. दो कुत्ते थे मगर कुतिया तो किसी एक को ही सम्भोग करने देगी और शायद इसी वजह से लड़ाई हो रही थी कि कुतिया किसका चुनाव करती है.

इंग्लिश सेक्सी बीएफ चोदा चोदी

उसके बाद दोनों वहां से निकल गए और मैं भी उनके पीछे पीछे ही पब से निकल गया. सिर्फ तुम 10 मिनट तक मेरा साथ दो। उसके बाद मैं सभी सवालों के जवाब लेकर आया हूं. फिर मैं घर आया तो दीदी ने पूछा- चढ़ा दिया सामान?मैंने कहा- हां दीदी, वो चली गई.

फिर मैंने उन्हें अपनी बांहों में कसा, उनके होंठों से होंठ मिलाए और चुदाई चालू कर दी. मैं महीने के बाद ही आ सकता हूँ … बताओ?भाभी- ठीक है, जैसी तुम्हारी मर्जी वैसे जब तुमने पैसे दे ही दिए हैं, तो तुम रूम तो कभी भी छोड़ सकते हो न … भले महीना पूरा हो या ना हो?मैं- अच्छा देखता हूँ यार. सेक्सी वीडियो बीएफ इंडियाये सारी बातें जानकर मैं हैरान रह गया और फिर मैंने याद किया कि सामने वाले घर के आंगन में से एक बहुत ही सुंदर छोटी लड़की हर वक्त मेरे कमरे के ऊपर की ओर देखती रहती थी.

करीब एक घंटे बाद वो आया और बोला- मैडम कोई तकलीफ तो नहीं हुई ना आपको?मैंने कहा- नहीं.

मालिश करते करते मैं बीच में उसकी गांड में उंगली कर देता, तो वो अपनी चुत वाणी के मुँह पर दबा देती. अब आगे …मैंने जैसे ही इतना कहा, तो उन्होंने अपना मुँह मेरी चूत में रख दिया और टांगों को और फैला दिया.

रशीद के धक्के तेज़ हो गए मेरे होंठ भी तेज़ी से जॉन के लंड पे फिसलने लगे और फिर दोनों ने एक साथ पानी छोड़ दिया. मैंने उससे चुदने के लिए जगह की बात की तो उसने मुझे बताया कि मैं अपने पड़ोसी के साथ उसके घर पर चुदवा सकती हूँ. पांच मिनट के सम्भोग के बाद अचानक कुत्ता पलट गया और दोनों पीछे से चिपक गए.

मेरे हाथ उनकी चूत को सहला रहे थे और ऊपर मैं उनके मम्मों को अब भी चूसे जा रहा था.

यही सोच कर मैंने ऋतु से बोला- अब जो सर बोल रहे हैं, वो तो करना ही पड़ेगा. कोई बात नहीं …” मैंने बिना उसकी तरफ देखे ही बोला और मूवी देखता रहा।आप नाराज मत होइए … वो तो मुझे किसी और पर गुस्सा आ रहा था ऐसे ही मुँह से निकल गया. तो फिर उसने कुछ फोटो हटाई तो फिर पता नहीं मुझे क्या हुआ कि मैंने उसको ऐसा करने से मना कर दिया और बोली- नहीं हटाओ, रहने दो … अभी हम दोनों के सिवा कौन है यहाँ।इसके बाद उसने मुझे बैड पर बिठाया और फ्रिज में से केक निकाल कर बाहर रखा और बोली- यह मेरे अच्छी दोस्त के लिए जो आज दुल्हन की तरह सजी है.

बीएफ हिंदी गर्ल्सफिर पुनीत पहले उठ गया और उसने अपना लंड मेरी गांड से निकाल कर किसी कपड़े से साफ कर अपने कपड़े पहन लिए. उनके लिंग बड़े थे और आकर्षक थे और यही हमारे परिचय का आधार थे। शुरु में तो यह होता था कि वे रोज नहीं दिखते थे, बल्कि कभी कोई दिखता तो कभी कोई.

सेक्सी सुहागरात बीएफ हिंदी

क्योंकि गर्मी के कारण लण्ड के आस-पास पसीना आने लगता था और मुझे खुजली होती थी. अपनी पढ़ाई पूरी करके मैं अपने सभी रिश्तेदारों से मिलने अपने गाँव गया. वैसे तो मैंने काफी लड़कियों के साथ सेक्स किया है, लेकिन भाभी की बात ही अलग है.

दो औरतें और चार आदमी काम कर रहे थे, उसमें वो भीमजी अंकल न था, ये भी बहुत अच्छा हुआ. फिर मैंने उसको बेड पर सीधा अपने ऊपर गिरा लिया और अगले ही पल मैंने उठा कर उसके लंड को अपने मुँह में ले लिया. उसके बाद जब जयमाल होने लगी तो मिशिका और राशिका भी दुल्हन के साथ में ही थी.

बीस मिनट तक धकापेल चुदाई हुई और वो मेरी बांहों में दो बार सिमट कर निढाल हुई. अब मैं बेड पर लेट गया और वो झुक कर मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी. थोड़ी देर के बाद वो मेरी योनि में दो उंगली डाल कर उसे तेज़ी से अन्दर बाहर करने लगा और जीभ मेरी दाने पर फिराने लगा.

फ़िर हम भरे मन से एक दूसरे से गले मिले और दुबारा मिलने का वायदा करके मैं वापस अपने घर के लिए निकल पड़ा. मैं- अब मैं क्या करूँ मम्मी जी? मेरी तो कुछ भी समझ में ही नहीं आ रहा है.

मेरा लंड उसकी चूत में अंदर घुस गया और वो भी मेरे गोद के मजे ले रही थी.

फिर साड़ी एक हाथ से समेट कर दोनों जांघें फैला उसके लिंग के ऊपर बैठ गयी. एचडी बीएफ बिहारअगर कोई आ जाए, तो बस खड़े हो जाओ और पल्ला ऊपर कर लो, किसी को पता ही नहीं चलेगा और चुदने के मज़ा भी ज्यादा आ जाएगा. बीएफ दीजिए वीडियो बीएफउसने मेरे दोनों दूध को अपने हाथ से जकड़ा और दोनों दूधों के बीच में अपना लंड फंसा दिया. थोड़ी देर में हमारे लिए केक भी आया और हम उसे खाते हुए महोत्सव का आनन्द लेने लगे.

आंटी के मुंह से कामुक सिसकारियों के साथ अब हल्की-हल्की दर्द भरी आवाजें भी निकल रही थीं.

तो उन्होंने कहा- कोई बात नहीं, तुम मेरे अंदर ही निकालो।मेरे लंड से वीर्य का फ़व्वारा निकला और भाभी की चूत वीर्य से भर गयी. मैं जैसे ही अंदर गया उसने मुझे गले से लगा लिया और फिर दरवाज़ा बंद कर लिया. वह आदमी बोला- तुम अगर मना करोगी, तो मैं चलकर सबको तुम्हारी पूरी करामात बता दूंगा कि तुमने झाड़ी के पीछे क्या क्या किया है.

इसके बाद तो उसकी सेक्स लाइफ में हमेशा-हमेशा के लिए बंसती बयार बहने लगी. मैंने हताश होकर पर्ची को पलट कर देखा, शुक्र था कि उस गंदे लव लेटर के पीछे एक एस्से टाइप क्वेस्चन का आन्सर भी लिखा हुआ था. मैं उसको मना कर दिया और बोली- मेरे घर वाले मुझे बाहर नहीं जाने देंगे.

ऑफिस के बीएफ

एक दिन मैं दोपहर को उठी, तो देखा चाचा कमरे से बाहर गए हैं और बाकी के सब लोग अपने काम से बाहर गए थे. शिखा बोली- तुम कहीं बाहर घूमने नहीं जाते क्या? तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?मैंने कहा- नहीं, अभी तक तो नहीं है. मेरी एक ही साली है शिल्पा, उससे मेरी शादी की बात हुई, तो उसने अकेले में मुझे बताया कि वो किसी और से प्यार करती है.

इस वक्त वो चिल्ला रही थी- वाह समीर, तुझे तो सब पता है … आह तेरी बीवी तो किस्मत वाली होगी.

फिर वो मेरे पास बैठ कर बोली- और दिखा ना?मैं उसे और वीडियो दिखाने लगा.

फिर उसने अपनी साड़ी वैसे ही लपेट कर बांध ली, जैसे शो शुरू होने से पहले थी. मैं इसी के साथ प्रमिला की गांड के छेद पर थूक लगा कर उसको उंगली से सहलाने लगा. हिंदी बीएफ फुल एचडी बीएफमैं उसके लंड को चूस रही थी और पंकज के मुंह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं.

जब हम पहुंचे तो वहां पर 2-3 पेशेंट ही बैठे थे। आखिर में मेरा ही नम्बर था. तू मेरी सगी मौसी का लड़का है और अंकित तुम्हारे सगे चाचा का बेटा है. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम सौरभ है, मैं अन्तर्वासना का पुराना पाठक हूँ.

मैंने उसका एक पैर अपने हाथ में पकड़ कर ऊपर उठा लिया ताकि उसकी चूत सही पोजीशन में आ जाए. लेकिन इससे पहले कि मैं कुछ समझ पाता, उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर नाइटी के ऊपर से ही अपनी चुत के ऊपर रख दिया और दबाने लगी.

आपको देख कर लगता ही है, सब खुशहाल ही होगा, अपनी पत्नी का ध्यान तो आप बहुत अच्छे से रखते ही होंगे.

हमारे घर में बड़ा हंगामा हो गया और मैं रो रही थी, चीख रही थी मेरे पैर, जांघें, गांड, कमर, सब दुख रहा था. उसने पीछे से मेरे कूल्हों को पकड़ लिया और अपनी चूत में खुद ही मेरे लंड को अंदर की तरफ धकेलने लगी. यह सब सुनके मुझे तो बहुत खुशी हुई कि चलो आख़िरकार ऊपरवाले ने मेरी सुन ली.

बीएफ व्हिडिओ में हिंदी एक बार मेरे सभी रूममेट्स फिल्म देखने बाहर गए हुए थे और रात के समय मैं अकेला बैठकर शराब पी रहा था. जब बात हम तक पहुंची, तो हमने भी सच का पता लगाने के लिए ऑफिस में बिना किसी को बताए कुछ जगहों पर कैमरे लगवा दिए.

मेरी सहेली जब अपनी चुदाई की बातें मुझे बताती रहती थी, उसकी गर्म बातों से मेरी चूत गीली हो जाती थी और मुझे बड़े लंड से चुदवाने का मन करने लगता था. मैं उसे गोद में बिठा कर उसकी दोनों चुचियों को नाइटी के ऊपर से मसल मसल कर दबा रहा था. बाहर से तो यह हांडी देखने में बड़ी अच्छी दिखती है लेकिन इसमें जो भी कुछ पकता है उसका स्वाद तो इस खिचड़ी को चखने वाला ही बता सकता है न.

राजस्थानी बीएफ चाहिए

मुझसे बोला- तुम बहुत सुंदर हो, आई लव यू … बंध्या … मैं तुम्हारे बिना लगता है कि नहीं रह पाऊंगा. उसके रूम मेट की कॉल आई और वो उसको साथ में पकड़ कर किसी तरह उसके फ्लैट पर पहुंच गई. बीच बीच में मैं उनके पेट, चुचों और कंधों को भी चूम रहा था ताकि उनको और उत्तेजना आये और वो ऐसे ही बेकरार रहें.

हैलो मेरे प्यारे साथियो, कैसे हैं आप सभी? मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे. मीशा के बदन में झुरझुरी सी फ़ैल गयी और उसके मुख से कामुक सिसकारी निकली.

मैंने बोला- हां भेज दीजिये … मुझे कोई समस्या नहीं है … मगर मैं एक बार अपने पति से पूछ लेती हूँ, उसके बाद आपको बताती हूँ.

इधर एक मिनट बाद लंड सरकता हुआ मेरी गांड में घुसने लगा, तो रमीज अचानक से एक ही झटके में पूरा लंड मेरी गांड में अन्दर तक पेल दिया. दोस्तो, औरत खाना खाने के बिना फिर भी भूखी रह सकती है, दो कपड़ों में गुज़ारा भी कर सकती है, अगर उसका पति उसकी उसके जिस्म की ज़रूरतों तो बख़ूबी पूरा करता रहे. भाभी ने पूछा- मेरी पेंटी कहां है?तो मैंने उनकी पहले वाली पेंटी अपने बैग में से निकाली और उनको दे दी.

कुछ देर बाद मैं उठी और देखा कि मम्मी बेड के नीचे टांगे लटकाए बैठी थी और पापा ने अपनी पैंट और अंडरवियर निकाल रखा था तथा मम्मी को अपना लंड मुंह में देकर चुसवा रहे थे. फ़िर मैंने ताकत लगा कर एक जोर का धक्का लगाया और लंड उसकी बुर फाड़ता हुआ लगभग दो इंच लंड उसकी बुर में घुस गया. मैं मेरे मेल बॉक्स को देख रही थी कि तभी मेरी नज़र उस मेल पर गई, जिसके साथ एक अटेचमेंट था.

इसके अलावा भी कुछ किस्से हैं, जिन्हें मैं समय मिलने पर आप सब से शेयर करूँगा.

हिंदी एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ: मैं कुछ भी समझ नहीं पा रही थी कि तभी उन्होंने मेरे पिछवाड़े में वही चीज बहुत सख्त सी, उनकी पैंट की जिप के पास से चुभने लगी और अब वह पीछे से हाथ मेरे आगे लाकर कुर्ता और समीज के अन्दर से मेरे पेट को सहलाने लगे. पहले उसने मेरे लंड के सुपारे को किस किया, फिर मुँह में लंड भर लिया.

दर्द काफी तेज था और मुझे समझ में भी आ गया कि मेरी झिल्ली फट चुकी है. मैंने उसी वक्त उसकी गांड को अपने हाथों से सहलाना शुरू कर दिया ताकि उसको थोड़ा आराम मिल सके. इस संदूकची में मेरे मित्रों द्वारा दिये गए उपहार और कुछ नए जमाने के कपड़े, जो उपहार में मिले थे, वो हैं.

उसके बाद मैंने अपने लंड को तैयार कर लिया और उसकी गांड पर लंड को लगाकर अंदर धकेलने की कोशिश करने लगा.

मुझे थोड़ा अजीब सा लगा, लेकिन मैं अपनी मस्ती में उसे चोदे जा रहा था. अब मैंने उसका गाउन उसकी सहायता से उतार दिया और ब्रा के ऊपर से ही चूचियों को दबाने लगा और एक चूची को चूसने लगा और वो मेरे बालों में प्यार से हाथ फेरने लगी. दिन तो जैसे तैसे नौकरी और घर के काम में निकल जाता था, पर एक एक रात काटना मुश्किल हो चुका था.