बिहार बीएफ सेक्सी वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी कहानी हिंदी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स वीडियो बंगाली: बिहार बीएफ सेक्सी वीडियो, कुछ देर बाद उसकी आवाजें आना शुरू हो गईं- उहह … उम्म्ह … अहह … हय … ओह … उम्महह …उसके मुँह से सिसकारियां निकलने लगीं.

नेपाली सेक्सी video

लगभग 30 मिनट तक धक्के लगाने के बाद सौम्या एकदम से जंगली हो गई और सिस्याते हुए बोलने लगी- आह राज … तेज़ राज … और तेज़ … मैं आने वाली हूँ. सेक्सी वीडियो भारतीय नारीउसके बाद मैंने उसके घर का नम्बर लिया और उससे बातें करना शुरु कर दी.

अब अनिल मेरी मॉम के होंठों को चूसने लगा और मॉम के गालों को काटने लगा. सेक्सी वीडियो न्यू वालाबहुत रिक्वेस्ट करने के बाद सुलु भाभी ने मेरे लंड के टोपे को मुंह में लिया और चूसने लगी.

मैं अपनी सारी भड़ास मोनिषा आंटी पर निकलना चाहता था, तो मैंने वैसा ही किया.बिहार बीएफ सेक्सी वीडियो: मैं फिर अगले दिन पढ़ाई का बहाना बना कर मामी की चुदाई करने पहुँच गया.

कभी वो अपनी चूत मेरे लंड पर रगड़ती, तो कभी अपनी गांड पर लंड का स्पर्श करा देती.आज मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने अपनी चुदाई की चाहत को पूरा किया, मेरी मम्मी के स्कूल की लड़की को मर्जी से उसे चोदा और उसकी चुदाई का मजा लिया.

देसी सेक्सी बुर वीडियो - बिहार बीएफ सेक्सी वीडियो

ज़रीना की सुन्दरता और शरीर के बारे में कुछ भी कहने के लिए तो मेरे पास शब्द ही नहीं हैं, वह तो एक अप्सरा थी.काफी कुछ बैंक में जमा है, जिससे हम दोनों अपने घर को बड़ी मस्ती से चला रहे थे, किसी बात की कोई कमी नहीं थी.

हम दोनों सेक्स के लिए तड़पने लगे तो मैंने गर्लफ्रेंड की चूत चुदाई कर दी. बिहार बीएफ सेक्सी वीडियो मैं खड़ा हो गया और उसकी आंखों में देखा, जो एकदम सुर्ख लाल हो चुकी थीं.

फिर उसने अचानक से लंड बाहर निकाला और बोला- क्या हुआ जान?मैंने कहा- आराम से करो!वो हंसने लगा, बोला- सॉरी जान!और फिर उसने अपना मोटा लण्ड मेरे होंठों पर रख दिया और फिर से मेरे मुँह की चुदाई शुरू कर दी.

बिहार बीएफ सेक्सी वीडियो?

आजकल कुछ बोल्ड, आधुनिक ज़माने की औरतों द्वारा निजी बर्थडे पार्टी या किटी पार्टी में बाकायदा जिगोलो ब्वॉय को बुलाया जाता है और सब औरतें उसके साथ अपनी सेक्स फेंटेसी पूरी करती हैं या मस्ती करती हैं. तो मैंने कहा- मैं इस बात पर कैसे विश्वास करूँ कि तुम सही हो?वो बोली- अब मैं आपको कैसे विश्वास दिलाऊं?उसकी बात सुनकर मुझे राहत मिली कि अभी इसकी सील सलामत हो सकती है. एक पल के लिए ऐसा लगा कि न मैं उसे दो रुपया उधार लौटने की कोशिश करती, न वो बहकता.

उन्होंने बोला- नहीं नहीं बाहर नहीं रहते … वह दादा दादी के यहां पर गए हैं बच्चों को लेकर … बस 2 दिन बाद आ जाएंगे. मेरा पूरा लंड जैसे ही अन्दर गया, वो चिल्ला दी … शायद उसे दर्द हो रहा था. जिस कुवारी लड़की के बारे में मैं आप लोगों को बताने जा रहा हूं उसका नाम सुनीता है.

मैं उनके मम्मों को दबाने लगा, आज मैंने उनसे फिर से दुपट्टा हटाने का बोला, तो उन्होंने फिर से मना कर दिया. चाची की गांड फट गई, लेकिन तेल की कटोरी से तेल टपका टपका कर मैंने चाची की गांड को खूब मजे से मारा और उनकी गांड में ही झड़ गया. वे बड़ी देर तक मेरे ऊपर लेटे रहे, पर जब उनका लंड सिकुड़ गया, एकदम ठंडा पड़ गया, तब बाहर निकले.

मैंने लंड पर बुआ का हाथ महसूस किया तो मैंने कहा- मेरा लंड चूसो ना बुआ. वो मेरे से आज बिना किसी देरी के मेरा लंड अपनी चूत में लेना चाहती थी.

भाभी की आँखों में हल्के हल्के आंसू थे जो शायद खुशी के थे और मुँह पे कराह थी जो शायद काफी कम चुदाई का नतीजा थी।मैं भाभी को चोद रहा था और साथ साथ में भाभी को किस भी कर रहा था.

उसके 34 साइज के बूब्स, 26 की कमर और 36 के चूतड़ देख कर मेरा लन्ड तन कर खड़ा हो गया था.

श्वेता हंसने लगी और बोली- चाचा चिकनी चुत को चिकना लंड चाहिए … आज तो तुमको लंड की झांटें साफ़ करनी ही होंगी. अमित अभी तक मुझे कहीं प्यार नहीं मिला … और मैं जैसी मोटी, भद्दी हूँ, उसे देखकर मुझे नहीं लगता कि आगे भी मुझे प्यार मिलेगा. मम्मी ने अपनी टांगें ऊपर हवा में उठा रखी थीं और लाला मम्मी की कमर से कमर मार रहा था.

उन लौंडों से हो सकता कि थोड़ा उन्नीस होऊं … उनके जितना माशूक न होऊं, पर अपने को मैं अभी भी लौंडा ही मानता हूँ. उन्होंने फिर कहा- बोला ना कि शॉर्ट्स पहन कर आ!उनका इशारा मेरी तरफ था क्यूंकि मैंने जींस पहन रखी थी. दो मिनट के बाद ही उसके मुंह से मादक सिसकारियां उम्म्ह … अहह … हय … ओह … निकलनी शुरू हो गईं.

वो मेरी बात मान कर मेरे ऊपर आकर लण्ड पे बैठ गयी। लेकिन उसे लंड पर बैठ कर उछल कूद करके चुदना नहीं आता था। उसका पति सिर्फ लेटा के चोदता था औऱ सो जाता था।मैंने उसे लण्ड पे बैठा कर नीचे से धक्के लगाने शुरू किया, उसे इसमें मजा आया.

उसके इस तरह से रिएक्ट करने से मुझे लगा कि अब मेरा सारा काम खत्म हो गया. मेरे मुहल्ले के बहुत से लड़के मोनिषा आंटी के नाम की मुठ भी मारने लगे थे. वो बोली- क्यूं, नींद क्यों नहीं आ रही है?मैंने कहा- किसी की याद आ रही थी.

वो लंड इतना अच्छे से चूस रही थी कि मैं जल्दी ही उसके मुँह में झड़ गया. पर चाहे जितनी भी बंदिश हों … लोग, जिनको मौका मिलता है, अपने तरह से छुप-छिपा कर मौज मस्ती कर ही लेते हैं. मम्मी कोशिश कर रही थीं कि वह अपने मुँह में ज्यादा से ज्यादा लंड ले लें.

मैं जितनी तेजी से उसके मम्मों को दबा कर चूसने लगता था, वह मेरे लंड को उतनी ही जोर से दबा कर ऊपर नीचे करने लगती थी.

उसके रस मलाई जैसे चूचे मेरे मुंह पर आ गये जिनको मैंने पीना शुरू कर दिया. मैं शर्माने का नाटक करने लगी, तो निर्मला ने कहा- लगता है सबसे पहले तुम्हें ही तैयार करना पड़ेगा सारिका.

बिहार बीएफ सेक्सी वीडियो इसके बाद वंदना के दिए हुए लेसन की प्रैक्टिस करते हुए ट्यूशन जाने लगा. लाला अब भी दीदी को बुलाता था कि किसी बहाने दुकान में कोई सामान लेने आ जाओ, मगर दीदी अब लाला को कोई भाव नहीं देती.

बिहार बीएफ सेक्सी वीडियो मगर जब भी कभी मामी जी घर पर नहीं होते तो मेरी मामी मुझे बुला लेती थी और हम चुदाई के जमकर मजे लेते थे. फिर हमने एक दूसरे को साबुन लगा कर नहलाया और नहाने के बाद नंगे ही बाहर आ गए.

मेरी इस हिंदी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे दोस्त की बहन मुझसे चुदने के लिए एकदम गर्म हो चुकी थी लेकिन शर्मा रही थी.

बीएफ व्हिडीओ हिंदी सेक्स

मैंने पास ही पड़े अपनी बनियान से चुत को थोड़ा सा पौंछा और चुत पर जमा कर धक्का दिया. मैंने इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया क्योंकि मर्दों की तो आदत होती ही है घूरने की. मैंने मैम की चूत पर वैसे ही हाथ फिराया, जैसे मैंने वीडियो में देखा था.

मैं मैम को गौर से देख रहा था, क्योंकि आज वंदना मैम ने बड़े टाइट कपड़े पहने थे. मैंने कहा- क्यों?तो वो कहने लगी- चॉकलेट डाल कर दोनों एक दूसरे के अंगों को चूसेंगे. मेरी रंडी मॉम की गांड और चूत चुदाई की कहानी का अगला भाग और भी मस्त होगा.

वो बीच बीच में अपनी प्रतिक्रिया के साथ साथ सुझाव भी दे रही थी कि ऐसे चूसो, ऐसे हिलाते हुए चूसो … वगैरह वगैरह.

इसके बाद मॉम ने मुझसे दारू की बोतल लाने का कहा, मैं दो गिलास पानी बर्फ और नमकीन के साथ सिगरेट की डिब्बी भी उठा लाया. फिर सोचा कि ऐसी सूखी कल्पना करने से बेहतर तो मामी को फोन ही कर लूं और मामी की आवाज सुनते हुए अपना लंड को हिलाऊं. जब कभी भी हमें कुछ खाने की इच्छा होती, तो माँ हमें लाला की दुकान में भेज देतीं और लाला भी हमें फ्री में चॉकलेट या चिप्स वगैरा खिला देता.

दोस्तो आपको तो पता ही है कि इस उम्र में चोदा चोदी के बारे में तो सबको सब कुछ पता हो जाता है. इशारा मिलते ही उसने अपने कमर के हिस्से से दबाव बढ़ाया और लिंग का सुपारा सट से मेरी योनि की पंखुड़ियों को फैलाता हुआ भीतर चला गया. मैं तुमको मना नहीं करूंगी … मगर आराम से करना … मुझे बहुत दर्द होगा.

वो सिसकारियां लेना चाह रही थी लेकिन जानती थी कि अगर जरा सी भी आवाज मुंह से बाहर निकली तो बहन उठ जायेगी और सारा मजा खराब हो जायेगा. तभी भाभी मेरे लोवर में हाथ डालकर मेरी अंडरवियर में से ही मेरे लंड को सहलाने लगीं.

मैं अचानक लंड गांड में घुसने से चिल्ला पड़ा ‘आ आ … आ ब…स’ तब तक उसने पूरा पेल दिया फिर उसके बाद एक दूसरे लौंडे ने भी उसके बाद मारी मेरे साथी दूसरे चिकने लौंडे की दूसरा बड़ा लड़का मार रहा था. उसकी आंखों में हवस का वो तूफान उठा कि उसने पैंटी के ऊपर से मेरी बीवी की योनि को प्यार से चूम लिया. रागिनी- अभी तक कितनी लड़कियों के साथ किया है?मैं- बहुत सारी … कुछ शादीशुदा थीं, कुछ सिंगल, कुछ विधवा … पर ज़्यादातर शादी शुदा ही मेरे साथ रहीं.

जब से मैंने अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ना शुरू किया था तब से ही मैं इस पर रोज कहानियां पढ़ने का आदी हो गया था.

मैंने भी तेज धक्के मार कर सारा माल उनकी चुत में डाल दिया और उनके ऊपर ही निढाल होकर लेट गया. फिर कुछ देर के बाद मामा ने मेरी मामी के गालों को किस करने कोशिश की तो मामी ने मरे मन से उनको किस करने दिया. तब मैं बोला- वह देखकर नहीं मालूम किया जा सकता, उसे चैक करने के लिए कुछ करना पड़ेगा, तभी पता चलेगा.

मेरी इस प्यासी टीचर चूत चुदाई के पिछले भागटीचर ने ओरल सेक्स करके मुझे चुदक्कड़ बनाया-2में आपने पढ़ा था कि मेरी टीचर वंदना ने मुझे अपने जाल में फंसा कर सेक्स करना सिखाना चालू कर दिया था. भाभी मुझे बाम देकर पेट के तरफ लेट गयी और उसने पीठ को मेरी तरफ कर दिया.

वो नीची नजर से मेरे लंड के उभार को देख कर फिर से अपनी नोटबुक में देखने लगती थी. इतना कह कर अनिरूद्ध ने मेरी बहन के सामने ही अपने कपड़े उतारने शुरू कर दिये. घर आते वक्त मेडिकल स्टोर से कुछ दवाईयां, तीन चार कंडोम के पैकट ले लिए और घर आ गया.

सेक्सी वीडियो खुला दिखाएं

आप ये बताओ कि आप मेरे यहां पर क्यों नहीं आते हैं? कभी मुझसे बात भी नहीं करते हैं.

मेरी गर्लफ्रेंड सेक्स की प्यासी रह गयी शादी के बाद क्योंकि उसको अपने पति से चुदाई में पूरा मजा नहीं मिलता था. मैंने कहा- क्यों?वो- मौसी ने बताया आज रात वो मुझे लेने के लिए आने वाले हैं. ऐसे ही दिन बीतते गए, अपनी चूत की मांग, शारीरिक भूख को मैंने अनदेखा कर दिया था, पर उसका परिणाम मेरी सुंदरता पर और मानसिक स्थिति पर होने लगा था.

इसलिए हम दोनों ने अपनी अपनी चड्डी उतार कर अलग रख दी और मैंने फिर से उसकी बुर की दरार में लंड रख दिया. मैंने थोड़ा सा जोर लगाया तो पूरा सुपारा उस कुवारी लड़की की चूत में घुस गया. हिंदी में सेक्सी वीडियो फिल्म हिंदीकूलर ऑन करते ही उसने अपने साड़ी के पल्लू को निकाल दिया, जो कि वैसे भी ऊपर से पूरा नीचे आ चुका था.

वो सुबह शाम दोनों समय मेरे लंड से अपनी चुत और गांड की कामुकता शांत करवाने लगी थीं. मैंने कहा- क्यों … क्या तुम्हारे पास लाल रंग की ब्रा पैंटी नहीं है क्या?वो बोली- मेरे पास लाल रंग की ब्रा पैंटी के चार सैट हैं.

इसलिए मेरे लंड की तमन्ना थी कि मैं मामी की चूत में अपना पानी इसी पोजीशन में निकालूं. उसकी चूत चाट चाट कर लंड ने इतने झटके दे दिये थे कि कामरस से पूरा अंडरवियर गीला हो गया था. सुबह तक भी मां को आराम नहीं मिला तो मां ने मुझे साहब के घर भेजने का फैसला कर लिया.

कुछ देर बाद वो भी झड़ने वाला था। उसके चोदने की रफ़्तार का कुछ पता ही नहीं चल रहा था।मेरी चूत ने भी अपना माल निकाल दिया। उसने माल चूत में लगे लगे ही कुछ देर तक चोदा। उसके बाद मेरी चूत से अपना लंड निकाल कर वो भी मुठ मार कर मेरी चूचियों पर ही झड़ गया।और उसके बाद कभी भी उससे चुदाई का मौक़ा नहीं मिला मुझे! ना ही मैंने कोई कोशिश की उस लंड से चुदने की. विद्या ने मुझे यूं एकटक अपने मम्मों को निहारते हुए देखा, तो उसे अपने हाथों से मेरे सिर को पकड़ कर अपने मम्मों पर लगा दिया. मैंने कंडोम अपने लंड के ऊपर चढ़ाया और मोनिषा आंटी की गांड के मुँह पर रख दिया.

मेरा हाथ मॉम की चुत पर गया, तो मैंने पाया कि मॉम की चुत गीली हो चुकी थी.

मैं बड़े प्यार से भाभी के शर्ट और चुन्नी के ऊपर से उनके मम्मों को दबा रहा था. मैंने पीछे से अपना लंड रीता की चुत की फांकों में सैट किया और बिना कोई इशारा दिए मैंने पूरी ताकत से लंड को पेल दिया.

भाभी दिखाओ ना!”उसकी इस रिक्वेस्ट से मैं शर्म से पानी पानी हो रही थी. माफ़ भले ही कर दिया था, पर कहीं न कहीं ये बात मेरे दिमाग में खटकती रही कि जिसे मैंने सच्चे दिल से चाहा, उसके अलावा किसी के लिए सोचा तक नहीं और इतने लंबे रिलेशनशिप के बाद भी धोखा मिला, तो ऐसा सच्चा बन कर क्या फायदा था. एक दिन जब मैं दुकान पर अकेला था, तब उसका कॉल आया और इधर उधर की बात करने के बाद उसने मुझे गुस्से में बोला कि समीर आप मुझसे प्यार नहीं करते हो.

मैंने उससे अपने दिल की बात कही … पर उसने मना कर दिया, तो मैं वहां से हट गया. मैंने जो करतब दिखाए हैं सारी रात, चूत के दाने को चाट चाट कर पिघला दिया दोस्तो … इतना खोल खोल कर खाया कि साली नींद में भी उठती तो मना ना कर पाती … अब मैं ठहरा गांड का चटोरा लेकिन उसे पलटा तो सकता नहीं तो बस नीचे लेटे लेटे ही पूरी रात गुज़ारी. फिर उसने सिसकारियां लेते हुए मेरी कमर में अपने नाखूनों से नोंचना शुरू कर दिया.

बिहार बीएफ सेक्सी वीडियो एक बार मैंने उसके निप्पल को काट लिया, तो वो ‘आउच …’ बोल कर बोली- आराम से चूसो … ये अब सिर्फ़ तुम्हारे ही हैं. अब मामाजी बोले- अब ढीली हो गई!उन्होंने तेल भीगा अपना लंड मेरी गांड पर टिकाया, बोले- डाल रहा हूं, ढीली रखना, कसना नहीं, बिलकुल परेशानी नहीं होगी.

बी एफ पिक्चर

मैं दोस्तों से जब भी मिलने जाता हूँ, तो वो सब भी फौजिया दीदी की चुदाई की वीडियो देख मुठ मारने लगते हैं. मैंने बोला- रात हो गयी है और सुबह तुम्हें मेरे पति के आने से पहले जल्दी निकलना होगा और मुझे सब ठीक करना होगा. मुझे बाद में पता चला कि रंजन जग रहा था और अपना लंड मेरी गांड में टच करके मजा ले रहा था.

मैं भी उसके साथ साथ मॉर्निंगं वाक पर घूमने जैसी स्थिति में चलने लगा. वो मेरे लंड के ऊपरी हिस्से को अपने होंठों से, तो कभी गाल से लगाने लगी. त्याची सेक्सी फिल्मवो नीची नजर से मेरे लंड के उभार को देख कर फिर से अपनी नोटबुक में देखने लगती थी.

मैंने अपना सारा माल उसकी चूत में गिरा दिया और मोसी की चूत में लण्ड डालकर उसके ऊपर लेट के दूध पीने लगा.

जैसे ही भाभी ने मूतने के लिए अपनी साड़ी उठायी, तो उनकी गोरी गोरी गांड को देखकर मुँह से आह निकल गई. पहले तो उसने थोड़े नखरे किये लेकिन फिर मान गई।तो मैंने लिप्स किस करते हुए पूरे शरीर को किस किया.

एक दिन जब मैं उनके साथ रात का खाना खा रहा था तो आंटी कहने लगी- हमारी सोनू पढ़ाई में काफी कमजोर है. मैंने चूमते चूमते ही उसके पैरों को खोला और उसकी चुत पर किस करने लगा. फिर हिम्मत करके मैंने वो साड़ी उनके कन्धे पर ही डाल दी ताकि पता लग सके कि वो कलर उन पर कैसा लगेगा.

अब वह 6 फुट का लंबा-चौड़ा आकर्षक व्यक्ति पूरी तरह से उन औरतों के बीच में नंगा हो गया था.

बाद में नौकरानी को पटाया, पैसे दिए बहुत खर्चा किया … पर उसके साथ भी केवल वही मिला … सिर्फ शरीर की भूख मिटी. सच में उसकी मतवाली गांड इतनी जबरदस्त मटक रही थी कि उस वक्त अगर उसे कोई देख लेता, तो या तो उसे पटक कर चोद देता … या वहीं मुठ मारने लगता. वो मेरे से आज बिना किसी देरी के मेरा लंड अपनी चूत में लेना चाहती थी.

सेक्सी हिंदी में मारवाड़ीवो सिसकारियां लेना चाह रही थी लेकिन जानती थी कि अगर जरा सी भी आवाज मुंह से बाहर निकली तो बहन उठ जायेगी और सारा मजा खराब हो जायेगा. सुरेश- जब मजा आ ही रहा था, तो इतना नाटक क्यों कर रही थीं … बेकार में साड़ी और ब्लाउज फट गया!मैं- सुरेश सच कहूँ, तो मैंने इसके बारे में कभी नहीं सोचा था.

बीएफ भेजो बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ

लड़के तो मिलने आएंगे ही; आनंद लें उनका भी मजा लें … शाम तक थकान छू मंतर हो जाएगी. जब मैंने उसके मम्मों को दबाना चालू किया, तो वो मना करने लगी- मत करो … मुझे दर्द हो रहा … आह प्लीज मत करो. मेरे ऐसा करने पर एक बार तो मैडम ने मुझे घूर कर देखा मगर फिर हल्का सा मुस्कराई.

जैसे ही मेरी आंख खुली, तो मैंने देखा कि रजनी चित्त लेटी थी और मैं उसकी तरफ करवट लेकर लेटा था. शर्लिन ने अपनी सबसे पहली फिल्म की थी एक तेलुगू फिल्म ‘ए फिल्म बाय अरविंद’।उसके बाद उसने बॉलीवुड मुंबई में हिंदी फिल्मों की ओर रुख लिया. कंडोम चिकना होने के बावजूद भी उस पर तेल लगा लिया और उसकी गांड में सुपारा को धीरे धीरे से धक्के देने लगा.

आज मैं उसको पूरी रोशनी में अपने दोस्त की बहन सुशी के पूरे शरीर को नंगा देख रहा था. मैंने लंड को जैसे ही माँ की गांड से निकाला, मेरे वीर्य की धार गांड से बहने लगी. मेरे पिताजी फ़ौज में हैं तो मैं अपने घर में अपनी मम्मी और बहन के साथ रहता था.

आंटी ने मेरे लंड को पहले तो अपनी मुट्ठी में कस कर पकड़ा और थोड़ी देर तक हिलाया. मैंने उनकी गांड पर रखी तौलिया के अन्दर हाथ डालकर अपना हाथ उनकी जांघों तक बढ़ाया.

मैं समझ गई और मैंने भी उसे बिस्तर में आने के लिए अपनी बांहें फैला दीं.

हमारे घर वाले एक दो बार हमें घर पर अकेला भी छोड़ कर बाहर गए तो हम दोनों स्कूटी से पूरा दिन बाहर घूमें और सिनेमाघर में जाकर मूवी देखी. सेक्सी भाभी की सेक्सी कहानियांविदाई के दूसरे दिन जब हम सब सबसे ऊपर वाली छत पर लेटने गए, तो हम 4 लोगों के अलावा कोई बड़ा सदस्य हमारे साथ छत पर नहीं था. नंगी चूत की चुदाई सेक्सीमैम ने बेल बजायी, मैंने दरवाज़ा खोला और देखा कि कोई बुरके में औरत आई थी. बुआ हंस दीं और बोलीं- ज़्यादा नहीं लेंगे … कहीं नशा वशा हो गया, तो दिक्कत हो जाएगी.

उसने कहा- सीने पर भी क्रीम लगा कर मसाज करिए ना!वो मेरी तरफ़ पीठ करके बैठ गई.

जैसे ही मेरी बहन ने कहा कि वो बीच में नहीं सो सकती तो जैसे मेरी लॉटरी ही लग गई. ऊपर से ही उर्वशी के जिस्म की खुशबू उसकी उत्तेजना को और भड़का रही थी. उसके बाद से मेरे दिल में मेरे ही दोस्त की माँ के प्रति गलत भावना बनने लगी.

मैंने अपने एक हाथ से उसके दूध को पकड़ा हुआ था और उसकी जांघों को बड़ी मस्ती से चूम रहा था. क्योंकि जब कभी वह देर से आती हैं, तो उनके चेहरे पर थकान ना होकर ख़ुशी होती है. मैंने उसकी छाती से चिपकते हुए कहा- हां ले चल … मुझे कोई चिंता नहीं है.

सेक्सी वीडियो बीएफ इंग्लिश पिक्चर

वे अपनी दोनों उंगलियों को मेरी गांड में तेज तेज चलाते रहे, फिर गोल गोल घुमाने लगे. उनको चुदाई का वो मजा दिया, जो उन्होंने अपनी जिंदगी में कभी नहीं लिया था. एक मिनट तक बिना हिले मैं रुका रहा … फिर तेजी से लंड उसकी चुत में अन्दर बाहर करते हुए पेलने लगा.

अब तो ऐसा है कि बहुत सी महिलायें मुझे मसाज के लिए बुलाने लगी हैं।रिया की चूदाई कैसे हुई; फिर कभी ये भी बताऊँगा।मेरी ये ब्यूटी पार्लर में सेक्स की सच्ची कहानी कैसी लगी बताना ज़रूर।[emailprotected].

तभी अचानक से मुझे मेरे दोस्त ने फोन किया और बोला कि मेरे कम्प्यूटर से विन्डो उड़ गया है … तू आकर विन्डो इंस्टाल कर दे.

उसके लिंग की मोटाई की वजह से अब भी मेरी योनि की दीवार फैल रही थी और खिंचाव महसूस हो रहा था. मैंने आगे बढ़ कर उसके कंधे पर हाथ रखते हुए कहा- मैं ऐसा क्यों करूंगा … आप तो मेरी भाभी हैं … और कोई देवर अपनी जवान भाभी का बुरा क्यों करेगा. सेक्सी फ्री व्हिडिओमेरा मूसल मैडम ने जैसे तैसे करके अपने मुंह में तो ले लिया लेकिन वो उसके मुंह में जाकर जैसे अटक गया था.

मैंने सोचा कि बंदा खुद ही मुझे मिलने वाला है तो मैं क्यों कोशिश करूं. अगर हम उसके घर में सेक्स और चुदाई नहीं कर सकते तो क्या हुआ हम किसी और जगह पर जाकर चुदाई कर लेंगे. मुझे हमेशा नई नई चुत चोदने का चस्का लगा रहता था, चाहे जवान चुत हो या 45 साल की हो … बस मेरे लंड को चुत की तलाश ही रहती थी.

मैंने कहा- तू मेरी रंडी है न … तो मैं चाहे तुझे मारूं … चोदूं … चुपचाप सह लिया कर … नहीं तो तुम्हारी चूत और गांड का इससे भी चूता हाल कर दूंगा. दीदी ने दरवाजा अन्दर से बंद करके पूछा- तुम उदास क्यों हो?मैंने उनको सारी बात बताई, तो दीदी ने कहा- अरे यार, ये तो बड़ी दिक्कत है … यदि मेरे एग्जाम न होते, तो मैं साथ चलती … मुझे भी तो खुद रोज चुदवाने की आदत हो गई है.

उसके बाद मैंने मामी की चूत में जीभ डाल दी और उसको तेजी से अंदर तक साफ करने लगा.

उनकी साड़ी की सिलवटें खोल दीं और अब मामी केवल ब्लाउज और पैटीकोट में ही रह गई थी. फिर मैं घुटनों पर बैठी और पैंट के अंदर से उसका लण्ड पकड़कर बाहर निकाला. घर में उनकी बहू थी जो अपनी नन्हीं सी नवजात बच्ची के साथ अपने कमरे में ही लेटी हुई थी.

सेक्सी चुदायी उसने अपनी गर्दन को बेड पर टिकाते हुए मेरी गांड को अपने हाथों में भींच लिया और अपनी गांड की तरफ मेरे लंड को धकेलने लगी. मास्टर साहब का मस्त हथियार देख कर मेरी गांड में कीड़ा कुलबुलाने लगा.

मैं थोड़ा शर्मिंदा भी हो रहा था क्योंकि मैंने अपनी बहू को कभी वासना की नजर से नहीं देखा था. उस रेड कलर के टॉप से रोनिता के 38 के दोनों चूचे एकदम साफ़ साफ़ नजर आ रहे थे. ये सोच कर मैं उनकी वीडियो बनाता रहा कि बाद में कभी मन हुआ, तो दोनों की नंगी वीडियो देख कर मुट्ठ तो मार लिया करूंगा.

साउथ बीएफ

भाभी बोलीं- ऐसे क्या देख रहा है … क्या पहली बार देख रहा है?मैं बोला- आपकी खूबसूरती देख रहा हूँ, रोज तो छुप छुप कर देखता था ना … आज खुलकर देख रहा हूँ. मैंने अपने घर का काम किया और शाम होते ही संजय के आने का इन्तजार करने लगी. पहली नजर में ही दिल से लेकर लौड़े तक को घायल कर गई थी वो गुदाज बदन की मल्लिका.

फिर मुझे ध्यान आया कि क्यों मामी के नंगे बदन को कैमरे में कैद कर लिया जाये. भाभी हाथ का इशारा करती हुई बोली- कोई बात नहीं … तुम मेरे मुँह में ही अपना पूरा माल निकाल दो.

मैंने कहा- भाभी आप खुश तो हो न!भाभी बोलीं- हाँ मैं आज बहुत खुश हूं, लेकिन मुझे एक बात का अफसोस है.

थोड़ी देर बाद वो नार्मल हो गयी और मैंने लंड को आगे पीछे करना शुरू कर दिया. थोड़ी देर तक ऐसे ही पड़ा रहा मैं। थोड़ी देर के बाद मैं उठा और फ्रेश होने के लिए चला गया. उसने दीदी की चूत पर लंड को लगाया और उसकी चूत में लंड को धीरे धीरे अंदर डालने लगा.

एकाएक उसके लंड से वीर्य की पिचकारी निकलने लगी और मेरे गले में गिरने लगी. मामी ने बिना कहे ही मेरे लंड को मुंह में भर लिया और मस्ती से मेरे मोटे लौड़े को चूसने लगी. मैंने अपना लंड थोड़ा बाहर निकाल कर फिर से धक्का मारा, तो भाभी बोली- थोड़ा धीरे धीरे करो यार … कहीं भागी नहीं जा रही हूँ.

मैं उस दिन सेकंड ईयर की क्लास में गया, तो वहां सिर्फ लड़कियां ही थीं.

बिहार बीएफ सेक्सी वीडियो: मैं थोड़ा नर्वस था कि कहीं दिन में जो हुआ था उस तरह फिर से कहीं मेरा पानी जल्दी ना निकल जाये।आंटी ने थोड़ी देर मेरे लंड को चूसा और फिर से मेरे ऊपर आ गयी और अपने हाथ से अपना एक बूब पकड़ कर मेरे मुंह में दे दिया. वो बोली- तुम मुझे आप क्यों कह रहे हो, मैं तुमसे उम्र में इतनी बड़ी हूं क्या? मुझे ‘तुम’ कह कर ही बुलाया करो.

मैं भी अब पूरी तरह से उत्तेजित हो गयी थी, जिसके वजह से उसे अपना दूध पिलाने में सहयोग करने लगी. साहब को तो पहले से ही पता था कि मैंने नीचे से ब्रा नहीं पहनी हुई है. बातें चाहे जितनी भी हुईं, पर मेरे दिमाग में और उसके दिमाग में एक ही बात चल रही थी वो थी संभोग की.

मीनू की पहली चुदाई के बाद तो जैसे हम दोनों एक दूसरे के लिए प्यासे ही रहने लगे थे.

उसने ऐसी पोजीशन में लेटाया कि दीदी की टांगें नीचे जमीन की ओर लटक रही थीं और उसका धड़ ऊपर टेबल पर लेटा हुआ था. हम 3 सहेलियों के पिता ठेकेदारी में एक ही जगह काम करते थे और सुरेश के पिता सरकारी नौकरी में थे. उसने मेरे कपड़ों को हाथ लगाया, तो मैंने उससे कहा- मैं उतार देती हूँ … मेरे पास यही ड्रेस है … तुम्हारी जल्दीबाजी में कहीं फट न जाए.