बीएफ फुल हिंदी में

छवि स्रोत,आंखों की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी डिटेल: बीएफ फुल हिंदी में, मेरी दी की गद्देदार पावरोटी की तरह उसकी चुत एक मस्त छटा बिखेर रही थी.

हिंदी सेक्सी बीएफ चुदाई वाला

तनिष्क हंस कर बोला- मेरी जान अगर तुमको बताना होता, तो तुमने अब तक बोल ही चुका होता. देहाती लड़की का सेक्सी बीएफमामी सागर के बाल पकड़ कर उसका सिर पूरा अपनी चूत में घुसा रही थी।कुछ देर लाजवाब चूत चटाई के बाद मामी ने अपना सारा पानी सागर में मुंह पर छोड़ दिया.

जब तक उसने पूरा चूस चाट कर साफ़ नहीं किया, मैंने उंगलियां उसके मुँह से बाहर नहीं निकालीं. एक्स कॉम बीएफउसने जाते समय दरवाजा उड़का दिया और मैं बिना लॉक किए नंगी ही बिस्तर सो गयी.

उसने अपने नाखून मेरी पीठ पर गड़ा दिए थे। मैंने धक्के लगाने चालू रखे.बीएफ फुल हिंदी में: मॉम ने अपना पल्लू नीचे किया हुआ था, तो मैंने मॉम के गले पर किस किया.

अपने लंड को पिंकी की चूत से निकाल कर मैंने तुरंत रानी के मुंह में दे दिया.उसने मुझे भाईजान कहा, तो मुझे याद आया कि वह मेरी बहन लगती थी और मैं उसको चोदने की सोच रहा था.

मुसलमानी का सेक्सी बीएफ - बीएफ फुल हिंदी में

शाम को जब मैं अपने काम में व्यस्त थी तो जीजा बार बार मुझे ही देख रहे थे.मैंने थोड़ा सा टांगों को ढीला कर दिया … तो वो धीरे धीरे मेरी चूत में उंगली करने लगा.

मुझे आज अन्दर से आग लगी हुई थी तो मैंने सबकी नजर बचा कर एक पूरा गिलास नीट दारू से भरा और ‘कमरे में जाकर लूंगी. बीएफ फुल हिंदी में मेरे पति या किसी और को कोई शक भी नहीं हुआ क्योंकि जब मैं ननद के घर गयी थी तो अपने पति का नाम करने के लिए उस्ससे बहुत बार चुदकर आई थी.

वह भी पूरे मजे के साथ मेरे निप्पल को छेड़ रही थी और मेरे मुँह में उंगली डाल कर चुसवा रही थी।अब मैंने उसे बेड के बाजू पर लेटाया और उसके पैर को मेरी कमर पर फंसाकर धक्के लगाने लगा.

बीएफ फुल हिंदी में?

जिस कमरे में मैं रहता था, उसके मकान मालिक के परिवार में कुल मिलाकर 10-12 लोग रहते थे. कुछ देर बाद प्रशांत ने मां को पकड़ा और उनको होंठों पर बहुत जोरदार किस की और मम्मी की साड़ी को ऊपर उठा कर उनकी चूत पर हाथ लगाने लगा. इस धक्के से मेरा लिंगमुण्ड अपने रास्ते में आने वाली सारी रुकावटों को दूर करता हुआ उसकी बच्चेदानी से जा टकराया.

जैसे ही मैंने कार पार्क की और कार से उतरा, तो मैंने जानबूझ कार का हॉर्न बजा दिया. हमने अपनी पोजीशन चेंज की और मैं डॉगी स्टाइल में होकर अज़ीम का लंड चूसने लगा। पीछे से समीर मेरी गाँड के साथ खेल रहा था. अब उमेश सर अपनी टी-शर्ट उतार कर लेट गए और उन्होंने मुझे इशारा किया.

’भाभी कामुक आवाजें निकाल रही थीं और मुझसे चुदने को मचली जा रही थीं. तो दोस्तो, कैसा लगा तुम लोगों को मेरा यह पुराना अनुभव!और जैसा मैंने इस घटना के शुरू में लिखा है ऐसा लगभग 80% लोगों के साथ होता है. वो मादक सिसकारियां भरने लगीं- आंह आऊं ऊहम … चूसो … जी भरके चूसो … अब ये तुम्हारे ही हैं.

सागर ने जैसे ही मामी की गांड के छेद पर अपना लन्ड पाया तो उसने एक ज़ोर का झटका दिया. मैंने उसको लिटा कर पैंट खोल कर कुछ देर तो उसका लन्ड चूसकर उसको गरम किया.

रुबीना 5 महीने से ज्यादा की गर्भवती हो गई थी तो उन्होंने पहचान लिया और बहुत बेइज्जती की।ये सब होने के कारण पापा को हार्ट अटैक आया और वो अस्पताल में भर्ती हो गए। कुछ ही दिन में उनकी मौत हो गई।हम सब बहुत दुःखी हुए। घर में काफी लड़ाई हुई।मगर मैं जाता भी तो कहां जाता.

मैंने उसकी चूचियों को पीते हुए उसकी चूत में लंड के धक्के एकदम से तेज कर दिये.

उसके निप्पलों को देखकर लग रहा था कि अगर इनको कस कर दबा दो तो दूध निकल आयेगा. मैंने अब उसे अपने ऊपर से उतार कर दीवार के सहारे टिका दिया और लंड पेल कर उसे रगड़ कर चोदने लगा. वो भी उसके मुँह से सेक्सी आवाज निकलने लगी जिससे मैं और भी जोश में आ गया.

मैंने दीदी की चूत पर लंड लगाया और उसको अंदर करने की कोशिश करने लगा. उसकी हिलती हुई चूचियां मेरे सीने को अपनी रगड़ का पूरा मजा दे रही थीं. टीना- मीत, अब और बर्दाश्त नहीं होता … जल्दी से डाल दो मेरी चुत में अपना हब्शी लंड और शांत कर दो इसे प्लीज़ … ये मुझे बहुत तंग करती है.

प्रिया- आहह हहह हहह सर ऐसे ही कीजिये … मज़ा आ रहा है … आआहह … उह्ह्ह ह्ह हां … और ज़ोर से चोदो न … और ज़ोर से आईईई … सर प्लीज आह … मैं बस तुम्हारी हूं … हां और उह्ह्ह्ह ह्ह ज़ोर से चोद मुझे … उह्ह्ह्ह ह्ह्ह्ह.

मैंने उसकी जांघों के बीच में मुंह दे दिया और उसकी चूत को जोर जोर से चाटने लगा. एक दिन की बात है, जब मैं और मेरी मां छत पर बिछौना बिछा कर लेटे हुए थे और बातें कर रहे थे. एक दिन मैं अपने ऑफिस के लिए निकल रहा था तो भाभी अपनी बालकनी में कपड़े सुखा रही थी.

कुछ ही धक्कों के बाद ऐसे ही चिल्लाते हुए भाभी ने अपनी चुत से पानी छोड़ दिया और उनका शरीर ढीला पड़ गया. रास्ते में उसका फोन आया- बाबू, तुम क्या करोगे? तुम्हारा पर्स तो मेरे पास ही है।मैंने कहा- चलो कोई बात नहीं, तुम बाद में स्कूल जाते समय दे देना मुझे. मैंने देखा कि सामने एक काले रंग की बेबीडॉल में भाभी अपने हुस्न का जलवा बिखेर रही थीं.

मैंने उसको लिटा कर पैंट खोल कर कुछ देर तो उसका लन्ड चूसकर उसको गरम किया.

शायद ज़ोहरा सोफे पर पिछली रात की फ़रिश्ते के साथ हुई घमासान चुदाई के बारे में आंखें बंद करके सोच रही थी. मम्मी मुझे लेकर थोड़ी शर्मायी हुई थीं, वो अपने बेटे के सामने नंगी नहीं होना चाहती थीं, पर पापा की बात माननी पड़ी.

बीएफ फुल हिंदी में मैं पास ही में हुई क्रिसमस पार्टी से आ रहा था कि बीच रास्ते में ही बारिश होने लगी. मैंने उसकी पैंट खोलनी शुरू की तो उसने हाथ पकड़ा लेकिन मैं झटक दिया.

बीएफ फुल हिंदी में मैंने जब बारहवीं पास की, तो मुझे दूसरे शहर में सिविल इंजीनियरिंग में एड्मिशन मिल गया. मैंने उस देसी लड़की की कुंवारी बुर की चुदाई कैसे की?मैं प्रेम शर्मा, मैंने अपनी पिछली कहानीबिछड़ा हुआ मूसल लंड मिलामें बताया था कि मैं बाई-सेक्ससुअल हूँ.

उसकी बड़ी बड़ी चूची, कूल्हे और मांसल जांघें देखकर मेरा तब भी पानी निकल जाता था और आज भी निकल जाता है.

इंग्लिश पिक्चर सेक्सी वीडियो बताइए

हल्का सा धक्का लगाते ही मेरे लंड का सुपारा उसकी चिकनी चूत में घुस गया. मैंने तब तक सुमन भाभी की गांड में लंड पेला, तो सुमन भाभी की कराह निकलना शुरू हो गई. फिर मैंने आंटी की गांड में भी उंगली डाली और जरा सी ही की होगी कि आंटी का पानी छूट गया.

रात भर में फूफा ने अम्मी की एक बार गांड मारी और 4 बार चुत चुदाई की. मुझे लगा ये इतनी आसानी से हाथ नहीं आएगी … तब भी मैं अपने काम में लगा रहा. उसकी योनि ने मेरी उंगली को अपनी दीवारों में ऐसा टाईट बांध लिया था कि उंगली ज्यादा कुछ नही कर पा रही थी.

मैंने उसे समझाया- पहली बार में थोड़ा सा दर्द होता है।जैसे ही वो थोड़ी सी शांत हुई कि मैंने एक और जोरदार धक्का मारा; अब उसकी सील टूट चुकी थी, उसकी चूत से खून आ रहा था, उसकी आँखों से पानी बह रहा था, और वो गालियां बक रही थी.

जब रुका न गया तो मैं एकदम से उठकर बाथरूम की ओर भागा और मैंने उल्टी कर दी. भाभी मुस्कुराने लगीं और बोलने लगीं- मैंने तुम्हें एक सेक्स की गोली पानी के साथ खिलाई थी … और दूसरी सेक्स की गोली मैंने तुम्हारे पैग के गिलास में मिला दी थी. मैं- कैसा डर भाभी!निशा भाभी- एक बार जब आर्मी क्वॉर्टर में रहते थे, तब एक बार ट्राइ किया था … तो एक्सिडेंट हो गया था.

साथ ही मैं अपना एक हाथ नीचे ले गया और अपना हाथ अन्दर डाल कर उसकी चूत पर उंगली करने लगा. गोरे और लबावदार पेट पर मैंने हौले से किस किया, तो दी एकदम से सिहर गई. मैंने उनके पास उस समय आने वाली बहुत सी अश्लील किताबें जैसे संभोग कला, आजाद लोक, अंगड़ाई और स्त्री पुरुष देखी थी.

मैंने शिल्पी से नजर बचाकर नीता को इशारा किया तो उसने मुझे हाथ से रुकने का इशारा किया. ये सुनकर मैंने भी भाभी को बहुत कसकर पकड़ लिया और उनके चेहरे, होंठ, गर्दन को चूमना शुरू कर दिया.

तभी मैंने वॉइस चैट में कॉल किया और पहले तो ऐसे ही कोई ना कोई आता रहा, कभी कोई लड़की कभी कोई लड़की. तो कुछ ही देर बाद मुझे सागर भी वहां दिखा आइसक्रीम खाते हुए।क्या लग रहा था … काली शर्ट और पैन्ट में था।मैंने लाल रंग का गाउन पहना हुआ था जो कि बिना आस्तीन के था और आगे से हल्का डीप गला!मैं तुरंत सागर के पास गई।मुझे देख कर वो हैरान हुआ बोला- तुम यहाँ कैसे?मैंने बोला- मेरे जानने वाले हैं जिन भय्या की शादी है।अब उसने एक आइसक्रीम मुझे भी लाकर दिया. मैं भाभी की मदमस्त जवानी को देख कर उनके जिस्म को अपना बनाने के बारे में सोचने लगा था.

हॉट देसी भाबी कहानी पर अपनी राय देने के लिए आप नीचे कमेंट्स में अपने विचार जरूर लिखें.

उसकी चूचियां ऊपर नीचे हो रही थीं और उसने मेरी जांघों के पास से अपने शरीर के भार को संभाला हुआ था. काजल के मां पिता सभी बड़े ही सीधे और अच्छे लोग हैं, पर ये साली न जाने कैसे ऐसी निकल गई है. दो मिनट तक उसके होंठों को चूसने के बाद मैंने दूसरी लड़की पिंकी की ओर देखा तो वो भी हमारी ओर ही देख रही थी.

फिर उसने सीधे मुझे धक्का देकर बेड पर लिटाया और मेरे लौड़े को पकड़ कर अपना मुख की गर्मी देने लगी. रास्ते में एक मेडिकल शॉप दिखाई दी तो मैंने शॉप के बाहर गाडी़ रोक दी.

मैंने धीरे धीरे उसकी गर्दन को चूमना शुरू किया, जिसकी वजह से वो भी गर्म हो गयी और मेरी तरफ़ चेहरा करके मुझे पागलों की तरह से चूमने लगी. मैं भी तगड़े जिस्म का हूं क्योंकि मैं काफी समय से जिम करता आ रहा हूं. उस वक्त मुझे बड़ा अजीब सा महसूस होता क्योंकि इससे पहले मैंने केवल एक लड़की को पटाया था और उसकी चुदाई की थी.

मारवाड़ी सेक्सी वीडियो ओपन

मैं उसे फिर से किस करने लगा, जिससे अब वो बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गई.

दूसरी गाड़ी के पास जाकर मैंने पूछा, तो अन्दर एक लेडी बैठी हुई थी, उसने बिना मेरी बात सुने अपनी गाड़ी का पिछला दरवाजा खोल दिया और मुझे अन्दर बैठने के लिए कह दिया. थोड़ी ही देर में उसने अपना पानी मेरे मुँह में छोड़ दिया और उसका सारा पानी मैंने गटक लिया. वो कहावत तो आपने सुनी ही होगी- घर की मुर्गी दाल बराबर!अपनी घरवाली कितनी ही सेक्सी हो परन्तु सामने वाली ज्यादा सेक्सी लगती है।पता नहीं इन्सानी फितरत का … एक चूत कई बार मार लो तो धीरे धीरे उसका रस फीका लगने लगता है.

मुझे अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हो रहा था कि मेरे सामने ये सब हो रहा है. उसमें अम्मी बोल रही थीं- शकील क्या कर रहे हो … छोड़ दो, कोई देख लेगा. बीएफ वीडियो गांव कीभाभी उसकी चूचियों को पीती रही और मैं भाभी की चूत में उंगली दिये हुए लेटा रहा.

क्या तुम किसी मैकेनिक को जानते हो?मैंने भाभी से कहा- हां भाभी मैं कल सुबह एक मैकेनिक को बुला दूंगा. कुछ देर बाद हम दोनों घर के लिए निकलने को हुए, तब मैंने उसे जूस की दुकान पर ले जाकर जूस पिलाया और घर आ गए.

मुझे वहां देख कर पहले तो वो चौंकी, फिर मुस्कुरा कर बोली- मेरा पीछा कर रहे हो?मैं- नहीं तो!दीपा- झूठ मत बोलो. यह अफवाह मैंने आसपड़ोस से सुनी थी लेकिन जब उसने अम्मी को बताया तो मुझे यकीन हो गया. तुमको अपने पति से ही गर्भ रुका होगा।फिर मैंने उसे कहा- तुम्हारे मेरे बीच जो भी हुआ, किसी को मत बताना, आज के बाद यह बात हमारे बीच ही रहेगी।इधर मेरी बीवी के पाँव भी भारी हो गए थे.

ये तो अच्छा है कि वे ये सब घर में ही करती हैं … यदि बाहर किसी के साथ ये सब करतीं, तो शायद बदनामी भी हो सकती थी. अब मैं भी अपने आप को संभाल नहीं पाया और उसे अपनी बांहों में भर लिया. बाद में मुझे याद आया कि मैंने शायद भाभी के होंठों को भी चूमने की कोशिश की थी.

मैं समझ गया और एकदम से बात को घुमाकर बोला- अरे पगली … मैं तो तुम्हारे साथ मज़ाक कर रहा था.

खुशबू- चोद मेरे भाई … कस के चोद दे, फाड़ दे अपनी बहन की चुत को … आज तेरा मन जो करे, तू वो कर. हालांकि उसने बस मजाक में ही मेरी सिगरेट छीन ली थी और मैंने इसी बात पर इसकी पिटाई कर दी.

ये सब खत्म करने के बाद हम दोनों चिपक कर बात कर ही रहे थे कि तभी दरवाजे पर दस्तक हुई. फिर उसके बाद उस आदमी ने मुझे कागज पर एक गोली का नाम लिख कर दे दिया. दोनों बुआओं की चुदाई कैसे की मैंने … पढ़ें इस गर्म फैमिली सेक्स स्टोरी में!दोस्तो, मेरा नाम मयूर है.

उसकी चुत की दरार अभी भी खुली पड़ी थी और उसकी चूत के अंदर की लाली दिखाई दे रही थी. उस आदमी के मुंह से एकदम से सिसकारियां निकलने लगीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आ … करके वो अपने लंड को चुसवाने का मजा लेने लगा. अगली बार जब मोनिका भाभी ने मुझे बुलाया तो मैंने भाभी की गांड चुदाई भी कर डाली.

बीएफ फुल हिंदी में उसका एक पैर सीधा था और दूसरा पैर मुड़ा हुआ जिसे मैं टटोल रहा था।मेरा हाथ मेघा की निक्कर को ऊपर करते हुए उसकी चूत तक पहुंच गया था।मैंने तुरन्त उसकी टीशर्ट उतारी और उसकी ब्रा में कैद उसके छोटे छोटे संतरे मुझे दिखने लगे. फिर भाभी ने मुझसे मेरे बारे में पूछा, तो मैंने अपना नाम पंकज बता दिया.

ಮಲಯಾಳಿ ಸೆಕ್ಸ್ ಮಲಯಾಳಿ ಸೆಕ್ಸ್

गलती मेरी ही थी इसलिए स्वीकार भी मैंने बिना किसी तर्क-वितर्क के कर लिया. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:टीचर की चुदाई देखकर मुझे कुंवारी चूत मिली-2. मैं उस रसीले बोबे को चूसने लगा और भाभी मेरे बालों में अपनी ऊंगलियां फिराने लगीं.

ननदोई जी ने अपना लंड दीदी की चूत से बाहर निकाल लिया और अपना वीर्य एक कपड़े पर छोड़ दिया. मामी सागर के बाल पकड़ कर उसका सिर पूरा अपनी चूत में घुसा रही थी।कुछ देर लाजवाब चूत चटाई के बाद मामी ने अपना सारा पानी सागर में मुंह पर छोड़ दिया. सेक्सी हिंदी सेक्सी हिंदी बीएफये सफ़ेद पानी इस वक्त मुझे साफ़ दिख रहा था और ये ऐसा लग रहा था जैसे खीरे के मुँह को काट कर उसको रगड़ते हैं.

धीरे धीरे धक्कों का वेग बढ़ता गया और वो जोर जोर से मेरी चूत को चोदने लगा.

वैसे तो मैं पढ़ने लिखने में ठीक था, बस मेरी इंग्लिश थोड़ी कमजोर थी. उल्फ़त बाइक चलाते चलाते पीछे की तरफ खिसकने लगी और मेरे लंड से उसकी गांड जैसे ही लगी, मेरा लंड खड़ा हो गया.

ऊपर वाली बर्थ पर एक आर्मी का जवान था, जिसकी उम्र लगभग 38-40 साल की होगी और ऊपर की दूसरे तरफ की बर्थ खाली थी. मैंने देखा कि वो आदमी इस समय भी दीदी के मम्मों को घूर रहा था और दीदी हंस रही थीं. लेकिन उस निर्मोही को मेरे ऊपर जरा सा भी तरस नहीं आया बल्कि अपना पूरा लंड मेरी चूत से नहीं निकाला और शनाया से मेरे मुँह पर पानी मरवाक़े मुझे होश में लाया कुछ देर रुकने के बाद धीरे धीरे अपने लंड को आगे पीछे करके हिलाने लगा.

तो उसने भी धीरे से कहा- आपने रवि अंकल के साथ जो किया तो उन्हें तो नींद आ गई पर मुझे नींद नहीं आ रही.

इस स्थिति में किस होना तो लाज़मी था मगर उससे ज़रूरी था कि हमारे जिस्म ऐसे चिपके हुए थे कि सीने बिल्कुल मिले हुए थे. आखिर में मैंने लंड का पानी उनके चुचों पर डाला और थोड़ी देर हम एक दूसरे को चूमने लगे. सपाट गोरा पेट और उस पर गहरी नाभि थी, जिसको छूने को मेरे होंठ तरस रहे थे.

बीएफ में डिजाइनराजीव एक हाथ से उसके दूध दबा रहा था और दूसरा दूध मुँह से चूस रहा था. हर निवाले के साथ चाची पूरी नीचे झुक जाती थी और अपनी चूचियों की क्लीवेज मुझे अच्छे से अंदर तक दिखा रही थी.

सैक्सी कहानियों

मैं लंडे उसकी चूत में डालने ही वाला था कि मुझे ख्याल आया कि अगर मेरा इसकी चूत में डिस्चार्ज हो गया और इसे गर्भ रह गया तो बेचारी परेशान हो जायेगी. और इसके अलावा बहुत बार वे मुझे अपने साथ बाथरूम में भी ले जाते थे जहां मैं उनके नंगे गीले बदन पर साबुन लगाया करता था और विशेष रूप से उनके लंड पर और जब उनका वीर्य स्खलित होता था उसके बाद ही मुझे उनसे मुक्ति मिलती थी. वो वैसे ही बैठा रहा और मैं उछल उछल कर उसका लण्ड अन्दर बाहर करने लगी.

मेरा चेहरा उसके चेहरे की तरफ था और धीरे धीरे हम दोनों के चेहरे एक दूसरे के बिल्कुल सामने आ गए थे. मैं- घर पर क्या बताओगी भाभी कि कपड़े गंदे कैसे हुए!निशा भाभी- बोल दूंगी कि गिर गई थी. मैंने एक दूध को मुँह में भरा और बहुत ही जोर से निप्पल खींचते हुए चूसा.

ठीक है … मैं तेरी गर्लफ्रेंड बनने के लिए तैयार हूँ … पर ये बात तू किसी को नहीं बताएगा. जब भी चुदाई के समय चुत चुदवा रही लड़की खुद ब खुद अपनी टांगें हवा में उठा देती है, तो ये इस बात का पक्का सुबूत होता है कि लौंडिया को चुत में लंड लेने में हद से ज्यादा मजा आ रहा है. लंड अंदर जाते ही भाभी की चीख निकल गई और वह लेट गई जिससे मेरा लंड बाहर निकल गया.

जिस दिन मेरी ये इच्छा पूरी हो जायेगी उस दिन मैं उन दोनों बहनों की चुदाई की कहानी जरूर लिखूंगा. उनका कोई नहीं था तो मेरे मम्मी पापा ने उन्हें हमारे घर में ही रख लिया था.

मैं उन दोनों को देख कर बहुत खुश था कि आज इन दोनों की चुदाई देखूंगा.

अंकल आंटी शाम को लौट आए मगर दोनों भाई भाभी एक हफ्ते के लिए बाहर गए हुए थे. सेक्सी बीएफ बीपी चुदाईउसने नीचे वाला होंठ दांतों में दबा कर दूर से ही किस दिया और जल्दबाजी में बच्ची को मेरी गोद में देकर बोली- ज्यादा परेशान ना होना … मैं जल्दी से अपने घर का काम निपटा देती हूँ. ब्लू पिक्चर सेक्सी में बीएफउसने मस्त काली ब्रा पैंटी का सेट पहना और स्कर्ट और टॉप।अभय घर के बगल में रहता है. फिर मैंने निधि को ज़मीन पर पीठ के बल लिटा दिया और उसके हाथ उसके सर के ऊपर कर के चेयर से बांध दिए.

कुछ मिनट बाद मैंने उसके बाल पकड़ कर उसे खड़ा कर दिया और उसको कुतिया बनाकर बाथरूम में ही चोदने लगा.

जब मुझे लगा कि वो मेरे जिस्म की गर्मी को पाकर मेरे हवाले होने को तैयार हो रही है तो मैंने उसे धीरे से अपनी ओर घुमाया और उसके माथे पर एक प्यारी सी चुम्मी दी. उसने मेरे एक चूचे को जोर से पकड़ कर दबाते हुए कहा- मेरी रानी, लंड का पानी तो मैं अंदर ही निकालूंगा. मम्मी प्रशांत के लंड को ऐसे चूस रही थीं, जैसे वो जन्म जन्म की प्यासी हों.

मैंने अपनी जीभ को उसकी चुत के छेद में डाल दिया और एक हाथ से उसकी चुत के दाने को सहलाने लगा. मैंने कमरे में आकर अपने कपड़े उतारे और एक फ्रेंची में खड़ा होकर आवाज लगाने लगा- खुशबू तू जल्दी निकल फिर मुझे भी नहाना है. अब तो ऐसा लगता है कि मैं चाहे ज़िन्दगी भर यहां नाराज़ बैठी रहूँ, तब भी वो मुझे मनाने नहीं आएंगे.

इंडियन सेक्सी बीपी पाठवा

मेरी बेटी आगे बोली- अच्छा आप ही बताओ मम्मी, पापा भी आपके साथ ऐसे ही थे क्या? मुझे मालूम है आप भी तड़पती रहती थीं और अब उनके जाने के बाद आप अपने अन्दर ही आग को कैसे शांत कर पाती होगी, मुझे समझ नहीं आता है. जैसे कि ‘पर्दा नहीं जब कोई खुदा से, बंदों से पर्दा करना क्या … जब प्यार किया तो डरना क्या. उसके बाद वो उठकर जाने लगी तो मैंने उसे पकड़ लिया और उसकी चूचियों को पकड़ कर पीने लगा.

नहीं तो एक बार में ही पूरा लण्ड डाल दूँगा, आज तुमको लण्ड का मज़ा दिलवाना है.

उस साल गणित और अंग्रेज़ी में मेरी सप्लिमेंट्री आ गयी, मैं फ़ेल होते बचा.

मेरी बहन ने चुत फैलाते हुए कहा- भाईजान अब अपना लंड मेरी चुत में पेल दो … अब मुझसे सहन नहीं होता. मेरा भाई इलेक्ट्रिकल इंजीनियर है और वह शादी के 2 महीने बाद अपनी जॉब पर चला गया था. पंजाबी पिक्चर बीएफ सेक्सीफिर मैंने पिता के बारे पूछा, तो पता लगा कि वो ही मौसी को लेकर गए हैं.

अचानक गाड़ी रुकने की आवाज से मेरी नींद खुली, तो मैंने देखा गाड़ी किसी बंगले के बाहर खड़ी हुई थी. मैं मीनाक्षी को अपनी बांहों में पकड़ लिया।मुझे पता नहीं था कि मेरी मम्मी कहाँ होगी. कुछ पल मैंने उसकी चूत को उंगली से रगड़ा और फिर उसने खुद ही टांगें हल्की सी फैला दीं.

एक दिन मैंने भाभी को चूत में उंगली करते देख लिया तो मैंने क्या किया?दोस्तो, मेरा नाम रहमान खान है और मैं उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले का रहने वाला हूं. पिछले भागप्यासी भाभी की चूत चाटकर लंड घुसायामें अब तक आपने पढ़ा था कि प्रियंका भाभी ने मुझे सेक्स की गोली खिला रखी थी तो उनकी चुत में मेरा लंड खलबली मचाए हुए था.

इससे उनकी सिसकारियां और ज़्यादा हो गईं- आह उओह ऊहम आऊं चीर दो … फाड़ दो … मैं कब से प्यासी हूँ … आज तुम मेरीचूत की प्यासबुझा दो.

मेरा माल कॉन्डम में इक्ट्ठा हो गया था और जया उसको ध्यान से देख रही थी. पर जहां तक मुझे पता था, आज तो कॉलेज में कोई प्रोग्राम और एग्जाम भी नहीं था. आज मेरी दोनों बुआ अपनी चुत की झांटें साफ़ करवाने के लिए मेरे सामने नंगी थीं और मैं उन दोनों की चुत चुदाई की सोच रहा था.

बांग्लादेश का सेक्सी बीएफ दिन में जब मैं उन दोनों के साथ हुआ करता था तो वे अपनी पत्नी के साथ मेरे ही सामने बहुत खुलकर (मेरी इस लाइन पर ध्यान देना) बहुत खुलकर रोमांस किया करते थे. फर्श पर पोचा लगाते समय भाभी ने अपने एक हाथ से बेड का सहारा लिया तो उसका हाथ मेरे हाथ से टच हो गया.

अब वो बहुत सेक्सी आवाजें निकाल रही थी- अह भाई ऐसे ही मस्त मजा आ रहा है और जोर से चोदो … आह!मैं धकापेल चुदाई करता रहा. जान निकाल दी मेरी!फिर मैंने उसकी चूचियों को छोड़ उसकी चूत पर हमला किया और नीचे बैठकर उसकी चूत को चाटने लगा. शाम को पांच बजे के करीब मैं उठी, तो मैंने देखा कि अनामिका सत्यम का लंड चूस रही थी.

सेक्सी वीडियो डॉक्टर की सेक्सी वीडियो

उसने आगे पूछा- तुम्हें ये गोली क्यों चाहिए?मैंने लड़खडा़ते हुई जबान से कहा- वो. धीरे धीरे उनकी चूचियों को मेरे हाथ मसलते रहे और देखते ही देखते मामी की सिसकारियां निकलने लगीं. मैं भी चाचा का साथ देते हुए बोला- आह्ह चाचा … फाड़ दो … आह्ह … मैं आपका लंड बहुत दिनों से लेना चाहता था.

लेकिन इस चुदाई में अलग ही मज़ा था।अब सागर मेरी, मम्मी और मामी की नियमित तरीके से ठुकाई करता है. पिता जी रोज की तरह दारू ले कर आए और मां से चखना और पानी देने के लिए कहने लगे.

कुछ देर मेरी चूत चुदाई करने के बाद इंस्पेक्टर साहब ने मुझे उल्टा लिटा दिया और मेरी गांड में थोड़ा तेल लगा कर एक ही झटके में अपना लंड मेरे अन्दर तक डाल दिया.

लगभग 15 मिनट में उस फौजी ने दीदी की चुचियों को पूरा निचोड़ कर पिया. अपनी बीवी के मुंह से यह सुनकर मेरा दिल ज़ोर ज़ोर से धड़कने लगा- तो फिर मैंने …?शनाज़ ने मेरे लंड के लाल सुपारे को चूम कर कहा- आप चूत के नशे में सपने देख रहे होंगे. जैसे ही मैंने उसकी गांड में अपने लंड का सुपारा डाला, वह चिल्लाने लगी और निकालने के लिए कहने लगी.

ये सेक्स कहानी मेरी पहली देसी कहानी है और मेरे साथ रियल में हुई एक सच्ची घटना है. उनकी उम्र 45 साल है, पर इस उम्र में भी वो इतनी कामुक लगती हैं कि मेरा क्या, जो उन्हें देखे, उसका लंड भी खड़ा हो जाए. उनके मुँह से ज़ोर से एक चीख निकल गई- उम्म्ह… अहह… हय… याह…मैंने अपने होंठ उनके होंठों पर लगा दिए, तो वो चुप हो गईं.

जैसे ही मेरी नजर आंटी की चूचियों के क्लीवेज पर पड़ी तो नजर जैसे वहीं पर ठहर सी गयी.

बीएफ फुल हिंदी में: वो लड़का एक मँझा हुआ खिलाड़ी था जो मुझे जन्नत के दर्शन कराता हुआ मुझे तड़पा रहा था।वो जब अपनी जीभ को नुकीला करके मेरी चूत के दाने पर घिसता तो मेरी सिसकारी निकल जाती। इसी तरह से वो मुझे बहुत देर तक तक तड़पाता रहा. उसकी कमर माशाल्लाह … क्या तारीफ करूँ … देखते ही हाथ घुमाने का मन हो जाता है और गांड के बारे में तो सोच कर लंड फनफनाने लगता है.

फिर ज़ाफिरा लंड सहलाते हुए बोली- ठीक है भाई, मैं किसी को नहीं बताऊंगी. पिछले भागप्यासी भाभी की चूत चाटकर लंड घुसायामें अब तक आपने पढ़ा था कि प्रियंका भाभी ने मुझे सेक्स की गोली खिला रखी थी तो उनकी चुत में मेरा लंड खलबली मचाए हुए था. [emailprotected]मेरी न्यू अन्तर्वासना स्टोरी का अगला भाग:मेरे चोदू यार का लंड घर में सभी के लिए- 2.

लेकिन ना तो मुझे उसका नाम मालूम था और नहीं मैंने उसको कभी देखा हुआ था.

वो सागर के झटके झेलने लगी और उनकी मुंह से कामुक कराहने की आवाज़ उफ़ हह ओह्हआह आह आह हह आ रही थी. वो गांड उठाते हुए बोली- चाचू, आज मेरी सील तोड़ कर मुझे अपनी रानी बना लो!मैंने फटाक से बिना देरी किये अपने लंड को धक्का मारा. तो माँ ने हंस कर कहा- ठीक है।माँ के मुंह से लण्ड चुसवाते मैं झड़ने वाला था और पापा भी।पूर्वी पलंग से नीचे घुटनों के बल बैठ गयी तो मैंने कहा- माँ आप भी आ जाइये न!तो माँ भी वहीं पूर्वी के बाजू में घुटनों के बल बैठ गयी.