बीएफ सेक्स बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,सेक्सी आदिवासी आदिवासी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

साड़ी ऑनलाइन साड़ी: बीएफ सेक्स बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी, मेरी कार्तिक से ज्यादा गहरी दोस्ती हो चुकी थी … मैं उसके बिना नहीं रह सकती थी.

सेक्सी आदिवासी की

कुछ पल बाद मैंने अपने ब्वॉयफ्रेंड से कहा कि मुझे अभी ऑफिस के एक क्लाइंट से मिलने जाना है. क्सक्स सेक्सी हिंदी वीडियोमैंने अपनी बीवी की स्वीकारोक्ति सुनी तो काफ़ी दिनों तक टेंशन में रहा.

कोमल का हाथ मेरे सर के बालों में घूम रहे थे और अपने होंठों से उसको जहां भी जगह मिली, मुझे चूम रही थी. सेक्सी पिक्चर अमेरिका वालीलेकिन मैं अभी उनसे साफ साफ सुनना या उनकी तरफ से ही शुरूआत चाहता था.

आज उसे मेरा लंड पक्के में मिलने वाला था, जिस वजह से उसकी वासना साफ़ नुमायां हो रही थी.बीएफ सेक्स बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी: पीयूष बोला- अरे नहीं वो चूहा नहीं है, तुम्हारा वहम है, ऐसा कुछ भी नहीं है.

हालांकि अभी भी उसकी चूचियां पानी के अन्दर थीं, लेकिन पानी साफ था तो मुझे सब कुछ साफ ही दिखा.उसकी चुदाई किसने की और कैसे की; यही मैं आपको इस कहानी के माध्यम से बताऊंगा.

सेक्सी वीडियो बुर चोदने वाला दिखाइए - बीएफ सेक्स बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी

मेरे धक्कों की रफ्तार धीरे धीरे बढ़ने लगी और उसके पूरे बदन पर मेरे हाथ और होंठ घूमने लगे.वो तो आपने इस बार उससे मिलवा दिया वर्ना मैं उसे कभी याद भी नहीं करती.

आपको इंडियन आंटी पोर्न कहानी पर क्या कहना है, प्लीज़ मेल से जरूर बताएं. बीएफ सेक्स बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था।मैंने भी उसी की तरह उसकी जांघों पर किस किया.

मैंने नीचे से गांड उठा कर उसकी चुत में आहिस्ता आहिस्ता पूरा लंड पेल दिया.

बीएफ सेक्स बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी?

जेठजी ने मेरी चूत को अपनी जीभ से चोदते हुए अपने दोनों हाथों को ऊपर कर दिए और मेरे दोनों स्तनों को पकड़ लिया. लकी ने अपने लंड पर ढे़र सारी वैसलीन लगा कर अहिस्ता से सारा की गांड में सरकाया. अब सेक्स कैसे शुरू हुआ?दोस्तो,आपने मेरी पिछली कहानीमॉल में मिली लड़की की चूत और गांड चुदाईपढ़ी और पसंद की.

मैं अपने फ्लैट पर पहुंच गया और बिस्तर पर लेटकर नैना के ख्यालों मे खो गया. न जाने मैंने कितनी बार उनकी नाम की मुठ मारी है, इतनी सेक्सी हैं वो!उनका पति ड्राइवर है और भारी पियक्कड़ भी है. उन्होंने मेरे एक दूध को अपने मुँह में भर लिया और मेरे निप्पल को अपने मुँह में लेकर खींचते हुए चूसने लगे.

तब भी वो सलवार सूट में ही थी, पर ये स्कूल यूनिफॉर्म से बहुत अलग था. हमारी बात कैसे हुई और चूत चुदाई तक कैसे पहुंची?दोस्तो, मेरा नाम जय कुमार पटेल है. दूसरी बोली- और मैं नाजिया हूँ, अब नाम की जानकारी हो गई हो तो चालू हो जाओ.

मैंने करीब 4 घंटे अच्छे से नींद ली और जब उठा, तो उस समय रात के एक बज रहे थे. पता नहीं मुझे क्या नशा हुआ कि मैंने अपने बदन को ढीला छोड़ दिया और अंकल की हरकतों का मजा लेने लगी.

भाभी की चूचियां हवा में एक बार उछल पड़ीं और उसको गांड में लंड का मजा आने लगा.

पर रोहन को ये नहीं पता था कि उसकी मॉम लंड देखते ही उसे चूसने तक पहुंच जाएगी.

उनके दोनों दूध को बारी बारी से मुँह में रख कर मैं कुछ देर तक चूसता रहा. वो भी मेरी दीदी की ही तरह छोटी हाइट वाली थी और उसका वजन भी ज्यादा नहीं था. मेरी गांड का छेद अपने आप खुल और बंद हो रहा था और चूत से रस की मानो नदी बह रही थी.

बातें करते करते मैंने एक दिन खुशी को प्रपोज़ कर दिया लेकिन उसने उस समय मना कर दिया. आंटी बोलीं- चलो आज मैं तुम्हें सिखाती हूँ कि कैसे रोमांटिक डांस किया जाता है. उसने एक बार उसकी टी-शर्ट ऊपर करके उसके निप्पल्स को चूम लिया और अपने दांतों से चुभला दिया.

मैं- तो फिर तूने अपने कॉलेज में क्यों किया?वो बोली- अब तुम इस बात को भूल जाओ.

आखिर में आकृति आंटी मेरे गले लग कर मुझे प्यार करते हुए बोलीं- आज बहुत मज़ा आया. मैंने समझ लिया कि आंटी की चूत की बिना झांटों वाली थी, जिसे वो अभी ही साफ़ करके आई हैं और इसको ही उन्होंने मुझे सरप्राइज कहा था. इसके बाद आंटी ने मेरी पैंट उतार फेंकी और फिर से एक बार में ही मेरा पूरा लंड गोली समेत अपने मुँह में ऐसे भर लिया मानो वो मेरे लंड में एकदम घुस सी गयी हों.

मेरी पतली सी चिकनी कमर और लचकती और थिरकती मोटी सी गांड ऐसा कहर बरपाती है कि किसी मुर्दे के लंड में भी पानी ला दे. ये अनीषा मैडम ऐसा क्या काम करती हैं?वो आदमी बोला- यार तुम इस बिल्डिंग के सिक्योरिटी गार्ड हो, तुम्हें पता नहीं है कि क्या काम होता है?मैं बोला- अरे यार मुझे नहीं पता है, अगर पता होता तो मैं तुमसे क्यों पूछता. फिर दूसरी वाली भाभी भी मेरे साइड में आकर लेट गईवो मुझसे कहने लगी- आज से पहले कभी दो को एक साथ किया है?मैंने कहा- हां कई बार किया है.

अब आगे मादरचोद लड़के की कहानी:शेखर अपनी पत्नी के मुँह से अपने बेटे के बारे में ये सब सुन कर चौंक गया.

मैंने देखा कि जेठजी ने भी अपने लंड के ऊपर बालों को शेव किया हुआ था. फिर आकृति आंटी ने उसकी वजह भी मुझे बताई कि उन्होंने रिट्ज को क्यों नहीं जाने दिया.

बीएफ सेक्स बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी फिर वो उठी और मुझे अपनी बांहों में कसके हग करने लगी और मेरे होंठों को चूमने लगी. वो मस्ती में मेरे बूब्स के निप्पलों को चूस रहा था और निप्पल पर अपने दांत भी गड़ा रहा था.

बीएफ सेक्स बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी जैसे ही मेरा हाथ उसके लंड पर गया, तो मुझे कोई बहुत बड़ा सामान मालूम पड़ा. ’ निकल गई और न जाने किस जादू से मैंने भी अपना हाथ उसकी पैंट पर रख दिया.

अगली सुबह रोहन बिना किसी को बताए एक्सरसाइज करने के लिए बाहर निकल गया था.

करीना का नंबर

उसकी पीठ पर कसी ब्रा की फोटो को देख कर मैंने लंड हिलाना शुरू कर दिया. अब उसने जैसे ही मेरी गांड के छेद की किस ली, मेरा पूरा शरीर कांप उठा था. कुछ ही पलों के बाद शेखर धीरे से नीचे सरक गया और उसकी साड़ी और पेटीकोट को ऊपर उठा कर अपना मुँह उसकी चूत के पास लगा दिया.

ऐसा बोल कर मैंने भाभी के कपड़ों को निकालने लगा और जल्दी ही उन्हें पूरी नंगी कर दिया. उसकी दाढ़ी मूंछ भी आ गए थी और हाइट भी पहले के मुकाबले ज्यादा हो गई थी. पर मैं हर किसी को नहीं दिखा सकती।अब आगे देसी सुहागरात Xxx कहानी:मैंने खुश होकर उसके क्लीवेज को ही चूम लिया और उसके ब्लाउज़ के हुक खोलने लगा।उसने बिल्कुल भी मना नहीं किया.

मैं बोला- तुम इतनी सेक्सी और चुदने वाली हो … इसलिए मैं तुम्हें पाकर बहुत खुश हूँ.

उत्तेजना के वशीभूत जेठजी अपनी शर्ट के बटन खोलने लगे; तो मैंने तुरंत उनके पास जाकर उनके हाथों को हटा दिया और अपने हाथों से जेठजी के शर्ट के बटन खोल दिए. सत्यम जब मम्मी के साथ होता, तो वो उनका पति लगता … और मुझे तो सब सत्यम की पत्नी ही मान रहे थे. मुझे लगा कि ये शायद इनसे गलती से हो गया होगा … या इन्हें मालूम ही नहीं होगा कि इधर से मेन स्विच खोलना होता है.

मैं उम्मीद करती हूँ कि यह वर्जिन बहन की सेक्स कहानी आपको पसंद आएगी. उसकी सुराही जैसी गर्दन को मैं अपने होंठों से चूसता रहा और गीला करता रहा; साथ ही साथ मैं अपने एक हाथ से उसकी पीठ को भी सहलाता जा रहा था. मुझे बस में लास्ट से तीसरे नंबर की सीट मिली जो कि बस के पिछले टायर के ऊपर की थी.

फिर रोज़ तुम मेरे घर आते हो, मेरे जाने के बाद मेरी मम्मी के क्या क्या करते हो, मुझे सब समझ आता है. उस रात को सारा कमल से इस तरह चुदी कि वो कमल से नहीं कि बल्कि लकी से चुदवा रही हो।इधर कमल ने भी सारा को अपनी बीवी नहीं बल्कि उसके ऑफिस की लड़की रीना समझ कर चुदाई की।दोनों ही अपनी अपनी फंतासी को पूरी करने के लिए कल्पना में अपने मनचाहे पार्टनर संग सेक्स का मजा ले रहे थे.

दीदी बहुत बार झड़ चुकी थीं, जिसकी वजह से दीदी की गांड में भी उनका पानी चला गया था. यूं ही हमारा मिलने का सिलसिला चलता रहा और हम एक दूसरे के करीब आने लगे. उसके बाद उसने नंगी ही टेबल पर पिज़्ज़ा लगाया और मेरी गोद में आकर बैठ गयी.

पहले मैंने उसे कार में बिठा कर ही आधा घंटा घुमाया, कुछ खिलाया पिलाया और फिर कार को थोड़े सुनसान सड़क पर ले जाकर रोक लिया.

हम दोनों घर से दूर थे, मैंने सोचा बरसात में घर पहुंचना मुश्किल रहेगा और रात भी हो गई है. अब तक मैं और अंकल दोनों अच्छे खासे भीग गए थे जिस वजह से मुझे बहुत तेज़ ठंड लगने लगी थी. दो पल बाद कुसुम झड़ने लगी और उसके मुँह से ‘ओह रोहन आह रोहन …’ निकल गया.

उसके बाद मैंने तेल को अपने लंड के ऊपर अच्छे से लगाया और तेल की बोतल का आगे का सिरा सुरीली की गांड में डाल दिया. मैं उनकी गोद में लेट गया तो भाभी बात करते हुए मेरे सिर में हाथ फेरती रहीं.

उस दौरान मुझे पता ही नहीं चला कि उसकी फ्रेंड प्रिया अपने मोबाइल में ये सीन रिकार्ड करने लगी थी. दोस्तो, हाथ में दारू का गिलास, सामने ब्लू फ़िल्म और बाजू में चुदक्कड़ लड़की हो … तो पार्टी में और क्या चाहिए. माधवी भाभी बोलीं- ये आप क्या बोल रहे हैं?मैंने बोला- शॉर्ट में कहूं तो बिन फेरे हम तेरे … हम आपके दोस्त बनना चाहते हैं.

जेठ का दशहरा कब है 2022

उसी दौरान मुझे चाची के और प्रियंका भाभी के दो-तीन बार मैसेज और कॉल आए कि चलो ना फिर से चुदाई करते हैं.

फिर खूब बढ़िया से उसकी सील पैक चूत को चाट चाट कर उसका पानी निकाल दिया. दोनों हाथों से मैं आंटी के मम्मों को मसलने लगा और उनकी ब्रा निकाल कर दूर फेंक दी. फिर वो लंड निकाल कर सीधा लेट गया और मुझसे बोला- चल अब तू लंड पर बैठ जा और ऊपर नीचे कूद.

मेरी बेहन ने दो मिनट तक लंड चूसा, फिर वो उससे बोली- कोई आ जाएगा, अब तुम निकल जाओ. करीब बीस धक्कों के बाद मैंने आंटी की ही चूत में सारा पानी निकाल दिया. देसी सेक्सी पिक्चर देखना हैइस पहले सेक्स में रक्तरंजित हो जाने वाली लंड चुत की सच्ची कुंवारी दुल्हन सेक्सी कहानी को लेकर मुझे आपके मेल का इंतजार रहेगा.

कुछ 10-11 किलोमीटर बाद खेत के रास्ते से होती हुई वो मुझे किसी फार्म हॉउस पर ले गयी. करीब 20 मिनट तक मॉम की चुत में लंड के शॉट मारते हुए मैंने कहा- मेरा होने वाला है … कहां निकालूं!वो बोलीं- मादरचोद, अन्दर ही डाल दे.

अभी मैं दिसम्बर 2019 में मौसी के यहां पर गया था। उस वक्त मेरे एग्जाम खत्म हुए थे और मुझे एक प्रोजेक्ट के लिए एक फैक्ट्री में जाना था. फिर दो दिन बाद में दिल्ली आ गया आते समय रास्ते भर पुलिस वाली रजनी को याद किया और दो बार मुट्ठी मारी. मैंने पूछा कि आपके केबिन में लाइट कब से नहीं जल रही है?इस बार दूसरी वाली लेडी बोली- अभी थोड़ी देर पहले तो जल रही थी.

उन्होंने अन्दर ब्लैक पैंटी पहन रखी थी भाभी के गोरे जिस्म पर काली पैंटी देख कर मैं और पागल हो गया और चुत को ऊपर से ही मसलने लगा. मैंने कार से उतर कर उधर एक रूम बुक किया और उसे कमरे में लेकर आ गया. रानी ने गिरने के डर से अपनी दोनों बांहें मेरे गले में डाल दी थीं और जोर से पकड़ लिया था … ताकि वो गिरे नहीं.

लेकिन इस कोरोना काल में किसी लड़की या औरत का जुगाड़ नहीं हो रहा था, तब मैंने तेरे बारे में सोचा.

अंकल बोले- अब तुम कोई छोटी सी बच्ची तो हो नहीं, जो मैं ज़मीन में बैठ जाऊं और तुमको अपनी गोद में बिठा लूं. ऐसा उसे इसलिए लगा क्योंकि इतने सालों में कुसुम ने पहली बार शेखर को सामने से अपनी चूत चोदने के लिए बोला था.

उसने झट से मेरी कलाई पकड़ ली और रोकने की कोशिश की। मगर उसके हाथ को थामे हुए ही मैं उसकी योनि के ऊपर उँगलियाँ चलाता रहा।चूत के ऊपर हल्का सा दबाने पर उसने ‘आ … ह’ की आवाज निकालते हुए अपनी टांगें कसकर बंद करके आपस में जोड़ लीं।फिर मैं अपना एक हाथ उसकी टांगों के बीच ले गया और पैंटी के ऊपर से ही चूत को रगड़ लगाने लगा. उस दिन मुझे उसकी पैंट गीली सी लगी, तो मैं समझ गई कि इसका लंड भी पानी पानी हो गया है. दोस्तो, ये मेरी बीवी और साली की चुदाई की कहानी आप मुझे मेल करके बताएं की आपको मेरी जीजा साली की चुदाई कैसी लगी.

मैं मन मन मुस्कुरा रही थी और सोच रही थी कि अब तो मैं जेठजी को अपने हुस्न के जादू में फंसा कर ही रहूंगी. मैंने उसको लिटा दिया और उसके दोनों हाथ अपने हाथ से कस कर पकड़ लिये. मैं अपनी बीवी को दिन रात चोदता रहूँ और बीवी भी मुझसे पूरी मस्ती से चुदवाती रहे.

बीएफ सेक्स बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी दोस्तो, ये मेरी बीवी और साली की चुदाई की कहानी आप मुझे मेल करके बताएं की आपको मेरी जीजा साली की चुदाई कैसी लगी. फिर जब भी हमें मौका मिलता हम दोनों एक हो जाते।मैंने आंटी की गान्ड भी मारी.

कुत्ता और लड़की वाला सेक्सी

ये सुन कर मुझे समझ नहीं आ रहा था कि अब मैं कहूँ मुझे कुछ नहीं सूझा तो बस मैं रोने लगा. बेहन चोद भाई की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी बहन को उसके यार से चुदती देखा. आज पहली बार मैंने शॉर्ट कपड़े पहने थे, तो एकदम से ऐसा लग रहा था, जैसे मैं नंगी हूँ.

इकबाल खुश होकर बोला- वाह रे अंजलि, तू आज इतने दिन बाद यहां कैसे आयी?मैंने उसे अपनी आपबीती सुनाई. फिर मिथुन ने मेरी बेहन के चूचों पर हाथ लगाया और उन्हें दबाने लगा, इससे मेरा दिमाग हिल गया. सेक्सी स्कर्टऔर मैं भी उसको चूमने लगी।वो बोला- अब दर्द नहीं हो रहा है ना?मैं बोली- जलन हो रही है।वो लंड को डाले हुए ही मेरे ऊपर लेट गया.

पिताजी के गुजर जाने के बाद घर में गुजारा मुश्किल था, जब एक शादी में गयी थी, तो मुझे 3 लड़कों ने पकड़ कर मेरे साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की थी.

मैंने गेट बंद करते हुए कहा- तेरी दीदी अभी मुझसे चुदवा कर नींद की गोली खा कर सो गई है. हमें चूंकि चरम सुख का मजा लेना था, तो वो भी अब कुछ नहीं बोल रही थी.

एक मिनट बाद सोनू की हथेली में मेरा लंड फिर से आगे पीछे होने लगा था. वो मेरी फुद्दी में लंड पेल कर कभी मेरी गांड पर थप्पड़ मारता और उनको दबाता. हालांकि वो दर्द से कराह रही थी लेकिन फिर भी मैं अपने ठरकीपन की वजह से उसके बोबों को घूर रहा था.

शहर इधर से लगभग 20 किलोमीटर दूर था, तो हम दोनों बातें करते हुए चलने लगे और रास्ते में ब्रेक लगाने से समीक्षा के चूचे मेरी पीठ से रगड़ रहे थे.

मेरी कार्तिक से ज्यादा गहरी दोस्ती हो चुकी थी … मैं उसके बिना नहीं रह सकती थी. उसी समय ये सब कुसुम ने सुन लिया था क्योंकि वो रोहन के झड़ने के कुछ पल पहले ही यहां पर उसे तौलिया देने आई थी. कुछ दूर तो सब शांत था, फिर भाभी ने मेरा नाम पूछा … तो मैंने बता दिया.

सेक्सी पिक्चर चोरी सेक्सीअब तक तो मैं किसी भी मर्द का लंड चूसती थी, तो दो पांच मिनट में ही उसके लंड का पानी निकल जाता था. उसने मुझे आवाज लगाई और चटाई पर उल्टी लेट गई।मैं तेल लेकर दीदी की मसाज करने के लिए आ गया।दीदी की गांड बहुत सेक्सी लग रही थी.

सेक्सी हिंदी विडीओ

मैंने अपने दोनों हाथों को उसके पीठ पर ले जाकर उसे अपने सीने में दबा लिया. मैं धीरे से उनके मम्मों की नोकों को अपने होंठों के बीच दबा कर अच्छे से खींचते हुए मजा लेने लगा. एक दिन वो अपने हज़्बेंड रमेश के साथ हमारे घर करीब 4 बजे शाम में आई.

बीवी बोली- क्या हुआ … आपको इतना पसीना क्यों आ रहा है?मैं बोला- कुछ नहीं, गर्मी ज्यादा लग रही है. मुझे ये काफी अच्छा लगा कि इसमें अपनों के लंड चुत में लेने का मौक़ा मिलेगा. भाई बहन Xxx कहानी में पढ़ें कि शादी के बाद मैं अपनी बहन को लेने गया तो लॉकडाउन में हम दोनों फंस गए.

वो चुम्मा लेकर बोली- तुम्हें लगता है कि ये बात मैं घर वालों से कहूँगी?मैंने बोला- नहीं. अब मेरी चरम सीमा आ गयी और मैंने बिना बताये दीदी के मुंह में अपना वीर्य छोड़ दिया. फिर खड़े लंड को जोर जोर से रगड़ने से लंड सफेद रंग का पानी सा बाहर छोड़ देता है, जिससे बहुत सुकून मिलता है.

वो मेरे लंड को तेजी से अपने मुँह में लेने लगी और मुझे भी मज़ा आने लगा. मैं करीब 20 एक मिनट लेता हूँ, तो मेरी एक चुदाई में वो दो बार स्खलित हो जाती है।उसके बाद नहा धोकर हम दोनों बाज़ार घूमने गए.

मैंने उसको तुरन्त ही एक फ्लाइंग किस उछाल दिया और उसने अपने चेहरे को वापस दीवार में घुसा दिया.

फिर 26 दिसंबर को अजय का जन्मदिन था। जन्मदिन की तैयारी के लिये सभी लोग जुट गए क्योंकि अजय का जन्मदिन बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता था. सेक्सी गाना वीडियो पंजाबीउसने चुत से लंड बाहर निकाला और पास रखी साइड टेबल से डेयरी मिल्क उठा ली. सेक्सी कहानी सुनानाएक मिनट के अन्दर ही वो नार्मल हो गयी और अपनी चुत को मेरे लंड पर धक्का देने की कोशिश करने लगी. अभी भी मेरे लंड के अन्दर जैसे दुख रहा था … मुझे ऐसा लग रहा था कि लंड के ऊपर की चमड़ी जल रही थी.

मैंने उनसे कहा- नहीं, ऐसी कोई बात नहीं है अरविन्द जी … आप भी बहुत अच्छे हो.

मैंने पूछा- तो तुम्हें कैसे मालूम है कि ज्यादा अन्दर तक घुसता है?वो चुप हो गई. भाभी ने कहा- अभी नहीं, अभी रुको … अभी तुम्हें एक बार और मेरी चुदाई करनी है. मैं तो जिन गश्तियों के पास भी जाता था, मैं तो उनकी चूत भी चाट लेता था।खैर मुझे तो चूत चाटना पसंद था, और जो मैं मज़े ले ले कर उसकी चूत चाट रहा था कि अचानक वो तड़प उठी, और अकड़ गई.

मेरी बहन को बहुत दर्द हो रहा था तो बहन ने बोला- आह पंकज जरा रुको, मुझे बहुत दर्द हो रहा है. मेरी छोटी सी चड्डी में से एकदम साफ़ फुंफकारता हुआ दिख रहा था जिसे रिट्ज ने भी देख कर मजा लिया था. अपने घर पर सत्यम को लाने के बाद मैंने उसको अन्दर बिठाया और उसके लिए पानी लेकर आई.

बीपी सेक्सी हीरो मराठी

उन दो के झड़ने के बाद बाकी के दोनों ने भी मुझे इसी तरह चोदा और फिर वो मुझे 100 रुपए देकर चले गए. मैं- क्या हुआ सेक्सी?कोमल- बदमाशी आप कर रहे हो और मुझसे पूछ रहे हो कि क्या हुआ!कोमल की साड़ी तो पहले ही चूमाचाटी में साइड में हो चुकी थी. लौड़ा बुरी तरह से चुत में जकड़ चुका था, या यूं कहें कि चूत ने लौड़े को अपने अन्दर कस लिया था.

सारे दिन मैं जीजू के लंड को याद करते हुए अपने अन्दर एक अजीब सी सनसनी को महसूस करता रहा.

इस बार भाभी अपनी गांड हिला हिला कर मेरा साथ दे रही थीं और ‘आह ऊऊह आह उह आह.

इस बीच बहुत सारी बातें हुईं और मैं और मौसी उसी संबंध को महसूस करने लगे जो कुछ वक्त पहले मेरे और मौसी के बीच में था जब हम एक दूसरे के साथ खूब मस्ती मजाक करते थे।उसके बाद मौसी किचन में खाना बनाने के लिए चली गयी. मैंने दो मिनट ऐसे ही गांड में लंड चलाया और तभी रिया ने मेरे लंड पर थूक लगा दिया. मुसलमान की सेक्सी बीपीमैंने उसकी चूत में एक ही बार में अपनी 2 उंगलियां डाल दीं और ज़ोर ज़ोर से अन्दर बाहर करते हुए हिलाने लगा.

कुछ ही समय में हम दोनों चुदाई के लिए मचलने लगे और मैंने भाभी को पोजीशन में लिटा कर लंड पर कंडोम चढ़ाया और भाभी की चुत में पेल दिया. वह बीच-बीच में कभी मेरी चूचियों को दबाता या उनको चूस लेता और मेरे होंठों को भी चूम लेता. कुछ देर बाद आंटी खड़ी हुईं और एक बार फिर से मेरे होंठों को चूमते चाटने लगीं.

मैंने सोचा कि चुदना तो है ही, साला पैसे भी मिल रहे हैं … तो क्या दिक्कत है. ब्रदर सिस्टर स्वैप पोर्न स्टोरी दो भाइयों और उनकी दो बहनों कि अदल बदल कर चुदाई करने की है.

उसने पहले तो मेरी चूचियों को दबाया और फिर मुँह लगा कर बारी बारी से मेरे दोनों दूध खूब चूसे.

फिर तेरा घर भी तो एकदम किनारे सन्नाटे में है, वहां पर कोई आस पड़ोस में देखने वाला भी नहीं है. अब एक बार फिर से वो जंगल की शेरनी की तरह कामुकता और मादकता से मेरे लंड पर अपनी गांड पटकने लगीं. वो कंप्यूटर के सामने वाली कुर्सी पर बैठ गया और मैं उसके बगल में बेड पर किनारे से बैठ गयी.

घोड़े घोड़े की सेक्सी वीडियो उस दिन चाची ने कुछ स्पेशल खाना बनाया था, तो वह देने के लिए हमारे घर पर आईं और बोलीं- यह लो आज मैंने स्पेशल डिश बनाई है. उसने मुझे मैसेज पर तुरंत जवाब दे दिया कि मैं आपको बाद में फोन करूंगा.

और पता ही ना लगा कब उनकी साड़ी उनके बदन से पेटिकोट के साथ मेरे कमरे के फर्श पर थी।मेरे होंठों को चूसने और कपड़ों के ऊपर से मसलने का असर उन पर दिखने लगा था।बारिश के शोर में हरषु की मादक आवाजें आग में घी का काम कर रही थी।मैं एक अलग ही दुनिया में खोने लगा. कुछ दिन बाद अनीषा मैडम के यहां फर्नीचर बनने का काम शुरू हुआ, जो लगभग एक महीने तक चला. मैं आंखों ही आंखों में उस पर गुस्सा थी कि बिना बताए ये किधर का प्रोग्राम बना लिया.

काले दांत सफेद कैसे करें

हालांकि मैं भी जवानी के नशे में मुठ मारने लगा था मगर मैंने अभी तक कभी भी अपनी बेहन के बारे में गलत नहीं सोचा था. मेरे पूछने पर उसने बताया कि उसके बीएफ ने उसके साथ शादी करने से इंकार कर दिया. उसे देख कर मैंने उठ कर रूम का डोर लॉक किया और उसकी तौलिया खींच कर उसे नंगी कर दिया.

अमन … चोदो … आह्ह … चोदो मुझे … तुम्हारे मामा में वो दम नहीं है जो मेरी प्यास को बुझा सके।मैं भी मामी की कामुक बातों से प्रेरित होकर उनकी गांड को पकड़ कर तेजी के साथ चूत में लंड के धक्के देने लगा. इस ड्रेस में मैं एकदम बार्बी डॉल लग रही थी या यूं कह लें कि एकदम सेक्स डॉल लग रही थी.

मैंने उसका ध्यान हटाने के लिए उसको हिलाया और बोला- कहां खो गए?वो एकदम से सकपका गया और बोला- अरे नहीं … बस वो ऐसे ही!वो भी एक टी-शर्ट और लम्बा बरमूडा सा पहन कर आया था.

मैं बहन की चुत के ऊपर फूले से मटर के दाने को खींच कर चूस रहा था और जीभ को चुत के अन्दर तक डालकर चाट रहा था. मैं अपने लंड को हिलाने लगा और जब लंड की छूट होने वाली थी, तभी बहन नहा कर कमरे में आ गई. अक्सर जींस टॉप ही पहनती थीं भाभी … जिसमें से भाभी का फिगर बड़ा ही कातिलाना लगता था.

मैं आपको बता दूँ कि जोया और मेरे बीच स्कूल टाइम से ही सब कुछ खुला चलता था. काफी देर तक रगड़ने के बाद मेरा लंड बुरी तरह से अकड़ गया और मैं आहें भरते हुए झड़ गया. पीयूष उसे अपनी बांहों में भरता हुआ बोला- मुझे सुनाई नहीं दिया, थोड़ा ऊंचा बोलो.

इस बात पर उनको गुस्सा आ गया और मेरा हाथ अपनी ओर खींचकर मुझे अपने पास बिठाते हुए बोले- साली रण्डी, जब से तेरा पति गया है तभी से तेरा नाटक देख रहा हूं.

बीएफ सेक्स बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी: मैंने बोला- यार मैं तो तुम्हारा अपना भाई हूँ, कोई बाहर का नहीं … पंकज तो बाहर का है. फिर मैंने जल्दी से पूछा- मामी, जलन वाली क्रीम है क्या घर में?वो बोली- देख वहां बेडरूम में मेरे ड्राअर में पड़ी होगी.

मैं- अरे तुमको नहीं पता, मैं शादी शुदा हूँ और मेरी और तुम्हारी उम्र देखी है … पागल हो क्या तुम?लड़का- अब देखो आप मुझे अच्छी लगीं, तो मैंने आपको बोल दिया. कुछ ही देर में सरिता भाभी भी फिर से गर्म हो गई और अपनी गांड हिलाने लगी. मेरा मन तो करता था कि अभी उसे किसी कमरे में बुला लूं और नंगी करके चोद दूं.

उनको देख कर मेरे बाबू ने हरकत करनी शुरू कर दी और मेरा लंड खड़ा हो गया.

मैंने उसे जाते हुए देखा, तो उससे ठीक से चलते नहीं बन रहा था मगर वह आराम आराम से चल रही थी. तब मैंने अपना लंड एक ही धक्के में लवली की चूत में पेल दिया।मैंने धीरे धीरे धक्के लगाए तो लवली मजे से बड़बड़ाने लगी- हाँ विशु, ऐसे ही थोड़ा तेज़ … और तेज़ … हाँ इसी तरह धक्के लगा!और लवली का शरीर ऐंठने लगा और वो फिर से एक बार झड़ गई. सुहागरात वाली रात को हम दोनों जब कमरे में आए तो मेरे दिल की धड़कन इतनी तेज तेज से हो रही थी मानो मेरा दिल फट कर बाहर ही आ जाएगा.