हिंदी बीएफ 3जी

छवि स्रोत,बिहार के भोजपुरी सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

जिओटीवी को चोदा: हिंदी बीएफ 3जी, मुझे आज भी याद है वो कितना शानदार नजारा था कि मेरा लंड निष्ठा की गांड में अन्दर बाहर हो रहा था और वो खुद अपनी चूत में उंगलियां घुसा के अपनी चूत चोद रही थी और अपना दाना मसल रही थी.

मराठी बीएफ सेक्सी मराठी बीएफ सेक्सी

पर जब उसके स्तनों पर उसकी बांहों का दबाव पड़ता तो स्तनों का उभार उसके कन्धों के नीचे साफ साफ नज़र आता. पिक्चर बीएफ दिखाओजहाँ जाता है वहां सेटिंग कर लेता है। ठीक है रीता को नहीं लाऊंगा आज रात।रवि- मगर तू कोशिश करके जल्दी आना.

इधर ननद अपनी शॉर्ट्स उतार कर नंगी हो गयी और मेरे मुँह पर अपनी चूत लगा कर उसकी रगड़ाई करवाने लगी. बीएफ सेक्सी चाहिए हिंदीनेहा काम करती रही और मैंने अपनी पैंट की जिप खोलकर लण्ड निकाला और नेहा के चूतड़ों में फिट कर दिया.

बातें करते करते मैंने उससे पूछा कि आपकी अब तक शादी क्यों नहीं हुई है?मेरी इस बात पर वो थोड़ा उदास हो गई और कहने लगी कि बहुत लंबी कहानी है, कभी समय आने पर बताऊंगी.हिंदी बीएफ 3जी: उसके बाद उसके दोनों स्तन अपने हाथों से दबाने लगा और किस भी करने लगा.

और एक ड्राइवर था उस घर में और अब मैं भी थी उस घर में।मालकिन ने मुझे अपने बहुत सारे पुराने कपड़े भी पहनने के लिए दिए थे.बेडरूम में जाकर मैंने मैंने अपनी शर्ट व बनियान उतार दी और मनजीत का ब्लाउज व ब्रा उतार दी.

बीएफ सेक्सी ब्लू एचडी - हिंदी बीएफ 3जी

फिर मैंने एक हाथ से उसके चूचों को आज़ाद किया और चूचों को सहलाने लगा। उसके निप्पलों को बारी बारी मसलने लगा और दूसरे हाथ से बालों को सहलाते हुए लगातार उसके होंठों को अपने होंठों में जकड़ने की कोशिश करने लगा.हम दोनों किस करने में इतने मशगूल हो गए थे कि हम भूल ही गए कि हम कार में हैं.

फिर मैं उठकर वॉशरूम गया और मुँह हाथ धोकर बाहर आया, तो देखा कि उसने अपने कपड़े पहन लिए थे. हिंदी बीएफ 3जी लंड का टोपा अन्दर जाते ही मामी की कसमसाहट भरी आवाज़ आने लगी और वे बोलीं- धीरे धीरे डालियो … एकदम से नहीं … बहुत दर्द हो रहा है.

फिर उसने मेरी गांड के छेद में थूक लगाकर गीला कर दिया और अपने लंड को मेरी गांड में डालने लगा.

हिंदी बीएफ 3जी?

” मैंने उसकी आँखों में झांकते हुए कहा।मैं सच कहता हूँ मुझे तो सारी रात बस तुम्हारी ही याद आती रही। मैं सोच रहा था मेरी सानू ने तो मुझे ज़रा भी याद नहीं किया होगा?”हओ … मैंने तो आपको कित्ता याद किया … मालूम?”हट! … झूठ बोल रही हो?”नई में सच्ची बोलती … मैं भी सारी रात आपके बारे में ही सोचती लही थी. अन्दर से कुछ इस तरह की आवाज़ आ रही थी ‘सी … सी … उममह … धीरे करो … सीईई … उईई … फक मी … आहह … आआह … प्लीज चोदो’मैं सुन रहा था. प्रीति का स्पर्श पाते ही मेरी पैंट के अंदर तूफान उठना शुरू हो गया और मेरा लंड विकराल रूप में आने लगा.

लेकिन कोच फुल स्पीड से मेरी गांड में अपना लंड अन्दर बाहर कर रहे थे. साथ ही साथ वो मुझे गालियां देने लगा- आह … साली … रंडी … कुतिया … आज तेरी चूत रंडी की तरह फाड़ दूंगा. मैंने उसकी बात पर मुस्कुराते हुए एक कदम आगे बढ़ाया और रेशमा के नजदीक जाकर उसकी गर्दन पर हाथ डालकर बाल हटाए और उसकी गर्दन को चूम लिया.

बीच-बीच में निप्पल को जीभ से चाटना और अपने मुँह में भरके होंठों में बीच निप्पल दबा लेना. उसने कमीज के नीचे बस एक अंगिया (हाफ ढीला बनियान जैसा ब्रा) पहना था। रजनी ने बताया कि जब से वो घर से निकली है तब से सिनेमा सेक्स के बारे में सोचकर काफी उत्तेजित हो रही है और उसकी चूत भी गीली हो चुकी है. तो मेरे प्रिय पाठको, आपको भाभीजी की चूत चुदाई कहानी कैसी लगी? मुझे कमेंट्स में बताएं.

उसके मुंह से बार बार ऊंह्ह … अम्म … स्सस … हाह्ह … करके सिसकारियां निकल रही थीं. उसके हाथों की नरमी ने मेरे छोटे उस्ताद को गरम कर दिया और उसने मेरी पैंट के अन्दर से ही अपना फन उठा कर मुझे चेता दिया कि इस मानुनी की चुत चाहिए मतलब चाहिए … चाहे तुमको जो भी करना पड़े.

प्यासी भाभी चोदन स्टोरी में पढ़ें कि मैंने अपने दोस्त को एक सेक्सी गर्म औरत की चूत दिलवाई.

चूंकि अब जब कहीं से भी चूत नहीं मिल रही थी तो मैंने इसे ही पटाने की सोची।वो दिखने में बहुत सुंदर थी.

‘खैर जाने दो उसे, कल तुमने यार वो पानी वाला एक्सपेरिमेंट बड़ा मस्त किया. तब तक तुम भी सो जाओ, मैंने रात को ही नेहा को बोल दिया था कि वह हर रोज तुम्हें बेड टी दे दिया करेगी. हल्की ठंड की वजह से मैंने यलो कलर का हाफ स्वेटर डाल रखा था, व्हाइट सॉक्स और ब्राऊन शूज में मॉडलों जैसी संयमित चाल, मेरे व्यक्तित्व को निखार रही थी।मैंने गहरे रंग का चश्मा सफर के धूल-धूप से बचने के लिए पहन रखा था.

पाठकों आपको मेरी वैरी सेक्सी गर्ल हॉट स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल या हैंगआउट करें. और कुंवारी चूत! इसके तो क्या कहने!!!जब देखा कि रानी शांत होने लगी है, तो मैंने उसको घुमाकर सीधा किया ताकि उसका मुंह मेरी तरफ हो जाए. दूसरा दोस्त बोला- कौन सी खिचड़ी पकाई है आप दोनों ने … हमें भी तो पता चले.

फिर बेडरूम था और वहां बिस्तर और चेयर पर हसिनाओं को बैठे देखकर मेरी तो आंखें चमक उठीं.

वर्ना मेरी बीवी तो मिशनरी आसन के अलावा और कुछ करने ही नहीं देती है. इस झटके से एक चालीस पैंतालीस साल की औरत मेरे साइड में मुझे पूरी चिपक गई थी. शायद आज मेरा सपना सच होने जा रहा था जो मैंने 2 साल पहले प्रीति को बताया था.

सलीम भाई का लंड गांड को ऐसे सलामी देने लगा था, जैसे कह रहा हो कि ठहरो बस अभी घुसता हूं. सरोज ने उल्टी पोजीशन में ही अपनी गर्दन और गाल मेरी गर्दन पर लगा दिए. प्रत्येक सेक्स चैट सेशन में हर बार मैं अपनी कल्पना को एक नये आयाम पर ले जाता हूं.

मैंने बाथरूम में जाकर ड्रेस चेंज की और खुद को आईने में देखकर मेरे मुँह से आह निकल गयी कि कोई इतनी हॉट कैसे हो सकती है.

मेरा भी लंड तेरा इंतज़ार कर रहा है।रिया- अरे तेरे लिए तो मैं फ्री हूँ. उसको गोदी में लेकर कुतिया की पीठ दिवार से लगा के लंड पर सवार कर दिया.

हिंदी बीएफ 3जी मैंने कहा- क्या हुआ?वो बोली- रूम तुम्हारा है और मैं तुम्हारी मेहमान हूं. फिर मैं भी उनकी तारीफ करने लगा कि मुझे तो आपको देख कर ही लगता है कि मैं तो कुछ भी नहीं कर रहा हूँ.

हिंदी बीएफ 3जी ज्यादातर लड़कियों के डार्क निप्पल होते है लेकिन उसके पूरे गुलाबी हैं एकदम. ज़ोर से चिल्लाई- राजे … क्या सता सता कर दम निकालेगा कमीने … हाय राजा मर जाऊँगी सच कह रही हूँ … तन बदन में आग लगी हुई है.

उनको मेरी सारी बात बतायी और वो मुझे अपने घर में रखने के लिए तैयार हो गयी।मैं उस घर में नौकरानी के तरह रहूंगी।अब मैं उनके यहाँ रहने लगी.

एक्स एक्स ओपन सेक्सी

मैंने अपने घर के पीछे वाली दीवार के सामने से गाड़ी को खड़ा कर दिया जिससे कोई हम दोनों को देख ना सके और मैंने गाड़ी बंद कर दी और उस पर निढाल हो गयी. शाम को आते, हम दोनों मिल कर खाना बनाते, क्योंकि शाही सर खाना बहुत अच्छा बनाते हैं. मीता- पर अंकल आप तो पूरे जानवर हो … एक बार भी ख्याल नहीं आया मेरी कमसिन चूत का … और मेरा … कितनी बेरहमी से अपना लंड मेरी चूत में डाला … मेरी तो जान ही निकाल दी आपने!मैं- मेरी जान वो पल ही ऐसा होता है, जब मर्द को जानवर बनना पड़ता है … वरना जो आनन्द बाद में आना है, उससे तुम वंचित रह जाती … और मैं अगर तुम्हारी बात मान लेता, तो तुम मेरे को लंड दोबारा डालने ही नहीं देती.

आख़िरकार 9 बजे तक काम खत्म हुआ हम दोनों ने खाना खाया, साथ में बहुत सारी बातें की. अंकिता भाभी ने धीरे से मुकेश को वापस जाते हुए गड्डे आदि में गाड़ी चलाकर छिंदवाड़ा जाने को कहा और बोलीं कि मैं तब तक अजय के साथ कल के लिए पूजा का सामान लेकर कुछ देर से आती हूं. अंतर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार। आशा करता हूं कि आप सबकोक्रिया की गांड चुदाई की कहानीपसंद आयी होगी।इस कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि मैंने अपनी गर्लफ्रेंड क्रिया की सहेली जरीना की देसी बुर की चुदाई कैसे की.

उसकी चूत में तो जैसे पानी का सैलाब आ गया था, ढेर सारा पानी निकल रहा था.

मेरे हिलते हुए मम्मों से एकदम साफ पता चल रहा था कि फिटिंग की टी-शर्ट में मैंने ब्रा नहीं पहनी हुई है. मैं जानबूझ कर उनके दांव में हमेशा फंस जाती और फिर वो मुझे बताते कि इस दांव से कैसे निकलना होता है. मनजीत के चूतड़ चाटते चाटते मैंने उसकी टांगें फैला कर अपनी जीभ मनजीत की गांड के छेद पर रख दी.

जो शायद मुकेश की मां ने महसूस कर लिया था, पर अपने पोते की खुशी उनके लिए ज्यादा जरूरी थी. मेरी पिछली हिन्दी सेक्स कहानीनई भाभी की सुहागरात मेरे साथआपने दो भागों में पढ़ी. जब जब हॉस्पिटल में वो अकेली होती, तो मुझे बुला लेती और हम दोनों चुदाई के मज़े ले लेते!इस मस्त नर्स के साथ मेरी चुदाई की और भी मस्त कहानियां हैं … मैं एक एक करके सब लेकर आऊंगा.

इस पर बेबी रानी ने झल्ला कर कहा- भोसड़ी वाली गुड्डी … बहनचोद … तू तो ऐसा दिखा रही जैसे अब तक अपनी चूत को संभाल के रखा तो दुनिया पर बड़ा अहसान किया. किसी न किसी तरह से भाभी मौका देखकर मुझे बुला लेती है और मैं भाभी की चूत को जमकर बजाता हूं.

मैं तुम्हारे जैसी को चोद तो नहीं सकता, तो कम से कम तुम्हारे जिस्म को देख कर लंड हिला ही लूं. उसने हरे रंग का ढीला सा सलवार टॉप पहना था और उसके नीचे सफेद लैगिंग पहनी थी, जो उसकी गांड से नीचे वाले हिस्से को मस्त सी शेप दे रही थी. तुम्हारे अन्दर प्रतिभा है और मेरे अन्दर प्रतिभा दास!उसकी बात पर हम दोनों ही खिलखिला उठे और तभी उसके मोबाइल पर किसी का कॉल आ गया.

शांति की कहानी सुनकर मैं यह तय नहीं कर पाया कि उस दिन बदनसीब कौन था, शांति या रामू चाचा?अपने चूतड़ उचकाते हुए शांति ने लण्ड का मजा लेते हुए कहा- चुदाई में इतना मजा आता है, मैंने आज महसूस किया है.

अगले ही पल मेरी चुदासी हो चुकी साली ने मेरे लंड को मुंह में भर लिया. उन्होंने मेरी परेशानी देखते हुए मुझे कुछ पैसा दिया खाने को और मुझे बोली- मेरी पहचान का एक घर है. मुझसे रहा नहीं गया और उसी टाइम मैंने मुठ मार ली, जिससे मुझे कुछ शांति मिली.

जब इस तरह से मुझसे रहा नहीं गया, तो मैं सलहज को दोनों बांहों में लेकर बोला- शायद आज पहले चुदाई का योग है. जीजू, तुम मेरे जीवन में पहले पुरुष हो, मेरे तन मन पर तुम्हारा अधिकार जीवन भर रहेगा.

होंठ ऐसे कि अगर थोड़ा सा चूस लो तो रस टपकने लगे।मेरे घर में ही रहते हुए भी मेरी नज़र उसकी जवानी पर नहीं गयी थी. मैंने कहा- मुझे तो बस यही डर है कि लड़कियों को शक न हो जाये?भाभी पूरी तरह से वासना में डूबी हुई थी, बोली- जो कोई भी चूँ चपड़ करेगी मैं उसकी गांड फाड़ दूंगी. जैसे ही मैं उनके ऊपर बैठी, मुझे उनका तना हुआ लंड अपनी गांड पर महसूस होने लगा.

सेक्सी बीपी डाउनलोड

रिया ने अपनी पैंटी को पैरों के नीचे कर दिया और बेड पर लेट कर अपने पैर हवा में उठा लिये और अपनी पैंटी को पैरों से निकालने लगी.

हमें अपने सीने से सटाकर हमारी चूचियां अपने सीने के बालों पर रगड़ते हुए हमारे होंठ चूसने लगे. ”गंदी बातों का सिलसिला शुरू हुआ तो रुका नहीं और इसका लाभ यह हुआ कि मनजीत बेशर्म होकर चुदवाने लगी, उसने अपने चूतड़ उछालने शुरू कर दिये. तुम पहली बार नहीं करवा रहे हो, मुझसे भी बड़े बड़े दोस्तों से करवाई होगी.

उनकी मस्त गांड और गुदाज पटों को देखते ही मेरा लण्ड लोअर में तन चुका था. हरामज़ादी मैंने कहा था क्या चूत में लंड न ले … साली तेरी खुद की गांड फटती थी … अब अहसान झाड़ रही कमीनी. xxx बीएफ वीडियोसअब भाभी मेरी टीशर्ट पर झपट पड़ी और मेरी टीशर्ट को निकाल कर मुझे भी पूरा नंगा कर लिया.

”ठीक है मैं शाम को कितने बजे आऊँ?”5-6 बजे के आसपास आ सकती हो तो देख लो? लेकिन … अगर घर वालों ने पूछा तो क्या कहोगी?”वो मैं शाम को एक घर में काम करने जाती हूँ तो वहाँ से काम निपटाकर जल्दी आ जाऊँगी. नेहा ने वहां रखे बॉडी शैंपू की बॉटल उठाई और हाथों में शैंपू लेकर मेरी पीठ पर मलना प्रारंभ किया.

उन्होंने बताया कि इसको खेलने के लिए एक वाइट टी-शर्ट और वाइट लोअर लेना पड़ेगा. हाँ, एक बात जो सभी मेल में लिखी थी कि मेरी सभीपुरानी कहानियांसभी ने दो-दो, तीन-तीन बार पढ़ी और मूड रिफ्रेश किया. लेकिन फिर भी लाइन मारने में क्या हर्ज है, हो सकता है किस्मत खुल जाए.

” ये कहते कहते मैंने पूरा लण्ड मनजीत की गांड में उतार दिया और धीरे धीरे से अन्दर बाहर करने लगा. शालिनी मेरे तने हुए लंड की तरफ देख कर बोली- हां बताओ … क्या दिक्कत है … जल्दी से दिखाओ. मैंने भाभी से पूछा- कल तो मैं ऊपर अपने कमरे में सोऊंगा, तो कल कैसे होगा?भाभी- देखते हैं, मैं कोई न कोई रास्ता जरूर निकाल लूंगी, तुम चिंता मत करो.

रवि- यार रमेश, क्या हो गया है तुझे? इसको मैंने तीस हजार दिये हैं, तू ऐसे कैसे जा सकता है?रमेश को रोकता देख रिया सोचने लगी कि अगर रमेश यहां रहा तो उसे उसके तीस हज़ार से हाथ धोना पड़ेगा.

जैसे ही भैंसा ने भैंस की चूत में झटके मारने शुरू किए, भाभी ने मेरी चूत में अपनी उंगली तेजी से चलानी शुरू कर दी और जब तक भैंसा ने अपना काम खत्म किया, जिंदगी में पहली बार मैं भाभी की उंगली से स्खलित हो गई. चाहे कुछ भी हो जाए, हम दोनों की बात को राज रखोगे, वरना मेरी जिंदगी और घर दोनों बर्बाद हो जाएंगे.

अतः भाभी जाते हुए मुझे बोली- ठीक है रानी, मैं जा रही हूँ, आज रात को इकट्ठे सोएंगे. अब रवि ने रवीना को घोड़ी बना कर पीछे आकर अपना लंड उसकी गांड में घुसाना चाहा तो रवीना ने मन कर दिया और अपने हाथों से ही उसका लंड अपनी चूत में कर लिया. रमेश बोले- बहुत अच्छे, अब ये बताओ कि हमारे पास कब आ रही हो? हम दोनों ही तुम्हें टूट कर प्यार करना चाह रहे हैं.

मैंने तो प्रतिभा की ब्रा पेंटी का माप भी ले लेना चाहा, पर अभी मैं सिर्फ अंदाजा ही लगा सकता था. अब मैं अपने रूम में एकदम नंगी थी और नील के बारे में सोच सोच कर अपनी चूत सहला रही थी. ऐसे भी ज्यादा अमीर घरों में सेक्स संबंध कौन किससे रखता है, इसका तो अता-पता भी नहीं रहता।मेरी सहमति पाकर खुशी और भी ज्यादा खुश हो गई, उसने ‘आई लव यू’ संदीप! तुम बहुत अच्छे हो, टिकट बनने के बाद मिलती हूँ, अभी कुछ दिन व्यस्त रहूंगी.

हिंदी बीएफ 3जी मैंने कहा- सच तो ये है कि मैं तुम सबको रगड़ कर चोदना चाहता हूँ, पर अभी मेरे पास समय कम है, इसलिए तुम में से किसी एक या दो का चयन करना ठीक होगा. मनजीत के गले और चूचियों पर ऐसे बीसों निशान बनाने के बाद मैंने मनजीत को पलटा दिया और उसकी गर्दन व पीठ पर ऐसे निशान बनाने लगा.

एक्स वीडियो मां बेटे की

या सील तुड़वाने से पहले किसी अनुभवी आदमी की सलाह जरूर लें।चलिए सेक्सी चुदाई स्टोरी पर वापस आते हैं. ये कैसी आग लगा दी है तूने … आह … ठीक से लगातार चूसो! नहीं तो साले मुँह में मूत दूँगी. मैं तुम्हारे इजहार की कद्र करती हूँ और मैं खुद तुम्हारी बांहों में झूलने के लिए बेकरार हूँ, बस थोड़ा सा समय मुझे दे दो.

कुछ ही देर में लंड फिर से टनटना गया और अब वो भाभी की सुरंग में जाने को तैयार था. चुदते हुए गच-गच की आवाज होने लगी और उसके बाप का लंड उसके मुंह में घुसा होने की वजह से उसके मुंह से गूं-गूं के सिवा कुछ और नहीं निकल रहा था. बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ बीएफ बीएफ बीएफरजनी मेरी गोद में बैठी रही।हमने एक बार फिर काफी देर तक रोमांटिक अंदाज में फ्रेंच किस किया।फिर वो अलग होकर बोली- मुझे गया नगर छोड़ दो.

मुझे आज ऑफिस में बहुत काम है अब कल सुबह ही लौटूंगा। बाय।रति- बाय। अपना ख्याल रखियेगा।रमेश सीधे ऑफिस पहुँचकर अपने केबिन में चला गया.

मैं बिल्कुल उसके चेहरे के ऊपर ही खड़ी थी ताकि उसको मेरी टपकती हुई चूत अच्छी तरह से दिखे. मगर मैंने तो कितनी बार इससे शादी के लिए बोला है, लेकिन ये मानती ही नहीं है.

मैंने अपने लंड के टोपे को उसकी चुत के बाहरी हिस्से में घिसना शुरू कर दिया. मैं अभी कुछ समझ पाता कि अचानक से वे दोनों ननद भाभी मुझ पर टूट पड़ीं. नेहा की चूत भी बहुत टाईट हो गई, नेहा ने कमर को नीचे करते हुए लंड तो जड़ तक निगल लिया, लेकिन दर्द और मजे से दोहरी हुई नेहा ने अपने होंठों को अपने ही दांतों से काट लिया.

तब तक नैंसी भी अपना ड्रिंक निबटा कर आ जाती हैं और थोड़ा बहुत डिनर सबके साथ कर के बाहर का मेन गेट और जीनों के गेट लॉक करके वे अपने कमरे में घुस जाती हैं और फिर सुबह तक दिखाई नहीं देते.

शुरू से ही परम की टूरिंग जॉब है, महीने में 15-20 दिन टूर पर रहना और साथ होने पर भी बात बात पर झगड़ना, गाली गलौज करना परम की आदत रही है. साथ ही लगा की कहीं आसपास ही गिरी है बिजली!और तुरन्त लाइट चली गयी और पूरे घर में घुप्प अंधेरा छा गया. मैं अपने ख्वाबों की मल्लिका से मिलना चाहता था लेकिन यह सब हकीकत में नामुमकिन के जैसे लग रहा था.

बीएफ सेक्सी चलाने वालीमैं उसकी तरफ देख कर बोली- किस सिटी में?भाई- जिस सिटी में चलने के लिए तुम बोलो. आपने तो सारा शो रूम ही निकलवा दिया।मैंने उसकी बात सुन ली मैंने कहा- यार, कुछ भी ले लो ना! सब चलता है.

क्सक्सक्स ह

क्या हम दोनों लंबे समय तक दोस्त रहेंगे या फिर आज रात के बाद तुम भूल जाओगी?”मैंने भी अब कुछ खुलते हुए कहा- नहीं ऐसा नहीं है. वो भी मेरा पूरा साथ देने लगी।किस करने में वो पूरी माहिर थी।मैं अपना एक हाथ उसके पीछे ले गया और पैंटी के ऊपर से ही सहलाने लगा। वो भी ऊपर से ही मेरे लंड को सहला रही थी।अब मैंने उसका ड्रेस उतार दिया और वो सिर्फ ब्रा पेंटी में आ गयी।उसका गोरा बदन और ऊपर से गुलाबी रंग की ब्रा और पेंटी पूरा कहर ढा रही थी।उसने भी मेरे कपड़े उतार दिये और मैं सिर्फ चड्डी में आ गया।मैं उसका गोरा बदन को देख ही रहा था. कि यहां हर चीज़ ठेके पर हो रही थी, सभी काम के लिए कर्मचारी तैनात थे.

कमल ने मेरे पास एक बार फिर मेरे मुंह में लंड दे दिया और मैं चुदते हुए लौड़ा भी चूसने लगी. अब मेरे मुंह से निकल गया- वो सब तो ठीक है! पर खुशी है कहां?भाभी जी थोड़ा और हंसी और आँखें मटकाते हुए कहा- संदीप जी, उसकी शादी है. किसी का सौंदर्य इतना मनमोहक भी हो सकता है? शायद मैं प्रतिभा से ना मिलता, तो इस बात की कल्पना भी नहीं कर पाता.

भाभी जी बोलीं कि मेरे मुँह में मत निकलना … तुम मेरी चुत में ही पानी निकालना. ऐसा सोच कर मैंने आज जानबूझ कर स्कर्ट के नीचे पैंटी को नहीं पहना और स्कूल चली गयी. वहीं दूसरी ओर सुमन बहुत गोरी थी, पर उसकी चिकनाई रहित त्वचा रूखी लग रही थी.

मैंने मुँह हटाने का भरसक प्रयास किया, मगर सर ने ऐसा होने ही न दिया. मैंने धीरे से उनके चूतड़ों पर हाथ रखा और भाभी की तारीफ करते हुए बोला- भाभी, आप तो अपनी दोनों बेटियों से ज्यादा हॉट और सेक्सी हो.

सुमीना बोली- मुझे बहुत अच्छा लगा शुभम कि तुमने अपने और शिवानी के भाभी के रिश्ते के बारे में मुझे बताया.

लेकिन अब मैंने किसी भी विषय पर ज्यादा सोचने के बजाए शादी पर फोकस किया. हिंदी बीएफ वीडियो में एचडीदस मिनट तक मैंने उसके मुंह को चोदा और फिर उसकी चूचियों पर अपना माल छोड़ दिया. कॉलेज बीएफ बीएफभाभी ने मुझे एक जोर का किस किया और मुझे जकड़ कर बोली- हाय राजा, मैं कितनी खुशनसीब हूँ कि मुझे एकदम कोरा लण्ड मिला है. मां उतरकर बोलीं- क्या हुआ हर्षद?मैंने बोला- अदिति, घर में जाकर कब खाना बनाओगी … एक तो तुम सफर से ही बहुत थक गयी हो.

मैं उनके काले लंबे लौड़े चूस लेती हूं और उनका माल अपनी चूचियों पर गिरवाती हूं.

मैं अपने लंड की मुठ मारने के लिए तड़प उठा था लेकिन मेरे टाइट शॉर्टस और अंडरवियर इस कार्य में बाधा बन रहे थे इसलिए मैं शॉर्ट्स के ऊपर से ही उन सेक्सी मॉडल्स को देख कर लंड को मसल और सहला रहा था. मेरा भी लंड तेरा इंतज़ार कर रहा है।रिया- अरे तेरे लिए तो मैं फ्री हूँ. मैंने कहा- रुक कर देख तो ले … लंड कहां है?उसने बैठ कर देखा, तो शर्मिंदा हो गया.

तभी मैंने ना चाहते हुए भी उन दोनों को अपने से अलग किया और बोली- सब कुछ यहीं करोगे क्या?दोनों अलग होते ही मुझे खा जाने वाले नज़रों से देख रहे थे. बार बार सर की निगाहें मेरी चुचियों पर जा रही थीं, जिसको मैं अनदेखा कर रही थी. उन्होंने दूसरा धक्का दिया, तो पूरा लौड़ा सरसराता हुआ अन्दर घुसता चला गया.

मद्रासी सेक्स ब्लू पिक्चर

नेहा के मम्में गीत के मम्मों से थोड़ा बड़े हैं और मैंने गीत की एक चूची को अपने होंठों में ले लिया और उसे चूसता हुआ उसके ऊपर अपनी जीभ घुमाने लगा. अस्मि चली गयी और थोड़ी देर के बाद अपने हेयर स्टाइल को एक चोटी में बदल कर आ गयी जिससे वो एक हॉट सेक्सी कॉलेज गर्ल लग रही थी. मैं इस समय एकदम से चूत का भूत बन गया था और उसकी चूत को जोर से चूसने में लगा था.

उसी पल पायल की नजर बाहर देख कर प्रतिभा ने मौका अच्छा जानकर मेरी जंघा पर हाथ फेरना शुरू कर दिया.

शाम को जब अंजू किताब को वापस लौटाने आई तो वो मंद मंद मुस्करा रही थी.

वहाँ मैंने उसे एक और राउंड चोद दिया।अब मैं घर जाने के लिए तैयार होने लगा तो उसने मुझे किस किया और विदा कहा।साथ ही आगे फिर मिलने का वादा किया।तो दोस्तो, ये थी मेरी वर्जिन लड़की की सेक्सी चुदाई स्टोरी!उम्मीद है कि आपको पसंद आई होगी।मुझे मेल करके बताइए कि आपने वर्जिन लड़की की सेक्सी चुदाई स्टोरी पढ़ते समय मुठ मारी या चूत में उंगली की या नहीं?कृपया अपनी राय मुझे[emailprotected]पर मेल कर के दें।धन्यवाद. पहले उसने लंड के सुपारे को चूसना शुरू किया और जीभ से लंड चाटने लगी. टेबलेट बीएफजैसे ही राजेश ने ये कहा, शीला उससे चिपट गयी, बोली- साहब, हम गरीब आदमी हैं, हमें इतना सुख कहाँ.

भाभी जी मेरे साथ लेट गईं, तो मैंने उनकी टांग के ऊपर अपनी टांग रख दी. मैंने डांटा- चुप हरामज़ादी … तेरी माँ भी चोद दूंगा खड़ी करके … मरी क्यों जा रही है रंडी? भोसड़ी वाली, पचास बार झड़ के फालतू टांय टांय कर रही बहन की लौड़ी. जब मैंने उस सॉरी बोला, तो उसने मेरे मुँह पर हाथ रख कर मुझे चुप करवा दिया.

जब सुबह उठी, तो देखा कि उन दोनों ने मेरे पूरे शरीर पर अपने वीर्य की बौछार की हुई थी. उसने कहा- आह … आ रही हूँ मैं …मैंने चूत चूसते हुए ही कहा- उंह … आ जाओ.

”तू तो बेकार ही डर रही थी फिर, है न?”अब मुझे क्या पता था कि आपका हथियार ये कमाल भी दिखा सकता है.

भाभी बोली- मजा आ रहा है या नहीं?मैंने भाभी के कान में धीरे से कहा- जब ऊपर से कर रही थी तो ज्यादा मजा आ रहा था. फिर उसने मेरी गांड के छेद में थूक लगाकर गीला कर दिया और अपने लंड को मेरी गांड में डालने लगा. भाभी बोले जा रही थी- आह्ह्ह ह्हह्ह्ह ओ … राज … आ … ईईईईए … सश्ह ह्ह्ह्ह् बहुत … मजा … आ … रहा … है.

इंडियन देसी हिंदी बीएफ धीरे धीरे कविता और रवि की जीभें किसी मजे हुए खिलाड़ी की तरह टकराने लगीं. रिंकी- आह्ह … पंकज, तुम्हारा लंड मेरी गांड पर लग रहा है, प्लीज कुछ करो, ये ठीक नहीं है.

इतने में मेरा भाई बोला- धीरज रखो मेरी बहना रानी … आज की चुदाई तुम हमेशा याद रखोगी. मैंने उसकी टांगें पकड़ कर चौड़ी कर दीं और उसकी गांड चुदाई में लगा रहा. मैंने भाभी के गालों पर और गर्दन के नीचे हाथ फिराया तो भाभी बोली- ओ मेरे राजा, तुमने तो आज मेरी जान ही निकाल देनी है, इतना प्यार से चोदते हो, इतना सुख तो मुझे कभी नहीं मिला.

सेक्सी फिल्म वीडियो ब्लू पिक्चर

गीतिका ने स्लीवलेस टॉप और नीचे पटों में फंसा हुआ प्लाजो पहन रखा था. पर जैसे ही शीला कमरे में घुसी राजेश को ध्यान आया कि एक दो पोर्न मैगजीन बेड पर पड़ी हैं और बेड के नीचे टॉवल पड़ा है जिस पर उसने अपना माल निकाला था. मैं- अरे भाभी, आदमी का दिमाग़ ऐसा ही होता है … कितना भी विश्वास हो, लेकिन कुछ भी सोच सकता है.

उसने अपने हाथ ऊपर उठाकर आकाश के घुंघराले बालों को पीछे से पकड़ कर उसको अपनी ओर झुका लिया. मैंने जानकारी की, तो मालूम पड़ा कि यह पूरी गाड़ी पैसेंजर (धीमी रफ्तार से चलने वाली) ट्रेन है.

मैंने उसके कपड़े अपने हाथ में उठा लिये ताकि वो मजबूरन केवल अपनी अंडरवियर में ही मेरे पीछे रेंगते हुए आये.

वहां पर किसी भी तरह से मजा लिया जा सकता है जो असल जिन्दगी में किसी औरत के साथ संभव नहीं हो पाता है. पहले तो वह फिर कुछ दर्द से कराही लेकिन फिर चूत में आते हुए मज़े ने उसको सब दर्द भुला दिया. और सुन तुम्हारी मम्मी का कोई फोन आया क्या, शर्मिष्ठा कैसी है सब ठीक तो है न?” मैंने व्यग्रता से पूछा.

फिर मेरे बारे में ऐसा कैसे सोच सकते हो?मैं- क्यों रिश्तेदार को पसंद नहीं कर सकते हैं? ऐसा कहीं लिखा तो नहीं है? मैंने तुम्हें अपनी मन की बात बता दी है. मैंने बाकी हसीनाओं से कहा- समय रहा तो मैं तुम सबके साथ भी समय बिताना चाहूंगा. हम भी तो मिलें आपके दोस्त से।बीवी की ख्वाहिश पर रमेश बोला- ठीक है, कोशिश करुँगा.

भाभी मुझसे तरह तरह के सवाल करती रहीं और मैं खुल कर उनको अपनी चुदाई की कहानी के बारे में बताता रहा.

हिंदी बीएफ 3जी: अगर मैं दिन में ये ड्रेस पहन कर निकलती, तो लोग मुझे देख कर छोड़ते ही नहीं. मैंने मुकेश को किनारे करके भाभी को अपनी गोद में बिठाया और ब्लू फिल्म दिखा दिखा कर अलग अलग तरीके से रात भर में चार बार सेक्स कर लिया.

एक दिन बैंक में कुछ घंटों की इंटरनेट सर्फिंग के बाद मुझे दिल्ली सेक्स चैट की वेबसाइट मिली. मैं तो सुनकर बहुत खुश हो गयी थी कि बहुत दिनों बाद थ्री-सम करने का मौका मिलेगा. मैं दिल्ली में रहती हूं और अपनी लाइफ को खूब मस्ती में इंजॉय कर रही हूं.

राजेश ने पीछे से अपने हाथ आगे लेजाकर उसके मम्में पकड़ लिए और मसलने शुरू किये.

आप भी अपना लिंग इतना लम्बा और मोटा कर सकते हो मैं आपको तरीका भी बता दूंगा।दोस्तो, मैंने और भैया ने अपना लंड इतना लम्बा और मोटा कैसे किया ये भी आपको बता देता हूँ. वो चुदाई के नशे में एकदम चूर थी। इसी पोज में करीब 7 से 8 मिनट तक चुदाई करने के बाद मैंने उसको अपनी गोद में बिठा लिया और फिर गोद में बिठा कर झटके लगाए. लॉकडाउन सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे कुछ लड़के लड़कियां पीजी में अपने मकान मालिक मालकिन के साथ फंस गए.