बाप बेटी की हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी भेजो तो सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी आदिवासी इंग्लिश: बाप बेटी की हिंदी बीएफ, ये सब तो वो शुरू से करते आए थे लेकिन अब कुछ ज़्यादा और अजीब तरीकों से वो मुझे छूने लगे थे.

कुत्ते की सेक्सी चाहिए

मैं उसकी बात को अनसुना करते हुए और जोर जोर मेरा लौड़ा उसकी गांड में पेलने लगा. r k सेक्सीमैं तो उसके लण्ड पर फ़िदा हो गई। मेरी खाला के पास उसका नंबर जरूर होगा। मैं अभी जाकर उसे तेरे पास भेजती हूँ। तुम खुद ही देख लेना की वह तुझे ठीक से चोद पायेगा की नहीं!मैंने कहा- जब वह तेरी खाला का भोसड़ा चोद सकता है तो मेरी भी बुर भी मजे से चोद लेगा। यार उसको जल्दी भेजो। इसके अलावा तेरी जान पहचान का कोई और लण्ड हो तो उसे भी भेज दो। मैं सच में लण्ड के लिए मरी जा रही हूँ।नगमा वादा करके चली गयी.

मैंने अञ्जलि के पेट पर हाथ फेरते हुए उसकी चूत का दाना अपनी उंगलियों से ऊपर खींचते हुए रगड़ा और चूत की पिटाई शुरू करते हुए धक्के देने लगा. काला काला लंड वाला सेक्सी वीडियोमॉम ने अपनी दो उंगलियों पर अपनी जीभ से थूक लेकर उसकी गांड के छेद पर लगाया और दोनों उंगली अन्दर घुसेड़ने की कोशिश करने लगीं.

मैंने चाची की अल्मारी से उनकी ब्रा पैंटी और एक घुटनों तक आने वाली मैक्सी निकाली और अपने कमरे में आ गया.बाप बेटी की हिंदी बीएफ: टाइट चूत की चुदाई कहानी मेरे दोस्त की मौसी की कसी चूत की बड़े लंड से चुदाई की है.

लेकिन मैं जब भी मॉम से उनकी चुदाई के लिए बोलता, वो साफ मना कर देतीं.कहानी के पिछले भागगर्लफ्रेंड की सहेली की चूत फट गयीमें आपने पढ़ा कि हम तीनों ने यानि नीता, उसकी सहेली गीता और मैंने मिलकर खाना खाया.

कुत्ते और घोड़े की सेक्सी पिक्चर - बाप बेटी की हिंदी बीएफ

इस तरह प्रिया को खूब लन्ड रस मिल रहा था और जिंदगी बड़े मजे से कट रही थी.रेशमा का दिमाग इस वक़्त भी बड़े शातिर तरीके से दौड़ रहा था, मानो उसको ही अपनी कुंवारी गांड को फड़वाने की जल्दी थी.

मैं ऐसे ही ऊपर लेटा हुआ था, तभी रवीना मौसी आ गईं और दोनों को देखकर गाली देने लगीं. बाप बेटी की हिंदी बीएफ उसने आगे जाकर सन्नाटे में मुझे नंगी करके चोदा और मुझे मेरे घर छोड़ गया.

तभी मॉम जोर जोर से आह उहहह आहहह करके तेजी से लंड चूसने लगीं और थोड़ी देर में उन्होंने अपनी चूत का पानी मौसी के मुँह में छोड़ दिया.

बाप बेटी की हिंदी बीएफ?

मेरी छोटी बहन दीपाली की पैंटी से अलग ही खुशबू आती है जिसको अपने मुँह पर लगा कर कोई भी अपना लंड हिलाना चाहेगा और मेरी बहन की चड्डी में ही अपना मुठ निकाल देगा. अपनी चुदाई की कहानी एवं उसके साथ की गई मस्ती की बात शुरू करने से पहले मैं इस देसी गर्ल पोर्न स्टोरी के किरदारों के बारे में बता देती हूँ. मैं रात दिन बस सेक्सी पंजाबी भाभी चुदाई के सपने देखता रहता और लंड हिला कर कब सो जाता, कुछ पता ही नहीं चलता.

इतने में देविका वापस आयी और अपनी साड़ी ठीक करने लगी थी, अपने ब्लाउज के हुक भी लगा दिए. कुछ मिनट चूत चाटने में वो गर्म हो गईं और बोलीं- मुझे पेशाब आ रही है … मैं मूत कर आती हूँ. जब उसने अपनी साड़ी और पेटीकोट को उठाकर और पैंटी को नीचे कर मूतना शुरू किया तो उसके चूत से मूतने के टाइम बजती हुई सी की मधुर ध्वनि ने मुझे पागल सा बना दिया.

भाभी टीवी देख रही थीं और उन्होंने ब्लैक कलर की मैक्सी पहन रखी थी जिसमें वो कामदेवी लग रही थीं. वो उन्ह आंह करती हुई मेरे सर को अपनी चूत पर दबाने लगी और अपनी टांगों से उसने मेरी गर्दन को जकड़ लिया. इससे मुझे समझ में आ गया कि ये इस गाड़ी में सिर्फ मुझसे मज़ा लेने के लिए बैठा है.

कंडोम लगाते ही मैंने उसकी टांगों को ऊपर हवा में उठा कर अपने कंधे पर रख लिया और उसकी चूत में अपना लंड डालने लगा. अजय के बताए दिन और समय पर मैं उस होटल में आ गया जहां अजय रुका हुआ था.

दोस्तो, मैं बता नहीं सकता कि दोनों बहनें बिना कपड़ों के क्या मस्त माल लग रही थीं.

मैंने लंड पर थूक लगाया और भाभी की गांड के छेद पर लंड सैट करके जोरदार धक्का दे दिया.

तकरीबन 15 मिनट की चुसाई के बाद भी उनका लंड नहीं झड़ा, तो मैं उनके स्टेमिना की भी कायल हो गई. मैंने उसके होठों को छोड़कर स्तनों को अपने हाथों में भर लिया और अपने होठों से उनका रसपान करने लगा. मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी जिससे पूरे कमरे में फच फच की आवाज आ रही थी और उसके साथ निधि की सिसकारियों की!मैं लगभग 15 मिनट तक निधि को ऐसे ही चोदता रहा.

बिस्तर पर आधी नंगी लेटी साबिरा के ऊपर चढ़ते हुए मैंने उसके दोनों स्तन अपने हाथ में ले लिए और उनको मसलने लगा. मैंने भाभी से पूछा- भाभी मैं अपना माल कहां निकालूं?भाभी बोलीं- मेरी चूत में ही निकाल दो … मेरी चूत काफी दिनों से प्यासी है. आज मेरे बोले बिना ही मौसी ने बच्चे को एक साइड में सुला दिया और खुद बीच में आकर लेट गईं.

जिस मकान में मुझे रूम मिला, उसमें केवल एक रूम ही खाली था, जो ऊपर की मंजिल में बना था.

तुम्हारा लंड अपनी चूत में पाकर, मेरा बरसों पुराना सपना आज पूरा हुआ है. मैं यही सोचता था कि कब मुझे मौका मिले और मैं अपनी बहन को चोद डालूँ. दिन पर दिन मैं उसका दीवाना होता जा रहा था और मेरा प्यार कब जुनून में बदल गया, मुझे पता भी नहीं चला.

पाटिल साहब बात तो मुझसे कर रहे थे पर उनकी नजर रेशमा की जवानी का लुत्फ़ उठा रही थी. ऊऊह …’कुछ देर में मॉम ने मेरी उंगलियों से अपनी में मजा लेना शुरू कर दिया. फिर हम दोनों ने पहले कुछ पेट पूजा की और अब उसे चोदने कि बारी आ गई थी.

उसकी खूबसूरती और सादगी के बारे में क्या कहूँ, बिना किसी खास मेकअप के भी वो किसी परी से कम नहीं थी.

मैं पहले से ही बाथरूम में अपनी नंगी जवानी को देख कर मदमस्त हो रही थी और अब एक साथ दो लड़कों की इन हरकतों से मैं और भी गर्म होने लगी थी. कभी गर्दन, तो कभी गाल तो कभी होंठ … मैंने उसके चेहरे के किसी भी हिस्से को नहीं छोड़ा, हर जगह को जी भरके चूमा और चाटा.

बाप बेटी की हिंदी बीएफ साबिरा को झाड़ने के बाद मैंने लौड़ा उसकी चूत से बाहर निकाला और शिराज को देखते हुए बिस्तर से नीचे जाकर खड़ा हुआ. मैं- हां भाभी क्या हुआ?भाभी- बाबू, वो जो वीडियो तुम्हारे वॉट्सएप ग्रुप में आया था, मुझे भी सेंड करो न!मैं- क्या बात है भाभी, लगता है आज आपको भैया की कुछ ज्यादा ही याद आ रही है.

बाप बेटी की हिंदी बीएफ मैं- आज तेरी बुर ऐसी खुल जाएगी कि आज के बाद तू किसी का भी लंड ले लेगी. उनकी आंखों को मैं समझ पा रही थी, उनका देखना अब सामान्य नहीं था फिर भी पता नहीं क्यों मुझे उनका देखना और उनसे बातें करना अच्छा लगता था.

हॉट वाइफ Xxx स्टोरी के अगले हिस्से में मेरी बीवी ने मेरे बॉस से किस तरह से चुदाई का मजा लिया और क्या वो उसके बच्चे की माँ भी बनी.

कंडोम कहां लगाया जाता है

मैंने ललिता भाभी को घोड़ी बना दिया और पीछे से लंड चूत में पेल कर चोदने लगा. लंड था कि पूरी गांड पर अपना क़ब्ज़ा जमा चुका था, एक सूत की भी जगह ख़ाली नहीं बची थी. उसके बाद मैंने तीन बार चुदाई की और उसे नंगी ही अपनी बांहों में लेकर सो गया.

मैं कभी मौका पाती घर से या मम्मी के साथ बाजार जाती या शादी वगैरह में तो मुझे बहुत मर्द और लड़के घूरते थे. वो गर्म हो गई थी और उसकी चूत से पानी निकल कर उसकी जांघों पर बह रहा था. मैंने बहन से कहा- तेरी भाभी इस संडे को अपने पापा के घर जाने वाली है.

मेरे गले में अपनी बांहों का हार डालते हुए उसने मेरी आंखों में देखा और अगले ही पल उसके होंठ मेरे होंठों पर आपके मुझे चूमने लगे.

मां ने पूछा- कहां थे, इतना वक्त कहां लगा दिया?जवाब देते हुए मैंने कहा- कुछ नहीं मां, भीड़ बहुत ज्यादा थी, इसलिए टाइम लग गया. हमने लगभग 45 मिनट तक चुदायी की। फिर हम दोनों ने लंबी नींद ली।मैं शाम के 5 बजे उठा तो देखा कि मैं अकेला सो रहा हूं. जब मैं 12वीं कक्षा में पढ़ता था, तब मैं और मेरे साथी हॉस्टल के रूम में रहते थे.

उसके बाद मैंने उनको पीठ के बल लेटा दिया और अपने हाथ में तेल लिया और उनके मोटे मोटे बूब्स की मालिश करने लगा. सीने के ग़ुब्बारे हिल हिल कर मर्दों को इशारा कर रहे थे कि आओ और मसल डालो हमको, पर साला एक भी मर्द आगे नहीं आया. अब मैं अपनी बहन से बहुत रिक्वेस्ट करने लगा कि वो घर में किसी को न बताए.

फिर उसने मेरी तरफ देखा और प्यारी सी स्माइल देकर वह अन्दर दूसरे कमरे में चली गयी. दूसरे का लन्ड पीने के बाद ही समझ में आया कि कितना मजा है दूसरे का लन्ड पीने में! और कितना गाढ़ा माल होता है.

शेखर का लंड पहले ही धारा के चूसे जाने से पने चरम पे था और लोहे की तरह सख़्त हो चुका था. मुझे शर्म आ रही थी, पर फिर भी मैंने एक एक करके अपने कपड़े उतार दिए और सिर्फ कच्छे में बैठ गया. उसकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मैंने धीरे से हाथ नीचे किया और पैंटी में डालने लगा.

मैं तो उन्हें नंगी देख कर एकदम से बौरा गया और जोर जोर से अपने लंड को हिलाने लगा.

मैंने हां बोल दिया तो सोनी बोली- कल दिन में खेलेंगे, अभी तो रात को मम्मी देख लेंगी. अन्दर दोनों (रोहन और मेरा भाई) पूरे नंगे होकर मेरे आने का इंतजार कर रहे थे. दोपहर में मैंने अपने भाई के सर को फ़ोन किया और उनसे उनके घर पर मिलने के लिए शाम का समय ले लिया.

मुझे पहले गैर मर्द का लन्ड चखना है। आपकी भी इच्छा पूरी हो जायेगी मुझे गैर मर्द का लन्ड चूसते देखने की।हम दोनों तैयार होकर क्रूज पर टहलने के लिए निकल गए। हम रेस्टोरेंट पहुंचे तो वहां कई विदेशी वेटर भी थे।प्रिया को एक वेटर बहुत पसंद आया– यह बंदा मस्त दिख रहा है. दस मिनट तक मैं चूत में ठोकर मारता रहा ओर सुनीता के नितंबों से मेरी जांघें टकराने की आवाज सुनाई देती रही.

तभी मैं अकड़ गया और मेरी माया मॉम को अपने मुँह में जैली आती सी महसूस हुई. तभी लंड ने ज्वालामुखी छोड़ दिया, वीर्य की पिचकारियां गांड में निकलने लगीं. मैं निराश होकर बाहर मेहमानों का स्वागत करने चला गया था और सारे काम संभाल आने के बाद मैं अन्दर हॉल में आकर बैठ गया था.

भारत का नक्शा फोटो hd

किसी भी दूसरे मर्द के नीचे टांगें खोलने में उसको जरा भी देर नहीं लगती थी.

अपनी आँखें बंद किए शेखर अपने लंड को ठुनकी मार-मार के धारा के मुँह में जाने का इंतज़ार कर रहा था. कुछ देर बाद वो फिर से गर्म हो गई और बोलने लगी- राजा, अब इसे डाल भी दो. मैंने अपने हाथों से उसके चूतड़ों को थामा और उसकी चूत के होंठों को चूसते हुए, उसकी चूत में अन्दर तक अपनी जीभ घुसाने लगा.

पर मेरा ध्यान अब उसकी गांड के छेद पर टिक गया था जिसे मैंने कल सुबह ही पहली बार अपने लौड़े से खोल दिया था. ‘आह … आह … और जोर से पेल मेरी जान और जोर से आह … आह …’मैंने उससे कहा- देखती जा मेरी जान … आज इतने मजे दूंगा कि तू मेरी रांड हो जाएगी. सेक्सी वीडियो 2020 2021ललिता भाभी बोली- राज, अब तो खुश हो न!मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और चूसने लगा.

जब उसने मुझे कस कर पकड़ा, तब नंदा बोली- बहुत जल्दी ठण्डी हो गयी मेरी बच्ची!रुचिका बोली- क्या करूं मम्मी, आखिर सहन शक्ति भी कोई चीज होती है. मैं उनकी शर्ट से दिख रहे छाती के बाल और पसीने के साथ साथ उनकी पैंट की जिप को भी देख रहा था.

आज तक मुझे किसी लड़की के साथ ऐसा मजा नहीं मिला था, जो मजा मुझे रूपा दे रही थी. फिर हम दोनों साथ में बैठ गए और एक दूसरे की तरफ देख कर बस तारीफ कर रहे थे. मेरी तरफ से हरा सिग्नल मिलते ही सोनी मुझसे लिपट गयी और मेरे होंठों को चूमते हुए मुझे बर्थडे विश किया.

आप लोगों ने मेरी कहानीक्यूट भाभी को चोदकर प्यार हो गयाको इतना पसंद किया, उसके लिए दिल से धन्यवाद देती हूं. भैया ने तुरंत मुझे चुदाई की पोजीशन में लिटाया और मेरी चिकनी गुलाबी बुर में अपना मोटा काला लंड पेल दिया. धीरे धीरे उनकी लंड लेने की स्पीड बढ़ती ही गई, मानो आज मेरा लंड तोड़ के रख देंगी.

अब पढ़ाई के बाद पिता जी ने मेरी शादी एक सभ्य घर में एक लड़के से करा दी, जिसका बाकी का परिवार जिसमें उसके माता, पिता गांव में रहते थे.

अंत में उसका हाथ मेरी चूची पर आ पड़ा, जिसको वो बार बार हल्का सा छू ले रहा था. इधर शिराज के मुँह से घौंप-घौंप जैसी आवाजें आने लगी तो उधर साबिरा भी अपनी चूत की मालिश से आह अह करती हुई सीत्कारने लगी.

भाभी- क्या हुआ, क्या आपका बाबू कुछ कह रहा है?मैंने अपने लंड पर हाथ फेरा और भाभी की तरफ वासना से देख कर कहा- आप खुद पूछ लीजिए न भाभी जी!भाभी जी मेरे हाथ को लंड पर फिरते देखा और बोलीं- अच्छा जी, मैं देख तो लूं, पर यहां खुले में कैसे?मैं- अरे इसमें क्या दिक्कत है आपका मन हो तो एकांत भी मिल जाएगा. अपनी जीभ कुतिया की तरह बाहर निकालते हुए उसने मेरे टट्टों को चाटना चालू किया और धीरे धीरे अब उसकी जीभ मेरे गेंदों से लेकर मेरे सुपारे तक घूमने लगी. इसी कोचिंग में यशवंत भैया जो कि सुजय सर (कोचिंग के संचालक) के दोस्त हैं, उनका आना जाना लगा रहता था.

मगर गांव का माहौल था, जरा सी बात पर बखेड़ा खड़ा हो सकता था और मैं वो सब नहीं चाहता था. मोनी- क्या हुआ, शोर किसने मचाया?मैं- सपना फिसल कर गिर गई थी, तो वो चीख पड़ी थी. मैंने उसकी ब्रा को उतार दिया और उसकी चूचियों को ज़ोर ज़ोर से दबाना शुरू कर दिया.

बाप बेटी की हिंदी बीएफ अब ललिता भाभी भी अपनी कमर हिला हिला कर चुदाई में पूरा साथ दे रही थी. मैंने भी अपना झड़ा हुआ लौड़ा और चुसी हुई गांड को उन दोनों रंडियों के मुँह से रिहा करवाया और सोफे पर जाकर बैठ गया.

खान की सेक्स वीडियो

आंटी ‘ऊईई ऊई आह आह … क्या कर रहे हो अन्दर तक चोट कर रहा है धीमे चोद ना …’ कहने लगी थीं. मैंने सोचा कि वो पीछे से चोदेगा क्योंकि सुबह भी उसने मुझे ऐसे चोदा था. मैं अपने दोनों हाथ से उसकी दोनों घुंडियों को पकड़ कर मींज रहा था और उसकी गर्दन को चूम रहा था.

एक हाथ से बेल्ट और दूसरे हाथ से किरण का सर मेरे लौड़े पर दबाते हुए मैं मुखमैथुन का मजा लेने लगा. मैंने ललिता को उठाकर बिस्तर के किनारे लिटा दिया और उसकी एक टांग अपने कंधे पर रख कर चोदने लगा. सेक्सी वीडियो ब्लू पिक्चर हिंदी वालीलाल रंग में भाभी की मोटी मोटी और गोरी चूचियां देखकर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

मेघना ने धीरे धीरे लंड मुँह में डाल लिया और किसी कुल्फी की तरह आगे पीछे करती हुई चूसने लगी.

मैंने कहा- क्या हुआ भाभी, आपके पति ऐसा नहीं करते हैं क्या?भाभी ने वासना भरी आवाज में धीमे से कहा- नहीं यार … उसने ऐसा कभी नहीं किया. अब हम फोन पर ही बात करते थे और जब भी … और हमारी जितनी भी बात होती थी, बस चुदाई की ही होती थी.

हीरा बाबू ने मुझे करीब 10 मिनट तक चोदा, जिससे मेरी बुर से पानी निकल गया और मैं झड़ गई. मैं दर्द के मारे आगे को सरकना चाहती थी, मगर मनीष ने मजबूती से मेरी कमर को पकड़ रखा था. आज मैंने एक काले रंग की नेट वाली साड़ी पहनी, जिसका ब्लाउज मैंने ही सिला था.

मैंने उससे पूछा- क्या तुम अभी मां नहीं बनी हूँ और तुम्हारी मुख्य समस्या क्या है.

उसकी गांड के टाइट होल ने और उसकी गर्म आंहों ने मुझे ऐसा महसूस कराया था मानो मैं किसी सील पैक माल को चोद रहा हूँ तो मेरा मन रुकने का नहीं था. कुछ देर तक चूमाचाटी के बाद हमने साथ में मेरे बर्थडे का केक काटा और एक दूसरे को अपने होंठों से खिलाया. उनकी मादक आवाजें मेरे लंड में तनाव लाने का काम कर रही थीं- आह ऊह देवर जी, कबसे इस पल का इन्तजार कर रही थी.

सेक्सी पिक्चर फुल एचडी वीडियो सेक्सीमैं उसके गालों को चूमते हुए उसके कानों में जाकर बोला- कैसा लग रहा है?वो- बहुत अच्छा लग रहा है. मैंने कहा- नहीं, आपको आपकी जवानी बहुत परेशान कर रही थी न … बहुत लंड चाहिए था … अब ले मेरा लौड़ा ले साली और ले मेरा लंड.

घोड़ा लड़की

एक बार मैं उनसे प्रग्नेंट भी हो गई थी, तब ससुर जी ने मुझे टेबलेट लाकर दी, जिससे सब ठीक हो गया. अब अगले दिन मैंने एक साइबर कैफे पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवा लिया जिसके एक महीने बाद लिस्ट में मेरा नाम आ गया और मैं अकेले ही वहां एडमिशन लेने गयी. मनीष ज्यादा देर तक मुझे झेल नहीं पाया और उसने जबरदस्ती मेरे मुँह से लंड निकाल कर मुझे किचन की स्लैब पर झुका दिया.

ये नजारा देख कर मैंने अपनी हाफ पैंट नीचे की और अपने मूसल जैसे लंड को बाहर निकाल लिया. एक बार की धुंआधार चुदाई करने के बाद मेघना और बॉस नंगे बिस्तर पर लेटे हुए थे. फिर मैंने भाभी को अपनी ओर घुमाया और उनके होंठों को अपने होंठों से कैद करके चूसने चूमने लगा.

सोनी मेरी तरफ देखते हुए अपना चेहरा उचका कर इशारों में ही पूछा कि क्या हुआ?मैंने भी अपना सर ना में हिलाकर बता दिया कि कुछ नहीं. फिर मोहन बाबू ने मुझे बेड पर लिटाया और 69 की पोजीशन में आकर चूत चाटने लगे. फिर वो सोने की कह कर चैट खत्म करके सोने चली गई … मगर कुछ मिनट बाद ही उससे मेरी चैट फिर से शुरू हो गई.

उस पर जब मैं क्लास से बाहर जाती या अन्दर आती तो मेरी मटकती गांड और मेरे कुछ खुले बड़े बड़े मम्मों पर सबकी नजरें टिकी थीं. ऐसे ही रोमांस करते हुए उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और मेरी उंगलियों में अपनी उंगलिया डाल दीं.

कुछ देर बाद लच्छो झड़ गई लेकिन मैं अभी भी उसे लगातार चोदे जा रहा था.

पैसे की बात हुई तो मैंने साड़ी का दाम बताने वाले से कहा- भइया साड़ी का सही रेट लगा लो. भूत वाला सेक्सी वीडियो दिखाओकभी पेट चाट रहा था, कभी भाभी के बड़े मम्मे को मुँह में भर लेता, तो कभी गर्दन को चाटने लगता. छोटी वाली लड़कियों की सेक्सीमैंने ओके कह कर चूत से लंड निकाला और सुमैत्री की गांड पर अपना लंड रख दिया. और मैंने उनसे कहा- आपको जब भी न्या लैपटॉप लेना हो, मुझे बता दीजिएगा.

मैंने मॉम की 38 इंच की गांड में लंड पेल दिया और आगे से डैडी ने मॉम की चूत में अपना लंड डाल दिया.

नीता उत्तेजित होकर बोली- हर्षद, अब नहीं सहा जाता आंह और जोर से चोदो … और तेज धक्के मारो … फाड़ दो मेरी चूत को … अपने लंड का अमृत पिलाकर मेरी चूत की प्यास बुझा दो. पता तो मुझे भी था कि चूत तो उसकी भी पानी छोड़ चुकी है, बस एकदम से मेरा लंड नहीं पकड़ पा रही है. आज तक मुझे किसी लड़की के साथ ऐसा मजा नहीं मिला था, जो मजा मुझे रूपा दे रही थी.

उसकी शर्ट में बटन आराम से खुलने वाले थे, तो जरा सी कोशिश में ही उसके दो बटन खुल गए. मैंने उसे वापस घोड़ी बनाया और उसकी चोटी पकड़ कर गांड में लौड़ा घुसा कर चोदने लगा. ललिता लंड से उठ गई और चूसने लगी वो लॉलीपॉप की तरह लंड को बड़े प्यार से चूस रही थी.

तिरपल एक्स

मैंने भी दो तीन तगड़े झटके मारे और भाभी की चूत में अपना सारा माल डाल दिया. फिर जैसे ही मैं उसके ऊपर चढ़ने लगा, तो उसने मुझे रोका और मेरे शॉर्ट्स के ऊपर से मेरे लंड को पकड़ लिया. मैंने साफ देखा था कि उनका लौड़ा उनके लोअर में तंबू बन गया था जिसको वो बार बार सही कर रहे थे.

वो भाभी पर चिल्ला कर बोलीं- इतना वक़्त लगता है क्या?भाभी चुपचाप चली गईं.

’फिर मैंने उसको सीधा बेड पर लिटाया, उसकी टांगों को फैला दिया और उसकी चूत के मुहाने पर अपना लौड़ा रगड़ने लगा.

उसने मेरी चूत अपनी उंगलियों से पूरी तरह खोल रखी थी और जीभ बिल्कुल अन्दर रगड़ रही थी. किरण को वहीं पर छोड़ कर मैंने अपना मोर्चा रेशमा की तरफ बढ़ाया और छलांग लगा कर बिस्तर पर चढ़ गया. ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी फिल्म ब्लूकुछ देर बाद लच्छो झड़ गई लेकिन मैं अभी भी उसे लगातार चोदे जा रहा था.

दस मिनट बाद पूनम मेरे बगल में आकर बोली- आज कुछ मत सोचना … और जिस तरह से भी तुम्हारा मन करे, मुझे चोद देना और जब तक चाहो तब तक चोद लेना. शेखर की इस दयनीय हालत का मज़ा लेने में धारा ने कोई कसर नहीं छोड़ी थी. तभी वह मेरे करीब आई और हंस कर बोली- ओ हैलो … ऐसे क्या देख रही हो … कभी पहले किसी सुंदर लड़की को नहीं देखा है क्या?मैंने हंस कर कहा- देखा तो बहुतों को है, पर आप जैसी सुंदर लड़की अब तक नहीं देखी.

आज मैंने एक काले रंग की नेट वाली साड़ी पहनी, जिसका ब्लाउज मैंने ही सिला था. कुछ देर बाद मैंने रूपा का सर पकड़ा और उसके मुँह में अपना लंड डाल दिया.

अब तय समय पर हम बाहर बाजार में मिले क्योंकि सीधे घर नहीं जा सकते थे.

लगभग 10 मिनट तक चुदाई के बाद मुझे लगा कि अब मैं झड़ने वाली हूँ, तभी वो भी बोले कि अब मैं छूटने वाला हूँ. फिर कुछ इशारा कर उसने अपने दोस्तों से इजाजत ली और मुझे बेडरूम में ले गया जहां उसने मुझे चोदना चाहा. उसकी आंखों की चमक मुझे बता रही थी कि साली वो भी मेरा सुबह से इंतजार कर रही है.

देवर भाभी की सेक्सी वीडियो 2021 ससुर जी ने नीचे से मेरे चूतड़ को एक हाथ से थामते हुए मुझे सहारा दिया और मुझे चूमने लगे. बिस्तर पर आधी नंगी लेटी साबिरा के ऊपर चढ़ते हुए मैंने उसके दोनों स्तन अपने हाथ में ले लिए और उनको मसलने लगा.

एक अकेले बचे कर्मचारी से मेरा काम नहीं हो सकता था इसलिए मैंने घर पर मम्मी पापा को ये बात बताई. वो बोलीं- अच्छा दिल में ऐसी बात क्या थी, जो कह नहीं सके?मैंने कहा- मैं अभी भी कुछ संकोच कर रहा हूँ. [emailprotected]मैरिड गर्ल हॉट फक़ स्टोरी का अगला भाग:अचानक मिली लड़की की सहेली को भी पेला- 4.

लड़कों का लंड

इस तरह सर ने हम दोनों का परिचय करा दिया और हम दोनों को अलग पढ़ाना शुरू कर दिया. उसकी जुबान मेरी गांड का छेद ऐसे चाटने लगी कि मेरे लौड़े में भयंकर आग लगने लगी. अब लड़के अपने लौड़े हिलाने को … और लड़कियां अपनी चूत में उंगली करने को तैयार हो जाएं.

मैंने किरण का हाथ पकड़ा और बोला- किरण, मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं, तुमको बहुत लाइक करता हूं. गीता दो बार झड़ चुकी थी लेकिन मेरा लंड इतनी जल्दी स्खलित होने वाला नहीं था.

मेरे निप्पल्स को चूसते हुए ही वो मेरी बुर पर भी अपने हाथ को फेर रहे थे.

पर तभी मेरी नजर किरण पर गयी जो दारू पीती हुई हमारी चुदाई देख कर अपनी चूत मसल रही थी. पूनम को जैसे ही मेरा लंड चरम पर आता सा लगा, उसने तुरंत झुक कर लंड को मुँह में ले लिया और लंड से निकली एक एक बूँद को गटक लिया. थोड़ी ही देर में सबका खाना खत्म हो गया और हम लोग बाहर बैठकर बातें करने लगे.

वो- इतने हैंडसम हो फिर भी नहीं किया है?मैंने कहा- कोई मिली ही नहीं. मैं एक अपार्टमेंट वाली बिल्डिंग में एक दो कमरे के फ्लैट में किराए पर रहता था. मैंने कहा- उफ्फ अजय … मेरे मालिक ये क्या कर रहे हो?अजय- आज तुझे बहुत मज़ा आने वाला है मेरी मनीषा.

साली गांड मराने में कुछ कुनमुनाती थी मगर मैंने थूक लगा उसकी गांड फाड़ दी थी.

बाप बेटी की हिंदी बीएफ: पाटिल जी ने भी उसको अपनी बाजुओं में कस लिया और उसकी चूचियां चूसते हुए वो भी नीचे से धक्के लगाने लगे. आप मुझे मेल करना न भूलें कि आपको Xxx गांड का मजा मिला या नहीं?[emailprotected]आगे की कहानी:.

अब वो दोनों ही पूरी तरह से नंगे हो चुके थे और मेघना बॉस के लंड को पकड़ कर आगे पीछे करती हुई कुछ बोल रही थी लेकिन मुझे कुछ सुनाई नहीं दे रहा था क्योंकि कैमरे में आडियो था ही नहीं. मैं भाभी से कहा- भाभी अभी इसको खा कर चुदाई करवाना है?भाभी बोलीं- नहीं, मैंने तो सिर्फ तुमको बताया था कि मेरे पति इन्हीं गोलियों की दम पर मुझे चोदते हैं. मैंने कहा- तुम दोनों ये चुम्मा चाटी बाद में करना, पहले मॉम मुझे इसकी गांड का इलाज करने में मदद करो.

होटल और लॉज हम दोनों के लिए नया था, तो स्वभाविक डर भी हमारे मन में था.

तुरंत हमने अपना नंबर एक्सचेंज कर लिया और हम दोनों के बीच बातचीत का दौर शुरू हो गया. मिहिरा को मैं गोदी में उठा के अपने रूम में ले गया, बेड के साइड पे बिठा के मैं उसके सामने खड़ा हो गया. सुमन स्कूल की पढ़ाई के बाद पुनः अपने गांव चली गई और अन्नू अब भी यहीं रहती है.