एक्स एक्स एक्स नेपाली बीएफ

छवि स्रोत,पेली पेला

तस्वीर का शीर्षक ,

चामुंडा माता फोटो hd: एक्स एक्स एक्स नेपाली बीएफ, साबिरा- ले मेरे कुत्ते, अब चाट अपनी मालकिन की गांड, पूरी जीभ घुसा भोसड़ी के अपनी बहन की गांड में सुअर, देख कैसे मेरी सफाचट फुद्दी गीली हो रही है जीभ घुसा दे मेरी चूत में कमीने भाई.

एक्सक्सक्सक्स

हुआ यूँ कि धारा ने हंटर की नोंक को अब सीधे शेखर के लपलपाते लंड पे धार दिया और उसके मोटे-ताजे लंड के ढके हुए सुपारे से लेकर नीचे जड़ तक फिराना शुरू कर दिया था. 15 साल की लड़की का फोटोये जो घटना है, कुछ चार साल पहले की मेरे और मेरी बड़ी साली मीता के बीच की चुदाई कहानी है.

न्यूड भाभी की चूत इतनी गीली हो चुकी थी कि लंड खुद अन्दर की ओर फिसल रहा था. पंजाबी शायरी फोटोकुछ ही देर में मैंने अपने लंड का पानी ब्रा में निकाला और चेंज करके बाहर आ गया.

वे चाहते थे कि हम साथ में झड़ें।और उनकी यह सोच रंग लाई।हम एक साथ झड़े.एक्स एक्स एक्स नेपाली बीएफ: तब तक मैं अपने कालेज की पढ़ाई पूरी करके घर में कुछ दिन के लिए रहने आ गया.

इस अचानक हुए हमले से मैं हड़बड़ा गयी और मेरे मुँह से एकदम निकल गया कि पहले रोटी तो बना लूं.इसके बाद हमें जब भी मौका मिलता, हम दोनों खूब चुदाई करते और बहुत मजे लेते.

इंग्लिश व्हिडिओ इंग्लिश व्हिडिओ - एक्स एक्स एक्स नेपाली बीएफ

आज जाकर चूसने का मौका मिला है … खा जाऊंगी इसे मैं!‘साली कुतिया रंडी … कबसे तेरी चूत में लंड देने को बेकरार था, आज जाकर मौका मिला है.वो रुक गईं तो मैंने कहा- अंडरवियर भी निकालो डार्लिंग … तुम्हारा लंड तो अंडरवियर में ही छिपा है.

उसके बाद जब भी टाइम मिलता, भाभी चुदवाने के लिए मुझे अपने घर बुला लेती या मेरे घर आ जाती. एक्स एक्स एक्स नेपाली बीएफ ‘आह जल्दी करो बहुत मजा आ रहा है … आह … बहुत अच्छा लग रहा है जल्दी करो … मेरे नीचे कुछ हो रहा है.

मैं बस थोड़ा गिड़गिड़ाते हुए सा कहने लगा- प्लीज आसिफ भाई, जाने दे मुझे.

एक्स एक्स एक्स नेपाली बीएफ?

उन्होंने कहा- कोई बात नहीं, वो मेरा बेडरूम नहीं है, मैं दूसरे कमरे में सोता हूँ. मुँह बंद होने से मेरी आह की आवाज तक बाहर नहीं आ सकी, मैं बस तड़फ कर रह गई. पाटिल साहब- अरे बिल्कुल विराज जी, मैं कौन सा भाग रहा हूँ, बस ध्यान रहे इसके बाद आपका सारा बिज़नेस मेरे हाथ में है और मैं कुछ लिए बिना कुछ देता भी नहीं.

ये कौन है सर?सर मुझे देखकर मुस्कुराते हुए बोले- वही, जिसे कल तुम घूर रहे थे और आज जिसका इंतजार कर रहे हो. वन्दना बोली- भुर्जी का स्वाद कैसा लगा?नंदा बोली- दोनों स्वादिष्ट हैं. मैंने उसे देख कर 4 बार मुट्ठी मारी और मैंने उससे आई लव यू बोल दिया.

Xxx चाची चुदाई कहानी में पढ़ें कि पढ़ाई के लिए मैं चाचा के घर रहता था. लेकिन गीता कहां है?वो बोली- उसे दर्द की दवा खिलाकर बाजू के बेडरूम मे थोड़ी देर सोने को बोला है. लेकिन आज तक मैंने कभी किसी से भी अपनी इस कमजोरी का जिक्र नहीं किया.

क्योंकि ये सिर्फ एक सेक्स कहानी नहीं, एक सच्ची घटना है, जो अभी कुछ दिन पहले मेरे एक खास और अजीज दोस्त के साथ घटी थी. उसकी चीखों को नजरअंदाज करते हुए मैंने एक हाथ से उसकी पीठ पर दबाव बनाया और दूसरे हाथ से उसके बिखरे हुए बाल अपनी मुट्ठी में भर लिए.

मैंने भाभी से पूछा- आप क्या खाओगी भाभी जी?भाभी जी बोलीं- आपको जो पसंद है, मंगवा लीजिए.

यह कहते हुए उसका ध्यान मेरे खड़े हुए लंड पर ही लगा था और वो लंड को ही देख रही थी.

पर इसकी कॉलेज फीस और ऊपर से ये महँगा लॅपटॉप माँग रही है जो अभी मुश्किल लग रहा है!मैंने उनसे कहा- आप ई एम आई पे भी तो ले सकते हो. मैंने कहा- क्यों?वो बोलीं- तुम बिना बनियान के कसरत करते हो, तो मैंने सोचा कि मैं भी ऐसे ही करूं. पहली बार का मामला था तो ये चुदाई 10 मिनट ही चली और मेरा लंड पानी छोड़ने को हो गया.

मैं जोर जोर से धक्का लगाने लगा और लंड तेज़ी से आंटी की गांड में अन्दर बाहर अन्दर बाहर करने लगा. तब जाकर मोहन बाबू को एकदम से करंट सा लगा और वो चहक उठे- अरे चंदा जी आप … आपने मुझे फोन किया है. फिर कुछ दिन बाद ही मुझे कंपनी के द्वारा कंपनी के काम से कुछ दिनों के लिए दूसरे शहर जाने के लिए बोला गया.

बार बार मैं उससे नजरें बचा कर उसे ही देखने की कोशिश करने में लगा था.

कभी मैं यशवंत भैया से चुद जाती तो कभी हीरा बाबू मुझे चोद देता, तो कभी दोनों मिलकर मुझे चोदा करते थे. अब इसके आगे की गर्लफ्रेंड फ्रेंड सेक्स कहानी आपके मनोरंजन के लिए पेश कर रहा हूँ. आंटी ‘ऊईई ऊईई मर गई आह आह …’ करके चिल्ला रही थीं और उनकी आंखों से आंसुओं की धारा बहने लगी.

अब आगे हॉट सेक्सी बेब चुदाई कहानी:वो बोली- काश इस समय तुम भी मेरे बगल में लेट कर आराम कर लेते. मेरी चूत में बहुत दर्द हुआ लेकिन मैं भी सारा दर्द झेल कर चुदती रही. मैं पूरे दिन गूगल पर बस यही सर्च करता रहता था कि अपनी बहन को चुदाई के लिए कैसे मनाऊं.

चूची के बाद मैं आंटी की चिकनी चूत की फांकों को खोलकर चूत का दाना सहलाने लगा और वो आह आह ऊईई करने लगीं.

मेरा पूरा लंड उसकी चूत के अन्दर आसानी से समा गया और उसकी बच्चेदानी में जाकर लड़ गया. सुपारे की रगड़ से साबिरा को भी मजा आने लगा और वो ‘आह हम्म उफ्फ …’ जैसी मादक सिसकारियां निकालने लगी.

एक्स एक्स एक्स नेपाली बीएफ मौसी ने मुझसे लंड निकालने को कहा और जैसे ही मैंने लंड निकाला, मौसी लंड चूसने लगीं. एक तरफ से मैंने शिराज को अपना गुलाम बना दिया, तो दूसरी तरफ से मैंने उसकी बहन को फंसाकर उसको उसके भाई के ख़िलाफ कर दिया.

एक्स एक्स एक्स नेपाली बीएफ मैं उसे बेडरूम में चलने को बोलने लगी … क्योंकि मुझसे खड़ा नहीं हुआ जा रहा था. [emailprotected]न्यू रण्डी सेक्स कहानी का अगला भाग:कुंवारी रंडी की चुत गांड चुदाई का मजा- 3.

मौसी के बार बार बोलने पर मॉम बोलीं- ठीक है दीदी लेकिन मैं अभी नहीं बाद में सोचकर बताऊंगी.

देसी बहु सेक्सी

रेशमा कुछ समझ पाती, इससे पहले मैंने अपने लंड को उसकी गांड के छेद पर रख कर पूरा ज़ोर देकर लौड़ा अन्दर घुसाता चला गया. आपका घर है जितने दिन रह सकते हैं आप!अमित जी– घर तो मेरा अपना है लेकिन क्या घर में रहने वाली भी मेरी है?मैं हंसते हुए उनसे छुटने की कोशिश करने लगी और उनसे छूट कर दूर जाने लगी।उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर दुबारा से अपनी बांहों में भर लिया. अब वो हंस दिया और फिर से एक बार मेरे कंधे से हाथ लेकर सीधे मेरी टी-शर्ट के अन्दर कर दिया.

मैंने लंड की तरफ इशारा करते हुए भाभी से पूछा कि लंड चाहिए?भाभी ने हाथ में लंड पकड़कर मुँह खोल कर लंड चूसने का इशारा किया. उसे देखने के बाद मुझे अहसास हुआ कि मेरा लंड तो मेघना के किसी काम का नहीं है. उसने गुस्से में मुझसे कहा- ये क्या कर रहे हो तुम … रूको मैं अभी मम्मी को बोलती हूँ.

ललिता भाभी- आह आह राज … राज और चोदो मजा आ रहा है तुम कितना अच्छा चोदते हो.

मैं निराश होकर बाहर मेहमानों का स्वागत करने चला गया था और सारे काम संभाल आने के बाद मैं अन्दर हॉल में आकर बैठ गया था. मैं ड्यूटी आते जाते समय अम्मा जी और दिव्या से मिलने लगा और मेरी ललिता भाभी से आंखों ही आंखों में बात होने लगी थी. इसके अगले भाग में जस्सी के साथ चुत गांड की चुदाई किस तरह से हुई, वो लिखूंगा.

बॉस ने उसकी दोनों टांगें पकड़कर ऊपर उठाईं और उसकी धकापेल चुदाई शुरू कर दी. उन्होंने मुझे बोला- सौम्या तुम तो पूरी तरह से भीग चुकी हो, ऐसे में कोचिंग कैसे जाओगी? चलो मेरे रूम पर, वहां तेरी भाभी की कुछ ड्रेस हैं, भाभी तो अभी यहां हैं नहीं, तो तुम वो पहनकर कोचिंग चली जाना. अगर वो मुझे पाना चाहते है और हां उनको मेरी कुछ शर्तें भी माननी होंगी.

उस रात मैंने निधि के साथ चार राउंड और करे और सुबह 5:00 बजे अनुराग ने मुझे मेट्रो स्टेशन छोड़ दिया और बाय बोल कर चले गए. हमारे पहुंचते ही उन्होंने नीरज को भी शराब का ग्लास पकड़ाया, मुझसे पूछा कि मैं क्या पियूंगी.

फिर मुझे भी हंसी आ गयी कि फातिमा के प्यार में तो सच में मेरी गांड फट गयी. या जब मुझे घर पर मौका मिलता है तो मैं उसे बुला लेती हूँ और वो मेरी फुद्दी लेने मेरे घर चला आता है. जैसे ही मेरा हाथ उसके उस गीली फुद्दी पर लगा, तो रेशमा के बदन में एक थरथराहट हुई.

मेरा पूरा लौड़ा गांड में लिए हुई वो वैसे ही बिस्तर पर कुछ देर लेटी रही.

उसी समय उस रास्ते से यशवंत भैया ने मुझे जाते हुए देखा तो देखते ही उन्होंने मुझे आवाज लगा कर टोका. पर ये साली रांड मेरे लौड़े को ऐसे चूस रही थी मानो आज पूरा लौड़ा काट कर खा जाएगी. वो ‘उई उईई ईई उईई मर गई बचाओ मर गई … निकाल बाहर … आं मर गई निकाल बाहर …’ चिल्लाने लगीं.

मेरी बहन की गांड का छेद पहले ही गीला था, मैंने उसमें अपना फौलादी लंड पेल दिया. मैं कमरे में गया तो भाभी ने बेड में नई बेडशीट बिछाई थी और पूरा कमरा इत्र की सुगंध से महक रहा था.

कुछ देर चूत की फांकों में लंड के सुपारे को घिसा और भाभी की आंखों से आंखें मिलाईं. अब धारा की रस बहाती चूत शेखर के नाक से रगड़ खा रही थी … शेखर की पूरी नाक चूत में धँस चुका था और उसकी ज़ुबान धारा की गांड के छेद में घुसने की कोशिश कर रहा था. बिग बूब्स गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे दोस्त ने मेरी दोस्ती एक लड़की से करवाई.

हिंदी सेक्सी वीडियो एचडी क्वालिटी

पर आप सभी तो जानते ही हैं कि जिस्म की भूख इस तरह नहीं मिटती।मैं दफ्तर के वाशरूम में जाकर दिन में तीन चार बार उंगली करने लगी।मुझे उंगली करने की ऐसी लत लगी कि लंड को अपने दिल और दिमाग से बाहर निकाल फेंका।पर अब उंगली करते करते हाथ थक चले थे.

फिर मुझे भी हंसी आ गयी कि फातिमा के प्यार में तो सच में मेरी गांड फट गयी. इतने में मौसी ने मेरा लंड पकड़कर मेरी मॉम के सामने मुझे खड़ा कर दिया और बोलीं- एक बार चूसकर देख बहना, तेरे लड़के का लंड कितना रसीला है. भाभी- क्यों?मैं- पड़ोस वाली भाभी की ज्वाइंट फैमिली है, इसलिए भाभी को कभी कभी ही समय मिल पाता है.

चाची के बच्चे उनके मामा के घर गए थे और चाचा को काम से छुट्टी नहीं मिल रही थी. उसके बाद क्या हुआ?हाय फ्रेंड्स, आप लोगों को मेरा प्यार भरा नमस्कार. किन्नरों का सेक्सअब उसने मेरी टांगें फैलाईं और अपना लंड मेरी चूत की फांकों में रगड़ने में लगा.

कुछ देर बाइक चलाते हुए हम दोनों एक भीड़भाड़ वाले इलाके में पुराने से मकान में आ गए. सारे कपड़े खोलते समय वो मेरी लुल्ली को टटोलने लगे थे तो मैंने उन्हें लुल्ली पर चढ़ी मेरी स्पेशल चड्डी को हटाने के लिए रोका.

अपनी नाइटी के अंदर कुछ भी नहीं पहना था और नाइटी इतनी झीनी थी कि शेखर को उसकी गोल-गोल सुडौल चूचियाँ साफ़-साफ़ दिख रही थीं. जब मैंने एक बियर की कैन निकाली तो बहन ने समझा कि मैं कोल्डड्रिंक पी रहा हूँ. उस समय मेरा लंड एक्सप्रेस ट्रेन की गति को आंटी की चूत में अन्दर बाहर अन्दर बाहर कर रहा था.

चूंकि दोनों में एक साल का ही अंतर है तो हमारा बचपन साथ ही गुजरा था. गीता बोली- आंह हर्षद … और जोर से चोदो मेरी चूत को आंह और जोर से … आज पूरी तरह से रगड़ रगड़कर चोदो. तभी ट्रेन आने की घोषणा हुई और हम दोनों अपना सामान लेकर ट्रेन में चढ़ने के लिए रेडी हो गई.

एक रात को मैं अपने रूम में अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़ रहा था तभी ललिता भाभी का मैसेज आया ‘क्या कर रहे हो?’मैंने कहा- कुछ नहीं … तुम्हारी याद में लंड हिला रहा हूं.

मम्मी ने कहा- हां हर्षद, हम दोनों के कुछ कपड़े हैं … चलो मैं तुम्हें देती हूँ. देविका ने तकिया का कवर निकालकर उससे अपनी चूत पौंछकर साफ कर दी और कवर बाथरूम में डालकर वापस आ गयी.

तब क्या हुआ?साथियो, मैं आपको अपनी सेक्स कहानी में उस समय का किस्सा सुना रहा हूँ जब इंटरनेट नहीं के बराबर था और हम सब गांड चुदाई वाले सेक्स का मजा ले रहे थे. उस समय बाल्टी में पानी भर रहा था और मैं नहाने के लिए अपने कपड़ों को खोल रही थी. मेरी बात पर वो बोले- मेरा तो उससे भी ज्यादा प्यार करने का मन करता है.

अब ये चूत तो थी नहीं कि लंड के झटकों के साथ अपना पानी निकल कर चिकनाई बढ़ा दे. कभी कभी सपना और कल्लू हमारे घर खेलने के लिए आ जाते पर हम अब गांड में लंड रगड़ने वाला खेल नहीं खेलते थे क्योंकि मैं सोनी के साथ तो अकेले में कर लेता और इस बात का सबको पता ही नहीं चलता था. पर वो भी कौन सा दूध का धुला था मादरचोद … भैन का लंड मेरी रेशमा को अपने लौड़े से चोदने ले गया था बहनचोद.

एक्स एक्स एक्स नेपाली बीएफ बीच बीच में मैं एक हाथ से उसके चूचे दबा देता और निप्पल को चुटकी से मसल देता. आंटी मुझसे चुदवाने के मौके की तलाश में थीं और आज उनके पति नहीं थे इसलिए उन्होंने मुझे अपने साथ सेक्स करने के लिए राजी कर लिया.

सेक्सी व्हिडिओ मराठा

सोनम बिस्तर में आकर श्वेता की चूत में उंगली डाल कर चोद रही थी और मेरा लन्ड चूस रही थी. कहानी के पहले भागमैं अपनी सेक्सी बीवी को मजा नहीं दे पातामें अभी तक आपने पढ़ा था कि मेरी बीवी ने बॉस की चड्डी में हाथ डाल दिया था और वो उसका लंड सहलाने लगी थी. ड्रेस निकाल कर रेशमा फिर से नंगी हो गयी और फिर से मेरी बांहों में आकर सो गयी.

मेरे पति का तो इतना काला लंड है कि चूसने की बात दूर … चूमने को भी दिल नहीं करता. मैंने मस्ती से कहा- अब कहां चोदोगे भाईजान?आसिफ बोला- मेरी बहना, अब तेरी गांड मारने की बारी है. कियारा आडवाणी सेक्सधकापेल चुदाई होने लगी और कुछ मिनट बाद भाई ने अपना वीर्य अपनी बहन की प्यासी चूत में छोड़ दिया.

उन दोनों को चुदाई करते हुए लगभग आधे घंटे से ज्यादा का समय हो चुका था और अभी तक बॉस का पानी नहीं निकला था.

वो रोने वाला मुँह लेकर साबिरा की तरफ देखने लगा पर साबिरा का गुस्सा देख कर वो उसे कुछ बोल नहीं सका. अब मैं चुदाई का तरीका बदलते हुए अपने घुटनों पर हो गया और रूना के दोनों पैरों को कमर में डालकर मैंने लंड चूत में डाल दिया.

मैं उनके पास गया तो उसने बोला- आप राहुल हो?मैंने कहा- जी!तो उन्हें मुझे बैठने का इशारा किया. मैंने कहा- कभी कहा ही नहीं भाभी आपने … मैं खुद कबसे आपके जिस्म को भोगना चाहता था. मेरी तबियत ख़राब हो गयी और मैं 5 दिनों तक कोचिंग पर काम के लिए नहीं गयी.

खुद मेरे पास आकर उसने आज मेरा लौड़ा भी ऐसे चमकाया, जैसे कभी उस पर बाल थे ही नहीं.

भले ही वो मेरे ससुर हैं और मेरे बाप की उम्र के थे लेकिन हम दोनों ही एक दूसरे की प्यास बुझाने के लिए यह सब कर रहे थे. कुछ देर ऐसे ही उसका मुँह चोदने के बाद मैंने लौड़ा बाहर निकाल लिया और दोनों पैर ऊपर करके सोफ़े पर रख दिए. मैंने बहन के दूध दबा कर पूछा- और बाकी के दो कौन थे?वो हंस कर बोली- यार तुझसे क्या छिपाना.

गंदा वीडियो गंदाइसी बीच सोनी ने मौका देखकर अपने होंठ मेरे होंठों से छुआ कर हटा लिए और हंसने लगी. पेनफुल एनल सेक्स के कारण ‘अम्म्मी उईई जान निकल गई … आंह … रुक जाओ मेरी जान.

सेक्सी वीडियो पसंद

शुरू में तो मुझे गांड मरवाने में बहुत दर्द हो रहा था पर फिर भी आसिफ पट्ट पट्ट तेज़ तेज़ मेरी गांड चोदे जा रहा था. मजाक मजाक में वो मुझसे गर्लफ्रेंड को लेकर बात करने लगती थी तो मैं उससे कह देता था कि मुझे गर्ल फ्रेंड बनाने में कोई दिलचस्पी नहीं है. मैं- सुन रंडी, साली मुझे अपने चूतड़ खोल कर अपनी गांड दिखा कुतिया, आज सबसे पहले तेरी इस मखमली गांड की मां चोदूंगा.

मैं ये बिल्कुल नहीं चाहता था कि मेघना को ये पता चले कि मुझे उस पर शक हो गया है. आसिफ उससे बोला- क्या हाल हैं जानेमन!वो औरत बोली- सब मस्त है, तू सुना ये किसे लाया है … क्या आज इसके लिए लड़की चाहिए … अभी बुला देती हूँ. अब आंटी को भी Xxx फ्री सेक्स का मज़ा आने लगा और वो मेरी पीठ को सहलाने लगीं.

उस वक्त भी वो दोनों सो ही रहे थे और दोनों नंगे ही एक दूसरे से लिपटे हुए थे. जिस नंबर से ये कॉल आई थी, वो नंबर मेरे फोन में पहले से ही सेव था तो मुझे लग ही रहा था कि कहीं फोन पर भाभी तो नहीं हैं. साथ में देविका ने अपने दोनों हाथों में मेरा मूसल पकड़ा और सहलाने लगी.

तुम्हारी इतनी चिकनी, गुलाबी और कसी हुई चूत देखकर मैं अपने लंड पर काबू नहीं कर सकता. मैं अपने लंड से मैं उसके मुँह को चोद रहा था और वो एक पोर्न स्टार की तरह बड़े मजे से मेरे लंड को चूस रही थी.

आज मैं तुझे तेरे उस गांडू भाईजान के सामने चोदूंगा ताकि वो फिर से ऐसी हरकत कभी नहीं करे.

अब मुझे किसी भी हाल में लंड चाहिए था और वो भी मोहन बाबू का लंड चाहिए था. पेंटिंग डिजाइन homeउन्होंने मुझे बुरी तरह से जकड़ लिया और अपनी पूरी ताकत से मुझे चोदने में लगे थे. कॉल गर्ल्स फोन नंबरइस वक्त गर्मी का मौसम था तो मैंने कहा- क्यों न एक बार नहा लिया जाए, उसके बाद सोएंगे. बड़ी बहन Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरा आपा को जब पता लगा कि मेरी गर्लफ्रेंड से ब्रेकअप के बाद मुझे चूत नहीं मिल रही है तो उन्होंने मुझे अपनी चूत पेश कर दी.

मैंने पीछे से लंड उसकी गांड में डाल दिया तो वो आह मम्मी की आवाज करने लगी.

मैंने जल्दी से उनकी सलवार को उतार दिया और उनको एक मेज पर लिटा दिया. ह्म्म्म … ओह्ह्ह … ओह्ह … आह्ह … फाड़ दो शेखर … फाड़ दो इसे!” धारा उन्माद में बक-बक करती हुई ज़ोर-ज़ोर से उछल उछल कर अपनी गांड मरवाने लगी. वो बोली- याद है तुमने मुझे पति के बारे में पूछा था, तो मैं कुछ बोली नहीं थी!मैं- हां तो … उसका और इसका क्या संबंध है जस्सी?मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा था.

मैं तो उन्हें नंगी देख कर एकदम से बौरा गया और जोर जोर से अपने लंड को हिलाने लगा. ब्रा को वहीं नीचे जमीन पर फैंकते हुए मैंने फिर से अपना मुँह किरण की चूचियों पर लगा दिया. साला इतना ठरकी आदमी मैंने अपनी जिंदगी में पहली बार देखा था कि जो खुलकर मुझसे लड़की की अदला बदली करके चुदाई की बात कर रहा हो.

मिर्जापुर सेक्सी पिक्चर

हमारे रिश्तेदार के घर शादी थी, मेरे घर के सब लोग एक हफ्ते के लिए जाने वाले थे. जैसे औरतों की गांड शादी के बाद चौड़ी हो जाती है, मेरी मौसी की भी गांड काफी चौड़ी हो गई थी. मैंने भी उनकी चूत चाट कर उनके पैर फैला दिए और उनकी चूत पर अपना लंड घिसना चालू कर दिया.

आंटी की आंखों में आंसू निकल रहे थे और वो ऊईई ऊईई आह आहहह करके चिल्ला रही थीं.

भाभी ने अपने घर में तीन गाय पाली हुई थीं, तो उनके घर में गायों के लिए चारा काटने वाली हाथ मशीन थी.

मेरी नजर तो सिर्फ उन्हें ही खोज रही थी, लेकिन मैडम का कुछ पता ही नहीं था. उसका बस चलता तो अपने हाथों से धारा की चूत को पूरी तरह से खोल कर अपना पूरा मुँह अंदर डाल देता और सारा रस पी कर अपनी प्यास बुझा लेता. खुलम खुला सेक्सी वीडियोमैं क्या देखता हूं कि मेरी बड़ी साली साहिबा बिना वस्त्रों के बेड पर लेट कर अपनी चूत में उंगली आगे पीछे कर रही थीं और अपनी मस्ती में मस्त होकर उस पल का मज़ा ले रही थीं.

फिर उनको चूत में जलन होने लगी तो मुझे बोली- अब थोड़ी देर बाद में करते हैं. मुझे ये नहीं पता था कि उस ब्रा को थोड़ी देर में ही उठा कर मशीन में डालने वाली है. मेघना बॉस सेक्स से पूरी तरह से निढाल हो चुकी थी लेकिन बॉस अभी भी उसे किसी गुड़िया की तरह उठा उठा कर दनादन चोद रहा था.

पेनफुल एनल सेक्स के कारण ‘अम्म्मी उईई जान निकल गई … आंह … रुक जाओ मेरी जान. मैरिड गर्ल हॉट फक़ स्टोरी में पढ़ें कि मेरी चुदाई बडी मुझे अपनी सहेली के घर ले गयी.

जैसे ही मैंने अपनी आंखें खोलीं तो उसने झट से मुझे इशारे से वहां से हटने को बोल दिया.

अब आगे Xxx जीजा सेक्स कहानी:मनीष ने मुझे पेट के बल लिटा दिया और मेरे पीछे आ गया, उसने मुझसे चूतड़ों को ऊपर करने को कहा. उनके मर्दाना हाथ मेरे दूध को और मेरी कमर को, मेरे पेट की चमड़ी को आटे की तरह गूंथ रहे थे और मैं एकदम मदहोश हो गई थी. पायल- पर ऐसे भी कोई चोदता है क्या?राहुल- मैं चोदता हूँ ना … पर अब तुझे किसी और की जरूरत नहीं पड़ेगी.

महानगरी एक्स इसी तरह से मैंने देविका को पूरी रात में चार बार अलग अलग पोजीशन में चोदकर उसकी चूत का भोसड़ा बना दिया था. इस पोजीशन में मुझे बहुत मजा आ रहा था और मुझसे ज्यादा मजा लच्छो को आ रहा था.

भाभी बोलीं- ये क्या कर रहे हो?मैंने कहा- मेरा ऐसे ही करने का मन है. वो भी नशीली आंखों से मेरी आंखों में देख रही थी और अपने होंठ चबा रही थी. शायद मेरे आने से सुनीता को भी कोई मर्द घर में रहना अच्छा लगने लगा था.

mummy सेक्सी वीडियो

फिर वो सोने की कह कर चैट खत्म करके सोने चली गई … मगर कुछ मिनट बाद ही उससे मेरी चैट फिर से शुरू हो गई. उन्होंने मुझे आवाज लगाई, जिसका मैंने उत्तर नहीं दिया ताकि उन्हें ऐसा लगे कि मैं गहरी नींद में सो रहा हूं. चार दिन के बाद ये सिलसिला थोड़ा कम हुआ और फिर केवल 2 या 3 बार ही चुदाई होती थी.

थोड़ी देर में मैंने अपने लंड का पानी श्वेता की चूत में भर दिया और निढाल होकर उसी के ऊपर लेट गया।हम यह सेक्स प्रेगनेंसी के लिए ही कर रहे थे. मैंने उसकी एक चूची को मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया और तेजी से उंगली से चूत को चोदने लगा.

बॉस मेघना को अपने सीने से चिपकाए हुए था और उसकी पीठ को जोर जोर से सहला रहा था.

अब किरण दो-दो लौड़े चूस रही थी जो रेशमा की चूत और गांड से बाहर आए थे. हमारे गांव में एक ही हायर सेकेंडरी स्कूल है, इसलिए गांव के सारे लड़के लड़कियां पढ़ाई के लिए उसी स्कूल में जाते हैं. मैं- आअहहह मादरचोद रंडी … पी जा मेरा पानी साली कुतिया आआह चूस मेरा लौड़ा … रंडी की जनी.

मैंने एयर कंडीशनर को फुल स्पीड पर चालू करके रुचिका के कपड़े उतार दिए और चादर खींच कर मैं भी नंगा होकर उससे चिपक कर लेट गया. कुत्ते का लंड कुतिया की चूत में फंस गया था और वो दोनों लंड चूत का मजा ले रहे थे. जल्द ही उसका पूरा बदन तेल से भीग गया और हम दोनों एक दूसरे से लिपट गए.

मैंने एक ओढ़नी अपने सर पर डाल ली, तो मैं खुद को देख कर मोहित हो गया.

एक्स एक्स एक्स नेपाली बीएफ: आंटी गपागप गपागप लंड चूसने लगीं और चूसते चूसते लंड का पानी निकाल दिया. मैं अपना सर उसके कंधे पर रखकर उसकी गर्म सिसकारियां महसूस करने लगा, उसके होंठों को चूसने लगा.

अबकी बार मेरा फिर से बारहवीं का एग्जाम होना था जिसका बस मुझे पेपर देने जाना था. मेरे बाद भाभी जी भी फ्रेश होकर आईं और हम दोनों ने एक दूसरे को बांहों में भर कर प्यार की बोहनी की. मेघना ने धीरे धीरे लंड मुँह में डाल लिया और किसी कुल्फी की तरह आगे पीछे करती हुई चूसने लगी.

अब मैंने उसकी गांड के नीचे तकिया लगाया और उसके मुँह पर हाथ रख कर एक और जोर का झटका दे मारा.

मैंने कहा- नहीं भाभी मैं आपकी मांग भरूंगा, आपने खुद कहा है कि आप मेरी भी वाइफ हो. मुझे अजीब सा लगा, लेकिन उसने मुझे बताया कि उसे चुत चाटना या उसका लंड कोई चूसे, उसे पसंद नहीं है. नमस्कार दोस्तो, मेरी अपनी सेक्स कहानी के पिछले भागदेसी भाभी की अनछुई जवानीमें अभी तक आपने जाना था कि किस तरह से मैं अपनी एक ग्राहक के लिए दिल्ली से राजस्थान पहुंच गया और उसके घर पर उसके साथ क्या क्या किया.