बीएफ बीएफ बीएफ व्हिडिओ

छवि स्रोत,सेक्स कांटेक्ट नंबर

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू फिल्म की ब्लू फिल्म: बीएफ बीएफ बीएफ व्हिडिओ, आपको इस सेक्सी इंडियन गर्ल स्टोरी का पूरा मजा अगले भागों में मिलेगा.

हिंदी सेक्सी वीडियो के साथ

उसने नीच बड़ी सेक्सी लाल रंग की ब्रा और पैन्टी पहन रखी थी, जिसमें वो बड़ी सेक्सी लग रही थी. भारतीय सेक्सी हिंदी वीडियोउसने पूछा- पापा आप सब कैसे हो?उन्होंने कहा- हम तो ठीक हैं, तुम किस होटल में हो.

काफी लम्बी चुदाई के बाद मैं अपनी चरम सीमा पर आ गया था, मैंने उसे बताया- अब मेरा झड़ने वाला है, कहां लेगा?मगर वो कुछ ना बोला. आशिका सेक्सीफिर मैंने ऊपर आना चाहा तो रागिनी चाची ने मुझे तेजी से ऊपर खींच लिया और मेरा पानी छोड़ रहा लौड़ा देख कर खुशी के मारे मचल गयी.

फिर उन्होंने मुझे बुलाया और बोलीं- बेटा हर्ष तुम शाम को आ सकते हो क्या?मैं बोला- हां आंटी जी, बिल्कुल आ सकता हूं.बीएफ बीएफ बीएफ व्हिडिओ: शबाना शायद फिर से चरम पा चुकी थी वो नशीली आवाज में बोली- आह मेरे अन्दर ही निकल जा … मुझे महसूस करना है.

अगले दिन मैं सुबह ऑफिस के लिए निकल रहा था तो वो दरवाजे पर ही खड़ी थी.वो मस्ती में मेरे लंड को चूसने लगी और मैं जैसे जन्नत की सैर करने लगा.

తెలుగులో సెక్స్ పిక్చర్ - बीएफ बीएफ बीएफ व्हिडिओ

वो तेजी से अपनी गांड को पीछे की ओर धकेल रही थी जिससे थप-थप की आवाज हो रही थी.वो अब मुझे जोर जोर से किस कर रहा था और उसका एक हाथ मेरी शॉर्ट्स के अन्दर पहुंच कर मेरी गांड को जोर जोर से दबा रहा था.

उसका उतावलापन देख कर मैंने कॉन्डम के पैकेट में एक कॉन्डम निकाला और फाड़ने लगा. बीएफ बीएफ बीएफ व्हिडिओ मैं- सच मामी?वो बोली- हां, तु्म्हारे अंदर मुझे कहीं से कोई कमी नहीं नज़र आती.

अपने होंठों पर पटकने लगी ताकि वो जल्दी से अपने चुदाई वाले आकार में आ जाये.

बीएफ बीएफ बीएफ व्हिडिओ?

घर के बाहर वाले बरामदे में मेहमानों के लिये दरी, गद्दों, तकियों का ढेर सा लगा था कि जिसे जो चाहिए ले लो. ऐसा करो इस महीने से दो आदमी के पैसे मुनीम से ले लेना … और रही बात कर्जे की, तो वो इस साल के आख़िर में पूरा हो जाएगा. प्रिया के मुंह से मस्त सेक्सी आवाजें निकल रही थीं- आह्ह … हंस … आह्ह … उम्म … आह्ह … बहुत मजा आ रहा है … आई लव यू हंस … आह्ह … आई लव यू.

कहकर मैंने आंटी के हाथ से कपड़े गिरा दिये और उनको दीवार के सहारे लगाकर उनके हाथों को ऊपर अपने हाथों से दबा लिया और उसकी गर्दन पर चूमने लगा. फिर मैं उनके पेट को चूमता हुआ नीचे आ गया और साड़ी के ऊपर से ही चूत को छूने की कोशिश करने लगा. फिर हम दोनों ने साथ में हॉट शॉवर लिया और पानी के नीचे भी एक बार मस्त चुदाई की.

मुनिया- छी: छी: भाबी आप कैसी गंदी बातें करती हो, मैं भला क्यों लेने लगी उसको मुँह में … और ऐसी चीज को कौन लेता है अपने मुँह में … ये सही नहीं है. अब विक्रम बोला- अब मैं रंग लगाऊंगा।मॉम मुस्करा दी।विक्रम ने रंग पहले मॉम के बालों में डाला।मॉम ने कुछ नहीं कहा।विक्रम ने मॉम के मुंह पर रंग लगाया. दूसरी बात उसमें शर्म तो है … मगर डॉक्टर के सामने तो बड़े बड़े नंगे हो जाते हैं, उसमें मीता क्या चीज है.

सुमन की वासना भरी सिसकारियां और आवाजें सुनकर सुरेश की नींद भी टूट गई और उसने भी आंख खोले बिना ही सुमन को कहा. मैं भाभी को चूमते हुए उन्हें चोदने की सोच कर बहुत गर्म हुआ जा रहा था.

इधर मैं एक बात बता दूँ कि लड़कियों को भी अपनी चूत चुदवानी इतनी ही अच्छी लगती है, जितना हम मर्दों को लंड हिलाना अच्छा लगता है.

मैंने सोचा कि अगर अब मैंने पहल नहीं कि तो चाची जैसा माल फिर कभी हाथ नहीं लगेगा.

आखिर आप मेरे भैसुर हैं, सेवा तो करनी ही पड़ेगी।उसके घूंघट से उसका चेहरा छुपा हुआ था. उसकी चूत पर लंड को रगड़ने लगा तो वो तड़प उठी और अपनी गर्म, गीली चूत को नीचे से उठाकर मेरे लंड पर रगड़वाने लगी. सर का लंड पकड़ कर मैं पहले से ही मचल रही थी और ऊपर से सर के सख्त हाथ मेरे बोबों को भींचने में लगे हुए थे.

उसकी गर्लफ्रेंड भी मॉडर्न ख्यालात वाली थी और जब भी उन दोनों को समय और मौका मिलता है, तब वो दोनों सेक्स करते हैं. उनके लन्ड के मुँह से भी उत्तेजना के मारे लार टपक रही थी। मैं तो आज सातवें आसमान पर उड़ रही थी. मॉम ने मेरे बाहर निकले गुलाबी सुपारे पर होंठ टिका दिये और मेरे लौड़े को मस्ती में चूसने लगी.

चूंकि चूचियों वाला हिस्सा ज्यादा उभरा हुआ था इसलिए कपड़ा छोटा पड़ रहा था और मॉम ने उसको कसकर लपेटा हुआ था.

मैंने उनकी ब्रा में मुंह देकर उनकी चूचियों की घाटी को जीभ से चाटना शुरू कर दिया. सन्नो- साला कमीना कितना अकड़ता है, मैं तो खुशखबरी देने गई थी, उल्टा मुझे ही भगा दिया, अब तो मैं उसको थोड़ा और तड़पाऊंगी. रघु थोड़ी देर वैसे ही पड़ा रहा, उसके बाद जब वो अलग हुआ, तब तक सुरेश ने कपड़े पहन लिए थे … और मीनू की आंखों में एक अलग ही नशा छा गया था.

उसकी पतली कमर के नीचे बड़ी बॉम्ब जैसी गांड देख लो, या तनी हुई मस्त चुचियां हों, या स्लिम पेट हो. जल्दी जल्दी काम ख़त्म करने के बाद मौसी ने कहा कि ठण्ड ज्यादा है, अब जल्दी से बिस्तर पर चलते हैं. सुमन- उउउह सुरेश, क्या कर रहे हो … कितनी अच्छी नींद आ रही है … मत करो ना.

मामी ने मुझे कसकर पकड़ लिया और मेरा 7 इंची लंड मामी की चूत में अंदर बाहर होने लगा.

उसके बाद मैंने उनको बाय करते हुए एक किस किया और फिर वहां से मधुराज जी के साथ निकल लिया. लंड अब कुछ तनाव में आ चुका था और भाभी ने जल्दी से लंड को वापस अंडरवियर में घुसाकर मेरी पैंट की चेन बंद कर दी.

बीएफ बीएफ बीएफ व्हिडिओ राहुल ने अपनी जीभ रूचि के मुँह में डाल दी तो रूचि अपने प्रेमी राहुल की जीभ को चूसने लगी. मैंने एक बार पहले धीरे से उसकी ब्रा के ऊपर से ही चूची को पकड़ लिया.

बीएफ बीएफ बीएफ व्हिडिओ वो कुछ देर बाद इतनी मस्ती में चूसने लगी कि जैसे लंड उसके लिए कोई लॉलीपॉप हो. फिर साबुन निकालकर अपने दोनों हाथों को अंदर डाल अपने लौड़े की सफाई में लग गए।उनकी बहू दूर से मुस्कराते हुए ये सब देखे जा रही थी.

मैं ‘अआआ उन्ह …’ करके अपने चूतड़ों उठा कर कासिब का लंड अपनी चूत में लेने लगी.

भोजपुरी xnx

अब वो मेरे लौड़े को धीरे धीरे हिलाने लगी और मैंने आंटी की साड़ी का पल्लू उनके ब्लाउज पर से नीचे गिरा दिया. सुरेश- आह ज़ोर से चूसो ऐइ … मैं गया … आह मेरा पानी निकलने लगा है आह. न्यू चूत की सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे गाँव के भोले लड़के ने सेक्स सीखने के लिए डॉक्टर से अपनी सेक्सी जवान बीवी को अपने सामने ही चुदवा दिया.

वो बोली- सारा तुम ही पी जाओगे तो मैं अपनी बच्ची को क्या पिलाऊंगी?फिर मैंने दोबारा से उनके होंठों को चूमना शुरू किया और चूसता रहा. फिर मेरी बुर पर लंड लगा दिया जो कुछ देर पहले ही चुदी थी और माल से भरी हुई थी. कुछ ही देर की चुदाई के बाद उसकी चूत इतनी गर्म हो गयी कि उसने एक बार फिर से पानी छोड़ दिया.

उसने फिर बट प्लग को मां के मुंह से निकाला और उसकी गांड पर दबाते हुए उसके छेद में पूरा डाल दिया.

उनकी चीख निकल पड़ी- हाय रे मार डाला तेरे लंड ने गलत छेद में एंट्री मार दी. मुझे उत्सुकता होती थी लंड को खड़ा देखकर क्योंकि मैं भी जवान हो रही थी. आंटी के मुंह से शराब की गंध आ रही थी जो मुझे और ज्यादा उकसा रही थी.

मैं सिसकारते हुए, उसकी देसी चुत में धक्के लगाते हुए बोला- आह्ह … बस … हो गया मेरी जान … आह्ह … बस दो मिनट और मेरी जान … हाय … तेरी देसी चुत … आह्ह … सोनिया डार्लिंग … चोद दूंगा तुझे।इस तरह से करीब 15-20 झटकों के बाद मेरा भी हो गया. कालू वहां से सीधा जंगल के रास्ते निकल गया और वहां उसको खबर मिली कि आज फिर कोई लड़की गायब हो गई. जैसे ही वीर्य निकलना शुरू हुआ मैंने उसको नीचे पटक लिया और वीर्य की बूंद बूंद उसकी चूत में निचोड़ दी.

उसकी चूचियों को मैंने एकदम से मुंह में भर लिया और जोर जोर से चूस कर पीने लगा. उनके लंड के आकार देख कर लग रहा था कि औजार 8 इंच का तो कम से कम होगा ही.

आज इस देसी बुआ की चुत चोदी कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने अपनी सगी बुआ को चोदा. मैंने थोड़ा फ़्लर्ट किया- मतलब आप हुस्न की परी और मैं हीरो … तब तो हमारे बीच बहुत कुछ हो सकता है. उसके बाद मैं उसे चूमता हुआ नीचे आया और फिर मैंने दांतों से उसकी पैंटी खींच दी.

अबकी बार मैंने भाभी को वॉशबेसिन पर झुका लिया और पीछे से उसकी गर्दन को चूमते हुए उसको चोदना शुरू किया.

उसने नीचे से पैंटी हुई थी और उसकी चूत के मुंह के ठीक बीच में एक गीला धब्बा बन गया था. मैं आपको कहानी के अगले भाग में बताऊंगा कि किस तरह मैंने भाभी को पटाकर उनकी चुदाई की. दोस्तो, गीता का कलर गेहुंआ था, नाक नक्शा तो अच्छा था ही, ऊपर से बला का फिगर था.

इस तरह से मेरी मां की करतूतें मुझे काफी समय पहले से ही पता लगनी शुरू हो गयी थीं. मैंने उसे उसके घर से कुछ पहले ही उतार दिया और मैं बुआ के घर चला गया.

भाभी फिर से चिल्ला उठीं- आं आंह मर गई … बाहर निकाल ले … मेरी जान चली जाएगी … साले मार ही डालेगा क्या मुझे … प्लीज लंड बाहर निकाल … वर्ना मेरी चूत फट जाएगी. मामी- तो तू कौन सा साठ साल का बुड्ढा है?मैं- तभी तो कह रहा हूं मामी. मैंने थोड़ी देर इंतज़ार करके फिर से बेल बजायी, फिर भी कोई जवाब नहीं आया.

जबरदस्ती चोदने वाला वीडियो

आह्ह … उसकी बड़ी सी गांड पर मेरा लंड लग गया था और मेरे लंड में झटके लगने लगे.

मैंने उनके दूध जैसे गोरे चूचों को अपने मुंह में भर लिया और चूसने लगा. मैंने उसकी गांड के नीचे तकिया लगा दिया और उसकी चूत की पोजीशन को सेट कर दिया. उन्होंने अपने ब्लाउज के दो बटन खोले और बायां स्तन बाहर निकाल कर मेरे होंठों में ऐसे रख दिया, जैसे वे अपने बच्चे को दूध पिला रही हों.

लगभग 5 मिनट बाद मैं बुआ में पीछे लेट गया और पीछे से अपना लंड उनकी चूत में डाल कर धक्के मारने लगा. इस बार वो आराम से चूत चुदवा रही थी। मैं भी पूरी ताकत और जोश से सीमा मामी की चूत चोद रहा था। जोर से चुदते हुए मामी एक बार फिर से झड़ गयी. ಚಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಚಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಚಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋहम दोनों वहां पहुंचे, तो देखा कि फार्म हाउस को हमारे स्वागत के लिए आकर्षक रूप से सजाया हुआ था.

मैंने कहा- अरे कपड़े तो बदल लेने दो?ये सुनकर मेरे पति सर के सामने ही मेरी साड़ी खोलने लगे. चचा का लंड फुफकार रहा था और वो किसी भी हालत में मानने के मूड में नहीं लग रहा था.

मैं अपना आंचल नीचे गिरा देती और खूब झुक झुक कर मौसा जी को खाना परोसती. अपने माथे पर अपना हाथ पटकते हुए बोली- ओह्ह यह उसका हर रोज का ड्रामा है. मैं झड़ने जैसा तो पहले ही फील कर रही थी सो उनके आठ दस धक्कों में ही मैं निपट गयी और उनसे जोंक की तरह लिपट गयी; मेरी चूत से रह रह कर रस की फुहारें छूट रहीं थीं.

मैं पानी भरने लगा और भाभी के पेटीकोट में उनकी गीली गांड देखकर लंड सहलाता रहा. ये क्या … मैं दंग रह गया कि अभी दो दिन पहले तो अम्मी के चूत पर बाल थे और अब बिल्कुल चिकनी चूत थी. मौसी एक हाथ से मेरा सिर पकड़ कर मेरे होंठों को चूस रही थी और दूसरे हाथ से मेरे लंड को कसकर मसल रही थी.

इस बार में गाली देकर चिल्लाई- आह … बहनचोद … चोद दी मेरी मां … साला लंड है या टावर … आह तोड़ दिया मेरा एक एक अंग … कमीने.

जैसे ही मेरा हाथ भाभी की जांघों के बीच में ऊपर तक गया तो भाभी की चूत से हाथ टकरा गया. पापा- बेटा सारे कार्ड पहुंचा दिए?मैं- हां पापा, बस अब रसिक अंकल के घर का कार्ड बाकी है, मैं उनके घर ही जा रहा हूँ.

दो मिनट बाद उसने मेरे होंठों को छोड़ दिया और बदन ढीला छोड़कर चुदने लगी. सुरेश- क्यों मीता कैसा लगा … क्या तुम्हें आज मज़ा आया?मीता- उफ्फ बाबूजी ये क्या था? आपने मेरे मुँह में डाल दिया, अजीब सा स्वाद था उसका. कमरे में ले जाकर राहुल ने मुझे बेड पर बिठाया और खुद वापस आने का कह कर एक बार बाहर चला गया.

उफ्फ … कितनी गर्म हो चुकी थी उनकी चूत!धीरे से मैंने उनकी चूत में एक उंगली डाल दी और अंदर तक दे दी. हम दोनों नीला को दर्द भरे मजा देने की लिए रेडी थे और नीला भी थ्री-सम का अपन पहला अनुभव लेने के लिए. पर आज जब वो जा रही थीं, तो नीलिमा आंटी ने मेरा लंड पैंट में खड़ा देख लिया था और हंसकर चली गयी थीं.

बीएफ बीएफ बीएफ व्हिडिओ उसके पिता को दिल की बिमारी थी और मैं नहीं चाहता था कि उसके पिता को मेरी वजह से कोई परेशानी हो. अब हम दोनों एक ही बिस्तर पर बेड पर दीवार का सहारा लेकर अगल बगल में बैठे थे.

सेक्सी बीपी साड़ी वाली

कुछ ही देर में उन दोनों के लौड़े गर्म हो गए और उन दोनों ने एक एक बार मेरे मुँह में पानी छोड़ दिया था. अगर नहीं हो रही है तो अपनी चूत में उंगली करना शुरू कर दीजिये क्योंकि जल्दी ही आपकी चूत को मैं गर्म करने वाला हूं. मैंने उसके बालों को पकड़े और अपना पूरा का पूरा लंड उसके मुँह में दबा दिया था … तो उस बेचारे को मेरे लंड का पूरा रस पीना पड़ा.

मैं फिर से उसे चोदने लगा। मैं उस जवान लड़की का सारा रस पी जाना चाहता था. अब मौसी से नहीं रहा गया तो उन्होंने अपनी रज़ाई को दूसरी तरफ कर दिया और मेरी रज़ाई में घुस गयी और मेरी बाँहों को कस कर पकड़ लिया. सेक्सी ऑंटी झाव झावीइसी बीच उसने बताया कि शादी के बाद अब तक उसने किसी के साथ कोई चुदाई नहीं की है.

कहीं तुम्हें बुरा लग जाए कि कोई गैर मर्द तुम्हारी पत्नी के साथ ऐसे कर रहा है … और शायद मीनू को भी बुरा लगे.

विक्रम जब बाहर आया और उसने मेरी हालत देखी, तो रूमाल को भिगोकर मेरी गांड साफ़ कर दी. करीब 2 बजे एक साया कमरे में दाखिल हुआ और नाइट बल्व की रोशनी में सुमन के नंगे जिस्म को निहारने लगा.

अरे बेटा अभी आसपास कोई नहीं है, तू चिंता मत कर!” वो बोले और मुझे यहां वहां मसलने चूमने लगे. मैं उसकी इन कामुक आवाजों से और जोश में आ गया और उसके बोबों को जोर जोर से दबाने लगा. फिर लन्ड सेट करके ऐसा धक्का मारा कि उसका पूरा लन्ड मेरी गांड में उतर गया.

मैं तो लाज के मारे कार में गड़ी जा रही थी पर विशाल लंड से चुदने की अभिलाषा मुझे बेशर्म बनने और सबकुछ सहन करने पर मजबूर किये थी.

भाभी जब आईं, तब मैं उन्हें देखता ही रह गया, भाभी के पूरे शरीर में बहुत बदलाव आ गया था. आज पहली बार में ही मेरा 5 मिनट में माल निकल गया … और वो भी साली पूरा वीर्य पी गई. उसके हाथ मेरे सिर के पीछे मेरे बालों को सहला रहे थे। मैं अपने हाथों से कपड़ों के ऊपर से ही उसके मस्त 34 साइज़ के चूचों को दबा रहा था।वो धीरे-धीरे गर्म होने लगी थी.

रक्षाबंधन के बारे में बताइएअम्मी की उम्र 41 साल है, लेकिन उनकी फिगर 34-32-36 को देख कर ऐसा लगता है कि अम्मी अभी 32 साल की ही हैं. अभी 2 मिनट भी नहीं हुए थे कि वो बोला- चल मुड़ जा, आज तेरी गांड मारनी है.

ठाकुर की सेक्सी फोटो

कपिला का हाथ मेरी पैंट पर पहुंच कर मेरे लंड को सहला रहा था और मैं उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी चूत को हथेली से सहला रहा था. मैंने उसे चूमने के लिए चेहरे के पास गया … तो उसकी सांसें तेज तेज चल रही थीं. मैंने भाभी को पलट लिया और अब वो पीठ के बल लेट गयी और उसके मोटे मोटे चूचे ऊपर आकर विपरीत दिशाओं में डोल गये.

एक बार मैं उसकी गांड मारने की सोचकर उसे अपने घर ले आया और …दोस्तो, मैं किशोर अहमदाबाद से हूँ. वो मेरी अम्मी के एक दूध का निप्पल मींजता हुआ बोला- बड़े मस्त दाने हैं आपके. न्यूज सुनी तो मेरे पांव तले से जमीन खिसक गई, पता चला कि तीन दिन तक सब बंद है.

घर में कोई शोर शराबा नहीं है, चाचा-चाची कहां गये?मैंने बोला- गांव में एक रिश्तेदार की मौत हो गई है. मैंने उससे अशोक के सामने खड़ी कर दिया और कहा- जान, अन्दर से पानी ले आओ. वो मेरे कान में सरसराते हुए बोली- सच बोलो … तुमको मैं क्या इतनी सेक्सी लगती हूँ?उसकी इस बात पर मैंने उसकी कमर को जकड़ लिया और उसे अपनी ओर खींच लिया.

भाभी बोली- अगर वो तैयार भी हो गये तो कितनी देर टिकेंगे, उनके साथ करने का फायदा ही क्या है?इस पर मैंने पूछा- उनकी दवाईयां अभी भी चल रही हैं क्या?भाभी बोली- हां, चल रही हैं, क्यूं क्या हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं, बस पांच मिनट रुको, मैं अभी आया. मैंने वहीं किचन में बाकी पूरी रात उन्हें चोदा और वहीं फर्श पर हम दोनों नंगे सो गए.

जैसा कि मैंने पिछले भागबंगाली भाभी की ननद की अन्तर्वासना- 2में बताया था कि बंगाली भाभी को मैंने भाईसाहब से चुदवाने के लिए कहा और वो चुद भी गयी.

थोड़ी देर बाद उसको भी मज़ा आने लगा और वह नीचे से अपनी गांड उठा कर चुदने लगी और बोलने लगी- मामा और तेज … और तेज मामा … चोदो मुझे भी, जैसे आप अम्मी को चोद रहे थे, वैसे ही मुझे भी चोदो … मैं भी आपके लंड से चुदना चाहती थी. मारवाड़ी सेक्सी पिकफिर वो मुझे अपने घर ले गया जहां पर उसके पांच दोस्त और उसकी बहन व बहन की सहेली होली खेलने आये हुए थे. जबरदस्ती कहानीदूसरे हाथ से उसने लंड की शाफ्ट को थाम लिया और चमड़ी को आगे पीछे करने लगी. सर अपने लंड को जोर जोर से हिलाते हुए मेरी चूत चोदने की बात कर रहे थे.

समधी जी भी मस्ती में मेरी चुत गपागप पेलते हुए आहें भर रहे थे- आह कितनी मस्त चुत है तुम्हारी मेरी जान.

जब भाभी आईं, तब उन्होंने सफ़ेद रंग की लैंगिंग्स और काले रंग की कुर्ती पहनी हुई थी, जिसमें से उनके शरीर का पूरा आकार एकदम साफ़ दिखाई दे रहा था. इतना बोलकर आपा ने उसको बेड पर अपने पास बिठा लिया और मुझे इशारा कर दिया. बीच बीच में मैं सांस लेने के लिए लंड मुंह से बाहर निकालती फिर मौसा जी की ओर देख कर लंड को चूम लेती और फिर गप्प से मुंह में भर लेती.

मेरे मुँह से आवाज निकली, तो उसने अपने हाथ से मेरा मुँह बंद कर दिया और जोर जोर से मुझे चोदना शुरू कर दिया. उसने मेरे लंड को मेरी फ्रेंची के ऊपर से सहलाया और फिर मेरी निक्कर का बटन खोलने लगी. आंटी ने एक बार फिर से मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

बघेल किसे कहते हैं

जाने से पहले वो एक बार फिर मेरे गले से लग गयी और मुझे एक लम्बा सा फ्रेंच किस किया. बच्चा होने के बाद कुछ दिनों तक सोनिया ने चुदाई में खूब मजे लिये और मैंने भी. उसने पूछा- क्या?मैंने कहा कि आज रात तुम मेरे रूम पर चलो, वहां वैसे भी मैं अकेला हूँ.

तू तो अभी जवान है … इसलिए तेरी चूत की खुजली तो सिर्फ कासिब का लंड ही शांत कर सकता है.

चूंकि अब मैं कमाने लगा था और उम्र भी शादी लायक हो गयी थी तो मेरे पिताजी अब मुझे शादी के लिए टोकने लगे थे जबिक मेरा मन उस वक्त शादी करने का बिल्कुल नहीं था.

कहां मैं अवनी की झलक पाने की लालसा में सब कुछ पीछे छोड़कर आ रहा था और यहां एक और रोड़ा बीच में आ अटका. अब हम दोनों के दोनों एक दूसरे के सामने पूरे के पूरे नंगे ही खड़े थे. kajal సెక్స్शायद वो पहले भी चुद चुकी होगी क्योंकि जिस तरह से वो मजा लेना चाह रही थी उससे पता चल रहा था कि वह लंड का स्वाद ले चुकी है.

तभी दूसरे रूम से भाभी की आवाज आई- सोनिया?वो मुझे पीछे धकेल कर जल्दी से रूम से बाहर निकल गयी. क्या मटकती थी यारो उनकी गांड! देखते ही मन करता था कि उसकी साड़ी को उठाकर उसकी गांड में लंड घुसा दूं. फिर मैंने भाभी की गर्दन पर किस कर दिया, लेकिन भाभी ने कुछ नहीं बोला.

ब्लैक ब्रा में कैद रूचि के एकदम गोरे गोरे मम्मों को देखकर राहुल मानो पागल हो रहा था. अब मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और ताबड़तोड़ झटके मारने लगा। मुझे आंटी की चुदाई करने में मस्त मजा आ रहा था.

नीलिमा- अच्छा … तो ये पैंट में क्या खड़ा है?वो ये कहकर हंसते हुए बाहर चली गयी और मेरी तरफ देख कर आंख मारते हुए एक नॉटी सी स्माइल दे गई.

मेरे अंडरवियर के पांयचे से शायद उन्हें मेरे लंड के दोनों तरफ का हिस्सा नजर आ रहा था. देखते देखते तभी लाइट चली गई। अब मैंने मेरा मोबाइल निकाला और मामीजी को वीडियो दिखाने लग गया। वीडियो देख देखकर हम दोनों बहुत हंस रहे थे और एक दूसरे को टच कर रहे थे।तभी मेरे दिमाग में एक शातिर विचार आया। मैंने सोचा कि इनको कुछ ऐसा दिखाया जाए जिससे ये खुद चुदने को तैयार हो जाए। अब मैंने सोच लिया था जो होगा वह देखा जाएगा. मैंने दीक्षा से कहा कि जो मैंने सेक्स टाइम बढ़ाने की और लंड कड़क करने की दवाइयां उसको दी थीं, तुम वो लेकर आओ.

नया साल का सेक्सी भाभी ने मेरे कहे मुताबिक रूम को पहले से ही अंदर से बंद करके रखा हुआ था. बाहर आकर मैंने आकांक्षा को कॉल किया, लेकिन उसने पिक नहीं किया … शायद किसी काम में बिजी होगी.

उसमें मैंने एक ब्लू-फिल्म देखी, जिसमें भाई बहन की चुदाई दिखाई गई थी. एक आदमी ने अम्मी को अपने ऊपर बैठा लिया और ब्लाउज़ के ऊपर से उनके मम्मों को दबाने लगा. इस तरह चुदाई का भरपूर आनंद लेने के बाद हम शाम होने से पहले ही घर लौट आये.

सेकशि वीडियो

मैंने रवि का दूसरा हाथ अपने कंधे पर डाला और हम दोनों उसको बेडरूम की ओर ले जाने लगे. बॉटम गे लव स्टोरी में पढ़ें कि एक गे साईट पर मुझे एक गांडू लड़का मिला. जब मुझे यहां का काम समझ आ जायेगा और थोड़ा सेटल हो जाऊंगा तो तुम्हें अपने पास बुला लूंगा.

मैंने बहुत ही अच्छे अंकों से पास कर लिया और फिर वापिस घर आकर कम्पटीशन की तैयारियां करने लगी. अंकल भी समझ रहे थे कि आंटी अकेली हो जायेगी इसलिए वो बस इतना बोलकर मुस्करा दिये.

नीचे से पेटीकोट उठा कर पैंटी को निकाला और पेटीकोट को जांघों के ऊपर ही रहने दिया.

मैंने अचानक से अपनी पट्टी खोल दी और देख कर हैरानी जताने लगा, जैसे मुझे कुछ पता ही न हो. इन सब के ब्लाऊज के पतले कपड़े उन बड़े-बड़े बूब्स को थामने में असमर्थ थे. रात हुई तो मैंने पीडी में अमेरिकन ब्यूटी अनकट फुल मूवी आशिक़ बनाया और कुछ बेड सीन गाने और कुछ पोर्न वीडियो डाल दिए थे.

मैंने नताशा को जोर से भींच लिया और कुत्ते की तरह उसकी चूत को फाड़ने लगा. उसने पिंक कलर की टी-शर्ट डाली हुई थी, जो उसके आधी गांड को ही ढक पा रही थी. इतना बोलकर वो फिर अपने बिस्तर पर जाकर लेट गयी और मेरी शादी के विषय में बात करने लगी.

दो दिनों की ऊहापोह के बाद जीत आखिर चूत की ही हुई; मौसा जी के लंड की पहली ही ठोकरों ने मेरे जीवन भर के अच्छे संस्कारों को कुचल कर रख दिया था.

बीएफ बीएफ बीएफ व्हिडिओ: मैं यही सोच कर पागल सी हो रही थी कि अभी बस हाथ पर ही चुम्बन किया है, आगे आगे क्या क्या होगा और उससे मेरी क्या हालत होने वाली है. राहुल उठा और केक से सने हुए अपने होंठों को मेरे होंठों और जीभ से मिला दिया.

बुआ ने अपना एक हाथ मेरे गले में डाल दिया और एक पैर मेरे ऊपर रखकर लेट गईं. हमारे इतने बुरे दिन आ गए थे कि सुबह से शाम तक यही सोचना पड़ता था कि कैसे घर चलाऊं. अब वो मादकता से चिल्लाने लगी और बोलने लगी कि आह्ह … अब जल्दी से कुछ करो … मुझे अब और न तड़पाओ … मैं मर जाऊंगी.

मेरी पैंट के ऊपर से मेरे लंड को सहलाते हुए बोली- राजा … तेरे लिए मैंने सोनिया की चूत को गर्म कर दिया है.

सन्नो- आह मज़ा आ गया … चोदो आह अब तेज़ी से चुदाई करो आह आज कई दिनों की प्यास बुझा दो मेरी … सस्स आह. वो बेड पर पेट के बल लेट गयीं और मैं उनकी कमर और पीठ पर हल्के हाथ से मसाज देने लगा. जैसे ही धक्का दिया, उनकी मीठी ‘आहह …’ निकल गई- कुणाल आराम से चोद … एक अरसे बाद चुदवा रही हूँ.