भोजपुरी सेक्सी वीडियो हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी डांस रिकॉर्डिंग

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी सेक्सी फिल्म: भोजपुरी सेक्सी वीडियो हिंदी बीएफ, कुछ इस तरह दो लंडों का मजा देने के बाद हमने अपने लौड़ों को बाहर निकाल लिया.

जानवरों की नंगी सेक्सी फिल्म

चुत का पानी झरने की तरह बह रहा था और मैं जितना पीने की कोशिश करता, वो उतना ही ज्यादा निकलता।भाभी ने कहा- अब और ज्यादा मत तड़पाओ … अब इसकी आग शांत कर दो. अरे यार सेक्सीमैंने सोचा कि अब तो बस ये जल्दी से घर आ जाये तो मेरी आंखों को भी सेंकने का मौका मुझे मिल जाये.

परीशा- बेकार में … उउफ्फ़ … मेरी जगह आप होते तो मालूम चलता … अभी भी कितना दुख रहा है … धीरे करो पापा!मुकुल- बेटी, अब तो चला गया है ना पूरा अंदर … बस कुछ पलों की देर है. भंवरी की सेक्सीमैंने कहा- तो अब तक कितनों को चोदा है?अंकल ने बोला- इतनी औरतों को संतुष्ट किया है कि मुझे खुद भी याद भी नहीं है.

यह सुनकर मेरे मन में खुशी का ठिकाना नहीं रहा, लेकिन फिर भी मैंने ये बोलते हुए मना कर दिया कि ज्योति मेरी बहू है और मैं कैसे आकर बात करूंगा.भोजपुरी सेक्सी वीडियो हिंदी बीएफ: उसकी चुत चूसते हुए, कभी मैं उसकी चुत के दाने को सहला देता, कभी पूरी जीभ उसकी चुत में डाल देता, जिससे वो देर तक काबू न कर सकी और झड़ गई.

हाँ सीमा और राजीव ने ये जरूर कहा कि ग्रुप सेक्स उन दोनों की फेंटेसी है, अगर कभी जिन्दगी में सभी की सहमति हो तो इस बारे में सोचना.दोपहर के एक बजे का समय हो चला था और मैं नहा कर बाथरूम से निकल आया था.

इंडियन वाली सेक्सी पिक्चर - भोजपुरी सेक्सी वीडियो हिंदी बीएफ

वो कराह उठी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ और बोली- जीजा जी, अब इसको आपका औजार चाहिए.राहुल को अपनी ओर घूरते देख सारिका ने एक कातिल मुस्कराहट उस पर डाली और लाईट बंद करके एक मद्धिम रोशनी जला दी और रिमोट से टीवी भी बंद कर दिया.

तब तक शिवानी भी कपड़े उतार कर नंगी हो गई और अपने दोस्त को अपनी चूत खोल कर दिखाने लगी. भोजपुरी सेक्सी वीडियो हिंदी बीएफ अतः सुपारे से ज्यादा नहीं घुसा, जल्दी ही गांड में घुसा हुआ लंड भी निकल गया क्योंकि वह आगे पीछे धक्के न देकर अगल बगल में बार बार मूव कर रहा था और वह मुझे चित करने को जोर लगा रहा था.

कुछ देर बाद उसने दिशा बदल ली और मेरा लण्ड मुंह में ले लिया, उसकी चूत पर मेरी जीभ और उंगलियां चल रही थीं.

भोजपुरी सेक्सी वीडियो हिंदी बीएफ?

” महेश ने अपनी पत्नी का हाथ पकड़कर अपने लंड पर रखते हुए कहा।मैंने कहा न, अब मुझसे यह सब नहीं होता, बस … आज के बाद मेरे क़रीब मत आना। मैं अब इस उम्र में भगवान की पूजा पाठ करके अपने ग़ुनाहों की माफ़ी माँगना चाहती हूं. धीरे-धीरे करके आंटी की मैक्सी पूरी पेट पर जाकर सिमट गई लेकिन आंटी ने अपनी मैक्सी को ऊपर नहीं किया और ऐसे ही उनके पेट पर पड़ी रहने दिया. साथ ही मैं आप लोगों का गुनाहगार भी हूँ क्योंकि पिछले आठ वर्षों में मैंने अनगिनत अंतरंग संबंध बनाए हैं पर जब भी आप लोगों के लिए कुछ लिखना चाहा तो कंफ्यूज हो गया कि क्या लिखूं!एक वाकया लिखता तो उससे बेहतर दूसरा याद आता … दूसरा लिखता तो तीसरा याद आता.

मेरी गांड से उनका वीर्य बाहर रिस रहा था, जो कि मैंने अपनी उंगलियों पर लेकर चाट लिया. वे मुझे बेड पर ले जाकर लेट गईं और मेरे लंड को मसलते हुए मेरे ऊपर ही सो गईं. वीना आंटी मेरा खड़ा लंड देखते हुए मुझसे बोलीं- अब तुम खड़े हो जाओ … पहले मुझे तुम्हारे लंड की दारू पीनी है.

लाइट ऑन होते ही वो डर गई और उन्होंने पता नहीं क्यों मेरा विरोध करना शुरू कर दिया. मगर उनको क्या पता था कि मैंने अपनी चूत की गर्मी सोनू के लंड से शांत करवा ली थी. जब मैंने उसकी चूत में अपना पानी छोड़ा, वो फिर से झड़ गयी और उसने मुझे जोर से पकड़ लिया.

मैंने भाभी के दूधिया मम्मों को अपने हाथों में जकड़ लिया और उनके दोनों चुचों को भींच कर उनके बीच में अपना लंड फंसा दिया. मैं- तो फिर आप ही सोच लो कि क्या हुआ होगा … इस रंडी ने भी तो मुझे चाबुक से मारा था, मेरा बदन पूरा काट दिया था.

फिर वीना आंटी बोलीं- वरुण अब नहीं रहा जाता मेरी जान … बस जल्दी से डाल दो.

मेरे दो तीन बार कोशिश करने के बाद भी मैं उसके चूत में अपना झण्डा नहीं गाड़ पाया।अब रहम करने की बारी नहीं थी.

पार्टी उसके दोस्त के किसी फार्महाउस पर थी, वहां पर सिर्फ उसके दोस्त और उनकी गर्ल फ्रेंड्स थीं. शिवानी ने कहा- सागर तेरे लंड ने मेरी चूत के साथ क्या किया … या क्या करेगा, आज वो सिवा तुम्हारे और मेरे किसी को नहीं पता लगेगा. जब वापिस आया, तो उन्होंने डाइनिंग टेबल पे जूस और खाने का सामान सजाया हुआ था.

पिछले भाग में आपने पढ़ा कि लॉज का मैनेजर मेरी चूत को पेल रहा था और जीजा सामने कुर्सी पर बैठे हुए अपना लंड हिला रहे थे. मेरी चूची बहुत बड़ी है और मेरी चूची को वो बहुत मजे से चूस रहा था और दबा रहा था. मैंने कहा- अर्पित … क्या तुम ऐसा चाहते हो कि मैं अपने सर से चुदवाऊं?उसने कहा- मैं नहीं चाहता, पर तुम्हारे सर तुमको चोदना चाहते हैं.

लेकिन मैंने उनकी चूत को बदस्तूर चाटना जारी रखा, जिससे भाभी की चूत फिर से गर्म हो गई थी.

कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि शॉपिंग से वापस आते वक्त कार में बैठे हुए बहन की सहेली ने मेरे लंड पर हाथ रख कर मेरे अंदर की कामाग्नि को इतना भड़का दिया कि मन करने लगा कि मैं वहीं उसके चूचों को जोर से दबाते हुए उसके होंठों को काट डालूं. राहुल ने उनको कहा कि वो लोग अगर अच्छी स्वीमिंग करना चाहते हैं तो स्विम सूट में आयें न कि सलवार सूट में. मैं- क्या चाचा ने आपकी चूत और नाभि को कभी नहीं चाटा चाची?चाची- नहीं … वहां भी कोई चाटता है क्या?मैं- अरे चाची जान, आपने अभी तक ज़िन्दगी की असली मज़ा नहीं लिया है.

मैं जब टीचर थी, तब भी सूट ही पहनती थी और चंडीगढ़ में भी सूट ही पहनती थी. एक दिन मौका पाकर मैंने उससे कहा- क्या सेक्स करना चाहोगी मेरे साथ?तो उसने जवाब दिया- कैसे और कहां?मैंने कहा- अगर तुम तैयार हो तो स्कूल के बाथरूम में!लेकिन कैसे?”मैंने उससे सारी बात बताई तो वो उसके लिए तैयार हो गई।मैं उसे लड़कों के बाथरूम में ले गया, दरवाजा अंदर से बंद कर लिया. मैंने भी नाटक शुरू किया और कहा कि ये कैसे मुमकिन है … और मुझे आपका आधा घरवाला बनने के लिए क्या करना होगा?भाभी बोलीं- कुछ नहीं पगले, तुझे तो मुझे खुश करना है.

उसने आगे कहा- डिनर पर तुम एक माल लग रही थी, तभी मैंने तुमको चोदने का प्लान बना लिया था.

मैंने उसकी कमर पर हाथ फेरते हुए उसे इतने जोर से पकड़ लिया, जैसे मैं उसे अपने अन्दर समा लेना चाहता हूँ. चयन ने मेरा लंड अपनी गांड में लेने के बाद कहा- मोंटू आज तुमने मुझे बहुत मज़ा दिया.

भोजपुरी सेक्सी वीडियो हिंदी बीएफ सारिका के बैठते ही पंकज ने उसे किस किया तो सारिका बोली- क्या कर रहे हो?पंकज बोला- राहुल तो हमें कई बार ऐसे देख चुका है. मेरी एक सहेली सोनिका मेरे बहुत ही करीब है और हम दोनों एक दूसरी से सब कुछ शेयर करती हैं.

भोजपुरी सेक्सी वीडियो हिंदी बीएफ मैं उनके पास गई तो प्रशांत ने मेरे मुंह में लंड दे दिया और मैं जोर से उसके लंड को चूसने लगी. मासूम चेहरे पर उसकी बड़ी बड़ी काली आंखें एक अलग ही छाप छोड़ने में सक्षम थीं.

उसका लंड घुसते ही मैं फिर से चिल्ला दी- उई माँ … म्मर गई … आहह … बचा … लो.

छत्तीसगढ़ी पिक्चर सेक्सी वीडियो

तुरन्त ही तुम्हारे ससुरजी ने अपने होंठों को मेरे होंठों में बुरी तरह फंसा लिया और अपनी जीभ से मेरी जीभ को दबाते हुए सारी तम्बाकू अपने मुँह में खींच ली. कुछ देर तक अपने नंगे शरीर को उसके नंगे बदन पर रगड़ने के बाद मैंने उसकी जांघों के पास हाथ कर लिया. उन्होंने लंड निकाल कर मुझसे कहा- मेरे मुँह में माल निकालो, मुझे तुम्हारा माल पीना है.

उसकी चूत की चुदाई करते हुए ऐसा लग रहा था कि मैं किसी टाइट कुंवारी चूत की चुदाई कर रहा हूं. मेरी बेटी जैसे ही बाथरूम में नहाने के लिए गई तो मेरे पति ने आकर मुझे पकड़ लिया और मेरे चूचे दबाने लगे. इस धकापेल में कब राहुल के हाथ सारिका के मम्मों की गोलाई नाप गये पता ही नहीं चला.

अब मैं तुझे झटके मारने लगा और मॉम भी नीचे से कमर हिला हिला कर मेरा पूरा साथ दे रही थीं.

मैं वो विदेशी दवाई को निकालने लगा, उसको कैसे यूज़ करते हैं, ये सब पढ़ रहा था. इस तरह से मैंने गर्लफ्रेंड और चचेरी बहन को चोदा पूरे सात दिनों तक … मुझे मजा आ गया. वह उसके पास पहुंची और उसके हाथों को अपने हाथों में लेकर उंगलियों को उलझा दिया.

”अब इससे क्या फायदा … पता नहीं ऐसा मौका फिर मिले न मिले!”सॉरी यार … तुम बोलो मैं तुम्हारी और क्या मदद कर सकती हूं … इस गलती को सुधारने के लिए मैं कुछ भी कर सकती हूं. तभी अंकल ने मुझे कुतिया बना दिया और मेरी चूत में लंड लगा कर मुझे रगड़ने लगा. किसी तरह मैंने उसकी जाँघे फैला दीं और उसके बीच में आ गया। वो बार बार मुझे कुछ भी करने से रोक रही थी, इस वजह से मैं अपनी पैंट भी नहीं खोल पा रहा था। कभी-कभी उसके चेहरे पर गुस्सा दिखता था और कभी शर्म। वो अपने सिर को यहां-वहां झटक रही थी और मेरे सिर के बालों को पकड़ कर खींच देती थी.

फिर उन्होंने मुझे अपने बेड पे बिठाया और अपनी बांहों में भर कर मेरे होंठों को चूमने लगे. हाय उम्म्ह… अहह… हय… याह… स्सस … सेक्सी रंडी … तुझे कैसा लग रहा है मेरा लंड?” मैंने आनंद के बहते सागर में गोते लगाते हुए पूछा.

उसकी गति पहले से ज्यादा तेज हो गई थी और मेरे चूचे मेरी छाती पर झूलते हुए यहाँ-वहाँ डोलने लगे. उसकी जीभ अब सिर्फ सुपारे पर ही नहीं बल्कि उसके आस पास तक घूम रही थी. और सच कहूँ दोस्तो … मुझे याद नहीं कि रात कब तक ये दौर चला।सुबह नींद खुली तो भाभी भी नींद से जागी हुई थी पर बेड पर साथ में लेटी थी।वो दो दिन शनिवार रविवार थे और हमने छुट्टी का पूरा लुत्फ उठाया। फिर अगले दो महीने तो मेरी बेरोकटोक मज़े थे.

उसकी मुस्कुराहट अंकित को थोड़ा आराम देती है लेकिन फिर भी बहुत विश्वास के साथ नहीं.

यह सुन कर मैंने फिर से लौड़ा थोड़ा तेज़ी के धक्के के साथ अंदर किया जिससे संजना की गांड में मेरा आधे से ज्यादा लौड़ा चला गया और गांड अंदर से छिल गयी और शायद मेरा लंड भी।फिर भी मैंने इस बार आखरी धक्का देने के लिए लंड को थोड़ा पीछे खींच कर एक और धक्का दे दिया जिससे पूरा 6. थोड़ी देर में मैंने उसके मम्मों को सहलाया और चूसा तो उसको राहत मिली. आपको मेरी इस गांड चुदाई की कहानी पर क्या कुछ कहना है, प्लीज़ कमेंट्स कीजिएगा.

उस दिन के बाद मोनाली ने मुझसे कभी भी सेक्स की बातें नहीं की, ना मैंने उससे ऐसा कहा. फिर मैंने उनके माथे को चूमना शुरू कर दिया और अपने हाथों से उनकी पीठ और चूतड़ों को रगड़ कर सहलाने लगा.

रात को चाची ने अपने बेटे को यानि मेरे चचेरे भाई को खाना खिलाकर सुला दिया उसके बाद हम दोनों ने भी खाना खाया और मैं थोड़ी देर टीवी देखने लगा. और फिर मुझे होश आया कि मैं सच में भाभी के साथ था और उनकी चूत मार चुका था. मेरी एक टांग उठा कर उसने हवा में कर दी और अपने लौकी टाइप के लंड को चूत में डाल कर मुझे चोदना शुरू कर दिया.

चोदा चोदी सेक्सी हिंदी वीडियो

मैं थोड़ा थूक लेकर भाभी की नाभि पर रगड़ने लगा और जोर जोर से धक्के लगाने लगा.

मैं उसके बाजू में जा कर लेट गया और उस्ताद के वापिस मस्ती में आने का इंतज़ार करने लगा, लेकिन शायद मुझसे ज़्यादा जल्दी मेरे उस्ताद को थी, जैसे ही मैं उसके पास लेटा, उस्ताद तुरंत वापिस हरकत में आ गया. पूरा बिस्तर पसीने से भीग गया था इसलिए मैंने रोशनदान भी खोल दिये ताकि जल्दी से पसीने की गंध बाहर निकल जाये. तो वो दोनों भी संभले और अपने अपने कपड़े ठीक करके वो भी ड्रिंक्स टेबल की ओर चल दिये.

शायद वो मेरे द्वारा की गई हरकत को भूल चुकी थी या फिर वो जान बूझ कर नॉर्मल व्यवहार कर रही थी ताकि मैं भी नॉर्मल हो जाऊं. और फिर मुझे होश आया कि मैं सच में भाभी के साथ था और उनकी चूत मार चुका था. हरियाणवी सेक्सी वीडियो डाउनलोडवो बोला- अपनी फु्द्दी, अपनी चूत… जो भी कहती हो उसको, उसे दिखा दो अब।उसके कहने पर फिर मैंने अपनी चड्डी उतार दी.

गाना खत्म हुआ तो अगला गाना था:हुस्न के लाखों रंग कौन सा रंग देखोगे,आग है यह बदन कौन सा अंग देखोगे. इसकी चूत को तो भर दिया तूने हरामी लेकिन मेरी प्यासी चूत को भी तेरा लौड़ा चाहिए.

वो बोली- आप ये क्या कर रहे हैं?मैंने कहा- तुम्हें नहीं पता मैं क्या कर रहा हूं?वो बोली- ये ठीक नहीं है. उसके बाद मैंने उसकी ब्रा को भी उतार कर उसे ऊपर से पूरी नंगी कर दिया. और वो थी वहाँ!मैंने जैसे ही उसका प्रोफ़ाइल देखा, एक मैसेज भेज दिया हैलो का।तुरंत ही उसका जवाब आया और उसने कहा कि वो मेरे ही मैसेज का इंतज़ार कर रही थी.

कुछ समय बाद मैं कार से उतरा और ज्योति के पास आकर उससे सॉरी बोलने की सोचने लगा. मैं ठीक उसके पीछे जाकर खड़ा हो गया और अपनी दोनों टांगें थोड़ी सी चौड़ी कर ली. फिर मेरी सासुजी ने आगे बताया- मेरी चूत चाटने के बाद वो मेरे ऊपर आ गए, मैं पूरी तरह पागल हो चुकी थी.

वो मुझे नीचे लिटा कर मेरे ऊपर आ गयी और फिर से मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया.

पिंकी तो बेशर्म थी … दोनों बाहें फैला कर राजीव से बोली- ओह माय लव …और राजीव के पास बैठ गयी. हम दोनों हड़बड़ा गए; मैंने जल्दी से अपने लोअर को ऊपर किया, हर्ष साइड में बैठ गया.

फिर बुआ ने कहा- अगर चाहो तो नीचे रह जाओ या अगर ज्यादा गर्मी लगे ऊपर ही सोने चलो. गीले अंडरवियर को दोनों हाथों से खींच कर घुटने मोड़ते हुए टखनों से निकाल कर एक तरफ डाल दिया. कोई 5 मिनट चूसने के बाद भाभी बोलीं- इंद्र, अभी हमारे पास बहुत समय है, पहले अन्दर बैठकर कुछ बातचीत करते हैं, बाक़ी काम उसके बाद.

मैं सोच रहा था कि चाची खुद ही मेरे लंड को मुंह में लेने के लिए कहेगी लेकिन चाची मेरे लंड को मुंह में लेने के लिए पहल नहीं कर रही थी. मुझे इस पोज में बहुत ज्यादा मजा आता था इसलिए अब मेरा झड़ना पक्का था. मैं दोबारा से जोर देकर पूछा- कुछ ऐसी-वैसी बात है क्या?वो कहने लगी- उनके पास मुझे देने के लिए वक्त ही कहां है.

भोजपुरी सेक्सी वीडियो हिंदी बीएफ मगर उसके लिए तुम्हें जीजा-साली के प्रोग्राम में हममें से भी एक को शामिल करना पड़ेगा. इस बात का कुछ असर हुआ और सागर ने चड्डी छोड़ कर सारे कपड़े उतार दिए.

सिंह की सेक्सी

मेरी सेक्सी चोदन स्टोरी आपको कैसी लगी दोस्तो … प्लीज़ मुझे मेल करके जरूर बताएं. कहानी का पिछ्ला भाग:जिगोलो बनने की राह-2दोस्तो, भाभियो और हॉट गर्ल्स, मैं आपका राज, आपके सामने फिर से उपस्थित हूँ. मैंने पूछा- क्या हुआ?इधर दोस्त भी घबरा गया और उसकी पत्नी भी।उसकी पत्नी ने मेरी बीवी की चूत से उसके हाथ हटाकर उसकी चूत को खोलकर देखा तो पता पड़ा कि उसकी चूत में काफी अंदर तक समुद्र की रेत चली गई है!हमने भी देखा कि उसकी चूत में काफी ज्यादा रेत भर गई थी और उसे तकलीफ हो रही थी.

उन्होंने कहा- बेटा, तुम्हें अकेले डर लगता है, तो तुम यहां मेरे पास ही सो जाओ. परीशा का दिल ज़ोर ज़ोर से धड़कने लगा। तभी मुकुल राय ने एक ज़बरदस्त धक्का लगा दिया और उनका लंड चूत को चीरता हुआ पूरा अंदर समा गया।आऐ ययईईई… आआअहह … आह. नई नई दुल्हन की सेक्सी वीडियोमैं भी बहुत दिन से सेक्स करना चाहती थी और मेरी सहेली तो अपने बॉयफ्रेंड से सेक्स करती थी तो मुझे और भी ज्यदा सेक्स करने का मन करता था.

फिर उस लड़के ने बताया कि अनु की मम्मी कोमल के पापा से खूब चुदती हैं.

परवीन- देखो हम जो कर रहे हैं, ये एक बड़ी गलती है, इससे हमें बहुत प्रॉब्लम आएगी. हमेशा साड़ी में रहने वाली ज्योति की कमर देख कर मेरे दिल को मानो सुकून मिल जाता था.

शायद चाहती तो वह भी थी कि मैं उसके साथ ये सब करूं लेकिन वो सारा का सारा इल्जाम मेरे सिर पर रखना चाह रही थी. हां आप ठीक समझे … भाभी की प्यारी सी चुत की मालिश करने बारी आ गई थी. परीशा- अब तो आप खुश हो ना?मुकुल राय- हां बेटी … अच्छा तुम मुझे गिफ्ट देने वाली थी ना? क्या है वो तेरी स्पेशल गिफ्ट?परीशा मुस्कुराकर- आप गेस करके बताइए? आपकी इस समय सबसे बड़ी इच्छा क्या है, मैं वो पूरी करुँगी। वही आपका स्पेशल गिफ्ट होगा।मुकुल राय- मेरा तो इस समय सबसे ज़्यादा मन तेरी गाण्ड मारने को कर रहा है.

उसमें जमा हुआ वीर्य और सूज गयी चूत देख कर बेचारी डर गई ‘हाय राम, कितनी बेरहमी से चुदाई की है! कितनी सूज गयी है.

यह सुनकर मुझे पहले थोड़ा अजीब सा लगा कि दीदी मुझसे ये सब क्यों कह रही हैं. मेरे इस आखिरी धक्के से उसके होंठ खुलने के साथ ही उसके मुंह से एक कराहना फूट पड़ी. उनके निप्पल खड़े हो गए थे … क्योंकि मुझे उनके निप्पल महसूस हो रहे थे.

सेक्सी हिंदी बीपी सेक्सी बीपीमैं सबके मेल्स पढ़ती हूँ और जितना हो सकता है, उतनों के रिप्लाई भी देती हूं. कहीं इसने मेरे दोस्त पवन को कुछ उल्टा सीधा बता दिया तो बचपन की दोस्ती टूट जायेगी.

हॉट भोजपुरी सेक्सी गाना

मैंने गेट खोला, तो सामने अंकल खड़े थे मैंने पूछा- आप इस समय पर?तो वे बोले- मुझे तुमसे बात करनी है. उसके थोड़ी देर बाद फिर एक बार फिर उसने मेरा लंड पकड़ा और अपने मुलायम मुलायम हाथों से सहलाने लगी. उसके बाद मैंने उसे बहुत बार चोदा। अब जब भी टाइम मिलता है वो मुझसे अपनी चूत की चुदाई करवा लेती है और हम दोनों ही मजे करते रहते हैं.

यह सुनकर मेरी तो खुशी का कोई ठिकाना ही ना रहा क्योंकि आज मैं एक कुंवारी गांड मारने जा रहा था. माँ हर्ष को देखकर बोली- बेटा तुम कब आये?हर्ष- बस आंटी जी अभी आया हूँ. थोड़ी देर बाद जब उसका दर्द खत्म हुआ तो हम दोनों तैयार होकर अपने अपने घर निकल गए.

उनकी इस दो अर्थी बात से मुझे कुछ समझ आया, तो मैंने कहा- पूरा चैन चाहिए तो फिर मुझे आपके ऊपर चढ़ना पडेगा. बहू जल बिन मछली की तरह महेश से अपने आप को छुड़ाने की कोशिश कर रही थी … उसे डर लग रहा था कि किसी ने अपनी छत से उन्हें इस तरह देख लिया तो क्या होगा? लेकिन चारों तरफ छत पर बाउंड्री भी बनी हुई थी और शायद महेश इसी बात का फायदा उठा रहा था।महेश ने नीलम की गांड को अपने हाथों से थामते हुए उस पर एक चुटकी काट ली. उसने मेरी चुत पर हाथ लगा कर एक दबाव दे दिया, इससे उसका लंड चीरते हुआ और अन्दर घुस गया.

मैंने अपनी पैंट खोली और वहीं पर अंडरवियर निकाल कर नीचे से नंगा हो गया. उसकी चीख निकल गई उम्म्ह… अहह… हय… याह…मैंने उससे कहा- क्या हुआ … तुमने कभी सेक्स नहीं किया क्या?उसने कहा- किया तो है लेकिन तुम्हारे फूफा के सिवाए किसी और साथ नहीं किया.

लंड के अंदर घुसते ही मैं जोर से चीखी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’और उन्होंने अपने होंठों को मेरे होंठों पर रख दिया.

लेकिन वो कहानी आपके रेस्पॉन्स[emailprotected]पर मिलने के बाद लिखूंगा. सेक्सी हिंदी में चुटकुलेशुरू से ही जवान लंड को चूसने का, सहलाने का, उससे चुदवाने का शौक लगा हुआ था. सेक्सी इंग्लिश बीपी सेक्सी इंग्लिश बीपीनीलम अब मैं तुम्हें कैसे समझाऊँ?” समीर ने गुस्से से बेड पर मुक्का मारते हुए कहा।अरे इतना गुस्सा मत हो और अब जाओ यहाँ से, तुम्हारी बहन चुदाई के लिए तुम्हारा इंतज़ार कर रही होगी. उसके बड़े गुलाबी सुपारे को देख कर मेरे मुँह में पानी आ रहा था। पर मैं अपना उतावलापन उन्हें नहीं दिखाने वाली थी, मैंने सिर्फ उसके लंड पर हल्का सा किस किया।ऐसे नहीं भाभीजी … ठीक से चूसो!” अमित अपना लंड मेरे मुँह में घुसाने की कोशिश करने लगा.

मैंने उससे कहा- मैं झड़ने वाला हूँ … माल कहां निकालूँ?उसने कहा- मामा, अन्दर ही निकालो, भर दो मेरी चूत को अपने पानी से.

मेरी कहानी कैसी लगी? मेल कर अपनी राय जरूर भेजिएगा।[emailprotected]. मम्मी के जाने के बाद मैंने लगातार आंटी के बारे में सोच कर दो बार मुठ मारी. वे सेक्सी सिसकारियां ले रही थीं और धीमी आवाज में बोल रही थीं- चोद दे मादरचोद … अपनी मॉम को चोद दे … और जोर से चोद … साले रंडी बना कर चोद … आह अपनी मॉम की चूत को फाड़ दे … आह मेरी चूत को बना दे भोसड़ा.

मैंने अपने दोनों पैरों को मोड़ कर रुचि को अपने नीचे लिटा लिया और मैं ऊपर आ गया. परीशा का दर्द के मारे बुरा हाल था। उसे पक्का विश्वास था कि आज तो फिर से उसकी गांड ज़रूर फटेगी. शाम को वापस आते समय काफी जाम हो गया था तो हमें रात के 11 वहीं पर बज गये थे.

एक्स एक्स एक्स वीडियो राजस्थानी सेक्सी

मेरी पिछली कहानी थीडॉक्टर साहब की गांड मराने की तमन्नाअब मेरी नयी गे कहानी का मजा लें. जैसे ही मैंने उसकी चूत पर अपना लंड रखा, वो अपनी कमर ऊपर उठाने लगी और मैं उसके होंठों को चूसने लगा. माँ बोली- अभी तक तूने खाना भी नहीं बनाया है?मैंने कहा- मुझे गर्मी लग रही थी इसलिए मैं थोड़ी देर बैठ गई थी.

मेरी नाभि मेरी कमजोरी है, उसकी नुकीली और खुरदुरी जीभ से मैं तो जैसे पागल सी हो गयी थी.

वो मुझे चूमने लगी और कहने लगी- मैं आज पहली बार इतने प्यार से चुदी हूँ.

कभी काजल सुमिना के चूचों को चूस लेती तो कभी सुमिना आशा के चूचों को मुंह में भर रही थी. मैं उन्हें चूसने लगा, तो भाभी ने रुकने का इशारा करके मुझे पास सोफ़े पे बिठाया और ख़ुद नीचे बैठके मेरा लंड चूसने लगीं. सेक्स व्हिडीओ डॉट कॉम सेक्सीवो साथ में ये भी बोल रही थी कि सच में आज मुझे सेक्स का सही आनन्द मिला है.

इसी जद्दोजहत में कहानी धरी रह जाती थी।खैर उम्मीद करता हूँ कि कहानी पढ़ने के बाद आप लोग मुझे माफ़ कर देंगे।आइये अपने बारे में बताता हूँ. बात जायज़ थी क्योंकि मर्द तीन दिन को जा रहे थे तो एक्स्ट्रा चुदाई तो बनती ही थी. उसने शायद नीचे से ब्रा नहीं पहनी हुई थी क्योंकि अभी तक मुझे उसकी ब्रा की पट्टी नहीं दिखाई दी थी.

ये बात उन दिनों की है, जब मैं 19 साल का था और 12 वीं पास करके इंदौर आया था. राहुल ने उससे कहा कि उसे सिखाने के लिए उसे सीमा के पैरों को पकड़ कर उठाना पड़ेगा.

मैंने उसके दोनों मम्मों को दबाना चालू किया, तो वो मदहोश होने लगी और मादक सिसकारियां भरने लगी.

इसलिए ध्यान को बंटाने के लिए मैं यहां-वहां की बातों में अपने मन को लगाने लगा. मैं उसके बुलाये बिना ही उसके पास चली गई और नीचे बैठ कर उसके तने हुए लंड को फिर से मुंह में लेकर चूसने लगी. मैंने उसको दोबारा से नीचे गिराया और उसके बदन पर लेट कर उसके होंठों को चूसते हुए उसकी चूत की चुदाई शुरू कर दी.

सेक्सी सेक्स बीपी सेक्सी उसकी मासूम सी आंखें, मखमल सा बदन बार बार मेरा लंड खड़ा कर दे रही थी. मेरी नजर टीवी पर कम और अनीता के चूचों की क्लिवेज पर ज्यादा जा रही थी.

आगे की सेक्स स्टोरी में मैं आपको बताऊँगी कि मैंने ममता को कैसे अपने गांव में चाचा ससुर के लंड से चुदवाया और मज़ा लिया. जैसे ही मेरा आधा लंड उसकी गांड में घुसा, तो वो ज़ोर से चीखने लग गई, छूटने की कोशिश करने लगी. मैं अपने घर जा रहा था, तो उन्होंने मुझे रोका और पूछा- कहां जा रहे हो?मैं बोला- अभी कपड़े बदल कर आता हूँ.

सेक्सी इंग्लैंड वाला

उसने अपने हाथ ऊपर किये और शबनम का टॉप ऊपर करके उसके मम्मों को अपने मुख में ले लिया और गलती से निप्पल पर काट दिया. लेकिन मैंने उनकी चूत को बदस्तूर चाटना जारी रखा, जिससे भाभी की चूत फिर से गर्म हो गई थी. पहले क्यों नहीं दिखलाई?उसने कहा- सही कहूँ, तो मुझे लगा कि आज शिवानी ने मेरे आत्मसम्मान को ललकारा है.

तभी वो ये भी बोला कि वो मेरी मॉम से प्यार करता है और उनको हर सुख देना चाहता है. मैंने पूजा से पूछा- पवन कहाँ है?उसने बताया- वो तो ट्रेनिंग पर दो महीने के लिए जयपुर गये हैं.

मैं एक और बार ज़ोर से अन्दर डाल दिया, पूरा डिल्डो अन्दर घुस चुका था.

उसके इस व्यवहार से एक मिनट के लिए तो मैं भी हैरान हो गया था कि ये क्या हो गया. फिर उसका गर्म मूड बन जाता, उसके बाद वो बेड पर वो घमासान मचाती है कि पूरी रात नशे में हम दोनों एक दूसरे के जिस्मों में कैसे बीत जाती है, पता नहीं चलता है. ये कहते हुए उसने मेरे लंड को पकड़ लिया और बोला- हां यार यह तो खड़ा हो गया.

मैंने पूछा- ऐसा क्या हो गया दीदी?उन्होंने इस पर मुझे कुछ भी बताने से इंकार कर दिया. झड़ने के बाद मैं उनके ऊपर ही गिर गया और उनके मम्मों के ऊपर सर रखकर लेट गया. वह बोला- अपना तो दिखा?मैंने कहा- रहने दे, फिर कभी!उसने हाथ बढ़ा कर मेरा लंड अंडरवीयर के ऊपर से सहलाया तो खड़ा हो गया.

तब तक मेरी चूत का पकोड़ा बन चुका था। पर उसका लन्ड फिर भी अच्छा लग रहा था। रॉकी ने चुदाई पूरी करके लन्ड बाहर निकाला.

भोजपुरी सेक्सी वीडियो हिंदी बीएफ: तभी मुझे एहसास हुआ कि शायद उसका दूसरी बार भी स्खलन हो गया, क्योंकि उसकी पकड़ मेरे बालों पर कमज़ोर पड़ रही थी. जैसे ही मैंने घर में गाड़ी पोर्च में रोकी, वो फाटक से उतर कर गेट की तरफ भागीं.

ऋतु ने लम्बी सी ड्रेस पहन रखी थी जिसकी बाजू आधी थी और रेस्तरां की लाइट में उसके गोरे हाथ चमक रहे थे. महेश ने उसके मम्मों को दबाना और मसलना शुरू कर दिया।नीलम- क्या कर रहे हैं पिताजी? छोड़िए न … आटा गूँथने दो न!महेश- तुम आटा गूंथो और मैं तुम्हारे ये मोटे-मोट मम्में! महेश ने अपनी बहू की बड़ी बड़ी चूचियों को मसलते हुए कहा।वो अपनी बहू की चूचियों को बुरी तरह मसल रहा था, रौंद रहा था और इसके साथ ही वो उसकी गर्दन चेहरे को चूमता जा रहा था. हम दोनों एक बार चीख उठे- आआह ऊऊह … बहुत मज़ा आया …परवीन- कैसा मस्त लंड पकड़ा है तूने रेशमा … थैंक्यू जीशान.

मैंने नींद में ही बड़बड़ाने का नाटक करते हुए कहा- दीदी प्लीज, एक बार करने दो न।दीदी बोली- अगर करना ही है तो मर्द की तरह कर, ऐसे बुजदिल बन कर क्यों कर रहा है.

मैं एक जवान मर्द कब तक किसी सुंदर और सेक्सी लड़की की इस हरकत से खुद पर काबू रख सकता था. आंटी यहां पुणे में अकेली ही अपनी दो लड़कियों के साथ रहती हैं जिनमें से एक जॉब करती है जो मेरे से बड़ी है और दूसरी मेरे से 1 साल छोटी है वो जीव विज्ञान की पढ़ाई करती है. मैं तेजी से दीदी की चूत में डिल्डो को डाल कर उसको आगे पीछे कर रही थी तो दीदी को एकदम से पेन होने लगा.