हिंदी का सेक्स बीएफ

छवि स्रोत,सेक्स बीएफ ब्लू सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

मोटी लड़की के बीएफ: हिंदी का सेक्स बीएफ, वो भी लगातार ‘आह आह आह आह …’ कर रही थीं और कमर हिला हिला कर अपनी चूत को मेरे मुँह पर रगड़ रही थीं- आह … आह … आग लगा दी आह!अब उनके चेहरे से साफ पता चल रहा था कि वो अब बहुत तेज तेज लंड मांग रही हैं.

बीएफ फिल्म दिखाओ बीएफ हिंदी में

अनिकेत भैया, विवेक और लूसी पिछले दरवाजे से घर में लगभग 10:30 बजे अंदर आए. घरेलू बीएफ एचडीमौसी Xxx कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी गर्लफ्रेंड की मौसी के साथ रियल ओरल सेक्स कर चुका था.

दारू पीते पीते अंकल बात करने लगे- तुम्हारी कोई गर्लफ्रैंड है क्या?मैं- नहीं, अभी तो नहीं है!अंकल- तुम तो बड़े स्मार्ट हो, अभी तक कैसे नहीं बनाई?दोस्तो, मेरा कद 5 फुट 7 इंच है, वजन 77 किलो, रंग गोरा और दिखने में औसत या औसत से थोड़ा अच्छा हूँ. वीडियो बीएफ बीएफ बीएफ वीडियोमैं सब सवाल जवाब भूल कर दोनों हाथों से उनके चुचे ज़ोर से मसलने लगा था.

धारा- हम्म … ये बात सच है कि ललित मुझे हर बात बता देते हैं, लेकिन आज सुबह मैं काफ़ी देर से उठी और ललित से बातें नहीं हो सकीं.हिंदी का सेक्स बीएफ: इस काली नेट की साड़ी के साथ मैचिंग का लो कट ब्लाउज बहुत आग लगा देने वाला था.

ये शर्ट वाकयी इतनी चुस्त थी कि उसके बटन के बीच में से मेरे सीने के पास से खुल सा गया था.उसकी बात सुनकर मैं एकदम से चुप हो गयी और मेरी चुप्पी में उसने मेरी रज़ामंदी भी भांप ली.

बीएफ वर्ल्ड - हिंदी का सेक्स बीएफ

मैंने भाभी के होंठों को चूसना शुरू कर दिया और धीरे धीरे झटके मारने लगा.उन लोगों को शायद जानकारी नहीं थी इसलिए वो सब रिजर्वेशन डब्बे को खाली देख कर उसमें चढ़ गए थे.

मैंने उसे कहा- ठीक है, लेकिन जब अंधेरा हो जाए और सब लोग सो जाएं तो बाथरूम में आ जाना. हिंदी का सेक्स बीएफ यह फ्रेंड मॉम सेक्स कहानी पुणे में रहने वाले मेरे एक दोस्त की अम्मी की चुदाई की है.

लेकिन मां बेटे की चुदाई की कहानियों को पढ़ने के बाद मैं मां के साथ सेक्स करने की सोचने लगा और अपनी सौतेली मां को एक मस्त चोदने लायक माल की नजर से देखने लगा.

हिंदी का सेक्स बीएफ?

ऐसा नाटक कर रही थी कि मानो उसे पता ही न हो कि उसके नाइटी उतारने से मेरे लन्ड की हालत क्या हुई है लेकिन उसकी आँखों में शराब का नशा छाने लगा था. 5 मिनट में ही अमित जोर जोर से झटके देने लगा तो मैं समझ गयी कि यह झड़ने वाला है. जब मैं उसके घर पहुँचा तो उसका पति अपनी छोटी बेटी और बेटे के साथ कार में कहीं जा रहा था.

मैं- तुम्हारी मां पूछेगी तो क्या कहेगी?उसने कहा- उन्हें मैं समझा लूंगी. जब कभी भी हम तीनों को टाइम मिलता था तो उस वक्त मेरे देवर पीछे रहते थे और उनका दोस्त आगे. जब मैंने उसको अपने शरीर में ऊपर से बांधा, तो वो इतना झीना कपड़ा था कि उसमें मेरा शरीर पूरा दिख रहा था.

अंदर कमरे में पहुंच कर धारा ने शेखर को वहीं खड़ा किया और उससे अलग हो गयी, शेखर को कुछ दिख तो नहीं रहा था लेकिन वो इतना महसूस कर सकता था कि धारा कब उसके क़रीब थी और कब उससे दूर हो रही थी. कुछ मिनट बाद मैंने उठ कर मां के कमरे की खिड़की की झिरी में आंख लगा दी और अन्दर का मस्त नजारा देखने लगा. उधर भाभी अपनी चूत को आगे आगे करती जा रही थीं- आहह हहह आआआ ऊउम मादरचोद … कुछ कर अब … भोसड़ी के आह हहह!मैंने अपना हाथ भाभी के ब्लाउज पर डाला और एक झटके में एक तरफ से फाड़ दिया.

मैं लण्ड अंदर डाले फ़लक के ऊपर लेटा रहा और जगह जगह से फ़लक को चूमता रहा. चूचियों पर रखी हुई हथेली इतनी मज़बूती से फंसी हुई थी कि चाह कर भी शेखर अपनी उंगलियों या फिर हथेलियों से धारा की चूचियों को दबा या सहला नहीं पा रहा था.

कोई 15 मिनट की चुदाई के बाद मेरा और उसका पानी आने को हुआ तो मैंने पूछा- कहां निकालूं?जिस पर वो बोली- अन्दर ही डाल दो … मेरी चूत की प्यास बुझा दो.

रात में तो बिना ब्रा पैंटी के हाफ नाईटी में या सिर्फ ब्रा पैंटी पहन कर सोती है.

मैंने अपने लंड को समझाया कि मान जा साले लौड़े … थोड़ी देर में ये गांड चुत सब तू ही चूसने वाला है. सेक्सी रीमा की 32 इंच की कसी हुई चुचियां और उन पर उसके भूरे रंग के चूचुक देखकर निखिल कामातुर हो गया. कभी मैं उसकी गांड के छेद को अपनी उंगली से सहला देता तो नीतू वासना मचल जाती और मुझसे और जोर से चिपक जाती।मैंने नीतू के कान में धीरे से बोला- डाल दूँ?तो नीतू ने तुरंत अपनी गर्दन हाँ में हिला दी.

क्यों न भरतीं, उनकी मस्त चुदाई जो हो रही थी … वो भी अपने सगे बेटे के मजबूत लंड से. इस तरह की कामुक बातों से हम दोनों एक बार से उत्तेजित होने लगे और मेरा लंड अकड़ने लगा. उसके व्यक्तित्व में एक गजब का आकर्षण था, जो मुझे अपनी ओर खींच रहा था.

कुछ कमाने के लिए मैंने जयपुर की एक आलीशान बिल्डिंग में कंप्यूटर जॉब का काम शुरू कर दिया.

मैं- हैलो … हां जी कहिए?उधर से आवाज आई कि क्या आप टूरिस्ट कैब चलवाते हैं?मैंने कहा- हां. आंटी बोलीं- तुम बहुत दिनों के बाद आए हो … पहले तो हर दिन बात करने आते थे. मैं यहां पाठकों को बताना चाहती हूं कि मम्मी की शादी कम उम्र में हो गई थी.

नेहा- तुझे आगे और सुनना है या चूत की गर्मी निकालने के लिए ब्रेक चाहिए?स्नेहा- दीदू, थोड़ी देर बाद बात करते हैं. अब धीरे धीरे मैं उसके पेट और नाभि को चूमता चूसता हुआ नीचे उसकी चूत तक आ गया. आपने मेरी पिछली सेक्स कहानीगांव की देसी बहू ने मुझसे चूत चुदवायीपढ़ी और आपका ढेर सारा प्यार मुझे मिला.

इस तरह से तीन दिन तक गगन और प्रियना दोनों को नंगे ही स्टेज पर रखा गया.

उसने अपने मामा से अपनी पहली चुदाई की कहानी मुझे पूरे विस्तार से बताई. मैंने फ़लक को गोद में ही पलटा और उसके सुड़ौल गोरे चूतड़ों पर हाथ फिराने लगा.

हिंदी का सेक्स बीएफ इसी तरह हम घर आ गये।फिर रात को मैंने इसी सब को याद करके अपनी चूत में उंगली की और सो गई।इसी तरह दिन बीत गए लेकिन मैं उसको सेक्स के लिए नहीं बोल पाई थी।वो भी मेरे बदन को अकेले में याद करके मुठ मारता था और अक्सर मुझे मेरी ब्रा और पैंटी पर वीर्य के धब्बे दिखाई देते थे. पब्लिक सेक्स सिस्टम की कहानी के पिछले भागगली मोहल्ले में खुल्लम खुल्ला चुदाईअब तक आपने पढ़ा था कि गगन की मां सुम्मी ने सारे नगर के सामने मंच से, अपनी बेटी प्रियंका की सील तोड़ने के लिए उसके भाई गगन का ही नाम लेकर सबको खुश कर दिया था.

हिंदी का सेक्स बीएफ मैंने सोचा कि चलो रहने दो, मां को भी अपनी जिस्मानी भूख मिटाने की जरूरत होती होगी, तभी तो वो ऐसा कर रही हैं. मैं नेहा को सीने से चिपकाते हुए बोला- मगर मेरा तो गोश्त खाने का मन है.

मैंने जैसे ही एक जोरदार धक्का मारा, तब उसकी तो जैसे जान ही निकल गई.

प्यार मोहब्बत वाला सेक्सी वीडियो

उसकी चूत का गर्म गर्म पानी मेरे मुंह में आने लगा जिसको मैं साथ ही साथ पूरा चाट गया. हैलो मेरी जान से प्यारे मेरे दोस्तो, मैं आपकी प्यारी सबीना, एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी में स्वागत करती हूँ. आंटी ने हां कर दी और रूम में आ गईंउन्होंने टीवी फिर से चलाया और मुझे अकेला बैठा कर आंटी दूसरे रूम में चली गईं.

अब प्रशांत मेरी चूची पी रहा था और अपनी उंगली से मेरी चूत चोद रहा था. आज मेरे बेटे की वजह से तुम्हारा लंड मिल गया तो मेरा सपना पूरा हो गया. मुझे भी बिल्कुल पसंद नहीं ये जाम!शेखर- ख़ैर छोड़िए, ये बताइए कि आपने मेरी और ललित जी की बातें पढ़ीं क्या?एक पल को धारा ख़ामोश हो गयी और उसने शेखर के सवाल का कोई जवाब नहीं दिया.

मैं सोचने लगा कि भाभी की मुस्कान तो हरी झंडी दे रही है मगर किस हद तक वो मेरे साथ खुलती हैं ये अभी मुझे समझ नहीं आ रहा था.

शन्नो देखने में सांवली जरूर थी लेकिन अब मुझे उसके रंग रूप से कोई मतलब नहीं था. वो सेक्सी आवाज में बोली- मुझसे कौन करेगा दोस्ती!मैंने हंसते हुए कहा- मैं हूं ना … और मैं भी तो यहां अकेला हूं, मुझे भी आप जैसी एक हसीन दोस्त मिल जाएगी. मयंक का इशारा मिलते ही मैंने संगीता की चूत में लंड को चलाना शुरू कर दिया.

हाय … शेखर को ऐसा लगा मानो धारा उसे अपने चूसने की कला का परिचय दे रही हो!शेखर ये सोच कर और भी रोमांचित हो गया कि जब धारा उसकी उंगलियों को इतने प्यार से चूस सकती है तो शायद वो उसके लंड को भी आज चूस कर उसे जन्नत का सुख देगी. भाभी के गहरे गले वाले ब्लाउज में से इतने गोरे गोरे चुचे मुझे मानो पागल करने लगे थे. अनिकेत भैया- काम करने दो ना पहले, अभी तो हम मजा लेंगे।मगर हम जिद करने लगे तो भैया बताने लगे.

मैं एक हाथ को धीरे धीरे पेट पर फेरते हुए उनकी साड़ी के अन्दर डालने लगा. मैं तुमसे तुम्हारा लंड भीख में मांग रही हूं … आह मुझे चोद दो, फाड़ दो मेरी कमीनी चूत को … जल्दी से चोद डालो मेरी चूत को … फाड़ डालो प्लीज मुझे चोद डालो.

धीरे धीरे मैं रूचि के कान के पास चूसने लगा, इससे उसे सहा न गया और उसने मेरे लंड को पकड़ लिया और हिलाने लगी. मैं यहां पाठकों को बताना चाहती हूं कि मम्मी की शादी कम उम्र में हो गई थी. मैं अभी उनसे कुछ और पूछता, तब तक भाभी ने कुछ सोचा और मेरी तरफ देखने लगीं.

पसीने से भीगी हुई सोनम कुछ देर के लिए वहीं सोफे पर बैठ गयी और उसने जी भर के पानी पीकर अपना सूखा गला तर किया.

तो उर्वशी बोली- यार थोड़ा आराम से करो ना … मैंने कभी इतने बड़े लंड से सेक्स नहीं किया है. मैं अपने ख्यालों से बाहर आया तो मैंने उससे कहा- ये क्या कर रहे हो?वो बोला- दवाई अन्दर लगानी है, तो ये अन्दर जाकर दवाई लगाएगा. मुझे हल्का दर्द होने लगा था पर मुँह में चड्डी की वजह से आवाज़ नहीं आ रही थी.

कुछ देर उन्होंने मेरी चूत को चाटा और खाया और फिर अपने लंड का सुपारा मेरी चूत पर रगड़ने लगे. अंजू आंटी का फिगर 34-32-36 का है और अंकल 45-46 साल के एक बिज़नेसमैन हैं.

मयंक संगीता की सिसकारियां सुनकर समझ गया कि अब संगीता गर्म होने लगी है और इसकी गांड में लंड को चलाने का एकदम सही मौका है. गौतम ने मेरी चुदाई किस तरह की, वो सब मैं मेरी जवानी की कहानी के अगले भाग में लिखूंगी, आप अपनी राय मुझे कमेंट्स में बताएं. लेकिन भाभी मुझे बार बार रोकने की कोशिश कर रही थींभाभी के मम्मों का रस चूसने की मस्ती में था मैं!मैं उसी समय फुर्ती से अपने कपड़े उतारने लगा.

खरगोन की सेक्सी वीडियो

तभी मेरे पति का फ़ोन आया और उन्होंने मुझसे पूछा कि कहां पहुंची … मतलब मुझे आज शाम तक ही वापसी करनी थी, लेकिन मैंने कुछ सोच कर आज यहां रुकने का फैसला कर लिया था.

वो मुस्कुराती हुई बोली- क्या हुआ बाबू … मुझसे डर गए क्या?मैंने कहा- क्यों?तब वो कुछ नहीं बोली और हंसती रही. काफी देर तक उनकी चूत चोदने के बाद मैं झड़ने को आया, तब तक भाभी 2 बार झड़ चुकी थीं. हॉट आंट सेक्स कहानी में मेरे दोस्त की अम्मी की दूसरी जोरदार चुदाई है.

मैंने उससे पूछा- ये क्या कर रहा है?वो बोला- तू बता, तू ये सब क्या कर रही थी?मैं- तू कमरे में अन्दर कैसे आया?वो बोला- तेरा दरवाज़ा खुला था. मुझे ध्यान आया कि रात को मेरे बाथरूम जाने के बाद चाची गई थी और उन्होंने अपना गीला पेटिकोट देख लिया था. कुमारी लड़कियों के बीएफराज को तड़पता हुआ देखकर साहिल अमित और विशाल की भी सांस अटक गई, वे उठने लगे तो मैंने उनको आदेश दिया- कुत्तो, लेटे रहो.

मैं और भाभी अब बहुत खुश हैं और हर रोज़ मुझे मेरी खूबसूरत, सेक्सी भाभी के साथ चुदाई करने का मौक़ा मिल रहा है. मेरी छोटी सी गर्म प्यासी चूत पर जैसे ही जेठ जी ने अपना मोटा सुपारा रखा, मेरी चूत फैलती चली गयी.

अब बारी थी असली चुदाई की! धारा ने शेखर के लंड को हाथों में पकड़ कर आगे सरकाते हुए अपनी चूत के ठीक नीचे सेट किया और एक बार फिर से लंड के सुपारे को चूत की पूरी दरार पर ऊपर से नीचे तक रगड़ा. वो बोला- पैंटी मतलब क्या?मैंने उसकी हिंदी में समझाया कि मेरी काले रंग की एक चड्डी थी, वो नहीं मिली. मैंने पहले ताई को अपने नीचे किया और उनकी टांगों को चौड़ा होकर लेटने के लिए कहा.

पहले तो उसने मना कर दिया लेकिन मेरे बार बार मनाने के बाद वो मिलने के लिए तैयार हो गई. पर इस बीच में हम दोनों में से किसी की भी न एक बार आंख खुली और न होंठ अलग हुए. मेरे मन में लड्डू फूट रहे थे कि आज भाभी से बात करने का मौका मिलेगा.

इसलिए मैं भी भाभी को छोड़ उसके साथ गप्पे मार रही थी।बाद में बारात आयी और शादी की कुछ रस्में हुई।सभी बहुत खुश थे और रात भी हो चली थी।इधर अजय अब भी मेरे साथ ही था और भाभी अपने दोस्तों में!फिलहाल तो मुझे भाभी की कमी भी नहीं खल रही थी क्योंकि अजय मेरे साथ बहुत अच्छे से पेश आ रहा था.

धड़कते दिल से शेखर ने दरवाज़े को हल्का सा धक्का दिया तो दरवाज़ा खुलता चला गया. हम दोनों नौका से से उस नदी के बीच बने रेतीले टापू पर आ गए, जहां आगे की तरफ कुछ लोग थे लेकिन और अन्दर जाने पर सन्नाटा था.

अब सितारा अपने भाई, भाभी पर आश्रित होकर नहीं रहना चाहती इसलिए जॉब कर रही है. मैंने सोचा कि शायद बेटे की वजह से इन्होने अंधेरा किया है, तो मैं बिस्तर की तरफ आने लगा. इसका नतीजा कुछ देर बाद ये निकला कि वो लड़का मेरे बाथरूम में नंगा हो कर घुस आया.

कुछ देर बाद बाजू में संगीत बजने लगा और डीजे पर नाच गाना शुरू हो गया. मैं- एक बार ये इसके अन्दर तक की गहराई नाप आया तो जिंदगी भर तुम यही माँगती रहोगी. मैंने कहा- पहले तू अपनी मर्दानगी दिखा मुझे!यह सुनकर उसका तो शायद जैसे अंदर को मर्द ही जाग गया.

हिंदी का सेक्स बीएफ अंकल ने झुंझला कर मुझे सोफे में सर नीचे और पैर ऊपर करके लेटा दिया और मेरे गले को हल्का सा लटका दिया. रात को शराब पीने के बाद सबको नशा होने लगा और रोहन ने नेहा को नंगी करना शुरू कर दिया.

अथवा सेक्सी

जैसे कई लोगों को खुले में सेक्स करने का मन रहता है और कई लोगों को अपने पार्टनर को बांध कर सेक्स करने में मज़ा आता है. तुमने मेरा तिल देख लिया तो मुझे लगता है कि जैसे मेरा मन है सेक्स का, वैसे तुम ही करोगे. वो भी बिना कोई सवाल किये तुरंत कुतिया बन गई।मैंने पीछे से उसकी कमर को दोनों हाथों से थाम लिया और उसकी चूत में लंड डालकर सटासट चोदने लगा।कुछ देर बाद नीतू के मुंह से फिर से सीत्कार निकलने लगी- आह्ह्ह … राजा … क्या मस्त चोदते हो.

थोड़ी देर बाद मैंने उसे बिस्तर पर घोड़ी बनाया और उसकी गांड में हाथ फेरने लगा. मुझे उनका साइज़ तो नहीं पता, पर उनके चूचे बहुत बड़े हैं और कमर पतली है. हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ हॉटआंटी का भी ये पहला अनुभव था और वो मेरे चुत चाटे जाने से इतनी गर्म हो गई थीं कि आंटी कुछ ही देर में मेरे मुँह में झड़ गईं.

भाभी पहले से चुदास से भरी थीं, ज्यादा देर ना करते हुए वो झड़ गईं और मैं भी उनकी चूत में निकल गया.

मैं खड़े होकर ताबड़ तोड़ धक्के लगा रहा था।दस मिनट की चुदाई में प्राची झड़ गई लेकिन मेरा नहीं हुआ था क्यूंकि प्राची दो बार मेरा लन्ड चूस के झाड़ चुकी थी।मैं बिस्तर पे लेट गया और प्राची को ऊपर आने को बोला. थोड़ी देर बस स्टैंड पर खड़ी रहने के बाद सुबह की तरह ही हुआ कि मुझे बस तो मिली लेकिन उसमें बहुत ज्यादा भीड़ थी.

मैं मन में सोच रही थी कि बेटे तू यहां प्लानिंग करके बैठा था कि अपनी बहन की सील तोड़ेगा. मेरे देवर जी मेरे नीचे चुत चोदने आ गए और उनका वह दोस्त मेरी गांड मारने के लिए आ गया. शेखर का दूसरा हाथ भी ख़ाली हो चुका था, अपने दाहिने हाथ की हथेलियों को धारा की चूचियों पर फिराते हुए शेखर ने अपने दूसरे हाथ से धारा की कमर को पकड़ कर अपने क़रीब खींचा और उसे अपने सीने से सटा लिया.

निखिल ने मम्मों का अहसास पाते ही झटका मारा और वो अपनी मौसी मीरा के ऊपर चढ़ गया.

जैसे ही मैं उसके घर पहुंचा, तो देखा कि उसने पहले से ही दरवाजा खोल कर रखा था. अगर इसे बेड पर बुला लिया … तो ये भोसड़ी का मेरी जवानी को चूमने चाटने में खो जाएगा. कोई साला ये नहीं कहता तेरे बाप की गांड में लंड … या तेरी गांड में लंड.

घड़ी के बीएफउसके बाद मैं खुद जल्दी से जल्दी वहां पहुंच जाना चाहता था, क्योंकि 9 बजे के बाद किसी को भी शहर में एंट्री नहीं थी. मैं फ़लक की गांड और चूतड़ों से हाथ फिराते हुए उसकी चूत में पीछे से उंगली डालने लगा.

பாத்ரூம் செஸ் வீடியோ

ये सब वो अक्सर करने लगा था और मुझे भी उसका यूं मुझसे चिपक कर खड़ा होना अच्छा लगता था तो ये बात अब हम दोनों के लिए सामान्य सी बात हो गई थी. उनके सेक्सी फिगर को लेकर मैं ही नहीं, बल्कि पूरे मोहल्ले के लौंडों का लंड खड़ा हो जाता था. शायद जानबूझ कर उन्होंने नाइटी पहनी थी और उसके साथ पैंटी नहीं पहनी थी.

उसने मेरा नाप लेने के लिए मेरे ऊपरी शरीर को छुआ, तो पता नहीं कैसे … मैं उसके छूने भर से गीली हो गयी. रात को 3 बार चुदाई करने के बाद हम दोनों एक ही रजाई में नंगे एक दूसरे से लिपट कर सो गए. बस यही देखते और सोचते सोचते पूरा महीना बीत गया लेकिन मेरे दिमाग से वो निकल नहीं पा रही थी.

उधर स्टेज के सामने बने अजय के कमरे में प्रिया भी नंगी हो गई थी, लेकिन लोग उसको चोद नहीं सकते थे. मैंने उसके हाथ से डिल्डो लिया और उसके मुंह में डाल कर गीला कर दिया, फिर उसकी गांड पर लगा दिया. दोस्तो, मैं अर्नव बाँदा, उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ और अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ।मैंने अन्तर्वासना में बहुत सी कहानियाँ पढ़ी, तो मेरे मन में भी विचार आया कि मैं भी अपनी कहानी अन्तर्वासना पर आप सबसे साझा करूँ।यह अन्तर्वासना में मेरी पहली मामी Xxx कहानी है.

तब तक ये निशान नहीं खत्म नहीं हुए तो?इस पर सनी बोला- आने से मना कर दो न!मैं बोली- कैसे यार?सनी बोला- बोल दो कि पीरियड आने वाले हैं. वास्तव में मुझे उसकी चूचियों को चूसने में इतना ज्यादा मजा आ रहा था कि मुझे उसकी चुत का ध्यान ही नहीं रहा.

अरुणिमा[emailprotected]लेडीज़ टेलर सेक्स कहानी का अगला भाग:मुझे अपनी चुत गांड चुदवाने को लंड चाहिए- 4.

ये करते वक्त प्रिया बहुत खुश हो गई थी और उसी के साथ प्रियंका भी मस्त हो गई थी. देवर भाभी की बीएफ वीडियो सेक्सीहम दोनों को एक दूसरे की बांहों में आए एक दो पल ही हुए थे कि सभी विद्यार्थी प्रार्थना स्थल से कक्षा की ओर आते दिखने लगे थे. सेक्सी बीएफ ससुर बहू की चुदाईमैं उन्हें अभी और तड़पाना चाहता था मगर भाभी गांड उठाकर लंड चूत में लंड लेने की नाकाम कोशिश करने लगीं. कभी ऐसा हुआ है कि आपने किसी महिला को बांहों में कस लिया हो, आप उसकी ब्रा खोलना चाहते हों या पैंटी निकालना चाहते हों और वो न करने दे रही हो?तो आप फिर से प्रयास करते हैं उसे गर्म करने का और फिर जब आप उसकी पैंटी निकालने की कोशिश करते हैं तो वो खुद कमर उठा कर आपकी सहायता करती है.

थोड़ी देर शेखर की पीठ से खेलने के बाद धारा आगे आ गयी और अब उसकी उंगलियां सामने से शेखर के गले और फिर धीरे-धीरे उसके सीने पर चलने लगीं.

वो मेरी गांड मारने के लिए भी कह रहा था मगर मैंने उससे अपनी गांड नहीं मरवाई. जब तुम इमरान के गाने पर डांस कर रहे थे, तभी से मैं तुमसे मिलना चाह रही थी. मैं अन्तर्वासना पर अपने सभी मित्रों की रचनाएं नियमित रूप से पढ़ता रहता हूं.

उनके जिस्म की रगड़ मुझे मिलने लगी और मेरी आंखें वासना से तप्त हो गईं. आंटी मस्त हो गईं और चिल्लाने लगीं- आह चोद मुझे … फक मी आह यस फक मी हार्ड … फक मी बेबी और तेज चोद. मगर निखिल ने बिना रहम दिखाए पूरा लंड मेरी मम्मी की चूत में पेल दिया.

कॉल गर्ल सेक्सी मूवी

फिर रोहन ने नेहा को मेरे सामने ही चूमना शुरू कर दिया और नेहा भी न नुकर करते हुए रोहन के छेड़े जाने का मज़ा ले रही थी. अब उसने अपना हाथ आगे करते हुए मेरा पल्लू गिरा दिया और अपने दोनों हाथों को मेरे दोनों मम्मों पर रख कर मेरे दूध सहलाने लगा. के इंदौर में रहता है। वो शादीशुदा है और अपनी शादीशुदा बहन को भी चोदता है.

धारा की चूत में शेखर का लंड अब भी वैसे ही था, अटका हुआ … उसने अपना आधा शरीर उठाया और टटोल कर धारा की चूचियों को थाम लिया।फिर शुरू हुआ धारा कि चूत का कचूमर बनाने वाला खेल.

इसी बीच वो गंदी बातें करने लगी- नीरज मेरी चुत फाड़ दो … जल्दी से लंड पेल दो.

इससे मैं एकदम से खड़ी हुई और उसको डांटने लगी- ये क्या कर रहे हो … तुम्हारा दिमाग खराब है क्या?ये सब मैं उसको दिखावे के तौर पर डांट रही थी. मेरा लंड फिर से कड़क होना शुरू हुआ, तो मैंने उनकी चूत को जीभ से चोदना शुरू कर दिया. सेक्सी बीएफ नंगे वीडियोमेरी गर्लफ्रेंड से मेरी क्या बात हुई और चुदाई कैसे हुई, वो अब मैं इस सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा.

शीना मुझसे बोली- अंकल, आपने शायद आज ज्यादा ही पी ली है जो अपने होश में नहीं हो. अब मैंने उसे गोद में उठाया, तो निशा भी किसी बच्चे के जैसे मेरी गोद में आ गई. मैं और भाभी अब बहुत खुश हैं और हर रोज़ मुझे मेरी खूबसूरत, सेक्सी भाभी के साथ चुदाई करने का मौक़ा मिल रहा है.

दो मिनट चूसने के बाद मैंने फिर से अपना लौड़ा भाभी के मुँह में कंठ तक घुसा दिया. आपके सुझावों से कहानी अधिक निखरकर आती है। कहानी पर कमेंट्स में अपनी राय दें।मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]कॉलेज गर्ल की चूत की गर्मी कहानी का अगला भाग:शत्रुता का पहला दौर- 3.

अब बारी थी असली चुदाई की! धारा ने शेखर के लंड को हाथों में पकड़ कर आगे सरकाते हुए अपनी चूत के ठीक नीचे सेट किया और एक बार फिर से लंड के सुपारे को चूत की पूरी दरार पर ऊपर से नीचे तक रगड़ा.

अगर मुझसे आपको मज़ा आया तो क्या हम दोनों फिर मिल सकते हैं?आंटी ने कहा- पहले मुझे खुश कर, ये तेरे पास एक ही मौका है. जया ने प्रिया की टपकती चुत में मुँह लगा दिया, तो प्रिया, जया से अपने मम्मों को भी दबाने का कहने लगी. चूत महारानी पहले ही इतनी गीली हो चुकी थी कि उसे किसी तरह की चिकनाई की ज़रूरत ही नहीं थी। लंड का सुपारा चूत की दरार को खोलता हुआ चूत के गुलाबी होंठों को रगड़ रहा था.

12 साल की बीएफ पिक्चर मैंने कविता के होंठों को दाँत से काटते हुए उसकी चूत में उंगली डाल दी. मेरे पति के सोने के बाद रात में मेरा नौकर मेरा बिस्तर गर्म करता था.

वो मुस्कुरा कर शायद इशारा कर रही थी वो तैयार है।तो मैंने पिंकी भाभी को इशारा किया और भाभी ने अपनी नाइटी उतार दी. उसकी बुर पानी से भरी हुई थी इसलिए लंड जड़ तक बिना किसी परेशानी के बुर में घुस गया. वो मेरे थोड़ा पास आयी और बोली- ऐसे क्या देखे जा रहे हो!मैं हड़बड़ा गया और बोला- कुछ नहीं … कुछ नहीं!वो बोली- मैं देख रही हूँ आज तुम मुझे ही अलग तरीके से देखे जा रहे हो!मैं बोला- नहीं, कुछ नहीं.

हिंदी सेक्सी हॉट स्टोरी

चाची- राजू, प्लीज थोड़ा रुक जाओ, जल्दबाजी में मज़ा नहीं आएगा, मैं खुद भी मजा लूँगी और तुम्हें भी दूँगी, अभी छोड़ो. फिर मैं उसको बोली- चल कोई नहीं, तू चूत में डाल ले!तो वो बोला- मैं आपको बिना कंडोम के चोदना चाहता हूँ. फ़लक- किस चीज से?मैंने अपना लौड़ा फ़लक को दिखाते हुए कहा- इससे!फ़लक- सर, यह तो बहुत बड़ा है.

लंड गीला हो गया और फच्च फच्च फच्च की आवाज करने लगा।मैंने उसे अपने ऊपर से उतार दिया और घोड़ी बना दिया। उसके उठे हुए कूल्हों के बीच चूत को खोल करके लंड घुसा दिया और तेज़ी से चोदने लगा।मैं अपना लंड गपागप गपागप अंदर बाहर करने लगा. चूंकि प्रशांत के लंड डालने से थोड़ी सी गांड खुल चुकी थी, तो इस बार दर्द थोड़ा कम हुआ.

दोस्तो मेरी ये सेक्सी ऑफिस गर्ल की चुदाई आपको कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं.

लगभग 20 मिनट तक मेरी मम्मी के चुचे चूसने के बाद निखिल उठा और उनकी बची खुची साड़ी भी उतार फैंकी. मैं भाभी के दोनों टाइट चुचों को बारी बारी से चूसता रहा और भाभी मस्ती से मुझे अपना बच्चा समझ कर दूध चुखाती रहीं. मैंने भी लिख दिया- मुझे बड़ी ख़ुशी होगी कि मैं आपकी बदन तोड़ सेवा कर सकूँ.

रोज रोज उसे देखते देखते मैं ये सोचने लगा कि काश ये माल चोदने को मिल जाती तो इसकी मस्त चुदाई करता. मैंने चुत में लंड को पूरे जोश से पेल दिया, तो भाभी को थोड़ा दर्द हुआ … लेकिन अब रुकना किसे था. अगले दिन से वो जब भी निखिल को पढ़ाने जाती, तो अब वो उसको रिझाने की कोशिश करने लगती.

बाई दि वे फ्रेंड्स!अदिति ने कुछ सोचते हुए और सेक्सी हंसी हंसते हुए कहा- मेरी लिमिट कितनी होगी तन्नी डार्लिंग?अदिति ने उसका हाथ थामते हुए जब ये कहा.

हिंदी का सेक्स बीएफ: पता नहीं वो कितनी देर तक वैसे ही रहे।फिर शेखर नींद की आग़ोश में खो गया. आह्ह … धारा !!” शेखर के मुँह से बस इतना ही निकल सका।धारा ने धीरे-धीरे करके शेखर के लंड के उन सभी हिस्सों को जो कि उसके फ़्रेंची के होते हुए छुए या चूमे जा सकते थे, चूमा और अचानक से लंड को अपने दाँतों से पकड़ लिया.

भाभी जी की चुदाई के पहले भागजिस्म दिखाकर देवर को सेक्स के लिए पटायामें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरे देवर ने मुझे चोद दिया था और अब वो अपने एक दोस्त रोहित के साथ मिलकर मुझे चोदना चाहते थे. इधर मैं बता दूँ कि मेरा परिवार गांव में रहता था और मैं अकेला यहां पर रहता था. मैं अकेला इंसान ट्रेन में मौजूद सभी खूबसूरत युवा जोड़ों को देख कर खुद को बोर महसूस कर रहा था.

फिर मैंने देखा कि बाथरूम से पानी गिरने की आवाज आ रही थी मतलब आंटी बाथरूम में थीं.

”मैंने अब पहली बार लंड चुदाई जैसे शब्दों का प्रयोग किया था, जिससे उनकी आंखों में भी चमक आ गयी थी. मैं- ओके मैं आ गया 10 मिनट में!यह बोल कर मैंने फ़ोन काट दिया और तैयार होने लगा. दारू पीते पीते अंकल बात करने लगे- तुम्हारी कोई गर्लफ्रैंड है क्या?मैं- नहीं, अभी तो नहीं है!अंकल- तुम तो बड़े स्मार्ट हो, अभी तक कैसे नहीं बनाई?दोस्तो, मेरा कद 5 फुट 7 इंच है, वजन 77 किलो, रंग गोरा और दिखने में औसत या औसत से थोड़ा अच्छा हूँ.