सेक्स बीएफ वीडियो चोदा चोदी

छवि स्रोत,नंगी सीन वीडियो में

तस्वीर का शीर्षक ,

इंडियन सेक्सी लुक: सेक्स बीएफ वीडियो चोदा चोदी, और मैं भी इस ताबड़तोड़ चुदाई से थोड़ी थकान महसूस कर रहा था। मैं भी किट्टू के ऊपर ही ढेर हो गया.

रांची सेक्स

उंगली अंदर जाते ही वो एकदम से बहुत ही मादक आवाज में चिल्लाई- हाय दैयाआआ… आहहहह… आग लगा दी।मैंने तुरन्त उसके भीगे होंठों को अपने होंठों में फंसा लिया और जोर जोर से चूसने लगा. डेनी डेनियलनीचे मालिक रहते हैं और फर्स्ट फ्लोर पर गर्ल्स पीजी है और सेकंड फ्लोर पर बॉयज पीजी.

मैं बुरा नहीं मानूंगी।तुम्हें तो कई अच्छे से अच्छे लड़के मिल सकते हैं. सेकसविडीयोफिर बोली- ओह रमित … मुझे पता नहीं क्या हो रहा है, रात को जब दिवेश मुझसे प्यार करने लगे, तो मुझे तुम्हारी बहुत याद आयी.

उसकी जीभ मेरी पतली सी पैंटी के ऊपर फिर रही थी और मेरी चूत से निकल रहे रस को पैंटी के ऊपर से ही चाट रही थी.सेक्स बीएफ वीडियो चोदा चोदी: अब आखिरी के कुछ मिनटों में मुझसे भी अपनी उत्तेजना को लंड के अंदर रोके रखना बहुत मुश्किल हो रहा था.

”अब तो तुम खुश हो ना?”हओ!” सानिया पता नहीं किन सुनहरे सपनों में खो सी गई थी।सानूजान … मैंने तुम्हें इतनी अच्छी खुशखबरी सुनाई और तुमने तो कुछ बोला ही नहीं?”ओह … हाँ थैंक यू सल!” सानूजान तो कहते हुए अब शर्मा भी गई थी।सानू अब दर्द तो नहीं हो रहा ना?”किच्च …”सानू … बस एक बार थोड़ा सा दर्द और होगा फिर देखना तुम्हें बहुत अच्छा लगने लगेगा.वो उस समय 23 साल की थी।भाभी ने बताया कि जब उनकी शादी हुई थी तो उस समय उनकी ब्रा का नम्बर 30 था.

चोदी चोदा का वीडियो दिखाइए - सेक्स बीएफ वीडियो चोदा चोदी

उसने लैपटॉप को स्टैंड पर रख कर स्क्रीन को इस तरह से एडजस्ट कर लिया ताकि मैं उसके सिर से लेकर पंजे तक के बदन को अच्छी तरह से ताड़ सकूं.मैं बोला- रीना डियर … अगर तुम्हें ऐतराज ना हो तो हम दोनों डांस करें?वो कुछ टुन्नी में बोली- हां चलो यार … मेरा भी मन कर रहा है.

चूंकि ब्लाउज का गला काफी खुला हुआ था, तो उनकी गोरी चूचियां मेरे कच्छे में असर कर रही थीं. सेक्स बीएफ वीडियो चोदा चोदी मैंने कॉन्डम को नीचे की ओर खींचा और उसके लंड की जैसे मुठ मारते हुए उसको वो पहना दिया.

और मैं भी इस ताबड़तोड़ चुदाई से थोड़ी थकान महसूस कर रहा था। मैं भी किट्टू के ऊपर ही ढेर हो गया.

सेक्स बीएफ वीडियो चोदा चोदी?

साली जी कभी बायें हाथ से, कभी दायें हाथ से मेरे लंड की मुठ मार रही थी. चूंकि अब जब कहीं से भी चूत नहीं मिल रही थी तो मैंने इसे ही पटाने की सोची।वो दिखने में बहुत सुंदर थी. उसकी बातों से पता चला कि वो एक हाउसवाईफ है और वो कुछ सेवा संस्थानों से जुड़ी है.

वो बोलीं- घर में अकेले बोर नहीं होते तुम?मैंने कहा- भाभी होता तो हूं लेकिन अब जायें कहां, बाहर घूमना फिरना तो वैसे ही बिमारी के खतरे से खाली नहीं है. शीला के चमकते नेल्स और उसके खुले घुंगराले बाल और चमकती त्वचा उसे किसी दक्षिण भारत की हेरोइन होने का एहसास कराते थे. घर पर हमेशा डर लगता था कि कहीं कमरे के बाहर आवाज न चली जाए, कहीं कोई आ न जाये, और तुम्हें भी जल्दी से अपने रूम में पहुँचना होता था, लेकिन आज कोई बंदिश नहीं थी.

आते ही मैंने उसको बाइक पर बैठने का इशारा किया और हम फटाक से वहां से चल निकले. फिर भाभी से पूछा- भाभी डिस्चार्ज कहाँ करना है?भाभी- अंदर चूत में ही करो, क्योंकि गर्म गर्म वीर्य बहुत अच्छा लगता है, कल में आई पिल खा लूँगी, तुम केमिस्ट से ला देना. मैं- लगता है तुमने शायद कुछ देर पहले ही एक वीडियो सेक्स चैट सेशन खत्म किया है.

सरोज ने अंदर आते ही मेरे लोअर को नीचा करके मेरा लंड पकड़ लिया और उसे हाथ से आगे पीछे करने लगी. साथ ही भाभी जहाँ उल्टी लेटी थी वहां से बेड की चादर बड़ी जगह से गीली हो गई थी.

शाही सर ने कहा और अगले बंदे को मैंने जैसे कोल्ड ड्रिंक सर्व की, उसने बड़े इत्मीनान से मेरी नाईटी के गले के अन्दर देखा, फिर मुझसे नज़रें मिलाईं और फिर गिलास उठाते उठाते एक हाथ से मेरे एक मम्मा भी पकड़ कर दबा दिया.

वो अब अपनी पैन्ट नीचे करके मेज़ के सहारे अपना लंड ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगा.

मैंने खड़े खड़े नेहा को अपने लौड़े पर चढ़ाते हुए उसकी दोनों टांगों को अपनी भुजाओं में उठा लिया. जब मैं पेज पर नीचे गया तो मुझे वहां वेबकैम मॉडल्स की पूरी सूचि मिल गयी. मैं इसे लेकर थोड़ा नर्वस भी था और चिंतित भी। मगर साथ ही एक रोमांच भी था कि लाइव रोल प्ले सेक्स चैट में कल्पना की कोई सीमा नहीं होती है.

कुछ देर रवि के लंड से अपनी चूत की बाहर से मसाज करवाने के बाद रवीना ने अपने हाथों से रवि का लंड अपनी चूत में कर लिया और लगी उछलने. तभी मुझे ध्यान आया और मैंने पम्मी से पूछा- क्या तुम्हारी बहन शादी से पहले चुद चुकी थी?पम्मी ने कहा- हां वो बहुत बड़ी लंडखोर है. कुछ देर बाद फिर सर ने रफ्तार से मेरी चूत में अपने लंड को अन्दर बाहर करन शुरू कर दिया.

फिर मैंने एक गिलास में वोडका निकाल कर उसे चूमते हुए गिलास उसके होंठों से लगाया.

पूरे घर में अंधेरा था उसके कमरे का दरवाजा हल्का सा खुला हुआ था।जैसे ही मैंने दरवाजा खोला तो उसने पूरा कमरा सुहागरात की तरह सजाया हुआ था। एकदम लाल साड़ी में दुल्हन की तरह पलंग पर बैठी हुई थीं।उसने जाते ही मुझे दूध का ग्लास दिया. वो कहने लगी- मत रोइए … जब आप सब कुछ जानते हैं … तो अब क्यों रो रहे हैं. मैंने गीत के होंठों पर एक किस की और गीत ने दूसरी किस संजय के होंठों पर कर दी.

कुंवारी लड़की भी इतनी चुदासी हो सकती है मैंने पहली बार अनुभव किया था. मैंने अपनी कमर धीरे धीरे आगे पीछे करनी चालू की और मामी ने भी अपनी गांड उठा उठा कर लंड को अन्दर बाहर करना चालू किया. मैंने उसी पल एक धक्का दे दिया और मेरा लंड उसकी फुद्दी में एक इंच घुस गया.

भाभी जी हंसने लगीं- अब मुझे जबरन पेड़ पर मत चढ़ाओ!मैंने कहा- नहीं भाभी, आप बेहद हसीन हैं.

मैंने धीरे से अपनी शर्ट का एक बटन और खोल दिया जिससे मेरे मम्मों की बीच की गहराई उनकी हथेलियों से रगड़ने लगी. उसकी प्रोफाइल में भी किसी की फोटो नहीं लगी थी, बस एक गुलाब का फूल लगा हुआ था.

सेक्स बीएफ वीडियो चोदा चोदी मैं- आअहह शशि … कितनी मस्त हो तुम … तुम्हें आज खा जाऊं क्या?भाभी- खा जाओ यार, अच्छे से खा जाओ. फिर जब शर्मिष्ठा एकदम नार्मल हो गयी और घर का काम काज करने लगी तो सासू माँ भी अपने घर चली गयीं और हमारा जीवन पहले की तरह ही सामान्य रूप से चलने लगा.

सेक्स बीएफ वीडियो चोदा चोदी उसकी आवाज निकल रही थी- आह जान आज मुझे वह खुशी दे दो … जिसके लिए मैं इतने बरसों से तरस रही थी … मैं प्यासी हूँ … मेरी प्यास बुझा दो. मैं बोली- कुछ नहीं होगा … अगर किसी ने देख लिया, तो तेरा एक जीजू और बढ़ जाएगा.

उसे चूमते हुए मैंने कहा- तुम समाज की नजर में भले ही मेरी पत्नी न हो लेकिन मैं तुम्हें दिल से अपनी पत्नी ही मानता हूं और हमेशा तुम्हारा ऐसे ही ख्याल रखूंगा.

सील तोड़ने वाली सेक्सी

अब तो आप समझ ही गए होंगे कि वक्ष नोकदार ही था और नितम्ब भी काफी उभरा हुआ था. मैंने दोनों हाथ के पंजे एक के ऊपर एक रख कर हथेलियां जमीन की तरफ रख ली थीं. ऐसी वेदना से वो उत्तेजित हो रही थी … उसकी उत्तेजना बढ़ने पर वो मेरे अंडकोष और लंड को बड़े आराम से सहलाने लगी.

मेरी कहानी के पिछले भागकनाडा से आई देसी चूतमें आपको मैंने बताया था कि मेरी एक पुरानी दोस्त गीत कुछ दिन पहले कनाडा से लौटी थी. ’आंटी लंड घुसते ही बहुत जोर से चीख पड़ीं … पर मैंने उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और थोड़ा रुक रुक कर उनको किस करने लगा. उस दिन मैंने तीन बार भाभी को चोदा और वो तो शायद 6-7 बार स्खलित हुईं.

रिया ने अपनी पैंटी को पैरों के नीचे कर दिया और बेड पर लेट कर अपने पैर हवा में उठा लिये और अपनी पैंटी को पैरों से निकालने लगी.

जो काम क्रिया ने नहीं किया, वो जरीना ने कर दिया।जरीना- अब जल्दी से मेरी बुर फ़ाड़ कर मुझे अपना बना लो. वो मेरी धमकी से बिल्कुल भी नहीं डरा और अपनी पैन्ट सही करते हुए क्लास में अन्दर आ गया. ” कहते हुए मैं उसके होंठों और गालों पर फिर से चुम्बन लेने लगा। जैसे ही मेरे मुंह में दबे उसके होंठ आजाद हुए एक जोर की चींख उसके गले से निकली।आह … मैं मर गई … अईईइइइ … बहुत दर्द हो रहा … प्लीज … सर … बाहर निकालो … आह … लगता है मेरी सु-सु फट गई है.

रुमित ने मुझसे पूछा- क्या सोच रही हो?मैंने कहा- यार एक लोचा हो गया. फिर नई चूत मिलेगी तुझे जल्दी हीमेरे दिमाग से पाप पुण्य अच्छे बुरे का विचार तो गायब ही हो चुका था. उसकी चूत बहुत गीली होने के बावजूद भी वह दर्द से कराह उठी। मगर उसने किसी तरह की आवाज नहीं की.

मां बोलीं- सो गए क्या हर्षद!मैं चुप रहा तो उन्होंने कहा- नाटक मत करो यार!ये कहकर मां ने मेरे होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और चूमने लगीं. एक कहावत सुनी है कि 12 साल में घूरे के भी दिन बहुर जाते हैं लेकिन इस नाचीज़ के दिन नहीं बहुरे.

उठे हुए कंधे और कंधों पर बिखरे उसके केश … अन्दर घुसा पेट और बलखाती कमर, मांसल किंतु सुडौल जांघें, आकर्षक पिंडलियां … और सर से लेकर पांव तक सब कुछ उसके सौंदर्य का बखान कर रहा था. उसने डियो स्प्रे कर लिया था क्योंकि अब उसे मालूम था कि एक आध घंटे का दौर तो चलेगा ड्रिंक का. उसकी सांसें एकदम भांप की तरह गर्म हो चुकी थीं। फिर वो जल्दी से मेरी तरफ घूम गयी.

प्रीति का स्पर्श पाते ही मेरी पैंट के अंदर तूफान उठना शुरू हो गया और मेरा लंड विकराल रूप में आने लगा.

हम दोनों एक दूसरे की गांड और पीठ को सहला रहे थे, साथ में एक दूसरे की गर्दनों पर चूम भी रहे थे. जीजा साली की जवानी की कहानी में पढ़ें कि मेरी साली मेरे साथ घर में अकेली थी. पहले तो सामने एक मस्त गदर माल देख कर मुझे विश्वास ही नहीं हुआ कि ये ही नेहा भाभी जी हैं.

भाभी जी बोलीं- बातों से क्या ठंडा होना यार!तो मैंने लिख दिया- एक बार फोन पर बात तो करो. काफी सारा रक्त चूत के बाहर भी बह निकला क्यूंकि मुझे गर्म गर्म चिपचिपा गीलापन लंड की जड़ के चारों तरफ महसूस हुआ.

जब लण्ड अन्दर जाता और मनजीत की बच्चेदानी से छूता तो आंखें बंद किये हुए मनजीत कहती- विजय, मेरे राजा, मेरी जान. फिर मैंने उसको सच बताया कि मैं नशे में होने का सिर्फ नाटक कर रही थी. फिर मैंने उसको सच बताया कि मैं नशे में होने का सिर्फ नाटक कर रही थी.

चेन्नई टू पटना

दूसरे दिन हम सुबह उठे तो देखा कि मुकेश की मां का पूरा शरीर दुख रहा था.

उसने धीरे से पूरा लंड मेरी चूत में उतार दिया और मेरी चूत को पीछे खींचते हुए अपने लंड पर पटकने लगा. साथियो, अब तक आपने जाना था कि प्रतिभा ने मेरी जंघा पर हाथ फेरना शुरू कर दिया था, जिसे मैंने पायल की मौजूदगी के चलते रोक दिया था. गुरजीत का ग्रेजुएशन कम्पलीट होने के बाद आगे की पढा़ई के लिए उसकी मौसी उसे कनाडा ले गई.

हमने रात के 10 बजे ट्रेन पकड़ ली और हम सभी बहुत मस्ती और मस्त बातें करते जा रहे थे और गीत के साथ बिताये पल याद कर करके हम गीत को छेड़ रहे थे. उसने कमर तक चादर ढक रखी थी।मैं पागलों की तरह उसके जिस्म को देखे जा रहा था. पुरानी ब्लू फिल्ममम्मी अपने हाथ से मेरे लंड को बड़े प्यार से सहलाकर बोलीं- हर्षद, क्या लंड है तेरा … अब मैं तो इसकी दीवानी हो गयी हूँ.

मेरा हाथ नीरजा की बुर के पानी से गीला हो गया, जिसे मैंने नीरजा की पैंटी में ही साफ कर दिया. अब आप ही कहो … मेरी क्या सजा है? क्या आपके मन में मेरे लिए एक पल को भी प्रेम आया था? आप परदेशी हो.

मगर रमेश मेरे होंठों को अपने होंठों से लॉक कर लिया और इतने में ही कमल ने जोर लगा कर पूरा लंड मेरी गांड में घुसा दिया. सनी भी पंजाबन थी और पम्मी भी मुझे आज सनी लियोनि जैसी ही दिख रही थी. मेरी पिछली हिन्दी सेक्स कहानीनई भाभी की सुहागरात मेरे साथआपने दो भागों में पढ़ी.

आंटी कहने लगी- तुम्हें पता है वह भैंसा किस लिए रखा जाता है?वैसे तो मैं जानता था लेकिन अनजान बनते हुए मैंने आंटी से कहा- नहीं आंटी, मैं नहीं जानता किस लिए रखा जाता है?आँटी मुस्कुराई और बोली- मैं बताती हूँ तुम्हें … किस लिए रखा जाता है. मैंने उनसे कहा- जल्दी ही मुझे घर आना है, क्या आप मुझसे मिलना पसंद करोगी?भाभी जी ने हामी भर दी. और वो चिहुंक चिहुंक कर मेरे हर धक्के पर झड़ गई।मैं पीठ के बल लेटी रंजु की कसी हुई चूत में बहुत रगड़ कर पेलता रहा और घोड़ी बनीं आएशा की चूचियों को मसलता रहा.

आप जानो आपका काम जाने, अब जो करना हो आप खुद ही कर लो, थक गयी मैं तो बुरी तरह!” वो थोड़ा झुंझला कर बोली.

”आह्ह … दर्द होता है … जाने दो प्लीज।”अब मैं और ज्यादा उत्साहित हो गया और मैंने अपना फोन निकाल कर उसका वीडियो रिकॉर्डर ऑन कर लिया. उसके माथे और गालों को चूमते हुए अपना लण्ड धीरे धीरे उसकी गीली गीली चूत पर रगड़ते हुए एक झटके में उसकी चूत में डाल दिया।मेरा लण्ड अंदर जाते ही वो बुरी तरह से उछल गयी और उसके मुंह से जोर की चीख निकल गई.

फिर मैंने उसे शांत करवाया और कुछ देर बाद हम तीनों होटल के कमरे में चले गए. अब मैं अपने लंड को पूरा बुर से बाहर निकाल कर तेज धक्के के साथ लंड अन्दर घुसाने लगा था. मेरी शादी हो चुकी है और मैं अपने परिवार के साथ दिल्ली में रहता हूं.

भाभी की वक्षरेखा बहुत ही गहरी थी और उसकी चूचियों का ज्यादातर हिस्सा बाहर ही दिख रहा था. जानती हो एक दिन जब तुम ऊपर आई थीं बेबी की मालिश करने … तब मैंने तुम्हारे चूतड़ों को बड़े ध्यान से देखा था … ये एकदम गोल गोल मस्त हैं. कहते हुए मैंने उसे बेड पर खीँच लिया और उसको नेहा के पेट के ऊपर क्रॉस की तरह लिटा दिया.

सेक्स बीएफ वीडियो चोदा चोदी मैंने शांति का हाथ अपने लण्ड पर रखते हुए कहा- शांति, यह लण्ड तुम्हारा है, इसे अच्छे से प्यार करो, इंज्वॉय करो. उसे दर्द हुआ था तो उसने माथे को सिकोड़ लिया और उसके हाथ चुत पर आ गए.

माधुरी दीक्षितxxxx

मैंने दुबारा से खीरे को थोड़ा बाहर निकाला और उसे अपने छेद पर फिर फिट करके नीचे दबाया तो भाभी ने अबकी बार अपनी चूत को थोड़ा टाइट कर लिया था जिससे खीरे का दूसरा सिरा मेरी चूत में थोड़ा घुस गया और मेरी भी मजे से चीख निकल गई … आह … भाभी … मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा है. ”बस थोड़ी देर चुनमुनाहट सी होगी उसके बाद तुम्हें बहुत अच्छा लगने लगेगा. मैं उनके दूध मसलते हुए उनकी चुत में ताबड़तोड़ लंड पेले जा रहा था, भाभी जी की चुदाई कर रहा था.

इसके बाद उन्होंने मुझे घर पर छोड़ दिया और मैं घर पर जाकर सीधे अपने बिस्तर पर सो गई. मैं- कहां … यहां स्कूल में?उदय सर- नहीं यार … अभी तो तुम सील पैक माल हो … खुली होतीं, तो यहां ही चुदाई हो जाती. लड़कियों का फोटो दिखाएंउसके ऊपर आज तुमने ये पानी वाला एक्सपेरिमेंट करके तो सचमुच बिल्कुल आग लगा दी.

मैं उठने लगी तो अखिल भी जाग गया और बोला- गुड मॉर्निंग … कैसी हो?मैंने पूछा- कल रात को क्या हुआ था?तब उसने बोला- वही जो तुम चाहती थी.

फिर घर वाले आ गये।इसके दो दिन के बाद ड्राइवर तो मुझे नियमित चोदता या कभी अपना लंड चुसवाता. आप सभी का प्यार मुझे मेल के माध्यम से मिलता रहता है।मेरी पिछली कहानी थी:गाँव की लड़की की चुदाईआज मैं आपको एक ताज़ा जीजा साली सेक्स कहानी सुनाता हूं.

मुझे ख़ुशी के साथ अफ़सोस भी था कि निष्ठा के साथ अब कुछ करने की स्थिति में मैं नहीं था. मैंने आंटी से बोला, तो वो बोलीं- अन्दर ही आ जाओ … मैं तुम्हारे पानी को फील करना चाहती हूँ. मेरे हिलते हुए मम्मों से एकदम साफ पता चल रहा था कि फिटिंग की टी-शर्ट में मैंने ब्रा नहीं पहनी हुई है.

फिर मैंने अलमारी खोली और अपनी पसंदीदा ब्राज़ीलियन शॉर्ट पैंटी निकाली.

क्या असीम आनन्द मिला उस वक़्त दोस्तो! मैं उस अहसास को यहां शब्दों में बयां नहीं कर सकता हूं. मां ने अंधेरे का फायदा उठाकर मेरे होंठों को चूम लिया और मेरे होंठों को चूसने लगीं. वो लड़की अपने बॉयफ्रेंड के साथ थी तो मैंने उस लड़की से हाथ मिलाया और अपना परिचय देते हुए बोली- मैं नील की गर्लफ्रेंड हूँ.

साड़ी वाली का सेक्स वीडियोऔर यह कह कर उसकी नाइटी को पीछे से उठाया और झट से लोअर में से लण्ड निकाल कर उसकी चिकनी गांड के ऊपर रख दिया. मैंने कहा- अभी और चूत मरवाने का दिल कर रहा है?भाभी बोली- मेरा दिल करता है तुम्हारा लण्ड बस हमेशा मेरी चूत के अंदर ही रहे.

मारवाड़ी सेक्स वीडियो चोदा चोदी

उसके उदर पर बच्चा जनने का हल्का निशान उसके मातृत्व सुख का सुबूत दे रहा था … लेकिन उसने सचमुच अपने शरीर को ऐसे ढाल रखा था कि कोई नवयौवना भी उसके समक्ष फीकी लगे. लंड से चुदते हुए उसके चेहरे पर आनंद के भावों के साथ एक तृप्ति के भाव वाली मुस्कान तैर रही थी. इसके सिवा एक और बात सुन ले कमीनी … मैं किसी भी रानी को कितना प्यार करता हूँ यह एक इम्तहान साबित कर देगा … वो टेस्ट तू अभी ले ले और फिर बताना कि मैं तेरे प्यार के लायक हूँ या नहीं … टेस्ट यह है कि मैं आँखों पर पट्टी बांध लेता हूँ.

इस तरह हमने कुछ देर तक उन दोनों की चूतें चूसीं और फिर उनको एक लाइन में लिटा दिया. तो अनीता ने कहा- ठीक है चलो! वैसे मुझ अपनी किस्मत पर नाज है कि तुमने मुझको चुना. इसी बीच वहां साथ में रहने वाली एक पुलिस अफसर की बीवी के संग मेरे रिलेशन बन गए थे, जिसे मैंने अपनी सेक्स कहानी ‘पड़ोसन भाभी के साथ सेक्स या लव.

मैंने अपनी उंगली को थूक से चिकनी की और उसकी चुत में अन्दर तक पेल कर घुमाई ताकि चुत अन्दर तक चिकनी हो जाए. ‘आह … आह राज पी जाओ सारा दूध … मेरा सब कुछ तुम्हारा है … मैं तुम्हारी रंडी हूं आह … चूसो और चूसो इस रंडी का दूध पी जाओ … आह सारा दूध निचोड़ दो आ…ह…’वो कामुक आवाजें करते हुए उछलने लगी और अपनी चूत को रगड़ने लगी. उसे टीवी में न्यूज़ एंकर के स्थान पर फिल्मों में हीरोइन होना चाहिए था.

मैं उनकी कमर पर हाथ फिराने लगा, फिर बिना कुछ बोले उनके कान के नीचे किस कर दिया. चार पांच झटकों में ही मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया और पम्मी मेरे लंड का पूरा पानी पी गई.

इतना कहने पर ही उसने मुझे पहला किस किया और अपनी बांहों में जकड़ लिया.

पलंग के पास खड़े होकर चाचा ने अपना लण्ड हमें चूसने को कहा तो हम चूसने लगे. झकास शायरीमैंने अपने बूब्स को हथेलियों में थाम रखा था और अपने निप्पलों को उंगलियों के बीच में मसल रही थी. सेक्स वाली गोलीतुम उससे अलग क्यों नहीं हो जाती हो?वो बोली- शुभम, अलग तो मैं हो जाऊं लेकिन पता नहीं मेरे घर वाले मुझे अपने साथ रखेंगे या नहीं?उसके जवाब पर मैंने कहा- हां, बात तो तुम वैसे सही कह रही हो. भाभी- हा हा … बैचलर के कमरे जरा यूं ही अस्त व्यस्त रहते हैं … इसलिए कहा.

मुझे तो नहाने में टाइम लगेगा क्योंकि आपने कहा है कि साफ़ सुथरा दिखना है.

मैंने सोचा कि बेटा आज मौका है, हिम्मत करके चौका मार दे, देखा जाएगा. मेरे मुंह से सिसकारियां निकलने लगी थीं जिनको मैं अब रोक नहीं पा रही थी. ”ओके … अच्छा तुम एक काम करो … धीरे-धीरे अपने पैर पसारकर सीधे कर लो.

कुल मिलाकर एक मस्त लौंडिया थी जिसमें कामुकता कूट कूट के भरी हुई थी. हम दोनों ने एक बार फिर से गिलास खाली किए और मैंने जेब से सिगरेट निकाल कर सुलगाई. मुकेश आश्चर्य से हम दोनों को देखने लगा … क्योंकि वो जानता था कि ऐसा कोई बाबा तो है ही नहीं, फिर अंकिता भाभी किसकी बात कर रही हैं.

अंग्रेजी एक्स वीडियो

हमने बहुत देर तक गरबा खेला … पर गरबा खेलते खेलते रुमित मुझे बार बार देख रहा था … और चांस देखकर मुझे टच कर रहा था. अस्मि- हम्म … मेरे पापा तो मेरी चूत को पसंद करते हैं! इससे तो साफ हो जाता है कि आप को मुझे नंगी देख कर मजा आता है. फिर मैंने सोचा कि ये सही मौका है, इसे ही पटा लेती हूँ, अच्छा खासा लड़का है.

मेरी बाकी की फैमिली चंडीगढ़ में रहती है, इसलिए मैं हर शनिवार को अपने घर आया करता था.

अब मैंने गंभीर होकर कहा- बहनचोद मैं भी तेरा, मेरे अंडे भी तेरे … फोड़ दे अगर उनको फोड़ के तुझे मज़ा मिलता तो … मैं मज़ाक नहीं कर रहा रंडी … मैंने बुलबुल रानी के पैरों के सौ चुम्बन लिए थे होटल की सीढ़ियों पर … उन चुम्मियों से ही वह पटी थी … अगर सौ चुम्मियाँ ली जा सकती हैं तो चुदाई भी हो सकती है … घबराने की ज़रूरत नहीं है … आज लंड का पूरा मज़ा तेरी चूत को दूंगा … फ़िक्र न कर कुतिया.

बेबी रानी चिढ़ के बोली- मुझे नहीं करनी किसी से बात … इसको चुदना हो चुदे, नहीं तो साली माँ चुदवाये … तू छोड़ इस रंडी को. उसने नैन्सी को छोड़ना चाहा तो नैन्सी ने उसे छोड़ा ही नहीं … बल्कि अब वो आकाश को नीचे करके उसके ऊपर चढ़ गयी. ब्लू पिक्चर सेक्सी पिक्चर सेक्सीतो मजा लें:वैसे हमारा परिवार मुंबई से 70 किलोमीटर दूर एक गाँव का रहने वाला था लेकिन पापा की जॉब के कारण हम मुंबई में ही बस गए थे.

मैं उनका इशारा समझ गया तो अब मैं भी धक्का देने लगा और चुदाई होने लगी. रिया- फिर बातें क्यों चोद रहे हो? आओ, शुरू हो जाओ।रमेश ने झट से अपना तौलिया उतार कर फेंक दिया और अपनी बेटी के सामने पूरा नंगा हो गया. फिर शाम को 5 बजे मेरी आँख खुली तो मैंने दो कप चाय बनायी और बाहर ले कर आ गयी.

दोस्तो, भाभी ने मुझसे बात करना शुरू किया … हम दोनों का इतना मन लगा कि रात के 3 बजे तक बातचीत होती रही. रिदम के साथ तीन-चार बार ऊपर नीचे होने के बाद उसने उस डिल्डो पर कूदना शुरू कर दिया.

हम दोनों ही इस पोजीशन में बैठी थी कि भैंसा और भैंस हमें साफ दिखाई दे रहे थे.

मैंने देखा कि अंकिता भाभी न सिर्फ सुंदर थीं … बल्कि बहुत होशियार भी थीं. भाभी ने मेरे पैंट की जिप खोल कर मेरा लंड मुँह में ले लिया और लंड चूसने में लग गईं. उसकी आवाज निकल रही थी- आह जान आज मुझे वह खुशी दे दो … जिसके लिए मैं इतने बरसों से तरस रही थी … मैं प्यासी हूँ … मेरी प्यास बुझा दो.

खलीफा सेक्स वीडियो रति- अरे आप आ गये!रमेश अंदर आया और उसने रिया को कस कर गले से लगा लिया. उत्तेजना में मैं हर चैट सेशन के नीचे का विवरण पढ़ना ही भूल गया लगता था.

शीला पलट गयी और उसने राजेश को अपने को पूर्णतः समर्पित करते हुए अपने को उसमें समाने के लिए जिस्मों के हर फासले को ख़त्म कर दिया. मेरी सारी बात सुनने के बाद मनजीत बोली- देखो विजय, प्रकृति ने स्त्री और पुरुष दोनों को बनाया है, दोनों की भावनात्मक और शारीरिक जरूरतें होती हैं. इस दौरान मैं बोला- रीना, तुम कितना मस्त चुदवाती हो यार … मैं तो तुमको जिन्दगी भर यूं ही चोदता रहूँ.

कोलकाता के रनडि खाना

मेरी भतीजी सेक्स और शराब के नशे में बोली- फूफाजी, अब तो आप उम्रदराज और बूढ़े हो चुके हैं, इस उम्र में इस तरह की मूवी देखते हो!मैंने भी मस्ती में कह दिया- बूढ़ा होगा तेरा बाप … साली में अभी तेरी जैसी तीन चार को साथ निपटा सकता हूँ. इतना कहने पर ही उसने मुझे पहला किस किया और अपनी बांहों में जकड़ लिया. मैंने अब तक अपनी गर्ल फ्रेंड के साथ और उसकी कजिन सिस्टर के साथ सेक्स किया है.

शायद उसने मेरी आंखों में तुम्हारे लिए दोस्ती और मोहब्बत को पढ़ लिया, पर फिर भी वो एक बार भी मुझसे नाराज़ या असुरक्षित नहीं दिखी. मैं अपनी गांड उठा उठा कर सर के लंड पर उचक उचक कर अपनी चुदाई करवाने लगी.

मैं सुन लूंगी अगर तू सुनाएगा तो।मैं- ठीक है, तो फिर सुन।वो बोलते हैं- देख … क्या मस्त गांड है इसकी! देख तो साली सेक्सी गर्ल क्या मटका रही है, इसके दूध तो देख कैसे लटक रहे हैं.

पंकज … क्या तुम मुझे और टाइट हग कर सकते हो ताकि तुम्हारे जिस्म की गर्मी मेरे जिस्म में आने लगे?ये कहते हुए रिंकी ने सेक्स डॉल को अपनी पीठ से कसकर सटा लिया. तब मैं उनके लौड़ों को ऐंठते हुए बोली- भोसड़ी के … सब काम उंगली से करोगे … तो अपने इन खड़े लौड़ों से एक दूसरे की गांड मारोगे क्या?इतना सुनकर मेरा भाई बोला- ये तो बाद की बात है बहना. मैंने कहा- भाभी, मेरा लंड चूस दो न एक बार?वो तैयार हो गयी और उसने उठ कर मेरे लंड को मुंह में ले लिया और चूसने लगी.

मेरा गुलाम वो लड़का इस नजारे को मुंह फाड़कर देख रहा था और उसके मुंह से लार टपकने लगी थी. मैं साड़ी के ऊपर से ही उसकी चुत को रगड़ने लगा, तो उसकी गर्म सांसें मेरी गर्दन को उसकी कामुकता का अहसास दे रही थी. वह अब घूम गयी और उसने अपने चूतड़ों को अपने दोनों हाथों से फैला लिया.

वो तो मचलने लगी थीं और उन्होंने अपनी टांगों को फैलाते हुए चूत ऊपर उठा दी थी.

सेक्स बीएफ वीडियो चोदा चोदी: तो भाभी जी ने हंस कर पूछा- नम्बर किस लिए चाहिए?मैंने कहा- आपसे बात करनी है. उसके बाद भाभी फेरे देखने के लिए नीचे चली गयीं।सुबह जब फेरे हो गये तो भाभी कमरे में आयी.

छह मदमस्त और नंगे मर्दों के बीच में मैं एक अकेली रांड उन सबको अपने जिस्म के जादू से बांधे हुई थी. मैं आज तक अंकिता भाभी की ब्रा और पेंटी देखकर ही मुट्ठ मार लिया करता था. मैंने तेरे मामा को बहुत बार बोला, लेकिन उनका तो पीछे के गेट पर आते-आते ही दम तोड़ देता है.

फिर उसने मुझसे पूछा- आप तो इतने सुंदर हो, तो आपकी क्या कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?मैंने कहा- मुझे लड़कियों के बारे में इतनी जानकारी नहीं है.

शाम को मनोरंजन के लिए हम सब इकट्ठे होते व कहानी किस्सों का दौर शुरू हो जाता. उसने एक ब्लैक पैंटी पहनी हुई थी जिसकी पट्टी उसकी गांड की पहाड़ियों के बीच फंसी हुई थी. मैं उस पर घुटनों केबल थूक लगाया और थोड़ा सा थूक उसकी गांड पर लगाकर लंड टिका दिया.