सेक्सी बीएफ जबरदस्ती हिंदी में

छवि स्रोत,भोजपुरी में होली का गाना

तस्वीर का शीर्षक ,

बताओ बीएफ: सेक्सी बीएफ जबरदस्ती हिंदी में, कुछ देर बाद मेरी चूत ने लंड को झेल लिया था और मुझे दर्द होना बंद हो गया था.

ब्लू पिक्चर वीडियो सॉन्ग

एक दिन मैंने उनसे पूछा तो उन्होंने बताया कि आजकल हसबैंड घर आए हैं, तो मैं ज्यादा समय नहीं दे पाती हूँ. लोड करने वाला फोल्डरफिर नीरज ने डॉगी बनने का इशारा किया तो मैं डॉगी बन गई और रीना ने मेरी गांड मारना शुरू कर दी.

नीचे पड़ी मिसेज वर्मा ने भी अपनी टांगों और बांहों से मुझे जकड़ लिया. डोंकी सेक्सजब पोर्न चाची की ‘आह … उई मां मर गई … बहुत मजा आ रहा है … और जोर से … और जोर से चोदो …’ जैसी नशीली आवाजें निकालने लगीं तब लगा कि हां लंड अन्दर गया है.

उसके बाद गुरबचन जी मेरी बीवी की कमर पकड़ कर उसकी गांड पूरी ताकत से चोदने लगे.सेक्सी बीएफ जबरदस्ती हिंदी में: मैं धीरे धीरे लंड आगे पीछे करने लगा, लंड थोड़ा थोड़ा सरक सरक कर पूरा अंदर चला गया.

लंड पकड़ कर मैंने चूत पर रख दिया और मुट्ठी से बांध कर पीछे का हिस्सा पकड़ लिया ताकि वो एकदम से पूरा न डाल दे.मामी ने में गोद से नीचे उतर कर मेरे लोवर को उतार दिया और अंडरवियर में मेरे फूले हुए लौड़े को देख कर उनसे रुका नहीं गया.

मजदूर आदमी लोन कैसे ले - सेक्सी बीएफ जबरदस्ती हिंदी में

वो इतनी सेक्सी लग रही थीं कि क्या बताऊं … लेकिन घबराहट के मारे मेरा लंड मुर्दा हो गया था.करीब 10 मिनट तक मैं उसे बहुत ही प्रेम से चोदता रहा और वो बस कलपती रही.

दीदी ने मां से लेकर सबकी चुदाई के बारे में पूछा तो मैंने उन्हें विस्तार से बताया कि किसको कैसे पेला. सेक्सी बीएफ जबरदस्ती हिंदी में फिर दीदी ने मेरी गांड को फैलाकर अपनी एक उंगली मेरी गांड में डाल दी.

तभी आंटी ने कहा- क्या देख रहा है साले … तेरी आंटी ने रोज़ाना जिम में जाकर और कसरत करके ऐसी गांड बनाई है बाकी गांड मरा मरा कर इसको मस्त आकार दिया है.

सेक्सी बीएफ जबरदस्ती हिंदी में?

मुझे पता चल गया था कि भाई जगा हुआ है और मैं भी उसको सोया हुआ समझकर लंड चूसती रही. एक दिन सुरभि रूम में अकेली थी, तब मैं उसके रूम में गया और सुरभि से पूछने लगा- क्या कर रही हो?सुरभि अंगड़ाई लेती हुई बोली- अरे आ जा … मैं तेरी ही तो राह देख रही थी. अब पापा ने मम्मी की पैंटी को भी निकाल दिया और वो मम्मी की चूत को हाथ से सहलाने लगे.

मैंने अपने दोस्त को सारी स्थिति बतायी तो वो मुझसे बोला- अबे तू चूतिया है, वो तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहती है. ननद बोली- आपको तो भैया ठंडा नहीं कर पाते हैं, तो अब आप क्या करोगी?मैं- मैं क्या कर सकती हूँ!ननद- अच्छा वो सब छोड़ो, शादी से पहले किसी से आप चुदी थी कि नहीं भाभी?मैं- नहीं, क्यों … अच्छा तुम ये बताओ तुम भी किसी से चुदती हो क्या?ननद- हां, मैं एक से नहीं, तीन तीन से चुदती हूँ. मैं मां को हड़काते हुए बोला- कोशिश नहीं, मुझसे दीदी की चूत का स्वाद चाहिए ही है.

वो मुझे गंदी गंदी गालियाँ देने लगी- आह कुत्ते … मादरचोद … मेरी चूत तेरे लंड के लिए तड़प रही है. वो अपने हाथ से अपने दोनों मम्मों को बारी बारी से मेरे मुँह में देने लगी. आंटी ने फिर से कहा- बेटा यह ठीक नहीं है, तुम मेरे बेटे के अच्छे दोस्त हो.

मैंने घूम कर अपने पीछे खड़ी श्रीमती वर्मा से कहा- क्या आपके पास कोई मोमबत्ती है?तो वह बोलीं- हां मैं देखकर लाती हूँ. फिर दीदी ने मेरी गांड को फैलाकर अपनी एक उंगली मेरी गांड में डाल दी.

वरुण के घर के बारे में मुझे उससे ही मालूम हुआ कि उसके घर में 4 सदस्य हैं.

इस पर स्वाति भाभी बहुत खुश हो गईं और उन्होंने भी मुझसे तुम कह कर बोलने की बात कह दी.

दस मिनट तक किस करने के साथ-साथ राजेश बीच-बीच में मेरे मम्मे भी दबा रहा था और ऐसे चूस रहा था, जैसे कोई आम चूस रहा हो. दरअसल हम दोनों के बीच छह दिनों से शादी और रिश्तेदारी के बारे में काफी देर देर तक चर्चा हो रही थी. मैंने देखा कि राजेश के तीनों दोस्त कार्यक्रम की समाप्ति पर खुश होते हुए जोरदार तालियां बजा रहे थे.

भाभी मुरझाया हुआ लंड देख कर हंसने लगीं- नदीम, ये क्या है?मैं- भाभी, डर के मारे ये ऐसा हो गया है. कैगल कसरत के बाद सबको गांड चूत में 6 इंच लंबी पेन्सिल को 2 इंच अन्दर डालकर खड़ा रखा जाता. आज मैं अपनी पहली चुदाई की कहानी लिख रहा हूँ, चालू भाभी की गरम कहानी में कोई ग़लती हो जाए … तो माफ़ कीजिएगा.

शमशुद्दीन जी हंस दिए और बोले- भड़वे, हाथ मत जोड़ … सर मजाक कर रहे हैं.

आंटी की पेंटी सेक्स कहानी मेरे पड़ोस में रहने वाली मस्त जिस्म वाली सेक्सी लेडी की चूत चुदाई की है. कुछ देर रुकने के बाद अब राजेंद्र हल्के-हल्के धक्के लगाने लगा और उसके धक्कों के साथ ही मेरी चूत में इमरान का लंड और मुँह में प्रकाश का लंड अपने आप अन्दर बाहर होने लगा. थोड़ी देर लंड चूसने के बाद वो बोली- चल अब डाल दे इसे मेरी चूत में!अभी इतनी जल्दी भी क्या है?” कह कर मैंने उसे गोद में उठाया और बेड पर डाल दिया और उसकी चूत को चाटने लग गया.

बारहवीं क्लास में अच्छे मार्क्स आने पर मुझे पास ही के सरकारी कॉलेज में एडमिशन मिल गया था और मैं उसी शहर में कॉलेज के साथ साथ दूसरे एग्जाम की भी तैयारी करने लगा था. फिर बाद में एक बंदे ने मुझे एक ग्लास लाकर दिया जिसमें कुछ पीने का शर्बत जैसा था. मैं जोर जोर से धक्के देने लगा और उनके चूचों को पकड़कर चूत को फाड़ता रहा.

कुछ देर में चाची लौड़े पर कूद कूद कर थक गईं तो ऐसे ही चुत में लंड लिए बैठ गईं.

लेकिन जब भी मैं उन्हें देखता हूँ, तो लगता है कि काश ममता भाभी जैसी कोई माल मेरी गर्लफ्रेंड होती. फ्री सेक्स इन ओपन का मजा मैंने अपनी दीदी के साथ उनके घर की छत पर लिया.

सेक्सी बीएफ जबरदस्ती हिंदी में वो और मैं एक दूसरे के लंड चूत पर चॉकलेट लगा कर चुसाई का मजा लेने लगे. फिर क्या था दोस्तो … समय बीतता गया, दिन में उनकी पैंटी सूंघकर मुठ मारता था और रात में उनकी ब्रा, पैंटी को तकिया को पहनाकर खूब चोदता था.

सेक्सी बीएफ जबरदस्ती हिंदी में मेरा दोस्त खेल के मैदान में स्मार्ट फोन लाया और उसने मुझे इंडियन सेक्स मूवी दिखाई. सेक्स कहानी के अगले हिस्से में आपको ट्रेनिंग में परीक्षा किस तरह से हुई, वो लिखूंगा.

अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था तो मैंने खड़े होकर उसके कपड़े निकाल दिए और उसको अपने ऊपर 69 की पोजीशन में ले लिया.

जीजा और साली की सेक्सी वीडियो हिंदी

मैंने उसको बाथरूम से उठाकर बेड पर ले गया और उसको कुतिया बना कर खूब चोदा।और इस बार लंड का पानी उसके नंगे बूब्स पर डाला और मालिश करके, उसके बूब्स मसलने लगा. जैसे ही आंटी ने खाना नीचे टेबल पर रखा, मैंने तुरंत अपना ध्यान आंटी की तरफ केंद्रित किया. जब मैंने नीचे की तरफ देखा तो उसका लहंगा नाभि से 6 इंच नीचे बंधा हुआ था, चूत से थोड़ा ही ऊपर था.

मैंने सोच लिया था कि अब दुबारा से फोन आया तो आज मैं घोड़ी बना कर इसकी गांड मारूंगा. वो डर गया और पीछे हट गया और बाकी तीनों ने मुझे चाट चाट कर चिकना कर दिया. अब तक मेरी फैक्ट्री भी खुल गयी थी तो मैं फिर से फैक्ट्री में आ गया.

उन मादक सिसकारियों को सुनकर मुझमें और जोश आ गया और मेरी रफ़्तार और बढ़ गयी.

जब उन्होंने मेरा लन्ड देखा तो मुस्कुरा दी क्योंकि उनके हिसाब से बहुत छोटा था. आंटी- एक और बात, यदि कोई यह काम छोड़कर कोई दूसरा काम करना चाहे, तो ट्रेनिंग का पैसा चुकाने के बाद यह काम छोड़ सकता है. विक्रम बोला- साली बहन की लौड़ी, तेरा दर्द जो खत्म किया था ना, वो जोर की मालिश की वजह से हुआ था.

फिर मैंने अपने होंठ उसकी रसीली चूत पर रख दिए और चूत को चाटने चूमने लगा. Xxx कॉलेज स्टूडेंट सेक्स कहानी में पढ़ें कि मुझे पैसे की तंगी के कारण पढ़ाई छोड़नी पड़ रही थी. मेरा मन कर रहा था कि मेरा पानी कभी निकले ही न … और मैं उसे बस ऐसे ही चोदता रहूँ.

अब उसने हल्के हल्के धक्के लगाने शुरू किए, तो मैं धीमी आवाज में आहें भरने लगी और चुदाई का मजा लेने लगी. पापा ने एक ही धक्के में पूरा का पूरा लंड चूत में धकेल दिया था जो शायद मम्मी की बच्चेदानी से टकरा गया.

मैं थोड़ा घबराकर चाची से बोला- क्या कहा चाचा ने?चाची बोलीं- अरे शांत हो जाओ तुम, कुछ नहीं कहा चाचा ने. आज पहली बार मेरे लंड से इतनी क्रीम निकली थी कि आंटी का मुँह अच्छे से भर गया था. किसी भी निम्फो लड़की या औरत की चुदाई की प्यास इतनी अधिक बढ़ जाती है कि एक मर्द से उसकी प्यास बुझती ही नहीं है.

मैंने आयशा भाभी के सेक्सी गाउन को उसके जिस्म से निकाल कर हटा दिया और उसकी रेड कलर की सेक्सी ब्रा के ऊपर से ही उसके चूचे दबाने लगा.

मेरी चुदाई कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा था कि मेरी बीवी को मेरे चार दोस्तों से चुदे हुए चार दिन हो गए थे. मेरा दिल धक् धक् करने लगा और मैंने कुछ कदम आगे बढ़ कर डाइनिंग रूम में झांका. मैं सोच रहा था कि काश ये पल कभी खत्म ही ना हो … लेकिन ऐसा हो नहीं सकता था.

तभी पीछे से आवाज आई- मजा आ रहा है साले साहब!मैंने पलट कर देखा तो पीछे शर्मा अंकल खड़े थे. करीब 5 मिनट तक अंकल मेरी चूत के दाने को सहलाते रहे और मेरे होठों को चूसते रहे और लंड अंदर चूत में बिना किसी हलचल के अंदर ही रखा।जिससे वो बड़े लंड का दर्द खत्म हो गया था और अब मुझे दर्द में थोड़ा आराम मिला।फिर अंकल ने हल्के हल्के धक्के मेरी चूत में लगाने शुरू किए.

मेरा खड़ा और बड़ा लंड उन्हें महसूस हुआ, उन्होंने एकदम से हैरानी से मेरी तरफ देखा और कहा- ये क्या है?मैंने कहा- मेरी जवानी. मैंने अन्दर के कमरे में जाने के लिए कदम बढ़ाए ही थे कि कोई सामने से आकर मेरी छाती से टकराया. एक दिन मेरा चचेरा भाई आया तो मैंने सोचा कि आज इसी का लंड अपनी चूत में लेती हूँ.

सेक्सी पिक्चर दिखाइए नंगी वाली

रात के खाने के बाद मेकअप, तरह तरह के कपड़े पहनना, शर्माने का नाटक करना, चलना आदि सिखाया.

उसने वैसा ही किया,मैंने अपना सख्त लन्ड उसकी गीली चूत पर रखा और दबाया. तभी मेरी भाभी को दर्द उठा और उनको डिलीवरी के लिए अस्पताल ले जाना पड़ा।भैया भाभी को साथ लेकर अस्पताल चले गए. कुछ देर बाद भाभी का दर्द कम होने लगा और वो भी चुदाई का आनन्द उठाने लगीं.

फिर जब मैं फ्रेश होने गया, तो फिर मुझे वही देसी पोर्न फिल्में याद आ गईं. अब वो पूरी मस्ती में ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थी- फक मी फक मी हार्ड… माय बेबी … और तेज़ से चोदो … उम्म्ह … अहह … हय याह … फाड़ दो … मेरी चूत लंड की बहुत प्यासी है … आह मेरी जान. सेक्सी दिखा दे सेक्सीसभी को सोने की जल्दी थी, बहुत सारी नर्स गांड मरवाने को बेकरार थीं और उन सबने अपना अपना लंड को सिलेक्ट कर लिया था.

मेरी जान … मैं आपकी मस्त अंजलि एक बार फिर से अपनी चुदाई की कहानी में आप सभी का स्वागत करती हूँ. उसके अलावा भी मेरी कुछ सहेलियां थीं, जिन्होंने चुदाई का खेल खेला हुआ था.

मेरे पति तो बिजली की दुकान में रहते हैं और मेरा बच्चा स्कूल जाता है. भाबी भी इतने में काफी गर्म हो गयी थी उनके मुँह से ‘आह … आह …’ की कामुक आवाज निकल रही थी. इस पहले राउंड के बाद हमने बाथरूम में फिर टेबल पर और उसके बाद बिस्तर पर अपने ऊपर बिठा के भी मुझे इतनी उम्र के बाद रियल सेक्स का मजा दिया, चुदाई करनी सिखाई.

उन्होंने मुझे इशारे से बुलाया और कहा- स्वप्निल, तुम अभी अन्दर मत ही जाओ, अन्दर प्रोग्राम चालू है, बाकी तेरी मर्जी. शायद पिछले कई दिनों से फहीमा की चूत न चोदने के कारण स्टॉक इकट्ठा हो गया था. लगातार दस मिनट तक दूध चोदने के बाद पापा अपने लंड को मम्मी के मुँह में डालकर मुखचोदन करने लगे.

पीछे खड़े तीनों दोस्त चिल्ला चिल्ला कर वाटर सेक्स के मजे ले रहे थे- याहू … वाओ … आहह!मैंने बहुत जोरों से राजेश का लंड और दोनों आंड को चूसना शुरू किया कि राजेश के मुँह से आह आह की आवाज निकलने लगी.

अब वह काफी थक चुकी थी तो मेरे सीने पर अपनी तेज गर्म सांसों को छोड़ने लगी. वो इठला कर बोली- अपने माल का टेस्ट कैसा लगा?मैंने उसके मुँह में वापस अपना रस छोड़ा और हंसते हुए कहा- मस्त स्वाद है.

तो मैंने उसे अपने लन्ड की अलग अलग एंगल से 3-4 फोटो क्लिक करके भेज दी. बस उसे तुम अपनी बीवी समझ कर चोदना, फिर चाहे किसी भी पोजीशन में चोद लेना. मैंने तुरंत उनके चरणस्पर्श किए, तो उन्होंने मुझे पकड़ कर ऊपर उठाया और अपनी छाती से लगा कर झप्पी दे दी.

मुझे आया देख कर भड़क कर बोले- साले भड़वे! देख नहीं रहा, मैं तेरी बीवी के साथ बिजी हूँ. लड़कों को लड़कियों की चूत पर डेंटल डॅम या कंडोम को लगाना सिखाया गया और चूत चूसने का अभ्यास कराया गया. खाने के बाद दोनों परिवार साथ में ही बैठकर इधर उधर की बातें कर रहे थे.

सेक्सी बीएफ जबरदस्ती हिंदी में मेरी बहुत सारी सहेलियां थीं, जो अपने बॉयफ्रेंड के साथ सेक्स कर चुकी थीं. थोड़ी देर बाद मैंने उसे अपनी गोद में उठा कर बेड पर लिटा दिया और बड़े प्यार से उसके सारे कपड़े उतार कर उसके मम्मों से खेलने लगा.

सेक्सी पिक्चर जानवरों की वीडियो में

काफी देर तक लगातार धक्के लगाने के बाद मैं थोड़ी देर रुका और चैन से सांस लेने लगा. मुझे पता चला उसका नाम सुकेश है और उसका घर यहाँ से काफी दूर है करीब 400 किलोमीटर. ‘आह्ह … बहुत मजा आ रहा है … और जोर से पेल मेरे राजा बेटा … आंह और जोर से पूरा डाल मादरचोद.

मैं भी उसके सीने से चिपक गई और किशोर बिना रुके मेरे होंठों को चूमने लगा. मैं कुछ भी बोलने से पहले सोचता नहीं हूँ, जो भी मुँह में आता है, बक देता हूं. दीवाली कब है 2021 के गाने वीडियोअब जोगी सर ने मुझे लेटा दिया और मेरे दोनों उभारों को चूसते हुए मेरी जींस का हुक खोलने लगे.

मेरे सामने भाभी की लाल फुद्दी थी और उसमें मेरा आधा लंड घुसा हुआ था.

उस रात उसने कहा- पता है हमें हमारा दिल मिलाने का तरीका पता चल चुका है. इन छह दिनों में ऐसा लगने लगा था कि हम लोग काफी पुराने रिश्तेदार हैं.

अब मैंने भाभी के पेटीकोट में सिर घुसा दिया और उनकी काली पैंटी उतार दी. लंड के अचानक हमले से सिमरन की चीख निकल गयी और बोली- उई मां … आज क्या चूत को फाड़ ही दोगे, आराम से नहीं चोद सकते!मगर मैं उसकी बात को अनसुना करते हुए लंबे-लंबे धक्के लगाने लगा. राजेश भी पागलों की तरह मेरी चूत के दाने को होंठों से खींच खींच कर चूस रहा था.

जब वो पेन उठाने लगी तो मुझे उसकी टीशर्ट के गले में से उसकी चूचियों के दर्शन हो गये.

तभी गुरबचन जी मुझे देख कर बोले- अबे अरुणिमा के दल्ले, यहां कहां घुस रहा? बाहर जाकर सोफे पर सो जा भोसड़ी के. जब मेरी सांस घुटने लगती, तो रणवीर अपना लंड थोड़ा सा बाहर निकाल लेता. विक्रम ने मॉम के पैर फैला दिए और जांघ के अन्दर का हिस्सा दबाया, तो मॉम ने कहा- हां यहां भी है.

बूढ़ी औरत की चुदाईसुबह से इतनी बार चुदाई की थी कि चाची की चूत का छेद गुफा जैसा हो गया था. उधर स्टाफ क्वार्टर्स में नर्स सुरभि और डाक्टर स्वाति भी रहती थीं, क्योंकि उन दोनों का घर भी अस्पताल से दूर शहर में था.

लगने वाली सेक्सी

उन्होंने कहा- अरे सॉरी सॉरी, मैं जल्दी जल्दी में भूल ही गई कि मैं वीडियो कॉल पर हूँ. फिर हम दोनों ने एक दूसरे को चुम्बन किया और बाथरूम में जाकर फ्रेश हो गए. अपनी चूत पर मेरे होंठ लगते ही उसके मुँह से आवाज निकलने लगी ‘आईई ईई सीईईई ईई …’मुझे चूत चाटना पसन्द नहीं था पर सेक्स की मदहोशी में उसकी चूत को चाटने और चूसने लगा.

फ्रेंड्स, मैं शबनम आपको अपनी मॉम की लेस्बियन सेक्स कहानी सुना रही थी. सही आसन बन गया था और उसका पूरा का पूरा लंड मेरी गांड में कॉर्क की तरह फिर हो गया था. किशोर ने अपने लंड को सहलाते हुए आगे पीछे किया और उसका बड़ा सा गहरे गुलाबी रंग का सुपारा बाहर निकल आया.

मैं चाची से बोला कि चाची अब आप पहले अपना एनर्जी ड्रिंक पी लीजिए, तब तक मैं फ्रेश होकर आता हूं. नीतू का मुँह दर्द से खुला और उसी समय बहन के मुँह में भाई का लंड घुस गया. बोल क्या है?मैंने बुआ से पूछा- बच्चे सो गए क्या?वो बोली- राज दरवाजा बंद है.

मैं यहां कुछ लम्बी चौड़ी नहीं फेंकूंगा कि मेरा लंड बारह इंच का है या दस इंच का है. मेरी दीदी से मन नहीं भरता है क्या?मैं कह देता- मन तो भर जाता है, पर तू भी तो मस्त है मुझे तेरी भी चाहिए!वंदना की सहेली नेहा बोली- मुझे नहीं करना.

मैं अब आपको एक स्पेशल मालिश दूँगा, आप बस एन्जॉय करना … और कुछ मत बोलना.

वो मजे से अपनी बेटी की चूत चाटती रहीं और थोड़ी देर में मैंने मॉम के मुँह में अपना पानी छोड़ दिया. पंजाबी सुहागरातफिर मैंने अपने आपको संभाला और अंकल की बांहों से छूटने की कोशिश करती हुई मैंने उनसे कहा- आप कहां और मैं कहां … आप मुझसे कितने बड़े हो. हिंदी ब्लू पिक्चर बताएंउस वक्त प्रिया भी जोर जोर से चिल्लाए जा रही थी और मैं हल्के हल्के उसे चोदे जा रहा था. अंकल की इस तरह कोली भरने की वजह से मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया था।तभी अंकल बोले- बेटा, आज रात तुम्हें यहीं रुकना है। मैं तुम्हारे पापा को बोल दूंगा.

भाभी की सारी बातों को मेरे मुँह से सुनने के बाद सर ने भाभी को काम देने का निर्णय कर लिया और उन्हें तुरंत ही बुलाने का कह दिया.

इस अवस्था में ये धर्म की बातें याद नहीं आती।इस बात पर वह मुस्कुरा दी और अपने कपड़े पहनने लगी. एक हाथ से मैं उसकी गांड सहला रहा था और दूसरे से उसके बाल!और उसने मेरा सर अपने दोनों हाथों में दबा रखा था।कुछ देर लेटने के बाद वो नहाने चली गयी. मेरी बीवी ने जब मुझसे ये बात कही, तो मैं बोला- छुट्टी तो ले सकता हूं, पर मेरा नया नया जॉब है.

उसका डिल्डो मेरी चूत में गया तो मैंने आह आंह उन्ह की आवाज निकालनी शुरू कर दी. तो उन्हें डर था कि उनकी चूत में ही लंड इतना दर्द देकर गया है तो कहीं शानू मेरी गान्ड ना मार ले।मैंने उन्हें विश्वास दिलाया- भाभी, आप चिंता मत कीजिए, मैं आपकी गांड में लौड़ा नहीं डालूंगा. मैंने कहा- बच्चा रह जाएगा!तब स्वाति बोली- अरे तू चोद ना … ज्यादा डॉक्टर न बन … अब बहुत तरीके आ गए हैं.

सेक्सी पिक्चर बंगाली में

मैंने कहा- और तुम कौन सी कम हो … तुम भी तो मुझे अपने मम्मों की झांकी दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ती हो. मैं- जिस दिन बंदूक घर में रहती है, उस दिन तो सही से चलती है न!भाभी बोलीं- उस दिन बोतल का नशा बंदूक की छुट्टी कर देता है. बीस मिनट बाद हम दोनों आवाज़ करते हुए झड़ गए और झड़ने के बाद भी वो मेरे ऊपर चढ़ी रही; अपनी सांसों पर काबू करती रही.

मैंने होटल में दो रूम बुक किए और मैं बाहर रिशेप्शन पर बैठ कर चाची के आने इंतजार कर रहा था.

भाभी को चुदाई की बहुत जल्दी थी तो उन्होंने मुझसे प्यार से कहा- तुम मुझे ज्यादा मत तड़पाओ प्रवीण, जल्दी से मेरी चुदाई करो, मुझसे रहा नहीं जा रहा है.

कोमल एक मिनट लंड चूसने के बाद बोली- देखा, कौन चूसती है लंड … लो चूसो. मैंने उनसे कहा- मैम सारे काम हो गए हैं … कुछ और हो तो बताइए?उन्होंने कहा- कोई काम नहीं है, तुम घर चले जाओ. इंडियन लड़की नहाते हुएबहुत दर्द होगा!किशन- दर्द गया भाड़ में … आप बस मेरी गांड में लंड डालो.

तभी मैंने एक ज़ोर का झटका लगाया तो मेरा लंड एकदम फ़च्च से उसकी गांड में पूरा घुस गया. सुरभि अब चीख तो रही थी मगर मजा ले रही थी- आआ … बहुत मोटा लंड है यार मर गई रे … तेरा लंड साला चूत फाड़ देगा क्या … आआ … ऊऊऊ!वह मजे में ऐसा बोल रही थी तो मैं उसे और स्पीड से चोदने लगा. मैं बोला- मैं समझा नहीं!सुरभि मेरे पास आयी और मुझे किस करके बोली- भोसड़ी के चूतिया है क्या … चल उधर बिस्तर पर बैठ.

मैं चाची को उछल उछल कर चोद रहा हूं, मैं ऐसा सपने में देख रहा था और चाची जोरों से चिल्ला रही थीं. मैंने अपने हथियार यानि टेस्टर व प्लास लिया और वर्मा जी के घर की तरफ चल दिया.

मैंने मौसी के कान में कहा- रात भर चोदूंगा तेरी देवरानी की बुर मौसी जी! बोलो रुक जाऊं?वे बोली- हां रुक जाओ।मैं ख़ुशी ख़ुशी रुक गया.

फिर विक्रम बोला- आंटी, एक प्रॉब्लम है, तेल से मेरे सारे कपड़े खराब हो जाएंगे. मुझे भाभी पोर्न फोटो और वीडियो भेजती थीं क्योंकि उन्हें पता था कि मैं घर की इज्जत की वजह उन फोटो औरनंगी वीडियोको वायरल नहीं कर सकता. अपनी आदत के मुताबिक़ सविता ने लड़कों की जवानी का भोग लगाया तो क्या हुआ?लेकिन इस बार कुछ अप्रत्याशित हुआ?इस बार यहाँ दो लड़के और दोनों एकदम एक जैसे दिखते हैं.

सबसे सेक्सी मैंने अपनी हालत संभाली और कहा, अरुणिमा! विश्वेश्वर जी हमारे सबसे आदरणीय हैं, अच्छे से उन सबका लंड चूसो. कुछ देर बाद मैंने एक झटके से मैडम की चूत से अपना मोटा लंड निकालकर उनकी गांड के छेद पर सैट कर दिया.

बिल्कुल गुलाबी रंग की छोटी सी उसकी चूत, जिस पर हल्के हल्के भूरे रंग के रोम मात्र थे. एक बार मैंने मेरी होने वाली पत्नी को चुपके से मेरा नम्बर दे दिया और उसने अपने घर के फोन से मुझसे कॉल की. अब आगे पोर्न चाची Xxx कहानी:करीब 15 मिनट तक मैं ऐसे ही चाची के साथ चूमाचाटी करता रहा.

सेक्सी ब्लू फिल्म चुड़ै

गुरबचन जी बोले- विश्वेश्वर जी का भी नहीं जाने वाला था, गया ना … मेरा भी चला जाएगा. दोस्तो, देसी पड़ोसन भाभी की न्यूड सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, मुझे जरूर बताएं. मैं सोफे पर बैठकर आंटी के एक चूचे को दबाने लगा और उनको उत्तेजित करने लगा.

साथ में उसकी गर्लफ्रैंड को भी संतुष्ट किया।तो दोस्तो मेरा नाम रोहित है। मैं अभी 24 साल का हूँ. बस बीच बीच में वो कपड़े सुखाने उतारने के बहाने छत पर चली जाती थी।ताकि पड़ोसियों को कोई शक ना हो।और इन दो दिनों में हमने कम से कम 12 बार चुदाई की.

मैंने उनसे पूछा- आपके पति कहां हैं?उन्होंने बताया- वो भी अभी जाग रहे हैं.

मैं उसकी ओर कामुक निगाहों से देखती हुई धीरे से उसके कान में बोली- आज तुम चारों को मेरे जिस्म का आनन्द लेना है. विश्वेश्वर जी ने मेरी बीवी के चूतड़ों को अलग अलग किया और उसकी गांड के छेद पर अपना लंड टिका दिया. इतने में मेरी काली रंग की ब्रा का हुक भी खुल गया और ब्रा एक झटके में ही मेरे बदन से अलग हो गई.

मैं बोला- क्या करना है?तो किशन बोला- आज एक दूसरे की गांड में लंड पेलते हैं. हॉट साली Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरी बीवी की तबीयत खराब हुई तो उसने अपनी बहन को बुला लिया. यह कहते हुए अंकल ने मेरे कपड़ों के ऊपर से ही मेरे मम्मे दबाने शुरू कर दिए.

एक महीने के बाद मुझे अपना लंड देखकर घोड़े के लंड जैसी फीलिंग आने लगी थी.

सेक्सी बीएफ जबरदस्ती हिंदी में: राजेश द्धारा दी जा रही धमकी पर अब मुझे हंसी आ रही थी लेकिन मैं उन लोगों को यह नहीं बताना चाहती थी कि मुझे उन सभी लोगों की सारी चालाकी पता चल चुकी है. बीस मिनट चूत चोदने के बाद मैंने कामिनी को दीवार के सहारे से खड़ा कर दिया.

उन्होंने बिस्तर पर मेरे करीब बैठ कर मेरे घुटनों पर हाथ रखा और हंस कर बोले- घूंघट हटा दो … मुझसे कैसा पर्दा?मैंने कुछ नहीं बोली, बस चुपचाप बैठी रही. नाश्ते में भाभी ने मुझे एक केला दिया जिसे देखकर मैंने कहा- भाभी, इतना बड़ा केला मैं नहीं खा पाऊंगा. वह मुझे मजे में बोल रही थी- मालिक जब मैंने आपको लन्ड सोते हुए देखा था तो मैंने सोच लिया था कि इस मोटे और बड़े लन्ड से अपनी चूत चुदाई कराऊंगी.

मैंने मिसाइल की गति की तरह कुछ धक्के लगाए और सारा पानी चूत में ही छोड़ दिया.

जैसे ही मैं बैठा मैंने बाथरूम के बाहर की दीवार पर टंगी हुई एक लाल रंग की पैंटी और सफ़ेद ब्रा देखी. ट्रेनर बोला- ग्राहक क्या कहता है, वो ध्यान से सुनो, उसके अनुसार अभिनय/व्यवहार करो. मैंने देखा कि घर में वो अकेली ही थी तो मैंने उससे खाला और हुसैना भाभी के बारे में पूछा.