बीएफ पिक्चर छोटी लड़की

छवि स्रोत,देहाती लड़की चुदाई सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

उसी की जवानी: बीएफ पिक्चर छोटी लड़की, अब तक आपने पढ़ा कि सारा की चुदाई के बाद मेरी छोटी बीवी जरीना गरमा गई थी और मैं उसको चोदने की तैयारी में था.

सेक्सी पिक्चर वीडियो में चलाओ

मैंने भी एक बार अपनी सहेली की सहायता की थी, उसके बॉयफ्रेंड से चुदवाने में… इसलिए उसने भी मेरी सहायता की थी. lucy सेक्सीआंटी ने बताया कि उन्होंने बहुत दिनों से लंड नहीं लिया और मुझसे शुरूआत में आराम से करने के लिए कहा.

शारदा ने कहा- आज से आप ही मेरी गांड के मालिक हो और मेरी चूत के दूसरे हक़दार भी. जंगली सेक्सी फिल्मेंमज़ा आएगा न?’‘मुझे तो सोच सोच के ही मज़ा आ रहा है, पूरी गरम हो गयी हूँ.

मैंने धीरे से सोनू की टांगें चौड़ी कीं और अपने दोनों पांव को सोनू की टांगों के बीच ले जाकर उसे अपनी गोद में बैठा लिया.बीएफ पिक्चर छोटी लड़की: आज से मैं तेरी हूँ।तभी मैंने आंटी को डॉगी स्टाइल से सेक्स करने के लिए तैयार कर लिया.

मैंने एक बार उनका हाथ हटाया, तो आंटी कहने लगी कि मैं तुम्हें अच्छी नहीं लगती क्या?आंटी ने फिर पूछा- तुम्हारा वह सब करने का मन नहीं करता क्या? तेरे अंकल तो रोज दवाई खाकर सो जाते हैं और अगले दिन सुबह ही उठते हैं.फिर उसकी चूत पर थोड़ा सा क्रीम लगा कर उंगली से चूत को चिकना कर दिया.

संदेश सेक्सी सीन - बीएफ पिक्चर छोटी लड़की

वी-कट अंडर वियर से करीब-करीब बाहर झांकते हुए प्रशांत के तगड़े लौड़े पर नीना की नजर अटक गई, मगर आंखों को बंद कर वह एक आंख की कनखी से देख रही थी.अपने कपड़े पहने और बेडरूम में चला गया जहाँ मेरे सोने का इंतज़ाम किया गया था.

मैंने तो अभी अपना सुपारा ही तुम्हारी बुर के अन्दर डाला है, इसमें ही तुम्हारा यह हाल है, तो पूरा लंड तुम्हारी बुर में जाएगा. बीएफ पिक्चर छोटी लड़की अगर वो मिशिका को अपने साथ घर ले गया तो जरूर इन दोनों के बीच में आज चुदाई होकर ही रहेगी.

इसलिए अगर कोई ग़लती आप लोगों को मिल जाए तो मैं उसके लिए आप सब से पहले ही माफी मांग लेता हूँ.

बीएफ पिक्चर छोटी लड़की?

अभी तक आपने पढ़ा कि छुट्टी के बाद पेपर करने गई हम दोनों सहेलियां सर के साथ ऑफिस में बैठकर नकल उतार रही थीं. ये सुनकर मैंने उसे कुतिया बनाया और उसकी चूत में लंड जोर के झटके से घुसा दिया. उसके बदन की महक से मानो वक़्त जैसे ठहर गया, हवाओं में ठंडक सी महसूस होने लगी.

शायद वो मेरी इस हालत को पहचान गयी क्योंकि वो मेरे पैंट को देख रही थी. खैर उसने मेरे लंड की टिप पर ज़ुबान रख दी और लंड को हाथ में पकड़ा, जो उसकी चूत के पानी से बिल्कुल गीला हो चुका था. मैं उसको साइड में लाया मतलब भाभी के पीछे लाने में मेरा खड़ा लंड उसको चिपक कर चलते हुए, एकदम उसकी गांड के छेद में हल्का सा सैट हुआ और फिर टच होते मैं साइड हो गया.

वो मुझे बेड पे भी वो रेस्पेक्ट नहीं देता, बस वो मुझे एक खिलौना समझ कर रौंद कर सो जाता है. ये बोलती है, अगर शादी के बाद सेक्स ही करना है, तो घर में लंड मौजूद हैं ना. इतने में फिर से पता नहीं कैसे उधर से निहाल आ गया और वह जो मेरी गांड में लंड डाले हुए था, उससे बोला- अरे भैया तुम यह सब क्या कर रहे हो.

पापा ने मुझे धक्का मारा, मैं नीचे फर्श पे गिर गई और उन्होंने मुझे भी लाठी से खूब मारा. जब मेरी नींद खुली तो भोर के 3 बज चुके थे, कौशल्या मेरी तरफ पीठ करके लेटी थी, मैंने कमर से सटते हुए उसकी चुचियों को पकड़ा और उसके निप्पल मसलने लगा.

वो मजदूरी करता है, कभी काम मिला तो किया, नहीं तो इधर उधर गावों में घूमना, देर रात को घर आना औए पत्नी से मार पिटाई करनी.

उनका लंड मेरी चूत में छू गया, जिससे मैं बिल्कुल अजीब सा महसूस करने लगी.

उसे दीवार के साथ झुका दिया और उसकी गांड मारने लगा और उसके चुचों का हलवा बनाने लगा. उसके चुत का पानी और चॉकलेट दोनों मिक्स हो गए थे और बड़ा मस्त स्वाद लग रहा था. खैर, सिगरेट खत्म हुई, मैंने भी स्कूटर स्टार्ट किया और अपने कमरे पर चला गया.

उसकी सिसकरियां बढ़ रही थीं- हाँ आमिर … जोर जोर से करो, ऐसे ही करते जाओ, बहुत अच्छा लग रहा है, प्लीज़ रुकना नहीं. वो तुरंत बाथरूम में चली गई और थोड़ी देर में बाहर आकर मेरे पास बैठ गई. अंकित मेरे पास आया और जोर से मेरे बूब्स को दबा कर मुझे लिपटा कर बोला- यार, तू धोखा दे रही है.

जैसा कि बाकी कहानियों में पढ़ने को मिलता है कि 8 इंच के लंड, 9 इंच के लंड या फिर कुछ बकचोद तो 10 और 11 इंच के लंड भी लिख देते हैं.

वो कपड़े मुझ पर एकदम सही बैठ रहे थे, शायद इसी वजह से मैं ज्यादा कामुक दिख रही थी. अब मैंने अपना ग्लास उठाकर एक घूँट अपने मुँह में भर लिया और अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए. लगभग दस मिनट की चुदाई के बाद वो झड़ गई। पर मैं अभी नही झड़ा था, फिर मैं भी कुछ देर के बाद झड़ने वाला था तो मैंने पूछा- कहाँ निकालूं?तो उसने बाहर निकालने को बोला.

भाभी को जब मैंने पहली बार ही देखा तो एक ही नज़र में मैं उनका दीवाना हो गया. मेरी आई-डी में जेंडर फीमेल लिखा हुआ था तो रिक्वेस्ट भी जल्दी ही ऐक्सेप्ट हो जाती थी. बाद में पता चला कि पहली वाली तो मेरे घर से केवल 25 किलोमीटर दूर ही रहती थी.

मैं हाँफ रहा था और कोमल ने मेरे सारे वीर्य को अपने अंदर गटक लिया था.

इस वक्त मैं आराम से उसकी चुत चोद रहा था और वो बाहर का मज़ा ले रही थी. कुछ ही देर में मुझे ऐसा लगने लगा कि वो मेरे होंठों को चूसते हुए मेरी चूत को भोसड़ा बनाने के नजरिये से चोदे जा रहा था.

बीएफ पिक्चर छोटी लड़की अब मैंने उसकी पैंट को गांड के नीचे कर लिया और उसकी गांड को किस करने और चाटने लगा. मैंने चेहरा मर्दाने चूतड़ों के बीच में घुसाया और गांड से होंठ जोड़ दिए.

बीएफ पिक्चर छोटी लड़की बीस मिनट की गांड चुदाई के बाद, मैंने एक बार और प्रमिला का पानी निकलवा दिया और मैंने अपनी गति रोक दी. हम्म … और बेशर्मी की भी हद होती है … जवान हो गयी तो क्या? हमारे टाइम में तो ऐसी गंदी बातों का पता ही नहीं होता था इस उम्र में … और इसको देख लो … कैसे-कैसे गंदे लेटर आते हैं इसके पास … कौन है तेरा यार? बता?”जी … मुझे सच में कुछ नहीं पता … भगवान की कसम …” मैंने आँखों में आँसू लाते हुए कहा।अब छोड़ो मैडम … जो करेगी वो भरेगी … हमारा क्या लेगी? इसकी शीट मंगवा लो … मैं यू.

मैंने कहा- आपको मज़े लेने हैं तो इसमे मैं आपकी क्या हेल्प कर सकता हूँ?तो उन्होंने कहा- ज्यादा बनो मत, मैं तुम्हारे और नेहा के बारे में सब जानती हूँ.

ग्रुप सेक्सी कहानियां

मेरा लंड फटने वाला था, मैंने कहा- तुम जवान हो और क्या तुमने भाई बहन के सेक्स की कहानियां नहीं पढ़ीं हैं?बोली- हां मगर!मैं कहा- बस कुछ नहीं बोलो … मैं तुमको बहुत पसंद करता हूँ. इतना बोलकर उन्होंने मेरे बैठे हुए लंड को अपने मुँह में लेकर चूसना शुरू किया और चूस चूस कर उसे फिर खड़ा कर दिया. खैर, शाम को भाभी को चोदने के ख्याल से मैं अन्तर्वासना की सेक्स स्टोरी पढ़ के अपने लंड को हिला रहा था.

उसकी गीली और गर्म चूत की चुदाई करते हुए मैं जन्नत के मजे लेने लगा था. ये सुनकर मैंने उसे कुतिया बनाया और उसकी चूत में लंड जोर के झटके से घुसा दिया. मेरे पापा ने पूछा- फिर आप इसके साथ ये क्या कर रहे थे?वो बोले- हम ओशो के शिष्य हैं और सेक्स कभी ये नहीं देखता कि भाई बहन है या पिता पुत्री हैं.

राजा जी ने दोनों हाथ से मेरे दूधों को कस लिया और दबाने लगे, चूसने लगे.

पर कहीं पति उस पर या उसके चरित्र पर शक ना करने लगे, इसलिए वह मना करती रहती है. अब ना जाने मुझे क्या हो गया, मुझे कुछ समझ ही नहीं आया कि मैं क्या करूँ. जब भाभी नीचे सरकने लगी तो मैंने अपने दाहिने हाथ को भाभी को सहारा देने के बहाने उनकी जांघों में डाल कर उनकी चूत को दबा दिया.

सुखबीर, मेरेपड़ोसी से सम्भोग का सुखपाने के बाद हम दोनों कभी दोबारा नहीं मिले और न उसने कभी जोर दिया. हम दोनों जब कंपनी से बाहर निकले तो शिखा कहने लगी कि उसके सिर में दर्द हो रहा है और उसका सिर बहुत भारी सा लग रहा है. मैं खड़ा ज़रीना का चेहरा देखता रहा, दर्द के मारे वो तड़प रही थी, पर संतुष्टि के भाव थे.

दोनों ने एक एक घूंट भरा, फिर राजिंदर बोला- अब अपने ग्लास में अपने मर्द का फिल्टर प्रसाद ले ले. दिन रात बस रोती रहती थी कि या अल्लाह ऐसी कौन सी खता हुई मुझसे कि तूने मुझसे सब कुछ छीन लिया.

हमने बड़ी बेतकल्लुफी से कहा- चौबे जी, मुझ गरीब को कौन अपनी बेटी देगा, न तो मेरे खानदान का पता है और न ही माँ बाप का. फिर मैं उठा और उसकी टांगों में फंसा अधखुला उसका पेटीकोट उतारने लगा. एक दिन मैंने प्रिया से कहा- आपको देखना है, मैं आपको बहुत मिस कर रहा हूँ.

हालांकि मैं मानती हूँ कि यह बहुत अच्छी आदत है मगर मुझे फिर भी बहुत अधूरा सा लगता है, तन्हा सा लगता है.

मैं भी खड़ा हुआ और दोनों को अपने लंड ले सामने घुटनों पर बिठाकर दोनों के मुँह पास में चिपका लिए. नीचे से मैं अपनी गांड को उछाल-उछाल कर उसकी चूत में गचा-गच पेल रहा था. मैं 21 साल का एक युवक हूँ। मैं महाराष्ट्र के धुले डिस्ट्रिक्ट मैं रहता हूँ। मैं दिखने में सामान्य हूँ और पतला हूँ पर जिम जाने की वजह से मेरी बॉडी टोंड है।यह कहानी तब की है जब मैं 12 क्लास पास करके कॉलेज में आया था। हमारे कॉलेज में यों तो कई सुंदर लड़कियाँ हैं पर उनमें से जिस लड़की की तरफ मेरा ध्यान गया उसका नाम था अंजलि(नाम बदल हुआ)।अंजलि दिखने में एकदम गोरी, उसकी हाइट 5.

उसकी गांड मैंने पहली बार मारी, फिर उसके गांव में कई औरतों ने मुझसे गांड मरवाने की फरमाइश की. अब मैं आपका ज्यादा समय बर्बाद न करते हुए आप लोगों को अपनी कहानी बता देता हूँ.

उसने मेरी चूत को खूब चाटा, उसके बाद वो मेरे होंठों को चूस कर मुझे ही मेरी चूत के पानी का स्वाद चटाने लगा. चूचों की त्वचा पर सीधे मेरे हाथ का सपर्श पाकर पहली बार प्रिया उछल सी पड़ी और कराहने लगी. मैं थोड़ी देर उसकी चूत चाट ही रहा था कि वो मेरे मुंह मे ही झड़ गयी.

चोरी चोरी वाला सेक्सी

फिर किसी तरह एक ने फ़ोन उठाया, तो कहा कि उन्हें लगा मैं चली गयी, इसी वजह से दोनों अपने अपने पतियों के साथ घर लौट आईं.

मैं आशा करता हूं कि जब भी वह मुझसे मिलेगा, मेरा प्यार इतना ही रहेगा बिल्कुल भी नहीं घटेगा. राहुल ने कहा- ठीक है।मैं सब काम खत्म करके लगभग पौने दस बजे अपने कमरे में आ गयी और अंदर से कुंडी बंद कर ली. वो एक तरफ तो तेज़ी से धक्के मार रहा था, दूसरी तरफ मेरी जांघों को पकड़ धक्के के साथ उठा कर मुझे खींचने लगा.

संध्या गर्म हुई और मेरा लौड़ा चूसने लगी फिर मुझे लेटने को कहा और मेरे लौड़े को अपनी चूत के अंदर लेकर ऊपर से मुझे चोदने लगी. इतने में मेरी टांगों को अपने हाथों से निहाल नीचे चौड़ा करने लगा और फिर बिल्कुल मेरे नीचे आकर मेरी चूत में अपनी जीभ को लगा दिया. रोमांस सेक्सी रोमांसबहुत दिनों बाद मैं अपने ससुराल गया था, फोन से मुझे पहले ही मालूम हो गया था कि सलहज इंदु और साले की बीच रोज़ मार पीट होती है.

इसके साथ ही उसके शरीर ने झटके लेने शुरू किए, उसके पेट के नीचे और बुर के ऊपर का हिस्सा फूलने पिचकने लगा और फिर वो लम्बी- लम्बी सांसें लेते हुए पूरी तरह शांत हो गई. शिल्पा से कुछ दिन बात करते करते जब वो मुझसे थोड़ा खुल गई, तो उसने बताया कि विक्रम सिर्फ अपनी जिस्म की भूख मिटाने के लिए मेरे पास आते हैं, उन्हें मेरी संतुष्टि से कोई मतलब नहीं होता.

मेरे स्पर्श से वह जग गईं और बड़े प्यार से बोलीं- मेरी आँख लग गयी थी. मैं बार-बार पेंटी के आस-पास चूम रहा था लेकिन चूत को बिल्कुल नहीं छू रहा था. यह कहकर मैंने आंटी की चूत पर अपने होंठ रख दिये और उनकी चूत को चूसने लगा.

अभी तक आपने पढ़ा कि छुट्टी के बाद पेपर करने गई हम दोनों सहेलियां सर के साथ ऑफिस में बैठकर नकल उतार रही थीं. आज मेरे पास सिर्फ दो लुंगियां हैं, एक मैंने पहनी है, एक आप पहन लो, अभी तो और कुछ नहीं है मेरे पास. रिशु- अब इतनी हॉट लड़की नम्बर दे दे तो थैन्क्स तो बनता है न।मिशिका- अच्छा जी।रिशु- जी, और नहीं तो क्या। वैसे अपनी पिक भेजो न?मैंने देखा कि मिशिका ने उसके बाद अपनी 3-4 फोटो भेज रखी थीं.

यहां पर एक तरफ ऐसी बिल्डिंग खड़ी हुई दिखाई देती हैं कि लगता है कहीं विदेश में घूम रहे हैं और दूसरी तरफ बीच-बीच में छोटे-छोटे पुराने गांव बसे हैं जो केवल नाम के ही गांव रह गए हैं.

इसके कुछ देर बाद आंटी ने मेरी पेंट निकाल दी और मेरे लंड को पकड़ कर हिलाने लगी. जब से मेरे हस्बैंड ने मुझे दूसरे आदमी से चुदने की लत लगाई है, तब से मैं बस चुदना चाह रही थी.

वे चारों भी नंगे खड़े थे और अब्दुल मुझे चोदने के लिए मेरे ऊपर चढ़ गया था. मैं मादक सिस्कारियां निकालने लगी और वो मेरी चूत को चाटने के बाद मेरे जांघों को मसलने लगा. दोस्तो, मेरा नाम है चार्ली! मैं कोल्हापुर, महाराष्ट्र का रहने वाला हूँ.

मैंने भी पूछ लिया कि किसका देखा है?सोनू ने बताया कि उसके पापा रात को 10. उसने वो तुरंत सीधे मेरी चुत में अपना हाथ रखा और बोला- वाह, तेरी चुत में तो अभी बाल भी नहीं आए हैं. अभी वो खुद अपनी चूत के रस स्वाद ठीक से ले भी नहीं पाई थी कि मैंने उसको अपने ऊपर ले लिया.

बीएफ पिक्चर छोटी लड़की पतली सी कमर और उनके दूध एकदम गोल गोल, चिकने से मुलायम, परफेक्ट साइज के थे. उस लड़के ने मुझे किस करने के बाद मेरे कपड़े निकाल दिए और मैं ब्रा और पेंटी में रह गयी.

सेक्सी भाभी की जंगल में चुदाई

इसके बाद वो मेरी तरफ देखते हुए बोला- तू बता वन्द्या … मैं कैसा लगा?मैं उसे चूमते हुए बोली- आप भी बहुत मस्त हो … आपका लंड भी बहुत बड़ा और मोटा है. उन्होंने मुझे पानी में ही कुतिया बना कर मेरे पीछे से लंड को मेरी गांड में पेल दिया. अभी वो खुद अपनी चूत के रस स्वाद ठीक से ले भी नहीं पाई थी कि मैंने उसको अपने ऊपर ले लिया.

समय बर्बाद न करते हुए मैं आता हूँ अपनी कहानी पर।वो कहते हैं न कि प्यार कहीं भी किसी से भी हो जाता है वैसे ही मुझे भी प्यार हो गया था. मैं उनसे कुछ दूर बैठा हुआ था तो आंटी खुद ही मेरे पास आकर बैठने लगी. मारवाड़ी सेक्सी विडियो देखिएमैंने पलट कर उसके मुँह में फिर से अपना लिंग घुसा कर उसके मुँह की ही चुदाई करने लगा और और उसके निप्पल को रगड़ता रहा.

मैं- अरे मायूस क्यों होती हैं आप … चलिए इसी बात पर एक एक जाम और हो जाए.

मैंने पूछा- क्या हुआ? तुम नाराज हो क्या मुझसे?वह बोली- नहीं पागल, तुमने एक साइड से मेरी चूचियों को दबा दिया इसलिए दूसरी साइड मुझे दर्द हो रहा है. उसकी जीभ जब मेरी चूत को चाट रही थी तो मेरे पूरे बदन में सिरहन हो रही थी.

फिर मैंने उसे फिक्स करके ऐसी जगह रख दिया जहाँ आरती को ना पता लगे और उसके बेड का चप्पा चप्पा रेकॉर्ड हो जाए. मैं आपका दोस्त, आर्यन एक बार फिर से अपनी एक और नई एवं सच्ची चुदाई की कहानी के साथ आप लोगों का मनोरंजन करने के लिए हाजिर हूँ. मुझे और मत तड़पाओ राहुल … प्लीज अपना लंड मेरी चूत में डालो!अब राहुल ने अपने हाथ में थोड़ा थूक लगा कर अपने लंड के सुपारे में लगाया और मेरी चूत पर रख कर थोड़ा रगड़ा। मैं सिहर गई। फ़िर राहुल मेरी दोनों टांगों को पकड़कर ऊपर उठाने लगे और उन्होंने मेरी दोनों टांगों को मेरे सिर के इधर-उधर गद्दे से लगा दिया.

फिर मैंने उसकी एक उंगली अपने मुँह में लेकर आहिस्ता आहिस्ता चूसी और कभी कभी बाईट भी कर देता था.

उसकी चूत अच्छी खासी टाइट थी, कई महीने से चुदी नहीं थी, शायद इसीलिए मुंदी सी थी. कुछ ही देर बाद मेरा रस निकलने वाला था, तो मैंने उसके मुँह से लंड निकाल कर उसके मम्मों पर पूरा माल निकाल दिया. कमरे में मेरी मीठी चीखें गूंज रही थीं उधर अजय मेरे थूक से गीला लंड निकाल कर मेरे गालों पर मल देता, कभी आंखों पर लगा देता.

नरसी की सेक्सी फिल्मवहाँ पर ज्यादा आबादी नहीं थी और आस-पास ज्यादा घर भी नहीं बने हुए थे. मैं तो जन्नत के मजे ले रहा था। फिर मैंने उसका सिर पकड़कर लंड को उसके मुँह में आगे पीछे करना शुरू कर दिया.

रंडी सेक्सी वीडियो रंडी सेक्सी वीडियो

वाणी चिल्लाई- कमिनी कुतिया तो तुझे पता था?गीता हंस कर बोली- साली मुझे भी ऐसे ही दर्द हुआ था. कुछ देर गांड चाटने के बाद उसने अपने लंड का सुपारा मेरी गांड के फूल पर टिका कर एक हल्का सा शॉट दे मारा. बाप रे, अगर ज़रीना की भी ऐसे ही मारोगे, तो यह बेचारी तो शायद सुबह उठने लायक नहीं बचेगी.

ये नाइटी बहुत छोटी और जालीदार थी, इसकी मैचिंग की ब्रा भी जालीदार थी. उस दिन दोपहर को जब मैं खाना बना रही थी, तब मयूर किचन में आया और उसने मुझे पीछे से कस के पकड़ लिया. मैंने उसके दूधिया गोरे स्तन और उनके उभरे हुए भूरे निप्पलों को देखा और पागल हो गया। मैंने उनके बायें आम को निचोड़ लिया.

तभी मेरी चुत में निहाल ने अपनी उंगली भी घुसा दी, तो मैं रंजना दीदी के गालों में किस करने लगी और उनके मुँह में अपने हाथ की उंगली डालने लगी. अगर आप सेक्स के बाद उस से प्यार से ट्रीट करते हैं, उसे अपनी बांहों में सुलाते हैं, तो अगर उसका डिस्चार्ज नहीं भी हुआ है, तो भी वो संतुष्टि महसूस करती है और अपने पार्टनर के लिए सब कुछ करने के लिए तैयार रहती है. इतने में अजय अन्दर आ गया और उसने सुजाता की गांड पर हाथ रख दिया और सुजाता की गांड के छेद पर लंड सैट करके एक जोर का धक्का दिया, तो उसका पूरा मोटा काला लंड सुजाता की गांड को चीरता हुआ अन्दर घुस गया.

लंड घुसेड़ने के बाद में रमेश जी अपनी तरफ से ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लगे. मैंने उनकी गांड दबाते हुए कहा- सोच लो बुआ, फिर ना कहना कि मैंने आपकी गांड मार ली?और आँख मार दी.

अब मैंने नीरू से कहा कि अगर वो चाहे तो मेरी चड्डी अपने हाथों से उतार सकती है.

मैंने भाभी जी से पूछा- भाभी जी, कोई काम था?उन्होंने कहा- काम तो था, परन्तु तुम तो दूसरे ही काम में लगे हुए थे. डॉग्स एंड गर्ल्स सेक्सीमैं 21 साल का एक युवक हूँ। मैं महाराष्ट्र के धुले डिस्ट्रिक्ट मैं रहता हूँ। मैं दिखने में सामान्य हूँ और पतला हूँ पर जिम जाने की वजह से मेरी बॉडी टोंड है।यह कहानी तब की है जब मैं 12 क्लास पास करके कॉलेज में आया था। हमारे कॉलेज में यों तो कई सुंदर लड़कियाँ हैं पर उनमें से जिस लड़की की तरफ मेरा ध्यान गया उसका नाम था अंजलि(नाम बदल हुआ)।अंजलि दिखने में एकदम गोरी, उसकी हाइट 5. गानों की सेक्सी मूवीमुझे उम्मीद है कि आप लोग मुझे भूले नहीं होंगे, लेकिन नए पाठकों के लिए मैं अपना परिचय बताना चाहूंगा. उस दिन के बाद से मैंने नोटिस किया कि मैं जब भी मिशिका को देखता था तो वह हर समय फोन पर ही बिजी रहती थी.

जब आकर मैंने उसको मोबाइल में डाल कर देखा तो पूरी ब्लू फिल्म निकली उसमें से जिसकी हिरोईन आरती थी और हीरो उसका पड़ोसी प्रसंग … जब मैंने यह सब देख लिया तो मेरी चूत में भी कीड़े दौड़ने लगे क्योंकि उस समय धीरज घर पर आ चुका था इसलिए मैं अगले दिन का इंतज़ार करने लगी.

मुझे इस वक्त अपनी सास एक ऐसी पोर्न एक्ट्रेस लग रही थीं, जो ब्लोजॉब देते समय सिगरेट का धुंआ लंड पर छोड़ती जाती है. मैंने पूछा- आपको कैसे मालूम?तो भाभी ने बताया कि सामने वाले घर में जो प्लस टू में लड़की पढ़ती है उसका नाम सोनू है. फिर माँ ने मुझे बताया कि वो हमारे दूर के रिश्तेदार हैं और रिश्ते में तुम्हारे मामा लगते हैं.

मगर उसने मेरा वीर्य अपने मुंह से बाहर निकाल दिया और मेरा वीर्य उसके होंठों से बहता हुआ नीचे उसके चूचों पर गिरने लगा. मैंने उसकी पति की गैर मौजूदगी में तीन दिनों तक रोज चूत चुदाई का मजा लिया. मैंने फिर से ऊपर आकर पूछा- दीदी एक बात बता न?दीदी ने कहा- हां पूछ न?मैंने कहा- दीदी आपकी साईज क्या है?दीदी मेरी इस बात पर हंस दीं- हा हा हा … मेरी किस चीज की साइज़ जानना है तुझे?मैंने कहा- आपके मम्मों की और कमर की साइज़ जाननी है.

हिंदी सॉन्ग वीडियो सेक्सी

तभी मेरा मंदबुद्धि भाई जिगर बाहर से इतना आवाज सुनकर अन्दर घर में आ गया और घर में सबको देखने लगा. मैंने आंटी से बोला- आपके घर पर तो कोई नहीं है?आंटी बोलीं- मेरे पति बंगलौर किसी काम से गए हुए हैं. मैं- सच प्रिया … जवानी में आपके साथ बहुत बुरा हुआ, इतनी अच्छी सुशील लेडी के साथ ये सब नहीं होना चाहिए.

मुझे नशा सा हुआ तो मैंने सुनील को कहा- उफ आह मेरे राजा … खुलकर खेलो न मेरी जान.

मैं आप सब लोगों से कहना चाहती हूं कि 21वीं सदी में ऐसी कोई भी औरत नहीं है, जो किसी और से चुदना नहीं चाहती हो.

मैं गांड हिलाते हुए लंड लेने लगी और मैंने भैया से कहा- मार और जोर से … और तेज मार … फाड़ डाल. मैंने कहा- अगर ठीक नहीं हुआ तो तुम्हारा क्या होगा?वह धीरे धीरे रोने लगी- वह मुझे मारता भी था. सिर्फ एक सेक्सी वीडियो एचडीचुपचाप लेटी रहो सासु माँ, अभी तेरी चूत का भी नंबर आएगा पहले तेरी चुचियों का भला तो कर दूं, इतनी मस्त चूचियां हैं तेरी कि मन ही नहीं भर रहा, दिल करता है कि इनको ऐसे ही चूसता रहूँ बस.

मैं उसकी चूत को जीभ से चाटने लगा, कभी कभी दांतों से चूत के मुकुट यानि उसकी क्लिट को हौले से खींच कर काट भी लेता. वो 9 से 5 की ड्यूटी करते हुए टाइम से घर आते और अपने फैमिली में ही टाइम बिताते. आंटी चिल्ला उठी- मर गई सौरभ!लंड का मुंह चूत में घुसते ही आंटी ने गांड हिलाकर लंड को बाहर निकाला और कहने लगी कि बहुत दिनों से इसने लंड नहीं लिया है और तेरा लंड है भी बहुत बड़ा.

वो ज्यों ज्यों मेरी योनि को चूस रहा था, त्यों त्यों मेरी योनि से चिकनाई जैसी तरल जैली सी रिस रही थी. मैं एकदम से हैरान हो गया कि इतनी ज़ल्दी कैसे मेरे लंड को मुँह में ले लिया.

फिर बारी उसकी थी, वो कुतिया के जैसे बन गई और मेरा अंडरवियर नीचे करके एकदम झट से लंड को मुँह में भर के चूसने लगी.

जब मैंने उसका लंड चूस कर गीला कर दिया, तो उसने मेरे मुँह से मेरी पसंदीदा कुल्फी खींच ली. बाद में राहुल ने पैंटी भी उतारी, अब संध्या पूरी की पूरी नंगी हो चुकी थी. इधर शादी में मुझे वे लोग मिल गए, जिनके आ जाने के कारण मैं झाड़ियों में चुदने से बच गई थी.

सेक्सी वीडियो साड़ी वाली दिखाइए बुआ मेरा लंड चूसने लगी, मुझे बहुत मज़ा आ रहा था क्योंकि पहली बार किसी औरत के नाज़ुक होंठ मेरे लंड को चूम रहे थे, चूस रहे थे. फिर पता नहीं क्या हुआ कि इमरान ने ग़ुस्से में आकर मेरी कजिन सिस्टर को तलाक़ दे दिया और इसी कारण से वह शादी में भी नहीं आयी थी.

अब जो मैं बोल रहा हूँ, वो कर … वरना मेरे पास और भी तरीके है काम करवाने के. उम्मीद है कि ये सच्ची सेक्स कहानी पढ़ कर आपका लंड भी टाइट हो गया होगा. बियर कुछ ज्यादा ही तेज थी, जिससे मुझे मजा आने लगा और इस वक्त न जाने क्यों मुझे चुदास सी चढ़ने लगी थी.

नया सेक्सी भोजपुरी वीडियो

कुछ देर तक यह दौर चला, फिर दोनों झड़ गईं और मेरा लंड और मुँह उनके पानी से भीग गया. शाम को जब मैं बाहर दिल बहलाने के लिए जाने लगा तो दीदी ने मुझे चाय पीने के लिए टोक दिया. फिर उसने अपनी साड़ी वैसे ही लपेट कर बांध ली, जैसे शो शुरू होने से पहले थी.

मैंने अपने गर्म लब उसके पंखुड़ी जैसे सॉफ्ट और गर्म लबों पर टिका दिए. मेरी तड़प को बुझा दो मेरे लाल … तुम जब कहोगे मैं यहाँ तुम्हारे लंड की सेवा करने आ जाऊंगी, कुछ तो रहम करो बेटा, इस ठंड में मैं ठिठुर रही हूँ और तुम गर्म रॉड जैसा लंड लेकर भी सोच रहे हो.

मैं कोई लेखक नहीं हूँ इसलिए अगर कोई ग़लती हो जाए, तो माफ़ कर दीजिएगा.

वो मजदूरी करता है, कभी काम मिला तो किया, नहीं तो इधर उधर गावों में घूमना, देर रात को घर आना औए पत्नी से मार पिटाई करनी. अब मुझे ऐसा लगने लगा कि मैं थोड़ी ही देर में अपना सारा पानी उड़ेल दूंगी. मैंने गेट खोलकर बाहर से बंद किया और अपने नये बन रहे घर की तरफ गांड मटकाती हुई चल पड़ी.

आरती के पड़ोस में एक लड़का प्रसंग रहता था जिसकी शादी तो हो चुकी थी मगर उसकी बीवी किसी दूसरे शहर में रहा करती थी. किस करते करते मैं उसकी गर्दन को भी चूमने लगा और उसके कान पीछे चूमने लगा. इस बार उसने दर्द के कारण मेरे होंठ ही काट लिए, तो मैंने भी जल्दी से गुस्से में बिना रुके अपना पूरा लंड अन्दर कर दिया और उसे दबा कर चोदने लगा.

एक बार कॉलेज के वाशरूम में उसने मेरी चूत के दाने को मसल कर मुझे मास्टरबेट करना बताया था.

बीएफ पिक्चर छोटी लड़की: राहुल ने कहा- रुको भाभी!मैंने कहा- क्या हुआ?वो बोला- भाभी मेरे लिए संतरा और थोड़े अंगूर ले आओ. पापा बोले- वर्षा तुम मेडीकल से माया के लिए दर्द की गोली और मुंदीचोट वाली मलहम ले आना, गोलियां अभी खिलाना होगा.

पर सवाल सुरक्षा का भी है।जब तक मैं भरोसा कर न लूं, मैं किसी कीमत पर अपनी कैसी भी पहचान जाहिर न करूँगी। आपको ठीक नहीं लगता तो बेशक मुझसे परहेज कीजिये। मेरे लिये मेरी सेफ्टी पहले है। बाकी किसी मर्द की गुंजाइश अब भी है लेकिन वह मुंबई से ही हो तो बेहतर है. तुम हमारे साथ ही चाय पी लो!मैंने दीदी की बात मानकर बाहर जाने का विचार कैंसल कर दिया और वहीं बैठकर टीवी देखने लगा. आज भी उस सर्द शाम को याद करके लंड खड़ा हो जाता है और सोचता हूँ कि जीवन में कैसे कैसे पड़ाव आते हैं.

आंटी ने मुझे देखा, तो वो मेरे पास आई और बोलने लगी कि मेरी एक हेल्प करोगे अजय?मैंने बोला- हां बताओ आंटी.

तभी पटेल बोला- बंध्या, तू बहुत हॉट आइटम है … ठीक से देख ले मेरे लौड़े को … आज के बाद तू हर वक्त इसी को मिस करेगी और इसी से चुदवाने के लिए तड़पेगी. पर यह सच है हर किसी लड़की को कभी ना कभी, कहीं ना कहीं ऐसा लड़का मिलता है, जिसे देख कर वह चाहती है कि ये मुझे खूब चोदे. तभी एक दिन उसके गांव में किसी के घर शादी थी, तो मामी और उसका भाई बरात में चले गए.