बीएफ वीडियो फुल पिक्चर

छवि स्रोत,प्रियंका चोपड़ा की सेक्सी फिल्में

तस्वीर का शीर्षक ,

साड़ी वाली चूत: बीएफ वीडियो फुल पिक्चर, ’‘इतने बड़े होस्पिटल में कोई नहीं है, एक तुम हो और मैं… तो बोर महसूस कर रही थी.

सेक्स वाली लड़की का नंबर

इतने में संदीप नशे में बोला- अरे राजू… उंगलियों से ही चोदेगा क्या इसको?सुन कर राजू बोला- थोड़े मजे तो लेने दे इसकी गांड के!संदीप बोला- अंदर डाल कर देख और फिर बता मज़ा आया या नहीं!इतना सुनते ही राजू ने अपना लंड मेरी गांड के छेद पर लगाया और टोपा अंदर फंसाते हुए लंड धीरे-धीरे अंदर डालने लगा. करिश्मा कपूर का सेक्स वीडियोबस अब लंड डाल दे।मैं भी झट से उठा और उन पर लेट गया और लंड अन्दर डालने के लिए धक्के देने लगा। दो बार में लंड नहीं घुसा तो निशा भाभी ने हाथ से लंड पकड़ कर चुत पर लगाया और पेलने का इशारा किया।मैं तो जोश में था ही.

अंकित के घर में उसके दो भाई हैं, जो स्कूल में पढ़ते हैं, उसके पापा डॉक्टर हैं और उसकी मम्मी अनु हाउसवाईफ है. ओपन सेक्सी व्हिडिओ सेक्सीयह इंडियन सेक्स कहानी आपको कैसी लग रही है, मुझे लिखें!चूतनिवास[emailprotected].

नमस्कार दोस्तो, कैसे हो, इस बार बहुत तरसाया आपको, बहुत ई मेल की आपने!धन्यवाद यार… आप मुझे इतना याद करते हो और प्यार देते हो.बीएफ वीडियो फुल पिक्चर: मैं उसकी चुत को बार-बार रगड़ने लगा और कभी-कभी उसमें उंगली भी डाल देता था, जिससे वह उत्तेजित हो जाती थी और जोर-जोर से सिसकरियां भरने लगती थी.

मैं कुछ देर के बाद जब मेरी बहन के पास गया तो मेरी बहन मुझे देख कर बोलीं- तुम कब आए?मैंने बोला- अभी आया.32 और रंग गोरा था, बस कोमल के उरोज गोल और भारी लगते थे, तो मेरे नोकदार ऊपर की ओर उठे हुए… उसकी चूत की फांकें थोड़ी सी खुली हुई थी, तो मेरी एक लकीर जैसी दिखाई देती थी। इन बातों के अलावा हमारे चेहरे में फर्क था, इसलिए मैं कोमल से भी ज्यादा कातिल नजर आने लगी थी, ऐसे भी दोनों की हाईट भी मॉडलों जैसी 5.

सनी लियॉन का फोटो - बीएफ वीडियो फुल पिक्चर

जब तू पानी भर रही थी तब से देख रहा हूँ कि मुझे वहाँ से मेरी तरफ ही देख रही थी, क्या बात है? कुछ गुम हो गया है क्या?‘अच्छा तो अब आप से सीधा तू पर? क्या बात है सैम?’ उसने पूछा मुझसे और मैंने बस उसकी लबों पर उंगली रखते हुए चुप होने के लिए इशारा किया और बस उसके होंठों को अपने होंठों में भर लिया.मेरी सेक्स स्टोरी में आपने अब तक पढ़ा था कि टीना सुमन को डिल्डो (नकली लंड) दिखाते हुए टास्क के बारे में बता रही थी।अब आगे.

अब नताशा तेजी से एंड्रयू के लंड को अपनी चिकनी-गुलाबी गांड में अन्दर-बाहर करवाने में कामयाब हो गई, लेकिन इसके साथ-साथ अब लंड कम लम्बाई के साथ अन्दर घुस रहा था!मेरी बीवी को नया पोज इतना पसंद आया कि वो पूरे उत्साह के साथ एंड्रयू के लंड को अपनी चुदक्कड़ गांड में यथासंभव अधिक और अधिक घुसवाने का प्रयत्न करने लगी. बीएफ वीडियो फुल पिक्चर 32 और रंग गोरा था, बस कोमल के उरोज गोल और भारी लगते थे, तो मेरे नोकदार ऊपर की ओर उठे हुए… उसकी चूत की फांकें थोड़ी सी खुली हुई थी, तो मेरी एक लकीर जैसी दिखाई देती थी। इन बातों के अलावा हमारे चेहरे में फर्क था, इसलिए मैं कोमल से भी ज्यादा कातिल नजर आने लगी थी, ऐसे भी दोनों की हाईट भी मॉडलों जैसी 5.

ताकि मेरा भाई मेरी और आकर्षित हो जाए और मेरे साथ सेक्स करने के लिए तड़पने लगे।मेरी नाईट ड्रेस मैंने और भी छोटी कर दी मेरी जाँघें भी अब तो दिखने लगी थीं। मैंने देखा कि मेरे भाई का ध्यान भी मेरी ओर हो गया था।एक रात को मैं सोने का नाटक कर रही थी क्योंकि मुझे अब रात को नींद नहीं आती थी। मुझे अपने बदन पर किसी का हाथ महसूस हुआ.

बीएफ वीडियो फुल पिक्चर?

सुमन- अच्छा ये बात है तो क्या मैं इसे दोबारा चूस कर छोटा कर दूँ?मॉंटी- हाँ दीदी प्लीज़ ऐसा ही कर दो. मगर कोई बूढ़ी मत लाना चिड़चिड़ करेगी और हाँ कोईखूबसूरत जवान लड़कीभी नहीं होनी चाहिए. उनके साथ नए-नए लंड भी आते हैं, जिस दिन मॉम-डैड की नाइट शिफ्ट होती है, उस दिन हमारी खूब चुदाई होती है।दोस्तो, मुझे उम्मीद है कि आपको इधर तक की सेक्स स्टोरी अच्छी लगी होगी। आगे की सेक्स स्टोरी भी जल्दी ही लिखूँगी कि मैं प्रेग्नेंट हो गई थी, उसके बाद क्या किया और बाहर कितने लंडों से मैं चुदी।तब तक मेल करके बताओ कि मेरी बुर की चुदाई की सेक्स स्टोरी कैसी लगी।[emailprotected].

मैं उसको भोगने को तड़प रहा था जैसे पानी बिन मछली और वो इस आग में अपनी हरकतों से घी डाले जा रही थी. लंड काफी देर से खड़ा तो इस कारण पेट के निचले हिस्से में हल्का हल्का दर्द भी होने लगा था अब, पानी जितनी जल्दी निकल जाय उतनी ही जल्दी बैठ जाएगा ये, तभी आराम मिलेगा. गोवा में क्या करती थी घर के बारे में दोस्तों के बारे में!संजय- हाँ सही है.

इधर राजबीर ने अपना अंडरवियर निकाला और नंगे लंड को मेरी गांड पर रगड़ने लगा. जैसे ही हल्का सा धक्का लगाया तो लंड फ़िसल गया क्योंकि वो कुंवारी थी और उसकी चूत टाइट थी इसलिए मेरा लंड घुस नहीं पा रहा था. कुछ देर बाद लेटे हुए चंगेज़ ने नतालिया की गांड को अपने लंड के ऊपर पहनाते हुए चोदना चालू कर दिया जबकि सामने खड़े हुए रुस्लान ने आराम के साथ अपने सांवले लंड को उसकी खुली हुई चूत में घुसेड़ कर धक्के मारने शुरू कर दिए.

बहुत बढ़िया दुकान है। उसमें एसी भी लगा है और हाँ पता है चाय कितनी महंगी है. अब मेरा हाथ सिर्फ़ और सिर्फ़ उसकी गर्दन पर था एक तरह से वो आज़ाद थी और मेरे ऊपर गिरी होने की वजह से कभी भी जा सकती थी पर वो तो जैसे चाहती ही वही थी.

पढ़ाई से थक जाते तो घूमते-फिरते मस्ती करते, असल में कैरियर के टेंशन का सबसे बड़ा टेंशन एक्जाम ही रहता था। चूमा-चाटी लपटना आदि सब नॉर्मल था.

ये मामा को बर्दाश्त नहीं हुआ। वो मेरी चूचियां ब्रा के ऊपर से मसलने लगे। फिर मुझे ब्रा और पेंटी उतारने को बोले।मैंने मना कर दिया और बोली- मुझे शर्म आती है.

अब वो एक तौलिया पहने हुए था उसने अपने बैग से एक सीडी और उसका प्लेयर निकाला. वह थोड़ा छटपटाई और उसकी चीख भी निकली- उईई ईई मार डाला रे आह्ह्ह उईई आआह्ह! बाहर निकाल दो! मुझसे और दर्द… आह्ह्ह… बर्दाश्त नहीं होता!अब मैंनेअपना लंड पूरी ताकत से उसकी चूत में घुसा दियाऔर जोर-जोर के धक्के लगाने शुरू कर दिए! कुछ देर बाद वो शांत हो गई और मेरे लंड का पूरा मज़ा लेने लगी. रशियन लूडो और ग्रुप सेक्स-2मेरी रशियन बीवी मेरे दोस्तों से चूत और गांड चुदाई करवा के ग्रुप सेक्स का मजा ले रही है.

कभी कभी मेरे निप्पल को काट लेता और मैं दर्द के मरे सिहर सी जाती मगर मुझे मजा भी आ रहा था।धीरे धीरे वो निचे की तरफ चला गया और मेरी चूत को चाटने लगा. ’वो भी पूरे जोश में आ गया और उसने अपने झटके तेज़ लगाने चालू कर दिए। वो बड़ी ही बेहरहमी से मुझे चोदे जा रहा था। मैं भी अब उसके लंड के रंग में मगन हो गई थी और ‘आआह्ह आह्ह्ह्ह ऊऊऊईइ. जो करना है कर लो मगर प्यार से करना।साहिल- विक्की साली को एक साथ चोदेंगे.

अनु धीरे धीरे लाइन में आ रही थी। फिर तो मैंने सोच ही लिया था कि आज अनु को मैं सब कुछ बता दूंगा कि मैं तुम्हें बहुत पसंद करता हूँ।फिर अनु चाय लेकर आई, मुझे चाय दी और मुझसे कहा- आप चाय पीकर बताओ कि चाय कैसी बनी है.

मगर आप तो मेरी गांड मारकर ही दम लोगे।काका- ऐसे कैसे जाने दूँगा मेरी रानी. उसके नंगे बूब्स कितने मस्त थे, मैं लफज़ों में बयाँ नहीं कर सकता… मैं उसके बूब्स पर टूट पड़ा. इस समय मैं गुड़गाँव में जॉब करती हूँ और रिया के साथ रूम लेकर रहती हूँ.

सब कुछ खुल कर बताओ ओके!इतना कहकर मोना ने हल्की स्माइल भी पास की, जिसे देख कर सुधीर भी मुस्कुरा दिया। वो सोच रहा था कि ये मोना की तरफ से ग्रीन सिग्नल है या सिर्फ़ उसका वहम है।मोना- अब बोलो भी यार. गोपाल- अरे जान… नाराज़ क्यों होती हो, अभी खाना खाने के बाद चुदाई करेंगे ना. ऐसे में उसने मुझे एकदम कस के पकड़ा और बोला- निकी, आई एम कमिंग!और मुझे एकदम कस के पकड़ के उसका पानी छोड़ दिया.

जब मैंने उसके मम्मों को हाथ में लिया तो ऐसा लगा जैसे कि मैं स्वर्ग में बैठ कर किसी परी के मम्मों को हाथ में लेकर चूसने जा रहा हूँ.

मोना की चुत से पानी छूट गया, जिसकी गर्म धार काका के लंड पे टकराई और साथ में काका भी अपना पानी मोना की चुत में झड़ाने लगे। थोड़ी देर दोनों ऐसे पड़े रहे, फिर जब पलटे तो पीछे राजू और राधा खड़े हुए थे।ये नजारा देख कर राधा के तन-बदन में आग लग रही थी. मैंने सोचा यही मौका है, मैंने उनके ब्लाउज से साड़ी हटाई और ब्लाउज के बटन खोलने लगा.

बीएफ वीडियो फुल पिक्चर ऋतु मुझे कामुक निगाहों से देखते हुए एक हाथ अपनी चूत में डालकर अपना रस चाटने लगी. किसी दूसरे को इमेजिन करने को बोल रहे हैं। मैंने आपको पहले भी कहा है कि मैं सिर्फ आपको ही इमेजिन कर सकती हूँ।मैंने कहा- प्लीज सिर्फ फैन्टेसी के लिए करो ना?वो बोली- बिल्कुल नहीं.

बीएफ वीडियो फुल पिक्चर मैंने कहा- हम दोनों मिलकर बहुत सारे पैसे कमाएंगे और बहुत मज़ा भी करेंगे. ??प्रेरणा ने मुस्कुराहट के साथ एक गहरी सांस ली और बताना शुरू किया:अरे यार.

अहहाह अहः आहाहाह…मेरा लंड अन्दर उसकी बच्चेदानी को छू रहा था, वो मजे लेकर चुदवा रही थी- अब तक कहाँ था मेरे राजा… चोद मुझे… और जोर से चोद.

सनी लियोन का एक्स एक्स एक्स एचडी वीडियो

मैंने जब देखा तो उसका लंड जो कि 8″ का लम्बा था, पूरा का पूरा मेरी बहन की चुत के अन्दर जा चुका था. ना ही उसका कोई अपना होता है और ना ही पराया!लेकिन फिर भी मैंने बनावटी मुस्कुराहट देते हुए कहा- भैया, आपने तो कहा था आप रवि के पास ले जाओगे… ये कौन सा गांव है फिर?संदीप बोला- ये तेरी भाभी यानि कि मेरी गर्लफ्रेंड का ससुराल है, जिसको तू बस में मेरी बीवी समझ रहा था. चुदाई के बाद हम दोनों इतने थक गये थे कि कब नींद आ गयी, पता ही नहीं चला.

उनकी ब्रा बहुत मस्त थी बिल्कुल मुलायम!थोड़ी देर बाद मामा मामी आ गए, रात को खाना खाया और सो गए. मैंने उससे पूछा तो उसने बताया कि बहुत दिनों बाद चुद रही हूँ ना इसलिए दुख रहा है. इतने में संदीप नशे में बोला- अरे राजू… उंगलियों से ही चोदेगा क्या इसको?सुन कर राजू बोला- थोड़े मजे तो लेने दे इसकी गांड के!संदीप बोला- अंदर डाल कर देख और फिर बता मज़ा आया या नहीं!इतना सुनते ही राजू ने अपना लंड मेरी गांड के छेद पर लगाया और टोपा अंदर फंसाते हुए लंड धीरे-धीरे अंदर डालने लगा.

उसका स्पर्श इतना मदहोश करने वाला था कि कुछ ही समय में मेरी चूत गीली होने लगी.

वो भी मजाक में मुझे मारने लगी। अब मारने के बहाने से मैंने उनके चुच्चे को भी दबा दिया जिसका उन्होंने कोई विरोध नहीं किया।अबमेरी हिम्मत थोड़ी बढ़ गई तो मैंने उनका हाथ पकड़ कर मरोड़ दिया और उन्हें दीवार के सहारे लगा दिया और दूसरा हाथ धीरे से उनके चुच्चे पर रख दिया तो भाभी बोलने लगी- मुझे दर्द हो रहा है. सुलेखा हड़बड़ा गई क्योंकि उसको ज़रा भी उम्मीद नहीं थी कि मैं ऐसा करूँगा. उसका पति होली पर नहीं आया था इसलिए वो फ्री भी थी, शाम को ही आ गई, मेरी ही उम्र की है.

हमें लगा कि शायद महक और राजेश आ रहे हैं, सो हम अलग होके अपने कपड़े ठीक कर हॉल का दरवाजा खोल कर वापस सोफे पे बैठ गए।प्रिया पूरी लाल हो गई थी, उसके गोरे निखार के वजह से पहचान में आ रहा थी कि ये बहुत रोई है।पर सोफे पर बैठने के बाद उसने मुझे किस कर थैंक्स कहा और बोलीं- रोहन आज मुझे बहुत अच्छा लगा. उस अँधेरे में अगर मैं कुछ मिस कर रहा था तो उसके चेहरे के भाव जिसे न तो वो देख पा रही थी न ही मैं!उसके हाथ मेरी पीठ पर इस तरह मुझको दबोचे हुए थे कि बस मुझे पूरा का पूरा वो अपने अंदर खींच लेना चाहती हो और मैं भी उसके कंधों को पकड़ कर धक्कों पर धक्के लगा रहा था. सुमित ने फोन पर राजे से बोल दिया- राज जी, आपकी सभी शर्तें हम मानते हैं.

एक गोरी और दूसरी सांवली… एकदम ताजा माल…भरी हुई जांघें और सुडौल पिंडलियाँ…फिर दोनों घूम कर मेरी तरफ मुंह करके बेड के किनारे पर बैठ गई. मैं धीमे-2 लंड को गांड की पूरी लम्बाई में चोदने लगा जबकि नताशा का मुंह पूरे मनोयोग से स्वान के लंड को पुचकारने में लगा रहा.

मैंने कहा- रुक जाओ जान, पूरा मज़ा तो लो अपने प्यार का।मैंने उसकी पैंटी भी उसके घुटने तक उतार दी। मैं उसकी चूत देख पागल हो गया. दिव्या चुपचाप मेरे पास आई और उसने मुझे गले से लगा लिया और मेरे होंठों को एक प्यारा सा किस करते हुए कहा- आई लव यू राज!मैं तो सोच भी नहीं सकता था कि आज ऐसा होगा. तभी तो संजय ने अपने इस घर में पार्टी की थी और फ्लॉरा की जमकर चुदाई की थी.

फिर वो सुमन के मम्मों पे आ गया और जब सुमन के निप्पल उसकी हथेली से रगड़े, तो सुमन की आह.

अब दो सप्ताह तक यह रोज़ मेरे साथ आएगी और यहाँ का सभी काम सीख लेगी ताकि दो सप्ताह के बाद जब मैं चली जाऊँगी तब यह आपकी अपेक्षा के अनुसार ही सभी कार्य करेगी. दोस्तो मेरे लण्ड का नामकरण एक सेक्सी देसी भाभी ने किया था योगीराज लेकिन कुछ भाइयो को ऐतराज होने की वजह से आगे की कहानी में आपको मस्ताना के नाम से पढ़ने को मिलेगा और जिन पाठकों को इस नाम से दुख हुआ उनसे मैं माफी मांगना चाहता हूँ, कृपया मुझे एक दोस्त समझ कर माफ कर देना. मेरे प्यारे साथियो, मेरी हिंदी नोन वेज स्टोरी कैसी लग रही है?[emailprotected]कहानी जारी है.

एक दिन शाम को मैं अपने दोस्त के घर गया, दरवाजा उसकी मम्मी ने खोला और मैं उसे देखते ही दंग रह गया. पिछले एक साल का समय तो मैंने जैसे काट लिया था पर अब, जबकि मैंने मानसी के हुस्न का दीदार कर लिया था और उसकी गर्मी को महसूस कर चुका था, मेरे लिए रुकना असंभव सा प्रतीत हो रहा था.

और जैसे ही मैंने उसकी पेंटी पर हाथ रखा तो मैंने देखा कि उसके पास मेरे से भी लंबा नकली लंड बंधा हुआ था। उसने झट से बाज़ी उल्टी की और अपना लंड मेरे मुँह में दे दिया। मैं साँस भी नहीं ले पा रहा था, मेरे मुँह में उसका लंड फंस गया था।उसने मुझे उल्टा करके मेरी गांड में लंड डाल दिया और बोलने लगी- भोसड़ी के… बहुत चोदने की सोच रहा था ना मुझे. मगर तू तो पक्का खिलाड़ी है, थोड़े मज़े लेने में क्या जाता है।संजय- अच्छा एक बात बता. ये उन्हें पता नहीं था। मामी वैसे ही ब्रा-पेंटी में मेरे पास आईं, मेरे लंड को पास से देखने लगीं।अब वो मुझे उठा कर देखने की कोशिश करने लगीं.

जबरदस्त डायलॉग

ये मेरी टीचर की चुदाई की रियल सेक्स स्टोरी आपको अच्छी लगी हो तो मेल करो या मुझे फ़ेसबुक पर मैसेज करो.

अब उनके कपड़े एक एक करके उतर गए और दोनों बेड पर एक दूसरे में सामने की कोशिश में लग गए. हा… मर गया…मेरी मां…कलेजा फटने लगा लेकिन सुनने वाला कोई नहीं था, आधे घंटे तक यूं ही पड़ा हुआ रोता रहा, फिर जैसे तैसे करके फटी शर्ट पहनी और बड़ी मुश्किल से पैंट पहन पाया. वो मुझे छका रहा थी। अंत में वो भागकर बेडरूम में चली गई और दरवाजा अन्दर से बंद करने लगी। मैं बाहर से खोलने के लिए जोर लगा रहा था और वो अन्दर से बंद करने के लिए जोर लगा रही थी। इसी जद्दोजहद में मैंने तगड़ा धक्का लगाया और कमरे के अन्दर चला गया।फिर मैंने उसको बेड पर पटककर उसको अपने बस में कर लिया।वो मुस्करा कर बोली- बस इससे क्या होता है?मैंने कहा- अच्छा जी.

ये तुम्हारे मुँह में जाने के लिए तड़प रहा है।मैंने कहा- भैया आपका लंड तो बहुत बड़ा है. उसने फिर से मेरे गाल पर एक चांटा लगाया और बोली- आई लव यू, पागल!और फिर मुझे किस करने लगी, मेरे पास लेट गई. हिंदी बीपी ओपनऋतु ने अपने मुंह में आये वीर्य को निगलते हुए चटखारा लिया और मुझसे बोली- और मुझे इस बात का भी अंदाज़ा नहीं था कि ये पिचकारी मारकर अपना रस निकालता है.

मानसी ख़ूबसूरत चेहरे के साथ एक हरे भरे शरीर की मालकिन थी जिसकी फिगर 38-32-36 थी और उसका वो संगेमरमर बदन पहली बार देख मेरे लंड की हालत यूँ थी कि अभी पानी उगल देगा. उधर गोपाल के साथ मोना ने नीतू को लेकर जो खेल खेला था अब उसी खेल को देखते हैं.

थोड़ी देर बाद संजय वापिस आया तब तक कुछ बहाना स बनाकर सी ए साब मेरी दायीं ओर बैठ चुके थे. फिर दीदी ने मुँह घुमा कर मेरे लंड को देखा और बोली- ओह माय लव, सच में तुमने मुझे बहुत सुख दिया. हैलो फ्रेंड्स, मैं राजवीर (बदला हुआ नाम) हूँ, ये रंडी की चुदाई की सेक्स स्टोरी कुछ दिन पहले की है, जिसमें एक चालू लड़की हम 5 दोस्तों के साथ चुदी थी.

पेंतीस के, करीब आयु के दोनों मोटे तो नहीं पर भरे हुए थे।सुकांत बोला- आप दोनों एक साथ सो जाएं. रफीक- आज तो मेरे मस्ताना की चमड़ी उतार दूँगा अपनी गांड से पूरा रस भी निचोड़ लूँगा. तब तक नीचे सब सो भी जाएंगे ओके!पूजा को वहीं बैठाकर संजय बाथरूम चला गया। उसका लंड तो पहले ही अधूरा था, अब पूजा की बात सुनकर उसको लगा कि फ्लॉरा की कमी अब पूजा पूरा कर देगी।अरे अरे अभी ग्रुप सेक्स का मज़ा लेकर आए हो.

और वो लड़का भी दूर के एक कोने की तरफ अपनी भारी सी गांड मटकाता हुआ और अंगड़ाई लेता हुआ पेशाब करने के लिए चला जा रहा था.

मैंने उसकी स्कर्ट को उठाया और उसे डायनिंग टेबल के ऊपर झुकाकर उसकी कच्छी उतार दी और अपना मुंह उसकी रस टपकती चूत पर टिका दिया. मैंने चाची को इशारा करके उनके बारे में पूछा, तो वो हंसने लगीं और मुझे किस करके बोलीं- मेरे कन्हैया.

पर उसके निप्पल्स इतने बड़े थे कि मेरे हाथ खुद बा खुद उनके ऊपर जा टिके और मैंने उन्हें मसल दिया. 5 इंच का है, और थोड़ा कर्वी कैले जैसा है, को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी. सुमन आ रही है वो सुन लेगी।अनीता- हाँ मेरी बातें तो आपको बकवास ही लगेंगी ना, अच्छा मैं चलती हूँ, मुझे तो नई ब्रा लेनी है, आप जाओ अपनी प्यारी बेटी के साथ।गुलशन- रूको तुम सही कह रही हो, सुमन को भी नई ब्रा-पेंटी ले लेनी चाहिए। मैं पानी लेकर वहाँ खड़ा हो जाऊंगा, तुम उसको साथ ले जाना और जो चाहिए उसको दिला देना।अनीता- ये हुई ना बात.

काफी देर की चुदाई के बाद मैं भी उसकी बुर में ही झड़ गया और निढाल होकर उसी के ऊपर ढेर हो गया. मैं- ठीक है, चाची दवाइयाँ कहाँ रखी हैं?चाची- बेटा, सीमा के कमरे में होगी, जा के ले आ!मैं सीमा के कमरे में गया और दवा ढूँढने लगा. आप जानते ही हैं कि लंड चुसवाते हुए मर्द मानसिक रूप से कितना कमज़ोर होता है.

बीएफ वीडियो फुल पिक्चर मैं उन तीनों के लंड चूसना चाह रहा था लेकिन अगले ही पल संदीप राजू के पास पहुंच गया और राजू को कहा- एक बार अपना लंड निकाल… और इसको घोड़ी बना दे. पर मैं कहाँ मानने वाला था। मैंने उसकी चुत को खाना चालू कर दिया। मैं तेज-तेज से उसकी चुत को दांतों से काटने लगा। वो पागल हुई जा रही थीं और सिसकारियाँ लेती जा रही थीं- आ.

भोजपुरी सेक्सी 2021

उसने लंड की पिचकारी मेरी चूत में छोड़ दी। जैसे ही उसका पानी मेरी चूत में गिरा. तुझे पसंद आए बस वो ले ले।बस फिर क्या था, उसने और भी कपड़े ट्राई किए, कुछ स्कर्ट्स भी लिए। सुमन के दिमाग़ में लन्दन की लड़की की इमेज थी तो उसने कुछ सेक्सी शॉर्ट स्कर्ट्स और टॉप भी ले लिए।गुलशन जी बस इधर-उधर घूम रहे थे, उनको नहीं पता था कि सुमन क्या-क्या ले रही है। जब काफ़ी देर हो गई तो वो सुमन के पास गए और उससे पूछा- कितना टाइम लगेगा?सुमन- बस हो गया पापा. फिर उसको दर्द का ख्याल आया तो वो डर गई।सुमन- नहीं बस उंगली से ही मज़ा लूँगी.

मैंने बोला- तो इसके नीचे क्या पहना है… दिखाओ?उसने ऊपर से कोट उतारा तो मैं देखता ही रह गया. लंड को हाथ में लेते ही मेरे शरीर पर करंट दौड़ गया, मुझे मस्ती छाने लगी, दो लंडों की रगड़ बहुत ही मस्त थी. जापानी तेल के फायदे वीडियो में बताएंमुझे मज़ा आ रहा था, जब भी जाती, कभी सूट, कभी साड़ी, कभी कुछ तो कभी कुछ… मगर मेरी समझ में नहीं आ रहा था कि वो इतने पैसे खर्च कर रहा है पर अब तक चुदाई कोई बात नहीं हुई.

उसने मुझे पीछे से गले लगा लिया।वे बोली- ठीक है मैं तैयार हूँ।दीदी की चुदाई की यह हिंदी कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया और जोर-जोर से चूमने लगा। मेरे होंठ उसके होंठों पर थे और मैं खूब जोर से उसे चूस रहा था। फिर मैंने अपनी जीभ उसके मुँह के अन्दर डाल दी, पहले तो उसने मना किया.

बस बोल नहीं पाया।मोना- अच्छा मगर यहाँ कामवाली मिलना आसान है क्या?गोपाल- आसान तो नहीं है मगर ढूँढ लेंगे. अपने आप सब समझ आ जाएगा।दोस्तो यहाँ तो सब हमने देख लिया। चलो अब वहाँ गाँव का चक्कर लगा आते हैं।काका ने रात भर राधा की चुत का जो बैंड बजाया था.

अभी कुछ ही घण्टों पहले मिले थे ये दोनों और अब एक दूसरे में खो गए थे. मैंने हाथ मुंह धो लिया, शादी में अक्सर लोग बोर ही हो जाते हैं, टाइम पास करना मुश्किल हो जाता है, मैंने सोचा घर पर रहकर क्या करूंगा, कुछ देर बाहर घूम आता हूँ. वो उस समय 21 साल के थे।मेरी कमसिन उम्र में ही मेरे चूचे काफ़ी अट्रॅक्टिव हो गए थे और मेरा शरीर भी भर चुका था। मेरे भैया मुझे हमेशा इधर-उधर टच करते रहते थे और मेरे पूरे शरीर को घूरते थे।एक दिन घर में पूजा थी.

एकदम बड़ी-बड़ी आँखें और आँखों का कलर नीला है, जैसे कोई लेंस लगाया हुआ हो.

बबिता घर में से पैसे ले कर आई और मुझे दे कर बोली- ला देना!मैंने पैसे लिए और बोला- जो चाहिए मैं दे दूँगा आपको!अगले दिन मैं लिपस्टिक ले आया और उसे देकर उसके पैसे भी वापिस कर दिए उसने पूछा- ये पैसे वापिस क्यों?तो मैंने जवाब दिया- मुझे ये स्कीम में मिल गई तो इसके पैसे कैसे ले सकता हूँ. मैं अपने होंटों से उन्हें चूस चूम व खींच रहा था, वो भी लंड को हाथ में लेकर मदहोश करने वाली अवाज निकाल रहीं थीं. लेकिन मैं उसको चोद नहीं रहा था, तड़फा रहा था, उसकी चुदाई की भूख बढ़ा रहा था.

इंग्लिश ब्लू फिल्म वीडियोमेरा मुंह भी उसके काम रस से लबालब भर गया और हम गहरी साँसें लेते हुए वहीं आधे नंगे लेटे रहे. नहाते हुए मैंने सुमित का लंड होली की मस्ती में उसको बहुत मज़ा देते हुए चूसा.

कर्नाटक सेक्सी बीएफ

मैंने उनकी गांड और अपने लंड पर तेल लगाया और 15 मिनट तक उनकी गांड मारी और सारा माल गांड में छोड़ दिया. तभी अरमान और नेहा एकदम जोर जोर से चीखने लगे, अरमान बोल रहा था- उई आह ले साली सम्भाल… आह आह आ रहा हूँ. दोस्तो, इनकी तो चुदाई हो गई चलो थोड़ा सा ध्यान टीना पर भी डाल देते हैं.

उन दोनो ने पहली बात तो झट से मान ली पर पाँच हजार का नाम सुनकर बोले कि ये तो बहुत ज्यादा है, वो फिर कभी कर लेंगे. बहुत दिनों बाद आने के लिए माफी चाहती हूँ मगर मैं किसी काम में फंस गई थी इसलिए नई कहानी नहीं ला पाई. मेरा हंसी के मारे बुरा हाल था, हरामज़ादी सुलेखा चाहती थी कि किसी भी सूरत में रीना घर पर न रुके, वर्ना उसकी वर्षों की चुदास कैसे बुझती.

उसके बाद जितना मर्ज़ी मज़े ले लेना।गोपाल कुछ बोलता या करता, तभी उसके फ़ोन की रिंग कमरे में गूंजने लग गई. अब आगे:ऋतु- तो चलो चल कर रोहन से ही पूछ लेती हैं… देखें वो क्या कहता है?और फिर हँसने लगी. मैं नीचे जाकर आता हूँ।संजय नीचे चैक करने गया था कि उसकी मॉम सोई या नहीं और उसके पापा तो अपने काम के चक्कर में रात को ही आते हैं और एक काम वाली है, जो शायद आज आई नहीं, तो संजय की लाइन क्लियर थी। उसकी मॉम खर्राटे मार रही थीं.

यह बात सुन कर मैंने लंड के झटकों की स्पीड बढ़ा दी और मैं उसकी चुत में ही झड़ गया. अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि ग्रुप सेक्स में सब फ्लॉरा के शरीर के मज़े लेने लगे।अब आगे…अभी फ्लॉरा के जिस्म के मजे लिए ही जा रहे थे कि संजय ने अजय को एक टपली मारी।संजय- अबे सालो, मुझे अकेला छोड़ दिया.

उसने कहा- क्यूँ?मैंने उसके मम्मों को घूरते हुए कहा- मुझे डर लग रहा है.

मेरी अकेले में फटती है।मैं तो खुश हो गया क्योंकि वो भी मेरे जैसी चुदक्कड़ थी।हम दोनों की खूब जम रही थी।जब हम खेत के रास्ते में जाने लगे थे. बस में चुदाई कहानीथोड़ी दारू भी लगाए था, उसकी भी ताकत थी। नहीं तो इतनी देर में तो दो या तीन निपट जाते।मेरे बगल की खाट वाले भी जाग गए. इंडियन रोमांससाला सुड़क सुड़क भी किये जा रहा था और जीभ से चूत की दीवारों पर ठोकर भी मारता था. ऋतु ने एक छलांग लगाकर अपना चेहरा पूजा की चूत पर टिका दिया था और अपनी चूत उसके चेहरे पर और फिर दोनों 69 के आसन में एक दूसरे की चूत को चूसने लगी.

मैं एक 30 साल की शादीशुदा औरत हूँ। मेरी शादी को 5 साल हो चुके हैं। मेरा रंग थोड़ा सांवला है.

सुमन- अच्छा ये बात है तो क्या मैं इसे दोबारा चूस कर छोटा कर दूँ?मॉंटी- हाँ दीदी प्लीज़ ऐसा ही कर दो. तो हिम्मत बोला- यार, हम सुबह निकलेंगे और एक घण्टा मेहसाणा रुकेंगे, 11 बजे तक आबू रोड पहुंच जाएंगे. नौकरानी- अगर वो कहेगी कि मुझे चुदना है तो?मैं- तो मैं कह दूँगा तुझे जिससे चुदना हो चुद ले!नौकरानी- वाह रे छीनाल के जने… भोसड़ी वाले!और उसने अपनी चूत दिखाई और मुझे चटवाई.

पहले तो उसे गुस्सा किया- इतनी रात को आया और ऊपर से पीकर आया है। तेरे पापा को पता लग गया तो पता है ना क्या होगा।संजय ने अपनी मॉम को मीठी-मीठी बातों से फुसला लिया, झूठ कह दिया कि दोस्त की बर्थडे पार्टी थी. मेरे द्वारा पाँच-छह बार ऐसा करने पर माला ने जो की काफी देर से सिसकारियाँ ले रही थी एक जोर की सीत्कार मारी और उसकी योनि में से गर्म गर्म रस का रिसाव हो गया. वो नीचे नीचे सरका कर मेरे साथ आधी लेटी सी हो गईं। फिर वे बर्फ का दूसरा टुकड़ा लेकर मसाज करने लगीं।इस वक्त वो मेरे काफ़ी करीब थीं.

भोजपुरी सेकसी वीडियो

क़सम से अब आप जीजाजी को भूल जाओगी।फिर मैं भी बिस्तर पे चढ़ गया और उसके ऊपर लेट कर उसे चूमने लगा। मैं उसके दोनों मम्मे बारी-बारी से दबाने लगा। फिर मैंने दाँये तरफ वाले निप्पल को अपने मुँह में भर लिया और हल्का हल्का सा काटने लगा।उसे दर्द हो रहा था. अब मेरी चूत में जलन होने लगी तो मैंने यह बात रोहन को बताई तो उसने मेरी चूत से लंड निकाल लिया और मेरी गांड में डाल दिया. जब मैं लेट गया तो थोड़ी देर बाद मौसी भी आ गई, पहले तो अपनी व्हील चेयर पे बैठी टीवी देखती रही, फिर मेरे पास ही आ कर बेड पे लेट गई.

सभी खुश थे… और नताशा के बाथरूम से वापस आने पर सब उसकी आवभगत में लग गए!दोनों मेहमानों ने खुद अपने हाथों से बनाकर अपनी भाभी को शेम्पेन का पेग दिया और खाने को स्नेक्स.

मैं तो यह कहने आई थी की नाश्ता तैयार है आप जल्दी से तैयार हो कर खाने की मेज़ पर आ जाइये.

मेरी नज़र जब मामा जी लंड पे पड़ी, मैं सहम सी गयी, इस बार सबसे ज़्यादा विशाल और मोटा लग रहा था, एकदम कड़ा सा ऊपर की ओर तना हुआ था. बैठे बैठे ही उसने मेरा बाथरोब खोला और मेरे निप्पलों के साथ वो छेड़खानी करने लगी. वीरा फिल्ममानसी अब मेरे से मिलने को बहुत बेचैन हो गई और बोली- तो कहीं और मिल लेंगे पर तू मेरे से मिलने आ पहले, किसी पार्क में मिल लेंगे या कहीं मॉल में.

उसमें अभी वक़्त है, तू जल्दी ठीक हो जा बस।काका- अरे क्या बातें हो रही हैं. रोज की तरह मैंने अपने सारे कपड़े निकाले सिर्फ़ एक पतला सा बरमूडा पहना और लेट गया।टीना- सारे कपड़े मतलब. ज़रा भी शर्म नहीं करती हो, उधर देख कर क्या बोल रही थी तुम?अनीता- रिलॅक्स.

’ मैंने जवाब दिया।वो खुश होकर राजी हो गए।आसिफ अंकल अपनी कार लेकर आ गये, हम सब कर मैं बैठ गए और मैं आसिफ अंकल को अपने घर का रास्ता बताने लगी। दो लोगों से एक साथ चुदने की मेरी ख्वाहिश अब सच होने जा रही थी. पूजा सांस रोके ये सब देख रही थी फिर ऋतु दुबारा अपने भाई के पास गई और उसे कुछ और बोला.

उस दिन ब्रा में कसी तेरी चुची देख कर भगवान से प्रार्थना की थी कि एक बार ये चुची नंगी देखने को मिल जाएं और आज देखो भगवान ने मेरी सुन ली।मोना- ये आप क्या कह रहे हो, आपने कब देखा मुझे ब्रा में?काका- अरे जब तू कपड़े बदल रही थी ना.

उस अँधेरे में अगर मैं कुछ मिस कर रहा था तो उसके चेहरे के भाव जिसे न तो वो देख पा रही थी न ही मैं!उसके हाथ मेरी पीठ पर इस तरह मुझको दबोचे हुए थे कि बस मुझे पूरा का पूरा वो अपने अंदर खींच लेना चाहती हो और मैं भी उसके कंधों को पकड़ कर धक्कों पर धक्के लगा रहा था. तब मुझे कुछ शक हुआ और मैंने दरवाज़ा नहीं खोला तथा बाहर खड़ी होकर तुम्हारी बातें सुनती रही. तो मैंने भी बात को आगे बढ़ाते कह दिया- घुमा तो दूंगा पर तू मेरे से दूर रहेगी.

टोपा मटका दोनों का खेल शुरू हो गया जॉन किसी ना किसी बहाने फ्लॉरा के मम्मों को टच करने लगा, कभी उसके ऊपर आ जाता और अपने लंड को उसकी चुत पे रगड़ देता. फिर मैंने मामी का रेजर लिया और अपनी झांट के बाल काटे, फिर मैंने बॉक्स अंदर रख दिया.

तभी जग्गी ने अपने साथी से कहा- आ जा राजबीर, तू भी देख ले एक बार हाथ लगा कर इसके चूतड़!इतना सुनकर राजबीर हंसा और उसके पास आकर मेरी गांड को दोनों हाथों से दबाने लगा… वो बोला- हाय रे… मस्त माल है यो तो!वो दोनों अचानक खड़े हुए और मेरी आँखों के सामने उन्होंने अपनी लोअर नीचे गिरा दी. मैंने भी पूछा- क्या मैं आपकी पार्टनर के साथ डांस कर सकता हूँ?तो उसने कहा- वो अगर हाँ कहे तो कर सकते हो. दबाया और चाटा। निशा भाभी की साँसें तेज़ हो गईं। मैं उनके बोबों को चूमते हुए नीचे की तरफ आया और उनकी नाभि पर ज़ुबान फिराने लगा। वो इससे मदहोश हो गईं और उनका जिस्म अकड़ गया, वो अपनी जांघें मसलने लगीं। मैंने भाभी की सलवार का नाड़ा खींचा.

थाना सेक्सी वीडियो

फिर मैं मैडम की चूत से लंड निकाल कर कपड़े पहन कर बाहर आ गया, मैडम बेड पर लेटी रही. फ़िर भाभी बोलीं- बाप रे इतना मोटा लंड!दोस्तो शायद मुठ मारने के कारण मेरा लंड कुछ बड़ा हो गया है. अक्सर रात को मैं घर के लिए बस पकड़ता था और सुबह थक घर पहुँच जाता था.

मैंने पहले भी बताया कि अनिता बहुत खूबसूरत लड़की है, फिर ऐसा यौवन किसी को भी पागल बना दे. यह मेरे लिए ग्रीन सिग्नल था, मैंने अपने घुटनों को ठीक से जमाया और उसकी चूत को ठोकना शुरू किया.

पाँच मिनट के बाद उसने मेरे ऊपर उठ कर बैठ कर अपने कूल्हों को हिलाया और जब मेरा लिंग उसकी योनि के अन्दर ठीक से सेट ही गया तब वह उचक उचक कर उसे योनि के अन्दर बाहर करने लगी.

सुलेखा के पीछे खड़ी होकर रीना रानी बोली- ये क्या हो रहा है मम्मी… क्या कर रही हो तुम?सुलेखा को काटो तो खून नहीं. मीना- वाउ यार तू तो बहुत बड़ी रंडी निकली, पहले जितनी शरीफ़ थी, अब उतनी ही बदमाश हो गई. उसका लंड फिर से तनाव में आने लगा था और दो मिनट बाद उसने अपना अंडरवियर भी नीचे निकाल फेंका और वो हट्टा कट्टा देसी मर्द पूरा नंगा होकर अपने खड़े लंड के साथ जग्गी के साथ मिलकर अपने लौड़े को मेरे मुंह पर फिराने लगा.

पूजा- ठीक है मामू मगर पुरानी टी-शर्ट का क्या करोगे आप?संजय- कल बता दूँगा. मैंने उन्हें खड़ा होने का इशारा किया तो उन्होंने खड़े होते ही मेरा बरमूडा भी निकाल दिया और उनकी नाईटी भी नीचे गिर गई. उसकी ब्रा भी खोल दी और अपने पूरे कपड़े उतार कर चड्डी में आ गया। मैंने उसे बिस्तर पर लेटा दिया और उसके शरीर के ऊपरी भाग पर तथा कांख में जीभ से चाटना चूमना शुरू कर दिया।वो मदहोश होकर सीत्कार करने लगी- उउन्न्न आह्ह्ह आह आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… स्स्स ह्हम्म उउफ्फ़ किसलय चोदो न मुझे.

’फिर उसने मेरे बारे में पूछा तो मैंने बताया- बी टेक में पढ़ रहा हूँ, घर जा रहा हूँ आज!रीना- आज कल इंजिनियरिंग में पढ़ने वाले लड़के बहुत बदमाश होते हैं.

बीएफ वीडियो फुल पिक्चर: लेखक एवं प्रेषक: विवेक ओबेरॉयसंपादक: श्रीमती तृष्णा लूथराप्रिये अन्तर्वासना के पाठकों एवं पाठिकाओं को विवेक ओबेरॉय का सादर प्रणाम. मुझे तो वो लड़की कभी समझ ही नहीं आती थी, सारा दिन नशा करती रहती थी और रात को किसी लड़के साथ डिस्को में चली जाती और देर रात लौट कर आती… तब तक मैं सो चुकी होती थी.

और फिर जब अपने पर नियंत्रण नहीं रख सका तब अपने एक हाथ से उस उरोजों को तथा दूसरे हाथ से योनि को सहलाने लगा. उसने टीवी में देख कर मेरी बहन की चुत को जोर-जोर से चोदना शुरू कर दिया. मैं रात का इंतज़ार करने लगा।वो 11 बजे के आसपास आई, पर उसके साथ में कोई था। मैं चौंक गया ये तो वो थी.

मौसी पर आप भी अपनी ब्रा पैंटी पहनकर मेरे साथ ठीक ने नहीं नहा पाओगी.

अरमान भी एक कम्पनी में काम करता है, वो परचेज मैंनेजर है, इसलिए दिन में ज्यादा बिज़ी होता है और उसकी पत्नी सुलेखा भी एक कम्पनी में कंप्यूटर ओपरेटर है इसलिए वो भी बिजी होती है, परन्तु फिर भी टाइम टाइम पे रिप्लाई देती रहती है, उसके रिप्लाई बहुत मस्त होते हैं, क्योंकि वो चैट में बहुत खुले शब्द इस्तेमाल करती है और चैट में रंग जम जाता है. भाभी अपने एक हाथ से मेरी चूत और दूसरे से मेरे बूब के निप्पल को दबाने व सहलाने लगी थी. वहाँ मेरी बहन ने पेशाब करने के बाद अपने चूत को पानी से खूब अच्छी तरह से साफ़ किया, इसके बाद उसके लंड को भी साफ़ किया.