सेक्सी नर्स बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ चोदने वाला भी

तस्वीर का शीर्षक ,

नवीन मराठी सेक्सी वीडियो: सेक्सी नर्स बीएफ, फिर मैं धीरे-धीरे में नीचे आया और उनकी पेंटी शरीर से अलग कर दी और मैंने भी अपना अंडरवियर भी निकाल दिया.

कैटरीना कैफ बीएफ एचडी

उसके लंड पर उछलते हुए मैंने अपनी स्पीड तेज कर दी और मेरे मुंह से आनंद की आवाजें निकलने लगीं. कुमारी दुल्हन बीएफ वीडियोकुछ देर तक मेरे पूरे बदन को चूसने और चाटने के बाद उसने नीचे हाथ ले जाकर अपने पजामे का नाड़ा खोल दिया और वह नीचे से नंगा होकर फिर से मेरे ऊपर लेट गया.

गर्मियों के दिन थे और मेरा पूरा परिवार किसी शादी में गांव गया हुआ था. बीएफ चाहिए फिल्म वीडियोमेरा गार्मेन्ट्स का बिजनेस है और मेरी बीवी ऋतु (बदला हुआ नाम) 25 साल की है.

मैंने काफी देर सोच कर उसे हाँ कह दिया।अब रीना ने एक प्रमुख ऑनलाइन रोजगार साइट पे आवदेन शुरू कर दिए। तभी एक सप्ताह बाद रीना मुझे बताया कि एक प्रमुख प्राइवेट कंपनी ने उसे इंटरव्यू के लिए बुलाया है।मैंने खुश होते हुए कहा- यह तो बहुत अच्छी बात है.सेक्सी नर्स बीएफ: वह अब मेरी चूत को ऊपर से सहलाता और थोड़ी थोड़ी उंगली अन्दर को भी घुसाया करता था.

पहले यहां सब आंटियों और भाभियों को मेरे लंड की तरफ से भरपूर प्रणाम.मुझे नहीं पता कि संजीव वहीं पर था या नहीं लेकिन मेरी आंखें बंद होने लगीं.

आंटी बीएफ सेक्सी वीडियो - सेक्सी नर्स बीएफ

कीर्ति ने ही जूस पीने के लिए मुझे बोला था और उसी ने पेमेंट भी किया.मैं तो उसी दिन सब कर लेना चाहता था लेकिन मैं उसका भरोसा जीत कर आगे बढ़ना चाहता था.

करीब दस मिनट मेरा लण्ड ज्योति ने चूसा और साथ में वो अपनी एक उंगली चूत में डालती जा रही थी. सेक्सी नर्स बीएफ फिर उसकी आंखों में देख कर उसे बताता रहा कि मैं तेरे जिस्म का रसपान कर रहा हूंवो भी खेल में घुस चुकी थी.

कुछ देर उसके मुँह की चुदाई करने के बाद मैंने उसे झूले के स्टैंड बार के सहारे झुकाया.

सेक्सी नर्स बीएफ?

फिर आख़िरकार भाबी के नर्म हाथों में मेरा लंड आ गया था, जिसे भाबी सहलाने लगी थीं. जब लंड से पूरा माल निकल गया, तो मैं निढाल होकर रेखा के ही ऊपर गिर पड़ा. प्रीत के साथ भी मैंने उनकी बात करवा दी।लेकिन 2 दिन बाद भाई को घर जाना था और अपनी जरूरत के कागजात बनवाने थे। तो भाई ने कहा- मैं 20 दिन बाद एक सप्ताह के लिए आऊंगा, तब एन्जॉय करेंगे।दो दिन बाद भाई चले गए।और जब वापस आये तब प्रीत की चुदाई की वो अगली कहानी में बताउंगी। आप मुझे[emailprotected]पर मेल करके बताना कि आपको कैसी लगी मेरी चुदाई।धन्यवाद।.

मैंने सोचा कि शायद अब्बू को पता चल ही जायेगा और वे खुद ही उठ कर बाहर आ जायेंगे. यह कह के उन्होंने मेरे छेद पर थूका और बोला- आज तो तेरी गांड फाड़ के ही रहूँगा. उनकी दाढ़ी मेरी मां के बूब्स पर चुभ रही थी जिसकी वजह से मां को थोड़ी तकलीफ हो रही थी। कुछ देर तक मेरी मां के दूध के साथ खेलने के बाद अंकल ने उसकी साड़ी खोल दी और साथ ही पेटीकोट का नाड़ा भी खोल दिया और साड़ी और पेटीकोट को उतार कर अलग कर दिया।अब मेरी मां सिर्फ सफेद ब्रा और नीली पैंटी में अंकल के सामने खड़ी थी.

मुझे अपना लंड चुसवाने के बाद जीतू मेरी चूची को चूसने लगा और उसके बाद वो अपना लंड मेरी चूत में डालने लगा. हमने देखा कि कोई देहाती लोग जो दो लोग थे और वो बाइक लेके लकड़ियाँ काटने आये थे. बॉस- बस इतनी सी बात!मेरी बीवी बोली- उन्होंने फटाफट मेरे बैंक खाते में दो लाख ट्रांसफर कर दिए। और फिर मैं सब कुछ छोड़कर आपके पास चली आयी। बाकी सब तो आप जानते ही हो। मुझसे गलती हो गयी मुझे माफ़ कर दीजिए। किसी को भी मुँह दिखाने लायक नहीं रही मैं तो!मैं अब पूरा उत्तेजित हो चला था, मैंने बस इतना कहा- अरे रीना, हो जाती हैं ऐसी नादानियाँ! तुम होश में नहीं थी। आगे पूरा जीवन पड़ा है.

मगर यहां पर मेरे लिए चिंताजनक बात ये थी कि मेरे तने हुए लंड का टोपा काजल की सबसे छोटी उंगली से बस इंच भर की दूरी पर ही रह गया था. उसने बोला कि कहां ठीक रहेगा?मैंने बोला- रुको मैं अपने एक दोस्त से पूछता हूं.

मेरा काम ही ये था कि बस खाया पिया और अपनी गर्लफ्रेंड के साथ फोन पर लग गया.

कुछ देर सोचने के बाद भाभी ने कहा- ठीक है, तुम आंखें बंद करके लेटे रहो, मैं चुम्मा ले लेती हूं.

अब मेरे दिल में विचार आया कि क्यों न मैं भाभी को अपने विशाल लंड के दर्शन करवा दूँ. मैंने कॉल उठाई तो माँ ने पूछा- तुम लोग कहां पर हो सुधीर?मैंने कहा- मां, हम तीनों यहीं कॉफी शॉप में बैठे हुए आपका इंतजार कर रहे हैं. दोस्तो, एक तूफान आकर रुकने के बाद जैसे सन्नाटा छाता है, वैसे ही एक घमासान चुदाई के बाद पूरे हॉल में सन्नाटा छा गया.

यह वो पल होता है जिसकी जद में आये हुए लोग और उनकी आइंदा तमाम नस्लें भी सदियों तक इस पल के फ़ैसले के पाबन्द रहते हैं. अब मैं खुद ही नौकर के लंड को अपने हाथ में लेकर तेजी के साथ रगड़ने लगी. हमारे जाट छोरे बहुत लंबे चौड़े होते हैं, इसलिए ज्यादातर पुलिस या आर्मी में नौकरी करते हैं.

चुचों पर अटकी मेरी नज़रें देखते ही श्वेता मैडम ने अपनी छाती थोड़ी और ऊपर करके मुझे दूध पीने का आमंत्रण दे दिया.

मुझे लगता है कि जो भी कोई उनको एक बार देख लेगा, तो मुठ मारे बगैर नहीं रह सकता. मुझे इस बात का डर भी सता रहा था कि कहीं उसने मेरे बारे में अपने घर वालों को बता न दिया हो. हम लोग बेडरूम आ गये तो मैंने पूछा- अब हथिनी बनकर चुदवाओगी या मोरनी बनकर?मैं थक गई हूँ, राजा.

अब उसने मेरी गांड के छेद पर भी उंगली का जादू चलाना शुरू कर दिया था. अब मैंने अपना हाथ उसकी चूत से हटा लिया और उसको गोदी में उठाकर उसी कुर्सी पर बैठा दिया और कुर्सी के हत्थे पर एक पैर को टिका कर लंड को नम्रता के नजर के सामने रखते हुए लंड को तेजी-तेजी फेंटने लगा. मैं भी सीमा भाबी के सामने खुल कर चुदाई भरे शब्द इस्तेमाल करता हुआ बात करने लगा, जिससे भाबी गर्म हो जाएं.

हम लोग कॉफी शॉप में चले गये और वहां जाकर मैंने तीन कॉफी ऑर्डर कर दी.

वो आगे की तरफ झुकी, मेरे लौड़े को फिर से खड़ा करने के मशक्कत में जुटी थी. इस बार अंकल को उन पर दया आ गयी और दो चार तेज धक्के लगाकर उन्होंने अपना लंड बाहर निकाला.

सेक्सी नर्स बीएफ उसने बताया कि वो पास के गांव से है … और पापा की यहां जॉब की वजह से उन्हें यहां रहने आना पड़ा. हमारी माँ ने जानबूझ कर बसंती को मामा की प्यास बुझाने में इस्तेमाल किया.

सेक्सी नर्स बीएफ क्यूं तड़पा रहे हो मुझे मेरे जानू … मगर भाभी की चूत में उंगली करके मैं भाभी को तड़पाने का आनंद लेता रहा. वहां पर काफ़ी लोग काम करते थे … जिनमें युवा चेहरे और ख़ास तौर पर युवक थे.

मैंने कहा कि अब क्या शर्माना, अब तो आपके बच्चे (वीर्य) मेरे अन्दर हैं.

बीएफ फिल्म भेजना

कुछ ही देर में दिन का उजाला हो गया, तो हम स्टेशन से बाहर आकर टैक्सी वाले से अपना अपना पता दिखा के पूछने लगे. मैंने और नेहा ने एक दूसरे के अंगों को साफ किया और उसको कपड़े पहनाये. तब भी मैंने उसे सोने दिया, जानबूझकर कुछ नहीं किया।अगले दिन में मेरे अब्बू और मैं अपने खेत पर गये तो हमें शाम हो गई और फिर वहां से हम दोनों मेरे चचाजान से मिलने उनके घर पर चले गये। वहां पर चचा का बेटा मुनव्वर भी था।मेरे मन में ख्याल आया कि आज अपने चचेरे भाई के साथ जाकर पेग लगाते हैं.

अंकल- कैसा है फातिमा जी?अम्मी बोलीं- आज से सिर्फ फातिमा कहो … और आपका लंड बहुत अच्छा है. मैंने कहा- क्यों ना आप मेरे साथ कहीं घूमने चलो, इससे आपका दिल भी लग जाएगा और आप थोड़ा बहुत दिल्ली शहर भी देख लेंगी. फिर मैं धीरे-धीरे में नीचे आया और उनकी पेंटी शरीर से अलग कर दी और मैंने भी अपना अंडरवियर भी निकाल दिया.

पर बहन की लौड़ी … अपनी चुत की चुदाई की आग में सब कुछ सहन करते हुए बोली.

उसकी उंगलियों का स्पर्श पाकर मेरा लंड फुफकारते हुए उछल-उछल कर झटके देने लगा. दस मिनट तक चुची दबाने के बाद मैं अपना हाथ उसके पेट पे फिराने लगा और वो मचलने लगी. मेरी वो ख्वाहिश उसने खुद ही पूरी कर दी और कहने लगी- चन्दन लाइट जला लो.

मगर उसके पति को जॉब के कारण समय नहीं मिल पाता था। काफी समय वहां रहने के बाद मेरी ज्योति से पहचान हो गई व बात भी होने लग गई।ज्योति को मैं भाभी कहता था मगर ज्योति को ये अच्छा नहीं लगता था, वो बोलती थी- मुझे भाभी मत बोला करो. अभी उसका लंड पूरा भी खड़ा नहीं हो पाया था और वो उसको अच्छी तरह से चूस रही थी. ऐसा कहते कहते उन्होंने एक शॉट लगाया और अपना सुपारा मेरी मां की टाइट चूत में डाल दिया.

मैंने उसके होंठों को चूसा और उसके चूचों को दबाया और उसके ऊपर लेट कर पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया. चुत वालियां अपनी चुत चुदाई करवाएं और चुत चोदने वाला नहीं है, तो मुझे मेल करके मुझसे राय लें … मैं उनकी चूत की खाज मिटाने के हजारों तरीके बता सकता हूँ.

उसने कहा- इतना क्या देख रहे हो? वही हूँ पुरानी पूजा!मैंने कहा- मैं पूजा नाम की लड़की को जानता था, आज पूजा भाभी से मिल रहा हूँ।वो थोड़ा शरमा सी गई और बोली- चलो भी अब अंदर … या यहीं करोगे सब?और उसने आंख मार दी।उसने कहा- बैठो, मैं कॉफी बना लूं।कॉफी पीते हुए बातें हो रही थी तो उसने बताया- यार तेरी चुदाई के लिए तरस रही हूँ।मैंने कहा- इतनी तड़फ थी तो गुजरात बुला लेती. मैं दीक्षा की गर्दन को चूमने लगा और ऐसे ही चूमते हुए उसके कंधों को पूरी तरह से अपने होंठों में लेकर चूमने लगा. आंटी अब जोरों से कंपते हुए चिल्लाने लगी थीं- बहनचोद अब क्या जानलेकर रहेगा … चोद दे कमीने … फाड़ दे मेरी चुत … आह लौड़ा ठोक इसमें … अपनी कुतिया रांड पर लौड़े की दया कर … मेरे देव राजा, मेरे मालिक … चोद दे प्लीज़.

शान्ति के बारे में आपको बता दूं कि उसकी उम्र 50 या उससे एक-दो साल ऊपर, शरीर पांच फीट आठ इंच की लम्बाई से कुछ ज्यादा ही लगता है, वज़न 90 किलो से ज्यादा ही होगा, 48 इंच का सीना आज भी कसाव लिये हुए है और जब मदमस्त हथिनी की तरह चलती है तो एक दूसरे से रगड़ खाते कूल्हों को देख कर लंड फुंकार मारने पर मजबूर हो जाता है.

इस कहानी को शुरू करने से पहले मैं आप लोगों एक बार फिर से अपने बारे में संक्षिप्त परिचय देना चाहूंगी. अब जब भी वक़्त मिलता, तो मैं उसे बहला फुसलाकर अपने पास बैठा लिया करता और उसके गाल पर किस कर लेता, वो भी जवाब देने लगी थी. मैंने भी उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और फिर एक लम्बा चुम्बन किया.

पिचकारी के बाद पिचकारी मारते हुए उसने सारा वीर्य मेरे गोरे पेट पर फेंक दिया. उसने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया, जब वो रुकी तो मैंने उसके हाथ में पकड़ाकर कहा- इसकी खाल इस तरह ऊपर नीचे करती रहो.

मुझे बतायें कि क्या आशीष को बिना बताये मैंने जीजा और लॉज के मैनेजर से चूत चुदवाकर जो मजा लिया वो कहां तक सही था. मैंने चुत पर अपना 6 इंची लौड़ा रखकर थोड़ा चुत पर रगड़ा और एक ही झटके में पूरा का पूरा आंटी की भोसड़ी में ठोक दिया. और वो उल्टी लेट गयी।खूबसूरत गोरे चिकने चूतड़ … मैं झुकी और चूमने लगी हल्के हल्के। सुजाता ने थोड़ी अपनी टांगें चौड़ी कीं और मेरे होंठ फिसलते हुए सुंदर से भूरे छेद से जुड़ गए।मैं चूसने लगी, चाटने लगी।शोभा ने गाजर प्रोग्राम फिर शुरू कर दिया।मैं और मम्मी दोनों एक साथ बज रही थीं।तभी लक्ष्मी ने शोभा को बोला- मैं ज़रा वाशरूम जाकर आती हूँ.

देसी बीएफ सेक्सी व्हिडिओ

खाना खाते हुए अंकल ने अम्मी से कहा- फातिमा जी, आपने तो बहुत बढ़िया बिरयानी बनायी है.

सुनते ही बेबी उठी और मेरे लण्ड को चाट कर, चूस कर गीला कर दिया और लेट गई. राहुल ने सीमा के चूतड़ों के नीचे एक तकिया लगाकर सीमा की चूत को अपने और पास किया और लगा अपनी बुलेट ट्रेन को चलाने. मैं- चल साली अपने आपको बड़ी वाली कुतिया बोल ही रही है, तो चल अब कुतिया ही बन जा.

इतना कहकर मैं अपने शरीर को अकड़ा रहा था ताकि मैं लंड को माल छोड़ने से रोक सकूं. दीदी ने मुझसे खाना खाते हुए कहा कि तेरे जैसा लंड मैंने आज तक नहीं लिया. बीएफ सेक्सी ओरिजिनललेकिन आज पता चला कि मेरी बीवी के पास चुदवाने के लिए चूत के अलावा एक और छेद भी है.

मेरी देसी कहानी आपको कैसी लगी?[emailprotected]इससे आगे की कहानी:सलहज को चोदा पत्नी जैसे यात्रा में. अब जानबूझकर मैं एकदम धीरे से करने लगा ताकि जितना हो सके ज़्यादा चोद सकूँ.

मैं उनकी पूरी बॉडी पर किस करते हुए उनकी चुत पर फिर से किस करने लगा, तो भाभी ने मेरा लंड पकड़ लिया और बोला कि मुझे भी थोड़ा मज़ा ले लेने दो. सबसे ज्यादा मजा तो मेरे लंड को लग रहा था क्योंकि नम्रता की चूत से निकलती हुई भाप सीधा मेरे लंड से टकरा रही थी, जिसके वजह से लंड बीच-बीच में फुंफकार कर चूत को छूने की कोशिश कर रहा था. वो बोली- अच्छा, तो बात यहां तक आ गई है!कहकर उसने मेरी चड्डी खोल दी और मेरा लण्ड हाथ में पकड़ लिया.

जब हम दोनों चाय पी रहे थे, तो उसने पूछा- बाबू आपको कैसी औरत पसंद है?मैंने कहा- जैसी भी हो … मगर जिस्म तुम्हारे जैसा हो, तो मजा आ जाए. कई बार गुस्से में मैंने तेल लगाकर कंडोम लगाकर भी उसे चोदने की कोशिश की, लेकिन उसकी आंखों में कुछ था, जिसने मुझे उसके साथ कभी सेक्स नहीं करने दिया. मैंने मैम से पूछा- कोई जल्दी तो नहीं है ना?तो उसने कहा- नहीं … मज़ा आ रहा है! आराम से करो, बहुत दिन बाद ऐसा सुख मिला है.

यहां पर मैं उस लड़की का नाम नहीं बता रहा हूँ क्योंकि मैं नहीं चाहता कि उसकी बदनामी हो जाये.

अंकल की उंगलियां किसी एक्सपर्ट की तरह चुत के होंठों को ढूंढ रही थीं, चुत की दरार पर उंगलियां घूमते हुए उसका गीलापन बढ़ा रही थी. अब तो कंट्रोल करना हम दोनों के ही बस में नहीं था, मैंने उसे अपने से अलग किया और एक ही झटके में उसका गाउन नोच फेंका.

मैं मधु की दोनों टांगों को चूमने लगा और जब मैंने उसकी जाँघों को किस किया, तो मधु की आवाज मदहोश हो गयी. मुझे नहीं पता था कि तुम्हारा लण्ड इतना बड़ा है वरना मैं नहीं चुदवाती तुमसे कभी भी।मैं बोला- मेरी रंडी बहुत मजा आएगा. मेरा लण्ड उसकी चूत को चीरता हुआ अंदर चला गया।उसकी आंखों से आंसू निकल गए, वह बोली- आज तो तुमने मेरी चूत को फाड़ दिया.

मैं बाइक पर आगे होने की वजह से कुछ ज्यादा ही भीग गया था, जबकि उसके कपड़े कम भीगे थे. उसने मुझसे पूछा- आज मुझे घर रहने को क्यों कहा?मैंने उत्साह में उससे कहा- क्योंकि ‘आई लव यू …’ और मैं आज तुमसे प्यार करना चाहता हूँ. मैंने वैसा ही किया।रात के 11:30 हो चुके थे और एक बोतल बीयर भी खत्म हो चुकी थी.

सेक्सी नर्स बीएफ अगर आपको मेरी सेक्स कहानी अच्छी लगी हो, तो कमेंट बॉक्स में मुझे कमेंट जरूर करें. मैंने भाभी से मिलने से पहले ही ठान लिया था कि आज भाभी को बहुत मज़ा दे कर ही उनकी बुर में लंड पेलूंगा.

बीएफ फिल्म चूत की चुदाई

थोड़ी देर बाद मैंने दीदी के कंधे पर हाथ रख दिया, तो दीदी कुछ नहीं बोली. भाभी ने मेरे हाथ पकड़ कर तख्त पर दबा लिये और मेरी गोलियों को चूमते हुए मुझे तड़पाने लगी. इतने में वो गाड़ी के अन्दर आकर बैठ गयी और उसने मुझे गले लगते हुए हैप्पी बर्थडे बोला.

बस उसके बाद मैंने भाभी के टी-शर्ट उतार दी और उनकी ब्रा के ऊपर से उनके मम्मों के चूचुक बारी बारी से पीने लगा. फिर एक दिन भाभी का मैसेज आया कि उनके पति बाहर मीटिंग में जा रहे हैं, अगले दिन देर से ही लौटेंगे इसलिए उन्होंने मुझे रात 9 बजे के बाद तैयार रहने के लिए बोल दिया. सेक्सी बीएफ फिल्म दिखाइए हिंदी मेंभाबी के हज़्बेंड यानि कि भैया का नाम विकास था, जो कि पेशे से एक टूरिस्ट वैन के ड्राइवर थे.

उसके बाद मैंने उसे ऊपर से नीचे तक चूमते हुए उसके पूरे कपड़े उतार दिए.

मेरी भाभी की सेक्स कहानी के पहले भागप्यारी भाभी के साथ मस्त सेक्स-1में आपने पढ़ा कि भाई भाभी की सेक्सी सिसकारियाँ सुनकर मैं भाभी की चूत चुदाई करने के सपने देखने लगा. वो भी चुदासी सिसकारियां लेती हुई बड़े मजे से अपनी चुत चटवाने का आनन्द ले रही थी.

चूंकि दिल्ली शहर में कमरा मिलना बहुत मुश्किल होता है और अगर अच्छा कमरा मिलता है तो वो बहुत महंगा होता है इसलिए घर वालों को मेरी फिक्र हो रही थी कि मैं वहां जाने के बाद रहूंगा कहां पर?इसलिए मेरी दादी ने पहले ही उस भाभी से बात कर ली थी. जब मौसी को तीन-चार मिनट तक खुद ही चूत में लंड लेते हुए थकान होने लगी तो फिर मैंने नीचे से धक्के लगाने शुरू किये. मैंने कहा- निहारिका यहां कौन देखेगा हमें … क्यों न बिल्कुल नंगी हो कर सोया जाए.

मैंने देखा कि उसकी किसी लड़के के साथ कुछ सेक्सी व्हाट्सएप्प चैट की हुई थी.

पड़ोसी होने के नाते हम लोगों का आपस के घरों में आना जाना लगा रहता था. शुभम जी ये बोलकर गए थे कि किसी दिन और अच्छे से चुदाई करूँगा, अभी मेरा मन नहीं भरा है. कोई 5 मिनट में वो जोर जोर से हांफने लगी और मेरे मुँह पे ही सारा चूत का पानी निकाल दिया, जो मैंने चाट चाट के साफ़ कर दिया.

सूअर की बीएफमैंने देखा कि भाभी बेड पर लेट कर आराम कर रही थीं और टीवी देख रही थीं. उसने कहा- अब उंगली से बस भी करो और अपना लंड डालो मेरे अंदर!तब मैंने लंड को एक हाथ से पकड़ा और उसकी चुत के छेद पर लगा दिया और धक्का दे दिया.

बिहार के बीएफ हिंदी

उसके रस को चूसने के बाद मैं खड़ा हुआ और अपने बाएं हाथ का एक अंगूठा उसकी चूत के अन्दर डाल कर बाकी चार उंगिलयों से उसकी चूत को सहला रहा था और मेरा दाहिना हाथ मेरे लंड की घिसाई में तल्लीन था. मैं वहां से भाग गया क्योंकि शायद भाभी को शक हो गया था कि मेरे अलावा ये काम कोई नहीं कर सकता है. मैं इस पल को यादगार बनाना चाहता था … इसलिये मैंने अपनी पैन्ट की जेब से डेरी मिल्क का पैकेट निकाला.

झूला कोई ठोस स्थिर वस्तु थी नहीं होती है, इसीलिए यहां बैलेंस बनाना काफी मुश्किल था. थोड़ी देर में ही लण्ड टाइट होकर मूसल बन गया, इधर चूत भी लण्ड लेने को तैयार हो चुकी थी. 10 साल पहले हमारी कार का एक्सीडेंट हो गया था जिसमें मेरे पति और छोटे बेटे का निधन हो गया था.

चलिए मैं आपको मेरी मां की काल्पनिक चुदाई की कहानी सुनाता हूं।मेरी मां पूजा (नाम बदला हुआ), उम्र 45 साल, फिगर अंदाजन 36-34-38 एक मराठी गृहिणी है। मेरे पापा एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं। इस कहानी में मेरे एक काल्पनिक दोस्त के पापा मेरी मां की चूत का मजा लेंगे। मेरे दोस्त का नाम धीरज शुक्ला है. अब तक तो मैं आपको एक शरीफ औरत समझता था लेकिन आप तो बहुत चालू निकलीं. नमस्कार दोस्तो, मैं राज, रोहतक से हाजिर हूँ अपनी नई कहानी लेकर, जो अभी पिछले महीने यानि मार्च महीने की है.

पर जिस वक्त की ये कहानी है, उस वक्त तक मुझे ऐसा मौका कभी मिला ही नहीं था. 5 इंच के सांवले से लंड का गहरा गुलाबी टोपा लाल रंग में तब्दील हो गया था.

चूंकि हीना हुस्न की मल्लिका थी इसलिए साहिल का लंड ज्यादा देर उसकी चूत की गर्मी के सामने टिक नहीं पाया और उसने उसकी चूत में अपना लावा उगल दिया.

वैसे भी मैं पार्टी के लोगों के साथ टाइम पास कर लेती हूं, अब ज्यादा कमी महसूस नहीं होती. पंजाबी वीडियो बीएफ एचडीदोस्तो, यह मेरी पहली कहानी उस वक्त की है, जब मुझे गांड मरवाने का शौक लगा. बीएफ वीडियो हॉट वालायहाँ तक कि हम दोनों लोग कपड़े खरीदने जाना होता था, तो हम अपने पति के साथ नहीं जाते थे. मैंने कहा- फिर?रश्मि- मधु और उसका पति राहुल दोनों ही बहुत परेशान है.

अंकल की उंगलियां किसी एक्सपर्ट की तरह चुत के होंठों को ढूंढ रही थीं, चुत की दरार पर उंगलियां घूमते हुए उसका गीलापन बढ़ा रही थी.

मैं आगे भी आपके लिये हम भाई-बहनों की चुदाई की अन्य कहानियां लेकर आता रहूंगा. पर न जाने क्यों मुझे मोनिषा के चेहरे पर वो मस्ती नहीं दिखी, जो मुझे हमेशा दिखाई देती थी. यह बात सुनकर मुझे मन ही मन खुशी हो रही थी लेकिन फिर भी मैंने उसकी बात का कोई जवाब नहीं दिया.

बात उस समय की है जब मैंने अपनी पहचान वाले एक आदमी से बात करके अपने लिए एक जॉब ढूंढ़ ली थी जो कि एक टीचर की जॉब थी। उस कंपनी में बाहर से भी लोग आते थे और वहां के वर्कर को सिखाना हमारा काम था। कुछ लड़कियां भी आती थीं सीखने के लिए और सिखाने के लिए भी आती थीं।मुझे वहां काम करते हुए 2 महीने बीत गए थे पर कुछ मज़ा नहीं आ रहा था। तभी वहाँ पर एक लड़की आई जिसका नाम सुचिता (बदला हुआ) था और वो मुम्बई से आई थी. मैंने जोर लगाकर खुद को भाभी के हाथों के चंगुल से छुड़वाया तो मेरी सांस फूल गई थी. नहीं तो गीली ही मर जाती?तो पवन बोला- नहीं नहीं मैडम, मैं आपको ऐसे नहीं मरने देता.

एचडी व्हिडिओ सेक्सी बीएफ

धीरे धीरे मैगज़ीन और टीवी आदि की वजह से मेरा सेक्स का ज्ञान बढ़ने लगा, कॉलेज में सहेलियां भी कुछ ना कुछ बोलती ही रहती थीं. वैसे भी मुझे बाद में पता लगा कि आग तो दोनों तरफ ही लगी हुई थी, इसलिए चुदाई तो होनी ही थी. मेरी पिछली कहानीदिल मिले और गांड चूत सब चुदीमें आपने पढ़ा कि कैसे मेरे मन में लड़की जैसे भाव आते थे और मेरे एक रूममेट ने मुझे पूरा गांडू बना दिया.

उन्होंने अंदर कुछ नहीं पहना था इसलिए वो पूरे नंगे हो गए।जैसे ही अंकल की लुंगी खुल गई उनका लंड मेरी मां के सामने आ गया। मेरी मां उसे देखती रह गई.

मेरी मन पसंद जॉब तो एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज में जाना या फिर बैंक में प्रोबेशनरी ऑफिसर बनना ही थी और अब तो लगता था कि अगर मेरा यही हाल रहा तो मैं शायद इन्टर भी पास नहीं कर पाऊँगी.

उसने एक उंगली की जगह दो उंगलियों से मेरी गांड के छेद को फैला दिया था. चाची का कोई ख्याल रखने वाला होना चाहिए उनकी बेटी का तो ख्याल रखने वाला होना चाहिए. बीएफ वीडियो गांव की चुदाईउसके हाथों को मैंने उसके चेहरे से हटाया तो देखा कि आज सचमुच चांद मेरे सामने था.

मैं स्तन चुसाई के मखमली अहसास और पकड़े जाने के डर के अहसास के बीच जूझ रही थी. सेक्स ऑफर के ईमेल पर, मुझे सिर्फ हंसी आती है क्योंकि वो संभव नहीं है. मैं जानता था कि भाभी रोज घर का काम निपटाने के बाद नहाने के लिए जाती है.

हम लोग कभी कभी वीडियो चैट भी करने लगे थे, लेकिन अब तक सेक्स को लेकर कभी ऐसी वैसी बातें नहीं हुई थीं. चारू के संग चुदाई की कहानी किस तरह से उसकी गांड चुदाई में तब्दील हो गई इसका मजा आपको इस सेक्स कहानी के अगले भाग में पढ़ने को मिलेगा.

मेरे अचानक इस तरह बोलने से उसने झट से मेरे लंड को मुँह से बाहर निकाला और मुझे देखने लगी.

(आपका कितना बड़ा है जी!)तो मैंने हंसते हुए लंड हिलाया और कहा- हां जी … हुन मजे भी चक्को जी … (अब मजे भी लो!)भाभी ने आंख मार दी. दोस्तो, मेरी यह कहानी आपको कैसी लगी इसके बारे में मुझे मेल करके जरूर बताना. मुझे लगा कि शायद वो नाराज हो गया है इसलिए उसने अपना लंड मेरे मुंह से बाहर निकाल लिया है.

एचडी बीएफ सेक्सी बीपी जब उसने मेरा हाथ अपने मम्मों रखा, तो मैं खुद को काबू नहीं कर पाया और मैंने झट से उठ कर उसे अपनी बांहों में भर लिया. लेकिन मैं सोचने लगी कि मैं उसकी हर बात अपनी सहेली को क्यों बता देती हूँ.

अपनी भीगी हुई पैंटी और ब्रा में स्वीमिंग पूल से बाहर निकली और चूत वाले एरिया पर एक सारोंग (पतला सा कपड़ा) लपेट लिया. अब मैं वो टीचर के बारे में बता दूँ … उनकी उम्र 40 साल के आस पास होगी और उनके बूब्स का साइज 34 या 35 के आसपास होगा और गांड भी 40 की होगी मतलब कुल मिलाकर चोदने लायक थी. उसने गले को पकड़ रखा था और ठीक वैसे ही मेरे मुँह में लंड पेल रहा था, जैसे ब्लू फिल्म में होता है.

सेक्सी बीएफ फुल हिंदी

मैंने उसकी चूत की फांकों को फैला कर देखा और उसकी लाल चूत में उंगली घुसा दी. साथ ही मुझे गालियां भी दे रहा था- साली, तू इतनी चुदक्कड़ है कि अपने बाप से भी चुदवाती है और मेरे सामने दर्द होने का नाटक कर रही है. मेरे लंड का साइज ज्यादा बड़ा नहीं है, औसतन 5 इंच लंबा और 3 इंच मोटा ही होगा … मैंने कभी इसे नापा नहीं है.

मैंने मधु के हर हिस्से को अच्छी तरह किस किया और मधु की चूचियों को चूसने लगा. इसके बाद जब भी हम दोनों को मौका मिलता था, हम चुदाई का मजा ले लेते थे.

मैंने बोला- चाची मरने की बात कभी की तो मैं आइंदा से कभी तुमसे बात नहीं करूंगा.

इसके ठीक बाद ताऊ जी ने चाची के पैर पर अपना हाथ फ़ेरना शुरू कर दिया और धीरे धीरे चाची के कपड़ों को ऊपर उठाना शुरू कर दिया. शिशिर मुझे नंगी करने के बाद मेरी चूत को चाटने लगे और मेरी चूत को चाटने के बाद वो मेरी चूत में उंगली करने लगे. लेकिन मैं सोच रहा था कि शायद तुम्हारा मन इनसे चुदने का नहीं हो इसलिए मैंने मना किया था मगर तुमने तो सारी हद पार कर दी.

दो सीधी सीधी सिलाइयाँ हो तो मारनी हैं, इसमें कौन सी रॉकेट-साइंस है. फिर मैंने भाभी की सलवार का नाड़ा खोल दिया और उसकी चूत से पैंटी को सरकाते हुए उसकी जांघों को नंगी कर दिया. फिर मैंने लोअर भी खींच कर नीचे गिरा दिया और अपनी टांगों से निकालते हुए जमीन पर ही छोड़ दिया.

स्स्स … स्स्स … अम्म … ये हिरेन के मुंह से निकलने वाली कामुक सिसकारियां थीं.

सेक्सी नर्स बीएफ: उसके साथ रहने वाला कोई भी नहीं सोच सकता था कि इसने किसी से अब चुदाई करवा ली होगी, या ये किसी की गर्लफ्रेंड बनेगी. मगर जो भी हो उसके हाथ का ऐसी संवेदनशील जगह पर होना मेरे अंदर गजब की वासना भर रहा था.

कभी मैं मम्मों को दबाता, कभी मुँह में भर लेता, कभी होंठ चूसने लगता. वह हंसने लगी और बोली- भाग यहां से!मैंने अंगड़ाई सी लेकर आंटी के सीने पर हाथ रख दिया और सीधे ही अपने होंठ उसके होंठों पर रख कर चूसने लगा. उनकी बनियान में से उनकी बालों वाली छाती दिख रही थी। मां अंदर चली गई और रमेश अंकल ने दरवाजा बंद कर लिया।मां डरी हुई थी और सोच रही थी कि अब वह क्या करे.

आज से 2 साल पहले सीमा भाबी और विकास भैया को रूम की तलाश थी, इसलिए हमने उनको कमरा रेंट पर दे दिया था.

ये देख कर मेरे चेहरे पर कुटिल मुस्कान आ गई और मैंने उसे घूरते हुए एक बार नजरें उसके ब्लाउज के अन्दर कैद चुचियों पर डालीं. वो पूरे घर के दरवाजे लॉक कर आई और अपनी कमर पर हाथ रख कर बोली- बताओ अब क्या पीना है … और कैसे पीना है?उसकी ये अदा देख कर मैं एकदम से विस्मृत रह गया. अम्मी बोलीं- परवेज जी, हमारा ये रिश्ता किसी को पता नहीं चलना चाहिए.